कोरोना अपडेट 29 नवम्बर: प्रदेश में आज रायगढ़ और रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 21 जिलो में नहीं मिले कोई मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    BREAKING NEWS: हंगामे के बीच कृषि कानून वापसी बिल पारित    |    कोरोना अपडेट 28 नवम्बर: प्रदेश में आज कम टेस्ट के बावजूद ज्यादा मिले मरीज, दुर्ग और रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    BIG NEWS: मस्जिद में कृष्ण की मूर्ति स्थापित करने की महासभा की धमकी के बाद मथुरा में धारा 144 लागू    |    टिकैत ने फिर दी धमकी: दिमाग ठीक कर ले भारत सरकार, नहीं तो 26 जनवरी दूर नहीं…    |    कोरोना अपडेट 27 नवम्बर: प्रदेश का ये जिला बना हुआ है कोरोना का हॉटस्पॉट, आज मिले इतने मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    मौसम अलर्ट: इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट    |    कोरोना अपडेट 26 नवम्बर: प्रदेश में आज मिले इतने मरीज, रायगढ़, रायपुर और जशपुर में लगातार बढ़ रहे है मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: कोरोना के नए स्ट्रेन के चलते छह अफ्रीकी देशों से विमान सेवा हुई रद्द    |    26/11 Mumbai Attack की 13वीं बरसी पर राजनेताओं ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि    |

डिस्ट्रिक्ट जज के बंगले में मिली भृत्य की लाश, मृतक के भाई ने लगाया आरोप

डिस्ट्रिक्ट जज के बंगले में मिली भृत्य की लाश, मृतक के भाई ने लगाया आरोप
Share

कोरिया। कर्मचारी की लाश डिस्ट्रिक्ट जज के बंगले में मिलने से जिले में सनसनी फैल गई। इधर लाश मिलने के बाद इस बात को लेकर चर्चा जोरों पर है कि आखिर कर्मचारी की मौत कैसे हुई वही मृतक के भाई ने जज के ऊपर ऐसे सनसनीखेज आरोप लगाए हैं कि जिससे सुन पुलिस के कान भी खड़े हो गए हैं। मृतक जज के बंगले में भृत्य था।


जिले के डिस्ट्रिक्ट जज ओपी गुप्ता के सरकारी बंगले में कर्मचारी महमूद आलम कचहरी पारा बैकुंठपुर निवासी की लाश मिली मिली है। मृतक जिला कोर्ट बैकुंठपुर में भृत्य पद पर पदस्थ था। मृतक के भाई महफूज आलम ने जो बताया उससे पूरा कोरिया जिला सन्न है। उसने जज पर आरोप लगाया है कि तीन दिवस पूर्व जिला एवं सत्र न्यायाधीश से अपने बंगले पर कुत्ते की तबीयत खराब होने का हवाला देकर बुलाया गया था। मृतक घर पर रहकर ही आना जाना कर काम करता था। जज के बोलने पर वह 2 दिनों से सरकारी बंगले पर रुक रहा था।


महफूज आलम ने बताया कि उसके भाई को जज अपने पालतू कुत्ते के पास जबरन सुलाते थे मृत्यु से पूर्व महमूद आलम ने भाई को बताया था कि उसकी जिंदगी कुत्ते से भी बदतर हो गई जज के आदेश का पालन नहीं करने पर जज से उसे नौकरी से निकाल देने की धमकी दी जाती थी। वही डांट डपट कर गाली गलौज का सिलसिला भी चलता था छुट्टी मांगने पर छुट्टी नहीं मिल मिलती थी और उसे लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था। शनिवार की सुबह जज का ड्राइवर ओम प्रकाश मिंज करीब 8:30 बजे आया और उसने बताया कि उसे जज साहब जरूरी काम से बुला रहे हैं ।बंगले पहुंचते ही जज ने उसे बताया कि तुम्हारे भाई आलम की मौत हो गई है। उसकी बॉडी बंगले में पड़ी है मैंने जाकर देखा तो कुत्ते के बांधने वाली जगह पर मेरे भाई का की बॉडी पड़ी हुई थी।


चीफ जस्टिस से न्याय के लिए लगाई है गुहार :-
मृतक के भाई को आशंका है कि इस घटनाक्रम की सही तरीके से जांच नहीं होगी संदिग्ध अवस्था में मिली उसके भाई की लाश को लेकर वो काफी को अचरज में है। पीड़ित ने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस के नाम एक पत्र लिखा है। जिसमें सारे सारे घटनाक्रम की जानकारी जानकारी का उल्लेख कर निष्पक्ष जांच की मांग की है।



Share

Leave a Reply