कोरोना अपडेट 29 नवम्बर: प्रदेश में आज रायगढ़ और रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 21 जिलो में नहीं मिले कोई मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    BREAKING NEWS: हंगामे के बीच कृषि कानून वापसी बिल पारित    |    कोरोना अपडेट 28 नवम्बर: प्रदेश में आज कम टेस्ट के बावजूद ज्यादा मिले मरीज, दुर्ग और रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    BIG NEWS: मस्जिद में कृष्ण की मूर्ति स्थापित करने की महासभा की धमकी के बाद मथुरा में धारा 144 लागू    |    टिकैत ने फिर दी धमकी: दिमाग ठीक कर ले भारत सरकार, नहीं तो 26 जनवरी दूर नहीं…    |    कोरोना अपडेट 27 नवम्बर: प्रदेश का ये जिला बना हुआ है कोरोना का हॉटस्पॉट, आज मिले इतने मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    मौसम अलर्ट: इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट    |    कोरोना अपडेट 26 नवम्बर: प्रदेश में आज मिले इतने मरीज, रायगढ़, रायपुर और जशपुर में लगातार बढ़ रहे है मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: कोरोना के नए स्ट्रेन के चलते छह अफ्रीकी देशों से विमान सेवा हुई रद्द    |    26/11 Mumbai Attack की 13वीं बरसी पर राजनेताओं ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि    |

तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच लापरवाही पड़ेगी भारी : कलेक्टर

तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच लापरवाही पड़ेगी भारी : कलेक्टर
Share

बेमेतरा। लॉकडाउन में थोड़ी छूट से बाजारों और बैंकों में उमड़ी भीड़ से प्रशासन चिंतित है। इस पर कलेक्टर ने अप्रसन्नत जाहिर करते हुए सभी जिला वासियों से आग्रह किया कि आप सभी कोविड के गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से पालन करें नही तो और भी भयावह स्थिति निर्मित होंगी। कलेक्टर शिव अनंत तायल ने दो टूक कहा अगर ऐसी ही स्थिती बनी रहीं और हम अपनें स्वभाव में परिवर्तन ना करें तो तीसरी लहर आने में जरा भी देर नही लगेगीं।जैसा कि चिकित्सा विशेषज्ञों ने तीसरी लहर की आशंका जाहिर की है इन आशंकाओं के बीच में इस तरह लापरवाही निश्चित ही हम सब पर भारी पड़ेगी और इसका खमियाजा पूरे समाज को ही भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में देखा गया है कि लोग अनावश्यक रूप से बाजारों में भीड़ कर रहें है। सोशल डिस्टनेसिंग का पालन नही कर रहे है। जिससे ना केवल कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन बल्कि हम संक्रमण को बढ़ाने में मदद कर रहें हैं। संक्रमण के विस्तार को रोकना केवल प्रशासन की जिम्मेदारी नही है बल्कि प्रत्येक व्यक्ति का भी यह कर्तव्य है कि अपनें एवं पूरे समाज के लिए इन नियमों का पालन करें। आप सब के सहयोग और लगभग महीनें भर से ऊपर लॉक डाउन से जिलें में संक्रमण की दर में बड़ी मुश्किल से कमी आई है। जिसे यथासंभव हमें बनाए रखना है। इसके लिए आप सब का सहयोग अति आवश्यक है। आज की स्थिति में जो संक्रमण दर अप्रैल माह में लगभग 46 प्रतिशत था अब वह घटकर महज 4 प्रतिशत रह गया है। इसका यह मतलब नही है कि अब कोरोना नही होगा। अगर हमारे बीच कोई एक भी संक्रमित व्यक्ति रहेगा तो उसे एक से 100 बनने में देर नही लगती है। इसके लिए हमें कोविड गाइडलाइन के पालन के साथ ही कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर नियमों का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग,मास्क की अनिवार्यता और साबुन से हाथ धोना,सेनेटाइजर का सतत उपयोग शामिल है। सभी व्यपारियों बंधुओं से भी आग्रह हैं कि आप अपनें दुकानों में भी अनिवार्य रूप से इन नियमों का पालन करें और ग्राहकों को भी प्रेरित करें।



Share

Leave a Reply