कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में जारी है कोरोना से मौत का तांडव, प्रदेश में आज 15 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से मिले सर्वाधिक मरीज    |    बंगाल चुनाव: EC की नई गाइडलाइंस जारी, प्रचार का समय कम करने से लेकर आपराधिक मामला दर्ज करने तक का आदेश    |    BIG BREAKING : केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर भी आये कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया में दी जानकारी    |    ICMR कोरोना अपडेट: राज्य में आज शाम तक 12079 कोरोना मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2921 समेत बाकी इन जिलो से...    |    इस राज्य में सरकार ने लागू किया वीकेंड लॉकडाउन, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा बड़ा जुर्माना    |    BIG BREAKING : नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, पीएम केयर्स फंड से अस्पतालों में लगेंगे प्लांट    |    कोरोना की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस शाह का पूरा स्टाफ...    |    कोरोना अपडेट : देश में 24 घंटे में सामने आए 2.16 लाख मामले, 1184 मौतें    |    BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना से मौत ने लगाई शतक, प्रदेश में आज 15 हजार से अधिक नए मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से इतने    |    कोरोना अपडेट: ICMR के मुताबिक आज प्रदेश में शाम तक 11819 मरीज मिले, अकेले रायपुर जिले से 2870 समेत बाकी इन जिलो से    |

महाविद्यालय ही नहीं अब स्कूलों से भी जुड़ा है, राष्ट्रीय सेवा योजना :आर के साहू

महाविद्यालय ही नहीं अब स्कूलों से भी जुड़ा है, राष्ट्रीय सेवा योजना :आर के साहू
Share

भिलाई। राष्ट्रीय सेवा योजना की एक दिवसीय बैठक में कल्याण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर के साहू ने एन एस एस की सराहना करते हुए बताया कि शिक्षा के साथ-साथ युवाओं को समाजसेवा से जोड़ने का कार्य करता है एन एस एस।अब यह सेवा का भाव महाविद्यालय से स्कूलों में भी जागृत हो गया है। सरकार की तरफ से कम अनुदान मिलने के बावजूद एन एस एस लगातार सक्रिय होकर कार्यरत रहता है। एन एस एस दुर्ग संभाग के कार्यक्रम समन्वयक डॉ आर पी अग्रवाल ने राष्ट्रीय सेवा योजना की उपलब्धियों को बताया और युवाओं को सुशील बनने का संदेश दिया क्योंकि सुशील व्यक्ति धर्मशील ,कर्मशील और संघर्षशील बनता हैं। उन्होंने कहा कि हमें किसी के लिए पूर्व धारणा नहीं बनानी चाहिए हमें साकारात्मक और स्वतंत्र धारणा विकसित करना होगा तभी समाज को सही दिशा दें पाएंगे। एन एस एस मैं नहीं आपके सिद्धांत पर काम करता हैं और समाज में जागरूकता पैदा करता हैं। इस कार्यक्रम में उन कार्यकर्ताओं को भी सम्मानित किया गया जिन्होंने एन एस एस में बेहतरीन कार्य किया और समाज के लिए उदाहरण पेश किया।इन कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में होने वाली गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्सेदारी ली जो कि गौरवान्वित महसूस करने का विषय है। वर्ष 2018-19 के लिए उतई महाविद्यालय के परमेश्वर ठाकुर को प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया,शंकरा महाविद्यालय की तनुजा वर्मा 2019-20 के लिए और 2020-21का पुरस्कार चंदूलाल चंद्राकर महाविद्यालय पाटन की ज्योति वर्मा को मिला। राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव में राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाले मेहुल शर्मा को प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया। राष्ट्रीय सेवा योजना की सर्वश्रेष्ठ अधिकारी का खिताब अल्पना देशपांडे को मिला। घूघवा स्कूल को एन एस एस के ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम संचालन के लिए सरकार ने प्रथम पुरस्कार दिया और द्वितीय स्थान चन्दूलाल चंद्राकर महाविद्यालय और तृतीय स्थान स्वरूपानंद महाविद्यालय ने प्राप्त किया।
कार्यक्रम का संचालन बोरी महाविद्यालय की एन एस एस कार्यक्रम अधिकारी मंजूलता साव ने किया । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहे सुशील चन्द्र तिवारी ने कार्यकर्ताओं और कार्यक्रम अधिकारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी । उन्होंने कहा कि एन एस एस को इस मुकाम तक पहुंचाने में डा आर पी अग्रवाल की अहम भूमिका रही हैं। डॉ. विनय शर्मा उपस्थित रहे,  कार्यक्रम के आभार प्रदर्शन का कार्य कल्याण महाविद्यालय के कार्यक्रम अधिकारी डॉ अनिर्बान चौधरी ने किया।



Share

Leave a Reply