कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में जारी है कोरोना से मौत का तांडव, प्रदेश में आज 15 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से मिले सर्वाधिक मरीज    |    बंगाल चुनाव: EC की नई गाइडलाइंस जारी, प्रचार का समय कम करने से लेकर आपराधिक मामला दर्ज करने तक का आदेश    |    BIG BREAKING : केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर भी आये कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया में दी जानकारी    |    ICMR कोरोना अपडेट: राज्य में आज शाम तक 12079 कोरोना मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2921 समेत बाकी इन जिलो से...    |    इस राज्य में सरकार ने लागू किया वीकेंड लॉकडाउन, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा बड़ा जुर्माना    |    BIG BREAKING : नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, पीएम केयर्स फंड से अस्पतालों में लगेंगे प्लांट    |    कोरोना की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस शाह का पूरा स्टाफ...    |    कोरोना अपडेट : देश में 24 घंटे में सामने आए 2.16 लाख मामले, 1184 मौतें    |    BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना से मौत ने लगाई शतक, प्रदेश में आज 15 हजार से अधिक नए मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से इतने    |    कोरोना अपडेट: ICMR के मुताबिक आज प्रदेश में शाम तक 11819 मरीज मिले, अकेले रायपुर जिले से 2870 समेत बाकी इन जिलो से    |

अमृतधारा जलप्रपात को प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने कलेक्टर ने ली संबंधित अधिकारियों की बैठक

अमृतधारा जलप्रपात को प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने कलेक्टर ने ली संबंधित अधिकारियों की बैठक
Share

कोरियाकलेक्टर श्री एस एन राठौर ने मनेन्द्रगढ विकासखण्ड के अंतर्गत स्थित पर्यटन स्थल अमृतधारा के विश्राम गृह में अमृतधारा जलप्रपात को प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने हेतु संबंधित विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने गत माह जून में आयोजित बैठक में दिए निर्देशों की प्रगति की जानकारी ली। बैठक में एसपी श्री चन्द्रमोहन सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती तुलिका प्रजापति, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री आर.पी.चौहान तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


     बैठक में कलेक्टर श्री राठौर ने कॉटेज में पर्यटकों के ठहरने के लिए कॉटेज में सुधार, फर्नीचर, बिजली, कैंटीन आदि सभी आवश्यक सुविधाओं को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिये। यहां ठहरने के लिए शीघ्र ही राशि भी तय कर आनलाईन बुकिंग की सुविधा दी जायेगी। साथ ही विश्राम गृह के समीप पुराने भवनों को डिस्मेंटल किये जाने की जानकारी ली। बैठक में कलेक्टर ने पीएचई विभाग के अधिकारी से कॉटेज में पानी की समस्या पर चर्चा करते हुए शीघ्र पानी की आपूर्ति कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कॉटेज में पानी संग्रहण के लिए पानी टंकी स्थापित करने, सुरक्षा के लिए वन रक्षक एवं कॉन्स्टेबल की ड्यूटी लगाने, पर्यटन स्थल में स्वच्छता बनाये रखने एवं निगरानी के लिए सीसी टीवी कैमरा लगाने, बच्चों के मनोरंजन के लिए खेल के साधन, सार्वजनिक शौचालय में साफ-सफाई, साइन बोर्ड लगाने, मुख्य गेट के रंग-रोगन एवं पर्यटन स्थल के सौंदर्यीकरण हेतु पौधरोपण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। इसके साथ ही उन्होंने पर्यटन सूचना केंद्र एवं जलप्रपात के पास पर्यटकों की सुरक्षा के लिए रेलिंग बनाने के निर्देश दिये।
   बैठक में कलेक्टर ने केन्टीन भवन को शीघ्र ही प्रारंभ करने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया एवं विभिन्न विषयों पर चर्चा करते हुए पर्यटकों को आकर्षित करने अधिकारियों से सुझाव लिए। कलेक्टर ने पर्यटन स्थल अमृतधारा में बनाये गये जिला पंचायत संसाधन केंद्र भवन, पुलिस सहायता केंद्र, लोकल हैन्डीक्राफ्ट मार्केट, कॉटेज आदि का अधिकारियों के साथ जायजा लिया।  



Share

Leave a Reply