COVID-19 :

Confirmed :

Recovered :

Deaths :

Maharashtra / 1282963 Andhra Pradesh / 654385 Tamil Nadu / 563691 Karnataka / 548557 Uttar Pradesh / 374277 Delhi / 260623 West Bengal / 237869 Odisha / 196888 Telangana / 179246 Bihar / 174266 Assam / 165582 Kerala / 154458 Gujarat / 128949 Rajasthan / 122720 Haryana / 118554 Madhya Pradesh / 115361 Punjab / 105220 Chhattisgarh / 93351 Jharkhand / 76438 Jammu and Kashmir / 68614 Uttarakhand / 43720 Goa / 30552 Puducherry / 24895 Tripura / 23786 Himachal Pradesh / 13386 Chandigarh / 10968 Manipur / 9537 Arunachal Pradesh / 8133 Nagaland / 5730 Meghalaya / 4961 Ladakh / 3969 Andaman and Nicobar Islands / 3712 Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu / 2978 Sikkim / 2548 Mizoram / 1759 State Unassigned / 0 Lakshadweep / 0

   सोशल मिडिया में वायरल हो रहे निजी अस्पताल में निशुल्क कोरोना इलाज वाले समाचार की क्या है सच्चाई, पढ़े ये खबर    |    कोतवाली थाना क्षेत्र के काली बाड़ी में शराब एवं सट्टा का कारोबार करने वाले 05 आरोपी गिरफ्तार, पढ़ें पूरी खबर    |    BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में कार से IPL क्रिकेट में सट्टा खिलवा रहे 7 सटोरी हुए गिरफ्तार, आरोपियों से 10 करोड़ का सट्टा पट्टी जब्त    |    आईपीएल 2020: बैंगलोर के खिलाफ पंजाब कर सकता है बड़ा बदलाव, शामिल होगा विस्फोटक बल्लेबाज    |    किसानों को मजदूर बनाने की साजिश: सीएम भूपेश बघेल    |    Rafale पर CAG की रिपोर्ट, कांग्रेस बोली- अब समझ में आई डील की क्रोनोलॉजी    |    बड़ी खबर: ड्रग्स केस में एनसीबी की रडार पर 50 फिल्मी कलाकार, कई ए-लिस्टर्स एक्टर्स भी शामिल    |    शर्लिन चोपड़ा का बड़ा दावा- बड़े क्रिकेटर्स की बीवियां लेती हैं ड्रग्स    |    कोरोना अपडेट : कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 57 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में 1,129 लोगो की हुई मौत    |    ONGC गैस पाइपलाइन में आग लगने से हुए लगातार 3 धमाके, किसी के हताहत होने की खबर नहीं    |
अपनी इम्यूनिटी को करें बूस्ट, इन 3 तरीकों से खाएं गिलोय

अपनी इम्यूनिटी को करें बूस्ट, इन 3 तरीकों से खाएं गिलोय

Health Tips: कोरोना काल संकट में जिस चीज़ पर सबसे ज़्यादा ध्यान लोगों का केंद्रित है वो है खुद को हेल्दी रखना और अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाना. जिसके चलते मॉडर्न तरीकों से लेकर घरेलु नुस्खों को अपनाने तक लोगों ने अपनी जान झोंक दी है. लेकिन इन सब उपायों के बीच कोरोनावायरस महामारी के दौरान इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जिस एक जड़ी बूटी ने सभी का ध्यान खींचा, वो है गिलोय. गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका आयुर्वेदिक इलाजों में बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है और इसे अक्सर अमरता की जड़ कहा जाता है. गिलोय कई बीमारियों को शरीर में विकसित होने से रोकने में भी सक्षम है. काढ़े के अलावा आप गिलोय को कई अन्य तरीकों से भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं और इसका फायदा उठा सकते हैं. तो आइये जानते हैं गिलोय खाने के वो तीन असरदार तरीके.


कब्ज और गैस में बेजोड़ है गिलोय की चटनी
गिलोय पाचन में सुधार करने में सहायक होता है. ये कब्ज़, सूजन, अम्लता और गैस को कम करता है. गिलोय कमज़ोर पाचन तंत्र वाले लोगों के लिए अमृत सामान है. अगर आपको नियमित रूप से गैस की परेशानी रहती है या आप डायबिटीज के मरीज़ हैं तो आपको गिलोय का सेवन ज़रूरत करना चाहिए. आप गिलोय को खट्टी-मिठी चटनी के रूप में भी खा सकते हैं. इसे बनाने में ज़्यादा मेहनत नहीं लगती है. इसके लिए आप


-3 से 5 टमाटर और गिलोय की 2 पत्तियां लेकर एक साथ पीस लें
-कढ़ाई में हल्का तेल डालें और गर्म होने दें
-गर्म तेल में कढ़ी पत्ता, दालचीनी और राई के कुछ दानें डाल लें
-फिर टमाटर और गिलोय का पिसा हुआ पेस्ट डालें
-हल्का सा लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, गुड़ और नमक डालें
- आखिर में पानी डालकर उबलने दें
-गाढ़ा हो जाने पर गैस बंद कर दें और हो गई तैयार आपकी गिलोय की चटनी


कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में कारगर दही में गिलोय पाउडर
गिलोय विषाक्त पदार्थों को हटाकर रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है. इसके अलावा ये अन्य रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया से भी लड़ता है. यह कमज़ोर लिवर वाले लोगों के लिए भी विशेष रूप से सहायक है और पैंक्रियाज़ से जुड़े रोगों का भी मुकाबला कर सकता है. वहीं ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए गिलोय बहुत ही फायदेमंद है. दरअसल ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करना बहुत ज़रूरी है जिसमें गिलोय बेहत ज्कार्गर साबित होती है. आप गिलोय को दोपहर या रात के खाने में दही में मिलाकर भी खा सकते हैं. इसके लिए आप


-एक कटोरी दही में गिलोय के जड़ों को कूट कर मिला लें
-फिर इसमें काला नमक मिला लें और खाने के बाद इस दही का सेवन करें


गिलोय टॉनिक कर देता है तनाव की छुट्टी
गिलोय मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है. यह मानसिक तनाव को कम करने में मदद करता है और आपकी स्मृति को बढ़ाता है. साथ ही, ये आपके मन को शांत करता है और अन्य जड़ी-बूटियों के साथ मिलकर एक अद्भुत स्वास्थ्य टॉनिक बनाता है. गिलोय का ये टॉनिक अच्छी नींद में सहायक है. इस टॉनिक को बनाना बेहद ही आसान है. इसके लिए आप


-8 से 10 गिलोय के पत्ते, 2 बड़े चम्मच गुलाब जल और 2 टी स्पून शहद लें
-गिलोय के पत्तों को दरदरा पीसकर बारीख पेस्ट बनाएं और इसमें शहद और गुलाब जल मिलाएं
-अब हर दिन सोने से पहले इसका एक चम्मच सेवन करें और गुनगुना पानी पी लें


इस तरह गिलोय का इस्तेमाल करना आपके शरीर को कई बीमारियों से बचाए रखता है. ये तीनों चीजें, न सिर्फ आपके शारीरिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं, बल्कि ये आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी हैं. तो अगर आपने गिलोय से बनी इन चीजों को अब तक ट्राय नहीं किया है, तो एक बार इन्हें जरूर ट्राई करें. 

ये 4 डिटॉक्स ड्रिंक्स कर देंगी आपके शरीर से चर्बी को छूमंतर

ये 4 डिटॉक्स ड्रिंक्स कर देंगी आपके शरीर से चर्बी को छूमंतर

वज़न घटाने के लक्ष्य को अपनाए बहुत से लोग रोज़ सुबह उठकर अनेक तरह की एक्टिविटीज़ को अंजाम देते हैं. इतना कुछ करते हैं अपने वज़न को घटाने के लिए लेकिन फिर भी सफलता हाथ नहीं लगती. अक्सर लोगों को ब्लोटिंग, रूखी त्वचा, और अपने अंदर कम ऊर्जा महसूस होती है जो शरीर में विषाक्त पदार्थों के निर्माण का संकेत है. अगर आप भी इसी तरह की परेशानी से गुज़र रहे हैं तो ऐसे में आपको डिटॉक्स ड्रिंक का इस्तेमाल करना चाहिए. तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे डिटॉक्स ड्रिंक के बारे में जिसे आप सुबह उठते ही पी सकते हैं.


वज़न घटाने में सहायक

गुनगुना पानी पीना आपके दिन की शुरुआत करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है. ये सिर्फ आपके शरीर को हाइड्रेट करने में मदद नहीं करता, बल्कि यह सुस्ती को भी खत्म करता है और आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है. इस तरह ये वज़न घटाने का भी एक शानदार तरीका है. वहीं अगर आप अपने गर्म पानी में कुछ चीजों को मिला लें, तो ये टॉनिक में बदल जाएगा, जो आपके मेटाबोलिज्म को बढ़ाएगा और आपको डिटॉक्स करने में मददगार साबित होगा. तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे डिटॉक्स ड्रिंक के बारे में जिसे आप सुबह उठते ही पी सकते हैं.

शहद का पानी

अगर आपकी स्किन ड्राई है और आप पेट से जुड़ी समस्याओं से भी परेशान हैं तो आपको हर दिन सुबह गर्म पानी में शहद मिलाकर पीना चाहिए. शहद न केवल मिठास और स्वाद की सही मात्रा जोड़ता है, बल्कि यह टीशूज़ के रिक्रिएशन में भी मदद करता है और कुछ ही समय में आपके शरीर को सक्रिय कर देता है. यही कारण है कि कसरत से पहले शहद के साथ गर्म पानी पीने की सलाह दी जाती है. साथ ही, यह एक हाइड्रेटिंग एजेंट भी है, जो आपको चमकती त्वचा प्रदान करती है.


काला नमक का पानी
काला नमक शरीर के लिए कई मायनों में फायदेमंद है. इसमें कुछ ऐसे एंजाइम होते हैं, जो फैट बर्नर की तरह काम करते हैं. काला नमक का पानी आपका पेट साफ कर देता है और आपके मेटाबोलिज्म को भी तेज बना देता है. वहीं अगर आप इस पानी में नींबू का रस मिला दें, तो ये आपके इंसुलिन के स्तर को भी बनाए रखने में मदद करता है, जिससे आपका ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है. इसका मतलब यह भी है कि आपका भोजन ठीक से पचता है और जारी की गई ऊर्जा शरीर में प्रत्येक कोशिका को वितरित हो जाती है, जिससे फैट का संचय नहीं होता है.


काली मिर्च से बनाएं डिटॉक्स ड्रिंक
काली मिर्च एक रसोई में इस्तेमाल होने वाली बेहद ही सामान्य सी चीज़ है. जब आप इसका सेवन करते हैं, तो यह आपके शरीर में गर्मी पैदा करता है. यह ऊष्मीय प्रभाव आपके अंगों को जगाता है, और साथ ही, आपके मेटाबोलिज्म को भी बढ़ावा देता है. काली मिर्च विटामिन ए, के, सी और कैल्शियम, पोटेशियम और सोडियम जैसे खनिजों का भंडार है. अगर आप त्वचा की परेशानियों से पीड़ित हैं तो काली मिर्च आपके लिए फायदेमंद है.


दालचीनी का पानी

ब्लोटिंग सबसे आम मुद्दों में से एक है, जो लगभग हर किसी की परेशानी का कारण बनी हुई है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए दालचीनी पाउडर को गर्म पानी में मिला कर पियें. ये आपके शरीर में सूजन को दूर करने में मदद करेगा. पत्रिका ‘लिपिड्स इन हेल्थ एंड डिजीज’ में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, दालचीनी के 16 सप्ताह के मौखिक सेवन से मेटाबोलिज्म को बढ़ावा मिलता है और ये शरीर के एक्सट्रा फैट को बर्न करने में भी मदद करता है.

इन सब ड्रिंक्स के अलावा अगर आप कुछ करना चाहते हैं, तो ककड़ी, पालक, सेब, जामुन जैसी सब्जियों का रस निकालें और उनमें काला नमक और हींग मिला कर पी लें. यह वज़न घटाने के लिए जादू की तरह काम करता है, और एक ही समय में आपके समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है.
 

 सोने चांदी में आई भारी गिरावट, जानिए आज की कीमतें

सोने चांदी में आई भारी गिरावट, जानिए आज की कीमतें

मुंबई। सोने की कीमतों में गिरावट का रुख लगातार तीसरे दिन जारी है। अमेरिकी डॉलर आई तेजी की वजह से विदेशी बाजारों में सोने के दाम 2 फीसदी गिरकर 1862 डॉलर प्रति औंस पर आ गए है। वहीं, घरेलू बाजार में पिछले महीने की रिकॉर्ड ऊंचाई से गोल्ड 6000 रुपये प्रति दस ग्राम तक सस्ता हो गया है। 7 अगस्त को एमसीएक्स पर सोने के दाम 56,000 रुपये प्रति दस ग्राम के पार पहुंच गए थे। वहीं, सर्राफा बाजार में दाम 56,200 रुपये प्रति दस ग्राम के स्तर पर पहुंचा था। इसके अब 51 हजार रुपये प्रति दस ग्राम पर है। इस लिहाज से 99.9 फीसदी वाले शुद्ध सोने के दाम 5000 रुपये प्रति दस ग्राम तक कम हो गए है। 

आज क्या होगा- एक्सपर्ट्स का कहना है कि घरेलू बाजार में भी कीमतें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आई तेजी की वजह से बढ़ी थी। लिहाजा इस गिरावट के बाद कीमतों में नरमी का रुख जारी रहने की उम्मीद है। आज भी सोने की कीमतों में गिरावट आ सकती है। आपको बता दें कि बुधवार को दिल्ली सराफा बाजार में सोने का भाव 614 रुपये गिरकर 50,750 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया। 
 सोने, चांदी की कीमतों में आई एक बार फिर से गिरावट

सोने, चांदी की कीमतों में आई एक बार फिर से गिरावट

नईदिल्ली। क ओर जहां शेयर बाजार तेजी के साथ खुला, वहीं सोने में गिरावट दर्ज की गई है। कल 50,381 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ सोना आज सुबह 1 अंक की गिरावट के साथ 50,380 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर खुला। इसके बाद तो सोने की गिरावट लगातार बढ़ती ही चली गई। महज आधे घंटे के कारोबार में ही सोने में 400 अंकों से भी अधिक की गिरावट देखने को मिली। शुरुआती कारोबार में सोना अपने ओपनिंग प्राइस से ऊपर नहीं जा सका, जबकि 50,061 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर तक का गोता लगा लिया।
 


 

कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने जमा सौदों की कटान की जिससे वायदा बाजार में मंगलवार को सोना 0.27 प्रतिशत की गिरावट के साथ 50,334 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर महीने में डिलीवरी सोना अनुबंध की कीमत 137 रुपये यानी 0.27 प्रतिशत की गिरावट के साथ 50,334 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इससे 7,943 लॉट के लिये कारोबार हुआ। दिसंबर महीने में डिलीवरी सोना अनुबंध की कीमत 185 रुपये यानी 0.37 प्रतिशत की गिरावट के साथ 50,455 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इससे 10,051 लॉट के लिये कारोबार हुआ। अंतरराष्ट्रीय बाजार, न्यूयॉर्क में सोना 0.26 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,905.70 डॉलर प्रति औंस रह गया।

 


 

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के अनुसार कमजोर वैश्विक रुझानों के चलते मंगलवार को सोने की कीमत 672 रुपये घटकर 51,328 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। पिछले कारोबारी सत्र में सोना 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ था। एचडीएफसी सिक्योरिटीज वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा कि दिल्ली में 24 कैरेट सोने के भाव में 672 रुपये की गिरावट आई, जो अंतरराष्ट्रीय बाजारों में हुई बिकवाली के रुख को दर्शाता है। घरेलू शेयर बाजार में नकारात्मक रुख के चलते रुपया मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 20 पैसा टूटकर 73.58 के भाव पर आ गया। वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट के साथ 1,900 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

 


 

पिछले महीने 7 अगस्त को सोने ने वायदा बाजार में अपना उच्चतम स्तर छुआ था और प्रति 10 ग्राम की कीमत 56,200 रुपये हो गई थी। तब से लेकर पिछले कारोबारी हफ्ते के खत्म होने यानी शुक्रवार तक सोने की कीमतों में करीब 4500 रुपये की गिरावट आई है। वैसे तो ये वक्त सोना खरीदने के लिए बहुत अच्छा है, लेकिन सर्राफा बाजार में कम मांग की वजह से भारी डिस्काउंट देने के बावजूद लोग पहले की तरह सोने की ओर आकर्षित नहीं हो रहे हैं।

 


पिछले 5 हफ्तों से लगातार सोने पर डीलर्स डिस्काउंट देकर लोगों को खरीदारी के लिए आकर्षित करने की जुगत में हैं। पिछले हफ्ते 23 डॉलर प्रति औंस यानी करीब 608 रुपये प्रति 10 ग्राम तक का डिस्काउंट दिया गया। उससे पिछले हफ्ते 30 डॉलर प्रति औंस का डिस्काउंट दिया जा रहा था, जबकि उससे पहले 40 डॉलर प्रति औंस तक का डिस्काउंट ऑफर किया जा रहा था।
 
चांदी 
 

आज शेयर बाजार तो तेजी के साथ खुला है, लेकिन सोने में भी गिरावट आई है और चांदी भी बहुत अधिक गिरी है। मंगलवार को 61,213 रुपये प्रति किलो के स्तर पर बंद हुई चांदी आज 902 अंकों की गिरावट के साथ 60,311 रुपये प्रति किलो के स्तर पर खुली। ये गिरावट भी लगातार बढ़ती ही चली गई। शुरुआती कारोबार में ही चांदी ने 60,487 रुपये का उच्चतम स्तर और 58,800 रुपये प्रति किलो का न्यूनतम स्तर छू लिया। यानी शुरुआती कारोबार में ही चांदी 2400 रुपये से भी अधिक गिर गई।

 


 

कमजोर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों के आकार को कम किया जिससे वायदा कारोबार में मंगलवार को चांदी की कीमत 916 रुपये की गिरावट के साथ 60,400 प्रति किग्रा रह गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में चांदी के दिसंबर महीने में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 916 रुपये अथवा 1.49 प्रतिशत की तेजी के साथ 60,400 रुपये प्रति किग्रा रह गयी जिसमें 16,360 लॉट के लिए कारोबार हुआ। वैश्विक स्तर पर, न्यूयॉर्क में चांदी की कीमत 0.64 प्रतिशत की गिरावट के साथ 24.23 डॉलर प्रति औंस रह गई।

 


मंगलवार को सर्राफा बाजार में चांदी में भी भारी बिकवाली देखने को मिली और इसके भाव 5,781 रुपये गिरकर 61,606 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गए। पिछले कारोबारी सत्र में चांदी 67,387 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बिक रही थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी का भाव 26.12 डॉलर प्रति औंस था। बता दें कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट के साथ 1,900 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर कारोबार कर रहा था। आर्थिक सुस्ती, अमेरिका-चीन के बीच तकरार और डॉलर में कमजोरी से सोने और चांदी की तेजी को आगे भी सपोर्ट मिलने के आसार हैं। कमोडिटी विशेषज्ञों की माने तो सोने और चांदी के प्रति निवेशकों को आकर्षण अभी कायम है क्योंकि कोरोना का कहर अभी टला नहीं है और शेयर बजार में अनिश्चितता बनी हुई है। विशेषज्ञ बताते हैं कि महंगी धातुओं के प्रति निवेशकों का आकर्षण कम नहीं हुआ है।
Covid-19 : इन 10 चीजों से बढ़ाएं प्रतिरोधक क्षमता, जानिए जरूरी बातें

Covid-19 : इन 10 चीजों से बढ़ाएं प्रतिरोधक क्षमता, जानिए जरूरी बातें

कोरोनावायरस से बचने के लिए तमाम तरह के उपाय आजमाए जा रहे हैं। लेकिन यदि आप अंदर से ही मजबूत होंगे तो आप पर इस संक्रमण का कोई असर नहीं होगा। 'अंदर से मजबूत' से तात्पर्य है कि यदि आपका इम्यून सिस्टम यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है तो आप किसी भी तरह के संक्रमण को मात देने के लिए सक्षम हैं। इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए विशेषज्ञ भी सलाह दे रहे हैं।
अब आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि आखिर किन चीजों से इम्यून सिस्टम को मजबूत किया जा सकता है? तो हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी औषधीय चीजों के बारे में, जो आपके घर में ही मौजूद हैं और इनके प्रयोग से आप खुद की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। आइए जानते हैं-

दालचीनी

मसालों में मौजूद दालचीनी का इस्तेमाल आपने खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए तो कई बार किया होगा। दालचीनी खाने के स्वाद को बढ़ाने के साथ ही कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने का काम भी करती है। दालचीनी का इस्तेमाल इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए भी किया जा सकता है। दालचीनी में कई एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो आपकी सेहत के लिए बहुत लाभकारी हो सकते हैं। दालचीनी का इस्तेमाल काढ़ा, चाय या पानी बनाने में किया जा सकता है।
अदरक

अदरक का इस्तेमाल आप अपने रसोई में खूब करते होंगे। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों से छुटकारा दिलाने में कारगर माने जाते हैं, क्योंकि यह आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का काम करता है। यदि आपको सर्दी है या खांसी हो रही है तो अदरक का एक छोटा-सा टुकड़ा आपको इन समस्याओं से आराम दिलाने के लिए काफी है। इसका सेवन आप नियमित रूप से कर सकते हैं। आप चाहे तो अदरक वाली चाय व अदरक को पानी में उबालकर काढ़े के रूप में या सादा अदरक का टुकड़ा भी खा सकते हैं।
लौंग

लौंग इम्युनिटी बढ़ाने का एक अच्छा स्रोत है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। यह सेहत से जुड़ीं कई समस्याओं को दूर करने में कारगर साबित होती है। आपने अधिकतर सुना होगा कि यदि खांसी हो रही है तो लौंग का सेवन करें, इससे खांसी-सर्दी ठीक हो जाएगी। जी हां, लौग सर्दी-खांसी से छुटकारा दिलाने के लिए कारगर है।

आंवला

आंवला विटामिन-सी का एक बेहतरीन स्रोत है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का काम करता है। जहां ये सौंदर्य लाभ के लिए जाना जाता है, वहीं इसके स्वास्थ्य लाभ भी बेमिसाल हैं।
अश्वगंधा

आयुर्वेदिक औषधि अश्वगंधा कई रोगों से छुटकारा दिलाने के लिए जानी जाती है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करती ही है।

लहसुन

घर की रसोई में मौजूद लहसुन खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए प्रयोग में लाई जाती है लेकिन इसके स्वास्थ्य लाभ भी कई हैं। यदि नियमित सुबह इसका सेवन खाली पेट किया जाए तो यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को तो बढ़ाती ही है, साथ ही अन्य बीमारियों से भी दूर रखती है।
तुलसी

तुलसी के फायदे अनगिनत हैं। यह आपको कई स्वास्थ्य लाभ देती है। सुबह खाली पेट तुलसी के सेवन से कई लाभ होते हैं। तुलसी सर्दी-जुकाम, बुखार, सूखा रोग, निमोनिया व कब्ज जैसी समस्याओं के लिए भी फायदेमंद हो सकती है।

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाले दूध के नियमित सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। सर्दी-खांसी जैसी समस्याओं से राहत दिलाने के लिए हल्दी वाला दूध बहुत कारगर सिद्ध होता है। यदि नियमित सोने से पहले इसका सेवन करके सोया जाए तो यह आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए बहुत फायदेमंद है।
ग्रीन टी

ग्रीन टी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है। यदि इसका नियमित सेवन किया जाए तो रोगों से लड़ने की क्षमता मजबूत होती है।

गिलोय

गिलोय इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। यह स्वास्थ्यवर्धक गुणों से भरपूर माना जाता है। इसके सेवन से शरीर में संक्रमण से लड़ने की क्षमता मजबूत होती है।

 

चुकंदर और नींबू से बनी डिटॉक्स ड्रिंक का करें सेवन, शरीर से चर्बी और गंदगी निकाल देगी

चुकंदर और नींबू से बनी डिटॉक्स ड्रिंक का करें सेवन, शरीर से चर्बी और गंदगी निकाल देगी

जब आपके शरीर का वजन या चर्बी बढ़ने लगती है, तो आपकी टेंशन भी बढ़ने लगती है क्योंकि लटकी हुई चर्बी या मोटा शरीर कोई इंसान पंसद नहीं करता है. इसके साथ ही कि मोटापा बढ़ने से आपको कई तरह की बीमारियां जैसे- हार्ट अटैक, डायबिटीज और कैंसर होने की संभावनाएं भी अधिक हो जाती हैं. अपने शरीर को फिट रखने की चाह तो सभी रखते हैं मगर आज की इस दौड़भाग भरी लाइफ में इसके लिए मेहनत और डाइटिंग करने का किसी के पास समय नहीं है.


ऐसे में वेट लॉस ड्रिंक्स आपके बेहद कारगर साबित हो सकती है. इसको बनाना बहुत ही आसान होता है. यह कुछ ही दिनों या सप्ताह में ही आपके शरीर से चर्बी कम कर देती है. ऐसी एक वेट लॉस ड्रिंक आप चुकंदर और नींबू के उपयोग से भी बना सकते हैं. ये ड्रिंक आपकी बॉडी को डिटॉक्स भी करती है, जिससे आपका वजन कम होने लगता है, तो आइए आज हम आपको इसके फायदे और इसे बनाने का तरीका बताने जा रहे हैं.


चुकंदर वजन घटाने के लिए क्यों है खास?
चुकंदर आयरन से भरपूर होता है इसलिए यह आपके शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाता है जो खून को बढ़ाने में मददगार होता है. साथ ही चुकंदर फॉलेट (विटामिन B9), मैंग्नीज, पोटैशियम और विटामिन C का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है. इसके अलावा यह ऑर्गेनिक नाइट्रेट, बीटानिन जैसे खास कंपाउंड्स से भी भरपूर होता है, जो आपकी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद माने जाते हैं. इसी वजह से यह आपको हेल्दी बनाकर वजन घटाता में सहायक होता है. इसके लिए आप चुकंदर और पानी को मिलाकर उसकी एक खास ड्रिंक बनाकर सेवन कर सकते हैं.


चुकंदर की वेट लॉस ड्रिंक बनाने की सामग्री
-एक छोटा या आधा चुकंदर ( खरीदते वक्त गहरे रंग के चुकंदर लें और पत्तियां हों, तो और भी अच्छा है).
-एक नींबू
-आधा लीटर पानी


चुकंदर की वेट लॉस ड्रिंक बनाने की विधि
इस ड्रिंक को बनाने के लिए आप चुकंदर को धोकर छीलें और छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें. साथ ही नींबू के भी कई टुकड़ें काटें. अब एक कांच की बॉटल या जार में आधा लीटर पानी लेकर उसमें चुकंदर और नींबू के इन टुकड़ों को डाल दें. फिर इन्हें रात भर पानी में ही छोड़कर जार या बोतल का ढक्कन बंद करके रख दें. जिससे रातभर इंफ्यूजन की प्रक्रिया से पानी सारा अर्क खींच लें. फिर सुबह इस पानी को छानकर इसका सेवन करें.

इस वेट लॉस ड्रिंक को पीने का तरीका
आप हर रोज सुबह उठकर खाली पेट इस ड्रिंक का सेवन कर सकते हैं. लेकिन ध्यान रहे इसके सेवन के कम से कम 30 मिनट तक कुछ न खाएं. साथ ही आप इस बची हुई ड्रिंक को दोपहर के खाने से 40 मिनट पहले भी पी सकते हैं. वैसे बॉडी डिटॉक्स के लिए एक दिन में 1-2 ड्रिंक ही काफी होती है. इसके अलावा इसका सेवन करने के साथ-साथ आपको अपने खानपान पर भी थोड़ा कंट्रोल रखना होगा. इसके साथ ही आप दिन में थोड़ा पैदल चलें, एक्सरसाइज करें या सीढ़ियां चढ़ें. इन आदतों को अपनाने से आप तेजी से वजन कर सकते हैं.