छत्तीसगढ़ में कोरोना ने फिर दी दस्तक, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप    |    CORONA IN INDIA : एक बार फिर भारत में कोरोना की एंट्री, ये दो नए वेरिएंट पसारने लगे पैर    |    छत्तीसगढ़ पर फिर पड़ा Corona का साया,एक ही दिन में इस जिले में मिले इतने कोरोना मरीज,जानिए किस जिले में कितने एक्टिव केस ?    |    CG CORONA UPDATE : छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामलों में बढ़त जारी...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 10 नए मरीज मिले, कहां कितने केस मिले, देखें सूची…    |    प्रदेश में थमी कोरोना की रफ्तार, आज इतने नए मामलों की पुष्टिं, प्रदेश में अब 91 एक्टिव केस    |    CG CORONA UPDATE : छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामलों में बढ़त जारी...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    BREAKING : प्रदेश में आज 15 नए कोरोना मरीजों पुष्टि, देखें जिलेवार आकड़े    |    प्रदेश में कोरोना का कहर जारी...कल फिर मिले इतने से ज्यादा मरीज, एक्टिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार    |    छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के 14 नए मरीज...इस जिले में सबसे ज्यादा संक्रमित,कुल 111 एक्टिव केस    |
बात सेहत की : फ्रोजन मटर’ का जमकर इस्तेमाल करते हैं तो हो जाएं सावधान! हो सकते हैं ये बड़े नुकसान

बात सेहत की : फ्रोजन मटर’ का जमकर इस्तेमाल करते हैं तो हो जाएं सावधान! हो सकते हैं ये बड़े नुकसान

 फ्रोजन मटर का इस्तेमाल कई लोगों की मजबूरी बन जाता है। वहीं, कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो खानपान में फ्रोजन मटर का ही ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। वजह है कि इसे छीलने और स्टोर करने में ज्यादा परेशानी नहीं होती। ऐसे में, आइए आज आपको बताते हैं कि कैसे यह थोड़ी-सी सहूलियत अपने साथ कई परेशानियां लेकर आती हैं।

फ्रोजन मटर के ज्यादा इस्तेमाल से वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है। दरअसल, प्रिजर्व फूड्स में स्टार्च का इस्तेमाल किया जाता है, जो फैट को बढ़ाने का काम कर सकता है। ऐसे में, मोटापे से जूझ रहे लोगों को इसके सेवन से थोड़ा बचना चाहिए।
पोषक तत्व की कमी

फ्रोजन मटर के ज्यादा इस्तेमाल से पोषक तत्वों की कमी का सामना भी करना पड़ सकता है। लंबे समय तक मटर को फ्रोजन रखने से पोषक तत्वों को नुकसान पहुंचता है, इसलिए हमेशा ताजे मटर को ही पहली पसंद के रूप में चुनना चाहिए।

बीपी की शिकायत

फ्रोजन मटर को खाने से हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत भी हो सकती है। ऐसा इसमें मौजूद सोडियम के कारण होता है। इसलिए अगर आप भी हृदय रोग या स्ट्रोक के खतरे को बढ़ाना नहीं चाहते हैं, तो इसका ज्यादा सेवन करने से परहेज कर सकते हैं।
हार्ट के लिए नुकसानदायक

फ्रोजन मटर का ज्यादा इस्तेमाल करने से हार्ट हेल्थ को नुकसान पहुंच सकता है। यह दिल की धमनियों को बंद करके शरीर में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है। वहीं, इसमें मौजूद ट्रांस फैट नसों को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में, भूलकर भी इसका ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए।

 
Ayurvedic Herbs की मदद से बनाएं इम्युनिटी को मजबूत और रहें हर एक मौसम व उम्र में हेल्दी

Ayurvedic Herbs की मदद से बनाएं इम्युनिटी को मजबूत और रहें हर एक मौसम व उम्र में हेल्दी

 आज की व्यस्त जीवनशैली में शरीर को स्वस्थ और मन को शांत बनाए रखना पहले से कहीं ज्यादा जरूरी हो गया है। शरीर से जुड़ी किसी भी तरह की परेशानी मानसिक समस्याओं का शिकार बना सकती है। वहीं अगर आप किसी तरह की मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम से जूझ रहे हैं, तो इससे आपकी फिजिकल हेल्थ भी प्रभावित हो सकती है।

इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

1. अश्वगंधा (Withania somnifera)

अश्वगंधा एक ऐसी जड़ी-बूटी है, जो तनाव और चिंता के असर को काफी हद तक कम कर सकती है। इसका सेवन करने से थकान और नींद से जुड़ी समस्याएं भी दूर होती है और सबसे जरूरी कि इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

2. तुलसी (Ocimum Sanctum)

तुलसी, जिसे होली बेसिल भी कहते हैं, यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में बेहद कारगर है। अपने एंटीवायरस, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों के चलते यह पौधा इन्फेशन की रोकथाम करने और श्वसन तंत्र की सफाई में काफी कारगर है।

3. अमलकी (Phyllanthus Emblica)

अमलकी याआंवला एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी से भरपूर होता है। यह शरीर को डिटॉक्स कर इम्युनिटी को बेहतर बनाता है।

4. गिलॉय (Tinospora cordifolia)

इम्युनिटी बढ़ाने की गिलॉय की क्षमता किसी से छिपी नहीं है। यह शरीर को डीटॉक्स करने में मदद करता है, पाचन में सुधार लाता है, शरीर को इन्फेशन और किसी भी प्रकार की सूजन से बचाता है।

CG NEWS : अब सस्ते में बनेगा खुद का आशियाना, सरिया के दाम में भारी गिरावट

CG NEWS : अब सस्ते में बनेगा खुद का आशियाना, सरिया के दाम में भारी गिरावट

 रायपुर : पहले से ही बाजार की सुस्ती के चलते गिर रहे सरिया की कीमतों में और गिरावट आ गई है। सरिया की कीमतें 1000 रुपये प्रति टन सस्ती हो गई। इस प्रकार फैक्ट्रियों में सरिया 55,000 रुपये प्रति टन तथा रिटेल में 58,500 रुपये प्रति टन बिक रहा है। क्षेत्र से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में सरिया की कीमतों में और गिरावट के संकेत हुए है।

अभी बाजार में मांग बिल्कुल नदारद है, साथ ही कच्चा माल की कीमतों में भी गिरावट है। इसका असर ही कीमतों में देखने को मिल रहा है। सरिया के साथ ही इन दिनों सीमेंट की कीमतों में भी गिरावट है और 285 से 300 रुपये प्रति तक सीमेंट बिक रहा है। कारोबारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में कीमतों में थोड़ी और गिरावट आ सकती है। अभी घर बनाने का अच्छा समय कहा जा सकता है। इसके साथ ही प्रापर्टी की कीमतें भी अभी स्थिर है।

 
 
पेट्रोल-डीजल GST के दायरे में आने पर इतने रुपये तक कम होंगे दाम...

पेट्रोल-डीजल GST के दायरे में आने पर इतने रुपये तक कम होंगे दाम...

 पेट्रोल-डीजल को लंबे समय से जीएसटी के तहत लाने की मांग की जा रही है. अगर ऐसा होता है तो देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बड़ी कमी आ सकती है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को हुई जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए पेट्रोल-डीजल को गुड्स एंड सर्विसेज के तहत लाने के सवाल पर कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना चाहती है. अब राज्यों को इसके बारे में फैसला लेना है और वे साथ आकर दरें तय करें.

दरअसल, पेट्रोल और डीजल पर केंद्र सरकार की ओर से एक्साइज ड्यूटी लगाई जाती है. वहीं, राज्य सरकार द्वारा वैट वसूला जाता है. इसके अलावा ट्रांसपोर्टेशन लागत और डीलर कमीशन मिलाकर अंतिम कीमत आती है.

उदाहरण के लिए मौजूदा समय में दिल्ली में पेट्रोल का बेस प्राइस 55.46 रुपये है. इस पर 19.90 रुपये की एक्साइज ड्यूटी, 15.39 रुपये का वैट लगता है. इसके बाद ट्रांसपोर्टेशन लागत और डीलर कमीशन क्रमश: 20 पैसे और 3.77 रुपये लगता है. ऐसे में अंतिम कीमत 94.72 रुपये निकलकर आती है.

वहीं, दिल्ली में डीजल का बेस प्राइस 56.20 रुपये है. इस पर 15.80 रुपये की एक्साइज ड्यूटी, 12.82 रुपये का वैट लगता है. इसके बाद ट्रांसपोर्टेशन लागत और डीलर कमीशन क्रमश: 22 पैसे और 2.58 रुपये लगता है. ऐसे में अंतिम कीमत 87.62 रुपये होती है.

जीएसटी के दायरे में आने पर होगा ये फायदा

अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाता है तो काफी फायदा होगा, क्योंकि जीएसटी की अधिकतम दर 28% है. दिल्ली में पेट्रोल का बेस प्राइस 55.46 रुपये है. इस पर 28 फीसदी जीएसटी लगा दी जाए तो टैक्स 15.58 रुपये बनता है. अगर ट्रांसपोर्टेशन लागत और डीलर कमीशन क्रमश: 20 पैसे और 3.77 रुपये जोड़ दिए जाए तो अंतिम कीमत 75.01 रुपये बनती है. ऐसे में पेट्रोल 19.7 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो सकता है.

AI फीचर के साथ लॉन्च हुआ वनप्लस ये धांसू टैबलेट, जानिए इसके शानदार फीचर्स के बारे में

AI फीचर के साथ लॉन्च हुआ वनप्लस ये धांसू टैबलेट, जानिए इसके शानदार फीचर्स के बारे में

 OnePlus Pad 2 : वनप्लस ने आज अपने Summer लॉन्च इवेंट में Nord 4, Nord Buds 3 Pro, Watch 2R और OnePlus Pad 2 को लॉन्च किए हैं। वनप्लस का ये  टैबलेट एडवांस AI फीचर से लैस है। यह टैबलेट 9,510mAh की बैटरी, 67W फास्ट चार्जिंग जैसे फीचर्स को सपोर्ट करता है।

OnePlus Pad 2 को दो स्टोरेज वेरिएंट में लॉन्च किया गया है। इसके बेस 8GB RAM + 128GB वाले वेरिएंट की कीमत 39,999 रुपये है। वहीं, इसका टॉप 12GB RAM और 256GB स्टोरेज वाला वेरिएंट 42,999 रुपये में आता है। इस टैबलेट की पहली सेल 1 अगस्त को Amazon और OnePlus के आधिकारिक स्टोर पर आयोजित की जाएगी। Pad 2 की खरीद पर 2,000 रुपये तक का इंस्टैंट बैंक डिस्काउंट भी ऑफर किया जा रहा है।

इस टैबलेट के साथ मिलने वाले एक्सटर्नल एक्सेसरीज Smart की-बोर्ड की कीमत 8,499 रुपये है। वहीं, इसके Stylo 2 पेन की कीमत 5,499 रुपये है।

OnePlus Pad 2 में मिलते हैं ये फीचर्स

  • यह टैबलेट 12.1 इंच के 3K IPS LCD डिस्प्ले के साथ आता है। इसमें डॉल्वी विजन, 900 निट्स तक की पीक ब्राइटनेस और 144Hz हाई रिफ्रेश रेट जैसे फीचर्स हैं।
  • यह प्रीमियम टैबलेट Qualcomm Snapdragon 8 Gen 3 प्रोसेसर पर काम करता है, जिसके साथ 12GB रैम और 256GB तक इंटरनल स्टोरेज का सपोर्ट मिलेगा।
  • इसमें 9,510mAh की बैटरी के साथ 67W SuperVOOC फास्ट चार्जिंग फीचर मिलता है। इस टैबलेट के साथ कंपनी Android 14 पर बेस्ड OxygenOS 14 ऑपरेटिंग सिस्टम ऑफर कर रही है।
  • इस टैबलेट में 6 स्पीकर सिस्टम दिए गए हैं और यह OnePlus Stylo 2 Stylus पेन और OnePlus स्मार्ट की-बोर्ड जैसे एक्सेसरीज को सपोर्ट करता है।
  • इस टैबलेट के बैक में 13MP का मेन रियर कैमरा दिया गया है। इसमें सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए 8MP का फ्रंट कैमरा दिया गया है।

OnePlus Pad 2 के AI फीचर्स

इस टैबलेट के साथ कंपनी Open Canvas, AI Eraser 2.0, Smart Cutout 2.0, AI टूल बॉक्स, रिकॉर्डिंग समरी, स्कैन डॉक्यूमेंट जैसे फीचर्स जोड़े हैं, जो यूजर्स के कई काम को आसान बनाएंगे। यूजर्स Open Canvas के जरिए स्क्रीन को तीन भाग में बांट सकते हैं।

WhatsApp यूजर्स की बल्ले-बल्ले! अब चैट के दौरान कर सकेंगे मैसेज ट्रांसलेट

WhatsApp यूजर्स की बल्ले-बल्ले! अब चैट के दौरान कर सकेंगे मैसेज ट्रांसलेट

 वॉट्सऐप अपने यूजर्स के एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने के लिए कई अपडेट्स लेकर आता है. वॉट्सऐप अब एक नए फीचर पर काम कर रहा है जिसके जरिए आप अब किसी भी भाषा में चैट करें, वॉट्सऐप इसका लाइव ट्रांसलेशन करेगा. इस फीचर पर फिलहाल काम किया जा रहा है. अभी ये बीटा टेस्टर्स के लिए तैयार नहीं है. ये गूगल की लाइव ट्रांसलेशन टेक्नोलॉजी की मदद से काम करेगा.

WABetaInfo के मुताबिक वॉट्सऐप पर एक नया लाइव ट्रांसलेशन फीचर डेवलप किया जा रहा है, जो कि डिवाइस पर ही काम करेगा. इसका मतलब यह है कि डाटा को किसी क्लाउड सर्वर पर भेजने की बजाय डिवाइस पर लोकली स्टोर किया जा सकता है. यह फीचर वॉट्सऐप फॉर एंड्रॉयड वर्जन 2.24.15.9 में देखा गया है.

यूजर्स का डेटा रहेगा सुरक्षित

रिपोर्ट्स के अनुसार, लोकप्रिय चैटिंग एप में भविष्य में यूजर्स चैटिंग के दौरान ही अन्य भाषा में किसी भी मैसेज को ट्रांसलेट कर सकेंगे. इस फीचर को गूगल लाइव ट्रांसलेशन तकनीक के तौर पर जाना जा रहा है. रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया जा रहा है कि चैटिंग के दौरान मैसेज को रियल टाइम में ट्रांसलेट किया जाएगा, मगर यूजर्स के मैसेज को कंपनी के सर्वर पर नहीं भेजा जाएगा. ऐसे में साफ हो गया है कि नए अपडेट में यूजर्स के डेटा सेफ्टी का ध्यान रखा गया है. यूजर्स की कोई भी जानकारी एप से बाहर नहीं जाएगी.

कैसे काम करेगा यह फीचर

जानकारी के मुताबिक, यह फीचर शुरुआत में केवल हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं में काम करेगा और बाद में इसे दूसरी भाषाओं का सपोर्ट दिया जा सकता है. फीचर को एक्सेस करने के लिए यूजर्स को लैंग्वेज पैक्स डाउनलोड करने पड़ सकते हैं. यह ट्रांसलेशन अपने आप चैट्स में हो जाएंगे और यूजर्स को किसी थर्ड पार्टी ऐप्स की मदद नहीं लेनी होगी.