BIG BREAKING : गणतंत्र दिवस के माहौल में रायपुर में हुआ कोरोना विस्फोट, प्रदेश में आज कुल इतने मरीजों की हुई पहचान    |    कोरोना ब्रेकिंग न्यूज़ : 8 महीने से अधिक समय के बाद दैनिक मृत्यु दर घटकर 117 हुई    |    VIDEO : किसानों की ट्रैक्‍टर रैली पहुंची लालकिला, प्रदर्शनकारी कर रहे झंडा फहराने की कोशिश, देखें विडियो    |    BIG BREAKING : देसी PUB G कहे जा रहे FAU-G गेम हुआ लॉन्च, एक्टर अक्षय कुमार ने ट्विट किया डाउनलोड लिंक    |    बड़ी खबर : सिंघु बॉर्डर से शुरू हुई किसानों की ट्रैक्टर रैली में पुलिस के साथ हुई झड़प, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले    |    BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में आज इतने मरीजों की हुई पहचान, प्रदेश में भी सिर्फ इतने मरीज मिले    |    बिग ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ के 6 नगर सेना अफसरों को राष्ट्रपति का सराहनीय सेवा पदक    |    BIG BREAKING : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर कर रहे राष्ट्र को सम्बोधित, देखें LIVE    |    25-26 को दिल्ली की बिजली गुल करने साजिश रच रहा प्रतिबंधित संगठन, सोशल मीडिया में दी धमकी    |    Aadhar Card में अब इस तरह जोड़ सकते हैं अपना मोबाइल नंबर, नहीं लगेगी कोई डॉक्यूमेंट    |
बीमारियों की अनुपस्थिति का मतलब यह भी नहीं है कि आप स्वस्थ हैं

बीमारियों की अनुपस्थिति का मतलब यह भी नहीं है कि आप स्वस्थ हैं

क्या आपको यह पसंद है की जब आप बीमार हो और खेलने के लिए बाहर नहीं जा सकते ? बिलकूल नही ! बीमार रहना किसी को पसंद नहीं है ! हालाँकि, आप अपनी पूरी कोशिश करने के बावजूद, कई बार बीमार पड़ जाते हैं ! यह मौसम में बदलाव या किसी वायरस के कारण हो सकता है, आप कभी भविष्यवाणी नहीं कर सकते। लेकिन, बीमारियों की अनुपस्थिति का मतलब यह भी नहीं है कि आप स्वस्थ हैं !  

 

क्यों अच्छा स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है ?

कोशिकाएं सभी जीवित जीवों की मूलभूत इकाइयाँ हैं। वे विभिन्न प्रकार के रासायनिक पदार्थों से बने होते हैं। कोशिकाएँ एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाती हैं। इसके अलावा, हमारे शरीर में विभिन्न विशिष्ट गतिविधियां होती हैं, जैसे हृदय रक्त पंप करता है, गुर्दे मूत्र को फ़िल्टर करता है, मस्तिष्क लगातार सोच रहा है, फेफड़े सांस लेने में मदद करते हैं।इस तरह, हमारे शरीर में विभिन्न अंगों के बीच बहुत अंतर-संबंध है। इन सभी गतिविधियों के लिए, हमारे शरीर को ऊर्जा की आवश्यकता होती है। सेल और टिश्यू के कामकाज के लिए भोजन आवश्यक है। इसलिए, यदि आप ठीक नहीं हैं, तो आपकी सभी शारीरिक गतिविधियाँ बाधित होने लगती हैं।

 

स्वास्थ्य का महत्व

पूर्ण स्वास्थ्य शारीरिक, मानसिक और सामाजिक कल्याण की स्थिति है। स्वस्थ जीवन के लिए,  संतुलित आहार और नियमित रूप से व्यायाम करने की आवश्यकता होती है। व्यक्ति को उचित आश्रय में रहना चाहिए, पर्याप्त नींद लेनी चाहिए और स्वच्छता की अच्छी आदतें होनी चाहिए। हमें वास्तव में स्वस्थ रहने के लिए खुश रहने की आवश्यकता है। अगर हम एक-दूसरे के साथ गलत व्यवहार करते हैं और एक-दूसरे से डरते हैं, तो स्वस्थ पर बुरा परभव पड़गा । व्यक्तिगत स्वास्थ्य के लिए सामाजिक समानता और सद्भाव महत्वपूर्ण हैं।सभी जीवों का स्वास्थ्य उनके आसपास या उनके वातावरण पर निर्भर करता है। हमारा सामाजिक वातावरण हमारे व्यक्तिगत स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण कारक है। सार्वजनिक स्वच्छता व्यक्तिगत स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए, हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम नियमित रूप से कचरा इकट्ठा करें और उसे साफ करें। हमें किसी ऐसी एजेंसी से भी संपर्क करना चाहिए जो नालियों को साफ करने की जिम्मेदारी ले सके। इसके बिना, आप अपने स्वास्थ्य को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकते हैं। हमें स्वास्थ्य के लिए भोजन चाहिए और भोजन के लिए, हमें काम करके पैसा कमाना होगा। इसके लिए काम करने का अवसर उपलब्ध होना है। इसलिए, अच्छी आर्थिक स्थिति और रोजगार, व्यक्तिगत स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं

 

क्या आपको भी है सुबह उठते ही फोन देखने की आदत, जान लें इसके नुकसान

क्या आपको भी है सुबह उठते ही फोन देखने की आदत, जान लें इसके नुकसान

आजकल के समय में मोबाइल हर किसी की जरूरत बन चुका है. आज मोबाइल के बिना जिंदगी की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. यह अब हर व्यक्ति के जीवन का अहम हिस्सा बन चुका है. मोबाइल लोगों की जिंदगी में इसकदर हावी हो गया है कि लोग सोते -उठते यहां तक की खाते समय भी मोबाइल का ही इस्तेमाल करते हैं. बहुत से लोग ऐसे भी हा जिन्हें सुबह उठते ही सबसे पहले फोन चलाने की आदत होती है.
क्या आप जानते हैं कि सुबह उठते ही फोन का प्रयोग करने से एक नहीं बल्कि कई प्रकार के नुकसान हो सकते हैं. अगर आप भी ऐसा ही करते हैं तो आज हम आपको इससे होने वाले नुकसानों के बारे में बताने जा रहे हैं.
– यूनाइटेड किंगडम में किए गए एक सर्वे में इस बात का खुलासा हुआ है कि जो लोग सुबह उठते ही फोन यूज करते हैं उनके दिन की शुरुआत स्ट्रेस से भरपूर होती है. साथ ही ऐसे लोगों को अपने काम करने में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है.
– विशेषज्ञों के मुताबिक, सुबह उठते ही जब हम सभी मोबाइल में नोटिफिकेशन देखते हैं तो हमारा दिमाग उस समय सिर्फ उसी विषय के बारे में सोचने लगता है. जिस वजह से हमारा मन किसी दूसरे काम में नहीं लग पता है. ऐसा करने से हमारे कार्यक्षमता पर भी असर पड़ता है.
– सुबह उठते ही फोन देखते समय जो चीज हमें दिखती हैं हम दिन भर उसी के बारे में सोचते हैं जिससे हमें तनाव और एंजाइटी का सामना करना पड़ता है.
– सुबह उठते ही मेल या नोटिफिकेशन चेक करते हैं तो हम बीते दिनों की बातों को पढ़कर परेशान हो जाते हैं और हम पीछे की बातों को भूलाने की बजाए फिर से अपना मन और दिमाग पुरानी बातों में लगा लेते हैं.
 

खिलौना क्षेत्र के लिए नीति की घोषणा कर सकती है सरकार

खिलौना क्षेत्र के लिए नीति की घोषणा कर सकती है सरकार

नईदिल्ली । केंद्र सरकार आगामी आम बजट में घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देने के लिए खिलौना क्षेत्र के लिए एक प्रतिबद्ध नीति की घोषणा कर सकती है. इस नीति से देश में उद्योग के लिए एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र बनाने और स्टार्टअप को आकर्षित करने में मदद मिलेगी. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय पहले ही खिलौनों के घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देने हेतु कदम उठा रहा है. मंत्रालय ने क्षेत्र के लिए गुणवत्ता नियंत्रक आदेश जारी किया है और साथ ही पिछले साल खिलौनों पर आयात शुल्क बढ़ाया है. गुणवत्ता नियंत्रण आदेश से घरेलू बाजार में सस्ते कम गुणवत्ता वाले खिलौनों के प्रवाह को रोका जा सकेगा.

प्रधानमंत्री ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात कार्यक्रम के जरिए देसी खिलौनों को बढ़ावा देने के बात कह चुके हैं. प्रधानमंत्री के मुताबिक ग्लोबल खिलौना बाजार सात लाख करोड़ रुपए से भी बड़ा है लेकिन भारत का हिस्सा उसमें बहुत ही कम है. इसे आगे बढ़ाने में देश को मिलकर मेहनत करनी है. प्रधानमंत्री पहले भी कई बार भारतीय खिलौना उद्योग को बढ़ावा देने हेतु इंडस्ट्री को आगे आने के लिए कह चुके हैं.

खिलौने के घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देना

गुणवत्ता नियंत्रण आदेश से घरेलू बाजार में सस्ते कम गुणवत्ता वाले खिलौनों के प्रवाह को रोका जा सकेगा. अंतरराष्ट्रीय खिलौना उद्योग में भारत की हिस्सेदारी काफी कम है. वैश्विक मांग में भारत के निर्यात का हिस्सा 0.5 प्रतिशत से भी कम है. ऐसे में इस क्षेत्र में काफी अवसर हैं.

 

 

 5 दिन की तेजी के बाद फिसले सोना-चांदी, जाने कितने रुपये की आई गिरावट

5 दिन की तेजी के बाद फिसले सोना-चांदी, जाने कितने रुपये की आई गिरावट

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमती धातुओं के भाव में गिरावट से स्थानीय सर्राफा बाजार में भी शुक्रवार को सोना 263 रुपये की गिरावट के साथ 48,861 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। एचडीएफसी सिकयुरिटीज ने यह जानकारी दी। इससे पिछले दिन सोने का बंद भाव 49,124 रुपये प्रति दस ग्राम रहा था। चांदी में भी तेजी का रुख खत्म हो गया और शुक्रवार का यह 806 रुपये की गिरावट के साथ 66,032 रुपये प्रति किलो पर आ गई। इससे पिछले दिन यह 66,838 रुपये प्रति किलो पर थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों में ही गिरावट रही। सोना गिरावट के साथ 1,861 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच था वहीं चांदी भी 25.52 डॉलर प्रति औंस पर आ गई। कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों की कटान की जिससे वायदा कारोबार में सोना 0.29 प्रतिशत की हानि के साथ 49,304 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में फरवरी महीने में डिलिवरी वाले सोना वायदा की कीमत 144 रुपये यानी 0.29 प्रतिशत की हानि के साथ 49,304 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इसमें 5,435 लॉट के लिये कारोबार किया गया। अंतरराष्ट्रीय बाजार, न्यूयॉर्क में सोना 0.37 प्रतिशत की हानि दर्शाता 1,862.30 डॉलर प्रति औंस चल रहा था। कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों के आकार को घटाया जिससे वायदा बाजार में चांदी वायदा कीमत 779 रुपये की हानि के साथ 66,521 रुपये प्रति किलो रह गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में चांदी के मार्च महीने में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 779 रुपये यानी 1.16 प्रतिशत की हानि के साथ 66,521 रुपये प्रति किलो रह गयी जिसमें 11,901 लॉट के लिये कारोबार हुआ। वैश्विक स्तर पर, न्यूयार्क में चांदी 1.20 प्रतिशत की हानि के साथ 25.55 डॉलर प्रति औंस चल रहा था।
बाल रेशमी और घने बन जाएंगे जानिए कैसे

बाल रेशमी और घने बन जाएंगे जानिए कैसे

अमरलता से सिर में चंपी करिए, इसके पानी से बालों को धोइए या इसका सेवन करिए। आपके बाल रेशमी और घने बन जाएंगे...

बालों को घना, मोटा और चमकदार बनाने के लिए आपको बाल धोते समय अमरलता के पानी का उपयोग करना होगा। इस पानी को कैसे तैयार करना है, यहां जानें... आपको चाहिए करीब 50 ग्राम अमरलता यानी अमरबेल। अब आप इस बेल के तने और पत्तों को 1 से डेढ़ लीटर पानी में पका लें। जब पानी में 1 उबाल आ जाए तो आंच को बंद कर दें। फिर पानी ठंडा होने पर बाल धोते समय अंत में इस पानी से बाल धोएं। ऐसा करने से आपके बालों को अमरलता के गुणों का पोषण मिलता है। इससे आपके बाल ना केवल घने और मोटे बनते हैं बल्कि मजबूत और शाइनी भी बनते हैं।
इस तेल के साथ सिर में करें अमरलता की चंपी
बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने के लिए आप अमरबेल को पीसकर उसे तिल या शीशम के तेल में मिला लें। अब इस तेल से अपने बालों में चंपी करें और आधा से एक घंटा बाद शैंपू कर लें। आपके बाल झड़ने भी कम हो जाएं और नए बाल उगने भी शुरू हो जाएंगे। साथ ही बालों की चमक और उनका घना होना आपकी खूबसूरती में चारचांद लगा देगा।
सिर में खुजली की समस्या होने पर लाभकारी 'अमरलता' है बालों के लिए वरदान, बेजान केशों में डाल देती है नई जान आइए, आज जानते हैं कि बालों को सुंदर, घना और प्राकृतिक रूप से चमकदार बनाने के लिए अमरलता का उपयोग किस तरह करना चाहिए। ताकि केमिकल बेस्ड प्रॉडक्ट्स से बालों और सिर की त्वचा को हो रहे नुकसान से बचा जा सके...
बालों को घना बनाने के लिए अमरलता का उपयोग
बालों को घना, मोटा और चमकदार बनाने के लिए आपको बाल धोते समय अमरलता के पानी का उपयोग करना होगा। इस पानी को कैसे तैयार करना है, यहां जानें... आपको चाहिए करीब 50 ग्राम अमरलता यानी अमरबेल। अब आप इस बेल के तने और पत्तों को 1 से डेढ़ लीटर पानी में पका लें। जब पानी में 1 उबाल आ जाए तो आंच को बंद कर दें। फिर पानी ठंडा होने पर बाल धोते समय अंत में इस पानी से बाल धोएं। ऐसा करने से आपके बालों को अमरलता के गुणों का पोषण मिलता है। इससे आपके बाल ना केवल घने और मोटे बनते हैं बल्कि मजबूत और शाइनी भी बनते हैं।
इस तेल के साथ सिर में करें अमरलता की चंपी
बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने के लिए आप अमरबेल को पीसकर उसे तिल या शीशम के तेल में मिला लें। अब इस तेल से अपने बालों में चंपी करें और आधा से एक घंटा बाद शैंपू कर लें। आपके बाल झड़ने भी कम हो जाएं और नए बाल उगने भी शुरू हो जाएंगे। साथ ही बालों की चमक और उनका घना होना आपकी खूबसूरती में चारचांद लगा देगा। इस गलती से नेहा कक्कड़ कर चुकी हैं तौबा, दोहराव से बचने के लिए हर दिन करती हैं ऐसा .
सिर में खुजली की समस्या होने पर लाभकारी
कई बार यह समस्या होती है कि बिना किसी कारण सिर में बहुत अधिक खुजली होने लगती है। ऐसा स्कैल्प इरिटेशन के कारण होता है। आमतौर पर मौसम बदलने के दौरान या बालों को सही देखभाल ना मिलने के कारण सिर की त्वचा के पीएच में बदलाव होता है और बालों की जड़ों में खुजली की समस्या होने लगती है।
स्कैल्प इरिटेशन में लगाएं अमरबेल का लेप आप जब भी सिर में हो रही खुजली की समस्या से परेशान हों तो अमरबेल यानी अमरलता को पीसकर उसका लेप बनाकर अपने बालों पर लगा सकते हैं। सिर्फ बालों पर ही नहीं यदि शरीर के किसी भी हिस्से में खुजली की समस्या आपको बार-बार परेशान कर रही है और आपको त्वचा का कोई रोग नहीं है तो आप अमरलता का लेप लगा सकते हैं। आपको पहली ही बार में आराम का अनुभव होगा।
क्यों इतनी असकारक है अमरलता?
यहां आपको अमरलता के जो भी लाभ बताए गए हैं, उन्हें जानने के बाद आपके मन में यह सवाल जरूर आएगा कि आखिर अमरलता में ऐसा क्या होता है, जो यह इतनी प्रभावी बेल है। तो आपको बता दें कि अमरलता में फ्लैवोनॉयड्स, ऐंटिऑक्सीडेंट्स, विटमिन्स के साथ ही कई लाभकारी पोषक तत्व पाए गए हैं। कई अलग-अलग शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि अमरबेल का सेवन पाचनतंत्र को मजबूत करता है। इससे शरीर को पूरा पोषण मिलता है।
सही पोषण का बालों पर असर
जब शरीर को पोषण सही से प्राप्त होगा तो बाल झड़ने खुद ही बंद हो जाएंगे। लेकिन यदि सेवन की बात की जाए तो हम आपको सलाह देंगे कि इसके सेवन से बालों को सही करने से पहले आप किसी अच्छे आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह लें। ताकि आपकी सेहत को ध्यान में रखते हुए वे इसकी सही मात्रा और सेवन का सही तरीका आपको बताएं।
 
इन 5 में से कोई एक चीज खा लीजिए, चुटकियों में चेहरा चमकेगा

इन 5 में से कोई एक चीज खा लीजिए, चुटकियों में चेहरा चमकेगा

चुटकियों में चेहरा चमकाना हो तो यहां बताई जा रही पांच चीजों में से कोई भी एक खा लीजिए। चेहरे पर ताजगी दिखने लगेगी। ऐसा क्यों होता है, यह भी यहां बताया गया है...दिनभर की थकान, ऊब और स्ट्रेस के कारण चेहरे की त्वचा अपना चार्म खो देती है और आप डल नजर आने लगते हैं। अगर आप इस डलनेस को चुटकियों में दूर करना चाहते हैं तो आपको कोई ब्यूटी प्रॉडक्ट यूज करने की जरूरत नहीं है। बस आप यहां बताई गई इन 5 चीजों में से किसी एक का सेवन कर लीजिए, चेहरा खिल उठेगा...चीकू का स्वाद हम सभी को पसंद होता है। जब भी आप बहुत अधिक थका हुआ अनुभव करें और अपने चेहरे पर एकदम फ्रेश ग्लो लाना चाहे तो एक चीकू खा लीजिए। फिर देखिए आपकी थकान कैसे जादू से गायब हो जाएगी और चेहरे की त्वचा में नई जान आ जाएगी। दरअसल, चीकू में विटमिन-ए, विटमिन-बी और नैचरल ग्लूकोज होता है। विटमिन-ए आपकी आंखों की थकान तो तुरंत दूर करता है। तो विटमिन-बी रिलैक्सेशन बढ़ाने का काम करता है और ग्लूकोज आपके शरीर को तुरंत ऊर्जा देता है। इन सभी का असर होता है कि आपकी थकान उतर जाती है और चेहरा चमकने लगता।आइसक्रीम खाना किसे पसंद नहीं...यानी हम सभी आइसक्रीम बहुत शौक के साथ खाते हैं। जब भी कभी आप तनाव में हों तो अपनी पसंद के फ्लेवर की एक आइसक्रीम खा लीजिए। आपका चेहरा खिल उठेगा। क्योंकि आइसक्रीम खाने से ना सिर्फ त्वचा की कोशिकाओं को रिलैक्शेसन मिलता है बल्कि यह एक अच्छा मूड बूस्टर भी है। आइक्रीम में विटमिन-ए और विटमिन-के पाए जाते हैं। विटमिन-ए आंखों की मसल्स को शांत करता है तो विटमिन-के ब्लड को पतला कर फ्लो बढ़ाता है। इसके साथ ही इसमें कैल्शियम और फास्फोरस होते हैं, जो आपके शरीर को ऊर्जा देने का काम करते हैं। फिर देर किस बात की है, तुरंत अपना पसंदीदा फ्लेवर लीजिए और चेहरे से तनाव को उतार फेंकिए...। पाइनऐपल की खुशबू ही इतनी रिफ्रेशिंग होती है कि आधी थकान तो इसी से मिट जाती है। बाकी का बचा हुआ तनाव इसकी एक बाइट ही दूर कर देती है। पाइनऐपल में विटमिन-ए, विटमिन-सी, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीज और पोटैशियम जैसे गुण होते हैं। यही वजह है कि अनानास यानी पाइनऐपल की एक स्लाइस खाते ही दिल और दिमाग दोनों खुश हो जाते हैं। साथ में आपकी त्वचा एकदम रिफ्रेश हो जाती है। क्योंकि पाइनऐपल के गुण आपकी नसों को शांत करते ब्लड और ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ा देते हैं। जिससे चेहरा खिला-खिला दिखने लगता है। यह सही है कि चॉकलेट आपका फैट बढ़ा सकता है। लेकिन सीमित मात्रा में खाया जाए तो कोई चीज नुकसान नहीं करती, चॉकलेट भी नहीं। बल्कि बहुत अधिक थका हुआ होने पर आप चॉकलेट का सेवन करते हैं तो यह आपका मूड बूस्ट करके चेहरे की मुस्कान वापस लाने का काम जरूर करती है। चॉकलेट को बनाने में कोकोआ, दूध और चीनी का उपयोग किया जाता है। कोकोआ का उपयोग सौंदर्य बढ़ाने के लिए कई सदियों से होता आ रहा है। जब आप चॉकलेट खाते हैं तो कोकोआ आपके ब्रेन की नर्व्स को रिलैक्स करने का काम करता है। वहीं, दूध आपकी त्वचा को पोषण देता और चीनी ग्लूकोज के रूप में शरीर को ऊर्जा देना काम करती है। संतरे की खुशबू और इसका स्वाद दोनों ही थकान उतारने का काम करते हैं। जब भी तुरंत मूड फ्रेश करना हो और त्वचा को ग्लोइंग दिखाना हो तो एक संतरा खा लीजिए। बाकी इसके बचे हुए छिलको को तुरंत फेस पर रगड़कर चेहरा धो लीजिए। आपके चेहरे पर ऐसी फ्रेशनेस आएगी कि कोई कह भी नहीं पाएगा कि कुछ देर पहले आप थके हुए, तनावग्रस्त और बोझिल दिख रहे थे। संतरे में विटमिन-ए, बी, सी, ऐंटिऑक्सीडेंट्स, पोटैशियम, फास्फोरस और कोलिन जैसे लाभकारी तत्व पाए जाते हैं। जो शरीर के अंदर तुरंत ऊर्जा का संचार करते हैं और आपको फ्रेश लुक देते हैं। चेहरे की त्वचा पर जमा धूल और प्रदूषण को दूर करने के लिए चेहरे पर गुलाबजल का स्प्रे कर लीजिए। गुलाबजल की स्प्रे बॉटल आप हमेशा अपने साथ पर्स में भी रख सकते हैं। ताकि जब जहां जरूरत पड़े एकदम फ्रेश दिख सकें। तो अब कभी भी और कहीं भी एकदम फ्रेश लुक पाने के लिए आपको यहां बताई गई चीजों में से किसी एक को खाना है और अपने चेहरे पर गुलाबजल लगाना है। फिर कोई नहीं जान पाएगा कि चंद मिनट पहले आप थके हुए और डल दिख रहे थे।