कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
बड़ी खबर : सीआरपीएफ कैंप के विरोध में उतरे ग्रामीण

बड़ी खबर : सीआरपीएफ कैंप के विरोध में उतरे ग्रामीण

बीजापुर। बीजापुर जिले के तरेम में सीआरपीएफ के कैंप के विरोध में आज सैकड़ों के संख्या में ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया। दरअसल सीआरपीएफ तरेम के आगे कैंप लगाना चाहती है, पर ग्रामीण उन्हें रोक रहे है। ग्रामीण इस कैंप के खिलाफ है, और आज सुबह कैंप की जगह पर सैकड़ों के संख्या में ग्रामीण पहुंचे और उन्होंने इस कैंप का विरोध किया।

पुलिस अधिकारी पर लगा आदिवासी सरपंच से मारपीट का आरोप

पुलिस अधिकारी पर लगा आदिवासी सरपंच से मारपीट का आरोप

 बीजापुर। बस्तर के बीजापुर जिले में एक पुलिस अधिकारी पर आदिवासी सरपंच से मारपीट करने का आरोप लगा है। मामला जिले के कुटरू क्षेत्र से संबंधित है। पेटा गांव के सरपंच बुधराम तेलम ने कुटरू एसडीओपी शेर बहादुर सिंह पर मारपीट करन का आरोप लगाया है। सरपंच का कहना है कि नक्सल उन्मूलन के बहाने एसडीओपी शेर बहादुर सिंह द्वारा मारपीट की जा रही है। सरपंच बुधराम तेलम ने विधायक विक्रम मंडावी से मिलकर उन्हें पूरे मामले की जानकारी दी है और दोषी एसडीओपी के विरुद्ध कार्रवाई किये जाने की मांग की है।

 कोरोना संक्रमण से बीजापुर जनपद पंचायत अध्यक्ष राधिका तेलम का निधन

कोरोना संक्रमण से बीजापुर जनपद पंचायत अध्यक्ष राधिका तेलम का निधन

बीजापुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण से मंगलवार 11 मई 2021 को कांग्रेस की महिला नेता व बीजापुर जनपद पंचायत अध्यक्ष राधिका तेलम का निधन हो गया। राधिका का जगदलपुर स्थित मेडिकल कालेज में इलाज चल रहा था। मंगलवार की सुबह करीब 5 बजे जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में आक्सीजन लेवल लगातार कम होने के कारण निधन होने की बात सामने आया है। वे पिछले 18 दिनों से कोरोना से जंग लड़ रही थी। 
 3 अप्रैल को हुई पुलिस बल और नक्सली मुठभेड़ की होगी दण्डाधिकारी जांच : कलेक्टर

3 अप्रैल को हुई पुलिस बल और नक्सली मुठभेड़ की होगी दण्डाधिकारी जांच : कलेक्टर

बीजापुर। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने जिले के तर्रेम थाना क्षेत्र के अंतर्गत पेद्दागेलूर और टेकलगुड़ियम के मध्य जंगल में 3 अप्रैल को हुई सयुंक्त पुलिस बल और नक्सली मुठभेड़ घटना की दण्डाधिकारी जांच के आदेश दिए हैं। इस घटना के जांच अधिकारी एसडीएम भोपालपटनम से उक्त घटना के बारे में जानकारी रखने वाले जनसाधारण से 17 मई तक न्यायालय अनुविभागीय दण्डाधिकारी भोपालपटनम मुख्यालय कलेक्टोरेट बीजापुर में उपस्थित होकर साक्ष्य या जानकारी प्रस्तुत करने का आग्रह किया गया है।
 लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर तीन होटल संचालकों पर हुई कार्यवाही

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर तीन होटल संचालकों पर हुई कार्यवाही

बीजापुर। जिले में लॉकडाउन के दौरान जिला मुख्यालय बीजापुर में नियमों का उल्लंघन कर होटल संचालन करने के चलते जायसवाल होटल एवं लॉज तथा होटल के समीप में संचालित एक अन्य होटल के विरूद्ध चालानी कार्यवाही की गयी। जायसवाल होटल से 10 हजार रूपए तथा समीपस्थ स्थित अन्य होटल से दो हजार रूपए अर्थदण्ड वसूला गया। 

सीएमओ पवन मेरिया ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन कर होटल संचालन करने की शिकायत मिलने पर तहसीलदार बीजापुर टीपी साहू, खाद्य सुरक्षा अधिकारी एहसान तिग्गा, नगर निरीक्षक शशिकांत भारद्वाज सहित पुलिस बल एवं नगर पालिका के अमले के द्वारा संयुक्त रूप से जायसवाल होटल एवं लॉज मेन रोड बीजापुर का निरीक्षण किया गया। इस दौरान होटल में 04 व्यक्तियों को इन हाउस डायनिंग सेवा के जरिये नास्ता परोसा जा रहा था। इसके साथ ही समीपस्थ संचालित एक अन्य छोटे होटल में भी नास्ता परोसे जाते पाया गया। उक्त दोनों होटलों को लॉकडाउन के नियमों तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम का उल्लंघन करने के कारण कार्यवाही करते हुए अर्थदण्ड वसूलने सहित ऐसी पुनरावृत्ति नहीं करने की चेतावनी दी गयी है। वहीं भविष्य में दोबारा नियमों का उल्लंघन करते पाये जाने पर फार्म का पंजीयन निरस्त कर प्रतिष्ठान को सील करने की चेतावनी दी गयी है। सीएमओ श्री मेरिया ने बताया कि नगर में लॉकडाउन के नियमों का परिपालन कराये जाने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसके साथ ही लोगों को कोविड संक्रमण से बचाव करने के लिए सर्तकता बरतने की समझाईश दी जा रही है। 
बड़ी खबर: युवक युवती ने एक रस्सी से फांसी लगाकर की आत्महत्या

बड़ी खबर: युवक युवती ने एक रस्सी से फांसी लगाकर की आत्महत्या

बीजापुर। बीजापुर कोतवाली क्षेत्र के तुमनार में युवक और युवती ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर लिया है । परिजनों द्वारा घटना की जानकारी कोतवाली में दे दिया है।  मिली जानकारी के अनुसार प्रेम प्रसंग के चलते युवक युवती ने एक रस्सी से फांसी लगाकर आत्म हत्या कर लिया है। घटना सुबह 4 बजे के आसपास की बताई जा रही है । आत्महत्या के वास्तविक कारण जांच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा ।

बड़ी खबर : 3 दिन पहले अगुआ एएसआई की नक्सलियों ने की हत्या

बड़ी खबर : 3 दिन पहले अगुआ एएसआई की नक्सलियों ने की हत्या

बीजापुर, छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों ने तीन दिन पहले अगुआ किये एएसआई की हत्या कर दी है। मारे गए एएसआई का नाम मुरली ताती है।
जवान को मारने के बाद शव को नक्सलियों ने नांदलूर के पास सड़क पर फेंक दिया है। वहीं शव के पास नक्सली पर्चा भी मिला है। पर्चे में लिखी बात अभी तक सामने नहीं आई है।
 

बड़ी खबर: पत्नी की हत्या के आरोपी आरक्षक ने जेल में फांसी लगाकर की आत्महत्या

बड़ी खबर: पत्नी की हत्या के आरोपी आरक्षक ने जेल में फांसी लगाकर की आत्महत्या

बीजापुर। जिला मुख्यालय के शांति नगर निवासी आरक्षक ने अपनी पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने अपनी पत्नी की हत्या की बात स्वीकार करने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था। पत्नी की हत्या के आरोपी आरक्षक बुधु पल्लो ने गुरुवार को जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 


बीजापुर कोतवाली के थाना प्रभारी शशिकांत भारद्वाज ने बताया कि हत्या के आरोपी आरक्षक बुधु पल्लो ने गुरुवार की दोपहर 2.30 बजे मृतक द्वारा जेल में मिलने वाले चादर को फाड़ कर उससे फांसी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
 बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : राकेट लांचर से किया हमला, पुलिस ने दिया जवाब तो भागे नक्सली

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : राकेट लांचर से किया हमला, पुलिस ने दिया जवाब तो भागे नक्सली

गढ़चिरौली/पखांजूर। छत्तीसगढ़ के सीमा से सटे महाराष्ट्र में नक्सलियों ने गढ़चिरौली के गट्टा पुलिस थाना पर रॉकेट लॉन्चर ग्रेनेड 100 से हमला से कर दिया। हालांकि लॉन्चर नहीं फटने के कारण नक्सली अपने मंसूबे में नाकाम साबित हुए। इससे बड़ा हादसा टल गया। नक्सलियों की इस हरकत पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। इसके बाद नक्सली मौके से भाग निकले। पुलिस के आला अधिकारियों ने खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि नक्सलियों ने ग्रेनेड-100 से थाने पर हमला किया है। जवाबी फायरिंग के बाद नक्सली भाग खड़े हुए। हालांकि किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है।
 बड़ी खबर: अगवा जवान का अब तक कोई सुराग नहीं, नक्सलियों ने कल शाम को किया एएसआई का अपहरण

बड़ी खबर: अगवा जवान का अब तक कोई सुराग नहीं, नक्सलियों ने कल शाम को किया एएसआई का अपहरण

बीजापुर। नक्सलियों ने जवान के अपरण की एक और वारदात को अंजाम दिया है। कल शाम को नक्सलियों ने एएसआई मुरली ताती का अपरण कर लिया। वहीं अभी तक जवान का कोई सुराग नहीं मिला है।

जानकारी के अनुसार एएसआई मुरली ताती बस्तर जगदलपुर में पदस्थ हैं, और वे अपने घर पालनार आए हुए थे। इस दौरान हथियारों से लैस नक्सलियों ने जवान का अपहरण कर लिया। मामले की सूचना मिलते ही गंगालूर थाना पुलिस जवान की तलाशी कर रही है।

इसके पहले नक्सलियों ने बीजापुर में हेलीकाप्टर से बमबारी करने का आरोप लगाया है, नक्सलियों की स्पेशल ज़ोनल कमेटी के प्रवक्ता ने प्रेस नोट जारी किया। बीजापुर के पामेड़ इलाक़े में आसमान से बमबारी का आरोप लगाया है। नक्सलियों ने बम से हुए गड्डे व मलबों की तस्वीर भी जारी की है, नक्सलियों की पीएलजीए द्वारा जगह बदलकर बड़े ख़तरे को टालने की बात कही। 19 अप्रैल की सुबह ड्रोन और हेलिकॉप्टर से बमबारी का आरोप लगाया है। 
बड़ी खबर: आरक्षक ने बेरहमी से पत्नी को उतारा मौत के घाट, शव को जंगल में फेंका

बड़ी खबर: आरक्षक ने बेरहमी से पत्नी को उतारा मौत के घाट, शव को जंगल में फेंका

बीजापुर। आरक्षक ने अपनी ही पत्नी की बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद आरोपी आरक्षक ने शव को जंगल में फेंककर फरार हो गया। पुलिस शव बरामद कर मामले की जांच में जुट गई है।


जानकारी के अनुसार बीजापुर जिले के शांति नगर और जैतालूर के बीच जंगल में महिला की लाश पुलिस ने बरामद की है। इधर गांव में महिला की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है।

वहीं अभी तक पता नहीं चल पाया है कि आरोपी आरक्षक ने किन कारणों से पत्नी की हत्या की। आरोपी पति की गिरफ्तारी के बाद ही मामले का खुलासा होगा। फिलहाल पुलिस आरक्षक की पतासाजी में जुट गई है।
जिले में 16 अप्रैल को शाम 6 बजे से 26 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक सभी मदिरा दुकानें बंद, जाने वजह

जिले में 16 अप्रैल को शाम 6 बजे से 26 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक सभी मदिरा दुकानें बंद, जाने वजह

बीजापुर । कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी रितेश कुमार अग्रवाल की ओर से कोरोना वायरस के पॉजीटिव्ह प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के कारण संक्रमण से आम जनता को सुरक्षित रखने के लिए सम्पूर्ण बीजापुर जिले को 16 अप्रैल को शाम 6 बजे से 26 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।
उक्त अवधि में जिले की समस्त देशी एवं विदेशी मदिरा दुकानें तथा एफएल-7 सैनिक कैंटीन पूर्णत: बंद रहेंगी। इस दौरान समस्त देशी मदिरा दुकानों सीएस-2 (घघ), विदेशी मदिरा दुकानों एफएल-1 (घघ) और सैनिक कैन्टीनों एफएल-7 में मदिरा विक्रय, परोसना एवं परिवहन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। उक्त आदेश का कड़ाई से परिपालन सुनिश्चित किये जाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये गए हैं।
 

 छत्तीसगढ़: जिले में आज शाम 6 बजे से 26 प्रात: 6 बजे तक रहेगा लॉकडाउन, जिले की सीमाएं होंगी सील

छत्तीसगढ़: जिले में आज शाम 6 बजे से 26 प्रात: 6 बजे तक रहेगा लॉकडाउन, जिले की सीमाएं होंगी सील


बीजापुर। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रितेश कुमार अग्रवाल द्वारा जिले में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया गया है। यह लॉकडाउन 16 अप्रैल को शाम 6 बजे से तत्काल प्रभावशील होने के साथ ही 26 अप्रैल को प्रात: 6 बजे तक लागू रहेगी। इस अवधि में अत्यावश्यक सेवाओं को जारी रखा जायेगा। हालांकि यह सेवाएं भी सीमित अवधि के लिए ही जारी रहेगी। इस दौरान मेडिकल दुकानें, दुग्ध पार्लर , दुग्ध वितरण एवं समाचार पत्र वितरण सहित पेट्रोल पम्प इत्यादि का संचालन सीमित समय के लिए किया जा सकेगा। सामाजिक, धार्मिक, राजनैतिक आयोजन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेंगे। विवाह एवं अंत्येष्ठि के लिए सक्षम प्राधिकारी की अनुमति आवश्यक होगी। जिसमें 20 लोगों की उपस्थिति के साथ ही आयोजन किया जा सकेगा।

 कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी  रितेश कुमार अग्रवाल द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ शासन एवं भारत सरकार के गाईड लाईन अनुसार कोविड-19 नियंत्रण के सम्बन्ध में अधिकांश प्रतिबंधों पर समय-समय पर सशर्त छूट प्रदान की गयी थी। उपरोक्त आंशिक प्रतिबंधों की समीक्षा की गयी, जिसमें वर्तमान में कोरोना वायरस पॉजीटिव्ह प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के फलस्वरूप जिला प्रशासन के द्वारा प्रत्येक स्तर पर पूर्व में अधिरोपित प्रतिबंधों-शर्तों का कड़ाई से पालन कराना एवं परिस्थिति के अनुरूप युक्तियुक्त प्रतिबंध अधिरोपित 25 मार्च 2021 को जारी किये गये हैं। वर्तमान में जिला बीजापुर के अंतर्गत कोविड प्रकरणों में लगातार वृद्धि होने के कारण उत्पन्न परिस्थितियों पर कड़े प्रतिबंध अधिरोपित किया जाना आवश्यक है। अत: दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144, आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा 30, 34 सहपठित एपिडेविक एक्ट 1987 यथासंशोधित 2020 के तहत् लागू अधिकांश प्रतिबंधों की समीक्षा के पश्चात अधिरोपित प्रतिबंधों एवं शर्तों का कड़ाई से पालन कराना एवं परिस्थिति अनुरूप युक्तियुक्त प्रतिबंध अधिरोपित मेें आंशिक संशोधन करते हुए संपूर्ण बीजापुर जिले को 16 अप्रैल 2021 को शाम 6 बजे से 26 अप्रैल 2021 को प्रात: 6 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है। उक्त अवधि में जिले की सभी सीमाएं पूर्णत: सील रहेगी। इस अवधि में केवल मेडिकल दुकानों को निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। मेडिकल दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाई की होम डिलिवरी को प्राथमिकता देगें। पेट्रोल पम्प संचालकों द्वारा केवल शासकीय वाहन, शासकीय कार्य मेंं प्रयुक्त वाहन, एटीएम कैश हेतु प्रयुक्त वाहन, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन एवं अंतर्राज्यीय बस स्टेण्ड के संचालित ऑटो, टैक्सी, विधिमान्य ई-पास धारित करने वाले वाहन, एडमिट कार्ड या कॉल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थी एवं उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, प्रेस वाहन, न्यूज पेपर हॉकर, दुग्ध वाहन तथा छत्तीसगढ़ में नहीं रूकते हुए एक राज्य से सीधे अन्य राज्य जाने वाले वाहनों को पीओएल प्रदान किया जायेगा। अन्य सभी वाहनों को पीओएल प्रदान करना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। दुग्ध पार्लर व दुग्ध वितरण तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समयावधि प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक तथा संध्या 5 बजे से 7 बजे तक ही होगी। दुग्ध व्यवसाय हेतु कोई भी दुकान या दुग्ध पार्लर नहीं खोले जायेगे। केवल दुकान एवं पार्लर के सामने मास्क का उपयोग एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए उक्त अवधि में दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। पैट शॉप एवं एक्वेरियम को केवल पशुचारा देने हेतु प्रात: 6 बजे से 8 बजे तक तथा संध्या 5 बजे से साढ़े 6 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। एलपीजी गैस सिलेण्डर की एजेंसी केवल टेलीफोनिक या ऑनलाइन आर्डर लेगें तथा ग्राहकों को सिलेण्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध करायेगें। औद्योगिक संस्थाओं एवं निर्माण ईकाईओं को अपने कैम्पस के भीतर श्रमिकों को रखकर व अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योग संचालन में निर्माण कार्यो की अनुमति होगी। कंटेनमेंट जोन घोषित अवधि के दौरान सम्पूर्ण जिला अंतर्गत समस्त दुकानें बंद रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णत: बंद रहेंगे। उक्त अवधि में जिले के अंतर्गत सभी केन्द्रीय, शासकीय, सार्वजनिक, अद्र्धशासकीय एवं निजी कार्यालय बंद रहेंगे तथापि टेलीकॉम, रेल्वे एवं एयर पोर्ट संचालन व रख-रखाव से जुड़े कार्यालय, वर्कशॉप, रेक प्वाइंट पर लोडिंग-अनलोडिंग का कार्य, खाद्य सामग्री के थोक परिवहन, धान मिलिंग हेतु परिवहन एवं शासन से अनुमति प्राप्त समस्त परीक्षाओं को छोड़कर अन्य समस्त शैक्षणिक गतिविधियां बंद रहेगी। किंतु अस्पताल एवं एटीएम पूर्ववत् चालू रहेंगे। सभी प्रकार की सभा, जुलूस, सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। विवाह इत्यादि प्रयोजन हेतु पूर्व में अधिकतम 50 व्यक्तियों को शामिल होने की अनुमति प्रदान की गयी थी। कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर विवाह इत्यादि प्रयोजन हेतु पूर्व मेें प्रदत्त समस्त अनुमति को निरस्त किया जाता है। विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधु के निवास गृह में ही आयोजित करने की शर्त के साथ आयोजन में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की जाती है। इसी प्रकार अंत्येष्ठि, दशगात्र इत्यादि संस्कार कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की जाती है। कोविड संक्रमण के रोकथाम हेतु जिले में समस्त कार्य कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे। इन कार्यो में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्ववत अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। अपरिहार्य परिस्थितियों में बीजापुर जिले से अन्यत्र आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्वानुमति लेना अनिवार्य होगा तथापि प्रतियोगी एवं अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों हेतु उनका प्रवेश पत्र तथा टेलीकॉम संचालन एवं रख-रखाव कार्य या हॉस्पिटल अथवा कोविड-19 ड्यूटी में संलग्न चिकित्सकों एवं कर्मचारियों की दशा में नियोक्ता द्वारा जारी आईडी कार्ड ई-पास के रूप में मान्य किया जायेगा। उक्त अवधि में बस स्टैण्ड पर आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास की आवश्यकता नहीं होगी। इन यात्रियों को निवास या स्टेशन तक आने-जाने के लिए उनके पास उपलब्ध यात्रा टिकट ही उनका ई-पास माना जायेगा। कोविड-19 टीकाकरण हेतु पंजीयन, कोविड-19 जांच हेतु मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड, विधिमान्य परिचय पत्र दिखाने पर कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र, अस्पताल या पैथोलॉजी लैब आने-जाने की अनुमति होगी किंतु अनावश्यक भ्रमण सख्त प्रतिबंधित रहेगा। आपात स्थिति में यात्रा के दौरान चार पहिया वाहनों में ड्रायवर सहित चार व्यक्तियों, ऑटो में ड्रायवर सहित अधिकतम 3 व्यक्तियों एवं दुपहिया वाहनों में अधिकतम दो व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। बस स्टैण्ड, हॉस्पिटल आवागमन हेतु ऑटो एवं टैक्सी परिचालन की अनुमति होगी किंतु अन्य प्रयोजन हेतु पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। इस निर्देश का उल्लंघन करने पर 15 दिवस के लिए वाहन जप्त कर चालानी एवं अन्य कानूनी कार्यवाही की जावेगी। मीडियाकर्मी यथासंभव वर्क फ्राम होम द्वारा कार्य सम्पादित करेंगे। आवश्यक स्थिति में कार्य के लिए बाहर निकलने पर अपना आईकार्ड साथ रखेंगे तथा मास्क का उपयोग एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग के निर्देशों का कड़ाई के साथ अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। यह आदेश कार्यालय कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, तहसील, थाना एवं पुलिस चैकी पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित अधिकारी, विद्युत, पेयजल आपूर्ति एवं नगरपालिका की सेवाएं सफाई, सीवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल तथा अग्निशमन सेवाओं से संचालन हेतु संलग्न अधिकारियों-कर्मचारियों को कार्यालय संचालन एवं आवागमन की अनुमति होगी। किंतु इन शासकीय कार्यालयों में उक्त अवधि के दौरान आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। राज्य शासन के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी। अंतर्राज्यीय लोक वाहनों का जिले में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा एवं निजी वाहनों के लिए वैध पास अनिवार्य होगा तथा आपातकालीन वाहनों को अनुमति होगी।
इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या प्रतिष्ठान पर भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51-60 तथा अन्य सुसंगत विधि के अनुसार कड़ी कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश अल्प समयावधि में लागू किया जाना आवश्यक है। वर्तमान परिस्थितियों में इस आदेश से प्रभावित होने वाले व्यक्तियों को सम्यक समय में तामिल किया जाना संभव नहीं होने के कारण उक्त आदेश को एकपक्षीय रूप से पारित किया जाता है । यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा।
BIG BREAKING : अब छग के इस जिले में भी लगा लॉकडाउन, जानें कब से कब तक होगा..

BIG BREAKING : अब छग के इस जिले में भी लगा लॉकडाउन, जानें कब से कब तक होगा..

बीजापुर। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण लगातार सभी जिलो में एक के बाद एक लॉकडाउन लगाने का काम जारी है, ताकि कोरोना के भयावह संक्रमण पर लगाम लगा सकें. इसी कड़ी में बीजापुर जिले में भी 16 से 26 अप्रैल तक लॉकडाउन लगा दिया गया है.
देखे आदेश:-

 

माओवादियों ने वाहनों में की आगजनी, वाटर फिल्टर प्लांट निर्माण में लगे थे वाहन

माओवादियों ने वाहनों में की आगजनी, वाटर फिल्टर प्लांट निर्माण में लगे थे वाहन

बीजापुर, वाटर फिल्टर प्लांट के निर्माण कार्य मे लगे वाहनों को दिन दहाड़े नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया है । घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस बल घटना स्थल की ओर रवाना हो गई है ।
एसपी कमलोचन कश्यप ने बताया कि नैमेड थाना क्षेत्र के मिनगाचल नदी में बीजापुर नगर में पानी की आपूर्ति के लिए वाटर फिल्टर प्लांट का निर्माण किया जा रहा है । इस कार्य मे लगे वाहनों को नक्सलियों ने चालको को वाहन से उतार कर आग के हवाले कर दिया है । घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस बल को घटना स्थल के लिए रवाना कर दिया गया है ।

 

 बड़ी खबर छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने किया तीन महिलाओं का अपहरण

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने किया तीन महिलाओं का अपहरण

बीजापुर। गुरूवार को सीआरपीएफ के जवान राकेश्वर सिंह की रिहाई के बाद खबर आई है कि नक्सलियों ने तीन महिलाओं का अपहरण कर लिया है। बीजापुर जिले में नक्सलियों ने मितानिन मास्टर ट्रेनर सहित तीन महिलाओं का अपहरण कर लिया है। गुरुवार देर रात गंगालूर और कमकानार गांव से नक्सलियों ने तीनों का अपहरण किया है। ऐसी खबर है कि नक्सलियों ने तीनों का हाथ बांधकर साथ ले गए हैं। एसपी बीजापुर कमलोचन कश्यप ने जानकारी दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शारदा ग्रामीणों को कोरोना के वैक्सीन का टीका लगवाने का कार्य कर रही थी। शारदा की उम्र तकरीबन 25 वर्ष बताई जा रही है। नक्सलियों ने कोरोना का टिका लगवाने के लिए मना किया। एसपी कमलोचन कश्यप ने कहा कि हमें 3 महिलाओं की अपहरण होने की खबर मिली है। इसका पता हम करवा रहे है। 
बड़ी खबर: CRPF जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने किया मुक्त

बड़ी खबर: CRPF जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने किया मुक्त

बीजापुर, 3 अप्रैल को जोनागुड़ा में फोर्स और नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए CRPF जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने छोड़ दिया है। बताया जा रहा है कि राकेश्वर इस समय तर्रेम में 168वीं बटालियन के कैंप में है। वहां उनका मेडिकल चेकअप किया जा रहा है। उन्हें कैसे और किसके साथ रिहा किया गया। कितने बजे वह कैंप पहुंचे, इन सभी बातों का अभी खुलासा नहीं हो पाया है।
ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों के हमले में 23 जवान शहीद हुए थे। नक्सलियों ने भी अपने 5 साथी मारे जाने की बात मानी थी। मुठभेड़ के दौरान नक्सलियों ने CRPF के कोबरा कमांडो राकेश्वर का अपहरण कर लिया था।


इसके बाद माओवादी प्रवक्ता विकल्प ने मंगलवार को प्रेस नोट जारी कर कहा था कि पहले सरकार बातचीत के लिए मध्यस्थों का नाम घोषित करे, इसके बाद वह जवान को सौंप देंगे। तब तक वह उनके पास सुरक्षित रहेगा।
सरकार ने नहीं बताए थे मध्यस्थों को नाम
नक्सलियों की मांग के बाद सरकार ने मध्यस्थों के नाम जारी किए या नहीं यह स्पष्ट नहीं है। क्योंकि, मध्यस्थों के नाम सार्वजनिक नहीं किए गए थे। इस वजह से यह भी साफ नहीं है कि नक्सलियों की किन मांगों को पूरा करके सरकार ने राकेश्वर सिंह को मुक्त कराया है।
 

 बड़ी खबर: लापता जवान नक्सलियों के कब्जे में

बड़ी खबर: लापता जवान नक्सलियों के कब्जे में

बीजापुर। जिले के तर्रेम थाना क्षेत्र में नक्सलियों और जवानों के बीच हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद और 31 जवान घायल हुए हैं। वहीं कोबरा बटालियन का एक जवान राकेश्वर सिंह मनहास लापता था। लापता जवान की पतासाजी की जा रही है, इसी बीच लापता जवान नक्सलियों के कब्जे में होने की खबर नक्सलियों के द्वारा स्थानिय मिडियाकर्मीयों तक पंहुचने की सूचना मिल रही है, नक्सलियों के द्वारा यह भी कहा जा रहा है कि वे जवान को कोई नुकसान नही पहुंचाना चाहते हैं, तथा जवान को एक-दो दिन में सुरक्षित छोड़ दिया जाएगा। इसकी अधिकारिक पुष्टि किसी ने भी नही किया है। 

नक्सल गतिविधियों पर नजर रखने वालों का यह मानना है कि नक्सली अपनी रणनीति के तहत पुलिस-प्रशासन को दबाव में लाना चाहते हैं, वहीं दूसरे पहलू को देखा जावे तो जवान के जम्मू कश्मीर का निवासी होने के कारण नक्सली इस मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर का बनाने के लिए जवान के उनके कब्जे में होने की जानकारी देने के साथ ही जवान को एक-दो दिन में सुरक्षित छोडऩे की बात भी कर रहे हैं। जिससे आने वाले समय में वे अपनी स्थिति को और मजबूत कर सके। इस संबंध में पुलिस के आला अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। 
बड़ी खबर : बीजापुर नक्सली मुठभेड़ में अब तक 23 जवान हुए शहीद, 24 जवान घायल

बड़ी खबर : बीजापुर नक्सली मुठभेड़ में अब तक 23 जवान हुए शहीद, 24 जवान घायल

बीजापुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के तर्रेम से निकले जवानों की संयुक्त पार्टी पर शनिवार को दोपहर में बीजापुर-सुकमा के सरहदी क्षेत्र में नक्सलियोंं के डबल एंबुश में फंस गई। इसके बाद पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में 23 जवान शहीद हो गए हंै, वहीं 31 जवान घायल हो गये, जिनमें 24 जवानों का उपचार बीजापुर अस्पताल में चल रहा है एवं 07 गंभीर रूप से घायल जवानों को राजधानी रायपुर रिफर किया गया है। बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप ने आज दोपहर 12 बजे तक 20 जवानों के शव बरामद होने की पुष्टि की थी, वहीं बाद में 3 अन्य जवानों के शव भी बरामद किये जाने की खबर है।

      प्राप्त जानकारी के अनुसार घायल और शहीद जवानों के शव में मिले स्पलेन्डर के अवशेष से यह प्रतीत होता है कि नक्सलियों के द्वारा दो इंच की मोर्टार से जवानों पर हमला करते हुए हैंड ग्रेनेड भी फेंके गए हैं। एंबुश में फंसे जवान के साथ दो मुठभेड़ हुई है पहला मुठभेड़ जीरागांव के पास हुई वहीं दूसरी मुठभेड़ तब हुई जब घायलों के सहयोग के लिए जवानों की दूसरी पार्टी वहां पहुंच पाती इससे पहले नक्सलियों ने उन्हे भी अपने एम्बुस में फंसाने के कारण शहीदों की संख्या अधिक देखी जा रही है। नक्सली शहीद जवानों के हथियार बुलेट प्रुफ जैकेट, घड़ी, पैसे, जूते, कपड़े सभी कुछ लूट कर ले जाने में कामयाब रहे हैं। इलाके की यूएव्ही से नजर रखी जा रही है, इलाके की सर्चिंग जारी है, चारो ओर जवानों के शव बिखरे पड़े हैं। मौके की भयानक दिल दहला देने वाला मंजर है। 

      शहीद जवानों में उप निरीक्षक दीपक भारद्वाज पिता राधे लाल निवासी बिहारी थाना मालखरौदा जिला जांजगीर चांपा, रमेश कुमार जुर्री पिता श्री मेघनाथ प्रधान आरक्षक/1376 निवासी मेवाती पंडरीपानी थाना चारामा जिला कांकेर, नारायण सोढ़ी पिता सोढ़ी रमैया प्रधान आरक्षक/1337 निवासी पुन्नूर थाना आवापल्ली जिला बीजापुर, रमेश कोरसा पिता सुकलू कोरसा आरक्षक/1101 निवासी ग्राम बदरेला थाना जांगला जिला बीजापुर, आर सुभाष नायक पिता सीताराम नायक आरक्षक/791 निवासी ग्राम बासागुड़ा थाना बासागुड़ा जिला बीजापुर, किशोर एंड्रिक पिता रामधर एंड्रिक सहायक आरक्षक/810 निवासी ग्राम चेरपाल थाना बीजापुर जिला बीजापुर, सनकू राम सोढ़ी पिता मंगलू राम सहायक आरक्षक/1163 निवासी ग्राम पेदापाल थाना मीरतुर जिला बीजापुर, भोसाराम कटरामी में पिता लक्ष्मण कटरामी सहायक आरक्षक/372 निवासी ग्राम एकेली थाना नेलसनार जिला बीजापुर, की पुष्टि की गई है। 

     घायलों में रामाराम पोयम एसटीएफ, अमित कुमार कोबरा 210, सुनील कुमार कोबरा 210, संमेेश 210 कोबरा, लक्ष्मण हेमला डीआरजी, भास्कर यादव एसटीएफ, मनीराम कुंजाम डीआरजी, सोमारू कर्मा सहायक आरक्षक डीआरजी, विजय मंडावी डीआरजी, बदरु पुनेम डीआरजी, आनंद पटेल 210 कोबरा, आनंद कुरसम डीआरजी, प्रकाश चेट्टी डीआरजी, बसंत झाड़ी डीआरजी, मदन पाल कोबरा 210, दसरू हेमला डीआरजी, बलेंदर सिंह कोबरा 210, सोनू मंडावी एसटीएफ, जितेंद्र दास कोबरा 210, सूर्यभान सिंह यादव कोबरा 210, थामेश्वर साहू एसटीएफ, थॉमस पॉल कोबरा 210 शामिल हैं  जिनका इलाज बीजापुर में जारी है। बाकी के अन्य 07 गंभीर रूप से घायल जवानों का उपचार रायपुर में चल रहा है। 

घटना स्थल पर सर्चिंग के दौरान एक महिला नक्सली का भी शव बरामद किये जाने की खबर आई है। 

बीजापुर में पुलिस-नक्सली मुठभेड़, 30 जवानों के घायल होने की खबर...

बीजापुर में पुलिस-नक्सली मुठभेड़, 30 जवानों के घायल होने की खबर...

बीजापुर । छत्तीसगढ़ में बीजापुर के तर्रेम से पुलिस नक्सली मुठभेड़ की खबर सामने आई है। ख़बरों की मुताबिक मुठभेड़ में पांच जवान शहीद हुए हैं और दो नक्सली मारे गए हैं। हालांकि अभी इस खबर की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि मुठभेड़ में 30 जवान घायल हो गए हैं। बताया जा रहा है कि मुठभेड़ अभी भी जारी है। बता दें कि मुठभेड़ में 4 डीआरजी और 1 कोबरा जवान शहीद हुए हैं। साथ ही सर्चिंग में निकली जवानों की टीम की एक टुकड़ी से अभी भी संपर्क नहीं हो पाया है। फिलहाल मुठभेड़ जारी है और जवानों की टुकड़ी की तलाश भी जारी है। यहां अभी भी रुक-रुक कर नक्सली फायरिंग कर रहे हैं। 

 बड़ी खबर: बीजापुर में बड़ा नक्सली हमला, 5 जवान शहीद

बड़ी खबर: बीजापुर में बड़ा नक्सली हमला, 5 जवान शहीद

बीजापुर। बीजापुर ज़िले के तररेम इलाक़े से बड़ी नक्सली घटना की खबर आ रही है। नक्सली मुठभेड़ में 5 जवान शहीद हो गये हैं। शहीद जवानों की संख्या बढ़ भी सकती है। मुठभेड़ में डीआरजी और CRPF की संयुक्त टीम के बीच मुठभेड़ चल रही है। इस मुठभेड़ को लेकर अधिकृत जानकारी का इंतज़ार है । सूत्रों के अनुसार 5 जवानों के शहीद होने की खबर आ रही हैै। अब तक किसी भी अधिकारी ने जवानों की शहादत की पुष्टि नहीं की है। अपुष्ट खबरों के अनुसार एक महिला माओवादी समेत तीन नक्सली भी मारे गए हैं, लेकिन कोई अधिकारी इस सूतना की भी पुष्टि नहीं कर रहा है। जानकारी के मुताबिक जहां ये मुठभेड़ चल रही है, वो नक्सलियों का गढ़ कहा जा रहा ह। अभी भी दोनों तरह से गोलीबारी चल रही है। मुठभेड़ वाली जगह बीजापुर से करीब 75 किलोमीटर दूर है।
 नक्सलियों ने की धारदार हथियार से मारकर जिला पंचायत सदस्य की हत्या

नक्सलियों ने की धारदार हथियार से मारकर जिला पंचायत सदस्य की हत्या

बीजापुर। नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में नक्सलियों ने जिला पंचायत सदस्य की धारदार हथियार से वार करके हत्या कर दी है। बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि बीजापुर जिले के मिरतुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत तालनार गांव में नक्सलियों ने जिला पंचायत सदस्य बुधराम कश्यप (45) की धारदार हथियार से वार करके हत्या कर दी है। सुंदरराज ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि देर शाम हथियारबंद नक्सलियों का समूह गांव पहुंचा और उन्होंने बुधराम के घर घुसकर धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी।
उन्होंने बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि सूचना मिलते ही घटनास्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया। बाद में सुरक्षा बलों ने शव को बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सुंदरराज ने बताया कि नक्सलियों ने बुधराम की हत्या क्यों की है इस संबंध में अभी तक जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि हमलावर नक्सलियों की खोज में क्षेत्र में खोजी अभियान चलाया जा रहा है। बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बुधराम सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी से जुड़ा हुआ था।
 
बड़ी खबर : तीन शर्तों पर शांति वार्ता के लिए तैयार हुए माओवादी संगठन

बड़ी खबर : तीन शर्तों पर शांति वार्ता के लिए तैयार हुए माओवादी संगठन

बीजापुर । माओवादी सरकार से तीन शर्तो पर शांति वार्ता के लिए तैयार हो गए हैं। बता दें, नक्ससलियों ने शस्त्र बलों को हटाने, माओवादी संगठन पर लगाये गए प्रतिबंध हटाने और जेलों में कैद माओवादी नेताओ को निशर्त रिहा करने की शर्त रखी है । सामाजिक कार्यकर्ता सुभ्रांशु चौधरी द्वारा किये गए दांडी मार्च-2 के बाद माओवादियों का बड़ा बयान सामने आया हैं| आपको बता दें, सिविल सोसायटी के लोगो से माओवादियों ने की अपील हैं की सरकारी साजिश का हिस्सा न बने। माओवादी संगठन DKSZC के प्रवक्ता विकल्प ने प्रेस नोट जारी किया हैं

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : आईईडी प्लांट करते समय अचानक हुआ विस्फोट, नक्सली की हुई मौत

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : आईईडी प्लांट करते समय अचानक हुआ विस्फोट, नक्सली की हुई मौत

बीजापुरबीजापुर से खबर आ रही हैं की आईईडी प्लांट करने के दौरान एक नक्सली की मौत हो गई। मामला थाना मिरतुर का हैं। बेचापाल -हुर्रेपाल मार्ग पर सड़क निर्माण कार्य की सुरक्षा में लगे फोर्स को नुकसान पहुचाने नक्सली आईईडी लगा रहे थे, लेकिन उसी वक्त ब्लास्ट होने से भैरमगढ़ एरिया कमेटी के आईईडी एक्सपर्ट सुनील पदम(नक्सली) मौत हो गई।

घटना बेचापाल-हुर्रेपाल मार्ग पर गायतापारा के आगे मार्ग से 100 मीटर अंदर बड़ेमुण्डा तालाब के पास की हैं। पुलिस ने माओवादी का शव बरामद कर लिया हैं। उक्त मामले की पुष्टि पुलिस अधीक्षक बीजापुर कमलोचन कश्यप ने की हैं।

 बड़ी खबर: दर्दनाक सड़क हादसे में स्टेट स्तर के क्रिकेट खिलाड़ी समेत दो युवक की मौत

बड़ी खबर: दर्दनाक सड़क हादसे में स्टेट स्तर के क्रिकेट खिलाड़ी समेत दो युवक की मौत

बीजापुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां, तेज रफ्तार दो बाइकों की आपस में जबरदस्त भिडंत हुई है। इस हादसे में एक स्टेट स्तर के क्रिकेट खिलाड़ी समेत दो युवक की मौत हो गई है। जबकि दो लोग घायल है।
 
 
घायल मरीजों का भैरमगढ़ अस्पताल में इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि जिस वक्त यह हादसा हुआ, उस वक्त खिलाड़ी अंतरराज्यीय क्रिकेट स्पर्धा खेलकर लौट रहे थे।
 

पढ़िए पूरी खबर-
मिली जानकारी के अनुसार- जगदलपुर निवासी दो क्रिकेट खिलाड़ी अविनाश (अक्कू) और करनदीप अंतरराज्यीय क्रिकेट स्पर्धा खेलकर बीजापुर से जगदलपुर वापस जा रहे थे। इसी दौरान नकुलनार निवासी मोहन लेकामी (26 वर्ष) अपनी पत्नी के साथ कुटरू के पेदुमपाल जा रहे थे। तभी मातवाड़ा के मोड़ पर यह भयानक सड़क हादसा हो गया।
 
 
हादसे इतना जबरदस्त था कि बाइक के परखच्चे उड़ गए। बाइक में सवार सभी लोग इधर-उधर फेंका गए। इस बाइक दुर्घटना में राज्य स्तर के खिलाड़ी अविनाश की घटना स्थल पर मौत हो गई। दूसरे बाइक में सवार मोहन लेकामी ने भी दम तोड़ दिया। इसके अलावा महिला और दूसरा खिलाड़ी करनदीप गंभीर रूप से घायल हैं। महिला भैरमगढ़ अस्पताल और करनदीप का मेकाज में इलाज जारी है। 
+ Load More