कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
अब इस जिले में भी 31 तक लाकडाउन,शनिवार और रविवार रहेगा कम्पलीट लाकडाउन, जारी हुआ आदेश

अब इस जिले में भी 31 तक लाकडाउन,शनिवार और रविवार रहेगा कम्पलीट लाकडाउन, जारी हुआ आदेश

नारायणपुर। कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने पूर्व में जारी आदेश के तहत् संपूर्ण नारायणपुर जिले में 10 मई को आदेश जारी कर 17 मई रात्रि 12ः00 बजे तक दण्ड प्रक्रिया संहिता में प्रदत्त शक्तियों के अधीन नारायणपुर जिला अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोशित करते हुए जिला में सार्वजनिक आवागमन एवं अन्य गतिविधियों पर कड़े प्रतिबंध अधिरोपित किये है। जिला स्तरीय बैठक में हुई चर्चा एवं राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में आम जनता हेतु आवश्यक सामग्रियों के संस्थानों/प्रतिश्ठानों अथवा दुकानों को निर्धारित समय में खोलने की अनुमति लोकहित में दिये जाने का निर्णय लिया गया है। इसके सााथ ही आम जनता हेतु आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ-साथ श्रमिकों, निम्न आय वर्ग एवं छोटे-बड़े व्यवसायीगण के हितों की सुरक्षा हेतु निर्बंधनों में रियायत देते हुए देते हुए प्रतिबंधित आदेश जारी किये हैं। जारी आदेश में कहा गया है कि 18 से 31 मई रात्रि 10ः00 बजे तक लाॅकडाउन रहेगा। आदेश में यह भी कहा गया है कि सभी अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लीनिक एवं पशु चिकित्सालय को उनके निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। शासकीय उचित मूल्य दुकानों को खाद्य नियंत्रक रायपुर द्वारा निर्धारित समयावधि में खुलने की अनुमति होगी। मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग, नियमित सेनिटाईजेशन एवं भीड़-भाड़ नहीं होने देने की शर्त का कड़ाई से पालन कराने की अधीन, टोकन व्यवस्था के साथ अलग - अलग निर्धारित तिथियों में उचित मूल्य दुकानों को खोलने हेतु खाद्य नियंत्रक द्वारा पृथक से आदेश प्रसारित किया जावे। जिला नारायणपुर अंतर्गत सभी प्रकार की दुकानों/प्रतिश्ठानों को सोमवार से शुक्रवार तक समय प्रातः 10ः00 बजे से शाम 5ः00 बजे तक दुकान खोलने की अनुमति दी जाती है। दुकानदार/संचालक अपने प्रतिश्ठान में मास्क एवं सेनेटाईजर की व्यवस्था स्वयं करेगा एवं फिजिकल डिस्टेंसिग का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा। शर्तो का उल्लंघन करने तथा भीड़-भाड़ होने पर दुकानदार/संचालक स्वयं जिम्मेदार होगें तथा उन्हें एपिडेमिक एक्ट 1897 के अधीन चलान/अर्थदण्ड अधिरोपित करने के साथ-साथ दुकान को एक सप्ताह हेतु सील किया जावेगा। शनिवार व रविवार को सम्पूर्ण दुकाने पूर्णतः बंद रहेगीं। परन्तु आवश्यक सेवा यथा पेट्रोल पम्प, अस्पताल, मेडिकल दुकान, पी.डी.एस. दुकान, दूध, फल, पेट शाॅप, एल पी जी गैस, न्यूज पेपर, सब्जी एवं अन्य आवश्यक सेवाएं शनिवार एवं रविवार को भी संचालित रहेगीं।
आदेश में कहा गया है कि सभी पान/सिगरेट ठेला तथा चैपाटी, चाट, समोसा, गुपचुप, फास्ट-फूट इत्यादि के विक्रय हेतु ठेलों का संचालन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। दुग्ध पार्लर व दुग्ध वितरण, ब्रेड विक्रेता तथा न्यूज पेपर हाॅकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समयावधि प्रातः 7ः00 बजे से संध्या 5.00 बजे तक ही होगी। स्थानीय एवं नजदीक के गांव से आने वाले फल, सब्जी के विक्रेताओं को मुख्य नगरपालिका अधिकारी, नारायणपुर द्वारा वार्डो में निर्धारित स्थानों पर ही फल, सब्जी विक्रय करने की अनुमति होगी। इस हेतु नगरपालिका अधिकारी पूरे शहर में पर्याप्त दूरी बनाते हुये बिन्दु निर्धारित कर चूना से मार्किंग करेंगे। फल/सब्जी विक्रेता को उन्हीं स्थानों में विक्रय करने की अनुमति होगी। जिस हेतु समय प्रातः 10ः00 बजे से संध्या 05ः00 बजे तक की होगी। उपरोक्त समयानुसार ग्रामीण क्षेत्रों में सब्जी फल की दुकानें खुलेंगी। जिला के रेडी-टू ईट निर्माणकर्ता ईकाईयां प्रातः 9ः00 बजे से संध्या 5ः00 बजे तक अपना कार्य संचालित कर सकेंगी। पेट्रोल पंप एवं गैस एजेंसियां सभी उपभोक्ताओं के लिए खोले जाने की अनुमति रहेगी। गैस एजेंसिया होम डिलीवरी को प्राथमिकता देवें। स्थानीय आॅनलाईन शाॅप तथा ई-काॅमर्स सेवाओं यथा अमेजाॅन, फ्लिफकार्ट इत्यादि को उपरोक्त समयावधि में होम डिलीवरी हेतु अनुमति प्रदान की जाती है किन्तु शाॅप/स्टोर आम जनता हेतु नहीं खुलेंगे। जिला अंतर्गत संचालित शराब दुकान बंद रहेगें, किन्तु आॅनलाईन एप्लीकेशन के माध्यम से होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल, मैरिज हाॅल, सिनेमा हाॅल, जिम, सभी पार्क, सैलून, ब्यूटी-पार्लर तथा अन्य सार्वजनिक स्थल पूर्णतः बंद रहेंगे। जिले के नगरीय/ग्रामीण क्षेत्र में साप्ताहिक हाट-बाजार पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगी। सभी बैंकों को ए.टी.एम कैश रि-फिलिंग, अन्य सभी लेन-देन अथवा कार्यो हेतु 50 प्रतिशत क्षमता के साथ अपने कार्यालयीन समय में खोलने की अनुमति रहेगी। जिले के डाकघरों को महत्वपूर्ण डाक, पत्र/पार्सल की प्राप्ति एवं वितरण हेतु कार्यालयीन समय में संचालन की अनुमति होगी। गौण वनोपज से संबंधित कार्य - संग्रहण, विपणन, भण्डारण एवं परिवहन कार्य तथा मनरेगा संबंधित समस्त कार्य की अनुमति होगी। समस्त मिलरों को धान का भण्डारण, मिलिंग एवं चाॅवल को पीडीएस दुकानों तक परिवहन की अनुमति होगी।
कन्टेमेंट अवधि के दौरान अत्यावश्यक कार्य से अन्य जिले में प्रवास हेतु सीजी पास वांछित दस्तावेज सहित आवेदन करना होगा। होटलों एवं रेस्टोरेंट से केवल आॅनलाईन एप्लीकेशन के माध्यम से होम डिलीवरी की अनुमति पूर्ववत रहेगी, किन्तु ग्राहकों के लिए इन-हाउस डायनिंग पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। होम डिलीवरी के लिए होटल एवं रेस्टोरेंटस में होम डिलीवरी आर्डर समय रात्रि 9ः00 बजे तक लिया जा सकेगा। तथा आम जनता हेतु होम डिलवरी रात्रि 10ः00 बजे तक ही की जा सकेगी। भीड़-भाड़ या निर्देशों का उल्लघंन होने पर होटलों एवं रेस्टोरेंटस को नियमानुसार एक सप्ताह हेतु सील करने की कार्यवाही की जावेगी। सभी प्रकार की सभा, जुलूस, सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधू के निवास गृह में ही आयोजित करने एवं शामिल होने वाले व्यक्तियों तथा अंत्योष्टि, दशगात्र, मृत्यु इत्यादि संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 10 निर्धारित की जाती है। उक्त कार्यों के लिए अनुमति हेतु आवेदनकर्ता कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों के नाम सहित उनका पहचान पत्र/आधार कार्ड आवेदन में संलग्न करते हुए अनुविभागीय दण्डाधिकारी नारायणपुर से पूर्वानुमति आवश्यक होगी। उक्त कार्यक्रम में शामिल होने वाले प्रत्येक व्यक्ति को सर्वप्रथम कोविड-19 का जांच कराना अनिवार्य होगा। जांच में कोविड-19 पाॅजीटिव पाये जाने वाले व्यक्तियों को उपरोक्त कार्यक्रमों शामिल होने की अनुमति नहीं होगी। इस शर्त के उल्लंघन किये जाने पर संबंधित व्यक्तियों अथवा आवेदनकर्ता के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जावेगी। कोविड संक्रमण के रोकथाम हेतु जिले में समस्त कार्य जैसे कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे इन कर्यो में संलग्न सभी कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड हाॅस्पिटल/कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। जरूरत मंदो को राहत सामग्री पहुंचाने हेतु इच्छुक संस्थाओं/एनजीओ/व्यक्तियों को कोरोना बचाव हेतु प्रसारित निर्देशो के तहत् एक समय में अधिकतम 04 व्यक्तियों को प्रातः 10ः00 बजे से संध्या 5ः00 बजे तक संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी की पूर्वानुमति से राहत सामग्री वितरण की अनुमति होगी।
कोविड-19 टीकाकरण हेतु पंजीयन, कोविड-19 जांच हेतु मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड/विधिमान्य परिचय पत्र दिखाने पर कोविड-19 टीकाकारण केन्द्र अस्पताल/पैथालाॅजी लैब अथवा आने-जाने की अनुमति होगी। यह आदेश कार्यालय कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं उनके अधिनस्थ समस्त कार्यालय, तहसील कार्यालय, थाना/पुलिस चैकी एवं कोविड-19 में ड्यूटीरत अधिकारी/कर्मचारी पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित अधिकारी, विद्युत पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवाएं जिसमें सफाई, सीवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है तथा अग्निशमन सेवाओं के संचालन हेतु संबंधित अधिकारियों/कर्मचारियों को कार्यालय संचालन एवं आवागमन की अनुमति होगी, किन्तु इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। अन्य शासकीय कार्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुले रहेगें परन्तु आम जनता के लिये प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। सभी शासकीय कार्यालय में आम जनता द्वारा आवेदन प्रस्तुत करने हेतु ड्राप बाक्स की व्यवस्था रखेगे, जिसमें कोई भी व्यक्ति अपना आवेदन डाल सकेंगे। तथापि कोई भी अधिकारी/कर्मचारी बिना कलेक्टर की अनुमति के अपना मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे। सभी निर्माण कार्य कोविड उपयुक्त व्यवहार के साथ चालू रखने एवं निर्माण संबंधित सामग्री के परिवहन की अनुमति दी जाती है। लोक सेवा केन्द्र/च्वाईस सेंटर खुले रहेंगे, किन्तु मास्क तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराना अनिवार्य होगा। उल्लघंन की दशा में अर्थदण्ड के साथ-साथ केन्द्र की आई.डी. निलंबित की जावेगी। राज्य शासन के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/प्रतिश्ठानों पर भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 50 व 60 तथा अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश 18 मई 2021 से 31 मई .2021 रात्रिः 10ः00 बजे तक प्रभावशील होगा।
 

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सजग अभियान से नन्हे बच्चों को जोड़कर बढ़ा रही क्षमता

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सजग अभियान से नन्हे बच्चों को जोड़कर बढ़ा रही क्षमता

नारायणपुर। राज्य शासन द्वारा और मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में विगत वर्ष लाकडाउन के समय कोरोना संक्रमण के दौरान आंगनबाड़ी केंद्र में पढ़ने वाले बच्चों के बौद्धिक क्षमता विकास और विभिन्न गतिविधियों में शामिल करने के लिए प्रदेश में सजग अभियान शुरू किया गया था। महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ समाज सेवी संस्था सेंटर फार लर्निंग रिसोर्सेस सीएलआर द्वारा यूनिसेफ़ के सहयोग से चलाए जा रहे है, सजक कार्यक्रम। सजग अभियान ने सफलतापूर्वक अपने एक साल पूरे कर लिए। नारायणपुर जिले में कोरोना संक्रमण के दौरान बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गृह भेंट के माध्यम से अपना कार्य संचालित कर रही है।
कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू के मार्गदर्शन और महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी रविकान्त धुर्वे के दिशा-निर्देश में सजग अभियान का बेहतर क्रियान्वयन किया जा रहा है और विभाग द्वारा उपलब्ध शैक्षणिक सामग्री आडियो वीडियो द्वारा बच्चों को ज्ञान की बातें बताई जा रही है, ताकि बच्चे शिक्षा से निरंतर जुड़े रहे। सभी विकास खंड की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अपने अपने कार्य क्षेत्र में साहस का परिचय देते हुए अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन कर रही है। गृह भेंट करके नन्हे बच्चों के पूरक पोषण आहार, गर्भवती महिलाओं, किशोरी बालिकाओं को पूरक पोषण आहार का भी वितरण कर रही है और महिलाओं को स्वस्थता साफ सफाई के बारे में जानकारी दी जा रही है। कार्यकर्ता अपने साथ वजन मशीन साथ लेके जाती है और पालकों की उपस्थिति में बच्चों का वजन करतीं हैं। साथ ही कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने के लिए अतिरिक्त आहार के बारे में जानकारी भी देती है।
टेक अवे एवं आडियो क्लिप के माध्यम से हितग्राहियों के घर घर जाकर साफ सफाई और कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए 18 से अधिक आयु वाले लोगों को टीकाकरण, मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंस का अनिवार्य रूप से पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। साथ ही टीकाकरण के लाभ के बारे में जानकारी दी जा रही है। साथ ही महिलाओं बच्चों और किशोरों बालिकाओं की समस्याओं को सुना जाता है। यथा संभव निराकरण करने का सार्थक प्रयास किया जा रहा है । आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बच्चों में भावी जीवन को गढ़ने के लिए तथा उनमें एक अच्छे नागरिक के गुण लाने के लिए माता पिता एवं उनके परिवार को अपने बच्चों के साथ किस प्रकार का व्यवहार किया जाना चाहिए इसकी भी जानकारी दी जा रही है। महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी रविकांत धुर्वे ने बताया कि सजग अभियान के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर सजग आडियो का प्रत्येक कड़ी परिवार वालों को सुनाते हैं। माता पिता और परिवार के सदस्य उस आडियो को ध्यान से सुनते हैं और उसमें बताए गए गतिविधियां बच्चों में कराई जाती है। पालकों ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आडियो से हमें बहुत सारी जानकारी प्राप्त हो रही है। हम अपने बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा बताए गए गतिविधियां को बच्चों को अनिवार्य रूप से कराएंगे।
 

 छत्तीसगढ़ लॉकडाउन : इस जिले में 11 मई तक बढ़ाया गया लॉक डाउन

छत्तीसगढ़ लॉकडाउन : इस जिले में 11 मई तक बढ़ाया गया लॉक डाउन

नारायपणपुर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले से बड़ी खबर आ रही है। यहां11 मई सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू लॉकडाउन लगाए जाने का आदेश जारी कर दिया है। 11 मई तक लगने वाले लॉकडाउन में जरूरी सेवाओं को मामूली रियायतें दी गई है। वहीं जिले के सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। अस्पताल, मेडिकल, क्लिनिक एवं पशु चिकित्सालय को अपने निर्धारित समय में खुलने की अनुमति मिली है।

शासकीय उचित मूल्य की दुकान अपने निर्धारित समय पर संचालित होंगे। वहीं सब्जी, फल, किराने की दुकान होम डिलीवरी अपने निर्धारित समय पर संचालन कर सकते है। इस लॉकडाउन का पालन कराने के लिए टीम का गठन भी किया गया है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
 छत्तीसगढ़: बम विस्फोट में शामिल तीन नक्सली गिरफ्तार

छत्तीसगढ़: बम विस्फोट में शामिल तीन नक्सली गिरफ्तार

नारायणपुर। जिले के धौडाई थाना अंर्तगत ग्राम कन्हारगांव कैम्प से डीआरजी की टीम टेमरूगांव की ओर सर्चिंग के लिए निकली थी। डीआरजी टीम टेमरूगांव में दबिश देकर तीन नक्सली मन्दर उर्फ मन्धर कोर्राम पिता जगनू राम उम्र 48 टेमरूगांव जनताना सरकार सदस्य एवं कृषि विभाग का अध्यक्ष, मनबोध कोर्राम पिता सोनारू उम्र 36 टेमरूगांव मिलिशिया सदस्य, मानू राम सलाम पिता गड़वा राम उम्र 34 टेमरूगांव मिलिशिया सदस्य को गिरफ्तार किया है। धौडाई थाना में कार्यवाही के बाद पुलिस ने गिरफ्तार नक्सलियों को आज न्यायालय के समक्ष पेश किया है। 

गिरफ्तार नक्सलियों द्वारा 23 मार्च को ग्राम बकिनतोड़ पुलिया के पास पुलिस वाहन को बम विस्फोट कर क्षति पहुचाने की घटना शामिल रहे है। इस घटना में 05 जवान शहीद होने के साथ ही 22 जवान घायल हुए थे। 
एसडीएम ने वैवाहिक कार्यक्रमों में की छापामार कार्यवाही, वसूले 35 हजार का जुर्माना

एसडीएम ने वैवाहिक कार्यक्रमों में की छापामार कार्यवाही, वसूले 35 हजार का जुर्माना

नारायणपुर | कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए जिले में सम्पूर्ण लॉक डाउन लगाया गया है। अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें एवं व्यवसायिक संस्थान बंद हैं। सभी प्रकार की सभा, जुलूस, सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन इत्यादि को पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधू के निवास गृह में ही आयोजित करने एवं शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की गयी है। इसके साथ ही अंत्योष्टि, दशगात्र और मृत्यु संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या भी 20 निर्धारित की गयी है।


कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू के निर्देशानुसार पूरे नारायणपुर जिले में प्रशासन द्वारा पूरी मुस्तैदी के साथ लॉकडाउन का पालन करवाया जा रहा है। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के तहत जारी निर्देशों के प्रति प्रशासन खूब सतर्क है। एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग के नेतृत्व में डिप्टी कलेक्टर वैभव कुमार क्षेत्रज्ञ, तहसीलदार सुनील सोनपीपरे तथा नायब तहसीलदार ख्याति नेताम की संयुक्त टीम द्वारा जिले में हो रहे सामाजिक कार्यक्रमो में छापेमारी कार्यवाही की गई। एस डी एम श्री दिनेश कुमार नाग ने बताया की संयुक्त टीम द्वारा 5 विवाह कार्यक्रम जिसमे से नारायणपुर नगरीय क्षेत्र के कुम्हारपारा में 2, बुधवारी बाजार पारा में 1 तथा ग्रामीण क्षेत्र में देवगांव एवं गुरिया में छापेमारी की कार्यवाही की गयी। जिसमें कुम्हारपारा, बुधवारी बाजार पारा और गुरिया में आयोजित वैवाहिक कार्यक्रम में लोगों द्वारा शासन की जारी गाईड लाईन का पालन किया जा रहा था। वहीं देवगांव में वैवाहिक कार्यक्रम में लगभग 150-200 लोग शामिल हुए थे, जिन पर चालानी कार्यवाही करते हुए विवाह आयोजित करने वाले व्यक्ति पर 25 हजार और डीजे संचालक पर 10 हजार रूपये का जुर्माना किया गया। एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जारी गाईड लाईन का पालन नहीं करने वालों पर कार्यवाही नियमित जारी रहेगी। ग्रामीण क्षेत्रों कोरोना फैलने का प्रमुख कारण वैवाहिक एवं अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में लोगों द्वारा बरती गयी लापरवाही ही है। उन्होंने इस सब कार्यक्रमों में सीमित संख्या रखते हुए मास्क का उपयोग, हाथों को सेनेटाईज और सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाये रखने की अपील की है।

जिले में वर्तमान में कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में वैवाहिक कार्यक्रम, अंत्येष्टि जैसे कार्यक्रमों में शामिल होने वाले नागरिकों की संख्या को सीमित किया गया है। नारायणपुर जिले में वैवाहिक कार्यक्रम की अनुमति के लिए केवल आनलाइन आवेदन मान्य किये जायेंगे, इस आशय का आदेश कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू ने जारी किए। जारी आदेश में कहा गया है कि शासन के निर्देशानुसार लोक सेवा गारण्टी के अंतर्गत आम जनता को लोक सेवा केंद्रों के माध्यम से सेवाओ को प्रदाय किये जाने के निर्देश है, के परिपालन में जिला नारायणपुर अंतर्गत वैवाहिक कार्यक्रम हेतु लॉक डाउन से छूट का आवेदन को ई-डिस्ट्रिक्ट से लोक सेवा केंद्र/सामान्य सेवा केंद्र के माध्यम से केवल ऑनलाइन माध्यम से लिया जाएगा। आवेदन https://edistrict.cgstate.gov.in/PACE/login.do के माध्यम से ऑनलाइन कर सकते है।

 छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट, जवान घायल

छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट, जवान घायल

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में सोनपुर मार्ग पर नक्सलियों एक आईईडी ब्लास्ट किया। आईईडी की चपेट में आने से एक जवान के घायल होने की खबर है। घायल जवान को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। एएसपी नीरज चंद्राकर ने इसकी पुष्टि की है।
जिले में लॉकडाउन के दौरान रेस्टोरेंट, ढाबा, होटल और भोजनालयों में संचालित रहेगी होम डिलिवरी की सुविधा

जिले में लॉकडाउन के दौरान रेस्टोरेंट, ढाबा, होटल और भोजनालयों में संचालित रहेगी होम डिलिवरी की सुविधा

नारायणपुर। कलेक्टर ने जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जिले में सूपर्ण लॉकडाउन किये जाने की घोषणा बीते दिन आदेश जारी कर की थी। उक्त आदेश में आंशिक संशोधन करते हुए कहा गया है कि जिले में संचालित समस्त रेस्टोरेंट ढाबा, होटल और भोजनालय बंद रहेंगे, किन्तु ग्राहकों की मांग अनुसार होम डिलिवरी की जा सकेगी। इसके लिए प्रात: 11 बजे से दोपहर 2 बजे और रात्रि 8 बजे से 9.30 बजे तक समय निर्धारित किया गया है। इसके साथ ही 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को कोविड-19 का टीकाकरण कार्य के लिए जिले में निर्धारित केन्द्रों पर संचालित किया जा रहा है। निर्धारित केन्द्रों में टीकाकरण के लिए आने वाले व्यक्तियों का आयु सत्यापन दस्तावेज सहित निर्धारित केन्द्रों में टीकारण के लिए आने की अनुमति। आदेश में यह भी कहा गया है कि पूर्व में जारी आदेश यथावत रहेंगे। यह आदेश 19 अप्रैल 2021 को प्रात: 6:00 बजे से प्रभावशील होगा। 

बड़ी खबर: नक्सलियों ने की पंचायत सचिव की गला रेतकर की हत्या

बड़ी खबर: नक्सलियों ने की पंचायत सचिव की गला रेतकर की हत्या

नारायणपुर। जिले के ओरछा ग्राम पंचायत के पंचायत सचिव हरक चौधरी की नक्सलियों ने ग्राम रोहताड़ में जनअदालत लगाकर गला रेतकर हत्या कर दी गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ओरछा ब्लॉक के अंतर्गत पोचावाड़ा के ग्राम पंचायत सचिव हरक चौधरी ग्रामसभा के लिए आश्रित ग्राम रोहताड़ गए थे। इसी दौरान 20-25 वर्दीधारी नक्सली आए और जनअदालत लगाई और ग्रामसभा का निर्वहन करने गए पंचायत सचिव हरक चौधरी को शुक्रवार की देर शाम कों मौत के घाट उतार दिया है। नारायणपुर एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि इस तरह की सूचना मिली है। पूरी जानकारी पता करने के लिए ओरछा थाना प्रभारी को निर्देश दिए गये हैं।

लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : प्रदेश के एक और जिले में 19 अप्रैल से इस तारीख तक लगा टोटल लॉकडाउन, जाने किन्हें दी गई छुट

लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : प्रदेश के एक और जिले में 19 अप्रैल से इस तारीख तक लगा टोटल लॉकडाउन, जाने किन्हें दी गई छुट

नारायणपुरकलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने नारायणपुर जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जिले में सूपर्ण लॉकडाउन किये जाने हेतु प्रतिबंधात्मक आदेश पारित किया है। इसके तहत नारायणपुर जिला अंतर्गत संपूर्ण क्षेत्र को 19 अप्रैल प्रातः 6 बजे से 26 अप्रैल को रात्रि 12 बजे तक के लिए कन्टेन्मेंट जोन घोषित किया है। अतएव 19 अप्रैल प्रातः 6 बजे से 26 अप्रैल रात्रि 12 बजे तक नारायणपुर जिले की सभी सीमाएं पूर्णतः सील रहेगी।

इस संबंध में कलेक्टर साहू ने आज कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, मीडिया प्रतिनिधियों, व्यापारी संघ और वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन अवधि में जिलेवासियों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो, इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी हैं। उन्होंने उपस्थित जनप्रतिनिधियों, संगठन पदाधिकारियों से आग्रह करते हुए कहा कि जिले के ऐसे स्थान जहां कोरोना से ज्यादा लोग प्रभावित हो रहे हैं, वहां के लोगों को जांच के लिए प्रोत्साहित करे। कलेक्टर ने कहा कि जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने हेतु जरूरी है कि अधिक से अधिक कोविड-19 की जांच की जाये। जांच व्यापारिक प्रतिष्ठानों, बखरूपारा, गुडरीपारा और शासकीय कार्यालयों में अनिवार्य रूप से की जाये। ताकि पॉजिटिव पाये गये लोगों को एक स्थान पर रखकर कोरोना के बढ़ते प्रसार को रोका जा सके। लॉकडाउन अवधि में जमाखोरी, कालाबाजारी को रोकने हेतु सुझाव भी मांगे। बैठक में पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुनीता मांझी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष देवनाथ उसेण्डी, जनपद पंचायत नारायणपुर अध्यक्ष पंडीराम वड्डे के अलावा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चंद्राकर, एसडीएम दिनेश कुमार नाग सहित पुलिस विभाग के अधिकारीगण, प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि, व्यापारी संघ के पदाधिकारीगण एवं संगठन पदाधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर धर्मेश साहू ने जिले में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु शासन द्वारा जारी गाईड लाईन, सोशल मीडिया, दैनिक समाचार पत्रों, प्रिंट एवं इलेक्ट्रीनिक मीडिया के समाचार अनुसार माह अप्रैल के आगामी दिवसों में संक्रमण की तीव्र वृद्धि की संभावना को दृष्टिगत करते हुए तथा जिले में कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होने के कारण प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए निम्न प्रतिबंधात्मक आदेश पारित किया है। जारी आदेश में कहा गया है कि नारायणपुर जिला अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को 19 अप्रैल 2021 की प्रातः 6.00 बजे से 26 अप्रैल 2021 को रात्रि 12.00 बजे तक के लिए कंटेन्मेंट जोन घोषित किया गया है। 19 अप्रैल 2021 की प्रातः 6.00 बजे से 26 अप्रैल 2021 को रात्रि 12.00 बजे तक नारायणपुर जिले की सभी सीमाएं पूर्णतः सील रहेगी। उक्त अवधि में केवल मेडिकल दुकानों को अपने निर्धारित समय में खोलने की अनुमति होगी। मेडिकल दुकानों के संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलिवरी को प्राथमिकता देंगे। पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा केवल शासकीय वाहन/शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, 0टी0एम0 केश वैन, अस्पताल/मेडिकल एमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन/एम्बुलेंस, एल0पी0जी0 परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहन, विधिमान्य पास धारित करने वाले वाहन, एडमिट कार्ड/कॉल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थी/उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी/प्रेस वाहन/न्यूज पेपर हॉकर, दुग्ध वाहन तथा छत्तीसगढ़ में नहीं रूकते हुए एक राज्य से सीधे अन्य राज्य जाने वाले वाहनों को पी.ओ.एल. प्रदान किया जावेगा। अन्य सभी वाहनों हेतु पी.ओ.एल. प्रदान करना पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।
जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि दुग्ध पार्लर व दुग्ध वितरण, ब्रेड विक्रेता तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समयावधि प्रातः 6.00 बजे से 9:00 बजे तक एवं संध्या 5.00 बजे से 7:00 बजे तक ही होगी। दुग्ध व्यवसाय हेतु कोई भी दुकान/पार्लर नहीं खोले जायेगें। दुकान/पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। इसके अतिरिक्त दुग्ध विक्रेता 24*7 होम डिलीवरी सेवा दे सकेंगे। सब्जी, फल के विक्रय-क्रय करने हेतु समयावधि प्रातः 9:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक की अनुमति होगी। पेट शॉप/एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने हेतु प्रातः 8.00 बजे से 10.00 बजे तक एवं संध्या 5.00 बजे से 6.00 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। एल.पी.जी. गैस सिलेण्डर की एजेन्सियां केवल टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहकों को सिलेण्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध कराएंगे।
आदेश में यह भी कहा गया है कि लॉकडाउन अवधि के दौरान नारायणपुर जिला अंतर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधू के निवास गृह में ही आयोजित करने एवं शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की जाती है। इसी प्रकार अंत्योष्टि, दशगात्र इत्यादि। मृत्यु संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की जाती है। उपरोक्त समस्त कार्यों के लिए संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी नारायणपुर से पूर्वानुमति आवश्यक होगी। सभी प्रकार की सभा, जुलूस, सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। उपरोक्त अवधि में नारायणपुर जिला अंतर्गत सभी केन्द्रीय/शासकीय/अर्द्ध शासकीय/सार्वजनिक/निजी कार्यालय/बैंक बंद रहेंगे तथापि टेलीकॉम, पोस्टल सेवाएं, खाद्य सामाग्री के थोक परिवहन, धान मिलिंग हेतु परिवहन, उचित मूल्य की दुकानों में खाद्यानों की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु वेयरहाउस गोदाम से उचित मूल्य दुकान में खाद्यान्न परिवहन एवं शासन से अनुमति प्राप्त समस्त परीक्षाओं को छोड़कर अन्य समस्त शैक्षणिक गतिविधियां बंद रहेंगी किन्तु अस्पताल एवं ए.टी.एम. पूर्ववत संचालित रहेंगे। इसके अतिरिक्त ऐसे निजी वाहन जो इस आदेश के अंतर्गत आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं के परिवहन का कार्य कर रहे हों, उन्हे भी आपात स्थिति में परिवहन की छूट रहेगी। लॉकडाउन के दौरान नारायणपुर जिले में संचालित सभी बैंक दिनांक 19 अप्रैल 2021 की प्रातः 6.00 बजे से 26 अप्रैल 2021 को रात्रि 12.00 बजे तक बंद रहेंगी। आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 04 पहिया वाहनों में ड्राईवर सहित अधिकतम 03, ऑटो में ड्राईवर सहित अधिकतम 03, एवं दो पहिया वाहनों में 02 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति यात्रा संबंधी दसतावेजों के साथ होगी। बस स्टेण्ड, हॉस्पिटल आवागमन हेतु ऑटो/टैक्सी परिचालन की अनुमति रहेगी किन्तु अन्य प्रयोजन हेतु पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। अपरिहार्य परिस्थितियों में नारायणपुर जिले से अन्यत्र आने-जाने वाले यात्रियों को पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। तथापि प्रतियोगी/अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों हेतु उनका एडमिट कार्ड तथा रेलवे/पोस्टल/टेलीकॉम/हॉस्पिटल या कोविड-19 डयूटी में संलग्न अधिकारी/कर्मचारियों /चिकित्सकों/निजि अस्पतालों में कार्यरत चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों/चिन्हांकित वालेंटिर्यस की दशा में नियोक्ता द्वारा जारी आई0डी0 कार्ड मान्य किया जावेगा तथा आवश्यक परिस्थितियों में संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी नारायणपुर द्वारा भी पास जारी किये जायेगें।
कोविड संक्रमण के रोकथाम हेतु जिले में समस्त कार्य जैसे कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे इन कर्र्यों में संलग्न सभी कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड हॉस्पिटल/कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। कोविड-19 टीकाकरण हेतु पंजीयन, कोविड-19 जांच हेतु मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड/विधिमान्य परिचय पत्र दिखाने पर कोविड-19 टीकाकारण केन्द्र अस्पताल/पैथालॉजी लैब अथवा आने-जाने की अनुमति होगी किन्तु अनावश्यक भ्रमण सख्त प्रतिबंधित रहेगा। मीडियाकर्मी यथासंभव वर्क फ्राम होम द्वारा कार्य संपादित करेंगे। अत्यावश्यक स्थिति में कार्य हेतु बाहर निकलने पर अपना आईकार्ड साथ रखेगें तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देर्शों का कडाई से पालन सुनिश्चित करेंगे। यह आदेश कार्यालय कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं उनके अधिनस्थ समस्त कार्यालय, तहसील कार्यालय, थाना/पुलिस चौकी एवं कोविड-19 में ड्यूटीरत अधिकारी/कर्मचारी पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित अधिकारी, विद्युत पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवाएं जिसमें सफाई, सीवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है तथा अग्निशमन सेवाओं के संचालन हेतु संबंधित अधिकारियों/कर्मचारियों को कार्यालय संचालन एवं आवागमन की अनुमति होगी, किन्तु इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। अन्य शासकीय कार्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुले रहेगें परन्तु आम जनता के लिये प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। सभी शासकीय कार्यालय में आम जनता द्वारा आवेदन प्रस्तुत करने हेतु ड्राप बाक्स की व्यवस्था रखेंगे, जिसमें कोई भी व्यक्ति अपना आवेदन डाल सकेंगे। तथापि कोई भी अधिकारी/कर्मचारी बिना कलेक्टर की अनुमति के अपना मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे। राज्य शासन के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी। कोरोना से बचाव के शर्तों के अधीन ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि एवं महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के कार्यों के संचालन की अनुमति रहेगी। जरूरत मंदो को राहत सामाग्री पहूँचाने हेतु इच्छुक संस्थाओं/व्यक्तियों को कोरोना बचाव हेतु प्रसारित निर्देशों के तहत एक समय में अधिकतम 04 व्यक्तियों को प्रातः 8.00 बजे से दोपहर 2 बजे तक संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी की पूर्वानुमति से राहत सामाग्री वितरण की अनुमति होगी। उपरोक्त ओदश में परिस्थितियों का आंकलन कर समय विस्तार एवं संशोधन किया जा सकेगा। उपरोक्त बिन्दुओं को छोड़कर जिले में समस्त गतिविधियां पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी। यह आदेश 19 अप्रैल को प्रातः 6:00 बजे से प्रभावशील होगा।

 जिले के साप्ताहिक बाजार और मुर्गा बाजार पर अगली आदेश तक प्रतिबंधित: कलेक्टर

जिले के साप्ताहिक बाजार और मुर्गा बाजार पर अगली आदेश तक प्रतिबंधित: कलेक्टर

नारायणपुर। कलेक्टर ने जिला में वर्तमान में कोरोना वायरस कोविड-19 के महा-संक्रमण, नियंत्रण के लिए प्रत्येक स्तर पर अधिरोपित प्रतिबंधोध्शार्तो का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए जिले में धारा 144 प्रभावशील की है। 

कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू से जारी आदेश में नारायणपुर जिला अंतर्गत लगने वाले सभी साप्ताहिक बाजार और मुर्गा बाजार पर अगले आदेश तक प्रतिबंधित किया है। जिले की नगर पालिका के सीमा क्षेत्र में व्यापारिक प्रतिष्ठानों के संचालन का समय निर्धारण भी किया गया है। वर्तमान में जिला में कोरोना वायरस पॉजिटिव प्रकरणों में वृद्धि को देखते हुए उसके नियंत्रण के लिए लोक हित में परिस्थिति अनुरूप अतिरिक्त प्रतिबंध अधिरोपित किया जाना आवश्यक हो गया है। सभी नगर पालिका, जनपद पंचायत और ग्राम पंचायतों में तत्काल इस आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार एवं मुनादी आदि के माध्यम से परिपालन सुनिश्चित करने कहा गया है। 
 छत्तीसगढ़: नक्सली बैनर, दो टिफिन बम, वायर एवं बैटरी बरामद

छत्तीसगढ़: नक्सली बैनर, दो टिफिन बम, वायर एवं बैटरी बरामद

नारायणपुर। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूूलन अभियान के तहत नारायणपुर से डीआरजी की पुलिस पार्टी ताड़ोकी से मुरनार की ओर एरिया डॉमिनेशन कर रही थी कि ग्राम धौसा एवं मुरनार के मध्य पहाड़ी (थाना ताड़ोकी जिला कांकेर) में सर्चिंग के दौरान पुलिस पार्टी को नक्सलियों द्वारा छिपाकर रखे गये 02 नग टिफीन बम 05-05 किग्रा का, नक्सली बैनर 02 नग, वायर करीबन 15 मीटर व बैटरी 01 नग बरामद करने एवं नक्सलियों के इरादे को विफल करने में सफलता मिली है। 
पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, आरोपी गिरफ्तार

नारायणपुर । कुरूषनार थाना क्षेत्र में 20 मार्च को गुडरीपारा बासिंग में हुए अन्धे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में थाना कुरूषनार पुलिस को सफलता मिली है। 9 मार्च को माॅवली मेला नारायणपुर से फरसुराम सलाम पिता स्व0 लक्ष्मण सलाम उम्र 40 वर्ष साकिन ओर्कीवाही, बहीगांव, थाना केशकाल, जिला कोण्डागांव के गुम होने पर 17 मार्च को थाना नारायणपुर में गुम इंसान रिपोर्ट दर्ज कर पता-तलाश की जा रही थी। 20 मार्च को थाना कुरूषनार क्षेत्र के गुडरीपारा बासिंग जंगल में क्षत-विक्षत एक अज्ञात व्यक्ति का शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। रिपोर्ट पर थाना कुरूषनार पुलिस ने घटना स्थल पहुंचकर मर्ग कायम कर पंचनामा और जांच कार्यवाही में लिया । शव की पहचान नहीं होने बस्तर संभाग के समस्त थाना को अज्ञात शव की हुलिया व कपड़े की जानकारी देते हुए पता तलाश के लिए मैसेज किया। थाना नारायणपुर के गुम इंसान के परिवार वालों को थाना नारायणपुर द्वारा सूचना मिलने पर मृतक के पत्नी, माॅ, भाई से 24 मार्च को नारायणपुर आकर जिला अस्पताल नारायणपुर में रखते शव और पहने हुए कपड़े को देखकर शव की पहचान फरसुराम सलाम पिता स्व0 लक्ष्मण सलाम उम्र 40 वर्ष निवासी कोर्कीवाही बहीगांव थाना केशकाल, जिला कोण्डागांव के रूप में पहचान किया गया। पहचान कार्यवाही पश्चात परिजनों को शव सुपुर्द किया गया।
शव की पहचान होने और शव परीक्षण रिपोर्ट मिलने के बाद कुरूषनार पुलिस ने अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान आसपास क्षेत्र के ग्रामीणों से पूछताछ करने पर इस हुलिया के व्यक्ति को कोडोली होते हुए डुटाखार की ओर जाते देखा गया था। जिस पर ग्राम डुटाखार के ग्रामीणों से पतासाजी करने पर कमकाल पारा डुटाखार में मानसिक रूप से विक्षिप्त फरसुराम सलाम द्वारा सगऊ राम गोटा के मकान में घुस गया था जिससे उसकी पत्नी के चिल्लाने पर सगऊ राम और अन्य लोगों से फरसुराम को घर से बाहर निकाल कर रस्सी से दोनों हाथ बांधकर मारपीट कर डण्डा व टंगिया से हत्या करने की घटना प्रकाश में आई। थाना कुरूषनार की पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी सगऊराम गोटा पिता स्व. नोहरसिंग गोटा, उम्र करीबन 35 वर्ष, जाति गोड, साकिन कमकालपारा, ग्राम ढुटाखार, थाना कुरूषनार, जिला नारायणपुर और वादीराम सलाम पिता स्व. बनसिंग सलाम, उम्र करीबन 50 वर्ष, जाति गोड, साकिन कमकालपारा, ग्राम ढुटाखार, थाना कुरूषनार, जिला नारायणपुर से पुछताछ करने पर हत्या कर शव को गुडरीपारा बासिंग के जंगल में फेकना स्वीकार करने पर 6 अप्रैल को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेशकर जेल भेजा गया।
अन्य आरोपियों की पता-तलाश जारी है। अन्धे कत्ल की गुत्थी सुलझाने मे थाना प्रभारी कुरूषनार सुनील कुमार सिंह, सउनि भुषणलाल यादव, प्र0आर0 नंदलाल शोरी और अन्य थाना स्टाफ बल का विशेष व अहम योगदान रहा।
 

अनियंत्रित होकर पलटी यात्रियों से भरी पिकअप वाहन, हादसे में कई घायल

अनियंत्रित होकर पलटी यात्रियों से भरी पिकअप वाहन, हादसे में कई घायल

नारायणपुर। जिले के साप्ताहिक बाजार बेनूर से विवाह का सामान व सवारी भरकर जा रही पिकअप अनियंत्रित होकर पलटने से पिकअप में सवार 20 लोग घायल हो गये हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार साप्ताहिक बाजार से 20 लोगों को लेकर ग्राम कोंगेरा जा रही पिकअप बेनूर थाना से करीब दो किलोमीटर दूर दोदीपारा चढ़ाव के पास नारायणपुर-कोंडागांव मुख्य मार्ग पर अनियंत्रित होकर पलट गई। घटना की सूचना बेनूर थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज बंजारे को मिलते ही थाना स्टाफ के साथ घटना स्थल पहुंचकर घायलों को इलाज के लिए टैक्सियों की मदद से बेनूर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया गया। जहां से गंभीर रूप से घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर उपचार के लिए संजीवनी 108 की मदद से जिला अस्पताल नारायणपुर रेफर किया गया एवं कुछ लोगों का इलाज बेनूर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है।
 नौकरी दिलानें का झांसा देकर दोस्त के साथ लाखों की धोखाधड़ी व चोरी का आरोपी गिरफ्तार

नौकरी दिलानें का झांसा देकर दोस्त के साथ लाखों की धोखाधड़ी व चोरी का आरोपी गिरफ्तार

नारायणपुर। जिला मुख्यालय के थाना कोतवाली अंर्तगत लाखों की धोखधड़ी के मामले में प्रार्थी दिलीप नुरेटी द्वारा थाने में एफआरआई दर्ज करवाते हुए बताया कि इसके दोस्त रामकुमार नें कृषि विभाग में लिपिक की नौकरी दिलानें का झांसा देकर 46,500 रू की धोखाधड़ी किया एवं 05 मार्च 2021 को प्रार्थी के घर से उसकी अनुपस्थिति में केंनरा बैंक के एटीएम कार्ड एव बीएसएनएल के सीम कार्ड को चोरी कर खाता से कुल 6,04214 रूपये निकाल लिया है। कुल 6,50,741 रूपये के संबंध में रिपोर्ट दर्ज करानें पर अपराध क्रमांक 43/2021 धारा 420, 454, 380 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। नारायणपुर पुलिस द्वारा कार्यवाही करते हुये आरोपी रामकुमार पुजारी की पतासाजी कर उसके किराये के मकान कुम्हारपारा नारायणपुर से घेराबंदी कर पकड़कर घटना के संबंध पूछताछ करनें पर अपराध कारित करना कबूल करने के बाद आरोपी रामकुमार को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक रिमाण्ड में जेल दाखिल किया गया है।


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार धोखधड़ी के आरोपी रामकुमार पुजारी द्वारा प्रार्थी के घर से उसके मोबाईल से चोरी किया हुआ बीएसएनएल का सीम जो प्रार्थी के बैंक से जुड़ा हुआ है, प्रार्थी का केनरा बैक का एटीएम कार्ड, आरोपी का मोबाईल जिसमें पेटीएम चलाकर प्रार्थी के खाता से पैसा निकाला एवं दूसरे खाता में ट्रांसफर किया गया तथा आरोपी द्वारा प्रार्थी के खाता से पैसा निकालकर खरीदा हुआ मोटर सायकल कीमती 1,54,000 रूपये, लेनेवा का लेपटाप कीमती 33,500 रूपये, गैस सिंलेण्डर चुल्हा कीमती 6,640 रूपये, दीवान पलंग, आलमारी, कुर्सी, टेबल कुल 28,400 रूपये को बरामद किया गया है, एवं आरोपी के एकाउण्ट में 1,60,000 रूपये ट्रांसफर किये गये जिसमें 1,56,000 रूपये शेष है को बैंक को प्रतिवेदन देकर फ्रीज कराया गया। आरोपी द्वारा प्रार्थी को नौकरी लगानें के नाम पर भरा गया फार्म भी जप्त किया गया है। प्रकरण के आरोपी को पकडऩें में थाना प्रभारी निरीक्षक तोपसिंह नवरंग, उप निरीक्षक योगेन्द्र कुमार वर्मा एवं आरक्षक सुरेन्द्र बघेल, शंकर गोटा की सराहनीय भूमिका रही है।
 बगैर मास्क वाले लोगों पर पुलिस व नगर पालिका की टीम ने की कार्यवाही: 65 लोगों से वसूला 6500 रूपए का जुर्माना

बगैर मास्क वाले लोगों पर पुलिस व नगर पालिका की टीम ने की कार्यवाही: 65 लोगों से वसूला 6500 रूपए का जुर्माना

नारायणपुर। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण की कारगर तरीके से रोकथाम किया जा रहा है। जन-जन की स्वास्थ्य सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस और नगर पालिका की टीम सघन अभियान चलाकर दुकानदारों और सार्वजनिक स्थानों, शासकीय कार्यालयों और हाट-बाजारों पर लोगों को बिना मास्क के पाए जाने पर, सोशल डिस्टेसिंग का पालन नही करने वाले, सड़क पर थूककर गंदगी फैलाने पर संबंधित लोगों के खिलाफ निरंतर सघन अभियान चलाया जाकर जुर्माना किया जा रहा है। 
 
नगर पालिका के दल ने आज ऐसे 65 लोगों कार्यवाही कर 6500 रूपए जुर्माना वसूला गया है। जिले में कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और सार्वजनिक स्थानांे पर मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने जिले के नागरिकों और दुकानदारांे से आग्रह करते हुए कहा कि, बिना मास्क लगाए प्रतिष्ठानों का संचालन न करें। साथ ही स्वयं और दूसरों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य करने कहा है। 
 
सीएएफ के जवान ने स्वयं को गोलीमारकर की आत्महत्या, मर्ग कायम कर जाँच में जुटी पुलिस

सीएएफ के जवान ने स्वयं को गोलीमारकर की आत्महत्या, मर्ग कायम कर जाँच में जुटी पुलिस

नारायणपुर। जिले के आमदई खदान में तैनात सीएएफ के एक जवान ने अपने सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। आमदई खदान में तैनात जवान धर्मेंद्र गबेल निवासी जांजगीर के बालधरोद चार दिन पहले ही छुट्टियां के बाद घर से ड्यूटी पर लौटा था। जवान के आत्महत्या करने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है।


जानकारी के अनुसार धर्मेंद्र गबेल उम्र 36 सीएएफ 09 वीं बीएन कंपनी का जवान था। उसकी ड्यूटी जिला मुख्यालय से करीब 54 किमी दूर आमदई खदान में लगी थी। बताया जा रहा है कि धर्मेंद्र ने गुरुवार सुबह अपने दो साथियों के साथ नाश्ता किया। इसके बाद पहाड़ी पर एकांत में जाकर बैठ गया। गोली चलने की आवाज सुनकर साथी जवान मौके पर पहुंचे तो धर्मेंद्र का शव पड़ा हुआ था। जवान ने अपनी राइफल से स्वयं को गोली मार ली थी। गोली लगने से जवान के सिर के चीथड़े उड़ गए। 

सूचना पर एसडीओपी अर्जुन कुर्रे और थाना प्रभारी मनोज सिंह मौके पर पहुंचकर जवान के शव को पहाड़ी से नीचे उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। जवान के परिवार को सूचना दे दी गई है। फिलहाल पुलिस खुदकुशी के कारणों की जांच कर रही है।
छत्तीसगढ़: तीन बच्चे के पिता ने किया नाबालिग से दुष्कर्म, हुआ गिरफ्तार

छत्तीसगढ़: तीन बच्चे के पिता ने किया नाबालिग से दुष्कर्म, हुआ गिरफ्तार

नारायणपुर, जिले के बेनूर तीन बच्चे के पिता द्वारा एक नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर दैहिक शोषण करने वाले आरोपी को बेनूर पुलिस ने पड़ोसी राज्य ओडिसा के कोटपाड़ से गिरफ्तार किया है।
मिली जानकारी के मुताबिक प्रार्थी ने सोमवार को बेनूर थाना आकर लिखित रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उसकी नाबालिग पुत्री को मार्च अप्रैल 2020 में बड़ेडोंगर थाना क्षेत्र के कोटपाड़ निवासी आरोपी 24 वर्षीय जयराम मंडावी ने शादी का झांसा देकर बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जाकर जबरन शारीरिक संबंध बनाया है। प्राथी की रिपोर्ट पाक्सो एक्ट कायम कर पुलिस ने मामले को विवेचना में लिया। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों ने एक टीम तैयार कर तत्काल कोटपाड़ ओडिसा भेजा। यहां पहुंचकर पुलिस ने आरोपी की तलाश कर उसे अभिरक्षा में लिया है।

 

नारायणपुर पुलिस ने नक्सली को किया गिरफ्तार

नारायणपुर पुलिस ने नक्सली को किया गिरफ्तार

नारायणपुर । पुलिस के नक्सल विरोधी अभियान के क्रम में 04 मार्च को डीआरजी नारायणपुर ने मुखबीर से मिली सूचना के आधार पर घेराबंदी कर एक नक्सली को गिरफ्तार किया। इस दौरान पूछताछ करने पर नक्सली ने अपना नाम माहरू राम अलामी बताया। बस्तर आईजी पी सुंदरराज ने बताया, वह नक्सली संगठन में वर्ष 2005 से सक्रिय रूप से जनताना सरकार में कार्य कर रहा था। वर्तमान में काकावाड़ा जनताना सरकार का अध्यक्ष है। 27 फरवरी को ओरछा में मुख्य मार्ग में बम विस्फोट की घटना में 01 जवान घायल हुआ था, उक्त घटना में शामिल होना कबुल करने पर थाना ओरछा में 05 मार्च को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। 

BIG BREAKING : दिन दहाड़े उपसरपंच को गोली मारकर की हत्या, 1 महिला भी हुई घायल, पढ़ें पूरी खबर

BIG BREAKING : दिन दहाड़े उपसरपंच को गोली मारकर की हत्या, 1 महिला भी हुई घायल, पढ़ें पूरी खबर

नारायणपुर | जिले के बेनूर थाना क्षेत्र अंर्तगत ग्राम टेमरु व चालक गांव के बीच चल रहे साप्ताहिक बाजार में नक्सलियों की स्मॉल एक्शन टीम ने सरे बाजार में पूर्व उपसरपंच को गोली मारकर हत्या कर दिया है। नक्सलियों द्वारा की गोलीबारी में पूर्व उपसरपंच की मौत हो गई, वहीं एक ग्रामीण महिला घायल हो गई है।

पढ़ें : दर्दनाक सड़क हादसा : अनियंत्रित हो कर नहर में जा गिरी 54 यात्रियों से भरी बस, अब तक 18 लोगों की मौत

प्राप्त जानकारी के अनुसार नक्सलियों की स्मॉल एक्शन टीम के द्वारा सोमवार को सरे बाजार में गोली मारकर पूर्व उपसरपंच शत्रुघन निवासी ग्राम चिल्का की हत्या कर नक्सली फरार हो गये। नक्सलियों की गोली से एक ग्रामीण महिला का बत्ती बाई घायल हो गई है, जिसका उपचार कोंडागांव जिला अस्पताल में चल रहा है। नारायणपुर एसपी मोहित गर्ग ने इसकी पुष्टि की है।
 
छत्तीसगढ़: आईटीबीपी 29वीं बटालियन के एक जवान ने फांसी लगाकर किया आत्महत्या, शौचालय में जवान ने ऐसे लगाई फांसी

छत्तीसगढ़: आईटीबीपी 29वीं बटालियन के एक जवान ने फांसी लगाकर किया आत्महत्या, शौचालय में जवान ने ऐसे लगाई फांसी

नारायणपुर| नारायणपुर जिले के फरसगांव थाना क्षेत्र में आईटीबीपी 29वीं बटालियन का एक जवान भूपेश सिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है, आत्महत्या का कारण अज्ञात है। 

पढ़ें : छत्तीसगढ़: हाईकोर्ट ने जारी की डिस्ट्रिक्ट जजों की नियुक्ति की लिस्ट, सूची में 31 जजों के नाम शामिल

आत्महत्या के बाद से आईटीबीपी के उच्च अधिकारी जांच में जुटे हुए हैं। जवान उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ का रहने वाला था। एक महीने पहले ही जवान छुट्टी से वापस लौटा था। बुधवार ड्यूटी के बाद शौचालय में जवान ने अपने गमछे से फांसी लगा ली है। 

मुख्यमंत्री इस जिले को देंगे 85.91 करोड़ रूपए की सौगात, जानिए क्या है वो सौगात

मुख्यमंत्री इस जिले को देंगे 85.91 करोड़ रूपए की सौगात, जानिए क्या है वो सौगात

नारायणपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 9 एवं 10 जनवरी को नारायणपुर जिले के प्रवास के दौरान जिलेवासियों को 85.91 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्यों की सौगात देंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री 77.80 करोड़ की लागत से 26 कार्यों का भूमिपूजन एवं 8.11 करोड़ की लागत से 14 कार्यों का लोकर्पण करेंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सर्वप्रथम आदर्श गौठान केरलापाल का निरीक्षण करेंगे फिर केंद्रीय विद्यालय नारायणपुर का अवलोकन करेंगे। 
 

इसके पश्चात श्री बघेल हाई स्कूल मैदान में आयोजित आम सभा में 77.80 करोड़ की लागत से 26 कार्यों का भूमिपूजन एवं 8.11 करोड़ की लागत से 14 कार्यों का लोकर्पण करेंगे। भूमिपूजन में विभिन्न विभागों के राजनांदगांव बारसूर रोड से माहका, खोड़गांव अंजरेल फुटहिल सी.सी.रोड निर्माण, नारायणपुर गारपा मार्ग, ब्रेहबेड़ा से कंदाड़ी-कीहकाड-मुरनार-बेचा मार्ग, ट्रांजिट हॉस्टल, आंगनबाड़ी केंद्रों, एन आर सी रूम, धान संग्रहण केंद्र में शेड, इंग्लिश मीडियम स्कूल में डोम एवं अतिरिक्त कक्ष, उप स्वास्थ्य केंद्र भवन, धान चबूतरा, यात्री प्रतीक्षालय, समुदायिक शौचालय निर्माण, बाजार शेड, सोलर हाई मास्ट संयंत्र तथा सोलर पम्पो की स्थापना शामिल है। 
 

इसी प्रकार लोकार्पण कार्यों में आंगनबाड़ी केंद्र भवन, 15 नग धान चबूतरा, इंग्लिश मीडियम स्कूल में डायनिग शेड, उप स्वास्थ्य केंद्र, समुदायिक भवन, नवीन पंचायत भवन, अटल समरसता भवन ओरछा, 30 ग्रामो में सोलर ड्यूल पम्प, 30 स्थलो में सोलर हाई मास्ट संयंत्र, बी एस ए एल टावर में सोलर पावर प्लांट तथा कुकड़ाछोड एवं एडका में नवनिर्मित थाना शामिल है। मुख्यमंत्री श्री बघेल 9 जनवरी को स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल सिंगोड़ीतराई का निरीक्षण करेंगे। 
 

गरीब बच्चों को निजी स्कूलों की भांति सर्वसुविधायुक्त अंग्रेजी माध्यम स्कूल में शिक्षा देने के उद्देश्य से स्कूल का उन्नयन इंगलिश मीडियम स्कूल में किया गया है। इस स्कूल में कक्षा 1 से कक्षा 12 तक की कक्षाएं संचालित हो रही है। जिनमें 263 विद्यार्थियांे को प्रवेश दिया गया है तथा 34 विषय विशेषज्ञ शिक्षकों की भर्ती की गई है। यहां फर्नीचर, आधुनिक प्रयोगशाला, उत्कृष्ट ग्रंथालय, खेल संसाधन की पूरी सुविधा बच्चों को दी जा रही है। साथ ही उत्कृष्ट स्मार्ट क्लासेस से बच्चों को शिक्षा मिलेगी।
 

 पुलिस थाना नारायणपुर के समीप पुलिस पेट्रोल पंप का लोकार्पण, रामकृष्ण मिशन आश्रम नारायणपुर के कार्यक्रम तथा विभिन्न संगठन प्रमुख, समाज प्रमुख, जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियो से भेंट एवं चर्चा करेंगे। 10 जनवरी को फूलझाड़ू प्रोसेसिंग केन्द्र का अवलोकन एवं मलखम्ब प्रदर्शन एवं मलखम्ब खिलाड़ियों से मिलकर परिचय प्राप्त करेंगे।
 
जिले के लिए तीन स्थानीय अवकाश घोषित

जिले के लिए तीन स्थानीय अवकाश घोषित

नारायणपुर । कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने नारायणपुर जिले के लिए कैलेण्डर वर्ष 2021 के लिए स्थानीय अवकाश की घोषणा की है। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में मावली मेला नारायणपुर के लिए 10 मार्च 2021 दिन बुधवार, नवाखानी 15 सितम्बर 2021 दिन बुधवार और गोर्वधन पूजा (दीपावली का दूसरा दिन) 5 नवम्बर 2021 दिन शुक्रवार को स्थानीय अवकाश की घोषणा की गई है। ये तीनो स्थानीय अवकाश सम्पूर्ण नारायणपुर जिले के लिए घोषित किये गये है।

खदान और 6 ग्रामीणों की रिहाई को लेकर ओरछा मार्ग में ग्रामीणों द्वारा चक्काजाम जारी

खदान और 6 ग्रामीणों की रिहाई को लेकर ओरछा मार्ग में ग्रामीणों द्वारा चक्काजाम जारी

नारायणपुर | जिले के ग्रामीणों द्वारा जल, जंगल और जमीन को बचाने तथा आमादई खदान को निक्को कंपनी को लीज पर देने का विरोध कर रहें हैं, साथ ही 06 ग्रामीणों को जेल से रिहाई की मांग करते हुए आज चौथे दिन भी ओरछा मुख्य मार्ग पर चक्काजाम जारी है, ग्रामीणों के अनुसार 17 दिसंबर तक आंदोलन जारी रखने के लिए पूरी तैयारी से पंहुचे ग्रामीण डटे हुए हैं। समाज प्रमुखों के अनुसार आंदोलन में आगे आमादई खदान क्षेत्र में किये जाने की बात कही जा रही है। 

पढ़ें : बिलासपुर की पहचान है राउत नाच महोत्सव-भूपेश बघेल

पूर्व मंत्री व भाजपा प्रदेश प्रवक्ता केदार कश्यप ने एक बयान जारी कर कहा है कि नारायणपुर में वनवासियों के द्वारा हजारों की संख्या में किया जा रहा प्रदर्शन राज्य सरकार की नाकामी का सबूत है। श्री कश्यप ने कहा कि राज्य सरकार आज हर मोर्चे पर फेल हो गई है, इसलिए आज अबूझमाड़ का वनवासी भाई सड़क पर उतरने को मजबूर है। 15 सालों के भाजपा की सरकार के कभी भी ऐसा मौका नही आया कि इतनी बड़ी संख्या में वनवासी भाई प्रदर्शन को मजबूर हुए हों, परन्तु इस समाज के प्रति राज्य सरकार की लगातार उपेक्षा के कारण आज यह विकराल स्थिति निर्मित हुई है। श्री कश्यप ने कहा कि राज्य सरकार इस मामले में तत्काल संज्ञान ले और हमारे वनवासी भाइयों की उचित मांगों के निराकरण कर उन्हें राहत प्रदान करे।
 
गोधन न्याय योजनांतर्गत आर्थिक तरक्की के लिए वर्मी कम्पोस्ट बनाने में जुटी समूह की महिलाएं

गोधन न्याय योजनांतर्गत आर्थिक तरक्की के लिए वर्मी कम्पोस्ट बनाने में जुटी समूह की महिलाएं

नारायणपुरकोविड-19 के कारण देश-दुनिया का जन-जीवन प्रभावित हुआ लेकिन अगर कोई एक बात प्रभावित नहीं हुई, तो वो थी मुख्यमंत्री बघेल की पशुपालक ग्रामीणों एवं किसानों के प्रति संवेदनशील मानसिकता और किसानों को सशक्त बनाने की दिशा में उनकी जिद। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने गोधन के संरक्षण, सवंर्धन और वर्मी कम्पोस्ट के उत्पादन को बढावा देने तथा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने के उद्देष्य से गोधन न्याय योजना की शुरुआत की है।

READ : बड़ी खबर छत्तीसगढ़: मिल गई लापता 9 साल की प्रियंका, फरार आरोपी के तलाश में जुटी पुलिस 

नारायणपुर जिले के स्व-सहायता समूह की महिलाएं अपने आर्थिक संबलीकरण के लिए बुलंद हौसलों के साथ वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के काम में जुटी हुई है। महिलाएं अपने तथा अपने परिवार के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने तथा जैविक उपज को बढ़ावा देने के लिए लगन के साथ लगी हुई है। इन महिलाओं को समूहों में जोड़कर विविध गतिविधियों से जोड़ा गया है तथा वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने प्रशिक्षण भी दिया गया है। नारायणपुर विकासखंड के ग्राम भाटपाल के माँ दंतेश्वरी स्व-सहायता समूह की महिलाओं को वर्मी कम्पोस्ट बनाने के कार्य से जोड़ा गया है। बिहान के तहत गठित समूह की महिलाएं उत्साह के साथ गौठानो में वर्मी कम्पोस्ट तैयार करने का कार्य कर रही हैं।

READ : बहन ने की आत्महत्या: भाई-भाभी ने अपने बच्चों के साथ मिलकर किया शारीरिक व मानसिक रुप से पताडि़त

    समूह की महिलाओं का कहना है कि वे अपने गाँव और परिवार के लिए कुछ करना चाहती हैं। गौठान में भी कुषल मजदूरों की आवश्यकता थी और महिलाओं को भी आर्थिक मोर्चे पर कुछ कर गुजरने की जरूरत है, इसलिए शासन ने पहल करते हुए समूह की महिलाओं को वर्मी कम्पोस्ट तैयार करने के कार्य से जोड़ा है। माँ दंतेश्वरी स्व-सहायता समूह, भाटपाल की महिलाओं ने बताया कि समूह द्वारा अब तक कुल 47 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट खाद तैयार कर विक्रय करने से 37 हजार रूपये प्राप्त हुए हैं। समूह की महिलाओं ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गांव के आर्थिक विकास के लिए गौठान का निर्माण किया है तथा गोधन न्याय योजना लागू की है ताकि गोबर खरीदी कर वर्मी कम्पोस्ट बना सके।

READ : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एम्स में भर्ती, सांस लेने में हो रही थी तकलीफ

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार बनते ही हमारे गांव में गौठान स्थापित की गई थी। लेकिन गोबर कम मात्रा में मिलने या नहीं मिलने से वर्मी कम्पोस्ट बनाने का काम निरंतर नहीं हो पा रहा था। गोधन न्याय योजना के लागू हो जाने से अब वर्मी कम्पोस्ट बनाने के लिए गोबर की कमी नही हो रही है, पर्याप्त मात्रा में गोबर मिल रहा है। गोधन न्याय योजनांतर्गत भाटपाल गौठान में 6 क्विंटल गोबर की खरीदी की गयी है। इस गोबर को वर्मी कम्पोस्ट खाद बनने हेतु टांका में डाला गया है। निर्धारित समय के बाद उसे निकाल कर कृषि आधारित कार्यालयों, किसानों आदि को 8 रूपये प्रति किलो की दर से बेचा जायेगा।

READ : अब शिक्षा मंत्रालय के नाम से जाना जाएगा एचआरडी मंत्रालय- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी
 महिला समूह को गौठान में काम करने का लंबे समय से अनुभव है, समूह की महिलाओ का कहना है कि वे पूरी मेहनत के साथ कार्य कर रही हैं। गोधन न्याय योजना से जो उम्मीद है और शासन की जो मंशा है, उसके अनुसार निश्चित रूप से आने वाले समय में महिलाओं को आर्थिक रूप से बड़े लाभ मिलेंगे, वे अपने परिवार की तरक्की में सहायक बनेंगी।


 बड़ी खबर: दो नाबालिक युवकों ने दो नाबालिक बच्चियों से किया दुष्कर्म, पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर: दो नाबालिक युवकों ने दो नाबालिक बच्चियों से किया दुष्कर्म, पढ़े पूरी खबर

नारायणपुर।  जिला मुख्यालय थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम टिमनार में शुक्रवार दोपहर में दो नाबालिक युवकों के द्वारा दो छोटी नाबालिक बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने दोनों नाबालिक युवकों को गिरफ्तार कर लिया है।
 
 
नारायणपुर थाना प्रभारी प्रशांत राव ने बताया कि दो बच्चियां अपने घर के बाहर खेल रही थी इसी दौरान ग्राम के ही दो नाबालिग युवकों ने इन बच्चियों को कुसुम फल खिलाने के बहाने घर से करीबन 01 किलोमीटर दूर ले जाकर नाबालिक बच्चियों के गुप्तांग से छेड़छाड़ किया। जिसकी वजह से बच्चियों के गुप्तांग से रक्तस्राव होने लगा। रक्तस्राव होता देख दोनों नाबालिग युवक मौके से फरार हो गए। इसी दौरान बच्चियों की बड़ी बहन वहां पहुंच गई बड़ी बहन ने दोनों बच्चियों को लेकर घर पहुंचकर पूछने पर बच्चियों ने पूरी घटना की जानकारी परिजनों को दिया। नाबालिग बच्चियों का इलाज कराने के लिए परिजन उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे। अस्पताल से मामला थाने तक पहुंचा। पुलिस मौके पर पहुंचकर मामला दर्ज कर तत्काल दोनों नाबालिग को गिरफ्तार कर उनके विरूध्द आईपीसी की धारा 376 511 के साथ 04 पास्को एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।
 
 
नाबालिक बच्चियों की नाजुक हालत को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए उन्हें जगदलपुर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है। वहीं दूसरी ओर आरोपी दोनो नाबालिग युवकों को शनिवार की दोपहर को बाल न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हे बाल संरक्षण गृह भेज दिया गया है। 
+ Load More