• -

और पढ़ें

COVID-19 :

Confirmed :

Recovered :

Deaths :

Maharashtra / 211987 Tamil Nadu / 114978 Delhi / 100823 Gujarat / 36858 Uttar Pradesh / 28636 Rajasthan / 20922 West Bengal / 22987 Madhya Pradesh / 15284 Haryana / 17770 State Unassigned / 5034 Karnataka / 25317 Andhra Pradesh / 21197 Bihar / 12525 Telangana / 25733 Jammu and Kashmir / 8675 Assam / 12523 Odisha / 10097 Punjab / 6491 Kerala / 5623 Uttarakhand / 3161 Chhattisgarh / 3305 Jharkhand / 2877 Tripura / 1692 Ladakh / 1005 Goa / 1813 Himachal Pradesh / 1077 Manipur / 1390 Chandigarh / 492 Puducherry / 1043 Nagaland / 636 Mizoram / 197 Arunachal Pradesh / 270 Sikkim / 125 Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu / 407 Andaman and Nicobar Islands / 147 Meghalaya / 88 Lakshadweep / 0

   BIG BREAKING : एंटी करप्शन ब्यूरो की बड़ी कार्यवाही, पटवारी सहित दो अधिकारियों को रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार    |    भारतीय सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन एवं कमांड पोस्ट संबंधी अपने आदेश पर अमल के लिए उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार को दिया एक माह का समय    |    गोधन न्याय योजना: गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान छत्तीसगढ़ के पदाधिकारियों ने जताया आभार : गृहमंत्री से मुलाकात कर सौंपा अभिनंदन पत्र    |    एम्स में काम करने वाली नर्स को शादी का झांसा देकर 34 लाख की ठगी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, पढ़ें पूरी खबर    |    एम्स की महिला डॉक्टर सहित इस राज्य की राजधानी में मिले 86 नए कोरोना संक्रमित मरीज    |    स्वास्थ्य विभाग द्वारा 5 जुलाई की स्थिति में रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन वाले विकासखंडों की अधिसूचना जारी    |    बड़ी खबर: प्रदेश में आज 92 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले ,देखे किस किस जिले से है    |    छत्तीसगढ़ के इन जनपद व ग्राम पंचायतों को मिला दीनदयाल उपाध्याय पंचायती राज सशक्तीकरण राष्ट्रीय पुरस्कार, दिल्ली में जारी हुई सूची, देखें सूची    |    बड़ी खबर: बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों का तबादला आदेश जारी, देखे पूरी लिस्ट    |    जेपी नड्डा ने साधा निशाना: गौरवशाली वंश परंपरा से जुड़े राहुल के लिए समिति मायने नहीं रखती    |
Previous12Next
विराट कोहली शांत नहीं रह सकते:नासिर हुसैन

विराट कोहली शांत नहीं रह सकते:नासिर हुसैन

नई दिल्ली। नासिर हुसैन ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की तारीफ की है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने एक कप्तान के रूप में कोहली की प्रगति को लेकर अपनी राय रखी है। 

नासिर ने कहा, सबसे पहली बात मैं कहना चाहूंगा कि विराट कोहली एक अलग इनसान हैं। महेंद्र सिंह धोनी के बाद कप्तानी संभालने के बाद यह काफी आसान था कि वह यह सोचते कि मुझे धोनी जैसा बनना है। मुझे शांत रहता है, मुझे फिनिशर बनना है, मुझे बर्फ की तरह ठंडा रहना है। विराट कोहली कभी शांत नहीं रह सकते। वह अपनी भावनाओं का खुलकर इजहार करते हैं।

नासिर ने कहा, अगर आप विराट कोहली को सुबह फुटबॉल खेलते हुए देखें तो आपको अहसास होगा। मुझे खुद उनकी टीम के खिलाडिय़ों के लिए चिंता होती है। वह जीतने को लेकर बहुत जुनूनी हैं। इसलिए अगर आप सीमित ओवरों के क्रिकेट में मुझसे रन-चेज में किसी एक खिलाड़ी के बारे में पूछें तो मैं कोहली का नाम लूंगा चूंकि वह लक्ष्य पर नजर रखते हैं और उनका पूरा ध्यान उस पर ही होता है। 

क्रिकेटर से कॉमेंटेटर बने नासिर हुसैन ने कहा, कोहली अपनी तरह के ही इनसान हैं। वह कई क्षेत्रों में बेहतर हुए हैं और कुछ क्षेत्र ऐसे हैं जिनमें मैं उन्हें बेहतर होते देखना चाहूंगा। वह काफी सोचते हैं। हर ओर में वह फील्डिंग में बदलाव करते हैं। वह चीजों को बदलने के लिए इधर-उधर दौड़ते हैं। मुझे लगता है कि वह कुछ ज्यादा ही सोचते हैं। 

नासिर हुसैन ने कोहली के सिलेक्शन के तरीके से भी थोड़ा असहमत नजर आए। उन्होंने कहा, मैं जानता हूं कि लोग कहेंगे कि यह कोहली का फैसला है। लेकिन आपके पास एक सिलेक्शन प्लान होना चाहिए। मुझे लगता है कि भारत ने कई चीजें अच्छी की हैं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि सिलेक्शन उसमें से एक है। वर्ल्ड कप की ही बात करें आपको यही पता नहीं था कि नंबर चार पर कौन बल्लेबाजी करेगा। वह भी तब जब भारत में कई बड़े बल्लेबाज हैं। उन्हें सिलेक्शन की समस्या का हल तलाशन होगा लेकिन कप्तान का मूल काम मैच जीतना होता है और अगर आप कोहली के रेकॉर्ड को इस नजर से देखें तो वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ में शामिल होते है।
सौरभ गांगुली को एक और बड़ी जिम्मेदारी, एटीके-मोहन बागान के निदेशक नामित

सौरभ गांगुली को एक और बड़ी जिम्मेदारी, एटीके-मोहन बागान के निदेशक नामित

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरभ गांगुली को एटीके और मोहन बागान को विलय कर बनी इंडियन सुपर लीग की नयी टीम का एक निदेशक नामित किया गया है। मोहन बागान क्लब में 80 प्रतिशत की हिस्सा हासिल करने वाले चेयरमैन संजीव गोयनका के नेतृत्व में 10 जुलाई को बोर्ड की बैठक होगी जिसमें क्लब के नाम, जर्सी और लोगो (प्रतीक चिन्ह) को अंतिम रूप दिया जाएगा।

टीम के सह-मालिक और एक निदेशक उत्सव पारेख ने बताया कि गांगुली टीम के सह-मालिकों में से एक हैं और निदेशक बनने के शत प्रतिशत पात्र हैं। हम टीम का नाम, जर्सी और लोगो को अंतिम रूप देने के लिए पहली बार 10 जुलाई को मिलेंगे।

पिछले महीने कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के साथ पंजीकरण के समय, एटीके-मोहन बागान प्राइवेट लिमिटेड ने पांच सदस्यों का नाम दिया था जिसमें एटीके के सह-मालिक उत्सव पारेख, मोहन बागान के श्रीनॉय बोस एवं देबाशीष दत्ता और दो अन्य सदस्यों गौतम रे और संजीव मेहरा का नाम था। 

पारेख ने रविवार को कहा, यह केवल औपचारिकता थी जो आधिकारिक तौर पर उद्यम शुरू करने के लिए एक कागजी कार्रवाई है। हमने उस समय गोयनका (टीम के प्रमुख मालिक) को भी बोर्ड का हिस्सा नहीं बनाया था। हमने अब गोयनका और गांगुली को इसमें शामिल किया है। इस विलय से पहले, एटीके ने तीन बार आईएसएल खिताब जीता था जबकि मोहन बागान ने दो बार आई-लीग चैंपियन रही है।
विराट को ट्रोल करने की कोशिश पीटरसन को पड़ी भारी, जानिए क्या हुआ ऐसा

विराट को ट्रोल करने की कोशिश पीटरसन को पड़ी भारी, जानिए क्या हुआ ऐसा

नईदिल्ली। दुनिया के दिग्गज बल्लेबाजों में शुमार टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली अपनी फिटनेस को लेकर भी काफी सजग रहते हैं। कोरोना वायरस के कारण भले ही क्रिकेट संबंधी गतिविधियों पर ब्रेक लगा है लेकिन विराट लगातार जिम में पसीना बहा रहे हैं। उन्होंने एक्सरसाइज करते हुए एक वीडियो क्लिप शुक्रवार को शेयर किया। कैप्टन कोहली ने वेटलिफ्टिंग का एक वीडियो क्लिप शेयर किया, जिसमें वह कड़ी मेहनत करते दिख रहे हैं। इस पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने उन्हें ट्रोल करने की कोशिश की लेकिन विराट की हाजिरजवाबी के सामने उनकी बोलती बंद हो गई।
विराट ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, अगर मुझे मौका मिले रोज एक एक्सरसाइज को चुनने का तो यह ही होगी। लव द पावर स्नैच। इस वीडियो पर कॉमेंट करते हुए 40 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर पीटरसन ने लिखा, बाइक पर चढ़ जाइए। विराट ने इसके रिप्लाई में जवाब में लिखा, रिटायरमेंट के बाद। विराट सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहते हैं और फैंस के लिए फोटो-वीडियो शेयर करते हैं। इंटरनैशनल क्रिकेट में 20 हजार से ज्यादा रन बना चुके विराट कोहली आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी संभालते हैं। कोरोना वायरस के कारण आईपीएल को भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया है।
 मौजूदा गेंदबाजों के सामने शायद बेहतर बल्लेबाज: महेला जयर्वधने

मौजूदा गेंदबाजों के सामने शायद बेहतर बल्लेबाज: महेला जयर्वधने

मुंबई। श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने कहा है कि मौजूदा गेंदबाजों की तुलना पूर्व खिलाडिय़ों से करना गलत होगा, क्योंकि जसप्रीत बुमराह और कागिसो रबादा के सामने शायद पहले से बेहतर बल्लेबाज हैं। 

उन्होंने कहा, 'अगर आप आज के दौर के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले शीर्ष 10 गेंदबाजों को देखेंगे तो उन्होंने अपना शुरुआती करियर उस दौर में बिताया है। मैंने कपिल देव और कर्टनी वॉल्श को नहीं खेला क्योंकि मैंने उनके बाद क्रिकेट शुरू की।

जयवर्धने ने ईएसपीएनक्रिकइंफो पर संजय मांजरेकर से बात करते हुए कहा, 'तब मुथैया मुरलीधरन, शेन वार्न, ग्लैन मैक्ग्रा, अनिल कुंबले, भज्जी (हरभजन सिंह), सकलैन मुश्ताक, वसीम अकरम, वकार यूनिस थे। इनके आंकड़े इनके बारे में बताते हैं।

उन्होंने कहा, 'हमें अभी देखना है कि मौजूदा गेंदबाजों की पौध उन आंकड़ों तक पहुंचती है या नहीं। मौजूदा गेंदबाज शायद बेहतर बल्लेबाजी ईकाई के सामने खेल रहे हैं।' जयवर्धने ने सभी प्रारूपों में श्रीलंका के लिए कुल 652 मैच खेले हैं और वह दुनिया के महान बल्लेबाजों में गिने जाते हैं।
बीते 50 साल में कौन है बेस्ट भारतीय टेस्ट बल्लेबाज, द्रविड़ ने सचिन को पछाड़ा

बीते 50 साल में कौन है बेस्ट भारतीय टेस्ट बल्लेबाज, द्रविड़ ने सचिन को पछाड़ा

नईदिल्ली। भारतीय क्रिकेट में बल्लेबाजों की एक लंबी परंपरा रही है। चाहे प्रारूप कोई भी हो भारतीय बल्लेबाजों ने हर बार अपना असर दिखाया है। सचिन तेंडुलकर को भारत ही नहीं दुनिया का महानतम बल्लेबाजों में गिना जाता है। लेकिन विजडन इंडिया द्वारा करवाए गए एक ऑनलाइन पोल में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर राहुल द्रविड़ से पिछड़ गए। विजडन ने पूछा था कि इन दोनों भारतीयों में बीते 50 साल में कौन बेहतर टेस्ट बल्लेबाज रहा है। 

द्रविड़ और तेंडुलकर के बीच मुकाबला कड़ा था लेकिन आखिर में द्रविड़ को सचिन से ज्यादा वोट मिले। और उन्हें बीते 50 साल में बेहतर भारतीय टेस्ट बल्लेबाज का खिताब मिला। 

इस पोल में कुल 11400 लोगों ने वोटिंग दी। इसमें द्रविड़ को 52 और तेंडुलकर को 48 फीसदी वोट मिले। द वॉल के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ पोल के शुरुआती दौर में सचिन से पिछड़ रहे थे लेकिन धीरे-धीरे वह सचिन से आगे निकल गए। 

पोल के शुरुआती दौर में सुनील गावसकर और विराट कोहली को भी शामिल किया गया था। तेंडुलकर ने जहां विराट कोहली को पीछे छोड़ा था वहीं राहुल द्रविड़ को लोगों ने सुनील गावसकर से बेहतर बल्लेबाज माना था।

इसके बाद तीसरे स्थान के लिए कोहली और सुनील गावसकर के बीच भी पोलिंग हुई। इसमें लिटिल मास्टर ने भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान को पीछे छोड़ते हुए तीसरा स्थान हासिल किया।

गावसकर, कोहली, द्रविड़ और तेंडुलकर सभी ने क्रिकेट के इस सबसे लंबे प्रारूप में शानदार प्रदर्शन किया है। सचिन इस प्रारूप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उन्होंने 15921 रन बनाए हैं। वहीं द्रविड़ के नाम 13288 रन हैं। गावसकर टेस्ट क्रिकेट में 10 हजार रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज थे। उन्होंने 10122 रन बनाए। कोहली की बात करें उनका करियर भी काफी बाकी है और उम्मीद की जा रही है कि वह कई रेकॉर्ड अपने नाम करेंगे।
धोनी की सलाह पर मिला था ग्लेन मैक्सवेल का विकेट: चहल

धोनी की सलाह पर मिला था ग्लेन मैक्सवेल का विकेट: चहल

नई दिल्ली। टीम इंडिया के स्टार लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल कमाल के गेंदबाज हैं और उन्होंने अहम मौकों पर इसे साबित भी किया है। चहल ने बताया कि साल 2017 में किस तरह पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की सलाह मानने से उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल को अपनी गेंदबाजी से परेशान किया था।

चहल ने अपने टीम साथियों कुलदीप यादव और मयंक अग्रवाल के साथ बीसीसीआई टीवी पर एक चैट शो में हिस्सा लिया। इस दौरान चहल ने धोनी से जुड़ी एक घटना को याद किया जिससे उन्हें मैक्सवेल के खिलाफ बेहतर गेंदबाजी में मदद मिली। ऑस्ट्रेलिया ने साल 2017 में पांच मैचों की वनडे और तीन मैचों की टी20 सीरीजके लिए भारत का दौरा किया था।

उस सीरीज को याद करते हुए चहल ने मयंक के सवाल पर बताया कि उन्होंने धोनी के साथ मैक्सवेल को स्टंप से बाहर गेंद फेंकने की योजना बनाई क्योंकि यह ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शॉट मारना पसंद करता है। उस सीरीज के तीसरे वनडे का जिक्र करते हुए चहल ने कहा, मैंने माही भाई की सलाह पर उन्हें स्टंप से बाहर गेंद फेंकने की योजना बनाई। मुझे लगा कि वह शॉट लगाएंगे और यही हुआ भी। इसी वजह से मैंने गेंद को ज्यादा वाइड फेंका और विकेट मिला।

भारतीय लेग स्पिनर ने आगे कहा कि उस सीरीज में मैक्सवेल ने उनके खिलाफ आक्रामक होकर खेलने का तरीका चुना था। उन्होंने कहा, वह (मैक्सवेल) उस सीरीज में अधीर होकर खेल रहे थे और मेरी गेंदों पर शॉट लगाने की कोशिश करते। मैंने माही भाई से बातचीत की कि इससे कैसे निपटा जाए। उन्होंने जवाब दिया कि हम स्टंप से हटकर गेंद करेंगे। इसलिए जब गेंद को स्टंप के बाहर गेंदबाजी करूं तो यह विकेट लेने वाली डिलीवरी होनी चाहिए। 

चहल ने 50 ओवर फॉर्मेट में तीन बार मैक्सवेल को आउट किया है और उसी दौरे पर दूसरे टी इंटरनैशनल में भी इस लेग स्पिनर ने ही ऑस्ट्रेलियाई धुरंधर का विकेट लिया। भारत ने तब वनडे सीरीज 4-1 से जीती जबकि टी20 सीरीज 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुई थी जिसका अंतिम मैच बिना कोई गेंद फेंके ही बारिश के कारण धुल गया था।
अर्जुन तेंडुलकर इस खिलाडी को अपने बाउंसर से करना चाहते हैं घायल

अर्जुन तेंडुलकर इस खिलाडी को अपने बाउंसर से करना चाहते हैं घायल

नईदिल्ली, दुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर को आपने मैदान पर कभी गुस्सा करते नहीं देखा होगा। पूरी दुनिया में उनके खेल के साथ-साथ उनकी शालीनता की भी तारीफ होती है। लेकिन उनके बेटे अर्जुन तेंडुलकर को गुस्सा आता है। आखिर आए भी क्यों न अर्जुन एक फास्ट बोलर हैं और गुस्सा तेज गेंदबाजों के स्वभाव में होता है। इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम की ओपनिंग बल्लेबाज डेनियल वेट ने बताया कि अर्जुन उन्हें सिर पर बाउंसर मारने की चेतावनी दे चुके हैं।

डेनियल वेट हाल ही में क्रिकेट न्यूज वेबसाइट क्रिकेट.कॉम से बात कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने अर्जुन की फास्ट बोलिंग पर भी बात की। वेट ने बताया कि अर्जुन को दिन पर दिन खेलना अब मुश्किल होता जा रहा है। उनकी गेंदबाजी में लगातार स्पीड का इजाफा हो रहा है।
वेट ने बताया, सचिन और उनका परिवार जब भी इंग्लैंड में आता है और अर्जुन लॉर्ड्स पर प्रैक्टिस के लिए आते हैं तो मैं उनसे नेट में मुझे बोलिंग करने को कहती हूं। लेकिन अब उनकी स्पीड काफी बढ़ गई है। वह हमेशा कहते हैं कि मैं आपको बाउंसर फेंकूंगा और आपके सिर पर मारूंगा। तो अब मैं नहीं चाहतूी हूं कि वह मुझे और गेंदबाजी करें। अब उनका सामना करना खतरनाक होता जा रहा है।

वेट ने सचिन के परिवार की तारीफ करते हुए कहा, वे बहुत प्यारा परिवार हैं। अर्जुन की मां (अंजली) भी बहुत प्यारी हैं। हाल ही में सचिन ने ऑस्ट्रेलिया में आयोजित हुए महिला टी20 वर्ल्ड कप के दौरान मिली थी। डेनियल वेट ने इंग्लैंड के लिए अभी तक 74 वनडे और 109 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं।

बता दें अर्जुन तेंडुलकर और डेनियल वेट दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं। सचिन का परिवार गर्मियों में हर साल करीब दो महीने के लिए इंग्लैंड में छुट्टियां बिताने जाता है तब डेनियल अर्जुन के खिलाफ नेट्स में बैटिंग करना पसंद करती हैं। नेट प्रैक्टिस के दौरान अर्जुन अपनी परफैक्ट यॉर्कर पर इंग्लैंड के ओपनिंग बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो को भी चोटिल कर चुके हैं। बेयरस्टो को यह गेंद लगने के चलते अपनी प्रैक्टिस छोडऩी पड़ी थी।

 

हरभजन की तारीफ में बोले लक्ष्मण, इस खूबी के चलते दिया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

हरभजन की तारीफ में बोले लक्ष्मण, इस खूबी के चलते दिया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

नई दिल्ली। वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि हरभजन सिंह ने अपना संभावित खीझ को सही दिशा में मोड़ा और उसे स्वच्छंद आक्रामकता में बदल दिया। टीम इंडिया के इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि अपनी इन्हीं खूबियों के कारण हरभजन ने एक दशक से भी अधिक समय तक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया।

लक्ष्मण, जो कि इन दिनों ट्विटर पर रोज भारतीय क्रिकेट के एक दिग्गज को ससम्मान याद कर रहे हैं, ने शनिवार को ट्वीट कर लिखा- एक और खिलाड़ी जो आसानी से अपने करियर और निजी जीवन में मिले मुश्किल वक्त से भटक सकता था। अपने संभावित खीझ को उसने आक्रामकता में बदला। हरभजन सिंह ने करीब डेढ़ दशक तक अपना सर्वश्रेष्ठ स्तर कायम रखा। 

लक्ष्मण और हरभजन कोलकाता में 2001 में खेले गए उस यादगार टेस्ट मैच का हिस्सा थे जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को मात दी थी। लक्ष्मण ने बल्ले से शानदार खेल दिखाया था और हरभजन ने उस मैच में हैटट्रिक ली थी।

इस ऑफ स्पिनर ने उस मैच में 13 विकेट लिए थे और भारत ने पहली पारी में फॉलोऑन से पिछडऩे के बाद भी 171 रन से जीत हासिल की थी। इसके साथ ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया की लगातार 16 टेस्ट मैचों से चली आ रहे जीत के सिलसिले को तोड़ा था। 

हरभजन ने भारत के लिए 103 टेस्ट और 236 वनडे इंटरनैशनल मैच खेले। टेस्ट में उनके नाम 417 और वनडे में 269 विकेट हैं। उन्होंने 28 टी20 इंटरनैशनल मैचों में 25 विकेट हैं। वह आखिरी बार भारत के लिए 2016 में यीएई में टी20 इंटरनैशनल मैच खेल थे।
मानसून के बाद ही शुरू हो सकता है क्रिकेट, आईपीएल पर उम्मीदें कायम

मानसून के बाद ही शुरू हो सकता है क्रिकेट, आईपीएल पर उम्मीदें कायम

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जोहरी ने कहा है कि गंभीर क्रिकेट गतिविधियां मानसून के बाद ही शुरू हो पाएंगी, लेकिन वह इस साल इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजन को लेकर आशावादी हैं। जोहरी ने दोहराया कि खिलाडिय़ों की सुरक्षा सर्वोच्च है और कोविड-19 महामारी के कारण अभूतपूर्व सुरक्षा संकट के बीच यह फैसला व्यक्तिगत खिलाडिय़ों पर छोड़ा जाना चाहिए कि उनके लिए सर्वश्रेष्ठ क्या है। 

ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी मीडिया द्वारा बुधवार को आयोजित वेबिनार के दौरान जोहरी ने कहा, प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुरक्षा पर फैसला करने का अधिकार है और इसका सम्मान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, इस पूरे मामले में भारत सरकार हमारा मार्गदर्शन करेगी, हम सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करेंगे... व्यावहारिक रूप से गंभीर क्रिकेट गतिविधियां मानसून के बाद ही शुरू हो पाएंगी।
 
भारत में मानसून जून से सितंबर तक रहता है। इस तरह की अटकलें हैं कि अगर ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप को स्थगित किया जाता है तो आईपीएल का आयोजन अक्टूबर-नवंबर में किया जा सकता है। जोहरी ने कहा, उम्मीद करते हैं कि चीजों में सुधार होगा तथा और अधिक विकल्प मिलेंगे जो हमारे नियंत्रण में होंगे और हम इसके अनुसार फैसले करेंगे।
 
आईपीएल के संदर्भ में जोहरी ने कहा कि वह सिर्फ भारतीय खिलाडिय़ों के साथ टूर्नमेंट कराने के पक्ष में नहीं है जो सुझाव महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी के कारण दिया गया था। लेकिन उन्होंने कई समस्याओं की जानकारी दी जिनका सामना संक्रमण के खतरे को न्यूनतम करने के लिए नए सुरक्षा नियमों का पालन करने के कारण करना पड़ सकता है। उन्होंने कहा, आईपीएल का मजा ही यह है कि दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी यहां आकर खेलते हैं और सभी इस महत्व को बरकरार रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। बेशक यह चरण दर चरण चलने वाली प्रक्रिया होगी इसलिए आप कल ही चीजों के सामान्य होने की उम्मीद नहीं कर सकते।
संकट में आईपीएल 2020,धोनी का कमबैक भी है बड़े संकट में

संकट में आईपीएल 2020,धोनी का कमबैक भी है बड़े संकट में

नई दिल्ली। कोरोना महामारी लगातार अपने पांव पसार रही है। दुनियाभर में खेलों के टूर्नमेंट या तो रद्द हो रहे हैं या तो स्थगित हो रहे हैं। कुछ ऐसा ही संकट इंडियन प्रीमियर लीग पर दिखाई दे रहा है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने इस टूर्नमेंट को 29 मार्च से 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया है। तमाम चर्चाओं के बीच फिलहाल आईपीएल पर कोई रास्ता बनता नहीं दिख रहा है।

अगर यह टूर्नमेंट नहीं होता है और ऑस्ट्रेलिया में होने वाला टी-20 वर्ल्ड कप आयोजित होता है तो सवाल उठता है कि पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी का क्या होगा? क्या उनकी टीम इंडिया में वापसी होगी या नहीं? दरअसल, दुनियाभर के क्रिकेट फैन्स की निगाहें धोनी की वापसी के लिए आईपीएल पर लगी थीं। कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने भी कहा था कि धोनी की वापसी पर आईपीएल तक इंतजार करना चाहिए। दूसरी ओर, वीरेंदर सहवाग ने कहा था कि अब टीम में बदलाव की जरूरत नहीं है।
 
शास्त्री ने अपने बयान में कहा था,'धोनी खुद को टीम पर नहीं थोपते। धोनी निश्चित रूप से आईपीएल में खेलेंगे। इसके बाद हम देखेंगे कि धोनी का शरीर किस तरह उनका साथ दे रहा है। अगर वह अच्छा करेंगे तो वह टीम में वापसी कर सकते हैं। रवि शास्त्री ने कहा था, यह निर्भर करता है कि वह कब खेलना शुरू करते हैं और आईपीएल में कैसा खेलते हैं। वहीं दूसरे खिलाड़ी विकेटकीपिंग में क्या कर रहे हैं और धोनी के मुकाबले उनकी फॉर्म क्या है। आईपीएल बड़ा टूर्नमेंट होगा क्योंकि आपके लगभग 15 खिलाड़ी तय हो चुके होंगे। कुछ ऐसा ही बयान विराट का भी था।

भारतीय टीम आईसीसी विश्व कप 2019 जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी लेकिन सेमीफाइनल मैच में 15 मिनट में कहानी बदल गई। धोनी के रन आउट होने के बाद भारत को न्यूजीलैंड से हार झेलनी पड़ी। इसके बाद से धोनी इंटरनैशनल क्रिकेट से दूर हैं। हाल ही में चेन्नै में आयोजित चेन्नै सुपर किंग्स के कैंप से जुड़े थे, लेकिन आईपीएल स्थगित होने के बाद कैंप को खत्म कर दिया गया और धोनी सहित सभी खिलाड़ी अपने-अपने घर लौट गए।
पूर्व कप्तान एमएस धोनी की वापसी अब मुश्किल है: सहवाग

पूर्व कप्तान एमएस धोनी की वापसी अब मुश्किल है: सहवाग

अहमदाबाद। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वीरेंदर सहवाग को लगता है कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की इंटरनैशनल क्रिकेट में वापसी मुश्किल है। उन्होंने कहा कि सिलेक्टर्स पहले ही धोनी का रिप्लेसमेंट खोजने के साथ ही आगे बढ़ चुके हैं। बता दें कि धोनी ने वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी इंटरनैशनल मैच खेला था। उसके बाद से वह क्रिकेट से दूर हैं। 

धोनी की वापसी पर पूछे जाने पर सहवाग ने अपने पूर्व साथी के बारे में कहा, वह किसकी जगह फिट होंगे। ऋषभ पंत और केएल राहुल टीम में हैं और राहुल शानदार फॉर्म में हैं। मुझे ऐसी कोई वजह नहीं दिखती कि इसी टीम के साथ आगे क्यों न चला जाए। सहवाग यहां एक इवेंट में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे। 

न्यूजीलैंड में मिली हार के बारे में पूछे जाने पर सहवाग ने कहा, हमें यह मान लेना चाहिए कि वे वनडे और टेस्ट में हमसे बेहतर हैं। टी-20 के मैचों में वे करीबी अंतर से हारे थे। टी-20 में कमबैक करना हमेशा ही कठीन होता है। विराट की खराब फॉर्म के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, वह क्लास बैट्समैन हैं, लेकिन ऐसा सभी महान खिलाडिय़ों के साथ हुआ है। चाहे वह सचिन तेंडुलकर, स्टीव वॉ, रिकी पॉन्टिंग हों या फिर जैक कैलिस हों।

ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के लिए फेवरिट टीम के बारे में वीरू ने कहा, टी-20 में आप किसी एक को प्रेडिक्ट नहीं कर सकते। यहां कोई भी एक खिलाड़ी अपने दम पर कभी भी मैच पलट सकता है। साथ ही उन्होंने हार्दिक के बारे में बात करते हुए कहा, उनके कमबैक से टीम इंडिया को फायदा होगा। हार्दिक के रूप में ऑलराउंडर के आने टीम इंडिया और मजबूत होगी।
छत्तीसगढ़ की महिला फुटबॉल टीम बनी नेशनल विजेता , मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दी बधाई

छत्तीसगढ़ की महिला फुटबॉल टीम बनी नेशनल विजेता , मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दी बधाई

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य की महिला फुटबॉल टीम को राष्ट्रीय विजेता बनने पर बधाई दी है। मध्य गोवा में आयोजित नेशनल इनक्लुसन (डायवरसिटी) फुटबॉल कप प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ राज्य की महिला टीम ने फाइनल में पंजाब को हराकर राष्ट्रीय विजेता का खिताब हासिल किया है। प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर दो खिलाड़ी वंदना ध्रुव एवं निलिमा खाखा का चयन इंडिया कैम्प में हुआ है।
खेल संचालक श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा ने विजेता खिलाडिय़ों को जीत की बधाई दी है। इस खिताब के लिए सभी खिलाडिय़ों एवं वरिष्ठ प्रशिक्षकों ने खेल एवं युवा कल्याण विभाग का आभार जताया है।
प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर दो खिलाड़ी वंदना ध्रुव एवं निलिमा खाखा का चयन इंडिया कैम्प में हुआ है। इंडिया टीम में चयनित होने पर फिनलैण्ड़ में आयोजित होने वाले वल्र्ड कप में भारत का प्रतिनिधित्व कर सकेंगी। विजेता टीम में वंदना ध्रुव, निलिमा खाखा, चादंनी श्रीवास, प्रीति फुटान, भुमिका साहू, मेनका सचदेव, कंचन यादव, नेहा वंशी, देवंतीन निषाद एवं दुर्गा ने अपने उत्कृष्ट खेल का प्रदर्शन करते हुए छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित किया है। उल्लेखनीय है कि खेल एवं युवा कल्याण विभाग के वरिष्ठ प्रशिक्षक, सरिता कुजूर टोप्पो द्वारा प्रतिदिन 60 बालिका खिलाडिय़ों को नियमित प्रशिक्षण दिया जा रहा है। विभाग द्वारा यह सुविधा खिलाडिय़ों को नि:शुल्क प्रदान की जा रही है। इसके अतिरिक्त कोटा स्टेडियम में एथलेटिक के खिलाड़ी भी नियमित अभ्यास कर रहें हैं।

 

टेस्ट में विकेटों की ट्रिपल सेंचुरी से केवल 3 विकेट दूर है ये भारतीय गेंदबाज, क्राइस्टचर्च में हासिल कर सकते हैं मुकाम

टेस्ट में विकेटों की ट्रिपल सेंचुरी से केवल 3 विकेट दूर है ये भारतीय गेंदबाज, क्राइस्टचर्च में हासिल कर सकते हैं मुकाम

नई दिल्ली, टीम इंडिया के स्टार पेसर इशांत शर्मा न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में एक उपलब्धि अपने नाम कर सकते हैं। भारत और न्यूजीलैंड के बीच शनिवार से सीरीज का दूसरा और अंतिम टेस्ट मैच क्राइस्टचर्च में खेला जाएगा। भारतीय टीम की कोशिश इस मैच को जीतकर सीरीज 1-1 से बराबरी करने की होगी। टीम इंडिया को वेलिंग्टन में खेले गए सीरीज के पहले टेस्ट में 10 विकेट से हार झेलनी पड़ी थी।
पेसर इशांत क्राइस्टचर्च टेस्ट खेलने के लिए जब उतरेंगे तो उनकी नजरें भी अपने नाम एक उपलब्धि करने पर लगी होंगी। पहले टेस्ट में इशांत ने अच्छा प्रदर्शन किया था, उन्होंने पहली पारी में 5 विकेट झटके थे। यदि वह क्राइस्टचर्च में तीन विकेट और लेने में कामयाब होते हैं तो वह एक एलीट क्लब में शामिल हो जाएंगे।
31 साल के इशांत के नाम अभी तक 97 टेस्ट मैचों में 297 विकेट हैं। यदि वह सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में तीन विकेट लेते हैं तो वह 300 विकेट पूरे कर लेंगे और ऐसा करने वाले छठे भारतीय बोलर बन जाएंगे। दिग्गज कपिल देव और जहीर खान के बाद इस उपलब्धि को हासिल करने वाले वह तीसरे पेसर बनेंगे।
टेस्ट क्रिकेट में 300 या उससे ज्यादा टेस्ट विकेट हासिल करने वालों में कपिल (434), जहीर खान (311) के अलावा दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले (619), हरभजन सिंह (417) और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (365) भी हैं।
वनडे और टी20 टीम से काफी समय से बाहर चल रहे इशांत के नाम टेस्ट में 1 अर्धशतक भी दर्ज है। साल 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने वाले इशांत ने अपना पिछला वनडे जनवरी 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। वहीं, अक्टूबर 2013 में वह आखिरी बार टी20 इंटरनैशनल मैच राजकोट में खेलते नजर आए थे।

 

टीम इंडिया के लिए टेस्ट की सभी चुनौतियों का कंप्लीट पैकेज हैं वेलिंग्टन टेस्ट

टीम इंडिया के लिए टेस्ट की सभी चुनौतियों का कंप्लीट पैकेज हैं वेलिंग्टन टेस्ट

वेलिंग्टन,वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने की सबसे बड़ी दावेदार टीम इंडिया अब अपने सबसे मुश्किल इम्तिहान की ओर है। टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ उसके घर पर खेलना है और यहां हमेशा से ही चुनौती उसके लिए कड़ी रही है। कीवीलैंड की तेज पिचों पर बल्ले और बॉल के साथ-साथ हवा की हरकत भी खेल पर अपना प्रभाव छोड़ती है और सीम-स्विंग बोलिंग विराट की टीम के लिए हमेशा से ही चुनौती रहा है।
शुक्रवार को जब टीम इंडिया वेलिंग्टन में 2 टेस्ट की सीरीज का आगाज करने उतरेगी तो उसके माइंड में ये सभी चीजें होंगी कि यहां पर लाल गेंद से विदेशी चुनौतियों का कंप्लीट पैकेज मिलता है। यहां ठंडी तेज हवा, बारिश, सीम और स्विंग होती गेंदें हर वक्त बल्लेबाजों का टेस्ट लेती हैं। ऐसे में कोहली, रहाणे और पुजारा के अलावा टीम के बाकी बल्लेबाजों को भी हर हाल में अपने साहस का परिचय देना होगा।
न्यूजीलैंड के खिलाड़ी तो इन हालात में खेलने के आदी हैं। लेकिन भारतीय टीम के कई सदस्य यहां पहली बार खेलने आए हैं। यहां हवा का प्रभाव इससे ही समझ लीजिए कि स्टंप्स पर लगे बेल्स भारी होने के बावजूद मैच में कई-कई बार सिर्फ हवा के सहारे ही नीचे गिरते रहते हैं। हवा के चलते गेंदबाज चाहकर भी अगेंस्ट द विंड बॉल डालें तो भी वह हवा के साथ ही निकल लेती है। यहां हर गेंद में हरकत दिखती है, जिससे अंपायरों को हमेशा चौकन्ना रहना पड़ता है। स्लिप में खड़े फील्डर और विकेटकीपर को हर गेंद पर लपकने के लिए तैयार रहना पड़ता है।
 

विराट कोहली के इंस्टाग्राम पर 50 मिलियन फॉलोअर्स वाले बने पहले भारतीय

विराट कोहली के इंस्टाग्राम पर 50 मिलियन फॉलोअर्स वाले बने पहले भारतीय

नई दिल्ली, टीम इंडिया की रेकॉर्ड रन मशीन माने जाने वाले विराट कोहली खेल के मैदान पर ही नहीं मैदान के बाहर भी नए-नए रेकॉर्ड्स अपने नाम कर रहे हैं। विराट ने रेकॉर्ड की ताजा उपलब्धि इंस्टाग्राम पर हासिल की है। अब इस सोशल मीडिया वेबसाइट पर विराट के फॉलोअर्स का आंकड़ा 50 मिलियन (5 करोड़) हो गई है। इंस्टाग्राम पर यह आंकड़ा छूने वाले विराट पहली भारतीय हस्ती हैं।
भारतीय कप्तान के इंस्टाग्राम अकाउंट की बात करें, तो उन्होंने अभी तक इस फोटो-शेयरिंग वेबसाइट पर कुल 930 पोस्ट किए हैं और वे खुद 480 लोगों को फॉलो करते हैं।
क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया की कमान संभालने वाले विराट सिर्फ फैन्स और खेल के मामले में ही अव्वल नहीं हैं बल्कि वह बाजार के लिहाज से ब्रैंड वेल्यू के मामले में भी वह टॉप पर शुमार हैं। वे भारत के सर्वाधिक लोकप्रिय सिलेब्रिटी चेहरे हैं।
एक वैश्विक संस्था डफ ऐंड फेल्प्स के एक अध्ययन के अनुसार, विराट कोहली बीते 3 साल से ब्रैंड वेल्यू के आधार पर भारतीय बाजार में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले शख्स हैं। साल 2019 में उन्होंने ब्रैंड्स के प्रमोशन से 237.5 मिलियन डॉलर (करीब 17 अरब रुपये) कमाए थे।
इंस्टाग्राम पर विराट के बाद दूसरी सबसे चर्चित भारतीय शख्सियत की बात करें तो यहां बॉलिवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा हैं, जिनके 49.9 मिलियन फॉलोअर्स हैं। इसके बाद दीपिका पादुकोण का नाम आता है, जो 44.1 फॉलोअर्स के साथ तीसरे स्थान पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फोटो शेयरिंग वेबसाइट पर 34.5 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

 

जल्द मैदान में कप्तानी करते नजर आएंगे धोनी

जल्द मैदान में कप्तानी करते नजर आएंगे धोनी

नईदिल्ली, दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के दुनिया भर में फैले फैंस के लिए एक अच्छी खबर है। यह पूर्व क्रिकेट कप्तान जल्द ही सीरियस प्रैक्टिस शुरू करने जा रहा है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रैंचाइजी टीम चेन्नई सुपरकिंग्स अपने कप्तान की अगवानी के लिए पलक पांवड़े बिछाए बैठी है।
भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के क्रिकेट भविष्य को लेकर अटकलों का दौर लगभग खत्म हो गया है। 38 साल का यह दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने के लिए तैयार हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो धोनी ने आईपीएल 2020 के लिए अपना प्लान तैयार कर लिया है।
चेन्नई सुपर किंग्स का ट्रेनिंग कैंप एक मार्च से शुरू हो रहा है। सूत्रों का कहना है कि धोनी 29 फरवरी को चेन्नई पहुंच जाएंगे। इस बार आईपीएल के मुकाबले 29 मार्च से शुरू होंगे। दूसरी तरफ, बताया जाता है कि सीएसके ने भी अपने कप्तान के स्वागत के लिए खास तैयारी की है।
दो बार विश्व खिताब जीतने वाली भारत की टीम के कप्तान रहे धोनी इंग्लैंड में 2019 विश्व कप से टीम इंडिया के बाहर होने के बाद से ब्रेक पर हैं। पिछले साल नवंबर में मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान धोनी से उनकी वापसी के बारे में पूछा गया, तो उनका जवाब था, जनवरी तक मत पूछो .
धोनी को साल की शुरुआत (16 जनवरी) में ही बीसीसीआई ने कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर कर दिया था। लेकिन धोनी ने अपने भविष्य को लेकर लगाई जा रही अटकलों के बीच रांची में अपनी घरेलू टीम झारखंड के साथ अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया था। इस तरह से उन्होंने आगामी इंडियन प्रीमियर लीग के लिए खुद को तैयार रखने के संकेत भी दे दिए थे।
गौरतलब है कि इस दिग्गज के क्रिकेट करियर के बारे में सवाल उठने पर यह कहा जाता रहा है कि इस पर फैसला खुद धोनी करेंगे। माना जा रहा है कि धोनी की नजर अब आईपीएल के 13वें सीजन पर है, जहां वह अपना शत प्रतिशत देने को तैयार हैं। यानी आईपीएल में प्रदर्शन के आधार राष्ट्रीय चयनकर्ता तय करेंगे कि धोनी अक्टूबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के लिए कितने तैयार हैं।

 

'पति, पत्नी और वो' के चक्कर में इस स्टार क्रिकेटर को 2.85 अरब रुपए पड़े चुकाने ,पढ़े पूरी खबर

'पति, पत्नी और वो' के चक्कर में इस स्टार क्रिकेटर को 2.85 अरब रुपए पड़े चुकाने ,पढ़े पूरी खबर

मेलबोर्न। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्टार क्रिकेटर और विश्व कप विजेता टीम के कप्तान रहे माइकल क्लार्क के लिए 'पति, पत्नी और वो' का चक्कर भारी पड़ा। आशिकी के चक्कर में उन्होंने 7 साल के वैवाहिक जीवन को राजी मर्जी के साथ एक झटके में खत्म कर डाला। माइकल क्लार्क और पत्नी काइली बोल्डी  तलाक पर राजी हो गए हैं, जिसके लिए क्लार्क को 2 अरब 85 करोड़ रुपए से ज्यादा का मुआवजा देना पड़ेगा।
माइकल क्लार्क और काइली का विवाह मई 2012 में हुआ था। बाद में इस दम्पति के आंगन में फूल सी परी आ गई, जिसका नाम केलसे ली रखा गया। पति-पत्नी और बेटी यानी तीन सदस्यों का ये परिवार बहुत खुश था लेकिन जैसे-जैसे वक्त गुजरा, क्लार्क की जिंदगी में एक नई लड़की आ गई और ऑस्ट्रेलिया का यह स्टार क्रिकेटर उसी का होकर रह गया।

अपने पापा के फैसले से सबसे ज्यादा आहत 4 साल की केलसे ली हुई है। असल में तीसरी औरत के आने से घर में कलह होनी शुरु हो गई थी। इसके बाद क्लार्क और कैले ने समझदारी दिखाई और तय किया कि कुछ वक्त वे दोनों अलग-अलग रहकर देखते हैं। दोनों पति-अलग होने के बाद इस नतीजे पर पहुंचे कि आगे की जिंदगी उनकी साथ-साथ नहीं बीत सकती, बेहतर है कि अपने रास्ते अलग कर लें।
बुधवार को पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क ने बताया कि हम आपसी सहमति से दोनों अलग हो रहे हैं। मैं पिता होने के नाते अपनी जिम्मेदारी समझता हूं। तलाक के बदले 40 मिलियन डॉलर (ऑस्ट्रेलियाई) के हर्जाने को स्वीकार करता हूं। यह रकम भारतीय मुद्रा में 2 अरब 85 करोड़ 65 लाख 62 हजार रुपए बनती है।
क्लार्क और काइली ने ‘द ऑस्ट्रेलियन’ अखबार को संयुक्त बयान में कहा, ‘कुछ समय तक अलग रहने के बाद हमने आपसी सहमति के बाद अलग होने का मुश्किल फैसला किया।’ उन्होंने कहा, ‘हम एक दूसरे का सम्मान करते हैं इसलिये आपसी सहमति से इस फैसले पर पहुंचे जो हमारे लिये सर्वश्रेष्ठ है जबकि हम दोनों अपनी बेटी का पालन पोषण करेंगे।’
दोनों की उम्र 38 वर्ष है और मई 2012 में दोनों की शादी हुई थी। 2015 में इस क्रिकेटर के संन्यास की घोषणा के बाद उनकी बेटी का जन्म हुआ। इंस्टाग्राम पोस्ट पर क्लार्क ने संकेत दिया कि वह इस साल ‘बिग स्पोर्ट्स ब्रेकफास्ट शो’ में पूर्व महान रग्बी लीग खिलाड़ी लॉरी डेली के साथ नए सह-मेजबान बनने की तैयारी कर रहे हैं।
क्लार्क और काइली पिछले 5 महीनों से अलग रह रहे हैं। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान घर छोड़ने के बाद बूंडी बीच अपार्टमेंट में जबकि काइली उसी घर में रह रही थीं।

 

IND vs NZ 2nd ODI: टीम इंडिया ने जीता टॉस, पहले बॉलिंग का फैसला

IND vs NZ 2nd ODI: टीम इंडिया ने जीता टॉस, पहले बॉलिंग का फैसला

IND vs NZ 2nd ODI: भारतीय क्रिकेट टीम ऑकलैंड के ईडन पार्क में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मैच खेलने के लिए मैदान पर उतरी है. टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है. टीम इंडिया में तीन बदलाव हुए है जहां टेस्ट क्रिकेट के लिए मोहम्मद शमी को आराम दिया गया है तो वहीं नवदीप सैनी को पेस अटैक लिए वापस बुलाया गया है जबकि कुलदीप यादव की जगह इस बार चहल को खिलाया गया है.

भारतीय टीम को सीरीज के पहले वनडे मुकाबले में 4 विकेट से हार झेलनी पड़ी थी. मुकाबले से पहले दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने मैदान पर जमकर पसीना बहाया. ऑकलैंड वनडे में न्यूजीलैंड की टीम दूसरा वनडे जीतकर सीरीज कब्जाने के इरादे से मैदान पर उतर रही है. वहीं भारतीय टीम हर हाल में दूसरा वनडे नहीं हारना चाहेगी. अगर भारतीय टीम दूसरा वनडे हार जाती है तो वह सीरीज गंवा देगी. विराट कोहली की टीम के लिए ऑकलैंड के ईडन पार्क में चुनौती कड़ी है.


पहले वनडे में भारत की गेंदबाजी कमजोर रही थी जो विशाल स्कोर का बचाव नहीं कर पाई थी. कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा ने जमकर रन लुटाए थे तो वहीं अनुभवी रॉस टेलर के सामने मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह भी कुछ नहीं कर पाए थे.


टीमें:

भारत: पृथ्वी शॉ, मयंक अग्रवाल, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, लोकेश राहुल, केदार जाधव, रविंद्र जडेजा, शार्दुल ठाकुर, नवदीप सैनी, युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह.


न्यूजीलैंड: टॉम लाथम (कप्तान), हामिश बेनेट, टॉम ब्लेंडल, कॉलिन डी ग्रैंडहोम, मार्टिन गुप्टिल, रॉस टेलर, जिमी नीशम, टिम साउदी, मार्क चैपमैन और काइल जैमिसन.

 

IPL टीम चेन्नई सुपरकिंग्स 2021 के टूर्नामेंट में धोनी को बरकरार रखेगा : श्रीनिवासन

IPL टीम चेन्नई सुपरकिंग्स 2021 के टूर्नामेंट में धोनी को बरकरार रखेगा : श्रीनिवासन

चेन्नई। बीसीसीआई (BCCI) के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी भारत के लिए दोबारा खेलें या नहीं, लेकिन 2021 में आईपीएल नीलामी के दौरान चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) द्वारा उन्हें टीम में ‘बरकरार रखा जाएगा’।

बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंध में 2 बार के विश्व कप विजेता कप्तान को नहीं चुना गया जिससे पिछले कुछ दिनों में उनके संन्यास लेने को लेकर अफवाहें तेज हो गई हैं। लेकिन भारतीय सीमेंट्स के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्रीनिवासन ने स्पष्ट किया कि धोनी अपनी फ्रेंचाइजी के लिए खेलना जारी रखेंगे।

श्रीनिवासन ने इंडिया सीमेंट्स के कार्यक्रम में कहा, ‘लोग कहते रहते हैं कि वह कब संन्यास लेगा वह कब तक खेलेगा, आदि। वह खेलेगा। मैं आपको आश्वासन दे सकता हूं। वह इस साल खेलेगा। अगले साल वह नीलामी में शामिल होगा और उसे रिटेन किया जाएगा। इसलिए किसी के मन में कोई संदेह नहीं है।’


एमएस धोनी 2008 में आईपीएल के उद्घाटन सत्र के बाद से CSK का हिस्सा रहे हैं और जब फ्रेंचाइजी को 2 साल के लिए निलंबित कर दिया गया था तो ही वह उनके लिए नहीं खेले थे। इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने टीम का नेतृत्व करते हुए 3 बार आईपीएल खिताब भी दिलाया।
बीसीसीआई ने गुरुवार को केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों की सूची से उन्हें बाहर कर दिया जिससे भारत के पूर्व कप्तान के भविष्य पर संदेह पैदा हो गया जो पिछले साल जुलाई में न्यूजीलैंड से विश्व कप सेमीफाइनल में मिली हार के बाद से नहीं खेले हैं।

धोनी को हाल में झारखंड टीम के साथ नेट पर ट्रेनिंग और बल्लेबाजी करते हुए देखा गया। वह केंद्रीय अनुबंध में ए कैटेगरी में थे जिसमें एक खिलाड़ी को वार्षिक रिटेनरशिप के रूप में 5 करोड़ रुपए मिलते हैं।

भारतीय क्रिकेट में सबसे बड़े नामों में से एक धोनी ने टीम का नेतृत्व करते हुए देश को 2 विश्व खिताब - दक्षिण अफ्रीका में 2007 विश्व टी20 और घरेलू मैदान में 2011 वनडे विश्व कप - दिलाए हैं।

इस अनुभवी खिलाड़ी ने भारत के लिए 90 टेस्ट, 350 एकदिवसीय और 98 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और 17,000 से अधिक रन बनाए हैं। उन्होंने स्टंप के पीछे 829 शिकार किए हैं।

 

टी20 विश्व कप में टीमों की संख्या बढाने का करने पर विचार कर रहा है आईसीसी,जानिए अब कितने टीम हो जाएगी शामिल

टी20 विश्व कप में टीमों की संख्या बढाने का करने पर विचार कर रहा है आईसीसी,जानिए अब कितने टीम हो जाएगी शामिल

लंदन, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) 2023-31 सत्र में टी20 विश्व कप में टीमों की संख्या 16 से बढ़ाकर 20 करने पर विचार कर रहा है। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया।
रिपोर्ट के अनुसार खेल के दायरे को बढ़ाने के लिए टी20 प्रारूप को सर्वश्रेष्ठ तरीका मानने वाला आईसीसी इस विकल्प पर विचार कर रहा है जिससे कि क्रिकेट फुटबॉल और बास्केटबॉल जैसे लोकप्रिय खेलों की बराबरी का प्रयास कर सके।
रिपोर्ट के अनुसार इस मुद्दे पर विचार 2023-31 के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैलेंडर को लेकर होने वाली विस्तृत चर्चा का हिस्सा है। इस सत्र का पहला टी20 विश्व कप 2024 में होगा। आईसीसी ने वैश्विक मीडिया अधिकार बाजार में उतरने से पहले प्रत्येक वर्ष एक वैश्विक प्रतियोगिता के आयोजन का प्रस्ताव रखा है और विश्व कप में टीमों की अधिक संख्या से दर्शकों की संख्या में भी इजाफा होगा।
बड़े टूर्नमेंट का मतलब है कि अमेरिका के इसमें प्रतिनिधित्व की संभावना बढ़ेगी। आईसीसी अमेरिका को बड़े बाजार के रूप में देखता है और यहां खेल को बढ़ावा देने के लिए उसने हाल में कई प्रयास किए हैं।

कनाडा, जर्मनी, नेपाल और नाईजीरिया की टीम को भी इसमें खेलने का मौका मिल सकता है।
 

Previous12Next