अच्छी खबर : सितंबर से देश में ही होगा स्पूतनिक-वी का उत्पादन...    |    कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 41 हजार नए मामले, 541 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर : इस BJP सांसद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने क्या है मामला...    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 203 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, देखे जिलेवार आकड़े    |    बड़ी खबर : जेल में बैरक की दीवार ढही, 22 कैदी गंभीर रूप से घायल    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज एक्टिव मरीजो की संख्या हुई 2 हजार से कम, 243 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: पान मसाला कंपनी पर आयकर का शिकंजा, 400 करोड़ रुपए के काले कारोबार का हुआ खुलासा    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, आकडों में आज रायपुर से मिले सर्वाधिक    |    जज की संदिग्ध मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से एक हफ्ते में मांगा जवाब    |
Previous123456789...1516Next
टोक्यो ओलंपिक : मुक्केबाज सतीश कुमार के क्वार्टरफाइनल में खेलने पर संशय, हो सकते हैं बाहर...

टोक्यो ओलंपिक : मुक्केबाज सतीश कुमार के क्वार्टरफाइनल में खेलने पर संशय, हो सकते हैं बाहर...

टोक्यो/नई दिल्ली । टोक्यो ओलंपिक में भारत को एक और झटका लगा है। मुक्केबाज सतीश कुमार (+91 किग्रा) के क्वार्टरफाइनल में खेलने पर संशय लग रहा है क्योंकि उन्हें सात टांके लगे हैं। शनिवार को भारतीय मुक्केबाजी संघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि डॉक्टर के कहने के बाद ही सतीश रिंग में उतरेंगे क्योंकि उन्हें सात टांके लगे हैं। दरअसल, सतीश को रविवार को उजबेकिस्तान के मुक्केबाज बखोदिर जलोलोव के खिलाफ रिंग में उतरना है। बता दें कि सतीश ने राउंड ऑफ 16 के मुकाबले में जमैका के रिकार्डो ब्राउन को हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया था। सतीश ने बंटे हुए फैसले के बावजूद 4-1 से जीत दर्ज की थी। वहीं, मौजूदा विश्व और एशियाई चैंपियन जालोलोव ने अजरबैजान के मोहम्मद अब्दुल्लायेव को 5-0 से हराकर क्वार्टरफाइनल में अपनी जगह बनाई थी। 

टोक्यो ओलंपिक : 64 मीटर के स्कोर के साथ कमलप्रीत ने फाइनल में मारी एंट्री

टोक्यो ओलंपिक : 64 मीटर के स्कोर के साथ कमलप्रीत ने फाइनल में मारी एंट्री

टोक्यो/नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक के नौवें दिन कमलप्रीत कौर ने देश को खुशी का मौका दिया। महिलाओं की डिस्कस थ्रो स्पर्धा में कमलप्रीत कौर ने फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। क्वॉलिफिकेशन राउंड में ग्रुप बी से कौर ने तीसरे प्रयास में 64 मीटर का स्कोर हासिल किया और दूसरे स्थान पर रहीं। कमलप्रीत भारत की ओर से रिकॉर्ड स्कोर करने वाली खिलाड़ी बन गई हैं।

कमलप्रीत के अलावा ग्रुप ए से सीमा पुनिया ने 60.57 मीटर का स्कोर किया और छठे स्थान पर रहीं लेकिन वह फाइनल में क्वालीफाई करने से चूक गईं।

बात करें कमलप्रीत की तो उन्होंने पहले प्रयास में 60.29 मीटर, दूसरे में 63.97 और आखिरी प्रयास में 64 का स्कोर किया। फाइनल में पहुंचने के लिए 64 ही क्वॉलिफिकेशन मार्क था। अब कमलप्रीत दो अगस्त को फाइनल में भारत की तरफ से दावेदारी पेश करेंगी।

टोक्यो ओलंपिक : हॉकी में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को चटाई धूल, 4-3 से जीता मैच

टोक्यो ओलंपिक : हॉकी में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को चटाई धूल, 4-3 से जीता मैच

टोक्यो/नई दिल्ली: भारतीय महिला हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में 31 जुलाई को पूल ए के मुकाबले में साउथ अफ्रीका को 4 - 3 से शिकस्त दी है, जिसके साथ भारत ने नॉकआउट की उम्मीदों को कायम रखा है। इस मैच में भारत की वंदना कटारिया ने कुल 3 गोल दागे. इसी के साथ वंदना ओलंपिक मैच में हैट्रिक लगाने वाली पहली भारतीय महिला बन चुकी हैं। अब भारत को ब्रिटेन और आयरलैंड के बीच होने वाले मुकाबले का इंतजार है. ब्रिटेन के हाथों आयरलैंड की हार भारत को आगे ले जाएगी और अगर आयरलैंड जीत जाता है, तो भारत बाहर हो जाएगा। क्योंकि तब आयरलैंड अंकों के मामले में भारत की बराबरी पर आ जाएगा और गोल डिफरेंस के मामले में आगे निकल जाएगा।

मैच का पहला गोल भारत की वंदना ने चौथे मिनट में किया। वंदना ने एक बेहतरीन फील्ड गोल के माध्यम से भारत को 1-0 से आगे किया। दक्षिण अफ्रीकी टीम ने वापसी के लिए जोर लगाया और उसे 15वें मिनट में सफलता मिल भी गई। टैरीन क्रिस्टी ग्लेसबाई ने एक बेहतरीन फील्ड गोल के माध्यम से स्कोर 1-1 कर दिया, जिसके दो मिनट बाद वंदना ने एक और गोल कर भारत को 2-1 से आगे कर दिया। वंदना ने यह गोल पेनल्टी कॉर्नर पर किया। 30वें मिनट में कप्तान एरिन हंटर ने पेनाल्टी कार्नर पर गोल कर स्कोर एक बार फिर 2-2 कर दिया।

2 मिनट पश्चात् नेहा ने पेनल्टी कॉर्नर पर गोल कर भारत को 3-2 की लीड दिला दी लेकिन 39वें मिनट में मेरिजान मेरिएस ने एक शानदार फील्ड गोल के जरिए स्कोर 3-3 कर दिया. भारत को आगे जाने के लिए इस मैच में हर हाल में जीत की जरूरत थी और साथ ही उसे यह भी प्रार्थना करना है कि आयरलैंड की टीम ब्रिटेन से हार जाए। ऐसे में भारतीय टीम खूब जोर लगा रही थी। वंदना ने एक बार फिर अपना क्लास दिखाया और 49वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल कर भारत को एक बार फिर 4-3 से आगे कर दिया। भारत इस स्कोर को बचाने में सफल रहा और साथ ही उसने आगे जाने की सम्भावनाओं को भी जिंदा रखा है।

ओलंपिक में भारत के ये खिलाड़ी कल दिखाएंगे दम, यहां देखें पूरा शेड्यूल

ओलंपिक में भारत के ये खिलाड़ी कल दिखाएंगे दम, यहां देखें पूरा शेड्यूल

India Schedule, Tokyo Olympic : खेलों के महाकुंभ एक सप्ताह पूरा हो चुका है. अब तक भारत के खाते में सिर्फ एक मेडल है. ऐसे में शनिवार को कई खिलाड़ी देश के लिए मेडल पक्का करने के इरादे से ओलंपिक में उतरेंगे. पीवी सिंधु से सेमीफाइनल मुकाबले में पूरे देश को उम्मीद है. अगर वे सेमीफाइनल में जीतीं, तो भारत का दूसरा पदक पक्का हो जाएगा. उनके अलावा भी कई खिलाड़ी मैदान पर जोर-आजमाइश करते नजर आएंगे. टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों के शनिवार के कार्यक्रम पर एक नजर डाल लेते हैं.


तीरंदाजी
सुबह 7.18 बजे तीरंजादी का क्वार्टर फाइनल मुकाबला भारत की अतनु दास जापान की ताकाहारू फुरुकावा के साथ होगा.


एथलेटिक्स

सुबह 6 बजे से महिला चक्का फेंक, सीमा पूनिया, क्वालीफिकेशन ग्रुप ए
सुबह 7.25 बजे से महिला चक्का फेंक, कमलप्रीत कौर, क्वालीफिकेशन ग्रुप बी
दोपहर 3:40 बजे से पुरुष लंबी कूद, सिरिशंकर, क्वालीफिकेशन ग्रुप बी


बैडमिंटन

दोपहर 3:20 बजे से महिला एकल सेमीफाइनल पीवी सिंधू बनाम ताइ जू यिंग (चीनी ताइपे)


मुक्केबाजी
सुबह 7:30 बजे से अमित पंघाल बनाम युबेर्जेन रिवास (कोलंबिया) 52 किग्रा पुरुष प्री-क्वार्टर फाइनल
दोपहर 3:36 बजे से पूजा रानी बनाम ली कियान (चीन) 75 किग्रा महिला प्री-क्वार्टर फाइनल


गोल्फ
सुबह 4:15 बजे से अनिर्बान लाहिड़ी और उदयन माने, पुरुषों का व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले


हॉकी
सुबह 8:45 बजे से भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका, महिला पूल ए मैच


सेलिंग (पाल नौकायन)
सुबह 8:35 बजे से केसी गणपति और वरुण ठक्कर , पुरुषों की स्किफ में रेस 10, 11 एवं 12


निशानेबाजी
सुबह 8:30 बजे से अंजुम मौदगिल और तेजस्वी सावंत, महिला 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन क्वालीफिकेशन


शुक्रवार को भारत का ऐसा रहा सफर
शुक्रवार का दिन भी भारत के लिए काफी अच्छा रहा. बैंडमिंटन में पीवी सिंधु ने क्वार्टर फाइनल में जीत हासिल कर सेमीफाइनल में जगह बना ली. इसके अलावा बॉक्सिंग में 69 किलोग्राम कैटेगरी के क्वार्टर फाइनल मुकाबला जीत कर लवलीना सेमीफाइनल में पहुंच गई है. इसके अलावा पुरुष हॉकी टीम ने भी जापान को हराकर जीत हासिल कर ली.

 

BIG NEWS : युजवेंद्र चहल सहित भारतीय टीम के इन खिलाड़ियो को हुआ कोरोना, कुल 3 संक्रमित

BIG NEWS : युजवेंद्र चहल सहित भारतीय टीम के इन खिलाड़ियो को हुआ कोरोना, कुल 3 संक्रमित

कोलंबो: भारतीय टीम को श्रीलंका दौरे पर गुरुवार को हुए अंतिम टी20 के मुकाबले में टीम को 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. इस तरह से श्रीलंका ने सीरीज पर 2-1 से कब्जा किया. क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) के पॉजिटिव आने के बाद 8 और खिलाड़ी आइसोलेशन में चले गए थे और सीरीज के अंतिम दो मैच नहीं खेल सके थे. लेकिन अब रिपोर्ट आ रही है कि दो और खिलाड़ी पॉजिटिव हो गए हैं।

क्रिकइंफो की खबर के अनुसार, युजवेंद्र चहल और कृष्णप्पा गौतम पॉजिटिव पाए गए हैं. नए टेस्ट के बाद यह परिणाम आया है. इससे पहले पृथ्वी शॉ, सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या, कृष्णप्पा गौतम, मनीष पांडे, ईशान किशन, युजवेंद्र चहल और दीपक चाहर आइसोलेशन में थे. क्रुणाल पंड्या से इन खिलाड़ियों के संपर्क की बात सामने आई थी. टीम इंडिया आज श्रीलंका से रवाना होगी. आइसोलेशन में रह रहे अन्य खिलाड़ियों हार्दिक, पृथ्वी, सूर्यकुमार, मनीष, दीपक चाहर और ईशान की रिपोर्ट निगेटिव आई है. वे भी टीम के साथ भारत आएंगे।

10 दिन आइसोलेशन में रहना होगा

श्रीलंका सरकार के प्रोटोकॉल के अनुसार, पॉजिटिव आने वाले खिलाड़ी को 10 दिन तक आइसोलेशन में रहना होगा. इसके बाद निगेटिव टेस्ट के बाद ही वे देश छोड़ सकते हैं. संपर्क में आने वाले व्यक्ति को 7 दिन आइसोलेशन में रहना होता है. युजवेंद्र चहल और कृष्णप्पा गौतम की पॉजिटिव रिपोर्ट शुक्रवार को ही आई है. ऐसे में उन्हें अगले 10 दिन तक श्रीलंका में ही रहना होगा.


पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार को लेकर जानकारी नहीं

बीसीसीआई ने पिछले दिनों पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव को इंग्लैंड में होने वाली पांच मैचों टेस्ट सीरीज के लिए चुना था. लेकिन श्रीलंका में कोरोना के केस आने के बाद दोनों खिलाड़ियों को लेकर बोर्ड की ओर से अब तक कोई अपडेट नहीं आया है. रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी जगह दूसरे खिलाड़ियों काे इंग्लैंड भेजा जा सकता है.

टोक्यो ओलंपिक : बॉक्सिंग में भारत का पदक पक्का, सेमीफाइनल में पहुंचीं लवलीना

टोक्यो ओलंपिक : बॉक्सिंग में भारत का पदक पक्का, सेमीफाइनल में पहुंचीं लवलीना

टोक्यो/नई दिल्ली: भारत की बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रच दिया। वह सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं। उनके सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद भारत का एक और पदक पक्का हो गया है। क्वार्टर फाइनल में लवलीना ने महिलाओं की 69 किग्रा भार वर्ग में चीनी ताइपे की खिलाड़ी निएन चिन चेन को 4-1 से करारी शिकस्त दी।

अब सेमीफाइनल में लवलीना का मुकाबला मौजूदा विश्व चैंपियन तुर्की की बुसानेज सरमेनेली से होगा। जिन्होंने क्वार्टर फाइनल में अन्ना लिसेंको को शिकस्त दी। दो बार की विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीत चुकीं लवलीना बोरगोहेन ने मैच के दौरान गजब का प्रदर्शन करते हुए अपनी प्रतिद्वंदी को हराया। मुकाबले के आखिरी के तीन मिनटों में उन्होंने अपना रक्षण भी नियंत्रित रखा और जवाबी हमले में अपने प्रतिद्वंदी पर भारी पड़ीं।
बीते साल लवलीना कोरोना संक्रमण का शिकार गई थीं। जिसके चलते वह अभ्यास करने के लिए यूरोप नहीं जा पाईं। चीनी ताइपे की खिलाड़ी निएन चिन चेन को हराने के बाद जैसे ही रेफरी ने उनका हाथ ऊपर उठाया वह खुशी के मारे फूली नहीं समाई और जोर-जोर से चिल्लाने लगीं।

इससे पहले बॉक्सिंग में भारत की खराब शुरुआत हुई और सिमरनजीत कौर को 60 किग्रा स्पर्धा में थाईलैंड की सुदापोर्न सीसोंदी से हार का सामना करना पड़ा। सीसोंदी ने सिमरनजीत को एकतरफा मुकाबले में 5-0 से शिकस्त दी थी।

 टीम इंडिया के लिए नई टेंशन, एक और खिलाड़ी सीरीज से बाहर!

टीम इंडिया के लिए नई टेंशन, एक और खिलाड़ी सीरीज से बाहर!

कोलंबो। श्रीलंका के खिलाफ टी20 इंडिया को आज तीन मैचों की सीरीज का आखिरी टी20 इंटरनेशनल मैच खेलना है। इस मैच से पहले टीम इंडिया की टेंशन बढ़ गई है। सीरीज से पहले 9 खिलाड़ी आउट हो चुके हैं और अब नवदीप सैनी की इंजरी ने टीम मैनेजमेंट की टेंशन को और बढ़ा दिया है। श्रीलंका दौरे पर बॉलिंग कोच के तौर पर गए पारस म्हाम्ब्रे ने कहा है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की मेडिकल टीम तेज गेंदबाज नवदीप सैनी पर नजर रखे हुए है जिनके कंधे में श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच के दौरान चोट लग गई थी।सैनी ने मैच में एक भी ओवर नहीं किया था। उन्हें श्रीलंकाई पारी के 19वें ओवर में कंधे पर चोट लगने के बाद मैदान से बाहर ले जाना पड़ा।
 
क्रुणाल पांड्या के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भारत के आठ खिलाड़ी आइसोलेशन में थे। भारतीय टीम चार विकेट से मुकाबला हार गई। म्हाम्ब्रे ने मैच के बाद कहा कि नवदीप के मामले में मेडिकल टीम नजर रखे हुए है। हम हालात का आकलन करेंगे और उसके अनुसार ही फैसला लेंगे। फैसला लेने पर चयनकर्ताओं और कोच को बता दिया जाएगा।मैच की बात करें तो श्रीलंका ने एक बार फिर टॉस जीता और भारत के खिलाफ पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। कप्तान शिखर धवन ने 40 रनों की पारी तो खेली, लेकिन इसके लिए उन्होंने 42 गेंदों का सामना किया। डेब्यू करने वाले गायकवाड़ ने धवन के साथ पारी का आगाज किया, लेकिन 18 गेंद पर 21 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद देवदत्त पडीक्कल आए और 29 रनों की पारी खेली। पडीक्कल ने 23 गेंदों का सामना किया। संजू सैमसन ने एक बार फिर निराश किया और महज 7 रन बनाकर आउट हुए, जबकि नीतीश राणा भी 9 रन से आगे नहीं बढ़ सके। भारत ने 20 ओवर में पांच विकेट पर 132 रन बनाए। अकीला धनंजय ने दो विकेट लिए। जवाब में श्रीलंका ने 19.4 ओवर में छह विकेट पर 133 रन बनाकर मैच अपने नाम किया। धनंजय डि सिल्वा 34 गेंद पर 40 रन बनाकर नॉटआउट लौटे और मैन ऑफ द मैच चुने गए।
टोक्यो ओलंपिक : सुपर हेवीवेट बॉक्सर सतीश क्वार्टर फाइनल में, अब भिड़ेंगे विश्व चैम्पियन से

टोक्यो ओलंपिक : सुपर हेवीवेट बॉक्सर सतीश क्वार्टर फाइनल में, अब भिड़ेंगे विश्व चैम्पियन से

टोक्यो/नई दिल्ली: भारत के सुपर हेवीवेट मुक्केबाज सतीश कुमार टोक्यो ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं। क्वार्टर फाइनल में सतीश का मुकाबला रविवार को उज्बेकिस्तान के मौजूदा विश्व चैंपियन बाखूदीर जालोलोव से होगा। सतीश ने प्लस 91 किलोग्राम भार वर्ग के अंतिम-16 दौर के मुकाबले में गुरुवार को जमैका के रिकाडरे ब्राउन को 4-1 से हराया। 32 साल की उम्र में ओलंपिक में पदार्पण करते हुए सतीश ने रायोगोकू कोकूगिकान एरेना में स्प्लिट डिसिजन के फैसले के साथ ये सुपर हैवीवेट मुकाबला अपने नाम किया।

शुरूआती दौर में दोनों मुक्केबाजों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली, जहां ब्राउन ने आक्रमण से बचने के लिए लगातार भारतीय मुक्केबाज से दूरी बनाने की कोशिश की। दूसरी ओर सतीश जमैका के मुक्केबाज के मुक्कों से बचने में सफल रहे। सतीश अपने बेहतर खेल की बदौलत सभी पांच जजों को प्रभावित करने में सफल रहे, उन्होंने सभी जजों से 10 अंक हासिल किए।

ब्राउन का भी ये ओलंपिक पदार्पण का मैच था, जहां वो शुरूआत से ही आक्रामक बने रहे, लेकिन सतीश को ज्यादा परेशान नहीं कर पाए। भारतीय मुक्केबाज ने शानदार बचाव किया समय पर हुक जैब्स लगाए। हालांकि, सतीश की दाहिनी आंख के ऊपर हल्का सा कट लगा उन्हें तुरंत मेडिकल की मदद मिली।

जैसे जैसे मुकाबला अंतिम दौर में पहुंचा, तो दोनों सुपर हैवीवेट मुक्केबाज थकान के कारण थोड़े धीमे हो गए। पहले दो राउंड जीतने के बाद सतीश ने तीसरे में अपनी रक्षात्मक रणनीति जारी रखी। हालांकि, इस राउंड में ब्राउन ने बेहतर प्रदर्शन किया था। उन्होंने भारतीय मुक्केबाज को बाएं हुक बॉडी पंच के साथ कई बार टारगेट किया था। हालांकि, ये जमैका के लिए काफी नहीं था एशियन चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता सतीश ने जीत के साथ रिंग से बाहर कदम रखा।

टोक्यो ओलंपिक : डेनमार्क की खिलाड़ी को हराकर सिंधु ने बनाई क्वॉर्टर फाइनल में जगह

टोक्यो ओलंपिक : डेनमार्क की खिलाड़ी को हराकर सिंधु ने बनाई क्वॉर्टर फाइनल में जगह

टोक्यो/नई दिल्ली: भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी और रियो ओलंपिक की सिल्वर गर्ल पीवी सिंधु टोक्यो ओलंपिक के महिला सिंगल्स के क्वॉर्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। सिंधु ने राउंड ऑफ 16 मुकाबले में डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट को सीधे गेमों में हराया।

छठी वरीय सिंधु ने 41 मिनट चले प्री क्वॉर्टर फाइनल मुकाबले में मिया को 21-15, 21-13 से हराया। दुनिया की 12वें नंबर की डेनमार्क की खिलाड़ी के खिलाफ सिंधु की पिछले छह मैचों में यह पांचवीं जीत है। भारतीय खिलाड़ी को मिया के खिलाफ एकमात्र हार का सामना इसी साल थाईलैंड ओपन में करना पड़ा था।

सिंधु का सामना अब क्वॉर्टर फाइनल में जापान की चौथी चरीय अकाने यामागुची और कोरिया की 12वीं वरीय किम गुएन के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से होगा।

टोक्यो ओलंपिक में पीवी सिंधु ने अपने अभियान का आगाज रविवार को जीत के साथ किया था। वे इजराइल की क्सेनिया पोलिकारपोवा को हराकर अपने ग्रुप में प्री कॉर्टर फाइनल में पहुंची थीं। इसके बाद उन्होंने बुधवार को ग्रुप `जे` में हांगकांग की एनवाई चियुंग को हराकर प्री क्वॉर्टर फाइनल में प्रवेश किया था।
 

BREAKING : अब भारत के इस महान बैडमिंटन खिलाड़ी ने दुनिया को कहा अलविदा, शोक में डूबा खेल जगत

BREAKING : अब भारत के इस महान बैडमिंटन खिलाड़ी ने दुनिया को कहा अलविदा, शोक में डूबा खेल जगत

 नई दिल्ली: भारत के पूर्व महान बैडमिंटन खिलाड़ी नंदू नाटेकर का निधन हो गया है। उन्होंने 88 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा। नंदू भारत के पहले बैडमिंटन खिलाड़ी थे जिन्होंने देश के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीता था। यह उपलब्धि उन्होंने साल 1956 में हासिल की थी। उनके निधन के बाद खेल जगत में शोक की लहर दौड़ गई। 


अपने बैडमिंटन करियर में नंदू नाटेकर ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल तक पहुंचे थे। इसके अलावा उन्होंने 6 बार नेशनल चैंपियनशिप का खिताब जीता था। साल 1961 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार दिया गया। यह अवॉर्ड पाने वाले वह भारत के पहले बैडमिेंटन खिलाड़ी थे। 


नंदू नाटेकर पहले क्रिकेटर बनना चाहते थे और उन्होंने क्रिकेट खेला भी। लेकिन उनका मन क्रिकेट में नहीं लगा। इसके बाद नंदू ने अपना ध्यान बैडमिंटन पर लगाया। इसके बाद बैडमिंटन में उन्होंने नया मुकाम हासिल किया। 


उन्होंने साल 1953 में 20 साल की उम्र में भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। अपने बैडमिंटन करियर में उन्होंने कई उपलब्धियां हासिल कीं। वह साल 1954 में ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे। इसके बाद उन्होंने फिर कभी इस स्पर्धा में हिस्सा नहीं लिया।

 बड़ी खबर : टीम इंडिया का ऑलराउंडर पाए गए कोरोना पॉजिटिव, India vs Sri lanka 2nd T20I मैच हुआ स्थगित

बड़ी खबर : टीम इंडिया का ऑलराउंडर पाए गए कोरोना पॉजिटिव, India vs Sri lanka 2nd T20I मैच हुआ स्थगित

ऑलराउंडर क्रुणाल पंड्या के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भारत और श्रीलंका के बीच मंगलवार का टी-20 स्थगित कर दिया गया है। अगर बाकी के खिलाड़ी नेगेटिव पाए जाते हैं तो बुधवार को इस मैच के होने की संभावना है। समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने कहा कि क्रुणाल कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं और बाकी खिलाड़ियों की रिपोर्ट आने तक दोनों टीम को आइसोलेशन में रहना होगा।

सूत्र ने कहा, 'क्रुणाल कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं और मंगलवार को खेले जाने वाले टी 20 को स्थगित कर दिया गया है। यदी कोई अन्य खिलाड़ी पॉजिटिव नहीं पाया जाता है तो यह मैच बुधवार को होगा। खिलाड़ी वर्तमान में आइसोलेट हैं।' बीसीसीआइ ने जानकारी दी है कि मैच से पहले मंगलवार को सुबह रैपिड एंटिजन टेस्ट हुआ। इसमें क्रुणाल पांड्या पॉजिटिव पाए गए। मेडिकल टीम ने उनके संपर्क में आठ लोगों को पाया है। पूरी टीम का आरटी पीसीआर टेस्ट हुआ, ताकि यह पता लगाया जा सके कि कोई और संक्रमित तो नहीं है। बोर्ड ने इसके साथ ही जानकारी दी है कि आज का स्थगित हुआ मैच कल यानी बुधवार 28 जुलाई को खेल जाएगा, जबकि सीरीज का आखिरी मुकाबला 29 जुलाई को होगा।

बता दें कि टीम इंडिया ने पहले टी-20 मैच में जीत दर्ज की थी। इससे पहले टीम को तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-1 जीत मिली थी। विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह जैसे स्टार खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में शिखर धवन की अगुवाई में भारत की युवा टीम श्रीलंका दौरे पर गई है, जो फिलहाल इंग्लैंड दौरे पर हैं। राहुल द्रविड़ इस टीम के कोच हैं।   

श्रीलंका दौरे पर गई टीम में पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव भी शामिल हैं, जिन्हें इंग्लैंड दौरे पर रिपलेश्मेंट के तौर पर जाना है। ऐसे में इन दोनों खिलाड़ियों के वहां रवानगी पर सवाल खड़े हो गए हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने सोमवार को जानकारी दी कि चयन समिति ने पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव को इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज के लिए चोट के कारण बाहर हुए ऑलराउंडर वाशिंगटन सुंदर, बल्लेबाज शुभमन गिल और तेज गेंदबाज आवेश खान का रिपलेश्मेंट चुना है।
 ओलंपिक पदक विजेता मीराबाई को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) नियुक्त किया जाएगा

ओलंपिक पदक विजेता मीराबाई को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) नियुक्त किया जाएगा

इम्फाल। टोक्यो ओलम्पिक में रजत पदक जीतकर इतिहास बनाने वाली महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू को उनके राज्य मणिपुर में पुलिस विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) नियुक्त किया जाएगा। मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने यह घोषणा की। उन्होंने क़्यामगेई में डीआरडीओ द्वारा कोविड अस्पताल के निर्माण और पोरोम्पट में क्रायोजेनिक ऑक्सीजन प्लांट की चल रही स्थापना का निरीक्षण करने के दौरान यह घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए यह भी कहा कि उनकी सरकार मीराबाई को एक करोड़ रुपये देगी जैसा पहले एलान किया गया था। उन्होंने साथ ही कहा कि ओलम्पियन जूडोका सुशीला देवी को कॉन्स्टेबल से प्रमोट कर सब इंस्पेक्टर बनाया जाएगा। उन्होंने दोहराया कि राज्य से ओलम्पिक में भाग लेने वाले सभी प्रतियोगियों को 25-25 लाख रुपये दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने साथ ही घोषणा की कि राज्य सरकार ने राज्य में विश्व स्तरीय भारोत्तोलन अकादमी स्थापित करने का निर्णय भी ले लिया है।
 
 आईपीएल 2021 : 19 सितम्बर को मुंबई और चेन्नई के मुकाबले से शुरू होगा आईपीएल

आईपीएल 2021 : 19 सितम्बर को मुंबई और चेन्नई के मुकाबले से शुरू होगा आईपीएल

दुबई। गत चैंपियन मुंबई इंडियंस और तीन बार के विजेता चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच 19 सितम्बर को होने वाले मुकाबले से आईपीएल 2021 के दूसरे चरण की शुरुआत होगी। आईपीएल को इस साल मई में बबल में कोरोना मामले सामने आने के कारण स्थगित कर दिया गया था। क्रिकबज द्वारा देखे गए कार्यक्रम के अनुसार दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम शेष 31 मैचों में से 13 मैचों की मेजबानी करेगा जिसमें पहला चलीफायर और फ़ाइनल शामिल होंगे जबकि शारजाह 10 मैचों की मेजबानी करेगा जिसमें एलिमिनेटर और दूसरा चलीफायर शामिल होंगे।

सात डबल हैडर मैचों में से पहला 25 सितम्बर को होगा। पिछले साल की तरह दोपहर के मैच भारतीय समयानुसार साढ़े तीन बजे (यूएई समय दो बजे ) शुरू होंगे जबकि नियमित शाम के मैच साढ़े सात बजे (यूएई समय छह बजे )शुरू होंगे। सभी टीमें दोपहर का कम से कम एक मैच जरूर खेलेंगी। तालिका में शीर्ष स्थान पर मौजूद दिल्ली कैपिटल्स दोपहर के तीन मैच खेलेगी जबकि चेन्नई, मुम्बई, कोलकाता और पंजाब की टीमें दो -दो मैच खेलेंगी।

दिल्ली और पंजाब की टीमें अब तक आठ आठ मैच खेल चुकी हैं जबकि छह अन्य टीमों को दूसरे चरण में अपने पूरे सात-सात मैच खेलने हैं सभी टीमें शारजाह में दो-दो मैच खेलेंगी। मुंबई और कोलकाता इस सत्र में तीन मैच शेख जायेद स्टेडियम में खेलेंगी। लीग चरण आठ अक्टूबर तक चलेगा और उस दिन डबल हैडर होगा इसके दो दिन बाद 10 अक्टूबर को प्लेऑफ खेले जाएंगे जबकि फ़ाइनल 15 अक्टूबर को होगा।
टोक्यो ओलंपिक: वर्ल्ड कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में भारत की बेटी प्रिया ने रचा इतिहास, जीता स्वर्ण पदक

टोक्यो ओलंपिक: वर्ल्ड कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में भारत की बेटी प्रिया ने रचा इतिहास, जीता स्वर्ण पदक

नई दिल्ली: विश्व कैडेट चैंपियनशिप में भारत के हाथों बड़ी सफलता मिली है। भारत की महिला खिलाड़ी प्रिया मलिक ने हंगरी में आयोजित की जा रही इस चैंपियनशिप में महिलाओं के 75 किलोग्राम भारवर्ग स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। प्रिया ने वर्ल्ड कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में बेलारूस की पहलवान को 5-0 से पराजित करके स्वर्ण पदक जीता है। प्रिया 2019 में पुणे में खेलो इंडिया में स्वर्ण पदक, 2019 में दिल्ली में 17वीं स्कूल गेम्स में स्वर्ण पदक और 2020 में पटना में नेशनल कैडेट चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं।

प्रिया मलिक ने साल 2020 में हुए राष्ट्रीय स्कूल खेलों में स्वर्ण जीता था। प्रिया मलिक की कामयाबी में उनके कोच अंशु मलिक का काफी बड़ा रोल रहा है। प्रिया ने साल 2020 में हुए नेशनल स्कूल गेम्स में गोल्ड जीता था। इसके अलावा पिछले साल पटना में हुई राष्ट्रीय कैडेट कुश्ती प्रतियोगिता में भी स्वर्ण पदक जीता। उनका सपना है कि वो एक दिन ओलंपिक में भारत को रिप्रजेंट करें।

टोक्यो ओलंपिक : इस खेल में भी भारत के हाथ लगी निराशा

टोक्यो ओलंपिक : इस खेल में भी भारत के हाथ लगी निराशा

टोक्यो ओलंपिक। टोक्यो ओलंपिक में आज भारतीय एथलीटों का निराशाजनक प्रदर्शन जारी है। सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी टेनिस में महिला डबल्स मुकाबलों के पहले दौर में ही हारकर बाहर हो गई है। सानिया और अंकिता ने यूक्रेन की नादिया और ल्यूडमयला किचेनोक की जोड़ी के खिलाफ हुए इस मुकाबले में शानदार शुरुआत की। दोनों ने पहला सेट 6-0 से जीत यूक्रेन की जुड़वा बहनों की जोड़ी पर दबाव बना दिया। हालांकि यूक्रेन की टीम ने शानदार वापसी करते हुए दूसरा सेट अपने नाम कर लिया। इसके बाद हुए सुपर टाईब्रेक को यूक्रेन की टीम ने अपने नाम कर वुमेन डबल्स में मेडल जीतने की भारत की संभावना को भी खत्म कर दिया।
सानिया और अंकिता ने पहला सेट आसानी से 6-0 से जीतकर शानदार शुरूआत की लेकिन इसके आगे वो अपनी लय कायम नहीं रख सकी। भारतीय जोड़ी करीब डेढ घंटे तक चला यह मुकाबला 6-0, 7-6, 10-8 से हार गई. दूसरे सेट में एक समय भारतीय जोड़ी 5-3 से आगे थी. मैच जीतने के लिये सानिया निर्णायक सर्विस गेम कर रही थी लेकिन उन्होंने दबाव में आकर अपनी सर्विस गंवा दी। इसके बाद उक्रेन की जोड़ी ने भारतीय टीम को इस मैच में वापसी का कोई मौका नहीं दिया।
सुपर टाइब्रेकर में गंवाया मुकाबला
दोनों ही टीमों ने एक एक सेट अपने नाम किया। इसके बाद सुपर टाइब्रेकर से इस मैच का नतीजा निकला. सुपर टाइब्रेकर में एक समय सानिया और रैना की जोड़ी 1-8 से पीछे थी लेकिन उन्होंने लगातार सात अंक लेकर स्कोर 8-8 से बराबर कर दिया। हालांकि इसके बाद दो अंक गंवाकर ओलंपिक से रवानगी तय कर ली।
इससे पहले सेट के दूसरे ही गेम में प्रतिद्वंद्वियों की सर्विस तोड़कर सानिया और अंकिता ने बढत बना ली थी।उन्होंने पहला सेट 21 मिनट में जीत लिया। दूसरे सेट के दूसरे गेम में अंकिता का बैकहैंड रिटर्न बेसलाइन के ऊपर से निकल गया जिसके बाद किचेनोक बहनों ने वापसी की। दूसरे सेट में सानिया के दमदार खेल के बूते एक समय भारत मैच जीतने से एक गेम दूर था। मैच के लिये सर्विस करते हुए सानिया ने लगातार दो गलतियां कर दी और वहां से मैच भारत की पकड़ से छूटता चला गया।
इससे पहले भारत के सुमित नागल ने शनिवार को पुरूष एकल वर्ग में इस्राइल के डेनिस इस्तोमिन को हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई थी। वह जीशान अली (1988 सियोल) और लिएंडर पेस (1996 अटलांटा) के बाद ओलंपिक पुरूष एकल मैच जीतने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी बने।

टोक्यो ओलंपिक : सिंधु का प्रवाह जारी पोलिकारपोवा को हराकर दूसरे दौर में पहुंची

टोक्यो ओलंपिक : सिंधु का प्रवाह जारी पोलिकारपोवा को हराकर दूसरे दौर में पहुंची

टोक्यो/नई दिल्ली । भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाडी पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में जीत के साथ आगाज किया है। अपने पहले मुकाबले में उन्होंने इस्रायल की केन्सिया पोलिकारपोवा को आसानी से मात दी। इसके अलावा आज भारत के लिए दूसरा दिन बेहद खास है। छह बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम, सानिया मिर्जा और तैराकी में साजन प्रकाश भारत की चुनौती पेश करेंगे। टोक्यो ओलंपिक के पहले दिन मीराबाई चानू ने भारोत्तलन में बेहतरीन शुरूआत करते हुए रजत पदक जीता था।
सानिया-अंकिता को मिल रही टक्कर
पहला सेट हारने के बाद सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी को लिडमयला और नादिया किचनोक की जोड़ी दूसरे सेट में कड़ी टक्कर दे रही है। एक समय दूसरा सेट 2-2 की बराबरी पर था। लेकिन भारतीय जोड़ी ने अपने अनुभव को झोंकते हुए दूसरे सेट में अब बढ़त बना ली है।
सानिया-अंकिता ने जीता पहला सेट
टोक्यो ओलंपिक में महिला युगल में सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी खेल रही है। इन दोनों का मुकाबला यूक्रेन की लिडमयला और नादिया किचनोक से हो रहा है। भारतीय जोड़ी ने पहले सेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 6-0 से जीत लिया।
पीवी सिंधु की धमाकेदार जीत
टोक्यो ओलंपिक की महिलाओं की बैडमिंटन स्पर्धा में भारत की पीवी सिंधु ने जीत का साथ आगाज किया। इस जीत के साथ वह अगले दौर में पहुंच गई हैं। उन्होंने इस मकुाबले में इस्रायल की केन्सिया पोलिकारपोवा को 21-7 और 21-10 के अंतर से आसानी से हरा दिया।
पदक की रेस से बाहर हुईं मनु भाकर- यशस्विनी सिंह
महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई है। इस स्पर्धा में भारतीय निशानेबाज मनु भाकर और यशस्विनी सिंह ने देश को निराश किया। फाइनल में जाने के लिए दोनों को अंतिम आठ खिलाड़ियों में जगह बनाना जरूरी था। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। मनु भाकर 575 अंकों के साथ 12वें जबकि 574 अंकों के साथ यशस्विनी 13वें स्थान पर रहीं।
 

टोक्यो ओलंपिक का पहला स्वर्ण इस खिलाडी के नाम

टोक्यो ओलंपिक का पहला स्वर्ण इस खिलाडी के नाम

टोक्यो: युवा चीनी निशानेबाज यांग कियान ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में विजयी होकर टोक्यो ओलंपिक खेलों का पहला स्वर्ण पदक जीता। भारत की शीर्ष निशानेबाजों अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वलारिवन इश इवेंट के फाइनल में भी जगह नहीं बना सकीं।


रूस की अनास्तासिया गैलाशिना ने रजत और स्विट्जरलैंड की नीना क्रिस्टन ने कांस्य पदक जीता। क्वालीफिकेशन में 628.7 अंकों के साथ छठे स्थान पर रहू यांग ने फाइनल में 251.8 अंक बनाए। रूसी अनास्तासिया के 251.1 अंकों से बेहतर प्रदर्शन कर यांग ने अपने देश का स्वर्णिम खाता खोला।


इससे पहले, नॉर्वे की जेनेट हेग डुएस्टैड ने 632.9 अंकों के साथ क्वालीफाइंग स्टैंडिंग में शीर्ष पर रहते हुए फाइनल में प्रवेश किया था, जो एक योग्यता ओलंपिक रिकॉर्ड (क्यूओआर) था। जेनेट हालांकि फाइनल में चौथे स्थान पर रहीं।


जहां तक अपूवी और इलावेनिल की बात है तो क्वालीफिकेशन में 626.5 अंकों के साथ इलावेनिल 16वें स्थान पर रहीं जबकि अपूर्वी को 621.9 अंकों के साथ 50 खिलाडिय़ों के बीच निराशानजक 34वां स्थान मिला।


इस इवेंट का विश्व रिकार्ड अब भी अपूर्वी के ही नाम है। अपूर्वी ने 2019 में 252.9 अंकों के साथ रिकार्ड कायम किया था।

भारत ने ओलंपिक में रचा इतिहास : टोक्यो ओलंपिक में मीरा बाई चानू ने भारत के लिए जीता पहला पदक

भारत ने ओलंपिक में रचा इतिहास : टोक्यो ओलंपिक में मीरा बाई चानू ने भारत के लिए जीता पहला पदक

टोक्यो/नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक से भारत के लिए कई अच्छी खबर आ रही है। 49 किलोग्राम कैटेगिरी की वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिता में मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीत लिया है। वह भारत की तरफ से टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने वाली भारत की पहली खिलाड़ी बन गई हैं। मीरा बाई की इस उपलब्धि के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा -इससे सुखद शुरुआत के लिए नहीं कहा जा सकता था। टोक्यो ! भारत उत्साहित है। मीराबाई चानू का शानदार प्रदर्शन। भारोत्तोलन में रजत पदक जीतने के लिए उन्हें बधाई। उनकी सफलता हर भारतीय को प्रेरित करती है।


ज्ञातव्य है कि क्लीन एंड जर्क के दूसरे प्रयास में मीराबाई चानू 115 किग्रा वजन उठाने में सफल रहीं। हालांकि वह तीसरे प्रयास में नाकाम रहीं और स्वर्ण पदक की दौड़ से बाहर हो गईं। ये ऐतिहासिक क्षण है। यह पहली बार है, जब भारत ने ओलंपिक के पहले दिन पदक जीता। मीराबाई चानू ने महिलाओं के 49 किग्रा में रजत पदक जीता। वह भारोत्तोलन में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय हैं।

टोक्यो ओलंपिक : ओलंपिक मे जापान का ‘उगते सूरज’ का ध्वज विवाद का कारण बना, जाने क्या है वजह

टोक्यो ओलंपिक : ओलंपिक मे जापान का ‘उगते सूरज’ का ध्वज विवाद का कारण बना, जाने क्या है वजह

सोल: जापान मे चल रहे टोक्यो ओलंपिक मे जापान का ‘उगते सूरज’ का ध्वज टोक्यो ओलंपिक में विवाद की कारण बन रहा है. जापान इस सूरज को अपने इतिहास का हिस्सा मानता है लेकिन कोरिया, चीन और अन्य एशियाई देशों में कुछ का कहना है कि यह ध्वज युद्ध के दौरान जापानी अत्याचारों की याद दिलाता है. उन्होंने इसकी तुलना नाजी स्वास्तिक से की. इसी वजह से ओलंपिक में जापान के ध्वज को लेकर नाराजगी है और मेजबान देश के कुछ पड़ोसी देशों ने इसे तोक्यो ओलंपिक के दौरान प्रतिबंधित करने की मांग भी की है।

वर्ष 2019 में दक्षिण कोरिया ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) से आधिकारिक रूप से अनुरोध किया था कि टोक्यो ओलंपिक में इस ध्वज पर प्रतिबंध लगाया जाए. दक्षिण कोरिया ने कहा था कि यह ध्वज एशियाई लोगों के दर्द की याद दिलाता है जिन्होंने जापान के युद्धकाल के सैन्य आक्रमण का अनुभव किया था और यह इसी तरह से है जैसे स्वास्तिक यूरापीय लोगों को द्वितीय विश्व युद्ध के दु:स्वप्न की याद दिलाता है.


उत्तर कोरिया ने आरोप लगाया कि जापान युद्ध के अपराधियों को ओलंपिक में शांति का प्रतीक बनाने की कोशिश कर रहा है जो उनके और एशियाई लोगों के लिए अपमानजनक है. शनिवार को दक्षिण कोरिया ने तब ओलंपिक गांव से अपने बैनर हटा दिए थे, जब आईओसी ने उन्हें उकसाने वाला करार दिया था. दक्षिण कोरिया ने कहा कि उसे आईओसी ने वादा किया था कि ओलंपिक के अन्य स्थलों और स्टेडियमों में भी इस ध्वज को लगाने से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा.

दक्षिण कोरियाई मीडिया ने बाद में खबर दी कि कुछ कार्यकर्ता खेल गांव के करीब इसे लिए हुए थे. मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि जापान की आयोजन समिति ने कहा कि ध्वज ओलंपिक स्टेडियम के अंदर प्रतिबंधित नहीं है. सोल में एहवा विश्वविद्यालय के प्रोफेसर लेस एरिक ईस्ले ने कहा, ‘आप टोक्यो ओलंपिक मेजबान या जापानी खिलाड़ियों से इस उगते सूरज के ध्वज के इस्तेमाल की उम्मीद नहीं करोगे क्योंकि यह राष्ट्रीय ध्वज नहीं है.’

टोक्यो ओलंपिक : तीरंदाजी में दीपिका का आगाज, रैकिंग राउंड में रहीं नौवें स्थान पर

टोक्यो ओलंपिक : तीरंदाजी में दीपिका का आगाज, रैकिंग राउंड में रहीं नौवें स्थान पर

टोक्यो: आज से टोक्यो ओलंपिक की शुरूआत हो गई। पहले दिन भारत की तरफ से तीरंदाजी में दीपिका कुमारी ने अपनी चुनौती पेश की। शुरुआत अच्छी करने के बाद उनकी लय बिगड़ गई। जिसके बाद वह रैंकिंग राउंड की व्यक्तिगत स्पर्धा में नौवें स्थान रहीं। अब दीपिका का मुकाबला अगले राउंड में भूटान की कर्मा से होगा। दीपिका ने इस मुकाबले में आगाज बेहतर किया लेकिन जैसे-जैसे समय बीत वह अपने प्रतिद्विंदियों के खिलाफ पिछड़ती गईं।

दीपिका कुमारी पहले छह निशानों के बाद आठवें स्थान पर रहीं। इस दौरान उनका स्कोरर 56 रहा। लेकिन दूसरे एंड के बाद पह 10 स्थान पर खिसक गईं। इसके बाद 18वें शॉट के बाद दीपिका ने 10वें स्थान बरकार रखा। लेकिन इसके बाद वह लगातार पिछड़ती गईं और पहला हॉफ खत्म होने तक वह 14वें स्थान पर थीं।

इसके बाद दीपिका ने वापसी करते हुए बेहतर प्रदर्शन कर टॉप 10 में लौटीं। इस दौरान उन्होंने पांचवें एंड में 59 अंक हासिल किए। फिर दीपिका ने सही ठिकाने पर निशाना लगाते हुए चौथी पायदान पर आ गईं। इस बार उन्होंने 57 अंक हासिल किए।

चौथे स्थान पर आने के बाद एक बार फिर दीपिका पीछे हो गईं। कुल मिलाकर जब रैंकिंग राउंड का खेल समाप्त हुए तो दीपिका कुमारी 663 अंकों के साथ नौंवे स्थान पर रहीं। खास बात यह है कि दीपिका ने टॉप 10 में अपनी जगह बरकरार रखी।

वहीं रैंकिंग राउंड की बात की जाए तो कोरिया की एन सैन ने ओलंपिक रिकॉर्ड कायम किया। वह 680 अंकों के साथ पहले स्थान पर रहीं। इतना ही नहीं सैन विश्व रिकॉर्ड बनाने से 12 पॉइंट्स से चूक गईं। इससे पहले ओलंपिक रिकॉर्ड यूक्रेन की लीना हेरासिमेको के नाम था जिन्होंने 1996 अटलांटा ओलंपिक के दौरान 673 का स्कोर बनाया था।

Previous123456789...1516Next