प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..    |    कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा    |    लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज    |    बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान    |    मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत    |    बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट    |    ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर    |
Previous12345678Next
CGPSC: छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने 143 पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा की तारीखों का किया ऐलान, पढ़े पूरी खबर

CGPSC: छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने 143 पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा की तारीखों का किया ऐलान, पढ़े पूरी खबर

रायपुर। इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है की छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (पीएससी) ने अलग-अलग विभागों में 143 पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा की तारीखों का ऐलान कर दिया है। 14 फरवरी 2021 को दो पालियों में परीक्षा होगी। इसके लिए पहली पाली में 10 से 12 बजे तक, दूसरे पाली में 3 से 5 बजे तक परीक्षा आयोजित की गई है।

 इसके अलावा मुख्य परीक्षा 18, 19, 20 और 21 जून को ली जाएगी। इसके लिए 14 दिसंबर से ऑनलाइन फार्म भरा जाएगा। राज्य सेवा परीक्षा 2020 के लिए किसी भी प्रकार के मैनुअल या डाक द्वारा भेजे गए आवेदन स्वीकर नहीं जाएंगे। फार्म भरने की व्यवस्था केवल ऑनलाइन ही रखी गई है।

पढ़िए पूरी खबर-
सीजी पीएससी के जरिए 18 विभाग में भर्ती की जानी है। जिसमें राज्य सिविल सेवा के पद 30, राज्य पुलिस सेवा 6, राज्य वित्त सेवा 15, खाद्य अधिकारी सहायक संचालक 1, राज्य कर सहायक आयुक्त 5, जिला आबकारी अधिकारी 4, सहायक संचालक 2 (समाज कल्याण एवं आदिम जाति और अनुसूचित जाति विकास विभाग), सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाएं 2, मुख्य नगर पालिका अधिकारी वर्ग (ख) के 2 पद, मुख्य नगर पालिका अधिकारी वर्ग (ग) के 4 पद, बाल विकास परियोजना अधिकारी 4, राज्य अधिनस्त लेखा सेवा 15, नायब तहसीलदार 20, आबकारी उपनिरीक्षक 17, उप पंजीयक 1, सहकारी निरीक्षक सहकारिता विस्तार अधिकारी 10, सहायक जेल अधीक्षक 4 है। 

कर ले सुनिश्चित-
परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को आवेदन करने के पूर्व स्वयं सुनिश्चित करना चाहिए कि वे परीक्षा में प्रवेश के लिए सभी पात्रता शर्तों को पूरा करते हैं। सभी पात्रता शर्तों को पूरा करने वाले अभ्यर्थियों को ही आवेदन करना चाहिए। परीक्षा के सभी स्तरों पर उनका प्रवेश पूर्णतः अंतिम होगा चाहे वे निर्धारित पात्रता शर्तों को पूरा करते हों। अभ्यर्थी को प्रवेश-पत्र जारी किए जाने का अर्थ यह नहीं होगा कि उसकी अभ्यर्थिता आयोग द्वारा अंतिम रूप से स्वीकार कर ली गई है। लिखित परीक्षा/साक्षात्कार के लिए अभ्यर्थी के चिन्हांकन के बाद ही आयोग पात्रता शर्तों की जाँच करता है। 

परीक्षा शुल्क व पोर्टल शुल्क-
इस परीक्षा के लिए अभ्यर्थी द्वारा परीक्षा शुल्क व पोर्टल शुल्क का भुगतान क्रेडिट/डेबिट कार्ड/इंटरनेट बैंकिंग/कैश डिपॉजिट के माध्यम से किया जा सकता है। परीक्षा शुल्क के भुगतान के लिए किसी बैंक के ड्राफ्ट यान चेक स्वीकार नहीं किये जाएंगे। राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन 14 दिसंबर 2020 को 12 बजे से 12 जनवरी 2021 रात 11:59 बजे तक  http://www.psc.cg.gov.in/  पर किए जा सकेंगे। 

विभागीय विज्ञापन देखने के लिए http://www.psc.cg.gov.in/htm/notification.html इस लिंक को क्लीक करे 
 
 
त्रुटि सुधार-
ऑनलाइन आवेदन में त्रुटि सुधार का कार्य आवेदन करने की अंतिम तिथि के बाद 14 जनवरी मध्यान्ह 12 बजे से 18 जनवरी की रात 11:59 बजे तक किया जा सकेगा। उक्त त्रुटि सुधार का कार्य केवल एक बार ऑनलाइन ही किया जा सकेगा. राज्य सेवा परीक्षा नियम में जिन प्रक्रियाओं/विषयों का उल्लेख नहीं है, उन प्रक्रियाओं या विषयों पर छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग प्रक्रिया नियम 2014 के प्रावधान लागू होंगे। 

ये भी पढ़े-
श्रेणी सुधार के मामलों में यदि किसी अभ्यर्थी द्वारा आरक्षित वर्ग के रुप में भरे गये अपने ऑनलाइन आवेदन पत्र में सुधार कर उसे अनारक्षित वर्ग किया जाता है, तो उसे शुल्क के अंतर की राशि का भुगतान त्रुटि सुधार शुल्क के अतिरिक्त करना होगा। लेकिन अनारक्षित वर्ग के रुप में भरे गये ऑनलाइन आवेदन पत्र को आरक्षित वर्ग में परिवर्तन की स्थिति में शुल्क अंतर की राशि वापस नहीं की जाएगी। 
शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर में मनाया गया संविधान दिवस, पढ़ें पूरी खबर

शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर में मनाया गया संविधान दिवस, पढ़ें पूरी खबर

रायपुर | 26 नवंबर को शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर संविधान दिवस मनाया गया। यह कार्यक्रम महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अमिताभ बैनर्जी की अनुमति से डॉ उषा किरण अग्रवाल के निर्देशन में राष्ट्रीय सेवा योजना प्रभारी डॉ मनीषा गर्ग द्वारा आयोजित किया गया। कार्यक्रम की मुख्य वक्ता रिचा पारीक शासकीय विधी महाविद्यालय की सहायक प्राध्यापक भोपाल से शामिल हुई। कार्यक्रम के प्रारंभ में राष्ट्रीय सेवा योजना प्रभारी डॉ मनीषा गर्ग ने संविधान दिवस मनाए जाने के उद्देश्य की जानकारी दी।

पढ़ें : BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने शादी कार्यक्रम हेतु जारी की नयी गाइड लाइन, 11 अलग-अलग बिन्दुओं का रखना होगा ध्यान 

कार्यक्रम का प्रारंभ डॉ उषा किरण अग्रवाल के उद्बोधन से हुआ। उन्होंने बताया भारत का संविधान सबसे बड़ा लिखित संविधान है।"वी द पीपल ऑफ़ इंडिया"से संविधान की शुरुआत हुई। भारत का संविधान प्रारंभ से ही प्रगतिशील संविधान है जिसमें महिलाओं की स्थिति सशक्त रही है। उन्होंने अधिकार के साथ कर्तव्यों की भी बात की। रिचा पारेख सहायक प्राध्यापक शासकीय  विधि महाविद्यालय भोपाल ने अपना उद्बोधन "यह दस्तावेज हमारा संविधान है"से प्रारंभ किया। उन्होंने बताया कि वैयक्तिक, सामाजिक तथा राष्ट्रीय विकास के दृष्टिकोण से संविधान की रचना की गई। उन्होंने कार्यपालिका, न्यायपालिका के कार्य के साथ साथ मौलिक अधिकारों की चर्चा की। 

पढ़ें : छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े दानवीर दाऊ कल्याण सिंह अग्रवाल की जमीनें होंगी राजसात, शासन ने जारी किया आदेश 

उन्होंने अनेक नागरिक अधिकारों की चर्चा की, जो व्यक्तित्व विकास के लिए आवश्यक है। उन्होंने बताया हमारा संविधान समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक वातावरण देता है। उन्होंने बताया 1950 में संविधान निर्माण से 2014 तक इसे विधि दिवस के रूप में मनाया जाता था। 2015 से इसे संविधान दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। उन्होंने अलग-अलग अनुच्छेद की भी विशेष रूप से चर्चा की। कार्यक्रम के अंत में छात्राओं के लिए कार्यक्रम के संबंध में ऑनलाइन क्विज का भी आयोजन किया गया। कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन डॉ कल्पना झा ने किया। कार्यक्रम में डॉ संध्या वर्मा, आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ कविता शर्मा सहित सभी प्राध्यापक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का तकनीकी संचालन डॉ चित्रा देशपांडे ने किया।

राजधानी के दुर्गा महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा संविधान दिवस मनाया गया

राजधानी के दुर्गा महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा संविधान दिवस मनाया गया

रायपुरभारत सरकार के आदेशानुसार दुर्गा महाविद्यालय राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया गया 11:00 बजे राष्ट्रपति जी के शपथ कार्यक्रम सुनने के पश्चात प्राचार्य डॉ मधु कमरा मैडम द्वारा महाविद्यालय के प्राध्यापक एवं ऑफिस स्टाफ को शपथ दिलवाई गई इसके पश्चात 1:30 बजे से जूम मे हम भारत के लोग और हमारा संविधान विषय पर उमेश उपाध्याय जी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने मुख्य वक्ता के रूप में अपने विचार रखें कार्यक्रम का संचालन सुनीता चंसोरिया तथा स्वागत भाषण डॉ मधु कामरा प्राचार्य दुर्गा महाविद्यालय द्वारा दिया गया वेबीनार में डीबी गर्ल्स कॉलेज एवं कुसुमताई दाबके लॉ कॉलेज के स्टूडेंट भी शामिल हुए |

काम की बात: अब स्नातक बेरोजगारों को मिलेंगे ब्लॉक स्तर पर निर्माण कार्यों के ठेके

काम की बात: अब स्नातक बेरोजगारों को मिलेंगे ब्लॉक स्तर पर निर्माण कार्यों के ठेके

रायपुर। राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ में निर्माण कार्यों के ठेके के लिए वर्तमान में लागू एकीकृत पंजीयन प्रणाली के अंतर्गत निर्धारित श्रेणी-अ, ब, स, द के बाद नया श्रेणी-ई का समावेश करने का निर्णय लिया गया है। इसका उद्देश्य ब्लॉक स्तर पर स्नातक बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराना और स्थानीय संसाधनों का समुचित उपयोग करना है। लोक निर्माण विभाग द्वारा इस आशय का आदेश मंत्रालय महानदी भवन से जारी कर दिया गया है।

Also Read:-  छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन को लेकर टीएस सिंहदेव ने दिया बड़ा बयान, जानिए आखिर छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन लगेगा या नहीं
नवीन ई-श्रेणी में पंजीयन के लिए निर्धारित मापदंड के अनुसार जो स्नातक की उपाधिधारी हैं एवं बेरोजगार है, उनका पंजीयन ई-श्रेणी में किया जाएगा। पंजीयन की अवधि 5 वर्ष की रहेगी। स्नातक बेरोजगारों को एक वर्ष में अधिकतम 50 लाख रूपए तक कार्य उपलब्ध कराया जाएगा। पंजीकृत स्नातकधारी से प्रतिस्पर्धा ब्लॉक स्तर पर सीमित होगी। स्नातकधारी जिस ब्लॉक के निवासी होंगे, वह उसी ब्लॉक के अंतर्गत कार्यों के लिए प्रतिस्पर्धा में भाग ले सकेंगे। बेरोजगार स्नातकधारी को पंजीयन के लिए स्व-प्रमाणित प्रमाण पत्र दिया जाना होगा, कि आवेदक किसी शासकीय या अर्धशासकीय अथवा गैरशासकीय संस्थानों में सेवारत नहीं है एवं वे बेरोजगार हैं।
स्नातकधारी का ई-श्रेणी में एकीकृत पंजीयन मुख्य अभियंता (योजना) कार्यालय प्रमुख अभियंता, लोक निर्माण विभाग नार्थ ब्लॉक सेक्टर-19 निर्माण भवन, नवा रायपुर द्वारा किया जाएगा। पंजीयन एवं अमानत शुल्क सभी वर्ग के लिए निःशुल्क होगा। पंजीयनधारी का रोजगार अन्य संस्था में होने अथवा पंजीयन पश्चात रोजगार प्राप्त करने की स्थिति में ई-श्रेणी पंजीयन यथाशीघ्र समाप्त किया जाएगा।

Also Read:- कोरोना रिटर्न: छत्तीसगढ़ के इस जिले में नाईट कर्फ्यू का आदेश हुआ जारी, अति आवश्यक सेवा को ही मिली छूट
पंजीयन का एक कार्ड जारी किया जाएगा, जिसमें उसके व्यक्तिगत विवरण के साथ कार्य का भी विवरण दर्ज होगा। बेरोजगार स्नातकधारी को स्वीकृत-आबंटित कार्य के कुल लागत का 5 प्रतिशत तक लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्य प्रारंभ करने के लिए मोबिलाईजेशन एडवांस दिया जाएगा। यदि कोई बेरोजगार स्नातकधारी आबंटित कार्य को अधूरा छोड़ देता है, तो उसका पंजीयन रद्द किया जा सकेगा। विभागीय कारणों से अधूरे कार्य इस श्रेणी के लिए लागू नहीं होंगे। ई-श्रेणी में पंजीकृत युवाओं के लिए अधिकतम एकल कार्य की लागत सीमा 20 लाख रूपए होगी। बेरोजगार स्नातकधारी को पंजीकृत आवेदन के साथ छत्तीसगढ़ का स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र, पैन कार्ड, जी.एस.टी. पंजीयन, बैंक एकाउंट स्टेटमेंट प्रस्तुत करना होगा। पंजीयन व्यक्तिगत, प्रोपाईटरी (फर्मांे) के लिए होगी। पार्टनरशीप फर्म एवं कंपनी का पंजीयन ई-श्रेणी में नहीं किया जाएगा। निर्माण कार्यों के लिए वर्तमान में लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत संचालित एकीकृत पंजीयन प्रमाणी, ई-पंजीयन का एक भाग होगा। पंजीयन के लिए समस्त प्रक्रिया, प्रणाली एवं नियम निर्देश यथारूप लागू होंगे। प्रस्तुत योजना के लागू होते ही ई-श्रेणी संबंधी समस्त प्रावधान पंजीयन हेतु जारी निर्देश 25 जनवरी 2014 के लिए यथा संशोधित मान्य किए जाएंगे।

Also Read:- बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में अब लोगो को मास्क ना पहनना पड़ेगा और भी भारी, बढ़ाया गया जुर्माना राशि
लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रस्तावित नवीन ई-श्रेणी के अंतर्गत 20 लाख रूपए तक की निविदाओं का प्रकाशन जिला स्तरीय (स्थानीय) समाचार पत्रों में अनिवार्य रूप से किया जाना होगा। प्रचार-प्रसार हेतु इंटरनेट सूचना पटल (ऑनलाइन) पर प्रकाशन की अनिवार्यता नहीं होगी। इसके अतिरिक्त बस्तर संभाग के अंतर्गत 50 लाख रूपए तक की अन्य मैन्यूवल पद्धति की निविदाओं में भी यह कंडिका लागू होगी।
 

BIG BREAKING : पं. रविवि ने बी.ए. अंतिम वर्ष सहित इन परीक्षाओं के परिणाम किये घोषित, यहाँ देखें अपना परीक्षा परिणाम

BIG BREAKING : पं. रविवि ने बी.ए. अंतिम वर्ष सहित इन परीक्षाओं के परिणाम किये घोषित, यहाँ देखें अपना परीक्षा परिणाम

रायपुर | पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने आज बी.ए. अंतिम वर्ष के परीक्षा परिणामों की घोषणा कर दी है | विश्वविद्यालय ने बी.ए. अंतिम वर्ष के साथ साथ शास्त्री अंतिम वर्ष और आचार्य उत्तरार्द्ध मुख्य परीक्षा के परिणाम घोषित किये है |

अपना  परीक्षा परिणाम देखने के लिए इसे क्लिक करे 

 

 

 

SBI PO Recruitment: एसबीआई पीओ की बंपर भर्ती, आवेदन शुरू, जानें कब होगी परीक्षा समेत अन्य बातें

SBI PO Recruitment: एसबीआई पीओ की बंपर भर्ती, आवेदन शुरू, जानें कब होगी परीक्षा समेत अन्य बातें

State Bank of India Probationary Officers Recruitment 2020: भारतीय स्टेट बैंक ने नोटिफिकेशन जारी कर बैंक में नौकरी की तैयारी करने वालीं को दिवाली का सबसे सुन्दर गिफ्ट दिया है. एसबीआई पीओ भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है. पात्र और इच्छुक कैंडिडेट्स आज से यानी 14 नवंबर से ऑनलाइन आवेदन शुरू कर सकते हैं. SBI द्वारा जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक़ ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तारीख 4 दिसंबर है. तथा SBI PO प्रीलिम्स परीक्षा {SBI PO Prelims Exam} 31 दिसंबर 2020 और 2, 4, और 5 जनवरी 2021 को आयोजित की जायेगी.


महत्वपूर्ण तिथियां
1. ऑनलाइन आवेदन (संपादन / संशोधन सहित) और शुल्क का भुगतान शुरू: करने की तारीख: 14 नवंबर 2020
2. ऑनलाइन आवेदन और शुल्क का भुगतान करने की अंतिम तिथि: 04 दिसंबर 2020
3. आवेदन का प्रिंट आउट लेने की अंतिम तिथि: 19 दिसंबर 2020
4. प्री-एग्जामिनेशन के लिए कॉल लेटर डाउनलोड करने की अंतिम तारीख: दिसंबर 2020 के दूसरे हफ्ते
5. प्री-एग्जामिनेशन के आयोजन की तारीख: दिसंबर 2020 का तीसरा / चौथा सप्ताह
6. ऑनलाइन प्रारंभिक परीक्षा के लिए कॉल लेटर डाउनलोड करने की तारीख: दिसंबर 2020 का 3 वां सप्ताह
7. ऑनलाइन परीक्षा (प्रारंभिक) के लिए तिथि: 31-12 और 02, 04, 05-01-2021
8. ऑनलाइन परीक्षा के परिणाम की तारीख - प्रारंभिक: जनवरी 2021 का तीसरा सप्ताह
9. ऑनलाइन मुख्य परीक्षा के लिए कॉल लेटर डाउनलोड करने की तिथि: जनवरी 2021 का तीसरा सप्ताह
10. ऑनलाइन मेन्स परीक्षा के आयोजन की तिथि: 29-01-2021
11. परिणाम की घोषणा की तिथि - मुख्य: 3 फरवरी / फरवरी 2021 का सप्ताह
12. ग्रुप एक्सरसाइज और इंटरव्यू के लिए डाउनलोड कॉल लेटर की तारीख: फरवरी 2021 का 3/4 वां सप्ताह
13. ग्रुप एक्सरसाइज और साक्षात्कार के आयोजन की तारीख: फरवरी / मार्च 2021
14. अंतिम परिणाम की घोषणा की तिथि: मार्च 2021 का अंतिम सप्ताह
कुल पदों की संख्या – 2000 पद


पदों का विवरण:
1. प्रोबेशनरी ऑफिसर (जनरल) - 810 पद
2. प्रोबेशनरी ऑफिसर (ओबीसी) - 540 पद
3. प्रोबेशनरी ऑफिसर (एससी) - 300 पद
4. प्रोबेशनरी ऑफिसर (एसटी) - 150 पद
5. प्रोबेशनरी ऑफिसर (ईडब्ल्यूएस) - 200 पद


शैक्षिक योग्यता:

भारतीय स्टेट बैंक में पीओ के पद पर भर्ती के लिए कैंडिडेट्स को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/ संस्थान से किसी भी वर्ग में स्नातक की डिग्री पास होनी चाहिए.


आयु सीमा {1 मार्च 2020}:

न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष रखा गया है. आरक्षित वर्ग के कैंडिडेट्स को अधिकतम आयु सीमा में छूट दी जाएगी.


आवेदन शुल्क:
1. जनरल, ईडब्ल्यूसी, ओबीसी के लिए: रु. 750 / - (अंतरिम शुल्क सहित शुल्क।)
2. एससी / एसटी / पीडब्ल्यूडी के लिए: शून्य
3. भुगतान मोड (ऑनलाइन): डेबिट / क्रेडिट कार्ड और इंटरनेट बैंकिंग


चयन प्रक्रिया:

कैंडिडेट्स का चयन प्रीलिम्स परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू के माध्यम से किए जायेगा.


आवेदन कैसे करें:

कैंडिडेट्स SBI की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अपने आवेदन ऑनलाइन माध्यम से अप्लाई करें.


ऑफिशियल नोटिफिकेशन

 

 राजधानी के पी. जी. डागा कन्या महाविद्यालय में किया गया नवीन कंप्यूटर कक्ष का उद्घाटन

राजधानी के पी. जी. डागा कन्या महाविद्यालय में किया गया नवीन कंप्यूटर कक्ष का उद्घाटन

रायपुर। राजधानी रायपुर के कचहरी चौक स्थित पी. जी. डागा कन्या महाविद्यालय में आज नवीन कंप्यूटर कक्ष का उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर केसरी लाल वर्मा, कुलपति पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय थे। इस अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में श्री एन. आर. साहु, प्रशासक पी. जी. डागा कन्या महाविद्याल उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता संरक्षक, संस्था बालाश्रम, माननीय अजय तिवारी जी के द्वारा की गई। इसके अलावा कार्यक्रम में श्री रूपचंद श्री श्रीमल, श्री प्रभाकर राव अंबेलकर, डागा कॉलेज की प्राचार्य श्रीमती संगीता घई, डॉक्टर पद्मा शर्मा, डॉक्टर स्मृति अग्रवाल, डॉक्टर रेणुका बक्शी, डॉक्टर प्रिया चंद्राकर, डॉक्टर जॉली पॉल आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती की छाया चित्र पर पुष्टाहार अर्पित करने से हुई।
इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री केसरी लाल वर्मा, कुलपति पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय ने कहा कि यह महाविद्यालय मेरे लिए महत्वपूर्ण है। यहां हमारी बेटिया पढ़ती हैं। उन्हें अच्छी सुविधा मिले, गुणवत्ता युक्त, शिक्षा प्राप्त करें, आगे चलकर रिसर्च करें ऐसी सुविधाएं महाविद्यालय के द्वारा प्रदान की जाती है उन्होंने कहा आजकल ऑनलाइन शिक्षा महत्वपूर्ण है ऐसे में कंप्यूटर शिक्षा भी महत्व रखती हैं। उन्होंने महाविद्यालय के प्रोफेसरों को इसके लिए बधाई दी और कहा कि इसी तरह महाविद्यालय हमेशा-हमेशा प्रगति के पथ पर अग्रसर रहें। इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संरक्षक, बालआश्रम श्री अजय तिवारी ने कहा कि महाविद्यालय  में 80 कंप्यूटर लगाए गए हैं। हमारी कोशिश है कि हम नारी शिक्षा को महत्त्व देते हुए उनके उत्थान के लिए प्रयास व्रत है। कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथियों का शॉल और श्रीफल से स्वागत किया गया।
BDL Recruitment 2020: भारत डायनामिक्स लिमिटेड में अप्रेंटिस की निकली है भर्ती

BDL Recruitment 2020: भारत डायनामिक्स लिमिटेड में अप्रेंटिस की निकली है भर्ती

BDL Apprentice Recruitment 2020: भारत डायनामिक्स लिमिटेड {बीडीएल} ने डिप्लोमा/स्नातक इंजीनियरिंग डिग्री धारकों के लिए अप्रेंटिस के पद पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किया है. पात्र और इच्छुक कैंडिडेट्स इसके लिए ऑफिशियल वेबसाइट से ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए वे ही कैंडिडेट्स पात्र माने जायेगें जिन्होंने संबंधित ट्रेड में डिप्लोमा या इंजीनियरिंग वर्ष 2017/2018/2019 और 2020 में उत्तीर्ण किये हों.


पदों का विवरण और कुल संख्या:


पदवार रिक्तियों की संख्या {ग्रेजुएट अप्रेंटिस}


1- मैकेनिकल इंजीनियरिंग – 35 पद


2- इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग / EEE- 08 पद


3- सिविल इंजीनियरिंग – 02 पद


4- सीएसई/आई- 10 पद


5- इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग – 25 पद


6- केमिकल इंजीनियरिंग – 02 पद


7- इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन इंजीनियरिंग – 01 पद

पदवार रिक्तियों की संख्या, तकनीशियन {डिप्लोमा}


1- मैकेनिकल इंजीनियरिंग – 14 पद


2- इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग / EEE- 04 पद


3- सिविल इंजीनियरिंग – 02 पद


4- इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग – 08 पद


5- केमिकल इंजीनियरिंग – 04 पद


महत्त्वपूर्ण तारीखें
• आवेदन शुरू होने की तिथि- 02-11-2020
• आवेदन करने के लिए अंतिम तिथि: 20-11-2020


योग्यता: स्नातक अप्रेंटिस के लिए कैंडिडेट्स को संबंधित ट्रेड में इंजीनियरिंग मंी डिग्री और डिप्लोमा अप्रेंटिस के लिए संबंधित ट्रेड में डिप्लोमा होना आवश्यक है. अलग-अलग पदों के लिए योग्यता भी अलग-अलग है, इसलिए आवेदन करने से पूर्व पूरा भर्ती नोटिफिकेशन जरूर पढ़ें.


आयु सीमा: कैंडिडेट्स की आयु अप्रेंटिसशिप नियमों के अनुसार मान्य होगी.


वेतनमान - ट्रेनिंग के दौरान 8000-9000 रुपए प्रतिमाह का स्टाइपेंड दिया जाएगा


कैसे करें आवेदन:

बीडीएल भर्ती में आवेदन के इच्छुक कैंडिडेट्स ऑफिशियल वेबसाइट www.mhrdnats.gov.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैँ. आवेदन 02 नवंबर 2020 से शुरू हो चुके हैं जोकि 20 नवंबर तक चलेंगे. 

नोटिफिकेशन देखने के लिए क्लिक करे
 

SECR Raipur Recruitment 2020 : दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर में विभिन्न पदों पर निकली बम्पर भर्ती, अभी करें आवेदन

SECR Raipur Recruitment 2020 : दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर में विभिन्न पदों पर निकली बम्पर भर्ती, अभी करें आवेदन

SECR Raipur Recruitment 2020 | वर्ष 2020-21 के लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल तथा वैगनरिपेयर शॉप, रायपुर में अप्रैटिस एक्ट-1961 एवं अप्रैटिस नियम-1962 के अंतर्गत एक्ट अप्रैटिसों का चयन (Engagement) किया जाना है |

जिसके लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल तथा वैगनरिपेयर शॉप, रायपुर में अप्रैटिस एक्ट-1961 के अंतर्गत SECR Raipur Recruitment 2020 के निम्न ट्रेडों पर अप्रैटिस के रूप में चयन (Engagement) के लिए रायपुर मंडल तथा वैगनरिपेयर शॉप, रायपुर हेतु पात्र उम्मीदवारों से दिनांक 02.11.2020 से 01.12.2020 (23.59 बजे तक) ऑन लाइन आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं ।

पद का नाम व रिक्त पदों की संख्या –
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल के अंतर्गत रिक्त पदों की जानकारी

वेल्डर – 50 पद
टर्नर – 25 पद
फिटर – 50 पद
बिजली मिस्त्री – 50 पद
आशुलिपिक (अंग्रेजी) – 02 पद
आशुलिपिक (हिंदी) – 02 पद
स्वास्थ्य और स्वच्छता निरीक्षक – 03 पद
कोपा – 03 पद
इंजीनियर – 10 पद
मैकेनिक डीजल – 15 पद
मैकेनिक रेफ्रिजरेटर और एयर कंडीशनर – 10 पद
मैकेनिक ऑटो इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स – 30 पद


वैगन रिपेयर शॉप, रायपुर के अंतर्गत रिक्त पदों की जानकारी

फिटर – 69 पद
वेल्डर – 69 पद
इंजीनियर – 04 पद
बिजली मिस्त्री – 09 पद
इंजिन का मिस्त्री – 03 पद
टर्नर – 02 पद
आशुलिपिक (हिंदी) – 01 पद
आशुलिपिक (अंग्रेजी) – 01 पद
कुल रिक्त पदों की संख्या – 413 पद

 

अनिवार्य शैक्षिणिक/तकनीकी योग्यता –

अभ्यार्थी को 10+2 शिक्षा पद्धति के तहत 10 वीं (मैट्रिक) या इसके समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए ।
अभ्यार्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त संस्था से संबंधित ट्रेड में आई.टी.आई. की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए।


निर्धारित आयु सीमा –

SECR Raipur Recruitment 2020 के लिए अभ्यर्थी की आयु दिनांक 01.07.2020 को 15 वर्ष से कम तथा 24 वर्ष से ज्यादा नहीं होना चाहिए । अधिकतम आयु सीमा में अजा/अजजा के उम्मदवारों को 05 वर्ष एवं अपिव के उम्मीदवारों को 03 वर्ष, दिव्यांग एवं भूतपूर्व सैनिक के उम्मीदवार को 10 वर्ष की छूट होगी उम्र में छूट हाल के जाति प्रमाण पत्र संलग्न करने पर ही दिया जायेगा ।

 

अपेंटिस प्रशिक्षण की अवधि एवं छात्रवृत्ति –

चयनित अभ्यार्थी प्रशिक्षु के रूप में नियोजित किये जायेंगे तथा उन्हे केवल 1 वर्ष की अवधि के लिए प्रशिक्षुता/अप्रैटिसशिप ट्रेनिंग के लिए भेजा जायेगा । नियोजित प्रशिक्षुओं को छत्तीसगढ़ राज्य सरकार के नियमानुसार प्रशिक्षण के दौरान वजीफा/छात्रवृत्ति का भुगतान किया जायेगा । अप्रैटिसशिप ट्रेनिंग पूरी कर लेने के बाद उनका प्रशिक्षण स्वतः समाप्त हो जायेगा ।

 

चिकित्सा परीक्षण –

चयनित उम्मीदवारों को अपेंटिसशिप अधिनियम 1961 और परिशिष्ट नियम 1992 के पैरा 4 (समय समय पर संशोधित) के अनुसार निर्धारित प्रमाण पत्र में दस्तावेज सत्यापन के समय चिकित्सा प्रमाण पत्र लाने की सलाह दी जाती है । SECR Raipur Recruitment 2020 के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट पर सरकार द्वारा अधिकृत केंद्रीय/राज्य शासन के अस्पताल के सर्जन डॉक्टर (राजपत्रित ) से हस्ताक्षर होने चाहिए तथा सहायक सर्जन से नीचे रैंक का नहीं होना चाहिए ।


कैसे करें आवेदन –

पूर्ण रूप से भरे गए ऑनलाइन आवेदन को केवल https://apprenticeshipindia.org वेबसाइट पर ऑनलाइन प्रकिया से दिनांक 02.11.2020 से 01.12.2020 (23.59 बजे) तक ही स्वीकार किया जाएगा । आवेदन की दैहिक (Physical) प्रति किसी कार्यालय में भेजने की आवश्यता नहीं है ।

SECR Raipur Recruitment 2020 में अभ्यार्थी केवल https://apprenticeshipindia.org वेबसाइट के माध्यम से ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें । यदि अभ्यार्थी अजा/अजजा/अपिव समुदाय अथवा ई.डब्लु.एस. से हो तो सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी हाल ही का जाति/ई.डब्लु.एस. अभ्यार्थी हाल में जारी किया गया आय प्रमाण पत्र को वेब पोर्टल पर अपलोड करें |

 

चयन प्रकिया –

SECR Raipur Recruitment 2020 की प्रवीणता सूची बनाने हेतु निम्नलिखित मापदंड अपनाया जायेगा, अभ्यार्थी द्वारा मैट्रिक (न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक अहर्ता हेतु आवश्यक होगा ) तथा आई.टी.आई. में प्राप्त अंक प्रतिशत को समान भारता देते हुये प्रवीणता सूची जारी की जायेगी ।
SECR Raipur bharti के लिए अभ्यार्थी आवेदन करते समय अपने 10 वीं और आईटीआई (ITI) के अंको को पोर्टल पर योग्यता सेक्शन मे निश्चित रूप से भरें अन्यथा आपके आवेदन पर विचार नहीं किया जाएगा तथा आपका आवेदन स्वतः निरस्त हो जाएगा।

 

अधिक जानकारी और सहायता –

SECR Raipur job की सहायता हेतु दूरभाष नंबर 0771-2252294 में तथा अधिक जानकारी के लिए कार्यालयीन समय प्रातः 09:30 से संध्या 06:00 तक सोमवार से शुकवार के मध्य कार्यालयीन दिवस में कार्यालय वरि. मंडल कार्मिक अधिकारी कार्यालय, मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय परिसर, वॉल्टेयर गेट के निकट, रायपुर (छ.ग.) पिन संख्या -492008 संपर्क किया जा सकता है।

विभागीय विज्ञापन देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने पीजी में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ करने की अधिसूचना जारी की

पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने पीजी में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ करने की अधिसूचना जारी की

रायपुर।  पंडित रविशंकर शुक्ल ने पीजी में प्रवेश की प्रक्रिया जारी कर दिया है। प्रवेश के लिए छात्र ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से दिनांक 28/10/2020 से आवेदन कर सकते है। जिन छात्रों के स्नातक अंतिम वर्ष के परिणाम घोषित हो चुके है वे छात्र ऑनलाइन पोर्टल पर आवेदन कर सकते है। तथा पंडित रविशंकर शुक्ल विश्विद्यालय रायपुर के ऐसे छात्र जिनके परिणाम घोषित नहीं हुए है वे परिणाम घोषित होने के सात दिवसीय के भीतर आवेदन कर सकते है। देखे आदेश की कॉपी-
 
 
पढाई तुंहर दुवार-अंतर्गत बोल्टू के बोल के माध्यम से अध्यापन

पढाई तुंहर दुवार-अंतर्गत बोल्टू के बोल के माध्यम से अध्यापन

बेमेतराकोरोना काल की वर्तमान कठिन परिस्थिति एवं विद्यालयों में बंद पढ़ाई के बीच बच्चों को शिक्षा से  जोड़े रखने हेतु पढ़ई तुंहर दुआर अंतर्गत मोहल्ला क्लास में बोल्टू के बोल आदि माध्यमो से क्लास संचालित किया जा रहा है और बच्चो को शिक्षा दिया जा रहा है। कोविड-19 के निर्देशानुसार आडियो के माध्यम से बच्चो को पढ़ाया जा रहा है।

पढ़ें : बड़ी खबर : शहर के जवाहर नगर पुलिस थाने में पदस्थ कांस्टेबल को ACB ने 10 लाख रिश्वत लेते रंगे हाथो पकड़ा, पढ़ें पूरी खबर

बोल्टू के बोल में बेमेतरा जिले के कुल 46 शिक्षको का योगदान 141 कुल हाट बाजार, 353 लोगो को कुल सामग्री भेजे गये एवं 2672 कुल सामग्री लोगो को भेजे गये है। इस प्रकार बोल्टू के बोल के माध्यम से अध्यापन कार्य में बेमेतरा जिला पूरे छत्तीसगढ़ में दूसरे स्थान पर है। जो एक गौरव की बात है। कुछ दिनो में यह प्रयास प्रथम आने का रहेगा। इस प्रकार शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार विभिन्न  माध्यमो का उपयोग कर बच्चो को अध्यापन कार्य कराया जा रहा है।

बड़ी खबर : पं. रविवि ने महाविद्यालयों में प्रवेश हेतु बढ़ाई अंतिम तिथि, अब विद्यार्थी इस तारीख तक ले सकते है प्रवेश, देखें आदेश

बड़ी खबर : पं. रविवि ने महाविद्यालयों में प्रवेश हेतु बढ़ाई अंतिम तिथि, अब विद्यार्थी इस तारीख तक ले सकते है प्रवेश, देखें आदेश

रायपुरराज्य शासन द्वारा कॉलेजों में प्रवेश की तिथि को 22 अक्टूबर से बढ़ा कर 29 अक्टूबर कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ के विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति की अनुमति से महाविद्यालयों के प्राचार्यों द्वारा छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया जाएगा। राज्य शासन द्वारा कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति के कारण छात्र हित में यह निर्णय लिया गया है। कॉलेजों में प्रवेश की तिथि 29 अक्टूबर तक बढ़ाने के संबंध में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा मंत्रालय महानदी भवन से आदेश जारी किया गया है। मंत्रालय से आदेश जारी होने के बाद पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने भी आदेश जारी कर महाविद्यालयों में प्रवेश की तिथि बढ़ा दी है | अब छात्र-छात्राएं 22 अक्टूबर से 29 अक्टूबर तक प्रवेश ले सकते है | 

शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर में आज दो दिवसीय R कार्यशाला का हुआ समापन

शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर में आज दो दिवसीय R कार्यशाला का हुआ समापन

रायपुर, शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर में आज दो दिवसीय R कार्यशाला का अंतिम दिवस था। आज की कार्यशाला में आईटीएम विश्वविद्यालय के सहायक प्राध्यापक श्री विक्रम सिंह ने बताया कि R स्टूडियो में गणना करने के लिए किस प्रकार डिपेंडेंट वेरिएबल तथा इंडिपेंडेंट वेरिएबल का चयन किया जाता है उस हिसाब से ही गणना के कॉन्बिनेशन बनाए जाते हैं साथ ही उन्होंने मैट्रिक, नॉन मेट्रिक डाटा में अंतर समझाया । chi square, t टेस्ट, बायवेरिएट एनालिसिस, रिग्रेशन एनालिसिस की गणना सिखाई गई। सभी सांख्यिकी गणनाओं की सार्थकता देखना भी सिखाया गया। सभी शोध छात्रों ने बहुत उत्सुकता पूर्वक इस कार्यशाला में भाग लिया।

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अमिताभ बैनर्जी के आशीर्वाद से यह कार्यक्रम संपन्न हुआ। कार्यक्रम की संयोजक डॉ उषा किरण अग्रवाल थी। उन्होंने बताया कि R स्टूडियो सॉफ्टवेयर एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है। इसके उपयोग से शोध छात्रों को सांख्यिकी गणना में अत्यंत लाभ मिलेगा। महाविद्यालय की आइक्यूएसी इंचार्ज डॉ कविता शर्मा ने कार्यक्रम का तकनीकी संचालन किया। धन्यवाद ज्ञापन सहसंयोजक डॉ अंजना पुरोहित के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राध्यापक एवं शोध छात्र उपस्थित रहे। 

विश्वविद्यालयों का कार्य सिर्फ डिग्री देना ही नहीं बल्कि समाज व प्रदेश की समस्याओं का हल खोजना भी है : भूपेश बघेल

विश्वविद्यालयों का कार्य सिर्फ डिग्री देना ही नहीं बल्कि समाज व प्रदेश की समस्याओं का हल खोजना भी है : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि विश्वविद्यालयों का कार्य केवल डिग्री देना नहीं, समाज और राज्य की समस्याओं का प्रभावी और वैज्ञानिक हल खोजना भी है। मुख्यमंत्री आज यहां अपने निवास कार्यालय में राज्य योजना आयोग और राज्य के 14 विश्वविद्यालयों एवं 4 उच्च शैक्षणिक संस्थानों ट्रिपल आईटी, आईआईएम, एम्स और आईआईटी कुल 18 शैक्षणिक संस्थानों के मध्य शोध एवं अनुसंधान के लिए आयोजित वर्चुअल ऑनलाइन एमओयू हस्ताक्षर कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे।
कार्यक्रम में राज्य के समावेशी विकास में इन उच्च शैक्षणिक संस्थानों की भागीदारी सुनिश्चित करने और उनके ज्ञान और कौशल से स्थानीय और कृषि, उद्योग सहित विभिन्न क्षेत्रों की समस्याओं के प्रभावी और वैज्ञानिक समाधान, अनुसंधान, अध्ययन और नवाचार को प्रोत्साहित करने के लिए तीन वर्षों के लिए एमओयू किया गया। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य बन गया है, जहां राज्य के विकास में उच्च शैक्षणिक संस्थानों की सक्रिय भागीदारी होगी। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, योजना और संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष अजय सिंह, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा, राजेश तिवारी और रूचिर गर्ग भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे। एमओयू में राज्य योजना आयोग के अधिकारी और संबंधित शैक्षणिक संस्थानों के अधिकारियों ने हस्ताक्षर किए। इस कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य योजना के सदस्य डॉ. के. सुब्रमणियम, सदस्य सचिव अनुप कुमार श्रीवास्तव, प्रदेश के 14 विश्वविद्यालयों के कुलपति, रजिस्ट्रार, विद्यार्थी और 4 उच्च शैक्षणिक संस्थानों के निदेशक जुड़े।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य योजना आयोग और इन संस्थानों के मध्य एमओयू के माध्यम से प्रदेश की विशिष्ट समस्याओं और दिक्कतों की पहचान कर उन पर अनुसंधान, अध्ययन, नवाचार द्वारा समाधान ढूंढे जा सकेंगे और इन संस्थानों में उपलब्ध ज्ञान कौशल का उपयोग राज्य की जनता कर सकेगी। इन संस्थानों की उपलब्धियों का लाभ आम आदमी को मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में कृषि, रोजगार, ग्रामीण विकास, कुटीर उद्योगों से लेकर बड़े उद्योगों तक की समस्याओं और सामाजिक समस्याओं के वैज्ञानिक ढ़ंग से सरल समाधान हो, इसमें उच्च शैक्षणिक संस्थानों की फैकल्टी, प्रतिभावान विद्यार्थियों के ज्ञान और कौशल का लाभ मिले, इस उद्देश्य से यह एमओयू आज किया गया है। इससे विशेषज्ञों और विद्यार्थियों को प्रदेश की जमीनी समस्याओं से रू-ब-रू होने का मौका मिल सकेगा। आने वाले समय में इसका लाभ प्रदेश, प्रदेशवासियों और देश को मिलेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस एमओयू के तहत राज्य योजना आयोग के समन्वय के साथ उच्च शैक्षणिक संस्थानों में बनने वाले ’शोध और अनुसंधान प्रकोष्ठ’ में लघु वनोपजों के वेल्यू एडिशन, कृषि उत्पादों, उद्यानिकी, फसलों में वेल्यू एडिशन, कृषि और उद्यानिकी फसलों पर आधारित उद्योगों को खोलने के संबंध में भी अध्ययन और अनुसंधान किया जाएगा। राज्य में कुटीर उद्योगों के विकास और राज्य में उत्पादित इस्पात और एल्युमिनियम पर आधारित वेल्यू एडिशन के सहायक उद्योग जैसे सायकल बनाने के उद्योग और आटोमोबाइल उद्योगों के विकास में भी मदद मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों के लिए बिजली, कच्चा माल और कुशल मानव संसाधन उपलब्ध है। उच्च शैक्षणिक संस्थानों की मदद से प्रदेश में वेल्यू एडिशन के उद्योगों की स्थापना के लिए उद्योगपतियों को छत्तीसगढ़ लाने में और लोगों को हुनरमंद बनाने में भी मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में इस कार्यक्रम में शोध और अनुसंधान के लिए स्थापित कोऑडिनेशन यूनिट का शुभारंभ किया।
योजना और संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि आज छत्तीसगढ़ के लिए ऐतिहासिक अवसर है, जब राज्य के उच्च शैक्षणिक संस्थानों और तकनीकी संस्थानों की प्रतिभाओं को राज्य के विकास में भागीदार बनाने की शुरूआत की जा रही है। इन संस्थानों के अनुसंधान केन्द्रों के माध्यम से प्रदेश के विकास की दिशा तय होगी। मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि हावर्ड विश्वविद्यालय के अनुभव के आधार पर राज्य सरकार राज्य की प्लानिंग की मूल इकाई उच्च शैक्षणिक संस्थानों में स्थापित करना चाहती है, जहां राज्य की ग्रास रूट प्लानिंग पर विचार-विमर्श हो। राज्य सरकार की योजनाओं के मूल्यांकन का कार्य भी शैक्षणिक संस्थानों में हो, इसके लिए प्रत्येक विश्वविद्यालय और उच्च शैक्षणिक संस्थानों में ’रिसर्च एंड डेव्हलपमेंट’ के लिए विशेष सेल बनेगा।
राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशा अनुसार राज्य योजना आयोग की भूमिका नीति आयोग की तर्ज पर थिंक टैंक के रूप में होगी। उन्होंने राज्य योजना आयोग द्वारा नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी, गोधन न्याय योजना की रूपरेखा बनाने में दिए गए योगदान तथा गौठानों में रोजगार केन्द्र विकसित करने, एथेनॉल उत्पादन, कोविड-19 संक्रमण के दुष्प्रभावों के शमन की रणनीति तैयार करने, कोविड सहायता पटल वेबसाईट जैसे योजना आयोग के कार्यो की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि योजना आयोग में शोध अनुसंधान विंग की स्थापना की गई है। पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. केशरी लाल वर्मा और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय डॉ. एस.के.पाटिल ने भी इस पहल को प्रदेश के विकास के लिए एक नए अध्याय की शुरूआत बताया। योजना आयोग को अपने कार्यक्रमों और योजनाओं के लिए विद्यार्थियों का सहयोग प्राप्त हो सकेगा।
 

शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेन्द्र नगर मनोविज्ञान विभाग द्वारा दो दिवसीय R स्टूडियो ऑनलाईन कार्यशाला का हुआ आयोजन

शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेन्द्र नगर मनोविज्ञान विभाग द्वारा दो दिवसीय R स्टूडियो ऑनलाईन कार्यशाला का हुआ आयोजन

रायपुर | शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय देवेंद्र नगर के मनोविज्ञान विभाग के द्वारा दो दिवसीय R स्टूडियो ऑनलाईन कार्यशाला का आयोजन किया गया।  महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अमिताभ बैनर्जी ने इसकी उपयोगिता की चर्चा की।  कार्यशाला की संयोजक डॉ उषा किरण अग्रवाल ने कार्यशाला की उपयोगिता पर प्रकाश डाला, तथा बताया कि समाज विज्ञान के शोधार्थियों के लिए यह कार्यशाला अत्यंत उपयोगी है इसके अंतर्गत R सांख्यिकी पैकेज की जानकारी दी जाएगी जो ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है।

पढ़ें : पीपीई किट पहने डॉक्टर के डांस ने जीता रितिक रोशन का दिल, रितिक रोशन ने कहा मैं आपसे सीखूंगा स्टेप्स

कार्यशाला के प्रशिक्षक आईटीएम यूनिवर्सिटी के प्रबंधन विभाग के सहायक प्राध्यापक श्री विक्रम सिंह थे। आज कार्यशाला के प्रथम दिन R स्टूडियो की संपूर्ण जानकारी दी गई। यह बताया गया कि इसके उपयोग के साथ कुछ स्टैटिसटिकल पैकेज होते हैं जो डाउनलोड करना आवश्यक है इन पैकेज में ही फंक्शन होते हैं। 

पढ़ें : नायब तहसीलदार से विवाद करने पर, एक ही परिवार के 9 सदस्यों पर बलवा का अपराध दर्ज

उन्होंने बताया कि  R studio केस सेंसेटिव है लेकिन इसमें डाटा इनपुट नहीं करना पड़ता, फाइल इंपोर्ट की जाती है। इसके द्वारा अनेक सांख्यिकी गणना आसानी से की जा सकती है। आज कार्यशाला के प्रथम दिन R सॉफ्टवेयर का इतिहास ,गणना के चरण समझाएं गए, तथा कल कार्यशाला के द्वितीय दिवस में सांख्यिकी गणना बताई जाएंगी। इस कार्यशाला में करीब 80 शोध छात्रों ने भाग लिया। कार्यक्रम का तकनीकी संचालन आइक्यूएसी इंचार्ज डॉ कविता शर्मा ने किया। कार्यक्रम की सह संयोजक डॉ अंजना पुरोहित थी।

16 उत्कृष्ट शिक्षकों का हुआ सम्मान, फेडरेशन ऑफ एजुकेशनल सोसाइटी ने किया आयोजन

16 उत्कृष्ट शिक्षकों का हुआ सम्मान, फेडरेशन ऑफ एजुकेशनल सोसाइटी ने किया आयोजन

रायपुर। शहर के श्री वामन राव लाखे उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गांधी चौक रायपुर व महंत लक्ष्मीनारायण दास महाविद्यालय परिसर के सभा गृह में आज फेडरेशन ऑफ एजुकेशनल सोसाइटी के तत्वधान में 16 उत्कृष्ट शिक्षक शिक्षिकाओं का सम्मान किया गया इन शिक्षक शिक्षिकाओं को राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री महंत डॉक्टर राम सुंदर दास के कर कमलों से शॉल श्रीफल एवं प्रशंसनीय पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया इस अवसर पर विशेष रुप से जिला शिक्षा अधिकारी जी आर चंद्राकर एवं भारत स्काउट गाइड फैलोशिप छत्तीसगढ़ आयुक्त सुरेश शुक्ला फेडरेशन ऑफ एजुकेशनल सोसाइटी रायपुर के अध्यक्ष  अजय तिवारी एवं शिक्षा प्रचारक समिति सचिव अनिल तिवारी के साथ तथा वामन राव लाखे उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्य श्रीमती भारती यादव एवं महंत लक्ष्मीनारायण दास महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ देवाशीष मुखर्जी व शिक्षक शिक्षिकाएं मौजूद रहे कार्यक्रम में जिन 16 उत्कृष्ट शिक्षक शिक्षिकाओं का सम्मान हुआ है उनमें डॉक्टर आरती सिंग राजेंद्र कुमार तिवारी राजश्री नामदेव संजय दुबे डॉ मंजरी बख्शी एनके तिवारी श्रीमती सरोज शर्मा सेवानिवृत्त प्राचार्य श्रीमती राजश्री चौहान सुमित भोसले श्रीमती कुसुम त्रिपाठी आर राजपूत सेवानिवृत्त प्राचार्य श्रीमती सर बनी मित्रा श्रीमती रुखमणी कश्यप श्रीमती कीर्ति महेश्वरी श्रीमती छाया पंच भाई एवं भास्कर प्रसाद शर्मा शिक्षक शिक्षिकाओं का सम्मान किया गया है

आपको बता दें कि फेडरेशन ऑफ एजुकेशनल सोसायटी रायपुर हर वर्ष उत्कृष्ट शिक्षक शिक्षिकाओं को सम्मानित करता रहा है इससे पहले भी नगर के कई उत्कृष्ट शिक्षकों का सम्मान संस्था की ओर से किया जा चुका है। आज का सम्मान समारोह कार्यक्रम देश के  द्वितीय राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस  पर मनाएं जाने वाले शिक्षक दिवस के उपलक्ष में मनाया गया। मुख्य अतिथि ने कहा कि डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन 24 कॉलेज में प्रोफेसर रहे, लेकिन कॉलेजों में उनका जन्ददिवस नहीं मनाया जाता। स्कूल शिक्षणसमिती शिक्षक दिवस मनाती है सनातन धर्म से गुरु शिष्य की परंपरा रही है। उनका कहना था कि भगवान श्रीकृष्णा सांदिपनी ऋषि के आश्रम में शिक्षा हासिल की थी।

नौकरी : बेरोजगार युवकों हेतु मारूति सुजुकी मोटर में कार्य करने का सुनहरा अवसर, जाने कैसे कर सकते है आवेदन

नौकरी : बेरोजगार युवकों हेतु मारूति सुजुकी मोटर में कार्य करने का सुनहरा अवसर, जाने कैसे कर सकते है आवेदन

बीजापुर | सहायक संचालक जिला कौशल विकास प्राधिकरण द्वारा मिली जानकारी अनुसार जिले के बेरोजगार विशेष रूप से ग्रामीण युवा बेरोजगार जिनकी उम्र 18 से 20 वर्ष है, उन्हे मारूति सुजुकी मोटर गुजरात में काम करने का सुनहरा अवसर प्रदान किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत प्रशिक्षण हेतु इच्छुक युवकों को दो वर्ष के लिए 10 हजार 6 सौ रूपए की छात्रवृत्ति के साथ एनसीवीटी (आईटीआई) ऑटोमोटिव मैन्यूफेक्चरिंग के समकक्ष में प्रमाणन के साथ कौशल प्राप्त कर सकते हैं। यह अवसर केवल पुरूष उम्मीदवार के लिए है। जिनकी शैक्षणिक योग्यता कम से कम 55 प्रतिशत अंकों के साथ दसवीं कक्षा उत्तीर्ण की हो। जिनका जन्म 1 नवम्बर 2000 से 30 नवम्बर 2002 के बीच हुआ हो वे ही अभ्यर्थी पात्र माने जायेंगे। कोर्स की अवधि 2 वर्ष की होगी, जिसमें 2 माह क्लास रूम ट्रेनिंग एवं 22 माह नौकरी पर प्रशिक्षण दिया जायेगा। साथ ही खाने एवं रहने की व्यवस्था उपलब्ध रहेगी एवं प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों को 10 हजार 6 सौ रूपए की छात्रवृत्ति प्रदान किया जायेगा। इच्छुक अभ्यर्थी जिला कौशल विकास प्राधिकरण बीजापुर में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं एवं अन्य जानकारी के लिए मोबाईल नम्बर 9407641115, 7587472823 पर 30 नवम्बर 2020 तक संपर्क कर अपना नाम दर्ज करा सकते हैं।

 

पं. रविशंकर विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु विद्यार्थियों को एक और सुनहरा मौका, इस तारीख तक कर सकते है ऑनलाइन आवेदन

पं. रविशंकर विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु विद्यार्थियों को एक और सुनहरा मौका, इस तारीख तक कर सकते है ऑनलाइन आवेदन

रायपुर। पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु विद्यार्थियों को एक और सुनहरा मौका दिया गया है। अब प्रवेश के लिए विद्यार्थी दिनांक 18/09/2020 से 20/09/2020 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। आवेदन किये गए विद्यार्थियों कि मेरिट सूचि महाविद्यालय में 21/9/2020 को प्रकाशित की जाएगी | मेरिट सूचि के प्रकाशन के बाद छात्रों को 21/9/2020 से 23/9/2020 तक महाविद्यालय में प्रवेश लेना होगा | 
 
देखे आदेश- 
 
Bank Of India ने 214 पदों पर निकाली नौकरी, ऑनलाइन करें अप्लाई

Bank Of India ने 214 पदों पर निकाली नौकरी, ऑनलाइन करें अप्लाई

Bank Of India Recruitment 2020: बैंक ऑफ इंडिया ने रिक्रूटमेंट 2020 के अंतर्गत 214 विभिन्न पदों पर योग्य उम्मीदवारों से आवेदन मांगे हैं. इच्छुक उम्मीदवार बैंक ऑफ इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं साथ ही यहीं से अप्लाई भी कर सकते हैं क्योंकि आवेदन ऑनलाइन ही करना है. ऐसा करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट का पता है – bankofindia.co.in यहां यह भी बताना जरूरी हो जाता है कि बैंक ऑफ इंडिया के इन पदों के लिए आवेदन केवल 30 सितंबर 2020 तक ही किये जा सकते हैं. रिक्तियों की संख्या और आरक्षित रिक्तियों की संख्या प्रोविजनल है और बैंक की वास्तविक आवश्यकताओं के अनुसार भिन्न हो सकती है.


महत्वपूर्ण तारीखें –


बैंक ऑफ इंडिया पदों के लिए आवेदन आरंभ होने की तारीख –16 सितंबर 2020


बैंक ऑफ इंडिया पदों के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख –30 सितंबर 2020


वैकेंसी डिटेल्स –


बैंक ऑफ इंडिया रिक्रूटमेंट 2020 के अंतर्गत निकली वैकेंसीज का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है –


अर्थशास्त्री - 4 पद


सांख्यिकीविद् - 2 पद


जोखिम प्रबंधक - 9 पद


क्रेडिट विश्लेषक - 60 पद


क्रेडिट ऑफिसर - 79 पद


आईटी (फिनटेक) - 30 पद


आईटी (डाटा साइंटिस्ट) - 12 पद


आईटी (सूचना सुरक्षा) - 8 पद


टेक अपरेजल - 10 पद


चयन प्रक्रिया –


बैंक ऑफ इंडिया के इन पदों पर सेलेक्शन, ऑनलाइन टेस्ट, जीडी या पर्सनल इंटरव्यू के आधार पर होगा. सेलेक्शन प्रॉसेस इस बात निर्भर करेगा कि कितनी संख्या में एप्लीकेशन इन पदों के लिए प्राप्त होते हैं. ऑनलाइन एग्जाम में प्रश्न इंग्लिश, प्रोफेशनल नॉलेज, जनरल अवेयरनेस और बैंकिंग रिफरेंस से आएंगे.
परीक्षा के लिए आवेदन फीस साधारण कैटेगरी के लिए 850 रुपए है और आरक्षित श्रेणी के लिए 175 रुपए है.


नोटिफिकेशन देखने के लिए क्लिक करे


आवेदन करने के लिए क्लिक करे

 

बड़ी खबर : महाविद्यालयों में प्रवेश लेने की अंतिम तिथि आगे बढ़ी, देखें कब तक ले सकते है प्रवेश

बड़ी खबर : महाविद्यालयों में प्रवेश लेने की अंतिम तिथि आगे बढ़ी, देखें कब तक ले सकते है प्रवेश

रायपुर | प्रदेश की राजधानी रायपुर से एक खबर सामने आई है | खबर मिली है कि राज्य सरकार ने कॉलेजों में प्रवेश लेने की आखिरी तिथि को बढ़ा दी है | आपको बता दें कि इससे पहले एडमिशन के लिए अंतिम तिथि 31 अगस्त तय की गई थी, जिसे अब 23 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया गया है | इस संबंध में सभी कुलसचिव और सभी कॉलेजों के प्राचार्यों को निर्देश भी जारी कर दिया गया है |

पढ़ें : बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ के इस जिले में एक सप्ताह का टोटल लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश 

गौरतलब है कि शैक्षणिक संस्थाओं के लिए सत्र 2020-21 में प्रवेश की तारीख 1 अगस्त से 31 अगस्त तक तय की गई थी | इस तारीख पर प्राचार्य खुद छात्रों को एडमिशन दे सकते थे, जबकि 15 सितंबर तक कुलपति की अनुमति लेकर छात्र दाखिला ले सकते थे | अब नये आदेश के मुताबिक 23 सितंबर तक प्राचार्य स्वयं और 30 सितंबर कुलपति की अनुमति से प्राचार्य एडमिशन कर सकेंगे |

Previous12345678Next