कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में कोरोना ने ढाया कहर, छत्तीसगढ़ में कल के मुकाबले आज बढ़ी नए कोरोना मरीजों की संख्या    |    बड़ा हादसा: खाई में गिरी मेटाडोर ,10 की मौत व 15 घायल, पीएम मोदी ने जताया शोक    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज 2 की हुई मृत्यु, आज इतने मरीजों की हुई पहचान, देखे जिलेवार आकड़े    |    मौसम अलर्ट: उत्तर-पूर्वी मानसून की आहट से इन राज्यों पर मंडराया बारिश का खतरा    |    बड़ी खबर: पटाखे की गोदाम में लगी भयानक आग से 5 की गई जान, 9 लोग घायल    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में फिर पैर पसारने लगा है कोरोना, छत्तीसगढ़ में आज इतने मरीजों की हुई पहचान    |    बदल गए पेंशन के नियम, 30 नवंबर तक ये काम ना किया तो रुक जाएगी पेंशन    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में हुआ कोरोना विस्फोट, धीरे धीरे फिर से बढ़ रहे है एक्टिव मरीजो की संख्या, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: राज्यपाल की बिगड़ी तबियत, दिल्ली AIIMS में भर्ती    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इन दो जिलों में हुआ कोरोना विस्फोट, आज प्रदेश में मिले इतने नए मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |
CG CRIME NEWS: एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत, गांव में फैली सनसनी

CG CRIME NEWS: एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत, गांव में फैली सनसनी

राजनांदगांव: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिला मुख्यालय से लगभग 11 किलोमीटर दूर करमतरा गांव के एक घर के कुएं में बेटा,बेटी और माँ का शव पाया गया और पिता डोमन लाल अपनी बाडी़ में बने शेड में फांसी पर लटका हुआ मिला। सभी की मौत के पीछे की वजह परिवारिक विवाद माना जा रहा है।


राजनांदगांव जिले के लालबाग थाना अंतर्गत ग्राम करमतरा के एक घर में स्थित कुएं में 28 वर्षीया विजया , 2 वर्षीय पीयूष और 3 वर्षीया काव्या साहू का शव मिला वहीं बच्चों के पिता 32 वर्षीय डोमनलाल घर से लगभग 200 मीटर दूर स्थित बाडी़ में शेड में फांसी पर लटका पाया गया। गांव वालों की सूचना पर लालबाग पुलिस फोरेसिंक टीम के साथ मौके पर पहुंची और सभी पहलुओं पर जांच किया। घटना स्थल पर राजनांदगांव एसपी डी श्रवण भी पहुंचे इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है ।


गांव के एक घर में स्थित कुएं में दो मासूम बच्चों सहित मां के शव का मिलना और पिता का फांसी पर लटकना गांव वासियों के लिए दुखद घटना बनी। प्रथम दृष्टया मामला पारिवारिक विवाद का प्रतीत हो रहा है । बहरहाल पुलिस सभी पहलुओं पर गंभीरता से जांच कर रही है।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : एक ही परिवार के 4 लोगों ने की खुदखुशी, फांसी के फंदे से लटकता मिला पति का शव, बच्चों और पत्नी का शव मिला यहाँ....

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : एक ही परिवार के 4 लोगों ने की खुदखुशी, फांसी के फंदे से लटकता मिला पति का शव, बच्चों और पत्नी का शव मिला यहाँ....

राजनांदगांव | प्रदेश के राजनांदगांव जिले से एक बड़ी खबर आ रही है | खबर है कि जिले के लालबाग थाना क्षेत्र के करमतरा गांव में एक ही परिवार के 4 लोगों ने आत्महत्या कर ली है | जानकारी के अनुसार पति की फांसी के फंदे पर लटकता शव मिला है, जबकि पत्नी और दो बच्चों की लाश कुएं में मिली है | बताया जा रहा है कि पति और पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था | जिसके बाद पत्नी अपने दो बच्चों के साथ कुएं में कूद गई | उसके बाद पति ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली | घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है | मृतकों की पहचान पति डोमन साहू (31 वर्ष), वेदिका साहू (27 वर्ष), पीयूष साहू (2 वर्ष) और काव्या साहू (4 वर्ष) के रूप में हुई है | घरेलू विवाद के चलते पूरे परिवार ने यह आत्मघाती कदम उठाया है |

एएसपी प्रज्ञा मेश्राम ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि करीब आधे घंटे पहले की यह घटना है | उन्होंने बताया कि शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि परिवार का मुखिया शराब का आदि था | घरेलू विवाद के चलते यह घटना घटी है | घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके-ए-वारदात पर पहुंच गई है | पूरे मामले की जांच कर रही है |

 

CG NEWS: शराब दुकान में 20 लाख की लूट-पाट, बदमाशो ने गार्डों को रॉड-तलवार से मारा, कैश पेटी ली और मोबाइल छीन अंदर बंद किया

CG NEWS: शराब दुकान में 20 लाख की लूट-पाट, बदमाशो ने गार्डों को रॉड-तलवार से मारा, कैश पेटी ली और मोबाइल छीन अंदर बंद किया

छत्तीसगढ़ में राजनांदगांव से बड़ी वारदात सामने आ रही है, डोंगरगढ़ में देर रात बदमाशों ने 3 गार्डों से मारपीट कर 20 लाख रुपए लूट लिए। कार से पहुंचे लुटेरों ने गार्डों को रॉड और तलवार से मारा। इसके बाद उनके कपड़े उतरवाए, मोबाइल छीन दुकान में बंद कर दिया और कैश पेटी लेकर भाग गए। लुटेरों ने दुकान में लगे CCTV भी तोड़ डाले। अगले दिन सुबह लोगों ने आवाज सुनी तो शटर खोलकर गार्डों को बाहर निकाला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।


बेलगांव (कटली) में अंग्रेजी शराब दुकान में देर रात करीब 2 बजे कार सवार 7-8 नकाबपोश बदमाश पहुंचे। आते ही बदमाशों ने नाइट ड्यूटी में तैनात गार्डों से मारपीट शुरू कर दी। बदमाशों ने तीनों को लोहे के सब्बल, तलवार और शराब की बोतलों से वार कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। इसके बाद सब्बल से दुकान के शटर में लगा ताला तोड़ अंदर घुस गए। वहां लॉकर रूम का ताला तोड़ा और कैश पेटी उठा कर अपने साथ ले गए।

गार्डों के कपड़े उतरवा कर दुकान में बंद किया
दुकान के गार्डों ने बताया कि बदमाशों ने संभलने का भी मौका नहीं दिया। आते ही मारना शुरू कर दिया। लुटेरों ने उनके मोबाइल भी छीन लिए। इसके बाद कपड़े उतरवाकर दुकान के अंदर किया और शटर गिरा कर भाग गए। उनके कपड़े उतरवाकर भी पीटा गया। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई है और दुकान को सील कर दिया गया है। दुकान के CCTV तोड़े जाने से पुलिस आसपास और रास्ते में लगे कैमरों से बदमाशों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।


दो दिन का कैश था दुकान में, छुट्‌टी के कारण नहीं हुआ जमा
बताया गया है कि दुकान में दो दिन का कैश था। शुक्रवार को दशहरा की छुट्‌टी होने के कारण उसे बैंक में जमा नहीं किया जा सका था। बिक्री के करीब 20 लाख रुपए शराब दुकान के लॉकर में रखे गए थे। वहां दो पेटी थी, एक में कैश था। बदमाश खाली पेटी को फेंक गए। तीनों घायल गार्ड को डायल 112 से इलाज कराने डोंगरगढ़ हॉस्पिटल लाया गया है। SDOP केके पटेल ने लुटेरों के जल्द पकड़े जाने का दावा किया है।

BIG BREAKING : दशहरा पर्व में रावण पुतला दहन के संबंध में कलेक्टर ने जारी किया निर्देश, इन शर्तों के साथ करना होगा रावण दहन

BIG BREAKING : दशहरा पर्व में रावण पुतला दहन के संबंध में कलेक्टर ने जारी किया निर्देश, इन शर्तों के साथ करना होगा रावण दहन

राजनांदगांव | कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम के दृष्टिगत तथा आगामी माह में जिले में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में वृद्धि की संभावना को देखते हुए आवश्यक निर्देश जारी किए हैं। कलेक्टर श्री सिन्हा ने आगामी दशहरा पर्व में जिले में रावण पुतला दहन के संबंध में निर्देश प्रसारित किया है।

आदेश में कहा गया है कि पुतला दहन खुले स्थान पर किया जाए। पुतला दहन कार्यक्रम में समिति के मुख्य पदाधिकारी सहित स्थल की क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक व्यक्ति शामिल नहीं होंगे। प्रत्येक समिति, आयोजक समय पूर्व सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यम से यह जानकारी दें कि कोविड-19 कोरोना को दृष्टिगत रखते हुए कार्यक्रम सीमित रूप से किया जाएगा। पुतला दहन में कहीं भी सांस्कृतिक कार्यक्रम, भंडारा, पंडाल लगाने की अनुमति नहीं होगी। आयोजन में उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति को सोशल, फिजिकल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाना एवं समय-समय पर सेनेटाईजर का उपयोग करना अनिवार्य होगा। रावण दहन स्थल से 100 मीटर के दायरे में आवश्यकतानुसार अनिवार्यत: बेरिकेटिंग कराया जाए। आयोजन के दौरान किसी भी प्रकार के ध्वनि विस्तारक यंत्र डीजे धुमाल, बैंड पार्टी बजाने की अनुमति नहीं होगी। रावण पुतला दहन में किसी भी प्रकार की अतिरिक्त साज-सज्जा, झांकी की अनुमति नहीं होगी। समिति द्वारा सैनेटाईजर थर्मल स्क्रिनिंग, ऑक्सीमीटर, हैंडवाश एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की जाएगी। थर्मल स्क्रीनिंग में बुखार पाये जाने अथवा कोरोना से संबंधित कोई भी सामान्य या विशेष लक्षण पाये जाने पर कार्यक्रम में प्रवेश नहीं देने की जिम्मेदारी समिति, आयोजकों की होगी। कार्यक्रम आयोजन के दौरान अग्निशमन की पर्याप्त व्यवस्था अनिवार्यत: किया जाना होगा। आयोजन के दौरान यातायात नियमों का पालन किया जाए। किसी प्रकार का यातायात बाधित न हो यह सुनिश्चित किया जाए। पार्किंग की व्यवस्था स्वयं के द्वारा की जाए। आयोजन के दौरान एनजीटी व शासन के द्वारा प्रदूषण नियंत्रण के लिये निर्धारित मानकों, कोलाहल अधिनियम, भारत सरकार, सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन किया जाना होगा। नियमों के उल्लंघन करने पर समिति, आयोजक जिम्मेदार होंगे। कंटेनमेंट जोन में पुतला दहन की अनुमति नहीं होगी। यदि पुतला दहन कार्यक्रम की अनुमति के पश्चात उपरोक्त क्षेत्र कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित हो जाता है तो तत्काल कार्यक्रम निरस्त माना जाएगा एवं कंटेनमेंट जोन में सभी निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा।
आयोजन के पूर्व स्थानीय थाना प्रभारी/संबंधित जोन कार्यालय को सूचित करना अनिवार्य होगा। आयोजन के दौरान किसी प्रकार के अस्त्र शस्त्र का प्रदर्शन न किया जाए। आयोजन के दौरान किसी प्रकार की अव्यवस्था न हो, इस हेतु पर्याप्त वालेंटियर रखा जाए एवं स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। यह आदेश राज्य शासन द्वारा जारी नियमों एवं निर्देशों के अधीन होगा।  नियमानुसार दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी। इन सभी शर्तों के अतिरिक्त भारत सरकार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, छत्तीसगढ़ शासन, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, छत्तीसगढ़  शासन, सामान्य प्रशासन विभाग तथा जिला प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी निर्देश एवं आदेश का पालन अनिवार्य किया जाना होगा। यह निर्देश तत्काल प्रभावशील होगा तथा निर्देश में निहित शर्तों के उल्लंघन करने पर एपीडेमिक डिसीज एक्ट एवं विधि अनुकूल अन्य धाराओं के तहत कठोर कार्रवाई की जाएगी। 
CG BREAKING: फास्ट ट्रैक कोर्ट ने रेप और हत्या के आरोपी को सुनाई फांसी की सजा

CG BREAKING: फास्ट ट्रैक कोर्ट ने रेप और हत्या के आरोपी को सुनाई फांसी की सजा

राजनांदगांव: 7 वर्षीय नाबालिक बच्ची के साथ रेप और हत्या के मामले में आरोपी को फांसी की सजा सुनाई गई है। आरोपी का नाम दीपक बघेल है, जो बेमेतरा के नवागढ़ का रहने वाला है।

यह घटना सोमानी थाना क्षेत्र की है। 28 फरवरी को एक सात वर्षीय बच्ची को आरोपी दीपक बघेल जसगीत सुनने के बहने अपने साथ ले गया था और यहां पर बच्ची के साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद आरोपी पकड़े जाने के डर से बच्ची का सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी और फिर शव को रेलवे ट्रेक में फेंक दिया था। बच्ची का शव मिलने के बाद जब पीएम रिपोर्ट आई तो पुलिस के भी होश उड़ गए थे। बच्ची की पीएम रिपोर्ट में बलात्कार के बाद हत्या का जिक्र था। इस शर्मनाक घटना के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए संदेही आरोपी दीपक बघेल को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

हत्या और दुष्कर्म के आरोपी के खिलाफ बीते 5 मई को फ़ास्टट्रैक कोर्ट में चालान पेश किया गया और महज 4 माह के भीतर की मामले की सुनवाई के बाद फास्ट ट्रैक कोर्ट ने आरोपी को दोष सिद्ध होने पर 8 अक्टूबर को फांसी की सजा सुनाई गई है। बता दें फास्ट ट्रैक कोर्ट से दुष्कर्म के दोषियों को फांसी देने राजनांदगांव में यह दूसरा मामला है।

 नवरात्रि में मां बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को करना होगा नियमों का पालन

नवरात्रि में मां बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को करना होगा नियमों का पालन

रायपुर। मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड.19 वेक्सीन के दोनो डोज लगे होने का सर्टिफिकेट लाना अनिवार्य होगा वेक्सिनेशन सर्टिफिकेट नही होने की स्थिति में भक्तगण 72 घंटे पूर्व कराये गये कोरोना टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट साथ लेकर अपने वाहन से डोंगरगढ़ की ओर प्रस्थान कर सकते है।

दर्शनार्थियों को कोविड प्रोटोकाल गाइडलाइन के तहत मास्कए सेनेटाईजरए सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णत: पालन करना होगा। श्रद्धालुओं को कोविड निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट दिखाने पर ही मंदिर में प्रवेश दिया जावेगा।
 
नवरात्रि के दौरान प्रतिवर्षानुसार मेला व मीनाबाजार का आयोजन नही किया जावेगा। दर्शनार्थियों को ऊपर मंदिरध्नीचे मंदिर दर्शन हेतु पूर्व से ही मॉ बम्लेश्वरी ट्रस्ट के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा जिसमें दोनो मंदिर दर्शन के लिए पृथक.पृथक समय आबंटित कर दर्शन की अनुमति दी जायेगी। बिना रजिस्ट्रेशन प्रवेश नही दिया जायेगा। दुर्ग पुलिस आम जनता से अपील करती है कि नवरात्रि का पर्व अपने.अपने स्थान पर ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए मनावे तथा कोराना नियंत्रण में सहभागी बने।
 कैट ने ई-कॉमर्स अनियमितताओं के मुद्दे पर पीएम मोदी से हस्तक्षेप का किया आग्रह

कैट ने ई-कॉमर्स अनियमितताओं के मुद्दे पर पीएम मोदी से हस्तक्षेप का किया आग्रह

रायपुर। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, चेयरमेन मगेलाल मालू,  अमर गिदवानी, प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी, कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, परमानन्द जैन, वाशु माखीजा, महामंत्री सुरिन्द्रर सिंह, कार्यकारी महामंत्री भरत जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीड़िया प्रभारी संजय चौंबे ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को आज भेजे गए एक पत्र में कैट ने एफडीआई नीति और विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम/नियम (“फेमा”) की अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट द्वारा खुले रूप से उल्लंघन किए जाने के मुद्दे पर इन दोनों कम्पनियों के व्यापार मॉड्यूल की जांच हेतु उनके तत्काल सीधे हस्तक्षेप का आग्रह किया है ।कैट ने गहरा खेद व्यक्त किया है कि विभिन्न सरकारी  विभागों एवं एजेंसियों के साथ विगत लम्बे समय से अनेक शिकायतें भी दर्ज की गई हैं लेकिन संबंधित अधिकारियों द्वारा अभी तक कोई महत्वपूर्ण कार्रवाई नहीं की गई है और इस तरह ये कंपनियां अभी भी सरकार की नाक के नीचे कानून के खुले उल्लंघन में लगी हुई हैं। अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट दोनों की वर्तमान में चल रही फ़ेस्टिवल सेल सरकार की एफडीआई नीति की शर्तों के घोर उल्लंघन का जीवंत उदाहरण है।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री अमर पारवानी एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री जितेन्द्र दोशी ने प्रधानमंत्री श्री मोदी से कहा कि देश का व्यापारिक समुदाय इस नतीजे पर पहुंचा है कि सरकार ने इन कंपनियों को अपनी पूरी क्षमता से कानून का उल्लंघन जारी रखने की छूट दी है और यह भी माना जा रहा है कि सरकार के कुछ अधिकारियों का उन्हें संरक्षण  प्राप्त है यही कारण लगता है की सरकार द्वारा बनाए जाने वाले नियम एवं नीति पिछले दो वर्ष से बनाए जाने में ही लम्बित हैं और सरकारी विभागों द्वारा की जा रही जाँच कछुए जैसी गति से चल रही है जो सरकारी अधिकारियों पर कहावत  कि “रोम जल रहा था और नीरो बांसुरी बजा रहा था“, पर चरितार्थ हो रही है । 

श्री पारवानी एवं श्री दोशी ने कहा की देश भर में न केवल व्यापारियों बल्कि आम जनता में व्याप्त इस धारणा को स्वीकार करने में कोई संकोच नहीं है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी कानून के किसी भी उल्लंघन के लिए शून्य सहिष्णुता वाली मानसिकता और नीति रखते है तथा  देश में छोटे व्यवसायों के व्यापार में वृद्धि के लिए एक चैंपियन के रूप में कार्य करते हैं तो फिर क्यों भारत में ई-कॉमर्स व्यवसाय की वर्तमान निराशाजनक तस्वीर पूरी तरह से अलग है और सरकारी विभाग प्रधानमंत्री द्वारा निर्धारित मापदंडों और दिशानिर्देशों के विपरीत है। 

श्री पारवानी और श्री दोशी ने यह भी कहा कि 2016 से ये कंपनियां कानूनों और नियमों की धज्जियां उड़ा रही हैं, लेकिन लगभग 5 साल बीत जाने के बाद भी, विभिन्न अधिकारियों को साक्ष्य के साथ कई शिकायतें करने के बावजूद उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। 2016 से, सब कुछ परामर्श मोड में या मसौदा तैयार करने के चरण में है, जो इन कंपनियों को ई-कॉमर्स व्यवसाय में अपनी नापाक गतिविधियों को जारी रखने की अनुमति दे रहा है।

श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी को भेजे गए पत्र में ये भी कहा गया है कि अमेज़ॅन इन्वेंट्री-आधारित खुदरा/ई-कॉमर्स को नियंत्रित करके एफडीआई नीति, फेमा के उल्लंघन सहित अवैध व्यापार प्रथाओं में लिप्त है, जो स्पष्ट रूप से कानून/नीति या नियम में प्रतिबंधित है। इसके अलावा, अमेज़ॅन अपने कई सहयोगी/संबद्ध संस्थाओं जैसे “क्लाउडटेल“ और “एपेरियो“ के माध्यम से लागत से भी कम मूल्य पर माल बेचना और गहरी छूट के माध्यम से पूंजी डंपिंग के लिए एफडीआई का दुरुपयोग कर रहा है, ये दोनों ही अमेज़ॅन प्लेटफॉर्म पर पसंदीदा विक्रेता के रूप में भी काम करते हैं।

दोनों व्यापारी नेताओं में कहा की हाल ही में  अनेक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया अमेज़ॅन ने कानूनी धन के दुरुपयोग पर एक आंतरिक जांच शुरू कर दी है जिसमें कहा गया की लीगल फ़ीस के ज़रिये सरकारी अधिकारियों को रिश्वत दी है। 

श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि ऐमज़ान ने एक स्पष्टीकरण जारी कर इस बात को ख़ारिज किया लेकिन ऐमज़ान के अपने स्वयं के द्वारा विभिन्न विभागों में जमा किए गए दस्तावेज़ों के साथ ऐमज़ान का स्पष्टीकरण मेल ही नहीं खाता । उदाहरण के तौर पर केवल दो साल में कानूनी और व्यावसायिक शुल्क के लिए 5262 करोड़ रुपये का भुगतान दिखाता है जो कुल बिक्री का लगभग 8 प्रतिशत है। जबकि ऐमज़ान ने अपने स्पष्टीकरण में इस राशि को केवल 52 करोड़ बताया है। इतना बड़ा खर्च भ्रस्टाचार  निवारण अधिनियम (पीसीए) और धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) और देश के अन्य कानूनों के तहत  तत्काल जांच को मानता है।

श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि चूंकि उक्त कथित आरोप में सरकारी अधिकारियों को रिश्वत देने की बात कही गई है इसलिए यह मुद्दा देश की गरिमा से जुदा है और इसलिए संबंधित विभागों एवं एजेंसियों को इस गंभीर मुद्दे पर स्वतः संज्ञान लेना चाहिए था लेकिन आज तक कोई कार्रवाई दिखाई नहीं दे रही है। जिसके चलते देश के व्यपारी यह समझने को मजबूर है कि एजेंसियों के लिए कुछ भी नहीं हुआ है या “सब चलता है“ रवैया और मानसिकता देश में प्रचलित है और यही कारण है कि कैट प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के हस्तक्षेप की मांग  की है ।
CG BREAKING: जिले के कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत नवरात्र पर्व के संबंध में जारी किए आवश्यक दिशा-निर्देश

CG BREAKING: जिले के कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत नवरात्र पर्व के संबंध में जारी किए आवश्यक दिशा-निर्देश

राजनांदगांव: कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी सिन्हा ने नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के नियंत्रण व रोकथाम तथा आगामी माह में जिले में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में वृद्धि की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए नवरात्र पर्व के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये हैं।

आदेश में कहा गया है कि मूर्ति की अधिकतम ऊंचाई 8 फीट होगी। परन्तु पीओपी (प्लास्टर ऑफ पेरिस) से निर्मित मूर्ति बिक्री व स्थापित करना प्रतिबंधित रहेगा। मूर्ति स्थापना वाले पंडाल का आकार 15&15 फीट से अधिक नहीं होना चाहिए। पंडाल के सामने कम से कम 500 वर्ग फीट की खुली जगह होनी चाहिए। पंडाल व सामने 500 वर्ग फीट की खुली जगह में कोई भी सड़क अथवा गली का हिस्सा प्रभावित न हो।

मंदिर प्रांगण के भीतर नियत स्थान पर सभी ज्योत का प्रज्जवलन किया जाएगा। नियत स्थान पर अग्निशमन सुरक्षा के सभी उपाय किया जाना अनिवार्य होगा। ज्योत दर्शन के लिए दर्शनार्थियों व अन्य व्यक्तियों का प्रवेश पूर्णत: वर्जित रहेगा। ज्योत प्रज्जवलन की जिम्मेदारी केवल मंदिर प्रबंधन समिति की होगी। मंडप या पंडाल के सामने दर्शकों के बैठने के लिए पृथक से पंडाल नहीं लगाया जाएगा। दर्शकों व आयोजकों के बैठने के लिए कुर्सी नहीं लगाई जायेंगी। किसी भी एक समय में मंडप व सामने मिलाकर 50 व्यक्ति से अधिक न हो। मूर्ति दर्शन अथवा पूजा में शामिल होने वाला कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के नहीं जाएगा। ऐसा पाये जाने पर संबंधित व समिति के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति एक रजिस्टर संधारित करेगी। जिसमें दर्शन के लिए आने वाले सभी व्यक्तियों का नाम, पता, मोबाईल नंबर दर्ज किया जाएगा। ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके।

मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति की ओर से सैनेटाईजर, थर्मल स्क्रिनिंग, ऑक्सीमीटर, हैंडवाश व क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की जाएगी। थर्मल स्क्रिनिंग में बुखार पाये जाने अथवा कोरोना से संबंधित कोई भी सामान्य या विशेष लक्षण पाये जाने पर पंडाल में प्रवेश नहीं देने की जिम्मेदारी समिति की होगी। व्यक्ति अथवा समिति की ओर से फिजिकल डिस्टेसिंग आगमन एवं प्रस्थान की पृथक से व्यवस्था बांस बल्ली से बेरिकेटिंग कराकर कराया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में मूर्ति स्थापना की अनुमति नहीं होगी। यदि पूजा की अवधि के दौरान भी उपरोक्त क्षेत्र कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित हो जाता है, तो तत्काल पूजा समाप्त करनी होगी।

मूर्ति स्थापना के दौरान विसर्जन के समय अथवा विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार के भोज भंडारा की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति स्थापना के समय, स्थापना के दौरान, विसर्जन के समय, विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार के वाद्य यंत्र, ध्वनि विस्तारक यंत्र, डीजे बजाने की अनुमति संबंधित अनुविभागीय दंडाधिकारी से लिया जाना अनिवार्य होगा। मूर्ति स्थापना व विसर्जन के दौरान प्रसाद, चरणामृत या कोई भी खाद्य व पेय पदार्थ वितरण की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए एक से अधिक वाहन की अनुमति नहीं होगी व मूर्ति विसर्जन के लिए पिकअप टाटाएस (छोटा हाथी) से बड़े वाहन का उपयोग प्रतिबंधित होगा। मूर्ति विसर्जन के वाहन में किसी भी प्रकार के अतिरिक्त साज-सज्जा, झांकी की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए अधिकतम 10 व्यक्ति की ही अनुमति होगी व वे मूर्ति के वाहन में ही बैठेंगे। पृथक से वाहन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए प्रयुक्त वाहन पंडाल से लेकर विसर्जन स्थल तक रास्ते में कहीं रोकने की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के मार्ग में कहीं भी स्वागत भंडारा, प्रसाद वितरण पंडाल लगाने की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति व पूजन सामग्रियों का विसर्जन सबंधित नगर पालिका, नगर पंचायत, जनपद पंचायत की ओर से निर्धारित विसर्जन कुण्ड में ही किया जाएगा। विसर्जन के लिए संबंधित नगर पालिका, नगर निगम, जनपद पंचायत की ओर से निर्धारित रूट मार्ग व तिथि व समय का पालन करना होगा। शहर के व्यस्त मार्गों से मूर्ति विसर्जन वाहन को ले जाने की अनुमति नहीं होगी। सूर्यास्त के पश्चात् व सूर्योदय के पहले मूर्ति विसर्जन के किसी भी प्रक्रिया की अनुमति नहीं होगी।

सभी शर्तों सहित किसी परिसर के भीतर या सार्वजनिक स्थान पर मूर्ति स्थापित की जाती है, तो कम से कम 3 दिवस पूर्व संबंधित नगर पालिका, नगर पंचायत, जनपद पंचायत के सबंधित कार्यालय में निर्धारित शपथ-पत्र मय आवेदन देना होगा एवं अनुमति प्राप्त होने के उपरांत ही मूर्ति स्थापित की जा सकेगी। किन्तु यह अनुमति किसी भी ऐसे स्थान पर प्रदान नहीं की जायेगी, जिससे सार्वजनिक निस्तार या यातायात बाधित होने की संभावना हो। इन सभी शर्तों के अतिरिक्त भारत सरकार स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय, छत्तीसगढ़ शासन स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग, छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग व जिला प्रशासन की ओर से समय-समय पर जारी निर्देश व आदेश का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। निर्देशों के उल्लंघन करने पर एपीडेमिक डिसीज एक्ट व विधि अनुकूल अन्य धाराओं के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बालिका छात्रावास में महिला अधीक्षक की ड्यूटी लगाएं, सभी एसडीएम को आश्रम एवं छात्रावासों का निरीक्षण करने के दिए निर्देश

बालिका छात्रावास में महिला अधीक्षक की ड्यूटी लगाएं, सभी एसडीएम को आश्रम एवं छात्रावासों का निरीक्षण करने के दिए निर्देश

राजनांदगांव। कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने कहा कि जिले के सभी जर्जर स्कूल, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्र एवं अन्य शासकीय भवन के संबंध में शीघ्र जानकारी उपलब्ध कराएं। ऐसे शासकीय भवन जो क्षतिग्रस्त है, उनकी मरम्मत कराएं तथा ऐसे जर्जर भवन जो मरम्मत के योग्य नहीं है, वहां कार्यालय न लगाएं। उन्होंने सभी एसडीएम से कहा कि जर्जर भवनों के संबंध में सभी बीएमओ, बीईओ एवं सीडीपीओ से प्रमाण पत्र प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से मृत्यु होने वाले व्यक्तियों के परिजनों को आपदा राहत मद से राशि दी जानी है। इसके लिए प्राथमिकता से कार्य करें। जिले में कोविड-19 से 515 लोगों की मृत्यु हुई है। अन्य जिले का निवासी होने की स्थिति में संबंधित जिले से ही दावा राशि प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम आश्रम एवं छात्रावासों का निरीक्षण करें तथा विशेष रूप से बालिका छात्रावास में महिला होमगार्ड की ड्यूटी लगाएं। बालिका छात्रावास में महिला अधीक्षक की ड्यूटी लगाएं। उन्होंने कहा कि जिले के 74 छात्रावासों का निरीक्षण करें। उन्होंने आदिवासी विभाग को निरीक्षण के लिए ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता महत्वपूर्ण है और इससे समझौता नहीं किया जाएगा। सभी निर्माण विभाग भवनों एवं सड़कों का निरीक्षण करें। गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं होने पर कार्रवाई की जाएगी। उक्त बातें कलेक्टर ने साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कही।

कलेक्टर सिन्हा ने राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भूमिहीन कृषि मजदूरों के लिए यह योजना बहुत उपयोगी है। ऐसे जरूरतमंद हितग्राहियों का चिन्हांकन करें। उन्होंने वनमंडलाधिकारी से हाथी प्रभावित मुआवजा के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी मितान क्लब योजना के अंतर्गत आजादी के अमृत महोत्सव पर 2 अक्टूबर महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर विभिन्न खेलकूद, सामाजिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियां प्रारंभ की जानी है। सभी जनपद सीईओ इस दिशा में कार्य करें। राजीव गांधी मितान क्लब योजना के अंतर्गत युवाओं के उत्थान के लिए सकरात्मक गतिविधियों से जोडऩा है। ग्राम, संकुल एवं जिला स्तर पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत ऐसे किसान जिन्होंने पिछले वर्ष धान की फसल ली थी तथा दूसरी बार अन्य फसल ली है, उन्हें 10 हजार रूपए अनुदान राशि की पात्रता होगी। उन्होंने सभी एसडीएम को स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का 15 दिन में निरीक्षण करने के निर्देश दिए। इसके लिए रिक्त पदों पर भर्ती पर की जा रही है। सघन सुपोषण अभियान के तहत जिले के मानपुर, मोहला एवं छुईखदान में कुपोषण दूर करने के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। सभी बीएमओ इसमें विशेष रूप से अपना योगदान दें। आंगनबाड़ी केन्द्र में रेडी-टू-ईट गुणवत्ता की जांच भी जरूर करें। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री सस्ती दवाई योजना, मुख्यमंत्री हॉट बाजार योजना, मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना में प्रगति की जानकारी ली।


जिला पंचायत सीईओ लोकेश चंद्राकर ने सभी जनपद सीईओ को वर्मी कम्पोस्ट निर्माण की गति बढ़ाने के लिए कहा। उन्होंने मनरेगा योजनांतर्गत श्रमिकों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए अंतिम तिथि 30 सितम्बर है। इस कार्य में गति लाएं। यथा शीघ्र जर्जर भवनों के संबंध में जानकारी भेजें। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कहा कि जिले में आरटीपीसीआर एवं एन्टीजन टेस्ट बढ़ाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हॉट बाजार योजना के अंतर्गत पोर्टल में एन्ट्री करना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर वनमंडलाधिकारी राजनांदगांव एन गुरूनाथन, वनमंडलाधिकारी खैरागढ़ संजय यादव, अपर कलेक्टर सीएल मारकण्डेय, नगर निगम आयुक्त आशुतोष चतुर्वेदी, एसडीएम मुकेश रावटे सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान सभी एसडीएम, जनपद सीईओ वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्मय से जुड़े रहे।

बड़ी खबर : कलेक्टर सिन्हा ने 2 संयुक्त कलेक्टरों को दी नई पदस्थापना, जाने क्या है कारण

बड़ी खबर : कलेक्टर सिन्हा ने 2 संयुक्त कलेक्टरों को दी नई पदस्थापना, जाने क्या है कारण

राजनांदगांवकलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने प्रशासनिक दृष्टिकोण से जिले में पदस्थ राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी संयुक्त कलेक्टर व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गण्डई-छुईखदान अरूण कुमार वर्मा को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डोंगरगढ़ एवं संयुक्त कलेक्टर सुनील कुमार शर्मा को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गण्डई-छुईखदान के पद पर अस्थायी रूप से आगामी आदेश पर्यन्त तक पदस्थ किया हैं।

संयुक्त कलेक्टर वर्मा एवं शर्मा अपने-अपने अनुविभाग अंतर्गत भू-अर्जन अधिकारी, सक्षम प्राधिकारी लोक परिसर बेदखली अधिनियम, पंजीयक लोक न्यास, छत्तीसगढ़ भू-राजस्व संहिता, दण्ड प्रक्रिया संहिता, पंचायत राज अधिनियम एवं विभिन्न नियमों व एक्ट अंतर्गत सक्षम प्राधिकारी से संबंधित तथा समय-समय पर सौंपे गये कार्यों का निर्वहन करेंगे।

BIG BREAKING: गणेश विसर्जन के दौरान विवाद होने पर युवती ने युवक पर किया चाकू से वार

BIG BREAKING: गणेश विसर्जन के दौरान विवाद होने पर युवती ने युवक पर किया चाकू से वार

राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले से चौकाने वाला मामला सामने आया है, जहां एक युवती ने युवक को चाकू मार दी। घायल युवक को आनन फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने आरोपी युवती को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, गणेश विर्सजन के दौरान एक युवक और युवती के बीच विवाद हुआ। जिसके बाद युवती ने चाकू निकालकर युवक पर प्राणघातक हमला कर दिया। सूचना मिलते ही मौके पर घटना स्थल पहुंची पुलिस ने युवती को हिरासत में ले लिया है।


पुलिस के मुताबिक राजनांदगांव के कमला कॉलेज के पास कौरिन भांठा तालाब में गणेश विसर्जन के लिए यात्रा निकाली गई थी। इसी दौरान डीजे की धुन पर कुछ युवक-युवती डांस कर रहे थे। आकाश लहरे नाम के युवक ने युवतियों को डांस करने से मना किया।


इसी बात पर युवती ने चाकू निकालकर सीधे युवक के पेट पर हमला कर दिया। घायल युवक की मां ने बसंतपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी युवती के खिलाफ FIR दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है।

पूर्व मंत्री राजिंदरपाल सिंह भाटिया के पार्थिव देह को डॉ रमन ने दिया कंधा, अंतिम विदाई में हुए शामिल...

पूर्व मंत्री राजिंदरपाल सिंह भाटिया के पार्थिव देह को डॉ रमन ने दिया कंधा, अंतिम विदाई में हुए शामिल...

राजनांदगांव। पूर्व परिवहन मंत्री और भाजपा के कद्दावर नेता राजिंदर पाल सिंह भाटिया की अंत्येष्टि में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह शामिल हुए। उन्होंने पार्थिव देह को कंधा देकर अंतिम विदाई दी।

बता दें कि लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे पूर्व मंत्री राजिंदर पाल सिंह भाटिया ने गत दिवस फाँसी लगाकर की ख़ुदकुशी कर ली थी। राजनांदगाँव जिले में बीजेपी के क़द्दावर नेता में और खुज्जी विधानसभा से विधायक रह चुके राजिंदर पाल के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के अलावा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने संवेदना व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की है।

बड़ी खबर राजनांदगांव : भाजपा के इस वरिष्ठ नेता और पूर्व परिवहन मंत्री ने फांसी लगा कर की आत्महत्या, इलाके में मचा हड़कंप

बड़ी खबर राजनांदगांव : भाजपा के इस वरिष्ठ नेता और पूर्व परिवहन मंत्री ने फांसी लगा कर की आत्महत्या, इलाके में मचा हड़कंप

राजनांदगांवभाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व परिवहन मंत्री रजिंदरपाल सिंह भाटिया ने आत्महत्या कर ली है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, रजिंदरपाल सिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। फिलहाल, आत्महत्या के पीछे की वजहों का खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। छुरिया थाना क्षेत्र का पूरा मामला है।

बता दें कि भाटिया खुज्जी विधानसभा से विधायक रह चुके हैं। राजिंदरपाल सिंह भाटिया डॉ रमन सिंह के पहले कार्यकाल में परिवहन विभाग के राज्यमंत्री बनाए गए थे। खुज्जी विधानसभा से तीन बार विधायक चुने गए थे। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट काटे जाने के बाद पार्टी से बग़ावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ते हुए दूसरे नम्बर पर रहे। लेकिन क़द्दावर छवि की वजह से साल 2014 लोकसभा चुनाव के पहले उनकी घर वापसी की गई थी।

 बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : नाबालिग से दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने सुनाई सबसे बड़ी सजा...

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : नाबालिग से दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने सुनाई सबसे बड़ी सजा...

राजनांदगांव। कांकेतरा में सालभर पहले एक मासूम की रेप के बाद हत्या के मामले में राजनांदगांव जिला न्यायालय की पॉक्सो कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए आरोपी को फांसी की सजा दी है। पॉक्सो कोर्ट के विशेष न्यायाधीश शैलेष शर्मा ने मामले में दोनों पक्ष की दलील को सुनने के बाद आरोपी शेखर कोर्राम को जघन्य वारदात का दोषी मानते फांसी की सजा देने के फैसले पर मुहर लगाई।

मिली जानकारी के अनुसार बीते वर्ष 23 अगस्त को कांकेतरा की चार साल की बालिका के साथ रेप कर उसकी गला दबाकर हत्या के मामले में चिखली पुलिस ने एक आरोपी शेखर कोर्राम को गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि आरोपी ने ऐसे वक्त में घटना को अंजाम दिया था, जब पूरा गांव तीज और गणेश पर्व की खुशी में शामिल था। 

घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी ने अबोध बालिका की हत्या कर लाश को खंडहरनुमा मकान में छुपा दिया था और गांव वालों के साथ मिलकर बालिका की तलाश करने का नाटक भी करता रहा। इधर सालभर के भीतर पॉक्सो के फास्ट कोर्ट ने आरोपी के विरूद्ध प्रस्तुत किए गए लोक अभियोजक के साक्ष्यों के आधार पर फांसी का फैसला सुनाया है। कोर्ट ने बचाव पक्ष के वकील के दलीलों को खारिज कर दिया।

शासकीय अभियोजक परवेज अख्तर ने पूरे प्रकरण में आरोपी के कृत्य को देखते कोर्ट से फांसी की सजा दिए जाने की अपील की थी। घटना से आहत परिजनों ने भी सरकार से फांसी दिए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन भी किया था। नांदगांव न्यायालय में पॉक्सो के आरोपी को फांसी दिए जाने का यह पहला मामला भी है।
 
छत्तीसगढ़ में फिर से लॉकडाउन की शुरुआत! इस जिले में सिनेमा घरों और वाटर पार्क को बंद करने के आदेश जारी, जाने क्या है कारण

छत्तीसगढ़ में फिर से लॉकडाउन की शुरुआत! इस जिले में सिनेमा घरों और वाटर पार्क को बंद करने के आदेश जारी, जाने क्या है कारण

राजनांदगांव। पूरे देश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच छत्तीसगढ़ में कुछ जगहों पर कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र की सीमा से लगे राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ ब्लॉक में सबसे ज्यादा कोरोना के पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे हैं, इसको देखते हुए ऐतिहातन शहर के सिनेमा घरों और वाटर पार्क को बंद करने का आदेश प्रशासन द्वारा जारी कर दिया गया है। प्रशासन के इस फैसले को ज्यादा केस बढ़ने पर लॉकडाउन के संकेत भी माना जा रहा है।
राजनांदगांव जिला प्रशासन अब बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए अलर्ट मोड पर है, जिला प्रशासन लगातार अपने पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के आंकड़ों पर नजर बनाए हुए है और साथ ही साथ तीसरी लहर से निपटने के लिए भी जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार है, कलेक्टर ने आम जनता से कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन की अपील की है और साथ ही साथ आगामी त्योहारों के समय को देखते हुए कोरोना प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने की भी अपील की है।
गौरतलब है कि दूसरी लहर के शुरुआती दौर में छत्तीसगढ़ के सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले महाराष्ट्र सीमा से लगे इलाकों में ही सामने आए थे, इसको देखते हुए प्रशसन अलर्ट मोड में है और ऐहतियातन सिनेमा घर और वाटर पार्क को बंद कर दिया गया है।
 

BIG BREAKING: भाजपा नेता सुसाइड केस की गुत्थी सुलझी, महिला ने प्रेमजाल में फंसाकर वसूले पौने दो करोड़

BIG BREAKING: भाजपा नेता सुसाइड केस की गुत्थी सुलझी, महिला ने प्रेमजाल में फंसाकर वसूले पौने दो करोड़

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में भाजपा नेता संजीव जैन सुसाइड केस की गुत्थी पुलिस ने सुलझा दी है, संजीव जैन सुसाइड केस में अंतरराज्यीय ठग फैमिली का भंडाफोड़ हुआ है। पुलिस ने आरोपी मानसी यादव और उसके पति ललित सिंह को गिरफ्तार किया है। महिला ने संजीव को अपने प्रेम जाल में फंसाया और ब्लैकमेल कर पौने दो करोड़ रुपए वसूले थे। इसके बाद और रुपए मांग रहे थे। इसी से तंग आकर संजीव ने सुसाइड कर लिया था। इस ठगी में महिला का देवर कौशल सिंह भी शामिल है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।


दरअसल, 10 अगस्त की रात भाजपा नेता बसंतपुर क्षेत्र के हीरा-मोती लाइन निवासी संजीव जैन ने खुदकुशी कर ली थी। उनका शव कुंआ चौक नंदई स्थित पुराने घर के ही एक कमरे में फंदे से लटका मिला था। मौके से 10-12 पेज का सुसाइड नोट मिला। उसमें डेढ़ करोड़ रुपए का कर्ज होने और उसे चुकाने के लिए लोन के लिए अप्लाई करने के बाद भी पास नहीं होने की बात लिखी थी। पुलिस जांच में एक लड़की की ब्लैकमेलिंग का मामला सामने आया था।


बैंक खातों की डिटेल ने आरोपियों तक पहुंचाया
पुलिस ने सुसाइड नोट में मिले नामों के साथ बैंक की डिटेल चेक की। पता चला कि संजीव जैन ने किसी मानसी यादव के अकाउंट में 1.77 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए हैं। पुलिस ने मानसी की तलाश शुरू की। रायपुर, दिल्ली और मेरठ टीम भेजी गई, तो पता चला कि बैंक में दर्ज पते पर वह सालों से नहीं रह रही थी। इस बीच पुलिस को पता चला कि मानसी रायपुर स्थित अपनी बहन मधु के घर तीज मनाने पहुंची है। इस पर पुलिस ने घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया।

रॉन्ग नंबर के जरिए 8 साल पहले हुई थी संजीव से जान-पहचान
पूछताछ में मानसी ने पुलिस को बताया कि करीब 8 साल पहले रॉन्ग नंबर लगने से संजीव जैन से उसकी पहचान हुई थी। बातचीत के दौरान उसे पता चला कि संजीव पैसे वाला है। इस पर संजीव को प्रेम जाल में फंसाया। कई बार वह संजीव से मिलने राजनांदगांव आई। वहीं, संजीव को भी रायपुर और मेरठ बुलाया। इस बीच दोनों में हर बार शारीरिक संबंध भी बने। मानसी कभी पढ़ाई, कभी नौकरी तो कभी मकान खरीदने के नाम पर रुपए लेती और लोन पास होने पर लौटाने का झांसा देती।

बैंक लोन के लिए अपने पति और देवर को बनाया बैंक अफसर
मानसी ने बैंक लोन लेने की बात कहकर पति ललित सिंह को मोहित शर्मा और देवर कौशल सिंह को निखिल जैन व आशीष बनाकर संजीव से बात कराई। इसके बाद से उसका पति ललित व कौशल ने खुद को बैंक अफसर बताया और लोन दिलाने के नाम पर प्रोसेसिंग फीस के रूप में लाखों रुपए मानसी और अलग-अलग लोगों के खाते में ट्रांसफर कराए। संजीव रुपए देने से मना करता तो आरोपी उसे बदनाम करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करते।

सुसाइड नोट में संजीव ने फेडरल और यूनियन बैंक के अफसरों का किया था जिक्र
पुलिस गिरफ्त में आए दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश में मेरठ के गंगानगर के रहने वाले हैं। वहीं मानसी का ससुराल है। जबकि रायपुर में उसका मायका है। इस मामले में अन्य आरोपियों के भी शामिल होने की बात सामने आई है। पुलिस उनका भी पता लगा रही है। संजीव ने अपने सुसाइड नोट में यूनियन बैंक के निखिल जैन और फैडरल बैंक के आशीष व अन्य व्यक्तियों के लोन दिलाने के नाम पर 1.75 करोड़ रुपए लेने और परेशान होकर खुदकुशी की बात लिखी थी।

CG NEWS: राजनांदगांव को मुख्यमंत्री ने दी सवा तीन करोड़ की सौगात

CG NEWS: राजनांदगांव को मुख्यमंत्री ने दी सवा तीन करोड़ की सौगात

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय से गणेश चतुर्थी के अवसर पर राजनांदगांव जिले को सवा तीन करोड़ रूपए के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से माँ बम्लेश्वरी की पावन नगरी डोंगरगढ़ में ढाई करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के नवीन भवन के निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर राजनांदगांव जिले के ग्राम मानपुर एवं मुढ़ीपार में सहकारी बैंक के शाखा भवन के निर्माण कार्य का शिलान्यास भी किया। ये दोनों भवन 36-36 लाख रूपए की लागत से बनाए जाएंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर, उद्योग मंत्री कवासी लखमा उपस्थित थे। कार्यक्रम में खाद्य मंत्री और राजनांदगांव जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत अम्बिकापुर से वर्चुअल रूप से जुड़े।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ में विकासखंड से लेकर जिला मुख्यालय तक सभी सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करना हमारी सर्वाेच्च प्राथमिकता है। राजनांदगांव जिले के साथ-साथ पूरे छत्तीसगढ़ में इसी तरह के चाक-चौबंद इंतजाम किए जा रहे हैं। अस्पतालों में बिस्तरों, उपकरणों, चिकित्सकों, मेडिकल-स्टाफ, ऑक्सीजन, वेंटीलेटर, कंस्ट्रेटर सहित किसी भी चीज की कमी नहीं होने दी जाएगी। अछोली में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नये भवन के साथ-साथ 10 लाख रुपए की लागत से स्वीकृत अतिरिक्त 10 बिस्तर कोविड केयर वार्ड, और 20 लाख रुपए की लागत से बनने वाले मर्चुरी भवन के निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के पिछले अनुभवों से सीख लेते हुए तीसरी लहर से निपटने के लिए हर जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं। राजनांदगांव जिले के सभी शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था के लिए ऑक्सीजन बेड की संख्या में बढ़ोतरी की गई है। मेडिकल कॉलेज पेंड्री के 520 बेड सहित विभिन्न अस्पतालों में कुल 970 बिस्तरों पर पाइप लाइन के माध्यम से ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था कर ली गई है। चिन्हित शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की स्थापना की जा रही है। राजनांदगांव जिले में सुरक्षित टीका, सुरक्षित परिवार अभियान काफी सफल रहा है। अब तक जिले में 10 लाख से ज्यादा लोगों ने टीके लगवा लिए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंहदेव और खाद्य मंत्री तथा राजनांदगांव जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने कार्यक्रम को सम्बोधित किया। उल्लेखनीय है कि मानपुर और खैरागढ़ विकासखंड स्थिति मुढ़ीपार राजनांदगांव जिले के सुदूर अंचल के गांव है। किसानों की सहूलियत के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 24 जुलाई 2021 को जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के नव नियुक्त अध्यक्ष के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उक्त दोनों ग्रामों में सहकारी बैंक की शाखा के भवन निर्माण की घोषणा की थी। जिसके तहत आज इन भवनों का शिलान्यास भी किया गया।

डोंगरगढ़ के कार्यक्रम स्थल पर छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं डोंगरगढ़ के विधायक भुनेश्वर शोभाराम बघेल, संसदीय सचिव एवं मोहला-मानपुर के विधायक इन्द्रशाह मंडावी, छत्तीसगढ़ अन्य पिछड़ा वर्ग प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं डोंगरगांव के विधायक दलेश्वर साहू, छत्तीसगढ़ राज्य अंत्यावसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष धनेश पटिला, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक राजनांदगांव के अध्यक्ष नवाज खान, जिला पंचायत सदस्य श्रीमति पुष्पा गौकरण वर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधियों उपस्थित थे।

 CG में दर्दनाक सड़क हादसा: तेज रफ्तार पिकअप वाहन पलटने से दो की मौत, दो घायल

CG में दर्दनाक सड़क हादसा: तेज रफ्तार पिकअप वाहन पलटने से दो की मौत, दो घायल

राजनांदगांव। जिले के मोहला थाना इलाके में दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। तेज रफ्तार पिकअप वाहन का टायर फटने से वाहन पलट गया।जिसके चलते गाड़ी में बैठे दो लोगों की मौत हो गई तथा एक महिला घायल हो गई। इस दौरान वाहन की चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत हो गई।


मिली जानकारी के मुताबिक 03 सितंबर को दोपहर 04.00 बजे राजंनांदगांव ये पिकअप क्रमांक सीजी 08 एएन 8063 में काला पत्थर व सीमेंट बोरी भरकर अपने घर ग्राम सारदा आ रहा था तभी पीकप तेज गति से होने की वजह से अनियंत्रित होकर पलट गया। पिकअप पलटने की वजह से उसमें बैठे अतुल किरंगे पिता धन्नू किरंगे उम्र 17 साल तथा  देवेन्द्र नुरेटी पिता रामदास उम्र 16 वर्ष दोनो ग्राम सारदा की मौत हो गई है तथा एक महिला व पुरुष घायल हो गए है।पिकअप चालक अरविंद कुमार साव पिता अनंतलाल साव उम्र 40 साल निवासी सरखेड़ा थाना औधी के खिलाफ अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव बरामद कर पीएम के लिए अस्पताल भेजा है।  
 छत्तीसगढ़: गणेशोत्सव के लिए पूर्व में जारी दिशा-निर्देश में कलेक्टर ने किया आंशिक संशोधन

छत्तीसगढ़: गणेशोत्सव के लिए पूर्व में जारी दिशा-निर्देश में कलेक्टर ने किया आंशिक संशोधन

राजनांदगांव। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी तारन प्रकाश सिन्हा ने कोरोना संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए गणेशोत्सव के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिसमें आंशिक संशोधन किया गया है। आदेश में कहा गया है कि मूर्ति की ऊंचाई एवं चौड़ाई 4 बाई 4 से अधिक नहीं होना चाहिए। मूर्ति स्थापना वाले पंडाल का आकार 15 बाई 15 फिट से अधिक न हो। 

पंडाल के सामने कम से कम 1000 वर्गफीट की खुली जगह होनी चाहिए। पंडाल एवं सामने खुली जगह में कोई भी सड़क अथवा गली का हिस्सा प्रभावित न हो। मंडप या पंडाल के सामने दर्शकों के बैठने के लिए पृथक से पंडाल न हो। दर्शकों एवं आयोजकों के बैठने के लिए कुर्सी नहीं लगाई जाएगी। किसी भी एक समय में मंडप एवं सामने मिलाकर 20 व्यक्ति से अधिक न हों।

 मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति एक रजिस्टर संधारित करेगी, जिसमें दर्शन हेतु आने वाले सभी व्यक्तियों का नाम, पता, मोबाईल नंबर दर्ज किया जाएगा, ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कान्टेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके। 

मूर्ति दर्शन अथवा पूजा में शामिल होने वाला कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के नहीं जाएगा। ऐसा पाए जाने पर संबंधित एवं समिति के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई की जायेगी। मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति व समिति द्वारा सेनिटाईजर, हैण्डवाश की व्यवस्था की जायेगी। 

कोरोना से संबंधित कोई भी सामान्य व विशेष लक्षण पाए जाने पर पंडाल में प्रवेश नहीं दिये जाने की जिम्मेदारी समिति की होगी। कोरोना प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। व्यक्ति अथवा समिति द्वारा फिजिकल डिस्टेंसिंग, आगमन एवं प्रस्थान की पृथक से व्यवस्था बांस-बल्ली से बेरिकेटिंग कराकर किया जाएगा। 

कंटेनमेंट जोन में मूर्ति स्थापना की अनुमति नहीं होगी। यदि पूजा की अवधि के दौरान भी क्षेत्र कंटेनमेंट जोन घोषित हो जाता है, तो तत्काल पूजा समाप्त करनी होगी। मूर्ति स्थापना के दौरान, विसर्जन के समय अथवा विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार के भोजन, भण्डारा, जगराता अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं होगी। 

मूर्ति स्थापना के समय, स्थापना के दौरान, विसर्जन के समय, विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार के वाद्य यंत्र, ध्वनि विस्तारक यंत्र, डीजे बजाने की अनुमति संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से लिया जाना आवश्यक होगा। मूर्ति स्थापना, विसर्जन के दौरान प्रसाद, चरणामृत या कोई भी खाद्य अथवा पेय पदार्थ वितरण की अनुमति नहीं होगी। 

मूर्ति विसर्जन के लिए एक से अधिक वाहन की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए पीकअप, टाटा एस से बड़े वाहन का उपयोग प्रतिबंधित होगा। मूर्ति विसर्जन के वाहन में किसी भी प्रकार की अतिरिक्त साज-सज्जा, झांकी की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए 10 से अधिक व्यक्ति नहीं जा सकेंगे एवं मूर्ति के वाहन में ही बैठेंगे। पृथक से वाहन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। 

मूर्ति विसर्जन के लिए प्रयुक्त वाहन पंडाल से लेकर विसर्जन स्थल तक रास्ते में कहीं रोकने की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के लिए नगर निगम द्वारा निर्धारित रूटए मार्ग, तिथि एवं समय का पालन करना होगा। शहर के व्यस्त मार्गों से मूर्ति विसर्जन वाहन को ले जाने की अनुमति नहीं होगी। 

विसर्जन मार्ग में कहीं भी स्वागत, भण्डारा, प्रसाद वितरण पंडाल लगाने की अनुमति नहीं होगी। सूर्यास्त के पश्चात् एवं सूर्योदय के पहले मूर्ति विसर्जन के किसी भी प्रक्रिया की अनुमति नहीं होगी। उपरोक्त शर्र्तों के साथ घरों में मूर्ति स्थापित करने की अनुमति होगी, यदि घर से बाहर मूर्ति स्थापित किया जाता है, तो कम से कम 7 दिवस के पूर्व नगर पालिक निगम कार्यालय में आवेदन देना होगा एवं अनुमति प्राप्त होने के उपरान्त ही मूर्ति स्थापित करने की अनुमति होगी। 

इन सभी शर्तों के अतिरिक्त भारत सरकार, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी निर्देश या एसओपी का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। निर्देश का उल्लंघन करने पर संबंधित के विरूद्ध एपिडेमिक डिसीज एक्ट एवं विधि अनुकूल नियमानुसार अन्य धाराओं के तहत् कठोर कार्रवाई की जाएगी
छत्तीसगढ़: किशोरी से प्रेमी ने किया दुष्कर्म, फिर गैंगरेप की हुई शिकार

छत्तीसगढ़: किशोरी से प्रेमी ने किया दुष्कर्म, फिर गैंगरेप की हुई शिकार

राजनादगांव। जिले के गातापार थाना क्षेत्र में किशोरी से दोहरे रेप का मामला सामने आया है। छात्रा देर रात अपने प्रेमी से मिलने सुनसान जगह पर गई थी। जहाँ पहले प्रेमी ने उसके साथ दुष्कर्म किया और छोड़कर भाग गया। इसी बीच बाइक सावर तीन युवकों ने लड़की से गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया है। मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।


बता दे कि पूरा घटना 15 अगस्त की रात एक से तीन बजे के बीच की है। 15 वर्षीय नाबालिग अपने ही स्कूल में पढ़ रहे लड़के से प्रेम करती थी। दोनों अक्सर छिप-छिप कर मिलते थे। लड़की के पिता की मौत बहुत पहले ही हो चुकी थी। वह अपनी मां के साथ गांव में अकेली रहती है और पढ़ाई करती है। प्रेमी लड़के के बुलाने पर युवती रात एक बजे मिलने पहुंच गई। सूनसान जगह में लड़के ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसी बीच बाइक की आवाज आई तो लड़का उसे छोड़कर भाग निकला। 

पुलिस ने बताया कि इसके बाद लड़की अकेले ही घर जाने के लिए निकल गई। रास्ते में बाइक सवार तीन लड़कों ने उसे रोका और उठाकर जंगल की ओर ले गए। वहां नहर किनारे उसके हाथ-मुंह कपड़े से बांध दिया और दुष्कर्म किया। किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी और वहां से भाग निकले। लड़की किसी तरह से अपने घर पहुंची। हालत देखकर मां ने पूछा तो उसने प्रेमी के दुष्कर्म करने कर बात बताई। आरोपी लड़के के खिलाफ मामला दर्ज होने पर पुलिस ने उसी दिन उसे पकड़ कर बाल सुधार गृह भेज दिया। युवकों की धमकी से डरी किशोरी गैंगरेप की बात छिपा गई। प्रेमी के पकड़े जाने के दो दिन बाद 18 अगस्त को लड़की ने अपनी मां को गैंगरेप होने की भी जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने डुमरडीह गांव निवासी तीनों आरोपी कामेश्वर वर्मा, कौशल पटेल और राजेश वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है।
छत्तीसगढ़ में ASI गिरफ्तार: 15 वर्षीय किशोरी से रेप के मामले में हुआ गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ में ASI गिरफ्तार: 15 वर्षीय किशोरी से रेप के मामले में हुआ गिरफ्तार

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के छुईखदान थाने में पदस्थ एएसआई को रेप और जान से मारने की कोशिश में गिरफ्तार किया गया है।


आरोपी  कई दिनों से 15 साल की बच्ची का शोषण कर रहा था। नाबालिग को डराने और धमकाने के लिए उसके दोनों पैर भी जला दिए थे। बच्ची के पैर पर जलने के निशान भी हैं। आरोपी एएसआई नरेंद्र गहीने है। नरेंद्र थाना परिसर में बने सरकारी क्वार्टर में अकेला रहता था। उसने एक महिला को घर का खाना बनाने और बाकी काम करने के लिए काम पर रखा था। 

पीडि़त की मां पिछले एक साल से नरेंद्र के घर खाना बनाने के लिए आ रही थी। कोरोना काल के समय उसकी तबीयत खराब हो गई। उस समय वो अपनी बेटी को खाना बनाने के लिए भेज दिया करती थी। इस दौरान वह नाबालिग से छेड़छाड़ करने लगा। नरेंद्र ने मौका पाकर नाबालिग से दुष्कर्म किया। साथ ही धमकी दी कि अगर वह किसी को बताएगी तो उसे जान से मार देगा। इसके बाद नरेंद्र अक्सर नाबालिग का शोषण करने लगा। इस दौरान पीडि़त इसका विरोध करती थी, लेकिन आरोपी डरा-धमकाकर हर बार उसे चिप करा देता था। 

पीडि़ता ने अपने माँ को बताई आप बीती 
एक दिन आरोपी ने लड़की के दोनों पैर भी जला दिए। इसके बाद पीडि़त ने पूरी कहानी अपनी मां को बताई। बाद में पूरे मामले की लिखित में शिकायत पुलिस में की गई। छुईखदान थाना प्रभारी रामेश्वर देशमुख ने बताया कि आरोपी एएसआई  नरेंद्र गहीने को गिरफ्तार कर लिया गया है। 14 अगस्त को पीडि़त की मां शिकायत लेकर थाने पहुंची थी। 16 अगस्त को पुलिस ने एफआईआर दर्ज की और देर रात नरेंद्र गहीने को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि पीडि़त की मां आरोपी पुलिस वाले के घर खाना बनाने का काम करती थी। इसी बीच उसकी बेटी ए एस आई के संपर्क में आई थी।
एक युवक की डीजे की धुन के बीच दूसरे युवक से बहसबाजी हो गई, दोस्तों को बुलाकर युवक को मार डाला

एक युवक की डीजे की धुन के बीच दूसरे युवक से बहसबाजी हो गई, दोस्तों को बुलाकर युवक को मार डाला

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव शहर के मठपारा क्षेत्र में बड़ी वारदात सामने आई है, बीती रात एक युवक की डीजे की धुन के बीच दूसरे युवक से बहसबाजी हो गई, झगड़ा इतना बढ़ गया कि दूसरे गुट के पांच लोगों ने मिलकर उसकी हत्या कर दी। इस हत्याकांड में एक नाबालिग भी शामिल था। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। और आगे की विवेचना कर रही है।

डीजे पर डांस के दौरान विवाद बना हत्या की वजह
एडिशनल एसपी प्रज्ञा मेश्राम ने बताया कि राजनांदगांव शहर के मठपारा क्षेत्र में 15 अगस्त की देर रात प्रवीण यादव की हत्या हो गई थी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में डीजे की धुन पर प्रवीण यादव डांस कर रहा था, इसी डांस के दौरान आरोपी और मृतक के बीच धक्का-मुक्की हो गई और विवाद काफी बढ़ गया। जिसके बाद आरोपी ने अपने कुछ साथियों को फोन करके बुलाया लिया, सभी हाथों में धारदार हथियार लेकर वहां पहुंच गए और पहुंचते ही प्रवीण यादव की पीठ पर वार कर दिया। जिससे प्रवीण वहीं लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गया। पूरे मामले की सूचना वहां मौजूद लोगों ने पुलिस को दी, मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रवीण यादव को मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल ली गई, जहां डॉक्टरों ने उसकी जांच करने के बाद मृत घोषित कर दिया।


डांस के दौरान धक्का-मुक्की,फिर बाद में पीठ में मारा खंजर
बताया जा रहा है कि पहले से ही मृतक और आरोपियों के बीच आपसी रंजिश चल रही थी, लेकिन पुलिस ने आपसी रंजिश की बात से इंकार किया है। एडिशनल एसपी का कहना है कि कुछ स्थानीय लोग डांस कर रहे थे, तभी आरोपी के द्वारा धक्का-मुक्की की गई और विवाद बढ़ने पर अपने साथियों को बुलाकर धारदार हथियार से प्रवीण यादव पर हमला किया गया, जिससे उसकी मौत हो गई।

वारदात में शामिल आरोपी गिरफ्तार
स्वतंत्रता दिवस की रात को खूनी खेल खेलने वाले सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है। घटना के बाद पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए इस वारदात में शामिल शकील कुरैशी(24),सोहेल कुरैशी(22),अभिषेक सकोरे(24),और नावेद उर्फ राजा(26) सहित एक नाबालिग को पकडा गया है। इस हत्याकांड के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति भी निर्मित हो गई, वहीं आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद मामला शांत हुआ है। बहराल पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

 छत्तीसगढ़: अस्पताल के छठवें मंजिल से कूदकर मरीज ने दी जान

छत्तीसगढ़: अस्पताल के छठवें मंजिल से कूदकर मरीज ने दी जान

राजनांदगांव। राजनांदगांव के मेडिकल कॉलेज अस्पताल के 6 वें माले से एक मरीज ने कूदकर जान दे दी है। अचानक हुई इस वारदात के बाद अस्पताल और मेडिकल कॉलेज परिसर में हड़कंप मच गया है। मरीज ने किन कारणों से छलांग लगाई और मौत को गले लगा लिया, यह फिलहाल पहेली है। जानकारी के मुताबिक छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले मेडिकल कॉलेज अस्पताल के 6 मंजिल से एक मरीज छलांग लगा दी। इस वारदात की वजह से मरीज की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। सूचना मिलते ही मौके पर घटना स्थल पहुंची पुलिस ने मामले के जांच कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, मामला लालबाग थाना के पेंड्री मेडिकल कॉलेज अस्पताल का है। मृतक मानसिक रोगी था। फिलहाल मामले की पूरी जानकारी पता नहीं चला है। पुलिस हर तरह से मामले की जांच कर रही है।
अजजा वर्ग के रहवासियों के विरूद्ध 245 प्रकरणों की वापसी

अजजा वर्ग के रहवासियों के विरूद्ध 245 प्रकरणों की वापसी

राजनांदगांव। उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति एके पटनायक की अध्यक्षता में समिति की अनुशंसा के आधार पर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अनुसूचित जनजाति वर्ग के रहवासियों के विरूद्ध कुल 245 प्रकरणों की वापसी का आदेश दिया गया था। आदेश के परिपालन में जिला राजनांदगांव के विभिन्न न्यायालयों में धारा 321 दप्रस का आवेदन प्रस्तुत कर प्रकरण वापसी की कार्रवाई पूर्ण करा ली गई है। जिला राजनांदगांव के न्यायालयों में अनुसूचित जनजाति वर्ग के रहवासियों के विरूद्ध कोई भी प्रकरण वापसी के लिए लंबित नहीं है। कुल 245 प्रकरणों में 280 अनुसूचित जनजाति वर्ग के रहवासियों के विरूद्ध प्रकरण वापसी की कार्रवाई कराई गई। 

 पुलिस महकमे में बड़ा फेरबदल : 11 इंस्पेक्टरो के साथ 7 SI का तबादला, देखें पूरी सूची

पुलिस महकमे में बड़ा फेरबदल : 11 इंस्पेक्टरो के साथ 7 SI का तबादला, देखें पूरी सूची

राजनांदगांवः छत्तीसगढ़ में तबादला का दौर जारी है इसी कड़ी में राजनांदगांव जिले के पुलिस महकमे में एक बार फिर बड़ा फेरबदल किया गया है. विभिन्न थानों में पदस्थ 18 निरीक्षक और उप निरीक्षकों का सोमवार को ट्रांसफर किया गया है. इस संबंध में पुलिस अधीक्षक डी श्रवन ने आदेश जारी कर दिया है. जारी आदेश में 11 निरीक्षक और 7 उप निरीक्षकों का नाम शामिल है.
 
देखें सूची-
+ Load More