कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
छत्तीसगढ़: अब ये जिला 31 मई रात्रि 10 बजे तक कन्टेनमेंट जोन घोषित हुआ, देखे क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

छत्तीसगढ़: अब ये जिला 31 मई रात्रि 10 बजे तक कन्टेनमेंट जोन घोषित हुआ, देखे क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

राजनांदगांव। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी ने जिले में कोरेाना वायरस (कोविड-19) पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए सम्पूर्ण राजनांदगांव जिले को 31 मई रात्रि 10 बजे तक पूर्ववत् कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। सार्वजनिक आवागमन एवं अन्य गतिविधियों के संबंध में प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। इस अवधि में राजनांदगांव जिले की सभी सीमाएं पूर्णत: सील रहेगी।
कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने आदेश में कहा है कि प्रतिबंधों एवं सम्पूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के बाद कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संक्रमण दर एवं इससे होने वाली मौतों की संख्या में आंशिक रूप से कमी हुई है, परन्तु अभी भी जिले के शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी संक्रमण का विस्तार हो रहा है। वर्तमान में संक्रमण का पॉजिटिव दर लगभग 10 प्रतिशत बना हुआ है। ऐसी स्थिति में मुक्त आवागमन से आम जनता के जन स्वास्थ्य को गंभीर खतरा उत्पन्न होने की आशंका है। जिससे सम्पूर्ण जिले में कंटेनमेंट जोन की अवधि को बढ़ाया जाना आवश्यक है।
आदेश में कहा गया है कि आगामी आदेश तक प्रत्येक रविवार को दवा दुकानों, अस्पताल, क्लीनिक, पेट्रोल पंप, शासकीय उचित मूल्य की दुकान, दुध, एलपीजी गैस, न्यूज़ पेपर की होम डिलिवरी को छोड़कर शेष सारी गतिविधियां पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगी। सभी सुपर मार्केट, सुपर बाजार, सब्जी बाजार, मॉल, शो-रूम, मैरिज हाल, स्विमिंग पूल, क्लब, सिनेमा हॉल, सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा, जिम तथा अन्य सार्वजनिक स्थल बंद रहेंगे। सभी पान-सिगरेट ठेला तथा चौपाटी, चाट, समोसा, चाय, गुपचुप, फास्ट-फूड इत्यादि के विक्रय के लिए ठेलों, दुकानों का संचालन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। इस अवधि में केवल दवा दुकानों, अस्पताल, क्लीनिक एवं पशु चिकित्सालय को अपने निर्धरित समय पर खुलने की अनुमति होगी। दवा दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देंगे। ऑक्सीजन सिलेण्डर की होम डिलिवरी की जा सकेगी। शासकीय उचित मूल्य की दुकानों को जिला खाद्य अधिकारी राजनांदगांव द्वारा निर्धारित समयावधि में खुलने की अनुमति होगी, किन्तु मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग, नियमित सेनिटाईजेशन एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम का कड़ाई से पालन कराया जाना आवश्यक होगा साथ ही टोकन व्यवस्था के साथ अलग-अलग निर्धारित तिथियों में उचित मूल्य दुकानों को खेलने हेतु जिला खाद्य अधिकारी द्वारा पृथक से आदेश जारी किया जायेगा, जिसका पालन आवश्यक होगा। कृषि संबंधी कार्यों के लिए जिले के कीटनाशक दवा-राासायनिक खाद विक्रेताओं एवं कृषि उपकरणों से संबंधित दुकान, छड़, सिमेंट, हार्डवेयर, चश्मा दुकान, मोबाईल रिचार्ज दुकान, धोबी (लांड्री, ड्रायक्लीनर्स) को दोपहर 3 बजे तक दुकान खोलने की अनुमति होगी, किन्तु सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क एवं सेनिटाइजर का उपयोग आवश्यक होगा। जिले के समस्त डाकघर, कोरियर सेवाओं को महत्वपूर्ण पत्र, पार्सल की प्राप्ति एवं वितरण के लिए कार्यालयीन समय में संचालन की अनुमति होगी। वनोपज से संबंधित कार्य संग्रहण, विपणन एवं परिवहन आदि की अनुमति होगी। सभी ऑनलाईन डिलीवरी जैसे अमेजान, फ्लिपकार्ट एवं अन्य द्वारा होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी।
विश्वविद्यालय, महाविद्यालयीन परीक्षाओं को दृष्टिगत रखते हुए स्टेशनरी, फोटो कापी, कम्प्यूटर (ऑनलाईन सेंटर) से संबंधित दुकानों को प्रात: 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक खोले जाने की अनुमति होगी। जोमेटो, स्वीगी आदि कंपनियों तथा रेस्टोरेंट एवं होटल द्वारा होम डिलिवरी रात्रि 9 बजे तक की
जा सकेगी। सीधे किसानों, उत्पादकों से सप्लाई की शर्त पर फल, सब्जी को गली मोहल्लों एवं कॉलोनियों में विक्रय की अनुमति केवल स्ट्रीट वेंडर्स अर्थात् ठेले वालों को प्रात: 6 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक ही होगी। इसी अवधि में किराना सामग्री, पोल्ट्री, मटन, मछली, अण्डा की दुकानों को खोलने की छूट होगी, कोई भी व्यवसायी दुकान में तीन से अधिक कर्मचारी नहीं रख सकेगा। मास्क धारण करना एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा। संबंधित नगरीय निकाय के सक्षम प्राधिकारी इसकी निगरानी करेंगे एवं निर्देशों के उल्लंघन की दशा में ठेले को जब्त करने, अर्थदण्ड या चालान की कार्रवाई करेंगे। आटाचक्की प्रात: 6 बजे से दोपहर 3 बजे तक खोले जाने की अनुमति होगी, किन्तु दुकान पर ग्राहकों को एकत्रित नहीं किया जायेगा। आवश्यक वस्तुओं (किराना, फल, सब्जी, आलू, प्याज) थोक का परिवहन करने वाले वाहनों को ट्रांस्पोर्ट नगर से शहर के भीतर केवल रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक माल अनलोडिंग करने की छूट होगी। पेट्रोल पंप अपने निर्धारित समय पर सभी के लिए खुल सकेंगे। स्कूटर, मोटरसाइकल रिपेयरिंग व पंचर रिपेयरिंग व ऑटोपार्ट्स की दुकानों को शाम 3 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। दुग्ध पार्लर व दुग्ध-वितरण तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समयावधि प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक एवं संध्या 6 बजे से संध्या 7.30बजे तक ही होगी। साथ ही यह स्पष्ट किया गया है कि दुग्ध व्यवसाय के लिए कोई भी दुकान, पार्लर नहीं खोले जायेंगे। केवल दुकान, पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। पैट शॉप, एक्वेरियम को केवल पशुओं पशुचारा देने के लिए प्रात: 6 बजे से दोपहर 3 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। एलपीजी गैस सिलेण्डर की एजेंसियां केवल टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहक को सिलेण्डरों की घर पहुँच सेवा उपलब्ध करायेंगे। विद्युत उपकरणों (पंखा, कूलर, फ्रीज, एसी इत्यादि) के मरम्मत एवं प्लम्बर, सेनिटरी फिटिंग से संबंधित दुकानें, इलेक्ट्रानिक्स की दुकानें दोपहर 3 बजे तक खुली रह सकेंगे तथा घर पहुँच रिपेयरिंग सुविधा दे सकेंगे। छूट प्राप्त दुकानों के व्यवसायी के घर में यदि कोई भी सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है, तो उन्हें दुकान खोलने की अनुमति नहीं होगी। यदि मौके पर दुकान खुला पाया गया, तो दुकान सील कर अर्थदण्ड अधिरोपित की जायेगी।
औद्योगिक संस्थानों एवं निर्माण इकाईयों को अपने कैम्पस के भीतर मजदूरों को रखकर व अन्य आवश्यक व्यवस्था रखते हुए उद्योगों के संचालन व निर्माण कार्यों की अनुमति होगी। लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, वन विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, मनरेगा आदि श्रममूलक कार्य संचालित हो सकेंगे। निजी भवन निर्माण, मरम्मत कार्य कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए दोपहर 3 बजे तक कर सकेंगे। इस अवधि के दौरान सम्पूर्ण जिला अंतर्गत संचालित समस्त शराब दुकानें बंद रहेंगी। ऑनलाईन होम डिलिवरी की अनुमति रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णत: बंद रहेंगे। टेलीकॉम, रेल्वे के रख-रखाव से जुड़े कार्यालय, वर्कशॉप, रेक प्वाइंट पर लोडिंग-अनलोडिंग का कार्य, खाद्य सामग्री के थोक परिवहन, धान मिलिंग के लिए परिवहन एवं शासन से अनुमति प्राप्त समस्त परीक्षाओं को छोड़कर अन्य समस्त शैक्षणिक गतिविधियाँ बंद रहेगी किन्तु अस्पताल एवं एटीएम पूर्ववत् संचालित रहेंगे। बैंकों में समस्त प्रकार के लेन-देन दोपहर 3 बजे तक सम्पादित कर सकेंगे। लोक सेवा केन्द्र, च्वाईस सेन्टर दोपहर 3 बजे तक खुल सकेंगे। सभी प्रकार के सभा, जुलुस, सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। किन्तु विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधू के निवास-गृह में ही आयोजित करने की शर्त के साथ आयोजन में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 10 निर्धारित की जाती है। इसी प्रकार अंत्येष्टि, दशगात्र, इत्यादि मृत्यु संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 10 निर्धारित की जाती है। कोविड संक्रमण के रोकथाम के लिए जिले में समस्त कार्य जैसे कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे। इन कार्य में संलग्न सभी कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। अपरिहार्य परिस्थितियों में राजनांदगांव जिले से अन्यत्र आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा तथापि प्रतियोगी एवं अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों के लिए उनका एडमिट कार्ड तथा रेल्वे, टेलीकाम रख-रखाव कार्य या हास्पिटल या कोविड-19 ड्यूटी में संलग्न कर्मचारियों, चिकित्सकों की दशा में नियोक्ता द्वारा जारी आईडी कार्ड ई-पास के रूप में मान्य किया जायेगा। रेल, बस व हवाई यात्रा के लिए रेल्वे स्टेशन, बस स्टैण्ड आने जाने वाले यात्रियों को कोई पास की आवश्यकता नहीं होगी, इन यात्रियों को निवास, स्टेशन तक आने-जाने के लिए उनके पास उपलब्ध यात्रा टिकट ही इनका ई-पास मान्य किया जायेगा। कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीयन, कोविड-19 जांच के लिए, मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड, विधिमान्य परिचय-पत्र दिखाने पर कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र अस्पताल पैथोलाजी लैब अथवा आने-जाने की अनुमति होगी, किन्तु अनावश्यक भ्रमण सख्त प्रतिबंधित रहेगा।
आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 4 पहिया वाहन एवं ऑटो में ड्राइव्हर सहित अधिकतम 3 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। रेल्वे स्टेशन, बस स्टेंड, हॉस्पिटल आवागम के लिए ऑटो, टैक्सी परिचालन की अनुमति रहेगी, किन्तु अन्य प्रयोजन के लिए परिचालन पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। इस निर्देश का
उल्लंघन किये जाने पर 15 दिवस के लिए वाहन जप्त करते हुए चालानी व अन्य कानूनी कार्रवाई की जायेगी। मीडियाकर्मी यथासंभव वर्क फ्राम होम द्वारा कार्य सम्पादित करेंगे। अत्यावश्यक स्थिति में कार्य के लिए बाहर निकलने पर अपना आई कार्ड साथ रखेंगे तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करेंगे। जिले के समस्त शासकीय कार्यालय अपने निर्धारित समय पर 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ अतिआवश्यक कार्यों के लिए खुलेंगे, किन्तु इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। पंजीयन कार्यालय 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खोले जाएंगे, जिसमें पंजीयन कार्य टोकन सिस्टम से किया जायेगा। राज्य शासन के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी।
उपरोक्त को छोड़कर अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानें, दुकान सप्ताह में सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को प्रात: 6 बजे से 3 बजे तक खुली रह सकेगी, जिसमें कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए व्यवसाय करना आवश्यक होगा। सभी संचालित दुकानों में नि:शुल्क वितरण अथवा विक्रय के लिए मास्क रखना तथा दुकान में कार्यरत कर्मचारियों एवं ग्राहकों के उपयोग के लिए सेनिटाईजर रखना अनिवार्य होगा। सभी पात्र व्यवसायियों एवं उनके कार्य करने वाले कर्मचारियों को कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का कड़ाई से अनुपालन किया जाना अनिवार्य होगा तथा सभी का टीकाकरण प्राथमिकता से कराया जाना अपेक्षित है। उपरोक्त बिन्दुओं को छोड़कर जिले में समस्त गतिविधियां पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगी। आदेश के अतिरिक्त शासन द्वारा समय-समय पर जारी निर्देशों का पालन आवश्यक होगा। आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, प्रतिष्ठानों पर भारतीय दण्ड सहिता 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 तथा अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
 

 लॉकडाउन ब्रे़किंग: अब राजनांदगांव में 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, रात्रि में किए जाएंगे थोक कारोबार

लॉकडाउन ब्रे़किंग: अब राजनांदगांव में 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, रात्रि में किए जाएंगे थोक कारोबार

राजनांदगांव। राजनांदगांव में 31 मई तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है। अब तक चार चरण के लॉकडाउन लगाया जा चुका है। जो 17 मई सुबह 6 बजे समाप्त होने जा रहा है। जिसको लेकर कलेक्टरों द्वारा पांचवे चरण का लॉकडाउन लगाए जाने का खबर आना शुरू हो गया है। इसके बाद आज राजनांदगांव कलेक्टर ने पांचवे चरण के लॉकडाउन का आदेश जारी कर दिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिले में लॉकडाउन बढ़ाए जानें के अधिकार दो दिन पहले ही सौंप दिए है। जिसके बाद आज राजनांदगांव कलेक्टर ने जिले में 31 मई तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है।
छत्तीसगढ़: मुठभेड़ में महिला नक्सली समते दो इनामी नक्सली ढेर

छत्तीसगढ़: मुठभेड़ में महिला नक्सली समते दो इनामी नक्सली ढेर

मानपुर। छत्तीसगढ़ सीमा से सटे महाराष्ट्र के कामखेड़ा जंगल में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में एक महिला नक्सली सहित दो नक्सली मारे जाने की खबर है। दोनों का शव बरामद कर लिया गया है। जानकारी के मुताबिक, सी-60 सर्चिंग टीम सुबह साढे़ 5 बजे निकली थी, तभी यह मुठभेड़ हुई।
यह पूरा मामला सावरगांव थाना क्षेत्र का है. पुलिस पार्टी अभी भी जंगल में मौजूद है। मानपुर एसडीओपी हरीश पाटिल ने घटना की पुष्टि की है। पुलिस पार्टी अभी भी जंगल में मौजूद है। मारे गए दोनों नक्सलियों पर 8 लाख रुपए का इनाम घोषित था। पुलिस ने दावा किया है कि दोनों नक्सली कई मुठभेड़ों और वारदात में शामिल था। जिले के अलग-अलग थानों में दोनों के खिलाफ हत्या, आगजनी, लूट के कई मामले दर्ज है।
 

 बड़ी खबर : ज्वेलर के घर-दुकान पर राजस्व खुफिया निदेशालय का छापा, करीब 85 किलो सोना और 22 सौ किलो चांदी बरामद

बड़ी खबर : ज्वेलर के घर-दुकान पर राजस्व खुफिया निदेशालय का छापा, करीब 85 किलो सोना और 22 सौ किलो चांदी बरामद

राजनांदगांव। शहर के नंदई स्थित जसराज शांतिलाल बैद फर्म के मोहनी ज्वेलर्स में रायपुर की राजस्व खुफिया निदेशालय की टीम ने छापा मारकर करीब 85 किलो सोना और 22 सौ किलो चांदी बरामद किया है। सूत्रों के अनुसार इस कार्रवाई में 30 लाख रुपए नगद भी मिले हैं। लागतार दो दिनों से चल रही कार्रवाई से कई और बड़े खुलासे होने की बात भी सामने आ रही है। हालांकि अभी इस बारे में किसी प्रकार की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। सोना चांदी से जुड़ी तस्करी को लेकर बड़ी कार्यवाही की गई है जो लगातार दो दिनों से चल रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजस्व खुफिया निदेशालय की टीम कल 1 मई को दोपहर 12 बजे के आसपास जसराज शांतिलाल बैद के नंदई स्थित मकान में छापामार कार्रवाई की, जो रविवार देर रात तक चली। राजस्व खुफिया निदेशालय के अधिकारी 3 गाड़ियों में सवार होकर मोहनी ज्वेलर्स के मालिक के नंदई स्थित निवास में पहुंचे और जांच पड़ताल शुरू कर दी। इस दौरान किसी को न भीतर जाने दिया जा रहा है और न ही किसी को बाहर जाने की अनुमति है।

सूत्र बता रहे है कि रेवन्यू इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ रायपुर से उन 4 आरोपियों को भी लाया गया है जिनसे पूछताछ के आधार पर यह छापमार कार्रवाई की गई है। समाचार लिखे जाने तक जांच जारी है और इस संबंध में जांच दल में शामिल अधिकारी मीडिया से दूरियां बनाए हुए हैं।

2200 किलो चांदी, 85 किलो सोना सहित 30 लाख नगद
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त ज्वेलरी व्यापारी के पास से लगभग 22 सौ किलो चांदी और 85 किलो सोना होना बताया गया है। इसके साथ ही साथ 30 लाख रूपए नगद भी मिलने की जानकारी आ रही है। लगातार दो दिनों से चल रही कार्रवाई से कई और बड़े खुलासे होने की बात भी सामने आ रही है। हालांकि कि अभी किसी प्रकार की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है कि कितना सामान जब्त किया गया है।

दुकान को किया सील
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोहनी ज्वेलर्स की दुकान को सील कर दिया गया है। इसके साथ ही साथ उनके एक निवास को भी सील किया गया है। बताया जा रहा है कि रेवन्यू इंटेलिजेंस में लगभग एक दर्जन से अधिक अधिकारी जांच कर रहे है। साथ ही स्थानीय पुलिस की भी मदद ली गई है।
 
4 दिनों से लापता सहायक आरक्षक की मिली बाईक, उस पर एक संदिग्ध नक्सल पर्चा बरामद

4 दिनों से लापता सहायक आरक्षक की मिली बाईक, उस पर एक संदिग्ध नक्सल पर्चा बरामद

राजनांदगांव। मानपुर इलाके में लापता सहायक आरक्षक की बाईक और उस पर एक संदिग्धग नक्सएल पर्चा बरामद हुआ है। कांकेर जिले के कोड़ेखुरसे थाने में सहायक आरक्षक के पद पर पदस्थ मनोज नेताम बीते 28 अप्रैल से अपनी ड्यूटी पर नहीं है। उसके लापता होने पर खोजबीन के दौरान उसकी बाईक राजनांदगांव जिले के मानपुर के रानवावाही व बस्तर जिले के भुरके गांव के बीच एक मई को बरामद की गई । अतिरिक्तक पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश बढ़ई ने बताया कि हम पड़ोसी जिले की पुलिस के साथ मिलकर जवान की तलाश में जुटे हुए हैं। सभी दृष्टिकोण से मामले की जांच की जा रही है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार जवान मनोज नेताम मूलत: कांकेर के भानूप्रतापपुर इलाके का रहने वाला है। वह 28 अप्रैल से लापता है। इस दौरान ही उसकी बाईक मानपुर इलाके में पड़ोसी जिले की सरहद के पास बरामद की गई । बताया गया कि उसकी बाईक से एक पर्चा मिला है जिसमें नक्सदलियों द्वारा उसका अपहरण किए जाने का उल्ले ख है। लेकिन यह पर्चा पूरी तरह संदिग्धव है। नक्सिली कभी भी इस तरह के पर्चे का इस्ते्माल नहीं करते।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, हम पड़ोसी जिले की पुलिस के साथ मिलकर खोजबीन में जुटे हुए हैं। जवान का फोन ट्रेस किया जा रहा है। इस मामले में किसी भी तरह का मोड़ आ सकता है। लेकिन नक्सालियों ने जवान का अपहरण किया हो इसकी उम्मीद बेहद कम है। अंदेशा जताया जा रहा है कि जवान की बाईक को बाद में यहां लाकर छोड़ा गया है और इसे नक्साल घटना दिखाने की कोशिश की गई है। बहरहाल, लापता जवान की चप्पे -चप्पेय पर खोजबीन जारी है। 

डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर पहाड़ पर स्थित दुकानों में अचानक लगी आग

डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर पहाड़ पर स्थित दुकानों में अचानक लगी आग

राजनादगांव, डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर पहाड़ पर स्थित दुकानों में अचानक आग लग गई, जिससे इलाके में अफरा-तफरा मच गई. आग की लपटे तेज थी. देखते ही देखते दुकानें जलकर खाक हो गई. कई दुकानदार बेरोजगार हो गए हैं. अब उनके पास आजीविका का संकट है.
जानकारी के मुताबिक आग लगने के कारण 12 दुकानें जलकर खाक हुई हैं. मंदिर के कर्मचारियों ने आग पर काबू पा लिया है. कोरोना वायरस के कारण मंदिर में किसी बाहरी व्यक्ति की आवाजाही नहीं है, लेकिन आग कैसे लगी अभी कारण अज्ञात है.
 

बड़ी खबर: कोरोना संक्रमण के मृतकों के शवों को कचरा वाहन में पहुंचाया गया शमशान

बड़ी खबर: कोरोना संक्रमण के मृतकों के शवों को कचरा वाहन में पहुंचाया गया शमशान

राजनांदगाव। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले से एक तस्वीर सामने आई है, जिसे देखकर हर किसी का दिल दहला जाएगा । यहां कोरोना संक्रमण के मृतकों के शवों को कचरा उठाने वाली गाड़ी में भरकर शमशान पहुंचाया गया। 

डोंगरगांव नगर के कोविड सेंटर में बुधवार को तीन संक्रमित मरीजों के निधन के समाचार ने समूचे क्षेत्र को दहशत में डाल दिया। बुधवार के दिन 12 घंटे के भीतर हुई इन 3 मौतों में तीनों ही महिलाएं हैं, जो बीते दिनों उपचार के लिए भर्ती कराई गई थी। मरने वाली महिलाओं में ग्राम आसरा निवासी दो सगी बहनें हैं, जो कि आपस में देवरानी जेठानी थी। वहीं, एक अन्य महिला ग्राम जारवाही की है। जानकारी के अनुसार डोंगरगाव विधानसभा क्षेत्र के ग्राम आसरा की 2 सगी बहनों व रिश्ते में देरानी-जेठानी व एक अन्य महिला ने कोरोना से दम तोड़ दिया। बताया गया कि मौत आक्सीजन की व्यवस्था नही होने के कारण हुई।

इस संदर्भ में एसडीएम डोंगरगांव ने कहा कि मृतक महिलाओं के अंतिम संस्कार कोविड-19 के गाइडलाइन के अनुसार किये जाने के लिए आदेश जारी कर दिया है। 

इस दौरान बहुत ही दर्दनाक तस्वीर सामने आई, जिसमें कुछ लोग कोरोना संक्रमित का शव कचरा वाहन में भरकर ले जाते नजर आ रहें है। शर्मनाक बात है कि मरने के बाद इन शवों को एम्बुलेंस तक नसीब नही हुआ और इनकी अंतिम यात्रा कचरे के वाहन में सवार होकर मुक्तिधाम तक पहुंची। यह तस्वीरें सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रही है। तस्वीरें देखकर राज्य सरकार और जिला प्रशासन के कार्य पर सवाल उठ रहा है। इस मामले में किसी अधिकारी का अभी तक कोई बयान सामने नही आया है।
 लॉकडाउन BREAKING: छत्तीसगढ़ के इस जिले में 10 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन

लॉकडाउन BREAKING: छत्तीसगढ़ के इस जिले में 10 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन ने राजनांदगांव जिले में 10 अप्रैल से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। कलेक्टर टीके वर्मा ने कहा कि जिले में हालात चिंताजनक हो गए हैं। शहरी क्षेत्र के बाद अंचल में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। कलेक्टर टीके वर्मा ने जिले में कंप्लीट लाकडाउन का एलान किया है। 

जिले में राजधानी रायपुर की तरह ही संपूर्ण लॉकडाउन किया जा सकता है। यानी शुक्रवार नौ अप्रैल से 19 अप्रैल तक जिला लॉकडाउन होगा। इसमें केवल मेडिकल इमरजेंसी के अलावा आश्वयक सेवाएं ही चालू रहेंगी। जिले में शहरी क्षेत्र के बाद खैरागढ़, डोंगरगढ़, छुईखदान, अंबागढ़ चौकी, राजनांदगांव ब्लॉक और डोंगरगांव में संक्रमण की रफ्तार तेज हो गई है। हालांकि इसकी रोकथाम के लिए स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन किया गया है। लेकिन इसके बाद भी कोरोना संक्रमण का फैलाव कम नहीं हुआ है।

अधिकारियों ने बताया कि इस अवधि के दौरान रायपुर जिले की सभी सीमाएं सील रहेगी। इस दौरान केवल दवा दुकानों को अपने निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा केवल शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन तथा आवश्यक सेवा से जुड़े वाहनों को ही पेट्रोल दिया जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान सुबह छह बजे से आठ बजे तक तथा शाम पांच बजे से शाम 6.30 तक दूध और पेपर वितरण की अनुमति होगी। एलपीजी गैस सिलेंडर की एजेंसियां केवल टेलीफोन पर या ऑनलाइन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहकों को सिलेंडर की घर पहुँच सेवा उपलब्ध कराएंगे।

उन्होंने बताया कि औद्योगिक संस्थानों और निर्माण इकाइयों को अपने परिसर के भीतर मजदूरों को रखकर तथा अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योगों के संचालन और निर्माण कार्यो की अनुमति होगी।
BIG BREAKING : डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर में इस बार भी नवरात्र पर्व का नहीं होगा आयोजन, पढ़ें पूरी खबर

BIG BREAKING : डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर में इस बार भी नवरात्र पर्व का नहीं होगा आयोजन, पढ़ें पूरी खबर

डोंगरगढ़ | छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले से एक बड़ी खबर आ रही है | खबर मिली है कि जिले के डोंगरगढ़ स्थित धार्मिक स्थल मां बम्लेश्वरी मंदिर में इस बार भी नवरात्र पर्व का आयोजन नहीं होगा | प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते प्रशासन द्वारा यह फैसला लिया गया है |

पढ़ें : लॉक डाउन छत्तीसगढ़ : कल से एक सप्ताह के लिए जिले के इस क्षेत्र में लगा टोटल लॉक डाउन, कहीं आपका इलाका तो नहीं

जानकारी के अनुसार मंदिर में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है | जिला प्रशासन ने आदेश जारी कर दिया है | बता दें कि 13 अप्रैल से नवरात्र पर्व शुरू हो रहा है। गौरतलब ​है कि प्रसिद्ध पीठ मां बम्लेश्वरी देवी मंदिर में हर साल हजारों की संख्या में नवरात्र में श्रद्धालु पहुंचते हैं, और माता के दर्शन करते हैं न सिर्फ प्रदेश से बल्कि देश के कई ​हिस्से से लोग यहां पहुंचते हैं।

 होम आईसोलेशन मेंं घूमते पाये जाने पर एफआईआर : डॉ. मिथलेश चौधरी

होम आईसोलेशन मेंं घूमते पाये जाने पर एफआईआर : डॉ. मिथलेश चौधरी

राजनांदगांव। होम आइसोलेशन में घूमते पाये जाने पर सीधे एफआईआर की कार्रवाई की जायेगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने बताया कि होम आइसोलेशन में रहकर उपचार लेने वाले सभी धनात्मक मरीज व परिवार के सदस्य पूर्ण रूप से होम आईसोलेशन प्रोटोकॉल का पालन करें। होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वाले पर महामारी एक्ट के तहत प्रावधान में एफआईआर किया जायेगा। डॉक्टर की सलाह पर दवाईयों का सेवन नियमित रूप से तापमान व ऑक्सीजन सेचूरेशन की जांच का होम आइसोलेशन कालिंग टीम को अवगत कराये। किसी भी प्रकार से नियमों का उल्लंघन करने पर हम अपने व अपने परिवार की जान को खतरे में डाल रहे हैं। कोरोना बीमारी से डरना नहीं है, बल्कि नियमों का पालन कर हम पूरी तरह से बच सकते हैं। जिससे हम अपने व अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्ति को 17 दिवस पूर्ण रूप से नियमों का पालन करते हुए घर पर रहना है एवं उसके परिवार का कोई भी सदस्य न तो घर से बाहर जायेगा और न ही बाहर का कोई भी सदस्य घर में प्रवेश करेगा। होम आईसोलेशन धनात्मक मरीज व पारिवारिक सदस्य ना ही दुकान खोलेंगे और ना ही कार्य पर जायेगें।
 
नक्सलियों का किया 12 को गढ़चिरौली बंद का एलान...

नक्सलियों का किया 12 को गढ़चिरौली बंद का एलान...

राजनांदगांव। 29 मार्च को गढ़चिरौली के कुरखेड़ा इलाके हुए एनकाउंटर के विरोध में नक्सलियों ने 12 अप्रैल को गढ़चिरौली बंद की धमकी दी है। नक्सलियों ने बार्डर के हिस्से में पर्चे फेंककर इसकी जानकारी दी है। नक्सली इस दौरान किसी तरह की घटना को भी अंजाम दे सकते हैं, जिसे देखते हुए फोर्स अलर्ट हो गई है। बार्डर में जिले की फोर्स भी लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही है।
टीसीओसी के लिए जुटे नक्सलियों के साथ गढ़चिरौली पुलिस की 29 मार्च को मुठभेड़ हुई थी। इसमें कुख्यात नक्सली रुसी राव सहित पांच नक्सली ढेर हो गए थे। नक्सलियों ने पर्चे फेंककर बताया है कि इस एनकाउंटर से उनके संगठन को बड़ा नुकसान हुआ है। जिसके विरोध में नक्सली गढ़चिरौली में एक दिन का पूर्ण बंद बुला रहे हैं।
नक्सलियों ने इलाके के ग्रामीणों, व्यावसायियों को भी अपनी दुकानें बंद रखने और आवाजाही नहीं करने की धमकी दी है। गढ़चिरौली एसपी अंकित गोयल ने बताया कि बौखलाए नक्सली पर्चे फेंककर ऐसी हरकत कर रहे हैं। हम अभी भी उनसे सरेंडर करने की अपील करते हैं। ऐसी धमकी का इलाके में कोई भी फर्क नहीं पड़ेगा। 12 अप्रैल को भी सबकुछ सामान्य रहेगा।
 

 बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ के इस जिले में 4 अप्रैल से आगामी आदेश तक लॉकडाउन की घोषणा

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ के इस जिले में 4 अप्रैल से आगामी आदेश तक लॉकडाउन की घोषणा

राजनांदगांव। 4 अप्रैल से आगामी आदेश तक राजनांदगांव में भी लॉकडाउन की घोषणा कर दिया गया है। कोरोना की चैन तोड़ने शहर में दुकान खोलने की समय सीमा तय कर दी है। सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक दुकानें खुली रहेगी। शाम 6 से 8 बजे तक दूध बेचने वालों को छूट दी जाएगी।

आज कलेक्टर टी.के.वर्मा ने व्यापारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर यह निर्णय लिया है, बैठक में आंशिक लॉक डाउन का निर्णय लिया गया है। बैठक में महापौर, पुलिस अधीक्षक, एसडीएम सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। बता दें कि राज्य शासन ने जिला कलेक्टर को लॉकडाउन करने का निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया है, जिले और शहर की स्थितियों को देखते हुए स्थानीय प्रशासन लॉकडाउन करने या नहीं करने का फैसला ले सकते हैं।
बिग न्यूज़ छत्तीसगढ़ : अब इस जिले में जारी हुआ नाईट कर्फ्यू का आदेश, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

बिग न्यूज़ छत्तीसगढ़ : अब इस जिले में जारी हुआ नाईट कर्फ्यू का आदेश, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

राजनांदगांवकलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी टोपेश्वर वर्मा ने वर्तमान में कोरोना वायरस पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के फलस्वरूप तथा जिला प्रशासन के प्रत्येक स्तर पर पूर्व में अधिरोपित प्रतिबंधों एवं शर्तों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के लिए जिले में धारा 144 प्रभावशील किया है। जिसके अंतर्गत प्रभावशील धारा 144 के परिप्रेक्ष्य में प्रतिबंधात्मक आदेश अधिरोपित किया गया है। आदेश के अनुसार रात्रि 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाया गया है। रात्रि 9 बजे के बाद किसी भी व्यक्ति को दुकान खोलने की अनुमति नहीं होगी। रात्रि 9 बजे के बाद दुकान खुली पाये जाने पर दुकानदार के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई की जायेगी। रेस्टोरेंट, खाने का होटल, टिफीन सेवा संबंधी होटल रात्रि 10 बजे तक ही खुले रहेंगे। इसके पश्चात् खुला पाये जाने पर वैधानिक कार्रवाई की जायेगी। अस्पताल, दवाई दुकान एवं पेट्रोल पम्प प्रतिबंधों से मुक्त रहेंगे।

जिले में अत्यावश्यक कार्य से ही लोग घर से बाहर निकलेंगे, अनावश्यक रूप से घूमना प्रतिबंधित रहेगा। जो भी व्यक्ति इसका उल्लंघन करेगा उसके विरूद्ध महामारी नियंत्रण अधिनियम में निहित प्रावधानों के तहत कठोर कार्रवाई की जायेगी। होम आइसोलेशन का कठोरता से पालन करना होगा। जो भी व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं, यदि उसके द्वारा होम आइसोलेशन के लिए निर्धारित नियमों एवं मापदण्डों का उल्लंघन किया जाता है, तो उसे होम आइसोलेशन से हटाकर कोविड-19 केयर सेन्टर में तत्काल भर्ती कराया जायेगा। प्रत्येक व्यक्तियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। जो व्यक्ति मास्क के बिना घूमते पाया जाएगा, उसके विरूद्ध शासन द्वारा निर्धारित 500 रूपए जुर्माना की राशि से दंडित किया जाएगा।

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर गढ़चिरौली जिले में  नक्सलियों के साथ मुठभेड़

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़

राजनांदगॉंव/गढ़चिरौली । छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर गढ़चिरौली जिले में आज होली पर सुरक्षा बल के जवानों ने नक्सलियों के खून से होली खेली है। जवानों ने 5 नक्सलियों को मार गिराया है।
मिली जानकारी के मुताबिक, सी-60 कमांडो टीम की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई है। बताया जा रहा है कि देर रात पेट्रोलिंग के लिए कुर खेड़ा तालुका के खोब्रा मेढ़ा के जंगल में नक्सलियों ने अचानक से पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया, जिसके बाद क्रॉस फायरिंग हुई। इसी एनकाउंटर में 5 नक्सलियों के ढेर होने की खबर है।
गढ़चिरौली एसपी का कहना है कि अभी फायरिंग रुकी हुई है। सर्च ऑपरेशन चल रहा है। कुछ नक्सलियों की बॉडी मिली है लेकिन आधिकारिक आंकड़े थोड़ी देर में जाहिर किये जाएंगे। लोकल सोर्सेस का कहना है कि 5 नक्सली मारे गए है।
 

जिला कलेक्टर ने की लोगों से अपील : अपनों की सुरक्षा के लिए होली का पर्व मनाये घर पर

जिला कलेक्टर ने की लोगों से अपील : अपनों की सुरक्षा के लिए होली का पर्व मनाये घर पर

राजनांदगांव कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने सभी नागरिकों को होली पर्व पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि कोविड-19 संक्रमण के इस कठिन समय में अपनों की सुरक्षा एवं रिश्तों को सही मायने में निभाने का वक्त है। इस बार होली पर्व घर पर ही मनाये। स्वयं का एवं अपने परिजनों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और कोविड-19 से सुरक्षा के लिए होली पर्व पर जिम्मेदार नागरिक होने का फर्ज निभाएं। जब तक आवश्यक कार्य न हो, घर से बाहर न निकलें। किसी आवश्यक कार्य से घर से बाहर जाना हो तो मास्क जरूर लगायें, सेनेटाइजर का प्रयोग करें, हाथों को साबुन से बार-बार धोते रहें और सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करें। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी ही सुरक्षा है।

 बड़ी खबर: झाडिय़ों के पीछे मिली एक युवक की लाश से इलाके में फैली सनसनी

बड़ी खबर: झाडिय़ों के पीछे मिली एक युवक की लाश से इलाके में फैली सनसनी

राजनांदगांव। जिले के डोंगरगढ़ नगर से महज सात से आठ किमी दूर मुरमुंदा के पास आज सुबह एक युवक की झाडिय़ों के पीछे लाश मिली. जिसकी सूचना पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. गांव में युवक का शव मिलने से पूरे इलाके में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डोंगरगढ़ के वार्ड क्रं. दो दंतेश्वरी वार्ड निवासी युवक का शव आज सुबह मुरमुंदा के पास रोड के किनारे झाडिय़ों में पड़ा मिला. जिसकी सूचना मिलते ही डोंगरगढ़ पुलिस घटना स्थल पहुंची और शव की पहचान की गई तो पता चला कि  युवक का नाम अविनाश रामटेके उम्र 24 वर्ष शाकिन डोंगरगढ़ वार्ड नं. 2 दंतेश्वरी वार्ड का रहने वाला है. पुलिस ने शव का पंचनामा कर शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार युवक के गर्दन, पेट और आंख के पास धारदार हथियार से वार किया गया है. पुलिस ने उक्त घटना में धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।
कोरोना गाइडलाइन : दुर्ग के बाद अब इस जिले में भी इन पर लगी रोक, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

कोरोना गाइडलाइन : दुर्ग के बाद अब इस जिले में भी इन पर लगी रोक, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

राजनांदगांव, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए कलेक्टर ने नई गाइडलाइन जारी की है. धरना-प्रदर्शन, जुलुस, रैली और अन्य सार्वजनिक कार्यक्रम पर पूरी तरह से रोक रहेगी. धार्मिक आयोजन पर भी प्रतिबंध लगाया गया है. वहीं शादी, अंत्योष्ठि और दशगात्र में अधिकतम 50 व्यक्ति ही शामिल हो सकते हैं. होटल, क्लब, रेस्टोरेंट, कालोनी और अन्य सार्वजनिक जगहों पर होली मिलन पर भी रोक लगा दी गई है. गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

देखे आदेश:-

आबकारी विभाग की बड़ी कार्रवाई : मध्यप्रदेश में निर्मित 40 पेटी शराब जप्त

आबकारी विभाग की बड़ी कार्रवाई : मध्यप्रदेश में निर्मित 40 पेटी शराब जप्त

राजनांदगांव । अवैध शराब के परिवहन के खिलाफ आबकारी विभाग की कार्रवाई निरंतर चल रही है। इसी तारतम्य में राजनांदगांव आबकारी विभाग ने मध्यप्रदेश की लगभग 40 पेटी शराब के साथ 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जप्त शराब की कीमत लगभग ढाई लाख रूपए है। विभाग ने तस्करी में उपयुक्त वाहन भी जप्त किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्टर राजनांदगांव टीके वर्मा के निर्देशन तथा सहायक आयुक्त आबकारी ज़िला राजनांदगाँव नवीन प्रताप सिंह तोमर के मार्गदर्शन में 20 मार्च को आबकारी विभाग राजनांदगाँव से प्राप्त सूचना के आधार पर के कुमरदा के पास सुबह नाका लगाकर संदिग्ध बोलेरो वाहन सीजी 04 केएस 0491का पीछा करने पर कुमरदा से गैंदाटोला चौक के पास रुकवाया। जाँच करने पर बोलेरो वाहन में गत्ते के सफेद कार्टून भरे मिले, आरोपी नरेश सिंह पिता बने सिंह, उम्र-55वर्ष, निवासी- गंजपारा ,वार्ड नंबर 35, थाना- सीटी कोतवाली , जिला - दुर्ग, तथा करण सागर पिता शैलेन्द्र सागर , उम्र- 26 वर्ष, निवासी - दीपक नगर, वार्ड नंबर 25, थाना-मोहन नगर, जिला- दुर्ग पकड़ा। बोलेरो वाहन को खोलकर देखने पर 40 पेटी म.प्र. निर्मित गोवा व्हिस्की, प्रत्येक मे 180 ml , कुल 360 बल्क लीटर बरामद किया गया। जप्त मदिरा का मूल्य 260000/-रूपए, जप्त वाहन का मूल्य 200000/-रूपए कुल 4.६ लाख की जप्ती की गई है।
आरोपियो के विरुद्ध आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) ,36, 59 (क) का प्रकरण दर्ज कर विवेचना किया जा रहा है। रेड कार्यवाही दौरान श्रीमती निरूपमा लोन्हारे सहायक ज़िला आबकारी अधिकारी डोंगरगांव एवं जितेन्द्र उइके आबकारी उपनिरीक्षक अं. चौकी,यीवरेश कुमार आबकारी उपनिरीक्षक गंडई तथा आरक्षक मे राकेश दुबे, सुरेंद्र झारिया, ओमप्रकाश सिन्हा, निजाम शाह, लालसिंह राजपूत, भूपेंद्र वर्मा, कमल मेश्राम उपस्थित थे। राकेश दूबे व सुरेन्द्र झारिया की भूमिका उल्लेखनीय रही । सी.आर. साहू सर सहायक जिला आबकारी अधिकारी राजनांदगाँव का विशेष सहयोग रहा।
 

 बड़ी खबर: डोंगरगढ़ में मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने आए 86 श्रद्धालुओं में से 10 कोरोना संक्रमित

बड़ी खबर: डोंगरगढ़ में मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने आए 86 श्रद्धालुओं में से 10 कोरोना संक्रमित

डोंगरगढ। प्रदेश में कोरोना का ग्राफ एक बार फिर बढ़ने लगा है। रोजाना मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसी बीच खबर आ रही है कि महाराष्ट्र से डोंगरगढ़ मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने आए 86 श्रद्धालुओं के कोरोना टेस्ट में 10 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद हड़कंप मच गया। सभी को वापस महाराष्ट्र भेजा गया।

बता दें देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए कलेक्टर के निर्देश पर मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र से लगे जिले की सीमाओं पर आने-जाने वाले लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। बाघ नदी और और बोरतालाब के पास स्वास्थ्य विभाग कैंप लगाकर जिले में दाखिल होने वालों की कोरोना टेस्ट करवा रहा है।
 छत्तीसगढ़: जाने आखिर किस कारणो से जिला पंचायत सीईओ ने पंचायत सचिव को किया निलंबित

छत्तीसगढ़: जाने आखिर किस कारणो से जिला पंचायत सीईओ ने पंचायत सचिव को किया निलंबित

राजनांदगांव। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अजीत वसंत ने ग्राम पंचायत भरदाकला सचिव श्रीमती गुंजा राणा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत खैरागढ़ से प्राप्त प्रतिवेदन अनुसार श्रीमती गुंजा राणा द्वारा बिना सूचना के लगातार अनुपस्थित रहने, सरपंच का फर्जी हस्ताक्षर कर वेतन आहरण करने तथा पदीय कर्तव्यों के निर्वहन में स्वेच्छाचारिता तथा घोर लापरवाही बरतने के कारण छत्तीसगढ़ पंचायत सेवा (अनुशासन तथा अपील) नियम 1999 के नियम 4 (1) के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।
 बड़ी खबर: पूर्व नपं अध्यक्ष ने की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस

बड़ी खबर: पूर्व नपं अध्यक्ष ने की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस

राजनांदगांव। राजनांदगांव जिलान्तर्गत गंडई की पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष सुनीता ताम्रकार (65) ने आग लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या का कारण अज्ञात है। गंडई पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। पूर्व नपं अध्यक्ष के आत्महत्या की खबर के बाद पूरा नगर स्तब्ध हो गया। 

जानकारी मुताबिक शुक्रवार शाम 3 से 4 बजे के बीच सुनीता ताम्रकार अपने कैलाश नगर के मकान में थी। तभी उन्होंने खुद को आग लगा ली। जब तक उन्हें बचाने का प्रयास किया जाता, आग पूरी तरह फैल चुकी थी और उन्होंने दम तोड़ दिया। 

सुनीता ताम्रकार भाजपा नेता अश्वनी ताम्रकार की पत्नी व वर्तमान जिला पंचायत सदस्य प्रियंका ताम्रकार की सास थीं। आत्महत्या की खबर के बाद गंडई पुलिस की टीम ने भी मौके पर पहुंचकर जांच की। हालांकि किसी भी तरह का सुसाइड नोट पुलिस को मौके से नहीं मिला है। घटना के वक्त उनकी दोनों बहुएं घर पर थीं। अब तक आत्महत्या के कारणों को लेकर कोई स्पष्ट जानकारी भी पुलिस के हाथ नहीं लग पाई है।
 
छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग में होगा व्हाट्सएप कॉल सेंटर

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग में होगा व्हाट्सएप कॉल सेंटर

राजनांदगांव । प्रदेश की आधी आबादी अर्थात महिलाओं के संवैधानिक एवं विधिक अधिकारों का संरक्षण के लिए छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग प्रयासरत है। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राजधानी के इंडोर स्टेडियम में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने महिला आयोग द्वारा महिलाओं के आवेदन के लिए वाट्सअप नम्बर जारी किया।
राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक (कैबिनेट मंत्री दर्जा) की विशेष पहल पर यह व्हाट्सएप कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। इससे महिलाओं को राज्य शासन के विभिन्न योजनाएं, कार्यक्रम, प्रचार-प्रसार तथा महिलाओं का सशक्तिकरण एवं अपने अधिकारों को प्राप्त किए जाने में अधिक सक्षम बनाने तथा उत्पीडऩ संबंधी मामलों एवं अपराधों की रोकथाम हेतु सहायता मिलेगी। अब महिला `वॉट्सअप कॉल सेंटरÓ मोबाइल नंबर - 9098382225 के माध्यम से संपर्क कर या मैसेज या वॉइस मैसेज के माध्यम से आवेदन पत्र, शिकायत, सुझाव आदि प्रेषित कर सकेगी।
 

 बड़ी खबर: मालगाड़ी की चपेट में आने से एक शावक की मौत, 3 शावकों के साथ बाघिन क्रॉस कर रही थी रेलवे ट्रैक

बड़ी खबर: मालगाड़ी की चपेट में आने से एक शावक की मौत, 3 शावकों के साथ बाघिन क्रॉस कर रही थी रेलवे ट्रैक

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर बाघ के शावक की मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत हो गई। शावक अपनी मां के साथ रेलवे ट्रैक क्रॉस कर रहा था, इसी दौरान हादसा हो गया। सूचना मिलने पर पहुंची वन विभाग की टीम ने पोस्टमार्टम के बाद शव का अंतिम संस्कार कर दिया। हादसा जिले से सटे गोरेगांव वन मंडल के पिंडकेपार-गोंगले रेलमार्ग पर हुआ है।

जानकारी के मुताबिक, नवेगांव-नागझिरा टाइगर रिजर्व फॉरेस्ट की बाघिन टी-14 अपने तीन शावकों के साथ सोमवार को रेलवे ट्रैक क्रॉस कर रही थी। इसी दौरान उसका शावक मालगाड़ी की चपेट में आ गया। शावक की उम्र करीब एक साल बताई जा रही है। यह गोंदिया से चंद्रपुर रेलवे ट्रैक जिले के संरक्षित वन क्षेत्र नागजीरा के बीच से होकर गुजरता है।
 
राष्ट्रीय सम्मान से पुरस्कृत होंगी राजनांदगांव के ग्राम खुटेरी की  जय माँ दुर्गा महिला स्वसहायता समूह की महिलाएं

राष्ट्रीय सम्मान से पुरस्कृत होंगी राजनांदगांव के ग्राम खुटेरी की जय माँ दुर्गा महिला स्वसहायता समूह की महिलाएं

रायपुरअंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर दीनदयाल अन्त्योदय योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, ग्रामीण आजीविका संभाग एमओआरडी द्वारा विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सम्मान समारोह में बेहतरीन कार्य करने के लिए राजनांदगांव जिले के ग्राम खुटेरी के जय माँ दुर्गा महिला स्वसहायता समूह को 8 मार्च को सम्मानित किया जाएगा। वर्चुअल मोड में आयोजित इस सम्मान समारोह में केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर जय माँ दुर्गा स्वसहायता समूह की महिलाओं को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित करेंगे।


    मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने जय माँ दुर्गा स्वसहायता समूह की महिलाओं को इस गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए विशेष पहल की जा रही है। राज्य के गौठानों में महिला समूहों की आर्थिक गतिविधियों के संचालन के लिए इंतजाम किए गए हैं, इससे महिलाएं आर्थिक रूप से स्वावलंबी बन रही है। जय माँ दुर्गा स्वसहायता समूह की महिलाओं ने आर्थिक आजादी के साथ समाज को जागरूक बनाने का कार्य कर एक अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है। 


    उल्लेखनीय है कि इस अवसर पर देश के 30 महिला स्वसहायता समूह तथा 10 ग्राम संगठन को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। जिनमें से राजनांदगांव जिले के जय माँ दुर्गा महिला स्वसहायता समूह को यह गौरव प्राप्त हुआ है। समूह की अध्यक्ष श्रीमती लोकेश्वर साहू हैं और सभी ने मिलकर रेडी टू ईट उत्पाद बनाने का कार्य शुरू किया। इसके लिए बैंक से, ग्राम संगठन से और सखी कलस्टर से ऋण लिया गया। समूह की महिलाओं ने 16 कुपोषित बच्चों को गोद लिया और वहीं उन्हें खिचड़ी, फल, दूध, मुर्रा लड्डू, चना एवं रेडी टू ईट से हलवा बनाकर खिलाया करते थे। जिनमें से 14 बच्चे अभी सुपोषित हो गए हैं।

राजनांदगांव परियोजना ग्रामीण-1 के 8 समूहों ने मिलकर ग्राम भर्रेगांव में 8 जोड़ों की शादी करवाई। वहीं आंगनबाडियों में गर्भवती महिलाओं की गोदभराई एवं बच्चों के वजन त्यौहार में सक्रियता पूर्वक भाग लेते हैं। समूह की महिलाओं की गांव को ओडीएफ बनाने की दिशा में सक्रिय भागीदारी रही है। वे गांव में स्वच्छता, डबरी निर्माण एवं अन्य क्षेत्रों में कार्य कर रही हैं। स्वच्छ ग्राम बनाने के लिए स्वच्छता रैली भी समूह की महिलाओं द्वारा निकाली गई। मतदाता शिक्षा एवं मतदाता सहभागिता (स्वीप) तथा ग्राम के प्रत्येक मतदाता को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए समूह की महिलाओं द्वारा कठिन परिश्रम किया गया। समूह की महिलाओं द्वारा किशोरी बालिकाओं को माहवारी के समय सैनेटरी पैड का उपयोग करने के लिए इसके लाभ बताए गए। इसके साथ ही वे बच्चों की स्वच्छता की महत्ता के लिए भी जनसामान्य में जागरूकता ला रही हैं। 


    समूह में शामिल होने के पहले सभी महिलाएं कृषि एवं श्रम कार्यों से जुड़ी हुई थी। समूह से जुड़कर उनके व्यक्तित्व में आए व्यापक परिवर्तन को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। समूह की महिलाओं द्वारा बचत एवं वित्तीय लेन-देन में भागीदारी से उनकी आर्थिक स्थिति सशक्त हुई है। उन्होंने अपने समाज एवं परिवार में एक विशेष स्थान बनाया है और उनके पारिवारिक सदस्य तथा ग्रामवासी उनकी संभावनाओं पर विश्वास करते हैं। 15 दिन में वे रेडी टू ईट का निर्माण करती हैं और प्रति सदस्य 2 हजार रूपए की आय उन्हें प्राप्त होती है। इसके साथ ही वे विभिन्न आजीविका संबंधी गतिविधियों से जुड़ी हुई हैं। 

रसोइया ने स्कूल में बांटा राशन, शाम को कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव

रसोइया ने स्कूल में बांटा राशन, शाम को कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव

राजनांदगांव, राजनांदगांव जिले से बड़ी लापरवाही बरते जाने की खबर सामने आ रही हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मिडिल और प्रायमरी स्कूल को बंद रखा गया है। बच्चों को मध्याह्न भोजन की जगह पर सीधे सूखा राशन का वितरण किया जा रहा है। इसमें भी गंभीर लापरवाही सामने आई है। कोरोना पॉजिटिव ने ही बच्चों को सूखा राशन वितरित कर दिया हैं।
बजरंगपुर-नवागांव स्थित मिडिल स्कूल प्रबंधन ने उस रसोईया के माध्यम से 5 मार्च को 40 बच्चों को सूखा राशन का वितरण कराया जो कि बीमार थी। शरीर में कोरोना के लक्षण थे। राशन वितरण के बाद शाम को रसोईया की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो हड़कंप मच गया। वार्ड के पार्षद राजा तिवारी को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने 6 मार्च को सूखा राशन का वितरण बंद कराया। पार्षद की सूचना के बाद बीईओ एनके पंचभावे ने सीएमएचओ डॉ मिथलेश चौधरी को पत्र लिखा।
सीएमएचओ ने मेडिकल टीम भेजकर संपर्क में आए शिक्षक, शिक्षिकाओं के साथ ही 25 बच्चों को एंटीजन सैंपल लिया। एंटीजन सैंपलिंग जांच में सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। सभी का आरटीपीसीआर सैंपल लेकर जांच में भेजा गया है। इस रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगा कि कोई संक्रमित तो नहीं हुए हैं।
बीईओ पंचभावे ने बताया कि रसोईया की तबीयत ठीक नहीं लगने पर एचएम ने उसे काम पर आने से मना किया था पर वह खुद को ठीक बताकर सूखा राशन का पैकेट तैयार करने काम पर आ गई। शाम को रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे होम आइसोलेट रहने कह दिया गया है। बताया गया कि शेष बच्चों को सैंपल रविवार को लिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गायत्री स्कूल में 28 सैंपल लिए। सभी रिपोर्ट निगेटिव आई है।
 

+ Load More