CG Corona Update : बढ़ने लगा कोरोना का खतरा, राजधानी में 6 नए कोरोना मरीज सक्रिय, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप    |    राहत की खबर : 24 घंटे में सामने आए 200 से भी कम कोरोना केस, एक्टिव मामलों में भी आई गिरावट!    |    Corona Breaking : छग में BF.7 वैरिएंट ने दी दस्तक, मिले 2 मरीज, अलर्ट मोड में स्वास्थ विभाग    |    Corona Breaking : सरकार का बड़ा फैसला, चीन सहित इन 6 देशों से आने वाले यात्री होंगे क्वारंटीन, नई गाइडलाइन जारी…    |    Big Breaking : पीएम नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन का निधन, 100 साल की उम्र में ली अंतिम सांस    |    CG BREAKING : छत्तीसगढ़ में कोरोना के नए वैरिएंट का खतरा ! विदेश से लौटी मां बेटी पॉजिटिव, मचा हड़कंप    |    बड़ी खबर: चीन में हाहाकार मचाने वाले ओमिक्रोन सब वैरिएंट की भारत में हुई एंट्री, भारत में सरकार अलर्ट पर    |    इस देश में कहर बरपा सकता है कोरोना, हो सकती है 10 लाख लोगों की मौत    |    Corona Update 16 Nov : प्रदेश में आज मिले इतने नए कोरोना संक्रमित, इस जिले से सर्वाधिक मामलें, देखें जिलेवार आंकड़ें    |    Corona Update 15 Nov : प्रदेश में आज मिलने इतने नए कोरोना संक्रमित...देखें जिलेवार मरीजों की संख्या    |
CG NEWS : सीएम भूपेश बघेल ने आमगुड़ा चौक के पास अमर वाटिका का किया लोकार्पण

CG NEWS : सीएम भूपेश बघेल ने आमगुड़ा चौक के पास अमर वाटिका का किया लोकार्पण

 बस्तर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर के आमगुड़ा चौक पहुंचे और आमगुड़ा चौक के पास अमर वाटिका का किया लोकार्पण।

छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में इंडिया गेट की तर्ज पर विकसित की जा रही है अमर वाटिका। बस्तर की शांति के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले अमर शहीद जवानों की याद में अमर वाटिका निर्मित की गई है। अमर वाटिका में करीब 60 फीट ऊंचा शहीद स्मारक बनाया गया है।

शहीद स्मारक के पास एक काले ग्रेनाइट की दीवार में नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों के नाम लिखे जा रहे हैं। इसके अलावा पास में ही म्यूजियम बनाया जा रहा है। जिसमे हथियारों और नक्सल मोर्चे पर जवान चुनौतियों में किस तरह से काम करते हैं, इसकी जानकारी दी जाएगी।

जगदलपुर-रायपुर नेशनल हाईवे के किनारे आमागुड़ा में अमर वाटिका का निर्माण हो रहा है। इसके निकट गार्डन का निर्माण भी किया जा रहा है।

उन्होंने अमर वाटिका के शहीद स्मारक में बस्तर की शांति के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले अमर शहीदों को पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

 
BREAKING NEWS : छत्तीसगढ़ में यहाँ इस दिन बंद रहेगी शराब दुकानें

BREAKING NEWS : छत्तीसगढ़ में यहाँ इस दिन बंद रहेगी शराब दुकानें

 जगदलपुर। छत्तीसगढ़ आबकारी देशी/विदेशी मदिरा व्यवस्थापन नियम के तहत गुरूवार 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर शुष्क दिवस घोषित किया गया है।

कलेक्टर चंदन कुमार ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर बस्तर जिले में स्थित सभी प्रकार की मदिरा दुकान एवं लाइसेंस अर्थात देशी मदिरा, सी.एस 2 (घघ) विदेशी मदिरा एफ.एल 1 (घघ) एफएल 3 (होटल बार), एफ.एल.7 (सैनिक कैंटीन) एवं मद्य भण्डारण-भण्डागार जगदलपुर को 25 जनवरी को समयावधि पश्चात बंद करने एवं 26 जनवरी को पूर्णंतः बंद रखने के निर्देश दिए हैं। शुष्क दिवस पर मादक पदार्थ की बिक्री की शिकायत प्राप्त होेने पर उत्तरदायित्व का निर्धारण कर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में रेता युवक का गला, शव के पास फेंका पर्चा

नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में रेता युवक का गला, शव के पास फेंका पर्चा

 बस्तरछत्तीसगढ़ आंध्र प्रदेश बॉर्डर पर स्थित गांव में माओवादियों ने पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाते हुए गला रेतकर एक युवक की हत्या कर दी है। नक्सलियों ने हत्या करने के बाद शव के पास पर्चा भी फेंका है। शव का पोस्टमॉर्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया है। मामला चिंतुर थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, छत्तीसगढ़ के अंतिम छोर कोंटा से लगे बुर्कानकोटा गांव में वारदात हुई है। बताया जा रहा है कि, एक दिन पहले नक्सली इस गांव में पहुंचे थे। इस गांव के ही रहने वाले युवक सोयम सुबैया (40) को उसके घर से उठाया। फिर घर से कुछ दूरी पर जंगल की तरफ लेकर गए। जहां धारदार हथियार से युवक का गला रेत दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद माओवादियों ने शव को गांव में फेंक दिया था। जिसके बाद वे जंगल की तरफ लौट गए। वारदात को अंजाम देने करीब 20 से 25 नक्सली सादी वेशभूषा में गांव पहुंचे थे। सभी के चेहरे पर नकाब था।

CG: दोस्ती, प्यार, रेप, फिर प्रेग्नेंट हुई युवती.. युवक ने झांसे में लेकर शारीरिक सबंध बनाया, बाद में किसी और लड़की से कर ली...

CG: दोस्ती, प्यार, रेप, फिर प्रेग्नेंट हुई युवती.. युवक ने झांसे में लेकर शारीरिक सबंध बनाया, बाद में किसी और लड़की से कर ली...

 छ्त्तीसगढ़: बस्तर जिले की एक युवती को इलाके का ही एक युवक शादी का झांसा देकर 7 सालों तक अपने हवस का शिकार बनाता रहा। इस बीच युवती प्रेग्नेंट हुई। उसका अबॉर्शन करवाया। फिर धोखा देकर साल 2022 में किसी दूसरी लड़की से शादी कर ली। मामले की शिकायत के बाद प्रकरण न्यायालय में चला। किसी अन्य को पीड़िता बताकर न्यायालय में खड़े किया गया। फिर समझौता भी करवा लिया गया। अब इस मामले के संबंध में पीड़ित युवती और उसकी महिला वकील ने प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर मामले में गंभीर आरोप लगाए हैं।

दरअसल, पीड़िता ने बताया कि, साल 2014 में तुरेनार के रहने वाले दीपक उर्फ प्रदीप देवांगन के साथ संपर्क में आई। दीपक ने शादी का झांसा दिया। फिर शारीरिक संबंध बनाता रहा। पिछले 7 सालों से दुष्कर्म कर रहा था। इस बीच प्रेग्नेंट हुई तो गर्भपात भी करवा दिया था। वहीं जब शादी की बात की तो करूंगा कहकर टाल मटोल करता रहा। फिर साल 2022 में उसकी दूसरी लड़की के साथ शादी तय हो गई। वह शादी करने वाला था। लेकिन इस पर जब मैंने आपत्ति जताई तो शादी के लिए मना कर दिया। मुझसे 1 साल का टाइम मांगा।

शादी तोड़ने डेढ़ लाख रुपए की किया डिमांड

युवती ने बताया कि, दूसरी लड़की के साथ शादी तोड़ने के लिए दीपक ने उससे डेढ़ लाख की डिमांड की। दीपक ने कहा कि यदि डेढ़ लाख रुपए तुम्हारे पास है तो मुझे दो। पैसे मिलेंगे तभी शादी टूटेगी।फिर कुछ दिन बाद घर से कहीं दूर जाकर शादी कर लिया। इसकी FIR मैंने परपा थाना में करवाई। घटना स्थल नगरनार होने की वजह से इसे केस को नगरनार थाना ट्रांसफर कर दिया।

कोर्ट में दिलाया गया फर्जी बयान

युवती ने बताया कि, किसी फर्जी लोगों को को कोर्ट में पेश कर राजीनामा के लिए बयान दिया गया। इसकी जानकारी मुझे 08 अगस्त को मिली। 07/08/2022 को मेरे पास कोर्ट से नोटिस आया था। 8 को जब कोर्ट में जज ने जमानत दे रही हो या फिर आपत्ति है। तब मैंने कहा कि मुझे आपत्ति है। तब जज ने कहा कि आपने तो पहले आपत्ति नहीं की है इस संबंध में 3 अगस्त को बयान दिया था। उसके बाद पता चला कि किसी और लड़की और उसकी मां को कोर्ट में लाकर बयान दिलवाया गया है। युवती ने कहा कि, मैंने शिकायत भी डाली है। लेकिन, अब तक कार्रवाई नहीं हुई है।

वकील बोलीं- हाई लेवल पर भेजा गया पत्र

युवती की वकील संगीता चौहान ने बताया कि उनके पास यह मामला अक्टूबर महीने में आया है। जिसके बाद बिलासपुर हाईकोर्ट के जज, पुलिस अधीक्षक, विधिक प्राधिकरण दिल्ली और महिला आयोग रायपुर को पत्र लिखा गया। लेकिन, आज जिला जल ने मुझे बुलाया कि हाईकोर्ट की सूचना आ चुकी है। जांच चल रही है। आप इसपर पत्राचार न करें। वकील ने कहा कि, लड़की को इंसाफ दिलाना है। युवक जेल में था, उसे जमानत मिल गई है।

छुई खदान हादसे में मृतकों का किया गया अंतिम संस्कार, गांव में छाया मातम

छुई खदान हादसे में मृतकों का किया गया अंतिम संस्कार, गांव में छाया मातम

 बस्तर। जिले के जगदलपुर के समीप कल मालगांव के छुई खदान में हुये हादसे में मृत ग्रामीणों का शव देर रात पोस्टमार्टम उपरांत गाँव लाया गया, आज एक साथ उन सभी मृतकों की शव यात्रा निकाली गई। अंतिम संस्कार की पूरी व्यवस्था जिला प्रशासन ने किया है, वही इस हादसे के बाद पूरे गाँव मे मातम छाया हुआ है।

प्रेदश के मुख्यमंत्री ने इस घटना की शोक जताया व मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की मुआवजा देने की घोषणा किया। विभिन्न राजनीतिक दल के जनप्रतिनिधी व समाज सेवी संगठन के लोग भी घटना स्थल मालगाँव पहुँच कर पीड़ित परिवार से मिल कर इस दुःख की घड़ी में सांत्वना देने पँहुचे। इस मौके पर जिला प्रशासन के अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण व शहरवासी मौजूद रहे।

BREAKING : छत्तीसगढ़ में खदान धंसने से 7 लोगों की मौत, मलबे में दबे मजदूरों का रेस्क्यू जारी

BREAKING : छत्तीसगढ़ में खदान धंसने से 7 लोगों की मौत, मलबे में दबे मजदूरों का रेस्क्यू जारी

 बस्तर। छत्तीसगढ़ के बस्तर से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां जगदलपुर जिले के मालगांव में एक मुरूम का खदान धंस गया है। अभी तक 7 मजदूर के शव निकाले गए हैं। कई मजदूर अभी भी अंदर दबे हुए हैं। घटना की सूचना मिलने पर प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है। जिसके बाद राहत और बचाव का कार्य जारी है। साथ ही एनडीआरएफ की टीम को भी वहां बुलाया गया है

बताया जा रहा है कि जगदलपुर से 11 किलोमीटर दूर ग्राम मालगांव में मुरूम अचानक धंस गई। इस हादसे की चपेट में आने से अब तक 7 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में 6 महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं। पुलिस और एसडीआरएफ ने उन्हें बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। जानकारी के मुताबिक अब तक 7 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। सात में से पांच लोगों की मौत होने की खबर है।

नक्सलियों का PLGA सप्ताह शुरू, बस्तर में पुलिस फोर्स अलर्ट, 7 दिनों में तीन मुठभेड़

नक्सलियों का PLGA सप्ताह शुरू, बस्तर में पुलिस फोर्स अलर्ट, 7 दिनों में तीन मुठभेड़

 जगदलपुर। बस्तर में आज से नक्सलियों का PLGA (पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी) सप्ताह शुरू हो गया है, जो 8 दिसंबर तक चलेगा। जिसके बाद बस्तर में पुलिस फोर्स भी अलर्ट है और जवान अंदरूनी इलाकों में घुसे हुए हैं। पिछले 7 दिनों में सुकमा और बीजापुर जिले में हुई कुल 3 मुठभेड़ों में 4 नक्सलियों को ढेर किया गया है। जबकि, 1 जवान शहीद हो गया है। वहीं 3 पुलिस कर्मी भी घायल हुए हैं।

दरअसल, PLGA सप्ताह नक्सलियों का यह हर साल का अंतिम अयोजन होता है। जिसमें नक्सली सालभर की अपनी कामयाबी, विफलताओं, संगठन को मजबूती देने समेत अन्य बातों का बखान करते हैं। इसके अलावा किसी न किसी तरह की वारदात को भी अंजाम देते हैं। नक्सलियों के इस सप्ताह को लेकर पिछले 10 दिनों से बस्तर में फोर्स अलर्ट है।

नक्सली PLGA सप्ताह के दौरान अपने सालभर के आंकड़ों को भी सार्वजनिक करते हैं। नक्सलियों के सेंट्रल कमेटी के नेता अभय ने कुछ दिन पहले प्रेस नोट जारी किया था। जिसमें बताया था कि, पिछले दिसंबर 2021 से नवंबर 2022 तक इस 1 साल में देश भर में उनके 132 लाल लड़ाके मारे गए हैं। करीब 31 जवानों को शहीद और 154 जवानों को घायल किया है। वहीं 69 पुलिस के मुखबिरी की हत्या की है।

CG CRIME : मंदिर दर्शन करवाने ले गया, फिर घोंट दिया पत्नी का गला, 1 महीने बाद लाश बरामद

CG CRIME : मंदिर दर्शन करवाने ले गया, फिर घोंट दिया पत्नी का गला, 1 महीने बाद लाश बरामद

 बस्तर। जिले में एक युवक ने चरित्र शंका पर अपनी पत्नी की हत्या कर शव को जंगल में दफना दिया। आरोपी युवक पत्नी को पहले मंदिर दर्शन करवाने लेकर गया, फिर लौटते समय जंगल में गला घोंट कर मार दिया। जिसके बाद जंगल में शव को दफना कर फरार हो गया था। आरोपी को पकड़ने पुलिस झारखंड, ओडिशा समेत 4 राज्यों के चक्कर लगा रही थी। हत्या के एक महीने बाद आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। मामला बोधघाट थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मामला 27 सितंबर का है। जगदलपुर के परउगुड़ा का रहने वाला युवक शंकर पांडेय (25) और तेतरकुटी की रहने वाली युवती सीमा यादव (22) ने करीब 8 से 9 महीने पहले लव मैरिज की थी। शादी के बाद से ही उसका पति शंकर पांडेय चरित्र पर शक करता था। कई बार दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। 27 सितंबर को शंकर पत्नी सीमा को गिरोला मंदिर दर्शन करवाने लेकर गया। जिसके बाद रास्ते में उसने सुनसान इलाका देखकर पत्नी का गला घोंट कर मार दिया। फिर उसके शव को झाड़ियों में ही छिपा दिया था।

वारदात को अंजाम देने के बाद अपने घर लौटा फिर पिता चिंतामणी पांडेय और छोटे भाई विक्रम पांडेय को इसकी जानकारी दी। फिर देर रात तीनों जंगल पहुंचे। वहां से शव को उठाया और फिर कुछ दूरी पर ले जाकर दफना दिए। वारदात के बाद शंकर ने अपनी पत्नी के परिजनों से कहा था कि, दोनों मंदिर गए थे। मैं आ गया और सीमा बाजार गई है कहकर निकली थी, लौटी नहीं।

मामले के बाद बेटी की गुमशुदगी की उसके पिता ने रिपोर्ट लिखवाई थी। शंकर उसी दिन से फरार हो गया था। पुलिस को इस पर संदेह था। जिसे ढूंढने का प्रयास किया जा रहा था। पुलिस ने सायबर सेल की मदद से पता लगाया। जिसमें 1 महीने के अंदर यह ओडिशा, उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार इन 4 राज्यों में अलग-अलग लोकेशन दिखाया। जिसके बाद पुलिस इसे पकड़ने इन जगहों पर घूमती रही। अंत में ओडिशा के पुरी से इसे पकड़ा गया। जब पुलिस शंकर पांडेय को पकड़ कर लाई तो इसने हत्या का राज खोल दिया। उसने पुलिस को वह जगह दिखाया जहां इसने शव को दफनाया था। गुरुवार को पुलिस ने SDM की मौजूदगी में शव को निकाल लिया था। शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया गया है। आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

CG NEWS : पुलिस-नक्सली मुठभेड़, गांव में ख़त्म हुआ नक्सलियों का खौफ

CG NEWS : पुलिस-नक्सली मुठभेड़, गांव में ख़त्म हुआ नक्सलियों का खौफ

 बस्तर।CG NEWS: छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा से लगे ताड़वायली गांव नक्सलियों का गढ़ बस्तर (Bastar)  में गत चार दशकों से नक्सलवाद का आतंक रहा है। अभी भी नक्सली अंदरूनी इलाकों में वारदातों को अंजाम दे रहे हैं, गत वर्षो से बस्तर पुलिस भी नक्सलियों के खिलाफ आक्रामक हुई है।  पुलिस के द्वारा एक के बाद एक लगातार एंटी नक्सल ऑपरेशन चलाने से कई इलाकों में नक्सली बैकफुट पर हैं।

इन इलाकों में अब ग्रामीण दहशत भरी जिंदगी से मुक्त हुए हैं और अब इन इलाकों तक विकास भी पहुंच रही है, 100 से ज्यादा गांव नक्सल मुक्त हो चुके है।  इन नक्सल मुक्त गांव में एक ऐसा गांव है जहां प्रदेश की पहली पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हुई थी, यहां नक्सलियों की काफी बड़ी संख्या में मौजूदगी होती थी लेकिन आज इस गांव से नक्सल आतंक पूरी तरह से खत्म हो चुका है। यहां के लोग अब इंटरनेट की सुविधा का भी लाभ उठा रहे हैं। साथ ही इस गांव तक अब सड़क, बिजली और पानी की भी सुविधा पहुंच चुकी है।

नक्सलमुक्त हुआ ताड़वायली गांव

छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा से लगे ताड़वायली गांव नक्सलियों का गढ़ माना जाता था।  इस इलाके में महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के नक्सली कई बड़ी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, साथ ही यह इलाका नक्सलियों के लिए सेफ जोन माना जाता था।  बस्तर आईजी ने बताया कि 28 जुलाई 1984 में अविभाजित मध्य प्रदेश में इस गांव में सबसे पहली पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हुई थी।

उस मुठभेड़ में करोड़ो रुपये का इनामी बड़ा नक्सली लीडर गणपति पुलिस के हाथों मारा गया था।  गणपति के याद में नक्सलियों ने इस गांव में स्मारक बनाया और पूरे प्रदेश में इस दिन को शहीदी सप्ताह के  रूप में मनाना शुरू किया। इस इलाके में पुलिस ने नक्सलियों का दहशत खत्म करने के लिए अंदरूनी गांव में पुलिस कैंप खोला, साथ ही इसकेआस- पास अर्ध सैनिक बलों ने भी कैंप खोलकर अपना डेरा जमाया।

फोर्स की सुरक्षा में इसी साल गांव तक पक्की सड़क तैयार हुई और सड़क बनने के बाद इंटरनेट की सुविधा भी शुरू की गई। अब इस गांव के लोग बेखौफ जिंदगी जी रहे हैं, साथ ही इंटरनेट की सुविधा का भी लाभ उठा रहे हैं।

नक्सलियों ने जलाया टावर

आईजी ने बताया कि हालांकि कुछ महीने पहले नक्सलियों ने यहां टावर जलाया था। नक्सलियों की ये हरकत ग्रामीणों को इतनी नागवार गुजरी कि वे सीधे 10 किलोमीटर दूर मरोड़ा गांव के बीएसएफ कैंप पहुंच गए और टावर शुरू कराने आवेदन दिया।  इसके बाद मरम्मत कर टावर शुरू कराया गया।

बस्तर के आईजी ने बताया कि इस गांव में अब नक्सलियों का आतंक खत्म हो चुका है।  ग्रामीण भी अब नक्सलियों का साथ नहीं दे रहे हैं।  जिस क्षेत्र को पहले नक्सली अपना सेफ जोन मानते थे, अब इस जगह पिछले कई सालों से वारदात नहीं हुई है।

चरित्र शंका के चलते एक बार फिर चढ़ी पत्नी की बलि, SDM की मौजूदगी में निकाला गया शव

चरित्र शंका के चलते एक बार फिर चढ़ी पत्नी की बलि, SDM की मौजूदगी में निकाला गया शव

 बस्तर / छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में एक युवक ने अपनी पत्नी के चरित्र शंका पर उसकी हत्या कर दी है। युवक पत्नी को पहले माता के मंदिर दर्शन करवाने लेकर गया, फिर लौटते समय जंगल में गला घोंट कर मार दिया। किसी को शक न हो इसलिए जंगल में शव को दफना कर फरार हो गया था। आरोपी को पकड़ने पुलिस को झारखंड, ओडिशा समेत 4 राज्यों के चक्कर लगाने पड़े। हत्या के एक महीने बाद आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। मामला बोधघाट थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मामला 27 सितंबर का है। जगदलपुर के परउगुड़ा का रहने वाला युवक शंकर पांडेय (25) और तेतरकुटी की रहने वाली युवती सीमा यादव (22) ने करीब 8 से 9 महीने पहले लव मैरिज की थी। शादी के बाद से ही उसका पति शंकर पांडेय चरित्र पर शक करता था। कई बार दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। सीमा पति को छोड़कर घर भी गई थी। हालांकि, फिर मान मनव्वल के बाद वापस शंकर के साथ रह रही थी। फिर, 27 सितंबर को शंकर पत्नी सीमा को गिरोला मंदिर दर्शन करवाने लेकर गया।

जिसके बाद रास्ते में उसने सुनसान इलाका देखकर पत्नी का गला घोंट कर मार दिया। फिर उसके शव को झाड़ियों में ही छिपा दिया था। वारदात को अंजाम देने के बाद अपने घर लौटा फिर पिता चिंतामणी पांडेय (51) और छोटे भाई विक्रम पांडेय (19) को इसकी जानकारी दी। फिर देर रात तीनों जंगल पहुंचे। वहां से शव को उठाया और फिर कुछ दूरी पर ले जाकर दफना दिए। वारदात के बाद शंकर ने अपनी पत्नी के परिजनों से कहा था कि, दोनों मंदिर गए थे। मैं आ गया और सीमा बाजार गई है कहकर निकली थी, लौटी नहीं।

मृतिका के पिता ने लिखवाई थी रिपोर्ट

दरअसल, इस मामले के बाद बेटी की गुमशुदगी की उसके पिता ने रिपोर्ट लिखवाई थी। शंकर उसी दिन से फरार हो गया था। पुलिस को इस पर संदेह था। जिसे ढूंढने का प्रयास किया जा रहा था। पुलिस ने सायबर सेल की मदद से पता लगाया। जिसमें 1 महीने के अंदर यह ओडिशा, उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार इन 4 राज्यों में अलग-अलग लोकेशन दिखाया। जिसके बाद पुलिस इसे पकड़ने इन जगहों पर घूमती रही। अंत में ओडिशा के पुरी से इसे पकड़ा गया।

पूछताछ में खुला हत्या का राज

जब पुलिस शंकर पांडेय को पकड़ कर लाई तो इसने हत्या का राज खोल दिया। इसने पुलिस को वह जगह दिखाया जहां इसने शव को दफनाया था। गुरुवार को पुलिस ने SDM की मौजूदगी में शव को निकाल लिया था। शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया गया है। आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

बस्तर में लगेगी छ्त्तीसगढ़ की पहली प्लास्टिक रिसाइक्लिंग फैक्ट्री,लोगों को मिलेगी रोजगार के अवसर ?

बस्तर में लगेगी छ्त्तीसगढ़ की पहली प्लास्टिक रिसाइक्लिंग फैक्ट्री,लोगों को मिलेगी रोजगार के अवसर ?

 जगदलपुर/ स्वच्छ देश बनाने के लिए कई जद्दोजहद सरकारें करती हैं. लोगों को जागरूक करने की कोशिश करती हैं. बावजूद पूरी तरीके से शहर में गंदगी और वेस्ट मटेरियल पड़े होते हैं,

जिसे कई बीमारियां भी उत्पन्न हो जाती हैं. अधिकतर पानी की बोतल, प्लास्टिक की थैली चारों तरफ पड़ी मिलती हैं. अब बस्तर में इसे रीसाइक्लिंग करने फैक्ट्री लग रही है.

इस फैक्टरी के लगने से बस्तर में काफी हद तक प्लास्टिक गायब हो जाएंगे। हालांकि जिला प्रशासन कई योजनाओं को लाकर लोगों को प्लास्टिक को मशीन में ही डालने की योजना बना रहा है.

ताकि जिला प्रशासन को प्लास्टिक मिल जाए और लोगों को उसका एक मूल्य भी प्राप्त हो सके. यह फैक्ट्री जगदलपुर विकासखंड के बाबू सेमरा में लगाया जाएगा.

बताया जा रहा है कि 22 हजार हैक्टेयर में फैक्ट्री लगाई जा रही है, जिसकी अनुमानित लागत 3.5 करोड़ है.इस फैक्ट्री के लगने से बस्तरवासियों को एक रोजगार भी मिल पाएगा.

बस्तर वासियों में काफी खुशी भी नजर आ रही है. यह फैक्ट्री देश में बहुत कम जगह लगी हुई है. लेकिन छत्तीसगढ़ में यह पहली फैक्ट्री होगी जो बस्तर में लगाया जा रहा है.

बस्तर कलेक्टर ने बताया कि बस्तर के 30 गांव और नगरी निकाय को इस योजना में शामिल किया गया है, जिसके तहत प्लास्टिक मटेरियल रीसाइक्लिंग और मटेरियल रिकवरी फैसिलिटी यह दोनों चीज बस्तर में लग रही है.

जगदलपुर के बाबू सेमरा में यह प्लांट लगाया जाएगा और यह CEE सेंट्रल फ़ॉर एनवायरमेंट एजुकेशन और एचडीएफसी के तत्वाधान के साथ जिला प्रशासन के ट्राय पार्टी एग्रीमेंट के तहत इस कार्य को किया जा रहा है। इसके तहत मुख्य योजना यह भी है कि जो सॉलिड वेस्ट होता है.

उसे टेक्नीकली और सेफ्टी हाइजीन मेथड से कलेक्ट कर उसका साइंटिफिक तरीके से डिस्पोजल हो जोकि वातावरण को भी दूषित ना करें. साथ ही जो बेस्ट कलेक्ट हो रहा है.

उससे रेवेन्यू भी जनरेट हो सके. जिस मटेरियल को दोबारा रीसाइकिल कर सकते हैं, उसे फैक्ट्री में ही रखा जाएगा, जिसे रिसाइकल नहीं किया जा सकता है, उसे बेलर मशीन में कंपैक्ट किया जाएगा.

उसे हाई मटेरियल बनाने के बाद जहां ज्यादा अच्छा दाम मिले वहां सेल किया जाएगा, ताकि प्रशासन को इससे कुछ रेवेन्यू जनरेट हो सके. इस फैक्ट्री में जितने भी प्रोसेस होंगे. वह आईटी के माध्यम से रहेंगे.

इस फैक्ट्री को लेकर बस्तर वासियों में काफी उत्साह है. निगम क्षेत्र के अलावा पंचायतों के सपोर्ट भी जिला प्रशासन को मिल रहा है.इसके अलावा शहर में वेंडिंग मशीन भी लगाई जाएगी,

जिससे वेस्ट मटेरियल प्लास्टिक बोतल या पॉलीथिन उसे अगर वेंडिंग मशीन में डालेंगे तो बदले में मशीन से 1 कूपन प्राप्त होगा, जिससे दुकानों में चाय कॉफी नाश्ता या कैश भी करवाया जा सकता है. यह फैसिलिटी जिले के दो जगह में की गई है. पहला शहर का आइलैंड दलपत सागर और दूसरा चित्रकोट जलप्रपात में लगाया जाएगा.

बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात: छत्तीसगढ़ के इस संभाग में एक बार फिर भारी बारिश के आसार

बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात: छत्तीसगढ़ के इस संभाग में एक बार फिर भारी बारिश के आसार

 बस्तर: छत्तीसगढ़ में एक बार फिर भारी बारिश के आसार नजर आ रहे हैं। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात का असर दक्षिण बस्तर में भी देखने को मिल रहा है, एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती गहरा उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी और उसके आसपास 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। जिसके बाद अब बस्तर में एक बार फिर भारी बारिश होने के आसार दिख रहे हैं, बुधवार सुबह से ही घने बादल छाए हुए हैं और संभाग के कई जिलों में बारिश शुरू हो गई है।

जिसके प्रभाव से बुधवार को प्रदेश के कुछ जिलों के साथ-साथ बस्तर संभाग के सभी सातों जिलों में बारिश हो रही है, इधर भारी बारिश के चलते पहले ही कई प्रभावित लोग राहत शिविर में शरण लेने को मजबूर है और पिछले 2 दिन तक मौसम खुलने के बाद एक बार फिर बारिश के अलर्ट से उन्हें चिन्ता सताने लगी है।

संभाग के कुछ जिलों में दिख रहा बारिश का असर
मौसम विज्ञानी एच.पी चन्द्रा ने बताया कि मानसून द्रोणिका अभी भी समुद्र तल पर मौजूद है, जिसका असर लगातार देखने को मिल रहा है, खासकर दक्षिण बस्तर में पिछले दिनों से लगातार बारिश हो रही हैं हालांकि बीते 2 से 3 दिन बारिश थमने से और मौसम खुलने से जरूर बस्तर वासियों को राहत मिली है, लेकिन बुधवार सुबह से एक बार फिर से चक्रिय चक्रवात का असर देखने को मिल रहा है, जिसके चलते सुबह से घने बादल छाए हुए हैं और कई इलाकों में बारिश भी हो रही है, हालांकि मौसम विज्ञानी ने बताया कि इस बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी नहीं किया गया है, लेकिन कुछ जगहों पर भारी बारिश होने की संभावना पूरी बनी हुई है।

इधर बारिश के अलर्ट के बाद कुछ जिलों के प्रशासन ने बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत शिविरों में ही रहने की सलाह दी है, वहीं बारिश पूरी तरह से थम जाने के बाद ही बारिश की वजह से बाढ़ में डूबे अपने अपने घरों में वापस जाने की अपील की है, फिलहाल एक बार फिर बारिश से निचले बस्तियों में रहने वाले प्रभावितों के साथ-साथ किसानों को भी चिंता सताने लगी है, वहीं यह बारिश और कितने दिनों तक हो सकती है, इसको लेकर अब तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी है।

चाचा पर कुल्हाड़ी से हमला...फसल बर्बाद करने के शक में भतीजे ने काटा गला...पहले भी कर चुका था विवाद...पढ़िए पूरी खबर

चाचा पर कुल्हाड़ी से हमला...फसल बर्बाद करने के शक में भतीजे ने काटा गला...पहले भी कर चुका था विवाद...पढ़िए पूरी खबर

 छत्तीसगढ़: बस्तर जिले में फसल बर्बाद करने के शक में एक भतीजे ने अपने चाचा की हत्या कर दी है। घर पर सोए चाचा के सिर पर कुल्हाड़ी से उसने हमला किया। जब संतुष्ट नहीं हुआ तो फिर चाकू से गला काट दिया। बीच बचाव के लिए पहुंची चाची पर भी हमला करने की कोशिश की। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया था। जिसे पुलिस ने तलाश कर गिरफ्तार कर लिया है। मामला पखनार चौकी क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, तोयनार के रहने वाले मंगलू मरकाम और उसके भतीजे लखमू पोयामी का खेत गांव में ही आस-पास में है। लखमू कई दफा अपने चाचा पर उसके खेत की फसल बर्बाद करने का आरोप लगाकर झगड़ा कर चुका था। शुक्रवार को भी दोनों के बीच इसी बात पर झगड़ा हुआ। वहीं रोज-रोज के इस झगड़े से छुटकारा पाने के लिए भतीजा लखमू पोयामी ने अपने चाचा मंगलू को मारने का प्लान बनाया।

रात को जाकर मार दिया

फिर शुक्रवार की रात में मंगलू के घर में घुस गया। घर के बाहर सोए मंगलू पर लखमू ने कुल्हाड़ी से कई बार वार किए। इस बीच शोरगुल की आवाज सुनकर मंगलू की पत्नी भी बाहर आई और बीच बचाव करने की कोशिश की। लेकिन, लखमू ने मारना नहीं छोड़ा और अपनी चाची पर भी हमला करने की कोशिश की। कुछ देर बाद जब उसे यकीन नहीं हुआ कि मंगलू मर गया है तो संतुष्टि के लिए चाकू से उसका गला काट दिया।

वारदात को अंजाम देने के बाद मौके से वह फरार हो गया था। पत्नी ने पड़ोसियों को वारदात की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस को भी इस मामले की सूचना दी गई। आरोपी की तलाश में जवान जुट गए थे। वहीं पखनार चौकी के जवानों को मुखबिर से सूचना मिली की गांव के ही पास स्थित एक घर में आरोपी छिपा हुआ है। खबर मिलते ही जवान पहुंचे और उसे गिरफ्तार कर लिया है।

पायल ट्रैवल्स के मालिक पर कार्रवाई की मांग को लेकर युवाओं ने नेशनल हाईवे में किया चक्का जाम 48 घंटों का दिया अल्टीमेटम

पायल ट्रैवल्स के मालिक पर कार्रवाई की मांग को लेकर युवाओं ने नेशनल हाईवे में किया चक्का जाम 48 घंटों का दिया अल्टीमेटम

 बस्तर। जगदलपुर रायपुर मार्ग नेशनल हाईवे 30 में मेंटावाड़ा के पास शुक्रवार को तड़के सुबह हुए सड़क हादसे में मृतक पांचों युवकों को शनिवार को युवाओं के परिजन, मित्र और शहर के युवाओं ने श्रद्धांजलि दी,

साथ ही अमागुड़ा के पास नेशनल हाईवे 30 पर चक्का जाम कर 48 घंटों के भीतर पायल ट्रेवल्स के मालिक पर कार्रवाई करने की मांग के साथ ही मृतकों को मुआवजा देने की मांग की है l

लगभग 1 घंटे तक चक्का जाम करने के बाद मौके पर पहुंचे जगदलपुर के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी और तहसीलदार ने आश्वासन दिया कि 48 घंटों के अंदर युवाओं की मांग पूरी की जाएगी l

वही युवाओं ने कहा कि अगर 48 घंटे के अंदर उनकी मांग पूरी नहीं होती है तो एक बार फिर से वे नेशनल हाईवे में चक्काजाम करेंगे, युवाओं का कहना है

कि  यात्री बस के ड्राइवर द्वारा लापरवाही पूर्वक  बस चलाने की वजह से यह हादसा हुआ है, ऐसे में उन्होंने मांग की है कि जिस तरह से बस्तर से रायपुर मार्ग में यात्रियों के लिए बसों की ओवरटेक होती है

और तेज रफ्तार में बसों को चलाया जाता है, इनके लिए निर्धारित समय तय किया जाए और किसी भी ट्रेवल्स के द्वारा इस तरह के लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाने से उन पर कार्रवाई की जाए…

बस्तर फाइटर्स फोर्स में 9 थर्ड जेण्डरों का हुआ चयन, बंदूकें लेकर भिड़ेंगे नक्सलियों से

बस्तर फाइटर्स फोर्स में 9 थर्ड जेण्डरों का हुआ चयन, बंदूकें लेकर भिड़ेंगे नक्सलियों से

 बस्तर: छ्त्तीसगढ़ के बस्तर में पहली बार थर्ड जेंडर श्रेणी के लोगों की पुलिस में भर्ती हुईं है। अब ये सभी नक्सल मोर्चे पर तैनात होंगी। हाथों में बंदूक उठा नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में जाएंगी। दरअसल, बस्तर संभाग में नक्सल मोर्चे पर एक नई फोर्स बस्तर फाइटर्स का गठन किया है। इसके तहत संभाग के सातों जिले में 300-300 पदों पर 2100 स्थानीय युवक-युवतियों की भर्ती की गई है। जब भर्ती प्रक्रिया चल रही थी तो उस समय थर्ड जेंडर श्रेणी के 9 लोगों ने जिनमें दिव्या, दामिनी, संध्या, सानू, रानी, हिमांशी, रिया, सीमा और बरखा ने भी आवेदन किया था। हालांकि, आइडेंटिटी समेत अन्य किसी कारण से इनके आवेदन को पहले रिजेक्ट किया गया था। लेकिन, फिर विरोध के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया।


जिसके बाद आवेदन करने में आ रही समस्याओं का निराकरण किया गया। फिर सभी के डॉक्यूमेंट एक्सेप्ट कर लिए गए। पुलिस अधिकारियों की माने तो ट्रांसजेंडर्स ने बस्तर फाइटर्स फोर्स के फिजिकल, लिखित और इंटरव्यू ये सभी टेस्ट पास किए। वहीं संभाग के 9 थर्ड जेंडर का चयन बस्तर फाइटर्स फोर्स के लिए किया गया है। बस्तर के IG सुंदरराज पी ने बताया कि, बस्तर में पहली बार तृतीय लिंग श्रेणी के लोगों का पुलिस में चयन हुआ है। नक्सलियों के खिलाफ अब ये भी हथियार उठाएंगी।

ऐसे हुआ 2100 लोगों का चयन
बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती प्रक्रिया अंतर्गत मई-जून में फिजिकल टेस्ट में योग्य पाए गए 5405 उम्मीदवारों के लिए बस्तर संभाग के सभी जिला मुख्यालयों में 17 जुलाई 2022 को 50 अंको की लिखित परीक्षा हुई थी। लिखित परीक्षा में संभाग के कुल 5330 युवा शामिल हुए थे। फिजिकल टेस्ट एवं लिखित परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर बस्तर संभाग में कुल 3969 उम्मीदवारों का चयन हुआ था। जिनका 1 अगस्त से 10 अगस्त को संभाग के सभी जिला मुख्यालयों में 20 अंकों के लिए इंटरव्यू लिया गया। जिसमें सभी प्रक्रिया पूर्ण कर बस्तर फाइटर्स की चयन सूची जारी कर दी गई है।

बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती 2022: 2 हजार 100 लोगों की भर्ती के लिए का रिजल्ट जारी

बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती 2022: 2 हजार 100 लोगों की भर्ती के लिए का रिजल्ट जारी

 रायपुरः बस्तर, दंतेवाड़ा, कांकेर, बीजापुर, नारायणपुर, सुकमा और कोंडागांव जिले में बस्तर फाइटर आरक्षक के 300-300 कुल 2100 स्वीकृत पदों की चयन सूची जारी हो गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बस्तर संभाग के वनांचल क्षेत्रों में शांति, सुरक्षा एवं विकास कार्यों में स्थानीय युवक-युवतियों को रोजगार के अवसर सहित क्षेत्र में सकारात्मक योगदान सुनिश्चित करने के उद्देश्य से बस्तर फाइटर्स नाम के विशेष बल के गठन हेतु नवीन पदों के सृजन की स्वीकृति प्रदान की गई है।


बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती प्रक्रिया अंतर्गत माह मई-जून में शारीरिक दक्षता परीक्षा (100 अंकों) में योग्य पाये गये 5405 उम्मीद्वारों के लिए बस्तर संभाग के कांकेर, कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा जिला मुख्यालय में 17 जुलाई 2022 को 50 अंको की लिखित परीक्षा संपन्न की गई। उक्त लिखित परीक्षा में संभाग के कुल 5330 उम्मीदवार शामिल हुए

बस्तर फाइटर आरक्षक पद हेतु शारीरिक दक्षता परीक्षा एवं लिखित परीक्षा में प्राप्तांकों (मेरिट क्रमानुसार) के आधार पर बस्तर संभाग में कुल 3969 उम्मीदवारों का 01 अगस्त से 10 अगस्त 2022 तक संबंधित सभी जिला मुख्यालय में 20 अंको का साक्षात्कार लिया गया। उपरोक्त समस्त प्रक्रिया पूर्ण कर बस्तर फाईटर आरक्षक पद हेतु 15 अगस्त 2022 को उम्मीदवारों की चयन एवं प्रतीक्षा सूची जारी कर दी गई है।

अंदरूनी वनांचल क्षेत्र में रूबरू होने के दौरान बल सदस्यों को स्थानीय बोली की जानकारी नहीं होने से अनेक प्रकार की व्यावहारिक कठिनाई एवं चुनौतियों का सामना करना पड़ता था। बस्तर फाइटर आरक्षक भर्ती में जिले के स्थानीय भर्ती होने के साथ-साथ क्षेत्र की बोली के जानकार अभ्यर्थियों के चयन होने पर भाषा की चुनौती को दूर करने के साथ-साथ स्थानीय जनता एवं पुलिस के संबंध को और भी मजबूती मिलेगी।

Hemlata Nagesh : हेमलता को शिक्षा विषय पर पी एच डी, मेट्स विश्वविद्यालय ने दिया अवार्ड

Hemlata Nagesh : हेमलता को शिक्षा विषय पर पी एच डी, मेट्स विश्वविद्यालय ने दिया अवार्ड

बस्तर। छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में स्कूली बच्चों की शिक्षा के संबंध में शोधार्थी सुश्री हेमलता नागेश को मेट्स विश्वविद्यालय ने पी एच डी की उपाधि दी है। सुश्री नागेश ने बस्तर जिले के शालेय वातावरण एवं अध्ययन आदतों के विद्यार्थियों के व्यक्तित्व एवं शैक्षिणिक अभिवृत्ति पर प्रभाव विषय मे अपना शोध कार्य पूरा किया।


शिक्षाविद डॉ संगीता सराफ के मार्गदर्शन में उन्होंने यह शोध कार्य किया। सुश्री हेमलता वर्तमान में जगदलपुर के सूर्या शिक्षा महाविद्यालय में सहायक प्राध्यापक के रूप में सेवाएं दे रही है ।
बस्तर में मंकी पाॅक्स की दस्तक! दो CISF जवानों में दिखे मंकी पाॅक्स के लक्षण, अस्तपाल में भर्ती

बस्तर में मंकी पाॅक्स की दस्तक! दो CISF जवानों में दिखे मंकी पाॅक्स के लक्षण, अस्तपाल में भर्ती

 बस्तर( bastar) में भी मंकी पाॅक्स( monkeypox? की दस्तक की आंशका बनी हुई है। आशंका है कि दंतेवाड़ा जिले के बचेली में तैनात सीआईएसएफ के दो जवान इसके शिकार हो गए हैं जवानों को मंकी पाॅक्स के लक्षण उभरने के बाद मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। दोनों जवान रविवार को हॉस्पिटल पहुंचे थे। इसके बाद डाॅक्टरों( doctor) ने इनकी जांच की तो डाॅक्टर चौंक गए। इनके शरीर पर मंकी पाॅक्स के लक्षण जैसे चट्‌टेदार दाने उभर गए थे।

जवान ने बताया कि वह हाल ही में दिल्ली से लौटा है जबकि दूसरा जवान बचेली में ही था और कहीं बाहर नहीं गया था जैसे ही डाॅक्टरों को जवान की ट्रेवल हिस्ट्री( travel history) पता चली तो फिर इनके मंकी पाॅक्स( monkepox) की जांच करवाने का फैसला लिया गया और दोनों जवानों के नमूनों को पुणे स्थित लैब में जांच के लिए भेजा गया है। मेडिकल कॉलेज के डाॅक्टर नवीन दुल्हानी ने बताया कि दो जवान हॉस्पिटल में भर्ती हुए हैं। इनके शरीर में दाने निकल गए हैं ।

लोकसभा प्रवास योजना के तहत तीन दिवसीय बस्तर प्रवास पर पहुँचे केन्द्रीय राज्यमंत्री

लोकसभा प्रवास योजना के तहत तीन दिवसीय बस्तर प्रवास पर पहुँचे केन्द्रीय राज्यमंत्री

 JAGDALLPUR : केन्द्रीय राज्यमंत्री विश्वेवर टुडू केन्द्र की लोकसभा प्रवास योजना के तहत तीन दिवसीय बस्तर प्रवास पर आज रेल मार्ग द्वारा हीराखंड एक्सप्रेस से जगदलपुर पहुंचे ,रेल्वे स्टेशन में केन्द्रीय राज्यमंत्री टुडू का भाजपा कार्यकर्ताओं ने आत्मीय स्वागत किया ।

भाजपा जिला कार्यालय मेंं केन्द्रीय राज्यमंत्री विश्वेवर टुडू ने भाजपा कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और संबोधन दिया , टुडू ने कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाते हुए

कहा कि भारतीय जनता पार्टी विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्व के नेता है ,भाजपा का कार्यकर्ता होना गौरव की बात है ।भाजपा के निष्ठावान कार्यकर्ता राष्ट्र निर्माण के साथ जीत का लक्ष्य लेकर निरंतर कार्य कर ।

केन्द्रीय राज्यमंत्री टुडू ने कहा कि आने वाले समय में विधानसभा व लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की विजय का परचम लहराना है । लोकसभा प्रवास योजना के तहत लगातार सघन कार्यक्रम व कार्य होंगे, जिसमें पार्टी के कार्यकर्ता प्राण प्रण से जुट ।

लोकसभा प्रवास योजना के प्रदेश संयोजक व भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मोतीलाल साहू ने कहा कि देश में 144 लोकसभा क्षेत्र को लोकसभा प्रवास योजना के लिए चिन्हित किया गया है ,

छत्तीसगढ़ में बस्तर व कोरबा संसदीय क्षेत्र इसमें शामिल है । केन्द्रीय राज्यमंत्री मंत्री टुडू का निरंतर प्रवास बस्तर में होगा | भाजपा के कार्यकर्ता ऊर्जा के साथ आगामी चुनावों के लिए पूरी ऊर्जा से कार्य कर।

भाजपा जिला अध्यक्ष रूपसिंह मण्डावी व जिला संयोजक शिवनारायण पाण्डेय ने भी संबोधन दिया , कार्यक्रम का संचालन राजाश्रय सिंह व आभार वेदप्रकाश पाण्डेय ने माना ।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पूर्व सांसद दिनेश कश्यप, बैदूराम कश्यप,सुधीर पाण्डेय,विद्या शरण तिवारी, समुंदसाय कच्छ,योगेन्द्र पाण्डेय, श्री निवास मिश्रा, रजनीश पाणिग्रही, नरसिंह राव, व्ही एस राजपूत, गोदावरी साहू, बाबुल नाग, सुरेश गुप्ता, परिस बेसरा, धनुर्जय कश्यप, सुब्रतो विश्वास, फूल सिंह सेठिया, संजय पाण्डेय, आलोक अवस्थी, अविनाश श्रीवास्तव, मनीष पारेख, राजेन्द्र बाजपेयी, रामकुमारी यादव,आर्येन्द्र आर्य, श्रीपाल जैन,गणेश काले, नरेंद्र पाणिग्रही,ईश्वर राव,सुरेश कश्यप आदि सहित बडी़ संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थ ।

करंट से मजदूर की मौत, स्टेशन मास्टर सस्पेंड

करंट से मजदूर की मौत, स्टेशन मास्टर सस्पेंड

जगदलपुर : जगदलपुर रेलवे स्टेशन में स्टेशन मास्टर के लापरवाही के वजह से हाईटेंशन तार की चपेट में आने से एक मजदूर की मौत हो गई । डीआरएम ने स्टेशन मास्टर को सस्पेंड कर दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में डीआरएम ने स्टेशन मास्टर हरिप्रसाद को निलंबित कर दिया है। विदित हो कि कुछ समय पहले जगदलपुर रेलवे साइडिंग में खाद्य सामग्री उतारते समय एक मजदूर ट्रेन के हाइटेंशन करंट सप्लाई देने वाले तार के संपर्क में आ गया था। गंभीर रूप से घायल मजदूर की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई थी। मामले में ठेकेदार की लापरवाही सामने आई थी। रेलवे साइडिंग में ठेकेदारों पर नियंत्रण रखने की जिम्मेदारी होने की वजह से स्टेशन मास्टर की भी लापरवाही मानी गई। बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले समलेश्वरी एक्सप्रेस ट्रेन को भी स्टेशन मास्टर के निर्देश के बाद रवाना कर दिया गया था, तकरीबन 95 किलोमीटर आगे जाने के बाद इस ट्रेन को वापस बुलाना पड़ा था। इसमें भी स्टेशन मास्टर की लापरवाही मानते हुए डीआरएम ने उन्हें सस्पेंड कर दिया है।
 

प्रेमिका को पति के साथ पकड़े जाने पर नग्न कर गांव में घुमाया ......

प्रेमिका को पति के साथ पकड़े जाने पर नग्न कर गांव में घुमाया ......

कोंडागांव : छत्तीसगढ़ के कोंडागांव से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। यहां एक युवक और उसकी प्रेमिका को नंगा कर पूरे गांव में घुमाया गया है। कहा जा रहा है कि इस भयानक कृत्य का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।
घटना कोंडागांव जिले की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिले के एक गांव में रहने वाले युवक को उसकी पत्नी ने प्रेमिका के साथ एक कमरे में पकड़ लिया था। इसके बाद महिला ने शोर मचा कर वहां गांव वालों को बुला कर लोगों इकठ्ठा किया। इसके बाद ग्रामीणों ने युवक और उसकी प्रेमिका को सजा देने का फैसला कर लिया।

सजा के तहत पहले शादीशुदा युवक और उसकी प्रेमिका को पीटा गया। इसके बाद उन्हें नग्न कर गांव में घुमाया गया। बताया जा रहा है कि घटना शनिवार की है, जिसका वीडियो अब सामने आने के बाद पुलिस ने एक्शन लिया है।पुलिस ने अब तक इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि वीडियो सामने आने के बाद कार्रवाई की गई है। अब तक 4 आरोपियों को पकड़ा जा चुका है। अन्य आरोपियों की तलाश अभी जारी है।

 

माओवादियों के मंसूबों को किया ध्वसत, ईनामी नक्सली गिरफ्तार

माओवादियों के मंसूबों को किया ध्वसत, ईनामी नक्सली गिरफ्तार

जगदलपुर : छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर जिसकी सीमा आंध्र व उड़ीसा से जुड़ी हुई है। माओवादी पुलिस फोर्स के एक्शन से अपने प्रयासों में सफल नहीं हो रहे हैं। बस्तर आईजी पी.सुंदरराज व दंतेवाड़ा के डीआईजी कमलोचन कश्यप एवं एएसपी नक्सल आपरेशन चव्हान किरण नक्सल आपरेशन के अधिकारी विवेकानंद सिन्हा के मार्गदर्शन में माओवादी क मंसूबों को फेल कर रहे है।

इसी तारतम्य में परिया व गडग़ड़ गांव के मध्य जंगल में हुई मुड़भेड़, करीब 15 मिनट चली मुड़भेड़ इलाके की सर्चिंग करने पर बगड़ेगुड़ा क्षेत्र से नक्सली कवासी हूंगा गिरफ्तार, उसके पास से आईईडी बम सहित अन्य विस्फोटक सामाग्री बरामद मलंगेर एरिया कमिटी के प्लाटून 24 का सदस्य हैं गिरफ्तार नक्सली, दो लाख का है ईनाम सुकमा व दंतेवाड़ा जिले में कई बड़े वारदातों में रहा हैं शामिल एसडीओपी परमेश्वर तिलकवार के नेतृत्व में निकली थी डीआरजी टीम एएसपी नक्सल आपरेशन चव्हाण किरण ने इस बात की पुष्टि की है। सुकमा जिला के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा वर्तमान में क्षेत्र के दौरे पर है। उनके द्वारा भी समय-समय पर जवानों की हौसला आबजाई की है।
 

सडक हादसा :  ट्रैक्टर ने मोटर साइकिल चालक को मारी टक्कर, मौके पर ही 1 की मौत...

सडक हादसा : ट्रैक्टर ने मोटर साइकिल चालक को मारी टक्कर, मौके पर ही 1 की मौत...

जगदलपुर : जिले के धरमपुरा एलआईसी ऑफिस के पास कांगोली रोड गणेश चौक के पास एक ट्रैक्टर ने मोटर साइकिल चालक तरुण पांडे 31 वर्ष निवासी धरमपुरा को टक्कर मार दी, इस दुर्घटना में बाइक चालक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

वहीं इस दुर्घटना में एक अन्य सुरेश बघेल 25 वर्ष गंभीर रूप से घायल हो गया है। घटना के बाद ट्रैक्टर चालक मौके से फरार हो गया। परपा पुलिस मौके पर पंहुचकर गंभीर रूप से घायल युवक को उपचार के लिए मेकॉज भितवाने के बाद मर्ग कायम कर मामले को जांच में लेते हुए कार्यवाही के उपरांत मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।  

विवाद के चलते बेटे ने माँ को उतारा मौत के घाट, भाई-बहन पर भी किया हमला

विवाद के चलते बेटे ने माँ को उतारा मौत के घाट, भाई-बहन पर भी किया हमला

जगदलपुर। बस्तर जिले में देर रात उपजे पारिवारिक विवाद में बेटे ने अपनी माँ की हत्या कर दी। आरोपी बेटे के हमले में छोटे दो भाई-बहन घायल हो गए। माँ की हत्या करने के बाद आरोपी बेटे ने खुद भी जहर खा कर जान दे दी। वही घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामला कोडे़नार थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार, तोकापाल ब्लॉक के आरापुर के रहने वाले सुरेंद्र कच्छ का अपनी मां राधिका कच्छ और छोटे भाई-बहन कृष्णा और सरिता कच्छ के साथ किसी बात को लेकर शनिवार की रात विवाद हो गया। विवाद देखते ही देखते इतना बढ़ा की सुरेंद्र ने धारदार हथियार से अपनी मां के ऊपर हमला किया। जिससे मां की मौके पर ही मौत हो गई। मां को मारने के बाद दोनों छोटे भाई-बहन पर भी धारदार हथियार से वार कर अधमरा कर दिया। दोनों बेहोश हो गए थे।
घटना के बाद आरोपी ने भी जहर खा कर जान दे दी। जब घायलों को होश आया तो रात में ही इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंचे जवानों ने दोनों घायलों को मेडिकल कॉलेज भिजवाया, जहां दोनों का उपचार चल रहा है। 

राशन कार्ड धारियों के साथ स्कूलों आंगनबाड़ी में भी फोर्टिफाईड चावल का वितरण....

राशन कार्ड धारियों के साथ स्कूलों आंगनबाड़ी में भी फोर्टिफाईड चावल का वितरण....

जगदलपुर : राज्य के 10 आकांक्षी जिलों में शामिल बस्तर जिले में भारत सरकार के निर्देशानुसार राशन कार्डधारियों तथा मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम एवं एकीकृत महिला बाल विकास योजना अन्तर्गत स्कूलों एवं आंगनबाडी केन्द्रों में फोर्टिफाईड चांवल का वितरण किया जा रहा है। खाद्य नियंत्रक अयज यादव ने बताया कि इसके अन्तर्गत एपीएल राशन कार्ड धारियों को छोड़कर सभी राशन कार्डधारियों को फोर्टिफाईड चांवल वितरण किया जा रहा है। उन्होंने ने बताया कि फोर्टिफाईड चांवल का वितरण जिले के शासकीय उचित मूल्य दुकानों से किया जा रहा है। ज्ञातव्य है कि फोर्टिफाईड चांवल में नियमित चांवल की अपेक्षा आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन, विटामिन-ए, जिंक आदि पोषक तत्व अधिक मात्रा में पाया जाता है। जो शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। कुपोषण एवं एनीमिया को दूर करने के लिए शासन के द्वारा स्कूलों, आंगनबाड़ियों के अलावा प्रत्येक राशन कार्डधारी परिवार को शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से फोटिफाईड चांवल का वितरण किया जा रहा है। इसके लिए राशन कार्डधारियों से किसी भी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जा रहा है।

कलेक्टर रजत बंसल के निर्देशानुसार खाद्य विभाग के द्वारा इसके प्रचार-प्रसार के लिए शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में बैनर, पोस्टर, दीवार लेखन के माध्यम से हितग्राहियों को इसकी महत्व की जानकारी दी जा रही है। इसके अन्तर्गत आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, मितानिनों, पंचायत सचिवों के माध्यम से ग्रामीणों को फोर्टिफाईड चांवल के फायदों के बारे में निरंतर जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा जिला, जनपद एवं ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित बैठकों में जनप्रतिनिधियों को फोर्टिफाईड चांवल के महत्व के संबंध जानकारी देकर इसके संबंध में व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने का निरंतर प्रयास किया जा रहा है। खाद्य विभाग द्वारा आम लांेगों से अपील की गई है कि वे फोर्टिफाईड चांवल के संबंध प्लास्टिक चांवल को लेकर किसी भी प्रकार के संशय में बिल्कुल भी न रहें। स्कूलों एंव आंगनबाड़ी केन्द्रों में जो चांवल भण्डारित किए गए हैं वह फोर्टिफाईड चांवल है, इस चांवल में प्लास्टिक अंश मात्र भी नहीं है। 

+ Load More