• -

COVID-19 :

Confirmed :

Recovered :

Deaths :

Maharashtra / 223724 Tamil Nadu / 122350 Delhi / 104864 Gujarat / 38419 Uttar Pradesh / 31156 Karnataka / 28877 Telangana / 29536 West Bengal / 24823 Andhra Pradesh / 23814 Rajasthan / 22212 Haryana / 19004 Madhya Pradesh / 16036 Assam / 14033 Bihar / 13978 Odisha / 11201 Jammu and Kashmir / 9261 Punjab / 6907 Kerala / 6196 State Unassigned / 4385 Chhattisgarh / 3526 Uttarakhand / 3258 Jharkhand / 3192 Goa / 2039 Tripura / 1773 Manipur / 1435 Puducherry / 1200 Himachal Pradesh / 1101 Ladakh / 1055 Nagaland / 673 Chandigarh / 523 Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu / 445 Arunachal Pradesh / 287 Mizoram / 203 Andaman and Nicobar Islands / 151 Sikkim / 133 Meghalaya / 112 Lakshadweep / 0

   BIG BREAKING : रायपुर में मिले 52 नए कोरोना संक्रमित मरीज, डीकेएस हॉस्पिटल के 8 स्टाफ निकले कोरोना संक्रमित    |    त्वरित कार्रवाई से पुलिस के प्रति जनता में बढ़ता है विश्वास : श्री अवस्थी : रायगढ़ और बलौदाबाजार के पुलिसकर्मियों को डीजीपी ने इंद्रधनुष सम्मान से किया सम्मानित    |    BIG NEWS : राजधानी के एक बंद पड़े कंपनी में डकैती करने जा रहे युवकों को मुखबिरी पर पुलिस ने किया गिरफ्तार    |    सावधान: अब एक बार से ज्यादा कोरोना की जांच करवाने वालो पर होगी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर    |    हिरासत में पिता-पुत्र की मौत मामले में पांच और पुलिसकर्मी गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: एक और फिल्म अभिनेता ने दुनिया को कहा अलविदा-जगदीप    |    बड़ी खबर: कानपुर गोलीकांड के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर    |    कोरोना बुलेटिन : प्रदेश में आज 65 नए कोरोना संक्रमित मिले, रायपुर से मिले 13 देखे किन किन जिलो से है    |    प्रदेश में मिले 14 नए कोरोना संक्रमित मरीज, देखे किन जिलो से है    |    बड़ी खबर: राजधानी के हाउसिंग बोर्ड कालोनी में चाकू बाजी करने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर    |
ऑनलाइन पढ़ाई में बाधा बन रही गरीबी, अभिभावकों के पास एंड्रॉयड मोबाइल न होने के चलते अधिकतर विद्यार्थी पढ़ाई से वंचित

ऑनलाइन पढ़ाई में बाधा बन रही गरीबी, अभिभावकों के पास एंड्रॉयड मोबाइल न होने के चलते अधिकतर विद्यार्थी पढ़ाई से वंचित

दुर्ग, कान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के प्रदेश उपाध्यक्ष पवन बडज़ात्या, प्रदेश एमएसएमई प्रभारी मोहम्मद अली हिरानी, प्रदेश मीडिया प्रभारी संजय चौबे, दुर्ग जिला इकाई अध्यक्ष प्रह्लाद रुंगटा, अमर कोटवानी, सुनील जैन, सुधीर खंडेलवाल, प्रह्लाद कश्यप, अरविन्द (गिरिराज) खंडेलवाल, राजेन्द्र शर्मा, अनिल ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते पूरा देश लॉकडाउन है। इसे देखते हुए राज्य के शिक्षा बोर्ड ने सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के लिए ऑनलाइन क्लासिस लगाकर पढ़ाना शुरू कर दिया गया है। लेकिन मुश्किल यह है कि अधिकांश अभिभावकों के पास एंड्रायड मोबाइल ही नहीं है, जिससे गरीब विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित रह गए हैं। इसी तारतम्य में कैट प्रदेश पदाधिकारियों की एक अति आवश्यक बैठक का आयोजन विडिओ कान्फ्रें स के माध्यम से किया गया जिसमें सभी ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी नेत्र्तव में संकल्प लिया की सभी व्यपारियों एवं व्यपारिक संगठनों के सहयोग से पुराने मोबाइल जो की सभी के पास एक-दो रखे होते है, उसे सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों को स्कुल के माध्यम से देने हेतु एक समग्र योजना बनाई गई है ! गौरतलब है की अब लॉकडाउन के दौरान घर चलाने के लिए परेशान इन अभिभावकों पर एंड्रायड मोबाइल खरीदने व उसका रीचार्ज करवाने का खर्चा अलग से बढऩे लगा है। अध्यापकों के अनुसार लगभग 40 से 50 प्रतिशत विद्यार्थियों के पास एंड्रॉयड फोन नहीं है। राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले लगभग 1 लाख अध्यापकों द्वारा 15-20 लाख के करीब विद्यार्थियों को जूम ऐप तथा वाट्सअप के जरिए स्कूल का काम भेजा व चैक किया जा रहा है। अध्यापकों द्वारा विद्यार्थियों को अप्रैल तथा मई महीने का सिलेबस ऑनलाइन मुहैया करवानेे के साथ पाठ्यक्रम की आडियो-वीडियो तैयार करके विद्यार्थियों के पास सोशल मीडिया के जरिए भेजी जा रही है लेकिन एंड्रायड मोबाइल ना होने से गरीब विद्यार्थी इस सुविधा से वंचित हैं। कैट के प्रदेश उपाध्यक्ष पवन बडज़ात्या ने सिर्फ इतना कहा कि बच्चों को पढ़ाना भी जरूरी है। आनलाइन पढ़ाई बच्चों के लिए वरदान साबित हो रही है। इसी तारतम्य में संजय चौबे ने कहा की कोरोना के चलते कामकाज ठप है। उन्हें खाने की दिक्कत हो रही है। अब ऑनलाइन क्लासिस शुरू कर दी गई है जिसके लिए मोबाइल खरीदने के उनके पास पैसे नहीं हैं। लेकिन शाला के शिक्षको को इसी के चलते वह अपने बच्चों को स्कूल से पढ़ाई बंद करवाने के लिए मजबूर हैं। इसी विषय पर कई अध्यापकों का कहना है कि प्रवासी मजदूरों द्वारा अपने-अपने राज्यों में जाने के बाद शहरी इलाकों में अपने पोस्टिंग वाले स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या कम होने का डर भी बना हुआ है। इस स्थिति को देखते हुए को देखते हुए कैट छत्तीसगढ़ टीम ने तत्काल संज्ञान में लेते हुए सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों को पढने हेतु सभी के पास स्पेयर मोबाइल रहते है, उन मोबाइल को स्कुल के बच्चों को देने का निर्णय लिया गया है ! आज की इस बैठक में सराईपाली से मदनलाल जी अग्रवाल, भाटापारा से कमलेश कुकरेजा, जांजगीर चाम्पा से शंकरलाल अग्रवाल, कवर्धा से आकाश आहूजा, कांकेर से वली मोहम्मद, अंबिकापुर से शुभम अग्रवाल, विकम्र सिंहदेव, राम मंधान, जितेन्द्र दोषी, अजय अग्रवाल,परमानन्द जैन, ज्ञानचंद जैन, मोहम्मद अली हिरानी, अमर गिदवानी, अजित सिंग केम्बो,जयराम कुकरेजा, मुकेश अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में व्यपारी एवं व्यपारी संगठनों के पदाधिकारी शामिल रहे।

 

अभी मिले मरीजों में भिलाई स्टील प्लांट के पर्चेस विभाग का मैनेजर निकला कोरोना संक्रमित, पढ़ें पूरी खबर

अभी मिले मरीजों में भिलाई स्टील प्लांट के पर्चेस विभाग का मैनेजर निकला कोरोना संक्रमित, पढ़ें पूरी खबर

भिलाई | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज अभी तक 19 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गई है। इनमें से दो मरीज दुर्ग जिले से है | दुर्ग जिले में मिले मरीज भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारी है। जानकारी के अनुसार भिलाई स्टील प्लांट के परचेस विभाग का मैनेजर संक्रमित मिला है। मैनेजर चैंबर को सील कर दिया गया है। सीएमएचओ ने इसकी पुष्टि की है।

 बिना लाईसेंस किया जा रहा था हॉस्पिटल का संचालन, 7 चिकित्सालयों को नोटिस जारी

बिना लाईसेंस किया जा रहा था हॉस्पिटल का संचालन, 7 चिकित्सालयों को नोटिस जारी

दुर्ग, नर्सिंग होम एक्ट 2013 के तहत बनाए गए प्रवधानों का पालन किए बिना चिकित्सालय संचालित करने वाले 7 चिकित्सालयों को नोटिस जारी कर सात दिवस के भीतर जरूरी दस्तावेजों को प्रस्तुत करने कहा गया हैं। नोटिस जारी किए गए चिकित्सालय में नंदिनी नर्सिंग होम अहिवारा, बालाजी नर्सिंग होम कुम्हारी, राजवंशी हॉस्पिटल विनोबा नगर जुनवानी भिलाई, सिद्धी विनायक हॉस्पिटल भिलाई-3, नवजीवन हॉस्पिटल करहीडीह, शिवम नर्सिंग होम सुपेला मार्केट, जीवन ज्योति हॉस्पिटल नंदिनी रोड जामुल एवं साई कृपा हॉस्पिटल पाटन, का नाम शामिल है।
विदित हो कि छत्तीसगढ़ नर्सिंग होम एक्ट 2013 लागू होने के बाद से इन संस्थओं के द्वारा चिकित्सालय संचालित किया जा रहा है। दस्तावेजों की कमी एवं अन्य कारणों से चिकित्सालयों को नर्सिंग होम एक्ट के तहत लाइसेंस जारी नहीं किया गया है। इसके बाद भी चिकित्सालय आज तक संचालित किया जा रहा है। बिना लाइसेंस के ओ.पी.डी., आई.पी.डी. एवं आपातकालीन सेवाएं प्रदाय की जा रही हैं। बिना लाइसेंस के अस्पताल का संचालन करना नर्सिंग 2013 का उल्लंघन है। संस्था में किसी अप्रिय घटना निर्मित होती है तो उसकी जिम्मेदारी स्वयं संस्था संचालकों की होगी। नोटिस जारी होने के सात दिवस के भीतर चिकित्सालय से संबंधित दस्तावेजों की कमी को सुधार कर दस्तावेज प्रस्तुत करने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

 

 आलु-प्याज की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का माल जलकर खाक

आलु-प्याज की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का माल जलकर खाक

भिलाई। भिलाई शहर के पावर हाउस स्थित सुभाष चंद्र बोस सब्जीमंडी की एक आलू प्याज की दुकान में बीती रात भीषण आगजनी हुई। आधीरात को लगी आग के कारण दुकान में रखा सारा सामान जल गया। आलू प्याज की बारियों के साथ ही दुकान का सारा सामान आगजनी की भेंट चढ़ गया। सूचना पर फायरब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।


मिली जानकारी के मुताबिक घटना बुधवार रात करीब 12 बजे की है। बाजार बंद होने के बाद यह घटना हुई। आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन बताया जा रहा है इसका कारण शार्ट सर्किट है। आग लगने के बाद फायर ब्रिगेड को फोन किया गया। सूचना पर फायरब्रिगेड की गाड़ी पहुंची लेकिन मार्केट में जगह जगह लंगे त्रिपाल व अवरोध के कारण मौके तक पहुंचने काफी मशक्कत करनी पड़ी। बताया जा रहा है कि फायर ब्रिगेड अवरोध की वजह से जल्दी पहुंच नहीं पाया नहीं तो दुकान में लगी आग को पहले ही काबू किया जा सकता था। बहरहाल आगजनी से दुकान में हुए नुकसान का अंदेशा लगाया जा रहा है।
जिले में कोरोना से निपटने सात सूत्रों पर काम शुरू, अधिक आवाजाही वाली दुकानों, मार्केट के अत्याधिक भीड़भाड़ इलाकों के दुकानदारों की भी होगी सैंपल जांच

जिले में कोरोना से निपटने सात सूत्रों पर काम शुरू, अधिक आवाजाही वाली दुकानों, मार्केट के अत्याधिक भीड़भाड़ इलाकों के दुकानदारों की भी होगी सैंपल जांच

दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने निगम, स्वास्थ्य अमले एवं कोविड कंट्रोल से जुड़े अधिकारियों की अहम बैठक बुधवार देर शाम ली। उन्होंने कहा कि हम लोग लगातार आरोग्य सेतु पर नजर रख रहे हैं। इसमें जो संभावित हाटस्पाट और इमर्जिंग हाटस्पाट दिखा रहे हैं। वहां पर कोरोना संक्रमण की आशंका से निपटने के लिए रणनीतिक रूप से और दक्षतापूर्ण काम होना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि इसके लिए सात सूत्रों पर सतत रूप से और प्रभावी कार्य करना है।
होम क्वारंटीन की सख्त मानिटरिंग - इनमें सबसे पहला है क्वारंटीन सेंटर पर और होम क्वारंटीन पर रह रहे लोगों की स्ट्रिक्ट मानिटरिंग। इसके लिए लगे लोगों से लगातार फीडबैक प्राप्त करें। इस संबंध में किसी भी तरह की शिकायत होने पर त्वरित कार्रवाई करें।
 विदेशों से लौट रहे और ईपास से लौट रहे लोगों की मानिटरिंग- दूसरी प्रमुख बात पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि अभी बड़ी संख्या में लोग बाहर से आ रहे हैं। विदेशों में बसे लोग भी अपने घरों में लौट रहे हैं। इनके क्वारंटीन की स्ट्रिक्ट मानिटरिंग आवश्यक है। यह मानिटरिंग उनके रायपुर में लैंड करते ही शुरू हो जानी चाहिए। बाहर से आ रहे किसी भी व्यक्ति की जानकारी में चूक नहीं होनी चाहिए। जो लोग ई पास के माध्यम से आ रहे हैं उनके क्वारंटीन पर भी प्रभावी नजर रखें।
 सारे नगरीय क्षेत्र में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करेंगी सर्वे- पूरे नगरीय क्षेत्र में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सर्वे किया जाएगा। इसमें बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी के साथ ही सर्दी-बुखार आदि लक्षणों की जानकारी वाले लोगों को चिन्हांकित किया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि यह काम हर दिन ज्यादा से ज्यादा होना चाहिए। जितने लोगों को बेहतर तरीके से ट्रेस कर पाएं, उतना ही कोरोना को रोक पाने में सफलता मिलेगी।
आरोग्य सेतु पोर्टल के इतिहास रिपोर्ट में दिखाये पिंक एरिया पर रहे विशेष नजर- कलेक्टर ने कहा कि इतिहास रिपोर्ट के अनुसार पिंक एरिया, कंटेनमेंट जोन, पूर्व में कंटेनमेंट रह चुके जोन में नगरीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर सर्वे करे। जिन मरीजों में भी लक्षण मिलते हैं उनके सैंपल ले। उन्हें घर में रहने की हिदायत दें और ऐसा करना सुनिश्चित भी करें।
कंटेनमेंट जोन से लगे नजदीकी क्षेत्रों में रैपिट टेस्ट किट से सैंपल- कंटेनमेंट जोन से लगे नजदीकी क्षेत्र में इस तरह के लक्षण वाले लोग मिलते हैं तो रैपिड टेस्ट किट से इनके सैंपल की जांच करें।
अधिक जोखिम वाली सैलून जैसी दुकानों के दुकानदारों की होगी सैंपल जांच- कलेक्टर ने कहा कि ऐसी दुकानें जिनमें ग्राहकों की आवाजाही काफी ज्यादा होती है जो भीड़भाड़ वाले इलाकों में हैं और ग्राहकों से संपर्क काफी होता है। ऐसे दुकानदारों की आरटी-पीसीआर सैंपलिंग की जाएगी। उन्होंने कहा कि सैलून में काफी संख्या में ग्राहक आते हैं और सीधे संपर्क होता है। उसी प्रकार ट्रांसपोर्ट से जुड़े क्लीनर, ड्राइवर आदि की भी सैंपलिंग कराई जाएगी।
 फीवर क्लीनिक में लक्षण होने पर रैपिड टेस्ट- फीवर क्लीनिक में लक्षण वाले मरीजों के आने पर रैपिड टेस्ट किए जाने की बात उन्होंने कही।
इसके अलावा इस पर भी जोर- उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक है कि लोग सुरक्षा उपाय करें। इसके लिए मास्क का प्रयोग अनिवार्य है। जहां भी इसका उल्लंघन होता पाया जाता है वहां पर जुर्माना करें। निगम की टीम विशेष रूप से दुकानों का निरीक्षण करें। यहां पर मास्क पहना जाना सुनिश्चित करें।
हाटस्पाट फोरकास्ट, यहां के निवासी रखें सुरक्षा का खास ध्यान- आरोग्य सेतु ने जिले में हाटस्पाट फोरकास्ट चिन्हांकित किये हैं। रिपोर्ट 30 जून को अद्यतन की गई है। इसके मुताबिक भिलाई वेस्ट (490009), सुपेला भिलाई (490023), उरला (490025), अहिवारा (490036), दुर्ग कचहरी (491001), नेवई (491107), चंदखुरी (491221), सुरदोनगर (491993) पिंक एरिया है। एंबर एरिया में आईबीएसबी (490001), दुर्ग (491001), पिसेगॉव (491001) बलोदा (491226) है।
इमरर्जिंग  हाटस्पाट - यहॉ भी सुरक्षा का रखें ध्यान - भेंडसर (491001), कपसदा (490042), रौंदा (491331), घोटा (491331), पिसेगॉव (491001), देवरी (491331), नंदकट्टी (491001), अहिवारा (490036), मुरमुंदा (490036), बरहापुर (491331), तर्रा (491111), नंदिनी खुंदिनी (490036) नरधा (490024), हिर्री (491001), पेंड्रावन (491331), दारगॉव (491332) सुरडुंग (490024), रिसामा (491221), उरला (490025), करंजा भिलाई (490024), कुम्हारी (490042), नेवरा (493114), धौर (490024), राजपुर (491331), गिरहोला (490036), सेमरिया (491332) है।

एक उपनिरीक्षक एवं दो आरक्षक के कोरोना संक्रमित पाए जाने का बाद नंदिनी थाना अहिवारा को किया गया सील

एक उपनिरीक्षक एवं दो आरक्षक के कोरोना संक्रमित पाए जाने का बाद नंदिनी थाना अहिवारा को किया गया सील

भिलाई | छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण पुलिस वाले भी अब इसके चपेट में आ रहे हैं लगातार हो रहे पुलिस वालों के संक्रमित होने के कारण जिले के तीन थाने सील हो चुके हैं थाना परिसर के बाहर टेंट लगाकर कामकाज किया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार थाना नंदिनी अहिवारा में दो आरक्षक तथा एक उपनिरीक्षक कोरोना संक्रमित पाया गया है कोरोना संक्रमित मिलने के बाद प्रशासन ने पूरे थाने को सील कर दिया है और उनके ट्रैवल हिस्ट्री पर जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है साथ ही साथ था ना परिसर के बाहर टेंट लगाकर काम किया जा रहा है।
छत्तीसगढ़ के अकेले दुर्ग जिले में नंदिनी अहिवारा थाना तीसरा थाना है जहां कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों के पाए जाने के बाद थाना सील किया गया है इससे पहले निवाई थाना मोहन नगर थाना में भी कई पुलिसकर्मी संक्रमित हो चुके हैं इंसानों को भी सील कर दिया गया है।
 
महापौर देवेन्द्र यादव ने किया निर्माणाधीन 66 एमएलडी फि ल्टर प्लांट का निरीक्षण, पढ़ें पूरी खबर

महापौर देवेन्द्र यादव ने किया निर्माणाधीन 66 एमएलडी फि ल्टर प्लांट का निरीक्षण, पढ़ें पूरी खबर

भिलाई | भिलाई नगर के विधायक व महापौर देवेंद्र यादव जी ने आज अमृत मिशन फेस 2 योजना के तहत भिलाई नेहरू नगर में निर्माणाधीन 66 एमएलडी फिल्टर प्लांट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने ठेकेदार और निगम इंजीनियरों से सख्त लफ्जों में कहा कि जनहित के कार्यो पर किसी भी प्रकार की लापरवाही गैर जिम्मेदारी और लेटलतीफी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अमृत मिशन फेस 2 लोगों के लिए बहुत ही जरूरी है। इसलिए इस काम को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। साथ ही महापौर ने ठेकेदार व निगम के इंजीनियरों से पूछा कि अमृत मिशन के इस 66 एमएलडी फिल्टर प्लांट को शुरू करने में अभी क्या-क्या काम बचा है। तब निगम के इंजीनियरों ने बताया कि मैनुअली सारा काम हो गया है। प्लांट भी बन कर तैयार हो गया है। कुछ तकनीकी चीजें ही बची है जिसे वह जल्द ही पूरा कर लेंगे। लॉकडाउन की वजह से उनकी टीम जो बाहर प्रदेश से यहां आकर काम कर रही थी। वह लोग सभी अपने घर चले गए हैं। उनकी पूरी टीम 1 तारीख तक भिलाई आ आएगी। उसके बाद जल्द ही काम शुरू कर दिया जाएगा। महापौर ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि जल्द से जल्द फिल्टर प्लांट को चालू किया जाए। और अब किसी भी प्रकार का एक्सक्यूज नहीं सुना जाएगा। प्लांट को शुरू करने के अमृति मिशन फेस 2 के बचे हुए कार्यों को भी जल्द से जल्द पूरा करने कानिर्देश दिया है।  महापौर श्री यादव फिल्टर प्लांट का पूरा निरीक्षक किए। इस दौरान निगम फिल्टर प्लांट के इंचार्ज संजय शर्मा, ईई बृजेश श्रीवास्तव, सब इंजीनियर हरप्रित बंजारे, पीडीएमसी से राजेश और मनोज पात्रा सहित एजेंसी की तरफ से 66 एमएमडी और 6 एमएलडी के इंचार्ज नितेश वर्मा भी मौके पर उपस्थित रहे। 

 
बड़ी खबर: छात्रा ने मिट्टी तेल डालकर खुद को किया आग के हवाले, अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में हुई मौत

बड़ी खबर: छात्रा ने मिट्टी तेल डालकर खुद को किया आग के हवाले, अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में हुई मौत

भिलाई। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के भिलाई से एक खबर सामने आ रही है जहां बीए फाइनल इयर की छात्रा ने मिट्टी तेल डालकर खुद को आग के हवाले कर दिया। युवती गंभीर रूप से झुलस गई जिसे अस्पताल ले जाने की कवायद की गई, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। पुलिस को सू़चना मिलने के बाद शव को बरामद कर लिया है। पुलिस ने युवती के परिजनों को भी इसकी सूचना दे दी है। मिली जनकारी के अनुसार यह घटना भिलाई सेक्टर- 7 की है। आत्महत्या की खबर फैलते ही इलाके में हड़कंप मच गया है। फिलहाल आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच में जुट गई है।

छ.ग. के इस जिले में हुए 16 पुलिसकर्मियों के तबादले, देखें सूची

छ.ग. के इस जिले में हुए 16 पुलिसकर्मियों के तबादले, देखें सूची

दुर्ग, जिले में पदस्थ 16 पुलिसकर्मियों के तबादला सूची जारी की गयी है। ये सूची एसएसपी अजय यादव ने जारी की है। लिस्ट में चार सहायक उप निरीक्षक, तीन प्रधान आरक्षक और नौ आरक्षकों के नाम शामिल है।

देखे सूची :-


 

 चौकाने वाला खुलासा: मैडम दिखाती थी अश्लील वीडियो, बात न मानने पर करती थीं भाग जाने को मजबूर

चौकाने वाला खुलासा: मैडम दिखाती थी अश्लील वीडियो, बात न मानने पर करती थीं भाग जाने को मजबूर

दुर्ग। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है जहां बाल सुधार गृह से भागे बच्चो ने खुलासा किया है की  महिला बाल कल्याण अधिकारी उन्हें अश्लील वीडियो दिखाकर उनके साथ अश्लील हरकतें करती थीं।  

पढ़िए पूरी खबर-
आपको बता दे की करीब नौ दिन पहले बाल सुधार गृह से भागे चार बच्चों को चाइल्ड लाइन ने पकड़कर CWC को सौंप दिया है। वहीं बच्चों ने बेहद चौकाने वाला खुलासा किया है। बच्चों का आरोप है कि महिला बाल कल्याण अधिकारी उन्हें अश्लील वीडियो दिखाकर उनके साथ अश्लील हरकतें करती थीं। उनकी बात न मानने पर वहां से भाग जाने को मजबूर करती थीं। वहीं बच्चों के आरोप से जिला प्रशासन और महिला एवं बाल विकास विभाग में हड़कंप मच गया है। इस मामले में महिला एवं बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी का कहना है कि उन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं है, मामले की जांच के बाद ही वे कुछ बता जाएंगे। 

बच्चों ने पहले भी की थी शिकायत-
जानकारी के अनुसार- कुछ दिन पहले महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव पहुंचे थे, तब भी बच्चों ने मैडम की शिकायत की थी। वहीं कलेक्टर ने मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी है। बताया जा रहा है कि जिस मैडम पर आरोप लगे हैं उसे कुछ दिनों के लिए बाल सुधार गृह आने से मना कर दिया है।
एम्स से भागकर गांव पहुचा कोरोना पॉजिटिव, दोस्तों के साथ की मस्ती, तलाश में जुटी पुलिस

एम्स से भागकर गांव पहुचा कोरोना पॉजिटिव, दोस्तों के साथ की मस्ती, तलाश में जुटी पुलिस

उतई। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के उतई थाना क्षेत्र इलाके से एक अजीबो गरीब खबर प्रकाश में आई है, जिसके चलते इलाके के लोगो मे दहशत के साथ गुस्सा भी हैं। 

राजधानी रायपुर के एम्स से भागकर कोरोना पॉजिटिव युवक अपने गांव से निकलकर मर्रा गांव पहुंच गया था। यहां उसने 2-3 घंटे अपने साथियों के साथ पार्टी की थी। युवक ने अपने दोस्तों के साथ जमकर नशा किया था। सरपंच ये जानकारी पुलिस को दी है। उतई थाना पुलिस अब संपर्क में आए युवकों की तलाश में जुट गई है। वहीं उन्हें क्वारंटाइन रहने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना पॉजिटिव युवक एम्स से फरार होकर अपने गांव पहुंच गया था। अचानक मरीज के गांव में वापस आने से सनसनी फैल गई थी। युवक मोटर सायकल से अपने गांव पहुंचा था। गांव पहुंचने के बाद वो कंटेन्मेंट स्थित अपने घर में जाकर अपनी मां से मुलाकात कर रुपए लेकर वापस लौटा था।
सेक्टर 9 हास्पिटल में जिले के नागरिकों को अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिलाने पहल, अस्पताल प्रबंधन और जिला प्रशासन मिलकर बना रहे योजना

सेक्टर 9 हास्पिटल में जिले के नागरिकों को अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिलाने पहल, अस्पताल प्रबंधन और जिला प्रशासन मिलकर बना रहे योजना

भिलाई | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने दुर्ग जिले के नागरिकों को बेहतरीन स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने कल कलेक्टर कांफ्रेंस में बड़ा निर्णय लिया। उन्होंने दुर्ग जिला प्रशासन को सेक्टर 9 हॉस्पिटल प्रबंधन के साथ मिलकर यहां जिले के नागरिकों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने मैकेनिज्म बनाने निर्देश दिए। आज सुबह ही कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे इस उद्देश्य से सेक्टर 9 हॉस्पिटल पहुंचे और उन्होंने प्रबंधन के साथ बैठक में इस संबंध में लंबी चर्चा की। चर्चा के उपरांत यह तय हुआ कि सेक्टर 9 हॉस्पिटल इस संबंध में प्लान बनाकर देगा। कलेक्टर ने बताया कि सेक्टर 9 हॉस्पिटल में अधोसंरचना पर्याप्त है इसे अद्यतन किया जा सकता है। राज्य शासन की अनेक योजनाओं का लाभ लेकर यहां जिले के नागरिकों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें सुनिश्चित की जा सकती हैं। 

बैठक में सेक्टर 9 हॉस्पिटल प्रबंधन ने वर्तमान स्थिति, मानव संसाधन एवं अस्पताल में उपलब्ध बुनियादी सुविधाओं की जानकारी दी। महानगरों के अस्पतालों की तुलना में प्रशिक्षित स्टाफ एवं अधोसंरचना की जानकारी भी दी। कलेक्टर ने कहा कि सेक्टर 9 हॉस्पिटल देश का प्रतिष्ठित संस्थान है। इसकी स्थिति निरंतर बेहतर हो और यह देश के सबसे शीर्ष मेडिकल संस्थानों में से एक हो, इस दिशा में हम सबको मिलकर काम करना है ताकि दुर्ग जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति बेहतरीन हो। इस दिशा में जिला प्रशासन द्वारा हर संभव सहयोग सेक्टर 9 हॉस्पिटल को किया जाएगा। चाहे मैनपावर के संबंध में हो, विशेषज्ञ चिकित्सकों के संबंध में हों अथवा किसी तरह से स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने अन्य तरीके के प्रयोग हों, इस दिशा में अस्पताल प्रबंधन जो प्रस्ताव रखेगा। उस पर विचार कर राज्य शासन के मार्गदर्शन से इस पर प्रभावी अमल किया जाएगा। सेक्टर 9 हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. संजीव इस्सर ने विस्तार से इस संबंध में अपनी बात रखी और उपलब्ध अधोसंरचना के संबंध में अवगत कराया। इस दौरान बीएसपी के ईडी श्री दुबे एवं सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर भी उपस्थित थे। कलेक्टर ने कहा कि इस तरह के प्रस्ताव आने के बाद सहमति मिलने पर एमओयू हो सकेगा। इसके माध्यम से जिले के नागरिकों को भी बिना बाहर का रूख किए स्तरीय इलाज मिल पाएगा। उन्होंने कहा कि चूंकि सेक्टर 9 हास्पिटल में प्रभावी अधोसंरचना पहले ही मौजूद है इसलिए यहां पर कुछ अतिरिक्त कदम उठाकर हम बेहतरीन स्वास्थ्य अधोसंरचना बना सकते हैं। इसका लाभ सेल एम्प्लाई को भी मिलेगा और दुर्ग के नागरिकों को भी इसका पूरा लाभ मिल पाएगा। उल्लेखनीय है कि सेक्टर 9 हॉस्पिटल में 800 बेड की सुविधा है। अस्पताल की बड़ी क्षमता को देखते हुए इसे अद्यतन करने अतिरिक्त योजना के क्रियान्वयन होने पर जिले की बड़ी आबादी को पहले से ज्यादा लाभ मिल सकता है।
 
कोरोना का ऐसा खौफ 14 घंटे पड़े रहा शव, गृह मंत्री के बंगले में लगाना पड़ा फोन

कोरोना का ऐसा खौफ 14 घंटे पड़े रहा शव, गृह मंत्री के बंगले में लगाना पड़ा फोन

दुर्ग,एक ढाबा के कुक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने के बाद शव खुले आसामान के नीचे 14 घंटे से अधिक समय तक पड़ा रहा। मौके पर पहुंची पुलिस लगातार स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम में फोन करते रही, लेकिन पुलिस को किसी तरह की मदद नहीं मिली। मंगलवार सुबह 11 बजे मशक्कत के बाद जैसे तैसे स्वास्थ्य विभाग की टीम रसमड़ा पहुंची और शव को पॉलीथीन में लपेटकर शवगृह पहुंचाया।


जानकारी के मुताबिक कुक हरिदास सोमवार को लिफ्ट लेकर देवरी (महाराष्ट्र) से सीधे रसमड़ा राजस्थानी ढाबा पहुंचा था। वह लॉकडाउन अवधि के दौरान देवरी में था। लंबे समय बाद लौटने की वजह से ढाबा संचालक ने पहले मेडिकल जांच के लिए जिला अस्पताल जाने के लिए कहा था।
इसी बीच कुक ने आराम करने की बात कहते हुए ढाबा के सामने बिछे चारपाई पर लेट गया। रात लगभग 9 बजे ढाबा के कर्मचारियों ने जब हरिदास को अवाज दी तो टस से मस नहीं हुआ। पानी डालने के बाद भी शरीर मे जब हरकत नहीं हुई तो ढाबा संचालक ने अंजोरा पुलिस को सूचना दी। 
कुक की मौत के बाद जिला अस्पताल के लैब टेक्नालॉजिस्ट ने कोरोना सैंपल कलेक्ट किया।

दो बार वापस लौट गई 108
पुलिस कर्मचारियों के मुताबिक जब सांस चल रही थी ढाबा संचालक ने पहले 108 को कॉल किया था। 108 के कर्मचारी वहां पहुंचे भी, लेकिन वे यह कहकर लौट गए कि थकावट की वजह से हरिदास बीमार है। थोड़ी देर आराम करने के बाद वह लौट जाएगा। इसके बाद पुलिस ने 108 को दोबारा कॉल किया। तब 108 के कर्मचारियों का कहना है कि मामला संदिग्ध है वे शव को हाथ नहीं लगाएंगे।

गृह मंत्री का हवाला देने के बाद भी घंटो विलंब
स्वास्थ्य विभाग से किसी तरह की मदद नहीं मिलने से अंजोरा चौकी प्रभारी देवशरण सिंह ने शव की निगरानी कराने दो कर्मचारियों को तैनात किया। आधी रात स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से चर्चा की। इसके बाद भी किसी तरह से मदद नहीं मिली। चौकी प्रभारी ने गृहमंत्री के बंगला से फोन कराया। इस फोन के लगभग 4 घंटे बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची और शव को मॉरच्युरी पहुंचाया।

 

भारत सरकार के ललित कला अकादमी में दुर्ग के अंकुश को मिली जगह

भारत सरकार के ललित कला अकादमी में दुर्ग के अंकुश को मिली जगह

नई दिल्ली, भारत सरकार के ललित कला अकादमी में दुर्ग निवासी श्री अंकुश देवांगन जी को समिति का कौंसिल मेम्बर बनाया गया है, आपको बता दे ललित कला अकादमी से जुड़ना हमारे छत्तीसगढ़ के इस कलाकार लिए एक बड़ी उपलब्धि है श्री अंकुश जी छोटी से छोटी वस्तुओ में अदभुत कलाकारी करने में माहिर है इनकी इस कला से पूरा छत्तीसगढ़ परिचित है. आपको बता दे मुक्तांगन के बाहरी वॉल में जो मिनरल्स बने हैं जिनको गोल्डन बुक में शामिल किया गया है वह भी इन्हीं के द्वारा निर्मित है

 

नेहरू नगर से मिनीमाता चौक तक सड़क का होगा कायाकल्प, लोक निर्माण मंत्री ने विस्तार और सौंदर्यीकरण के दिए निर्देश

नेहरू नगर से मिनीमाता चौक तक सड़क का होगा कायाकल्प, लोक निर्माण मंत्री ने विस्तार और सौंदर्यीकरण के दिए निर्देश

रायपुर दुर्ग जिले में नेहरू नगर से मिनीमाता चौक (पुलगांव) तक लगभग 8 किलोमिटर सड़क का शीघ्र कायाकल्प होगा और यह सड़क हाई-मास्ट तथा बहुरंगी एल.ई.डी. लाईट से जगमगाएगी। लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने विभागीय अधिकारियों को विस्तार और सौंदर्यीकरण के निर्देश दिए हैं। विभाग द्वारा इसका प्रस्ताव तैयार किया जा चुका है। अब शीघ्र ही निविदा आमंत्रित एवं स्वीकृत कर कार्य प्रारंभ किया जाएगा। मंत्री श्री साहू ने इस विस्तार कार्य में पड़ने वाले सभी चौराहों पर छत्तीसगढ़ की संस्कृति पर आधारित कला, भित्ती-चित्र के साथ ही पर्यटन स्थल, साक्षरता, योगा आदि चित्रों को प्रदर्शित करने के निर्देश दिए। श्री साहू ने आज अपने रायपुर निवास कार्यालय में इस कार्य योजना की प्रस्तुतिकरण को देखने के बाद कार्य शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।
बैठक में प्रमुख अभियंता श्री वी.के. भतपहरी ने प्रस्तुतिकरण के जरिए इस कार्य योजना की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस सुधार एवं विस्तार कार्य के दौरान नेहरू नगर चौक के आगे बटालियन के पास योगा पार्क भी बनेगा। इसी तरह मालवीय नगर चौक, राजेन्द्र पार्क चौक, गांधी चौक, पटेल चौक और गंजपारा चौक पर एल.ई.डी. स्ट्रीट लाईट फिटींग, विद्युतिकरण, हाई-मास्ट और आर.जी.बी. लाईट से रोशन किया जाएगा। इस कार्य योजना पर लगभग 8 करोड़ रूपए व्यय प्रस्तावित है।

ओसवाल पंचायत दुर्ग के नए पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी का गठन

ओसवाल पंचायत दुर्ग के नए पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी का गठन

ओसवाल पंचायत दुर्ग की नई कार्यकारिणी 3 वर्षों के लिए घोषित की गई जिसमें श्वेतांबर जैन समाज के विभिन्न संघ के दो प्रमुख सदस्यों को ओसवाल पंचायत का पदाधिकारी बनाया गया तथा प्रत्येक संघ से ओसवाल पंचायती के 7 कार्यकारिणी सदस्य बनाए गये

3 वर्षों के लिए पदाधिकारियों में साधुमार्गी जैन श्रावक संघ के प्रमुख श्री गौतम चंद बोथरा को ओसवाल पंचायती का अध्यक्ष एवं गौतम सांखला को मंत्री तथा ताराचंद काकरिया को कोषाध्यक्ष बनाया गया साथ ही उपाध्यक्ष प्रेमचंद लोढ़ा एवं अनिल डाकलिया बनाए गए सह मंत्री अशोक रतन बोहरा एवं नवीन बोथरा तथा ज्ञानचंद ढेलाडिया महावीर कॉलोनी जैन भवन का प्रभारी तथा नवीन संचेती को ओसवाल भवन एवं बर्तन विभाग का प्रमुख बनाया गया साथ ही श्री सुरेश लनिया ओसवाल पंचायत का नया ट्रस्टी बनाया गया साधुमार्गी जैन संघ से पृथ्वीराज पारख, सुभाष चंद छाजेड़ निर्मल बोथरा, दिलीप देशलहरा, राजेंद्र श्री श्री माल, गौतम श्री श्री माल,
सुधर्म एवं समरथ गच्छ से उमेद सांखला, मोहन कोचर, राजा सांखला, जोहरी लाल बाफना, कचर मल बाफना, सुनील संचेती, दिलीप बोहरा,
मूर्तिपूजक संघ से राजेंद्र कुमार मारोठी, मोहन लाल लोढ़ा ,धन कुमार गोलछा, गौतम लोढा, रमेश चोपड़ा सुरेश कोठारी, हर्ष जैन, तथा श्रमण संघ परिवार से मदन जैन ,विजय कर्णावट, महेंद्र संचेती, जयचंद चोरड़िया, सुधीर बाघमार, रोहित सुराणा, गोलू भंडारी, तेरापंथ जैन समाज से त्रिलोकचंद बरमेचा को ओसवाल पंचायत दुर्ग का कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया

जैन समाज के सभी संघ प्रमुखों ने ओसवाल पंचायत दुर्ग की नई टीम को बधाई देते हुए सामाजिक एवं जनकल्याणकारी कार्य स्व धार्मिक सेवा का लाभ लेते हुए ओसवाल पंचायत दुर्ग एक नया आयाम स्थापित करें ऐसी जैन समाज के सभी सदस्यों ने मंगल कामना की है


 

अमलेश्वर में जुआ खेलते 16 लोग गिरफ्तार, लाखों रुपए जप्त, पढ़ें पूरी खबर

अमलेश्वर में जुआ खेलते 16 लोग गिरफ्तार, लाखों रुपए जप्त, पढ़ें पूरी खबर

पाटन | दुर्ग जिले के रायपुर जिले के सिमा से सटे अमलेश्वर के तुलसी विहार कॉलोनी के सार्वजनिक स्थल पर जुआ खेलते हुए  16 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। मौका स्थल पर से 2 लाख 13 हजार 820 रुपए नगद एवं ताश पत्ती जप्त की गई।  आरोपियों के खिलाफ 13 जुआ एक्ट एवं बीमारी को संक्रमित करने की संभावना के तहत कार्रवाई भी की गई है।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले ने बताया कि आज थाना अमलेश्वर को सूचना मिली कि ग्राम अमलेश्वर के तुलसी विहार बैकुंठ विहार कॉलोनी में आम स्थान पर कुछ लोग एकत्रित होकर ताश पत्ती से जुआ खेल रहे हैं। इस पर अमलेश्वर पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर घेराबंदी कर जुआरियों को धरा गया। पकड़े गए आरोपियों में संजय कुकरेजा 32 साल डीपरापारा रायपुर,  सुनील 30 साल आरबीएच कॉलोनी खमतराई , कमल सिंह क्षत्रिय 28 साल चांगोरा भाटा रायपुर,  प्रमोद यादव 33 साल चांगोरा भाटा रायपुर,  राजू निषाद 33 साल बिरगांव रायपुर,  प्रहलाद सतनामी 35 साल गोंद पारा रायपुर, अज्जू बहरा 24 साल मंडी गेट पंडरी रायपुर , भुवन महानंद फाफाडीह रायपुर , नागमणि 36 साल स्टेशन चौक रायपुर साहिल सिंह 19 साल गुढिय़ारी रायपुर, राजेश महाराणा 23 साल पंडरी रायपुर,  जोगिंदर यादव 31 साल बिरगांव रायपुर,  राकेश डोंगरे 24 साल गुढिय़ारी रायपुर,  पंकज गौली 27 साल बुढ़ापारा रायपुर, तरनजीत सिंह 30 साल फाफाडीह रायपुर एवं विशाल चेतवानी 27 साल अश्वनी नगर रायपुर सभी रुपए पैसे का दांव लगाते हुए जुआ खेलते हुए रंगे हाथों पकड़े गए।  आरोपियों के पास से दो लाख 13 हजार 820 रुपए जब किए गए हैं आरोपियों के खिलाफ 13 जुआ एक्ट एवं सार्वजनिक स्थल पर एकत्रित होकर उपेक्षा पूर्वक संक्रामक बीमारी के फैलने की संभावना को जानते हुए भी एक जगह इकठ्ठा होने के कारण भा द वि की धारा 269 एवं 270 के तहत कार्रवाई की गई है।

 

 
स्टंट बाइकर्स के विरूद्ध यातायात पुलिस ने की कार्यवाही,10 बाइक किये जब्त, पढ़ें पूरी खबर

स्टंट बाइकर्स के विरूद्ध यातायात पुलिस ने की कार्यवाही,10 बाइक किये जब्त, पढ़ें पूरी खबर

भिलाई | वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, दुर्ग के निर्देश एवं उप पुलिस अधीक्षक, यातायात के मार्ग दर्शन में यातायात सुपेला प्रभारी श्रुति सिंह एवं यातायात निरीक्षक भारती मरकाम के द्वारा दिनांक 27.05.2020 को स्टंट करते एवं रेसिंग-चेसिंग बाईकर्स गैंग के विरूद्ध वाहन जप्त कर की गई कार्यवाही।

यातायात पुलिस दुर्ग द्वारा आम नागरिकों की यातायात संबंधी शिकायत एवं सुझाव की जानकारी प्राप्त करने एवं उसका तत्काल निवारण करने के लिए व्हाट्स-अप नंबंर जारी किया गया है जिसमें प्राप्त शिकायत सुझाव को उच्च अधिकारी के निर्देश पर तत्काल कार्यवाही की जाती है। यातायात पुलिस के जारी व्हाट्स-अप नंबर पर कुछ दिन पहले शिकायत आया कि लॉक डाउन के दौरान कुछ लड़को का ग्रुप भिलाई के सेट्रल एवन्यू मार्ग में रात 07.00 से 09.00 बजे दौरान अपने स्पोट्र्स बाईक से स्टंट करते एवं तेज रफ्तार में वाहन चलाते देखा जा रहे है। प्राप्त जानकारी को उप पुलिस अधीक्षक द्वारा अपने संज्ञान में लेते हुए यातायात सुपेला प्रभारी निरीक्षक श्रुति सिंह एवं निरीक्षक भारती मरकाम को निर्देश दिये कि वे अपने टीम के साथ सुनियोजित तरीके से इस बाईकर्स गु्रप के ऊपर कार्यवाही करें प्राप्त निर्देश पर निरीक्षक श्रुति सिंह एवं निरीक्षक भारती मरकाम के द्वारा सउनि दिलीप सिंह, प्रवासी यादव, हुकूम सिंह, प्रआर. सुशील पाण्डेय, यदुलाल पाटिल, घनश्याम दुबे, बल्दू चन्द्राकर, राज कुमार साहू, आरक्षक आशीष शुक्ला, अर्जुन दुबे, सोनू चौहान, महेश यादव, ओम प्रकाश तिवारी, सचिन सरकार, राकेश जायसवाल, दीपक साव, प्रकाश सूर्यवंशी, जानक्रूश एक्का, अविनाश निगम, क्रेन चालक आरक्षक ज्ञानेश्वर सोनी एवं अमित ठाकुर की टीम बनाकर रात्रि 08.00 से 10.00 बजे के बीच 10 बाईकर्स ग्रुप की ग्लोब चौक पर कार्यवाही की गई। जिसमे 10 वाहनो को जप्त कर थाना भिलाई नगर में सुरक्षार्थ खड़ा किया गया। उक्त कार्यवाही निरंतर जारी रहेगा।
 
कोविड काल में भिलाई की लम्बी छलांग, चीन में भिलाई के इस्पात की बढ़ी माँग, जाने पूरी खबर

कोविड काल में भिलाई की लम्बी छलांग, चीन में भिलाई के इस्पात की बढ़ी माँग, जाने पूरी खबर

भिलाई | सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के अत्याधुनिक इकाई स्टील मेल्टिंग शॉप-3 ने कोविड के  इस संकटकाल में भी अपनी उत्कृष्टता दिखाई है। एसएमएस-3 के कन्टीन्यूअस कास्ट बिलेट ने विश्व के सबसे बड़े इस्पात उत्पादक देश चीन में आज अच्छी माँग है। विगत माह से भारी मात्रा में सेल-बीएसपी के एसएमएस-3 द्वारा निर्मित बिलेट का निर्यात चीन को किया जा रहा है। कोविड के वर्तमान संकटकाल को अवसर में बदलते हुए सेल-बीएसपी ने भिलाई में निर्मित 150 ग् 150 तथा 105 ग् 105 बिलेट का निर्यात करने में सफलता हासिल की है।

चालीस हजार टन बिलेट का निर्यात आर्डर पूर्ण
विगत दिनों सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के स्टील मेल्टिंग शॉप-3 द्वारा 150 ग् 150 बिलेट के बीस-बीस हजार टन के दो खेप का निर्यात चीन को किया गया। अब तक इस साईज में 40,000 टन बिलेट का निर्यात आर्डर पूर्ण किया जा चुका है।
बीस हजार टन बिलेट का अतिरिक्त आर्डर प्राप्त
सेल-बीएसपी को वर्तमान में पुन: 150 ग् 150 बिलेट के 20,000 टन का अतिरिक्त आर्डर प्राप्त हुआ है, जिसकी आपूर्ति 15 जून, 2020 तक पूर्ण किया जाना है। इस आर्डर के तहत सेल-बीएसपी के एसएमएस-3 द्वारा अब तक सात रैक बिलेट की आपूर्ति की जा चुकी है। यह सम्पूर्ण निर्यात विशाखापट्टनम पोर्ट के माध्यम से किया जा रहा है।  
105 ग् 105 बिलेट का नया निर्यात आर्डर
अब हाल ही में सेल-बीएसपी को चीन से 105 ग् 105 बिलेट का नया निर्यात आर्डर प्राप्त हुआ है। इसके तहत इस बिलेट साईज में दस-दस हजार टन के दो एक्सपोर्ट आर्डर की आपूर्ति की जानी है, जिसमें से आज दिनाँक 21 मई, 2020 को बिलेट के पहले खेप को चीन के लिए रवाना किया गया।
विशेष पैकेजिंग की मांँग
चीन से 105 ग् 105 बिलेट के लिए प्राप्त नये निर्यात आर्डर में ग्राहक द्वारा बिलेट के बंडलिंग व पैकेजिंग की विशेष मांँग रखी गई थी। इसके तहत उक्त साईज के छ: बिलेटों को एक साथ बंडलिंग कर पैकेट बनाकर भेजना आवश्यक है। ज्ञात हो कि एसएमएस-3 के पास इस तरह की बंडलिंग की सुविधा नहीं थी। एसएमएस-3 बिरादरी अपने हाथ से इस निर्यात आर्डर को खोना नहीं चाहती थी। अत: इसे बंडल बनाकर भेजने हेतु कांट्रेक्ट देने का त्वरित निर्णय लिया गया।
कांट्रेक्ट हेेतु फास्ट टैऊक प्रक्रिया
विदित हो कि सामान्यत: कांट्रेक्ट की प्रक्रिया में दो से तीन महीने का समय लगता है, परन्तु निर्यात आर्डर को तत्काल पूर्ण करने हेतु इस बंडलिंग कांट्रेक्ट को फास्ट टैऊक में प्रोसेस करते हुए दस दिन में ही कांट्रेक्ट अवार्ड कर दिया गया। इसमें परचेस रिक्विजिशन से लेकर परचेस आर्डर प्लेस करने की सम्पूर्ण प्रक्रिया मात्र दस दिन में पूरी कर ली गई। इसमें एसएमएस-3 के साथ-साथ कांट्रेक्ट सेल (वक्र्स) ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। संयंत्र द्वारा लिए गए इस त्वरित निर्णय व कार्रवाई के चलते इस नये निर्यात आर्डर को तेजी से पूरा करने की ओर अग्रसर हो सके।    
ऊर्जावान टीम के सदस्य
इस अहम् एक्सपोर्ट आर्डर्स को एसएमएस-3 के मुख्य महाप्रबंधक  के भट्टाचार्जी के नेतृत्व में उनकी ऊर्जावान टीम ने पूर्ण करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ा। इस टीम के कर्मठ सदस्य हैं महाप्रबंधक प्रभारी (एसएमएस-3)  प्रकाश भंगाले, महाप्रबंधक (ऑपरेशन) द्वय  अरविन्द कुमार व  डी विजिथ, वरिष्ठ प्रबंधक  ए के सिंह, उप प्रबंधक  विक्रांत, कनिष्ठ अधिकारी  बी एस चंदेल तथा डिस्पैच के पाली प्रभारी, वरिष्ठ प्रबंधक  एन गिलहरे, कनिष्ठ अधिकारी  ए के चौकीकार तथा मास्टर तकनीशियन  एस फिलिप्स आदि।
विगत वित्त वर्ष में भी किया निर्यात
उल्लेखनीय है कि भिलाई इस्पात संयंत्र ने पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में एसएमएस-3 में उत्पादित कास्ट बिलेट्स का निर्यात प्रारम्भ किया था। एसएमएस-3 द्वारा पिछले वित्तीय वर्ष में 8100 टन कास्ट बिलेट्स का निर्यात फिलीपींस को तथा लगभग 800 टन कास्ट बिलेट्स का निर्यात नेपाल को किया गया।
 
लॉकडाउन के बिच खंडहर में दो दिनों तक चार आरोपियों ने नाबालिग से किया गैंगरेप, वीडियो वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल

लॉकडाउन के बिच खंडहर में दो दिनों तक चार आरोपियों ने नाबालिग से किया गैंगरेप, वीडियो वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल

भिलाई। आपराधिक घटनाओं में एक बार फिर इजाफा हुआ है। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले यह घटना प्रकाश में आई है यहां एक युवती से चार नाबालिग युवकों द्वारा गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि युवती को वीडियो वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल कर खंडहर में बुलाया और 2 दिनों तक नाबालिग से हैवानियत की।

मामला दुर्ग जिले के कुम्हारी थाना क्षेत्र का है, जहां एक युवती को खंडहर में रख कर दो दिन तक रेप करने का आरोप है। बताया जा रहा है कि नाबालिग आरोपियों में युवती का एक दोस्त भी शामिल है। आरोपियों ने वीडियो वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल कर युवती को खंडहर में बुलाया और दो दिनों तक उससे सामूहिक दुष्कर्म करते रहे।

पीडि़ता के परिवार के लोगों ने थाने पहुंच कर इसकी जानकारी दी। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस के आला अधिकारी जांच के लिए मौके पर रवाना हुए। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने इस मामले में एक नाबालिग को मुख्य आरोपी बनाया है।
 लॉकडाउन के बिच डांसिंग कार से कॉलोनी में मचा हडकंप: जाँच में निकले युवक-युवती व 8 शराब की बोतल

लॉकडाउन के बिच डांसिंग कार से कॉलोनी में मचा हडकंप: जाँच में निकले युवक-युवती व 8 शराब की बोतल

भिलाई। कोरोना की महामारी और लॉकडाउन के बिच डांसिंग कार से कॉलोनी में हडकंप मच गया। आपको बता दे की आम्रपाली वनांचल सिटी कॉलोनी में आधी रात को ग्रे कलर की एक हिलती कार को देखकर लोग दहशत में आ गए। आसपास के लोग सोए थे वे उठ गए। तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस कार के पास पहुंची तो एक युवक व युवती कार के अंदर मिले। पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया।

पढिये पूरी खबर-
जामुल टीआई लक्ष्मण कुमेटी ने बताया कि घटना गुरुवार व शुक्रवार की दरम्यानी रात 2:30 बजे की है। कॉलोनी में रहने वालों ने सूचना दी कि एक कार ग्रे कलर की कॉलोनी के अंदर खड़ी है, जो अपने आप हिल रही है। जबकि कॉलोनी में सन्नाटा छाया हुआ है। उस घटना से आसपास के लोग भी उठ गए। सूचना पर पुलिस की पेट्रोलिंग टीम पहुंची और कार के अंदर कांच से देखा। अंदर एक युवक और एक युवती बैठे हुए थे। पुलिस को देखकर मिलन चौक पॉवर हाउस निवासी रविन्द्र पाल कार से नीचे उतरा। पुलिस दोनों को थाने ले गई। युवती के परिजनों को बुलाया गया और उसे समझाइश देकर छोड़ दिया। कार में 8 बोतल शराब भी मिला।
लॉकडाउन में फंसी बेटी को लाने के लिए नही मिला पास तो माँ ने की आत्महत्या, जाने कहा की है यह खबर

लॉकडाउन में फंसी बेटी को लाने के लिए नही मिला पास तो माँ ने की आत्महत्या, जाने कहा की है यह खबर

भिलाई |  वैश्विक महामारी कोरोना के चलते  पूरे देश में करीब 2 महीने से अधिक हो चुके हैं लाकडाउन  की स्थिति निर्मित हुए हैं ऐसे में श्रमिक पैदल ही अपने निवास के लिए निकल चुके हैं तो कई लोगों को  अपने परिजनों को मिलने तथा उनके गंतव्य स्थानों पर लाने के लिए भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ऐसे ही कुछ खबर छत्तीसगढ़ के भिलाई से  प्रकाश में आई है  यहां के बीएसएन कॉलोनी की रहने वाली बैजयंति नामक महिला ने शुक्रवार की रात आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मामले की तफ़शिस शुरू कर दी है। परिवार के लोगों से पूछताछ में पुलिस को यह ज्ञात हुआ है कि बैजयंति की एक बेटी लॉक डाउन की वजह से भोपाल में फंसी हुआ थी। उसके पास चूंकि निजी वाहन नहीं थे इसलिए उसे वहां से आने का पास नहीं मिल रहा था। यहां से उसके पिता ने पास के लिए आवेदन किया तो यह कहकर उनके आवेदन को रिजेक्ट कर दिया गया कि भोपाल रेड जोन में है ऐसे में वहां से जाने और आने का पास नहीं दिया जा सकता।

बच्ची को लाने की बात को लेकर पति पत्नी के बीच रोज विवाद होता था। कल रात भी इसी बात को लेकर मृतिका के पति के साथ उसकी बहस हुई थी। मृतक का कहना था कि उसकी बच्ची भोपाल से क्यों नहीं आ पा रही है। पति ने उसे समझने की कोशिश की लेकिन वह नहीं मानी। लॉक डाउन में कई छात्र अलग अलग जगहों पर फंसे हैं। कोटा में चूंकि छात्रों की संख्या ज्यादा थी इसलिए वहां से छात्रों को तो निकाल लिया गया लेकिन कई छात्र अभी भी कई शहरों में फंसे हैं।
 
लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदो की मदद के लिए तत्पर खडें है यातायात पुलिस के प्रधान आरक्षक ज्ञानेश्वर देवांगन

लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदो की मदद के लिए तत्पर खडें है यातायात पुलिस के प्रधान आरक्षक ज्ञानेश्वर देवांगन

दुर्ग। कोनोरा वायरस की माहामारी के इस संकट में पूरा विश्व जूझ रहा है भारत में भी इस माहामारी को रोकने के लिए सरकार द्वारा पीछले 52 दिनों से लॉकडाउन किया गया है इस लॉक डाउन के दौरान सबसे मुसिबत गरीब परिवारों एवं प्रवासी श्रमिको को झेलना पड रहा है इस संकट की घड़ी में यातायात पुलिस दुर्ग चैकी में पदस्थ प्रधान आरक्षक ज्ञानेश्वर देवांगन के द्वारा विगत 52 दिनों से आम नागरिकों का लॉक डाउन का पालन कराने के लिए ड्यूटी के दौरान जरूरतमंदो को भोजन उपलब्ध कराने एवं पैदल चलते प्रवासी मजदूरो को उनके मंजिल तक पहुंचाने के लिए उस मार्ग में खाली जाते बडी वाहनों को रोककर उनसे उनका हाल चाल जानकर विनम्रता पूर्वक निवेदन करते आ रहे है कि इन मजदूरो को आगे तक छोड दो प्रधान आरक्षक द्वारा बताया गया कि वे ड्यूटी पर आते समय घर में बनने वाले भोजन को अधिक मात्रा में बनवाकर उनके पैकेट बनाकर ड्यूटी पर निकलते है मार्ग में उनको कोई जरूरतमंद दिखता जिसको भोजन की आवश्यकता हो वो पैकेट उन्हें दे देते है|
प्रधान आरक्षक द्वारा बताया गया कि बहुत से सामाजिक संस्था द्वारा उन्हें ड्यूटी के दौरान जो खाने के पैकेट पानी बोतल, बिस्किट पैकेट अन्य खाद्य सामाग्री उन्हे मिलता है वे सभी सामग्री को एकत्र कर जरूरतमंदो को वितरित करते आ रहे है। लॉकडाउन 1 और 2 के दौरान इनकी ड्यूटी बाईक पेट्रोलिंग में लगाई गई थी इस दौरान वे दुर्ग शहर के प्रमुख मार्गों में सरकारी बुलेट से पेट्रोलिंग करते वक्त शहर के किसी भी चैराहे पर, मार्गो पर भीड भाड नजर आने पर वे उन्हे समझाईस देते आ रहे कि वे अनावश्यक रूप से बाहर न निकले आवश्यक कार्य के लिए निकलते वक्त मास्क एवं सेनेटानिजर का उपयोग अवश्य करे शोसल डिस्टेंसिंग का पालन करे और अपने घर के आस पास रहने वाले जरूरतमंदो की मदद करें लॉकडाउन-3 में प्रधान आरक्षक की ड्यूटी अंजोरा बाईपास में लगाई गई है वे देखते है कि ड्यूटी के दौरान बाईपास में प्रवासी मजदूर पैदल चलते देख उनका दिल पसीज जाता है वे मजदूरो को रोककर उन्हे टेण्ट में बैठा कर पानी पिलाकर फिर उनके लिए भोजन के लिए समाज सेवी संस्था से संपर्क कर भोजन की व्यवस्था करना फिर उन मजदूरो को उनके मंजिल तक पहुंचाने के लिए खाली वाहन को रोककर उन मजदूरो को उनके मंजिल की ओर रवाना किया जा रहा है। प्रधान आरक्षक के द्वारा अभी तक हजारों की संख्या में जरूरतमंदो मजदूरो की सहायता कर चुके है।
क्वारेटाइन सेंटर में युवक ने की फांसी लगाने की कोशिश, जाने कहा की है यह खबर

क्वारेटाइन सेंटर में युवक ने की फांसी लगाने की कोशिश, जाने कहा की है यह खबर

उतई। दुर्ग जिले के विकासखंड पाटन के ग्राम पतोरा में सरकारी हाईस्कूल में बने क्वारंटाइन सेंटर में एक युवक ने फांसी लगाकर खुदकुशी करने की कोशिश की। युवक लगातार घर जाने की जिद्द करते हुए आत्महत्या की धमकी दे रहा था। ग्रामीणों ने फंदे पर झूलते युवक को तुरंत उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। जहां उसकी हालत फिलहाल सामान्य है। मिली जानकारी केअनुसार पतोरा के क्वारंटाइन सेंटर में 5 लोगो को क्वारंटाइन किया गया है। जिसमें 4 महिला और एक पुरुष है। एक युवक 9 दिनों से क्वारंटाइन में था और वह घर जाने की जिद कर रहा था। घर नहीं जाने देने पर आत्महत्या की धमकी दे रहा था। युवक कमरे में लगे हुक से कपड़े का फंदा बनाकर झूल गया। युवक को फंसी के फंदे पर झूलते हुए ग्रामीणों द्वारा देखे जाने पर फंदा काटकर नीचे उतारा गया और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उतई ले जाया गया। युवक की हालत सामान्य बताई जा रही है। उतई पुलिस ने युवक को समझाकर वापस क्वारंटाइन सेंटर में रखा है।
नमक की कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर की गई कार्यवाही

नमक की कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर की गई कार्यवाही

दुर्ग। जिले के पाटन में खाद्य व विधिक माप विज्ञान विभाग का कार्रवाई लगातार दूसरे दिन भी चला, एसडीएम विनय पोयाम के निर्देश पर आज पाटन के बाजार में जाकर व्यापारिक प्रतिष्ठानों में छापामार कार्रवाई किया गया। ग़ौरतलब हो कि कल दोपहर से ही नमक नही मिलने के खबर फैंलने से नमक खऱीदने वालो की लाइन दुकान में लग गई। 10 रुपये का नमक 20 से 50 रूपए तक बिका। आज भी अधिकारियों ने ब्लेक मार्केटिंग करने वालो की दुकानों पर दबिश दिया। एक दुकान में पुराना समान बेचते पकड़ा गया। वही दूसरे दुकानदारों पर भी कार्रवाई की गई। आज जिन दुकानों में कार्रवाई की गई उनमें हरीश किराना स्टोर्स पाटन, किसान बन्धु किराना स्टोर्स पाटन शामिल है।
+ Load More