कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 41 हजार नए मामले, 541 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर : इस BJP सांसद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने क्या है मामला...    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 203 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, देखे जिलेवार आकड़े    |    बड़ी खबर : जेल में बैरक की दीवार ढही, 22 कैदी गंभीर रूप से घायल    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज एक्टिव मरीजो की संख्या हुई 2 हजार से कम, 243 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: पान मसाला कंपनी पर आयकर का शिकंजा, 400 करोड़ रुपए के काले कारोबार का हुआ खुलासा    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, आकडों में आज रायपुर से मिले सर्वाधिक    |    जज की संदिग्ध मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से एक हफ्ते में मांगा जवाब    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज मिले सिर्फ इतने ही मरीज, 270 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, नही हुई किसी की मृत्यु, देखें जिलेवार आंकड़े    |
जीपी सिंह के अभिनव प्रयास को मिला राष्ट्रीय स्तर पर एक और पेटेंट

जीपी सिंह के अभिनव प्रयास को मिला राष्ट्रीय स्तर पर एक और पेटेंट

भिलाई । भिलाई इस्पात संयंत्र ने अपने मानव संसाधन के अभिनव प्रयासों से निरन्तर राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अनेक पुरस्कार व उपलब्धियां प्राप्त करता आ रहा है। भिलाई के कर्मवीरों ने अपने इनोवेटिव कार्यों से पूरे देश में एक अलग पहचान बनाने में सफलता हासिल की है। संयंत्र के एक ऐसे ही कर्मवीर है सेफ्टी इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के विभागाध्यक्ष तथा कार्यकारी मुख्य महाप्रबंधक जी पी सिंह। इनको ए सिस्टम फॉर कंट्रोलिंग एंड मैनेजिंग बर्नर ऑपरेशन इन सिंटर प्लांट के डिजाइन व क्रियान्वयन के अभिनव प्रयास के लिए पेटेंट अधिनियम 1970 के तहत इस आविष्कार को भारत सरकार के इटेलैक्चुअल प्रॉपर्टी इंडिया के पेटेंट ऑफिस द्वारा पेंटेंट प्रदान किया गया। जिसकी पेटेंट संख्या 370951 है। यह पेटेंट 20 वर्षों के लिए प्रदान किया जाता है। इस प्रकार जी पी सिंह ने अपने क्रिएटिव कार्यों के लिए पेटेंट प्राप्त कर सेल एवं भिलाई इस्पात संयंत्र का नाम रोशन किया है।
इस इनोवेटिव कार्य से संयंत्र को अनेक लाभ प्राप्त हुए हैं। इस नवोन्मेषी विधि की मदद से जहाँ सयंत्र की दक्षता और सुरक्षा में सुधार हुआ है। वहीं मशीन डाउन टाइम को कम करने में तथा लागत बचाने में मदद मिली है। इससे माप और नियंत्रण की विश्वसनीयता बढ़ी और मनुष्य और उपकरण की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकी है।
विदित हो कि जी पी सिंह ने आईआईटी चेन्नई से इलेक्ट्रानिक्स में बी.टेक करने के साथ ही एमबीए (फायनेंस) में स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त कर चुके है। इसके अतिरिक्त वर्तमान में श्री सिंह के नाम 2 कॉपीराइट तथा 3 पेटेंट दर्ज है। अब तक उन्होंने जापान, चीन तथा भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय क्वालिटी सर्कल प्रतिस्पर्धा में भाग लेकर संयंत्र का नाम रोशन किया है। साथ ही श्री सिंह ने राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय सेमिनारों में 15 से अधिक तकनीकी पेपरों की प्रस्तुति की है।
इनके इनोवेटिव कार्य के लिए प्राप्त इस पेटेंट के लिए श्री सिंह को भिलाई इस्पात संयंत्र के डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता, ईडी (वक्र्स), अंजनी कुमार सहित भिलाई की इस्पात बिरादरी ने बधाई दी।

   बड़ी खबर: जुआ खेलते 17 पकड़ाए, नगदी लाखों रुपये एवं 19 नग मोबाईल तथा 3 कार जब्त

बड़ी खबर: जुआ खेलते 17 पकड़ाए, नगदी लाखों रुपये एवं 19 नग मोबाईल तथा 3 कार जब्त

भिलाई। दुर्ग जिले के उतई इलाके में गुरुवार की रात पुलिस ने जुआ खेलने की सूचना पर छापामारकर 17 जुआरियों गिरफ्तार कर उनके पास से नगदी 1 लाख 87 हजार रुपये तथा ताश की 52 पत्ती एवं 19 नग मोबाईल एवं तीन कार जब्त की है। 

मिली जानकारी के अनुसार उतई थाना पुलिस ने रुपये पैसे के दाव लगाकर ताश पत्ती के माध्यम से काट पत्ती नामक जुआ खेलने की सूचना पर हथखोजपारा उतई में बिट्टू सरदार के घर के पास काली मंदिर मंच पर रात 07 बजे के करीब छापामारकर घेराबंदी कर भूपेश कुमार हरमुख पिता मोहन लाल उम्र 38 साल निवासी चंदखुरी थाना पुलगांव, हंसराज पिता दीनानाथ प्रसाद उम्र 38 साल निवासी सुपेला पांच रास्ता थाना सुपेला, सरफुल इस्लाम पिता जमशेद अली उम्र 38 साल निवासी कैम्प 02 थाना छावनी, भगत प्रसाद पिता मोपर दास उम्र 57 साल निवासी बिरेभाट थाना नंदिनी, रूपेश सोनी पिता रामलाल उम्र 40 साल निवासी दुर्ग राजीव नगर थाना दुर्ग, गजेन्द्र देशमुख पिता पिताम्बर उम्र 32 साल निवासी चंदखुरी थाना पुलगांव, बलराम सोनकर पिता राजू लाल सोनकर उम्र 29 साल निवासी दुर्ग सिटी कोतवाली, 08. जितेन्द्र सिंह पिता गुरूदेव सिंह उम्र 38 साल निवासी साक्षरता चैक छावनी थाना छावनी,पप्पु साहू पिता कमला साहू उम्र 34 साल निवासी राजीव नगर दुर्ग थाना दुर्ग, नरेन्द्र कुमार देवांगन पिता स्व. बौवालाल उम्र 35 साल निवासी शिवपारा मुरूम खदान सुपेला थाना सुपेला, संजय साव पिता रामधनी साव उम्र 35 साल निवासी कैम्प 02 छावनी थाना छावनी, हरीश साहू पिता रामानंद साहू उम्र 28 साल निवासी तवेरा थाना गुण्डरदेही जिला बालोद, दिनेश साहू पिता गुजूर साहू उम्र 37 साल निवासी सुपेला सरकारी अस्पताल के बाजू थाना सुपेला, कृष्णा यादव पिता बलदाउ यादव उम्र 37 साल निवासी नेवई यादव पारा थाना नेवई, जितेन्द्र मल्लाह पिता श्रीनाथ मल्लाह उम्र 39 साल निवासी स्टेशन मरोदा थाना नेवई, जितेन्द्र प्रसाद पिता नर्मदा उम्र 30 साल निवासी गदा चैक सुपेला थाना सुपेला , बलविन्दर सिंह पिता अमर सिंह उम्र 48 साल निवासी हथखोज पारा उतई थाना17 जुआरियों को गिरफ्तार कर उनके पास व फड से नगदी 1 लाख 87 हजार 320 रुपये एवं 19 नग विभिन्न कंपनियों के मोबाईल अनुमानित कीमत 60 हजार रुपये तथा तीन कार कुल 5 लाख 47 हजार 320 रुपये गवाहों के समकक्ष जब्त कर जुआरियों के खिलाफ जुआ एक्ट के तहत कार्रवाही की गई है।
दुर्घटनाओं से बचाने सड़क पर बैठे मवेशियों के सिंग पर निगम लगाएगा रेडियम

दुर्घटनाओं से बचाने सड़क पर बैठे मवेशियों के सिंग पर निगम लगाएगा रेडियम

भिलाई । रिसाली निगम क्षेत्र की सड़को पर बैठने वाली दुधारू मवेशियों को निगम के अधिकारी गोठान पहुंचा रहे हैं। निगम आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे के निर्देश पर शुक्रवार को भी रोका-छेका अभियान के तहत् 6 गाय को गोठान पहुंचाया गया। मैत्री नगर के खटाल संचालक गोपाल यादव से 2000 हजार जुर्माना वसूला गया।
निगम राजस्व प्रभारी हरचरण सिंह अरोरा ने बताया की एक दिन पहले ही गोपाल यादव को चेतावनी दी गई थी। उसके खटाल की गाय-भैंस सड़कों पर घूम रही थी। इसके बाद भी चेतावनी का असर नही हुआ। रोको-छेका अभियान के तहत् दोबारा मवेशी घूमते मिलने पर तत्काल पकड़कर गोठान पहुंचाया गया। बाद में डेयरी संचालक से 2000 जुर्माना वसूल कर गाय को सुपुर्द किया गया। रिसाली निगम क्षेत्र में डेयरी संचालक से अपील किया गया है कि वे डेयरी के आस-पास गंदगी न फैलाए। गंदगी मिलने पर निगम पहली बार में 5000 और दूसरी बार में राशि दस हजार रूपये जुर्माना वसूल करेगा।
रेडियम पट्टी लगाने का कार्य
शहर के अंदर दर्जन भर से ज्यादा डेयरी संचालित है। आमतौर पर डेयरी संचालक दुध निकालने के बाद दुधारू मवेशियों को छोड़ देती है। रात भर मवेशी बाजार क्षेत्र व सड़कों पर घूमते रहते है। आयुक्त ने निर्देश दिए है कि मवेशी के सड़क पर बैठने की वजह से दुर्घटनाए भी होती है। दुर्घटना को रोकने मवेशियों के गले में रेडियम लगा पट्टा बांधे।
विवाद करने पर एफआईआर
गुरूवार को रोका-छेका अभियान शुरू करने पर कल्याणी मंदिर के निकट कुछ डेयरी संचालक अधिकारियों से ऊंची आवाज में बातचीत करने लगे। दरअसल वे रोका-छेका का विरोध कर रहे थे। इसे गंभीरता से लेते हुए आयुक्त ने निर्देश दिए है कि शासकीय कार्य मे बाधा करने वाले लोगो के खिलाफ थाना में एफआईआर कराए। निगम आयुक्त ने खटाल संचालकों को आगाह किया है कि वे मवेशी को बांधने और दुध निकालने के कार्य के लिए जमीन पर अतिक्रमण न करें। अन्यथा निगम अतिक्रमित जमीन को खाली कराने बेदखली अभियान चलाएगा। आयुक्त ने निगम अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे डेयरी संचालक से मिलकर खटाल की वास्तविक भूमि को चिन्हित करें। अतिक्रमित जमीन मिलने पर सूची तैयार करें और नोटिस दे।
 

आटो मेकेनिक की बेटी वर्षा ने शहर का बढ़ाया मान, बनी असिस्टेंट प्रोफेसर

आटो मेकेनिक की बेटी वर्षा ने शहर का बढ़ाया मान, बनी असिस्टेंट प्रोफेसर

दुर्ग, आदर्श नगर निवासी कु. वर्षा वर्मा का पीएससी परीक्षा के माध्यम से असिस्टेंट प्रोफेसर(फिजिक्स)के पद पर चयन हुआ है। उन्होने यह उपलब्धि महिला केटेगरी में प्रथम स्थान व मेरिट सूची में आठवॉ स्थान हासिल कर प्राप्त किया है। वर्षा शुरु से ही मेधावी छात्रा रही है। उन्होने 10 वीं व 12वीं की परीक्षा आदर्श कन्या उच्च माध्यमिक शाला दुर्ग और बीएससी व एमएससी(फिजिक्स) की परीक्षा कल्याण कॉलेज भिलाई से अच्छे अंक लेकर उत्तीर्ण की। वर्षा के पिता दल्लू वर्मा ऑटो रिपेयरिंग का कार्य करते है। इस कठिनाई में भी उन्होने अच्छी शिक्षा दिलाकर वर्षा को उचे मुकाम पर पहुंचाया। वर्षा की मां उर्मिला वर्मा गृहणी है। भाई अपने पिता के ऑटो रिपेयरिंग कार्य में हाथ बटांता है। बहन धमधा जनपद में संविदा कर्मचारी के तौर पर कार्यरत है। कु. वर्षा वर्मा के असिस्टेंट प्रोफेसर पद की यह उपलब्धि ने प्रदेश में दुर्ग शहर को गौरांवित किया। उपलब्धि पर उन्हे बधाईयों का तांता लगा हुआ है। 

 न्यू जलाराम स्वीट्स सहित नाली पर मलबा डालने वालों से निगम ने वसूला जुर्माना

न्यू जलाराम स्वीट्स सहित नाली पर मलबा डालने वालों से निगम ने वसूला जुर्माना

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत नाली पर मलबा डालने, कचरा डालने, अतिक्रमण करने या नाली पर रैम्प, चबूतरा एवं अन्य प्रकार के निर्माण करने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। नाली सफाई में बाधा बन रहे स्थानों पर तोडफ़ोड़ कर नाली को अतिक्रमण मुक्त किया जा रहा है। निगमायुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर सभी जोन कार्यालय की टीम अतिक्रमण के विरुद्ध कार्रवाई कर रही है। नाली में कचरा फेंकने या मलबा डालकर नाली पाटने वालों को चिन्हित कर ऐसा करने वालों से जुर्माना लिया जा रहा है, साथ ही नाली से मलबा हटाया जा रहा है, ताकि सफाई कार्य में कोई बाधा न आए और पानी प्रवाहित होता रहे। आज नाली पर मलबा डालने वालों से 9 हजार रूपए जुर्माना वसूल किया गया।

जोन 02 वैशाली नगर जोन आयुक्त पूजा पिल्ले के निर्देश पर नाली को कब्जा मुक्त करने तथा नाली सफाई अभियान के तहत आज दूसरे दिन वैशालीनगर अंतर्गत कैलाश नगर में कार्यवाही की गई। वार्ड क्रमांक 16 कैलाश नगर में न्यू जलाराम स्वीट्स के समीपस्थ दुकानों के निर्माण हो रहे हैं उनके द्वारा ट्रक से निर्माण से संबंधित सामग्री लाने ले जाने के लिए नाली में मलबा डाल दिया गया था, जिससे नाली जाम होने पर पानी निकासी नहीं हो पा रहा था। स्वच्छता निरीक्षक अंजनी सिंह ने बताया कि आस पास के नागरिकों से शिकायत प्राप्त होने पर टीम मौके पर पहुंची और नाली से मलबा निकालकर सफाई कराई गई जिससे पानी बिना अवरोध के निकल सके।

नाली में मलबा डालने वाले 6 लोगों से जुर्माना के रूप में अर्थदण्ड भी वसूला गया, और समझाईश दी गई कि दोबारा ऐसा न करे। नाली में मलबा डालने वाले कुरूद के प्रदीप शर्मा से 2000 हजार रूपए, न्यू जलाराम स्वीट्स से 1000 हजार रूपए, बनारसी स्वीट्स से 1000 हजार रूपए, दीपेश शर्मा से 2000 हजार रूपए, मनोज वर्मा से 2000 हजार रूपए सहित कुल 9000 हजार रूपए जुर्माना वसूल किया गया। गौरतलब है कि कुछ दिन पूर्व जवाहर मार्केट में नाली पर किए गए अतिक्रमण के खिलाफ कार्यवाही की गई थी।
 
राज्य निर्वाचन आयोग ने तीन पार्षद प्रत्याशियों को किया निरर्हित

राज्य निर्वाचन आयोग ने तीन पार्षद प्रत्याशियों को किया निरर्हित

दुर्ग। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से दुर्ग नगर निगम के तीन पार्षद प्रत्याशियों को निरर्हित घोषित किया है। इनमें सुष्मिता साहू, धरमराज व संतोष सागर शामिल हैं। आदेश पत्र तामिली के लिए प्रत्याशियों के पास प्रेषित कर दिया गया है। 

केन्द्रीय जेल का जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं पुलिस अधीक्षक ने किया औचक निरीक्षण, ऐसे बंदी जिन्हें परिहार का लाभ दिया जा सकता है, उनके आवेदन को प्रेषित करने निर्देशित किया

केन्द्रीय जेल का जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं पुलिस अधीक्षक ने किया औचक निरीक्षण, ऐसे बंदी जिन्हें परिहार का लाभ दिया जा सकता है, उनके आवेदन को प्रेषित करने निर्देशित किया

दुर्ग । जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने केन्द्रीय जेल दुर्ग का औचक निरीक्षण किया गया। केन्द्रीय जेल के निरीक्षण में पुरूष एवं महिला बैरक में जाकर विचाराधीन बंदियों एवं सजायाफ्ता बंदियों से मुलाकात की गई तथा उनकी समस्या सुनी गई। केन्द्रीय जेल से बंदियों के बताई गई समस्या के संबंध में पूछताछ की गई। निरीक्षण में यह विशेष रूप से देखा गया कि केन्द्रीय जेल में बंदियों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए क्या-क्या व्यवस्था की गई है। नवीन बंदी जो जेल में प्रवेश करते है उनके लिए कोविड -19 के संबंध में स्वास्थय चिकित्सा परीक्षण की क्या व्यवस्था है। निरीक्षण के दौरान एक सजायाफता बंदी ओमप्रकाश, रामकिशन ने बताया कि उसका एक पैर नहीं है उसे कृत्रिम पैर लगवाने के लिए जिला एवं सत्र न्यायाधीश से निवेदन किया गया। जिस पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक को उचित कार्यवाही के लिए निर्देशित किया गया वहीं एक कैदी रामनारायण कवर्धा निवासी है। जिसमें कवर्धा जेल में स्थानांतरएण के लिए निवेदन किया है जिस पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक को निर्देशित किया गया। बंदियों को मास्क दिया गया है अथवा नहीं। बंदियों के मध्य सोशल डिस्टेसिंग रखा जा रहा है अथवा नहीं। बंदियों को शासन के नियमानुसार कोविड संक्रमण के संबंध में टीकाकरण समय-समय पर करवाया जा रहा है अथवा नहीं। केन्द्रीय जेल के निरीक्षण में यह पाया गया कि बंदियों के सामान का निरीक्षण किया गया जिसमें कोई आपत्तिजनक वस्तुए अथवा नशा से संबंधित वस्तु नहीं पाई गई। बंदियों केा दिये जाने वाले भोजन सामग्री की गुणवत्ता देखी गई। जिसमें दाल की मात्रा कम पाई गई, प्रत्येक व्यक्ति को 150 ग्राम दाल दिये जाने का प्रावधान है। उक्त संबंध में दाल की मात्रा बढ़ाये जाने के लिए निर्देशित किया गया। बंदियों को दिये जाने वाले भोजन संतोषजनक पाया गया। बंदियों के बैरक की साफ-सफाई देखा गया। कई स्थानों पर साफ-सफाई में कमी पाई गई ।
निरीक्षण के दौरान ऐसे बंदी जिन्हें 432(2) दंड प्रक्रिया संहिता के तहत् परिहार पर रिहा किया जा सकता है, के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। जेल प्रशासन को ऐसे बंदी जिन्हें परिहार का लाभ दिया जा सकता है, उनके आवेदन के लंबित रहने के कारणों सहित जानकारी प्राधिकरण को प्रेषित किये जाने के लिए निर्देशित किया गया। बंदियों को परिहार पर रिहा किये जाने के संबंध में 1 अगस्त से प्रायलेट प्रोजेक्ट की शुरूआत की जानी है जिसमें सजायाफ्ता बंदियों को परिहार का लाभ समयावधि में प्रदान किया जाना है। बंदियों को जानकारी दी गई कि कोविड संकम्रण अवधि में विचाराधीन बंदियों के प्रकरणों की सुनवाई विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्मय से की जा रही है। जेल प्रशासन को निर्देशित किया गया कि जिन बंदियों की पेशी हो उन्हें आवश्यक रूप से विडियो कान्फेंसिंग के माध्मय से न्यायालय के समक्ष उपस्थित रखा जाए। राजेश श्रीवास्तव, जिला न्यायाधीश/अघ्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, दुर्ग , प्रशांत अग्रवाल पुलिस अधीक्षक दुर्ग, संतोष ठाकुर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दुर्ग, राहूल शर्मा, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग में केन्द्रीय जेल दुर्ग के अधीक्षक के साथ बैठक ली तथा उन्हें केन्द्रीय जेल दुर्ग के निरीक्षण में पाई गई कमियों एवं अव्यवस्थाओं से अवगत कराया गया तथा तत्काल कार्यवाही करते हुए बंदियों के स्वास्थय एवं अन्य सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गए। जेल में साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिये जाने का निर्देश जेल प्रशासन को दिया गया। महिला जेल में कुल 5 नाबालिक बच्चे हैं जो महिला कैदी के संरक्षण में है उन बच्चों की पढाई एवं स्वास्थय का विशेष रूप से ध्यान रखे जाने के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया गया।
 

 बड़ी खबर: भिलाई के नेवई में हुए गोलीकांड का मुख्य आरोपी मुकुल सोना बिहार से गिरफ्तार

बड़ी खबर: भिलाई के नेवई में हुए गोलीकांड का मुख्य आरोपी मुकुल सोना बिहार से गिरफ्तार

भिलाई। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के नेवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुए गोलीकांड के मुख्य आरोपी को दुर्ग पुलिस द्वारा नालंदा बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपी के स्थानीय नेटवर्क को ध्वस्त करते हुए पांच सहयोगियों को गिरफ्तार कर प्रतिबंधात्मक धाराओं के तहत का भी कार्यवाही की है। आरोपी को पकडऩे में पुलिस के द्वारा उसके 40 ठिकानों में लगातार दबिश दी गई।
 
पुलिस नियंत्रण कक्ष भिलाई में आज पत्र वार्ता  में पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि 5 जुलाई  रात्रि 12:30 बजे मामले के प्रार्थी बृजेश राय उर्फ पिंकी राय पर 03 अज्ञात व्यक्तियों द्वारा थाना नेवई क्षेत्र के टंकी मरोदा बस्ती में फायरिंग की घटना पर से थाना नेवई में अपराध क्रं. 212/21 धारा 307 भादवि 25, 27 आम्र्स एक्ट कायम किया गया।  पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल तत्काल घटना स्थल पर पहुंचे।
पुलिस अधीक्षक दुर्ग द्वारा पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेन्ज,  विवेकानंद सिन्हा को घटना से अवगत कराते हुये अग्रिम कार्यवाही हेतु आवश्यक दिशा निर्देश प्राप्त किया गया। घटना स्थल पर पुलिस अधीक्षक  ने उपस्थित आला पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।
 
तत्काल शहर में नाकाबंदी की कार्यवाही का निर्देश उनके द्वारा दिया जाकर उनके द्वारा एक विशेष टीम सीएसपी भिलाई नगर के नेतृत्व में 04 निरीक्षक, 25 अधिकारी/कर्मचारी को शामिल कर किया गया। घटना में प्रयुक्त कार एवं आरोपियों के संबंध में पतासाजी हेतु शहर के 50 से अधिक सीसीटीवी कैमरा का फुटेज प्राप्त कर विश्लेषण किया गया। इसके पश्चात घटना में प्रयुक्त लाल रंग की संदिग्ध मारूती 800 कार की तलाशी में टीम लगाया गया। जिसके तहत टोल नाके, आई टी एम एस कैमरे, शहर में 800 कार के मालिको की जानकारी। मैकेनिक की जानकारी, पार्टस विक्रेताओ की जानकारी इक्कठी की गई एवं जिले के तमाम निगरानी बदमाशो, सजायाबता अपराधियो की लिस्टींग कर उनको थाना बुलाकर कड़ाई से पुछताछ किया गया। शहर में अवैध देशी कटटा, पिस्टल के मामलो में पूर्व के आरोपियों एवं उनके सहयोगियों की जानकारी लिया गया। पुछताछ कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही भी उनके खिलाफ किया गया। 
 
फलस्वरूप तीन अज्ञात आरोपियो की पहचान नेवई क्षेत्र के बदमाश मुकुल सोना उर्फ सोनू तथा उसके दो सहयोगी मुकेश सिंह उर्फ पंचर निवासी इलाहाबाद, नागेन्द्र कुमार निवासी नालंदा बिहार के रूप में हुई। पहचान उपरांत इनकी गिरफ्तारी के प्रयास हेतु इनके संबंधित ठिकानो पर तत्काल दबिश दी गई। घटना बाद से ही अपने ठिकानो से तीनो आरोपी फरार मिले। चूकि अज्ञात आरोपियो की पहचान हो चूकी थी अत: पुलिस ने इस प्राथमिक सफलता उपरांत गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिया। आरोपी पूर्व में अपहरण के मामले में चालान हो चुके थे । इसलिए इनके साथी दरानो की पहचान कर पुछताछ की जा रही थी। अभी पुलिस अपनी कार्यवाही को आगे बढा ही रही थी कि पॉच दिन बाद 10 जुलाई को नेवई थाना क्षेत्र के रिसाली इलाके में शाम 07:00 बजे करीब पुन: तीन हवाई फायर कर पुलिस के लिए एक और चुनौती देकर फरार हो गये। आरोपियो द्वारा की गई फायरिंग के बाद दुर्ग पुलिस के द्वारा आरोपियो की गिरफ्तारी हेतु लगातार दबिश दी गई।
 
उक्त घटना के बाद आरोपियों के धरपकड पतासाजी हेतु उनके हर संभावित ठिकाने पर टिटलागढ उडिसा, धमतरी, कुरूद, केशकाल, कांकेर, नागपूर, रायपुर, नंदिनी अहिवारा सहित दुर्ग भिलाई शहर के करीबन 40 ठिकानों पर दबिश दी गई। इसी दौरान आरोपियों द्वारा सोशल मिडिया, फेसबुक, इंस्टाग्राम के माध्यम से क्षेत्र में अपना दबदबा कायम करने के लिए एवं प्रार्थी को जान से मारने की धमकी दी गई एवं इसके माध्यम से पुलिस के इन्वेस्टीगेशन को गुमराह करने का भी प्रयास किया गया। जिसे सायबर सेल के द्वारा सोशल मिडिया क्रैक कर उनकी योजना को विफल कर दिया गया। सायबर सेल द्वारा लगातार तकनीकी विश्लेषण किया जा रहा था एवं विश्लेषण के आधार पर लगातार संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही थी। आरोपियों को आर्थिक मद्द तथा शरण देने वाले लोगों के खिलाफ दुर्ग पुलिस द्वारा एक अभियान चलाकर ऐसे तमाम आरोपियों को चिन्हाकिंत कर उनके खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर एवं प्रतिबंधात्मक कार्यवाही किया जिससे लोकल नेटर्वक टूट गया एवं कार्यवाही के डर से अन्य संभावित मद्दगार आरोपियों से दुरी बनाने लगे।
 
इसी दौरान आरोपियो को पनाह देने वाले संजय जोशी निवासी पोटिया, नंदिनी के घर दबिश दी जहॉ पुलिस को अवैध शराब का जखीरा भी मिला पुलिस ने आबकारी एवं आरोपी को पनाह देने के अपराध में संजय जोशी को गिरफ्तार किया गया। पूर्व में आरोपी के सहयोगी रहे अमित जोश थाना खुर्सीपार में धारा 399 भादवि 25 आम्र्स एक्ट के तहत कार्यवाही जेल में निरूद्व है। मुकुल के अन्य साथी विश्वजीत एवं लक्की जार्ज के खिलाफ भी पुलिस ने काठोर कार्यवाही करते हुये गिरफ्तार किया। आरोपियो के सोशल मिडिया को संचालित करने वाले प्रखर चंद्राकर एवं अपचारी बालक के खिलाफ धारा 294, 506, 212, 34 भादवि के तहत कार्यवाही की गई।  प्रकरण में आरोपियों की मदद करने वाले अन्य सहयोगियो जैसे सूरज पाल निवासी नेवई, अशोक जांगडे निवासी ग्राम हनोदा पद्यमनाभपुर, मंगल सिंह निवासी स्टेशन मरोदा, पुलकित चंद्राकर निवासी मरोदा सेक्टर, गोपेन्द्र बाग निवासी पेशंनबाडा, रायपुर के खिलाफ प्रतिबंधात्क कार्यवाही कर जेल भेजा गया।

प्रकरण के आरोपी पुलिस की लगातार दबिश व घेराबंदी की कार्यवाही से एवं लोकल नेटवर्क टूटने से दुर्ग भिलाई क्षेत्र को स्वयं के लिए सुरक्षित ईलाका नहीं होने से राज्य से बाहर भागने की योजना बनाकर फरार हो गये। सायबर सेल के लगातार तकनीकि विश्लेषण व परंपरागत पुलिसिंग के समन्वय से इनपुट आने लगे थे जिसमें आरोपियों के उत्तर भारत की ओर दिल्ली/लुधियाना जाने की पुष्टि हो रही थी तत्काल पुलिस अधीक्षक द्वारा दो विशेष टीम दिल्ली/लुधियाना के लिए रवाना किया गया। आरोपियों के द्वारा इंटरनेट गूगल के माध्यम से स्थानीय समाचार पत्रों व अन्य मिडिया के माध्यम से दुर्ग पुलिस की सम्पूर्ण कार्यवाही एवं गतिविधियों पर नजर रखी जा रही थी इसके अलावा युट्यूब क्राईम पेट्रोल जैसे माध्यमों से अपन आप को अपडेट करने की कोशिश की जा रही थी जिसके कारण पुलिस के द्वारा संभावित ठिकाने पर दबिश दिये जाने के पहले ही आरोपियों के द्वारा एक स्थान पर अधिक देर नहीं रूकने की अपनी योजना को अमल मे लाते हुये अन्यत्र स्थान की ओर निकल जा रहे थे। जिसके फलस्वरूप दिल्ली में पुलिस को अपनी कार्यवाही में खाली हाथ होना पड़ा, आरोपियों का पीछा करते हुए उत्तरप्रदेश के कुछ स्थानों में भी दबिश की कार्यवाही की गई पुलिस को भी यहॉ सफलता नहीं मिली।
 
इसी क्रम में एक आसूचना प्राप्त हुई कि आरोपी मुकुल सोना एवं नागेन्द्र कुमार उत्तरप्रदेश के चंदोली से नागेन्द्र के निवास स्थान परबलपुर जिला नालांदा बिहार को सुरक्षित मानकर शरण लेने के लिए निकल गये है। तकनीकी विश्लेषण एवं मुखबिर सूचना की पुष्टि होने पर पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल द्वारा नालांदा जिले के पुलिस अधीक्षक श्री हरि प्रसाद से संपर्क कर दुर्ग पुलिस को मदद की आग्रह किये जाने पर उनके द्वारा तत्काल आवश्यक सुविधा एवं संसाधन उपलब्ध कराया गया। इसके पश्चात दुर्ग पुलिस एवं नालांदा पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा आरोपी नागेन्द्र के निवास स्थान पर घेराबंदी कर दबिश की कार्यवाही की गई। मौके पर आरोपी मुकुल सोना हिरासत में लिया गया। पुछताछ पर मुकुल सोना द्वारा अन्य आरोपी नागेन्द्र के संबंध में बताया कि दबिश के पूर्व ही कही अन्यत्र चला गया था। पुलिस टीम द्वारा नागेन्द्र की पता तलाश की जा रही है। मुख्य आरोपी मुकुल सोना के बयान मेमोरण्डम पर से घटना में प्रयुक्त दो नग मोबाईल, वाई-फाई राउटर, देशी कट्टा, राउण्ड, मारूति कार 800, मोटर सायकल पल्सर 200-त्ै विधिवत जप्ती की गई है। आरोपी मुकुल सोना को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया जाता है। सम्पूर्ण मामले में रायपुर पुलिस की भूमिका एवं सहयोग सराहनीय रही।
जिले के इन 35 केन्द्रों में लगेगा कोरोना का टीका, जानिए यहां

जिले के इन 35 केन्द्रों में लगेगा कोरोना का टीका, जानिए यहां

भिलाई: नगर के 18 से 44 वर्ष एवं 45 वर्ष से अधिक के व्यक्ति 44 टीकाकरण केंद्रों में कोविड से बचाव के लिए को-वैक्सीन का टीका रविवार को लगवा सकते हैं। कोविशिल्ड के लिए बनाए गए 35 केंद्र एवं को-वैक्सीन के लिए पृथक से 9 नए केंद्र भी स्थापित किया गया है। वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार टीकाकरण का शेड्यूल तैयार किया गया है। जो 25 जुलाई दिन रविवार को को-वैक्सीन एवं कोविशिल्ड का टीका लगेगा। कोई भी किसी भी सेंटर में ये टीका लगवा सकते है। को-वैक्सीन एवं कोविशिल्ड दोनों के लिए पृथक-पृथक केंद्र निर्धारित किए गए हैं, जिसके अनुसार ही टीकाकरण होगा।

इन 9 केन्द्रों में लगेगा को-वैक्सीन का टीका वार्ड 1 पीएचसी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जुनवानी, वार्ड 3 यूपीएचसी कोसा नगर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, वार्ड 9 मंगल बाजार कोहका सामुदायिक भवन, वार्ड 12 कर्मा विद्यालय सुपेला, वार्ड 15 पीएचसी वैशालीनगर, वार्ड 21 यूपीएचसी बैकुंठधाम, वार्ड 28 यूपीएचसी छावनी, वार्ड 29 पीएचसी बापूनगर, वार्ड 32 पीएचसी खुर्सीपार।

इन 35 केन्द्रों में लगेगा कोविशिल्ड का टीका
वार्ड 2 शासकीय प्राथमिक शाला मॉडल टाउन, वार्ड 4 सियान सदन राधिक नगर, वार्ड 2 टीआई मॉल, वार्ड 5 प्रियदर्शनी स्कूल लक्ष्मी नगर, वार्ड 70 सियान सदन मिलन चैक हुडको, वार्ड 68 भिलाई नगर समाजम स्कूल सेक्टर 8, वार्ड 14 इंदिरा गांधी शासकीय महाविद्यालय जवाहर नगर, वार्ड 13 रामजानकी मंदिर भवन राम नगर, वार्ड 16 शिशु मंदिर कैलाश नगर, वार्ड 18 चैता मैदान प्रेम नगर, वार्ड 19 छत्तीसगढ़ सदन शास्त्री नगर, वार्ड 26 शासकीय हाई स्कूल हाउसिंग बोर्ड, वार्ड 15 दशहरा मैदान शासकीय स्कूल शांतिनगर, वार्ड 27 दुर्गा पंडाल घासीदास नगर, वार्ड 23 सर्कुलर मार्केट प्रायमरी स्कूल राधाकृष्ण होटल के सामने, वार्ड 21 शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला जेपी नगर केम्प 1, वार्ड 25 जनता स्कूल केम्प 2, वार्ड 23 शासकीय हाई स्कूल केम्प 2 पानी टंकी के पास, वार्ड 49 बीएसपी मिडिल स्कूल इंग्लिश मिडियम सेक्टर 1 एवेन्यू बी, वार्ड 28 मंगल बाजार छावनी, वार्ड 32 पं. जवाहर लाल नेहरू माध्यमिक शाला खुर्सीपार, वार्ड 33 भिलाई इस्पात विकास विद्यालय, वार्ड 28 छावनी में मोबाइल टीम, वार्ड 35 शासकीय स्कूल गुरूद्वारा के पास, वार्ड 38 पॉवर हाउस बस स्टैण्ड, वार्ड 34 सांस्कृतिक भवन अंडा चैक खुर्सीपार, वार्ड 68 हाईस्कूल सेक्टर 9, वार्ड 52 बीएसपी सीनियर सेकंडरी स्कूल सेक्टर 4, वार्ड 66 काली बाड़ी मंदिर सेक्टर 6, वार्ड 53 डोमशेड सेक्टर 5, वार्ड 66 एसएससीएल कॉलोनी दुर्गा पंडाल सेक्टर 6, वार्ड 65 शासकीय स्कूल स्ट्रीट 5 सेक्टर 7, वार्ड 65 हनुमान मंदिर के पास स्ट्रीट 18 सेक्टर 7, वार्ड 64 बीएसपी स्कूल स्ट्रीट 28 सेक्टर 10 में टीकाकरण होगा।

 छत्तीसगढ़ : पुलिस ने कबाड़ियों के ठिकानों पर मारा छापा, कार्रवाई के बाद पुलिस ने किया ठिकानों को सील

छत्तीसगढ़ : पुलिस ने कबाड़ियों के ठिकानों पर मारा छापा, कार्रवाई के बाद पुलिस ने किया ठिकानों को सील

दुर्ग। जिला पुलिस ने 20 काबाड़ियों के ठिकाने पर छापा मारा कर 30 लाख से अधिक का कबाड़ जब्त किया है। कार्रवाई के बाद पुलिस ने सभी ठिकानों को सील किया है।

जानकारी के अनुसार पुलिस को लंबे समय से बीएसपी और रेलवे से लोहा चोरी की शिकायत मिल रही थी, जिसके बाद अब जिला पुलिस ने एक साथ कबाड़ियों के 20 ठिकानों पर दबिश देकर कार्रवाई की है। छापा मार कार्रवाई के दौरान पुलिस ने बीएसपी और रेलवे से चोरी लोहा जब्त किया है। बताया जा रहा है कि कबाड़ियों में जिले के रसूखदार भी शामिल है। जल्द ही दुर्ग पुलिस मामले का खुलासा करेगी।
 
 बड़ी खबर: तीन दिन से लापता बीएसपी कर्मी का मिला शव, हत्या की आशंका

बड़ी खबर: तीन दिन से लापता बीएसपी कर्मी का मिला शव, हत्या की आशंका

भिलाई। तीन दिनों से लापता बीएसपी कर्मी का शव संयंत्र के भीतर ही मिला। बुधवार शाम को एसएमएस-2 में 30 फीट के ऊंचाई वाले हिस्से में काम कर रहे मरीज को बदबु आई तो उसने सीआईएसएफ को सूचना दी। सीआईएसएफ ने मौका मुआयना कर पुलिस को सूचित किया। 

सीआईएसएफ व पुलिस की मौजुदगी में शव को निकाला गया। बाहर निकालने के बाद पुलिस ने शव की पहचान तीन दिन से लापता बीएसपी कर्मी जगतराम के रूप की। घटना स्थल व प्रारंभिक साक्ष्य के आधार पर पुलिस इसे हत्या का मामला मानते हुए जांच कर रही है।

 छावनी पुलिस ने सोमवार देर रात 53 वर्षीय बीएसपी कर्मी जगत राम उइके की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की थी। जगत राम सोमवार शाम 4 बजे से रहस्यमय ढंग से गायब हो गया था। मृतक जगत राम ने सोमवार सुबह करीब 11.30 बजे हाफ डे कि अनुमति लेकर घर चला गया था। इसके बाद वह अपने बच्चों के साथ खुदकी शादी के लिए लड़की देखने गया। दोपहर करीब 3.30 बजे उसके अपने बच्चों की घर पर छोड़ा। इसके बाद वह प्लांट जाने की बात कहकर चला गया। रात होने के बाद भी वापस नहीं लौटने पर घरवालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

जांच के दौरान पुलिस को मंगलवार रात करीब 9 बजे बीएसपी कर्मी जगतराम की कार प्लांट के अंदर खड़ी मिली। उसके मोबाइल की आखिरी लोकेशन भी प्लांट के अंदर बता रही थी। बुधवार की शाम को तकरीबन 4 बजे के आसपास एसएमएस 2 के कास्टर-6 में 30 फीट ऊंचे केबिन में मेंटिनेंस के लिए कर्मचारी पहुंचा तो उसे बदबू आई। उसने तुरंत सीआईएसएफ को जानकारी दी। सीआईएसएफ और पुलिस की टीम पहले ही जगत राम की खोजबीन में लगी हुई थी। टीम नजदीक जाकर जांच की तो शव जगत राम का था। शव का पंचनामा करके पीएम के लिए भेजा गया।
 छत्तीसगढ़ का अब ये जिला हुआ टोटल अनलॉक : दुकानों के खुलने और बंद होने का समय भी हुआ सामान्य

छत्तीसगढ़ का अब ये जिला हुआ टोटल अनलॉक : दुकानों के खुलने और बंद होने का समय भी हुआ सामान्य

दुर्ग। प्रदेश में कोरोना के संक्रमण कम होने के बाद कई जिलों को टोटल अनलॉक कर दिया गया है। इसी बीच खबर आ रही है कि दुर्ग में भी अब टोटल अनलॉक कर दिया गया है। दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे सुबह-सुबह आदेश जारी किया है। जारी आदेश के अनुसार अब जिला पूरी तरह अनलॉक हो चुका है। बता दें कि इससे पहले रात 8 बजे तक दुकानें खुले रहने की आदेश जारी किया गया था।

वहीं आदेश के अनुसार, वैवाहिक कार्यक्रम, होटल / रेस्टोरेंट में हाउस डायनिंग एवं होम डिलीवरी, रेस्टोरेंट-बार क्लब, राज्य शासन के निर्देशानुसार संचालित सेवाएँ तथा थोक माल / वेयरहाउस / कार्गो / फल / सब्जी की लोडिंग / अन-लोडिंग अपने सामान्य समय पर की जावेगी।

तिबंधित गतिविधियों को छोड़कर अन्य सभी प्रकार की स्थायी एवं अस्थायी दुकानें, शॉपिंग मॉल, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, सुपर मार्केट / सुपर बाजार, फल एवं सब्जी मंडी / बाजार, अनाज मंडी, शो-रुम, मदिरा दुकान, ठेला, चौपाटी, सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा, पार्क, जिम व ग्रंथालय इत्यादि रविवार सहित सभी दिवस में उनके प्रचलित समय पर खोले जा सकेगें किन्तु सभी ग्रंथालय का संचालन उनकी बैठक क्षमता के 50 प्रतिशत की सीमा के साथ तथा कोविड-19 टीके के दोनो डोज ले चुके सदस्यों को प्राथमिकता देते हुये पहले आओ, पहले पाओ के नियम अनुसार किया जा सकेगा।

सभी वाटर पार्क, थीम पार्क, सिनेमा हॉल / थियेटर, स्विमिंग पूल तथा सामूहिक स्थल इत्यादि आम जनता हेतु उनके प्रचलित समय पर खोले जा सकेंगें किन्तु सिनेमा हॉल / थियेटर का संचालन उनकी कुल क्षमता के 50 प्रतिशत व्यक्तियों के लिए ही किया जा सकेगा। संबंधित व्यवसायिक प्रतिष्ठान तथा नगरीय निकाय / विभाग इसके लिए उत्तरदायी होगें। भारत सरकार एवं राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी गाईडलाईन का कड़ाई से पालन अनिवार्य होगा। उपरोक्त कंडिकाओं को संशोधित पढ़ा जाए। यह आदेश तत्काल प्रभावशील

चिंता की बात: तीसरी लहर की आशंका के बीच अनलॉक भारी न पड़ जाए?
ये सवाल लाजिमी है, क्योंकि तीसरी लहर की आशंका है। इस बीच अनलॉक का ये फैसला कहीं भारी न पड़ जाए। क्योंकि लोग अपनी मनमानी कर रहे हैं। मास्क बिना ही मार्केट जा रहे हैं।

 

जिले में  जिन स्कूलों ने फीस सीमा से बढ़ाई, उन पर अर्थ दंड लगाया गया

जिले में जिन स्कूलों ने फीस सीमा से बढ़ाई, उन पर अर्थ दंड लगाया गया

दुर्ग । जिला दुर्ग में अशासकीय विद्यालयों के विरुद्ध अधिक शुल्क वृद्धि के संबंध में शिकायत प्राप्त हुई थी। इस के परिप्रेक्ष्य में 23 जून को जिला फीस समिति की बैठक आहूत कर 8% से अधिक की वृद्धि किए जाने वाले अशासकीय विद्यालयों से जवाब मांगा गया एवं उन्हें अपना पक्ष रखने का अवसर प्रदान किया गया।
15 जुलाई को आयोजित जिला फीस समिति की बैठक में 07 अशासकीय विद्यालयों के द्वारा 8% से अधिक शुल्क वृद्धि किया जाना पाया गया। प्रकरणों की सुनवाई पश्चात जिला फीस समिति के द्वारा यह निष्कर्ष दिया गया कि सभी विद्यालय सत्र 2019-20 को आधार वर्ष मानते हुए शुल्क में अधिकतम 8% वृद्धि मान्य की जाती है। 8% से अधिक फीस वृद्धि करने के कारण डीएवी पब्लिक स्कूल हुडको, भिलाई , एमजीएमसीसे स्कूल सेक्टर-6 भिलाई, इंदु आईटी स्कूल कुरूद,भिलाई शारदा विद्यालय रिसाली भिलाई एवं शकुंतला विद्यालय रामनगर भिलाई पर राशि रुपए 20,000 का अर्थदंड अधिरोपित की गई है । 8% से अधिक वृद्धि की गई राशि जो कि पालकों से वसूली गई है उसे अगले 15 दिन के भीतर आरटीजीएस/ एनईएफटी के माध्यम से पालकों को वापस किया जाएगा।
 

 देर रात पुलिस की बड़ी कार्यवाई: 41 रेस्टोरेंट बार में पुलिस ने दी दबिश

देर रात पुलिस की बड़ी कार्यवाई: 41 रेस्टोरेंट बार में पुलिस ने दी दबिश

दुर्ग। देर रात को अकस्मात् दुर्ग पुलिस की इक्कीस टीमों के द्वारा जिनका नेतृत्व निरीक्षक स्तर के अधिकारी कर रहे थे, शहर में संचालित कुल 41 बार को 21 निरीक्षकों के नेतृत्व में कुल 60 से अधिक पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारियों के द्वारा चेकिंग कार्यवाही किया गया। विदित हो कि अपुष्ट सूचनाएँ मिल रही थी कि दुर्ग-भिलाई शहर में संचालित कुछ बार संचालको के द्वारा समय सीमा का उल्लंघन किया जा रहा है जबकि वर्तमान में आंशिक लॉक डाउन का आदेश अभी भी यथावत है। जिसके फलस्वरूप सभी प्रकार के रेस्टौरेंट, बार दस बजे तक ही संचालित किये जा सकेंगे इसी कड़ी में ये औचक चेकिंग अभियान का क़वायद किया गया। रात्रि साढ़े दस बजे के बाद कुल 41 रेस्टौरेंट बार को इस दौरान चेक किया गया जिसमें से कुल 13 बार-होटल अमित इंटरनेशनल थाना सुपेला, लोटस कल्चर थाना सुपेला , स्टार होटल पार्क इंटरनेशनल थाना सुपेला , स्टार होटल ग्रांड ढिल्लन थाना सुपेला , होटल रॉकफ़ोर्ड थाना सुपेला , प्लेजऱ क्लब थाना पुलगाँव , भिलाई क्लब (बीएसपी क्लब)थाना भिलाई नगर, होटल सागर इंटरनेशनल थाना मोहन नगर , इम्पीरीयल ब्लू बार थाना छावनी , ब्लू हेवेन होटल थाना नेवई, पंजाब बार थाना कोतवाली दुर्ग (12)वाईजऱ क्लब होटल आशीष इंटरनेशनल थाना छावनी, होटल सेंटर पाइंट थाना सुपेला , तय समय सीमा से अधिक अवधि तक खुले हुए एवं संचालित करते पाये जाने पर  पंचनामा बनाया गया।  जिसे अग्रिम कार्यवाही हेतु संबंधित आबकारी विभाग को पृथक से पत्राचार के माध्यम से किया जा रहा है।
भिलाई : डेढ़ दर्जन से अधिक हुक्का बारों पर पुलिस ने मारा छापा, 3 हुक्का बार संचालकों पर हुई कार्यवाही

भिलाई : डेढ़ दर्जन से अधिक हुक्का बारों पर पुलिस ने मारा छापा, 3 हुक्का बार संचालकों पर हुई कार्यवाही

भिलाईपुलिस ने छावनी सीएसपी व भिलाई नगर अनुभाव के साथ 9 थाना प्रभारियों की टीम बनाकर 50 से अधिक पुलिस कर्मचारियों के साथ नगर में हुक्का बार संचालित करने वाले डेढ़ दर्जन से ज्यादा रेस्टोरेंट, कैफेहोटल पर विशेष टीम बनाकर अचानक छापा मारी और 3  हुक्का बार कैफे कैफे फ्लोरा स्मृति नगर, क्रॉस रोड स्मृति नगर, गोल्डन लगून मोहन नगर पर कोटपा ऐक्ट के तहत की गई कार्यवाही।

मिली जानकारी के अनुसार दुर्ग भिलाई शहर में शनिवार देर रात्रि 10 बजे हुक्का बार संचालित होने वाले कैफ़े रेस्टोरेंट पर चेकिंग कार्रवाई की गई जिसमें शहर के स्मृति नगर, सुपेला, मोहन नगर, दुर्ग, पुलगांव इलाकों में संचालित हो रहे 18 से अधिक हुक्का बार सेंटर पर दबिश दी गई | इस कार्रवाई में समय सीमा से अधिक अवधि तक संचालन एवं तम्बाकू प्रतिषेध अधिनियम उल्लंघन करते पाये जाने पर तीन हुक्का बार संचालकों पर कार्यवाही की गई। देर रात तक चली इस कार्रवाई में जिसमें उपरोक्त हुक्का कैफे में छत्तीसगढ़ धूम्रपान निषेध अधिनियम के तहत जुर्माना लगाते हुए भारतीय दण्ड संहिता की धारा 270 के तहत अपराध कायमी भी किया गया।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : जिले के इस कोविड टीकाकरण केंद्र से 70 डोज वैक्सीन की हुई चोरी, केंद्र में मचा हड़कंप

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : जिले के इस कोविड टीकाकरण केंद्र से 70 डोज वैक्सीन की हुई चोरी, केंद्र में मचा हड़कंप

दुर्ग | छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में कोरोना वैक्सीन चोरी होने का पहला मामला प्रकाश में आया है। मामला अहिवारा के सरस्वती शिशु मंदिर कोविड टीकाकरण केंद्र की है। जहां से 17 हजार कीमत के 70 डोज वैक्सीन की चोरी हो गई है मामले की शिकायत स्थानीय नन्दनी थाने में दर्ज कराई गई हैं पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। ईधर दुर्ग जिले में वैक्सीन की कमी के चलते टीकाकरण के केंद्रों में ताला लटक रहा है वहीं 2 दिन पहले ही शुक्रवार को जिले को 21 हजार वैक्सिन डोज मिलने के बाद फिर से केंद्रों को खोला गया है लेकिन इस बीच जिले के केंद्रों में वैक्सीन चोरी की घटना सामने आ रही है दुर्ग जिले के अहिवारा स्थित सरस्वती शिशु मंदिर टीकाकरण केंद्र  के लिए 150 डोज वैक्सीन दी गई थी। जिसमें सिर्फ 80 डोज लगने के बाद वैक्सीन खत्म हो गया जांच के दौरान पाया गया कि 70 डोज वैक्सीन की चोरी हो गई है। जिसकी कीमत 17 हजार रुपये के लगभग है इस पूरे मामले पर अब पुलिस बारीकी से जांच कर रही है दुर्ग पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है । जिले में वैक्सीन चोरी होने का ये पहला मामला है जिसे लेकर प्रशासन भी सख्ते में है।

जल्द पकड़ा जाएगा आरोपी
थाना प्रभारी नन्दनी ने आरएनएस को बताया कि वैक्सीन सेंटर में भीड़ के बीच अज्ञात चोर ने इस चोरी की घटना को अंजाम दिया है, आसपास के निजी अस्पताल एवं स्थानीय इलाको में पुलिस की टीम आरोपी की खोजबीन में जुट गई है जल्द ही आरोपी पुलिस के शिकंजे में होगा।
 
सेक्स रैकेट दुर्ग : एक हफ्ते में दूसरी बार दुर्ग पुलिस ने सेक्स रैकेट का किया भंडाफोड़, आर्केस्ट्रा डांस की आड़ में चल रहा था रैकेट

सेक्स रैकेट दुर्ग : एक हफ्ते में दूसरी बार दुर्ग पुलिस ने सेक्स रैकेट का किया भंडाफोड़, आर्केस्ट्रा डांस की आड़ में चल रहा था रैकेट

भिलाई | छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले से देह व्यापार को ले कर एक बड़ी खबर सामने आई है | खबर मिली है कि दुर्ग पुलिस ने भिलाई से एक और सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है | जानकारी के अनुसार दुर्ग पुलिस ने एक हफ्ते के भीतर दूसरी बार सेक्स रैकेट का खुलासा किया है।

मिली जानकारी के अनुसार दुर्ग पुलिस ने आर्केस्ट्रा डांस के आड़ में नाबालिगों से जिस्मफरोशी करने वाली एक महिला को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि महिला ने खुद की बेटी को भी नहीं छोड़ा और उसे भी जिस्मफरोशी के बाजार में उतार दिया है । फिलहाल मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है।

जानकारी मिली है कि छावनी थाना पुलिस को लंबे समय से शिकायत मिल रही थी कि इलाके की एक महिला आर्केस्ट्रा डांस के आड़ में नाबालिग से देहव्यापार करवाती है। मामले की सूचना के आधार पर ही पुलिस की टीम ने मौके पर दबिश देकर देह व्यापार कराने वाली महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

आपको बता दें कि 11 जुलाई को भी पुलिस ने नेहरू नगर सुपेला में सेक्स रैकेट का खुलासा किया था।

 मॉनिटरिंग नहीं होने पर भड़के आयुक्त एसएलआरएम सेंटर में अव्यवस्था, स्वास्थ्य विभाग को नोटिस

मॉनिटरिंग नहीं होने पर भड़के आयुक्त एसएलआरएम सेंटर में अव्यवस्था, स्वास्थ्य विभाग को नोटिस

भिलाई। लाखों करोड़ों खर्च करने के बाद भी कचरा पृथककरण केन्द्र में अव्यवस्था को देख आयुक्त ने नाराजगी जाहिर की। निगम आयुक्त बुधवार की सुबह रूआबांधा और टंकी मरोदा स्थित एसएलआरएम सेंटर का निरीक्षण किया। अव्यवस्था देखने के बाद निगम के स्वास्थ्य विभाग से सवाल-जवाब करते नोटिस जारी किया है। दरअसल डोर टू डोर कचरा कलेक्शन करने के बाद सफाई मित्र शहर के कचरा को एसएलआरएम सेंटर लाते है। यहां गिला एवं सूखा कचरा को अलग-अलग किया जाता है। मॉर्निंगविजिट के तहत आयुक्त पहले रूआबांधा पहुंचे और अव्यवस्था देखने के बाद वे टंकी मरोदा स्थित एसएलआरएम सेंटर पहुंचकर सफाई कामगारों से बातचीत की।

यहां मिली खामियां - एसएलआरएम सेंटर व्यस्थित नहीं- साफ सफाई का आभाव - सूखा कचरा का अंबार - गीला कचरा का निश्पादन नहीं 
हुए नाराज एसएलआरएम सेंटर में कचरा निश्पादन की जिम्मेदारी पी वी रमन गु्रप को दिया गया है। गीला कचरा से खाद बनाना और सूखा कचरा को अलग-अलग कर उसका निश्पादन करना है। आयुक्त ने निरीक्षण में पाया कि स्वास्थ्य विभाग एसएलआरएम सेंटर का समय= पर मॉनिटरिंग नहीं कर रहा है। इसे आधार बनाते हुए आयुक्त ने स्वास्थ्य विभाग से सवाल जवाब किया है।]

ठेकेदार को किया तलब
एसएलआरएम सेंटर में अव्यवस्था को देख आयुक्त ने संबंधित ठेकेदार को तलब किया। आयुक्त ने निर्देश दिए है कि 4 दिनों के भीतर रिसाली नगर पालिक निगम क्षेत्र में बने एसएलआरएम सेंटर की बिगड़ी व्यवस्था में सुधार किया जाए। अन्यथा पेनाल्टी के साथ भुगतान में कटौती की जाएगी।
नंदिनी की खाली माइंस की जमीन में बनेगा भारत का सबसे बड़ा मानव निर्मित जंगल

नंदिनी की खाली माइंस की जमीन में बनेगा भारत का सबसे बड़ा मानव निर्मित जंगल

 दुर्ग देश में पर्यावरण की मानव निर्मित सबसे बड़ी धरोहर दुर्ग जिले में बनने वाली है। नंदिनी की खाली पड़ी खदानों की जमीनों में यह 885 एकड़ क्षेत्र में यह प्रोजेक्ट विकसित किया जा रहा है। 3 सालों में यह प्रोजेक्ट पूरी तरह से तैयार होगा। लगभग 3 करोड़ रुपए की लागत से यह प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है। इसके लिए डीएमएफ तथा अन्य मदों से राशि ली गई है। पर्यावरण संरक्षण के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर यह प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। यह प्रोजेक्ट देश दुनिया के सामने उदाहरण प्रस्तुत करेगा कि किस तरह से निष्प्रयोज्य माइंस एरिया को नेचुरल हैबिटैट के बड़े उदाहरण के रूप में बदला जा सकता है।
इस प्रोजेक्ट के बनने से नंदिनी क्षेत्र पर्यावरण के क्षेत्र में यह छत्तीसगढ़ ही नहीं देश की भी सबसे बड़ी धरोहर साबित होगा। उल्लेखनीय है कि 17 किलोमीटर क्षेत्र में फैले नंदिनी के जंगल में पहले ही सागौन और आंवले के बहुत सारे वृक्ष मौजूद हैं। अब खाली पड़ी जगह में 80,000 अन्य पौधे लगाने की तैयारी कर ली गई है। इसके लिए डीएमएफ से राशि भी स्वीकृत कर ली गई है आज कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने क्षेत्र का निरीक्षण किया। डीएफओ धम्मशील गणवीर ने विस्तार से प्रोजेक्ट की जानकारी देते हुए कहा कि 80,000 पौधों के लगाने के पश्चात 3 साल में यह क्षेत्र पूरी तरह जंगल के रूप में विकसित हो जाएगा। यहां पर विविध प्रजाति के पौधे लगने की वजह से यहां का प्राकृतिक परिवेश बेहद समृद्ध होगा। श्री गणवीर ने बताया कि यहां पर पीपल, बरगद जैसे पेड़ लगाए जाएंगे जिनकी उम्र काफी अधिक होती है साथ ही हर्रा, बेहड़ा, महुवा जैसे औषधि पेड़ भी लगाए जाएंगे
पक्षियों के लिए होगा आदर्श रहवास
श्री गणवीर ने बताया कि पूरे प्रोजेक्ट को इस तरह से विकसित किया गया है कि यह पक्षियों के लिए भी आदर्श रहवास बन पाए तथा पक्षियों के पार्क के रूप में विकसित हो पाए। यहां पर एक बहुत बड़ा वेटलैंड है जहां पर पहले ही विसलिंग डक्स, ओपन बिल स्टार्कआदि लक्षित किए गए हैं यहां झील को तथा नजदीकी परिवेश को पक्षियों के ब्रीडिंग ग्राउंड के रूप में विकसित किया जाएगा।
इको टूरिज्म का होगा विकास- इसके साथ ही इस मानव निर्मित जंगल में घूमने के लिए भी विशेष व्यवस्था होगी। इसके लिए भी आवश्यक कार्य योजना बनाई जा रही है ताकि यह छत्तीसगढ़ ही नहीं अपितु देश के सबसे बेहतरीन घूमने की जगह में शामिल हो सके।
साल पौधों का होगा प्लांटेशन
मानव निर्मित जंगल में साल पौधों का भी प्लांटेशन होगा। इसके पहले अभी तक साल पौधों का संकेंद्रण बस्तर और सरगुजा क्षेत्र में ही रहा है। पहली बार इस तरह का प्रयोग क्षेत्र में होगा। कलेक्टर ने इसकी प्रशंसा करते हुए कहा कि पूरा प्रोजेक्ट नेचुरल हैबिटेट को बढ़ावा देने के दृष्टिकोण से बेहद अहम साबित होगा तथा यह प्रोजेक्ट इस बात को इंगित करेगा कि किस तरह से इकोलॉजिकल रीस्टोरेशन या पर्यावरण के पुनरसंरक्षण के क्षेत्र में कार्य किया जा सकता है, इसकी बेहतरीन नजीर देश और दुनिया के सामने रखेगा।
 

 बड़ी खबर: पुलिस की सक्रियता से डकैती की योजना हुई विफल, 7 हथियार बंद आरोपी गिरफ्तार

बड़ी खबर: पुलिस की सक्रियता से डकैती की योजना हुई विफल, 7 हथियार बंद आरोपी गिरफ्तार

दुर्ग। खुर्सीपार पुलिस को सोमवार 12 जुलाई की मुखबीरी से सूचना प्राप्त हुई कि कुछ हथियारबंद लोग खुर्सीपार केनाल रोड स्थित घर में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। सूचना की गंभीरता को देखते हुए दुर्ग पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, एएसपी संजय ध्रुव तथा सीएसपी विश्वास चंद्राकर को मामले की जानकारी दी गई। जिनके द्वारा तुरंत कार्रवाई हेतु खुर्सीपार थाना प्रभारी दुर्गेश शर्मा को निर्देशित किया गया। खुर्सीपार टीआई के नेतृत्व में कार्रवाई हेतु टीम बनाकर घटना स्थल पर आरोपी इंद्र उर्फ टकली के घर पर रेड कार्रवाई की गई जहां 7 आरोपी डकैती की योजना बनाते हुए हथियार सहित पकड़े गए। आरोपियों से धारदार हथियार मिर्च पाउडर, रॉड, चाकू के अलावा दो आटोमेटिक पिस्टल 7.65 बोर 4 मैग्जीन तथा 14 जिंदा राउंड भी बरामद की गई। पकड़े गए आरोपी के पूर्व में बहुत से आपराधिक रिकार्ड रहे हैं। बरामद हुए दोनों पिस्टल 4 मैग्जीन व राउंड की व्यवस्था इनके द्वारा बिहार से की गई थी। आरोपी के विरुद्ध अपराध क्र. 293/2021  धारा 399 भादवि 25 आम एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर विवेचना की जा रही है। 

पकड़े गए आरोपियों में 1. अमित कुमार सिंह पिता शंभू सिंह उम्र 19 वर्ष निवासी कैलासनगर सुंदर विहार कालोनी जामुल, 2. इंद्र सिंह उर्फ सन्नी उर्फ टकली पिता चरणजीत सिंह उम्र 21 वर्ष निवासी जोन 3 सड़क-2 खुर्सीपार, 3. सलमान अंसारी पिता वाजिद अली उम्र 21 वर्ष निवासी जोन-3 सड़क 2 खुर्सीपार, 4. अरबाद सिद्दकी उम्र दत्ता पिता सोहेल सिद्दकी उम्र 24 वर्ष निवासी सड़क 11 क्वा. 2 एफ जोन 3 खुर्सीपार, 5. सुमीत सिंह पिता स्व. गणेश सिंह उम्र 22 वर्ष निवासी जोन 2 बालाजी नगर एडीबी खुर्सीपार, 6. रुपेश सिंह पिता उमेश सिंह उम्र 20 वर्ष निवासी सड़क-54 क्वा. 3 एफ बालाजी नगर खुर्सीपार, 7. जोश मोरीद उर्फ अमित पिता आरची उम्र 29 वर्ष निवासी सेक्टर-6 सड़क 31 क्वा. 4 एफ भिलाई हैं।
डरा-धमका कर अवैध रुप से रकम वसूली करने वाला पुराना गैंगस्टर विनोद बिहारी सतना से गिरफ्तार

डरा-धमका कर अवैध रुप से रकम वसूली करने वाला पुराना गैंगस्टर विनोद बिहारी सतना से गिरफ्तार

भिलाई: दुर्ग जिले के नवपदस्थ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर बढ़ते गंभीर अपराधों के नियंत्रण व अंकुश हेतु क्षेत्र में लगातार त्वरित कार्रवाई कर धरपकड़ अभियान चलाया जा रहा है। प्रार्थी संदीप कुमार श्रीवास्तव द्वारा मोहन नगर पुलिस को लिखित शिकायत मोहन नगर थाना को दिया गया था कि विनोद बिहारी एवं सोमू बिहारी द्वारा प्रार्थी को डराधमका कर अवैध रुप से 8 लाख रुपए लिया गया तथा रकम एवं दस्तावेज वापस नहीं किया जाना लेख होने से शिकायत जांच पर दिनांक 02/04/2021 को आरोपीगण के विरुद्ध धारा सदर पाए जाने से थाना मोहनगर में अपराध क्र. 115/2021 धारा 384, 34 भादवि के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना किया गया। आरोपियों की पता-तलाश के दौरान आरोपी विनोद बिहारी का जिला सतना मध्यप्रदेश में होने की जानकारी प्राप्त होने पर दिनांक 11/07/2021 को मोहननगर थाने से टीम रवाना किया गया जो विनोद बिहारी पिता राजवल्लभ सिंह उम्र 52 साल साकिन दीपक नगर दुर्ग को सतना मध्यप्रदेश से गिरफ्तार कर थाना लाया गया। उक्त कार्रवाई में मोहन नगर थाना प्रभारी बृजेश कुशवाहा, उप निरीक्षक दिनेश कुमार, प्र.आ. अशोक साहू, आ. मनीष अग्निहोत्री की भूमिका सराहनीय रही। 

भिलाई में पीलिया से इस सीजन की पहली मौत, जो नगर निगम के सहायक जनसंपर्क अधिकारी थे

भिलाई में पीलिया से इस सीजन की पहली मौत, जो नगर निगम के सहायक जनसंपर्क अधिकारी थे

दुर्ग: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के भिलाई में पीलिया से इस सीजन की पहली मौत हुई है। इस बार पीलिया ने भिलाई नगर निगम के सहायक जनसंपर्क अधिकारी सुभाष सिंह ठाकुर ने दम तोड़ दिया है। पता चला है कि सुभाष की तबीयत 28 जून को बिगड़ी थी। इसके बाद से ही उनका इलाज रायपुर के एक निजी अस्पताल में चल रहा था। जहां उन्होंने सोमवार शाम को इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है।


जानकारी के मुताबिक तबीयत बिगड़ने के बाद से ही उन्हें रायपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार को उपचार के दौरान ही लीवर, किडनी और आर्गन फेल हो गया और उनकी मौत हो गई है। वे वरिष्ठ पत्रकार स्व. चतुर सिंह ठाकुर के पुत्र थे। ठाकुर के निधन पर भिलाई नगर निगम के अधिकारियों के अलावा पत्रकारों ने भी गहरा शोक व्यक्त किया है। वहीं, उनका अंतिम संस्कार उनके गृह ग्राम सेलूद में किया गया है।

छत्तीसगढ़: हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा, होटल से 2 कॉल गर्ल के साथ एक दलाल हुआ गिरफ्तार

छत्तीसगढ़: हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा, होटल से 2 कॉल गर्ल के साथ एक दलाल हुआ गिरफ्तार

भिलाई। भिलाई शहर मे स्थित एक होटल में देह व्यापार के गोरखधंधा का खुलासा हुआ है। भिलाई के नेहरू परिसर में स्थित होटल राजश्री में पुलिस ने दबिश दी। 2 अंतरराज्यीय कॉलगर्ल के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार इस रैकेट की दोनों कॉलगर्ल में एक लखनऊ की तो दूसरी कोलकाता से ताल्लुक रखती है। होटल संचालक के बुलावे पर दोनों कॉलगर्ल भिलाई पहुंची थी। होटल संचालक फिलाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इस मामले में पुलिस ने जहां होटल राजश्री, नेहरू परिसर, सुपेला भिलाई के खिलाफ अवैध देह व्यापार के मामले में अपराध दर्ज कर लिया है। वहीं दोनों कॉलगर्ल और युवकों के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत अपराध कायम किया गया है।
 

बीएसपी ने प्रथम तिमाही और जून माह में रेल उत्पादन में बनाया नया रिकॉर्ड

बीएसपी ने प्रथम तिमाही और जून माह में रेल उत्पादन में बनाया नया रिकॉर्ड

भिलाई । भिलाई स्टील प्लांट की यूनिवर्सल रेल मिल (यूआरएम) ने जून, 2021 के महीने में फिनिश्ड रेल, प्राइम रेल और लांग रेल का अपना सर्वश्रेष्ठ जून उत्पादन दर्ज किया है। मिल ने अप्रैल से जून 2021 की अवधि में प्राइम रेल और लांग रेल एवं फिनिष्ड रेल के उत्पादन में सर्वश्रेष्ठ पहली तिमाही (क्यू1) उत्पादन का नया रिकॉर्ड दर्ज किया है। गौरतलब है कि भिलाई स्टील प्लांट ने भारतीय रेलवे की नए ग्रेड और प्रोफाइल की मांग को पूरा करने के लिए अपने पूरे रेल उत्पादन को यूनिवर्सल रेल मिल और रेल एंड स्ट्रक्चरल मिल दोनों से यूटीएस 90 ग्रेड के स्थान पर आर 260 ग्रेड रेल एवं नई 60ई1 प्रोफाइल का उत्पादन किया जा रहा है।
यूआरएम ने अपना सर्वश्रेष्ठ जून का कीर्तिमान बनाते हुए फिनिश्ड रेल उत्पादन 58,155 टन दर्ज किया, जो कि जून, 2020 में किये गये 54,767 टन के उत्पादन से अधिक है। मिल ने प्रथम तिमाही में 1,55,975 टन उत्पादन करते हुए अब तक का सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड दर्ज किया।
यूआरएम ने अपना सर्वश्रेष्ठ जून माह का प्राइम रेल उत्पादन करते हुए 52,845 टन का नया कीर्तिमान दर्ज किया, जोकि जून, 2020 में किये गये 48,883 टन रेल से कहीं अधिक है। यूआरएम ने प्रथम तिमाही में 1,37,252 टन का अपना सर्वश्रेष्ठ प्राइम रेल उत्पादन करते हुए नया रिकॉर्ड बनाया।
यूआरएम ने जून माह में अपना उच्चतम लांग रेल उत्पादन का कीर्तिमान बनाते हुए 48,142 टन की रिकॉर्ड रोलिंग की, जो कि जून, 2020 में 44,565 टन के पिछले सर्वश्रेष्ठ उत्पादन के मुकाबले अधिक है। यूआरएम ने प्रथम तिमाही में 1,24,697 टन का अपना सर्वश्रेष्ठ लांग रेल उत्पादन रिकॉर्ड दर्ज किया।
संयंत्र ने अपने दोनों रेल मिल से जून माह में सर्वश्रेष्ठ 56,276 टन लंबी रेल का रिकॉर्ड उत्पादन दर्ज किया, जबकि पिछले जून, 2020 में 54,793 टन का सर्वश्रेष्ठ उत्पादन किया था। संयंत्र ने अप्रैल-जून, 2021 के अवधि में अपनी यूनिवर्सल रेल मिल और रेल एंड स्ट्रक्चरल मिल अर्थात दोनों मिलों से 1,36,032 टन लांग रेल का उच्चतम उत्पादन कर नई ऊंचाई दर्ज की है। जबकि यूआरएम द्वारा जून, 2021 तक 60ई1 प्रोफाइल में 1 लाख टन से अधिक आर-260 ग्रेड रेल का उत्पादन और प्रेषण किया गया है, रेल एंड स्ट्रक्चरल मिल से ग्रेड आर-260 की 60ई1 प्रोफाइल के साथ प्राइम रेल का उत्पादन 36,279 टन किया है।
 

बड़ी खबर: बैंक से रुपये निकाल कर जा रहे बुजुुर्ग से स्कूटी सवार ने की लूट, मामला दर्ज

बड़ी खबर: बैंक से रुपये निकाल कर जा रहे बुजुुर्ग से स्कूटी सवार ने की लूट, मामला दर्ज

दुर्ग। बैंक से रुपये निकाल कर जा रहे बुजुर्ग व्यक्ति का 80 हजार रुपये से भरा बैग छीनकर स्कूटी सवार फरार हो गया। मामले की रिपोर्ट दुर्ग कोतवाली थाने में दर्ज करायी गई है। 


मिली जानकारी के अनुसार ग्राम मुडपार पोस्ट उपरवाह राजनांदगांव निवासी तेजराम साहू 75 वर्ष ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है कि प्रार्थी 09 जुलाई को दोपहर 12.15 बजे अपने खाता से 80 हजार रुपये टैक्टर का किस्त पटाने के लिए निकाला था। करीब 1.15 बजे दुर्ग नया बस स्टैण्ड में सायकल स्टैण्ड के पास खड़ा था तभी एक अज्ञात स्कूटी सवार आयु करीब 30 वर्ष ने प्रार्थी का रुपये से भरा बैग छीनकर भाग गया। जिसमें एक जोड़ी कपड़ा एवं 2 सौ ,100 एवं 5 सौ रुपये के नोट का बंडल 80 हजार रुपये एवं बैंक का पासबुक रखा था। मामले की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात स्कूटी सवार के खिलाफ धारा 392 के तहत अपराध कायम कर जांच में जुटी है। 
+ Load More