कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
अब इस जिले में भी थोड़ी और छूट के साथ 31 तक प्रभावी रहेगा लॉकडाउन, जिले में नए संक्रमित मरीजों के मिलने का औसत 7 से 11 फीसदी

अब इस जिले में भी थोड़ी और छूट के साथ 31 तक प्रभावी रहेगा लॉकडाउन, जिले में नए संक्रमित मरीजों के मिलने का औसत 7 से 11 फीसदी

भिलाई। दुर्ग जिले में वर्तमान से थोड़ी और छूट के साथ 31 मई तक लॉकडाउन प्रभावी रहेगा। देर रात जारी राज्य शासन के आदेश अनुरूप मौजूदा प्रतिबंध में राहत दिए जाने की उम्मीद है। इस संबंध में आज रात तक कलेक्टर का फरमान जारी होने पर वास्तविक जानकारी सामने आ जाएगी।
दुर्ग जिले में कोरोना का खौफ काफी हद तक कम हो चुका है। नए संक्रमित मरीजों के मिलने का औसत 7 से 11 फीसदी के आसपास रह गया है। वहीं रिकवरी रेट भी लगातार बेहतर बना हुआ है। इस लिहाज से 17 मई की सुबह खत्म हो रहे लॉकडाउन को 31 तक थोड़ी और छूट के साथ बढ़ाया जा सकता है। लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का संकेत कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने पहले ही दे दिया है। इस बीच देर रात राज्य शासन ने आदेश जारी कर नियम व शर्तों के साथ 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय कलेक्टर के विवेक पर छोड़ दिया है। दुर्ग में अभी भी कोरोना मरीजों के मिलने का औसत डब्लूएचओ के अनुसार कम खतरे का दायरा 5 फीसदी से बाहर बना हुआ है। लिहाजा यहां पर भी लॉकडाउन 31 मई तक प्रभावी रखे जाने की पूरी उम्मीद है।
राज्य शासन के आदेश में निजी व सरकारी निर्माण कार्यों को शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए शुरू करने की छूट दी गई है। इस तरह का छूट दुर्ग जिले में 31 मई तक लॉकडाउन घोषित किए जाने की स्थिति में प्रदान किया जा सकता है। बैंक, पोस्ट आफिस सहित सरकारी संस्थान के कार्यालयों को 50 फीसदी का रोटेशन अपनाते हुए संचालित करने की अनुमति मिलने का अनुमान है। बाजार क्षेत्र में किराना, डेली नीड्स सहित कुछ जरूरी व्यवसाय को निर्धारित समयावधि के बीच खोलने की अनुमति मिल सकती है। लेकिन होम डिलीवरी पद्धति को प्राथमिकता दिए जाने का निर्देश व्यवसायियों को दिया जा सकता है। सुबह के कुछ घंटे की समयावधि मांस, मुर्गा, अंडे और सब्जी के व्यवसाय के लिए निर्धारित किया जा सकता है।
राज्य शासन ने होटल और रेस्टोरेंट में 10 बजे रात तक होम डिलीवरी की छूट प्रदान की है। ऐसा आदेश दुर्ग जिले में भी लागू किया जा सकता है। इसके लिए राज्य शासन के आदेश के अनुरूप रात 9 बजे तक आर्डर का समय तय रहेगा। रात 10 से सुबह 6 बजे के बीच मालवाहक वाहनों से लोडिंग और अपलोडिंग किया जा सकेगा। शादी विवाह और अंतिम संस्कार जैसे कार्यक्रम के लिए मौजूदा नियम लागू रहने का अनुमान है। वहीं पर्यटन केंद्र, उद्यान, धार्मिक स्थलों पर किसी भी तरह से भीड़ लगाना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।
रविवार को रहेगा टोटल लॉकडाउन
सनडे अर्थात रविवार को टोटल लॉकडाउन रहेगा। इस दिन अन्य दिनों के लिए दी गई छूट संशोधित रहेगी। रविवार को पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी, अस्पताल, दवाई की दुकान, पशु आहार केन्द्र, सरकारी राशन दुकान को छोड़ बाकी के व्यवसाय पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। टीकाकरण सहित अन्य जरूरी कार्य को छोड़ बिना ठोस कारण के घर से बाहर निकलने वालों के खिलाफ निकाय और पुलिस की टीम कार्यवाही कर सकती ह। कल 16 मई को दुर्ग जिला टोटल लॉकडाउन रहेगा। सब्जी और फल आनलाइन आर्डर से मंगाया जा सकता है। बेवजह घर से निकलने वाले वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई करने सभी चौक चौराहे पर पुलिस रविवार को सख्ती बरतेगी। नगर निगम की टीम भी लगातार भ्रमण करते हुए नियम तोडऩे वालों से जुर्माना वसूली की कार्रवाई को अंजाम देगी।
 

लॉकडाउन की तिथि को लेकर दुर्ग से आ रही ये खबर

लॉकडाउन की तिथि को लेकर दुर्ग से आ रही ये खबर

दुर्ग । जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन ने लॉकडाउन 17 मई तक लगाया गया था। यह तिथि आगे बढ़ाने का निर्णय जिला प्रशासन ने लिया है। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे इस संबंध में आदेश जारी करेंगे। लॉकडाउन के वर्तमान स्वरूप में आवश्यक परिस्थितियों के मुताबिक प्रतिबंधों में कुछ शिथिलताएँ देने का निर्णय प्रशासन ले सकती है।

 बड़ी खबर: शराब नही देने पर कर्मचारी का मोबाईल लूटकर भागे आरोपी, मामला दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

बड़ी खबर: शराब नही देने पर कर्मचारी का मोबाईल लूटकर भागे आरोपी, मामला दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

दुर्ग। अंग्रेजी शराब दुकान के कर्मचारियों से मारपीट कर मोबाईल छीनकर आरोपी फरार हो गये। घटना की रिपोर्ट दुर्ग कोतवाली थाने में दर्ज करायी गई है। 


मिली जानकारी के अनुसार हाऊसिंग बोर्ड कोहका भिलाई निवासी रविन्द्र सिंह 44 वर्ष ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है कि प्रार्थी गंजपारा दुर्ग अंग्रेजी शराब दुकान में सुपवाईजर है। शासन द्वारा ऑनलाईन शराब बिक्री के आदेश पर 12 मई को रात्रि 10.15 बजे शराब ऑनलाईन डिलवरी के पश्चात शराब भट्ठी में अन्य कर्मचारियों के साथ लेखा-जोखा कर रहा था। तभी कोई दरवाजा खटखटाने लगा जिस पर गार्ड अजय तिवारी ने दरवाजा खोला तब उडिय़ा बस्ती गंज निवासी रोहन नागेश अपने साथियों के साथ पहुंचकर शराब क्यो नही दे रहे हो कहकर गाली-गलौच करने लगा। ऑनलाईन डिलवरी करने की बात कहने पर आरोपियों ने पीडि़त व अन्य कर्मचारियों के साथ झगड़ा करने लगे व कर्मचारी भोजराम यादव की जेब में रखा रेडमी कंपनी का वाय 2 मोबाईल कीमत 10 हजार को छीनकर भाग गए। घटना की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 392 के तहत लूट का मामला दर्ज कर लिया है। 
 मुख्यमंत्री से की मांग लॉकडाउन नहीं बढ़ाई जाए-राजेंद्र ताम्रकार

मुख्यमंत्री से की मांग लॉकडाउन नहीं बढ़ाई जाए-राजेंद्र ताम्रकार

भिलाई। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी पिछड़ा वर्ग के उपाध्यक्ष राजेंद्र ताम्रकार  ने प्रेस विज्ञप्ति  जारी कर बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर दुर्ग जिले में टोटल लॉकडाउन लगाया गया है और जो अब डेढ़ माह हो जाएगा जो कि स्वागत योग्य है और  जिसके वजह से व्यापारी वर्ग काफी परेशान हो चुके हैं क्योंकि जिनके दुकान खुद के नहीं है उनका दुकान किराया एवं बिजली खर्च तथा कर्मचारियों का वेतन उन्हें सब देना पड़ेगा और इस लंबे लाकडाउंस के कारण सभी को आर्थिक परेशानियों से जूझना पड़ रहा है इसलिए अब लॉकडाउन नहीं लगाई जाए एवं चप्पल एवं कपड़ा तथा सोने चांदी के दुकान के अलावा सभी व्यवसाय के दुकान को कम से कम 8 घंटे तक खोलने की छूट देने की मांग की है जिससे सभी लोगों को राहत मिल सके द्य और उनकी आर्थिक स्थिति में कुछ सुधार हो सके और इस लॉक डाउन के कारण रोज कमाने खाने वालों के सामने भूखों मरने की नौबत आ गई है इसलिए इन्हें अपने परिवार का भरण पोषण करने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है इसलिए अब लॉकडाउन का समय नहीं बढ़ाए जाने की मांग की है,

इसी तरह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी एक के पूर्व अध्यक्ष अमीर चंद अरोरा एवं सर्कुलर मार्केट व्यापारी संघ  के संरक्षक तथा दुर्ग जिला ग्रामीण कांग्रेस कमेटी के पूर्व जिला प्रतिनिधि लल्लन तिवारी एवं भिलाई शहर जिला कांग्रेस कमेटी के महामंत्री गज्जू महाजन एवं सचिवों परविंदर सिंह एवं राजकुमार चौधरी तथा  और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी एक के पूर्व अध्यक्ष प्रभाकर राव जन बंधु तथा  कुर्सी  पार ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष नागेंद्र तिवारी और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष प्रभाकर राव जन बंधु तथा  महामंत्री हीरालाल प्रजापति और युवा नेता शिवराज ताम्रकार एवं भरत लाल सिंह तथा पूर्व पार्षद दुर्गा साहू एवं रविंद्र पंडित आदि ने भी कहा है कि अब जिला प्रशासन दुर्ग को एक और महामारी से निपटने के लिए और दूसरी ओर भुखमरी से उबरने के लिए कोई ऐसा रास्ता  निकालना चाहिए जिससे आगे लॉकडाउन आगे ना  बढ़ाया जा सके  और लोगों की रोजी रोटी के लिए आजीविका चलती रहे और सबसे जरूरी कोविड-19 से निपटने के लिए निर्धारित गाइडलाइन का भी पालन होता रहे कांग्रेसी नेताओं ने जिला कलेक्टर से भी कहा है कि अब लोग सावधानी के लिए जागरूक हो चुके हैं इसलिए  लॉकडाउन की अवधि समाप्त होने के बाद आगे लॉकडाउन ना बढ़ाई जाए  ताकि कोई भूख से ना मरे इसके लिए रोजी रोजगार ओं   को की भी सुचारू रूप से चलाने के लिए नई गाइडलाइन निर्धारित की जाए कांग्रेसी नेताओं को विश्वास है कि अब जनता महामारी और भुखमरी से स्वयं को बचाते हुए महामारी व भुखमरी पर विजय प्राप्त करेगी और एक दिन अवश्य ही ऐसा समय आएगा की कोरोना जल्दी ही हारेगा और जीतेगा छत्तीसगढ़ जीतेगा भारत,

उक्त संबंध में भिलाई के विधायक देवेंद्र यादव एवं वैशाली नगर भिलाई के पूर्व विधायक भजन सिंह निरंकारी तथा भिलाई शहर जिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा श्रीमती तुलसी साहू जी से कांग्रेस जनों ने अनुरोध किया है कि वे उक्त संबंध में कलेक्टर दुर्ग को निर्देशित करें कि लॉकडाउन को आगे ना बढ़ाया जाए जिससे भुखमरी एवं अराजकता का माहौल ना बन पाए।
 बड़ी खबर: सूने मकान का ताला तोड़कर लाखों रुपये के गहने व नगदी चोरी, अज्ञात चोर के खिलाफ मामला दर्ज

बड़ी खबर: सूने मकान का ताला तोड़कर लाखों रुपये के गहने व नगदी चोरी, अज्ञात चोर के खिलाफ मामला दर्ज

दुर्ग। पति की मृत्यु के बाद मायके में रह रही महिला के घर का ताला तोड़कर चोरों ने नगदी सहित 1 लाख 50 हजार  के गहने चोरी कर लिये। घटना की रिपोर्ट मोहननगर थाने में दर्ज करायी गई है। 

मिली जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक 21 मकान नंबर 1186 कबीर आश्रम के पास आशानगर दुर्ग निवासी शर्मिस्ठा मुखर्जी 56 वर्ष ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है कि 09 अप्रैल को प्रार्थिया के पति का तबियत खराब होने पर अस्पताल में भर्ती किया था जहां उसकी मौत हो गई। जिसके बाद से प्रार्थिया अपने मकान में ताला लगाकर मायके में रह रहती है। 10 मई को शाम 07 बजे पड़ोसी ने फोन पर जानकारी दी की किसी ने मकान का ताला तोड़ दिया है। जिसके बाद मायके से अपने घर पहुंची तब मेनगेट व कमरे का ताला टुटा हुआ मिला। अंदर जाकर देखने पर आलमारी खुला मिला व उसमें रखा सोने का जेवर नेकलेस,अंगुठी,बच्चे का हार,चैन,कंगन ,सोने का सिक्का सहित 4000 रुपये नगदी कुल 1 लाख 50 हजार रुपये के गहने किसी ने चोरी कर लिया है। घटना की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ धारा 380,457 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है।
 आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो युवकों की मौत

आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो युवकों की मौत

दुर्ग। सोमवार को तेज आंधी और बारिश के साथ मौसम ने करवट ली। इस दौरान दुर्ग ब्लॉक के ग्राम विनायकपुर में दो परिवारों में मातम छा गया  जब  आकाशीय बिजली मौत बनकर टूटी मृतक ग्राम  विनायकपुर निवासी विमल उर्फ वीरू पिता ज्ञानेश्वर सोनी उम्र 25 वर्ष,(2)   विकास  कुमार निषाद पिता आत्मा राम निषाद , उम्र 17 वर्ष  सुबह 7 बजे घर के पास तलाब नहाने जा रहे थे अभी अचानक बारिश और बिजली चमकने पर तालाब के पास पेड़ नीचे बैठा था अचानक आकाशीय बिजली मौत बनकर टूटी। इसकी सुचना मिलते ही दुर्ग जनपद अध्यक्ष देवेन्द्र देशमुख ग्राम विनायकपुर पहुँच कर मृतक परिवारो से मुलाक़ात कर मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिये दुर्ग भेजा गया।बाते दे कि इन दोंनो मृतकों को अंतिम संस्कार के लिये मुक्तिधाम ले गया था। जँहा जनपद अध्यक्ष ने तत्काल उसे अंतिम संस्कार होने से रुकवाया जिसके बाद पोस्टमार्टम के दुर्ग भेजा गया। उन्होंने बताया कि पुलिस थाना अंडा इस घटना में 3 घण्टे देर पहुंची जिससे जनपद अध्यक्ष  पुलिस विभाग एवं प्रशानिक अधिकारी के ऊपर नाराजग़ी ज़ाहिर की है। सरकारी  फ़ोन लगाने पर बंद बताया गया।इस पूरे घटना क्रम को प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को भी अवगत कराया गया जिससे मंत्री द्वारा इस मामले को गंभीरता पूर्वक लेकर विभागीय अधिकारियों को निर्देश देकर पीडि़त परिवारों को 4 -4 लाख मुवावजे देने की बात कही।पुलिस थाना अंडा उप निरक्षक बलदाऊ चन्द्राकर, प्रधान आरक्षक कमलेश साहू,शव का मर्ग कायम कर  पंचनामा किया गया।
 छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित अभिषेक मिश्रा हत्याकांड में दुर्ग अदालत ने किया सजा का ऐलान

छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित अभिषेक मिश्रा हत्याकांड में दुर्ग अदालत ने किया सजा का ऐलान

दुर्ग-भिलाई । छत्तीसगढ़ के दुर्ग-भिलाई स्थित शंकराचार्य इंजीनियरिंग कॉलेज के चेयरमेन आई पी मिश्रा के पुत्र अभिषेक मिश्रा की हत्याकांड की सजा सुनाई गई

अभिषेक मिश्रा की दस नवंबर 2015 को हत्या कर दी गई थी। दुर्ग कोर्ट ने मामले में आरोपी बनाए गए विकास जैन और अजीत सिंह को जीवन की अंतिम साँस तक कारावास की सजा दी है। जबकि किम्सी जैन को अदालत ने दोषमुक्त कर दिया है।

दुर्ग कोर्ट ने पुलिस की केस डायरी को न्यायालय में पेश साक्ष्यों के आधार पर इस प्रकरण को परिस्थितिजन्य माना और विकास जैन तथा अजीत सिंह के विरुद्ध प्रकरण साबित पाते हुए दोषसिद्ध कर दिया।

पुलिस ने केस डायरी में कोर्ट को बताया था कि दस नवंबर 2015 को अभिषेक ग़ायब हुआ था, और पैंतालीस दिन बाद उसका शव अजीत सिंह के निवास के बगीचे से बरामद हुआ था। आरोपियों ने शव को दफऩा कर मिट्टी के उपर फूल गोभी की सब्ज़ी उगा दी थी।

पुलिस ने मृतक के शव का डीएनए टेस्ट कराया था हालाँकि शव के पास कड़ा अंगुठी और लॉकेट को देख कर सड़ गल चुके शव की पहचान अभिषेक के रुप में परिजनों ने की थी।

पुलिस थ्योरी जो कि केस डायरी में दर्ज है उसके अनुसार अभिषेक के कॉलेज में किम्सी काम करती थी, इस दौरान अभिषेक और किम्सी के नज़दीकी रिश्ते बन गए।

योजनाबद्ध तरीके से बुलाया घर और कर दी हत्या 
वर्ष 2013 में किम्सी ने कॉलेज छोड़ा और विकास जैन से विवाह रचा लिया। लेकिन अभिषेक रिश्ता बनाए रखने का दबाव बना रहा था। किम्सी ने यह बता पति विकास जैन को बता दी जिसके बाद अभिषेक को योजनाबद्ध तरीक़े से दस नवंबर को किम्सी ने बुलवाया और उसकी हत्या कर शव को किम्सी जैन के चाचा अजीत सिंह के आँगन में 6 फ़ीट गहरा गड्ढे में गाड़ दिया गया था। 
संक्रमित युवक घूम रहा था मोहल्ले में , टीम ने दी चेतावनी

संक्रमित युवक घूम रहा था मोहल्ले में , टीम ने दी चेतावनी

रिसाली । कोरोना की चपेट में आने के बाद भी कुछ लोग खुद की और दुसरों की जान को जोखिम में डाल रहे है। होम आइसोलेशन होने के बाद भी मुहल्ले में घूम रहे है। इस तरह की शिकायत मिलने पर राजस्व निरीक्षक अनिल मेश्राम की टीम मौहारी मरोदा पहुंची औरा कोरोना संक्रमित युवक को सख्त लहजे में घर पर रहने की अंतिम चेतावनी दी।
रिसाली निगम के अधिकारियों ने युवक के प्राइमरी कांटेक्ट में आए लोगों को जांच कराने की सलाह दी। दरअसल निगम के अधिकारियों को सूचना मिली थी कि मौहारी मरोदा का युवक पॉजिटिव है और वह क्वारेंटाइन में रहने के बजाय घूम रहा है। अधिकारियों ने शिकायत पर मौहारी मरोदा पहुंची और युवक को ढूंढ कर उसे घर पर रहने की हिदायत दी।

टंकी मरोदा के दुकान को कराया बंद
रिसाली नगर पालिक निगम के अधिकारियों ने टंकी मरोदा में संचालित किराना दुकान को बंद कराया। दुकान के नजदीक ही कोरोना संक्रमित परिवार का निवास है। मुहल्ले वालों की आपत्ती के बाद निगम अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर दुकान बंद रखने के निर्देश दिए।

 वसूला 5800 जुर्माना
लॉकडाउन में नागरिकों को सुविधा देने नियमों में सुधार किया गया है। केवल गली मुहल्ले में संचालित किराना दुकान व आटा चक्की को खोलने की अनुमति दी गई है। इसके बाद भी कुछ दुकान संचालक बाजार क्षेत्र में दुकान खोल रहे है। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर निगम के अधिकारियों ने कुल 5800 अर्थदण्ड वसूल किया।
 

 बड़ी खबर: बीएसपी प्लांट से कापर वायर चोरी कर ले जाते आरोपी गिरफ्तार,25 किलों कापर वायर जब्त

बड़ी खबर: बीएसपी प्लांट से कापर वायर चोरी कर ले जाते आरोपी गिरफ्तार,25 किलों कापर वायर जब्त

भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट से 25 किलों कापर वायर चोरी कर मोटसाइकिल से लेकर जा रहे युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।


मिली जानकारी के अनुसार 07 मई को केन्द्रीय औद्यौगिक सुरक्षा बल इकाई बीएसपी भिलाई पदस्थपित नामदास 57 वर्ष ने भट्ठी थाने में लिखित आवेदन दिया है कि प्रार्थी मरौदा गेट में तैनात था तभी ओएचपी एरिया भिलाई इस्पात संयंत्र गस्त के दौरान 07 मई को दोपहर 3 बजे के करीब दो व्यक्ति अलग-अलग मोटरसाइकिल में कुछ मटेरियल लेकर जाते दिखे। जिसके बाद उनका पीछा कर रुकने का आवाज लगाने पर एक आरोपी मोटरसाइकिल छोड़कर भागने लगा जिसे दौड़ाकर पकड़ा गया। वहीं दूसरा आरोपी मोटरसाइकिल छोड़कर फरार हो गया। पकड़े गए आरोपी का नाम पुछने पर उसने अपना नाम जितेन्द्र उर्फ बुच्ची 36 वर्ष पिता शिवमुरत प्रसाद निवासी स्टेशन मरौदा थाना नेवई भिलाई बताया है आरोपी के पास से मोटरसाइकिल क्रमांक सीजी 07 एल ए 1264 में लोड 20 किलों स्क्रेप कापर वायर छीला हुआ बरामद की गई है। वहीं मोटरसाइकिल छोड़कर भागे आरोपी की पहचान पप्पु बंजारे निवासी उमरपोटी भिलाई जिला दुर्ग के मोटरसाइकिल क्रमांक सीजी 07 एलजेड 8337 जिसकी डिक्की से 5 किलों कापर वायर बरामद की गई है। पकड़े गए कापर वायर कुल 25 किलों कीमत 10 हजार रुपये आंकी गई है। पुछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया है कि वह बिना गेट पास के बीएसपी प्लांट के अंदर प्रवेशकर कर मटेरियल चोरी कर ले जा रहे थे। घटना की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 379,447,25,26 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 
 बड़ी खबर: अस्पताल जा रहे दंपति को ट्रक ने मारी ठोकर, माँ-बेटे की मौत

बड़ी खबर: अस्पताल जा रहे दंपति को ट्रक ने मारी ठोकर, माँ-बेटे की मौत

भिलाई।  छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के कुम्हारी थाना क्षेत्र के ग्राम कंडरका में शनिवार सुबह हुए एक दर्दनाक सड़क हादसे में माँ-बेटे की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार कुम्हारी थाना क्षेत्र के ग्राम कुगदा निवासी कालीचरण कौशल अपनी पत्नी मोनीसा कौसल के साथ दो अपने बच्चे के इलाज के लिए नारधा स्थित अस्पताल जा रहे थे। इस दौरान पुलिया के पास पीछे से आ रही तेज रफ्तार ट्रक ने दंपत्ति की बाइक को टक्कर मार दी।

टक्कर इतनी जबरदस्त थी बाइक में बैठी मोनीसा और उसका बच्चा उछल कर जमीन पर गिर पड़े। इस घटना में दोनों को गम्भीर चोटें आईं थी, जिसके बाद मौके पर ही दोनों की मौत हो गई। घटना के बाद आरोपी ट्रक ड्राइवर फरार है, जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। साथ ही घटना में घायल कालीचरण को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उसका इलाज जारी है।
 बड़ी खबर: अवैध शराब के साथ 02 गिरफ्तार,70 पौव्वा अंग्रेजी व देशी शराब तथा नगदी जब्त

बड़ी खबर: अवैध शराब के साथ 02 गिरफ्तार,70 पौव्वा अंग्रेजी व देशी शराब तथा नगदी जब्त

भिलाई। अवैध शराब के साथ पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार कर उसके पास से 70 पौव्वा अंग्रेजी व देशी शराब सहित नगदी 2550 रुपये जब्त की है। 

मिली जानकारी भट्ठी थाना पुलिस ने 07 मई को मुखबीर की सुचना पर सेक्टर 02 सड़क नंबर 14 ब्लॉक 3,4 के बीच बने झोपड़ी नुमा मकान में रेड की कार्रवाही कर छापा मारने पर एक युवक पुलिस को देखकर भागने लगा। जिसे घेराबंदी कर पकडऩे पर अपना नाम किशन राव उर्फ  माइकल 20 वर्ष पिता स्व. मुरली राव निवासी सेक्टर 02 भिलाई का रहना बताया। पूछताछ करने पर आरोपी के झोपडी के सामने बनी बाड़ी मे एक खाकी रंग के कार्टून में 35 पौव्वा अंग्रेजी शराब आफि सर च्वाइस ब्लू को रखना बताया। आरोपी के पास से पुलिस ने 35 पौव्वा अंग्रेेजी शराब अनुमानित कीमत 5250 रुपये तथा नगदी 2550 रुपये जब्त कर उसके खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34(2) के तहत अपराध दर्ज कर हिरासत में लिया है। इसी तरह छावनी थाना पुलिस ने  अवैध शराब बेचने की सुचना पर 06 मई को शाम 5 बजे शीतला काम्पलेक्स के पास केम्प-2 भिलाई में रेड की कार्रवाई कर छापामारने के दौरान सफेद रंग के प्लास्टिक के थैला लिए खड़ा मिला जिसे पूछताछ करने पर अपना नाम ओमप्रकाश जंघेल ऊर्फ  राजा देवांगन 28 वर्ष पिता नरोत्तम जंघेल निवासी मंदिर अघनू साहू के बाजू गली गांधी नगर मुर्रा भटठी गुढियारी थाना जिला रायपुर बताया है। आरोपी से गवाहो के समक्ष थैले की तलाशी लेने पर  35 पौव्वा देशी अवैध शराब नागपुर ब्रांड संत्री प्रत्येक पौवा में 180 एम एल सीलबंद भरा हुआ 1820 रुपये कीमत मिला। जिसे पुलिस ने जब्त कर आरोपी को हिरासत में लेकर उसके खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34(2) के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 
 बड़ी खबर: महाराष्ट्र ब्रांड देशी शराब के साथ कार चालक गिरफ्तार, प्लास्टिक बॉटल में भरा मिला 181 पौव्वा शराब देशी शराब

बड़ी खबर: महाराष्ट्र ब्रांड देशी शराब के साथ कार चालक गिरफ्तार, प्लास्टिक बॉटल में भरा मिला 181 पौव्वा शराब देशी शराब

भिलाई। नागपुर ब्रांड की 31 पौव्वा संतरी देशी अवैध शराब पुलिस ने ओमनी कार से जब्त की है। मिली जानकारी के अनुसार भिलाई भट्ठी थाना पुलिस ने मुखबीर की सुचना पर 05 मई को सेक्टर 04 पेट्रोलपंप के सामने अवैध शराब तस्करी करने की सुचना पर एक कार सवार व्यक्ति को घेराबंदी कर गिरफ्तार किया है। ओमनी कार क्रमांक सीजी 07 एम 1203 में सवार चालक घेराबंदी के दौरान पुलिस को देख कार खड़ी कर भागने लगा जिसे पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ लिया। कार की तलाशी लेने पर एक बोरी में 31 पौव्वा देशी प्लेन संतरी फिरकी शराब नागपुर डिस्टिलर्स प्राईवेट लिमिटेड की बरामद हुई है। पकड़े गए आरोपी का नाम पुछने पर उसने अपना नाम सपन कुमार गुप्ता 41 वर्ष पिता लखन लाल गुप्ता निवासी ब्लॉक 10 बी सड़क नंबर 10 सेक्टर 04 भिलाई जिला दुर्ग बताया है। आरोपी के पास से 31 पौव्वा देशी अवैध शराब तथा कार को जब्त कर ली गई है। अवैध शराब रखने के जुर्म में आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34/2 के तहत कार्रवाई कर हिरासत में लिया गया है। इसी तरह दुुर्ग मोहननगर पुलिस ने 05 मई को दोपहर 3.30 बजे सिकोला भाठा हनुमान मंदिर के पास एक व्यक्ति शराब बिक्री करने के लिए एक सफेद प्लास्टिक बारदाना बोरी में शराब छुपाकर की सूचना पर तस्दीक हेतु   रेड कार्यवाही के दौरान मुखबीर के बताये स्थान सिकोला भाठा हनुमान मंदिर के पास  पहुंचने पर एक व्यक्ति जो मुह में गमछा बांधा था पुलिस की गाड़ी को आता देख भागने लगा जिसे पुलिस स्टाफ  द्वारा दौड़कर पकडऩे का प्रयास किया गया लेकिन वह व्यक्ति सकरी गलियों में घुसकर कहीं छुप गया ढुंढने से नहीं मिलने पर वापस आकर हनुमान मंदिर के आस -पास खोजबीन की गई तो वहीं पर पीपल पेड़ के नीचे एक सफेद प्लास्टिक बारदाना बोरी में कुछ सामान भरा हुआ मिला  जिसे खुलवाकर चेक करने पर प्लास्टिक बाटल में भरे द्रव्य को देशी मंदिरा कुल 150 बाटल प्रत्येक में 180 एम.एल. भरी हुई कुल मात्रा 27.000 बल्क लीटर कीमत करीबन 20 हजार रूपये जिस पर टायगर संत्रा 7 स्टार डिस्टीलरीज अकोला महाराष्ट्र लिखा हुआ बरामद की है। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34/2 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 
भिलाई नगर निगम के वरिष्ठ पार्षद का कोरोना संक्रमित होने से निधन

भिलाई नगर निगम के वरिष्ठ पार्षद का कोरोना संक्रमित होने से निधन

भिलाई। भिलाई नगर निगम के दो बार के वरिष्ठ पार्षद संजय खन्नाा का गुरुवार दोपहर 12 बजे कोरोना से निधन हो गया। संजय खन्नाा बीते 35 दिनों से स्पर्श अस्पताल में भर्ती थे। संजय खन्नाा के स्वास्थ्य को लेकर उनके वार्ड के लोग लगातार दुआ कर रहे थे। दोपहर उनके निधन की खबर आते ही भिलाई निगम सहित पूरे भाजपा में शोक की लहर छा गई। काग्रेस के नेताओं ने भी संजय खन्नाा के निधन पर दुख जताया है।

कोरोना पॉज़िटिव के अधिक प्रकरण आने की वजह से इस इलाके के, सेक्टर-7,10 कंटेनमेंट जोन

कोरोना पॉज़िटिव के अधिक प्रकरण आने की वजह से इस इलाके के, सेक्टर-7,10 कंटेनमेंट जोन

दुर्ग । सोशल मीडिया में नेहरू नगर, सेक्टर-7 और सेक्टर-10 में कंटेनमेंट जोन बनाए जाने के संबंध में सोशल मीडिया में कुछ भ्रामक व् गलत जानकारियाँ वायरल हुई हैं।
मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने इसका खंडन किया है और लोगों से ऐसी भ्रामक जानकारियों से बचने की अपील की है। साथ ही ऐसी किसी भ्रामक जानकारी को प्रसारित नहीं करने की अपील भी की है।
उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट जोन बनाने का निर्णय सैंपलिंग के आधार पर पॉज़िटिव आने वाले मामलों की संख्या के आधार पर निर्धारित होता है। अनुपात से अधिक पॉज़िटिव आने पर संक्रमण की रोकथाम सुनिश्चित करने कंटेनमेंट जोन बनाए जाते हैं। यह प्रोटोकाल के तहत किया जाता है और नेहरू नगर, सेक्टर-7 व् सेक्टर-10 में भी इसी के चलते कंटेनमेंट जोन बनाने का निर्णय लिया गया।
सोशल मीडिया में इसे लेकर कुछ गलत जानकारियाँ वायरल हुई हैं यह प्रशासन के संज्ञान में आया है। डॉ. ठाकुर ने जिले के नागरिकों से अपील की है कि कोविड को लेकर भ्रामक जानकारियों से बचें। किसी भी तरह की दुविधा होने पर कंट्रोल रूम में संपर्क करें ताकि वस्तुस्थिति की सही जानकारी प्राप्त हो सके।
 

बड़ी खबर: ट्रक के केबिन से 11 बॉटल अंग्रेजी शराब के साथ चालक गिरफ्तार

बड़ी खबर: ट्रक के केबिन से 11 बॉटल अंग्रेजी शराब के साथ चालक गिरफ्तार

भिलाई। ट्रक के केबिन में रखकर अवैध शराब ले जाते चालक को गिरफ्तार कर पुलिस ने ट्रक के केबिन से 11 बॉटल अंग्रे्रजी शराब बरामद कर जब्त की है। 


मिली जानकारी के अनुसार जामुल पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर 02 मई को मुखबीर की सुचना पर एक आईशर वाहन ट्रक क्रमांक सीजी 07 बीएस 1180 को शिवपुरी नाला जामुल में रोककर ट्रक की तलाशी लेने पर केबिन के अंदर जुट के बोरे में अंग्रेजी शराब छुपा कर रखा मिला। चालक का नाम पता पुछने पर उसने अपना नाम परस राम निर्मलकर उम्र 39 पिता हीरा लाल निर्मलकर वर्ष निवासी देवनगर शिवपुरी थाना जामुल जिला दुर्ग बताया। केबिन के अंदर अंग्रेजी व्हीस्की शराब  03 बोतल एवं 03 बोतल 8 पीएम 02 बोतल 02 बोतल मैजिक मुमेंट, 02 नग ब्लैकडाग अद्धी प्रत्येक में 375 रूरु भरा हुआ शीलबंद  कुल कीमत 8120 रूपये एवं वाहन 12 लाख  जब्त कर कब्जा में ले लिया है। आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34/2 के तहत कार्रवाई की गई है। 
  मोबाईल एवं ज्वेलरी चोरी गैंग के पांच आरोपी पकड़ाए, स्कूटी मोबाइल और ज्वेलरी की करते थे चोरी

मोबाईल एवं ज्वेलरी चोरी गैंग के पांच आरोपी पकड़ाए, स्कूटी मोबाइल और ज्वेलरी की करते थे चोरी

दुग। भिलाई में पुलिस ने महिला समेत 5 चारों के एक गैंग को पकड़ा है। पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ जिले के अलग-अलग थानों में दर्जनों मामले दर्ज हैं। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के पास से 10 मोबाइल, दो स्कूटी और ज्वेलरी जब्त किया है। यह गैंग बंटी-बबली की तर्ज पर मोबाइल लूट और चोरी की वारदात को अंजाम दिया करता था।

पुलिस ने मुख्य सरगना शुभम तागडे उर्फ मराठा (22 वर्ष), प्रतीक्षा दास (21 वर्ष), जितेन्द्र चौधरी उर्फ छोटू (21वर्ष), प्रतीम सिंह (20 वर्ष) और एक नाबालिग को गिरफ्तार किया है। पांचों चोर मोबाइल को लूटने व सूने मकानों में चोरी की वारदात करने में माहिर थे। ्रस्क्क संजय ध्रुव बताया कि इस शातिर चोर गैंग को पकडऩे के लिए खुर्सीपार थाना प्रभारी के नेतृत्व में थाना स्तर पर टीम बनायी गई। जिसके बाद बड़ी मुश्किल में इस गैंग के पांच आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। 

मुख्य सरगना शुभम तागडे उर्फ  मराठा अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम देता था। चोरी किए गए सामान को छुपाने और खपाने का जिम्मा लेडी चोर किया करती थी। इन आरोपियों से 10 मोबाइल फोन और दो स्कूटी वाहन व सोने-चांदी के ज्वेलरी को बरामद किया गया है। पुलिस को आशंका है कि इस गैंग से ओर पूछताछ करने पर कई ओर चोरियों की वारदात का खुलासा हो सकता है। लिहाजा पुलिस इस गैंग की सरगना से पूछताछ कर रही है।

इलाके कि रेकी कर वारदात को देते थे अंजाम
प्रारंभिक जांच में पता चला है कि आरोपी चोरी से पहले इलाके की रेकी करते थे। फिर बड़े ही शातिर ढंग से चोरी की वारदात को अंजाम दिया करते थे। ये रास्ते में चलते लोगों से मोबाइल छीनकर भी भाग जाते थे। उन्होंने बताया कि चोरों के इस गैंग की पुलिस को 6 महीने से तलाश थी।
 बीएसपी में बड़ा हादसा: जेसीबी चालाक पर गिरा गर्म स्लैग, हुई मौत

बीएसपी में बड़ा हादसा: जेसीबी चालाक पर गिरा गर्म स्लैग, हुई मौत

भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र में कल दोपहर बड़ा हादसा हो गया। प्लांट के स्लैग डंप यार्ड में एक हादसे में जेसीबी चालाक की मौके पर मौत हो गई। 29 अप्रैल की दोपहर करीब पौने एक बजे जेसीबी चालक के ऊपर भारी स्लैग गिरा जिससे 24 वर्षीय चालक की मौके पर ही मौत हो गई।

इस घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। वहां मौजूद सभी कर्मचारी भाग गए। इस पूरे घटनाक्रम के बाद भट्‌टी थाने की पुलिस के द्वारा शव का पंचनामा कार्रवाई के बाद मर्ग कायम कर विवेचना में लिया गया है। भिलाई पुलिस ने जानकारी दी है कि जय इंटरप्राइजेस का जेसीबी चालक विनय कुमार स्लैग डंप यार्ड में जेसीबी चला रहा था। इस दौरान उसके ऊपर गरम स्लैग गिर गया। चालक विनय कुमार (24 वर्ष) कैंप-2 भिलाई का रहने वाला बताया गया है। वह ठेका श्रमिक था।
 कोरोना जांच में मासूम की उम्र 20 वर्ष बता कर पाजीटिव बताई गई, लापरवाही के चलते मृत्यु के उपरांत रिपोर्ट  निकली निगेटिव

कोरोना जांच में मासूम की उम्र 20 वर्ष बता कर पाजीटिव बताई गई, लापरवाही के चलते मृत्यु के उपरांत रिपोर्ट निकली निगेटिव

भिलाई। कोरोना वायस कोविड 19 की जांच परख में भारी लापरवाही देखने को मिल रही है। जांच केंद्रों में पदस्थ चिकित्सा कर्मियों द्वारा कोरोना जांच के दौरा निगेटिव पाजीटिव रिपोर्ट देने के मामले में भारी लापरवाही देखी जा रही है जिसके चलते अनेक मरीजों की निगेटिव मरीज भी पाजीटिव रिपोर्ट बताए जाने पर हड़कंप की स्थिति मच गई है। मिली जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल में इलाज के दौरान एक बड़ी लापरवाही देखने में आई है जब 2 महीने की बच्ची को कोरोना पॉजीटिव बताकर रायपुर रेफ र कर दिया गया। मेकाहारा पहुंचने से पहली ही बच्ची की एम्बुलेंस में मौत हो गई। मौत के बाद बच्ची की कोरोना जांच कराई गई। रिपोर्ट निगेटिव आई जबकि भिलाई केंद्र में कोरोना जांच में न केवल बच्ची की रिपोर्ट को कोरोना पाजीटिव बताया गया था अपितु बच्ची की आयु भी 20 वर्ष गलत अंकित की गई थी जिसके माता-पिता की हालात दयनीय हो गई थी। बच्ची का अंतिम संस्कार कर जब परिजन घर पहुंचे उन्हें मोबाइल नंबर पर मिले मैसेज के आधार पर यह जानकारी मिली की बच्ची की उम्र 20 वर्ष बालिग युवती की दर्शाई गई है और रिपोर्ट भी निगेटिव निकली। 
हड़तालियों पर बीएसपी प्रबंधन की सख्ती : 13 कर्मी निलंबित, 4 के खिलाफ एफआईआर

हड़तालियों पर बीएसपी प्रबंधन की सख्ती : 13 कर्मी निलंबित, 4 के खिलाफ एफआईआर

भिलाई। काम बंद कर प्रदर्शन करने वाले कर्मियों के खिलाफ भिलाई स्टील प्लांट प्रबंधन ने बड़ी कार्रवाई की है। प्रबंधन ने 4 कर्मियों के खिलाफ एफआईआर के लिए भट्टी थाने में शिकायत पत्र दिया है। वहीं 13 कर्मियों को निलंबित कर दिया है। इसी प्रकार 19 को शोकाज नोटिस जारी किया है। ये कर्मचारी शनिवार से हड़ताल पर थे। बिना किसी यूनियन का समर्थन लिए कर्मचारियों ने एक होकर URM, BRM, और ब्लास्ट फर्नेस-,8 जैसी महत्वपूर्ण पांच इकाइयों में उत्पादन को पूरी तरह ठप कर दिया था। वायर राड मिल और मर्चेट मिल जैसी कुछ मिलों में भी हड़ताल का आंशिक असर देखा गया।
भिलाई स्टील प्लांट के पावर एंड ब्लोइंग स्टेशन 2 में 24 अप्रैल को करीब 7.00 बजे, PBC- 2 प्लांट के कुछ कार्मिकों ने STG-4 के कंट्रोल रूम के अंदर ज़बरदस्ती व अनाधिकृत रूप से घुस कर स्टीम टर्बो जेनेरटर-4 इकाई का पूरा ऑपरेशन ज़बरदस्ती बंद कर दिया। इससे बॉयलर प्रेशर बढ़ जाने की वजह से स्टीम टर्बो जनरेटर शट डाउन हो गया। और इसके सभी सेफ्टी वाल खुल गए जिसके कारण 22.5 मेगा वाट पावर जनरेशन बंद हो गया।
सुबह 7.10 बजे पर शिफ्ट इंचार्ज को जब यह मालूम हुआ कि STG-4 को जबरदस्ती बंद कर दिया गया है। उसने तत्काल आवश्यक कदम उठाते हुए SPG-4 को फिर चालू करने की प्रक्रिया प्रारंभ किया। STG-4 के बंद होने से संयंत्र के ऑक्सीजन प्लांट में विद्युत आपूर्ति बंद हो जाती और ऑक्सीजन उत्पादन ठप हो जाता। भिलाई इस्पात संयंत्र से संपूर्ण देश के विभिन्न अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई किया जा रहा है। इस लापरवाही से ऑक्सीजन सप्लाई बाधित हो सकती थी। आज राष्ट्रीय विपदा में ऑक्सीजन संकट को उत्पन्न करना, निश्चित ही एक राष्ट्रद्रोह है।
उत्पादन की क्षति सिर्फ बीएसपी या सेल की क्षति नहीं है ,बल्कि यह राष्ट्रीय क्षति है। इसमें पब्लिक का पैसा लगा हुआ है। इस प्रकार की हरकत को कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। वह भी उस वक्त जब जिला और पूरा देश कोरोना के संकट से जूझ रहा हो, जिले में एस्मा लगा हो, लॉकडाउन चल रहा हो ऐसे वक्त पर कार्य बंद करना सर्वथा गलत है। सेल-बीएसपी प्रबंधन ने इन हरकतों को संज्ञान में लेते हुए 13 कार्मिकों को निलंबित कर दिया है और 19 कार्मिकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।
भिलाई स्टील प्लांट में शनिवार को हड़ताल हुई। बिना किसी यूनियन का समर्थन लिए कर्मचारियों ने स्वस्फूर्त होकर URM, BRM और ब्लास्ट फर्नेस 8 जैसी महत्वपूर्ण 5 इकाइयों में उत्पादन को पूरी तरह ठप कर दिया। वायर राड मिल और मर्चेंट मिल जैसी कुछ मिलों में भी हड़ताल का आंशिक असर रहा। हड़ताल की शुरुआत शुक्रवार की शाम वेज रिवीजन को लेकर NJCS सदस्य यूनियनों और प्रबंधन के बीच बैठक बिना नतीजे समाप्त होने के बाद ही हो गई थी। रात करीब 11:15 बजे URM के 35 कर्मचारियों ने टूल डाउन करते हुए हड़ताल शुरू कर दी। हड़ताल का व्यापक असर दूसरे दिन यानी शनिवार को देखने को मिला। एक एक कर बाकी मिल और शॉप्स में भी कर्मचारी टूल डाउन करते हुए हड़ताल पर चले गए। जिसकी वजह से उत्पादन बुरी तरह प्रभावित हुआ।
 

अंतिम संस्कार के ठीक पहले जीवित निकला मरीज, जाने उसके बाद क्या हुआ....

अंतिम संस्कार के ठीक पहले जीवित निकला मरीज, जाने उसके बाद क्या हुआ....

भिलाई। कोरोना काल में जहां एक ओर मृतकों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं अस्पताल की लापरवाही भी सामने आ रही है। ऐसे ही एक मामले में अस्पताल प्रबंधन ने कोरोना मरीज को मृत घोषित कर दिया था। अंतिम संस्कार की तैयारियां पूरी हो चुकी थी, शमशान घाट में परिजनों ने मृतक को आखरी बार देखने की जिद की। जब उसका चेहरा पॉलिथीन से दिखाया गया तो वह व्यक्ति थोड़ा हिलता डुलता दिखा। परिजनों ने तुरंत ही उस व्यक्ति को पॉलिथीन से बाहर निकाला।
यह मामला कल शाम का है जब भिलाई स्थित हाईटेक हॉस्पिटल में कोरोना के इलाज के लिए भर्ती एक व्यक्ति को अस्पताल ने मृत घोषित कर दिया था। कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी। इसी बीच परिजनों ने मृतक के अंतिम दर्शन करने की विनती की, जिसके बाद पॉलीथिन से उसका चेहरा दिखाया गया। परिजनों ने गौर किया कि मृतक के शरीर में हरकत हो रही है, और वह हिलडुल रहा है। इसके बाद फौरन उसे पॉलीथिन ने बाहर निकला गया तो वह व्यक्ति जीवित निकला।
इस घटना से गुस्साए परिजनों ने हाईटेक हॉस्पिटल पर घोर लापरवाही के आरोप लगाए और अस्पताल पहुंचकर जमकर हंगामा किया। परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर अपने गुस्सा निकालते हुए जमकर तोड़फोड़ मचाई। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद परिजनों का गुस्सा थोड़ा शांत हुआ। इस प्रकार एक जीवित व्यक्ति को मृत घोषित करने पर अस्पताल प्रबंधन पर भी सवालिया निशान उठता है।
 

एस्मा के अंतर्गत 8 चिकित्सा अधिकारियों को दिया गया नोटिस

एस्मा के अंतर्गत 8 चिकित्सा अधिकारियों को दिया गया नोटिस

दुर्ग। प्रदेश में कोविड संकट को देखते हुए स्वास्थ्य सेवाओं की आवश्यक स्थिति के चलते एस्मा एक्ट लागू है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मरीजों के इलाज एवं अन्य स्वास्थ्य सेवाओं हेतु विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी 21 अप्रैल से चंदूलाल चंद्राकर हास्पिटल में लगाई गई थी। इनमें 8 चिकित्सा अधिकारिया को अब तक उपस्थिति नहीं देने के कारण कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने शो काज नोटिस जारी किया है। कलेक्टर ने इन्हें प्रदेश में प्रभावी एस्मा एक्ट के अंतर्गत ड्यूटी में तत्काल उपस्थित होने के निर्देश दिये हैं अन्यथा की स्थिति में महामारी एक्ट के अंतर्गत इनका पंजीयन रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि राज्य में 15 अप्रैल से एस्मा एक्ट लागू है जिसके तहत समस्त स्वास्थ्य सुविधाएं तथा डाक्टर, नर्स एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को आवश्यक सेवाओं में शामिल किया गया है।  

कोरोना काल में फ्रंट लाईन वाले पत्रकारों की समस्याओ की ओर भी ध्यान दे शासन प्रशासन

कोरोना काल में फ्रंट लाईन वाले पत्रकारों की समस्याओ की ओर भी ध्यान दे शासन प्रशासन

भिलाई। पूरे देश और प्रदेश में फैले कोरोना की इस महामारी में लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहलाने वाला पत्रकार भी इन दिनों कोरोना की चपेट में आते जा रहा है। दुर्ग जिला में जहां एक ओर इलाज के दौरान कोरोना की बीमारी से दो पत्रकारों की मौत हो गई, जिसमें जितेन्द्र साहू, युवा पत्रकार नरेन्द्र साहू एवं वरिष्ठ पत्रकार गुरपेज खैरे (हार्टअटैक) से हो चुकी है। इसके अलावा दो दर्जन से अधिक पत्रकार और मार्केटिंग और प्रेस की दुनिया में काम करने वाले लोग, व कम्प्यूटर ऑपरेटर भी आज हॉस्पिटल एवं घर में होम आइसोलेशन में घर में बिस्तर में पड़े हुए है। सत्ताधारी दल हो या विपक्ष हो, इन तमाम नेताओं को हिरो और जीरो बनाने वाला पत्रकार आज आर्थिक तंगी की मार तों झेल ही रहा है साथ ही भारी भरकम इलाज के बोझ से दबते चला जा रहा है।
इस ओर शासन प्रशासन के अलावा किसी भी समाजसेवी या बडे राजनैतिक दलों या बड़ व्यक्ति का ध्यान पत्रकारों की ओर नही दिया जाना, काफी चिंतनीय विषय है। उल्लेखनीय है कि जनप्रतिनिधियों की हर बात को मुखर होकर समाज के आगे लाने वाला ये पत्रकार ही होता है। लेकिन किसी का भी कोई भी ध्यान मीडिया जगत के इन पत्रकारों की ओर नही दिया जाना बड़ा ही चिंतनीय विषय है और पत्रकारों के जीवन के लिए ये बड़ा ही चुनौतीपूर्ण कार्य हो गया है। एक ओर स्थानीय शहर सरकार के मुखिया को चाहिए कि वे पत्रकारों की पीड़ा को राज्य सरकार के उच्च स्तर के पटल पर रखे ताकि पत्रकारों का भला हो सके। चूंकि आज मार्केट में समाज के लोगों को जागरूक करने का कार्य ये मीडियाकर्मी ही फं्रट लाईन में रह कर कर रहे हैं। सरकार को चाहिए कि जिस तरह वह लॉकडाउन लगाने का निर्णय कलेक्टरों पर थोप देते है, और कलेक्टर साहब इस बीमारी को लेकर लॉकडाउन लगाने का काम बखूबी करते हेैँ। निश्चित रूप से ये काबिले तारीफ है लेकिन प्रदेश के मुखिया श्री बघेल को चाहिए कि हर जिले के कलेक्टर को वह निर्देशित करे कि कोरोना महामारी में फिल्ड मे ंकार्य करने वाले पत्रकारों का बीमा सरकार को करना चाहिए ताकि कोरोना या सडक हादसे में पत्रकारों की मौत होने पर उनके परिवार को आर्थिक लाभ मिल सके। वहीं सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड भी कुछ प्रतिशत पत्रकारों और उनके परिजनों के लिए आरक्षित किया जाये। साथ ही उनको या तो उनके पूरे बिल में छूट मिल सके या नही तो पचास प्रतिशत बिल माफ हो। अब चूकि कोरोना के महामारी में परिवार वाले भटकाव की स्थिति में ना रहे, ऐसे मामले में एजूकेशन हब कहलाने वाले इस भिलाई में बडे बडे नामचीन अस्पताल है, वहंा पर वेन्टीलेकर,आईसीयू,ऑक्सीजन, में पत्रकारों को या उनके परिवार के लोगों को तुरंत भर्ती के लिए भी नोडल अधिकारी नियुक्ति करेंऔर एक हेल्प लाईन नंबर जारी करे। जिससे पत्रकारों को निजी तौर पर इसका लाभ मिल सके। पत्रकार और उसके परिवार भटकाव की स्थिति में ना रहे। कई नामचीन अखबार, साप्ताहिक अखबार और सांध्य दैनिक अखबार और इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार भी कोरोना के चपेट में है। स्थानीय युवा विधायक से भिलाई के पत्रकारों को काफी उम्मीदे हैं कि वह इन सारी बातों और मांगों को राज्य के मुखिया के समक्ष रखकर इसे जल्द लागू करायेगे। चूंकि अधिकांशतर मौत से दुनिया को अलविदा कहने वाले युवा वर्ग के ही पत्रकार है। ऐसे में समाजसेवा का दंभ भ्ररने वाले समाजसेवियों को भी आगे आकर पत्रकारों की इस पीड़ा मे सहयोगकर और अपना बडा योगदान देना चाहिए। वहीं विपक्ष के नेता एवं अन्य क्षेत्रीय दल को तो मानो जैसे सांप सूंध गया हो, कोई भी मीडिया जगत के लोगों का पूछ परख करने वाला नजर नही आ रहा है।
 

इस जिले में आज 5736 सैंपल लिए गए, इनमें 1680 पॉजिटिव आए, पहली बार संक्रमण 30 फ़ीसदी से नीचे

इस जिले में आज 5736 सैंपल लिए गए, इनमें 1680 पॉजिटिव आए, पहली बार संक्रमण 30 फ़ीसदी से नीचे

दुर्ग। जिले के लिए आज के कोरोना आंकड़े संक्रमण के रोकथाम को लेकर सकारात्मक संदेश दे रहे हैं। आज रिकॉर्ड 5736 मरीजों के सैंपल लिए गए इनमें 1680 मरीजों का पॉजिटिव आया है। इनमें इस तरह संक्रमण की दर 29 फीसदी दर्ज की गई है उल्लेखनीय है कि संक्रमण की दर 10 अप्रैल को 56 फीसदी तक पहुंच गई थी।इस लिहाज से आज के आंकड़े काफी महत्वपूर्ण है। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन लगने के बाद हर दिन लगभग 4000 सैंपल लिए जा रहे हैं आज साढ़े पांच हजार से अधिक सैंपल लिए गए और इसमें 1680 मरीज पॉजिटिव आए हैं। पॉजिटिव मरीजों की संख्या में गिरावट इस बात का संकेत है कि जिले में लॉकडाउन का असर संक्रमण पर हो रहा है। लॉक डाउन की वजह से कोरोना की गतिशीलता थमी है और धीरे-धीरे संक्रमण घट रहा है उल्लेखनीय है कि एंटीजन रिपोर्ट में भी इस बात के संकेत मिले हैं पहले एंटीजन रिपोर्ट में 48% तक पॉजिटिविटी दर्ज की गई थी जो कि काफी नीचे आ चुकी है। 

 बड़ी खबर: लॉकडाउन के दौरान अवैध शराब बेचने की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, 500 पौव्वा अवैध शराब तथा एक स्कूटी जब्त

बड़ी खबर: लॉकडाउन के दौरान अवैध शराब बेचने की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, 500 पौव्वा अवैध शराब तथा एक स्कूटी जब्त

भिलाई। लॉकडाउन के दौरान जब कलेक्टर द्वारा शराब दुकानों को खोलने पर प्रतिबंध लगाया गया है तब चोरी छिपे कोचियों के जरिए खुलेआम अवैध शराब का व्यापार गली -गली में चल रहा है। दुकाने बंद होने के बाद भी नशे की सामाग्री उपलब्ध होना जिला प्रशासन के लिए चिंता का बिषय होना चाहिए किन्तु जिम्मदार अधिकारियों के सक्रियता के चलते अवैध शराब पकडऩे का काम छावनी थाना पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर रेड की कार्रवाही कर एक मकान से 10 पेटी अंग्रेजी शराब तथा एक स्कूटी जब्त की है। 

मिली जानकारी के अनुसार छावनी पुलिस ने गस्त के दौरान 19 अप्रैल को कैम्प 01 नेहरु चौक देवांगन किराना स्टोर्स के पीछे सुभाष मराठी उर्फ सुभाष मेहरा 45 वर्ष के मकान में छापामारकर रेड की कार्रवाही के दौरान मौके पर पहुंचकर घेराबंदी कर मुखबिर के बताये पते पर पहूंचकर चेक किया जहां मकान का दरवाजा खुला हुआ पाया तथा मकान में कोई व्यक्ति नहीं होने की स्थिति पर मौके पर उपस्थित गवाह के समक्ष मकान के आंगन में खड़ी ग्रे रंग की स्कूटी ज्यूपिटर क्रमांक सीजी 07 बीडी 1944 को चेक किया तब डिक्की में 20 पौवा गोवा व्हीस्की अंग्रेजी शराब मिला तथा आरोपी के घर अवैध रूप से शराब भंडारण करने की सूचना पर मकान की तलाशी लिया जहां 10 नग सफेद रंग के कार्टून मिले जिसे खोलकर चेक करने पर सभी कार्टूनो में 48-48 पौवा कुल 480 पौव्वा गोवा अंग्रेजी व्हीस्की शराब भरा हुआ मिला। प्रत्येक पौव्वा में लगे लेबल में न्यू गोवा व्हीस्की 25, यू.पी. 180 एम.एल भरा हुआ सीलबंद हालत में जिसकी बाटलिंग विनायक डिसलरी प्राइवेट लिमिटेड प्लाट नं 81, 82 कुण्डइम इंडस्ट्रीयल स्टेट पोडा गोवा 403115 तथा फार सेल इन अरूणाचल प्रदेश ओनली नाट फ ार सेल इन गोवा लिखा हुआ मिला। मकान के अंदर कुल 500 पौव्वा अवैध शराब कीमत 1,00,000 तथा ग्रे रंग की स्कूटी ज्यूपिटर क्रमांक कीमत 60,000 कुल कीमत 1,60,000 रूपये को 19.04.2021 को 15.30 बजे गवाहो के समक्ष तलाशी पंचनामा तैयार जब्त की गई है तथा आरोपी सुभाष मराठी ऊर्फ  सुभाष मेहरा के खिलाफ धारा 34(2) आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। 
खुशखबरी : छत्तीसगढ़ के इस जिले में लॉकडाउन के चलते कोरोना की कम हुई रफ़्तार, एन्टीजन की रिपोर्ट में 22 प्रतिशत कोरोना संक्रमण घटा, पढ़ें पूरी खबर

खुशखबरी : छत्तीसगढ़ के इस जिले में लॉकडाउन के चलते कोरोना की कम हुई रफ़्तार, एन्टीजन की रिपोर्ट में 22 प्रतिशत कोरोना संक्रमण घटा, पढ़ें पूरी खबर

दुर्ग | जिले में लगातार द्वितीय चरण के कोरोना वायरस कोविड-19 के मामलों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा था। दुर्ग कलेक्टर द्वारा लगाए गए लॉकडाउन का नतीजा एन्टीजन की रिपोर्ट में सामने आया है। जिसके मुताबिक लॉकडाउन के दौरान 22 प्रतिशत संक्रमण घटना है। एन्टीजन के आंकड़ों के मुताबिक किए गए विश्लेषण के अनुसार 10 अपै्रल को 2596 लोगों के टेस्ट किए गए थे। जिनमें से 1259 लोग पॉजीटिव पाए गए। कुल आंकड़ों का यह 48 प्रतिशत था। 17 अपै्रल को 3215 लोगों की टेस्टिंग एन्टीजन के माध्यम हुई जिनमें 815 पॉजीटिव आए। यह कुल आंकड़ों का 26 प्रतिशत है। 

मिली जानकारी के अनुसार पिछले 4 दिनों में कोरोना संक्रमण की दर क्रमश: घटते हुए 30, 32, 33 एवं 26 प्रतिशत तक पहुंची है। एन्टीजन टेस्ट की यह रिपोर्ट साबित करती है कि जिले में लॉकडाउन का प्रभावी असर हुआ है। वहीं कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ती हुई वृद्धि को आम लोगों के सहयोग से नियंत्रित किया गया है। उक्त रिपोर्ट पर कलेक्टर दुर्ग डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने लोगों द्वारा जिले में लॉकडाउन के दौरान दिए गए सहयोग को कोरोना रोकथाम की दिशा में सराहनीय कदम माना है। 
 
+ Load More