कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में कोरोना ने ढाया कहर, छत्तीसगढ़ में कल के मुकाबले आज बढ़ी नए कोरोना मरीजों की संख्या    |    बड़ा हादसा: खाई में गिरी मेटाडोर ,10 की मौत व 15 घायल, पीएम मोदी ने जताया शोक    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज 2 की हुई मृत्यु, आज इतने मरीजों की हुई पहचान, देखे जिलेवार आकड़े    |    मौसम अलर्ट: उत्तर-पूर्वी मानसून की आहट से इन राज्यों पर मंडराया बारिश का खतरा    |    बड़ी खबर: पटाखे की गोदाम में लगी भयानक आग से 5 की गई जान, 9 लोग घायल    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में फिर पैर पसारने लगा है कोरोना, छत्तीसगढ़ में आज इतने मरीजों की हुई पहचान    |    बदल गए पेंशन के नियम, 30 नवंबर तक ये काम ना किया तो रुक जाएगी पेंशन    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में हुआ कोरोना विस्फोट, धीरे धीरे फिर से बढ़ रहे है एक्टिव मरीजो की संख्या, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: राज्यपाल की बिगड़ी तबियत, दिल्ली AIIMS में भर्ती    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इन दो जिलों में हुआ कोरोना विस्फोट, आज प्रदेश में मिले इतने नए मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |
बड़ी खबर छत्तीसगढ़: कॉलेज परिसर में प्रभारी प्राचार्य की लटकी मिली लाश, इलाके में सनसनी

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: कॉलेज परिसर में प्रभारी प्राचार्य की लटकी मिली लाश, इलाके में सनसनी

भिलाई: कॉलेज में प्रिंसिपल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटना के बाद मौके पर पुलिस की टीम पहुंची है, जो शव को फंदे से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतक शिक्षक का नाम भुवनेश्वर नायक है, जो दुर्ग के शासकीय नागरिक कल्याण कॉलेज में प्रभारी प्राचार्य के रूप में पदस्थ था।


जानकारी के मुताबिक, घटना नांदिनी थाना क्षेत्र की है। आज सुबह कॉलेज के प्रभारी प्रिंसिपल भुवनेश्वर नायक का शव पुराने कॉलेज परिसर में फंदे पर लटका हुआ मिला। जिसके बाद कॉलेज के कर्मचारियों ने इसकी जानकारी नांदिनी पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो शव को फंदे से निकाला गया। वहीं पुलिस को शव के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। पुलिस इस मामले में कॉलेज के अन्य लोगों से पूछताछ कर रही है। फिलहाल प्राचार्य ने ऐसा आत्मघाती कदम क्यों उठाया इसका पता पुलिस लगाने में जुट गई है।

CG BREAKING: इंडियन बैंक के कैशियर से हुई 15 लाख की लूट के तीन आरोपी गिरफ्तार

CG BREAKING: इंडियन बैंक के कैशियर से हुई 15 लाख की लूट के तीन आरोपी गिरफ्तार

दुर्ग: नगर में गत दिवस सुबह बैंक कर्मी से 15 लाख रुपए की लूट के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इन आरोपियों से दस लाख नगद सहित,जिंदा कारतूस व देशी कट्टा, मोटरसायकल व स्कूटी बरामद बरामद कर ली है। लूट के मामले में सफलता मिलने के बाद आईजी ने इस टीम में काम करने वाले सभी अधिकारी और पुलिस कर्मियों को 30 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है। इस पूरे मामले की मास्टरमाइंड महिला निकली जो अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। महिला के इशारे पर ही उसके पति ने अन्य साथियों के साथ मिलकर इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। महिला के पति का दोस्त उसी बैंक में डेलीवेजेस में काम करता था और उसी ने रकम ले जाने की बात बताई थी। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 10 लाख रुपए कैश, दो जिंदा कारतूस, एक कट्टा और मोटरसाइकिल व स्कूटी को बरामद कर लिया है। अभी भी दो आरोपी फरार हैं।

इस मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी बीएन मीणा ने बताया कि 13 अक्टूबर को इंडियन बैंक की कसारीडीह शाखा के हेड क्लर्क राहुल चौहान ने लूट की शिकायत मोहन नगर थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस को उसने बताया कि सुबह 9.45 बजे वह इंडियन बैंक शाखा संतरा बाड़ी से 15 लाख रुपए लेकर अपनी एक्टिवा में रख कर इंडियन बैंक की शाखा कसारीडीह जा रहा था। वह जैसे ही पोलसाय पारा, यादव खराद दुकान के पास पहुंचा एक काले रंग की मोटरसाइकिल में सवार 3 लोग चेहरा ढंके हुए आए और उसके सीने में पिस्टल तान दी। इसके बाद उन्होंने उससे स्कूटी ली और वहां से भाग गए। इसके बाद पुलिस की अलग.अलग टीमों ने 150 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली और उस फुटेज को लोगों को दिखाया तो उन्होंने आरोपियों की पहचान की। इसी के आधार पर जब पुलिस आरोपियों तक पहुंची तो मुख्य आरोपी राजीव रंजन गोस्वामी की पत्नी अनीता गोस्वामी 32 वर्ष और नितिन सिंह राजपूत 25 वर्ष बिहार भाग चुके थे। पुलिस ने मुख्य आरोपी राजीव रंजन सहित सुनील पाण्डेय और आतिश गोस्वामी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं दो आरोपी अनीता गोस्वामी और नितिन फरार हैं।

इस पूरे मामले में बैंक प्रबंधन की लापरवाही सामने आई है। सबसे बड़ी लापरवाही की उनके द्वारा इतना बड़ा कैश बिना किसी सुरक्षा के एक व्यक्ति के भरोसे स्कूटर से भेजा जाता है। ऐसा काफी समय से होता आ रहा है। इसी का फायदा उठाकर बैंक की कसारीडीह शाखा में डेलीवेज पर काम करने वाले सुनील पाण्डेय ने कैश ले जाने की सूचना राजीव को दी थी। इतना ही नहीं जिस राहुल चौहान के साथ लूट हुई वह पुलिस को यह भी नहीं बता पा रहा था कि उसके साथ 15 लाख की लूट हुई या 20 लाख की। उसके गलत जानकारी देने से पुलिस गुमराह हुई और आरोपियों को भागने का मौका मिला। पुलिस ने राहुल चौहान को भी संदेह के दायरे में रखा थाए लेकिन बाद में वो निर्दोष निकला।


बिहार के आरोपियों ने दिया वारदात को अंजाम
इस घटना को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी राजीव रंजन गोस्वामी 36 वर्ष, आतिश गोस्वामी 20 वर्ष, नितिन सिंह राजपूत और अनीता गोस्वामी पत्नी राजीव रंजन गोस्वामी मूलत: गोपलगंज जिला बिहार के रहने वाले और वर्तमान में सेक्टर 7 सड़क नंबर 35 में निवासरत हैं। वहीं सुनील पाण्डेय शंकर नगर दुर्ग का रहने वाला है। कुछ समय राजीव रंजन गोस्वामी जोमैटो में डिलिवरी ब्वाय के पद पर था उसी दौरान इसकी दोस्ती सुनील पाण्डेय से हुई।


पत्नी थी मामले की मास्टर माइंड
इस पूरे मामले की मास्टर माइंड मुख्य आरोपी राजीव रंजन की पत्नी अनीता है। राजीव ने उसे अपने बैंक कर्मी दोस्त के बारे में बताया था। इसके बाद अनीता के कहने पर ही उसने बिहार से अपने रिश्तेदार नितिन सिंह को भिलाई बुलवाया और उसे अपने घर पर ही रखा। इसके बाद अनीता ने बैंक कर्मी दोस्त से रेकी करने को कहा। जैसे ही उन्हें सही टिप मिली उसके पति राजीवए आतिश और नितिन ने लूट की वारदात को अंजाम दिया। लूट के बाद रुपए का बंटवारा कर 5 लाख रुपए लेकर अनीता नितिन के साथ बिहार भाग गई। शेष 10 लाख रुपए को पुलिस ने जब्त किया।


पहले भी लूट की वारदात को दे चुके हैं अंजाम
इन आरोपियों ने इससे पहले भी दुर्ग बस स्टैंड में गत 9 जुलाई को एक 75 वर्षीय बुजुर्ग के साथ लूट की वारदात को अंजाम दे चुके हैं। राजनांदगांव निवासी तेजराम साहू ने घटना के दिन इंडियन बैंक की कसारीडीह शाखा से 80 हजार रुपए पेंशन निकाली थी। इसकी जानकारी सुनील पाण्डेय ने राजीव को दी थी। इसके बाद तीनों आरोपी स्कूटी से दुर्ग बस स्टैंड पहुंचे और बुजुर्ग से लूट कर फरार हो गए थे। पकड़े न जाने से इनके हौसले बुलंद हो गए और इन्होंने दूसरी बार फिर लूट की घटना को अंजाम दिया।


आरोपियों को पकडऩे में सीसीटीवी कैमरे का अहम रोल
इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में विजय स्पोर्टस, मेमसाहब गारमेंट, उजाला भवन,बीआईटी कालेज, डीएवी स्कूल हुडको, बालाजी केटर्स के यहां लगे सीसीटीवी कैमरे से मिले फुटेज से ही पुलिस को आरोपियों का सुराग मिला। इन्हीं कैमरों से आरोपियों के भागने की दिशा, वाहनों के नंबर, पहचान मिली। एएसपी ने कहा कि सभी दुकानों में कैमरे लग जाएंगे तो पुलिस को ऐसे मामलों में मदद मिलेगी।


आईजी ने की 30 हजार रुपए इनाम की घोषणा
लूट के मामले में सफलता मिलने के बाद आईजी ने इस टीम में काम करने वाले सभी अधिकारी और पुलिस कर्मियों को 30 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

CG NEWS: बदमाशो ने कांग्रेस नेता की पत्नी के हाथ से छीना मोबाइल, घटना कैमरे में कैद

CG NEWS: बदमाशो ने कांग्रेस नेता की पत्नी के हाथ से छीना मोबाइल, घटना कैमरे में कैद

छत्तीसगढ़ के भिलाई से बड़ी खबर सामने आ रही है, दो बाइक सवार युवक कांग्रेस के जिला महासचिव गज्जू महाजन की पत्नी के हाथ से मोबाइल छीन कर भाग गए। यह सारी घटना CCTV कैमरे में भी कैद हो गई है। मोबाइल छीनने वाले युवकों ने चेहरा भी नहीं ढ़का हुआ था। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। मामला सुपेला थाना क्षेत्र का है।


जानकारी के मुताबिक, भिलाई शहर जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव गज्जु महाजन का घर सेक्टर 1 सड़क नंबर 10 में है। पत्नी अश्वनी महाजन रविवार शाम 7 बजे के करीब घर के पास टहलते हुए मोबाइल पर बात कर रही थीं। इस दौरान 7 बजकर 5 मिनट पर बाइक से दो युवक आए और उनके हाथ से मोबाइल छीनकर भाग गए। महिला ने बाइक वालों का पीछा भी किया, लेकिन वह काफी तेजी से भाग गए। इस पूरी वारदात को आरोपियों ने किस तरह अंजाम दिया यह पूरी घटना CCTV फुटेज मे कैद हो गई।


चेन स्नैचिंग का था पैटर्न
सूचना मिलते ही मौके पर सुपेला पुलिस पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी। पुलिस का कहना है कि मोबाइल को चेन स्नैचिंग के पैटर्न पर छीना गया है। इससे ऐसा लगता है कि आरोपी आदतन हैं। पुलिस का कहना है कि दोनों आरोपी CCTV कैमरे में आ गए हैं। उनकी तस्वीर और बाइक के आधार पर तलाश शुरू कर दी गई है। मुखबिरों को भी अलर्ट कर दिया गया है। जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: देर रात होटल में लगी आग, 15 दमकल की टीम ने पाया काबू

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: देर रात होटल में लगी आग, 15 दमकल की टीम ने पाया काबू

दुर्ग: शहर के इंदिरा मार्केट स्थित होटल शीला में संचालित घर संसार सेल में देर रात भीषण आग लग गई। आग की उठती लपटें और धुएं से कोहराम मच गया। वहीं चीख पुकार के बाद 7 लोगों को होटल से सुरक्षित बाहर निकाला। कड़ी मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड की टीम ने आग पर काबू पाया है।

जानकारी के अनुसार कोतवाली थाना के शीला होटल और घर संसार सेल में भीषण आग लग गई। बताया जा रहा है कि इलेक्ट्रिक बोर्ड से आग सुलगने के बाद देर रात यह विकराल हो गई। वहीं इससे लगे होटल शीला और घर संसार में फैल गया। वहीं 7 लोगों को मौके पर सुरक्षित बाहर निकाला। वरना बड़ा हादसा हो सकता था। आग से कितना नुकसान हुआ है अभी पता नहीं चल पाया है। फायर बिग्रेड की टीम ने आग पर काबू पाया है। करीब 15 दमकल की टीम ने आग को शांत किया है।

अनोखी खबर: होती रही दिमाग की सर्जरी, मरीज करता रहा बातें

अनोखी खबर: होती रही दिमाग की सर्जरी, मरीज करता रहा बातें

भिलाई: न्यूरोसर्जन्स की टीम मरीज के दिमाग की सर्जरी करती रही और वह उनसे बातें करता रहा। मरीज को इस बात का अहसास तो था कि उसके सिर के भीतर कुछ हो रहा है पर उसे दर्द का कोई अहसास नहीं था। दरअसल मस्तिष्क में दर्द का अहसास जगाने वाले रेशे नहीं होते। यह सब संभव हो पाया लोकल एनेस्थीसिया और मामूली सेडेटिव्स की मदद से ताकि खोपड़ी खोली जा सके।


अवेक क्रेनियोटॉमी या जागृत अवस्था में ब्रेन सर्जरी का यह मामला वोकहार्ट हॉस्पिटल, नागपुर का है। न्यूरो सर्जन डॉ राहुल झमड, न्यूरो एनेस्थीसियोलॉजिस्ट डॉ अवन्तिका जायसवाल की टीम ने यह सर्जरी की है। डॉ जमाल ने बताया कि मरीज को ब्रेन ट्यूमर था। इस सर्जरी का उद्देश्य मस्तिष्क के संवेदनशील हिस्सों को सुरक्षित रखते हुए ट्यूमर के ज्यादा से ज्यादा हिस्से को निकालना था।


डॉ जमाल ने बताया कि आमतौर पर मस्तिष्क की सतह पर कुछ ही फंक्शन्स के केन्द्र होते हैं। सतह के नीचे नसों के गुच्छे होते हैं जो मेरूरज्जु (स्पाइनल कार्ड) तक जाते हैं। सर्जरी के दौराना इन नसों की लगातार मैपिंग करनी होती है ताकि इनके संपादित होने वाले कार्यों पर नजर रखी जा सके। ऐसा करने पर सर्जरी के दौरान इन्हें बचाते हुए ट्यूमर को निकालना संभव हो जाता है। महत्वपूर्ण तंत्रिकाओं को चोट पहुंचने पर स्थायी विकलंगता आ सकती है।


उन्होंने बताया कि अवेक क्रेनियोटॉमी तकनीक का उपयोग आम तौर पर फ्रांटल, पैरिएटल तथा टेम्पोरल लोब्स के ट्यूमर सर्जरी के लिए किया जाता है। खोपड़ी को चीर कर मस्तिष्क तक पहुंचने के दौरान मरीज बेहोश रहता है पर मस्तिष्क की सर्जरी के दौरान वह जागृत अवस्था में ही रहता है। इस दौरान वह सर्जन से वार्तालाप कर सकता है। इस सर्जरी में काफी वक्त लग सकता है और इस पूरे दौरान न्यूरो एनेस्थीसियोलॉजी की टीम उसके साथ बनी रहती है।


मरीज की जागृत अवस्था का यह लाभ होता है कि सर्जरी के दौरान शरीर के किसी भी हिस्से में होने वाले मामूली परिवर्तनों की तरफ वह सर्जन का ध्यान आकर्षित कर सकता है। इसमें अंगों में कमजोरी महसूस होना, झुनझुनी होना, बोलने में परेशानी होना जैसे लक्षण शामिल हो सकते हैं। न्यूरोसर्जन ट्यूमर के आसपास की तंत्रिकाओं में विद्युत तरंग प्रवाहित कर संबंधिक अंगों में हरकत करने की कोशिश करते हैं तथा मरीज की प्रतिक्रिया के आधार पर आगे बढ़ते हैं।


मस्तिष्क के भीतर का काम खत्म होने तथा मरीज के स्टेबल होने के बाद उसे दोबारा बेहोश कर दिया जाता है तथा खोपड़ी के खुले हुए हिस्से को बंद करने की प्रक्रिया की जाती है।

CG BREAKING: पुलिस ने बाइक चोर गिरोह का किया पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

CG BREAKING: पुलिस ने बाइक चोर गिरोह का किया पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

दुर्ग: पुलिस ने बाइक चोर गिरोह को पकड़कर उनके पास से चोरी का तीन स्कूटर जब्त की है। पकड़े गये तीन आरोपियों में एक नाबालिग भी शामिल है जिसे पुलिस ने न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

उल्लेखनीय है कि जिले में लगातार बाइक व स्कूटर चोरी की शिकायतें मिल रही थी। एक दिन पहले रविवार को एक सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया व वाट्सअप ग्रुप में वायरल हुआ। वीडियो में दो आरोपी दिखाई दे रहे हैं। एक आरोपी स्कूटर का लॉक चेक करते हुए दिख रहा है। जब उसने देखा कि स्कूटर का लॉक खुला है तो उसने दूसरे साथी को इशारा किया। इसके बाद फिर से आरोपी स्कूटर के पास आया और उसे बिना स्टार्ट किए हुए वहां से ले गया। आरोपी ने स्कूटर का नंबर प्लेट भी तोड़ दी थी। इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस ने उसी आधार पर उनको पकडऩे में जुट गई और सोमवार को उन्हें सफलता मिली।

पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि 3 व्यक्ति एक स्कूटर में संदिग्ध अवस्था में घूम रहे थे। वह लोग बाइक व स्कूटर बेचने के लिए ग्राहक तलाश रहे हैं। सूचना मिलते ही तत्काल मौके पर पुलिस पहुंची और आरोपियों की घेरा बंदी कर उन्हें गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपियों ने अपना नाम डीपरा पारा दुर्ग निवासी बच्चन माणिकपुरी 18 वर्ष और दुर्ग के कंडरा पारा निवासी केदार उर्फ प्रेम ठाकुर 18 वर्ष बताया। तीसरा आरोपी नाबालिग निकला। पूछताछ में तीनों ने मिलकर 3 एक्टिवा व एक अन्य वाहन को चोरी करना बताया। उन्होंने बताया कि एक सप्ताह के भीतर दुर्ग के गवलीपारा, चंडीमंदिर, पचरीपारा और शीला होटल के पीछे से उन्होंने चारो वाहन चोरी किया है।

CG NEWS: पिस्टल-कारतूस और चाकू समेत 5 आरोपी गिरफ्तार, यूको बैंक में डकैती का था प्लान

CG NEWS: पिस्टल-कारतूस और चाकू समेत 5 आरोपी गिरफ्तार, यूको बैंक में डकैती का था प्लान

भिलाई: भिलाई-3 थाना क्षेत्र में पुलिस ने बड़ी डकैती की योजना को विफल करने में कामयाबी मिली है। पिस्टल, जिंदा कारतूस, चाकू व अन्य सामान समेत पांच आरोपियों की गिरफ़्तारी हुई है। आरोपी यूको बैंक में डकैती की योजना बना रहे थे। आरोपियों में एक अपचारी बालक भी शामिल है।


दुर्ग पुलिस ने प्रेस कान्फे्रंस कर पूरे मामला का खुलासा किया है। एसएसपी बद्रीनारायण मीणा के मार्ग दर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर संजय धु्रव,नगर पुलिस अधीक्षक पुरानी भिलाई विश्वास चंद्राकर द्वारा लगातार अपराधिक तत्वों पर निगाह रखने एवं उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने के साथ ही सामुदायिक पुलिसिंग पर लगातार जोर दिया जा रहा है। जिसके चलते 17 अक्टूबर को स्थानीय सूचना तंत्र के जरिये सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम दादर शराब भट्टी के पास पानी टंकी के नीचे करीबन 4,5व्यक्ति किसी नजदीकी बैंक में डकैती की योजना बना रहे है। इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दिया गया। जिस पर वरिष्ठ अधिकारीगण द्वारा सूचना की तस्दीकी एवं रेड कार्यवाही के लिए पृथक-पृथक तीन टीम गठित करके मुखबीर के बताये स्थान पर पहुंचकर घेराबंदी किया। पुछताछ कर तलाशी लिया गया। आरोपियों के कब्जे से पिस्टल और जिंदा कारतूस,एक स्प्रिंगनुमा बटन चाकू,लोहे का कटर, लोहे का सब्बल एवं मिर्ची पावडर,ब्लैत स्प्रे मिला। आरोपियों द्वारा चरोदा स्थित यूको बैंक में डकैतीकरने की योजना तैयार करना बताने से आरोपियों का यह कृत्य धारा 399 भादवि 25,27 आम्र्स एक्ट का होना पाये जाने से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना कार्यवाही कर सभी को गिरफ्तार कर न्यायायिक रिमाण्ड पर न्यायालय में पेश किया गया है,जहां आरोपियों को केन्द्रीय जेल भेजा गया है।

CG BREAKING: सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने अपनी ही दोस्त को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म

CG BREAKING: सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने अपनी ही दोस्त को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले से दुष्कर्म का मामला सामने आया है, नर्सिंग छात्रा को रात भर बंधक बनाकर उसके दोस्त ने ही दुष्कर्म किया। आरोपी सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। छात्रा अपनी सहेली की बर्थ डे पार्टी में शामिल होने के लिए गई थी। पुलिस ने मामला दर्ज होने के बाद आरोपी इंजीनियर को गिरफ्तार कर लिया है। मामला मोहन नगर थाना क्षेत्र का है।


जानकारी के मुताबिक, आरोपी धीरेंद्र साव पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। उसकी दुर्ग में रहकर नर्सिंग की पढ़ाई करने वाली छात्रा से पुरानी दोस्ती थी। छात्रा 15 अक्टूबर की शाम अपनी सहेली के घर बर्थडे पार्टी मनाने पहुंची थी। यहां उसकी मुलाकात धीरेंद्र से हुई। पार्टी मनाने के बाद धीरेंद्र उसे अपने साथ घर ले गया।


छात्रा का आरोप है कि वह जाने के लिए राजी नहीं थी। इसके बाद भी आरोपी उसे जबरदस्ती अपने घर ले गया और कमरे में ले जाकर जबरदस्ती करने लगा। छात्रा ने विरोध किया तो उसे बंधक बना लिया और मारपीट कर उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 323, 506, 366, 342 और 376 के तहत केस दर्ज किया है।


परिजनों को दी घटना की जानकारी
छात्रा ने पुलिस को बताया कि आरोपी ने घटना की रात उसे अपने कमरे में बंधक बनाकर रखा। शनिवार दोपहर करीब 2 बजे किसी तरह वह आरोपी के चंगुल से छूटी और सीधे अपने घर पहुंची। वहां उसने अपनी मां को पूरी घटना बताई। परिजन उसे लेकर थाने पहुंचे और आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया।

जिले में त्योहारी सीजन में लूट, उठाईगिरी, ठगी और चोरी का मंडराया खतरा, पुलिस ने भी बनाई योजना

जिले में त्योहारी सीजन में लूट, उठाईगिरी, ठगी और चोरी का मंडराया खतरा, पुलिस ने भी बनाई योजना

भिलाई: हर साल दिवापली के कुछ दिन शहर में उठाईगिरी, लूट और चोरी की वारदात बढ़ जाती है। इस बार भी इस त्यौहारी सीजन में लूट, उठाईगिरी और चोरी का खतरा मंडरा रहा है। इसको देखते हुए पुलिस ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए बकायदा योजना बनाई है। ऐसे वारदातों को रोकने बाजारों में संदिग्धों पर नजर रखने सादी वर्दी में पुलिस बल की तैनाती सुनिश्चित किया जा रहा है। इसके अलावा जेल से छूटे लोकल बदमाशों की वर्तमान गतिविधियों पर भी नजर रखी जा रही है। दरअसल दशहरा का पर्व खत्म होने के साथ ही हर साल आसपास के राज्यों से उठाईगीर, लुटेरे, ठग आदि यहां आकर वारदात को अंजाम देते आए हैं। लिहाजा इस बार भी अपराधियों के आने की आशंका को ध्यान में रखकर पुलिस कप्तान बीएन मीणा ने थाना प्रभारियों को अलर्ट होकर संदिग्ध लोगों पर नजर रखने के साथ ही जेल से छूटे बाहरी व लोकल बदमाशों की जानकारी जुटाने को कहा है। जेल से पिछले दो महीने में जमानत पर छोड़े गए सभी अपराधियों की जानकारी मांगी गई है। यहीं नहीं होटल, लॉज, सराय, धर्मशाला, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और आउटर इलाके में पुलिस ने जांच अभियान छेड़ दिया है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि हर साल बारिश के बाद ठंढ से ठीक पहले भिलाई दुर्ग में बाहरी गिरोह के बदमाश दस्तक देते आए हैं। ये बदमाश शहर के भीतर और आउटर इलाकों में घूम-घूमकर रेकी करने के बाद वारदात करते हैं और फरार हो जाते हैं। इसके अलावा इन पेशेवर अपराधियों के निशाने पर मोटी रकम लेकर बाजारों में खरीददारी के लिए आने वाली भीड़ भी रहती है। दुर्गोत्सव के साथ ही बीएसपी कर्मचारी को एक्सग्रेसिया और रेलवे सहित अन्य शासकीय कर्मचारियों को बोनस मिल चुका है। इससे भिलाई दुर्ग के सभी बाजारों में भीड़ बनी हुई है। इस भीड़ का फायदा उठाने पेशेवर अपराधियों की सक्रियता हर साल रहती है।

लिहाजा इस बार भी जनजातीय गिरोह, बाहरी गिरोहों की सक्रियता को देखते हुए पुलिस को अलर्ट किया गया है। संदिग्धों की तलाश में मुखबिरों के अलावा पुलिस के जवानों को सादी वर्दी में लगाया गया है। पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश, आंध्रप्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड के अलावा दिल्ली, बंगाल का गिरोह इस दौरान यहां आकर उठाईगिरी, चोरी, ठगी आदि की वारदात करते हैंए इसलिए पुलिस की नींद उड़ी हुई है।

जिले में चल रहे बिना अनुमति निर्माण पर निगम ने की कार्रवाई, अवैध कब्जा धारियों को भी हटाया

जिले में चल रहे बिना अनुमति निर्माण पर निगम ने की कार्रवाई, अवैध कब्जा धारियों को भी हटाया

भिलाई: जोन 02 खुर्सीपार क्षेत्र के कैलाश नगर में निगम राजस्व विभाग की टीम ने बिना अनुमति के निर्माण करने और वैशाली क्षेत्र के ओम शांति ओम चौक के पास सड़क को घेरकर अवैध कब्जा कर व्यवसाय करने वालो को बेदखल किया।

निगम की खाली जमीन पर अतिक्रमण, बिना अनुमति के निर्माण तथा अवैध कब्जा पर कार्रवाई करने निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे के निर्देश पर विशेष दस्ते का गठन किया गया है। विशेष दस्ता ऐसे किसी प्रकरण की शिकायत या सूचना मिलने पर त्वरित कार्यवाही कर रहे है। जोन 02 के सहायक राजस्व अधिकारी अनिल मेश्राम ने बताया कि वैशाली नगर जोन आयुक्त पूजा पिल्ले के निर्देश पर तथा अतिक्रमण की शिकायत मिलने पर सड़क बाधा कर अवैध रूप से व्यवसाय करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई की गई। उन्होंने बताया कि कैलाश नगर में श्रीराम हाइटस के सामने सिद्धार्थ मिश्रा के द्वारा बिना कोई अनुमति लिए दो दुकान का निर्माण किया गया था। मौके पर पहुंची निगम की टीम को किसी प्रकार का दस्तावेज नहीं दिखाए जाने पर दुकान को जेसीबी के माध्यम से तोडफ़ोड़ किया गया इसी स्थल के समीप में चल रहे निर्माण कार्य की अनुमति संबंधी दस्तावेज प्रस्तुत करने तीन दिन का समय दिया गया है, इसके अलावा ओम शांति ओम चौक के पास सड़क किनारे सामान फैलाकर व्यवसाय करने वालों को भी बेदखल किया गया। उल्लेखनीय है कि वृन्दानगर के नागरिको ने शिकायत किया था कि चौक के पास दो किराना व्यावसायी और 2 मछली व्यवसायी के कारण चौक के आस पास आवागमन में परेशानी होती है, शिकायत के आधार पर निगम की टीम मौके पर पहुंची और अवैध कब्जा कर व्यावसाय करने वाले को वहां से बेदखल किया। कार्यवाही के दौरान जोन 02 राजस्व विभाग के मदन तिवारी, चैतु, कन्हैया, खेमलाल, मानसिंह, बिसाहू सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।

CG NEWS: मोबाईल शॉप में चोरी करने वाले आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा, मोबाईल सहित अन्य सामान भी की जब्त

CG NEWS: मोबाईल शॉप में चोरी करने वाले आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा, मोबाईल सहित अन्य सामान भी की जब्त

भिलाई: 9-10 अक्टूबर की रात जेवरा सिरसा पुलिस चौकी के अंतर्गत आने वाले हिमांशु मोबाइल शॉप में चोरी हुई थी। इस दुकान में मोबाईल चोरी करने वाले दोनो आरोपियों को आज पुलिस ने मुखबिर से सूचना पर मोबाईल बेचने के फिराक में घूमते कचांदूर में पकड़ा। मुखबिर सूचना पर उक्त दोनों आरोपी को घेरा बंदी कर पकडऩे के बाद पूछताछ पर इन्होंने अपना नाम उकेश यादव एवं बुसेन निषाद बताया। दोनो से पूछताछ करने पर अपना अपना अपराध स्वीकार किये जिसका मेमोरेण्डम कथन के आधार पर 13 मोबाइल, स्पीकर, हेडफोन जुमला कीमती 40,000 रुपये की संपत्ति जप्त कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया। इस कार्यवाही में उप.निरी.प्रमोद श्रीवास्तव ,स.उ.नि. रामचन्द कवर,आर.134 जितेंद्र सिंह,969 वसीम खान,1383 रोशन भुवाल,779 नरेश यादव की विशेष भूमिका रही।

CG NEWS: पिस्तौल टिकाकर बैंक कैशियर से 15 लाख की लूट, सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे पल्सर सवार आरोपी

CG NEWS: पिस्तौल टिकाकर बैंक कैशियर से 15 लाख की लूट, सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे पल्सर सवार आरोपी

दुर्ग: नगर के कसारीडीह में स्थित इंडियन बैंक के मेन ब्रांच के कैशियर और हेड क्लर्क को बुधवार को पल्सर पर सवार तीन लुटेरों ने बैंक के कैशियर और हेड क्लर्क को पिस्टलनुमा हथियार दिखाकर उनको स्कूटर से उतारकर खुद ही स्कूटर सहित उसमें रेख हुए 15 लाख रूपये लूट लिये। ऐसा लगता है कि उन्हें पता था कि कैशियर ने स्कूटी के अंदर 15 लाख रुपए रखे हैं। घटना के पश्चात पीडित बैंककर्मी ने पुलिस और बैंक अधिकारियों को इसकी जानकारी दी।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कसारीडीह ब्रांच के हेड क्लर्क राहुल चौहान 35 वर्ष बुधवार सुबह 10 बजे इंडियन बैंक दुर्ग की मुख्य शाखा में कैश लेने गया था। उसने वहां से 15 लाख रुपए निकाले और स्कूटी की डिक्की में डालकर कसारीडीह ब्रांच के लिए निकला। जैसे ही राहुल पोलसायपारा के पास लक्ष्मी नारायण मंदिर के पास पहुंचा पीछे से काले रंग की पल्सर बाइक से तीन युवक पहुंचे और राहुल को रोक लिया। राहुल कुछ समझ पाता उन लोगों ने उसके पीछे से पिस्टलनुमा हथियार टिका दिया। इससे राहुल काफी डर गया। उन लोगों ने उसे स्कूटी से उतार दिया। इसके बाद उनका एक साथी स्कूटी लेकर भाग गया। पीछे से पल्सर सवार भी फरार हो गए। फिर राहुल ने आसपास के लोगों को घटना के बारे में बताया और डायल 112 में फोन कर लूट की जानकारी दी।

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे पल्सर सवार आरोपी व पीडि़त।
त्यौहार का सीजन आते ही शुरू हो जाती है लूट, बैंक की लापरवाही भी सामने आई
त्यौहार का सीजन आते ही लुटेरों द्वारा लूट की घटना को अंजाम देने का मामला बढ जाता है। पहले तो ये भीड़ भाड़वाले जगह और खासतौर आउटर की या छोटे बैंकों की कई दिन तक ये रेंकिक करते है। उसकेा बाद लूट की घटना को अंजाम देते हैं। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार लूट की वारदात को अंजाम देने वाला गिरोह बाहरी हो सकता है। यह गिरोह त्योहारी सीजन में अपनी सक्रियता को बढ़ाता है और छोटे बैंकों को निशाना बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देता है। पुलिस के मुताबिक इंडियन बैंक की छोटी शाखाओं का कलेक्शन हर दिन शाम को दुर्ग की मुख्य ब्रांच में जमा होता है। अगले दिन सुबह वही कैश बैंक कर्मचारियों द्वारा फिर से अपनी.अपनी ब्रांच बिना किसी सिक्योरिटी के ले जाया जाता है। कसारीडीह ब्रांच के राहुल चौहान भी इसी तरह अपनी ब्रांच का पैसा लेने हर दिन मुख्य ब्रांच जाते थे। इतनी मात्रा में कैश ले जाने के लिए वह स्कूटी के डिक्की का उपयोग करते थे। पुलिस का कहना है कि यदि बैंक के पास खुद की सुरक्षा के इंतजाम नहीं थे तो उन्हें कैश लाने ले जाने के समय की जानकारी संबंधित थाना प्रभारी को देने थी।

बड़ी खबर : स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के स्टाफ को दीवाली पर मिलेगा बोनस, वोरा ने दिया आदेश

बड़ी खबर : स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के स्टाफ को दीवाली पर मिलेगा बोनस, वोरा ने दिया आदेश

दुर्ग: दशहरा-दीवाली के अवसर पर छत्तीसगढ़ स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अधिकारी, कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि के रूप में एक माह के मूल वेतन के बराबर राशि का बोनस देने के आदेश जारी कर दिए हैं। कार्पोरेशन के चेयरमेन अरुण वोरा ने इस संबंध में प्रस्ताव के अनुमोदन के बाद इस बार भी बोनस दिया जा रहा है। कार्पोरेशन के मुख्यालय में अधिकारी-कर्मचारियों ने अभार जताते हुए कहा है कि कार्पोरेशन के चेयरमेन अरुण वोरा के कार्यकाल में अधिकारी कर्मचारियों के हित में अनेक फैसले किए गए हैं। कार्पोरेशन के अधिकारी-कर्मचारी इन फैसलों के लिए सदैव आभारी रहेंगे।

मुख्यालय में वोरा से मुलाकात कर कर्मचारी हित में फैसले लेने के लिए आभार व्यक्त करने वालों में संतोष तिवारी, प्रमोद कुमार, मनीश नायक, किशोर चंदवानी, विजय ध्रुव, रामनाथ पटेल, गमरेला प्रधान, प्रेमलता खुटे, मृदुला मानिकपुरी सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। वोरा ने अधिकारी-कर्मचारियों से अपील करते हुए कहा है कि वे कार्पोरेशन की सेवाओं को उत्कृष्ट तरीके से करें और अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन पूरी सजगता से करें। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के स्तर और सेवा कार्यों में लगातार सुधार हो रहा है। भविष्य में भी अधिकारी-कर्मचारियों के हितों का ध्यान रखकर फैसले लिए जाएंगे।

बड़ी खबर : डोंगरगढ़ से लौट रही श्रद्धालुओं से भरी गाड़ी पुल से गिरी, 3 लोगों की हुई मौत 7 गंभीर, सभी श्रद्धालु रायपुर के अश्वनी नगर निवासी

बड़ी खबर : डोंगरगढ़ से लौट रही श्रद्धालुओं से भरी गाड़ी पुल से गिरी, 3 लोगों की हुई मौत 7 गंभीर, सभी श्रद्धालु रायपुर के अश्वनी नगर निवासी

दुर्गदुर्ग के अंजोरा-राजनांदगांव बायपास में बड़ा हादसा हो गया। डोंगरगढ़ से मां बम्लेश्वरी के दर्शन कर लौट रहे श्रद्धालुओं की गाड़ी पलटने से 3 लोगों की मौत हो गई है। ये हादसा दुर्ग के अंजोरा-राजनांदगांव बायपास में उरला में हुआ है। हादसे में 7 लोग गंभीर रूप से घायल हुए, जिनमे से 2 को उपचार के लिए रायपुर भेजा गया है।

जानकारी के अनुसार सभी श्रद्धालु रायपुर से डोंगरगढ़ गए थे, लौटते वक्त हादसा हुआ। गाड़ी बायपास के बोगदा पुल में गिरी। सभी श्रद्धालु रायपुर के अश्वनी नगर के रहने वाले हैं। कुल 3 लोगों की मौत में एक ड्राइवर है, 2 अन्य लोग संभवतः गाड़ी पुल से गिरने की वजह से नीचे मौजूद ग्रामीण बताए जा रहे है।

CG NEWS: बेरोजगारी से परेशान युवक ने की खुदकुशी, 6ठी मंजिल से कूद कर दे दी जान

CG NEWS: बेरोजगारी से परेशान युवक ने की खुदकुशी, 6ठी मंजिल से कूद कर दे दी जान

छत्तीसगढ़ के भिलाई से दर्दनाक खबर सामने आ रही है, एक युवक ने देर रात एक इमारत की 6वीं मंजिल से कूद कर जान दे दी। शनिवार सुबह जब लोगों ने शव पड़ा देखा तो पुलिस को सूचना दी गई। युवक की पहचान न्यू खुर्सीपार निवासी ललित शर्मा (25) के रूप में हुई है। मरने से पहले युवक ने अपने परिजनों को कॉल किया और सुसाइड करने की बात कहते हुए माफी भी मांगी थी। परिजनों ने बताया कि नौकरी जाने के बाद से वह काफी परेशान रहता था। इसके बाद से ही उसे काम नहीं मिल रहा था। मामला स्मृति नगर थाना क्षेत्र का है।


बताया जा रहा है कि शुक्रवार रात को भी वह अपने दोस्तों के पास गया था। वहां रात में उसने के ब्लॉक बिल्डिंग की छत पर शराब पी और देर रात करीब 2 बजे वहीं से छलांग लगा दी।


नौकरी नहीं मिलने से था परेशान
मृतक के परिजनों ने बताया कि एक महीने पहले उसकी जॉब छूट गई थी। इसके बाद अचानक उसका एक्सीडेंट हो गया। सिर और पेट में गहरी चोट लगने से इलाज भी चल रहा था। पिता ने पहले ही उन्हें छोड़ दिया था। इससे घर में आर्थिक परेशानी बढ़ गई थी। इसी बीच ललित ने एक ऑटो कंपनी में इंटरव्यू दिया और घरवालों को बताया कि उसकी जॉब पक्की हो गई है। शुक्रवार को उसने घरवालों को बताया कि जहां उसने इंटरव्यू दिया था उसका सिलेक्शन नहीं हुआ। इसके बाद वह खम्हरिया आ गया। नौकरी नहीं मिलने से वह मानसिक रूप से काफी परेशान था।


मां और बहन को फोन कर बताई थी खुदकुशी की बात
शुक्रवार रात को ब्लॉक की छत पर ललित ने पहले खूब शराब पी। उसके बाद नशे की हालत में उसने रात 11.30 बजे अपनी छोटी बहन और मां को फोन किया। फोन पर उसने उनसे माफी मांगी और कहने लगा कि वह किसी काम का नहीं है। घर की जिम्मेदारी नहीं उठा सकता है, इसलिए खुदकुशी करने जा रहा है। इसके बाद उसने रात 1.30 बजे अपने ताई, ताऊ और चचेरे बड़े भाइयों को फोन करके प्रणाम बोला और सुसाइड की जानकारी दी। इसके बाद परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी।


घर में अकेला बेटा था ललित
पुलिस के मुताबिक ललित के पिता उन्हें पहले ही छोड़ चुके हैं। घर में उसकी मां एक छोटी बहन और वह रहते था। ललित से दो बड़ी बहनें भी हैं, जिनकी शादी हो चुकी है। घर की देखरेख बड़े पापा करते थे। दुर्घटना के बाद दवा में ज्यादा पैसा खर्च होने से उसके ऊपर नौकरी का काफी दबाव भी था, जिसे लेकर वह मानसिक रूप से परेशान रहता था।

CG NEWS: भिलाई स्टील प्लांट के मैनेजर ने की ख़ुदकुशी, परिजन बोले- पोस्ट कोविड दिक्कतों से परेशान थे

CG NEWS: भिलाई स्टील प्लांट के मैनेजर ने की ख़ुदकुशी, परिजन बोले- पोस्ट कोविड दिक्कतों से परेशान थे

छत्तीसगढ़ के भिलाई से आत्महत्या का मामला सामने आया है, भिलाई स्टील प्लांट (BSP) के वाटर मैनेजमेंट विभाग के सीनियर मैनेजर चंदन दास ने नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली। उनका शव शुक्रवार सुबह 8 बजे के करीब सरमढ़ा एनीकट के पास मिला। परिजनों का कहना है कि वह कोरोना संक्रमित होने के बाद की समस्याओं से काफी परेशान था। इसी के चलते मानसिक रूप से काफी परेशान रहता था। मामला नेवई थाना क्षेत्र का है।


जानकारी के मुताबिक, रिसाली निवासी बीएसपी के सीनियर मैनेजर चंदन दास बुधवार शाम बिना किसी को कुछ बताए घर से कहीं चले गए थे। काफी देर बाद जब वह नहीं लौटे तो परिजनों ने तलाश शुरू की। इस बीच कोतवाली पुलिस को उनकी स्कूटी शिवनाथ किनारे महमरा एनीकट के पास मिली थी।


पुलिस ने जब स्कूटी और आसपास के एरिया की तलाशी ली तो नदी के किनारे कुछ ही दूर पर चप्पलें पड़ी मिली। गाड़ी के रजिस्ट्रेशन नंबर से पुलिस को चंदन दास का पता चला और फिर उनके भाई दीपक दास से संपर्क कर पूछताछ की। वहीं आसपास लोगों से पूछताछ में पता चला कि एक व्यक्ति वहां स्कूटी से आया था और फिर नदी में छलांग लगा दी।


महमरा से रसमढ़ा एनीकट बहकर पहुंच गया था शव
गुरुवार से ही गोताखोरों और SDRF की टीम ने सर्चिंग शुरू की, लेकिन महमरा एनीकट के आसपास शव नहीं मिला तो अंधेरा होने पर खोजबीन बंद कर दी गई। शुक्रवार तड़के फिर से SDRF की टीम पानी में उतरी। बताया नदी के बहाव को देखते हुए वह लोग खोजबीन करते-करते रसमढ़ा एनीकट के पास पहुंचे। वहां पर उन्हें चंदन दास का शव मिला। यह वहीं जगह है, जहां दो दिन पहले दो छात्रों की डूबने से मौत हो गई थी।

 छत्तीसगढ़ ब्रे़किंग : क्रिकेट मैच के दौरान चली गोली, दो टीमों के बीच विवाद में हुई फायरिंग

छत्तीसगढ़ ब्रे़किंग : क्रिकेट मैच के दौरान चली गोली, दो टीमों के बीच विवाद में हुई फायरिंग

दुर्ग। जिले से इस वक्त बड़ी खबर सामने आई है. मिली जानकारी के मुताबिक दो टीमों के बीच खेल के दौरान गोली चल गई है। क्रिकेट मैच के दौरान दो टीमों के बीच विवाद में गोली चल गई। मामाला अमलेश्वर थाना के मोतीपुर सांकरा का है। बताते हैं, क्रिकेट मैच के दौरान आपस में झगड़ा हो गया। इस पर एक पक्ष ने गोली चला दी। इस घटना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। 
स्कूल से बंक मारकर नदी में नहाने गए 2 छात्र की नदी में डूबने से मौत, एक की लाश मिली दूसरे की तलाश जारी

स्कूल से बंक मारकर नदी में नहाने गए 2 छात्र की नदी में डूबने से मौत, एक की लाश मिली दूसरे की तलाश जारी

छत्तीसगढ़ के भिलाई में मंगलवार को दो दोस्त नदी में डूब गए। दोनों छात्र स्कूल से बंक मारकर अपने एक अन्य दोस्त के साथ नहाने के लिए शिवनाथ नदी में गए थे। आपदा प्रबंधन टीम और पुलिस ने एक का शव बरामद कर लिया है, लेकिन दूसरे का अभी तक पता नहीं चल सका है। मामला रिसाली थाना क्षेत्र का है।


जानकारी के मुताबिक, बड़ौदा सेक्टर इस्पात क्लब के पास रहने वाला आदर्श चंद्राकर (17) पुत्र दिनेश चंद्राकर, गार्डन चौक निवासी तौसीफ अंसारी (17) पुत्र मुर्शीद आलम और रुआबांधा निवासी आयुष शांडिल्य (17) पुत्र हेराम शांडिल्य तीनों अलग-अलग स्कूलों में 11वीं क्लास के छात्र हैं और दोस्त हैं। तीनों दोस्त मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे स्कूल से बंक मारकर नहाने के लिए शिवनाथ नदी में गए थे।


नहाने के दौरान दो छात्र गहरे पानी में फंसे
तीनों नहाने के लिए नदी में उतरे थे कि आदर्श और आयुष गहरे पानी में फंस गए। उन्हें डूबता देख पहले तौसीफ ने बचाने का प्रयास किया, फिर आसपास के लोगों से मदद मांगी। इससे पहले कि लोग पहुंचते, दोनों छात्र नदी में बह गए। पुलिस ने शाम करीब 4.15 बजे आयुष का शव बरामद कर लिया है, जबकि आदर्श की तलाश की जा रही है।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : पुलिस कर्मियों से भरी बस ट्रक से टकराई, 2 कॉन्सटेबल सहित 4 लोग घायल, 2 की हालत गंभीर

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : पुलिस कर्मियों से भरी बस ट्रक से टकराई, 2 कॉन्सटेबल सहित 4 लोग घायल, 2 की हालत गंभीर

भिलाई। दुर्ग से धमधा की ओर जा रही पुलिस कर्मियों की बस मंगलवार सुबह जेवरा सिरसा के पास अचानक एक छोटे ट्रक से टकरा गई। इस हादसे में बस में सवार चार पुलिस कर्मी घायल हुए है जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल दाखिल किया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार जिले के सीमावर्ती इलाकों में लॉ एंड आर्डर व्यवस्था दुरुस्त करने की ड्यूटी करने जा रहे पुलिस कर्मियों से भरी दुर्ग स्थित पुलिस लाइन से छूटकर धमधा की ओर जा रही थी तभी जेवरा सिरसा के पास ननकट्टी मोड़ पर यह हादसा हुआ। इस हादसे में बस का ड्राइवर गंभीर रूप से घायल हुआ है। जिसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

कम कीमत में कार पाने के लालच में युवक हुआ 14 लाख की ठगी का शिकार, महिला सहित तीन ठगों के खिलाफ जुर्म दर्ज

कम कीमत में कार पाने के लालच में युवक हुआ 14 लाख की ठगी का शिकार, महिला सहित तीन ठगों के खिलाफ जुर्म दर्ज

भिलाई। भिलाई का युवक कम कीमत में कार पाने के लालच में दिल्ली के ठगों से 14 लाख रुपए की ठगी का शिकार हो गया कल देर शाम कोई रिपोर्ट पर से सुपेला पुलिस के द्वारा दिल्ली के एक महिला ठग सहित तीन के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।

 
सुपेला पुलिस ने बताया कि आवेदक मोनिष लोही पिता स्व0 शंकर लोही उम्र 22 साल  सेक्टर 2 सडक 19 मकान नं 18/ए में रहता है। करीब 3 वर्ष पूर्व 20 दिसंबर 2018 को 24 शपिंग हब के स्वामी हितेश कुमार के कर्मचारी धनराज सिंह के द्वारा फोन पर बताया कि हमारे कंपनी से कार खरीदी करने के लिए ऑफर का हवाला दिया गया।  बताया कि प्रमोशनल इवेंट चल रहे हैं आप टाटा कंपनी की कार नेक्सन जीत सकते हैं । कार जीतने का सब्जबाग दिखाया, प्रभावित व प्रलोभित किया। तब मनीष उनकी बातों से प्रभावित हो गया और कार जीतने के लालच ने उसे कंपनी के कर्मचारी द्वारा बताए अनुसार बैंक खाते में प्रथम किश्त एचडीएफसी बैंक चौहान स्टेट सुपेला के बैंक खाते  में करीब 80,000 रूपये अस्सी हजार रुपए का पेमेंट किया था। दिल्ली की कंपनी के दबाव में आकर मनीष ने धनराज सिंह के बताए अनुसार  धीरे-धीरे करके 14 लाख रुपए वर्ष 2018 एवं वर्ष 2019 में कंपनी के दबाव में आकर कई किस्तों में बैंक खातों के माध्यम से भुगतान किया । उसके बाद धनराज सिंह नामक व्यक्ति नए फोन के माध्यम से मनीष से संपर्क किया।  फोन नंबर 89795 70987 से काल आया कि आप टाटा नेकसन कार जीत चुके हो उसका आरटीओ इंश्योरेंस की रकम 1 लाख 20 बीस हजार रुपए कंपनी ने भुगतान करने के लिए कहा। जिस पर मनीष ने आरटीओ इंश्योरेंस की रकम उनके कहे अनुसार 1 लाख 20 बीस हजार रुपए कंपनी को ऑनलाइन ट्रांसफर किया । उसके बाद टाटा नेक्सन कार की डिलीवरी मनीष को आज तक अप्राप्त है। मनीष ने फोन द्वारा धनराज सिंह से जानकारी कार्य के संबंध में लेने का प्रयास किया गया तब धनराज सिंह ने बताया कि कंपनी का मालिक हितेश कुमार अभी जेल में बंद है । उनकी अनुपस्थिति में हम लोग कुछ नहीं कर सकते हैं। आप कोर्ट से एनओसी लेकर आईये तब आपकी संपूर्ण रकम 14 लाख रुपए वापस कर देंगें अगर आप कोर्ट से एनओसी नहीं लाओगे तो कुछ दिनों के बाद आप को कोर्ट से नोटिस आएगा और आपके ऊपर भी कारवाई हो जाएगी। कहकर धनराज सिंह मनीष को धमकीयां देने लगा। तब मनीष को स्वयं के ठगे जाने का एहसास हुआ इस पर से मनीष के द्वारा 28 जून 2019 को भट्टी थाने में आवेदन दिया गया था । जिसकी जांच के पश्चात घटना स्थल एचडीएफसी बैंक सुपेला होने के कारण प्रकरण को एसएसपी दुर्ग के आदेशानुसार थाना सुपेला में स्थानांतरित किया गया। जिस पर से कल देर शाम को मुख्य आरोपी हितेश कुमार जिसका मोबाइल नंबर 9717209808, सह आरोपी धनराज सिंह का मोबाइल नंबर 8979570987 एवं सहआरोपी श्रीमती कंगना त्रिपाठी तीनों ने मिलकर षडयंत्रपूर्वक धोखाधड़ी करते हुए इनाम का लालच देकर प्रभावित व प्रलोभित कर मनीष से 14 लाख रुपए ठगी किए जाने पर आरोपियों के खिलाफ सुपेला पुलिस के द्वारा भादवि की धारा 420 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है ।
CG NEWS: पढाई को लेकर दबाव बनाना पिता को पड़ा भारी, बेटा घर से बिना बताए कहीं गायब, पुलिस जांच में जूटी

CG NEWS: पढाई को लेकर दबाव बनाना पिता को पड़ा भारी, बेटा घर से बिना बताए कहीं गायब, पुलिस जांच में जूटी

छत्तीसगढ़ के भिलाई से एक युवक के गुमशुदा होने की खबर सामने आ रही है, अपने बेटे पर पढ़ाई के लिए अधिक दबाव बनाना और हर वक्त नजर बनाकर रखना एक BSP कर्मी को काफी भारी पड़ गया है। पढ़ाई के लिए दबाव बनाने के कारण बेटा घर से बिना बताए कहीं चला गया है। मामले की शिकायत के 24 घंटे बाद भी 11वीं के छात्र का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। हालांकि पुलिस अब परिवार के सदस्यों व दोस्तों से पूछताछ करने में जुटी हुई है। साथ ही CCTV कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं।


जानकारी के मुताबिक, भिलाई के सेक्टर-4 के रहने वाले BSP कर्मी चन्नईया का बेटा प्रणय पिरपनैनी 2 अक्टूबर की सुबह लगभग 7 बजे साइकिलिंग के लिए घर से निकला था। जिसके बाद घर नहीं लौटा। चन्नईया ने बताया कि, उनका बेटा पढ़ने में काफी तेज था। वह हमेशा साइकिलिंग करने सुबह घर से निकलता था और आधे घंटे में वापस आ जाता था।


शनिवार को जब वह गया तो वापस नहीं आया। परिजनों ने पहले सभी रिश्तेदारों और दोस्तों के यहां उसका पता किया। लेकिन जब बेटे के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली तो परिजनों ने दोपहर 12 बजे इसकी शिकायत भट्ठी थाने में की।


पुलिस ने कहा- परिजनों ने पढ़ाई के लिए दबाव बनाया था
भट्ठी थाना प्रभारी ब्रजेश कुशवाहा ने बताया कि, इस मामले की शिकायत के बाद पुलिस गुमशुदा छात्र की तलाश में लगी हुई है। जांच में बात समाने आई है कि परिजनों का बेटे के ऊपर पढ़ाई का अधिक दबाव था। बेटा कोचिंग या अन्य किसी भी कामों से बाहर जाता था तो परिजन उसके ऊपर नजर बनाकर रखते थे। उसे घर से ज्यादा बाहर नहीं जाने दिया जाता था। माता पिता ऐसा अपने बेटे के भविष्य के लिए करते थे, लेकिन बेटा इतना दबाव बर्दाश्त नहीं किया और घर से कहीं चला गया है।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : इस जिले के पूर्व डीएसपी का हुआ निधन, दो दिन पहले पड़ा था दिल का दौरा

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : इस जिले के पूर्व डीएसपी का हुआ निधन, दो दिन पहले पड़ा था दिल का दौरा

दुर्ग | दुर्ग जिले के रिटायर्ड पुलिस अधिकारी प्रवीर चंद्र तिवारी का हृदयाघात से निधन हो गया। दो दिन पहले वे स्मार्ट पुलिसिंग की क्लास से लौट रहे थे, इसी दौरान उन्हें अटैक आया। इसके बाद उन्हें रामकृष्ण केयर अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल किया गया था। पर इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। वे 62 साल के थे और हाल ही में रिटायर हुए थे।

रिटायर्ड डीएसपी प्रवीर चंद्र तिवारी अपने सेवाकाल के दौरान प्रदेश के विभिन्न जिलों में सेवाएं देते रहे, जिसके बाद वे प्रमोट होकर डीएसपी बने थे। इस दौरान उन्होंने अपने अनुभवों के आधार पर अपराध पर जहां लगाम लगाने में सफलता हासिल की, तो अपने मातहतों को भी बेहतर पुलिसिंग की तकनीक से अवगत कराते रहे। जानकारी के मुताबिक प्रदेश के रिटायर्ड पुलिस अफसरों को स्मार्ट पुलिसिंग के लिए तैयार किया जा रहा है, जिसके लिए बकायदा पीएसएस माना, रायपुर में प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। दो दिन पहले रिटायर्ड डीएसपी तिवारी भी क्लास से लौट रहे थे, तभी उन्हें हार्ट अटैक आया। जिसके बाद उन्हें तत्काल रामकृष्ण केयर अस्पताल में दाखिल किया गया। अस्पताल में दो दिनों तक उपचार के लिए रखा गया, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।

BREAKING : हाईकोर्ट ने सांसद सरोज पाण्डेय पर लगाया भारी भरकम जुर्माना, जानिए क्या है मामला

BREAKING : हाईकोर्ट ने सांसद सरोज पाण्डेय पर लगाया भारी भरकम जुर्माना, जानिए क्या है मामला

भिलाई। कांग्रेस के प्रत्याशी लेखराम साहू ने सांसद सरोज पांडेय के निर्वाचन को चुनाव याचिका के माध्यम से चुनौती दी है। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान क्रॉस एग्जामिनेशन से मना करने पर राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय पर 6 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है क्योंकि सांसद सरोज पाण्डेय के अधिवक्ता ने और समय मांग लिया। हाईकोर्ट ने सुनवाई की तिथि आगामी 26 अक्टूबर को तो कर दिया लेकिन हाईकोर्ट ने आदेश दिया कि आज न्यायालय में आये तीन गवाहों के खर्चें की दो दो हजार रूपये भरपाई करनी होगी।

उल्लेखनीय है कि साल 2018 में राज्यसभा के लिए चुनी गईं सांसद सरोज पांडेय के निर्वाचन को कांग्रेस के प्रत्याशी लेखराम साहू ने चुनाव याचिका के माध्यम से चुनौती दी है। नियमों के मुताबिक चुनाव याचिकाओं का निपटारा 6 माह में करना होता है, लेकिन कोरोना काल के चलते डेढ़ साल तक गवाही शुरू नहीं हो पाई थी। मामले में शुक्रवार को सुनवाई होनी थी। इसमें गवाहों का क्रॉस एग्जामिन यानी विपक्ष के वकील को सवाल-जवाब करने थे। कोर्ट ने आज प्रति-परीक्षण नहीं करना था तो पहले से याचिकाकर्ता को सूचना दिया जाना चाहिए था। सूचना नही मिलने के कारण गवाहों का आना व्यर्थ हो गया इसलिए उन्हें खर्चे की भरपाई होनी जरूरी है।

सांसद के अधिवक्ता ने जताई असमर्थता और मांगा समय
सरोज पाण्डेय के निर्वाचन के मामले में सुनवाई के लिए गवाहों को हाजिर होने के लिए 28 सितंबर को ही शपथ पत्र प्रस्तुत किया जा चुका था। इसके लिए लेखराम साहू सहित दोनों गवाह पहुंच गए थे। लेख राम साहू के अधिवक्ता सुदीप श्रीवास्तव और हिमांशु शर्मा ने जस्टिस सैम पी कोशी की बेंच को तीनों गवाहों के क्रॉस एग्जामिन के लिए सुबह से ही उपस्थित होने की जानकारी दी। बेंच ने इसके लिए सरोज पांडेय के अधिवक्ता अविनाश चंद्र साहू को कहा कि लेनिक अधिवक्ता श्री साहू ने असमर्थता जताते हुए और समय मांगा।

सरोज पाण्डेय ने दी थी गलत पता और बैंक एकाउंट की जानकारी
लेखराम साहू की ओर से दायर चुनाव याचिका में सरोज पांडेय के शपथ पत्र में बैंक अकाउंट को छुपाने और निवास स्थान के बारे में गलत पते की जानकारी देने जैसे कई आरोप लगाए गए हैं। साथ ही उनके निर्वाचन को इस आधार पर भी चुनौती दी गई है कि प्रस्तावक समर्थकों में बहुत से विधायक लाभ के पद पर होने के कारण मतदान करने के पात्र नहीं थे। उनका नामांकन पत्र पूर्व में ही रद्द किया जाना चाहिए था। अब 29 अक्टूबर को सभी गवाहों का प्रति-परीक्षण किया जाएगा।

CG NEWS: धर्मातरण के मामले में हिन्दुत्वादी संगठनों ने किया प्रदर्शन, पुलिस के साथ हुई झूमझटकी

CG NEWS: धर्मातरण के मामले में हिन्दुत्वादी संगठनों ने किया प्रदर्शन, पुलिस के साथ हुई झूमझटकी

भिलाई: राज्य में धर्मांतरण का मुद्दा लगातार गरमाता जा रहा है। इसी कड़ी मे दुर्ग जिले में गत दिवस सेक्टर 1 में घटित घटना जिसमें धर्म परिवर्तन और इसाई धर्म का प्रचार करने का आरोप पर धर्म जागरण की महिला कार्यकर्ता पर पास्टर एवं उसके अन्य लोगों पर पिटाई करने के आरोप में दुर्ग पुलिस ने केस रजिस्टर किया। उसके विरोध में पादरी दिनेश ओली एवं उनके अन्य साथियों के विरूद्ध धारा आईपीसी 295 ए के तहत अपराध पंजीबद्ध करने की मांग को लेकर आज विश्व हिन्दू परिषद, बजरंगद दल, धर्मजागरण, समन्वय विभाग, हिन्दू जागरण मंच, हिन्दु युवा मंच, राजपूत करणी सेना, रामजन्मोत्सव समिति के युवाओं ने टाउनशिप के सेन्ट्रल एवन्यू में रैली निकाल कर अपना विरोध प्रदर्शन किया। इस मामले मे ज्ञापन सौंप कर उच्च स्तरीय जांच की मांग की। एएसपी शहर संजय ध्रुव ने आश्वस्त किया कि एक सप्ताह के अंदर निष्पक्षता के साथ जांच कर कार्रवाई की जाएगी।


पुलिस ने बेरोजगार चौक पर ही प्रदर्शनकारियों को स्टापर के माध्यम से रोक लिया था। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर झूमझटकी भी हुई। जिसमें महिला थानेदार सी तिर्की के पैर में मोच आ गई। उन्हें तुरंत अस्पताल भेजा गया। साथ ही राजपत्रित अधिकारियों से प्रदर्शनकारियों की जमकर झड़प भी हुई। इस मामले को लेकर रतन यादव ने कहा कि छग में लगातार मिशनरी के लोग धर्मांतरण कर रहे हैं। हम पिछले तीन माह से दुर्ग जिले के सुपेला, दुर्ग व भट्ठी थाना में शिकायतें दर्ज करा रहे हैं लेकिन मिशनरियों के विरूद्ध पुलिस एफआईआर दर्ज नही कर रही है। दुर्ग जिले में हाल बद से बद्तर है। पास्टर लोग घर घर जाकर धर्मांतरण कराने का कार्य बदस्तूर कर रहे हैं। ज्योति शर्मा द्वारा अपनी आत्मसुरक्षा के लिए हाथ उठाया। सामने वाले लोग धर्मांतरण कर रहे थे। पुलिस इस मामले की निष्पक्षता के साथ जांच करें। एक सप्ताह के भीतर पुलिस अगर जांच नही करेगी और मिशनरियों के खिलाफ एफआईआर नही करेगी तो हमारा आंदोलन और अधिक उग्र होगा और राष्ट्रीय राजमार्ग पर चक्काजाम करने से भी नही चुकेंगे जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन पर होगी। श्री यादव ने आगे कहा कि सेक्टर 1 में घटित घटना में किसी भी अधिकारी व कर्मचारी की कोई भी गलती नही है। पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने जिन अधिकारी व कर्मचारियों को लाईन अटैच किया है उनकी बहाली तुरंत करें। चूंकि इस मामले मे सीधे तौर पर पुलिस से अधिक मिशनरी के लोग दोषी है। पुलिस एजूकेशन हब व मिनी भारत भिलाई में आपसी सौहाद्र के साथ पूरी मुस्तैदी के साथ इस शांतप्रिय भिलाई में अपनी डयूटी सही ढंग से कर रही है।


वहीं राजपूत करणी सेना के युवा नेता मानवेन्द्र सिंह मंगल ने कहा कि हिन्दु संगठनों द्वारा आज सांकेतिक प्रदर्शन करके राज्य सरकार व स्थानीय प्रशासन को चेतावनी दिया गया है कि वह छग में हो रहे धर्मांतरण पर हर हाल मे रोक लगाये। हिन्दुओं के उदारपन को हल्केपन में नही लें। छग में मिशनरियों के धर्मांतरण पर पूर्ण रोक लगे।


प्रर्दशनकारियों में प्रमुख रूप से ठाकुर रितेश सिंह, नितेश सिंह, जिवेश उपाध्याय, सौरभ चटर्जी, रवि निगम, नागेश्वर यादव, रतीश पटेरिया, अभिषेक साहू, पंकज साहू, उपमन्यू द्विवेदी, पराग सिंह के अलावा राजू मित्रा, अनिल सिंह, दलजीत सिंह निक्के, मुकेश अग्रवाल, मोनू, सनिल शर्मा, डॉ. दिलीप शर्मा, दिलहरण सोलंकी, इन्द्रजीत घोष, पुनित साहू, रौशन सिंह नाहर, गोल्डी सोनी, रंजीत ठाकुर, रविन्द्र शुक्ला, विरेन्द्र सिंह,बबलू राजपूत, राजत साहू, संदीप पाण्डेय, प्रवीण सोनी सहित बड़ी संख्या में हिन्दुवादी संगठन के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

छत्तीसगढ़ में थप्पड़-कांड: महिला ने पुलिस के सामने शख्स की कर दी पिटाई, जानिए पूरा मामला

छत्तीसगढ़ में थप्पड़-कांड: महिला ने पुलिस के सामने शख्स की कर दी पिटाई, जानिए पूरा मामला

छत्तीसगढ़ के भिलाई से एक वीडियो सामने आया है, जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें एक महिला एक युवक को पुलिस के सामने ही थप्पड़ मार रही है। गला पकड़कर जिंदा जमीन में गाड़ देने की धमकी दे रही है। पुलिस के दो सिपाही भी खड़े-खड़े ये सब देख रहे हैं। महिला के साथ मौजूद भीड़ भी युवकों को मारने की बात कर रही है। सभी भारत माता के जयकारे लगा रहे हैं और देश के गद्दारों के खिलाफ नारे भी। इस वीडियो के सामने आने के बाद अब कार्रवाई हुई है। वीडियो में दिख रहे दो आरक्षक संजय सोनी और शफीक खान को सस्पेंड कर दिया गया है।


वीडियो की तस्दीक करने पर पता चला कि वीडियो भिलाई के सेक्टर 1 इलाके का है। रविवार को ये घटना हुई थी। भट्‌टी थाना इलाके में पड़ने वाले इस क्षेत्र की पुलिस के मुताबिक, इलाके में कुछ लड़के-लड़कियां किसी धार्मिक सभा और प्रार्थना के कार्यक्रम का प्रचार करने निकले थे। धर्मांतरण और हिंदुत्व के अपमान की आशंका पर ज्योति शर्मा नाम की महिला ने इन्हें घेर लिया और पुलिस को भी बुलाया।


महिला पर केस दर्जकर गिरफ्तारी की तैयारी
महिला ने इन युवक-युवतियों को घेरकर पीटना शुरू कर दिया। भट्‌टी थाने की पुलिस अब महिला के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तारी की तैयारी कर रही है। मारपीट करने वाली ज्योति शर्मा ने युवक का गला पकड़कर कहा, 'मैं तुझे मार सकती हूं, पुलिस खड़ी है तो ये मत सोचना कि मुझ से जुबान लड़ाओगे, सारे को ठोकूंगी, यही गाड़कर रख दूंगी। ज्यादा उद्दंडता नहीं दिखाना, सेक्टर में नहीं आना। अगर आए तो इन्हें पीटने की खुली छूट है, तबियत से ठोक लेना, मेरे हिंदुत्व को दांव में लगाने आए हो तो। थाने में चलो जहां रहते हो वहां से घर खाली करोगे तुम लोग।' इसके बाद भीड़ भारत माता की जय के नारे लगाती रही। इस मामले में भट्‌टी थाने के प्रभारी बृजेश कुशवाहा को नोटिस जारी किया गया है। SSP बीएन मीणा ने कहा है कि इस घटना की जांच करके जिम्मेदारों पर कार्रवाई होगी।

+ Load More