COVID-19 :

Confirmed :

Recovered :

Deaths :

Maharashtra / 1282963 Andhra Pradesh / 654385 Tamil Nadu / 563691 Karnataka / 548557 Uttar Pradesh / 374277 Delhi / 260623 West Bengal / 237869 Odisha / 196888 Telangana / 179246 Bihar / 174266 Assam / 165582 Kerala / 154458 Gujarat / 128949 Rajasthan / 122720 Haryana / 118554 Madhya Pradesh / 115361 Punjab / 105220 Chhattisgarh / 93351 Jharkhand / 76438 Jammu and Kashmir / 68614 Uttarakhand / 44404 Goa / 30552 Puducherry / 24895 Tripura / 23786 Himachal Pradesh / 13386 Chandigarh / 10968 Manipur / 9537 Arunachal Pradesh / 8416 Nagaland / 5730 Meghalaya / 4961 Ladakh / 3969 Andaman and Nicobar Islands / 3712 Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu / 2978 Sikkim / 2612 Mizoram / 1759 State Unassigned / 0 Lakshadweep / 0

   BIG BREAKING : प्रदेश में आज 2272 नए कोरोना संक्रमितों की हुई पहचान, 10 कोरोना मरीजों की हुई मौत    |    सोशल मिडिया में वायरल हो रहे निजी अस्पताल में निशुल्क कोरोना इलाज वाले समाचार की क्या है सच्चाई, पढ़े ये खबर    |    कोतवाली थाना क्षेत्र के काली बाड़ी में शराब एवं सट्टा का कारोबार करने वाले 05 आरोपी गिरफ्तार, पढ़ें पूरी खबर    |    BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में कार से IPL क्रिकेट में सट्टा खिलवा रहे 7 सटोरी हुए गिरफ्तार, आरोपियों से 10 करोड़ का सट्टा पट्टी जब्त    |    आईपीएल 2020: बैंगलोर के खिलाफ पंजाब कर सकता है बड़ा बदलाव, शामिल होगा विस्फोटक बल्लेबाज    |    किसानों को मजदूर बनाने की साजिश: सीएम भूपेश बघेल    |    Rafale पर CAG की रिपोर्ट, कांग्रेस बोली- अब समझ में आई डील की क्रोनोलॉजी    |    बड़ी खबर: ड्रग्स केस में एनसीबी की रडार पर 50 फिल्मी कलाकार, कई ए-लिस्टर्स एक्टर्स भी शामिल    |    शर्लिन चोपड़ा का बड़ा दावा- बड़े क्रिकेटर्स की बीवियां लेती हैं ड्रग्स    |    कोरोना अपडेट : कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 57 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में 1,129 लोगो की हुई मौत    |
हसदेव नदी में नहाते समय नदी के तेज बहाव की चपेट में आये दो बच्चे, हुई मौत

हसदेव नदी में नहाते समय नदी के तेज बहाव की चपेट में आये दो बच्चे, हुई मौत

कोरबा | हसदेव नदी में सीतामढ़ी के पास नहा रहे दो बच्चे तेज बहाव की चपेट में आ गए। उसे बचाने एक अन्य बच्चे ने कोशिश की, लेकिन वह सफ ल रहा। वह वापस घर लौट कर इसकी जानकारी दी, तो हड़कंप मच गया। देखते ही देखते नदी के पास भीड़ लग गई। पुलिस व परिजनों ने कुदुरमाल स्टॉप डैम तक तलाश की। दोनों लापता बच्चों का पता नहीं चल सका।  

पढ़ें : प्रदेश के इन तीन और जिलों में आज से लागू हुआ टोटल लॉकडाउन, पढ़ें पूरी खबर

जानकारी के अनुसार सीतामढ़ी निवासी व पान ठेला संचालक जितेंद्र सोनी का पुत्र दीपांशु सोनी 10, मजदूरी करने वाले शिव केंवट का पुत्र आरुष केंवट छह व रामेश्वर केंवट का पुत्र नीलेश केंवट नौ हसदेव नदी में रेतघाट के पास नहाने के लिए गए थे। दो दिन से हो रही तेज बारिश से हसदेव नदी का जल स्तर बढ़ा होने का आभास बच्चों को नहीं हुआ। पानी में तीनों नहाने उतर गए, पर तेज बहाव में दीपांशु बहने लगा।
 
 
आरुष ने उसका हाथ खींच कर बचाने प्रयास किया, पर वह भी पानी के तेज बहाव में आ गया। इस बीच तीसरे बच्चे नीलेश ने दोनों को बचाने का प्रयास किया, लेकिन उसकी नजर के सामने दोनों बच्चे बह गए। भागते हुए नीलेश घर पहुंचा और घटना की जानकारी परिजनों को दी। आनन-फानन में सभी लोग घटनास्थल पहुंचे और बच्चे की तलाश शुरू की। इस बीच सिटी कोतवाली पुलिस भी सूचना मिलने पर स्थल पर पहुंच गई। वार्ड पार्षद संतोष लांझेकर के साथ स्थानीय स्तर पर तलाश करने के साथ ही एक टीम कुदुरमाल में बने स्टॉप डैम तक गई। लेकिन बच्चों का कहीं पता नहीं चला। रात होने के कारण तलाशी अभियान रोक दिया गया। 
 सूने मकान में फंदे पर लटकती मिली युवक व युवती की लाश, मौके पर पहुंची पुलिस

सूने मकान में फंदे पर लटकती मिली युवक व युवती की लाश, मौके पर पहुंची पुलिस

कोरबा। कोयलांचल बांकीमोंगरा में आज उस समय काफी सनसनी फैल गई जब यहां के एक सूने मकान में युवक व युवती की लाश फंदे पर लटकती मिली। युवक व युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है या घटना कुछ और है, यह तो जांच के बाद ही पता चलेगी। सूचना मिलने पर बांकीमोंगरा पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है।

 जानकारी के अनुसार बांकीमोंगरा क्षेत्र के साईं मोहल्ले में आज कुछ लोगों ने एक मकान से बदबू आने की सूचना पुलिस को दी। यह मकान पिछले कुछ दिनों से बंद था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा खोला तो उसके होश उड़ गए। कमरे के अंदर एक युवक व युवती की लाश फांसी के फंदे पर लटकी हुई थी। जिससे काफी बदबू भी आ रही थी। पुलिस ने दोनों के शव बरामद कर आगे की जांच शुरू कर दी है। प्रारंभिक तौर पर प्रेम प्रसंग का मामला माना जा रहा है। ऐसा लगता है कि युवक व युवती के बीच प्रेम संबंध रहे होंगे, जिस पर परिवार वालों को ऐतराज रहा होगा। परिवार द्वारा ऐतराज जताए जाने पर दोनों ने साथ जीने व मरने की कसम खाते हुए आत्महत्या का रास्ता अपनाया है। लाश से जो बदबू आ रही है उससे घटना कुछ दिन पहले की होने की संभावना जताई जा रही है।
 बड़ी खबर: झाड़-फूंक के बहाने लूतरा शरीफ के मौलवी ने किशोरी से किया दुष्कर्म

बड़ी खबर: झाड़-फूंक के बहाने लूतरा शरीफ के मौलवी ने किशोरी से किया दुष्कर्म

कोरबा। 21वीं सदी में भी लोग जादू-टोना, तंत्र, मंत्र, झाड़-फूंक पर विश्वास करते हैं और इसी अंधविश्वास का फायदा उठाकर कथित तांत्रिक, मांत्रिक न सिर्फ लोगों का दोहन कर रहे हैं बल्कि उनकी इज्जत के साथ भी खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला लूथरा शरीफ से आया है।
 
 
मुंगेली में रहने वाले एक परिवार की नाबालिग बेटी की तबीयत पिछले कुछ दिनों से खराब थी। जिसका इलाज अस्पताल में कराने की बजाय अंधविश्वास के चलते परिवार बलौदा के एक तांत्रिक के चक्कर में पड़ गया। कुछ दिनों तक नाबालिक किशोरी का इलाज करने के बाद तांत्रिक ने झांसा दिया कि यहां उसका इलाज मुमकिन नहीं इसलिए इसका झाड़-फूंक लूतरा शरीफ में करना पड़ेगा। इसलिए उस परिवार को लूतरा शरीफ के आसपास मकान किराए में लेने को कहा गया।
 

तांत्रिक शाकिर अंसारी बाबा उर्फ हब्बू मौलवी के झांसे में आकर परिवार ने ऐसा ही किया। जिसके बाद बदमाश रोज उनके किराये के घर जाकर झाड़-फूंक का तमाशा करता रहा। इसी दौरान इस परिवार के बेटे की भी तबीयत खराब हो गई और मौलवी उसका भी इलाज करने लगा। हैरानी इस बात की थी कि कथित हब्बू बाबा उनके बेटे का झाड़ फूं क तो पांच 10 मिनट ही करता था लेकिन युवती को अकेले कमरे में बंद कर उसके साथ घंटों बिताता। इससे परिवार का शक भी धीरे-धीरे बढऩे लगा था। बाद में नाबालिग किशोरी ने ही इसका खुलासा किया कि शाकिर अंसारी यानी हब्बू बाबा झाड़-फूंक के बहाने उसे कमरे में बंद कर उसके साथ लगातार दुष्कर्म कर रहा था और तंत्र मंत्र का डर दिखाकर उन्हें इसकी चर्चा किसी से नहीं कहने को धमकाता था।
 
 
रोज-रोज की हरकतों से तंग आकर आखिरकार नाबालिग ने इसकी शिकायत अपने पिता से कर दी। जिस बाबा को परिवार खुदा मान बैठा था, वह तो बलात्कारी निकला। यह जानते ही पूरे परिवार के पैरों तले जमीन खिसक गई। सच्चाई का अहसास होते ही पिता के होश ठिकाने लग गए और उन्होंने मुंगेली कोतवाली थाने में इसकी शिकायत दर्ज करा दी। जहां से अग्रिम कार्यवाही के लिए मामले को लूतरा ट्रांसफ र कर दिया गया। पुलिस ने शाकिर अंसारी बाबा उर्फ  हब्बू मौलवी लूतरा शरीफ  में मानसिक रोग, भूत प्रेत, ऊपरी बाधा के नाम पर सैकड़ों लोग इलाज कराने आते हैं। इनमें से कुछ यहीं रुक भी जाते हैं लेकिन इसी का फायदा इस बाबा जैसे लोग किस तरह उठा रहे हैं। इसका खुलासा इस घटना से हुआ है।
 
 
नराधम ने बीमार बच्ची का भी लिहाज नहीं किया और उसे अपनी हवस का शिकार बनाता रहा और पूरा परिवार दरवाजे के बाहर उसके आगे नतमस्तक बैठा रहा, लेकिन जब सच्चाई उजागर हुई तो उनके होश ठिकाने लगे। यह घटना हर उस व्यक्ति के लिए सबक है जो ऐसे ढोंगी बाबाओं पर भरोसा कर अपनी बहू बेटियों को उन्हें सौंप देता है। इसी अंधविश्वास का फायदा उठाकर ऐसे लोग अपना गलत सही मकसद पूरा करते हैं। धर्म के नाम पर अधर्म का यह खेल कब से जारी है और इस ढोंगी बाबा ने और किन-किन के साथ ऐसा किया है पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है।
अनियंत्रित होकर खाई में गिरी बाइक, एक की मौत

अनियंत्रित होकर खाई में गिरी बाइक, एक की मौत

कोरबा। ग्राम लाफा के समीप चैतुरगढ़ मार्ग में एक बाइक अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। घटना में स्थल पर ही एक युवक की मौत हो गई। वहीं दूसरे को मामूली चोट आई है। उसे उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल कराया गया है।
 
 
जानकारी के अनुसार पाली थाना अंतर्गत ग्राम अंडीकछार से सुनील मरकाम अपने तीन साथियों के साथ दो बाइक में सवार होकर बाइसेमर पारिवारिक काम से गया था। वहां से सभी वापस लौट रहे थे। पहाड़़ी में एक मोड़ के पास बाइक अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी। घटना में बाइक चला रहे 22 वर्षीय सुनील मरकाम की घटना स्थल पर मौत हो गई। जबकि पीछे बैठा नरेश मरकाम घायल हो गया। अन्य साथियों ने दोनों को उपचार के लिए नजदीक के प्राथमिक स्वास्थ्य में ले गए। जहां डॉक्टर ने सुनील को मृत घोषित कर दिया।
 
 
मामले की जानकारी मिलने पर पाली पुलिस विवेचना में जुट गई है। सुनील हरदीबाजार में मोटरसाइकल मिस्त्री का काम करने जाता था। कल बाइसेमर गांव परिवारिक काम से गए थे और शुक्रवार को वापस लौट रहे थे। दूसरे बाइक में उसके साथी सत्यम कुमार श्याम व अश्वनी सवार थे।
 पैसे जमा करने गए युवक को लगा 40 हजार का झटका, जानिए आखिर ऐसा क्या हुआ

पैसे जमा करने गए युवक को लगा 40 हजार का झटका, जानिए आखिर ऐसा क्या हुआ

कोरबा। पैसा जमा करने बैंक गए एक युवक को 40 हजार रुपए का झटका उस समय लग गया जब जमा पर्ची भरते समय असावधानीवश उसके हाथों से नोटों का बंडल नीचे गिर गया। जिसे बगल में खड़े अन्य युवक ने बड़ी चालाकी से पार कर दिया। पहले युवक ने नोटों को जूते के नीचे छिपाए रखा फिर मौका देखते ही भाग निकला। जिसका फुटेज बैंक के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है। जिसके आधार पर पुलिस मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार रामसागरपारा के दलिया गोदाम के पास रहने वाले विनोद सोनकर पेशे से प्रिंटिंग प्रेस का काम करते हैं। सोमवार को दोपहर एक बजे वह एसएस प्लाजा स्थित बैंक ऑफ  बड़ौदा में 40 हजार रुपए खाते में जमा करने गया था। जब वह जमा पर्ची भर रहा था। इसी बीच एक काले रंग की शर्ट और चश्मा पहना युवक बगल में आकर खड़ा हो गया। उसे अपने बातों में उलझाकर रखा। दरअसल उस युवक ने दूर से नोटों के एक बंडल को नीचे गिरे हुए देख लिया था। पास में आकर जूते के नीचे छिपा लिया था ताकि किसी की नजर न पड़े। इसी बीच मौका लगते ही युवक पैसे उठाकर भाग निकला। युवक के जाने के बाद जब सोनकर ने देखा कि पैसे तो है ही नहीं, ऐसे में उसने बैंक के सीसीटीवी फुटेज निकलवाया। जिसमें स्पष्ट तौर पर दिख रहा है कि एक युवक पैसे को पहले जूते के नीचे छिपा रहा था और बाद में भाग निकला। पीडि़त युवक ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी। जिस पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। आरोपी एक सफेद रंग की स्कूटी में आया था। पुलिस उसकी पहचान के साथ ही पतासाजी में लगी हुई है।
एससीसी कंपनी से 35 लाख की धोखाधड़ी, आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज

एससीसी कंपनी से 35 लाख की धोखाधड़ी, आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज

कोरबा। राजस्थान की पार्टी ने कोरबा की एससीसी कंपनी से 35 लाख की धोखाधड़ी को अंजाम दिया है। क्रशर प्लांट के लिए मशीनरी सामानों की आपूर्ति मेें डुप्लीकेट सामान भेजा गया। कोतवाली पुलिस ने राजस्थान की पार्टी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारंभ की है। 


कोतवाली टीआई दुर्गेश शर्मा ने बताया कि कोरबा जिले में कार्यरत सर्वमंगला कस्ट्रक्शन कंपनी एससीसी के संचालक आशीष अग्रवाल पिता राजकुमार अग्रवाल के द्वारा क्रशर प्लांट स्थापना से संबंधित सामानों की आपूर्ति के लिए उदयपुर राजस्थान के व्यापारी सिद्धार्थ जैन से संपर्क किया गया था। सिद्धार्थ जैन के साथ क्रशर प्लांट लगाने के लिए आवश्यक मशीनों का सौदा हुआ और इसके एवज में 45 लाख रुपए एससीसी द्वारा दिए गए। इधर सिद्धार्थ जैन ने जो सामान भिजवाया वह डुप्लीकेट और अनुपयोगी निकला। जिसकी कीमत महज 8 से 10 लाख रुपए आंकी गई है। इस संबंध में आशीष अग्रवाल के द्वारा सिद्धार्थ जैन से संपर्क कर किया गया। सौदा रद्द करने अथवा सही सामान भेजने या रुपए वापस करने की मंशा जाहिर की गई, लेकिन सिद्धार्थ जैन ने किसी भी तरह से प्रतिक्रिया नहीं दी। 3-4 माह इंतजार के बाद आखिरकार आशीष अग्रवाल ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। आशीष अग्रवाल की रिपोर्ट पर आरोपी सिद्धार्थ जैन के विरूद्ध धारा 420 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है।

एसपी के नाम पर फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर ठगी

एसपी के नाम पर फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर ठगी

कोरबा। पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा के नाम से फेसबुक में फर्जी आइडी बनाकर लोगों से रुपये की मांग की जा रही है। इसकी पुष्टि एसपी ने स्वयं करते हुए कहा कि फर्जी आइडी का कोई जवाब न दें। इसके साथ ही उन्होंने आइडी को बंद करा दिया।

साइबर क्राइम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आरोपित बड़े अधिकारी या राजनेता के नाम फर्जी आइडी बना कर उपयोग करते हैं और उनके झांसे में आम लोग फस जाते हैं। जब तक वास्तविकता का पता चलता है, तब तक संबंधित को लाखों रुपये की क्षति पहुंच चुकी होती है। ऐसा ही फेसबुक में फर्जी आइडी बनाने का मामला सामने आया है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा के नाम पर किसी अज्ञात व्यक्ति ने फेसबुक में फर्जी आइडी बनाया और लोगों से आवश्यकता बताकर रुपये की मांग की जा रही थी। एसपी अभिषेक ने फेसबुक पर फेक आइडी के स्क्रीन शॉट की कॉपी भी पोस्ट की है। साथ ही उन्होंने कंपनी से चर्चा कर फर्जी आइडी को बंद कराया। मामले में जांच की जा रही है। इस आइडी में एसपी मीणा को छत्तीसगढ़ की बजाय उत्तर प्रदेश का आइपीएस अफ सर व आगरा निवासी बताया गया है। इसके साथ ही उनकी फ ोटो भी लगाई गई है, जो उनके ओरिजनल फेसबुक में लगी है। इस घटना से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि साइबर आरोपित कितने बेखौफ  है कि आइपीएस अधिकारी का फर्जी फेसबुक आइडी बनाने लगे हैं। इनकी मंशा बड़े अधिकारियों के नाम पर आइडी बना कर आम लोगों को ठगा जा सके।
मोबाइल में सेल्फी खींच महिला से ब्लैकमेल, आरोपी गिरफ्तार

मोबाइल में सेल्फी खींच महिला से ब्लैकमेल, आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। रक्षाबंधन मनाने मायके आई एक विवाहिता के गले में हाथ डाल कर जबरदस्ती सेल्फी ली और बाद में फोटो दिखाकर ब्लैकमेल करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यह मामला दर्री थाना क्षेत्र का है। 

पीडि़ता ने युवक से त्रस्त होकर मामले की शिकायत करते हुए बताया कि रक्षाबंधन में घर आने बाद वह यहीं रह रही थी। इस बीच उसके जन्मदिन पर रिजवान खान पिता शमशाद खान 25 निवासी नगोईखार दर्री ने गले में हाथ डालकर जबरदस्ती सेल्फ ी ले ली। उसके बाद से आरोपित घर में जब वह अकेली रहती तब छेड़छाड़ किया करता था। मना करने पर आरोपित ने फ ोटो को उसके पति को भेजने व उसके माता-पिता को जान से मारने धमकी देता। दर्री पुलिस ने धारा 354, 509 ख के तहत मामला कायम कर सोमवार को आरोपित रिजवान खान को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा दिया है।
बड़ी खबर: पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर के पुत्र को बंधक बनाकर मारपीट का आरोपी देवेन्द्र पाण्डेय पुत्र सहित गिरफ्तार

बड़ी खबर: पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर के पुत्र को बंधक बनाकर मारपीट का आरोपी देवेन्द्र पाण्डेय पुत्र सहित गिरफ्तार

कोरबा। छत्तीसगढ़ के पूर्व गृह मंत्री ननकीराम कंवर के पुत्र संदीप कंवर को बंधक बनाकर मारपीट और जातिगत दुव्र्यवहार के मामले में तथाकथित भाजपा नेता देवेंद्र पांडे और उनके पुत्र शुभम पांडे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
 
 
गत 26 अगस्त की घटना की शिकायत रामपुर पुलिस सहायता केंद्र में दर्ज करवाई गई थी। शिकायत दर्ज कराने के बाद भी आरोपियों को गिरफ्तार नही किया गया था जिसको देखते हुए पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर ने रायपुर सीएम हाउस के सामने धरना प्रदर्शन की चेतावनी देते हुए जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की थी।
 
 
इस मामले को लेकर छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज के जिला अध्यक्ष सेवक राम कंवर ने भी मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आरोपियों के विरुद्ध अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किए जाने की मांग की थी। उधर कंवर आदिवासी विकास समिति रायपुर ने भी कार्रवाई की मांग को लेकर मोर्चा खोल दिया था जिसके बाद आज सुबह देवेंद्र पांडेय व उनके पुत्र को गिरफ्तार कर रामपुर पुलिस अपने साथ पुलिस सहायता केंद्र ले आयी है।
 
 
पिछले दिनों पूर्व गृह मंत्री ननकीराम कंवर के पुत्र संदीप कंवर व कथित ने भाजपा नेेेता देवेंद्र पांडेय और पुत्र सुभम पांडेय के साथ रुपए को लेकर विवाद हुआ था। इस दौरान पूर्व सहकारिता बैंक के अध्यक्ष देवेंद्र पांडे ने अपने पुत्र शुभम पांडे के साथ मिलकर संदीप कंवर को बंधक बना लिया था। उसके साथ जातिगत गाली गलौज और मारपीट की घटना की गई थी।
 भोजन विवाद को लेकर पति ने की पत्नी की डंडे से पीटकर हत्या, पढ़े पूरी खबर

भोजन विवाद को लेकर पति ने की पत्नी की डंडे से पीटकर हत्या, पढ़े पूरी खबर

कोरबा। भोजन को लेकर हुए विवाद के बाद पहाड़ी कोरवा ने अपनी पत्नी को दौड़ा-दौड़ा कर डंडे से इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई। उसका कहना था कि इसे मार कर मटन बनाऊंगा। बाद में मृतका के भाई को घटना की जानकारी दी और फ रार हो गया। पुलिस ने देर शाम आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।
 
 
पुलिस सूत्रों के अनुसार घटना लेमरू थाना क्षेत्र के ग्राम देवपहरी क्षेत्र की है। ग्राम चिरईझुंझ डोकरमना का निवासी राम सिंह पहाड़ी कोरवा उरगा स्थित हायर सेकंडरी स्कूल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है। वह पांच सितंबर की शाम परिवार समेत अपने ससुराल ग्राम जामभाठा देवपहरी गया हुआ था।
 
 
रविवार सुबह करीब छह बजे उसका जीजा व देवपहरी कन्या माध्यमिक शाला में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी मनीराम कोरवा जामभाठा आकर उसे बहन मानकुंवर के मौत की सूचना दी। रामसिंह खबर सुनते ही पत्नी मीना को मोटरसाइकल पर बिठाकर देवपहरी के लिए रवाना हो गया। जबकि आरोपी मनीराम गांव के दूसरे लोगों को बुलाने की बात कहकर जामभाठा में ही रुक गया। इधर रामसिंह व उसकी पत्नी को रास्ते में अन्य ग्रामीणों ने बताया कि पांच सितंबर को उसकी बहन मानकुंवर व मनीराम के बीच भोजन को लेकर काफी विवाद हो रहा था।
 
 
दोपहर डेढ़ बजे से लेकर रात नौ बजे तक मनीराम अपनी पत्नी मानकुंवर को डंडा लेकर स्कूल परिसर में दौड़ा-दौड़ाकर मार रहा था और कह रहा था कि इसे मारकर मटन बनाऊंगा। दरिंदगी पूर्वक मारपीट से मानकुंवर के हाथ-पैर, सिर, चेहरा और शरीर में गंभीर चोट पहुंची व मौत हो गई। मृतका के भाई रामसिंह की सूचना पर लेमरू पुलिस ने मर्ग कायम करने के साथ ही फरार आरोपित मनीराम के विरुद्ध धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है। आरोपित की तलाश शुरू की गई और देर शाम उसे गांव से बाहर पकड़ लिया गया।
अब दुकानें सुबह नौ से शाम सात बजे तक खुलेंगी, स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर, सिनेमा हॉल बंद रहेंगे, कलेक्टर ने जारी किया निर्देश

अब दुकानें सुबह नौ से शाम सात बजे तक खुलेंगी, स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर, सिनेमा हॉल बंद रहेंगे, कलेक्टर ने जारी किया निर्देश

कोरबा, कोरबा जिले में कोरोना संक्रमण नियंत्रण को देखते हुए कल एक सितंबर से शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरी सामान बेचने वाली दुकानें, एकल दुकाने, कॉलोनी की दुकानें और आवासीय परिसरों मे संचालित होने वाली दुकानें सुबह नौ बजे से शाम सात बजे तक खुलेंगी। जिला दण्डाधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने इस संबंध में जरूरी निर्देश आज शाम कलेक्टोरेट से जारी कर दिए हैं। घर पर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता और न्यूज पेपर हॉकर आवश्यकतानुसार सुबह एवं शाम के समय वितरण कार्य करेंगे। जिले के सभी शासकीय,अद्र्धशासकीय एवं अशासकीय कार्यालय कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संचालित होंगे। मेडिकल संबंधी व्यवसाय के संस्थान, हॉस्पीटल, जांच केन्द्र, पैट्रोल पंप, बैंक सहित अन्य वित्तीय संस्थान अपने पूर्व निर्धारित समयानुसार संचालित होंगे।


जारी किए गए निर्देशों के अनुसार स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक एवं कोचिंग संस्थाएं अभी बंद रहेंगी केवल ऑनलाइन या दूरस्थ शिक्षा की अनुमति होगी। सभी सिनेमा हॉल, स्विमिंग पुल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, बार, ऑडिटोरियम आदि स्थान भी आगामी आदेश तक बंद रहेंगे। भीड़-भाड़ वाले सार्वजनिक आयोजनों पर पहले की तरह ही प्रतिबंध रहेगा। शॉपिंग मॉल के भीतर बच्चों के प्ले ऐरिया और गेमिंग आर्केड भी बंद रहेंगे। क्लब, योग संस्थान, व्यायाम शाला, शॉपिंग मॉल, रेस्टोरेंट, होटल संचालन पहले जारी निर्देशानुसार ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की शर्त पर भारत सरकार की एसओपी अनुसार ही संचालित होंगे।
 

कोरोना से मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार को लेकर लोगों ने किया विरोध

कोरोना से मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार को लेकर लोगों ने किया विरोध

कोरबा, छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के बालकोनगर क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 37 में कोरोना पॉजिटिव शव के अंतिम संस्कार के खिलाफ बस्ती के लोगों ने मोर्चा खोल दिया है। रविवार को प्रशासन द्वारा दैहानपारा के समीप कोरोना से मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार की तैयारी की खबर जैसे ही बस्ती के लोगों को लगी वे एकत्र हो गए और इसका विरोध करने लगे। यहां बताना होगा कि प्रशासन ने कोविड 19 के मरीजों के अंतिम संस्कार के लिए इस स्थान का चयन किया है।
आपको बता दे कि 25 अगस्त को भी एक शव का अंतिम संस्कार यहां किया गया था। इसके बाद कलेक्टर से लिखित में स्थान बदलने की मांग की गई थी। बस्ती के लोग विरोध करते हुए धरने पर बैठक गए हैं और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। मौके पर प्रशासन व निगम के अधिकारी सहित पुलिस भी पहुंच चुकी है।
 

ऑनलाइन ऑर्डर करने पर रात दस बजे तक होगी खाने की होम डिलीवरी, जारी हुआ आदेश

ऑनलाइन ऑर्डर करने पर रात दस बजे तक होगी खाने की होम डिलीवरी, जारी हुआ आदेश

कोरबा। कोरोना संक्रमण को थामने के लिए कलेक्टर किरण कौशल ने जिले में व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और दुकानों को सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक संचालित करने के निर्देश पहले जारी किए हैं। इस निर्देश में होटल-रेस्टोरेंटो के संचालन का समय भी सुबह आठ बजे से दोपहर तीन बजे तक निर्धारित किया गया है। प्रशासन ने अब अलग से आदेश जारी कर तीन बजे के बाद होटल-रेस्टोरेंटो से ऑनलाइन डिलीवरी की अतिरिक्त छूट रात दस बजे तक दे दी है। होटल-रेस्टोरेंटो को केवल ऑनलाइन माध्यम से मिले ऑर्डरों पर ही होम डिलीवरी की यह छुट लागू रहेगी। इसके अतिरिक्त पहले की तरह ही सुबह आठ से दोपहर तीन बजे तक होटल-रेस्टोरेंटो से पार्सल सुविधा, डाइनिंग और होम डिलीवरी भी यथावत चालू रहेगी। सभी संस्थानो को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ही संचालन की अनुमति होगी। प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने पर संबंधित संस्थान होटल-रेस्टोरेंट के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। 
 प्रेमजाल में फंसाकर तीन वर्ष तक बनाया शारीरिक संबंध, शपथपत्र के समक्ष रचाया शादी और तीन दिन बाद किया संबंध विच्छेद

प्रेमजाल में फंसाकर तीन वर्ष तक बनाया शारीरिक संबंध, शपथपत्र के समक्ष रचाया शादी और तीन दिन बाद किया संबंध विच्छेद

कोरबा। युवक पहले युवती को अपने प्रेमजाल में फांसता है फिर उससे शादी का वादा करके तीन वर्ष तक शारीरिक संबंध स्थापित करता है। युवती द्वारा जब शादी करने दबाव बनाया जाता है तब युवक शपथपत्र के समक्ष शादी तो रचाता लेकिन शादी के तीन दिन बाद शपथपत्र के ही माध्यम से युवती से दबावपूर्वक संबंध विच्छेद कर लेता है।
 
 
पीडि़ता की शिकायत पर पुलिस द्वारा युवक के विरुद्ध अनेक धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया जाता है तथा आरोपी को जेल जाना पड़ता है। लेकिन जेल से छूटने के बाद आरोपी पुन: युवती के घर पहुँचकर डरा-धमका तथा मारपीट करते हुए बलपूर्वक शारीरिक संबंध बनाता है। पीडि़ता द्वारा इस बाबत न्याय की मांग लेकर पुलिस कप्तान कार्यालय तक दस्तक देती है लेकिन इस बार उसकी फरियाद पर कोई कार्यवाही नही किया जाता और ऐसे में आरोपी का हौसला बुलंद हो जाता है।
 

उक्त वाक्या है जिले के कटघोरा थानांतर्गत ग्राम कसनिया का जहाँ निवासरत युवती को गत 2016 में कटघोरा पुरानी बस्ती निवासी हासिम खान पिता अकरम खान द्वारा अपने प्रेमजाल में फं साकर और शादी करने का झांसा देते हुए लगातार तीन वर्ष तक शारीरिक संबंध स्थापित करता रहा। इस बीच युवती द्वारा शादी का दबाव बनाए जाने पर गत 03 दिसंबर 2019 को युवक द्वारा शपथपत्र के समक्ष शादी रचाया गया और शादी के तीन दिन बाद यानी 06 दिसंबर 2019 को शारीरिक एवं मानसिक यातना देते हुए नाटकीय ढंग से पुन: शपथपत्र के माध्यम से दबावपूर्वक संबंध विच्छेद कर लिया गया। पीडि़ता द्वारा मामले की शिकायत कटघोरा थाना में की गई जहाँ शिकायत के आधार पर पुलिस द्वारा आरोपी के विरुद्ध भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 376, 417, 506, 342, 06 बालक-बालिका संरक्षण अधिनियम के तहत कार्यवाही कर न्यायालय में पेश किया गया। जहां से आरोपी को जेल भेजा गया।
 
 
कुछ दिनों बाद आरोपी जमानत पर जेल से रिहा होने पश्चात पीडि़ता को बार-बार फोन करके अश्लील गाली-गलौज व मारने की धमकी देने लगा एवं 22 जून 2020 की रात लगभग 10.30 बजे आरोपी हासिम एकाएक युवती के घर आ धमका तथा अकेलेपन का फायदा उठाकर जेल भेजे जाने की बात कहते हुए गाली-गलौज के अलावा मारपीट करते हुए बलपूर्वक शारीरिक संबंध स्थापित किया। पीडि़ता ने 23 जून 2020 को कटघोरा थाना पहुँचकर इस बाबत लिखित शिकायत दी थी। जिस पर कोई कार्यवाही नही किये जाने के कारण बीते 01 जुलाई 2020 को पीडि़ता द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुँचकर अपनी शिकायत पत्र सौंप उचित कार्यवाही एवं न्याय की मांग की गई। किंतु आज पर्यंत समय तक पीडि़ता युवती को न्याय नही मिल पाया है और वह न्याय की आस में इधर-उधर की ठोकरे खाते फि र रही है। इस विषय पर पीडि़ता का कहना है कि उक्त पूरे घटनाक्रम के बाद आरोपी का हौसला काफी बुलंद है जिससे वह भय भरे माहौल में जीवन व्यतीत कर रही है। ऐसे में कभी भी उसके साथ अनहोनी घटना घटित हो सकती है।
प्रेम-प्रसंग को छिपाने की नीयत से कर दिया छोटी बहन की हत्या, पढ़े पूरी खबर

प्रेम-प्रसंग को छिपाने की नीयत से कर दिया छोटी बहन की हत्या, पढ़े पूरी खबर

कोरबा। मोबाइल विवाद को लेकर नहीं, बल्कि किशोरी ने अपने छोटी बहन की हत्या अपने प्रेम प्रसंग को छिपाने की नीयत से की थी। घर पर परिजन नहीं थे, प्रेमी के साथ छोटी बहन ने आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया। परिजनों को इसकी जानकारी न लगे, इसलिए किशोरी ने प्रेमी के साथ मिलकर बहन की हत्या कर दी और मोबाइल विवाद की वजह से हत्या किए जाने की बात कह पुलिस को गुमराह करती रही। कटघोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत मल्दा गांव में रहने वाली 16 साल की किशोरी व उसकी 13 साल की बहन शुक्रवार की रात घर पर थे। माता-पिता पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने बाहर गए थे। शनिवार की सुबह किशोरी ने आसपास के लोगों को बहन की मौत हो जाने की सूचना दी। प्रथम दृष्टया ही हत्या का मामला स्पष्ट होने पर पुलिस ने किशोरी को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो मोबाइल को लेकर विवाद होने की वजह से कुल्हाड़ी से सिर पर वार कर हत्या किए जाने की बात स्वीकार की। पुलिस के गले भले ही यह बात नहीं उतर रही थी। पुलिस शुरू से ही इस मामले को प्रेम प्रसंग से जोड़ कर देख रही थी और यह अंदेशा अंतत: सही निकला। कड़ी पूछताछ में किशोरी ने स्वीकार करते हुए बताया कि उसका प्रेम संबंध कटघोरा के बंधन बैंक में आर ओ पद पर कार्यरत विनय कुमार जगत 23 के साथ है। माता-पिता के बाहर जाने की वजह से उसने रात करीब तीन बजे उससे संपर्क कर घर बुलाया। उस वक्त उसकी बहन सो रही थी, लेकिन अचानक उसकी नींद खुल गई और विनय के साथ बड़ी बहन को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया। इस वजह से विनय और उसकी बहन के हाथ-पांव फू ल गए। परिजनों के सामने पोल न खुले, इसलिए विनय ने कहा कि इसकी हत्या कर देते हैं। बड़ी बहन काफी डरी हुई थी इसलिए वह भी राजी हो गई। दोनों ने मिलकर सुबह करीब 4.30 बजे उसकी कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपित विनय व मृतका की बहन को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित युवक मूलत: पौंसरी गांव बिल्हा जिला बिलासपुर का रहने वाला है। कटघोरा के बंधन बैंक में आरओ के पद पर कार्यरत है। ऋ ण संबंधी बैंकिंग कामकाज के लिए वह अक्सर मल्दा आया करता था। इसी बीच उसका किशोरी से प्रेम संबंध स्थापित हो गया। घटना के बाद वह फरार हो गया था। पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर कटघोरा के ही एक गांव से आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

दस जुआरी गिरफ्तार : ताशपत्ती, तिरपाल व 52 हजार 500 रुपये जप्त

दस जुआरी गिरफ्तार : ताशपत्ती, तिरपाल व 52 हजार 500 रुपये जप्त

कोरबा | पुलिस अधीक्षक  अभिषेक मीणा के मार्गदर्शन व नगर पुलिस अधीक्षक  राहुल देव शर्मा के दिशा निर्देशन पर जुआ रेड कर आरोपीयो को गिरफ्तार किया गया। कार्यवाही में निरीक्षक लखन लाल पटेल थाना प्रभारी उरगा एवं थाना स्टाफ  उरगा की अहम भूमिका रही।

READ : फंदों पर लटके मिले एक ही परिवार के 5 लोगों के शव, जाने कहा की है यह घटना 

उरगा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ लोग झीका मड़वारानी के पास कुछ लोग जुआ खेल रहे है सूचना कि तस्दीक करते हुये उक्त स्थान पर रेड कारवाही किया गया, जो मौके पर पुलिस को देखकर जुवाडिय़ा भागने लगे जिन्हें घेरा बंदी कर पकड़ा गया एवम आरोपियो के कब्जे से ताशपत्ती, तिरपाल व 52 हजार 500 रुपये जप्त किया जाकर आरोपियो के विरुद् धारा 13 जुआ अधिनियम के तहत की कार्यवाही की गई। संपूर्ण कार्यवाही में थाना बालको स्टाफ  की भूमिका सराहनीय रही है।
 
बड़ी बहन ने कर दी छोटी बहन की हत्या, जानिये क्या थी वजह

बड़ी बहन ने कर दी छोटी बहन की हत्या, जानिये क्या थी वजह

कटघोरा, मोबाइल को लेकर दो बहनों में चल रहा विवाद इतना बढ़ गया कि बड़ी बहन ने छोटी बहन की हत्या कर दी। मामला कटघोरा थाना अंतर्गत मल्दा क्षेत्र का है। फिलहाल कटघोरा पुलिस ने बड़ी बहन को गिरफ्तार कर पुछताछ शुरू कर दी है।


मिली जानकारी के अनुसार कटघोरा थाना अंतर्गत मल्दा क्षेत्र में रहने वाली मृतका 13 वर्षीय सुनैना अपनी बड़ी बहन के साथ घर पर सोई हुई थी इस दौरान घर पर कोई नही था। माता-पिता परिवारिक कार्यक्रम से ग्राम पुटूवा गए हुए थे। शनिवार सुबह जब घर के ही एक बुजुर्ग सदस्य ने कमरे में जाकर सुनैना को उठाने की कोशिश की तो वह नहीं उठी और देखा कि उसके गले व सिर पर चोट के निशान देख कर बुजुर्ग डर गया तथा इसकी सूचना गाँव में अन्य लोगों को दी। जब मामले की जानकारी कोटवार को हुई तो घटना की सूचना कटघोरा पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और जांच कार्रवाई शुरू कर दी है। फिलहाल कटघोरा पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर पंचनामा कार्यवाही करते हुए मृतका का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है तथा बड़ी बहन को अपनी हिरासत में ले लिया है।


बताया जाता है की दोनों बहनों के बीच अक्सर मोबाइल को लेकर झगड़ा होते रहता था। शुक्रवार शाम को भी उसी को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ। और सुबह बड़ी बहन ने ही कुल्हाड़ी से अपनी छोटी बहन को मौत के घाट उतार दिया। हालांकि पुलिस ने अभी पुष्टि नही की है कि सुनैना की हत्या उसकी बड़ी बहन ने ही की है। हत्या का मुख्य कारण क्या है इसकी पूरी जानकारी जांच के बाद ही पता चलेगा।
 

 कोरोना कहर: जिले के समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान शनिवार के स्थान पर अब शुक्रवार को रहेगे बंद

कोरोना कहर: जिले के समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान शनिवार के स्थान पर अब शुक्रवार को रहेगे बंद

कोरबा। कोरबा जिले में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को लेकर कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल के द्वारा सप्ताह में एक दिन सभी नगरीय निकाय क्षेत्रान्तर्गत समस्त दुकाने बंद रखे जाने मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को दिये गए निर्देश के परिपालन में पाली नगर पंचायत द्वारा बीते 19 अगस्त 2020 को लिए गए प्रेसीडेंट इन कौंसिल की बैठक पश्चात प्रत्येक शुक्रवार को नगरीय सीमान्तर्गत सभी दुकाने बंद रखने का निर्णय पारित किया गया जिसके अनुसार आज से प्रत्येक शुक्रवार को पाली नगर पंचायत क्षेत्रान्तर्गत समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठाने पूर्णत: बंद रहेगी। हालांकि नगर में गठित व्यवसायी संघ द्वारा पूर्व में प्रत्येक शनिवार को नगरीय सीमा की सभी दुकाने बंद रखे जाने के लिए गए निर्णय को अमल में लाया जा रहा था। जहाँ कलेक्टर के निर्देशानुसार वर्तमान नगर पंचायत द्वारा दुकाने बंद रखे जाने के परिवर्तन को लेकर आधे व्यापारी वर्ग सहमत तो आधों में अनेकों प्रकार की चर्चा, प्रतिक्रिया व असहमति रही है। किंतु अब शनिवार के स्थान पर शुक्रवार को दुकाने बंद रहेगी। क्योंकि वर्तमान तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या एवं पाली में भी 3 पॉजिटिव पाए जाने को लेकर कोविड. 19 की रोकथाम एवं बचाव हेतु उक्त निर्णय लिया गया है।

इस विषय पर नगर पंचायत अध्यक्ष उमेश चंद्रा से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन ने नगरीय क्षेत्रों के लिए कोविड प्रोटोकॉल जारी कर उसका सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। जिसके तहत नगरीय निकायों में सप्ताह में एक दिन समस्त दुकाने बंद रखे जाने एवं दुकानों के संचालन का नया संशोधित समय लागू किया गया है। जिसके परिपालन में लिए गए निर्णयानुसार शनिवार के बजाय शुक्रवार को नगर सीमा की समस्त दुकाने बंद रखे जाने का लाभ यह होगा कि इस दिन स्थानीय स्तर पर आपातकाल को छोड़कर ज्यादा चहलकदमी नही होगी। इसके अलावा दूसरे दिन शनिवार होने के कारण पाली मुख्यालय में संचालित शासकीय कार्यालयों एवं बैंकों में भीड़ कम एकत्रित होगी जबकि तीसरे दिन रविवार होने के कारण सभी शासकीय-अर्धशासकीय व बैंक स्वत: बंद रहेंगे जिससे स्थानीय स्तर पर लोगों के आनेजाने की संख्या लगभग ना के बराबर रहेगी और इस प्रकार आवाजाही तथा भीड़ की संख्या कम करके बढ़ते कोरोना संक्रमण से रोकथाम व बचाव का प्रयास किया जा सकता है। जिस कार्य हेतु स्थानीय व्यवसायियों व नागरिकगणों से सहयोग एवं सुझाव की सादर अपेक्षा है। अध्यक्ष चंद्रा से जिला प्रशासन द्वारा जारी कोविड प्रोटोकॉल का स्थानीय दुकानदारों को किस प्रकार पालन कराने के विषय मे पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि दुकानों पर ग्राहकी के दौरान दुकानदार तथा ग्राहकों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा। जिसके तहत मास्क पहनकर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर ही दुकानों से खरीददारी की अनुमति रहेगी तथा कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन होने पर जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए निर्देशानुसार जुर्माने हुए दुकान बंद कराने की कार्यवाही की जाएगी। ताकि पाली नगर की जनता को कोरोना महामारी से बचाव कार्य को लेकर लिए गए निर्णय तथा प्रयास सफल हो।
छत्तीसगढ़: कोरोना संक्रमित व्यक्ति की सिम्स अस्पताल में हुई मौत, बढ़ने लगा कोरोना से मौत का आंकड़ा

छत्तीसगढ़: कोरोना संक्रमित व्यक्ति की सिम्स अस्पताल में हुई मौत, बढ़ने लगा कोरोना से मौत का आंकड़ा

कोरबा। आज कोरबा जिले के व्यक्ति की कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण बिलासपुर के सिम्स अस्पताल में मृत्यु हो गई। यह जिले में इस बीमारी से होने वाली दूसरी मौत है। कल ही दर्री, भिलाई बाजार निवासी एक व्यक्ति की मृत्यु रायपुर के कोविड अस्पताल में हुई थी।
 
 
जानकारी के अनुसार मृतक की पत्नी एसईसीएल के एनसीएच गेवरा अस्पताल में स्टाप नर्स है। तबीयत बिगडऩे पर व्यक्ति को पहले अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर में भर्ती कराया गया था। वहां से सिम्स बिलासपुर और फिर मेन हॉस्पिटल कोरबा में स्थानांतरित किया गया था। कोरबा हॉस्पिटल में आने के बाद जब पहली बार उनका कोरोना टेस्ट किया गया तो रिपोर्ट पॉजि़टिव पाई गई। अपोलो और सिम्स बिलासपुर में मृतक का कोरोना टेस्ट क्यों नहीं किया गया यह एक बड़ा सवाल है। जिसके बाद उन्हें एक बार फिर बिलासपुर सिम्स में स्थानांतरित किया गया। जहा आज सुबह उनकी मृत्यु हो गई। व्यक्ति की उम्र 57 वर्ष थी।
 
 
जानकारी सार्वजनिक होने के साथ अस्पताल प्रबंधन और स्थानीय प्रशासन हरकत में आया। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए तत्कालिक रूप से एसईसीएल केंद्रीय चिकित्सालय की ओपीडी सेवा बंद कर दी गई। उन सभी क्षेत्रों को भी बंद किया गया, जहां से जुड़ी सेवाओं को बाहर के लोग ले रहे हैं। चिकित्सालय के बाहरी और आंतरिक हिस्से को कीटाणुरहित करने का काम किया गया। अस्पताल प्रबंधन ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सभी कर्मियों को विशेष सतर्कता अपनाने को कहा है। एनसीएच के स्वास्थ्य सेवाएं प्रमुख डॉ. ए.के.बेहरा ने बताया कि एक कर्मचारी के परिजन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के मद्देनजर ओपीडी सेवा एक दिन के लिए प्रतिबंधित की गई है। वार्डों और आंतरिक स्तर पर चलने वाली सेवाएं यथावत हैं। अस्पताल में आपातकालीन व्यवस्था को निर्बाध रूप से जारी रखा गया है। कल से ओपीडी की सेवा लोगों को प्राप्त होगी।
 बड़ी खबर: अब तीन बजे तक ही खुलेंगी दुकाने, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

बड़ी खबर: अब तीन बजे तक ही खुलेंगी दुकाने, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

कोरबा। जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को थामने के लिए जिला प्रशासन ने कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराने की कवायद शुरू कर दी है। बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के घरों से बाहर निकलने पर कार्रवाई के साथ-साथ होम क्वारेंटाइन के नियमों का सख्ती से पालन कराने के लिए प्रशासन मुस्तैद हो गया है। इसी कड़ी मे आज कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने जिले में दुकानों के खुलने-बंद होने के समय में भी संशोधन कर दिया है। अब सभी प्रकार की दुकानें सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक ही खुलेंगी। नए संशोधित समयानुसार अब दुकानें दूसरे पहर में चार घंटे पहले बंद हो जाएंगी। तीन बजे के बाद बिना किसी अतिआवश्यक काम के लोगों का घरों से निकलना भी प्रतिबंधित होगा। इस संबंध में कलेक्टर श्रीमती कौशल ने जरूरी आदेश भी जारी कर दिया है। आदेशानुसार दुकानों के संचालन का नया संशोधित समय पूरे कोरबा जिले की सीमा में स्थापित प्रतिष्ठानों और व्यावसायिक संस्थानों तथा दुकानों पर लागू होगा।
  इलाज में लापरवाही के कारण गर्भस्थ शिशु की मौत, डॉ. के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज

इलाज में लापरवाही के कारण गर्भस्थ शिशु की मौत, डॉ. के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज

कोरबा। सोमवार को नगर के नवजीवन नर्सिंग होम के संचालक डॉ.रोहित बंछोर व उनकी पत्नी के साथ उनके अस्पताल में एक महिला मरीज के परिजनों ने इलाज में लापरवाही के कारण गर्भस्थ शिशु की मौत का आरोप लगाकर हाथापाई की।

दरअसल दर्री रोड कोरबा निवासी अधिवक्ता विक्रम जायसवाल की बहन दंत रोग चिकित्सक श्रीमती प्रीति को प्रसव के लिए डॉ. बंछोर के कोसाबाड़ी क्षेत्र स्थित नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। यहां प्रसव के दौरान नार्मल डिलीवरी कराने की बात परिजनों ने कही थी लेकिन यह सम्भव न होने पर ऑपरेशन से प्रसव कराने की तैयारी के दौरान ही गर्भ में शिशु ने दम तोड़ दिया। इसकी जानकारी होने पर प्रीति के एक अन्य भाई विजय जायसवाल ने सोमवार शाम को डॉ.बंछोर के अस्पताल में पहुंचकर इलाज में लापरवाही और प्रसव कराने में देर करने से ही गर्भ में बच्चे की मौत होने का आरोप लगाया। इस बात पर विवाद में डॉ.बंछोर, उनकी पत्नी और विजय के साथ हाथापाई भी हुई।

हंगामा होने की सूचना पर रामपुर चौकी पुलिस अस्पताल पहुंची। कुछ देर में कोरबा सीएसपी राहुलदेव शर्मा भी यहां पहुंच गए थे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, कोरबा के भी पदाधिकारियों ने पहुंचकर मध्यस्थता की व किसी तरह मामला शांत हुआ। इस मामले में पीडि़त पक्ष ने प्रसव हेतु ऑपरेशन में विलंब और लापरवाही करने के कारण बच्चे की गर्भ में ही मौत हो जाने का आरोप लगाते हुए डॉ. बंछोर के खिलाफ शिकायत पुलिस चौकी में की है।
धान और मक्का बिक्री के लिए पुराने पंजीकृत किसानों को नहीं कराना पड़ेगा नया पंजीयन

धान और मक्का बिक्री के लिए पुराने पंजीकृत किसानों को नहीं कराना पड़ेगा नया पंजीयन

कोरबा | खरीफ  वर्ष 2020-21 में धान और मक्का बेचने के लिए पुराने पंजीकृत किसानो को फिर से पंजीयन कराने समिति में आने की आवश्यकता नहीं है। जिन किसानों ने खरीफ  वर्ष 2019-20 में धान और मक्का बेचने का पंजीयन करा लिया था, उन्हें नए पंजीयन की जरूरत नहीं है। पिछले सीजन में पंजीकृत किसानों की दर्ज भूमि, धान और मक्के के रकबे और खसरे को राजस्व विभाग द्वारा अद्यतन किया जाएगा।

READ : रायपुर में फूटा कोरोना बम, राजधानी में मिले 217 कोरोना मरीज, प्रदेश में कुल 428 नए मरीज 

खरीफ  वर्ष 2020-21 में किसान पंजीयन के लिए पिछले वर्ष 2019-20 में पंजीकृत किसानों का डाटा कैरी-फॉरवर्ड किया जाएगा। धान और मक्का बेचने के इच्छुक नए किसान 17 अगस्त से 31 अक्टूबर तक पंजीयन के लिए आवेदन कर सकते हैं। धान-मक्का बेचने वाले नए किसान पंजीयन के लिए संबंधित दस्तावेजों के साथ तहसील कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं। पुराने पंजीकृत किसान अपने पंजीयन में संशोधन कराना चाहते हैं तो समिति मॉड्युल के माध्यम से संशोधन करने की सुविधा प्रदान की जायेगी। 

READ : भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में निकली 3850 पदों की बम्फर भर्ती, अगर आपने आवेदन नही किया है तो ये है आपके लिए आखरी मौका 

राज्य शासन के खाद्य विभाग के अनुसार नये किसानो को पंजीयन के लिए समिति से आवेदन प्राप्त कर निर्धारित प्रारूप में आवेदन भरकर संबंधित दस्तावेजों के साथ तहसील कार्यालय में जमा करना होगा। आवेदन में उल्लेखित भूमि, धान-मक्का के रकबे एवं खसरे का पटवारी द्वारा राजस्व रिकॉर्ड के अनुसार सत्यापन किया जाएगा। सत्यापन के लिए राजस्व विभाग के भुईयां डाटा बेस का भी उपयोग किया जाएगा। संबंधित रिकॉर्ड को तहसीलदार के द्वारा परीक्षण करने के बाद नये किसान का पंजीयन किया जाएगा। पंजीयन के दौरान सभी किसानों का आधार नंबर उनकी सहमति से दर्ज किया जाएगा। आधार नंबर नहीं होने के कारण किसी भी किसान को पंजीयन से वंचित नहीं किया जाएगा।
 
फर्जी दस्तावेजो के जरिये एक महिला ने मृतक को अपना पति बताकर हड़प ली बीमा राशि

फर्जी दस्तावेजो के जरिये एक महिला ने मृतक को अपना पति बताकर हड़प ली बीमा राशि

कोरबा |एक महिला ने जनगणना पत्रक में अपने माता-पिता का नाम बदलकर दूसरी महिला के मृतक पति को अपना पति बताकर मृतक के आवेदन से अपनी पुत्री का दूसरा फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाया। फर्जी दस्तावेजों को जीवन बीमा निगम एवं शासन के समक्ष प्रस्तुत कर षडयंत्र पूर्वक मृतक की बीमा राशि 59 लाख 66 हजार 337 रुपये को अवैध रूप से प्राप्त कर वास्तविक वारिसानों को क्षति पहुंचाई है।

READ : छत्तीसगढ़ के इस जिले में 17 से 23 अगस्त तक टोटल लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश 

विवेचक एएसआई मेलाराम कठौतिया की विवेचना बाद सिटी कोतवाली पुलिस ने इस मामले में आवेदिका डॉ. श्रीमती रीता पांडेय की रिपोर्ट पर जालसाज लता वर्मा उर्फ मधु पाण्डेय महाराणा प्रताप नगर के विरुध्द दस्तावेज को कूटरचित जानते हुए भी उसे असली के रूप में उपयोग में लाने का आशय रखते हुए कब्जे में रखनेके आरोप में भादवि की धारा 474 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

READ : स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने किया देश की जनता को सम्बोधित, जानिये क्या दिया सन्देश 
फर्जी दस्तावेज तैयार कर मृतक नरेन्द्र पान्डेय की बीमा राशि को अवैध रूप से छल कपट पूर्वक प्राप्त कर उनके विधिक उत्तराधिकारी को क्षति पहुंचाने की शिकायत पत्नी डॉ. श्रीमती रीता पांडेय निवासी वार्ड क्र. 20 महावीर भवन मार्ग महासमुन्द ने की है। शिकायत में उल्लेख है कि दिनांक 30/01/2019 को रजिस्ट्रार जन्म मृत्यु शाखा नगर पालिका निगम, कोरबा में नरेन्द्र पाण्डेय द्वारा अदिति के जन्म प्रमाण पत्र हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया है जबकि आवेदक नरेंद्र की मृत्यु 26/01/2019 को हो गई थी। अब मृत व्यक्ति आवेदन कैसे कर सकता है, आवेदन में अंकित है कि 09/04/2005 को अदिति कोरबा में पैदा हुई जिसके आधार पर नगर पालिका निगम द्वारा 04/02/2019 को जन्म प्रमाण पत्र जारी किया गया जिसका पंजीयन क्र. 2019/2/000593 है।
 

कामधंधा करने की सलाह देने पर हैवान पुत्र ने की पिता की पिटाई, मामला दर्ज

कामधंधा करने की सलाह देने पर हैवान पुत्र ने की पिता की पिटाई, मामला दर्ज

कोरबा। लॉकडाउन शिथिल होने के बाद कोई कामधंधा करने की सलाह देने वाले पिता को उसके पुत्र ने घायल कर दिया। एक हाथ फैक्चर होने की रिपोर्ट आने पर पुलिस ने 294,323,324,325 का प्रकरण दर्ज किया है। जूनापारा सिरमिना में यह घटना हुई। बताया गया कि कन्हैया ने अपने पुत्र घनश्याम को कहा था कि काफी समय बीत चुका है। अब वह काम धंधे पर ध्यान दें। जिस समय यह बात चल रही थी, आरोपी नशे की स्थिति में था। उसने आव देखा न ताव, डंडे से पिता पर हमला कर दिया। दर्द से निकली चीख सुनकर परिजन सख्ते में आए। इस बीच आरोपी भाग खड़ा हुआ। पीडि़त की एक्सरे रिपोर्ट और अब तक की जानकारी के आधार पर पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर रही है।
 छत्तीसगढ़ में जहरीली शराब पीने से दो लोगो की मौत, मर्ग कायम कर जाँच में जुटी पुलिस

छत्तीसगढ़ में जहरीली शराब पीने से दो लोगो की मौत, मर्ग कायम कर जाँच में जुटी पुलिस

कोरबा। तीन साढू भाइयों ने एक साथ शराब पी और साढू भाई के आने पर दोस्त साढू भाइयों ने पहले चिकन खाया और जमकर महुआ शराब का सेवन किया। जानकारी के अनुसार बीती रात कोरबा के बलगीखार में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब जमकर शराब पीने वाले राजेश यादव, प्रसाद यादव और तीजराम यादव की तबीयत अचानक बिगड़ गई तीनों को उल्टी करने लगे और बेहोश हो गए।
 
 
यह सब देख ग्रामीणों ने तत्काल किसी तरह उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया जहां प्रसादी यादव और तीजराम की मृत्यु हो गई वहीं राजेश यादव की हालत नाजुक बनी हुई है। इसके बावजूद भी राजेश उल्टी करते करते धीरे-धीरे बातचीत भी कर रहा है। मामला यह है कि बांकी निवासी राजेश और रिसदी कोरबा निवासी तीजराम साहू साढू भाई हैं और बलगी खार में रहकर रोजी मजदूरी करते हैं।
 
 
इनका एक और साडू भाई अटारी कोरबी निवासी प्रसादी यादव कल अपने साढू भाइयों के पास मेहमान नवाजी कराने आया था राजेश और तीज राम ने बलगिखार पास के गांव से महुआ शराब खरीदी और तीनों ने उसका सेवन किया यही शराब राजेश को छोड़ उसके दोनों साढू भाइयों के लिए जानलेवा साबित हुई। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच कर रही है। 
+ Load More