प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..    |    कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा    |    लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज    |    बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान    |    मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत    |    बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट    |    ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर    |
 बड़ी खबर: युवती से मिलने पहुंचे युवक को देख पिता ने डंडे से पीट-पीट कर दी हत्या

बड़ी खबर: युवती से मिलने पहुंचे युवक को देख पिता ने डंडे से पीट-पीट कर दी हत्या

कोरबा। ठंड के सीजन में युवती से मिलने आना युवक को भारी पड़ गया। युवक को अपने क्षेत्र में मंडराते देख परिजनों ने आपत्ति दर्ज कराई और उसे जाने को कहा। मामला इतना बढ़ गया कि युवती के पिता ने आवेश में आकर डंडे से युवक पर हमला कर दिया।

पढ़ें : बड़ी खबर: कोरोना मरीज ने एम्स रायपुर के तीसरी मंजिल से कूदकर दी जान, पुलिस कर रही मामले की जाँच 

सूचना मिलने पर डायल 112 ने पीडि़त को जिला अस्पताल पहुंचाया। कुछ घंटों में उसकी मौत हो गई। पुलिस ने हमलावर के खिलाफ 302 का प्रकरण कायम कर लिया है।

पढ़ें : बड़ी खबर रायपुर: जुआ खेलते 15 जुआरी गिरफ्तार, नगदी रुपयें एवं ताश की पत्ती जब्त

बालकोनगर पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत यह घटना गुरुवार की रात 8.15 बजे हुई। खबर के अनुसार बालकोनगर में ही एक अन्य क्षेत्र का रहने वाला युवक 27 वर्षीय विक्रम दास महंत परसाभाठा पहुंचा था। बताया जा रहा है कि वह एक युवती से मिलने यहां पहुंचा था। विक्रम दास की इस इलाके में उपस्थिति की जानकारी युवती के परिजनों को हुई। जिस पर वे परेशान हो गए। युवती की मां ने अपनी ओर से युवक को नसीहत दी और उसे बार-बार यहां नहीं आने को लेकर चेताया। इस पर युवक ने कथित रूप से सफाई दी और आना-जाना नहीं रोकने की बात कही।
 
 
यहां से विवाद बढ़ा और युवती के पिता को इसकी जानकारी हो गई। एक स्थान पर अलाव ताप रहे रशीद खान ने डंडा उठाया और विक्रम दास पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। जैसे कि जानकारी मिली है तीन बार हमला होने के साथ ही युवक बेसुध हो गया। उसकी स्थिति असामान्य होने पर आसपास के लोग सखते में आ गए। इस बीच किसी व्यक्ति के द्वारा पुलिस को सूचना दी गई। डॉयल 112 की गाड़ी यहां पहुंची और इसके माध्यम से पीडि़त युवक को जिला अस्पताल कोरबा भिजवाया गया। वहां फौरी तौर पर उसकी चिकित्सा शुरू की गई।
 
 
हमले में आई चोटों की अधिकता की वजह से युवक की सांसें कुछ घंटे बाद थम गई। अस्पताल के मेमो के आधार पर अस्पताल चौकी पुलिस ने मर्ग कायम किया और बालको पुलिस को इसकी जानकारी दी। आज पंचनामा के साथ पोस्टमार्टम की कार्यवाही की गई। बालकोनगर पुलिस ने इस घटनाक्रम के सिलसिले में आरोपी हमलावर रशीद खान के खिलाफ 302 का मामला पंजीबद्ध कर लिया है।
 
 
बालको टी आई राकेश मिश्रा ने बताया कि युवक विक्रम दास वर्ष 2019 में 376 के मामले में आरोपी नामजद किया गया था। इस घटना में दुष्कर्म की शिकार युवती बालकोनगर क्षेत्र की ही थी। एक महीने पहले ही विक्रम जेल पर छूट कर आया था। गुरुवार की रात युवती से मिलने के चक्कर में उस पर हमला हुआ।
मास्क न लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग उल्लंघन पर लगा 2100 रू. का अर्थदण्ड

मास्क न लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग उल्लंघन पर लगा 2100 रू. का अर्थदण्ड

कोरबा। बिना मास्क पहने घर से निकलकर सार्वजनिक स्थानो पर पहुंचने वाले एवं सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों पर नगर पालिक निगम कोरबा द्वारा आज 2100 रूपये का अर्थदण्ड लगाया गया, साथ ही इन लोगों को कड़ी हिदायत दी गई कि वे घर से बाहर निकलने पर अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं, दुकानों, बाजारों, सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। 
 

कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, अभी भी प्रतिदिन काफी संख्या में कोरोना पाजिटिव मरीज मिल रहे हैं। इधर त्यौहारों के चलते बाजारों में भीड़ भाड़ बढ़ी है, किन्तु लोगों द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने हेतु कोई गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है, लोग बिना मास्क पहने घरों से बाहर निकलकर सार्वजनिक स्थानों पर पहुंच रहे हैं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे, जिससे संक्रमण का अधिक प्रसार होने की संभावना बनती है।
 
 
जिला प्रशासन व नगर पालिक निगम केारबा द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लगातार जरूरी कदम उठाएं जा रहे हैं, साथ ही निगम द्वारा कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन न करने वालों पर अर्थदण्ड की कार्यवाही की जा रही है। इसी कड़ी में आज निगम के विभिन्न जोनांतर्गत मास्क न पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों पर कार्यवाही करते हुए 2100 रूपये का अर्थदण्ड लगाया गया। 
रामसागर पारा तालाब में डूबे गोताखोर की सात दिन बाद तालाब से निकाली गयी लाश, पढ़ें पूरी खबर

रामसागर पारा तालाब में डूबे गोताखोर की सात दिन बाद तालाब से निकाली गयी लाश, पढ़ें पूरी खबर

कोरबा | सात दिन पहले रामसागर पारा तालाब में डुबे गोताखोर अशोक नायडु का शव आज शाम तालाब से निकाल लिया गया। पिछले सात दिनों से एनडीआरएफ और जिला पुलिस के गोताखोर  गहरे तालाब में अशोक नायडु के शव की तलाश कर रहे थे। तालाब में डुबे एक अन्य युवक के शव की तलाश में गोताखोर अशोक नायडु सात दिन पहले तालाब में उतरा था।

पढ़ें : बड़ी खबर रायपुर: ऑटों में महिला हुई उठाईगिरी की शिकार, तीन महिलाओं ने दिया चोरी की घटना को अंजाम

अधिकारियों ने अवगत कराया कि तालाब में अत्याधिक कांस की जड़ें गहराई तक होने के कारण अशोक के शव को ढुंढने में कठिनाई हो रही है। प्रशिक्षित गोताखोर प्रयास कर रहे हैं, तालाब का पानी खाली हो जाने से शव की तलाश आसान होगी। इस पर राजस्व मंत्री ने मौके पर ही बालको तथा एसईसीएल कोरबा प्रबंधन के अधिकारियों को बड़ी मशीनें लगाकर तालाब का पानी खाली कर अशोक का शव बाहर निकालने के लिए निर्देशित किया था। इस दौरान अपर कलेक्टर श्रीमती प्रियंका महोबिया सहित जिला एवं नगर निगम प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद रहे। इस बीच तालाब में शव ढुंढने में लगे एनडीआरएफ के गोताखोरों को अशोक का शव मिल गया और उसे बाहर निकाल लिया गया। 

 

 
तालाब में शव ढूंढने उतरे व्यक्ति की डूबने से हुई मौत, परिजनों ने किया चक्का जाम, पढ़ें पूरी खबर

तालाब में शव ढूंढने उतरे व्यक्ति की डूबने से हुई मौत, परिजनों ने किया चक्का जाम, पढ़ें पूरी खबर

कोरबा | जुआरी को ढूंढने के लिए पुलिस की मौजूदगी में तालाब में उतरा व्यक्ति डूब गया। छह दिन बीतने के बाद भी अब तक शव बरामद नहीं हो सका। परिजनों ने शव तलाशने में गंभीरता नहीं दिखाने व मुआवजा की मांग लेकर सर्वमंगला मंदिर पुल में चक्काजाम कर दिया। एक घंटे तक चले आंदोलन के बाद मौके पर पुलिस पहुंची पुलिस ने समझाईश देकर परिजनों को शांत कराया। पुलिस ने कहा कि अभियान चला कर जल्द ही शव की तलाश की जाएगी।

पढ़ें : BIG BREAKING : "हिचकी" फिल्म की इस अभिनेत्री की हुई मौत, जाने क्या है मौत की वजह 

दीपावली की रात राताखार में जुआ खेल रहे जुआारियों में उस वक्त हड़कंप मच गया थाए जब दो सिविलयन पुलिस को अपने करीब आते देखा। आनन-फानन में जुआरी भागे। इनमें दो जुआरी कमल गोड़ व छोटू रामसागर पारा तालाब की ओर भागे, पर बाद में छोटू अलग होकर दूसरे रास्ते अपने घर पहुंच गया। इधर घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने दूसरे दिन कमल की तलाश की गई, पर नहीं मिला। तालाब में डूबने की आशंका होने पर परिजनों ने कोतवाली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस की उपस्थित में तालाब में ढूंढने का अभियान शुरू हुआ।
 
 
इस बीच पुलिस की उपस्थिति में अशोक नायडू भी तलाश करने तालाब में उतर गया, पर पानी में डूबने से उसकी मौत हो गई। बिलासपुर से आई रेस्क्यू टीम ने मंगलवार को जुआरी कमल गोड़ का शव बाहर निकाल लिया, पर छह दिन बीतने के बाद भी अशोक नायडू का शव नहीं निकल सका। इससे परिजनों में नाराजगी व्याप्त हो गई। शनिवार को अशोक के परिजनों ने एकाएक सर्वमंगला मंदिर पुल पहुंच कर चक्काजाम कर दिया। इससे मार्ग में आवाजाही बंद हो गई। परिजनों का कहना था कि पुलिस शव ढूंढने में कोताही बरत रही है। पुलिस की उपस्थिति में अशोक पानी में उतरा और डूब गया, इसलिए मुआवजा दिया जाना चाहिए। आंदोलन की खबर मिलते ही कोतवाली टीआई दुर्गेश शर्मा पुलिस बल के साथ पहुंचे और परिजनों से चर्चा की। समझाईश देते हुए उन्होने कहा कि तलाशी अभियान चला कर अशोक को खोजा जाएगा। पुलिस हर संभव मदद करने के लिए तैयार है। इसके बाद आंदोलन खत्म किया गया। इस पर राहगीरों ने राहत की सांस ली।
 
बड़ी खबर: पुलिस आरक्षक के घर दबिश, बड़े पैमाने पर अवैध लकडिय़ां बरामद

बड़ी खबर: पुलिस आरक्षक के घर दबिश, बड़े पैमाने पर अवैध लकडिय़ां बरामद

कोरबा। वन मंडल कोरबा के अंतर्गत करतला रेंज के रेंजर ने लगातार मिल रही सूचना पर अपने वरिष्ठ अधिकारियों से मार्गदर्शन प्राप्त कर एवं उनके निर्देश पर एक पुलिस आरक्षक के घर दबिश दी। करतला थाना में पदस्थ इस आरक्षक के घर से बड़े पैमाने पर अवैध रूप से रखी गई इमारती लकडिय़ों को बरामद कर जप्त किया गया है।


रेंजर जीवनलाल भारती ने बताया कि आरक्षक दिनेश कुमार बाँधे के करतला पुलिस कालोनी परिसर स्थित विभागीय आवास पर अवैध लकडिय़ां रखी हुई थी। घर के अलावा पड़ोसियों के घर व पैरावट में छिपाकर रखे गए साल, सागौन, बीजा की बल्ली, पट्टी, चिरान को जप्त करने के साथ ही आरक्षक के विरुद्ध वन संरक्षण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध किया जा रहा है।
 बड़ी खबर: मामा के घर जा रहे युवक की सड़क हादसे में मौत, अनियंत्रित होकर तेज रफ्तार कार से जा टकराई बाइक

बड़ी खबर: मामा के घर जा रहे युवक की सड़क हादसे में मौत, अनियंत्रित होकर तेज रफ्तार कार से जा टकराई बाइक

कोरबा। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां मामा के घर जा रहे एक युवक की सड़क हादसे में मौत हो गई।  जानकारी के मुताबिक कोरबा निवासी किशन प्रजापति बुधवार की रात बाइक से अपने मामा के घर जा रहा था। रास्ते में मंहगई गांव स्थित हाईस्कूल के पास तेज रफ्तार से आ रही कार अनियंत्रित हो गयी और किशन प्रजापति की बाइक में टक्कर मार दिया। इस घटना में किशन प्रजापति की मौके पर ही मौत हो गयी। 
 
पैसे डालने के बहाने रिटायर्ड कर्मी के खाते से 37 लाख पार, पढ़ें पूरी खबर

पैसे डालने के बहाने रिटायर्ड कर्मी के खाते से 37 लाख पार, पढ़ें पूरी खबर

कोरबा | दीपका कॉलोनी निवासी भगवान सिंह चौहान रिटायर्ड एसईसीएल कर्मी है। उसे रिटायरमेंट पर एसईसीएल से 62 लाख मिले थे। इसमें से कुछ रकम खर्च हो गए। वहीं बाकी 41 लाख रुपए दीपका के यूको बैंक के चालू खाता में था। एक माह पहले भगवान के मोबाइल पर कॉल आया।

पढ़ें : बड़ी खबर : मुुंगेली की जिला एवं सत्र न्यायाधीश की फांसी पर झूलती मिली लाश, पुलिस कर रही मामले की जाँच

इसमें सामने वाले ने बैंक खाता में रकम जमा करने के बहाने गोपनीय जानकारी हासिल कर ली। इसके बाद खाते से रकम कटता गया, लेकिन भगवान को पता नहीं चला । गुरुवार को बैंक में पैसा निकालने पहुंचने पर उसे खाते से 37 लाख रुपए पार होने का पता चला। तब उसने दीपका थाना पहुंचकर रिपोर्ट लिखाई।

पढ़ें : बस्तर से नक्सलवाद को समाप्त करने के सम्बन्ध में सीएम बघेल ने केंद्रीय गृहमंत्री को लिखा पत्र, पढ़ें पूरी खबर 

इसमें बताया कि अलग अलग मोबाइल नंबर से उसे कॉल करके जानकारी मांगने वाला अपना नाम हिमांशु शेखर बताता था। वह जान से मारने की धमकी भी देता था। इस कारण वह डर से किसी को कुछ नहीं बता रहा था। पुलिस ने मामले में धोखाधड़ी का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है ।

 

 
साइबर सेंटर की आड में रेल टिकट का अवैध कारोबार : एजेंट गिरफ्तार, भारी मात्रा में टिकट व कंप्यूटर जब्त

साइबर सेंटर की आड में रेल टिकट का अवैध कारोबार : एजेंट गिरफ्तार, भारी मात्रा में टिकट व कंप्यूटर जब्त

कोरबा। आरपीएफ  कोरबा की टीम ने रेलवे के ई-टिकट का अवैध कारोबार करने वाले एक एजेंट को पकडा है। वह साइबर सेंटर की आड में लोगों से अधिक राशि लेकर टिकट आरक्षित करता था। सेंटर से भारी मात्रा में टिकट व कंप्यूटर भी जब्त किया गया है।
 

रेलवे ई-टिकटिंग के अवैध कारोबार पर लगाम कसते हुए रेलवे सुरक्षा बल की टीम ने एक और कार्रवाई की है। लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर आरपीएफ  पोस्ट कोरबा की टीम ने अभियान चलाते हुए यह कार्रवाई की। इस टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से दीपका क्षेत्र में दबिश दी और यहां संचालित एक दुकान में ई-टिकटों समेत एक एजेंट को रंगे हाथ गिरफ्तार किया। रेलवे पुलिस बल कोरबा के प्रभारी निरीक्षक के के झा ने बताया कि सूचना मिली थी की दीपका में सेवा केंद्र की आड़ में अवैध टिकट का काम किया जा रहा है।
 
 
इस सूचना के आधार पर बल ने केंद्र में छापा मारा। केंद्र में प्रयुक्त कंप्यूटर जब्त किया गया और टिकट भी बरामद की। आरपीएफ  की ज्यादातर कार्रवाई में पर्सनल यूजर आईडी का खेल सामने आता रहा है, जिसमें एजेंट एक से अधिक आइडी बनाकर टिकट बुकिंग कर लेते हैं और अपना गोरखधंधा चलाते हैं। दीपका, छुरी, ट्रांसपोर्टनगर व निहारिका से लेकर उरगा व कटघोरा में पूर्व की कार्रवाई के दौरान भी इसी तरह पर्सनल यूजर आइडी का दुरूपयोग करते एजेंट पकड़े जाते रहे हैं और यह सिलसिला जारी है।
 

रेलवे पुलिस बल की इस ताजा कार्रवाई में भी आरोपित के नाम यूजर आईडी भी जब्त की गई है। स्पष्ट है कि फर्जी आइडी व पासवर्ड बनाकर रेलवे ई-टिकट तैयार करने का हुनर तेजी से फ ल-फू ल रहा है। नियम में चलकर थोड़ी सी कठिनाई से बचने लोग इनके झांसे में आकर अपनी गाढ़ी कमाई लुटा बैठते हैं। ऐसे केंद्रों का सहारा लेकर लोग एक तरह रेलवे को होने वाले नुकसान का कारण भी बन रहे।
 बड़ी खबर: चरित्र संदेह के चलते पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट, गला दबाने के साथ कैंची से किया हमला

बड़ी खबर: चरित्र संदेह के चलते पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट, गला दबाने के साथ कैंची से किया हमला

कोरबा। दीपावली पर्व की तैयारी में लगे लोगों को उस वक्त हैरानी हुई जब उन्हें एक विवाहित महिला की हत्या की खबर हुई। उसका शव घर के एक कमरे में मृत स्थिति में पाया गया। पुलिस ने इस मामले में उसके पति को हिरासत में लिया है। चरित्र संदेह की बातें शुरुआती पूछताछ में सामने आई है।

पढ़ें : BIG BREAKING : बॉलीवुड के एक और अभिनेता ने फांसी लगा कर की आत्महत्या, बॉलीवुड इंडस्ट्री में शोक की लहर

रामपुर पुलिस चौकी अंतर्गत पोड़ीबहार क्षेत्र में पुष्पा श्रीवास 35 वर्ष का शव उसके घर के शयनकक्ष में पाया गया। लहूलुहान स्थिति में आज शव मिलने के साथ आसपास में यह खबर आम हो गई। मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। सूचना दिए जाने पर रामपुर क्षेत्र की पुलिस यहां पहुंची और यहां का मुआयना किया। इस दौरान फॉरेसिक एक्सपर्ट को भी घटना स्थल पर बुलवाया गया। जिसके माध्यम से जरूरी जांच की गई।
 
 
महिला के गले में धारदार हथियार से चोट के निशान पाये गए। इस मामले को लेकर पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ की और उनसे मिली जानकारी के आधार पर मृतका के पति विजय श्रीवास को हिरासत में ले लिया। खबर के अनुसार चरित्र संदेह को लेकर अक्सर दंपत्ति में वाद-विवाद हुआ करता था। कई मौकों पर मारपीट की घटनाएं भी यहां हो चुकी थी। रामपुर चौकी प्रभारी ने बताया कि मृतका का पति हेयर कटिंग सेलून में काम करता था। महिला की हत्या करने के लिए कैंची से एक-दो बार हमला करने और गला दबाने का तथ्य सामने आया है। फिलहाल मर्ग कायम करने के साथ जांच-पड़ताल शुरू कर दी गई है। आगे की जांच में अन्य तथ्यों का खुलासा हो सकेगा।
घाटमुड़ा विस्थापितों की मांगों को लेकर माकपा ने की चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा

घाटमुड़ा विस्थापितों की मांगों को लेकर माकपा ने की चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा

कोरबामार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने गंगानगर ग्राम में बसाए गए घाटमुड़ा के विस्थापित परिवारों की मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की है। आज इस आशय का ज्ञापन माकपा जिला सचिव प्रशांत झा के साथ किसान सभा नेता जवाहर सिंह कंवर, रामायण कंवर, दीपक साहू, संजय यादव आदि ने एसईसीएल के गेवरा क्षेत्र के महाप्रबंधक को 20 नवम्बर को गेवरा मुख्यालय के घेराव की चेतावनी के साथ सौंपा है।

पढ़ें : आईपीएल में सवा करोड़ रुपये का लगा था सट्टा, आठ लाख नगदी सहित नौ सट्टेबाज गिरफ्तार, जाने कहा की है यह खबर

ज्ञापन में मांग की गई है कि अधिग्रहण के बाद लंबित रोजगार प्रकरणों का तत्काल निराकरण किया जाये, विस्थापित परिवारों को गंगानगर की कब्जा भूमि पर अधिकार पत्र और भूविस्थापित होने का प्रमाण पत्र दिए जाएं, अवैध कब्जा बताकर की गई तोड़-फोड़ का मुआवजा देने, पुनर्वास ग्राम गंगानगर में स्कूल-अस्पताल, बिजली-पानी, गौठान, मनोरंजन गृह, श्मशान घाट जैसी बुनियादी मानवीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए और उन्हें विभागीय अस्पतालों में मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

पढ़ें : बड़ी खबर : बॉलीवुड के बड़े डायरेक्टर और प्रोड्यूसर के घर एनसीबी ने की छापेमार कार्यवाही, पढ़ें पूरी खबर 

उल्लेखनीय है कि एसईसीएल की गेवरा परियोजना के लिए वर्ष 1980-81 में घाटमुड़ा के 75 परिवारों को विस्थापित किया गया था तथा 25 एकड़ के प्लॉट में गंगानगर ग्राम में उन्हें बसाया गया था। पिछले 40 सालों में इन विस्थापित परिवारों की संख्या और आबादी बढ़कर दुगुनी से अधिक हो गई है, लेकिन अब उनके कब्जे को अवैध बताकर नोटिस दिए जा रहे हैं और तोड़-फोड़ की जा रही है।

पढ़ें : बच्चे शिक्षा, हुनर और खेलकूद के कौशल से बनाए अपनी विशिष्ट पहचान: श्री भूपेश बघेल

इस मुद्दे पर माकपा और छत्तीसगढ़ किसान सभा पिछले दो सालों से विस्थापित ग्रामीणों के पक्ष में आंदोलन कर रही है। दो माह पूर्व ही कब्जा हटाने के लिए एसईसीएल द्वारा दी गई नोटिसों का सामूहिक दहन किया था और मुख्यालय घेराव के लिए पदयात्रा का आयोजन किया था, जिसे लॉक डाउन का हवाला देते हुए प्रशासन ने बीच में ही रोक दिया था। इन आंदोलनों के दौरान कई बार ग्रामीणों की एसईसीएल प्रबंधन और प्रशासन के साथ वार्ताएं हुई, लेकिन आश्वासन के बावजूद निराकरण नहीं हुआ।

पढ़ें : बड़ी खबर : हथियारबंद लुटेरों ने ड्राईवर दो बंधक बना कर लूटे एल्युमिनियम से भरे दो ट्रक, तलाश में जुटी पुलिस की कई टीमें 


अब माकपा और किसान सभा के नेतृत्व में ग्रामीणों ने निर्णायक लड़ाई लड़ने का फैसला कर लिया है। चरणबद्ध आंदोलन की अगली कड़ी के रूप में 30 नवम्बर को गेवरा परियोजना में कोयला उत्पादन ठप्प करने और 10 दिसम्बर को रेल मार्ग से कोयला परिवहन जाम करने की भी घोषणा की गई है।

पढ़ें : राजधानी में ब्रिज के नीचे मिले महिला के शव की गुत्थी सुलझी, हत्या के 3 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार 
माकपा नेता प्रशांत झा ने राज्य सरकार और कोरबा जिले के मुखिया मंत्री से पीड़ित विस्थापित परिवारों के पक्ष में हस्तक्षेप करने का भी आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि एसईसीएल और सरकार से हमारी मांगें कानून के दायरे में ही है। लेकिन यदि इन मांगों पर सुनवाई नहीं होती, तो 10 दिसम्बर के बाद इस आंदोलन के अगले चरण की घोषणा की जाएगी।

छठ पर्व पर नहीं होगी नदी-घाटों में सामूहिक पूजा, पढ़ें पूरी खबर

छठ पर्व पर नहीं होगी नदी-घाटों में सामूहिक पूजा, पढ़ें पूरी खबर

कोरबा | इस बार कोरोना संक्रमण के चलते छठ पर्व पर नदी, तालाबों तथा पूजा घाटों पर सामूहिक छठ पूजा का आयोजन नहीं होगा। इस बार छठ पूजा पर श्रद्धालू अपने-अपने घरों में ही प्रतीकात्मक रूप से तालाब बनाकर भगवान सूर्य को अध्र्य देंगे और छठ पूजा की सभी रस्में पूरी करेंगे। आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल के निर्देश पर जिला प्रशासन तथा पूर्वांचल विकास समिति के पदाधिकारियों के बीच हुई बैठक में आने वाली छठ पूजा का सर्व सहमति से स्वरूप तय हुआ ।

पढ़ें : बड़ी खबर : हथियारबंद लुटेरों ने ड्राईवर दो बंधक बना कर लूटे एल्युमिनियम से भरे दो ट्रक, तलाश में जुटी पुलिस की कई टीमें 

सभी सदस्यों ने पूरी सावधानी से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए छठ पूजा करने पर सहमति जताई। बैठक में पूर्वांचल विकास समिति के अध्यक्ष डॉ. राजीव सिंह, सचिव डी. एन. राय सहित समिति के सदस्य अशोक सिंह, श्री अशोक तिवारी, कमलेश यादव तथा  बी. एन. सिंह भी मौजूद रहे।  बैठक में जिला प्रशासन की ओर से अपर कलेक्टर एवं अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी प्रियंका महोबिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर, एसडीएम सुनील नायक, तहसीलदार रोहित सिंह भी शामिल हुए। 

पढ़ें : राजधानी में ब्रिज के नीचे मिले महिला के शव की गुत्थी सुलझी, हत्या के 3 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार 

बैठक में यह भी तय हुआ कि छठ पूजा के दौरान किसी भी प्रकार का प्रसाद वितरण, भोज, भण्डारा आदि नहीं किया जाएगा। कन्टेनमेंट जोन घोषित होने की दशा में किसी भी प्रकार की धार्मिक-सांस्कृतिक गतिविधियां तथा कार्यक्रम करने की अनुमति भी नहीं होगी। छठ पूजा के दौरान भी कोविड प्रोटोकॉल का श्रद्धालुओं सहित सभी को पूरा पालन करना होगा सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करते हुए मास्क लगाकर ही पूजा की रस्में निभानी होगी और बार-बार हाथों को सेनेटाईज करना होगा।
 
 
कलेक्टर ने भी की अपील - कलेक्टर किरण कौशल ने आगामी 18 से 21 नवंबर तक आयोजित होने वाले महत्वपूर्ण छठ त्यौहार के दौरान नदी-तालाबों और छठ घाटों पर ना जाकर घरो में ही छठ पूजा की सभी रस्में और परंपरायें पूरी करने की अपील जिले वासियों से की है। छठ त्यौहार के दौरान पूजा-अर्चना के लिये बड़ी संख्या में लोग नदी-तालाबों और छठ घाटों पर इकट्ठे होते हैं। लोगों के इस तरह इकट्ठे होने से कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका है। कलेक्टर ने इसी आशंका के मद्देनजर लोगों से अपील की है कि घर पर ही छठ पूजा की रस्में निभाएं और कोरोना से लड़ाई में शासन-प्रशासन के संकल्प को अपनी इस छोटी सी भागीदारी से पूरा करने में सहयोग करें। 
 
 
कलेक्टर ने अपील की है कि कोरोना वायरस से फैली महामारी का प्रभाव अभी खत्म नहीं हुआ है। कोरबा जिले में हर रोज ही कोरोना संक्रमितों की पहचान हो रही है। यदि हम अभी सर्तक नहीं हुए तो कोरोना की यह रफ्तार और तेज हो सकती है। श्रीमती कौशल ने कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी अभी की परिस्थितियों में कोरोना को बढऩे से रोकने के लिये अतिरिक्त सावधानी बरतने की सलाह दी है। उन्होंने दीवाली सहित छठ पूजा के इस त्यौहारी सीजन में कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने और मास्क लगाने तथा सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर ही अपने सभी काम करने की अपील लोगों से की है। उन्होंने कहा है कि त्यौहारी सीजन में खरीददारी के समय भी मास्क लगाकर और दो गज दूरी का पालन करके हम दीवाली-छठ पूजा के त्यौहार अपने परिवार के साथ खुशी से मना सकते हैं। थोड़ी सी लापरवाही इन त्यौहारों का आनंद और पूरे परिवार की खुशियों पर ग्रहण लगा सकता है। कौशल ने लोगों से अपील की है कि खरीददारी करने निकलते समय मास्क जरूर लगायें, अपने हाथों को बार-बार सेनेटाइज करते रहें, बेवजह चीजों को ना छुएं और कहीं पर भी भीड़ ना लगाएं। उन्होंने कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिये शासन-प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों में अपना बहुमूल्य सहयोग करने की भी अपील लोगों से की है।
 
वेदांता-बालको की परियोजना आरोग्य से आई स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति जागरूकता

वेदांता-बालको की परियोजना आरोग्य से आई स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति जागरूकता

कोरबा | वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने सामुदायिक विकास परियोजना 'आरोग्य' के अंतर्गत अपने संयंत्र के आसपास स्थित ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति जागरूकता के लिए बड़े पैमाने पर कार्यक्रम आयोजित किए हैं। माह अक्टूबर में लगभग 5000 नागरिकोंं को सैनिटेशन और सुरक्षा किट के अंतर्गत साबुन, मास्क और सैनिटाइजर वितरित किए गए। नागरिकों को वैश्विक महामारी से सुरक्षा के प्रति अनेक आयामों से परिचित कराया गया। 

पढ़ें : बड़ी खबर छत्तीसगढ़: बहला फुसलाकर आरोपी ने 5 साल की मासूम से किया दुष्कर्म, बच्ची की हालत गंभीर

ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा की उपलब्धता वेदांता-बालको के सामुदायिक विकास कार्यों में सर्वोपरि है। वेदांता-बालको की आरोग्य परियोजना के अंतर्गत दो वेदांत ग्रामीण चिकित्सालय संचालित हैं। इन चिकित्सालयों के संचालन का उद्देश्य ग्रामीणों को झोला छाप नीम-हकीमों से मुक्ति दिलाना है। चलित चिकित्सा शिविर, मौसमी बीमारियों से बचाव और जागरूकता शिविर, मातृ-शिशु स्वास्थ्य जागरूकता अभियान, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के साथ समन्वयन, एचआईव्ही एड्स के प्रति जागरूकता आदि अनेक ऐसे कार्यक्रम हैं जिनके माध्यम से ग्रामीणों के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाता है। सैनिटेशन और सुरक्षा किट के वितरण पर ग्रामीणों ने बालको प्रबंधन के आभार जताया है।
 
 
कोविड-19 महामारी की रोकथाम की दिशा में वेदांता-बालको ने जिला प्रशासन के मार्गदर्शन और समन्वयन में कोविड अस्पताल की स्थापना में मदद की। मास्क और पीपीई निर्माण के माध्यम से महिला स्व सहायता समूहों की सदस्यों के लिए आजीविका के अवसर उपलब्ध कराए। जन प्रतिनिधियों के सहयोग से जरूरतमंदों को सूखा राशन और तैयार भोजन उपलब्ध कराए गए। राज्य और जिला प्रशासन ने कोरोना वाइरस के प्रति जागरूकता की दिशा में वेदांता-बालको संचालित कार्यों की खूब प्रशंसा की है।
 
 
वेदांता समूह की कंपनी बालको की ओर से शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलंबन, आधारभूत संरचना विकास, महिला सशक्तिकरण, जैव-निवेश, आजीविका आदि क्षेत्रों में परियोजनाएं क्रियान्वित हैं। परियोजनाओं के दायरे में छत्तीसगढ़ के लगभग 1.50 लाख जरूरतमंद शामिल हैं। 300 स्व सहायता समूहों के माध्यम से लगभग 4000 महिलाओं के स्वावलंबन एवं सशक्तिकरण में मदद मिल रही है। लगभग 500 एकड़ भूमि पर किसान आधुनिक तकनीकों की मदद से खेती कर रहे हैं। वेदांता स्किल्स स्कूल ने छत्तीसगढ़ के लगभग 9000 जरूरतमंद युवाओं को तकनीकी रूप से प्रशिक्षित कर स्वावलंबी बनने में मदद की है। 
 
  देवी देवताओ के फोटो युक्त पटाखे पर लगाये रोक, हिंदूवादी संगठन व धर्मसेना ने प्रशासन को सौपा ज्ञापन

देवी देवताओ के फोटो युक्त पटाखे पर लगाये रोक, हिंदूवादी संगठन व धर्मसेना ने प्रशासन को सौपा ज्ञापन

कोरबा। दीपावली का पर्व जिसमे हिन्दू सनातन धर्म के रीति रिवाज के अनुसार देवी देवताओं की पूजा अर्चना कि जाती है। दीपक जलाकर पटाखे भी फोटो जाते है दीपोत्सव का पर्व को हर्षोउलास के साथ मनाया जाता है, कुछ पटाखों पर उन्ही देवी देवताओं का फोटो युक्त पटाखे बनाकर जलाया फोड़ा जाता है, जिससे हिन्दू धर्म से जुड़े लोगों की धार्मिक भावना एवं आस्था को ठेस पहुंचता है।

जिस पर हिंदूवादी संगठन व धर्मसेना के द्वारा प्रशासन को एक ज्ञापन सौपकर आग्रह किया गया है कि ऐसे पटाखे विक्रय करने पर तत्काल रोक लगाई जाए साथ नियम का उलंघन करने वाले दुकानदारों पर ठोस कार्यवाही भी की जाए जिसके संदर्भ में प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा तत्काल कार्यवाही करने का आश्वासन दिया हैे धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने वाले ऐसे वस्तुओं पर रोक लगाने का एवं उचित कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया गया। जिसमें संगठन की तरफ से धर्म सेना के जिला सह संयोजक नवीन गोयल कटघोरा खंड संयोजक प्रवीण कुमार, बजरंग दल से राज वर्मा, मंडल संयोजक प्रशांत गुप्ता सह संयोजक झाड़ू राम निर्मलकर एवं दीपक वास, अजय गुप्ता एवं अन्य साथियों के द्वारा आज कटघोरा अनुविभागीय अधिकारी,तहसीलदार एवं थाना प्रभारी कटघोरा को ज्ञापन सौंपा गया। जिस पर थाना प्रभारी अविनाश सिंह के द्वारा सभी दुकानदारों की बैठक कर समझाइस देने का अस्वासन दिया गया है। लंबे समय से दिवाली धनतेरस के अलावा अन्य कार्यक्रमों में हिंदु देवी देवताओं का फोटो वाली पटाखे बिना रोक-टोक के बेखौफ होकर षडय़ंत्र पूर्वक त्योहारों एवं उत्साह के आड मे हिंदू देवी देवताओं को पटाखे के रूप में दहन कर पैरों से रौंदा जाता था, जिसे गंभीरता से लेते हुए धर्म सेना के कार्यकर्ताओं ने साथ ही देवी देवता के फोटो लगे पटाखा विक्रेताओं पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने पर, सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।
 बड़ी खबर छत्तीसगढ़: ट्रक से जा भिड़ी बस, चालक की मौत 7 की हालत गंभीर

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: ट्रक से जा भिड़ी बस, चालक की मौत 7 की हालत गंभीर

कोरबा। यूपी के वाराणसी को जोडऩे वाले एनएच 130 बिलासपुर अंबिकापुर पर पिछली रात दर्दनाक हादसा हो गया। एक ट्रक से यात्री बस के भिड़ जाने की घटना में मौके पर ट्रक चालक की मौत हो गई और बस में सवार 20 लोग घायल हो गये। 7 की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। संबंधितों को सीएचसी पोढ़ी.उपरोड़ा और कोरबा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार बांगो थाना अंतर्गत ग्राम चोटिया के लमना ग्राम पंचायत के पास बीती गुरुवार रात्रि को यह घटना हुई। बांगों की डायल 112 टीम ने इस हादसे को प्रत्यक्ष देखने का दावा किया। बताया गया की यह टीम मौके पर थी। महिंद्रा बस बिलासपुर की ओर से आ रही थी। उसमें सवार अधिकांश लोग ग्रामीण क्षेत्रों के थे और रोजी-मजदूरी के लिए उत्तरप्रदेश जा रहे थे। उसी बीच अंबिकापुर आ रहा भूसा भरा ट्रक के साथ बस की टक्कर हो गयी। घटना में ट्रक चालक की मौत हो गई। ट्रक के क्लीनर को गंभीर चोट आई है। इसी तरह बस क्र.-1433 के लगभग 20 लोगो को चोटे आई है, जिसमें 7 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार यूपी के भदोही ज्ञानपुर क्षेत्र में ईंट भट्टा और अन्य संस्था में काम करने बस सवार जा रहे थे।
 बड़ी खबर: नाबालिक की गला रेतकर निर्मम हत्या, जांच में जुटी पुलिस

बड़ी खबर: नाबालिक की गला रेतकर निर्मम हत्या, जांच में जुटी पुलिस

कोरबा। जिले के बांकी मोंगरा थाना अंतर्गत बलगी में एक नाबालिक की हत्या कर दी गयी है। एसईसीएल की बलगी परियोजना में कार्यरत लक्ष्मण के विभागीय आवास में किशोरी अपने नाना के साथ रहती थी। नाना लक्ष्मण ड्यूटी पर गए हुए थे। जबकि किशोरी घर पर अकेली थी। 

बलगी कालोनी के क्वार्टर नम्बर डीएस 262 में जिसकी हत्या हुई है उसका नाम भूमि सोनवानी उम्र करीब 15 वर्ष बताया जा रहा है। लड़की के माता-पिता खेती-किसानी के काम से गृह ग्राम गए हुए थे और घर पर नाना के साथ वह रही थी।  गुरुवार को दूसरे शिफ्ट की ड्यूटी कर रात करीब 12 बजे जब नाना घर लौटे तो नातिन की रक्त रंजित लाश मुख्य दरवाजे पर ही मिली। गला रेतकर हत्या की गई है। रात में सूचना मिलते ही सीएसपी दर्री खोमन सिन्हा व बांकी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आवश्यक कार्यवाही करते हुए उक्त मकान को सील कर दिया। आज सुबह मौके पर तफ्तीश जारी है। डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक एक्सपर्ट की मदद भी ली जा रही है। पुलिस विभिन्न पहलुओं पर जांच कर रही है।
  शराबी पिता की पुत्र ने की डंडे से पीट-पीट कर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

शराबी पिता की पुत्र ने की डंडे से पीट-पीट कर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। आदतन शराबी पिता से परेशान पुत्र का गुस्सा उस वक्त सातवें आसमान पर चढ़ गया, जब वह बार-बार समझाइश के बाद भी शराब के नशे में घर पहुंचा। घर खर्च के लिए रुपए नहीं देता था और पूरी कमाई नशे में उड़ा देता था। नाराज पुत्र ने उसकी डंडे से बेदम पिटाई कर दी। अंदरूनी गंभीर चोंट आने पर उसकी मौत हो गई। घटना के बाद घबराया पुत्र पिता की मौत को स्वाभाविक बता कर पुलिस को गुमराह करने लगा। सख्ती से पूछताछ की गई, तो वह टूट गया और गुनाह कबूल कर लिया।

घटना दर्री थाना क्षेत्र की है, यहां केंदईखार धनवार मोहल्ला में रहने वाला रामेश्वर कर्माकर 50 वर्ष दो नवंबर की शाम नशे की हालत में घर पहुंचा। उस वक्त उसका पुत्र दिलहरण कर्मा कर घर के बाहर बैठा था। फिर से शराब पीकर आने की बात को लेकर दोनों के बीच विवाद होने लगा। बात इतनी बढ़ गई कि दिलहरण गुस्से में लाल-पीला हो गया। कमरे के अंदर रखे डंडे से उसने अपने पिता की पिटाई करने लगा। बुरी कदर पीटने की वजह से उसके सिर व शरीर के अन्य हिस्से में गंभीर चोंटे आई। उपचार की व्यवस्था भी नहीं की गई, तड़पड़ते हुए रात में करीब एक बजे उसने दम तोड़ दिया। दूसरे दिन तीन नंवबर को सुबह 11 बजे दिलहरण खुद थाना पहुंच कर पिता की मौत की सूचना दी। उसने पुलिस को बताया कि शराब के नशे में उसके पिता जख्मी अवस्था में घर पहुंचे थे। रात को उनकी मौत हो गई। यह बात पुलिस के गले नहीं उतरी और उससे गहन पूछताछ की गई और दिलहरण ने हकीकत बयां कर दी। पुलिस ने हत्या का मामला धारा 302 के तहत पंजीबद्ध कर उसे गिरफ्तार कर लिया।
 धान के खेत में मिला 13 फिट लम्बा किंग कोबरा, रेस्क्यू टीम ने सुरक्षित स्थान पर छोड़ा

धान के खेत में मिला 13 फिट लम्बा किंग कोबरा, रेस्क्यू टीम ने सुरक्षित स्थान पर छोड़ा

कोरबा। वनमंडल कोरबा में एक बार फिर किंग कोबरा नजर आया है। यह कोबरा एक गांव में धान के खेतों के बीच उस वक्त देखा गया, जब किसान फसल काट रहे थे। संरक्षित व संवेदनशील घोषित सर्प की यह प्रजाति कोरबा के इसी क्षेत्र में एक माह के भीतर दूसरी बार देखी गई। कोरबा-करतला मार्ग पर स्थित गांव में लगभग 13 फीट के विशालकाय सर्प को इतने पास से देखकर ग्रामीण की चीख निकल गई। इसकी सूचना सर्प मित्र व रेप्टाइल केअर एंड रेस्क्यूअर सोसायटी (आरसीआरएस) के अध्यक्ष अविनाश यादव को मिली। संवेदनशील प्रजाति होने के कारण उन्होंने इसकी सूचना पहले वन विभाग को दी। कोरबा डीएफओ गुरुनाथन एन के दिशा-निर्देश पर अविनाश ने अपनी टीम के साथ वहां पहुंचकर सर्प की खोज शुरू की। कई घंटे खेतों और आसपास तलाश के बाद भी उसका पता न चल सका। इस बीच वे नजदीक ही खाना खाने बैठ गए। कुछ देर बाद पास के खेतों में फसल कटाई कर रहे किसानों ने एक बड़ा सर्प मिलने की जानकारी दी। खेत के बीच एक विशालकाय सर्प को देखा और डर कर भाग खड़े हुए। इसके बाद सर्प मित्रों ने उसे रेस्क्यू कर पकड़ा और वन विभाग के मार्गदर्शन व निगरानी में आबादी से दूर घने जंगल में सुरक्षित विचरण के लिए छोड़ दिया।
 चोरों के हौसले हुए बुलंद: तीन सराफा दुकानों का ताला तोड़कर लाखों के जेवरात ले उड़े चोर

चोरों के हौसले हुए बुलंद: तीन सराफा दुकानों का ताला तोड़कर लाखों के जेवरात ले उड़े चोर

कोरबा। जिले में इन दिनों चोरों के हौसले बुलंद हैं। पाली थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले पोंडी के तीन ज्वेलरी दुकानों को चोरो ने अपना निशाना बनाया है, जिसमें संचालक वैभव सोनवानी, संचालक विनय सोनी, संचालक कैलाश सोनी के ज्वेलरी शॉप शामिल हैं। बताया जा रहा है इन ज्वेलरी दुकानों में चोरों ने दुकानों का ताला तोड़कर लगभग 9 लाख के ज्वेलरी आभूषण पर हाथ साफ कर दिया है। मौके पर डाग स्क्वायड की टीम और थाना पाली पुलिस की टीम पहुंच कर जांच कर रही है।
बड़ी खबर: थानेदार के घर में चोरों ने बोला धावा, सोने चांदी के जेवर सहित नगद लेकर भागा

बड़ी खबर: थानेदार के घर में चोरों ने बोला धावा, सोने चांदी के जेवर सहित नगद लेकर भागा

कोरबा। चोरों के हौसले किस कदर बुलंद है इसका सहज अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि थानेदार के घर को ही निशाना बना लिया। उरगा थाना में पदस्थ नगर निरीक्षक टीआई के सूने घर में चोरों ने धावा बोल तीन लाख नगद व दो लाख के सोने चांदी के जेवर चोरी कर ली है। टीआई सपरिवार गृहग्राम गए थे, इस दौरान चोरों ने मकान को निशाना बनाया। पुलिस ने नट गिरोह के एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। उसके पास से चोरी की गई चांदी के कुछ जेवर बरामद किया गया है। उसके अन्य साथियों की तलाश पुलिस सरगर्मी से कर रही है।
 

उरगा थाना के प्रभारी लखनलाल पटेल बाल्को थाना क्षेत्र के सेक्टर.1 डी.9 में रहते हैं। पहले उनकी पदस्थापना बाल्को थाना में थीए कुछ महीने पहले ही उनका स्थानांतरण हुआ है। इसलिए अभी भी बाल्को में ही निवासरत हैं। शनिवार को पटेल सहपरिवार अपने गृहग्राम गए थे। इस दौरान रात को उनके सूने मकान पर चोरों ने धावा बोल दिया। रविवार को इस घटना की जानकारी आसपास के लोगों को हुई और उस घटना की जानकारी मोबाइल पर टीआई को दी गई और वे शाम को वापस घर लौटे। घर के सामने के दरवाजा टूटा मिला। अंदर कमरे में रखी आलमारी भी टूटा था और नगद व जेवर गायब थे।
 
 
बताया जा रहा है कि तीन लाख रुपए नगद व करीब दो लाख के सोने के जेवर के अलावा कुछ चांदी के पायल व अन्य सामाग्री समेत करीब पांच लाख की चोरी कर ली गई है। इसकी सूचना बाल्को में उन्होंने दीए तो वहां मौजूद पुलिस कर्मियों के कान खड़े हो गए। दरअसल जिस रात को चोरी की यह वारदात हुईए उसी रात को सेक्टर वन के पास गश्त पर निकली पुलिस टीम की नजर चार संदिग्धों पर पड़ी। पुलिस के जवान कुछ समझ पातेए इससे पहले उसमें से तीन भाग निकले। एक पकड़ में आयाए उसके पास से चोरी की चांदी के जेवर मिले हैं। उसने अपना नाम धार निवासी रमेश बताया। काम के सिलसिले में कोरबा आने की बहानेबाजी की। पुुलिस को उसने जानकारी दी है कि उसके अन्य साथियों के पास जेवर व नगद है। हिरासत में लिया गया संदेही मध्यप्रदेश का रहने वाला है। इस घटना को नट गिरोह ने अंजाम दिया है। पकड़े गए आरोपित के साथियों की तलाश में पुलिस की टीम मध्यप्रदेश के धार जिला रवाना हुई है।
हाईकोर्ट से मंत्री जयसिंह को मिली राहत, एक्ट्रोसिटी एक्ट में FIR को किया निरस्त

हाईकोर्ट से मंत्री जयसिंह को मिली राहत, एक्ट्रोसिटी एक्ट में FIR को किया निरस्त

कोरबा। छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल पर एससी/एसटी एक्ट में दर्ज एफआईआर मामले में बड़ी राहत मिली है। मंत्री व कोरबा क्षेत्र के विधायक जयसिंह अग्रवाल के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट में दर्ज एफआईआर को बिलासपुर हाईकोर्ट ने निरस्त करने का आदेश दिया है।
दरअसल मंत्री जयसिंह और सुरेंद्र प्रताप जायसवाल पर साल 2017 में कोरबा के अजाक थाने में मामला दर्ज हुआ था। स्पेशल कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई हुई थी, लेकिन थाने और एसपी को शिकायत नहीं की गई। बिलासपुर हाईकोर्ट ने एफआईआर को निरस्त करने का आदेश दिया है। स्पेशल कोर्ट के आदेश पर एफआईआर दर्ज की गई थी, लेकिन इसके लिए थाने और एसपी के पास शिकायत नहीं की गई। इसका लाभ मंत्री जयसिंह और दूसरे याचिकाकर्ता को मिला। कोरबा के चुइया निवासी दुखलाल कंवर ने स्पेशल से शिकायत की थी। इस पर कोर्ट के आदेश से कोरबा के अजाक थाने में एससी/ एसटी एक्ट 1989 के तहत मंत्री जयसिंह और सुरेंद्र अग्रवाल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। इसके खिलाफ याचिका में कहा गया कि शिकायतकर्ता ने आवेदन सीधा स्पेशल जज की कोर्ट में 156 (3) सीआरपीसी के तहत दिया था।
याचिका में कहा गया- स्पेशल कोर्ट को सुनवाई का अधिकार नहीं
याचिकाकर्ताओं के वकील की ओर से कहा गया, बिना धारा 154 दंड प्रक्रिया सहिंता के भाग 1 और 3 का अनुपालन किए आदेश विधि के विपरीत होने के कारण निरस्त होने योग्य है। शिकायतकर्ता को मजिस्ट्रेट के यहां 156 (3) में आवेदन करना था।, लेकिन नहीं किया गया। स्पेशल कोर्ट को मामले की सुनवाई का अधिकार नहीं है। एफआईआर और स्पेशल कोर्ट के आदेश को निरस्त किया जाए।

 

 बड़ी खबर: बच्ची को चाकू दिखा दुष्कर्म का किया प्रयास, आरोपी गिरफ्तार

बड़ी खबर: बच्ची को चाकू दिखा दुष्कर्म का किया प्रयास, आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। घर के समीप खेल रही आठ वर्षीय नाबालिग को दुष्कर्म की नीयत से हाथ पकड़ कर ले जाने व चाकू दिखा कर डराने के आरोप में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। मानिकपुर पुलिस ने बताया कि आरोपित के खिलाफ पीडि़ता की मां ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसकी पुत्री घर के समीप खेल रही थी। अमरैय्या पारा निवासी विक्की चौहान पिता भगतराम चौहान 26 वर्ष उसे जबरन पकड़ कर झाडिय़ों के पीछे ले गया था। बच्ची को खेलते नहीं मिलने पर उसकी खोजबीन शुरू की गई, तो वह आहट सुनकर भागते हुए आई और पूरी घटनाक्रम की जानकारी दी। मानिकपुर चौकी प्रभारी अशोक शर्मा की अगुवाई में दीपनारायण त्रिपाठी, योगेश राजपूत ने युवक की पतासाजी कर गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ धारा 354, 506, 8, 12 पाक्सो एक्ट तहत मामला कायम कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है।
मुख्यमंत्री बघेल करेंगे सतरेंगा बोट क्लब एंड रिसार्ट का ई-लोकार्पण

मुख्यमंत्री बघेल करेंगे सतरेंगा बोट क्लब एंड रिसार्ट का ई-लोकार्पण

कोरबा, जिले के सतरेंगा पर्यटन स्थल को देश के पर्यटन मानचित्र पर अब स्थाई जगह मिल जायेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्योत्सव के अवसर पर एक नवम्बर को सतरेंगा बोट क्लब एंड रिसाॅर्ट का ई-लोकार्पण करेंगे। छत्तीसगढ़ राज्य पर्यटन मंडल और जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस ई-लोकार्पण आयोजन में राजधानी रायपुर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से गृह, जेल एवं पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू, स्कूल शिक्षा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, पर्यटन विभाग के संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज शामिल होंगे। कार्यक्रम में कोरबा लोकसभा क्षेत्र की सांसद ज्योत्सना महंत, मध्यक्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं कटघोरा के विधायक पुरूषोत्तम कंवर, रामपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक ननकी राम कंवर, पाली तानाखार विधानसभा क्षेत्र के विधायक मोहित केरकेट्टा, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवकला सिंह कंवर, जनपद पंचायत अध्यक्ष कोरबा हरेश कंवर और सरपंच ग्राम पंचायत सतरेंगा धनसिंह कंवर भी मौजूद रहेंगे। 

 बेबी एलीफेंट के बाद अब तेंदुआ की मौत, वन विभाग में मचा हड़कंप

बेबी एलीफेंट के बाद अब तेंदुआ की मौत, वन विभाग में मचा हड़कंप

कोरबा। कटघोरा का वन विभाग वन्य जीवों की सुरक्षा करने में नक्कारा साबित हो रहा है। वनमंडल में दो बेबी एलीफेंट की मौत का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि आज फि र यहां के रावा जंगल में एक तेंदुआ की मौत हो गई। तेंदुआ का मृत देह जंगल में मिलने की सूचना मिलते ही डीएफ ओ के नेतृत्व में वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंच गए हैं तथा मौत के कारणों की जांच में जुट गए हैं।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार जंगली जानवर तेंदुआ के मौत की यह घटना वनमंडल कटघोरा अंतर्गत जटगा रेंज के रावा सर्किल में घटित हुई, जहां के जंगल में एक स्थान पर ग्रामीणों ने आज सुबह तेंदुआ को मरा हुआ देखा और इसकी सूचना तत्काल जटगा रेंजर अविनाश सिंह को दी जिस पर रेंजर ने डीएफ ओ शमा फ ारूखी को अवगत कराया। तेंदुआ की मौत की सूचना मिलते ही डीएफ ओ अपने मातहत अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ घटना स्थल के लिए रवाना हुई। तब तक रेंजर अविनाश सिंह भी अपने स्टाफ  के साथ मौके पर पहुंच गए थे। वन विभाग के अधिकारियों ने रावा जंगल पहुंचकर मौका मुआयना किया और तेंदुआ के मौत के कारणों की जांच में जुट गए। मौत के कारणों का अभी स्पष्ट पता नहीं चला है। घटना स्थल की जांच करने के बाद वन विभाग के अधिकारियों ने कागजी कार्यवाही की और पशु चिकित्सकों की मदद से मृत तेंदुआ का पोस्टमार्टम कराने के बाद ग्रामीणों की मौजूदगी में जंगल में ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इससे पहले भी कटघोरा डिविजन के केंदई रेंज में दो बेबी एलीफेंट की मौत हो चुकी है। बेबी एलीफेंट की मौतों के बाद आज अचानक तेंदुआ की मौत ने वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सख्ते में डाल दिया है। साथ ही यह भी सवाल उठाया जा रहा है कि अधिकारी व कर्मचारी वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए गंभीर नहीं हैं, तभी तो लगातार एक के बाद एक वन्य जीवों के मौत की घटनाएं हो रही है।

इस बीच राज्य सरकार ने कटघोरा वनमंडल के कटघोरा अनुविभाग में पदस्थ एसडीओ वन अरविंद तिवारी को हटा दिया है। उनके स्थान पर रेंजर पद से नव पदोन्नत प्रहलाद यादव को नया एसडीओ बनाया गया है। यादव शीघ्र ही अपना पदभार संभालेंगे। वहीं तिवारी को डिविजन में संलग्न किया गया है। शासन ने तिवारी को हटाए जाने की वजह स्पष्ट नहीं किया है लेकिन यह कयास लगाया जा रहा है कि हाथियों की मौत तथा डिविजन में हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायतों के प्रति गंभीरता की परिणिति यह स्थानांतरण है।
एसडीएम की रेत चोरों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई, एक ही रात में पांच ट्रेक्टर जप्त

एसडीएम की रेत चोरों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई, एक ही रात में पांच ट्रेक्टर जप्त

 कोरबा। रेत चोरो के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई निरंतर जारी है। बीती रात से अल सुबह तक कार्रवाई करते कोरबा एसडीएम सुनील नायक व उनकी टीम ने अवैध रेत खनन और परिवहन करते पांच ट्रेक्टर को पकड़ा है। सभी के खिलाफ खनिज अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है। देर रात करीब 3 बजे कोरबा एसडीएम सुनील नायक ने डेंगुरनाला लाल घाट में अवैध रेत का उत्खनन करते एक वाहन को जप्त किया वहीं डेंगुरनाला से रेत चोरी कर आ रहे एक अन्य ट्रैक्टर को रिसदी निर्मला स्कूल देर रात करीब तीन बजे एसडीएम सुनील नायक ने ढेंगुरनाला के लालघाट में अवैध रेत उत्खनन करते ट्रैक्टर को जप्त किया।

पढ़ें : बड़ी खबर : पटाखा फैक्ट्री में हुआ धमाका, काँग्रेस नेता समेत दो की मौत, जाने कहाँ की है ये खबर 

बाद में उन्होंने रामपुर बस्ती के भीतर घुस डेंगुरनाला से रेत चोरी कर ला रहे दो अन्य ट्रेक्टरों को भी जप्त किया गया। इसी तरह दोंदरो में अवैध रेत घाट से अल सुबह 6 बजे एक अन्य ट्रैक्टर को जप्त किया। 24 घंटे के भीतर कोरबा एसडीएम और उनकी टीम ने 5 ट्रेक्टर को जप्त कर खनिज अधिमियम के तहत कार्रवाई की है। सभी ट्रेक्टरों को जप्त कर तहसील कार्यालय में रखवाया गया है जहां से आगे की नियमानुसार कार्रवाई हेतु प्रकरण खनिज विभाग में सुपुर्द कर दिया जावेगा। 

पढ़ें : राजधानी के टाटीबंध में 10 लाख रूपए से अधिक मूल्य के खैर तथा तेंदू आदि प्रजाति के लकड़ी का गोला जब्त

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर किरण कौशल ने जिले में अवैध रेत खनन और परिवहन पर लगाम कसने जिला स्तरीय टास्क फोर्स गठित की है। कोरबा जिला प्रशासन लोगो को रियायती दरों पर रेत सुलभ उपलब्ध हो सके इस लिहाज से रेत चोरो पर लगातार कार्रवाई कर नदी-नालो में बेतरतीब खुदाई करते खनिज संपदा का दोहन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। प्रशासन यह भी सुनिश्चित कर रहा वैध रेट घाटों में भी पूरी पारदर्शिता के साथ निर्धारित दरों पर ही रेत की बिक्री की जावे और ऐसा न करने वालों पर निरन्तर कार्रवाई भी की जा रही है। 
बड़ी खबर : दुकान खोलने और बंद करने के समय के संबंध में कलेक्टर ने जारी किया नया आदेश, पढ़ें पूरी खबर

बड़ी खबर : दुकान खोलने और बंद करने के समय के संबंध में कलेक्टर ने जारी किया नया आदेश, पढ़ें पूरी खबर

कोरबा। कोरोना संक्रमण के कारण जिले की दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों के खुलने बंद होने के समय निर्धारण को शिथिल कर दिया गया है। मंगलवार को इस संबंध में कलेक्टर ने आदेश जारी कर जिले में सभी प्रकार की दुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने व बंद करने की प्रशासनिक पाबंदी हटा दी है।
 
 
जिला प्रशासन ने दुकानों को पहले की तरह खोलने व बंद करने से संबंधित नया आदेश जारी किया है, लेकिन कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर अभी भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एडवाजरी और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य किया गया है। दुकानदारों तथा ग्राहकों को मास्क लगाना, फि जिकल डिस्टेसिंग का पालन करना जरूरी किया है। अभी भी लोगों को घरों से बाहर निकलते समय चेहरे पर मास्क लगाया अनिवार्य होगा। इतना ही नहीं सामानों की खरीद-बिक्री के दौरान ग्राहक व दुकानदार दोनों को चेहरे पर मास्क लगाना होगा। मास्क नहीं लगाने पर अफ सरों द्वारा जांच के दौरान पकड़े जाने पर संबंधित दुकानदारों के विरुद्ध जुर्माना लगाने की कार्रवाई की जाएगी।
 
 
मास्क की जांच के लिए शहर में नगरीय निकायों के अधिकारियों सहित प्रशासनिक अधिकारी निगरानी करेंगे। इसके साथ ही रेस्टोरेंट-होटलों के संचालन और पार्सल तथा होम डिलीवरी की निर्धारित समय-सीमा को भी हटा लिया गया है। दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग और ग्राहकों के हाथों को सेनेटाइज करने की पूरी व्यवस्था की जिम्मेदारी दुकानदारों की होगी। उल्लेखनीय है कि कोविड वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिये पूर्व में जिला प्रशासन द्वारा व्यावसायिक प्रतिष्ठानों और दुकानों के रात्रि आठ बजे तक संचालित होने का आदेश जारी किया गया था। इसके साथ ही रेस्टोरेंट-होटलों के संचालन और टेक अवे-होम डिलीवरी की सुविधा रात्रि दस बजे तक निर्धारित की गयी थी। अब इन दोनों पाबंदियों को पूरी तरह से हटा लिया गया है।
+ Load More