अच्छी खबर : सितंबर से देश में ही होगा स्पूतनिक-वी का उत्पादन...    |    कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 41 हजार नए मामले, 541 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर : इस BJP सांसद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने क्या है मामला...    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 203 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, देखे जिलेवार आकड़े    |    बड़ी खबर : जेल में बैरक की दीवार ढही, 22 कैदी गंभीर रूप से घायल    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज एक्टिव मरीजो की संख्या हुई 2 हजार से कम, 243 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: पान मसाला कंपनी पर आयकर का शिकंजा, 400 करोड़ रुपए के काले कारोबार का हुआ खुलासा    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, आकडों में आज रायपुर से मिले सर्वाधिक    |    जज की संदिग्ध मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से एक हफ्ते में मांगा जवाब    |
 लेन-देन को लेकर विवाद : दोस्तों ने ही गला घोंटा और शव नदी में फेंक दिया, दो आरोपी गिरफ्तार

लेन-देन को लेकर विवाद : दोस्तों ने ही गला घोंटा और शव नदी में फेंक दिया, दो आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। जुए की रकम के लेनदेन को लेकर हुए विवाद के बाद एक युवक की उसके ही दो दोस्तों ने मिलकर हत्या कर दी। आरोपियों ने पहले अपने साथी की गला घोंटकर हत्या की और वारदात को छिपाने के लिए मृतक का शव दर्री डैम ले जाकर हसदेव नदी में फेंक दिया। इस मामले में पुलिस ने मृतक के दो आरोपी साथियों को गिरफ्तार किया है। गोताखोरों की मदद से शव को नदी से भी बरामद कर लिया गया है।

जानकारी के अनुसार कोतवाली के रामपुर चौकी क्षेत्र निवासी 23 वर्षीय अनिकेत गोयल 27 जुलाई को अपने घर से निकला था। लेकिन फिर वापस नहीं लौटा। घर वाले अनिकेत की खोजबीन में लगे थे, लेकिन उनको इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि अनिकेत की हत्या हो चुकी है। पुलिस अचानक अनिकेत के घर पहुंची और उसके बारे में परिजनों से पूछताछ की तो वे भी घबरा गए। घर वालों ने बताया कि वे भी उसको खोज रहे हैं। घरवालों से पूछताछ के बाद पुलिस अनिकेत के करीबी दोस्तों तक पहुंची और दो आरोपी सूरज साहू 21 व आकाश उर्फ  लाला  20 गिरफ्तार कर लिया। दोनों की निशानदेही पर पुलिस ने नदी से अनिकेत का शव भी बरामद कर लिया। जिसे आरोपियों ने ठिकाने लगाने के लिए दर्री डैम में शव फेंक दिया था।

अनिकेत गोयल 27 जुलाई की सुबह से घर से लापता था। रात में वह अपने साथी आकाश उर्फ लाला, सूरज साहू के साथ नंदे साहू की रामपुर चौकी क्षेत्र स्थित शराब दुकान के पीछे स्थित घर में शराब पी रहा था और जुआ खेल रहे थे। वहीं जुआ में हार-जीत के बाद रकम के लेनदेन को लेकर अनिकेत का अपने साथी आकाश और सूरज साहू से विवाद हो गया। इसके बाद अनिकेत, सूरज के साथ आकाश शर्मा के घर कोतवाली क्षेत्र स्थित महावीर नगर चले गए। आकाश उर्फ  लाला खुद ऑटो चलाता है, जिसकी ऑटो से वह गए थे। वहां पहुंच वे ऑटो में बैठकर फिर शराब पी रहे थे। जहां फिर उनमें लेनदेन को लेकर फिर विवाद हुआ। इस दौरान सूरज ने पीछे से अनिकेत के गर्दन को गमछे से कस दिया। जिसमें आकाश ने भी उसका साथ दिया। अनिकेत की हत्या के बाद शव ठिकाने लगाने नदी में फेंक दिया।

हत्या के बाद पुलिस से बचने आरोपियों ने अनिकेत के मोबाइल को रेलवे स्टेशन जाकर एक मालगाड़ी की बोगी में फेंक दिया। ताकि, पुलिस को लगे कि कहीं चला गया और पुलिस इस बारे में कुछ पता न लगा पाए। लोग यही सोचते रहें कि वह खुद से ही चला गया है। एसपी भोज राम पटेल ने बताया कि वारदात के संबंध में टीम गठित कर मामले की जांच की गई। जिसमें अनिकेत की हत्या की जानकारी के बाद मामले में आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। इस हत्या की सूचना दर्ज होने के पहले ही इसे सुलझाने में सफलता मिली है।
 चरित्र शंका को लेकर पति ने पत्नी को लगाई आग, बेटी बचाने पहुंची तो दोनों को घर में बंद कर भागा पति

चरित्र शंका को लेकर पति ने पत्नी को लगाई आग, बेटी बचाने पहुंची तो दोनों को घर में बंद कर भागा पति

कोरबा। नानी के साथ रह रहे बेटे के बीमार होने पर देखने जा रही महिला पर शंका करते हुए पति ने उसकी पिटाई कर दी। फिर उसपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। दो दिन बाद परिचित घर पहुंची, तब महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जानकारी के अनुसार पाली थाना के ग्राम बहेराभांठा लाफा निवासी किशुन मरावी अपनी पत्नी संतोषी मरावी 28 के चरित्र पर शंका करता है। स्कूल बंद होने के कारण संतोषी ने अपने दो बच्चों में 8 वर्षीय पुत्र सत्येंद्र को अपने मायके में नानी के पास भेज दिया था। वहीं 10 वर्षीय पुत्र साधना को साथ में रखी थी। शुक्रवार को पुत्र सत्येंद्र की तबीयत खराब होने का पता चलने पर संतोषी उसे देखने मायके जाने के लिए तैयार हो रही थी। जिसे देखकर किशुन डंडे से मारने लगा। इसके बाद संतोषी पर मिट्टी तेल छिड़ककर आग लगा दी। बेटी पहुंची तो वह मां को बचाने लग गई। तब किशुन उन दोनों को घर में बंद करके भाग गया। 2 दिन तक झुलसी हालत में महिला बेटी के साथ कमरे में बंद पड़ी थी। परिचित तिल कुंवर ने जब 2 दिन तक संतोषी को नहीं देखा तो उसके घर पहुंची तो मामले की जानकारी हुई। पुलिस ने आरोपी पति किशुन के खिलाफ  हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर लिया है।

घायल संतोषी ने बताया कि शंका की वजह से पति किशुन ने उसे जान से मारने के लिए जलाया। बेटी बचाने पहुंची तो उसपर भी रहम नहीं आया। वह दोनों को घर में बंद करके भाग गया। घर में न तो खाने के लिए राशन था और न ही किसी को सूचना देने या मदद मांगने के लिए साधन। आग से शरीर में कई जगह जलने से वह चलने-फिरने में सक्षम नहीं थी। ऐसे में उसकी बेटी साधना और वह लाल चाय पी.पीकर जिंदा रहे।
 सावन में लगी झड़ी: 5 दिन तक भारी बारिश की चेतावनी

सावन में लगी झड़ी: 5 दिन तक भारी बारिश की चेतावनी

कोरबा। सावन लगने के साथ दो दिन तक मौसम सामान्य बना रहा। तीसरे दिन मंगलवार को पूरे दिन रिमझिम फुहारें गिरती रहीं। बारिश की शुरु हुई झड़ी के साथ मौसम विभाग ने भी चेतावनी जारी की है। अगले पांच दिनों तक जिले में झमाझम बारिश होने की संभावना है।

मौसम विभाग की मानें तो आगामी पांच दिन में सबसे अधिक 100 व 90 मिलीमीटर बारिश 31 जुलाई व एक अगस्त को हो सकती है। जबकि बुधवार को 20, गुरुवार को 40 व शुक्रवार को 35 मिलीमीटर तक बारिश हो सकती है। मंगलवार को शुरु हुई बारिश से अब यह माना जाने लगा है कि आषाढ़ में हुई कम बारिश की कमी सावन में पूरी हो जाएगी। हालांकि जिले में अब तक बीते साल की तुलना में कहीं अधिक पानी गिर चुका है।
 
हालात यह हैं कि सीजन में जिले की औसत बारिश का आंकड़ा 1303.3 मिलीमीटर है। इसका 62.4 फीसदी औसत पानी अब तक गिर चुका है। जबकि, अभी मानसून सीजन के 2 महीने बाकी हैं। इससे माना जा रहा है कि जिले में इस बार सीजन में होने वाली बारिश का आंकड़ा जल्द ही छू लेगा।
 
खेतों में मेंड़ बांधकर रखें, कृषि विज्ञान केन्द्र कटघोरा के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. एसके उपाध्याय व मौसम वैज्ञानिक संजय भेलावे ने कहा है कि आने वाले दिनों में जिले के अधिकांश स्थानों पर बादल छा, रहने के साथ मध्यम से भारी वर्षा होने की संभावना है। अधिकतम तापमान लगभग 26 से 29 व न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किए जाने की संभावना है। किसानों के लिए सलाह दी गई है कि धान के खेत में मेड़ों को बांधकर रखें तथा जल्द से जल्द रोपाई का कार्य पूरा कर लें। साथ ही रोपा किए गए खेतों में करीब 5 सेंटीमीटर पानी रोक कर रखें।

धान रोपाई के काम में आई तेजी:-आषाढ़ के अंतिम दो दिन के बाद सावन के तीसरे दिन से बारिश की झड़ी लगने का फायदा किसानों को मिलने लगा है। रोपाई में पिछड़ते किसान चिंतित होने लगे थे। लेकिन अब वे अपने खेतों में व्यस्त नजर आने लगे हैं। करतला ब्लॉक के ग्राम नवापारा, बोतली, घिनारा आदि गांवों में किसान रोपा लगाने में जुटे हुए हैं।
 जड़ी बूटी के नाम से 62 हजार की ठगी, दो आरोपी गिरफ्तार

जड़ी बूटी के नाम से 62 हजार की ठगी, दो आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। बीपीए शुगर की बीमारी जड़ी बूटी के उपचार के माध्यम करने का झांसा देकर एक व्यक्ति से 62 हजार रूपये की ठगी कर ली गई। दवा नहीं मिलने पर पीडि़त व्यक्ति की शिकायत पर पुलिस ने सायबर सेल की मदद से सीतामणी स्थित एक होटल में छिपे दोनों आरोपितों को गिरफ्तार किया।

कुसमुंडा कबीर चौक निवासी बेनेदिक तिर्की पिता स्व अलफोंस तिर्की 65 वर्ष ने पुलिस को बताया कि उसके घर दो व्यक्ति मोटर सायकल में आए और अपना नाम अभिलाष पोर्ते व आकाश नेताम बताया। उन्होंने कहा कि वे वैद्य हैं और शुगरए बीपी का जड़ी बूटी के माध्यम से उपचार करते हैं। अन्य सभी प्रकार की बीमारियों का भी इलाज जड़ी बूटी के माध्यम से करते है। कोसमनारा रायगढ़ में जड़ी बूटी का फार्म है। प्रचार प्रसार करने के उद्देश्य से जगह. जगह घूम रहे हैं। तब बेनेदिक ने भी बीपीए,शुगर होने की जानकारी दी, तब उन्होंने कहा कि दवाई महंगा है और उसे आर्डर देकर मंगवाना पड़ेगा। इसके लिए 62880 रुपये लगेंगे। इस पर तिर्की ने 60 हजार नगद व गूगल पे के माध्यम से दो हजार रूपये लेकर चले गए। दूसरे दिन जब दोनों दवाई लेकर नहीं आए, तो तिर्की को संदेह हुआ और उसने मामले की सूचना पुलिस को दी। इस पर कुसमुंडा पुलिस ने धारा 420, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू की। 

सायबर सेल के माध्यम से मोबाइल का लोकेशन लेने के बाद पुलिस ने टीम बना कर शहर के सीतामणी क्षेत्र में स्थित एक होटल दबिश दी। जहां छिप कर बैठे दोनों आरोपित अभिलाष पोर्ते पिता लक्षन पोर्ते 26 वर्ष निवासी खम्हरिया थाना नेवरा तिल्दा जिला रायपुर व आकाश नेताम पिता स्व शंकर नेताम 22 वर्ष निवासी ग्राम खपरीकला जिला रायपुर को गिरफ्तार किया। उनके पास से दो बैग में भरी जड़ी बूटी, नगद 60 हजार व घटना में प्रयुक्त बाइक क्रमांक सीजी चार एमएस 2183 को जब्त किया। आरोपितों को न्यायिक हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 
 बड़ी खबर : हिमाचल के किन्नौर हादसा में छत्तीसगढ़ के इस जिले के दो युवकों की मौत

बड़ी खबर : हिमाचल के किन्नौर हादसा में छत्तीसगढ़ के इस जिले के दो युवकों की मौत

कोरबा। हिमाचल के किन्नौर में हुए हादसे में कुल 9 लोगों की मौत हुई है। इन 9 लोगों में 2 छत्तीसगढ़ के कोरबा के रहने वाले थे। नेवी में लेफ्टिनेंट अमोघ बापट अपने दोस्त सतीश कटकवार के साथ शिमला घूमने गया था। इसी दौरान वो हादसे का शिकार हो गया। हादसे की खबर के बाद से ही कोरबा में गम का माहौल है।

जानकारी के मुताबिक नेवी में लेफ्टिनेंट अमोघ वापट अंडमान में पोस्टेड था। तीन दिन पहले ही 15 दिन की छुट्टी लेकर वो कोरबा आया था और फिर अपने दोस्त सतीश कटवार जो मूलत: पड़ोसी जिला जांजगीर चाम्पा का रहने वाला था, के साथ 18 जुलाई को शिंमला घूमने के लिए गया था। रविवार की सुबह टूरिस्ट बस से वो लोग किन्नोर जा रहे थे, इसी दौरान एक पुल पर बड़ा सा चट्टान गिर गया, जिससे पुल टूट गया और उसकी चपेट में पर्यटकों से भरा  टूरिस्ट बस आ गया। हादसे के वक्त बस में 9 लोग सवार थे, जिनमें से 8 लोगों की मौत मौके पर ही हो गयी, जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ा। वहीं एक अन्य राहगीर गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसी टूरिस्ट बस में सतीष और अमोघ भी बैठे थे। दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी। देर शाम हिमाचल की किन्नोर पुलिस ने कोरबा में पुलिस से संपर्क किया और घटना की जानकारी दी। घटना के बाद कोरबा से परिजन हिमाचल रवाना हो गए हैं।

लेफ्टिनेंट अमोघ बापट के पिता प्रशांत बापट कोरबा जिला में छत्तीसगढ़ विद्युत मण्डल दर्री के हसदेव ताप बिजली घर में अधीक्षण अभियंता हैं। दो भाइयों में 31 वर्ष के अमोघ बड़े थे। चार साल पहले नौसेना में लेफ्टिनेंट चुने गए थे और विशाखा पत्तनम में पदस्थ थे। हाल ही में 9 जुलाई को उनका प्रमोशन हुआ था। वे 15 दिन की छुट्टी पर आए थे और हिमांचल घूमने गए थे जहां से अंडमान जाकर ज्वाइनिंग लेते। वे ट्रेकिंग के शौकीन थे। जबकि सतीश कटकवार के पिता एम एल कटकवार विद्युत मण्डल दर्री से सेवा निवृत्त कर्मचारी हैं और रिटायर होने के बाद जांजगीर चाम्पा में रहने लगे थे। सतीश कटकवर निजी व्यवसाय करते थे। वे अपने माता पिता के इकलौते पुत्र थे। उनकी दो बहनें भी हैं।
खदान में डीजल चोरी करने वाले गिरोह के 4 सदस्य गिरफ्तार...

खदान में डीजल चोरी करने वाले गिरोह के 4 सदस्य गिरफ्तार...

कोरबा । थाना कुसमुण्डा क्षेत्र अंतर्गत डीजल चोरों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमे आरोपियों के विरूद्ध धारा-379,447,34 भादवि, 3,7 ईसी एक्ट के तहत कार्यवाही की गई है।
जानकारी के अनुसार 21 जुलाई की रात्रि में मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि कुछ लोग कुसमुण्डा खदान के शावेल फेस में खड़े ड्रील मशीन से डीजल चोरी कर ले जा रहे है। सूचना पर तत्काल कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी निरीक्षक लीलाधर राठौर के नेतृत्व में कुसमुण्डा पुलिस व एसईसीएल सुरक्षा गार्ड संयुक्त टीम जब घटनास्थल कुसमुण्डा खदान सावेल फेस के पास पहुंची तो देखे कि कुछ लोग सावेल फेस में खड़े ड्रील मशीन से डीजल चोरी कर स्कार्पियो वाहन कमांक सीजी 12 बीबी 6578 में लोड कर रहे थे। पुलिस को आते देखकर चोर वाहन सहित भागने लगे। पुलिस ने चोरों के वाहन का पीछा कर घेराबंदी कर पकड़ा। वाहन में 4 लोग सवार थे जिनसे पूछताछ करने पर अपना नाम यादराम केंवट पिता संतूराम केंवट उम्र 24वर्ष निवासी बरपाली मोहल्ला गेवराबस्ती, अनिकेत यादव पिता परसराम यादव उम्र 20 वर्ष निवासी बरपाली मोहल्ला गेवराबस्ती, अजय कुमार श्रीवास पिता शिवनारायण जांगड़े पिता दरसराम जांगड़े उम्र 27वर्ष निवासी गेवराबस्ती चुनचुनी पारा एवं जमुना प्रसाद जांगड़े पिता दरसराम जांगड़े उम्र 27वर्ष निवासी बरपाली मोहल्ला गेवराबस्ती थाना कुसमुण्डा का होना बताये। आरोपीगणों के उक्त वाहन से 35 लीटर वाले जरीकेनो में भरे 210 लीटर डीजल व स्कार्पियो वाहन क. सीजी 12 बीबी 6578 को जप्त किया गया जाकर आरोपीगणों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। थाना कुसमुण्डा क्षेत्रांतर्गत लगातार डीजल चोरों तथा अवैध कारोबारियों के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की जा रही है। उपरोक्त कार्यवाही में थाना कुसमुण्डा पुलिस टीम से निरीक्षक लीलाधर राठौर, सउनि परमेश्वर राठौर, प्रधान आरक्षक खगेश राठौर, आरक्षक सुशांत टोप्पो, सुनील जोशी की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
 

पुरानी बस्ती क्षेत्र में सगाई की खुशियाँ मातम में बदली, पिता की करेंट लगने से हुई मौत, पढ़ें पूरी खबर

पुरानी बस्ती क्षेत्र में सगाई की खुशियाँ मातम में बदली, पिता की करेंट लगने से हुई मौत, पढ़ें पूरी खबर

कोरबा | एक हाईवा चालक की बेटी की रविवार को सगाई होनी थी जिसके लिए वह छुट्टी लेकर शनिवार को अपने घर पहुंचा था जहां नहा धोकर घर में लगे जी आई तार से कपड़ा निकाल रहा था जहां अचानक करंट की चपेट में आ गया। परिजन उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पिता की मौत हो जाने से सगाई की खुशी मातम में तब्दील हो गई।

मामला कुसमुंडा थाना क्षेत्र के बरहमपुर पुरानी बस्ती की है यहां निवासरत परदेसी राम पटेल उम्र 40 वर्ष हाईवा चालक है। जिसकी पुत्री की सगाई रविवार को तय हुई थी, पुत्री की सगाई की तैयारी करने के लिए परदेसी अपनी कंपनी से छुट्टी लेकर शनिवार की सुबह अपने घर बरहमपुर पहुंचा था। जहां सुबह लगभग 11.00 बजे परदेसी पटेल घर में नहा कर घर में लगी जी आई तार से कपड़ा निकाल रहा था। जहां वह अचानक करंट की चपेट में आ गया। परिजन उसे तत्काल उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
 
 युवक ने की फेसबुक पर दोस्ती, फिर शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म

युवक ने की फेसबुक पर दोस्ती, फिर शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म

कोरबा। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सक्रिय रहने वाले लोगों को अपने विवेक का उपयोग नहीं करने पर लेने के देने पड़ जाते हैं। बाद में उनके सामने पछताने के अलावा और कोई विकल्प नहीं रह जाता। ऐसे ही एक मामले में दूसरे जिले की युवती ने कुसमुंडा थाना में अपने साथ दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई है। इस मामले में 376 का जुर्म दर्ज किया गया है और आरोपी की पतासाजी की जा रही है।

जानकारी के अनुसार फेसबुक से पूरा किस्सा शुरू हुआ और बाद में दुष्कर्म की घटना तक जा पहुंचा। तकनीकी शिक्षा लेने के बाद एक युवती इंटर्नशिप के लिए कुसमुंडा क्षेत्र में पहुंची थी। अपने कामकाज के साथ-साथ में दूसरों की तरह सोशल मीडिया को भी कुछ समय दिया करती थी। फेसबुक पर उसका अकाउंट एक्टिव था। इसी दौरान बलौदा बाजार जिले के रहने वाले एक युवक से उसकी पहचान हो गई। इसके साथ युवक उसके संपर्क में आया। बताया गया कि वर्ष 2020 के जून महीने में संपर्क होने के पश्चात कई तरह के वादे किए गए। अलग-अलग तरह के प्रलोभन देने के साथ युवक ने अपनी फेसबुक फ्रेंड्स को झांसे में लिया और विवाह करने की बात कही। इसी दरमियान कई मौकों पर दैहिक शोषण किया गया। लंबा समय बीतने पर उसने विवाह करने से इंकार कर दिया। आखिरकार पीडि़ता को इस मामले में पुलिस की शरण में जाना पड़ा। पिछली रात पीडि़ता कुसमुंडा पुलिस थाना पहुंची और अपने साथ हुई घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। कुसमुंडा थाना प्रभारी लीलाधर राठौर ने बताया कि इस मामले में आरोपी युवक केयूर भूषण टंडन निवासी बलोदा बाजार के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध किया गया है। उसके बारे में सूचनाएं एकत्रित की जा रही हैं। इसके पश्चात गिरफ्तारी का काम किया जाएगा।

साईबर और अन्य तरह के अपराध बढऩे के मामलों को देखते हुए लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। किसी भी स्तर पर अपनी भूमिका का निर्वाह करने के दौरान तथ्यों की भलीभांति पड़ताल की जाए। ऐसा करने से उन तत्वों को हतोत्साहित किया जा सकता है जिनकी मंशा ठीक नहीं होती। सोशल मीडिया पर अंजान लोगों के संपर्क में आने से पूरी तरह बचा जाये। यह आपके लिए हितकर होगा।
बड़ी खबर : शराब दुकानों के खुलने के समय में हुआ परिवर्तन, अब इतने बजे तक खुले रहेंगी शराब दुकाने

बड़ी खबर : शराब दुकानों के खुलने के समय में हुआ परिवर्तन, अब इतने बजे तक खुले रहेंगी शराब दुकाने

कोरबा | कोरोना संक्रमण की दर में कमी आने के साथ-साथ जिले में शराब दुकानें खुलने तथा बंद होने के समय में आंशिक संशोधन किया गया है। अब जिले की सभी शराब दुकानें सुबह नौ बजे से रात 10 बजे तक खुलेंगी। आबकारी आयुक्त द्वारा जारी आदेश के परिपालन में कलेक्टर  रानू साहू ने जिले में शराब दुकानें खुलने तथा बन्द होने के समय सीमा में आंशिक छुट दिया है।

पूर्व में जिले में सुबह नौ बजे से रात्रि आठ बजे तक शराब दुकान खोलने का आदेश था, जिसमें आंशिक संशोधन करते हुए जिले में शराब दुकानें सुबह नौ बजे से लेकर रात्रि 10 बजे तक खोलने का आदेश जारी किया गया है। जिले में सभी शराब दुकानें कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संचालित की जाएंगी। जिला कलेक्टर द्वारा कोरोना महामारी से बचाव हेतु शासन द्वारा समय-समय पर जारी एस. ओ. पी. का पालन करते हुए जिले के सभी शराब दुकानों को संचालित करने का आदेश जारी किया गया है।

लेनदेन को लेकर विवाद, ऑपेरटर ने लिफ्टर पर किया चाक़ू से वार...

लेनदेन को लेकर विवाद, ऑपेरटर ने लिफ्टर पर किया चाक़ू से वार...

कोरबा। कोरबा के एसईसीएल की दीपका खदान में देर रात चाकूबाजी की घटना हुई है। जानकारी के अनुसार दीपका खदान के स्टॉक में पिछली रात 2:30 बजे चाकूबाजी हो गई। इस घटना में लिफ्टर कुणाल सिंह घायल हो गया। उसे एसईसीएल के गेवरा स्थित एनसीएच में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार, एसईसीएल में अच्छी क्वालिटी का कोयला गिराने के एवज में दी जाने वाली राशि को लेकर यहां पर डंफर ऑपरेटर धनेश गुरुद्वान और कोल लिफ्टर कुणाल सिंह के बीच जमकर विवाद हुआ। विवाद इतना बढ़ा कि ऑपरेटर ने अपने पास रखे चाकू से कुणाल पर हमला कर दिया। इससे वह बुरी तरह घायल हो गया। मामले की जानकारी होने पर लोग हरकत में आए और पीड़ित को एनसीएच में भर्ती कराया।

 छत्तीसगढ़ में एक बार फिर हाथी के हमले से ग्रामीण की मौत, घटना से इलाके में भय का माहौल

छत्तीसगढ़ में एक बार फिर हाथी के हमले से ग्रामीण की मौत, घटना से इलाके में भय का माहौल

कोरबा। वन मंडल कोरबा के सीमावर्ती इलाके में हुई घटना में मादा हाथी ने एक ग्रामीण को पैरो तले कुचल डाला। मौके पर उसकी मौत हो गई। इस घटनाक्रम से आसपास के इलाके में भय का माहौल बना हुआ है। सूचना मिलने पर वन विभाग के अधिकारियों ने इस इलाके का दौरा किया। मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

जानकारी के अनुसार धरमजयगढ़ वन परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले नरकालो गांव में यह घटना पिछली रात हुई। वन मंडल कोरबा के ग्राम कल्मीटीकरा से लगकर स्थित इलाके में हुई घटना में नरकालो को एक ग्रामीण का जीवन समाप्त हो गया। बताया गया कि वह कोसा प्लांटेशन में जरूरी काम करने गया हुआ था। इसी दौरान मादा हाथी विचरण करते हुए इस इलाके तक पहुंच गई और ग्रामीण को निशाने पर लिया। उसे मौके पर पटक देने से ग्रामीण की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। देर रात तक ग्रामीण अपने घर नहीं पहुंचा तो उसके परिजन चिंतित हुए। उन्होंने खोजबीन का काम आज सुबह शुरू किया। इस दौरान कल्मीटिकरा क्षेत्र के लोगों ने एक स्थान पर ग्रामीण को मृत स्थिति में देखा और इस बारे में वन विभाग के कर्मियों को जानकारी दी। आगे की खोजबीन में पता चला कि संबंधित व्यक्ति नरकालो गांव का है जो गत रात्रि मादा हाथी के कहर के चक्कर में जान गंवा बैठा। धरमजयगढ़ के रेंजर और अन्य अधिकारियों ने आज सुबह घटना स्थल का दौरा किया। क्षेत्र की पुलिस भी यहां पहुंची। मामले में मर्ग कायम करने के साथ पीडि़त का शव कब्जे में लिया गया और उसे परीक्षण की कार्यवाही के लिए भेज दिया गया।

मृतक के परिजनों को प्रारंभिक सहायता राशि के रूप में 25 हजार रुपए उपलब्ध कराए गए हैं। वन्य प्राणियों के हमले में होने वाली मौत के मामले में कुल 6 लाख रुपए की राशि दिया जाना प्रावधानित है। शेष अंतर की राशि 5 लाख 75 हजार रुपए का भुगतान प्रकरण तैयार करने और अन्य प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद किया जाएगा। कोरबा सहित आसपास के सीमा क्षेत्र में झारखंड व ओडि़सा के रास्ते से आने वाले हाथियों के उत्पात और नुकसान की समस्या अब तक जस की तस कायम है। एक दशक से भी ज्यादा समय इस समस्या को हो गया है। इस दौर में वन विभाग ने अलग.अलग स्तर पर हाथियों के उन्मूलन की दिशा में काम किया। हाथी प्रशिक्षक से लेकर पावर फेंसिंगए बी.हाईव से लेकर कई फार्मूले अपनाए गए। इन सबके बावजूद हाथियों का कोरबा और निकटवर्ती वनमंडल के क्षेत्रों में पहुंचने के साथ नुकसान पहुंचाना जाना है।
 छत्तीसगढ़ लॉकडाउन : अब मंगलवार को रहेगा सम्पूर्ण लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

छत्तीसगढ़ लॉकडाउन : अब मंगलवार को रहेगा सम्पूर्ण लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

कोरबा: कोरोना के आंकड़े कम जरूर हुए हैं, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर प्रशासन ने अपने-अपने स्तर से तैयारियां शुरू कर दी है। इसी कड़ी में अब कोरबा में मंगलवार को कप्लीट लॉकडाउन का फैसला लिया है। कलेक्टर रानू साहू ने व्यापारिक संगठनों के साथ बैठक की थी, बैठक में मंगलवार को संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला लिया गया है।

मंगलवार को कंप्लीट लॉकडाउन के अलावे दुकानों को बंद करने के समय में भी कटौती की गयी है। पहले दुकानें रात 9 बजे तक खुला करती थी, लेकिन अब सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक ही दुकानें खुलेगी। मंगलवार को सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं की दुकानें ही खुलेगी।

सभी ने सप्ताह में एक दिन अपने प्रतिष्ठान और दुकान बंद करने में सहमति जताई है, जिसके बाद ये आदेश शहरी क्षेत्र में शख्ती से पालन किया जाएगा, जबकि ग्रामीण अंचल में मंगलवार को बंद की पाबंदी नही रहेगी, लेकिन ग्रामीण अंचल में भी भीड़-भाड़ व कार्यक्रमो में कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन का निर्देश दिया गया है। जिस पर जवाबदार अधिकारियों की नज़र रहेगी।
अकेले रह रही महिला के घर 3 जहरीले साँप घुस आए, फिर क्या हुआ जानिए डिटेल मे

अकेले रह रही महिला के घर 3 जहरीले साँप घुस आए, फिर क्या हुआ जानिए डिटेल मे

कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा के एक घर मे उस वक़्त हड़कंप मच गया जब 3 सांप निकल आएं, इस वक्त मकान में एक महिला अकेली थी, इन सांपों को देख वह बुरी तरह घबरा गईं और उन्होंने घर के एक कमरे में खुद को बंद कर लिया और इसके बाद इस बारे में अपने पति को बताया. यह मामला कोरबा के सीएसईबी कॉलोनी परिसर का है|

लोगों ने बताया कि कोरबा के सीएसईबी परिसर के एक घर में एक महिला सांपों से घिर गई और जान बचाने के लिए उन्होंने खुद को एक कमरे में कैद कर लिया. इस महिला का नाम सुगंधी चौधरी है. रोज की तरह वह घर में अपना काम निपटा रही थीं कि तभी उनकी नजर दरवाजे पर पड़ी जहां 3 सांप थे. सांपों को देखकर सुगंधी डर के मारे चीखने लगीं. फिर किसी तरह दूसरे कमरे में जाकर उन्होंने दरवाजा बंद कर लिया और बिस्तर पर बैठ गईं. इसके बाद डरी-सहमी सुगंधी ने अपने पति को घर में सांप घुसने की जानकारी दी. तब उनके पति ने स्नेक रेस्क्यू टीम के प्रमुख जितेंद्र सारथी को फोन कर पूरा मामला बताया|

मामला बहुत गंभीर होने की वजह से जितेंद्र सारथी पूरी तत्परता दिखाते हुए मौके पर पहुंच गए और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया. एक सांप उन्हें दरवाजे के पास ही मिल गया, जिसका उन्होंने सुरक्षित रेस्क्यू किया. यह कोबरा सांप था. फिर उन्होंने दूसरे सांप की तलाश की, जो उन्हें मरे हालत में मिला. यह करैत सांप था. सारथी के मुताबिक, संभवतः कोबरा ने ही उसे अपना शिकार बनाया होगा. सारथी ने बताया कि तीसरा सांप भाग जाने में कामयाब रहा. सांपों का रेस्क्यू करने के बाद उन्होंने सुगंधी का कमरा खुलवाया और उन्हें लेकर बाहर आए. सुगंधी बहुत ही ज्यादा डरी हुई थीं.

 दहेज प्रताडऩा: नवविवाहिता को ले जाने 10 लाख रुपए की मांग, थाने में दर्ज हुआ मामला

दहेज प्रताडऩा: नवविवाहिता को ले जाने 10 लाख रुपए की मांग, थाने में दर्ज हुआ मामला

कोरबा। ससुराल में पति समेत सभी ससुरालियों की ओर से दहेज के लिए प्रताडि़त किए जाने से परेशान एक नवविवाहिता मायके में आ गई। जिसे ले जाने के लिए ससुरालीजनों ने 10 लाख रुपए की मांग की। इसके बाद पुलिस ने दहेज प्रताडऩा का केस दर्ज कर लिया है।

कुसमुंडा के आदर्शनगर निवासी शांतिलाल पाटले की बेटी मंजूलता की शादी करीब डेढ़ साल पहले बरबसपुर के संजय कुमार हरवंश से हुई। पुलिस के मुताबिक शादी से दो दिन पहले ही दूल्हे ने बुलेट मांगी। कन्यादान करते हुए परिवार ने अन्य सामान व जेवरात के साथ बुलेट भी दी। शादी होकर मंजूलता ससुराल पहुंची तो वहां 3-4 दिन बाद उसके पति संजय, सास करन बाई, ननंद रितू, देवर अजय, डेढसास उमा मिश्रा, ससुर रेशम लाल दहेज में 10 लाख रुपए मांगकर लाने को कहते हुए प्रताडि़त करने लगे। खाना बनाना नहीं आता, चरित्रहीन कहने के अलावा अन्य बहाने से मारपीट कर प्रताडि़त किया जाने लगा। गर्भवती होने पर जबरन गर्भपात करा दिया गया। बीमार पडऩे पर भी अस्पताल नहीं ले जाया गया। इस कारण 8 माह पहले मंजूलता के पिता शांतिलाल और भाई संदीप कुमार उसके ससुराल पहुंचे। जो उसे इलाज कराने ले गए। इसके बाद से मंजूलता मायके में थी। जहां कई बार पति संजय समेत ससुराल के लोग पहुंचे। जो उसे वापस ससुराल ले जाने के लिए 10 लाख रुपए की मांग करने लगे। परेशान होकर मंजूलता ने ससुरालियों के खिलाफ  रिपोर्ट लिखाई। पुलिस ने मामले में आरोपियों पर केस दर्ज कर लिया है।
बड़ी खबर: मकान तोड़कर हाथी पी गया शराब फिर नशे में कर डाला ये काम

बड़ी खबर: मकान तोड़कर हाथी पी गया शराब फिर नशे में कर डाला ये काम

कोरबा। हाथी प्रभावित क्षेत्रों में अवैध शराब बनाना ग्रामीणों के लिए जी का जंजाल बन गया है। शराब बनाने के जिन ठिकाने को आबकारी और पुलिस विभाग के जवान भी नहीं ढूंढ पाते वहां हाथी जा धमक रहे। पसान वन परिक्षेत्र के खोडरी गांव के एक एक कच्चे मकान की दीवार तोड़ कर हाथी अंदर रखे शराब को सूड़ से पी गया। साथ ही लाहन को भी चट कर दिया। नशे में मदमस्त हुए इस हाथी ने करीब तीन एकड़ में लगे धान के थरहा को नुकसान भी पहुंचाया है।


वन मंडल कटघोरा के पसान व केंदई परिक्षेत्र में हाथियों की चहलकदमी लगातार बनी हुई है। इस क्षेत्र में दो दर्जन से अधिक संख्या में हाथी अलग-अलग झुंड में घूम रहे। ज्यादातर उनके रात के वक्त आबादी में घुसने व खेतों को चौपट करने की घटनाएं सामने आ रही हैं। अब दिन में भी हाथी गांव में आकर मकानों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। ग्राम खोडरी में एक हाथी ने मकान की दीवार को क्षतिग्रस्त कर दिया और सूंड़ के सहारे अंदर रखी शराब को पी गया। मकान में रखा चावल भी चट कर गया। घटना के समय घर में कोई नहीं था। ग्रामीणों ने बताया कि घर में महुआ व शराब रखी हुई थी, जिसकी गंध उसे उस मकान तक खींच लाई। महुआ पास खाने व शराब पीने के बाद मदमस्त हाथी खेतों की ओर चला गया।

इससे पूर्व भी ऐसी कई घटनाएं हुईं हैं, जिसमें शराब की गंध से आकर्षित हो हाथियों ग्रामीणों के मकानों को निशाना बना चुके हैं। हाथी के उत्पात को देखते हुए जिला आबकारी विभाग ने प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों को सख्त हिदायत दी है कि महुआ संग्रहित कर घर में न रखें और कच्ची शराब भी न बनाएं। कच्चे मकानों में महुआ संग्रहित करने या उसकी शराब बनाने से गंध दूर तक फैल जाती है। मीलों दूर जंगल में छुपे हाथियों का झुंड उसकी महक से आकर्षित होकर गांव में घुसपैठ करते हैं, जो ग्रामीणों के लिए नुकसान का सबब बन सकता है या जनहानि भी हो सकती है। 
 छत्तीसगढ़: अज्ञात टेलर की ठोकर से युवक की मौत, गुस्से में बस्ती वासियों ने किया चक्का जाम

छत्तीसगढ़: अज्ञात टेलर की ठोकर से युवक की मौत, गुस्से में बस्ती वासियों ने किया चक्का जाम

कोरबा। बाल्को थाना क्षेत्र अंतर्गत रूम गड़ा दी मुख्य मार्ग में अज्ञात वाहन ने एक युवक को अपनी चपेट में ले लिया जिससे युवक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई है। दुर्घटना के होते ही बस्ती वासियों का गुस्सा फूट पड़ा है और मुआवजा सहित अन्य मांगों को लेकर बस्ती वासियों ने मुख्य मार्ग में चक्का जाम कर दिया है घटना की सूचना पाते ही बाल्को पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई है
 शादी का झांसा देकर महिला से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

शादी का झांसा देकर महिला से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। गत 5 जुलाई 21 को एक पीडि़त महिला द्वारा चौकी सीएसईबी उपस्थित आकर एक लिखित आवेदन प्रस्तुत कर प्रथम सूचना पत्र दर्ज कराया गया था कि वर्ष 2019 में पीडि़ता की जान पहचान फेसबुक पर आरोपी रजनीश कुमार पटेल के साथ हुई थी। उसके बाद माह जून 2019 में आरोपी रजनीश कुमार पटेल द्वारा पीडि़ता को शादी करने का पूर्ण आश्वासन देकर शारीरिक संबंध बनाया गया। तदुपरांत आरोपी द्वारा पीडि़ता को शादी करने का झांसा देते हुए टालमटोल करते आ रहा था तथा पीडि़ता द्वारा शादी करने हेतु कहे जाने पर अब साफ  तौर पर इंकार कर रहा था।

पीडि़ता की रिपोर्ट पर चौकी सीएसईबी थाना कोतवाली जिला कोरबा में आरोपी रजनीश पटेल के विरुद्ध अपराध क्रमांक 592-21धारा 376-2,417 आईपीसी पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था तथा अपराध की कायमी के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को अवगत कराया गया था। मामले की गंभीर प्रकृति को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कोरबा भोजराम पटेल के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर के मार्गदर्शन व नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा योगेश साहू के पर्यवेक्षण में प्रकरण के आरोपी के जल्द से जल्द गिरफ्तारी हेतु थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक विवेक शर्मा एवं चौकी प्रभारी सीएसईबी उप निरीक्षक आशीष कुमार सिंह को निर्देशित हुआ था। प्रकरण में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के निर्देशानुसार चौकी प्रभारी सीएसईबी उपनिरीक्षक आशीष कुमार सिंह द्वारा अपने हमराह स्टाफ की मदद से आरोपी रजनीश कुमार पटेल पिता मैकूलाल पटेल उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम पड़रिया थाना अकलतरा जिला जांजगीर चांपा हाल मुकाम पंप हाउस जिला कोरबा को अपराध कायमी के महज 3 घंटों के भीतर गिरफ्तार किया गया है। प्रकरण की विवेचना कार्यवाही उपरांत मामले के आरोपी को न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया। उपरोक्त प्रकरण में चौकी प्रभारी सीएसईबी उपनिरीक्षक आशीष कुमार सिंह, सहायक उप निरीक्षक भागीरथी चौधरी, आरक्षक देव नारायण कुर्रे, महिला आरक्षक अमरोतिन कुर्रे की महत्वपूर्ण एवं सराहनीय भूमिका रही है।
नौकरी लगाने के नाम से हुई 2 लाख 40 हजार की ठगी

नौकरी लगाने के नाम से हुई 2 लाख 40 हजार की ठगी

कोरबा, बालको थाना क्षेत्र अंतर्गत बालको भदरापारा में निवासी मनीष कुमार कसेर पिता मनोज कुमार कसेर उम्र 29 वर्ष अपने परिवार के साथ रहता है। जिसकी मुलाकात 2018 में प्रदीप पुराने नामक व्यक्ति से हुआ प्रदीप पुराने अक्सर मनीष कसेर के घर आया करता था।
प्रदीप पुराने अपने आप को कांग्रेस सेवा दल का अध्यक्ष बताकर अपना पहुँच छत्तीसगढ़ शासन के वरिष्ठ अधिकारियों से होना बताया तथा मनीष की नौकरी कलेक्ट्रेट में चपरासी के पोस्ट में लगाने की बात कही। जिसमें 3 लाख रुपए की मांग की, जिसमें 2 लाख 40 हजार की व्यवस्था किसी तरह मनीष के पिता द्वारा प्रदीप पुराने को दिया गया। बाकी के 60 हजार रुपये नौकरी लग जाने के बाद देना कहकर प्रदीप पुराने 2 लाख 40 हजार रुपये ले गया। छ: महीने के भीतर कलेक्ट्रेट में चपरासी के पद पर नौकरी लगवा देगा, छ: महीने के बाद जब नौकरी का कुछ पता नहीं चला, तब मनीष अपने पिता द्वारा दिये गए पैसों की मांग की, तब प्रदीप पुराने द्वारा आज दूंगा कल दूंगा करके पैसा वापस नहीं किया गया। मनीष कसेर को न ही अपना पैसा मिला न ही नौकरी। जिसकी शिकायत थाना बालको को दे दी गई है। पुलिस प्रदीप पुराने की तलाश कर रही है।

 

 महिला आरक्षक से 64 हजार की ऑनलाइन ठगी, मामला दर्ज

महिला आरक्षक से 64 हजार की ऑनलाइन ठगी, मामला दर्ज

कोरबा। पाली थाना में महिला आरक्षक अनिता कुमारी जगत 29 पदस्थ है। जिसका एसबीआई में सैलरी अकाउंट है। मंगलवार को वह आसानी से लेनदेन के लिए एसबीआई बैंक का योनो एप डाउनलोड करके एक्टिवेट कर रही थी। इस दौरान एक नंबर से मोबाइल पर कॉल आया। जिसमें योनो एप एक्टिवेट करने के लिए महिला आरक्षक से उसके खाते के संबंध में जानकारी मांगी।

आरक्षक ने जानकारी दे दी। जिसके बाद उसके खाते से उसी दिन 20-20 हजार करके 2 बार और अगले दिन बुधवार को 24 हजार रुपए पार हो गए। मैसेज आने पर खाता में 11 हजार रुपए बचा दिखाया। तब वह बैंक पहुंची। जहां उसे योनो एप के नाम पर ठगी किए जाने की जानकारी दी गई। उसने पाली थाना पहुंचकर घटना की रिपोर्ट लिखाई। पुलिस मामले में धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज कर जांच कर रही है।
 छत्तीसगढ़ में ट्रेलर की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, साथी गंभीर

छत्तीसगढ़ में ट्रेलर की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, साथी गंभीर

कोरबा।  ट्रांसपोर्ट नगर मुख्य सड़क पर गुरुवार की दोपहर तेज रफ्तार ट्रेलर की ठोकर से बाइक सवार शिक्षक की मौत हो गई। वहीं साथी गंभीर रूप से घायल हो गया है। ब्लॉक के ग्राम दौरीकलारी निवासी बलदाऊ सिंह पोर्ते 35 लाफा के प्राथमिक शाला दादर में सहायक शिक्षक थे। जो गुुरुवार को साथी खैराडूबान निवासी सुदर्शन को बाइक में बिठाकर घर लौट रहे थे। शाम को बाइक पाली मुख्य मार्ग पर ट्रांसपोर्ट नगर के निकट पहुंची थी।


इसी दौरान सामने से आए तेजरफ्तार ट्रेलर सीजी.12.एएक्स.9620 के चालक ने बाइक को ठोकर मार दी। जिससे शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि पीछे बैठा सुदर्शन गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना की सूचना पर 112 की टीम पहुंची। उन्हें पाली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। जहां डॉक्टर ने शिक्षक पोर्ते को मृत घोषित कर दिया। वहीं सुदर्शन को बिलासपुर रेफर कर दिया गया। मामले में पुलिस ने आरोपी ट्रेलर चालक के खिलाफ  अपराध दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि जिले में कोयला लोड वाहन तेज रफ्तार से दौड़ते हैं। जबकि जिलेभर की अधिकतर सड़कें काफी खराब हैं। इसी के चलते जिले में हादसे बढ़ रहे हैं। खराब सड़कों के कारण हो रहे हादसों को लेकर आए दिन जिलेवासी कहीं न कहीं पर जाम आदि लगाकर इन्हें सुधारने और नई बनवाने की मांग करते रहे हैं। इसके बाद भी जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
 पुलिस लाइन में पदस्थ पुलिस आरक्षक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

पुलिस लाइन में पदस्थ पुलिस आरक्षक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

कोरबा। पुलिस लाइन में पदस्थ पुलिस आरक्षक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना कोरबा जिले के पुलिस लाइन की है। पुलिस के अनुसार मृतक आरक्षक पुलिस कालोनी में निवास करता था। आपको बताते चले कि कुछ दिन पहले ही पुलिस अधीक्षक के बंगले में पदस्थ आरक्षक एल गोविंदा राव द्वारा हाउसिंग बोर्ड कालोनी में अपने घर पर फांसी लगा कर खुदकुशी करने का मामला सामने आया था। वही पुलिस लाइन में पदस्थ विजेंद्र रात्रे नामक आरक्षक ने भी अपने घर पर खुदकुशी कर जान दे दी। बताया जा रहा है कि घर के अंदर उसकी लाश फांसी के फंदे पर लटकती मिली! जिसकी सूचना रामपुर चौकी पुलिस को दी गई। घटना की सूचना मिलते ही मृतक के घर शंकर नगर में पुलिस मौके पर पहुची और जांच उपरांत कमरे को सील कर दिया है। फिलहाल आरक्षक ने सुसाइड  किन परिस्थितियों में और किस कारण किया है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। फिलहाल मामले की जांच में पुलिस जांच में जुट गई है।
 अब यहां लॉकडाउन में मिली छूट: सिनेमा हॉल, थीम पार्क, वॉटर पार्क, स्विमिंग पूल और पर्यटन स्थल भी हुए अनलॉक

अब यहां लॉकडाउन में मिली छूट: सिनेमा हॉल, थीम पार्क, वॉटर पार्क, स्विमिंग पूल और पर्यटन स्थल भी हुए अनलॉक

कोरबा। कोरबा जिले में कोविड संक्रमण के कारण लागू किए गए लॉकडाउन में शहर वासियों को कुछ और छूट मिल गई है। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्रीमती रानू साहू ने इस संबंध में संशोधित आदेश जारी कर दिया है। अब सिनेमा हॉल, थीम पार्क, वॉटर पार्क, स्विमिंग पूल और पर्यटन स्थलों को भी आमजनों  के लिए निर्धारित अवधि तक खोल दिया गया है। जारी किए गए आदेशानुसार जिले में अभी स्कूल एवं कॉलेज विद्यार्थियों हेतु बंद रहेंगे। छात्रावास में केवल परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को आवास की अनुमति होगी। शासन से अनुमति प्राप्त समस्त परीक्षाओं एवं ऑनलाईन शिक्षा को छोड़कर सार्वजनिक रूप से संचालित कोचिंग क्लासेस एवं अन्य समस्त शैक्षणिक गतिविधियां बंद रहेगी। सभी प्रकार की सभा, रैली, जुलूस, धरना, प्रदर्शन तथा सामाजिक, राजनैतिक, खेल, सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। प्रतिदिन शाम 08.00 बजे से प्रात: 06.00 बजे तक रात्रिकालीन लॉकडाउन लागू रहेगा, जिसके दौरान इस आदेश/राज्य शासन द्वारा अनुमति प्राप्त गतिविधियों एवं आपातकालीन आवागमन को छोड़कर अन्य समस्त सार्वजनिक गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा। 

प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर अन्य सभी प्रकार की स्थायी एवं अस्थायी दुकानें, शॉपिंग मॉल, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, सुपर मार्केट/सुपर बाजार, फल एवं सब्जी मंडी/बाजार, अनाज मंडी, शो-रुम, मदिरा दुकानें, ठेला, सैलून, ब्यूटी-पार्लर, स्पा, पार्क व जिम व ग्रंथालय इत्यादि रविवार सहित सभी दिवस में उनके प्रचलित समय से रात्रि 08.00 बजे तक खोले जा सकेंगे। किन्तु सभी ग्रंथालय का संचालन उनकी बैठक क्षमता के 50 प्रतिशत की सीमा के साथ तथा कोविड-19 टीके के दोनो डोज ले चुके सदस्यों को प्राथमिकता देते हुये पहले आओ, पहले पाओ के नियम अनुसार किया जा सकेगा। सभी वाटर पार्क, थीम पार्क, सिनेमा हॉल/थियेटर, स्वीमिंग पूल तथा सामूहिक स्थल जैसे सतरेंगा, बुका, टिहरीसराई इत्यादि आम जनता हेतु उनके प्रचलित समय से अधिकतम रात्रि 08:00 बजे तक खोले जा सकेंगे किन्तु सिनेमा/हॉल थियेटर का संचालन उनकी कुल क्षमता के 50 प्रतिशत व्यक्तियों के लिए ही किया जा सकेगा। संबंधित व्यवसायिक प्रतिष्ठान तथा नगरीय/विभाग इसके लिए उत्तरदायी होगें। भारत सरकार एवं राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी गाईडलाईन का कड़ाई से पालन अनिवार्य होगा। होटल, रेस्टोरेंट्स, रेस्टोरेंट-बार एवं क्लब रात्रि 10:00 बजे तक खुल सकेंगे। आउटसाइड डाइनिंग की भी अनुमति होगी किन्तु डायनिंग हॉल/रुम में उनकी बैठक क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नहीं होगी। होटल, रेस्टोरेंट ऑनलाईन/टेलीफोनिक ऑर्डर पर होम डिलिवरी तथा टेक-अवे को प्राथमिकता देंगे। होटलों में इन-हाउस अतिथियों के लिए होटल किचन/स्वयं के रेस्टोरेंट्स के उपयोग की अनुमति रहेगी।

वैवाहिक कार्यक्रम निवास-गृह, होटल अथवा मैरिज हॉल में कोविड-19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन की शर्त पर आयोजित करने की अनुमति होगी। आयोजन में शामिल होने वाले व्यक्यिों की कुल अधिकतम संख्या 50 रहेगी। इसी प्रकार अंत्येष्टि, दशगात्र, इत्यादि मृत्यु संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की कुल अधिकतम संख्या 20 रहेगी। होटल/मैरिज हॉल में किसी एक आयोजन के दौरान सभी पक्षों को मिलाकर मैरिज हॉल की क्षमता के 50 प्रतिशत की सीमा के अधीन अधिकतम 50 व्यक्ति ही शामिल हो सकेंगे, जिनकी सूची मैरिज हॉल संचालक द्वारा संधारित की जावेगी। आयोजन में धुमाल/ब्रास बैण्ड पार्टी होने पूर्व में जारी निर्देशों के अनुसार शर्तों का कड़ाई से पालन करना होगा। आयोजन के दौरान मास्क धारण करना तथा फिजिकल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन अनिवार्य होगा। मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग तथा अन्य निर्धारित शर्तो के अधीन सभी पूजा/धार्मिक स्थल संचालित हो सकेगें किन्तु धार्मिक स्थल परिसर में एक समय में अधिकतम 05 व्यक्तियों को ही अनुमति होगी। 

सभी कार्यालयों में सभी श्रेणी के अधिकारियों/कर्मचारियों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित की जावे। उप पंजीयक कार्यालय आवश्यक स्टाफ सहित पूर्ववत टोकन/ऑनलाईन सिस्टम के साथ संचालित होगें। कार्यालयों में आम जनता के प्रवेश को कोविड-19 से बचाव हेतु निर्धारित निर्देशों यथा फिजिकल डिस्टेंसिंग तथा मास्क अनिवार्यत: धारण करने की शर्त पर शिथिल किया जाता है। सभी निजी/सार्वजनिक कार्यालय के प्रमुख कोविड-19 टीकाकरण को प्राथमिकता देगें। जिन कार्यालयों में सभी अधिकारियों/कर्मचारियों का टीकाकरण हो चुका है, वह आम जनता हेतु यह सूचना प्रदर्शित करेगें कि ''इस कार्यालय में सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को टीका लग चुका है। सभी अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लिनिक एवं पशु-चिकित्सालय को उनके निर्धारित समय में संचालन की अनुमति होगी। मेडिकल दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देगें। पेट्रोल पंप, गैस एजेन्सी एवं मेडिकल दुकानें पूर्ण समयावधि तक खुल सकेगें किन्तु गैस एजेंसियॉ टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर के माध्यम से ग्राहकों को गैस सिलेन्डरों की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देंगी। शासकीय उचित मूल्य दुकानों को खाद्य अधिकारी कोरबा द्वारा निर्धारित समयावधि में मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिग, नियमित सेनिटाइजेशन एवं भीड़-भाड़ नही होने देने की शर्त का कड़ाई से पालन कराने के अधीन, टोकन व्यवस्था के साथ खोलने की अनुमति होगी। सभी संचालित दुकानों/स्थापनाओं में नि:शुल्क वितरण/विक्रय हेतु मास्क रखना, दुकान/स्थापना में कार्यरत कर्मचारियों एवं ग्राहको के उपयोग हेतु सेनिटाईजर रखना तथा कोविड-19 टीकाकरण को प्राथमिकता देना अनिवार्य होगा। 

जिन दुकान/स्थापना में सभी कर्मचारियों/दुकान संचालक का टीकाकरण हो चुका है, वह आम जनता हेतु यह सूचना प्रदर्शित करेगें कि ''इस दुकान/स्थापना के संचालक तथा सभी कर्मचारियों को टीका लग चुका है।ÓÓ होम डिलीवरी व्यवस्था में संलग्न सभी व्यक्तियों को नियमित अंतराल में कोविड-19 जॉच कराना आवश्यक होगा साथ ही होम डिलीवरी के दौरान मास्क धारण करना एवं फिजिकल डिस्टेंसिग का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा।निजी/सार्वजनिक वाहनों में यात्रा के दौरान भी मास्क व फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियम का कड़ाई से पालन किया जावे। प्रतिदिन रात्रि 08.00 बजे से प्रात: 06.00 बजे तक रात्रिकालीन लॉकडाउन के दौरान वैवाहिक कार्यक्रम, होटल/रेस्टोरेंट में इन हाउस डायनिंग एवं होम डिलीवरी, रेस्टोरेंट-बार, क्लब, राज्य शासन के निर्देशानुसार संचालित सेवाएॅ तथा थोक माल/वेयरहाउस/कार्गो/फल/ सब्जी की लोडिंग/अन-लोडिंग की अनुमति निर्धारित समयावधि में रहेगी। हवाई यात्रा, रेल मार्ग या सड़क मार्ग से आने वाले जिन यात्रियों के पास 96 घंटे पूर्व के भीतर की आर.टी.पी.सी.आर. जांच टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट होगी अथवा कोविड वैक्सीन के दोनों डोज लगे होने का प्रमाण-पत्र होगा उन्हें ही कोरबा जिले के भीतर रेलवे स्टेशन अथवा बॉर्डर चेक पोस्ट से आगामी यात्रा हेतु अनुमति होगी। जिन यात्रियों के पास निर्धारित समय अवधि 96 घंटे पूर्व तक की आर.टी.पी.सी.आर. जांच टेस्ट रिपोर्ट नहीं होगी उनकी कोविड टैस्ट जांच रेलवे स्टेशन पर की जायेगी तथा रिपोर्ट प्राप्त होने तक यात्रियों को स्वयं को होम आईसोलेशन में रखना अनिवार्य होगा। मास्क तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन अनिवार्य होगा, उल्लंघन पर नियमानुसार अर्थदण्ड अधिरोपित किया जावेगा। किसी दुकान/मॉल/हॉल को फिजिकल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुये भीड़-भाड़ एकत्रित करने पर या राज्य शासन/इस कार्यालय द्वारा जारी निर्देशों का उल्लंघन करने पर नियमानुसार अर्थदण्ड अधिरोपित करने एवं 30 दिवस हेतु दुकान सील करने की कार्यवाही की जावेगी। साथ ही भारतीय दण्ड संहिता, 1860 की धारा 188 एवं अन्य सुसंगत विधान के अधीन आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया जावेंगा।  
 वरमाला से पहले दुल्हन भागकर जा पहुंची अपने प्रेमी के घर, फिर गुस्से में पिता ने किया कुछ ऐसा

वरमाला से पहले दुल्हन भागकर जा पहुंची अपने प्रेमी के घर, फिर गुस्से में पिता ने किया कुछ ऐसा

कोरबा। कोरबा के कोतवाली थाना क्षेत्र से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है यहां शादी से चंद घंटे पहले दुल्हन घर से गायब हो गई। दुल्हन की जब खोजबीन की गई तो वो गांव के ही रहने वाले अपने प्रेमी युवक के घर पर मिली। इस बात की जानकारी होने पर दुल्हन के पिता ने खुद को शर्मिंदा महसूस कर पहले बारात लौटाई फिर घर आकर अपना सिर मुंडवा लिया।

पढ़िए पूरी खबर-
दरअसल ये पूरी घटना कोरबा के कोतवाली थाना स्थित अग्रोहा भवन की है। रामपुर चौकी क्षेत्र की रहने वाली युवती की शादी बालको निवासी युवक से तय हुई थी। सब ठीक चल रहा था। शादी की तैयारी भी पूरी हो चुकी थी, इधर शनिवार को दुल्हन को लेने के लिए बाराती पक्ष पूरी तैयारी के साथ घर से निकल चुके थे। इतने में दुल्हन के गायब होने की खबर मिली। 

खबर के मिलते ही दुल्हन के घर वालों ने उसकी तलाश शुरू की। कई घंटों की खोजबीन के बाद दुल्हन गांव के ही एक युवक के घर पर मिली। जिसके बाद मौके पर दुल्हन के परिजन पहुंचे तो दुल्हन ने शादी करने और उनके साथ जाने से मना कर दिया। काफी मनाने के बाद भी जब युवती अपने घर जाने के लिए तैयार नहीं हुई तो परिजनों ने इसकी शिकायत थाने में की। 

शिकायत के बाद मौके पर पुलिस की टीम पहुंची और युवती को अपने साथ सखी सेंटर लेकर आयी। यहां पर एसडीएम सुनील नायक की मौजूदगी में युवती का बयान लिया गया। युवती ने अपने बयान में अपने प्रेमी के साथ ही आगे की जिंदगी साथ बिताने की बात कही, जिसके बाद उसके प्रेमी को सौंप दिया गया।

इधर इस घटना से नाराज दूल्हे पक्ष वालों ने जमकर हंगामा किया, जिन्हें समझा-बुझाकर बिना दुल्हन के ही वापास लौटाया गया। इस बात से दुखी दुल्हन के पिता ने घर पहुंचकर अपना सिर मुंडवा लिया। बताया जा रहा है कि, दुल्हन के पिता ने जमीन बेचकर अपनी बेटी की शादी के लिए पैसे इक्ट्ठा किये थे। ऐसे में उनकी लड़की के इस कदम से वो काफी दुखी अपने आप को महसूस कर रहे है।
 
बड़ा हादसा: कैम्प में सो रहे दो ठेका कर्मियों की ट्रेलर से दबकर मौत

बड़ा हादसा: कैम्प में सो रहे दो ठेका कर्मियों की ट्रेलर से दबकर मौत

कोरबा। पाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम चैतमा में बीती रात लगभग 2.30 से 3 बजे डीबीएल कंपनी के कैम्प में सो रहे दो मजदूरों को ट्रेलर ने अपनी चपेट में ले लिया। जिसमे दो मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गयी।


पुलिस के अनुसार 25-26 जून की दरम्यानी रात करीब 2.30 से 3 बजे के बीच दिलीप बिल्डकॉन के दो मजदूर ग्राम कांजीपानी(पाली) निवासी प्रकाश (20) व रवि सिंह राजपूत(20) को कंपनी के ट्रेलर ने दोनों को चपेट में ले लिया, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गयी।


इसके बाद दोनों मजदूरों के शव को पाली अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने परीक्षण के बाद दोनों को मृत घोषित कर दिया। हादसे की खबर मिलते ही ग्रामीण आक्रोश में आ गए और सुबह पाली अस्पताल में भी जमकर हंगामा किया। गुस्साए ग्रामीणों ने सुबह केम्प पर धावा बोल दिया। उन्होंने केम्प के कई शेल्टर और दूसरे वाहनों के शीशे फोड़ दिए, जबकि दुर्घटनाकारित ट्रेलर को आग के हवाले कर दिया।


इस घटना के बारे में पाली थाना प्रभारी लीलाधर राठौर ने बताया कि डीबीएल कंपनी में 25-26 जून की रात करीब 2.30 से 3 बजे के बीच दो मजदूरो को ट्रेलर ने दोनों को अपनी चपेट में ले लिया जिससे उनकी मौत हो गई है। कंपनी के द्वारा मृतकों के परिजनों को मुआवजा राशि के तौर पर 1-1 लाख रुपये दिया गया है। पाली पुलिस ने बताया कि फिलहाल मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी हैं। आरोपी ट्रेलर चालक के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है।उसकी तलाश की जा रही हैं। बहरहाल चैतमा बेस कैंप के आसपास माहौल तनावपूर्ण हैं।

 

 जेल से छूटने पर बहाली के बाद सिपाही ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

जेल से छूटने पर बहाली के बाद सिपाही ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

कोरबा। जिला पुलिस बल में पदस्थ सिपाही एल गोविंदा राव ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सिपाही राव बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर 22 लाख की ठगी के मामले का आरोपी था। जेल से छूटने के बाद करीब 6 माह पहले ही उसकी बहाली हुई थी।

जानकारी के अनुसार पुलिस लाइन के पीछे गोकुलनगर हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी स्थित आवास क्रमांक-13 के में सिपाही राव बहाली के बाद से परिवार समेत किराए में निवासरत था। सोमवार सुबह वह क्रिकेट खेलकर लौटा था, दोपहर उसने कमरे में फांसी लगा ली। घटना के समय परिजन नहीं थे। जब वे लौटे तो फंदे पर उसे लटका देखा। जीवित होने की उम्मीद से फंदा काटकर उसे नीचे उतारकर बेड में रखा गया। लेकिन उसकी सांस थम चुकी थी। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस अधिकारियों को दी गई। पुलिस लाइन समेत रामपुर चौकी से पुलिस अधिकारी घटनास्थल पहुंचे। मामले में मर्ग कायम कर पंचनामा कार्रवाई किया गया। देर शाम शव को पोस्टमार्टम के लिए मरच्यूरी में सुरक्षित रख दिया गया।

वर्ष 2017 में ठगी के शिकार बेरोजगारों ने तत्कालीन एसपी डी श्रवण से शिकायत की थी। जिसके बाद मामले में रामपुर चौकी में उसके खिलाफ  केस दर्ज किया गया। वह 3 साल तक फरार रहा। हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत नहीं मिलने के बाद मार्च 2020 में उसने कोर्ट के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था। जिसके बाद करीब 8 माह तक जेल में था। गोविंदा राव की भर्ती एमटी-डॉक रनर के पोस्ट पर हुई थी, लेकिन उसने ट्रेनिंग नहीं की थी। धोखाधड़ी के मामले में उसे बर्खास्त कर दिया गया था। जेल से छूटने के बाद आईजी कार्यालय नेे उसकी बर्खास्तगी कैंसिल कर दी। जिससे 6 माह पहले उसकी बहाली हुई। 20 दिन पहले उसकी वापसी पुलिस लाइन में हो गई थी। पुलिस के मुताबिक घटनास्थल पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। गमगीन होने की वजह से परिजन का बयान भी नहीं हो सका है। लेकिन चर्चा है कि उसने बहुत लोगों से पहले उधार में रकम ली थी। कई जगह से कर्जा भी ले रखा था। दूसरी ओर उसकी जुएं की लत नहीं छूटी थी। इस कारण लोगों के रकम वसूली के साथ ही कर्ज चुकाने का दबाव था।
+ Load More