कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में कोरोना ने ढाया कहर, छत्तीसगढ़ में कल के मुकाबले आज बढ़ी नए कोरोना मरीजों की संख्या    |    बड़ा हादसा: खाई में गिरी मेटाडोर ,10 की मौत व 15 घायल, पीएम मोदी ने जताया शोक    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज 2 की हुई मृत्यु, आज इतने मरीजों की हुई पहचान, देखे जिलेवार आकड़े    |    मौसम अलर्ट: उत्तर-पूर्वी मानसून की आहट से इन राज्यों पर मंडराया बारिश का खतरा    |    बड़ी खबर: पटाखे की गोदाम में लगी भयानक आग से 5 की गई जान, 9 लोग घायल    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में फिर पैर पसारने लगा है कोरोना, छत्तीसगढ़ में आज इतने मरीजों की हुई पहचान    |    बदल गए पेंशन के नियम, 30 नवंबर तक ये काम ना किया तो रुक जाएगी पेंशन    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में हुआ कोरोना विस्फोट, धीरे धीरे फिर से बढ़ रहे है एक्टिव मरीजो की संख्या, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: राज्यपाल की बिगड़ी तबियत, दिल्ली AIIMS में भर्ती    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इन दो जिलों में हुआ कोरोना विस्फोट, आज प्रदेश में मिले इतने नए मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |
छत्तीसगढ़ में फिर गांजा तस्करी: 44 किलो गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार, बस में यात्री बन कर बैठा था आरोपी

छत्तीसगढ़ में फिर गांजा तस्करी: 44 किलो गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार, बस में यात्री बन कर बैठा था आरोपी

कांकेर: कांकेर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि यात्री बस से गांजा तस्करी की जा रही है, जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने थाना प्रभारी शरद दुबे के नेतृत्व में चेक पोस्ट लगाकर जांच शुरू की थी, रात करीब साढ़े 3 बजे कोतवाली थाना के सामने जगदलपुर की ओर से आ रही यात्री बस को रोककर तलाशी ली गई तो 3 बैग में 40 पैकेट में गांजा भरा मिला।


पुलिस ने बस में सवार लोगो से पूछताछ कर आरोपी सलमान अली को हिरासत में लिया, जिसने जगदलपुर बस स्टैंड से एक युवक से पार्सल लेकर दिल्ली ले जाने की बात कही है। पुलिस आरोपी युवक से पूछताछ कर रही है, जिससे गांजा तस्करी से जुड़े और लोगो के नाम भी सामने आने की संभावना है।

छत्तीसगढ़ में 24 घंटे के भीतर ही मरीजों-परिजनों को नए अस्पताल से पुराने में किया शिफ्ट, यह थी वजह

छत्तीसगढ़ में 24 घंटे के भीतर ही मरीजों-परिजनों को नए अस्पताल से पुराने में किया शिफ्ट, यह थी वजह

कांकेर: जिले के पखांजूर सिविल अस्पताल परिसर में आधुनिक सुविधाओं के साथ 7 करोड़ की लागत से मदर एंड चाइल्ड केयर अस्पताल बनाया गया। एक दिन पहले ही उसमें मरीजों को शिफ्ट किया गया, लेकिन 24 घंटे में ही मरीजों के साथ-साथ उनके परिजन को पुराने हॉस्पिटल में शिफ्ट करना पड़ा।

इसके पीछे जो वजह है, उसे जान कर आप भी चौक जाएंगे। दरअसल नए हॉस्पिटल में आधुनिक सुविधाओं के साथ वहां टॉयलेट वेस्टर्न स्टाइल के लगे थे। ठेठ ग्रामीण आज भी अंग्रेजी के बजाय देसी लाइफस्टाइल पर ही भरोसा करते हैं। ग्रामीणों को इसका इस्तेमाल करना नहीं आता था। कुछ ने बाथरूम को टॉयलेट की तरह इस्तेमाल कर लिया तो कुछ ने वेस्टर्न स्टाइल के टॉयलेट को कूड़ेदान समझ कर कचरा डाल दिया। 24 घंटे में ही ऐसा कुछ हो गया कि अस्पताल प्रशासन को आनन-फानन में सबको पुराने हॉस्पिटल में शिफ्ट करना पड़ गया। बीएमओ दिलीप सिन्हा के मुताबिक अब इंडियन स्टाइल के टॉयलेट बनवाए जाएंगे। 15 दिन में यह काम पूरा हो जाएगा, फिर मरीजों को शिफ्ट करेंगे।

महिलाओं के सुरक्षित प्रसव और बच्चों की देखभाल के लिए पूर्व सांसद विक्रम उसेंडी की पहल पर यह मदर एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल का निर्माण कराया गया था। 2019 में अस्पताल भवन तैयार हुआ। जनवरी 2020 में इसके लोकार्पण की तैयारी थी, लेकिन कोरोना की वजह से लोकार्पण नहीं हुआ। हालांकि दूसरी लहर में इसे कोरोना केयर सेंटर के रूप इस्तेमाल किया गया। इसके बाद से यह खाली था और परसों ही इसमें 37 मरीजों को शिफ्ट किया गया था।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : जिले में स्थित शासकीय ईवीपीजी कालेज की वेबसाइट में अपलोड की गई आपत्तिजनक सामग्री, जाँच में जुटी पुलिस

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : जिले में स्थित शासकीय ईवीपीजी कालेज की वेबसाइट में अपलोड की गई आपत्तिजनक सामग्री, जाँच में जुटी पुलिस

 कांकेर | इंटरनेट का दुरुपयोग कर शरारती तत्व आए दिन कुछ न कुछ अवांछित हरकतें करते रहते हैं। साइबर क्राइम से जुड़ कर ऐसा ही मामला सामने आया है। इस बार उच्च शिक्षा में विद्यार्थियों की सुविधा के लिए बनाई गई वेबासाइट की हैकिंग कर एक नया कारनामा किया गया है। अज्ञात शख्स ने शासकीय ईवीपीजी कालेज की वेबसाइट को हैक कर उसमें आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट कर दी। जानकारी मिलने से सकते में आए कालेज प्रबंधन ने तत्काल वेबसाइट लाक करायाए ताकि हैकर्स कोई और बड़ी छेडख़ानी या दुरुपयोग न कर सके।

लाकडाउन में आनलाइन गतिविधियां बढऩे के साथ साइबर क्राइम से संबंधित अनेक मामले सामने आते रहे। इसके साथ ही लोगों की अजागरुकता का लाभ उठाने अनेक स्थानों में हैकर्स के सक्रिय होने की भी जानकारियां आती रहीं। इसी क्रम में पहली बार जिले की सबसे बड़ी उच्च शिक्षण संस्था शासकीय ईवीपीजी कालेज की वेबसाइट पर हैकर्स का हमला हुआ है। महाविद्यालय की वेबसाइट जीईवीपीजीकेआरबी डाट एसी डाट इन को किसी ने हैक करके मुख्यपृष्ठ पर कुछ आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट कर दी थी। सुरक्षागत कारणों से वेबसाइट कुछ घंटों के लिए बंद करना पड़ा। वेबसाइट हैक करने के साथ ही हैकर ने उसमें आपत्तिजनक पोस्ट भी कर दी। वेबसाइट हैक होने और उसमें अवांछित पोस्ट किए जाने की सूचना मिलते ही कालेज प्रबंधन में हड़कंप मच गया। सुबह करीब नौ बजे इस बात की जानकारी कालेज प्रबंधन को मिली, जिसके बाद तत्काल वेबसाइट को लाक कराया गया, ताकि उसमें हैकर्स कोई और बाधा न पहुंचा सके या कालेज से संबंधित डाटा में किसी प्रकार की बड़ी या गंभीर छेडख़ानी न की जा सके।
 
CG NEWS: अंतरराष्ट्रीय मोटरसाइकिल चोर गिरोह का किया पर्दाफाश 25 मोटरसाइकिल सहित गहने किये बरामद

CG NEWS: अंतरराष्ट्रीय मोटरसाइकिल चोर गिरोह का किया पर्दाफाश 25 मोटरसाइकिल सहित गहने किये बरामद

कांकेर/रायपुर: नरहरपुर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है जिसमें अंतरराष्ट्रीय मोटरसाइकिल चोर गिरोह को धर दबोचा गया है।जहाँ आरोपी चोरों से बरामद 25 मोटरसाइकिल एवं सोने चांदी के आभूषण 635000 मोटरसाइकिल 55000 के आभूषण व 46000 के मोबाइल जप्त किया गया है। साथ ही कुल 736000 के सामान को कांकेर पुलिस ने बरामद किया है मामला कांकेर जिले के अलग-अलग इलाकों में इन अंतरराष्ट्रीय चोर गिरोह के द्वारा चोरी की घटना को अंजाम दिया जा रहा था


उसी दौरान नरहरपुर क्षेत्र के ग्राम भंनसूली निवासी बाल सिंह मरकाम ने नरहरपुर थाने में पहुंचकर मोटरसाइकिल चोरी होने रिपोर्ट दर्ज कराई थी जिसके बाद नरहरपुर पुलिस ने मामला दर्ज कर अज्ञात चोरों के खिलाफ जांच शुरू की उसी दौरान सिहावा क्षेत्र में उस बाइक को देखा गया था और सीसीटीवी कैमरे की मदद से पुष्टि की गई तब नरहरपुर पुलिस सिहावा इलाके में पहुंचकर पता तलाश करने लगी उसी दौरान आरोपी सिद्धार्थ सलाम को गिरफ्तार किया गया और पूछताछ करने पर चोरी करना कबूल आ गया सिद्धार्थ सलाम के बताए अनुसार अन्य आरोपियों को भी पकड़ा गया है और समान भी जप्त की गई है।

बड़ा हादसा: बुजुर्ग को रौंदता हुआ दुकान में घुसा ट्रक, आक्रोशित भीड़ ने अंदर फंसे ड्राइवर को पीटा, घंटो किया जाम

बड़ा हादसा: बुजुर्ग को रौंदता हुआ दुकान में घुसा ट्रक, आक्रोशित भीड़ ने अंदर फंसे ड्राइवर को पीटा, घंटो किया जाम

छत्तीसगढ़ के कांकेर से दर्दनाक हादसा सामने आया है, रायपुर-जगदलपुर नेशनल हाईवे-30 पर गुरुवार देर रात तेज रफ्तार ट्रक एक वृद्ध को रौंदता हुआ दुकान में जा घुसा। इसके चलते चालक ट्रक में ही फंस गया। हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने ट्रक में फंसे चालक की पिटाई कर दी और हाईवे पर जाम लगा दिया। सूचना मिलते ही कलेक्टर, SP सहित पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। घंटों की मशक्कत के बाद ड्राइवर को ट्रक से बाहर निकाल कर अस्पताल में भर्ती कराया गया। अफसरों की समझाइश के बाद लोग शांत हुए और जाम खुल सका।


रायपुर की ओर से आ रही तेज रफ्तार ट्रक चारामा क्षेत्र के तेलगरा इलाके में अनियंत्रित हो गया और सड़क किनारे खड़े ग्रामीण को रौंदता हुआ दुकान में जा घुसा। मारे गए ग्रामीण की पहचान रूप सिंह मंडावी (60) के रूप में हुई है। गलत दिशा से आए ट्रक से हादसा होने पर लोग भड़क गए। उन्होंने ट्रक में फंसे चालक की पिटाई शुरू कर दी। सूचना पर चारामा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को शांत कराने का प्रयास किया। उनके नहीं मानने पर जवानों को बुलाया गया।


5 घंटे तक रहा चक्काजाम, मौके पर पहुंचे अफसर
इसके बाद मौके पर कांकेर, कोरर और चारामा थाना के जवान मौके पर पहुंचे। जब भीड़ काबू में नहीं आई तो पुलिस लाइन के जवानों को भी बुलाया गया। कांकेर कलेक्टर चंदन कश्यप और SP शलभ सिन्हा भी पहुंच गए। ट्रक चालक को निकालने की कोशिश शुरू की गई। इस दौरान गुस्साए लोगों ने हाईवे जाम कर दिया। करीब 5 घंटे तक हंगामा चलता रहा। इसके चलते जगदलपुर से रायपुर मार्ग घंटों बंद रहा। दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। अफसरों के काफी समझाने के बाद लोग माने और जाम को खोला।


जवानों के पीछे खड़े होकर बोले कलेक्टर - कानून को हाथ में न लें
कलेक्टर चंदन कश्यप जब मौके पर पहुंचे तो भीड़ बेहद आक्रोशित थी। पहले तो कलेक्टर लोगों के बीच पहुंच कर उन्हें समझाइश दे रहे थे। लेकिन, भीड़ को उग्र होता देख उन्हें जवानों के पीछे खड़े होकर बोलना पड़ा। ग्रामीणों के सामने पहले जवानों ने मानव श्रृंखला बनाई, ताकि कोई भी ग्रामीण कलेक्टर तक न पहुंच सके। इस मानव श्रृंखला के पीछे खड़े होकर कलेक्टर ने ग्रामीणों से कहा कि, आप सभी कानून को अपने हाथ में न लें। यहां प्रशासन और पुलिस दोनों मौजूद हैं। मामले के संबंध में उचित कार्रवाई की जाएगी।


चालक को भीड़ से बचाने अधिकारियों के भी छूटे पसीने
ट्रक ड्राइवर को सुरक्षित तरीके से ट्रक से बाहर निकालना और उसे अस्पताल पहुंचाने तक प्रशासन के भी पसीने छूट गए। वाहन में फंसे चालक को बाहर निकालने व भीड़ से बचाने के लिए तगड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। फिर किसी तरह चालक को निकाल एम्बुलेंस में बैठा कर अस्पताल ले जाया जा रहा था कि आक्रोशित भीड़ ने एम्बुलेंस पर भी पथराव करना शुरू कर दिया। इधर उग्र होती भीड़ को देख और चालक की सुरक्षा को देख पत्रकारों से भी प्रशासन ने चालक की तस्वीरें न लेने व नाम और पता न लिखने की की मदद मांगी।

 बड़ा हादसा: पुल से नीचे जा गिरी अनियंत्रित कार, हादसे में 1 की मौत 2 गंभीर

बड़ा हादसा: पुल से नीचे जा गिरी अनियंत्रित कार, हादसे में 1 की मौत 2 गंभीर

कांकेर। जिले के माकड़ी के ठीक पहले राष्ट्रीय राजमार्ग 30 के छोटे पूल पर एक कार अनियंत्रित होकर नीचे जा गिरी, इस हादसे में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई है, जबकि दो युवक गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भिलाई से तीन युवक कार से किसी काम से कांकेर की ओर आ रहे थे, सुबह करीब 07 बजे माकड़ी के ठीक पहले उनकी कार छोटे पूल के नीचे अनियंत्रित होकर गिरने ये कार सवार एक युवक की मौत हो गई है जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। घायलो को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया है। 

कोतवाली प्रभारी शरद दुबे ने बताया कि आज सुबह दुर्घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंचकर घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भिजवाया गया है। मृतक और घायलों की जानकारी ली जा रही है। मृतक के पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया जाएगा।
बड़ी खबर : वन विभाग को मिली बड़ी सफलता,  वन विभाग द्वारा लागये पिंजरे में फसा एक और आदमखोर तेंदुआ

बड़ी खबर : वन विभाग को मिली बड़ी सफलता, वन विभाग द्वारा लागये पिंजरे में फसा एक और आदमखोर तेंदुआ

कांकेर | छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के चारामा वन परिक्षेत्र के ग्राम भैंसाकट्टा के जंगलों में वन विभाग द्वारा लागये गए पिंजरे में शनिवार को एक और आदमखोर तेंदुआ पकड़ा गया है, एक हप्ते पहले भैंसाकट्टा और पलेवा में 1-1 आदमखोर तेंदुए को पिंजरे में कैद करने में वन विभाग को सफलता मिली थी। गौरतलब हो कि कांकेर जिले के चारामा वन परीक्षेत्र अंतर्गत भैसाकट्टा  में तेंदुए का आतंक लगातार जारी है।  गांव में दहशत फैला रहा एक तेंदुआ वन विभाग के पिंजरे में कैद हुआ है।  जिसे वन विभाग सुरक्षित जगह पहुंचाने की तैयारी में जुटी हुई है।  ग्रामीणों की माने तो अभी भी बड़ी संख्या में तेदुए आसपास के जंगली क्षेत्रो में मौजूद है, वहीं क्षेत्र में 2 लोग की मौत से ग्रामीणों में अभी भी दहशत का माहौल बना हुआ है। वही तेंदुए की फसे जाने की खबर सुनते ही तेंदूए को देखने ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी ।

 

 
CG NEWS: खूंखार आदमखोर तेंदुए को पकडऩे मे वन विभाग को मिली बड़ी सफलता, 2 लोगों का किया था शिकार

CG NEWS: खूंखार आदमखोर तेंदुए को पकडऩे मे वन विभाग को मिली बड़ी सफलता, 2 लोगों का किया था शिकार

कांकेर: आखिरकार आज रविवार को वन विभाग को बड़ी सफलता हासिल हुई है भैसाकट्टा और पलेवा क्षेत्र में दहशत का माहौल फैला चुके दो आदमखोर तेंदुए को पकडऩे मे वन विभाग सफल हुआ है । एक पलेवा गांव से तो दूसरा भैसा कट्टा गांव में पकड़ा गया ।


पिछले चार दिनों से लगातार बकरे का लालच देकर पिंजरा लगाया गया था कि आखिरकार तेंदुआ इस पिंजरे में फंस जाए लेकिन इस बीच वन विभाग को कई परेशानियों का भी सामना करना पड़ा इस दौरान एक बकरा को लकड़बग्घा खा गया तो दूसरे पिंजरे में भालू घुस गया था जिसे सुरक्षित स्थान में छोड़ा गया लेकिन आज बीती रात्रि आवासपारा पहाडी क्षेत्र में एक तेंदुआ आखिरकार फंस गया अब वन विभाग इन्हें सुरक्षित स्थान पर ले जाकर छोडऩे जा रही है।


गौरतलब हो कि 15 दिनों में 2 लोगों को तेंदुए ने शिकार कर लिया था पहला मामला पलेवा गांव से जो एक बुजुर्गों को तो दूसरा भैसाकट्टा गांव में एक महिला को शिकार बना लिया था। वही क्षेत्र के लोगों में तेंदुआ पकड़े जाने के बाद राहत की सांस ली है। वहीं ग्रामीणों का कहना है एक और तेंदुआ है जो अब भी बेखौफ घूम रहा है बीती रात भी तेंदुआ गांव के आसपास मंडराता हुआ देखा गया था ।

CG NEWS: आदमखोर तेंदुए ने महिला को बुरी तरह नोच कर मार डाला, इलाके में मचा हड़कंप

CG NEWS: आदमखोर तेंदुए ने महिला को बुरी तरह नोच कर मार डाला, इलाके में मचा हड़कंप

छत्तीसगढ़ के कांकेर से दिल-देहला देने वाली खबर सामने आ रही है, सोमवार देर रात तेंदुए ने एक महिला को मार डाला। महिला घर से जैसे ही बाहर निकली, तेंदुआ उसे घसीटता हुआ ले गया। शोर सुनकर परिजन और आसपास के लोग बाहर निकले, लेकिन तब तक महिला को तेंदुआ ले जा चुका था। अगले दिन सुबह महिला का शव घर से पांच किलोमीटर दूर बुरी हालत में मिला। इलाके में 30 दिन में यह दूसरी घटना है। ग्रामीणों ने तेंदुए को मारने या कहीं और छोड़ने की मांग की है।


घटना चारामा वन परिक्षेत्र के भैसाकट्टा गांव निवासी उर्मिला जैन (35) के साथ सोमवार देर रात करीब 3 बजे हुई। वह घर से बाहर टॉयलेट के लिए निकली थी। इसी दौरान झाड़ियों में छिपे तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया था।


गांव में 14 घंटे से लाइट नहीं, अंधेरा होने के चलते रात को दहशत
इस घटना के बाद से गांव में लोगों के बीच डर बना हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि घटना का एक कारण गांव में लाइट नहीं होना भी है। पिछले 14 घंटे से सप्लाई बंद हैं। अंधेरा होने पर लोगों में तेंदुए की दहशत बढ़ जाती है। इसी का फायदा तेंदुए को भी मिलता है। ग्रामीणों ने तेंदुए को पकड़ कर घने जंगल में छोड़ने या फिर उसे मारने की मांग की है। लोगों का आरोप है कि वन विभाग शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

एक माह में दूसरी घटना, ग्रामीण बोले- आदमखोर हो चुका है
इलाके में एक माह के दौरान तेंदुए के हमले की यह दूसरी घटना है। इससे पहले पलेवा गांव में घर में सो रहे वृद्ध को तेंदुए ने अपना शिकार बनाया था। ग्रामीणों का कहना है कि तेंदुआ आदमखोर हो चुका है। पहले बकरी और पशुओं का ही शिकार करता था। अब लोगों पर भी हमला करने लगा है। रेंजर आरके सिंह का कहना है कि वन विभाग के अफसरों से इस संबंध में बात की जाएगी। उनकी ओर से निर्णय लेने के बाद ही आगे कुछ हो सकेगा।

बड़ी खबर: जिले के पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी किए गए इधर से उधर, आदेश जारी

बड़ी खबर: जिले के पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी किए गए इधर से उधर, आदेश जारी

कांकेरः छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के पुलिस महकमें में बड़ा फेरबदल देखने को मिला है. अलग-अलग थानों में पदस्थ 112 पुलिसकर्मियों का तबादला किया गया है. इस ट्रांसफर सूची में एएसआई, प्रधान आरक्षक, आरक्षकों का नाम शामिल है. इस संबंध में जिले के एसपी शलभ कुमार सिन्हा ने आदेश जारी कर दिया है.

 बड़ी खबर: हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में हुई 5 लाख रुपए की चोरी

बड़ी खबर: हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में हुई 5 लाख रुपए की चोरी

कांकेर। जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र अंर्तगत कोड़ेजुगा हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में बीती रात चोरों ने आलमारी तोड़कर नगदी समेत करीब 05 लाख रुपए के सोने चांदी के आभूषणों पर हाथ साफ कर फरार हो गए। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस जांच कर रही है। कालोनी में लगे सीसीटीवी फूटेजों को खंगाला जा रहा है। शिक्षा विभाग में पदस्थ चंदन तिवारी की पत्नी ने बताया कि घर में पांच लोग रहते हैं, जिनमें तीन बच्चे हैं। 22 अगस्त को रक्षाबंधन का पर्व होने के कारण सभी रक्षाबंधन मनाने के लिए गए थे। दूसरे दिन सुबह जब घर पहुंचे तो देखा कि कमरे के दरवाजे में लगा ताला टूटा पड़ा है।
CG NEWS: तेंदुए के हमले से एक बुजुर्ग की हुई मौत, ग्रामीणों में दहशत

CG NEWS: तेंदुए के हमले से एक बुजुर्ग की हुई मौत, ग्रामीणों में दहशत

कांकेर: छत्तीसगढ़ के उत्तर बस्तर संभाग के कांकेर जिले के सुदूर वनांचल गावो में इन दिनों तेंदुआ का दहशत देखा जा रहा है शुक्रवार की रात एक 72 वर्षीय ग्रामीण पर तेंदुए ने हमला कर दिया जिससे ग्रामीण की मौत हो गयी है।


मिली जानकारी के अनुसार पूरा मामला चारामा वन परिक्षेत्र का है जहां ग्राम-पलेवा निवासी गाणाराम जुर्री उम्र 72 वर्ष बीती रात अपने घर मे सोए हुए थे,तभी गांव से 200 मीटर की दूरी पर स्थित जंगल से एक तेंदुआ आया और बुजुर्ग ग्रामीण पर हमला कर दिया।


तेंदुआ बुजुर्ग को घसीटते हुए जंगल की ओर ले जा रहा था तभी ग्रामीणों की आवाज सुन तेंदुआ बुजुर्ग ग्रामीण को छोड़ जंगल की ओर भाग निकला। तेंदुए की हमले से लहूलुहान ग्रामीण को रात में ग्रामीणों की मदद से चारामा अस्पताल लाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया ।
वन परिक्षेत्र अधिकारी एस आर सिंह ने बताया शनिवार की सुबह 8 बजे घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे थे अभी भी वन अमला गांव में मौजूद है। मृतक के परिजनों को 6 लाख मुआवजा राशि मिलने की बात कही है,,वही घटना के बाद ग्रामीणों में दहशत क माहौल देखा जा रहा है।

BIG BREAKING CG: वन विभाग की टीम को बड़ी कामयाबी मिली, बाघ की खाल के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार

BIG BREAKING CG: वन विभाग की टीम को बड़ी कामयाबी मिली, बाघ की खाल के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में फिर से बाघ की खाल की तस्करी का मामला सामने आया है। वन विभाग की टीम ने गुरुवार देर रात बाघ की खाल समेत 2 तस्करों को पकड़ा है। तस्करों से पूछताछ की जा रही है। मामला पखांजुर इलाके का है।


जानकारी के मुताबित, वन विभाग की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ तस्कर बाघ की खाल बेचने की फिराक में हैं। तस्कर रात के अंधेरे का फायदा उठाकर शहरी इलाके को पार करेंगे। इसी सूचना के आधार पर वन विभाग की टीम गुरुवार की सुबह से ही पूरे बॉर्डर और जंगल के रास्तों में पहरा देती रही। आधी रात को 2 संदिग्ध लोगों को पकड़ लिया। आरोपियों ने अपना नाम गज्जू नेताम और रतन पाइक बताया। उनके पास एक बाघ की खाल बरामद हुई है। DFO का कहना है कि बाजार में इस खाल की कीमत 5 लाख रुपए से भी ज्यादा है।


महाराष्ट्र के जंगल में शिकार करने की आशंका
पखांजुर से महाराष्ट्र का इलाका बेहद करीब है। महाराष्ट्र के जंगल में कई बाघ होने की पुष्टि भी हुई है। बताया जा रहा है कि दोनों तस्करों ने महाराष्ट्र के जंगल में ही बाघ का शिकार किया होगा। फिर खाल निकाल कर उसे बेचने जा रहे थे। हालांकि, वन विभाग की टीम दोनों तस्करों से पूछताछ कर रही है। तस्करी के इस मामले में और भी लोगों के शामिल होने की आशंका है। दोनों तस्कर खाल किसके पास लेकर जा रहे थे, इस संबंध में भी पता किया जा रहा है।


विभाग की टीम ने 2 लोगों को बाघ की खाल के साथ पकड़ा है। तस्करों ने अब तक जितना बताया है उसमें यह लग रहा है कि दोनों ने महाराष्ट्र से बाघ का शिकार कर खाल लाए हैं। अभी उनसे पूछताछ कर रहे हैं।

 नशीली दवा के कारोबार में संलिप्त मेडिकल स्टोर का संचालक गिरफ्तार

नशीली दवा के कारोबार में संलिप्त मेडिकल स्टोर का संचालक गिरफ्तार

कांकेर।  जिले के थाना पखांजूर पुलिस ने फरार नशीली दवाओं के अवैध कारोबार में संलिप्त मेडिकल स्टोर संचालक दुकान आरोपी संजय मंडल पिता रंजन मंडल उम्र 31 वर्ष निवासी कापसी को गिरफ्तार किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस ने अवैध रूप से विक्रय किया जाने वाली प्रतिबंधित दवा के साथ आरोपी स्वप्न माली एवं विक्की तांती को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को जानकारी दी थी कि वे बड़े कापसी के एक मेडिकल के संचालक संजय मंडल से नशीली दवाई   खरीदी कर कापसी पखांजूर क्षेत्र में विक्रय करते थे। औषधि निरीक्षक को साथ लेकर पुलिस की टीम ने आरोपी के मेडिकल स्टोर की जांच कर महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए हैं। गिरफ्तार आरोपी संजय मंडल ने पूछताछ में नशे के कारोबार में शामिल अन्य मेडिकल स्टोर के विषय में भी पुलिस को जानकारी दी है। पुलिस नशीली दवाइयों की सप्लाई चेन पर नजर बनाए हुए हैं।
कोरोना रिटर्न्स : जिले के इन क्षेत्रों को किया गया कन्टेनमेंट जोन घोषित, देखें कहीं आप भी तो नहीं हैं इस क्षेत्र में

कोरोना रिटर्न्स : जिले के इन क्षेत्रों को किया गया कन्टेनमेंट जोन घोषित, देखें कहीं आप भी तो नहीं हैं इस क्षेत्र में

कांकेरभारत सरकार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा छत्तीसगढ़ शासन के जारी दिशा निर्देशानुसार जिला उत्तर बस्तर कांकेर के विकासखण्ड कांकेर अंतर्गत ग्राम सिंगारभाट के वार्ड क्रमांक 3 में 1 व्यक्ति, ग्राम दशपुर के वार्ड क्रमांक 2 में 1 व्यक्ति, ग्राम पटौद के वार्ड क्रमांक 11 में 1 व्यक्ति तथा नगरीय निकाय कांकेर अंतर्गत टिकरापारा में 2 व्यक्ति एवं अन्नपूर्णापारा में 1 व्यक्ति के नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के कारण कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी चन्दन कुमार ने कोरोना संक्रमितों के घरों को (पृथक-पृथक) चिन्हित करते हुए 100 मीटर की परिधि को माइक्रो कंटेमेन्ट जोन घोषित किया गया है। माइक्रो कन्टेमेंट जोन में प्रवेश, निकास के लिए केवल एक ने होगा, जिसमें तैनात पुलिस अधिकारी, फिजिकल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करते हुए मेडिकल इमरजेंसी, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए आवागमन करने वाले सभी व्यक्तियों का विवरण एक रजिस्टर में दर्ज करेंगे। माइक्रो कन्टेमेंट जोन अंतर्गत सभी दुकानें एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान आगामी आदेश पर्यन्त बंद रहेंगे। प्रभारी अधिकारी ने घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर सुनिश्चित की जाएगा। आवश्यक वस्तुओं की होम डिलिवरी के लिए विधिवत परिवहन अनुमति इंसीडेंट कमांडर ने दी जाएगी। माइक्रो कन्टेमेंट जोन में सभी प्रकार के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। मेडिकल इमरजेंसी एवं कृषि कार्य को छोड़कर अन्य किसी भी कारण से माइक्रो कन्टेमेंट जोन, मकान के बाहर निकलना प्रतिबिंंधत रहेगा। केवल मेडिकल इमरजेंसी की दशा में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कांकेर, खण्ड चिकित्सा अधिकारी के परामर्श, अनुमति से इंसीडेंट कमांडर द्वारा पास जारी किया जाएगा। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में संलग्न व्यक्ति फिजिकल डिस्टेंसिंग तथा सेनेटाईजेशन सुनिश्चित करते हुए माइक्रो कन्टेमेंट जोन में प्रवेश कर सकेंगे। अन्य किसी भी व्यक्ति को माइक्रो कन्टेमेंट जोन के नियमों का कड़ाई से पालन कराने का उत्तरदायित्व संबंधित थाना प्रभारी का होगा। स्वास्थ्य विभाग के मानकों के अनुरूप व्यवस्था के लिए पुलिस पेट्रोलिंग सुनिश्चित की जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने संबंधित क्षेत्र में आवश्यक सर्विलांस, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग एवं सेम्पल जांच आदि की कार्यवाही की जाएगी।

बड़ी खबर : पत्नी ने पति पर धारदार हथियार से किया हमला पति की हुइ मौत, जाने क्या है पूरा मामला

बड़ी खबर : पत्नी ने पति पर धारदार हथियार से किया हमला पति की हुइ मौत, जाने क्या है पूरा मामला

कांकेर | जिले के माकड़ी थाना अंर्तगत ग्राम सरईबेड़ा में पति पत्नी के आपसी विवाद में पत्नी बुकाय मरकाम ने पति पुन्नू मरकाम पर धारदार हथियार बसूले से हमला कर दिया जिससे पति पुन्नू मरकाम की मौत हो गई।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक ग्राम सरईबेड़ा में सरपंच लखेश्वर पोयम उपसरपंच सत्रू राम पोयम ने थाना में उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज कराई की उनके बड़े भाई वासुदेव मरकाम का वर्ष 2014 में मृत्यु हो जाने के बाद उनकी पत्नी बुकाय मरकाम उम्र 43 की दूसरी शादी उनकी मझले भाई पुन्नूराम मरकाम पिता लखनू मरकाम उम्र 35 के साथ सामाजिक रीति रिवाज के साथ हुई थी। विवाह के बाद से दोनों पति पत्नी में आपसी विवाद होता रहता था। किसी बात को लेकर विवाद में बुकाय मरकाम ने पति पुन्नू राम मरकाम पर बसूले से उसके सिर पर कंधे पर कान पर और कनपटी के पास मारा जिसके कारण उसकी मौके पर ही मौत हो गई। 
थाना प्रभारी देवेंद्र दरो ने बताया कि मृतक पुन्नूराम मरकाम धान बेचकर शराब पीने का आदी था। जिसके कारण उसकी पत्नी उसको मना करती थी। पर उसके मना करने के बावजूद वह धान को बेचकर शराब पीता था। जिसे लेकर दोनो में आपसी विवाद हुआ करता था। विवाद इतना बढ़ गया कि पत्नी ने गुस्से में आकर अपने पति को बसूले से हमला कर दिया,  जिससे उसकी मौत हो गई। पत्नि बुकाय मरकाम को गिरफ्तार कर लिया गया है।
 
जिले के वार्ड 11 में माइक्रो कंटेमेंट जोन घोषित

जिले के वार्ड 11 में माइक्रो कंटेमेंट जोन घोषित

उत्तर बस्तर कांकेर। भारत सरकार स्वास्थ्य ङ्म परिवार कल्याण विभाग तथा छत्तीसगढ़ शासन की ओर से जारी दिशा निर्देशानुसार जिला उत्तर बस्तर कांकेर के विकासखंड चारामा अंतर्गत नगरीय क्षेत्र चारामा के वार्ड क्रमांक 15 में 04 व्यक्तियों तथा कांकेर विकासखंड के ग्राम पटौद के वार्ड क्रमांक 11 में 01 व्यक्ति व राजापारा कांकेर में 03 व्यक्तियों के नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित पाये जाने के कारण कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी चन्दन कुमार की ओर से कोरोना संक्रमितों के घरों को (पृथक-पृथक) चिन्हित करते हुए 100 मीटर की परिधि को माइक्रो कंटेमेन्ट जोन घोषित किया गया है।
माइक्रो कन्टेमेंट जोन में प्रवेश, निकास के लिए केवल एक द्वार होगा, जिसमें तैनात पुलिस अधिकारी, फिजिकल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करते हुए मेडिकल इमरजेंसी, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए आवागमन करने वाले सभी व्यक्तियों का विवरण एक रजिस्टर में दर्ज करेंगे। माइक्रो कन्टेमेंट जोन अंतर्गत सभी दुकानें और अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान आगामी आदेश पर्यन्त बंद रहेंगे। प्रभारी अधिकारी की ओर से घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर सुनिश्चित की जाएगी। आवश्यक वस्तुओं की होम डिलिवरी के लिए विधिवत परिवहन अनुमति इंसीडेंट कमांडर की ओर से दी जाएगी। माइक्रो कन्टेमेंट जोन में सभी प्रकार के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। मेडिकल इमरजेंसी व कृषि कार्य को छोड़कर अन्य किसी भी कारण से माइक्रो कन्टेमेंट जोन, मकान के बाहर निकलना प्रतिबिंंधत रहेगा। केवल मेडिकल इमरजेंसी की दशा में मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी कांकेर, खंड चिकित्सा अधिकारी के परामर्श, अनुमति से इंसीडेंट कमांडर की ओर से पास जारी किया जाएगा। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में संलग्न व्यक्ति फिजिकल डिस्टेंसिंग तथा सेनेटाईजेशन सुनिश्चित करते हुए माइक्रो कन्टेमेंट जोन में प्रवेश कर सकेंगे। अन्य किसी भी व्यक्ति को माइक्रो कन्टेमेंट जोन के नियमों का कड़ाई से पालन कराने का उत्तरदायित्व संबंधित थाना प्रभारी का होगा।
स्वास्थ्य विभाग के मानकों के अनुरूप व्यवस्था के लिए पुलिस पेट्रोलिंग सुनिश्चित की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी की ओर से संबंधित क्षेत्र में आवश्यक सविर्लांस, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग व सेम्पल जांच आदि की कायर्वाही की जाएगी।
 

BREAKING NEWS: जिले के तीन वार्ड कंटेमेंट जोन घोषित, आदेश जारी

BREAKING NEWS: जिले के तीन वार्ड कंटेमेंट जोन घोषित, आदेश जारी

रायपुर. प्रदेश में पिछले 3 दिनों से लगातार कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे है. इस वक्त कांकेर जिले से बड़ी खबर सामने आई है. मिली जानकारी के मुताबिक चारामा के वार्ड क्रमांक 15, राजापारा कांकेर और ग्राम पंचायत पटौद के वार्ड क्रमांक 11 को कलेक्टर ने माइक्रो कंटेमेंट जोन घोषित किया है.


और लोगों से अपील की है, कि दो गज की दूरी बनाए रखे. बता दें कि कल प्रदेश में 114 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान की गई थी, और 188 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/रिकवर्ड हुए।

छत्तीसगढ़ में फिर दर्दनाक हादसा: अनियंत्रित ट्रेक्टर तालाब में पलटी, हादसे में एक युवक की हुई मौत

छत्तीसगढ़ में फिर दर्दनाक हादसा: अनियंत्रित ट्रेक्टर तालाब में पलटी, हादसे में एक युवक की हुई मौत

कांकेर। जिले के पखांजुर थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत देवपुर के तालाब में एक ट्रेक्टर के अनियंत्रित होकर सीधे तालाब में पलट जाने से  ट्रेक्टर चालक युवक निशिदा दत्ता उम्र 36 वर्ष की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार युवक निशिदा दत्ता पिता संतोष दत्ता अपने निजी ट्रेक्टर से अपने रिश्तेदार के खेत की जुताई करने गया था। कार्य सम्पन्न कर आज वापस अपने घर लौट रहा था, तभी ट्रेक्टर अनियंत्रित होकर सीधे तालाब में जाकर पलट गई, इस दुर्घटना में युवक मौत हो गई है। आसपास खेतो में काम कर रहे किसानो के द्वारा युवक को बचाने के लिए काफी जद्दोजहद के बाद करीबन 10 से 15 मिनट के बाद युवक को तलाब से बाहर निकालकर युवक को पखांजुर के निजी अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया जहा डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

आयुष्मान कार्ड बनवा सकते है अब इस तारीख तक

आयुष्मान कार्ड बनवा सकते है अब इस तारीख तक

कांकेर। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना अंतर्गत जिले में आयुष्मान कार्ड बनाने का कार्य फिर से शुरू हो गया है। पात्र हितग्रहियों जिले के च्वाईस सेंटरों में आयुष्मान कार्ड बनाने निःशुल्क पंजीयन करा सकते हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.एल. उइके ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए पंजीयन कार्य 31 अगस्त तक चलेगी। उन्हांने बताया कि जिले के सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना वर्ष 2011 (एस.ई.सी.सी.) के पात्र परिवारों, अन्त्योदय, प्राथमिकता एवं ए.पी.एल. राशन कार्डधारी परिवारों का आयुष्मान कार्ड च्वाईस सेंटरों के माध्यम से निःशुल्क बनाया जा रहा है, जिन्होंने आज तक आयुष्मान कार्ड पंजीयन नही करवाया है, ऐसे हितग्राही अपना राशन कार्ड एवं आधार कार्ड लेकर अपने नजदीकी च्वाईस सेंटर में जाकर अपना कार्ड बनवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि आपातकालीन अथवा जरूरत के आधार पर हितग्राही जिले, राज्य एवं राज्य के बाहर पंजीकृत अथवा सूचीबद्ध शासकीय अथवा निजी अस्पतालों में भर्ती होकर 50 हजार या 5 लाख रूपये तक प्रतिवर्ष पात्रतानुसार ईलाज की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं।
डॉ. उइके ने बताया कि कांकेर जिले में अब तक 4 लाख 86 हजार 965 हितग्राहियों ने आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए पंजीयन कराया जा चुका है। अंतागढ़ विकासखंड में 37,043 हितग्राही, भानुप्रतापपुर विकासखंड में 57,636, चारामा विकासखंड में 69,065, दुर्गूकोंदल विकासखंड में 39,384, कांकेर विकासखंड में 65,636, कोयलीबेड़ा विकासखंड में 1,04,728 और नरहरपुर विकासखंड में 71,277 हितग्राही एवं शहरी क्षेत्रां में 42,196 हितग्राहियों ने आयुष्मान कार्ड के लिए पंजीयन करवाया जा चुका है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. उइके ने जिले के नागरिकों से अपील किया है, कि जिन्होंने अभी तक आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए अपना पंजीयन नहीं करवाया है वे अपने क्षेत्र के नजदीकी च्वाईस सेंटरों में जाकर अपना तथा अपने परिवार का आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।
 

 CG में दर्दनाक हादसा : मॉर्निंग वॉक में निकले बच्चों को ट्रक ने कुचला, हादसे में 5 की मौत

CG में दर्दनाक हादसा : मॉर्निंग वॉक में निकले बच्चों को ट्रक ने कुचला, हादसे में 5 की मौत

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर में सुबह-सुबह मॉर्निंग वॉक में निकले 16 से 17 साल के चार बच्चों को तेज रफ्तार ट्रक ने कुचल दिया है, जिससे चारों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने रोड जाम कर दिया और इस बीच उसी मौके पर ही एक और युवक की बस से कुचलकर मौत हो गई।

ये दर्दनाक हादसा कांकेर से भानुप्रतापपुर जाने वाली सड़क पर देवरी गांव के पास हुई। सुबह करीब 5 बजे आठ-दस बच्चे मॉर्निंग वाक के लिए निकले थे। इसी दौरान भानुप्रतापपुर की और से आ रही तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। जिससे चारों बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई।

ग्रामीणों ने मौके पर चक्काजाम कर दिया है। उनकी मांग है कि जब तक एक्सीडेंट कर फरार हुआ ट्रक का ड्राइवर पकड़ा नहीं जाता और ट्रक मालिक नहीं आ जाता, चक्काजाम रहेगा। पुलिस और प्रशासन के अफसर मौके पर पहुंच गए हैं और ग्रामीणों को समझाइश दी जा रही है।
दरअसल, हादसे के बाद गुस्साए लोग चक्काजाम कर रहे थे। इसी दौरान एक बस वहां पहुंची, लेकिन चक्काजाम की वजह से बस रिवर्स किया जा रहा था, तभी बस के पिछले पहिये की चपेट में आकर बस कंडक्टर की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कंडक्टर बस से उतरकर ड्राइवर को गाड़ी पीछे करने का इशारा दे रहा था, तभी ड्राइवर ने कंडक्टर को ही कुचल दिया।
 
 बड़ी खबर: बीएसएफ के जवान ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

बड़ी खबर: बीएसएफ के जवान ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

कांकेर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले के कोड़ेकुरसी थाना क्षेत्र के करकापाल में बीएसएफ के जवान ने कैम्प में खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया है। बीएसएफ जवान का नाम लक्ष्मण बताया जा रहा है. जबकि कांकेर एसपी शलभ सिन्हा ने घटना की पुष्टि की है। यह घटना मंलगवार को घटी। यही नहीं, जवान लक्ष्मण ने अपनी रायफल से खुद को गोली मार ली और गोली की आवाज से कैम्प में अफरा तफरी मच गई थी।

घटना के बाद साथी जवानों और बीएसएफ के अधिकारियों ने जवान की गंभीर स्थिति को देखते हुए तत्काल जिला पुलिस को इसकी सूचना दी। इसके बाद जवान को हेलीकॉप्टर से रायपुर रेफर किया गया था, जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। बीएसएफ जवान लक्ष्मण ने खुद को गोली क्यों मारी, इसका कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है. जबकि बीएसएफ के अधिकारी मामले की जांच में जुटे हुए हैं।
 
अब इतने बजे तक शराब दुकानों को संचालन की मिली अनुमति, देखें खबर

अब इतने बजे तक शराब दुकानों को संचालन की मिली अनुमति, देखें खबर

उत्तर बस्तर कांकेर । कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी ने कांकेर, चारामा व भानुप्रतापपुर के देशी, विदेशी मदिरा दुकानों को सुबह 9 बजे से रात 10 बजे तक और जिले के आंतरिक व दूरस्थ क्षेत्रों के देशी, विदेशी मदिरा दुकान क्रमश: नरहरपुर, दुर्गूकोंदल, अंतागढ़, पखांजूर व बांदे को सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक तथा एफ.एल.-3 (क) बार को दोपहर के 12 बजे से रात 10 बजे तक आगामी आदेश पर्यन्त संचालन की अनुमति प्रदान की गई है।
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उपभोक्ताओं के बीच फिजिकल डिस्टेसिंग व तत्संबंध में जारी समस्त निर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए दुकान खोलने के लिए अनुमति दिया गया है। पूर्व आदेशानुसार मदिरा दुकानों से होम डिलिवरी, पिकअप व्यवस्था रात 8 बजे तक यथावत चालू रहेगी।
 

महिला से छेड़छाड़ करने वाला आरोपी गिरफ्तार

महिला से छेड़छाड़ करने वाला आरोपी गिरफ्तार

कांकेर: जिले के थाना पखांजूर पुलिस ने महिला से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी निताई हालदार को गिरफ्तार किया है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना पखांजूर क्षेत्र अंतर्गत 35 वर्षीय महिला ने थाना पखांजूर में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि आरोपी निताई हालदार पिता मनोरंजन हालदार निवासी कृषि उपज मण्डी के पास ग्राम माटोली अक्सर उसके खेत के पास आकर अश्लील इशारे करता है।


पीडि़ता के विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गया। पीडि़ता की रिपोर्ट पर थाना पखांजूर में अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। आरोपी निताई हालदार को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेजा गया।

आकाशीय बिजली से बचने के लिए सावधानी बरतना जरूरी

आकाशीय बिजली से बचने के लिए सावधानी बरतना जरूरी

उत्तर बस्तर कांकेर। बारिश के दिनों में यदा-कदा आकाशीय बिजली (गाज गिरने) की घटनाएं होती रहती है, जिससे बचने के लिए राजस्व व आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से आम नागरिकों से सावधानियां बरतने की अपील की गई है। जिसमें कहा गया है कि बिजली तड़कने या आंधी-तूफान के दौरान बिजली व टेलीफोन के खंभों तथा पेड़ों के नीचे नहीं जाना चाहिए, क्योंकि ये सभी बिजली को आकर्षित करते हैं। इस दौरान धातु की वस्तुओं का उपयोग न करें तथा बाईक्स, बिजली व टेलीफोन की खंभों, तार की बाड़ व मशीन इत्यादि से दूर रहें। यदि आप कहीं बाहर या मैदान में कार्य कर रहे हैं और आपके पास कहीं छुपने हेतु पर्याप्त समय नहीं है व मौसम बिगड़ जाये तो नीचे बैठ जायें, सिर को झुका लें और कानों को दोनों हाथों से बंद कर लें, एडिय़ों को ऊपर उठा लें, केवल पैरों के बल बैठें जिससे आपका कम से कम संपर्क जमीन पर रहे। ऐसा छाता का उपयोग न करें जिसका हैंडल लोहे का हो।
यदि आप घर पर हैं तो पानी का नल, फ्रिज, टेलीफोन आदि को न छुएं और उससे दूर रहें तथा बिजली से चलने वाली यंत्रों, उपकरणों को बंद कर दें। यदि दो पहिया वाहन, साईकिल, ट्रक, खुले वाहन नौका आदि पर सवार हो तो तुरंत उतरकर सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं। वज्रपात, आकाशीय बिजली के दौरान वाहनों पर सवारी न करें, कपड़े सुखाने के लिए तार का प्रयोग न कर, जूट या सूत की रस्सी का उपयोग करें, बिजली की चमक देख तथा गडग़ड़ाहट की आवाज सुनकर ऊंचे और एकल पेड़ों पर नहीं जाएं, यदि आप जंगल में हों तो छोटे और घनें पेड़ों की शरण में चले जाएं, वृक्षों, दलदल वाले स्थलों तथा जलस्त्रोतों से यथा संभव दूर रहें, पंरतु खुले आकाश में रहने से अच्छा है कि छोटे पेड़ों के नीचे रहें।
आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से कहा गया है कि खुले आकाश में रहने को बाध्य हो तो नीचे के स्थलों को चुनें, एक साथ कई आदमी इक_े न हो, दो आदमी की दूरी कम से कम 15 फीट हो, तैराकी कर रहे लोग मछुवारे आदि अविलंब पानी से बाहर निकल जायें, गीले खेतों में हल चलाते, रोपणी या अन्य कार्य कर रहे किसानों तथा मजदूरों या तालाब में कार्य रहे व्यक्ति तुरंत सूखे और सुरक्षित स्थान पर चले जायें, धातु से बने कृषियंत्र आदि से अपने को दूर कर लें, यदि आप खेत-खलिहान में काम कर रहे हों तथा किसी सुरक्षित स्थान की शरण न ले पाए तो जहां है वहीं रहे, हो सके तो पैरों के नीचे सूखी चीजें जैसे लकड़ी, प्लास्टिक, बोरा या सूखे पत्ते रख लें, दोनों पैरों को आपस में सटा लें और दोनों हाथों को घुटनों पर रखकर अपने सिर को जमीन की तरफ यथा संभव झुका लें तथा सिर को जमीन से न छुआएं, जमीन पर कदापि न लेंटे। अपने घरों तथा खेल-खलिहानों के आस-पास कम ऊंचाई वाले उन्नत किस्म के फलदार वृक्ष समूह लगायें। यदि संभव हो तो अपने घरों में तडि़त चालक लगवा लें। यथा संभव खुले क्षेत्र में स्वयं को धात्विक संपर्क से बचाये रखें।
 

+ Load More