कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
जंगल से भटक कर रिहायशी इलाके में पहुचा भालू, सायकिल सवार को किया घायल

जंगल से भटक कर रिहायशी इलाके में पहुचा भालू, सायकिल सवार को किया घायल

महासमुंद। घटते जंगल व कटते पेड -पौधो एवं चारा, पानी की कमी के कारण वन्यप्राणी रिहायसी इलाको की तरफ आ रहे है । ताजा मामला महासमुंद वनपरिक्षेत्र का है , जहां सुबह एक भालू महासमुंद शहर मे आ गया और भागते समय बीटीआई इलाके मे एक कुंए मे गिर गया । सूचना पर वन अमला मौके पर पहुंच कर सीढी को कुंए मे डाला । सीढी डालते ही भालू सीढी के माध्यम से बाहर आ गया और भागा । भालू बीटीआई ,कलेक्टर कार्यालय होते हुवे कुर्मी पारा की तरफ भागा और वन अमला भालू को खदेडने मे जुटा है । महासमुंद वनपरिक्षेत्र अधिकारी ने  बताया की रविवार शाम को सूचना मिली की एक भालू मुडमाड के जंगल से निकलकर महासमुंद शहर के सुभाष नगर की तरफ आ गया है । सूचना के बाद से ही वन अमला भालू पर निगरानी रखे हुवे है । भालू की उम्र लगभग दो साल है । भालू भागते समय एक सायकल सवार को पंजा मारा और आगे निकल गया । सायकल सवार वहा से डर कर भाग गया । भालू को खदेडने के बाद घायल व्यक्ति से मुलाकात कर हालचाल लिया जायेगा । बहरहाल वन अमला भालू को खदेडने मे जुटा है ।

 विभाग में हुई गड़बड़ी के खिलाफ अफसर घर पर अनशन में बैठे, सीएम विवाह योजना व रेडी-टू-ईट में 30 लाख की गड़बड़ी का आरोप

विभाग में हुई गड़बड़ी के खिलाफ अफसर घर पर अनशन में बैठे, सीएम विवाह योजना व रेडी-टू-ईट में 30 लाख की गड़बड़ी का आरोप

महासमुंद। महिला बाल विकास विभाग में मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना और रेडी-टू-ईट योजना में करीब 30 लाख रुपए की गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए जांच के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से महिला बाल विकास अधिकारी सुधाकर बोदले ने आज से घर पर ही अनशन शुुरु कर दिया है।

अनिश्चितकालीन के लिए अनशन पर बैठे अधिकारी ने बताया कि मामले में जांच प्रतिवेदन जिला प्रशासन और उच्च अधिकारियों को सौंपे जाने के बाद भी जब कार्रवाई नहीं हुई तो उन्होने अनशन करने का फैसला लिया। इसके लिए जिला प्रशासन से स्थल और अनशन की अनुमति के लिए पत्र लिखकर मांग की लेकिन प्रशासन से जब जवाब नहीं मिला तो वे घर पर ही अनशन पर बैठ गए।

खरीदी की गई सामग्री व रेडी-टृू-ईट को अनशन स्थल पर रखा
सुधाकर बोदले ने अनशन स्थल पर विभाग द्वारा मुख्यमंत्री विवाह कन्या दान योजना अंतर्गत हितग्राहियों के लिए उनके कार्यकाल में खरीदी की गई सामग्री के साथ पिछले दो वर्ष से खरीदी की जा रही सामग्री को अनशन स्थल में गुणवत्ता दिखाने के लिए रखा है। इसके अलावा जांच के दौरान हितग्राहियों को वितरण किए गए रेडी टू ईट को भी उन्होंने रखा है। उन्होने बताया कि विवाह योजना के लिए जो सामान खरीदे गए हैं उसकी कीमत 12 हजार रुपए बताई गई है। जबकि बाजार में उक्त सामग्री की कीमत करीब 7 हजार रुपए है। जिसका मूल्यांकन उन्होंने स्वयं जांच के दौरान किया है। उन्होंने बताया कि कन्यादान योजना में 20 लाख रुपए की गड़बड़ी जांच में सामने आई है।

15 सेक्टरों में वितरित रेडी-टू-ईट में 11 में गुणवत्ता विहीन
उन्होने महासमुुंद ब्लॉक के 15 सेक्टरों में हितग्राहियों को वितरित किए गए रेडी-टू-ईट में 11 सेक्टरों में रेडी-टू-ईट गुणवत्ताविहीन होने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि रेडी टू ईट में जिस तरह की सामग्री की गुणवत्ता होनी चाहिए वह नहीं है। सोया, चना की जगह गेहूं की मात्रा अधिक है। हितग्राहियों से गुणवत्ता वाले और गुणवत्ताविहीन सामग्री का स्वाद चखाकर परीक्षण किया गया। रेडी टू ईट में करीब 10 लाख रुपए की गड़बड़ी जांच में पाई गई हैै।

जांच के बाद भी कार्रवाई नहीं
मामले में जांच कर प्रतिवेदन जिला प्रशासन और उच्चाधिकारियों को सौंपने के बाद भी मामले में कार्रवाई नहीं की गई है। जिसकी वजह से उन्हें अनशन पर बैठना पड़ा है। आज अवकाश है इसलिए पूरे दिन और कार्यालयीन दिनों में वे कार्य सम्पन्न करने से पूर्व सुबह 8 से 10 व शाम को 5 से 8 बजे तक प्रतिदिन घर पर ही अनशन करेंगे।

वर्जन
सुधाकर बोदले द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार है। स्वयं के द्वारा जांच कर कार्य को प्रभावित करना है। पूर्व में भी जांच कर शिकायत की गई थी जिसके बाद हुई जांच में सब सही पाया गया था। इससे ज्यादा मैं कुछ नहीं कहना चाहता।
अब रायपुर से सटा ये जिला भी 31 मई  तक हुआ लॉक, देखे किन्हें मिली छुट

अब रायपुर से सटा ये जिला भी 31 मई तक हुआ लॉक, देखे किन्हें मिली छुट

महासमुंद। कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के अनुक्रम में महासमुन्द जिला अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को 17 मई प्रातः 06ः00 बजे तक की अवधि के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए जिला महासमुन्द में सार्वजनिक आवागमन एवं अन्य गतिविधियों पर कड़े प्रतिबंध अधिरोपित किये गये हैं।
महासमुन्द में व्यवसायिक गतिविधियों पर अधिरोपित प्रतिबंधों एवं सम्पूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित करने से कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई है किन्तु भीड़-भाड़ में वृद्धि होने पर कोविड-19 संक्रमण बढ़ने की आशंका अभी भी विद्यमान है। आम जनता हेतु आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ-साथ श्रमिकों, निम्न आय वर्ग एवं छोटे-बड़े व्यवसायीगण के हितों की सुरक्षा के लिए निर्बंधनों में समुचित रियायत दिया जाना भी जरुरी है। उपरोक्त परिस्थितियों में समुचित विचारोपरान्त कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने तथा सभी वर्गो के हितों की सुरक्षा के लिए युक्तियुक्त पुनरीक्षित निर्बंधन अधिरोपित करते हुये सम्पूर्ण महासमुन्द जिले में कंटेनमेंट जोन की अवधि बढ़ाया जाना व्यापक लोकहित में आवश्यक प्रतीत होता है।
 

विधायक चंद्राकर ने खाद सहित पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ जताया विरोध

विधायक चंद्राकर ने खाद सहित पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ जताया विरोध

महासमुंद। केंद्र सरकार से खाद के साथ ही पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ आज शनिवार को विधायक की अगुवाई में कोविड 19 नियमों का पालन करते हुए विरोध प्रदर्शन किया गया।


इस दौरान विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने कहा कि केंद्र सरकार अपने इन फैसलों की बदौलत कृषि क्षेत्र में काॅरपोरेट घरानों का दखल बढ़ाने का ही प्रयास कर रही है। जिसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा।


प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर आज शनिवार को खाद, पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी के विरोध में प्रदर्शन करने का आव्हान किया गया था। जिस पर संसदीय सचिव निवास में संसदीय सचिव व विधायक श्री चंद्राकर ने कोविड 19 नियमों का पालन करते हुए विरोध जताया।


उन्होंने कहा कि इफको से खाद के दामों में हुई वृद्धि पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार कृषि क्षेत्र में निजीकरण का रास्ता खोल रही है। एक तरफ सरकार किसानों की आय दोगुनी करने का वादा करती है, दूसरी तरफ किसानों की फसल में लगने वाली लागत को बढ़ा रही है। अब खाद के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर सरकार ने किसानों पर एक और चोट कर दी है। कोरोना संकट काल के बीच किसानों के सामने एक नई आफत आ गई है। इफको इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर्स कोआपरेटिव लिमिटेड ने खाद के दाम बढ़ा दिए हैं। कोरोना काल में पहले से ही आर्थिक तंगहाली झेल रहे किसानों को खाद की बढ़ी कीमतों ने परेशानी में डाल दिया है। केंद्र सरकार के इन विनाशकारी कदमों की वजह से किसान अपनी जमीन बेचने पर मजबूर हो जाएंगे। इसी तरह पेट्रोल-डीजल के दामों में भी लगातार बढ़ोत्तरी की जा रही है। इस दौरान विधायक प्रतिनिधि दाउलाल चंद्राकर, ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष खिलावन साहू भी तख्ती लेकर केंद्र सरकार से बढ़ाई गई कीमतों को लेकर विरोध जताया।

 बड़ी खबर: खेत में काम कर रहे किसान को हाथी ने रौंदकर मार डाला, बेटे ने पेड़ पर चढ़ बचाई अपनी जान

बड़ी खबर: खेत में काम कर रहे किसान को हाथी ने रौंदकर मार डाला, बेटे ने पेड़ पर चढ़ बचाई अपनी जान

महासमुंद। खेत में काम कर रहे किसान को हाथ ने पटक-पटक कर मार डाला। वहीं बेटे ने पेड़ पर चढ़कर अपनी जान बचाई।

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की देर शाम ग्राम परसाडीह में मनीराम यादव अपने पुत्र जयलाल यादव के साथ अपने खेत में धान के फ सल में दवाई छिड़काव करने गए थे। जैसे ही मनी राम दवाई छिड़काव कर रहे थे, तभी अचानक पीछे की तरफ से हाथी खेत में पहुंच कर किसान को पटक-पटक कर मार दिया। पुत्र खेत के दूसरे छोर पर खड़ा था। हाथी को देखते ही जान बचाने के लिए आवाज लगाई। खुद पेड़ पर चढ़ कर जान बच पेड़ पर चढ़कर बेटे ने किसी तरह जान बचा ली, किसी तरह से हिम्मत जुटा कर गांव में फ ोन कर सूचना देकर ग्रामीणों को बुलाया, तब तक मनीराम की मौत हो चुकी थी। इसके बाद हाथी ग्राम परसाडीह के गली-मोहल्ले को पार करते हुए कुकराडीह बंजर में चला गया।

वन एवं पुलिस विभाग को सूचना दी गई। शव को रात में खेत से बाहर निकाल कर अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया। वन विभाग की ओर से तत्कालीन सहायता राशि 25 हजार रुपये मृतक के बड़े भाई को एसडीओ वन एसएस नाविक एवं रेंजर सालिक राम डडसेना ने प्रदान किया। इसी तरह आज शनिवार को सुबह तेंदूपत्ता तोड़ेने पिरदा के बार जंगल गए युवक को हाथी ने दौडाया। जिसके बाद वह किसी तरह से अपनी जान बचाने में कामयाब रहा है। घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्र में दहशत फैली हुई है। लोग अत्यअधिक जरुरी होने पर ही घर से बाहर निकल रहे है। 
ज़िला आबकारी विभाग की अवैध शराब पर बड़ी कार्यवाही

ज़िला आबकारी विभाग की अवैध शराब पर बड़ी कार्यवाही

महासमुंद। लॉकडाउन के दौरान महासमुंद कलेक्टर के निर्देशन एवं ज़िला आबकारी अधिकारी दिनकर वासनिक के मार्गदर्शन में आज शुक्रवार को आबकारी विभाग ने महुआ शराब पर बड़ी कार्यवाही की गई। मुखबिर की सूचना मिलने पर आबकारी दल ने जाँच के दौरान आरोपी कुंजमन दास पिता अंजोर दास, जाति पनका उम्र 45 वर्ष, निवासी ग्राम बरोली थाना बसना जिला महासमुंद कुल 15 ली. महुआ शराब बरामद किया गया। आरोपी को आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) के तहत गिरफ़्तार किया गया। उक्त कार्यवाही में आबकारी उपनिरीक्षक वतन चौधरी के साथ नगर सैनिक शिरीष भोई, रमेश मोहन्ती एवं तारेश हरवंश की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

 मुख्यमंत्री की संवेदनशील पहल से बेसहारा बच्चों का संवरेगा बेहतर भविष्य-चंद्राकर

मुख्यमंत्री की संवेदनशील पहल से बेसहारा बच्चों का संवरेगा बेहतर भविष्य-चंद्राकर

महासमुंद। संसदीय सचिव व विधायक चंद्राकर ने कहा कि कोरोना से माता-पिता खो देने वाले बच्चों की पढ़ाई का खर्च छत्तीसगढ़ सरकार उठाने के साथ ही उन्हें छात्रवृृृत्ति भी देगी। कोविड के खिलाफ लड़ाई के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार ने एक ऐसा निर्णय लिया है, जो कोविड पीड़ितों के कुछ आंसू पोंछ सकेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशील पहल से बेसहारा बच्चों का भविष्य बेहतर रूप से संवर सकेगा।


संसदीय सचिव चंद्राकर ने कहा कि कोविड के निर्मम प्रहार के चलते जिन बच्चों का सब कुछ छीन गया है, अब छत्तीसगढ़ सरकार उनका संबल बनने जा रही है और न केवल उनकी शिक्षा का दायित्व उठायेगी बल्कि उनके भविष्य को संवारने की हर संभव कोशिश भी करेगी। सरकार की इस संवेदनशील पहल को अमली जामा पहनाया जाएगा छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना के माध्यम से। यह योजना इस वित्तीय वर्ष से लागू की जाएगी। चंद्राकर ने कहा कि ऐसे बच्चे जिन्होंने अपने माता-पिता को इस वित्तीय वर्ष के दौरान कोरोना के कारण खो दिया है, उन की पढ़ाई का पूरा खर्च अब छत्तीसगढ़ सरकार उठाएगी। साथ ही पहली से आठवीं तक के ऐसे बच्चों को 500 रुपय प्रतिमाह और 9 वीं से 12 वीं तक के बच्चों को 1000 रुपये प्रतिमाह की छात्रवृत्ति भी राज्य सरकार ने दी जाएगी।

शासकीय अथवा प्राईवेट किसी भी स्कूल में पढ़ाई करने पर ये बच्चे इस छात्रवत्ति के लिये पात्र होंगे। इसके साथ ही राज्य सरकार ने यह भी निर्णय लिया गया है ऐसे बच्चे जिनके परिवार में रोजी-रोटी कमाने वाले मुख्य सदस्य की मृत्यु कोरोना से हो गई है, तो उन बच्चों की पढ़ाई की व्यवस्था भी राज्य सरकार करेगी। संसदीय सचिव चंद्राकर ने कहा कि राज्य सरकार ने यह भी निर्णय लिया गया है, कि यदि ये बच्चे राज्य में प्रारंभ किए गए स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूलों में प्रवेश के लिए आवेदन देते हैं तो उन्हें प्राथमिकता से प्रवेश दिया जायेगा और उनसे किसी भी प्रकार की फीस नहीं ली जाएगी। कोरोना महामारी ने न जाने कितने घरों में अंधेरा कर दिया है और न जाने कितने बच्चों के सिर से उनके मा-बाप का सहारा छीन लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार के जरूरतमंदों को हर तरह का सहारा मुहैया कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री की यह संवदेनशील पहल इन बेसहारा बच्चों के बेहतर भविष्य निर्माण में काफी सहायक होगी।

 वाहन चेकिंग के दौरान पकडे गए शराब तस्कर, चार युवक से भारी मात्रा में शराब जब्त

वाहन चेकिंग के दौरान पकडे गए शराब तस्कर, चार युवक से भारी मात्रा में शराब जब्त

महासमुंद।  छिलपावन चौक पिथौरा में नाकेबंदी कर वाहन चेकिंग के दौरान एक कार से 7 जरिकेन 37 लीटर महुआ शराब जब्त किया है । इस आरोप में चार युवक को गिरफ्तार किया गया है । पुलिस ने आबाकरी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया है । थाने से मिली जानकारी के अनुसार महुआ शराब तस्करी के आरोप में ग्राम मांढर रायपुर निवासी दुर्गेश पंचसारी पिता गोपी पंचसारी,  ग्राम सिलतरा वर्तमान पता बेलटुकरी थाना तुमगांव सिद्धार्थ निषाद पिता कौशल निषाद पुरन बघेल पिता घनश्याम बघेल एवं ग्राम धरसींवा निवासी हीरेंद्र कुमार पटेल पिता दाऊ लाल पटेल को गिरफ्तार किया गया है । ये लोग कार क्रमांक सीजी 04 सी एक्स 5555 इनोवा में शराब परिवहन कर रहे थे । पुलिस ने 37 लीटर शराब व कार को जब्त कर लिया है । 
   मौसम का मिजाज छत्तीसगढ़ : प्रदेश के कई स्थानों पर हो सकती है गरज चमक के साथ बारिश

मौसम का मिजाज छत्तीसगढ़ : प्रदेश के कई स्थानों पर हो सकती है गरज चमक के साथ बारिश

महासमुंद। ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा दक्षिण पूर्व मध्यप्रदेश और उसके आसपास 0.9 किलोमीटर तक स्थित है। एक उत्तर-दक्षिण द्रोणिका दक्षिण-पूर्व से पश्चिम असम तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। उत्तर-दक्षिण द्रोणिका दक्षिण पूर्व मध्यप्रदेश से तटीय केरल तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। मौसम विभाग के एचपी चंद्रा ने बताया कि प्रदेश में 14 अप्रैल को प्रदेश के एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ अंधड़ चलने तथा आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है । प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि संभावित है। वर्षा का क्षेत्र मुख्यत: दक्षिण छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है।
 बड़ी खबर: बेहोशी की हालत में घर पहुंचाए युवक की उपचार के दौरान देर रात हुई मौत

बड़ी खबर: बेहोशी की हालत में घर पहुंचाए युवक की उपचार के दौरान देर रात हुई मौत

महासमुंद। शहर के गंजपारा मोहल्ले में रहने वाले एक युवक की उपचार के दौरान देर रात निजी अस्पताल में मौत हो गई। इसकी हालत एक दिन पहले काफी गंभीर थी। मृतक को उसके दोस्तों ने बेहोशी की हालत में घर पर छोड़ दिया था। जिसका परिजन निजी अस्पताल में उपचार करा रहे थे। प्रथम दृष्टया गाड़ी से गिरने के कारण चोट आने की बात चिकित्सक कर रहे है, लेकिन पीएम के बाद ही पता चलेगा । इधर, पुलिस पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दी है । कोतवाली प्रभारी शेर सिंह बंदे ने कहा है कि अस्पताली मेमो पर मर्ग कायम कर लिया गया है । इसके बाद जांच में तथ्य सामने आएंगे, फिर अपराध कायम किया जाएगा । गंजपारा निवासी ओंकार तंबोली ने बताया कि मेरे पुत्र भावेश तंबोली का मंगलवार को जन्मदिन था । सुबह उसका दोस्त देव सिन्हा घर आया और उसे पार्टी देने के नाम पर उसे ले गया । जिस समय वह घर से गया वह सही सलामत था । दलदली में दोपहर देव सिन्हा द्वारा पार्टी का आयोजन किया गया था । इस दौरान करीब 7 से 8 लोग मौजूद थे । रात साढ़े 9 बजे उसे बोहोशी की हालत घर के सामने छोड़कर चले गए । भावेश के नाक से खून बह रहा था । इसके बाद से उपचार के लिए निजी अस्पताल ले गए थे । बुधवार देर रात उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई । चिकित्सकों का कहना है कि सिर के पीछे अधिक चोट आने के कारण उसकी मौत हुई है ।
 ट्रक ओवर टेक करते समय सामने जा रहे ट्रक को पीछे से ठोंका, स्टेयरिंग में फंसा चालक

ट्रक ओवर टेक करते समय सामने जा रहे ट्रक को पीछे से ठोंका, स्टेयरिंग में फंसा चालक

महासमुंद। राष्ट्रीय राजमार्ग–53 पिथौरा क्षेत्र के ग्राम टेका से मेमरा के बीच फोरलेन में बुधवार सुबह चार बजे एक ट्रक ओवर टेक करते समय सामने जा रहे ट्रक को पीछे से ठोकर मार दिया। ठोकर इतना जबर्दस्त था कि ट्रक के चालक का पैर स्टेयरिंग में फंस गया। हालांकि चालक को गंभीर चोट नहीं आई, लेकिन घंटेभर बाद गैस कटर से कटिंग कर उसके पैर को बाहर निकाला गया। इधर, हादसे की सूचना मिलते ही डायल 112 व पुलिस मौके पर पहुंची और रास्ते को वन वे कराकर रास्ते से ट्रक को हटाया । करीब डेढ़ घंटे बाद यातायात सुचारु रूप से दोनों ओर बहाल हुआ। पिथौरा थाना प्रभारी केशव कोसले ने बताया कि घटना अल सुबह चार बजे की है । ट्रक क्रमांक डब्ल्यु बी सी 5128 आलू लेकर रायपुर की ओर जा रहा था। उसके सामने ओडी 19 एच 2399 एल्युमिनियम लेकर वह भी ओडिशा से रायपुर की ओर जा रहा था । ग्राम टेका व मेमरा के बीच डब्ल्युबी ट्रक का चालक अनुप चिन्ना ट्रक को तेज रफ्तार भगाते हुए ओडी ट्रक से आगे निकलने के लिए ओवरटेक कर रहा था, लेकिन स्टेयरिंग मुड़ा नहीं और ट्रक रफ्तार होने की वजह से सीधे ट्रक के पीछे हिस्से में जोरदार टकरा गया। हादसे के बाद दोनों ही ट्रक सड़क पर खड़े हो गए। टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि चालक अनुप चिन्ना का पैर स्टेयरिंग में फंस गया । जब हादसे की खबर लगी तो टीम मौके पर पहुंची । चालक को बाहर निकालने का प्रयास किया गया, लेकिन पैर अंदर फंस गया था । इसके बाद टीम गैस कटर से ट्रक के सामने के हिस्से को काट तब कहीं जाकर उसका पैर बाहर निकला। सामने हिस्से में लकड़ी आ जाने के कारण चालक को गंभीर चोट नहीं आई और पैर सुरक्षित बाहर निकल गया। उन्होंने बताया कि इस हादसे में किसी को भी गंभीर चोट नहीं है। वहीं हादसे के बाद यातायात बाधित न हो इसके लिए फोरलेन को वन वे करा दिया गया था । ट्रकों को रास्ते से हटाने के बाद यातायात को दोनों ओर से बहाल किया गया । 
 बाल संप्रेषण गृह से भागे चार में से एक संक्रमित अपचारी बालक को पुलिस ने पकड़ा

बाल संप्रेषण गृह से भागे चार में से एक संक्रमित अपचारी बालक को पुलिस ने पकड़ा

महासमुंद। बाल संप्रेषण गृह से भागे चार संक्रमित अपचारी बालक में से एक को पुलिस ने पकड़ लिया है। वह बलौदाबाजार के रहने वाले है। हत्या के प्रयास में संप्रेषण गृह में था बालक। इधर, मास्टर माइंड सहित दो बालक की खोजबीन पुलिस कर रही है। पकड़े गए बालक को अभी संप्रेषण गृह में अभी नहीं लाया गया है। निगेटिव आने के बाद ही महासमुंद भेजा जाएगा । इधर, इस घोर लापरवाही के चलते विभाग ने केयर टेकर व गार्ड को कारण बताओं नोटिस जारी कर दिया है । बता दें कि घटना सोमवार की रात 11 बजे की है । खिड़की की ग्रील तोड़कर ये चारों अपचारी बालक फरार हो गए थे। इस संबंध में महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी मनोज सिन्हा ने बताया कि लापरवाह कर्मचारियों को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है, वहीं एक बालक को पुलिस ने पकड़ लिया है । गौरतलब हो कि ग्राम बरोंडाबाजार स्थित बाल संप्रेषण गृह से चार अपचारी बालक सोमवार रात 11 बजे फरार हो गए थे । जैसे ही इसकी सूचना कर्मचारियों व अधिकारी को हुई कोतवाली पुलिस को सूचना दी । रात में फरार होने के खबर कर्मचारियों को सूचना सुबह 9 बजे हुई । देरी होने के कारण बालक जिले से फरार हो गए थे।  

केयर टेकर व गार्ड कमरे के सामने साए थे बरामदे में 
महिला बाल विकास अधिकारी मनोज सिन्हा ने बताया कि मामले में रात में ड्यूटी पर तैनात केयर टेकर और गार्ड को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि ये चारों कोरोना संक्रमित थे, इसलिए इन्हें अलग करमें में आईसोलेट किया गया था । इसकी  नजर केयर टेकर व गार्ड को रखने के निर्देश दिए थे । रात में गार्ड व केयर टेकर कमरे के सामने बरामदे में साए हुए थे । उनकी लापरवाही के कारण ये फरार हो गए । इसलिए दोनों को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है ।  

परिसर में लगे है 16 सीसीटीवी कैमरे 
बाल संप्रेक्षण गृह से अपचारी बालकों के फरार होने की यह पहली घटना नहीं है। इसके पूर्व भी बालक यहां की दीवार फांदकर भाग चुके है। बच्चों पर नजर रखने के लिए यहां 16 सीसीटीव्ही कैमरे और दीवार को कटीले तार से घेरा कर रखा गया है। बावजूद अपचारी बालक भागने में यहा से भाग निकले। इधर, जिम्मेदार अधिकारी मनोज सिन्हा का कहना है कि स्टाफ की कमी है। जिसकी भर्ती के लिए शासन को पत्र भेजा जा चुका है, लेकिन नियुक्त नहीं हो पाई है।  

राजिम, गरियाबंद  सहित अन्य जिलों में तलाश 
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर ने बताया कि महासमुंद व यूपी के रहने वाले तीन अपचारी बालक पुलिस की कस्टडी से बाहर है । इनकी तलाश राजिम, गरियाबंद व ओडिशा सीमावर्ती इलाके में की जा रही है । इसके अलावा आसपास के पुलिस थानों को भी खबर भेजी जा चुकी है।  

ऐसे पकड़ाया बालक, निगेटिव आने के बाद ही भेजेंगे महासमुंद
बलौदाबाजार के कोतवाली थाना प्रभारी महेश ध्रुव ने बताया कि महासमुंद से सूचना मिली कि बाल संप्रेषण गृह से बलौदाबाजार का रहने वाला बालक फरार हो गया है । वहीं बालक की मां ने महासमुंद स्टॉप को फोन कर जानकारी भी  दी कि वह घर पहुंच गया है । कोरोना संक्रमित होने के कारण अभी उसे घर में ही रखा गया है । आज उसका कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। निगेटिव आने के बाद ही उसे महासमुंद भेजा जाएगा । यदि पॉजिटिव आया तो, उपचार के बाद भेजा जाएगा । 
 पुरुष व महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मर्ग कायम कर जांच में जुटी पुलिस

पुरुष व महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मर्ग कायम कर जांच में जुटी पुलिस

महासमुंद। बागबाहरा व बसना क्षेत्र के रहने वाले पुरुष व महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है । पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया है। थाने से मिली जानकारी के अनुसार बागबाहरा के ग्राम जुनवाली कला निवासी शाखाराम उर्फ लीलाधर (45) ने पारिवारिक परेशानी के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया । बताया जा रहा है कि चार विवाह करने के बाद भी बच्चे नहीं हो रहे थे । इससे वे परेशान था । इसी प्रकार बसना के ग्राम कल्मीदादर निवासी हेममोती चंद्रवंशी पति देवनाथ (55) की मानसिक हालत ठीक नहीं थी । वह गांव के सागौन प्लांट में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । 
 साढ़े 6 फिट की दीवार फांदकर बाल संप्रेषण गृह से भागे कोरोना पॉजिटिव चार अपचारी बालक

साढ़े 6 फिट की दीवार फांदकर बाल संप्रेषण गृह से भागे कोरोना पॉजिटिव चार अपचारी बालक

महासमुंद। जिला जेल ब्रेक की घटना के पांच दिन बाद बरोंडाबाजार स्थित बाल संप्रेषण गृह के ब्रेक का मामला सामने आया है । सोमवार रात 11 बजे चार अपचारी बालक मौके का फायदा उठाकर फरार हो गए। फरार चारो बालक कोरोना पॉजिटिव है । खास बात तो यह है कि बालकों के भागने की जानकारी बाल संप्रेषण गृह के अधिकारी, कर्मचारी, केयर टेकर व गार्ड को नहीं थी। जब जिला सत्र न्यायाधीश व अतिरिक्त न्यायाधीश निरीक्षण के लिए पहुंचे तक संप्रेषण गृह के स्टॉप को इसकी जानकारी हुई। इसके बाद आनन फानन में इसकी घटना कोतवाली पुलिस को दी । अपचारी बालकों ने भागने के लिए पेड़ का डंगाल, खिड़की का ग्रील तोडऩे के लिए पलंग व कटीले तार में चोट न आए इसके लिए तकिए का प्रयोग किया और साढ़े 6 फीट की दीवार फांदकर फरार हो गए। समाचार लिखे जाने तक एक भी अपचारी बालक पुलिस के गिरफ्त में नहीं आया था। इधर, कोतवाली पुलिस बालकों की खोजबीन शुरू कर दी है, वहीं आसपास थानों व अन्य जिलों की पुलिस को भी घटना की जानकारी दे दी है, ताकि क्षेत्र में घुमते पाए गए तो पकड़ में आ जाए । इस घटना का मास्टर माइंड यूपी निवासी 16 वर्षीय बालक है, जो बलौदाबाजार क्षेत्र में कट्टा सप्लाई के मामले में बलौदाबाजार पुलिस के गिरफ्तार कर महासमुंद बाल संप्रेषण गृह भेजा था। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला परियोजना अधिकारी मनोज सिन्हा ने बताया कि चार अपचारी बालक के फरार होने की सूचना मिली है । जानकारी के बाद इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दे दी गई है।   

ऐसे भागे चारो अपचारी बालक 
घटना को अंजाम देने के लिए सोमवार शाम से प्लान तैयार कर लिए थे । ये बालक अपने पलंग के सहारे खिड़की के ग्रील को तोड़े और एक-एक करके चारो बाहर आए । इसके बाद परिसर के अंदर पेड़ की एक डंगाली टूटी हुई थे, जिसे दीवर में चढऩे के सिढ़ी के रुप में इस्तेमाल किए। दीवार के ऊपर लगे कटीले तार से कहीं चोंट न आए इसके लिए चारों ने एक तकिए को तार के ऊपर रख दिया और डंगाल के सहारे एक-एक करके चारों दीवार फांद कर फरार हो गए। रात में अंधेरे का फायदा उठाकर चारों वहां से भाग निकले। 

पॉजिटिव होने के कारण चोरों को अलग कमरे में किए थे क्वारेंनटाइन 
संप्रेषण गृह से मिली जानकारी के अनुसार तबियत खराब होने के बाद 30 अप्रैल को चोरों का कोरोना टेस्ट करायसा गया था । एक मई को चारों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद एक अलग से कमरे में चारों को एक साथ क्वारेंटाइन कर दिए थे । चोरों एक साथ ही अलग कमरे में रहते थे । पॉजिटव आने के कारण इनके कमरे की ओर ज्यादा नहीं जाते थे। केयर टेकर केवल सामान छोडऩे के लिए कमरे बाहर जाता और वहीं रखकर वापस आ जाते थे । इसी का फायदा उठाते हुए भागने का प्लान बनाए। इस घटना को अंजाम देने का मास्टर माइंड यूपी का रहने वाला अपचारी बालक है । 

जानिए इस मामले में संप्रेषण गृह बंद थे चारो 
जानकारी के अनुसार फरार चारो अपचारी बालक मर्डर, हाफ मर्डर, कट्टा सप्लाई व चोरी के मामले में बाल संप्रेषण गृह में बंद थे । बलौदाबाजार के दो बालक है, इसमें से बलौदाबाजार का रहने वाला है, जो हाफ मर्डर केस में बंद था । वहीं यूपी निवासी एक बालक बलौदाबाजार में कट्टा सप्लाई के मामले में पकड़ाया था, जिसे बाल संप्रेषण गृह में रखे थे। दो महासमुंद जिले के रहने वाले है । इसमें से एक अपने पिथौरा क्षेत्र के ग्राम डुमरपाली का रहने वाला है, जो अपने मां के साथ चाचा को मौत के घाट उतार दिया था । वहीं एक महासमुंद शहर का निवासी है, जो चोरी के मामले में बंद था। 

सुरक्षा पर उठ रहा सवाल, तीन बार हुई ब्रेक की घटना 
बाल संप्रेषण गृह में लगातार यह ब्रेक की यह तीसरी घटना है । इससे पहले भी चार अपचारी बालक दो बार दीवार फांदकर फरार हो चुके हैं। हालांकि चारों को पुलिस ने पकड़ कर संप्रेषण गृह में फिर से डाल दिया है। बार-बार इस प्रकार की घटना से संप्रेषण गृह के सुरक्षा की लापरवाही सामने आ रही है। जिला परियोजना अधिकारी ने बताया कि यहां जेल की तरह ट्रीट नहीं किया जाता है । एक ही सुरक्षा गार्ड बच्चों के लिए लगा रहता है, जो चोरों ओर घुम-घुमता है । गेट के पास भी वहीं गार्ड ड्यूटी पर तैनात रहता है । बच्चों को सुधारने के साथ-साथ यहां से जाने के बाद अच्छे कर्म करने के लिए सीख दी जाती है । छूटने के बाद दोबारा ऐसे घटनाओं को अंजाम ने दे। 

इसदिन हुआ था इनका प्रवेश, 17 बालक संप्रेषण गृह में 
बाल संप्रेषण गृह में चार बालक फरार हो जाने के बाद वर्तमान में 21 अपचारी बालक है। इस संप्रेषण गृह में तीन जिला गरियांबद, बलौदाबाजार व महासमुंद के अपचारी बालकों को अपराध के बाद यहां रखा जाता है । ये लोग संप्रेषण गृह में बलौदाबाजार निवासी हत्या के प्रयास के आरोप में 20 जनवरी 2021, महासमुंद निवासी चोरी के आरोप में 5 फरवरी 2021, यूपी निवासी कट्टा सप्लाई के आरोप में 26 मार्च 2021 एवं पिथौरा महासमुंद निवासी हत्या के आरोप में 22 अप्रैल को दाखिए किए गए थे। 
 शराब दुकान में नियमों का खुले आम उल्लंघन, चैनल गेट के पास खड़े होकर गार्ड बेच रहा शराब

शराब दुकान में नियमों का खुले आम उल्लंघन, चैनल गेट के पास खड़े होकर गार्ड बेच रहा शराब

महासमुंद। शराब की होम डिलीवरी का आदेश मिलते ही सरकारी शराब दुकान में कार्यरत कंपनी के कर्मचारियों की लापरवाही शुरू हो गई है । वे अपने चहेतो को शराब दुकान बुलाकर चोरी छिपे शराब बेच रहे हैं । इसकी जानकारी अधिकारियों को होने के बाद कार्रवाई नहीं कर रहे हैं । इससे अधिकारियों व प्लेसमेंट के कर्मचारियों की मिली भगत सामने आ रही है । सुबह से देर शाम तक शराब दुकान में लोग शराब लेने पहुंच रहे हैं । वहीं दुकान के बगल चैनल गेट में सुरक्षा के लिए खड़ा गार्ड लोगों को शराब मुहैया करा रहा है । गार्ड व प्लेसमेंट कर्मचारी होम डिलीवरी का बहाना बनाकर शराब  लुका छिपी बेच रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है । तुमगांव रोड स्थित अंग्रेजी शराब दुकान में यह खेल चल रहा है । गार्ड दुकान के बगल शटर खोलकर खड़ा है और दुकान में आने वालों को शराब दे रहा है । इसकी हरकर कैमरे में कैद है । इधर, जिला आबकारी अधिकारी दिनकर वासनिक का कहना है कि इस बात की जानकारी नहीं है । केवल होल डिलीवरी ही जिले में की जा रही है । यदि ऐसा है तो कार्रवाई करेंगे। बता दें कि इस बात की सूचना देने के घंटो बाद भी इस दुकान पर विभाग के अफसरों ने कार्रवाई नहीं की।   

होम डिलीवरी शुरू 
शराब प्रेमियों के लिए सरकार ने होम डिलीवरी शुरू कर दी है । विभाग के पोर्टल से लोग होम डिलीवरी करा रहे हैं । पहले दिन इतने भारी संख्या में लोगों ने सुबह से ही होम डिलीवरी के लिए पोर्टल खोला, लेकिन एक साथ खुलने के कारण सर्वर डाउन हो गया था । दूसरे दिन भी यहीं स्थिति देखने को मिली।  
छत्तीसगढ़ : गाज गिरने से एक युवक की मौत

छत्तीसगढ़ : गाज गिरने से एक युवक की मौत

महासमुंद। तेंदूकोना थाना क्षेत्र के ग्राम डोकरपाली में मंगलवार सुबह गाज गिरने से एक युवक की मौत हो गई । पुलिस ने मगर्् कायम कर जांच में लिया है । 


थाना से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम डोकरपाली निवासी गजानंद कवंर पिता डोमार कंवर (23) सुबह खेत गया था । दोपहर जब वापस घर नहीं आया तो उसका भाई उसे ढूंढने के लिए खेत गया । जब उसका भाई नहीं मिला तो आसपास ढूंढने लगा, तभी खेत से दूर महुआ पेड़ के पास अपने भाई को मृत अवस्था में देखा । बताया जा रहा है कि बारिश होने की वजह से मृतक महुआ पेड़ के नीचे खड़ा हो गया था । उसी समय अकाशीय बिजली गिरी और उसकी मौत हो गई । 
शिकार के लिए बिछाए गए करंटयुक्त फंदे की चपेट में बायसन की मौत, 3 गिरफ्तार

शिकार के लिए बिछाए गए करंटयुक्त फंदे की चपेट में बायसन की मौत, 3 गिरफ्तार

महासमुंद। महासमुंद वनमण्डल के अंतर्गत वन परिक्षेत्र पिथौरा परिवृत्त सांकरा बोइरडीह परिसर में अवैध शिकार के लिए बिछाए गए करंटयुक्त फंदे की चपेट में आने से एक बायसन की मौत हो गई। वन विभाग पिथौरा ने शिकार के आरोप में तीन ग्रामीणों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेज दिया है। विभागीय सूत्रों के अनुसार पिथौरा परिक्षेत्र के कक्ष क्र. 264 में शनिवार रात क्षेत्र के कुछ शिकारियों ने करंटयुक्त जीआई तार बिछाया था। ये फंदा ग्रामीण चीतल एवं जंगली सुअर के शिकार के लिए लगते हैं पर इसमें निरीह बायसन, बंदर एवं पालतू मवेशी भी फंस कर अक्सर मारे जाते हैं। इस फंदे की चपेट में जंगल में ही पानी पीने जा रहा एक बायसन आ गया और करंट से घटनास्थल पर ही मारा गया। कल सुबह जब शिकारियों ने देखा कि बायसन फंस कर मारा गया है तब वे उसे वहीं छोड़ स्वयं भाग खड़े हुए। घटना की जानकारी वन विभाग को मिलते ही एसडीओ यूआर बसंत तत्काल घटनास्थल पहुंचे तब मौके पर वन अधिकारियों एवं वन अमले ने पाया कि करंटयुक्त तार से उक्त मौत हुई है। अधिकारियों ने सुरेश नवरंग डॉग स्क्वाइड प्रभारी अचानकमार टाइगर रिजर्व को बुलाकर शिकारियों तक पहुंचने का प्रयास किया। डॉग स्क्वाड द्वारा बताए गए समीप के ग्राम जर्रा के ग्रामीणों के यहां छापा मारकर शिकार में प्रयुक्त सामग्री जब्त कर कार्रवाई की। एसडीओ श्री बसंत ने बताया कि ग्राम जर्रा निवासी प्रसंन (बटो) पिता संतू के घर में जीआई तार बांस की डंडी 02 नग, कांच की शीशी 71 नग तथा बांस की खूंटी, इन्द्रजीत पिता अलेख कोंध, ग्राम जर्रा के घर से लगभग 200 ग्राम जीआई तार एवं अनिल पिता जितेन्द्र के निवास स्थल से 03 बंडल जीआई तार एवं बांस की खूंटी जब्त की। मृत गौर. (बायसन) के शव को सहायक पशु चिकित्सक पिथौरा व्दारा शव परीक्षण किया गया तथा पंचनामा पश्चात घटनास्थल कक्ष क्र. 264 में जलाया गया। आरोपियों के विरुद्ध वन्यप्राणी (संरक्षण) अधिनियम 1972 की धारा 9, 39, 50, 51 एवं भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 33 के तहत कार्रवाई कर न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। 

 संपूर्ण लॉकडाउन के दिन भी सड़कों पर ही आवाजाही, इधर संक्रमण को तोडऩे घुमने वालों को दे रहे समझाईश

संपूर्ण लॉकडाउन के दिन भी सड़कों पर ही आवाजाही, इधर संक्रमण को तोडऩे घुमने वालों को दे रहे समझाईश

महासमुंद। लॉकडाउन के बावजूद शहर में प्रतिदिन सैकड़ों लोग सड़कों पर आवाजाही करते हुए दिखेंगे । इसमें से 50 प्रतिशत लोग बेवजह घुमने वाले हैं । यह नजारा रविवार के दिन भी शहर के अंदर देखने को मिला, जबकि पूर्ण लॉकडाउन था । मेडिकल व पेट्रोल पंप छोड़कर सभी दुकानें बंद थी । इसके बावजूद लोग घुमते हुए नजर आए । दोपहर को आवाजाही की अधिक संख्या को देखकर नेहरु चौक पर लगे जवानों ने रोक-रोककर पूछताछ किया । इसमें सबसे ज्यादा मेडिकल जाने वाले लोग निकले । जो भी पुलिस के पकड़ में आता एक ही बहाना बनाता, मेडिकल जा रहा हूं दवाई लेने, क्योंकि उन्हें मालूम है कि मेडिकल ही आज खुला है । जवानों ने सभी को समझाईश देकर छोड़ दिया । यह नजारा कई ब्लॉक मुख्यालयों में भी देखने को मिला । पूर्ण लॉकडाउन के दिन पुलिस शहर के चौक-चौराहों पर समझाईश देते नजर आई । बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर 17 मई सुब 6 बजे तक जिले में लॉकडाउन है । सोमवार से शनिवार तक शर्तों के आधार पर कुछ व्यवसाय को संचालन की अनुमति दी है । रविवार को सभी पूर्ण रूप से बंद रहेगा । 
4 किराना दुकानदार अधिक दर पर बेच रहे थे सामग्री हुई कार्यवाही

4 किराना दुकानदार अधिक दर पर बेच रहे थे सामग्री हुई कार्यवाही

महासमुंद। कलेक्टर के निर्देशानुसार सभी आवश्यक सामग्री की उपलब्धता अधिकतम खुदरा मूल्य पर आम जनता तक सुनिश्चित करने एवं अत्यावश्यक वस्तुओं के दैनिक बाजार भाव के निगरानी के लिए गठित दल ने ज़िले के बागबाहरा विकासखंड स्थित तीन किराना दुकान और सरायपाली की एक किराना दुकान सहित चार किराना स्टोर्स पर अधिकतम खुदरा मूल्य से अधिक दर पर किराना सामग्री विक्रय करने पर कार्रवाई की।
जिला खाद्य अधिकारी नीतिश त्रिवेदी ने बताया कि जांच में विकासखंड बागबाहरा मुख्यालय के तीन किराना स्टोर्स फुलवारी पारा, पोटरपारा और झलप रोड और सरायपाली की एक किराना स्टोर्स पर अधिकतम खुदरा मूल्य से अधिक दर पर सामग्री बेचने की गठित निगरानी दल ने जाँच की गई। जो सही पायी गई। इन चारों दुकानदरों द्वारा सामग्री का अधिक दर पर बिक्री किया जा रहा था। इनके विरुद्ध जांच दल के द्वारा एक-एक हजार रुपए कुल 4000 रुपए जुर्माना लिया गया तथा विधिक माप विज्ञान विभाग के द्वारा नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।
पहले भी ज़िले के सभी विकासखंडों में विभिन्न प्रचार माध्यमों के ज़रिए जांच दल के द्वारा लॉकडाउन अवधि में आवश्यक सामग्री वस्तुओं के उपलब्धता बनाये रखने एवं निर्धारित मूल्य में ही सामग्रियों के बिक्री किए जाने के लिए दुकानदारों को बताया गया तथा उन्हें हिदायत दी गई कि अनियमितता पाये जाने की स्थिति में नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।
 

 रविवार को ज़िले में पूर्ण लॉकडाउन, सिर्फ इन सेवाओं को मिलेगी छूट

रविवार को ज़िले में पूर्ण लॉकडाउन, सिर्फ इन सेवाओं को मिलेगी छूट

महासमुंद । महासमुंद ज़िले में कल रविवार 9 मई को पूर्ण कंटेनमेंट जोन (लॉकडाउन) रहेगा। इस दौरान सिर्फ जरूरी क्षेत्र से जुड़े लोगों को बाहर निकलने की छूट रहेगी। इसके अलावा कोरोना वैक्सीनेशन, मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोगों को भी छूट दी जाएगी।
लॉकडाउन में छूट को लेकर कलेक्टर ने नए आदेश में बाजार निर्धारित समय तक खुलने को लेकर अनुमति दी है। प्रत्येक रविवार को पूर्ण लाॅकडाउन रहेगा। केवल अस्पताल, क्लिनिक, मेडिकल दुकान, पेट्रोल पम्प, उपरोक्तानुसार निर्धारित समयावधि में एल.पी.जी., पैट शाॅप, न्यूजपेपर, दुग्ध वितरण तथा वस्तुओं, सेवाओं की होम डिलीवरी के संचालन की ही अनुमति होगी। वहीं नियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ज़िला प्रशासन ने तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। इस कड़ी में बीते गुरुवार को 17 मई 2021 प्रातः 6.00 बजे तक ज़िले में कंटेनमेंट जोन (लॉकडाउन) बढ़ाया गया है। पहले कंटेनमेंट जोन (लॉकडाउन) की अवधि 6 मई प्रातः 6 बजे तक थी।
 

 लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : 9 बोरी गुटखा व जर्दा के साथ दो गिरफ्तार, एक लाख रुपए से अधिक नकदी भी बरामद

लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : 9 बोरी गुटखा व जर्दा के साथ दो गिरफ्तार, एक लाख रुपए से अधिक नकदी भी बरामद

महासमुंद। पुलिस ने 9 बोरी गुटखा और जर्दा के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक थाना प्रभारी बसना निरीक्षक लेखराम ठाकुर ने क्षेत्र में लॉकडाउन ड्यूटी के दौरान सतत निगरानी रखी जा रही है।


उन्होने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि लॉकडाउन के दौरान एक आल्टो 800 कार में दो व्यक्ति राजश्री गुटखा और जर्दा को बिक्री करने के लिए बसना से सराईपाली की ओर ले जा रहे हैं। सूचना पर कन्याशाला के पास बसना में नाकाबंदी कर उक्त वाहन को रोका। जिसमें विवेक अग्रवाल पिता नवल अग्रवाल निवासी वार्ड नं 8 सरायपाली और प्रताप साहू पिता भरत लाल साहू निवासी गेर्रा चौकी बलौदा बैठे थे। कार की तलाशी में गुटखा और जर्दा बरामद हुआ। जिसे बिक्री के लिए ले जाना बताया गया। आरोपियों के कब्जे से राजश्री गुटखा 6 बोरी, जर्दा 3 बोरी कीमती 45000 रुपए, मारूती अल्टो 800 कीमती 250000 रुपए, एक नग सैमसंग मोबाइल कीमती 8000 रुपए, एक नग आईफोन कीमती 8000 रुपए, नकदी 100710 रुपए जुमला 411710 रुपए जब्त कर धारा 273 भादवि सिगरेट और अन्य उत्पाद अधि0 2003 की धारा 20(2) तैयार कर न्यायालय में पेश किया गया।
 
 बड़ी खबर: गृहमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस ने 30 घंटों में पांचों फरार कैदियों को दबोचा, महासमुंद जेल की दीवार फांदकर हुए थे फरार

बड़ी खबर: गृहमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस ने 30 घंटों में पांचों फरार कैदियों को दबोचा, महासमुंद जेल की दीवार फांदकर हुए थे फरार

महासमुंद। महासनंद जेल से 6 मई को फरार हुए 5 कैदी पुलिस की गिरिफ्त में आ गए है। लगभग 30 घंटों के भीतर इन्हे अलग-अलग स्थानों से दबोचा गया। एक बदमाश को तुमगांव और दो को कोमाखान के पास से पकड़ा गया है। ये जेल से भागकर करीब 10 किलोमीटर के इलाके में छिपते फिर रहे थे। पुलिस की अलग-अलग टीमें इन्हें तलाश रही थीं। ज्ञातव्य है कि गुरुवार की दोपहर ये बेमचा इलाके में बनी जिला जेल से दीवार फांदकर फरार हो गए थे। इस मामले में जेल के एक मुख्य प्रहरी और तीन अन्य प्रहरियों को निलंबित कर दिया गया है।

30 घंटे के सर्च ऑपरेशन के बाद अलग-अलग इलाकों से इन बदमाशों को पकड़ने में जिले की पुलिस कामयाब रही। एसपी प्रफुल्ल ठाकुर की टीम को आईजी आनंद छाबड़ा ने इस मिशन की कामयाबी के लिए 30 हजार रुपए का कैश प्राइज देने का एलान किया है। दोपहर तक इस केस के 4 बदमाशों को पकड़ लिया गया था। शुक्रवार की रात खल्लारी इलाके से फरार चल रहे कैदी धनसाय को भी पकड़ लिया गया। इससे पहले कोमाखान इलाके से करण और दौलत, पटेवा से राहुल, और बेमचा इलाके से डमरूधर को पकड़ लिया गया है।

लापरवाही करने वाले चार प्रहरियों पर गिरी गाज
इधर, मामले में जेल प्रशासन ने देर रात ही चार प्रहरियों को निलंबित कर दिया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार निलंबन की कार्रवाई प्रहरी भरत राम सेन, गणेश राम और सुखीराम कोसले के साथ ही मुख्य प्रहरी राजकुमार त्रिपाठी पर की गई है। घटना के वक्त भरत राम सेन की ड्यूटी बैरक नंबर 5-6, गणेश राम की ड्यूटी बैरक नंबर 7-8-9 पर और सुखीराम कोसले की ड्यूटी दीवार के पास थी।

इस पूरे मामले में जांच कर रही एएसपी मेघा टेंभुरकर ने बताया कि दोपहर करीब 3 बजकर 30 मिनट के आस-पास की इस घटना में बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। अब तक हुई जांच में ये बात सामने आई है कि जिस जगह पर गार्ड की ड्यूटी होनी थी वहां पर वो था ही नहीं। करीब आधे घंटे तक दीवार पर कंबल से रस्सी बनाकर कैदी भागने का प्रयास करते रहे, मगर किसी की नजर इन पर नहीं पड़ी थी।

इसी मौके का फायदा उठाकर वो भाग गए थे। दूसरी सबसे बड़ी बात कि जिस वक्त ये कांड हुआ बैरक से बाहर कैदियों के आने का सवाल ही पैदा नहीं होता। क्योंकि उस समय किसी को बाहर नहीं रखा जाता तो ये बाहर कैसे थे, हम इन सभी एंगल पर पड़ताल कर रहे हैं।

ये कैदी हुए थे फरार
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक भागे हुए कैदी में शामिल 33 साल का धनसाय, 24 साल का डमरूधर और 22 साल का राहुल लूट के आरोपी हैं। महासमुंद में ही इन्होंने एक वारदात को अंजाम दिया था साल 2019 से ये इसी जेल में थे। इनमें से राहुल यूपी का रहने वाला है और अन्य दो महासमुंद के ही निवासी हैं। 23 साल के दौलत को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। 21 साल का करण नशीली चीजें रखने के मामले में पकड़ा गया था, ये दोनों भी महासमुंद के ही रहने वाले हैं। पांचों ने कंबल की एक लंबी रस्सी बनाई, इसके आगे लोहे की रॉड से एंगल बनाकर उसे 21 फीट ऊंची दीवार पर फंसाया और इसी के सहारे दीवार फांदकर बाहर चले गए।
 
जेल विभाग की बड़ी कार्यवाही: मुख्य प्रहरी और 3 प्रहरी को निया निलंबित

जेल विभाग की बड़ी कार्यवाही: मुख्य प्रहरी और 3 प्रहरी को निया निलंबित

महासमुंद, महासमुंद जिला जेल से दीवाल फांदकर 5 कैदियों के फरार होने की घटना पर गृह एवं जेल मंत्री ताम्रध्वज साहू ने जेल प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए थे। फलस्वरूप कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही बरतने के कारण मुख्य प्रहरी सहित तीन प्रहरी तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिए गए हैं। मुख्यालय जेल एवं सुधारात्मक सेवाएं छत्तीसगढ़ रायपुर द्वारा आज जारी निलंबन पत्र में कहा गया है कि सी.सी.टी.व्ही फूटेज एवं उत्पन्न परिस्थिति के आधार पर 6 मई 2021 को दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे तक तैनात मुख्य प्रहरी राजकुमार त्रिपाठी और प्रहरी गणेश कुमार एक्का, भरतलाल सेन एवं सुखीराम कोसले को कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही बरतने के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। जेल मुख्यालय से जारी पत्र में कहा गया है कि जिला जेल महासमुंद में परिरूद्ध पांच विचाराधीन बंदी धनसाय उम्र 33 वर्ष, डमरूधर उम्र 24 वर्ष, राहुल उम्र 22 वर्ष, दौलत उम्र 23 वर्ष एवं करन उम्र 21 वर्ष विभिन्न धाराओं के तहत जेल में परिरूद्ध थे। ये पांचों कैदी लगभग अपरान्ह 3 से 3.30 बजे बैरक नम्बर 5 से लगे दीवार में दो बंदियों के उपर एक बंदी चढ़कर टयूब राड की पट्टी के सहारे एक गमछा एवं एक शॉल को जोड़कर हुक को सोलर फ्रेंसिंग वायर के क्लेम्प में फंसाया तथा उसके सहारे पांचों बंदी बारी-बारी से चढ़कर जेल से फरार हो गए। फरार पांच बंदियों में से तीन बंदी डमरूधर, दौलत एवं करन को पुनः गिरफ्तार कर लिया गया है। दो बंदियों धनसाय एवं राहुल की तलाश जारी है। 

 युवक के घर से कफ सिरप, गांजा व गांजा का पौध जब्त

युवक के घर से कफ सिरप, गांजा व गांजा का पौध जब्त

सरायपाली।  पुलिस ने ग्राम भुथिया निवासी ओम प्रकाश भोई पिता मारकण्ड भोई (29) को कफ सिरप, गांजा व गांजा के पौधे के साथ गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ नारकोटिक्ट एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर जेल भेज दिया है। 

थाने से मिली जानकारी के अनुसार मुखिबर से सूचना मिली कि ग्राम भूथिया निवासी ओमप्रकाश भोई घर बाड़ी में अवैध रूप से मादक पदार्थ सिरप, गांजा व गांजा का पौधा रखा है। सूचना पर टीम उसके घर पहुंचकर मकान की तलाशी ली। इस दौरान पुलिस ने उसके बाड़ी से अलग-अलग स्थानों पर लगे 4 नग गांजा का पौधा, प्लास्टिक थैला में 18 नग कफ सिरप  व एक झिल्ली में 2 किलो गांजा बरामद किया।
माल वाहक व बुलेट में ओडिशा निर्मित शराब 435 पाऊच की तस्करी करते 5 गिरफ्तार

माल वाहक व बुलेट में ओडिशा निर्मित शराब 435 पाऊच की तस्करी करते 5 गिरफ्तार

महासमुंद। दो अलग-अलग थाना क्षेत्र में ओडिशा राज्य निर्मित महुआ शराब को छग के दु्र्ग व रायपुर जिले में खपाने के लिए माल वाहक गाड़ी व बुलेट से तस्करी कर रहे पांच युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है । इनके पास 435 नग जेब्रा व हिरण ब्रांड की महुआ शराब जब्त की गई है । दोनो ही वाहन को पुलिस ने जब्त कर लिया है। यह कार्रवाई सिंघोड़ा व बागबाहरा पुलिस की है । जानकारी के अनुसार  सिंघोड़ा थाना प्रभारी चंद्रकांत साहू ने बताया कि सोमवार साढ़े 6 बजे मुखबिर की सूचना पर एनएच-53 ग्राम गनियारीपाली के पास घेराबंदी ओडिशा की ओर से आ रही माल वाहक गाड़ी क्रमांक सीजी 07 बीवाय 2411 को रोककर तलाशी ली । इस दौरान कार से दो प्लास्टिक बोरियों में ओडिशा राज्य निर्मित महुआ शराब जब्त हुआ । तस्करी के आरोप में वार्ड क्रमांक 10 सिरसा बाजार चौक जेवरा सिरसा थाना पुलगांव जिला दुर्ग निवासी रवि कुमार यादव पिता गोविंद राम यादव (22), वार्ड क्रमांक 35 गंजपारा दुर्ग निवासी सोनू साहू पिता डेरहाराम साहू (28) एवं वार्ड क्रमांक 13 जेवरा सिरसा थाना पुलगांव निवासी भार्गव सार्वे पिता डगरराम  (22) को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि इतनी मात्रा में महुआ शराब को दुर्ग जिले में खपाने के लिए ओडिशा से लेकर जा रहे थे। पुलिस को शक न हो इसलिए माल वाहक गाड़ी से तस्करी कर रहे थे। शराब की कीमत 8 हजार एवं कार की 7 लाख रुपए आंकी गई है । 

बुलेट में कर रहे थे शराब की तस्करी, दो गिरफ्तार 
बागबाहरा थाना प्रभारी स्वराज त्रिपाठी ने बताया कि सोमवार को राष्ट्रीय राजमार्ग – 353 बागबाहरा पिथौरा चौक के पास बुलेट में शराब तस्करी करते हुए दो युवक को गिरफ्तार किया है। दोनों युवक राजधानी के रहने वाले हैं। इसके पास से 235 पाउच ओडिशा राज्य निर्मित हिरण व जेब्रा छाप देशी महुआ शराब जब्त किया है। इसकी कीमत 10 हजार रुपए आंकी गई हैं। वहीं एक लाख 25 हजार रुपए की बुलेट को भी जब्त कर लिया गया है। इस आरोप में ग्राम धनेली थाना मुजगहन जिला रायपुर निवास  हेमं?त कुमार साहू पिता फुलचंद साहू (35) एवं राखी थाना आरंग जिला रायपुर निवासी सतीश कुमार सेन पिता दौलत राम सेन (40) को गिरफ्तार किया है । ये दोनों बुलेट क्रमांक सीजी 04 एनजे 0809 में 110 नग हिरण व 125 नग जेब्रा महुआ शराब का परिवहन कर रहे थे ।
+ Load More