अच्छी खबर : सितंबर से देश में ही होगा स्पूतनिक-वी का उत्पादन...    |    कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 41 हजार नए मामले, 541 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर : इस BJP सांसद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने क्या है मामला...    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 203 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, देखे जिलेवार आकड़े    |    बड़ी खबर : जेल में बैरक की दीवार ढही, 22 कैदी गंभीर रूप से घायल    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज एक्टिव मरीजो की संख्या हुई 2 हजार से कम, 243 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: पान मसाला कंपनी पर आयकर का शिकंजा, 400 करोड़ रुपए के काले कारोबार का हुआ खुलासा    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, आकडों में आज रायपुर से मिले सर्वाधिक    |    जज की संदिग्ध मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से एक हफ्ते में मांगा जवाब    |
 कोरियर कंपनी के दफ्तर से ले गए अज्ञात चोर लखों रुपए नगदी रकम सहित 70 हजार के सामान

कोरियर कंपनी के दफ्तर से ले गए अज्ञात चोर लखों रुपए नगदी रकम सहित 70 हजार के सामान

महासमुंद। सरायपाली से भंवरपुर रोड स्थित एक दफ्तर के पिछले हिस्से की खड़ी तोड़कर में अज्ञात चोरों ने प्रवेश किया और नगदी रकम सहित सामान चोरी कर ले गया। खिड़की की ऊंचाई करीब 15 फीट है। चोरों ने दफ्तर में घुसने के लिए लकड़ी की सिढ़ी का सहारा लिया और खिड़की तोड़कर अंदर प्रवेश किया। चोर इतना शातिर है कि सीसीटीवी कैमरे में तस्वीर कैद न हो इसलिए उसने दुकान के अंदर हेलमेट पहनकर प्रवेश किया। हालांकि चेहरा कैद नहीं हुआ, लेकिन हुलिया से पुलिस इसका जल्द ही पता लगा लेगी। इधर, चोरी की वारदात को देखकर पुलिस को शंका हो रही है कि चोरी की घटना को अंजाम देने में कहीं न कहीं दफ्तर के कर्मचारी का हाथ जरुर होगा, इसलिए दफ्तर के सभी कर्मचारियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। इसके अलावा हुलिया की पहचान में टीम जुट गई है।

थाना प्रभारी वीणा यादव ने बताया कि 25-26 जुलाई की दरम्यानी रात अज्ञात चोरों ने वार्ड क्रमांक 1 भंवरपुर मार्ग स्थित डेल्हीवेरी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के दफ्तार में अज्ञात चोरों ने पिछले की खिड़की से प्रवेश किया और आलमारी ने रखे नगदी रकम 1 लाख 92 हजार 552  रुपए, 01 लैपटॉप कीमत 30 हजार व 40 हजार 703 रुपए के 25  पार्सल कुल 2 लाख 63 हजार 255 रुपए चोरी हो गया है। कंपनी के मैनेजर दीपक कुमार भारद्वाज जब 26 जुलाई सुबह दफ्तर पहुंचे तो देखा कि आलमारी खुला हुआ था और सारे सामान बिखरे पड़े थे। आलमारी में रखे नगदी रुपए सहित लैपटॉप व पार्सल नहीं थे। इसके बाद उसने थाने में आकर इसकी जानकारी दी। सूचना मिलते ही टीम घटना स्थल पहुंची जहां एक सिढ़ी बरामद हुआ और खिड़की के टूट हुए सामान नीचे पड़े हुए थे। उन्होंने बताया कि दफ्तर प्रथम तल में है। जमीन से खिड़की की ऊंचाई लगभग 15 फीट है। 

आलमारी का ताला खोलकर निकाला नगदी, कर्मचारी पर संदेह 
थाना प्रभारी ने कहा कि चोरी की वारदात को देखकर शंका हो रही है कि इस घटना में दफ्तर का कोई न कोई कर्मचारी जरुर संलिप्त है, क्योंकि नगदी रकम आलमारी में था और दूसरे आलमारी में चॉबी थी। चोरों को मालूम था कि आलमारी की चॉबी है दूसरे आलमारी में रखी होती है, इसलिए बड़ी सावधानी से आलमारी की चॉबी के सहारे नगदी रकम वाले आलमारी को खोला और चोरी कर ले गए। पुलिस ने शक के आधार पर कंपनी के कर्मचारियों से पूछताछ कर रही है। हालांकि अभी तक इस मामले में कुछ सुराग नहीं मिले है, लेकिन जांच चल रही है। 

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुलिया के सहारे आरोपी तक पहुंचने का प्रयास 
अज्ञात चोरों ने दफ्तर में प्रवेश करने के लिए सामने का दरवाजा तोडऩे के बजाए पीछे से सिढ़ी के सहारे प्रवेश किया, क्योंकि सामने दफ्तरो में सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है। दफ्तर के अंदर भी सीसीटीवी कैमरा लगा है, लेकिन यहां आरोपी हेलमेट पहनकर घुसा था, ताकि पहचान न हो सकें। इधर, पुलिस भले ही चेहरे की पहचान नहीं कर पा रही है, लेकिन हुलिया के सहारे आरोपी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। आसपास क्षेत्रों में उस हुलिया के व्यक्ति को ढूंढ रही है।
 
जिले में बढ़ी चोरी की वारदात,  जुलाई तक 105 अपराध दर्ज 
जिले में नकबजनी व चोरी की वारदात एकदम से बढ़ गई है। जनवरी में 23, फरवरी में 12, मार्च में 23, अप्रैल में 9, मई में 13 जून में 25 व जुलाई में 33 प्रकरण दर्ज की गई है। पुलिस विभाग से मिले आंकड़े पर यदि नजर डाले तो जनवरी,  मार्च, जून व जुलाई में सर्वाधिक नकबजनी व चोरी की वारदात हुई है। लॉकडाउन में अप्रैल व मई में कम है। क्योंकि इस दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात थी। अनलॉक के साथ चोरी की वारदात भी बढ़ी है।  
डिलवरी ऑफिस से नकदी समेत ढाई लाख रुपए की चोरी

डिलवरी ऑफिस से नकदी समेत ढाई लाख रुपए की चोरी

महासमुंद: सरायपाली के भंवरपुर मार्ग स्थित एक डिलवरी ऑफिस से नकदी, लेपटॉप और करीब 40 हजार रुपए कीमत की पार्सल समेत 2 लाख 60 हजार रुपए की चोरी हो गई। घटना की जानकारी प्रबंधक को दूसरे दिन सुबह ऑफिस पहुुंचने पर हुई।

मामले की लिखित शिकायत उन्होंने सराईपाली थाने में की है। प्रबंधक दीपक कुमार भारद्वाज ने पुलिस को सौंपे शिकायत पत्र में बताया है कि विगत 25 जुलाई की रात उनके भंवरपुर मार्ग स्थित डिलवरी कंपनी के ऑफिस का ताला तोड़कर अज्ञात ने चोरी कर ली। पुलिस को बताया कि चोर ने ऑफिस के लॉकर से नकदी 192552 रुपए, एक लेनोवो कंपनी का लैपटाप कीमत करीब 30 हजार रुपए और 25 नग पार्सल कीमत 40703 रुपए की चोरी ऑफिस से हुई है। पुलिस ने मामले में अज्ञात के खिलाफ भादवि की धारा 457, 380 के तहत जुर्म दर्ज कर जांच मेंं लिया है।

माहभर में दूृसरी चोरी, पहले में चोरी का आरोपी बंदी
सराईपाली थाना क्षेत्र में माह भर के भीतर यह दूसरी चोरी का मामला है। इससे पूर्व विगत 16-17 जुलाई को सराईपाली शहर स्थित एक किराना दुकान से अज्ञात ने 80 हजार रुपए की चोरी कर ली थी। हालांकि मामले में पुलिस ने सप्ताहभर के भीतर ही आरोपी को गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया। इधर, शहर और ग्रामीण इलाके में बढ़ती चोरी की घटनाओं के बाद लोगों में दहशत है। पुलिस गश्ती को लेकर भी लोग सवाल उठा रहे हैं। जिले में घरों, दुकानों से चोरियां करने वालों के साथ ही बाइक चोर गिरोह भी सक्रिय है।

जिले में नवविवाहिता की मौत मामले में हुआ बड़ा खुलासा, इसने की थी दोस्तों के साथ मिल कर हत्या

जिले में नवविवाहिता की मौत मामले में हुआ बड़ा खुलासा, इसने की थी दोस्तों के साथ मिल कर हत्या

महासमुंद | बसना थाना क्षेत्र के ग्राम भालूपतेरा में नवविवाहिता की गला दबाकर हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पति ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर पत्नी की हत्या की थी। जिसमें उनके दोनों साथी फरार है जिनकी तलाश जारी है। पुलिस ने मामले में आरोपियों के खिलाफ 302, 201, 34 के तहत मामला दर्ज किया है।

ज्ञात हो कि बसना थाना क्षेत्र के ग्राम भालूपतेरा निवासी राधेश्याम नायक पिता सालिक राम (22) ने पत्नी सुशीला नायक (कैकेयी) की गला दबाकर हत्या कर दी थी और आत्महत्या बताने के लिए शव को घर में फांसी के फंदे पर टांग दिया था। इसमें आरोपी का सहयोग उनके दो दोस्त राजेश नायक (22) और दिलीप सोनी (33) ने किया था। घटना के बाद से दोनोंं आरोपी फरार है। थाना प्रभारी लेखराम ठाकुर ने बताया कि मामले में दोनों आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने बताया कि मृतका का मायका ग्राम अंकोरी बसना है। फरवरी 2020 में उसका विवाह भालूपतेरा के राधेश्याम नायक के साथ हुआ था। आरोपी का किसी महिला के साथ अवैध संबंध था। यह बात पत्नी जानती थी। इसके कारण दोनों में आएदिन विवाद होता था। इसीलिए उसने पत्नी को रास्ते से हटा दिया। घटना के दिन भी विवाद हुआ। घर में कोई नहीं था। पति ने पत्नी का गला दबाकर हत्या कर दी। अपराध छिपाने फांसी पर टांग दिया। परिजनों ने भी इसे आत्महत्या मान लिया। पीएम रिपोर्ट में चिकित्सक ने नवविवाहिता की मौत गला दबाने व श्वास गति रुकने से मृत्यु होना लेख किया जिसके बाद पुलिस ने राधेश्याम को हिरासत में लेकर पूछताछ की और जल्द ही पूरा मामला सामने आ गया।
 
बड़ी खबर: 1 करोड़ 60 लाख का गांजा जब्त, माल वाहक वाहन में धान भूसी में छुपाकर ले जा रहे थे गांजा

बड़ी खबर: 1 करोड़ 60 लाख का गांजा जब्त, माल वाहक वाहन में धान भूसी में छुपाकर ले जा रहे थे गांजा

महासमुंद। महासमुंद जिले की सिघोडा पुलिस ने 1 करोड 60 लाख रुपए के 8 च्ंिटल गांजे के साथ एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।  आरोपी माल वाहक गाड़ी में धान भूसी, कनकी के बोरियों के पीछे छिपाकर गांजा की तस्करी कर रहे थे। सिघोडा पुलिस ने ग्राम खरखरी के पास पकड़ा है आरोपी गांजा को ओडिशा से महाराष्ट्र लेकर जा रहे थे।

 
मिली जानकारी के अनुसार सिंघोड़ा पुलिस ने गांजा तस्करी करने की सूचना पर 23 जुलाई को छत्तीसगढ़ ओडिशा अन्तर्राज्यीय चेक पोस्ट रेहटीखोल थाना सिंघोडा में, ओडिशा की ओर से आने वाले वाहनों की चेकिंग के दौरान ओडिशा की ओर से आ रही एमएच पासिंग आयशर वाहन क्रमांक 1110 ट्रक वाहन पुलिस को देखकर भागने के दौरान शुभम साहू उम्र 27 वर्ष नागपुर निवासी को गिरफ्तार कर  8 च्ंिटल गांजा, एक मालवाहक वाहन , दो नग मोबाइल, 3000 रुपए नगद जब्त कर  नारकोटिक एक्ट के तहत कार्रवाई की है।
 पीएम रिपोर्ट में हुआ खुलासा: फांसी लगाकर नहीं नवविवाहिता के पति ने गला दबाकर किया हत्या

पीएम रिपोर्ट में हुआ खुलासा: फांसी लगाकर नहीं नवविवाहिता के पति ने गला दबाकर किया हत्या


महासमुंद। नवविवाहिता की हत्या करने का मामला सामने आया है। इसकी हत्या और कोई नहीं ब्लकि उसके पति ने की है। इसका खुलासा पीएम रिपोर्ट व मर्ग जांच में हुआ है। पीएम रिपोर्ट के आधार पर जब पुलिस ने पूछताछ की तो भी हत्या करने का मामला सामने आया।इसके बाद पुलिस ने आरोपी पति को हिरासत में ले लिया। अपराध के संबंध में फिलहाल अभी पूछताछ जारी है। वहीं पुलिस ने नवविवाहिता के पति पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। घटना बसना थाना क्षेत्र के ग्राम भालूपतेरा का है। बताया जा रहा है कि पकडने जाने के डर से आरोपी ने पत्नी की गला दबाकर हत्या कर उसे फांसी पर लटका दिया था कि लोग इसे आत्महत्या समझे, लेकिन मर्ग जांच व पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हुआ। थाना प्रभारी लेखराम ठाकुर ने बताया कि ग्राम भालूपतेरा बसना निवासी राधेश्याम नायक पिता सालिक राम नायक (22) ने अपनी पत्नी सुशीला नायक (केकैयी) की गला दबाकर हत्या की है। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। थाना प्रभारी ने बताया कि मृतका का मायका ग्राम अकोरी बसना है। फरवरी 2020 में उसका विवाह भालूपतेरा के 22 वर्षीय राधेश्याम नायक के साथ हुआ था।

आरोपी का दूसरी महिला के साथ अवैध संबंध, इसलिए हटाया रास्ते से
पुलिस किे अनुसार प्रारंभिक पूछताछ के दौरान पता चला कि आरोपी का किसी महिला के साथ अवैध संबंध था। इस बात को उसकी पत्नी यानी मृतका जानती थी। इसी बात को लेकर आए दिन दोनों के बीच झंझट होता था। वहीं आरोपी शादी के बाद गर्भ नहीं ठहरने को लेकर आए भी विवाद करता था। आपसी व घरेलू कलह के चलते आरोपी ने उसे रास्ते से हटा दिया। घटना के दिन भी दोनों के बीच इसी बातों को लेकर झगड़ा हो रहा था। घर में कोई नहीं थी। इसका फायदा उठाते हुए आरोपी ने अपनी पत्नी का गला दबाकर हत्या कर दिया। इसके बाद वह अपराध को छुपाने के लिए फांसी के फंदे में लटका दिया और घर वालों को फांसी लगाकर आत्महत्या करना बताया, क्यों कि सभी जानते थे कि इन दोनों के बीच संबंध ठीक नहीं थे। परिजनों ने भी इसे आत्महत्या मान लिया था। बता दें कि मृतका के दाहिने हाथ के कलाई में कट का निशान था, जो वारदात के समय अपने आप को बचाने के दौरान आया है।

जानिए पीएम रिपोर्ट में चिकित्सक ने ये लिखा
पीएम रिपोर्ट में चिकित्सक ने नवविवाहिता की मौत गला दबाने व श्वास गति रुकने से मृत्यु होना लेख किया। उसके बाद जांच करते हुए मोहित बंजारा, कुमारी एकता नायक, मोन्टू दास, किशन सोनवानी एवं मृतिका के पति राधेश्याम नायक से पूछताछ किया गया तो पता चला कि मृतिका व आरोपी राधेश्याम नायक का आपसी, घरेलू व परिवारिक विवाद चल रहा था। इससे मृतिका परेशान थी। इस बात की जानकारी होते ही आरोपी पति हिरासत में लिया गया।

मृतका के जेठ ने थाने में दी थी सूचना
सुशीला नायक की फांसी लगाकर मौत होने की सूचना उसके बड़े ससुर का लड़का मोहित बंजार सरपंच के साथ 13 जुलाई शाम पांच बजे थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया था। सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम करने के बाद शव का दूसरे दिन यानी 14 जुलाई को नायाब तहसीलदार बसना की उपस्थिति में पीएम कराया गया था। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया था।
 जिला चिकित्सक पर दुर्व्यवहार का आरोप, अस्पताल के सामने युवकों ने की नोरबाजी

जिला चिकित्सक पर दुर्व्यवहार का आरोप, अस्पताल के सामने युवकों ने की नोरबाजी

महासमुंद। जिला अस्पताल में मरीजों की असुविधाओं को लेकर पहले से ही लोगों में खासी नाराजगी है, लेकिन अब चिकित्सक द्वारा दुर्व्यवहार करने लगे है। एक ऐसा ही मामला सामने आया है।

बताया जा रहा है कि अस्पताल में पदस्थ एक चिकित्सक किसी के साथ भी दुव्र्यहार करते है। यहां तक वे गाली गलौज तक उतर आते हैं। इसी के विरोध में समिति किे सदस्यों ने शुक्रवार को जिला अस्पताल के सामने नारेबाजी कर चिकित्सक को हटाने की मांग किया और सीएचएमओ एनके मंडले को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद समिति किे सदस्यों ने चिकित्सक की कलेक्टर से शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग कर ज्ञापन सौंपा है। 

इस संबंध में सीएचएमओ एनके मंडपे ने बताया कि चिकित्सक विपिन बिहारी अग्रवाल के खिलाफ गाली गलौज व दुव्र्यहार का ज्ञापन मिला है। कार्रवाई के लिए संचालक को भेजा रहा है। वहीं चिकित्सक को कारण बताओं नोटिस भी जारी किया गया है। संचालक की ओर से जैसा आदेश आएगा कार्रवाई की जाएगी। 

बता दे कि शहर की महामाया रक्तदान सेवा समिति के पदाधिकारियों और सदस्यों ने शुक्रवार को कलेक्टर व सीएचएमओ को ज्ञापन सौंपा है। उन्होंने ज्ञापन में कहा है कि जिला अस्पताल में पदस्थ चिकित्सक विपिनबिहारी अग्रवाल ने समिति अध्यक्ष से फोन में दुव्र्यहार करते हुए गाली गलौच किया है। समिति की मांग है कि जब तक चिकित्सक की ओर से खेद प्रकट नहीं किया जाएगा तब तक समिति अस्पताल में रक्तदान नहीं करेगी। उक्त चिकित्सक को हटाने की मांग भी समिति ने की है।

इसके अलावा अस्पताल में व्याप्त समस्याओं की शिकायत भी कलेक्टर से की है। जिसमें उन्होंने अस्पताल में चिकित्सकों के समय पर उपस्थित नहीं होना, मरीजोंं के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करने सहित अन्य समस्याओं के संबंध में ध्यानार्कषण कराया है। ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रुप से समिति के अध्यक्ष रवि साहू सहित अन्य लोग शामिल थे।
 
 
बोरियों के नीचे छिपाकर ले जा रहा था 8 क्विंटल गांजा, गिरफ्तार

बोरियों के नीचे छिपाकर ले जा रहा था 8 क्विंटल गांजा, गिरफ्तार

महासमुंद: ट्रैक्टर में कनकी और भूसी की बोरियों के बीच ओड़िशा से गांजा छिपाकर आ रहे एक युवक को पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान पकड़ लिया. पुलिस ने ट्रैक्टर से करीब 8 क्विंटल गांजा जब्त कर एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की. सरायपाली एसडीओपी कार्यालय में मामले की जानकारी देते हुए एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया कि गुरुवार को जिले की सीमा से लगे ओड़िशा सीमा अंतर्राज्यीय चेकपोस्ट रेहटीखोल के पास सिंघोड़ा थाने की टीम ओड़िशा की ओर से आने वाले वाहनों की चेकिंग कर रही थी।

इस दौरान ओड़िशा की ओर से आ रहा महाराष्ट्र पासिंग आयशर 1110 ट्रैक्टर क्रमांक एम एच 46 एफ 1882 को भी चेकिंग के लिए रोकने कहा गया लेकिन चालक रोकने की बजाए ट्रैक्टर को सरायपाली की ओर लेकर भाग गया जिसे सिंघोड़ा पुलिस और हाइवे पेट्रोलिंग टीम ने एनएच 53 में ग्राम छुईपाली के पास घेराबंदी कर पकड़ा. पुलिस टीम ने जब वाहन की तलाशी ली तो धान भूसी, कनकी बोरियों के नीचे 27 प्लास्टिक बोरियों में कुल 160 पैकेट गांजा भरा मिला. पुलिस ने गांजा और ट्रैक्टर ट्राली जब्त कर आरोपी के खिलाफ नारकोटिक एक्ट 20 बी के तहत कार्रवाई की. पुलिस ने बताया कि आरोपी शुभम साहू पिता रूपचन्द्र (27) निवासी प्लाट नंबर 69 गोधानी रोड जिंगाबाई तकली गायत्री नगर सचिन लेआउट थाना मनकापुर जिला नागपुर हॉल मुकाम कांति रोड उपलबाड़ी चुड़ा कम्पनी के पास थाना कपिल नगर जिला नागपुर महाराष्ट्र का है।

आरोपी गांजा लेने के लिए यहां किसान बनकर आया था. जो गांजा को कनकी और भूसी की बोरियों के बीच छिपाकर महाराष्ट्र ले जाने का प्रयास कर रहा था लेकिन पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया. पुलिस ने आरोपी के पास से एक करोड़ 60 लाख रुपए का गांजा, 5 लाख रुपए कीमत का ट्रैक्टर और 2 नग मोबाइल और 3000 रुपए नकदी कुल 1 करोड़ 6519000 रुपए जब्त किया है।
 

 युवती ने की पहाड़ के ऊपर फांसी लगाकर आत्महत्या, मर्ग कायम कर जांच में जुटी पुलिस

युवती ने की पहाड़ के ऊपर फांसी लगाकर आत्महत्या, मर्ग कायम कर जांच में जुटी पुलिस

महासमुंद। खल्लारी थाना क्षेत्र के ग्राम लभराकला की एक युवती ने सोनई रूपई पहाड़ी के ऊपर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया है। 

थाना से मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीणों की सूचना पर टीम सोनई रूपई पहाड़ी के ऊपर जायजा लेने पहुंची तो उन्हें लभराकला गांव की राधिका खडिय़ा पिता खिलावन खडिय़ा (27) की लाश पेड़ पर लटकते मिली। पुलिस ने शव को उतारकर पीएम के लिए भिजवा दिया। पीएम होने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। पूछताछ के दौरान पुलिस को अभी युवती की आत्महत्या के बारे में पता नहीं चला है।
 पिकअप गाड़ी में नारियल्र बुच की रस्सियों के नीचे मिला एक करोड़ 40 लाख का गांजा

पिकअप गाड़ी में नारियल्र बुच की रस्सियों के नीचे मिला एक करोड़ 40 लाख का गांजा

महासमुंद। बागबाहरा पुलिस ने मंगलवार को एक पिकअप गाड़ी से 1.40 करोड़ रुपए कीमत 7 क्विंटल गांजा के साथ बिहार के दो युवक को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दोनों युवक बिहार के रहने वाले हैं। ये दोनों झारखंड पासिंग की गाड़ी में नारियल बूच की रस्सी के बंडलों के नीचे गांजा छुपाकर ले जा रहे थे, जिसे पिथौरा चौक के पास पकड़ा गया । बता दें कि कोमाखान पुलिस ने भी एक दिन पहले 8 क्विंटल 1.60 करोड़ रुपए का गांजा के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया था। अनलॉक के बाद गांजा की तस्करी बढ़ गई है। आए दिन पुलिस तस्करों को गिरफ्तार कर रही है, इसके बावजूद तस्करों के हौसले बुलंद है। पुलिस के लिए यह बड़ी चुनौती बन गई है कि ओडिशा से गांजा की तस्करी कैसे रोके। उक्त मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल ने बताया कि गांजा तस्करी के आरोप में ग्राम भगवतपुर थानाचांदी जिला भोजपुर बिहार निवासी छोटेलाल यादव पिता रामबचन यादव (28) एवं ग्राम कुसुम्ही पोस्ट जमोड़ी थाना तरारी जिला भोजपुर बिहार निवासी रविन्द्र तिवारी पिता भगवान तिवारी (52) को गिरफ्तार किया है। ये दोनों आरा बिहार गांजा लेकर जा रहे थे।

पिकअप में गांजा लेने बिहार से आए थे ओडिशा
जानकारी ने अनुसार गांजा तस्कर 17 जुलाई को जिला आरा से पिकअप गाड़ी क्रमांक जेएच 10 बीजी 5116 को खाली लेकर रांची, टाटानगर, भुवनेश्वर, कटक, पदमपुर होते हुए जिला गजपति ओडिशा 19 जुलाई को पहुंचे थे। यहां पहुंचने के बाद तस्करों ने पूर्व में जान पहचान के व्यक्ति को अपनी गाड़ी में नारियल बूच की रस्सियों के बंडलों को भरकर उसे गांजा लाने के लिए दिया। तस्कर गांव में ही रुके रहे है। दूसरे दिन यानी 20 जुलाई सुबह दलाल से गांजा लेकर तस्कर रुट बदलकर खरियारोड, कोमाखन होते हुए बागबाहरा के रास्ते बिहार जाने के लिए निकले थे। 20 तारीख की शाम साढ़े पांच बजे जैसे हीबागबाहरा पिथौरा चौक पहुंचे, उसी समय पुलिस ने धर दबोचा।

पहले ट्रेन व बाइक से कर चुके है तस्करी
एसपी ने बताया कि तस्कर पहले से ट्रेन व बाइक में तस्करी को अंजाम दे चुके हैं। 10 से 20 किलो पीट्?ठू बैग में गांजा लेकर बिहार गए है, इसलिए इनकी पहचान ओडिशा के कुछ दलालो से है। जब आरोपी गाड़ी लेकर ग्राम गजपित आया और नारियल बूच की रस्सी भरकर गांजी भरने के लिए गाड़ी को ओडिशा के एक व्यक्ति को दिया था। गाड़ी आने के पूर्व ये लोग गांव में ही इंतजार कर रहे थे।

23 बोरियों में भरा था गांजा
मुखिबर से सूचना मिली थी कि एक पिकअप गाड़ी में गांजा लेकर ओडिशा से बागबाहरा की ओर आ रहा है। सूचना पर टीम ने पिथौरा चौक के पास घेराबंदी कर गाड़ी को रोककर पूछताछ किया। पिकअप में सवार दोनों ने बताया कि ओडिशा से नारियल बूच की रस्सी लेकर आरा बिहार जाना बताया। इस बात को लेकर पुलिस को शंका हुई और गाड़ी को चैक किया तो, देखा कि नारियल बूच की रस्सी थी। टीम ने रस्सी को हटाकर देखा तो कुछ बोरियां दब हुई मिली। बोरियों को बाहर निकला, तो कुल 23 बोरियों में 70 पैकेट करीब 700 किलोगांजा मिला। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर गांजा जब्त किया गया ।

तस्करी पर रख रही टीम नजर
गांजा तस्करी के बढ़ते अपराधों पर एसपी ने कहा कि तस्करों पर नजर रखनें मुखिबरों को अलर्ट कर दिया गया है। बार्डर पर भी मुखिबर व टीम तैनात है। कभी-कभी तस्कर दूसरे रास्ते से प्रवेश कर छग के अंदर आ जाते है, लेकिन इसकी जानकारी मुखबिर से मिल ही जाती है और किसी न किसी थाना प्रभारी के द्वारा कार्रवाई की जाती है।

गांजा की तस्करी जड़ से खत्म करना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती
ओडिशा से गांजा की तस्करी छग सहित मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, बिहार, राजस्थान, झारखंड, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व गुजरात के बड़े व छोटे-छोटे शहरों में होती है। तस्कर गांजा खरीदने ओडिशा आते है, जबकि यहां की दूरी 15 से 2000 किलोमीटर है, इसके बावजूद तस्कर जान जोखिम में डालकर तस्करी करते हैं। पुलिस की लगातार कार्रवाई से पकड़े जाने के बाद भी तस्करों के बीच जरा सा भी भय नहीं है। वे बेखौफ होकर तस्करी कर रहे हैं। इधर, गांजा की तस्करी रोकने के लिए पुलिस भर्सक प्रयास कर रही है, लेकिन तस्कर रुक नहीं रहे हैं। आए दिन नए- नए पैतरे अजमा कर तस्करी को अंजाम दे रहे हैं। तस्करों की तस्करी पर रोक लगाना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है। इस संबंध में एसपी ने कहा कि तस्करों को रोकने के लिए भर्सक प्रयास किया जा रहा है, इसलिए प्रतिदिन गांजा की खेप पकड़ी जा रही है।
 खाना परोसने के नाम पर पति और सास-ससुर ने की बहू की पिटाई, मामला दर्ज

खाना परोसने के नाम पर पति और सास-ससुर ने की बहू की पिटाई, मामला दर्ज

महासमुंद। सरायपाली के ग्राम भीखापाली में खाना परोसने के नाम पर एक महिला की उसके पति, ससुर व सास ने पिटाई कर दी। पुलिस ने प्रार्थी की रिपोर्ट पर आरोपियों के खिलाफ  अपराध दर्ज कर लिया है। थाना से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम भीखापाली निवासी अनिताओगरे पिता राजेन्द्र घर में थी। रात 9 बजे उसके पति राजेंद्र ओगरे सरायपाली से काम करके घर आए। ना खाने के लिए पति को खाना परोसी तो खाना नहीं खाऊंगा बोलके झगड़ा करने लगा। मायके छोडऩे की बात कहीं तो नाराज होकर उसके पति राजेन्द्र आगरे मारपीट कर घर से चला गया। उसके बाद महिला की सास हुनरबाई और ससुर बाबूलाल आए और वे भी झगड़ करते हुए मारपीट व गाली गलौज करने लगे।
जिले में फिर पकड़ाया 1.40 करोड़ रुपए का गांजा, दो तस्कर गिरफ्तार

जिले में फिर पकड़ाया 1.40 करोड़ रुपए का गांजा, दो तस्कर गिरफ्तार

महासमुंद। ओडि़शा से जिले के रास्ते तस्कर गांजे को कभी वाहन के गुप्त चेंबर में, सिंटेक्स टंकी में, पशु आहार में तो कभी सब्जियों के बीच गांजा की तस्करी करते पकड़े गए हैं। मंगलवार को फिर एक बार आरोपियों द्वारा नारियल बुच की रस्सियों के बंडल के बीच छिपाकर तस्करी कर बिहार जा रहे थे कि पिथौरा चौक पर पुलिस के हत्थे चढ़ गये। आरोपियों के पास से सात सौ किलो गांजा बरामद किया गया। जिसकी कीमत एक करोड़ 40 लाख है।


कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल ने बताया कि मंगलवार को पिथौरा चौक बागबाहरा में चेकिंग चल रही थी इसी बीच महिंद्रा पिकअप क्रमांक जे एच 01 जी 5116 तेज रफ्तार से ओडि़शा की ओर से आ रही थी जिसे रोका गया। वाहन में दो व्यक्ति सवार थे। जब वाहन की तलाशी ली गई तो पीछे तिरपाल के नीचे नारियल के बुच की रस्सियों के बंडल भरा हुआ था उसके बीच में भूरे रंग के 70 पैकेट मिले जिसमें से कुल 700 किलो गांजा पाया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी भगवतपुर थाना चांदी जिला भोजपुर बिहार निवासी छोटेलाल यादव (28) और कुसुम्ही पोस्ट जमोडी थाना तरारी जिला भोजपुर बिहार निवासी रविंद्र तिवारी (52) ने बताया कि वह ओडि़शा से गांजा लेकर बिहार जा रहे थे।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इससे पहले भी आरोपी द्वारा छोटी मात्रा में ट्रेन के माध्यम से गांजा की तस्करी कर चुके हैं हौसला बढऩे पर इन्होंने अधिक फायदे के लालच में इतनी बड़ी मात्रा में गांजा तस्करी की। पुलिस ने वाहन सहित 6 हजार रूपये नकदी और दो नग मोबाइल आरोपियों से जब्त किया। संपूर्ण कार्रवाई पुलिस अधीक्षक दिव्यांग कुमार पटेल के मार्गदर्शन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुलकर साहू, एसडीओ बागबाहरा लितेश सिंह के निर्देशन में थाना प्रभारी कोमाखान निरीक्षक सिद्धेश्वरप्रताप सिंह, स्वराज त्रिपाठी, ललित पटेल, एकलव्य बैस,मेहत्तर साहू ,हरीश साहू, मुकेश बेहरा ,भूपेंद्र चंद्राकर द्वारा की गई।

बड़ी खबर : पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 1 करोड़ 70 लाख का गांजा सहित 5 पकड़ाए

बड़ी खबर : पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 1 करोड़ 70 लाख का गांजा सहित 5 पकड़ाए

महासमुंद। छत्तीसगढ़ में गांजे की तस्करी थमने का नाम नहीं ले रही है। महासमुंद पुलिस ने पिकअप में 08 क्विंटल गांजा की तस्करी करते 04 अन्तर्राज्यीय तस्कर को गिरफ्तार किया है। एसपी महासमुन्द दिव्यांग पटेल के निर्देश पर लगातार कार्रवाई चल रही है। इसी बीच एक पिकअप क्रमांक MH 18 BG 5458 तेज रफ्तार से ओडिशा की ओर से आ रही थी, जिसे चेकिंग पाईन्ट एन.एच.-353 फाॅरेस्ट नाका टेमरी पर रोका गया। वाहन में वाहन चालक सवार था, जिनसे अपना नाम संजय सामल ग्राम सनगना पोस्ट जयचन्द्रपुर थाना मरसागई जिला केन्द्रापाडा, ओडिशा का रहने वाले बताया। यह वाहन ओडिसा से महाराष्ट्र की ओर जा रही थी, महाराष्ट्र जाने के संबंध में पूछताछ करने पर गोलमोल जवाब देने लगा। थाना कोमाखान की टीम को शक होने पर वाहन की तलाशी ली गयी, तब वाहन के पीछे डाले में बोरियों में पता गोभी व आलू भरा हुआ मिला, जिसके आधार पर वाहन की तलाशी ली गई।
वाहन में पत्ता गोभी एवं आलू की बोरिया भरी हुई थी, जिसके नीचे प्लास्टिक की 15 बोरियों में मादक पदार्थ गांजा भरा हुआ था, प्रत्येक बोरी में 16-16 पैकेट कुल 240 पैकेट और वाहन के डाला में पत्ता गोभी व आलू की बोरियों के नीचे चेम्बर बना हुआ था, चेम्बर में छिपा कर रखे 110 पैकेट मादक पदार्थ गांजा मिला।
आरोपियों को मौके पर गिरफ्तार कर उनके कब्जे से कुल 350 पैकेट में कुल 07 क्विटंल अवैध मादक पदार्थ गांजा जप्त कर उनके खिलाफ 20बी NDPS एक्ट के तहत थाना कोमाखान में कार्यवाही की जा रही है।
आरोपी संजय सामल से पुलिस ने पूछताछ करने पर बताया कि एक अन्य लग्जरी कार में भी कुछ लोगों की तरफ से गांजा परिवहन करने की जानकारी मिली, जिसे पुलिस द्वारा आरोपी बताये अनुसार संदिग्ध वाहन की चेकिंग में लगी तभी खरियार रोड ओडिशा की ओर से एक हुंडई वर्ना क्रमांक OD 02 AG 5266 आई, जिसे रोक कर पुलिस द्वारा पूछताछ कर तलाशी ली गई। कार में 03 व्यक्ति बैठे मिले, जिसमें से 03 व्यक्ति से नाम-पता पूछने पर अपना नाम चिन्मय साहनी ग्राम छन्दा पोस्ट गतानई थाना मरसागई केन्द्रापाडा ओडिशा, जी शंकर ग्राम मोचीसाही, दिगपाहंडी, थाना दिगपाहंडी जिला गंजाम, ओडिशा और निलेश बैरागी ग्राम पोस्ट फागडे बालापुर थाना बालापुर जिला धुले, महाराष्ट्र कमलानी मार्केट झोपडपट्टी मकान नंबर 112 नागपुर थाना कमलानी मार्केट नागपुर, महाराष्ट्र के रहने वाला बताया।
वाहन की तलाशी पुलिस द्वारा ली गई तब वाहन के पीछे डिक्की में 50 पैकेट खाखी रंग के टेप से लिपटा हुआ गांजा मिला। उक्त कार से 50 पैकेट में प्रत्येक पैकेट 02 किलो ग्राम वजनी कुल 100 किलो ग्राम अवैध मादक पदार्थ गांजा आरोपियों जप्त कर को मौके पर गिरफ्तार कर उनके खिलाफ 20बी एनडीपीएस एक्ट के तहत थाना कोमाखान में कार्रवाई की जा रही है। यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भुरकर साहू और अनुविभागीय अधिकारी (पु) बागबाहरा लितेश सिंह के निर्देशन में थाना प्रभारी कोमाखान व अन्य स्टाप के द्वारा की गई।
दोनो वाहनों से कुल 400 पैकेट गांजा 8 क्विंटल, पिकअप क्रमांक MH 18 BG 5458, कार क्रमांक OD 02 AG 5266 और नकदी रकम 8800 रूपये बरामद किये गए हैं।
 

हाथी दांत से बनी कलाकृति बेचते एक गिरफ्तार

हाथी दांत से बनी कलाकृति बेचते एक गिरफ्तार

महासमुंद: हाथी के दांत से बनी कलाकृतियों को बेचते हुए पुलिस ने आज सुबह एक युवक को पकड़ा। आरोपी से करीब 7 नग कलाकृति पुलिस ने जब्त की है। एसडीओपी नारद सूर्यवंशी ने बताया कि खरियार रोड वार्ड 10 निवासी सोनू मित्तल पिता स्व.नरेश अग्रवाल हाल मुकाम वार्ड 25 श्रीराम कालोनी आज सुबह शहर में हाथी दांत से निर्मित विभिन्न तरह की कलाकृतियां बेचने ग्राहक तलाश रहा था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने युवक को घेराबंदी कर कंट्रोल रुम स्थित शनिदेव मंंदिर के पास पकड़ लिया। आरोपी से कुल 7 नग हाथी दांत से निर्मित कलाकृति बरामद की है। जिसमें चार कलाकृति एक ही डिजाइन की जबकि तीन अलग-अलग डिजाइन की हैं। उन्होने बताया कि आरोपी युवक के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 39, 51 के तहत जुर्म दर्ज कर जांच में लिया है। आरोपी को न्यायालय में पेश किया जाएगा। हाथी दांत से निर्मित कलाकृति की पहचान कराने के लिए वन विभाग के सुपुर्द किया गया है। परीक्षण उपरांत ही मामले में अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

दुर्घटना : बस ने बाइक को मारी ठोकर, 2 की मौत, 1 घायल

दुर्घटना : बस ने बाइक को मारी ठोकर, 2 की मौत, 1 घायल

महासमुंद । जिले के तुमगांव तिराहा के पास हादसे में दो बाइक सवार की मौत हो गई है। यहां एक बस से बाइक को टक्कर मार दी, जिससे बाइक सवार दो लोगों की मौत हो गई, वहीं एक की हालत गंभीर बताई जा रही है। गंभीर युवक को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, रायल ट्रेवल्स की यात्री बस सरायपाली से रायपुर आ रही थी। तभी तुमगांव तिराहा के पास बाइक सवारों को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी, की दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं          मोटरसाइकल चकनाचूर हो गई है। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने बस चालक को गिरफ्तार कर लिया।
 

आबकारी विभाग ने अवैध मदिरा विक्रय पर की बड़ी कार्रवाई

आबकारी विभाग ने अवैध मदिरा विक्रय पर की बड़ी कार्रवाई

महासमुन्द । आबकारी विभाग के सहायक आयुक्त के मार्गदर्शन में 15 जुलाई को गश्त के दौरान अवैध मदिरा विक्रय पर कड़ी कार्रवाई की गई। आबकारी दल ने ग्राम उमरदा थाना महासमुंद में रेल्वे क्रॉसिंग के पास 2 आरोपियों लाल कुमार ध्रुव एवं भगवानी ध्रुव को अवैध मदिरा विक्रय करते हुए घेराबंदी कर पकड़ा गया। उनके कब्जे से 5 जरकीन में भरी 19 लीटर हाथभट्ठी महुआ मदिरा जप्त किया गया। इस प्र्रकार आरोपियों से कुल 44.0 लीटर महुआ मदिरा जप्त कर आरोपियों को आबकारी अधिनियम की धारा 34 (2), 59 (क) के तहत न्यायालय से रिमांड लेकर जेल भेजा गया। उक्त कार्रवाई में आबकारी उपनिरीक्षक सविता रानी मेश्राम, मधुकर श्याम हरित, तथा कौशल किशोर सोनी, मुख्य आरक्षक यज्ञशरण शुक्ला, आबकारी आरक्षक लेखराम देशमुख, इरफान अली एवं वाहन चालक गांधीराम ठाकुर की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

दो सरकारी जगहों से फिर अज्ञात चोरों ने चुराए सममर्सिबल पंप व केबल वायर

दो सरकारी जगहों से फिर अज्ञात चोरों ने चुराए सममर्सिबल पंप व केबल वायर

महासमुंद: केबल वायर व सममर्सिल पंप की चोरी पर लगाम लगाना पुलिस के लिए मुश्किल साबित हो रहा है। आए दिन कहीं न कहीं पंप व केबल चोरी की रिपोर्ट थानों में दर्ज हो रही है। सोमवार को फिर तुमगांव व सिंघोड़ा क्षेत्र में पंप व केबल वायर चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। चोरों को पता नहीं चल पाया है, इसलिए पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज किया है। बता दें कि ये दोनों चोरी इस बार खेत से नहीं सरकारी परिसर से हुई है। एक कृषि महाविद्यालय अनुसंधान केंद्र कांपा के फार्म हाउस व दूसरा प्राथमिक स्कूल के परिसर से हुआ है।


पुलिस अज्ञात चोरों की पतासाजी में जुट गई है। पंप व केबल चोरी जिले में बढ़ गई है। चोरों के इस वारदात से किसान परेशान हो गए हैं। आरोपियों की धरपकड़ नहीं होने की वजह से उनके हौसले बुलंद हो गए है, इसलिए लगातार क्षेत्र में घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर साहू का कहना है कि चोरी की घटनाएं हो रही है। इसे लेकर सभी थाना व चौकी क्षेत्र के बीट प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि निगरानी बदमाशों की पतासाजी कर चोरी के संबंध में पूछताछ कर कार्रवाई करें।


पंप का 400 मीटर केबल वायर चोरी
तुमगांव थाना क्षेत्र के ग्राम कांपा स्थित कृषि महाविघालय एवं अनुसंधान केन्द्र के फार्म हाउस सुपरवाइजर रमेश कुमार टेम्भरे ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि कोई अज्ञात चोर सोमवार को फार्म हाउस में प्रवेश कर वहां लगे 3 एचपी एवं 5 एचपी का केबल जो लकड़ी के खम्भे के सहारे ट्रान्सफार्मर से मोटर तक जोड़ा गया था उसे चोरी कर लिया गया है। वह करीब 400 मीटर कीमत 12 हजार रुपए का है।


प्राथिमक शाला परिसर से
सिंघोड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम घाटकछार के प्राथमिक शाला के प्रधानपाठक प्रकाश कुमार मिश्रा ने पुलिस को बताया कि स्कूल परिसर में पानी व्यवस्था के लिए एक हैण्डपमंप लगा था, जिसे 8 जून को कोई निकालकर चोरी कर लिया है। 8 जुलाई को जब साढ़े दस बजे स्कूल आए तो चोरी होने की जानकारी हुई। अज्ञातचोरों ने एक सबमर्सिबल पंप एवं केबल वायर करीब 100 मीटर कीमती 12000 रूपये को चोरी कर लिया है।

पुलिस को मिली बड़ी सफलता: पानी टंकी की आड़ में हो रही गांजा तस्करी, पुलिस ने बरामद किया 52 लाख का गांजा

पुलिस को मिली बड़ी सफलता: पानी टंकी की आड़ में हो रही गांजा तस्करी, पुलिस ने बरामद किया 52 लाख का गांजा

महासमुंद। पुलिस का शिकंजा मादक पदार्थ के तस्करों पर कसना शुरू हो गया है। अवैध शराब व मादक पदार्थों की बरामदगी के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी तारतम्य में आज महासमुंद पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने एक ट्रक से लगभग 2.6 क्विंटल गांजा बरामद किया है। जिसकी कीमत लगभग 52 लाख के आसपास है।


ये पूरा मामला महासमुंद जिले के कोमाखान क्षेत्र का है। कोमाखान पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार टेमरी नाका पर ट्रक को बरामद किया है। तस्कर ट्रक में पानी की टंकी में गांजा रखकर तस्करी कर रहे थे। पुलिस को देखकर आरोपी ट्रक छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने ट्रक को बरामद कर लिया है और वाहन मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई कर रही है।

घर का दरवाजा पीट रहे प्रेमी को युवकों ने मारा चाकू, यह देख घर की दूसरी मंजिल से कूदी प्रेमिका

घर का दरवाजा पीट रहे प्रेमी को युवकों ने मारा चाकू, यह देख घर की दूसरी मंजिल से कूदी प्रेमिका

महासमुंद: नशे की हालत में प्रेमिका के घर का दरवाजा पीट रहे युवक की हत्या कर दी गई. यह देख प्रेमिका घर की दूसरी मंजिल से कूद गई. पुलिस ने बाइक सवार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जानकारी के अनुसार श्रीराम नगर कॉलोनी निवासी रोहित यादव का एक युवती से प्रेम प्रसंग था. रोहित शुक्रवार रात करीब 10 बजे युवती के घर के बाहर हंगामा कर दरवाजा पीट रहा था. साथ ही युवती को बाहर भेजने के लिए शोर मचा रहा था।.यह देखकर आसपास के लोगों व परिजनों ने उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माना. इसी बीच बाइक सवार तीन युवक पहुंचे और उसका हाथ पकड़कर खींचने लगे. आरोप है कि इसके बाद उन्होंने रोहित से मारपीट शुरू कर दी. एक युवक ने चाकू निकाल लिया और रोहित के सीने में मार दिया. चाकू लगते ही रोहित सड़क पर गिर गया. यह देख बाइक सवार युवक भाग निकले. बाद परिजन रोहित को लेकर अस्पताल पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. रोहित को लहूलुहान हालत में देख उसकी प्रेमिका ने घर की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी जिससे उसका पैर फ्रैक्चर हो गया. उसे एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने आरोपियों जग्गू साहू, सोनू प्रजापति और किशन को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है. 
अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह का पर्दाफाश: सिक्के से रुपए झरन कराने का झांसा देकर ठगी, 5 आरोपी गिरफ्तार

अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह का पर्दाफाश: सिक्के से रुपए झरन कराने का झांसा देकर ठगी, 5 आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद। महासमुंद जिले में पुलिस ने एक अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह चमत्कारी सिक्क़े की मदद से लोगों को अमीर बनाने का प्रलोभन तथा हनुमान छाप सिक्के से रुपए झरन कराने का झांसा दिया। शिकायत खल्लारी थाने में की गई थी। जिसके के बाद पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 


पुलिस ने मामले की शिकायत पर आरोपियों के कब्जे से दो नग ईस्ट इंडिया कंपनी के हनुमान छाप सिक्के, एक कार, दो मोटर साइकिल और पांच मोबाइल जब्त किया गया है। इम्लीभाठा महासमुंद निवासी इरफानखान 30 वर्ष पिता रफिउल्ला खान की शिकायत दर्ज करायी थी। एसपी दिब्ययांग पटेल ने पूरे मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि चमत्कारी सिक्के से ठगने की शिकायत मिली थी। इस आधार पर साइबर सेल और खल्लारी पुलिस की एक टीम गठित की गई। इसके बाद पुलिस टीम ने खल्लारी के पचेड़ा के पास आरोपियों को धर दबोचा। आरोपी हनुमान छाप सिक्का में चावल व ब्लेड चिपकने का झांसा देते थे तथा सिक्के से रुपए झरन का लालच दिया था।  पकड़े गए आरोपियों के नाम सुरेशन दरिया, विष्णु चंद्राकार, टीकम सिंह ठाकुर, जितेंद्र पाल, वेदराम गायकवाड़ हैं. सभी आरोपी ओडि़शा, रायपुर, महासमुंद और तेंदुकोना के रहने वाले हैं। 
छतीसगढ़ के इस जिले मे समस्त कोंचिग सेंटर व ट्यूशन क्लासेस के संचालन की मिली अनुमति

छतीसगढ़ के इस जिले मे समस्त कोंचिग सेंटर व ट्यूशन क्लासेस के संचालन की मिली अनुमति

महासमुंद: कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी ने वर्तमान में जिले में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार कमी को दृष्टिगत रखते हुए जिले के समस्त कोचिंग सेंटर व ट्यूशन क्लासेस को कोरोना गाइडलाइन के पालन की शर्तों पर संचालन की अनुमति दी है।

जारी आदेश के अनुसार स्कूल व कॉलेज विद्यार्थियों के लिए बंद रहेंगे, किंतु राज्य शासन के निर्देशानुसार ओपन स्कूल/कॉलेजों में बाह्य व आंतरिक मूल्यांकन की उत्तर-पुस्तिकाएं जमा करने संबंधित विद्यार्थी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए जा सकेंगे। संबंधित प्राचार्य सुचारू व्यवस्था के लिए उत्तरदायी होंगे। छात्रावास केवल परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को आवास की अनुमति होगी। शासन से अनुमति प्राप्त समस्त परीक्षाओं व ऑनलाईन शिक्षा को छोड़कर अन्य सभी समस्त शैक्षणिक गतिविधियां बंद रहेगी, किन्तु कोचिंग क्लासेस उनकी बैठक क्षमता के 50 प्रतिशत तथा एक समय में अधिकतम 50 विद्यार्थियों की सीमा के साथ प्रचलित समय से रात 8:00 बजे तक खोले जा सकेंगे।

सभी कोचिंग क्लासेस से मास्क धारण करना व फिजिकल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन कराना कोचिंग संचालक के लिए अनिवार्य होगा। फिजिकल डिस्टेसिंग का उल्लंघन करने या भींड़-भाड़ की स्थिति निर्मित होने पर अथवा राज्य शासन/इस कार्यालय की ओर से जारी आदेशों का उल्लंघन पाए जाने पर नियमानुसार अर्थदंड अधिरोपित करने व 30 दिवस के लिए संबंधित संस्थान को सील करने की कार्रवाई की जाएगी।

बड़ी सफलता: कार से भारी मात्रा में करोड़ों की चांदी की तस्करी करते उत्तर प्रदेश के दो व्यक्ति गिरफ्तार

बड़ी सफलता: कार से भारी मात्रा में करोड़ों की चांदी की तस्करी करते उत्तर प्रदेश के दो व्यक्ति गिरफ्तार

महासमुंद। छत्तीसगढ़ के महासमुंद पुलिस को बड़ी चेकिंग के दौरान कामयाबी मिली है जिले के सिंघोडा थाना क्षेत्र के अंतर्गत अन्तर्राजीय चेक पोस्ट रेहटीखोल (छ0ग0 ओडि़सा बॉर्डर) के पास पुलिस पार्टी द्वारा संदिग्ध वाहनो की चेकिंग की जा रही थी तभी बरगढ़ ओडिसा की तरफ से एक सफेद रंग की एम. जी. हेक्टर कार क्रमांक एमपी 07 सीजे 5069 तेज रफ्तार से छत्तीसगढ़ की ओर आ रही थी। उक्त वाहन को चेक पोस्ट के पास रोककर पूछताछ किया गया कार में दो व्यक्ति बैठे मिले।  


पूछताछ करने ड्राईवर के बगल सीट पर बैठे व्यक्ति ने अपना नाम गौरव शल्या पिता सत्येन्द्र शल्या उम्र 22 वर्ष निवासी पुरानी गल्ला मण्डी फतेहाबाद तहसील/थाना फतेहाबाद जिला आगरा, उत्तर प्रदेश एवं वाहन चालक ने अपना नाम संजय खान पिता नूर मोहम्मद उम्र 41 वर्ष सा. पठान मोहल्ला फतेहाबाद तहसील/थाना फतेहाबाद जिला आगरा, उत्तर प्रदेश रहने वाले है। जिनसे पूछताछ करने पर सही तरीके से जवाब नही देने व जवाब गोलमोल व संतोषप्रद नही पाये जाने पर वाहन की तलाशी ली गई तो पीछे डिक्की में बना एक विशेष चेम्बर दिखाई दिया जो सामान्य रूप से वाहनो नही होता है। इससे पुलिस टीम को संदेह हुआ और उस चेम्बर को खुलवाकर चेक किया गया तो चेम्बर में अलग अलग कच्ची चांदी की विभिन्न आकार के सिल्ली 69 नग, चांदी की ज्वेलरी एवं नगदी रकम मिला।

जिसे निकालकर चेक करने पर कच्चा चांदी की सिल्ली अलग-अलग आकार एवं वजन का 13 नग बडा, मध्यम आकार का 33 नग, छोटा आकार का 23 नग वजनी करीबन 235 किलो 600 ग्राम कीमत 1,70,45,000/-  रूपये, चांदी के आभूषण (पायल, ब्रेसलेट) 03 अलग-अलग प्लास्टिक के पाउच में भरा हुआ वजनी करीबन 08 किलोग्राम कीमती करीबन 5,60,000/- रूपये एवं 5,78,900/- रूपये नगदी रकम रखे मिले उक्त मशरूका के संबंध में पूछताछ करने पर वाहन में सवार गौरव शल्या पिता सत्येन्द्र शल्या उम्र 22 वर्ष सा. मकान न0ं 657 पुरानी गल्ला मण्डी फतेहाबाद तहसील/थाना फतेहाबाद जिला आगरा, उत्तर प्रदेश एवं वाहन चालक संजय खान पिता नूर मोहम्मद उम्र 41 वर्ष सा. पठान मोहल्ला फतेहाबाद तहसील/थाना फतेहाबाद जिला आगरा, उत्तर प्रदेश रहने वाले है।

गौरव शल्या से चांदी का कच्चा सिल्ली व चांदी के ज्वेलरी के संबंध में पूछताछ करने बताया कि फतेहाबाद से 100 किलो ग्राम चांदी के आभूषण (पायल, ब्रेसलेट) लेकर बिक्री करने उडीसा जाना व उडीसा में बी.जू. ज्वेलरी शॉप सम्बलपुर ओडिशा में चांदी के आभूषण (पायल, ब्रेसलेट) ज्वेलरी को बिक्री कर बिक्री के कुछ रकम व चांदी की कच्चा सिल्ली को लेकर आना बताया। पुलिस की टीम द्वारा गौरव शल्या से चांदी की कच्चा सिल्ली, नगदी रकम व चांदी की ज्वेलरी के संबंध में दस्तावेज दिखाने को कहा गया तो वह कोई भी वैधानिक दस्तावेज पेश नही कर पाया। चांदी की कच्चा सिल्ली, चांदी की ज्वेलरी व नगदी रकम के संबंध में कोई दस्तावेज नहीं होना से नगदी 5,78,900 रूपये, चांदी की आभूषण (पायल, ब्रेसलेट) वजनी करीबन 08 किलो ग्राम कीमत 5,60,000/- रूपये व 13 नग बडा, मध्यम आकार का 33 नग, छोटा आकार का 23 नग वजनी करीबन 235 किलो 600 ग्राम कीमत 1,70,45,000/-  रूपये,  नगदी रकम 5,78,900/- रूपये एवं वाहन एम.जी. हेक्टर कार क्र0 रूक्क 07 ष्टछ्व 5069 सफेद रंग की कीमत 15,00,000 रूपये को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया। आरोपियों में गौरव शल्या पिता सत्येन्द्र शल्या उम्र 22 वर्ष सा. मकान न0ं 657 पुरानी गल्ला मण्डी फतेहाबाद तहसील/थाना फतेहाबाद जिला आगरा, उत्तर प्रदेश। संजय खान पिता नूर मोहम्मद उम्र 41 वर्ष सा. पठान मोहल्ला फतेहाबाद तहसील/थाना फतेहाबाद जिला आगरा, उत्तर प्रदेश। जप्त सामग्री में13 नग बडा, मध्यम आकार का 33 नग, छोटा आकार का 23 नग वजनी करीबन 235 किलो 600 ग्राम कीमति करीबन 1,70,45,000/-  रूपये। चांदी की आभूषण (पायल, ब्रेसलेट) वजनी करीबन 08 किलो ग्राम कीमत 5,60,000/- रूपये। नगदी रकम 5,78,900 रूपये, तथा एमजी हेक्टेयर कार को जब्त किया गया है। 
 शराब के नशे में पति अपनी पत्नी को जंगल में बंधक बनाकर करता रहा चार दिनों तक पिटाई

शराब के नशे में पति अपनी पत्नी को जंगल में बंधक बनाकर करता रहा चार दिनों तक पिटाई

महासमुंद। पत्नी को बंधक बनाकर चार दिन तक जंगल में पिटाई करने का मामाल सामने आया है । इस बात का खुलासा तब हुआ जब पत्नी अपने पति के चुंगुल से भागकर थाने पहुंची । उसने बताया कि शराब के नशे में उसकी बेदम पिटाई की है । मामला कोतवाली थाना क्षेत्र का है । महिला नयापारा वार्ड क्रमांक 8 की निवासी है । उसके पति ने जंगल में उसे बंधक बनाकर रखा था । पुलिस ने इस मामले आरोपी पति के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है ।

थाने से मिली जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक 6 नयापारा निवासी दुर्गेश्वरी ठाकुर 6 साल पहले वार्ड सूरज ठाकुर से लव मैरिज की थी । इनके दो बच्चे है । एक लड़का पांच व दूसरा 2 साल का है । वह शराब के नशे में आए दिन लड़ाई झगड़ा करता है, जिससे तंग आकर तीन महीने पूर्व अपने मायके वार्ड क्रमांक 8 नयापारा अपनी मां के यहा चली गई थी । 23 जून सुबह करीब चार बजे उसका पति सूरज ठाकुर घर आया और पत्नी दुर्गेश्वरी ठाकुर को घर चलने को कहां, जब उसे मना किया तो, सूरज ठाकुर ने उसे जबर्दस्ती हाथ पकड़ कर दलदली जंगल की ओर ले गया । वहां हाथ पैर बांधकर बेरहमी से पिटाई करता रहा । कहता था कि यदि तुम मेरे साथ  नहीं रहोगी तो तुम्हारे परिवार को जान से मार देने की धमकी देता था । शनिवार सुबह 10 बजे वह अपनी पत्नी को घर के पास एक खंडहर में और वहां बंधक बनाकर रखा था । उसकी पत्नी मौका पाकर वहां भाग निकली और सीधे अपनी मां के पास पहुंची । उक्त घटना की जानकारी देते हुए दोनों थाने आए और  रिपोर्ट दर्ज कराई ।  

रोज-रोज के झगड़े से तंग आ गई थी युवती 
बता दें कि दुर्गेश्वरी का पति आए दिन शराब पीकर उसे लडाई झगड़ा करता रहता था । इसके बावजूद दुर्गेश्वरी अपने पति के आदत को सहन करती थी और उसे शराब छोडऩे को कहती थी, लेकिन आरोपी शराब छोडऩे के बजाए पीकर घर आता है पत्नी व बच्चे की पिटाई करता । छ साल के बाद सहन का बांध टूट गया और दुर्गेश्वरी अपने दोनों बच्चों को लेकर मां के यहां रहने लगी । बीच-बीच में उसका पति उसे लेने के लिए मायके भी आता और गाली गलौज कर चला जाता ।  23 तारीख को वह जबर्दस्ती करके उसे जंगल ले गया था ।
अवैध नकदी परिवहन करते 2 गिरफ्तार, 37 लाख बरामद

अवैध नकदी परिवहन करते 2 गिरफ्तार, 37 लाख बरामद

पिथौरा, महासमुंद पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अवैध नकदी परिवहन करते दो संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लिया है। इनके पास से लगभग 37 लाख रूपए नकदी बरामद हुए। कार्रवाई अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट रेहटीखोन में हुई है।
जानकारी के अनुसार जिले की सिघोड़ा थाना पुलिस ने एक कार से 37 लाख रुपए नकदी अवैध परिवहन करते हुए पकड़ा है। इसके साथ ही दो संदिग्ध व्यक्ति भी पकड़ाया है। दोनों कार के पीछे चेंबर में नकदी छिपाकर रखे थे। जिसका कोई वैधानिक कागजात नहीं दिखा पाए।
पुलिस ने बताया कि अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट रेहटीखोन में संदिग्ध वाहनों पर नजर रखकर चेकिंग किया जा रहा था। इसी दौरान एक कार चेक पोस्ट से गुजर रही थी, जो संदिग्ध लगा तो उसे रोका गया। वाहन में पीताम्बर शिवाजी माने पिता शिवाजी अन्ना माने (46) निवासी अम्बई नगर हुपरी कोल्हापुर बैठा हुआ था। वाहन अविनाश सिंगारे पिता श्यामराव सिंगारे (36) चला रहा था। पूछताछ करने पर उनसे संषोषप्रद जवाब नहीं मिलने से वाहन की तलाशी ली गई। वाहन की तलाशी लेने पर सीट के पीछे बने चेम्बर में रखा हुआ रूपयों का बण्डल मिला। जिसमें कुल 37 लाख 28 हजार 900 रुपए भरा था।
संदिग्ध पीताम्बर शिवाजी एवं अविनाश सिंगारे से रुपए के संबंध में पूछताछ किया गया। लेकिन दोनों कोई सही जवाब नहीं दे पाए और न कोई वैधानिक कागजात दिखा पाए। इसके बाद थाना सिंघोड़ा की टीम ने नकदी और कार धारा 102 के तहत जब्त कर सुरक्षार्थ में ले लिया गया।
 

पुलिस को मिली बड़ी सफलता: ढाई करोड़ से ज्यादा का गांजा जप्त...

पुलिस को मिली बड़ी सफलता: ढाई करोड़ से ज्यादा का गांजा जप्त...

महासमुंद। महासमुंद पुलिस ने गांजा तस्करी पर बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने 2 करोड़ 60 लाख के 13 क्विंटल गांजा जब्त की है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश और बिहार के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ 20 (ख) एनडीपीएस की कार्रवाई की गई।


एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि गुरुवार रात को कोमाखान पुलिस राष्ट्रीय राज्य मार्ग 353 पर टेमरी नाका के पास वाहनों की चेकिंग कर रही थी। उसी दौरान ओड़िशा पासिंग की एक वाहन ओडी 02 यू 7795 आयशर ओड़िशा खरियार रोड़ से पहुंची, जिसमें गोभी भरा हुआ था। गोभी से भरे ट्रक को देख कोमाखान पुलिस को शंका हुई और पुलिस से वाहन की तलाशी ली, उसमें प्लास्टिक के 55 बोरों में मादक पदार्थ गांजा भरा हुआ मिला। जिसे जब्त किया गया।


आरोपियों ने यह भी जानकारी दी कि वे उत्तर प्रदेश से कार में ओड़िशा पहुंचे थे। जिस कार में वह आये थे उसमें सवार व्यक्ति पुलिस की गिरफ्त से बाहर है, जिसके बारे में पुलिस जानकारी एकत्रित कर रही है। कोमाखान पुलिस ने अतिश कुमार सिंह पिता उमाशंकर (23) निवासी बलिया उत्तर प्रदेश व हरिलाल पिता रघुनाथ राम (35) कोचईकोट जिला गोपालगंज बिहार को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

एक लाख 26 हजार का गांजा पकड़ाया, आरोपी गिरफ्तार

एक लाख 26 हजार का गांजा पकड़ाया, आरोपी गिरफ्तार

महासमुद। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  मेघा टेम्भूरकर तथा अनुविभागीय अधिकारी पुलिस पुपलेश कुमार पात्रे, के निर्देशन में बुधवार को साँकरा थाना प्रभारी  निरीक्षक सूर्यकांत भारद्वाज व हमराह स्टाफ के साँकरा रोड़ में, परसवानी चौक पर ओवर ब्रीज के नीचे, उड़ीसा तरफ से आ रहे संदिग्ध वाहनों की आकस्मिक चेकिंग की जा रही थी, कि चेकिंग दरम्यान पिपरोद रोड तरफ से एक सफेद रंग की मोटरसाइकिल एक्टिवा क्र. सीजी 10 एनए 1571 में 02 व्यक्ति सवार होकर आए, जिसे ईशारा करके रोका गया,चालक का नाम पता पूछने परअपना नाम (1) अरुण कुमार पिता रामप्रसाद बोले उम्र 45 वर्ष साकिन वार्ड नं 36 पंजाबी गुरुद्वारा ,दयालबंद चौक सिटी कोतवाली बिलासपुर(2) गेंदराम पिता संतराम गड़ेवाल उम्र 60 वर्ष साकिन दुर्गा चौक सिटी कोतवाली बिलासपुर (छ ग) का रहना बताये तथा उनके पीठ पर लदे पि_ू बेग की तलाशी लेने पर 02 बेग में 5-5 पैकेट में 10 किलोग्राम अवैध मादक पदार्थ गांजा कीमती करीबन 1,00,000 रुपये का पाया गया, नारकोटिक्स एक्ट का अपराध घटित कर ना पाए जाने से थाना साँकरा में अपराध क्रमांक 99/2021 धारा 20(क्च) एनडीपीएस एक्ट कायम कर विधिवत  10 किलो गांजा कीमती करीबन 1,00,000 रुपये व एक पुरानी इस्तेमाली मोटरसाइकिल एक्टिवा स्कूटी कीमती 25,000 रुपये,व एक पुरानी इस्तेमाली की पेड मोबाईल 1000 रुपये का  जुमला कीमती 1,26,000 को जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर लिया गया । सम्पूर्ण कार्यवाही निरीक्षक- सूर्यकांत भारद्वाज,आरक्षक- वीरेंद्र साहू, रमाकांत साहू, जितेंद्र बाघ, राजेश प्रधान, गौरव नवरंगे का विशेष योगदान रहा।
+ Load More