प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..    |    कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा    |    लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज    |    बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान    |    मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत    |    बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट    |    ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर    |
Previous123456789...274275Next
प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..

प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..

रायपुर। प्रदेश में रविवार को को 1273 कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान हुई है। आज सबसे अधिक मरीजों की पहचान राजधानी रायपुर से हुई है। रायपुर में आज 153 कोरोना पाजिटिव की पहचान हुई है। साथ ही दुर्ग से 90, राजनांदगांव से 87, बालोद से 52, बेमेतरा से 29, कबीरधाम से 32, धमतरी से 33, बलौदा बाजार से 49, महासमुंद से 52, गरियाबंद से 32, बिलासपुर से 118, रायगढ़ से 101, कोरबा से 74, जांजगीर चांपा से 89, मुंगेली से 16, सरगुजा से 38, कोरिया से 43, सूरजपुर से 42, बलरामपुर से 33, जशपुर से 23, बस्तर से 19, कोंडागांव से 27, दंतेवाड़ा से 10, सुकमा से 2, कांकेर से 25, नारायणपुर से 1, बीजापुर से 1 और अन्य राज्य से 2 मरीज मिले हैं। साथ ही अस्पताल से 102 और होम आइसोलेशन से 1361 मरीज डिस्चार्ज हुए है। रात 8 बजे जारी मेडिकल बुलेटिन अनुसार आज कोरोना और अन्य बीमारियों से ग्रसित 7 मरीजों की मौत हुई है। वहीं पूर्व में हुई 3 मौत की जानकारी आज दी गई है। छत्तीसगढ़ में एक्टिव मरीजों की संख्या 20641 है। 

 कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा

कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा

दिल्ली। आयकर विभाग ने तमिलनाडु में एक आईटी सेज डेवलपर, उसके पूर्व निदेशक और स्टेनलेस स्टील आपूर्तिकर्ता पर छापेमारी में 450 करोड़ रुपए की अघोषित आय का पता लगाया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने रविवार को यह जानकारी दी।

सीबीडीटी ने कहा कि यह छापेमारी चेन्नई, मुंबई, हैदराबाद और कुड्डालोर में 16 परिसरों पर 27 नवंबर को की गई और अबतक छापेमारी में 450 करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित आय का पता चला है। सूचना प्रौद्योगिकी विशेष आर्थिक क्षेत्र (आईटी सेज) के पूर्व निदेशक के मामले में कर विभाग को पिछले तीन साल के दौरान जुटाए गए 100 करोड़ रुपए के प्रमाण मिले हैं। यह राशि पूर्व निदेशक और उसके परिवार के सदस्यों ने जुटाई है।

बयान में कहा गया है कि आईटी सेज डेवलपर ने एक निर्माणाधीन परियोजना के लिए जाली कार्य प्रगति पर खर्च का दावा किया है। इसके अलावा कंपनी ने एक परिचालन वाली परियोजना के लिए बोगस 30 करोड़ रुपए के पूंजीगत खर्च का दावा किया है। साथ ही इस इकाई ने 20 करोड़ रुपये के गलत ब्याज खर्च को भी दिखाया है।
 लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार

लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार

भोपाल। क ओर जहां मध्यप्रदेश में लव जिहाद बिल को लेकर हंगामा मचा हुआ है। इसी बीच शहडोल पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई की है। जबरन उर्दू और अरबी सीखने के लिए पिटाई करने वाले मुस्लिम पति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

ताजा मामला मध्य प्रदेश के शहडोल जिले के धनपुरी निवासी ज्योति दहिया ने 2 साल पहल मोहम्मद इरशाद खान से शादी की थी। शादी के कुछ दिनों तक सब कुछ सही चलता रहा। उसके बाद परिवार के लोग मुस्लिम धर्म के तौर-तरीके सीखने के लिए दबाव बनाने लगे। सबसे ज्यादा दबाव उर्दू और अरबी सीखने को लेकर किया गया।

पीड़ित, उर्दू और अरबी सीखने के राजी नही थी नहीं थी। उसके मना करने पर पति उसके साथ मारपीट करने लगता था। रोज की मारपीट से परेशान होकर वह ससुराल से भाग गई। उसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने तुरंत आरोपी पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

ये है मामला-
जानकारी अनुसार प्रताड़ना से तंग आकर ज्योति दहिया 27 नवंबर को अपने मां-बाप के पास पहुची। उसके बाद ज्योति दहिया ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की। ज्योति का कहना है कि उसका पति उससे लगातार कहता था कि अब तुम मुस्लिम रीति-रिवाज सीख लो और साथ ही उर्दू पढ़ना लिखना भी सीख लो। लेकिन मैं सीख नहीं पाई, इस बात पर पति कभी मुझे मार भी दिया करता था। मैं हिंदू धर्म में ही रहना चाहती हूं।

पुलिस ने किया गिरफ्तार-
पुलिस ने शिकायत के आधार पर ज्योति के पति इरशाद खान को मध्य प्रदेश धर्म स्वतंत्रता अधिनियम 1968 एवं प्रताड़ना के मामले में गिरफ्तार कर लिया है।

लव जिहाद बिल की चर्चा के बीच बीते दिनों एक ऐसा ही मामला भोपाल में भी आया था। जहां मुस्लिम युवक ने नाम बदल कर युवती से शादी की थी। साथ ही अपने घर में हिंदु देवी-देवाताओं की तस्वीर देखने से परिवार को मना करता था। उसके बाद महिला ने गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से मिल कर शिकायत की थी। गृह मंत्री ने उस मामले में पुलिस को जांच के आदेश दिए थे।
 बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

इज्जतनगर: एक युवती ने इज्जतनगर थाने में प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ मजहब छिपाकर शादी करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। शुक्रवार को इज्जतनगर क्षेत्र निवासी युवती ने सीओ नवाबगंज को बताया कि नवंबर, 2019 में एक युवक उसके संपर्क में आया। उसने खुद को युवती के समुदाय का बताकर मेलजोल बढ़ा लिया। कई बार संबंध भी बनाए। 
 


उसने पुलिस में शिकायत की बात कही तो मंदिर में ले जाकर शादी कर ली। तब से अब तक उसे पत्नी की तरह साथ रखा। वह गर्भवती हुई तो दवा खिलाकर गर्भ गिरवा दिया। युवती का आरोप है कि जब प्रेमी से शादी का पंजीकरण कराने की जिद की तो उसने खुद को दूसरे धर्म का बताया। सीओ के आदेश पर इज्जतनगर पुलिस ने आरोपी ताहिर हुसैन, उसकी मां, भाई पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
 बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान

बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान

लखनऊ। शनिवार दोपहर यूपी सरकार के नए कानून के आधार पर जिले में विवाह के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला देवरनियां थाने में दर्ज हुआ। यहां एक छात्रा के पिता ने उसके प्रेमी के खिलाफ धर्म परिवर्तन कर शादी का दबाव डालने का मामला दर्ज कराया है। प्रभारी एसएसपी ने इंस्पेक्टर को निर्देश दिए हैं कि प्राथमिकता से आरोपी की गिरफ्तारी की जाए।


देवरनिया के एक गांव निवासी व्यक्ति ने रिपोर्ट लिखाई है कि उनकी बेटी से पढ़ाई के दौरान गांव निवासी उवैस अहमद ने दोस्ती कर ली। अब वह बेटी पर धर्म परिवर्तन कर शादी करने का दबाव बना रहा है। उन्होंने कई बार उवैस को समझाने की कोशिश की पर वह नहीं माना। प्रभारी एसएसपी डॉ. संसार सिंह ने बताया कि शनिवार दोपहर ही सरकार ने उप्र विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम लागू किया है। शनिवार रात देवरनिया थाने में इसी कानून के तहत उवैस के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

 

 मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर

मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों का प्रदर्शन जारी है। आंदोलन कर रहे किसानों ने केंद्र के बातचीत के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर किसानों का मन बदलने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा है कि बीते दिनों हुए कृषि सुधारों से किसानों के लिए नई संभावनाओं को द्वार खुले हैं। किसानों को नए अधिकार और अवसर भी प्राप्त हुआ है। 

पीएम मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम `मन की बात` में देश की जनता को संबोधित करते हुए कहा, भारत में खेती और उससे जुड़ी चीजों के साथ नए आयाम जुड़ रहे हैं। बीतें दिनों हुए कृषि सुधारों ने किसानों के लिए नई संभावनाओं के द्वार भी खोले हैं।

विपक्ष पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, बरसों से किसानों की जो मांग थी, जिन मांगों को पूरा करने के लिए किसी न किसी समय में हर राजनीतिक दल ने उनसे वादा किया था। वो मांगे पूरी हुई हैं। काफी विचार विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी स्वरूप दिया है। 

उन्होंने कहा, इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए हैं बल्कि उन्हें नए अधिकार भी मिले हैं। नए अवसर भी मिले हैं। पीएम मोदी ने कहा, कानून में एक और बहुत बड़ी बात है, इस कानून में ये प्रावधान किया गया है कि क्षेत्र के एसडीएम को एक महीने के भीतर ही किसान की शिकायत का निपटारा करना होगा। उन्होंने महाराष्ट्र के एक किसान जितेंद्र भोइजी का जिक्र किया और बताया कि कैसे उन्होंने नए कानून का फायदा उठाकर अपना बकाया वसूल कर लिया।

`मन की बात` में प्रधानमंत्री मोदी ने कृषि की पढ़ाई कर रहे छात्रों से गांवों के किसानों को कृषि सुधारों और आधुनिक कृषि को लेकर जागरुक कर देश में हो रहे बदलाव का सहभागी बनने की अपील की। 

दूसरी तरफ, कृषि कानूनों को लेकर लगातार तीन दिनों से आंदोलनरत किसान रविवार को भी अपना प्रदर्शन जारी रखने को लेकर अडिग हैं। किसान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का यह प्रस्ताव मानने को तैयार नहीं हैं कि पहले वे शांतिपूर्वक बुराडी के निरंकारी मैदान में शिफ्ट हों तो सरकार दूसरे ही दिन उनसे बात करेगी। 

शनिवार को रात भर दिल्ली-हरियाणा को जोड़ने वाले सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षाबलों की तैनाती रही। किसानों ने कल ही स्पष्ट कर दिया था कि वो यहां से कहीं नहीं जाएंगे। आज एक बार फिर सिंघु बॉर्डर पर ही किसानों की बैठक शुरू हो गई है, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा हो रही है।
 बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत

बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत

मुरादाबाद। एक पिता ने अपने ही पुत्र को अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मार दी। जिसकी मौके पर ही मौत हो गई तथा पिता घटना के बाद फरार हो गया। यह घटना उत्तर प्रदेश के मझोला क्षेत्र की बताई गई है। पिता पेशे से गार्ड की नौकरी करता है। 

पुलिस अधीक्षक (नगर)ने यह जानकारी दी। मझोला क्षेत्र में हनुमान नगर निवासी सुरक्षा गार्ड वीरेंद्र कौशिक और उसके 23 वर्षीय पुत्र दुष्यंत के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। बात बढऩे पर वीरेन्द्र ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से बेटी को गोली मार दी। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

उन्होंने बताया कि वीरेन्द्र ने इसी वर्ष जनवरी में दुष्यंत की शादी सूर्य नगर निवासी दिव्या के साथ की थी। उन्होंने बताया कि दुष्यंत एक निजी अस्पताल में वार्ड ब्वॉय का काम करता था जबकि उसका पिता वीरेंद्र कौशिक गार्ड की नौकरी करता है। दुष्यंत की पत्नी दिव्या का आरोप है कि ससुर वीरेंद्र उस पर बुरी नजर रखता था और दो दिन पहले घर में अकेले पाकर उसने गलत हरकत की थी। पति के लौटने पर दिव्या ने जब आप बीती बताई तो इसी बात को लेकर परिवार में विवाद चल रहा था। 
 बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार

बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार

ग्वालियर। ईओडब्ल्यू की टीम ने नगर निगम के सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा को पांच लाख की रिश्वत लेते हुए धर दबोचा। रिश्वतखोर अफसर को साढ़े तीन बजे सिटी सेंटर में घूस लेते रंगे हाँथ पकड़ने के बाद हिरासत में लिया गया। हिरासत में लिए जाने के बाद आरोपित अफसर को विश्वविद्यालय ले जाया गया, जहां उनसे पूछताछ की गई।

ये है पूरा मामला-
शहर के थाटीपुर के सुरेश नगर पानी की टंकी के पास रहने वाले बिल्डर धर्मेंद्र भारद्वाज की सुरेश नगर में 19 हजार स्क्वॉयर फीट जमीन है। बिल्डर अपनी उस जमीन पर मल्टीप्लेक्स बनाना चाहते हैं। लेकिन इमारत पर दो माह पहले सिटी प्लानर ने बुलडोजर लगवा दिया था।

बुलडोजर लगवाए जाने के बाद टूटने के डर से बिल्डर ने सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा से बात की। इसके बाद सिटी प्लानर ने तुड़वाई रूकवाने के एवज में बिल्डर से 50 लाख रुपए की मांग की थी। बिल्डर ने कोरोना के चलते आर्थिक संकट बताया तो सिटी प्लानर ने 10 लाख रुपए पहले देने और बाकी की रकम बाद में देने की बात कही। 

बिल्डर के मुताबिक उसने सिटी प्लानर को दस लाख रुपये तत्काल दे दिए थे। इसके बाद फिर से सिटी प्लानर बाकी रकम के लिए उस पर दबाव बना रहा था। बाद में दोनों पक्षों में बातचीत के बाद सौदा 25 लाख रुपए में तय हो गया। इसी दौरान बिल्डर ने रुपए मांगने की शिकायत ईओडब्ल्यू में दर्ज करा दी थी। शनिवार दोपहर को रुपए देने के लिए बिल्डर पांच लाख रुपए लेकर एसपी ऑफिस बालाजी गार्डन के पास पहुंचे और वहीं सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा को बुलाया।

करीब साढ़े तीन बजे सिटी प्लानर वर्मा अपनी कार से वहां पहुंचे और कार में जैसे ही सिटी प्लानर ने बिल्डर से पांच लाख रुपये की रिश्वत ली उसी समय ईओडब्ल्यू ने उन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद आरोपी को विश्वविद्यालय थाने ले जाया गया जहां उनसे पूछताछ की गयी।

बताया जा रहा है कि पांच लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार हुए सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा के विनय नगर स्थित निवास पर भी ईओडब्ल्यू की टीम कार्रवाई करने पहुंच गई है। कार्यवाही में दस्तावेज खंगाले जाने की जानकारी मिली है। ऐसे में सम्भावना है कि अफसर की बेशुमार संपत्ति का भी खुलासा हो सकता है।
बड़ी खबर:  माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट

बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट

 मध्यप्रदेश | मध्यप्रदेश स्तिथ गुना के करोद गांव में माचिस न देने पर 2 युवकों ने डंडे से पीट-पीटकर कर 50 वर्ष व्यक्ति की हत्या कर दी। घटना के बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ 307 के तहत मामला दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है|


गुना के एएसपी टी.एस. बघेल ने बताया,”माचिस मांगने पर न मिलने से नाराज़ करोद गांव के 2 युवकों ने डंडे से 50 वर्ष वयक्ति की हत्या कर दी। दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज़ कर उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया है|
 ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर

ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर

हैदराबाद। असदुद्दीन ओवैसी के गढ़ में हो रहे नगर निगम चुनाव में भाजपा का झंडा फहराने के उद्देश्य से उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जमकर गरजे। शनिवार को रोड शो के दौरान उन्होंने तेलंगना राज्य की राजधानी में गर्माहट पैदा कर दी। रोड शो के दौरान उन्होंने हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से भाग्यनगर करने की बात भी जोरदार तरीके से उठाई। 

रोड शो के दौरान योगी ने हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से भाग्यनगर करने की बात की :
हैदराबाद के मलकाजगिरी मंडल में रोड शो के दौरान योगी ने कहा कि लोग मुझसे पूछते हैं कि क्या हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से भाग्यनगर किया जा सकता है तो मैं कहता हूं कि क्यों नहीं। 

रैली को संबोधित करते हुए योगी ने कहा, उप्र में फैजाबाद को अयोध्या और इलाहाबाद को प्रयागराज नाम दिया। उप्र में भाजपा के सत्ता में आने पर हमने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या और इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया। ऐसे में हैदराबाद का भी नाम बदलकर फिर से भाग्यनगर किया जा सकता है। 

एआइएमआइएम के लोग रहते हिंदुस्तान में हैं, लेकिन नाम से परहेज: योगी 
इस मौके पर योगी ने ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआइएमआइएम) के बिहार के विधायक अख्तारुल इमान द्वारा शपथ ग्रहण के दौरान हिंदुस्तान शब्द का प्रयोग न करने की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि ये लोग हिंदुस्तान में रहते हैं, लेकिन जब हिंदुस्तान के नाम पर शपथ लेने की बात आती है तो वे पीछे हट जाते हैं। एआइएमआइएम का यही असली चेहरा है। 

योगी ने कहा- टीआरएस और एआइएमआइएम के बीच अपवित्र गठजोड़ से हैदराबाद का विकास ठप -
योगी ने तेलंगाना के सत्तारूढ़ दल तेलंगाना राष्ट्रीय समिति (टीआरएस) पर हमला करते हुए कहा कि टीआरएस और एआइएमआइएम के बीच एक अपवित्र गठजोड़ बन गया है। इस गठजोड़ के कारण हैदराबाद का विकास ठप है। यहां के व्यापारी और नागरिक इन लोगों से परेशान हैं। सरकार और नगर निगम में बैठे लोगों को विकास और जनता की सुविधाओं से कोई लेना-देना नहीं है। 

नगर निगम चुनाव में भाजपा को प्रत्याशियों को जिताने की अपील करने के साथ उप्र के मुख्यमंत्री ने लोगों को मोदी सरकार की खास नीतियों से भी परिचित करया। 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकार हैदराबाद व तेलंगाना के लोगों को दिया जमीन खरीदने का मौका-योगी 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशन में गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 का सफाया कर हैदराबाद व तेलंगाना के लोगों को भी वहां जमीन खरीदने और वहां का नागरिक बनने का मौका दिया है। 

योगी ने कहा- मोदी के नेतृत्व में देश ने की बहुत तरक्की-
योगी ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में बीते छह साल में देश ने बहुत तरक्की की है। गरीबों को मुफ्त में शौचालय दिये जा रहे हैं। तीन करोड़ लोगों को मुफ्त में घर दिए गए हैं। आठ करोड़ लोगों को मुफ्त में गैस सिलिंडर दिए गए। कोरोना के कारण लॉकडाउन में मोदी सरकार ने गरीबों को मुफ्त राशन दिया है। हम आप लोगों से विकास के नाम पर वोट मांगने आए हैं।  

नगर निगम चुनाव के लिए पहली दिसंबर को मतदान होगा और वोटों की गिनती चार दिसंबर को होगी-
भाजपा अपने घोषणा पत्र के बूते आपके बीच मजबूती से मौजूद है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम में अच्छा शासन तंत्र कायम करने के लिए भाजपा को प्रचंड बहुमत से जिताने की जरूरत है। उल्लेखनीय है नगर निगम चुनाव के लिए पहली दिसंबर को मतदान होगा और वोटों की गिनती चार दिसंबर को होगी।
BIG BREAKING : कोरबा जिले में हुआ कोरोना विस्फोट, प्रदेश में आज कुल 1890 नए मरीजों की हुई पहचान, 13 मरीजों की हुई मौत

BIG BREAKING : कोरबा जिले में हुआ कोरोना विस्फोट, प्रदेश में आज कुल 1890 नए मरीजों की हुई पहचान, 13 मरीजों की हुई मौत

 रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 1890 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला कोरबा से सर्वाधिक 356 मरीज, दुर्ग से 117, राजनांदगांव से 78, बालोद से 64, बेमेतरा से 71, कबीरधाम से 27, रायपुर से 186, धमतरी से 50, बलौदा बाजार से 69, महासमुंद से 77, गरियाबंद से 33, बिलासपुर से 118, रायगढ़ से 124, जांजगीर-चांपा से 146, मुंगेली से 14, जीपीएम से 2, सरगुजा से 61, कोरिया से 52, सूरजपुर से 34, बलरामपुर से 14, जशपुर से 32, बस्तर से 30, कोंडागांव से 31, दंतेवाड़ा से 29, सुकमा से 2, कांकेर से 27, नारायणपुर से 1, बीजापुर से 42, अन्य राज्य से 3 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 2250 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ्य होने के उपरांत अपने घर लौटे है | राज्य में आज कुल 13 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 20978 है | 

किसान आंदोलन पर बोले अमित शाह- हर समस्या और मांग पर सरकार विचार करने को तैयार

किसान आंदोलन पर बोले अमित शाह- हर समस्या और मांग पर सरकार विचार करने को तैयार

दिल्ली, तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा है सरकार किसान की हर मांग और समस्या पर विचार करने के लिए तैयार है। अमित शाह ने किसानों को बातचीत करने का न्योता दिया है। सरकार ने कहा है कि अगर किसान जल्द बातचीत करना चाहते हैं तो फिर वे प्रदर्शन करने के लिए दी गई जगह पर शिफ्ट हों और फिर उसके अगले दिन सरकार उनसे चर्चा करेगी।
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ''मैं प्रदर्शन कर रहे किसानों से अपील करता हूं कि भारत सरकार बातचीत करने के लिए तैयार है। किसानों को कृषि मंत्री ने 3 दिसंबर को बातचीत करने के लिए बुलाया है। सरकार किसानों की मांगों और सभी समस्याओं पर विचार करने के लिए तैयार है।''
उन्होंने आगे कहा, ''कई स्थानों पर, किसान इस ठंड में अपने ट्रैक्टरों और ट्रोलियों के साथ रह रहे हैं। मैं उनसे अपील करता हूं कि दिल्ली पुलिस आपको बड़े मैदान में ले जाने के लिए तैयार है, कृपया वहां जाएं। आपको वहां कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति दी जाएगी।''


केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अगर किसान संघ 3 दिसंबर से पहले बातचीत करना चाहते हैं तो फिर मैं आश्वस्त करता हूं कि जैसे ही आप अपने प्रदर्शन को अनुमति दी गई वाली जगह पर शिफ्ट करते हैं, हमारी सरकार उसके अगले दिन ही आपकी चिंताओं को दूर करने के लिए बातचीत आयोजित करेगी।
गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में बनाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा समेत कई राज्यों के किसान विरोध कर रहे हैं। इसी कड़ी में दिल्ली चलो के तहत बड़ी संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर अब भी मौजूद हैं और आंदोलन के लिए पुलिस द्वारा निर्धारित स्थान बुराड़ी मैदान पर उन्हें लाए जाने के संबंध में अभी उनके नेताओं ने फैसला नहीं किया है। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में सिंघू बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर इस समय बड़ी संख्या में किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन (राजेवाल) के अध्यक्ष बलबीर सिंह राजेवाल ने फोन पर बताया, ''वर्तमान में, हम यहां (दिल्ली सीमा पर) हैं। हमने अभी भी बुराड़ी मैदान में जाने का फैसला नहीं किया है। आगे की कार्यवाही तय करने के लिए हम शाम को एक बैठक करेंगे।'' हालांकि भारतीय किसान यूनियन (एकता-उगराहां) के नेता शिंगरा सिंह ने शनिवार को कहा कि वे दिल्ली में बुराड़ी मैदान नहीं जायेंगे।
 

 Ola-Uber की मनमानी पर सरकार ने जड़ा ताला: अब नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया

Ola-Uber की मनमानी पर सरकार ने जड़ा ताला: अब नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया

राष्ट्रीय। ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियां पीक आवर्स के दौरान किराए में कई गुना बढ़ोतरी कर देती हैं। मगर अब सरकार ने इन कंपनियों के मनमानी पर ताला जड़ने की तैयारी कर ली है।

सरकार ने शुक्रवार को ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियों के ऊपर मांग बढ़ने पर किराए बढ़ाने की एक सीमा लगा दी है। यह कंपनियां अब मूल किराए के डेढ़ गुने से अधिक किराया नहीं वसूल सकेंगी।

एग्रीगेटर्स के लिए लाइसेंस अनिवार्य-
सरकार की नयी गाइडलाइंस के बाद ओला, उबर जैसे एग्रीगेटर्स के लिए लाइसेंस अनिवार्य हो गया है। केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइंस नोटिफाई की है। इसके अनुसार अब ड्राइवर को किराए की 80 प्रतिशत रकम मिलेगी। इसके बाद एग्रीगेटर 20 प्रतिशत से ज्यादा चार्ज नहीं कर सकेगा। इसमें बेस किराया 3 किलोमीटर का होगा।

एग्रीगेटर बेस किराए पर 50 प्रतिशत तक की रहेगी छूट-
नए नियमों के तहत एग्रीगेटर बेस किराए पर 50 प्रतिशत तक छूट दे सकता है। एग्रीगेटर मात्र 1.5 गुना सरचार्ज वसूल सकता है। ड्राइवर ट्रिप रद्द करता है तो किराए का 10 प्रतिशत देना होगा। केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी करते हुए ये स्पष्ट किया है कि राज्य सरकार एग्रीगेटर्स को लाइसेंस देंगी। राज्य सरकार द्वारा जारी लाइसेंस 5 साल के लिए मिलेगा। इससे पहले एग्रीगेटर की कोई परिभाषा नहीं थी।

नयी गाइडलाइंस में कहा गया है कि राज्य सरकारें केंद्र की गाइडलाइंस को अपना सकती हैं। इतना ही नहीं सरकार लाइसेंस के लिए सिक्योरिटी डिपॉजिट ले सकती हैं। इसमें ये भी स्पष्ट किया गया है कि गाड़ी चलाने के लिए ड्राइवर के लिए 2 साल का अनुभव अनिवार्य होगा।

कैब ड्राइवर को मिलेगा फायदा-
नए दिशानिर्देशों के मुताबिक, प्रत्येक सवारी (राइड) पर लागू किराए का कम से कम 80 प्रतिशत हिस्सा एग्रीगेटर के साथ जुड़े वाहन के चालक को मिलेगा। शेष हिस्सा एग्रीगेटर कंपनियां रख सकती हैं। मंत्रालय ने कहा कि जिन राज्यों में शहरी टैक्सी का किराया राज्य सरकार ने निर्धारित नहीं किया है, वहां किराया विनियमन के लिए 25-30 रुपये को मूल किराया माना जाएगा।
 
बड़ी खबर: मुख्यमंत्री के सचिव ने की आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल में कराया गया भर्ती

बड़ी खबर: मुख्यमंत्री के सचिव ने की आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल में कराया गया भर्ती

बैंगलोर। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के राजनीतिक सचिव ने खुदकुशी करने की कोशिश की है। मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव एनआर संतोष ने नींद की गोलियां खाई। फिलहाल उन्हें बंगलुरू के रमैया मेमोरियल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

इस घटना की खबर मिलने के बाद सीएम येदियुरप्पा अपने राजनीतिक सचिव से मिलने अस्पताल पहुंचे। सचिव से मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि संतोष ने ऐसा कदम क्यों उठाया इसके पीछे क्या कारण है यह पता नहीं है। मैं उनके परिवार वालों से बात करूंगा। फिलहाल एआर संतोष की स्थिति खतरे से बाहर है और चिंता की कोई बात नहीं है। 

खबरों के मुताबिक एनआर संतोष मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा करीबी हैं। एनआर संतोष ने राज्य में ऑपरेशन कमल में महत्वपूर्ण भमिका निभाई थी। इसी साल उनकी नियुक्ति सीएम के सचिव के तौर पर हुई थी।
 
BIG BREAKING : रायपुर में फटा कोरोना बम, प्रदेश में आज कुल 1879 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, 8 मरीजों की मौत

BIG BREAKING : रायपुर में फटा कोरोना बम, प्रदेश में आज कुल 1879 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, 8 मरीजों की मौत

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 1879 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से सर्वाधिक 226 मरीज, दुर्ग से 142, राजनांदगांव से 139, बालोद से 106, बेमेतरा से 37, कबीरधाम से 29, धमतरी से 50, बलौदा बाजार से 76, महासमुंद से 77, गरियाबंद से 22, बिलासपुर से 148, रायगढ़ से 165, कोरबा से 174, जांजगीर-चांपा से 111, मुंगेली से 19, जीपीएम से 8, सरगुजा से 89, कोरिया से 6, सूरजपुर से 52, बलरामपुर से 13, जशपुर से 37, बस्तर से 12, कोंडागांव से 42, दंतेवाड़ा से 40, सुकमा से 15, कांकेर से 24, नारायणपुर से 1, बीजापुर से 16, अन्य राज्य से 3 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 2090 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ्य होने के उपरांत अपने घर लौटे है | राज्य में आज कुल 8 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 21839 है | 

 PUBG LOVER के लिए खुशखबरी: PUBG में जल्द ही देखने को मिलेंगे कई बड़े बदलाव

PUBG LOVER के लिए खुशखबरी: PUBG में जल्द ही देखने को मिलेंगे कई बड़े बदलाव

PUBG के चाहने वालों का इतंजार जल्द खत्म होने वाला है। PUBG के दोबारा वापसी की घोषणा के बाद से ही लगातार नए-नए अपडेट सामने आ रहे हैं। खबरों के अनुसार दिसंबर के पहले हफ्ते में गेम रिलॉन्च किया जा सकता है। PUBG में कई बड़े बदलाव भी देखने मिलेंगे, जो पहले गेम में मौजूद नहीं थे।
 
दिसंबर के पहले सप्ताह में किया जा सकता है लॉन्च- 
PUBG Mobile India (पबजी) को दिसंबर के पहले सप्ताह में लॉन्च किया जा सकता है और इसकी तैयारियां पूरी हो चुकी है। गेम डेवलपर्स भारत सरकार से इसके अप्रूवल मिलने का इंतजार कर रहे थे। हालांकि PUBG Corporation की तरफ से गेम को भारत में दोबारा रिलीज करने की निश्चित तारीख के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। हालांकि यह भी जानकारी सामने आई है कि PUBG को सरकार की तरफ से कोई अनुमति नहीं दी गई है।
 
भारत सरकार ने इस साल सितंबर में यूजर्स डेटा की सिक्योरिटी और प्राइवेसी पर चिंता जताते हुए 118 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया था। इसमें पॉप्युलर गेम PUBG Mobile भी शामिल था। पबजी को चाइनीज कंपनी Tencent से पार्टनरशिप के चलते बैन किया गया था। अब कंपनी भारत के लिए अलग से गेम शुरू कर रही है।
 
 
प्री-रजिस्ट्रेशन खुले-
लॉन्चिंग से पहले पबजी मोबाइल इंडिया के लिए प्री-रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए गए हैं और एंड्रॉयड के अलावा आईओएस यूजर्स भी पबजी के इंडियन वर्जन खेलने के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। यूजर्स TapTap गेम शेयर कम्युनिटी में प्री-रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। हालांकि फिलहाल ये सुविधा सिर्फ कम्युनिटी मेंबर्स के लिए ही उपलब्ध है।
 
ये होंगे बदलाव- 
भारतीय वर्जन में कैरेक्टर कोई भी प्रोटेक्टिव Attire नहीं पहनेंगे। खेल के भारतीय संस्करण के लिए हिट इफेक्ट को ग्लोबल या कोरियाई वर्जन के अलग, हरे रंग में लॉक कर दिया जाएगा। PUBG मोबाइल इंडिया में कथित रूप से प्लेटाइम (Playtime) को सीमित किया जा सकेगा।
 आखिरकार झुकी सरकार, किसानों को मिली निरंकारी ग्राउंड पर प्रदर्शन करने इजाजत

आखिरकार झुकी सरकार, किसानों को मिली निरंकारी ग्राउंड पर प्रदर्शन करने इजाजत

नई दिल्ली। हरियाणा सरकार द्वारा किसानों पर की गई कठोर कार्रवाई ने किसानों को आक्रोशित और एकजुट कर दिया है। हरियाणा-दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर इकट्ठे हुए किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने पूरी कोशिश की, उन पर पानी की बौछारें और आंसू गैस के गोले छोड़े। लेकिन इसके बाद भी किसानों ने बैरीकेडिंग तोड़कर दिल्ली कूच कर दिया। आखिरकार पुलिस ने किसानों को दिल्ली के संतनगर बुराड़ी में निरंकारी मैदान में एकजुट होने और सभा करने की अनुमति दे दी गई।

वहीं किसान नेताओं ने कहा है कि अगर सरकार चाहती है कि किसान उससे दूर निरंकारी मैदान में बैठें और इधर सरकार चैन से सोती रहे तो ऐसा होने वाला नहीं है। निरंकारी मैदान में जमा होने के बाद किसान दिल्ली की ओर दोबारा कूच करेंगे। सिंघु बॉर्डर से किसानों को आगे बढ़ने की मंजूरी मिलने से माना जा रहा है कि शाम तक बाकी सभी बॉर्डर से भी किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने की इजाजत मिल जाएगी। शुक्रवार दोपहर दो बजे तक यूपी बॉर्डर से किसानों को आगे बढ़ने की अनुमति नहीं मिली है।

ऑल इंडिया किसान संघर्ष समन्वय समिति के नेता डॉक्टर आशीष मित्तल ने कहा कि सरकार ने हमें निरंकारी मैदान में जुटने की अनुमति दे दी है। हरियाणा और पंजाब से आ रहे किसान इस मैदान पर एकजुट होकर अपनी बात रखेंगे। लेकिन किसान यहां ठहरने वाले नहीं हैं। वे यहां से संसद तक मार्च करेंगे और सरकार से अपनी बात मनवाने तक शांत नहीं बैठेंगे।

किसानों के इस फैसले से साफ हो गया है कि सरकार की मुश्किलें फिलहाल खत्म नहीं हुई हैं। आगे आने वाले समय में दिल्ली में ट्रैफिक की गंंभीर समस्या उत्पन्न हो सकती है। कोरोना काल में सरकार के लिए इस समस्या से निबटना किसी चैलेंज से कम नहीं होगा।

हरियाणा सरकार की कार्रवाई ने आग में घी डाला-
हरियाणा किसान संघ के नेता सुखविंदर सिंह ने कहा कि मनोहरलाल खट्टर सरकार ने किसानों पर दमनकारी हथकंडे अपनाकर पूरे किसान नेताओं को आकोशित कर दिया है। आरोप है कि खट्टर सरकार ने किसानों को दिल्ली की तरफ आगे बढ़ने से रोकने के लिए सड़कों पर गड्ढे खोद दिए थे। मुख्य हाइवे पर जगह-जगह पर भारी-भारी पत्थर रख दिए गए और बैरीकेडिंग कर दी गई। सोनीपत, अंबाला और शंभू बॉर्डर पर किसानों पर पानी की बौछारें और आंसू गैस के गोले छोड़े गए। इससे किसानों में गुस्सा बढ़  गया और जो किसान आंदोलन में शामिल नहीं थे, वे भी साथ आ गए जिससे हमारी ताकत बढ़ गई।

भारतीय किसान यूनियन ने सरकार के इसी दमनपूर्ण कार्रवाई के बाद किसानों के प्रदर्शन में साथ आने का फैसला किया है। शुक्रवार सुबह से ही भारतीय किसान यूनियन के नेताओं ने मेरठ की सड़कों को जाम कर दिया। स्थिति की गंभीरता देखते हुए ही सरकार ने किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति दे दी है।  

तो घिर जाती दिल्ली-
किसानों के एक प्रमुख नेता के अनुसार योजना की शुरुआत में ही इस बात की योजना बना ली गई थी कि पुलिस जहां भी उन्हें आगे बढ़ने से रोकेगी, किसान वहीं पर रुककर धरना देंगे। ठीक इसी योजना के तहत जब गुरुग्राम बॉर्डर पर पुलिस ने उन्हें दिल्ली की तरफ आगे बढ़ने से रोका, तो किसान सड़कों पर जम गए। हर तरफ से यातायात ठप हो गया। दिल्ली को फरीदाबाद बॉर्डर, यूपी बॉर्डर से भी घेरे जाने की योजना है। सरकार ने किसानों की इसी योजना को भांपते हुए उन्हें दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति दे दी। अन्यथा दिल्ली चारों तरफ से कट जाती।

बातचीत की कोशिशें आगे बढ़ीं-
चारों तरफ से घिरती सरकार ने बातचीत के लिए कदम आगे बढ़ाने का संकेत दिया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किसानों से बात करने की बात कही है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि इस योजना से सरकार किसानों की आय बढ़ाने की योजना पर काम कर रही है। लेकिन अगर किसानों की कुछ शंकाएं हैं तो उन पर बात की जा सकती है। इधर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कहा है कि आंदोलन किसी समस्या का समाधान नहीं होता है। बातचीत से ही हर समस्या का समाधान निकल सकता है।

इधर किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर दिल्ली में प्रवेश करने की बात कही थी। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकार और किसानों में बातचीत होने की संभावनाएं बढ़ गई हैं। अगर दोनों पक्षों में कोई बात होती है तो इस मुद्दे का कोई सर्वमान्य हल निकल सकता है।
 बड़ी लापरवाही: अस्पताल में कुत्ते नोचते रहे लड़की का शव, दो डॉक्टर कारण बताओ नोटिस

बड़ी लापरवाही: अस्पताल में कुत्ते नोचते रहे लड़की का शव, दो डॉक्टर कारण बताओ नोटिस

लखनऊ। अस्पताल में लापरवाही मामला फिर सुर्खियां बटोर रहा है। एक लड़की के शव को कुत्ते के द्वारा नोचने का मामला सामने आया है। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। उत्तर प्रदेश के संभल के इस मामले में वार्ड ब्वाय और सफाईकर्मी को निलंबित कर दिया गया है। वही, डाक्टर व फार्मेसिस्ट को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

जांच के लिए बना दो डॉक्टरों की कमेटी-
मामले की जांच के लिए दो डाक्टरों की कमेटी गठित कर दी गई है। बुधवार को हुए हादसे में अमरोहा जिले के डिडौली थानाक्षेत्र के गांव की एक लड़की की मौत हुई थी। गन्ना लदे तेज रफ्तार ट्रक ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी थी। लड़की का शव जिला अस्पताल में स्ट्रेचर पर रखा था। इसे लेकर वायरल हुए एक वीडियो में अस्पताल प्रशासन की लापरवाही भी सामने आई थी। स्ट्रेचर पर रखे शव तक कुत्ता पहुंच गया था।

जानकारी मिलने पर कार्रवाई-
अधिकारियों को इसकी जानकारी लगने पर सच्चाई जानने का प्रयास शुरू कर दिया गया। इसी क्रम में गुरुवार शाम को सीएमओ डा.अमिता सिंह जिला अस्पताल पहुंचीं। सीएमओ ने बताया कि जिला अस्पताल के सीएमएस की स्तुति पर लापरवाही के मामले में वार्ड ब्वाय विपिन भटनागर और सफाई कर्मचारी प्रदीप सिरसवाल को निलंबित किया गया है।

जबकि ड्यूटी पर तैना डाक्टर व फार्मेसिस्ट को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। पूछा गया है कि ऐसी लापरवाही क्यों की गई? जबकि सीएमएस का कहना है कि शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया था उन्होंने शव को कहां रखा था, इसकी उन्हें जानकारी नहीं है।
 बड़ी खबर: साले की शादी में बारात नहीं ले जाने से नाराज जीजा ने की खुदकुशी, जाने कहा का है यह मामला

बड़ी खबर: साले की शादी में बारात नहीं ले जाने से नाराज जीजा ने की खुदकुशी, जाने कहा का है यह मामला

धनबाद। झारखंड के धनबाद से एक खबर सामने आई है जहां जीजा ने इस लिए फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली क्योकि वह साले की शादी में बारात नहीं जा सका। आपको बता दे की साले के बारात में नही ले गया तो नाराज जीजा ने ससुराल में ही फांसी पर लटककर जान दे दी। युवक ने लोहे की कुंडी में साड़ी का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली थी। घटना की जानकारी तब हुई, जब आज सुबह बाराती घर वापस लौटे।

पढ़िए पूरी खबर-
धनबाद के महुदा थाना क्षेत्र के नावागढ़ स्थित मोदक टोला में प्रसन्नजीत मोदक की शादी थी। बुधवार को बारात थी, जिसमें शामिल होने के लिए प्रसन्नजीत का जीजा मुकेश अपनी अपनी पूजा और तीन साल की बेटी के साथ आया हुआ था। साले की शादी की खुशी में प्रसन्नजीत ने जमकर शराब पी और बारात जाने के लिए निकल गया। बारात महुदा से निरसा जाने वाली थी।

ससुराल में ही फांसी लगाकर की ख़ुदकुशी-
गाड़ी कुछ दूर ही गयी थी नशे में मुकेश ने गाड़ी रूकवा ली और इधर-उधर घूमने लगा। इसी बीच बारात वाली गाड़ी निकल गयी। मुकेश बारात नहीं जा पाया, तो वो गुस्से में आग बबूला हो गया और वापस अपने ससुराल लौट आया। उसने ससुराल में ही घर में लगे लोहे के रड से फंदा बनाकर फांसी लगा ली। घटना की सुबह जब लोग घर पहुंचे तो घर की कुंडी अंदर से बंद थी, लोगों ने जब दरवाजा तोड़ा और अंदर पहुंचे तो मुकेश का शव लटका हुआ पाया। अब युवक के परिजनों ने इस मामले में ससुराल पक्ष पर मुकेश की हत्या का आरोप लगा रहे हैं।
 
 1200 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी, सीबीआई में मामला दर्ज, जाने कहा का है यह मामला

1200 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी, सीबीआई में मामला दर्ज, जाने कहा का है यह मामला

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 1200 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने गुरुवार देर रात चावल निर्यातक कंपनी अमीरा प्योर फूड्स प्राइवेट लिमिटेड और इसके शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर की है। एफआईआर में कंपनी के प्रोमोटर करण चनाना और प्रबंध निदेशक रोजश अरोड़ा का भी नाम शामिल है। 

जांच एजेंसी ने कहा कि यह कैनरा बैंक समेत दर्जनभर बैंकों के साथ 1,200 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी का ममाला है। बैंक की शिकायत पर सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर दिल्ली-एनसीआर के आठ ठिकानों पर छापेमारी भी की है। इस एफआईआर में कंपनी के एमडी राजेश आरोड़ा, निदेशक करण चनाना, अपर्णा पूरी और जवाहर कपूर, पूर्व निदेशक अनिता डियांग और फाइनेंस हेड अक्षय श्रीवास्तव का नाम है। 

उल्लेखनीय है कि अमीरा प्योर फूड्स प्राइवेट लिमिटेड पिछले 27 साल से बासमती समेत अन्य किस्म के चावल का निर्यात करती है। बैंकों के साथ धोखाधड़ी का ये मामला पिछले साल 22 मई को एक फॉरेन्सिक ऑडिट में सामने आया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इन आरोपियों ने अकांउट में हेराफेरी के साथ बैंक से फंड हासिल करने के लिए डॉक्युमेंट्स में गड़बड़ी की है। 
Previous123456789...274275Next