कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
   सिटी कोतवाली अंतर्गत ट्रक की ठोकर से मोटर साइकिल चालक की हुई मौत

सिटी कोतवाली अंतर्गत ट्रक की ठोकर से मोटर साइकिल चालक की हुई मौत

कोण्डागांव। जिले के सिटी कोतवाली अंतर्गत नेशनल हाईवे 30 पर बनियागांव पेट्रोल पंप के ठीक सामने रविवार को एक ट्रक ने विपरीत दिशा से आ रही मोटर साइकिल चालक को ठोकर मार दिया, इस टक्कर में मोटर साइकिल चला रहे पुसावण्ड गांव का निवासी मन्नुराम नेताम उम्र 35 वर्षीय की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं घटना के बाद अनियंत्रित ट्रकपेड़ से टकराते हुए पलट गई।

दुर्घटना के तत्काल बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया, वहीं ट्रक का हेल्पर ट्रक में बुरी तरह से फंस रह गया, जिसे कई घंटों की मशक्कत के बाद स्थानीय लोग, डायल 108, ट्रैफिक पुलिस व क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के सहयोग से बाहर निकालकर उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल किया गया है। 
 छत्तीसगढ़ के इस गांव में 10 दिन से विद्युत आपूर्ति बंद

छत्तीसगढ़ के इस गांव में 10 दिन से विद्युत आपूर्ति बंद

कोंडागांव। जिले के केशकाल ब्लॉक अंतर्गत आने वाले ग्राम नलाझर में पिछले 10 दिनों से विद्युत आपूर्ति बंद है। ग्रामीणों में इस समस्या को लेकर खासा रोष देखने को मिल रहा है। ग्रामीणों ने इस समस्या को लेकर गांव में बुधवार को एक बैठक का आयोजन किया है। बताया जा रहा है कि केशकाल और बडेराजपुर (विश्रामपुरी) के अंतर्गत आने वाले ग्रामीण इलाकों में लगभग प्रतिदिन ही विद्युत आपूर्ति कई-कई घण्टे बाधित रहती है। इस समस्या के समाधान को लेकर ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों ने कई दफा विभाग के उच्च अधिकारियों से भी शिकायत की है, लेकिन समस्या यथावत बनी हुई है। विभाग की ओर से समस्या के समाधान के लिए कोई ठोस पहल अब तक नहीं की गई है।
झोलाछाप डॉक्टरों पर प्रशासन ने फिर शुरू की कार्यवाही

झोलाछाप डॉक्टरों पर प्रशासन ने फिर शुरू की कार्यवाही

कोण्डागांव। कोरोना महामारी के दौर में लोगों के जान को जोखिम में डालकर झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा घर पर ही मरीजो का उपचार करने की शिकायत जिला प्रशासन को प्राप्त हो रही थीं। जिसे गंभीरता से लेते हुये कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा के आदेशानुसार सीएमएचओ डॉ टीआर कुंवर के मार्गदर्शन में गठित संयुक्त जाँच दल ने ग्राम किबईबालेंगा के कथित झोला छाप डॉक्टरों के यहां अचानक दबिश दी। जांच के दौरान दीपक हलधर पिता मनोरंजन हलधर के निवास में जांच करने पर बड़ी संख्या में दवाइयां भंडारित पाई गई। पहले तो पूछताछ में परिजनों ने दवाईयां खुद के इस्तेमाल की होने की बात कही लेकिन जब टीम ने सख्ती पूछताछ की तो उनके द्वारा इस संबंध में कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत करने में असफल रहे। जिस पर टीम ने दवाइयों को जप्त कर कथित झोलाछाप डॉक्टर के विरुद्ध प्रकरण तैयार किया है। संदिग्ध डॉक्टर दीपक हलधर मौके पर नहीं पाये गए किंतु परिजनों के द्वारा दवाइयां छुपाने का प्रयास किया गया। ग्रामीणों से पड़ताल करने पर दीपक द्वारा इलाज किये जाने के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई। एक अन्य व्यक्ति के यहां छापा मारने पर इलाज किये जाने संबंधी सामग्रियां नहीं प्राप्त हुईं।
ज्ञात हो कि कोरोना महामारी के दौर में सभी अस्वस्थ लोगो को कोविड-19 जांच उपरांत ही चिकित्सक की सलाह से दवाइयां लेने के निर्देश शासन प्रशासन द्वारा जारी किये गए थे एवं लगातार जागरुकता फैलाने की कोशिश की जा रही है। किंतु कुछ लोगों द्वारा आपदा को अवसर समझ ग्रामीणों को बहकाने का कार्य किया जा रहा है। इसे रोकने के लिये स्वास्थ्य, राजस्व, खाद्य औषधि विभाग की संयुक्त दल गठित कार्यवाही की गईं। इस दल में तहसीलदार गौतमचन्द पाटिल, डॉ सूरज राठौर, खाद्य एवं औषधि अधिकारी डोमेंद्र ध्रुव, औषधि निरीक्षक सुखचैन धुर्वे सहित अन्य कर्मचारी शामिल रहे।
 

 जिले में कोरोना संक्रमण का बड़ा कारण बन रहा विवाह समारोह, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से लोगों को कोरोना से बचाने किया जा रहा प्रयास

जिले में कोरोना संक्रमण का बड़ा कारण बन रहा विवाह समारोह, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से लोगों को कोरोना से बचाने किया जा रहा प्रयास

कोण्डागांव। आज कलेक्टर सह टास्क फोर्स अध्यक्ष पुष्पेंद्र कुमार मीणा और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी ने जिला टास्क फोर्स की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई।

इस बैठक में टास्क फोर्स के सदस्यों ने सभी विकासखण्डों के नोडल अधिकारियों से कोरोना संक्रमण के कारणों के संबंध में विश्लेषण किया गया। इस दौरान टास्क फोर्स के सदस्यों से कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के कार्य में सटीकता और तत्परता लाने के लिए व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने पर चर्चा की गई । 

इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को किसी मरीज के पॉजिटिव पाए जाने पर उससे निजी तौर पर संपर्क कर उससे कोरोना के उन तक पहुंचने के कारण की जांच करने के लिए निर्देश दिए। जिसके लिए जिला प्रशासन से नए दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रश्नावली का निर्माण किया गया है। इस प्रश्नावली का प्रयोग कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के लिए जाने वाले दलों से किया जाएगा।

जिला प्रशासन का यह प्रयास रहा है कि कोरोना के कारणों की तह तक पहुंच संक्रमण फैलाने वाले कारकों को जानकर कोरोना फैलाने से रोका जाए। इसके लिए प्रतिदिन स्वास्थ विभाग से प्रयास किया जा रहा है। कलेक्टर ने कांटेक्ट ट्रेसिंग के लिए अधिकारियों के प्रयासों की सराहना की साथ ही कहा कि आने वाले दिनों में कोरोना को रोकने के लिए एक कांटेक्ट ट्रेसिंग, वैक्सीनेशन एवं एक्टिव सर्विलांस पर जोर देना होगा।

उल्लेखनीय है कि विगत दिनों स्वास्थ्य विभाग से कराए गए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के अनुसार पाया गया कि 3 मई को संक्रमित पाए गए मरीजों में 31 प्रतिशत मरीज केवल विवाह समारोह में सम्मिलित होने की वजह से संक्रमित हुए थे। जो कि सभी कारणों में सर्वाधिक था। इसके पश्चात प्राथमिक संपर्क में आने से 30 प्रतिशत, दुकानों और बाजारों , हॉस्पिटलों से 12 प्रतिशत, द्वितीयक कांटेक्ट से 13 प्रतिशत, यात्रा के कारण 2 प्रतिशत, 1.6 प्रतिशत मृत्यु संस्कारों में जाने से और 7 प्रतिशत लोगों में कोरोना का कारण अज्ञात रहा। इस प्रकार आंकड़ों को देखते हुए प्रशासन से लोगों को विवाह संस्कारों में ना जाने की अपील की है। केवल अत्यंत आवश्यक होने पर ही विवाह और मृत्यु संस्कारों में जाएं।
 
 पुरानी रंजिश पर हुई हत्या के 4 आरोपी गिफ्तार, महिला की कर दी गई थी बेहरहमी से हत्या

पुरानी रंजिश पर हुई हत्या के 4 आरोपी गिफ्तार, महिला की कर दी गई थी बेहरहमी से हत्या

कोंड़ागांव। जिले के ग्राम बड़े कनेरा पवनगुड़ा पारा में रंभा कुलदीप के सिर में तथा हाथ पैर में डण्डे से मारकर प्राण घातक वार कर हत्या कर दिया गया। प्रार्थी के रिपोर्ट पर हत्या के आरोपीयों को रिपोर्ट के सूचना पश्चात त्वरित कार्यवाही कर आरोपी 01. सुन्दर कोर्राम पिता रैयपाल कोर्राम उम्र 35 वर्ष जाति भतरा 02. महेश कोर्राम पिता रैयपाल कोर्राम उम्र 24 वर्ष जाति भतरा, 03. मयाराम बघेल पिता सुकटाराम बघेल उम्र 47 वर्ष जाति भतरा  04 दिनेश कोर्राम पिता कृृपाल कोर्राम उम्र 28 वर्ष जाति भतरा  सभी साकिनान बड़े कनेरा पवनगुड़ा पारा थाना जिला कोण्डागांव को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया जो हत्या की घटना करना स्वीकार किया, आरोपी सुन्दर कोर्राम के मेमोरेण्डम कथन के आधार पर आरोपी से खून लगा डण्डा व घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल जप्त कर आरोपीयों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थी अपनी मां श्रीमति रंभा कुलदीप तथा पुलियादास मानिकपुरी के साथ उसके चाचा रमेश मानिकपुरी के घर बड़े बेंदरी ईलाज के लिये पैसा मांगने के लिये मोटर सायकल में लगभग शाम 04-05 बजे गये थे, 26 अप्रेल 2021 की रात्रि में उसी मोटर सायकल में अपने घर बड़े कनेरा पवनगुड़ा पारा वापस आ रहे थे। रात्रि लगभग 08 बजे पवनगुड़ा पारा से पहले डामर रोड पंचम दास के खेत के पास पुरानी रंजिश के कारण आरोपी सुंदर लाल कोर्राम, महेश कोर्राम, मयाराम बघेल, दिनेश कोर्राम के द्वारा हत्या करने की योजना बनाकर रोड किनारे से लकड़ी डण्डा लेकर निकले और प्रार्थी को रास्ते में रोककर मृतिका रंभा कुलदीप और पुलिया दास पर प्राण घातक वार कर मारने लगे। अमृत और पुलिया मानिकपुरी वहां से जान बचाकर भाग गये। सुंदर लाल कोर्राम, महेश कोर्राम, मयाराम बघेल, दिनेश कोर्राम के द्वारा मृृतिका श्रीमति रंभा कुलदीप के सिर में तथा हाथ पैर में डण्डे से मारकर प्राण घातक वार कर हत्या कर दिया। 
 छत्तीसगढ़ लॉकडाउन : विवाह कार्यक्रमों और निर्माण कार्य 5 मई तक प्रतिबंधित

छत्तीसगढ़ लॉकडाउन : विवाह कार्यक्रमों और निर्माण कार्य 5 मई तक प्रतिबंधित

कोण्डागांव। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए संपूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के पश्चात लगातार विवाह कार्यक्रमों और शासकीय व् निजी निर्माण कार्यों में कोरोना दिशानिर्देशों के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग के उल्लंघन के संबंध में शिकायतें मिल रही थी। 

इस संबंध में जनप्रतिनिधियों और समाज प्रमुखों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई चर्चा के पश्चात कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा से आदेश जारी कर जिले में शासकीय व् निजी निर्माण कार्य जिनकी पूर्व में जारी आदेशों के अनुसार अनुमति प्रदान की थी। उन्हें 5 मई तक प्रतिबंधित कर दिया गया है। 

इसके साथ ही यह पाया गया था कि अक्सर शादियों में कोविड नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है और इन स्थानों पर भीड़ जमा हो रही है। ऐसे में प्रशासन ने सख्त कदम उठाते हुए विवाह कार्यक्रमों को सशर्त प्रदान की गई अनुमतियों को निरस्त करते हुए नए आदेश अनुसार जिले में समस्त वैवाहिक कार्यक्रमों को 5 मई तक प्रतिबंधित कर दिया है। 

इसके अतिरिक्त कोरोना के संक्रमण के खिलाफ कार्य कर रहे कोरोना वारियर्स को दिन-प्रतिदिन परिवहन के दौरान आ रही समस्याओं को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-30 पर स्थित समस्त टायर दुकानों, जिससे वाहनों में हवा भरने व् पंचर बनाने का कार्य किया जाता है, उन्हें कोरोना के दिशानिर्देशों के पालन करने की प्रतिबद्धता के साथ दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान की है।
बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : जिले में लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन कर शादी कर रहे 26 आयोजकों से प्रशासन ने वसूले लाखो रुपये जुर्माना

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : जिले में लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन कर शादी कर रहे 26 आयोजकों से प्रशासन ने वसूले लाखो रुपये जुर्माना

कोंडागांवजिला प्रशासन द्वारा जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के पश्चात लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए सभी शादियों में 20 व्यक्तियों से अधिक लोगों को उपस्थित होने की अनुमति नहीं प्रदान की गई है। ऐसे में कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के निर्देश पर प्रशासनिक दलों द्वारा समय-समय पर हो रहे विवाह कार्यक्रमों में जाकर निरीक्षण कर तय सीमा से अधिक लोगों होने पर कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम में विगत सोमवार को तहसीलदार माकड़ी विजय मिश्रा के नेतृत्व में राजस्व एवं पुलिस विभाग का संयुक्त दल द्वारा ग्राम जरण्डी, उदेगा, बवई, कलीबेड़ा पहुंच शादियों का निरीक्षण कर 9000 रूपये का जुर्माना लिया गया साथ ही विवाह में आए लोगों को तुरंत विवाह स्थल से जाने के लिए निर्देश दिए गए। विकासखण्ड कोण्डागांव अंतर्गत नायब तहसीलदार वीरेन्द्र श्याम के नेतृत्व में दल द्वारा 06 विवाह स्थलों का दल द्वारा निरीक्षण किया गया, जिसमें  तीन जगहों पर 20 से अधिक लोग पाये जाने पर 18000 रूपयों का जुर्माना लिया गया  एवं विकासखण्ड बड़ेराजपुर में तहसीलदार आशुतोष शर्मा के नेतृत्व में दल द्वारा बासकोट में विवाह स्थल पर पहुंच निर्धारित सीमा से अधिक लोग पाए जाने पर कार्यवाही करते हुए 2000 रूपये जुर्माने के रूप में लिये गये। इसी तरह विकासखण्ड केशकाल अंर्तगत पुलिस एवं प्रशासन के अलग-अलग दल द्वारा कार्यवाही करते हुए सिंगनपुर में 1000 रूपये, बेड़मा में 5000 रूपये एवं कोदोभाट में 3000 रूपये का जुर्माना वसूल किया गया। इस तरह 26 अप्रैल को कुल 86 विवाहों की अनुमति प्रदान की गयी थी जिसमें 26 में जाकर आकस्मिक निरिक्षण कर दस विवाहों में 20 से अधिक लोगों को पाये जाने पर कुल 35 हजार रूपयों का जुर्माना वसूल किया गया है। लाकडाउन की घोषणा के उपरान्त कुल 61 विवाह कार्यक्रमों का निरिक्षण कर 26 आयोजको से एक लाख 69 हजार रूपयों का जुर्माना वसूल किया गया है।

कलेक्टर ने जारी की 43 हॉटस्पॉट स्थलों की सूची...

कलेक्टर ने जारी की 43 हॉटस्पॉट स्थलों की सूची...

कोण्डागांव। जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर के आदेश पर जिले में अत्यधिक कोरोना वायरस से संक्रमित स्थलों का पता लगाया गया है और ऐसे क्षेत्रों को हॉटस्पॉट घोषित किया जा रहा है।पुष्पेंद्र कुमार मीणा
इन स्थलों में लगातार कोरोनावायरस के मामले बढ़ते देख जिला प्रशासन ने इन स्थलों में आम लोगों को ना जाने की सलाह दी है। अत्यधिक आवश्यक होने पर ही लोगों को इन क्षेत्रों में जाने की सलाह दी है एवं हॉटस्पॉट में निवास करने वाले लोगों को स्वयं को क्वॉरेंटाइन रखकर बाहर निकलने से बचने को कहा है।
कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा से जारी सूची अनुसार 43 हॉटस्पॉटम में से केशकाल में सुरडोंगर, हर्रापड़ाव, बोरगांव, मस्जिद गली, बाजारपारा सुरडोंगर, केशकाल मेन रोड, सुभाष चैक, दीहीपारा, विश्रामपुरी चैक, सिदावंड तथा विकासखंड माकड़ी के अंतर्गत जदकोंगा, शामपुर, दिहारीपारा, विकासखंड फरसगांव अंतर्गत जुगानी कैंप, लंजोड़ा, बड़ेडोंगर, फरसगांव, बोरगांव, विकासखंड बडेराजपुर अंतर्गत विश्रामपुरी, मारंगपुरी, पलना, बाँसकोट, कोण्डागांव विकासखंड अंतर्गत बडेबेन्द्री, चिखलपुटी, विकासनगर, आड़काछेपड़ा, हॉस्पिटल वार्ड, बांधापारा, भेलवापदर, डीएनके कॉलोनी, डोंगरीपारा, तहसीलपारा, महात्मा गांधी वार्ड, हाउसिंग बोर्ड, जामकोटपारा, मरारपारा, पुलिसलाइन, प्रेमनगर, रोजगारीपारा, सरगीपालपारा, शीतला पारा को शामिल किया गया है।
इन स्थानों पर लगातार कंटेनमेंट जोन और माइक्रो कंटेनमेंट जोन का निर्माण किया जा रहा है। इन क्षेत्रों में सभी लोगों की कोविड-19 की जांच के साथ एक्टिव सर्विलांस और कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य भी किया जा रहा है। इसके अलावा इन क्षेत्रों के सभी लोगों को प्रोफीलैटिक डोज भी दी जा रही ही।
 

लॉकडाउन ब्रेकिंग : प्रदेश के एक और जिले में लॉकडाउन बढ़ने का आदेश हुआ जारी, किराना दुकानों, ई-कॉमर्स- अमेजन, फ्लिपकार्ट को मिली छूट

लॉकडाउन ब्रेकिंग : प्रदेश के एक और जिले में लॉकडाउन बढ़ने का आदेश हुआ जारी, किराना दुकानों, ई-कॉमर्स- अमेजन, फ्लिपकार्ट को मिली छूट

कोंडागांवकोण्डागांव में कोविड-19 के पाॅजीटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के कारण कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी कार्यालय कोण्डागांव द्वारा 24 अप्रैल 2021 को जारी आदेशानुसार कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री पुष्पेन्द्र कुमार मीणा द्वारा जिला कोण्डागांव अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन की अवधि को 26 अप्रैल से बढ़ाते हुए प्रातः 06.00 बजे से  05 मई 2021 प्रातः 06.00 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है। उपरोक्त दर्शित अवधि में कोण्डागांव जिले की सभी सीमायें पूर्णतः सील रहेगी। इस दौरान सभी अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लिनिक एवं पशु-चिकित्सालय को उनके निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी।

 

मेडिकल दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देगें। निजी चिकित्सालय कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का अनिवार्यतः पालन करेंगे। शासकीय उचित मूल्य दुकानों को जिला खाद्य अधिकारी कोण्डागांव द्वारा निर्धारित समयावधि में खुलने की अनुमति होगी। मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग, नियमित सेनिटाइजेशन एवं भीड़-भाड़ नहीं होने देने की शर्त का कड़ाई से पालन कराने के अधीन, टोकन व्यवस्था के साथ अलग-अलग निर्धारित तिथियों में उचित मूल्य दुकानो को खोलने हेतु जिला खाद्य अधिकारी कोण्डागांव द्वारा पृथक से आदेश प्रसारित किये जायेगें। सभी प्रकार की मंडियां, थोक, फूटकर एवं ग्रॉसरी दुकाने बंद रहेगी किन्तु सीधे किसानों एवं उत्पादको से सप्लाई की शर्त के साथ फल, सब्जी, अंडा एवं ग्रॉसरी (चावल, दाल, आटा, खाद्य तेल एवं नमक) को गली-मुहल्लों एवं कॉलोनियों में विक्रय की अनुमति केवल स्ट्रीट वेण्डर्स अर्थात ठेले वालों को प्रातः 06.00 बजे से अपरान्ह 02.00 बजे तक ही होगी। साग-सब्जी के विक्रेता मोटोराईज्ड ठेले, मिनी ट्रक, ट्रॉली, पिकअप एवं साईकल से सब्जी का विक्रय कर सकेंगे।

 

मुर्गा, मटन, मछली, अण्डा को होम डिलीवरी किये जाने की शर्त पर विक्रय करने की अनुमति होगी, किन्तु भौतिक रूप से दुकानें संचालित नहीं किये जायेंगे। किराने की सामग्री होम डिलीवरी करने वाले दुकानदार अपने वाहन में किराने के सामान का होम डिलीवरी संबंधी पर्चा (स्टीकर) चिपका लेंगे, ताकि उनकी पहचान आसानी से हो सके। गोदाम से किराना दुकान तक किराना सामग्री भण्डारण रात्रि 10.00 बजे से प्रातः 06.00 बजे तक संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से अनुमति प्राप्त करने के उपरांत कर सकेंगे। ई-कॉमर्स जैसे अमेजन, फ्लिपकार्ट और स्थानीय ऑनलाईन दुकानों को होम डिलीवरी की अनुमति दी जाती है, किन्तु भौतिक रूप से दुकान या स्टोर संचालित नहीं होंगे। पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा केवल शासकीय अधिकारी-कर्मचारी जो कोविड-19, मनरेगा, निर्माण कार्य, होम आईसोलेशन, वनोपज संबंधी कार्य में नियोजित वन विभाग के कर्मचारी को विभागीय आई-डी कार्ड दिखाने पर तथा शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, ए.टी.एम. कैश वैन, अस्पताल, मेडिकल इमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन, एम्बुलेंस, ग्रॉसरी होम डिलीवरी, एल.पी.जी. परिवहन कार्य, निर्माण कार्यों, धान उठाव, कस्टम मिलिंग में प्रयुक्त वाहन, अन्तर्राज्यीय बस स्टैंड से संचालित ऑटो, टैक्सी, विधिमान्य ई-पास धारित करने वाले वाहन, एडमिट कार्ड, कॉल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थी एवं उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, प्रेस वाहन, न्यूज पेपर हाॅकर, दुग्ध-वाहन तथा छत्तीसगढ़ में नही रुकते हुये एक राज्य से सीधे अन्य राज्य जाने वाले वाहनों को पी.ओ.एल. प्रदान किया जावेगा। अन्य सभी वाहनों हेतु पी.ओ.एल. प्रदान करना पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।


दुग्ध पार्लर व दुग्ध-वितरण तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समयावधि प्रातः 06.00 बजे से प्रातः 08.00 बजे तक एवं संध्या 05.00 बजे से संध्या 06.30 बजे तक ही होगी साथ ही यह स्पष्ट किया जाता है कि दुग्ध व्यवसाय हेतु कोई भी दुकान एवं पार्लर नहीं खोले जायेगें। केवल दुकान एवं पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुये उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। पैट शॉप, एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने हेतु प्रातः 06.00 बजे से प्रातः 08.00 बजे तक एवं संध्या 05.00 बजे से संध्या 06.30 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। एल.पी.जी. गैस सिलेन्डर की एजेसिंयाँ केवल टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहकों को सिलेन्डरों की घर पहुँच सेवा उपलब्ध करायेगें। जिलें में चल रहे शासकीय व निजी निर्माण कार्य सोशल डिस्टंेसिंग का पालन कर मास्क तथा सैनेटाईजर का प्रयोग करते हुए कराये जा सकेंगे, जिस हेतु शासकीय एवं निजी निर्माण कार्यों में नियोजित मजदूर वाहन के लिए आवेदन देकर संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से पास प्राप्त कर सकेगा।

 

उक्त अवधि के दौरान सम्पूर्ण जिला अन्तर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। उपरोक्त अवधि के दौरान को-मॉर्बिड, गर्भवती अधिकारी, कर्मचारियों को एक्टिव ड्यूटी से छूट देते हुए बैंकों को हब-बैंकिंग सिद्धांत अनुसार न्यूनतम स्टाफ के साथ कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाती है, किन्तु सभी बैंक, शाखाएँ प्रातः 10.00 बजे से अपरान्ह 1.00 बजे तक ही संचालित हो सकेंगी। उपरोक्त अवधि के दौरान केवल ए.टी.एम. कैश रि-फिलिंग, मेडिकल इक्विपमेंट, मेडिसिन, पेट्रोल-डीजल पंप, एल.पी.जी., पी.डी.एस., केरोसीन वितरक शासकीय उचित मूल्य दुकानदारों संबंधी लेन-देन, उद्योगों के व्यापारिक लेन-देन, श्रमिकों के भुगतान, मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति,  लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादक, शासकीय लेन-देन, निविदा, अस्पताल एवं मेडिकल प्रयोजन को छोड़कर आम जनता हेतु किसी प्रकार के सामान्य लेन-देन की अनुमति नहीं होगी। इस हेतु शाखा प्रबंधक संबंधित व्यक्तियों से विधिवत आवेदन प्राप्त कर अभिलेख संधारित करेंगे साथ ही डाकघर के माध्यम से जीवन रक्षक दवाईयों के वितरण के कार्य हेतु समस्त डाकघर शाखाओं को प्रातः 10.00 बजे से अपरान्ह 01.00 बजे तक संचालन करने की अनुमति होगी।


सभी प्रकार की सभा, जुलूस, सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगें। किन्तु विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधू के निवास-गृह में ही आयोजित करने की शर्त के साथ आयोजन में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की जाती है। इसी प्रकार अंत्येष्टि, दशगात्र, इत्यादि मृत्यु संबंधी कार्यकम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की जाती है। इस हेतु संबंधित क्षेत्र के तहसीलदार से अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। कोविड संकमण के रोकथाम हेतु जिले में समस्त कार्य जैसे कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेगें। इन कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेगें।

उपरोक्त अवधि में बस स्टैंड पर आने-जाने वाले यात्रियों को कोई-पास की आवश्यकता नही होगी। यात्रियों को निवास, स्टेशन तक आने-जाने हेतु उनके पास उपलब्ध यात्रा टिकट ही उनका ई-पास मान्य किया जावेगा। अपरिहार्य परिस्थितियों में कोण्डागांव जिले से अन्यत्र आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा तथापि प्रतियोगी, अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों हेतु उनका एडमिट कार्ड तथा टेलीकॉम संचालन एवं रख-रखाव कार्य या हास्पिटल या कोविड-19 ड्यूटी में संलग्न कर्मचारियों, चिकित्सकों की दशा में नियोक्ता द्वारा जारी आई.डी. कार्ड ई-पास के रुप में मान्य किया जायेगा। ई-पास हेतु श्री पवन कुमार प्रेमी, डिप्टी कलेक्टर जिला कार्यालय कोण्डागांव, नोडल अधिकारी होंगे।


कोविड-19 टीकाकरण हेतु पंजीयन, कोविड-19 जांच हेतु, मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड या विधिमान्य परिचय-पत्र दिखाने पर कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र अस्पताल, पैथालॉजी लैब अथवा आने-जाने की अनुमति होगी, किन्तु अनावश्यक भ्रमण सख्त प्रतिबंधित रहेगा। आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 04 पहिया वाहनों में ड्राईवर सहित अधिकतम 03, ऑटोें में ड्राईवर सहित अधिकतम 03, एवं दो पहिया वाहन में अधिकतम 02 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। बस स्टैण्ड, हॉस्पिटल आवागमन हेतु ऑटो, टैक्सी परिचालन की अनुमति रहेगी, किन्तु अन्य प्रयोजन हेतु परिचालन पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। इस निर्देश का उल्लंघन किये जाने पर 5 दिवस हेतु वाहन जब्त करते हुये चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जावेगी। मीडिया कर्मी यथासंभव वर्क फ्रॉम होम द्वारा कार्य संपादित करेंगे। अत्यावश्यक स्थिति में कार्य हेतु बाहर निकलने पर अपना आई-कार्ड साथ रखेगें तथा फिजिकल डिस्टेसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करेंगे।

 

यह आदेश कार्यालय कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, तहसील कार्यालय, अस्पताल, थाना एवं पुलिस चैकी पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित अधिकारी, विद्युत, पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवायें जिसमें सफाई, सीवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है तथा अग्निशमन सेवाओं के संचालन हेतु संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को कार्यालय संचालन एवं आवागमन की अनुमति होगी, किन्तु इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। वन विभाग द्वारा संचालित अति आवश्यक सेवाएं जैसे वनोपज क्रय, भण्डारण, परिवहन, वनो में अग्निशमन सेवाएं, वन्य प्राणी संरक्षण संबंधी गतिविधियां प्रतिबंध से मुक्त रहेंगी।


उपरोक्त अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े छूट प्राप्त कार्यालयों के अतिरिक्त राज्य शासन के समस्त कार्यालय उक्त अवधि में बंद रहेंगे। कार्यालय प्रमुख द्वारा आवश्यकतानुसार अधीनस्थ अधिकारी, कर्मचारियों को कार्य पर बुलाया जा सकेगा। समस्त अधिकारी, कर्मचारी अपने मुख्यालय में अनिवार्य रूप से उपलब्ध रहेंगे। राज्य शासन या इस कार्यालय के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति अथवा प्रतिष्ठानों पर भारतीय दण्ड सहिता 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 तथा अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्यवाही की जावेगी।

 छत्तीसगढ़ का ये जिला हुआ 20 अप्रैल के शाम 6 बजे से 26 अप्रैल के सुबह 6 बजे तक कन्टेमेन्ट जोन घोषित

छत्तीसगढ़ का ये जिला हुआ 20 अप्रैल के शाम 6 बजे से 26 अप्रैल के सुबह 6 बजे तक कन्टेमेन्ट जोन घोषित

कोण्डागांव। कोविड-19 के पाॅजीटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के कारण कलेक्टर कार्यालय कोण्डागांव से 18 अप्रैल को जारी आदेशानुसार व्यापारिक प्रतिष्ठानों और दुकानों को संचालन की अनुमति दी है । 

जिसमें जिला अंतर्गत स्थित समस्त व्यापारिक प्रतिष्ठानों और दुकानों को 19 अप्रैल को प्रातः 8 बजे से शाम 8 बजे तक और 20 अप्रैल को प्रातः 8 बजे से शाम 5 बजे तक संचालन की अनुमति प्रदान की गई। उक्त आदेश में विस्तार करते हुए कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा से जारी आदेशानुसार जिला कोण्डागांव अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र में 20 अप्रैल के शाम 6 बजे से 26 अप्रैल के प्रातः 6 बजे तक कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया है। उपरोक्त दर्शित अवधि में जिले की सभी सीमाएं पूर्णतः सील रहेंगी । सम्पूर्ण जिले में धारा 144 लागू रहेगी। उपरोक्त अवधि में सभी अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लीनिक और पशु चिकित्सालय को उनके निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। मेडिकल दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देंगे। शासकीय उचित मूल्य दुकानों को खाद्य अधिकारी कोण्डागांव से निर्धारित समयावधि में खुलने की अनुमति होगी। मास्क, फिजिकल डिस्टेसिंग, नियमित सैनेटाईजेशन और भीड़-भाड़ नहीं होने देने की शर्त का कड़ाई से पालन कराने के अधीन, टोकन व्यवस्था के साथ अलग-अलग निर्धारित तिथियों में उचित मूल्य दुकानों को खोलने के लिए खाद्य नियंत्रक से पृथक से आदेश प्रसारित किए जाएंगे। सभी प्रकार की मंडियों, थोक, फुटकर और ग्राॅसरी दुकानें बंद रहेंगी किन्तु सीधे किसानों, उत्पादकों से सप्लाई की शर्त के साथ फल, सब्जी, अण्डा एवं ग्राॅसरी (चाॅवल, दाल, आटा, खाद्य तेल एवं नमक) को गली-मुहल्लों और काॅलोनियों में विक्रय की अनुमति केवल स्ट्रीट वेण्डर्स या ठेले वालों को प्रातः 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक ही होगी, किन्तु मास्क धारण करना और फिजिकल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा। संबंधित क्षेत्र के सक्षम प्राधिकारी इसकी निगरानी करेंगे। उपरोक्त निर्देशों का उल्लंघन की दशा में ठेले को जब्त करेंगे, अर्थदण्ड या चालान की कार्यवाही करेंगे।

पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा केवल शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, ए.टी.एम. कैश वैन, अस्पताल, मेडिकल इमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन, एम्बुलेंस, ग्राॅसरी होम डिलीवरी, एल.पी.जी. परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहन, अन्तर्राज्यीय बस स्टैण्ड से संचालित आटो, टैक्सी, विधिमान्य ई-पास धारित करने वाले वाहन, एडमिट कार्ड, काॅल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थी, उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, प्रेस वाहन, न्यूज पेपर हाॅकर, दुग्ध वाहन और छत्तीसगढ़ में नही रूकते हुए एक राज्य से सीधे अन्य राज्य जाने वाले वाहनों को पी.ओ.एल. प्रदान किया जाएगा। अन्य सभी वाहनों के लिए पी.ओ.एल. प्रदान करना पूर्णत प्रतिबंधित रहेगा।
 
व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को सुबह 8 से 3 बजे तक खोलने कलेक्टर ने जारी किए निर्देश

व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को सुबह 8 से 3 बजे तक खोलने कलेक्टर ने जारी किए निर्देश

कोण्डागांव। जिले में कोरोना संकमित मरीजों की संख्या में निरन्तर वृद्धि को देखते हुए कलेक्टर ने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों, होटल, रेस्टोरेंट, ढाबों और फास्ट फूड दुकानों के संचालन के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए है। जिसके अनुसार अब जिले में स्थित सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान को प्रातः 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है। 

कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने इसके अतिरिक्त होटल, रेस्टोरेंट, ढाबों को प्रातः 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक खोलने की अनुमति प्रदान की है। इसके अलावा होटल, रेस्टोरेंट, ढाबों में बैठकर भोजन ग्रहण करने की अनुमति नहीं है। ग्राहकों को भोजन केवल घर ले जाने की सुविधा रहेगी। जिले के सभी शासकीय कार्यालय में 50 प्रतिशत कर्मचारी उपस्थित रहकर शासकीय कार्यो का सम्पादन करेंगे। जिसके लिए रोस्टर तैयार किया जाएगा परंतु शेष कर्मचारियों को मुख्यालय में ही निवासरत रहना होगा और वे अपना मोबाइल चालू रखेंगे ताकि आवश्यकता पड़ने पर उन्हे कार्यालय में बुलाया जा सके। गुपचुप, चाट, फास्ट फूड की दुकाने 08ः00 बजे से 03ः00 बजे तक खुलेंगी। उसके पश्चात होम डिलिवरी द्वारा विक्रय किया जा सकता है। साथ ही अब प्रतिदिन खाद्य एवं औषधि अधिकारी से जिला अस्पताल के कोविड सेन्टर में भर्ती मरीजों के भोजन का जाँच भी की जाएगी ।
छत्तीसगढ़: विदेशी भाषा का टैग लगा संदिग्ध जासूसी कबूतर पकड़ा गया

छत्तीसगढ़: विदेशी भाषा का टैग लगा संदिग्ध जासूसी कबूतर पकड़ा गया

कोंडागांव। जिले के ग्राम जामपदर में संदिग्ध जासूसी कबूतर पकड़ा गया है, कबूतर के पैर में विदेशी भाषा का टैग लगा मिला है। पुलिस कबूतर को कब्जे में लेकर इसकी जांच कर रही है। नक्सल प्रभावित क्षेत्र में संदिग्ध कबूतर के मिलने से नक्सलियों के द्वारा कबूतर के जरिए जासूसी या संदेश पंहुचाने की संभावना की जांच की जा रही है।  


कबूतर एकमात्र ऐसा पक्षी है जो हर हाल में अपने मालिक (जिससे उन्हें दाना मिलता है) के पास लौटकर आता है। कबूतर काफी समझदार होते हैं, कबूतरों की एक प्रजाति रेचिंग होमर एक बेहद खास कबूतर होते हैं। उन्हें इस तरह से प्रशिक्षित किया जाता है कि वे तेजी से उड़े और गंतव्य तक पहुंचकर वापस लौट सकें। पहले और दूसरे विश्व युद्ध के दौरान कबूतरों की इसी प्रजाति को जासूसी या संदेश पहुंचाने में उपयोग किया गया था। 
 बड़ा सड़क हादसा: बाइक व ट्रक की भिडंत में मासूम बच्ची की हुई मौत

बड़ा सड़क हादसा: बाइक व ट्रक की भिडंत में मासूम बच्ची की हुई मौत

कोण्डागांव। जिले के थाना कोतवाली के अंतर्गत एनएच 30 पर ग्राम जोबा के पास रविवार देर शाम लगभग 7: 30 बजे एक ट्रक ने बाइक को अपनी चपेट में ले लिया, इस दुर्घटना में 10 वर्षीय मासूम छबिन्दर दीवान की मौके पर ही मौत हो गई, वही मासूम के पिता सुखेंद्र दीवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जिन्हें 108 एंबुलेंस की सहायता से कोण्डागांव के जिला अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार सुखेंद्र दीवान विकासखंड कोण्डागांव अंतर्गत दहीकोंगा का रहने वाला है।
 जिले के सभी सीमाएं सील, दूसरे जिलों से आने वालों की सीमा पर ही होगी कोरोना जांच

जिले के सभी सीमाएं सील, दूसरे जिलों से आने वालों की सीमा पर ही होगी कोरोना जांच

कोण्डागांव। कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा के निर्देश पर आज से जिले की सभी अंतरराज्यीय एवं अंतर जिला सीमाओं को तुरंत प्रभाव से सील कर दिया गया है। अब कोंडागांव जिले में प्रवेश के रास्तों में बैरिकेडिंग कर आने-जाने वाले सभी वाहनों को रोककर उनकी कोरोना जांच की जा रही है। इसके लिए केशकाल के राजस्व विभाग, पुलिस विभाग एवं नगर पंचायत के अधिकारियों द्वारा विभिन्न स्थानों पर कोविड-19 जांच की व्यवस्था की गई है। इसके लिए आज एसडीएम डीडी मंडावी के नेतृत्व में एसडीओपी अमित पटेल, तहसीलदार राकेश साहू एवं नगर पंचायत सीएमओ नामेश्वर कावड़े द्वारा नगर में बसस्टैंड के समीप कोरोना की सघन जांच कराई गयी। जहां उत्तर दिशा से जिले में प्रवेश करने वाले सभी बस यात्रियों तथा चारपहिया वाहनों की जांच की गई। आज निरीक्षण में कुल 211 लोगो की जांच में 07 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जिन्हें उपचार के लिए भेज दिया गया।
इस संबंध में एसडीएम मंडावी ने बताया कि आज वाहनों की जांच की जानी प्रारम्भ की गई है। अब प्रतिदिन 24 घण्टे कोरोना जांच की व्यवस्था की जा रही है। इसके द्वारा प्रशासन का यह प्रयास है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की जल्द से जल्द पहचान कर उनका इलाज कराया जाए ताकि गंभीर परिस्थितियों के उत्पन्न होने के पूर्व लोगों का इलाज संभव हो सके। सभी जिले में प्रवेश कर जिले में ही रुकने वाले यात्रियों का एंटीजन टेस्ट सीमा पर ही कर लिया जाएगा एवं आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए भी नमूने भी ले लिए जाएंगे। इस जांच में एंटीजन पॉजिटिव पाए जाने पर तुरंत क्वारेंटाइन किया जाएगा साथ ही आरटीपीसीआर टेस्ट के साथ यात्री की मूलभूत जानकारी भी ली जावेगी। आरटीपीसीआर टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने पर तुरंत व्यक्ति को होम आइसोलेशन या चिकित्सालय में भर्ती करने की व्यवस्था की जाएगी।
 अवैध उत्खनन और लाल ईट निर्माण पर बड़ी कार्रवाई, 11 ट्रैक्टर जब्त

अवैध उत्खनन और लाल ईट निर्माण पर बड़ी कार्रवाई, 11 ट्रैक्टर जब्त

कोण्डागांव। जिले में पर्यावरण सुरक्षा के लिए नदी किनारे रेत के उत्खनन एवं लाल ईंटों के निर्माण पर कलेक्टर ने रोक लगा दी है। जिसके बावजूद अवैध रूप से रेत उत्खनन की शिकायत प्राप्त होने पर कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने राजस्व विभाग एवं खनिज विभाग को ऐसे रेत परिवहन को रोकने एवं उनपर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। जिसके तहत तहसीलदार गौतम चन्द पाटिल द्वारा खनिज विभाग के साथ संयुक्त टीम निर्मित कर प्रतिदिन हो रहे रेत एवं लाल ईंट परिवहन पर निगरानी की जा रही है। जिसके तहत विगत दिनों रेत का अवैध परिवहन करते 8 ट्रेक्टरों एवं लाल ईंट के 3 ट्रैक्टरों कुल 11 टैक्टरों को जप्त किया गया है।
 
विदित हो कि कोंडागांव तहसील अन्तर्गत 25 से अधिक लाल ईंट भट्ठों पर जप्ती की कार्यवाही की जा चुकी है। उल्लेखनीय है कि लाल ईंटों के निर्माण के लिये बड़ी मात्रा में पेड़ों को काटा जाता रहा है। जिससे पर्यावरण को हो रही हानि को देखते हुए लाल ईंटों के इस्तेमाल पर कलेक्टर द्वारा प्रतिबंध लगाया गया है। इसके स्थान पर लोगो को फ्लाई ऐश ईंटों का इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। फ्लाई ऐश ईंटों के निर्माण में दहन प्रक्रिया का इस्तेमाल नहीं किया जाता है साथ ही इनसे आर्सेनिक जैसे हानिकारक तत्वों के भू-जल या पेयजल में मिलने का खतरा भी नहीं रहता है।
छत्तीसगढ़: तेज रफ्तार टिप्पर ने डाक्टर को रौंदा, मौके पर हुई मौत

छत्तीसगढ़: तेज रफ्तार टिप्पर ने डाक्टर को रौंदा, मौके पर हुई मौत

कोंड़ागांव। जिले के केशकाल राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर तेज गति से दौड़ती टिप्पर ने युवा चिकित्सक आशीष गुप्ता को रौंद दिया जिससे चिकित्सक की मौके पर ही मौत हो गई। डाक्टर बाईक से अपने घर से निकलकर राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहुंचे ही थे कि कांकेर की ओर से आ रही टिप्पर ने डाक्टर को अपनी चपेट में लेते हुए सामने से आ रही मुर्गी डिलीवरी वाहन को भी जबरदस्त ठोकर मार दिया। 
 कोरोना से बचाव के लिए खाद्य कारोबारी व दवा व्यापारियों को जारी किए दिशा निर्देश

कोरोना से बचाव के लिए खाद्य कारोबारी व दवा व्यापारियों को जारी किए दिशा निर्देश

कोण्डागांव। उप संचालक खाद्य औषधि प्रशासन ने समस्त खाद्य कारोबारी एवं दवा व्यापारियों के लिये दिशा निर्देश जारी किया है। कोविड-19 के प्रभाव से बचाव के लिए जांच और टीकाकरण लगवाने के निर्देश दिए हैं। 

इसके तहत खाद्य व्यापारी जैसे किराना, होटल, ढाबा, रेस्टोरेंट, फल दुकान या अन्य किसी प्रकार के खाद्य व्यापारी के साथ-साथ दवा व्यापारियों, जो 45 वर्ष से अधिक को अपने नजदीकी कोरोना जांच केन्द्र में अपना और अपने स्टाॅफ का कोविड-19 टेस्ट अवश्य करना को कहा गया है। साथ ही उन्हें कोविड टीकाकरण और कोविड जांच संबंधी रिपोर्ट अपने दुकान में संरक्षित रखना होगा। जिसे निरीक्षण के दौरान मांगे जाने पर प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। इन दुकानों में उपस्थित विक्रेता एवं ग्राहकों को अनिवार्य रूप से नाक और मुँह को मास्क या रूमाल से ढ़ककर रखना होगा। प्रत्येक व्यक्ति को दुकान में प्रवेश पूर्व हाथ धोना अनिवार्य है। 

किसी भी दुकान में खड़े ग्राहाकों के बीच 1 से 2 मीटर की दूरी बनाना दुकानदार की जिम्मेदारी होगी। इसके अलावा होटल, ढाबा और रेस्टोरेंट में सामग्री निर्माण के दौरान रसोईया या अन्य कर्मचारियों को कैप, ग्लब्स, मास्क, एप्रेन पहनना आवश्यक होगा। इस आदेश का पालन ना किए जाने पर समस्त जिम्मेदारी प्रतिष्ठान संचालक की मानी जाएगी और इस पर नियमानुसार कर्यवाही भी की जाएगी। इसके अतिरिक्त सभी खाद्य और दवा व्यापारियों को अपनी कोविड जांच और टीकाकरण की जानकारी वाट्सएप मो0 न. 7089926123 पर भेजना अनिवार्य होगा।
 छत्तीसगढ़: सड़क निर्माण में लगे 17 वाहनों को नक्सलियों ने किया आग के हवाले

छत्तीसगढ़: सड़क निर्माण में लगे 17 वाहनों को नक्सलियों ने किया आग के हवाले

कोंड़ागांव। जिले के केशकाल से लगभग 20 किलोमीटर दूर ग्राम कुएमारी में नक्सलियों ने पीएमजीएसवाय सड़क निर्माण में लगे 17 वाहनों को आग के हवाले कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आज दोपहर में करीब 20 नक्सली सादे कपड़े में पहुंचे जिनमें एक महिला नक्सली भी शामिल थी। नक्सलियों ने मौके पर काम कर रहें सुपरवाइजर को दबोच लिया और उसके कनपटी पर बंदूक टीका कर सबका नाम पूछा और कहने लगे ठेकेदार कहां है, उसे हम जान से मार देंगे। मौके पर मौजूद सभी मजदूर डर गए। नक्सलियों ने इसके बाद पीएमजीएसवाय सड़क निर्माण में लगे 02 पोकलेन, 06 हाइवा, 07 ट्रैक्टर, 01 वाईब्रो और 01 शिफ्टर को आग के हवाले कर दिया  है। बस्तर आईजी सुंदरराज पी. ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि घटनास्थल के लिए पुलिस बल रवाना किया गया है।
विभिन्न पदों के लिए डाक शाखा में ऑनलाईन आवेदन 7 अप्रैल तक

विभिन्न पदों के लिए डाक शाखा में ऑनलाईन आवेदन 7 अप्रैल तक

कोंडागांव । जिला रोजगार व स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र और जिला रोजगार अधिकारी के द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार बस्तर डाक संभाग में अतिरिक्त विभागीय शाखा डाकघरों में ग्रामीण डाक सेवक शाखा डाकपाल, सहायक शाखा डाकपाल और डाक सेवकों के कुल 250 रिक्त पदों के लिए भर्ती की जाएगी। इसके लिए इच्छुक अभ्यार्थी 7 अप्रैल तक रिक्त पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाईन आवेदन कर सकते है। पद, वेतनमान और अन्य विस्तृत जानकारी और ऑनलाईन आवेदन के लिए वेबसाईट ीजजचेयध्ध्पदकपंचवेजण्हवअण्पद या ीजजचेयध्ध्ंचचवेजण्पदध्ध्हकेवदसपवदम पर जानकारी प्राप्तर कर सकते है।  

विवाह पंजीयन के खिलाफ आपत्ति आवेदन करने की सूचना जारी

विवाह पंजीयन के खिलाफ आपत्ति आवेदन करने की सूचना जारी

कोण्डागांव । न्यायालय अपर कलेक्टर और विशेष विवाह अधिकारी जिला कोण्डागांव से विज्ञप्ति जारी किया गया है। जिसके अनुसार मुकेश कुमार नेताम पिता मंगल राम, निवासी ग्राम मोहपाल, तहसील फरसगांव, जिला कोण्डागांव और लक्ष्मी सिदार पिता गौनाथ सिदार, उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम मोहपाल, तहसील फरसगांव, जिला कोण्डागांव से विशेष विवाह अधिनियम 1954 के अध्याय-5 के तहत विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया हैं। इस प्रस्तावित पंजीकरण के विरुद्ध कोई भी व्यक्ति यदि आपत्ति दर्ज कराना चाहता हो तो लिखित आपत्ति 7 अप्रैल के पूर्व न्यायालय अपर कलेक्टर में प्रस्तुत कर सकता है। निर्धारित अवधि के पश्चात् प्राप्त आपत्ति आवेदन पर कोई सुनवाई नहीं की जाएगी।

 कलेक्टर ने की 2021 के लिए स्थानीय अवकाश की घोषणा, जाने कब कब रहेंगी छुट्टियां

कलेक्टर ने की 2021 के लिए स्थानीय अवकाश की घोषणा, जाने कब कब रहेंगी छुट्टियां

कोण्डागांव। कलेक्टर ने कोण्डागांव जिले में वर्ष 2021 के लिए स्थानीय अवकाश की घोषणा की गई है। कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा से जारी आदेश में कोण्डागांव मेला के लिए 16 मार्च दिन, नवाखानी 15 सितम्बर और गोर्वधन पूजा 5 नवम्बर को स्थानीय अवकाश की घोषणा की है। ये तीनों स्थानीय अवकाश सम्पूर्ण कोण्डागांव जिले के लिए घोषित किए गए है। यह अवकाश कोषालय और उप कोषालय, बैंकों के लिए लागू नहीं होगा।
रोजगार मेले में आठ सौ से अधिक युवाओं ने रोजगार के लिए किया आवेदन

रोजगार मेले में आठ सौ से अधिक युवाओं ने रोजगार के लिए किया आवेदन

कोण्डागांव । आज लाइवलीहुड काॅलेज में आयोजित एक दिवसीय रोजगार मेले में नौ सौ से अधिक पदों पर निजी नियोक्ताओं ने रोजगार प्रदान करने मेले में शिरकत की । इस मेले का शुभारंभ जिला पंचायत अध्यक्ष देवचंद मातलाम एवं जिला पंचायत सीईओ डी एन कश्यप ने किया। इस मेले के प्रति युवाओं में बहुत उत्साह दिखा। यहां 12 सौ से अधिक युवा मेले में सम्मिलित होने के लिए जिले के विभिन्न स्थानों से आये थे। मेले में 12 निजी नियोक्ताओं ने इस मेले में रोजगार प्रदान करने के लिए नौ सौ से अधिक पदों के साथ शामिल हुए। इस मेले में इन नियोक्ताओं को 815 युवाओं के आवेदन मेले स्थल पर प्राप्त हुए। मेले में आये युवाओं के लिए स्वल्पाहार के साथ कोविड-19 का ऑन स्पाॅट परिक्षण का भी प्रबंध किया गया साथ ही मास्क एवं सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करना अनिवार्य किया गया था। कुल 19 लोगो का कोरोना टेस्ट स्थल पर किया गया जिसमें सभी की रिपोर्ट कोविड नेगेटिव प्राप्त हुई। इस मेले में कुल 815 आवेदन विभिन्न नियोजकों को प्राप्त हुए। जिसमें से अलर्ट एसजीएस प्रा लि रायपुर को 211, सेंट जेवियर्स स्कूल कोण्डागांव में शिक्षक हेतु 08 आवेदन, आदेश्वर पब्लिक स्कूल कोण्डागांव को 98, डी.ए.व्ही देवखरगांव के लिए 66, डी.ए.व्ही माकड़ी के लिए 62, दंतेश्वरी बजाज शोरूम कोण्डागांव को 08, मैत्री एजुकेशन सोसायटी दुर्ग को नर्सिंग हेतु 43, प्रथम एजूकेशन फाउण्डेशन को ट्रेनिंग के लिए 155, आहुजा आटो मोबाइल के लिए 45, स्काई आटो मोबाइल को 31, एवं दंतेश्वरी होण्डा कोण्डागांव को 88 आवेदन प्राप्त हुए।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष देवचन्द मातलाम ने मेले में आये युवाओं को संबोंधित करते हुए कहा कि कोरोनाकाल में लाॅक डाउन हो जाने से कई लोगों को रोजगार से वंचित होना पड़ा है ऐसे में राज्य शासन एवं जिला प्रशासन ने मिलकर दस हजार से अधिक रोजगार जिले में सृजन करने की योजना तैयार की गई है। युवा साथी अधिक से अधिक संख्या में इन अवसरों का लाभ अवश्य उठायें ।
 

BIG BREAKING : अश्लील वीडियो चैट वायरल होने के बाद शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

BIG BREAKING : अश्लील वीडियो चैट वायरल होने के बाद शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

कोंडागांवयुवती के साथ अश्लील वीडियो चैट वायरल होने के बाद कोंडागांव के शहर कांग्रेस अध्यक्ष जितेंद्र दुबे ने इस्तीफा सौंप दिया है।

पढ़ें  : BIG BREAKING : रायपुर के मेकाहारा में कांस्टेबल और डॉक्टर के बीच झड़प मामले में स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव का आया बड़ा बयान 

हालांकि अपने इस्तीफे ने उन्होंने अपने इस्तीफे का कारण निजी बताया है। लेकिन जो वीडियो वायरल हुआ था, इसमें जितेंद्र दुबे नजर आ रहे थे।

पढ़ें : बड़ी खबर : राजधानी में होने वाले क्रिकेट सीरिज हेतु स्टेडियम और खिलाड़ियों की सुरक्षा का जिम्मा दिया गया इन्हें, पुलिस प्रशासन हुई तैयार 


वहीं ये वीडियो वायरल होने के बाद उन्होंने इसकी कोई भी शिकायत पुलिस से अब तक नहीं की है। ये पूरा वीडियो पिछले दो दिनों से जमकर वायरल हो रहा था और इस मामले में पार्टी की खूब फजीहत हो रही है। अपने इस इस्तीफे में उन्होंने तारीख भी 22 फरवरी की लिखी है।

पढ़ें : BIG BREAKING : कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी, सीएम बघेल ने कही बड़ी बात 


ये इस्तीफा उन्होंने जिला कांग्रेस अध्यक्ष झुमुकलाल दीवान को सौंपा है। इस संबंध में झुमुकलाल दीवान का कहना है कि वीडियो वायरल होने के बाद मैं कुछ सवाल करता उससे पहले ही जितेंद्र दुबे ने इस्तीफा सौंप दिया।

 बड़ी खबर छत्तीसगढ़: सर्चिंग पर निकले जवान ने खुद को मारी गोली, मौके पर ही हुई जवान की मौत

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: सर्चिंग पर निकले जवान ने खुद को मारी गोली, मौके पर ही हुई जवान की मौत

कोंडागांव। उरन्दाबेड़ा बढ़गई भोंगापाल के जंगलों में गश्त के दौरान ITBP के एक जवान ने खुद को गोली मार ली है। गोली लगने से जवान की मौके पर ही मौत हो गयी है। 

पढ़िए पूरी खबर-
जानकारी के मुताबिक जवान सर्चिंग पर निकला हुआ था, इसी दौरान उसने अपनी सर्विस गन से खुद को गोली मार ली। मृतक जवान यूपी का रहने वाला है और केशकाल के उरन्दाबेड़ा थाने में पदस्थ था। आज ही वो उरन्दाबेड़ा, बढगई, भोंगापाल के जंगलों में गश्त के लिए लिए निकला था। इस दौरान अचानक उसने खुद को गोली मार ली। गोली लगने के बाद मौके पर ही जवान की मौत हो गयी।

जवानों के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से वो परिवारिक विवाद की वजह से परेशान रह रहा था। हालांकि आत्महत्या उसने आज किस वजह से की, ये अभी मालूम नहीं चल पाया है। जवान की आत्महत्या के बाद जवान के सकते में आ गये।
 बड़ी खबर: युवती का आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर दुष्कर्म और रकम ऐंठने वाले 2 आरोपी गिरफ्तार

बड़ी खबर: युवती का आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर दुष्कर्म और रकम ऐंठने वाले 2 आरोपी गिरफ्तार

कोण्डागांव। जिला के केशकाल थाना क्षेत्रान्तर्गत दो युवकों दीपंकर विश्वास व वेंकट विजय किशोर द्वारा एक युवती का आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करते हुए, 50 हजार रुपए ऐंठने के बाद युवती के साथ दुष्कर्म करने के मामले में पीडि़ता की शिकायत पर केशकाल पुलिस द्वारा इसमें संलिप्त दोनो आरोपियों को बीती रात गिरफ्तार किया गया है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार केशकाल थाना क्षेत्र अंतर्गत बोरगांव के निवासी दीपंकर विश्वास पिता हीरेन्द्र विश्वास उम्र 31 वर्ष व लेंकट विजय किशोर पिता प्रभुराम उम्र 40 वर्ष इन दोनों युवकों ने कुछ दिन पहले एक युवती की आपत्तिजनक वीडियो बनाई थी। जिसके बाद पीडि़ता को वीडियो भेज कर ब्लैकमेल करते हुए फिरौती की मांग कर रहे थे। पीडि़ता ने डर के कारण अपने एक दोस्त की मदद से आरोपियों को 50 हजार रुपए भी दे दिए थे, इसके बाद भी आरोपी बाज नही आये। युवती को कमरे में अकेला देख कर नाजायज फायदा उठाते हुए दोनो ही दोनो आरोपी युवकों ने डरा-धमका कर बारी-बारी से युवती के साथ दुष्कर्म किया।

केशकाल एसडीओपी अमित पटेल ने बताया कि बीती रात पीडि़ता ने केशकाल थाने में आकर दो युवकों द्वारा उसे ब्लैकमेल करने व दुष्कर्म करने के सम्बंध में रिपोर्ट दर्ज करवाया था। जिस पर तत्काल एफआईए दर्ज करते हुए दोनो ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में धारा 342, 376 व 384 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।
+ Load More