कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
परवरिश के नाम पर ले गए बालिका, फिर जबरन करा दी शादी, आरोपी पिता-पुत्र पर एफआईआर

परवरिश के नाम पर ले गए बालिका, फिर जबरन करा दी शादी, आरोपी पिता-पुत्र पर एफआईआर

रायगढ़। नाबालिग बालिका की मां ने सुंदरगढ उडिसा के रहने वाले व्यक्ति पर उसकी बेटी की परवरिश करने के नाम पर अपने घर ले जाकर घर के घरेलू काम कराने और उसकी शादी जबरन अपने बेटे के साथ कर दिये जाने की रिपोर्ट 15 मई को दर्ज कराई थी।
रिपोर्टकर्ता ने बताया कि वह रोजी मजदूरी कर अपने बच्चों का पालन पोषण कर रही है। करीब 4 माह पहले सुन्दरगढ़, ओडिशा में रहने वाला जाति समाज का परिचित व्यक्ति उसकी 15 साल की बेटी को अपने साथ ले गया था। उसने कहा था कि बेटी को अच्छे से रखूंगा, घर का काम करेगी। महिला ने अपने परिवारवालों से सलाह लेकर जान परिचित होने के कारण उसके साथ बेटी भेज दी। करीब 2 माह बाद अपने रिश्तेदार के साथ बेटी को देखने सुंदरगढ़ ओडिशा गई तो उस घर में उससे बहुत ज्यादा घरेलू काम कराया जा रहा था, यही नहीं बालिका की शादी उस व्यक्ति ने अपने 20 साल के बेटे के साथ करवा दी थी। वह भी बालिका और इनके जानकारी बगैर। महिला ने अपनी बेटी को अपने साथ लैलूंगा ले जाना कहा तो उसे झगड़ा कर भगा दिया। महिला ने बेटी का शोषण किये जाने के संबंध में थाना लैलूंगा में रिपोर्ट दर्ज कराने पर आरोपी पिता-पुत्र के विरूद्ध अप.क्र. 132/2021 धारा 370,370(ए) भादवि दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। वहीं थाना प्रभारी लैलूंगा पतासाजी, गिरफ्तारी के लिए रवाना हो गए हैं।
 

नाबालिग बालिका को बहला-फुसलाकर भगा ले गया, अपचारी बालक न्यायिक अभिरक्षा में

नाबालिग बालिका को बहला-फुसलाकर भगा ले गया, अपचारी बालक न्यायिक अभिरक्षा में

रायगढ़। पुलिस चौकी जूटमिल में 14 मई को नाबालिग बालिका के परिजन ने बालिका को बहला-फुसलाकर ले जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई। बालिका के परिजन ने संदेह बताया कि बरगढ़ ओडिशा में रहने वाला उसके हम उम्र का बालक बहला फुसलाकर ले गया होगा। बताया कि बालक के रिश्तेदार गांव में रहते हैं, जिनके घर बालक का आना जाना था, उसी बालक पर बालिका को साथ ले जाने का संदेह है।
रिपोर्ट पर थाना कोतवाली (चौकी जूटमिल) में अप.क्र. 643/2021 धारा 363 भादवि दर्ज कर विवेचना में लिया गया। जूटमिल थाना प्रभारी निरीक्षक अमित शुक्ला ने चौकी से उप निरीक्षक थानूराम नायक के हमराह महिला स्टाफ के साथ संदेही एवं बालिका की पतासाजी के लिये बरगढ़ ओडिशा रवाना किया गया, संदेही के घर से बालिका को दस्तयाब कर चौकी लाया गया। बालिका का चाईल्ड लाईन व महिला पुलिस अधिकारी के पास कथन कराया गया पश्चात डॉक्टरी मुलाहिजा पर प्रकरण में आरोपी के विरूद्ध धारा 366, 376 भादवि 6 पास्को एक्ट जोड़ी गई। उल्लंघनकारी बालक को आज किशोर न्याय बोर्ड न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है तथा बालिका उसके परिजनों के सुपुर्द की गई है।
 

पिता की डांट से पैदल ही घर से निकल गया जिद्दी बालक, इन्होने समझा-बुझाकर कर पहुंचाया घर

पिता की डांट से पैदल ही घर से निकल गया जिद्दी बालक, इन्होने समझा-बुझाकर कर पहुंचाया घर

रायगढ़। दोपहर डॉयल 112 घरघोड़ा ईआरवी को कारगिल चौक बस स्टैंड घरघोड़ा के पास अकेले घूम रहे बालक के लिये मिसिंग चाईल्ड का इवेंट मिला। इवेंट पर मौके पर पहुंचे आरक्षक मोहन भोई और वाहन चालक जनार सिंह को बालक मिला, जिससे पूछताछ करने पर अपना नाम अनीस उरांव पिता बृजलाल उरांव उम्र 11 वर्ष निवासी गोढ़ी थाना तमनार बताया। स्टाफ लॉकडाउन में अकेले बाहर घूमने का कारण पूछने पर बालक घरवाले खाना नहीं देते हैं, इसलिए रायगढ़ जा रहा हूं बताया। तब डायल 112 स्टाफ ने आपके माता-पिता को समझायेंगे कहकर गाड़ी में घर जाने के लिये बैठने बोले। तब बालक वापस घर नहीं जाने की जिद करने लगा। बालक को भूखा जान डॉयल 112 स्टाफ द्वारा खाना खिलाया गया और उसे घर जाने के लिये मनाकर उसके घर ले गये। बालक की मां को बालक के घर से जाने की जानकारी नहीं थी। उसका पिता उसे घर से जाने पर डांट फटकार कर रहा था, जिसे डॉयल 112 स्टाफ कड़े शब्दों में बालक से डांट फटकार करने से मना किए और उसकी देखभाल करने की हिदायत दिए।  

चालाकी से खींच ली युवती की अंतरंग फोटो, फिर करने लगा ब्लैकमेल

चालाकी से खींच ली युवती की अंतरंग फोटो, फिर करने लगा ब्लैकमेल

रायगढ़। पुलिस चौकी जूटमिल क्षेत्र में रहने वाली युवती ने रिपोर्ट दर्ज कराई गई है, कि 30 वर्षीय कृष्णा साहू ने चोरी छिपे मोबाईल पर अंतरंग तस्वीरें खींच कर वायरल करने की धमकी देकर शारीरिक संबंध बनाने को बाध्य किया। आरोपी के विरूद्ध थाना कोतवाली में धारा 376 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। वहीं मोबाईल जप्त किया गया है, साक्ष्य के आधार पर प्रकरण में आईटी एक्ट की धारा जोड़ी जाएगी। पीड़ित युवती ने बताया कि कृष्णा साहू पारिवार के लोगों की मदद करता था, अपना हितैशी मानकर उससे मदद लिया करती थी। उसका घर आना जाना था और एक दिन नहाते समय अपने माबाईल पर फोटो खींच कर उस फोटो को वायरल करने की धमकी देकर शारीरिक संबंध बनाया। उसके बाद कई बार बदनाम करने की धमकी देकर उसका शारीरिक शोषण किया। आरोपी विवाहित है, पहली पत्नी को छोड़कर दूसरी पत्नी बनाया है। अपने दोस्तों को युवती को लेकर उल्टी-सीधी बातें करता और अपने एक दोस्त को युवती का फोटो व्हाटसअप भी किया, जिसे उसके दोस्त ने युवती को दिखाया। तब युवती अपनी मां को घटना बताई और पुलिस चौकी रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंची। थाना कोतवाली में आरोपी के विरूद्ध अपराध क्रमांक 642/2021 धारा 376 IPC दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। 

जंगल में बाघ की धमक ने उड़ाई ग्रामीणों की नींद, इस जंगल में देखे जाने की खबर

जंगल में बाघ की धमक ने उड़ाई ग्रामीणों की नींद, इस जंगल में देखे जाने की खबर

खरसिया । ग्राम देहजरी और डोमनारा के बीच बाघ को देखे जाने की बात कही जा रही है। हालांकि अब तक आधिकारिक तौर पर बाघ आने या उसके फुटप्रिंट देखे जाने की पुष्टि नहीं हो पाई है, फिर भी बाघ देखे जाने की खबर ने ग्रामीणों की नींद उड़ा दी है। शाम होने के बाद सभी अपने घर की खिड़की दरवाजे बंद कर दुबक जा रहे हैं।
नजदीकी जंगलों में अब तक हाथी भालू या पैंथर के देखे जाने की घटनाएं प्रकाश में आई हैं, परंतु इस बार लॉकडाउन के सन्नाटे में जंगल के राजा बाघ को देखे जाने की घटना ने ग्रामवासियों की नींद उड़ा दी है। ग्रामिणों की मानें तो जिस ग्रामीण ने रात के अंधेरे में टार्च की रोशनी से लायन किंग को देखा तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई और वह घबराकर गांव आया। घटना बुधवार रात की बताई जा रही है।
संभावनाएं इसलिए भी जताई जा रही है कि पड़ोसी प्रांत उड़ीसा के सरहदी इलाकों से लगे जंगलों में पूर्व में कई बार बाघ जैसे जानवरों के फुटप्रिंट देखे जाने की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। हालांकि अब तक बाघ होने का खुलासा नहीं हो पाया है, परंतु इस घटना ने ग्रामीणों की परेशानी बढ़ा दी है।
बताया जा रहा है कि खरसिया थाना क्षेत्र की ग्रामपंचायत देहजरी और डोमनारा के बीच सड़क में एक बाघ को देखा गया था। इस बात में कितनी सच्चाई है, इसका खुलासा तो जांच के बाद ही हो पाएगा। बता दें ग्राम देहजरी के निवासी मोटर डनसेना बुधवार की रात 10-11 बजे के बीच दिशा-मैदान के लिए टॉर्च देकर निकला था। ऐडू चौक के पास सड़क में टार्च की रोशनी से उसने एक बाघ को देखा तो उसके होश उड़ गए, डर के मारे वह किसी तरह गांव पहुंचा और ग्रामवासियों को घबराते हए बताया।


रेंजर ने कहा जांच कराएंगे :-
इस संबंध में जब खरसिया रेंजर गोकुल प्रसाद यादव से बात की तो उन्होंने कहा कि ऐसा संभव तो नहीं है, परंतु दावे के साथ कुछ कहा नहीं जा सकता। इस मामले की जांच करानी पड़ेगी।
 

मदर्स डे विशेष : बच्चों को दूसरों के भरोसे छोड़ संक्रमण रोकने में जुटी माताएँ

मदर्स डे विशेष : बच्चों को दूसरों के भरोसे छोड़ संक्रमण रोकने में जुटी माताएँ

रायगढ़ । मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे यानी मातृत्व दिवस मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य मां की निःस्वार्थ सेवा और प्यार के बदले उन्हें सम्मान और धन्यवाद देने के लिए लोगों को जागरूक करना है। हालांकि, कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के चलते इस साल भी मदर्स डे के जश्न पर व्यापक असर पड़ने वाला है क्योंकि महामारी की दूसरी लहर के चलते लॉकडाउन जो है।
मदर्स डे पर हम उन पांच कोरोना वॉरियर्स मां और उनके बच्चों के मन की बात लेकर आए हैं कि कैसे कोरोना जैसी आपदा में समाज की माताएं अपना सबकुछ दांव पर लगाकर मानव जीवन की सेवा में लगी हैं। ऐसे में वह केवल अपने बच्चों की मां न होकर एक व्यापक दायरा समेट लेती हैं।
 डॉ. जया साहू : मां की जरूरत घर से ज्यादा समाज को :-
मेडिकल कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. जया साहू हाल में कोविड अस्पताल से तीसरी बार ड्यूटी से लौटी हैं। 14 दिन घर परिवार से बिल्कुल दूर फिर 7 दिन का हताश करने वाला क्वारंटाइन मन को बोझिल कर देता है क्योंकि घर में बेटा संस्कार और बेटी संस्कृति जो है। शुरुआत में तो बच्चे भी डर गए थे क्योंकि मां और पापा (स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. टीके साहू) अक्सर अस्पताल में ही रहते। इसी दौराना बेटे का संक्रमित होना, मां की कोविड ड्यूटी और पिता का शासकीय कार्य से बाहर रहना बच्चों में खौफ पैदा कर गया। ऐसी विषम परिस्थिति में डॉ. जया ने हिम्मत नहीं हारी, बच्चों को समझाती और यह डर निकालती। बेटी तो अब भी सोते समय मास्क पहनती है। बेटा बड़ा है इसलिए अब समझदार हो गया है वो कहता है कि मां-पिता की जरूरत घर से ज्यादा लोगों को है।
डॉ. जया कहती हैं कि दोनों बच्चे मुझसे बहुत करीब हैं, शुरुआत में बहुत दुख हुआ पर इस कोरोना ड्यूटी ने एक नया अनुभव दिया है। ड्यूटी के दौरान मन में अजीब सी दहशत होती है पर उसके बाद अजीब सा सुकून, इसे शब्दों में बयां करना कठिन है।
00 नर्स सुनैना : सकारात्मकता से जीतती हर पड़ाव :-
मेडिकल कॉलेज की स्टाफ नर्स सुनैना विशाल मसीह कोविड हॉस्टिपल में पेशेंट केयर रेड जोन से ड्यूटी करके लौटेने के बाद संक्रमित हो गई हैं। उनसे पति भी संक्रमित हुए हैं दोनों होम आइसोलेशन में हैं। उनकी 4 साल की बेटी आव्या उनसे दूर परिजनों के पास है, बेटी अपनी मां से हर बार कहती है कि लॉकडाउन में सबकी मम्मी तो घर में रहती हैं आप क्यों बाहर जाती हैं। बाहर कोरोना है मत जाइए । डॉक्टर्स संभाल लेंगे आप मत जाओ।
बकौल सुनैना: छोटे बच्चों को छोड़कर जाना मुश्किल होता है। शुरू में आव्या के मन में कोरोना फेयरी टेल वाला दानव था पर अब उसे हमने समझा दिया है पर मिस तो करते हैं। मैं पेंटिंग भी करती हूं जिससे उसको समझाने में मदद मिली। मैंने अस्पताल में देखा है संक्रमित मरीज पूछते हैं कि क्या वे बच जाएंगे, उनके मन में भय है कि कोरोना हुआ तो मर जाएंगे पर ऐसा नहीं है लोग भ्रम न पालें। हम उनको लगातार समझाते हैं कि आप स्वस्थ हो जाएगें। लोग सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें।
 

इस गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर लगाई पाबन्दी, नहीँ मानने पर होगी पुलिस कार्यवाही

इस गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर लगाई पाबन्दी, नहीँ मानने पर होगी पुलिस कार्यवाही

खरसिया। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर 14 अप्रैल से पूरे रायगढ जिले में लॉकडाउन के बाद लोगो का घरों से निकलना लगभग बंद है। वहीं शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगातर पॉजिटिव मरीज की पहचान होने से वायरस से बचाव को लेकर लोग सतर्कता भी बरत रहे हैं।
खरसिया ब्लॉक के ग्राम जबलपुर में गांव के युवाओं ने व्हाट्सएप्प ग्रुप बनाकर अपनी अपनी राय व्यक्त करते हुए पंचायत की सहमति व समर्थन से संक्रमण से बचाव को लेकर सामूहिक फैसला कर गांव में बाहरी लोगों का प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है। इस दौरान पंचायत के आदेशानुसार युवाओं ने गांव के मुख्य के सामने सूचना बोर्ड लगाकर बाहरी लोगों के गांव में प्रवेश नहीं करने की अपील की है। वहीं बाहरी व्यक्ति के गांव में प्रवेश करने पर 1 हजार रुपए का अर्थदंड निर्धारित किया गया है और भूपदेवपुर थाने में सूचना देने की बात कही है।
ग्राम पंचायत जबलपुर के सरपंच डोरीलाल राठिया ने बताया कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए गांव में लोगों से चर्चा करने के बाद गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई। ग्राम जबलपुर की जनसंख्या करीब 1 हजार है, और उन्होंने कहा कि कोरोना की दहशत से ग्रामवासियों और पंचायत ने सर्वसम्मति से युवाओं के इस फैसले का समर्थन किया है।

पुलिस टीम गांव का भ्रमण कर लोगों को दे रही हिदायत :-
पूरे जिले में लॉकडाउन के बाद पुलिस टीम भी सक्रिय हो गई है। शहर के मुख्य मार्ग में पुलिस जवान तैनात हैं। इसके साथ ही भूपदेवपुर थाना के जवान गांव-गांव में भ्रमण कर लोगों को घरों से अनावश्यक ना निकलने की समझाइश दे रहे हैं।

प्रोटोकॉल का कर रहे पालन :-
कोरोना से बचाव को लेकर जबलपुर के युवाओं ने जागरुकता दिखाई है। ग्रामीणों ने सामूहिक फैसला कर बीमारी से बचने गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया है। नियम का पालन न करने पर दंडित करने की बात कही है। हालांकि गांव के किसी व्यक्ति को आवश्यक काम आने पर आने- जाने दिया जा रहा है, वहीं कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है।
 

 सूने मकान का ताला तोड़कर नगदी व अन्य सामान चोरी,अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज

सूने मकान का ताला तोड़कर नगदी व अन्य सामान चोरी,अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज

रायपुर। सूने मकान का ताला तोड़कर नगदी व अन्य सामान चोरी कर लेने की रिपोर्ट धमधा थाने में दर्ज करायी गई है। 

मिली जानकारी के अनुसार वार्ड नंबर 08 सोनकरपारा धमधा जिला दुर्ग निवासी  शिव कुमार राठौर 46 वर्ष ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है कि प्रार्थी शासकीय प्राथमिक शाला डंगनिया में प्रधान पाठक के पद पर कार्यरत है। लॉकडाउन के दौरान अपने गृह ग्राम कन्हाईबंद थाना नैला जिला जांजगीर गया हुआ था। किसी ने 24-25 अप्रैल की दरम्यान मकान का ताला तोड़कर नगदी 10 हजार रुपये तथा मिक्सी बजाज कंपनी का,एफएम रेडियों  व किराना सामान एवं गाड़ी  का आरसी बुक ,पेनकार्ड ,आधार कार्ड,व अन्य सामान चोरी कर लिया है। घटना की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ धारा 380,457 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 
छत्तीसगढ़ के इस जिले के कोविड केयर हॉस्पिटल का कारनामा, जीवित महिला को बताया मृत

छत्तीसगढ़ के इस जिले के कोविड केयर हॉस्पिटल का कारनामा, जीवित महिला को बताया मृत

खरसिया। जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था किस कदर चरमराई हुई हैं, इसका जीता जागता उदाहरण आज केआई टी कोविड केयर हॉस्पिटल रायगढ़ ने प्रस्तुत कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम सोनबरसा निवासी श्रीमती हरिवंश कुंअर 45 वर्ष इस अस्पताल में भर्ती है। वहीं जिंदा भी है, जबकि 25 अप्रैल रविवार को अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें मृत घोषित करते हुए डेथ सर्टिफिकेट जारी कर दिया है। साथ ही कहा है कि कल सुबह 11:00 बजे तक डेड बॉडी लेकर चले जाना!
ऐसे में स्वयं महिला सहित उनके अटेंडर एवं परिवार सकते में आ गए हैं। वहीं उन्होंने मृत बताई हुई महिला का वीडियो बनाकर हमें भेजा है, जिसे हम आपके सामने प्रस्तुत कर रहे हैं। अब आपको समझना होगा कि जिन डाक्टरों को हम भगवान मानते हैं, वे भी प्रदेश एवं जिले की चरमराई हुई स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर किस कदर पगला गए हैं। लगता है वैश्विक महामारी ने सीधे इनके दिमाग पर असर डाल दिया है।

 


 

रायगढ़ जिले में 5 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

रायगढ़ जिले में 5 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

रायगढ़। जिले में 5 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। पहले 27 अप्रैल तक लॉकडाउन समाप्त होने वाला था, जिसे अब 5 मई तक बढ़ाया गया है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर भीम सिंह ने 6 मई सुबह 6:00 बजे तक के लिए रायगढ़ जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। बता दें जिले में रोजाना लगभग 1 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित नए मरीजों की पहचान हो रही है, ऐसे में जिले को कन्टेन्टमेंट जोन बनाते हुए लॉकडाउन को बढ़ाया गया है। 

इस फैक्ट्री  के आधा दर्जन अधिकारियों को कोरोना, प्लांट परिसर में मचा हड़कंप

इस फैक्ट्री के आधा दर्जन अधिकारियों को कोरोना, प्लांट परिसर में मचा हड़कंप

रायगढ। कोरोना का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक कोरोना का कहर शहरी क्षेत्रों में अधिक था, लेकिन पिछले कुछ दिनों से इसका रुख अब कारखानों की ओर मुड़ गया है। इसी कड़ी में भूपदेवपुर क्षेत्र के नहरपाली स्थित जेएसडब्ल्यू मोनेट में कोरोना का बड़ा विस्फोट हुआ है। इस बार कम्पनी के कर्मचारी नहीं बल्कि अधिकारी वर्ग गिरफ्त में आए हैं। एडमिन बिल्डिंग को निशाने पर लेते हुए एचआर हेड समेत आधा दर्जन अधिकारी पॉजिटिव हो गए हैं। बताया जा रहा है कि पॉजिटिव आए सभी अधिकारियों को कोई तकलीफ नही है, सबकी हालात सामान्य ही है। बहरहाल मामले की गंभीरता को देखते हुए पॉजिटिव अधिकारियों को कंपनी के गेस्ट हाउस में ही आइसोलेट कर दिया गया है। 

 छत्तीसगढ़: घर-घर हुई माता की आराधना, देवी मंदिरों में रहा भक्तों का अभाव

छत्तीसगढ़: घर-घर हुई माता की आराधना, देवी मंदिरों में रहा भक्तों का अभाव

खरसिया। नवरात्रों में माता के मंदिरों में भक्तों की लंबी कतार दिखाई देती थी। वहीं संक्रमण काल के कारण इस बार सभी देवी मंदिर सूने-सूने दिखाई दे रहे हैं। हालांकि मंदिरों तथा घर-घर में माता रानी की आराधना भक्तिपूर्वक की गई।

बोतल्दा की पहाड़ियों में स्थित ग्राम उल्दा का माँवैष्णो देवी दरबार हूबहू जम्मू के प्रसिद्ध माता वैष्णोदेवी के दरबार की तरह निर्मित है। यहां दूर-दूर से आये भक्तों का मेला प्रत्येक नवरात्रि में देखा जाता है, परंतु इस बार नजदीकी इक्के-दुक्के भक्त ही पहुंच रहे हैं। हालांकि पूरे विधि-विधान के साथ पुजारियों द्वारा यहां सुबह शाम माता की आरती उतारी जाती है। वहीं भक्तों ने मनोकामना दीप भी प्रज्वलित किए हुए हैं। मान्यता है कि माता रानी के दरबार में ज्योति कलश प्रज्वलित करने से मनोकामना पूर्ण हो जाती है।

इसी तरह माँ बेरी वाली, माँ देवसर वाली, परेवा पहाड़ पर स्थित माँ काली, चंदन तालाब पर स्थित माँ गुड़गांववाली, माँ भद्रकाली, चौकी परिसर स्थित माता धामा देवी सहित सभी मंदिरों में भक्तों का अभाव रहा। परंतु घर-घर में गृहणियों ने माता की मंगल चौकी सजा कर पूरे नवरात्र, पूरी श्रद्धा के साथ उपवास एवं आराधना की। वहीं कई घरों में महाअष्टमी के दिन कन्या भोज संपन्न हुआ, तो अनेक घरों में महानवमी के दिन कन्या भोज करवा कर नवरात्रि की आराधना पूर्ण होगी।
 
 छत्तीसगढ़ : अब ये विधायक आए कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया पर दी जानकारी

छत्तीसगढ़ : अब ये विधायक आए कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया पर दी जानकारी

रायगढ़।  रायगढ़ से कांग्रेस विधायक प्रकाश नायक कोरोना संक्रमण की जद में आ गए है। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर इसकी जानकारी दी है।
अपने फेसबुक वॉल से उन्होंने पोस्ट करते हुए लिखा कि -मैं भी कोविड-19 से संक्रमित हो गया हूं कृपया सब सावधानी बरतें, शासन की गाइडलाइन का पालन करें।
 
कोरोना संक्रमण से छत्तीसगढ़ के इस कांग्रेस नेता का हुआ निधन

कोरोना संक्रमण से छत्तीसगढ़ के इस कांग्रेस नेता का हुआ निधन

रायगढ़। प्रदेश में कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। हर दिन हजारों की संख्या में नए संक्रमित सामने आ रहे है, वहीं रोजाना सैकड़ों मौतें दर्ज हो रही है। इसी बीच रायगढ़ जिले के एक कांग्रेसी नेता की कोरोना संक्रमण से मौत की खबर आई है।
रायगढ़ जिला पंचायत के उपाध्यक्ष व धरमजयगढ़ विधानसभा के कद्दावर आदिवासी नेता रोहित प्रताप राठिया की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। इनका कोविड पॉजिटिव पाए जाने के बाद रायगढ़ हॉस्पिटल में इलाज़ चल रहा था। मौत की खबर सुनते ही शुभचिंतकों, पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर दौड़ गई है।
 

आम हो या खास कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने वालों पर होगी कार्रवाई : एसपी संतोष सिंह

आम हो या खास कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने वालों पर होगी कार्रवाई : एसपी संतोष सिंह

खरसिया। तेजी से फैल रही कोरोना महामारी को भी लोग हल्के में ले रहे हैं। वहीं पुलिस ने पूरी मुस्तैदी के साथ संक्रमण की चैन तोड़ने की कोशिश की जा रही है। ऐसे में लॉकडाउन के दौरान बेवजह बाहर घूम रहे 126 लोगों पर चालानी कार्रवाई की गई। वहीं लॉकडाउन के उल्लंघन को लेकर 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है।


बता दें पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देश पर खरसिया पुलिस प्रशासन ने कार्रवाईयां तेज कर दी हैं। ऐसे में नियमों की अनदेखी करने वाले हर किसी पर कार्रवाई कर यह संदेश दिया जा रहा है कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा, चाहे वह आम हो या खास। प्रदेश में संक्रमण की स्थिति बेकाबू होती जा रही है। ऐसे में खुद को सुरक्षित रखें, ताकि आपके परिवार सहित देश-प्रदेशवासियों को सुरक्षित रखा जा सके।


एसपी संतोष सिंह ने सड़कों पर घूमने वाले हर किसी से पूछताछ कर परमिटेड पर्सन तथा इमरजेंसी में बाजार आने वालों के अलावा हर किसी पर चालानी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में एसडीओपी पीम्ताबर पटेल की टीम भोर से देर रात तक गली मोहल्लों और नगर के प्रवेश द्वार पर डटी देखी जा रही है। वहीं पुलिस जवानों ने चौबिसों घंटे चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है।

 सायबर सेल की सक्रियता से ऑनलाइन ठगी के लाखों रुपये मिले वापस

सायबर सेल की सक्रियता से ऑनलाइन ठगी के लाखों रुपये मिले वापस

रायगढ़। एसपी संतोष सिंह की पहल पर ठगी का शिकार हुए रिटायर्ड एएसआई के बैंक खाते में 4.69 लाख रूपए पेमेंट गेट वे PayTM से वापस कर दिए गए हैं।

जानकारी के अनुसार पिछले साल माह सितम्बर 2020 को रिटायर्ड एएसआई फकीर चंद सिदार को अज्ञात कॉलर से पेंशन के संबंध में जानकारी देने का झांसा देकर उनसे ए.टी.एम. कार्ड का नम्बर पूछकर 2 और 3 सितंबर 20 को 6 लाख 44 हजार रूपए और उनकी पत्नी के खाते से 3,78,000 का ऑनलाइन ट्रांजैक्शन किया गया था। पत्नी का बैंक खाता ज्वाइंट एकाउंट था। 

इस प्रकार एएसआई फकीरचंद सिदार से कुल 10,22,000 की ऑनलाइन ठगी हुई थी। घटना के संबंध में थाना पुसौर में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज किया गया था। पुसौर पुलिस और सायबर सेल संदिग्धों के मोबाइल कॉल रिकॉर्डध् सीडीआर, एनालिसिस कर झारखंड से संदेही खिरोधर महतो उर्फ मिथुन पिता महरु महतो उम्र 22 वर्ष, श्रवण कर्मकार पिता झगरू कर्मकार 28 वर्ष और अपचारी बालक सभी निवासी ग्राम ठाकुरचक थाना निनियाघट जिला गिरिडीह झारखंड को पूछताछ कर रायगढ़ लाया गया। आरोपियों से प्रात कबूल कर इनके गिरोह का मुखिया आरोपी लक्ष्मण मंडल को बताया, जो गिरफ्तारी के भय से लगातार लुकछिप रहा है। पुसौर पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों का चालान न्यायालय प्रस्तुत किया जा चुका है।

अपराध कायमी के बाद से पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने सायबर सेल को अज्ञात आरोपियों से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में जितने पेमेंट गेट-वे का उपयोग कर रूपए प्राप्त किये हैं, उन्हें होल्ड कराने और फाल्स ट्रांजेक्शन होने का लेटर सभी गेट-वे को लिखकर रूपए वापस करने की प्रक्रिया तेज करने का निर्देश दिया गया। 

सायबर सेल से पुलिस अधीक्षक ने बैंक व पेमेंट गेट को लेटर ई-मेल किया गया। पेमेंट गेट-वे PayTM से एफआईआर व पुलिस जांच के आवश्यक दस्तावेजों की मांग की गई। जिसे सायबर सेल ने उपलबध कराया, अपनी पूरी जांच के बाद PayTM गेट-वे से भी ट्रांजेक्शन को फाल्स पाए और फरवरी 2021 को पीड़ित एएसआई के खाते में उस गेट-वे से ट्रांजेक्शन हुए 4,69,000 रूपए वापस कर दिया गया है। अन्य गेट-वे अपनी जांच प्रक्रिया पूरी कर रहे हैं। रिटायर्ड एएसआई फकीरचंद सिदार ने बताया कि उनको खाते में रूपए आने का मैसेज नहीं आया था तो जानकारी नहीं हुई। अप्रैल माह में जानकारी होने पर सायबर सेल जाकर पता किया। फकीरचंद सिदार ने यह भी बताया कि पुलिस अधीक्षक से उन्हें बैंक लोकपाल में शिकायत करने की सलाह दिये थे। जिस पर वे वकील के माध्यम से बैंक लोकपाल, रायपुर व उपभोक्ता फोरम रायगढ़ में शिकायत किए हैं, जहां जांच प्रक्रियाधीन है।

 

आईपीएल सट्टेबाजी की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, 4 गिरफ्तार, नकदी सहित 15 लाख की सामग्री जप्त

आईपीएल सट्टेबाजी की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, 4 गिरफ्तार, नकदी सहित 15 लाख की सामग्री जप्त

रायगढ़ । एसपी ने पिछली क्राइम मीटिंग में सभी थाना, चौकी प्रभारियों को आईपीएल सट्टे पर प्रभावी कार्यवाही करने के सख्त निर्देश दिए गए थे। ऐसे में सोमवार को मुखबिर द्वारा शहर के लाल टंकी रोड़ ऋषि अग्रवाल के घर पर राजस्थान रॉयल और पंजाब किंग्स के मैच के दौरान लाइव क्रिकेट सट्टा लिखे जाने की सूचना दिया गया। सूचना को पुख्ता करने टीआई कोतवाली थाने से आरक्षक ग्राहक बनाकर ऋषि अग्रवाल के घर भेजे, जिसने सूचना को पुख्ता बताया। जिसके बाद टीआई नागर हमराह प्रधान आरक्षक नंदू सारथी, आरक्षक हेम प्रकाश सोन, विनोद शर्मा, मनोज पटनायक, उत्तम सारथी और अभय यादव के साथ लाल टंकी रोड में ऋषि अग्रवाल के मकान में सट्टा रेड कार्यवाही करने दबिश दिए। कमरे अंदर राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग के मैच पर मकान मालिक ऋषि अग्रवाल और वहां मौजूद सुरेश अग्रवाल, विष्णु अग्रवाल को मोबाइल, कागज एवं रजिस्टर पर सट्टा लगाने वालों के नाम नोट करते मिले, मौके पर गवाहों के समक्ष विष्णु अग्रवाल से पैसौं का विवरण लिखा हुआ एक पर्चा, नगद 8200 रू, सुरेश अग्रवाल से उसके मोबाईल मे क्रिकेट मैच मे दाव लगाने का रिकार्ड व उससे एकत्र किये गये 22300 रू तथा ऋषि अग्रवाल से उनका LCD TV पैसे का विवरण लिखा हुआ एक रजिस्टर व 17100 रू नगद कुल 47600 रूपये जप्त किया गया है।
गिरफ्तार आरोपी विष्णु अग्रवाल पिता जगन्नाथ अग्रवाल उम्र 61 वर्ष साकिन सरलाविला थाना चक्रधरनगर रायगढ, ऋषि अग्रवाल पिता स्व तुलसी अग्रवाल उम्र 58 वर्ष साकिन लाल टंकी रोड रायगढ, सुरेश अग्रवाल पिता महावीर अग्रवाल उम्र 54 वर्ष साकिन बैकुंठपुर रायगढ से टीआई सट्टा के संबंध में कड़ी पूछताछ करने पर सक्ती, जिला जांजगीर चाम्पा के अरुण सेठ द्वारा सट्टा खिलाया जाना बताये । आरोपियों ने शहर के वसीम खान, संबलपुरी उड़ीसा निवासी प्रदीप पटेल, चांदमारी का पिंटू हलवाई, आकाश, फारुख खान, गोलू, सोनू बेरीवाल, बसंत, संदीप गुप्ता, मन्नू खान, जमीर, खरसिया का अर्जुन राठौर, विक्की अग्रवाल, सरिया का सुरेश शर्मा सट्टेबाजी में संलिप्त होना बताये , जिनका पूरा डिटेल थाना प्रभारी द्वारा नोट किया गया है।
आरोपियों से मिली जानकारी पर थाना प्रभारी कोतवाली अपने स्टाफ के साथ दूसरी रेड कार्यवाही करने शहीद चौक के पास पहुंचे। जहां कच्ची खोली सिंधी कॉलोनी थाना चक्रधरनगर क्षेत्र का रोहित बुटानी पिता मुकेश बुटानी उम्र 25 साल मोबाइल पर राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग क्रिकेट मैच पर अपने मोबाइल पर सट्टा नोट करते मिला। आरोपी रोहित बुटानी से एक वन पल्स मोबाइल नकदी रकम ₹7,200 की जप्ती की गई है। आरोपी रोहित बुटानी ने पूछताछ में रायगढ़ के सोनू, जावेद खान निवासी बीडपारा, करण चौधरी, शहबाज खान निवासी इंदिरानगर, धर्मेंद्र शर्मा गेंदू, दीपक सिंधी, चंद्री सिंधी कॉलोनी चक्रधरनगर रायगढ़ को क्रिकेट सट्टा खिलाना बताया है। इस प्रकार दोनों प्रकरणों में पुलिस टीम द्वारा 14.50 लाख रूपये के सट्टा रिकार्ड, ₹54,800 नगदी तथा मोबाइल, LCD TV एवं पिछले 3 दिनों के सट्टा पट्टी को जप्त किया गया है । आरोपियों पर थाना कोतवाली में धारा 4-क जुआ एक्ट के तहत कार्यवाही की गई है।
पुलिस अधीक्षक के निर्देशन पर टीआई कोतवाली गिरफ्तार आरोपियों के मोबाइल रिकार्ड एवं उनसे मिली जानकारी पर सट्टाखाईवाल व सट्टा लिखने वालों की पूरी जानकारी सायबर सेल से निकलवाई जा रही है। जल्द की कोतवाली सहित कई थानाक्षेत्र में क्रिकेट सट्टे पर बड़ी कार्यवाही की जाएगी।
 

पहले प्यार फिर तकरार, युवती की शिकायत पर मामला दर्ज

पहले प्यार फिर तकरार, युवती की शिकायत पर मामला दर्ज

रायगढ़ । पुसौर थानांतर्गत युवती द्वारा युवक के विरूद्ध शादी का प्रलोभन देकर शारीरिक संबंध बनाने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पीड़िता ने बताया कि एक निजी संस्थान में कार्य के दौरान अरूण कुमार भोय से परिचय हुआ। उस दौरान अरूण एम्बुलेंस वाहन में हेल्फर का काम करता था। दोनों पिछले दो वर्ष से प्रेम संबंध शारीरिक भी रखते थे। वहीं युवती ने कहा कि अरूण को शादी के बाद मिलने-जुलने को कहती तो अरूण मारने पीटने की धमकी देता और जबरन शारीरिक संबंध बनाता था। अब अरूण को शादी के लिये कहने पर वह पहचानने से भी इंकार करने लगा है। पीड़िता के लिखित आवेदन पर आरोपी के विरूद्ध धारा 506(B), 376 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। 

 राज्य शासन ने निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए जारी की संशोधित दरें

राज्य शासन ने निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए जारी की संशोधित दरें

रायपुर। राज्य शासन ने निजी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए नई दरें निर्धारित की हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 11 अप्रैल को अस्पताल संचालकों और चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज की नए दरें निर्धारित करने के निर्देश दिए थे। उनके निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने आज संशोधित दरें जारी की हैं। विभाग द्वारा जारी नए आदेश के अनुसार एन.ए.बी.एच. (National Accreditation Board of Hospitals) मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों में मॉडरेट स्थिति वाले मरीजों के इलाज के लिए प्रतिदिन 6200 रूपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। इसमें सर्पोर्टिव केयर आइसोलेशन बेड के साथ आक्सीजन एवं पीपीई किट का खर्च शामिल है।

गंभीर स्थिति वाले मरीजों के उपचार के लिए रोजाना 12 हजार रूपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। इसमें बगैर वेंटिलेटर के आईसीयू सुविधा शामिल है। अति गंभीर मरीजों के इलाज के लिए 17 हजार रूपए प्रतिदिन की दर निर्धारित की गई है। इसमें वेंटिलेटर के साथ आईसीयू सुविधा शामिल है। वहीं एन.ए.बी.एच. से गैर मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों के लिए मॉडरेट, गंभीर और अति गंभीर मरीजों के इलाज के लिए प्रतिदिन 6200 रूपए, दस हजार रूपए एवं 14 हजार रूपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। निजी अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज में होने वाला व्यय मरीज को स्वयं वहन करना होगा। 

राज्य शासन द्वारा निजी अस्पतालों में इलाज के लिए निर्धारित प्रतिदिन के शुल्क में पंजीयन शुल्क, बेड, नर्सिंग और बोर्डिंग चार्ज, सर्जन, एनेस्थेटिस्ट, डॉक्टर और कंसल्टेंट की फीस, एनेस्थेशिया, ब्लड-ट्रांसफ्यूजन, आक्सीजन, ओ.टी. चार्जेस, सर्जिकल उपकरणों का शुल्क, दवाई एवं ड्रग, मरीज के भोजन, प्रोस्थेटिक डिवाइस एवं इम्पलांट का खर्च शामिल है। मेडिकल प्रोसिजर, बेसिक रेडियोलॉजिकल इमेजिंग और एक्स-रे, सोनोग्राफी, हिमेटॉलॉजी पैथोलॉजी जैसे रेडियोलॉजी और पैथोलॉजी टेस्ट भी इनमें शामिल है। हाई-एंड रेडियोलॉजिकल डाइग्नोस्टिक, हाई-एंड हिस्टोपैथोलॉजी (बायोप्सीज) और एंडवास्ड सिरोलॉजी इन्वेस्टीगेशन्स पैकेज अलग से एड-ऑन पैकेज के रूप में उपलब्ध कराया जा सकता है। 

शासन द्वारा निर्धारित दरों में कोविड-19 की जांच, हाई-एंड मेडिसीन्स, सीटी स्कैन और एमआरआई जैसे हाई-एंड डाइग्नोस्टिक टेस्ट तथा कोविड-19 मरीज की अन्य गंभीर बीमारियों (Comorbidity) के उपचार के लिए किया जाने वाला प्रोसिजर शामिल नहीं है। अस्पताल डेड-बॉडी के स्टोरेज एवं परिवहन के लिए अधिकतम ढाई हजार रूपए ले सकेंगे। कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान राज्य शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा आईसीएमआर द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन अनिवार्य है। इनके उल्लंघन पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। राज्य शासन द्वारा निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए आदेश एपेडेमिक डिसीज एक्ट-1897 और छत्तीसगढ़ पब्लिक एक्ट-1949 के अंतर्गत जारी किया गया है। इस आदेश का उल्लंघन एपेडेमिक डिसीज एक्ट-1897 तथा छत्तीसगढ़ पब्लिक एक्ट-1949 के तहत दंडनीय होगा।
 
 बड़ी खबर: आज प्रदेश के चार जिलों में लगेगा लॉकडाउन, देखे कौन से जिले में कब तक लॉकडाउन

बड़ी खबर: आज प्रदेश के चार जिलों में लगेगा लॉकडाउन, देखे कौन से जिले में कब तक लॉकडाउन

रायपुर। में बढ़ते कारोना संक्रमण को देखते हुए कई जिलों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। बस्तर को छोड़कर लगभग सभी जिलों में लॉकडाउन एक बार फिर लौट आया है। वहीं कवर्धा जिले में आंशिक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। वहीं, प्रदेश के 20 जिलों में संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। जहां पर प्रशासन की सख्ती पहले से ज्यादा होगी।

यहां सिर्फ मेडिकल स्टोर को छोड़कर सभी दुकानों को बंद रखने का ऐलान किया गया है। सब्जी, किराना और शराब दुकानें भी लॉकडाउन के दौरान बंद हैं। मेडिकल इमरजेंसी के लिए अस्पताल खुले हैं। साथ ही वैक्सीनेशन का भी काम जारी है।

आज दोपहर 3 बजे से कोरबा में लॉकडाउन शुरू होगा
कोरबा में 21 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा
सरगुजा में 13 से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान 
गरियाबंद में 13 से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान 
जांजगीर में 13 से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान 
सूरजपुर में 13 से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान 
बिलासपुर में 14 से 21 अप्रैल लॉकडाउन का ऐलान 
रायगढ़ में 14 से 22 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान 
महासमुंद में 14 से 22 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान  
दुर्ग जिले में 6 से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी 
रायपुर में 9 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी 
कवर्धा में 9 अप्रैल से आगामी आदेश तक आंशिक लॉकडाउन जारी 
राजनांदगांव में 10 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी 
बेमेतरा में 10 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी  
बालोद में 10 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी 
बलौदाबाजार में 11 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन 
कोरिया जिले में 11 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन  
धमतरी जिले में 11 से 26 अप्रैल तक लॉकडाउन 
धमतरी जिले में 15 दिनों का सबसे लंबा लॉकडाउन  
जशपुर जिले में 11 से 18 अप्रैल तक लॉकडाउन 
मुंगेली में 14 से 21 अप्रैल तक लॉकडाउन
बलरामपुर में 14 से 25 अप्रैल तक लॉकडाउन 
गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 14 से 21 अप्रैल तक लॉकडाउन
बलरामपुर में आज से प्रशासन ने सख्ती बढ़ा दी है.. यहां सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक ही दुकानें खुलेगी।
लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : धमतरी के बाद अब इस जिले में LOCKDOWN का आदेश हुआ जारी, देखें विस्तृत आदेश

लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : धमतरी के बाद अब इस जिले में LOCKDOWN का आदेश हुआ जारी, देखें विस्तृत आदेश

रायगढ़छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर, दुर्ग, धमतरी, कोरबा और अन्य जिलों के बाद अब रायगढ़ जिला कलेक्टर ने भी जिले में लॉक डाउन का ऐलान कर दिया है | जिला कलेक्टर ने आज आदेश जारी करते हुए रायगढ़ जिले में 14 अप्रैल की सुबह 6 बजे से 22 अप्रैल की रत 12 बजे तक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है । 

कलेक्टर भीम सिंह ने जिले में टोटल लॉकडाउन का आदेश दिया है। इस दौरान जिले की सीमाएं सील रहेगी और सिर्फ मेडिकल दवाओं के संचालन को ही इजाजत होगी। सुबह 6 बजे से 8 बजे तक और शाम 5 बजे से 6.30 बजे तक दूध वितरण की इजाजत होगी।

देखें विस्तृत आदेश :-

 बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ के एक और जिले में हुआ दुकानों के खुलने व बंद होने के समय में आंशिक संशोधन

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ के एक और जिले में हुआ दुकानों के खुलने व बंद होने के समय में आंशिक संशोधन

रायगढ़। कलेक्टर भीम सिंह ने जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण व रोकथाम के लिए अनेक कदम उठाए जा रहे है। जिले के समस्त नगरीय निकायों और नगर निगम रायगढ़ के सीमा क्षेत्र के भीतर स्थित व्यापारिक प्रतिष्ठानों के संचालन के लिए सशर्त अनुमति के साथ जारी समयावधि आदेश में आंशिक संशोधन किया है।

जिसके तहत अब सभी प्रकार की स्थायी और अस्थायी दुकानें प्रातः 6 बजे से शाम 6 बजे तक खुली रहेंगी। इसी प्रकार रेस्टोरेंट, होटल, ढाबा प्रातः 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक संचालित हो सकेंगे। साथ ही इनमें इनडोर डायनिंग, टेक-अवे एवं होम डिलीवरी की सुविधा भी रात्रि 10 बजे तक ही रहेगी। यह आदेश तत्काल और आगामी आदेश पर्यन्त प्रभावशील रहेगा।

वहीं आदेश के उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, प्रतिष्ठान भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा सहपठित आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 एवं महामारी नियंत्रण अधिनियम 1897 की धारा 3 के तहत दण्डनीय होंगे।

पेट्रोल पम्प और मेडिकल स्टोर्स उपरोक्त नियंत्रण से मुक्त रहेंगे। सभी दुकानों के सामने दुकानदारों को स्वयं फ्लेक्स छपवाकर दुकानों के खुलने और बंद करने के समय-सीमा को प्रदर्शित करना होगा। सभी व्यापारियों को अपने दुकान, संस्थान में विक्रय के लिए मास्क रखना अनिवार्य होगा। ताकि बिना मास्क पहने खरीददारी करने के लिए आए ग्राहकों को सर्वप्रथम मास्क का विक्रय वितरण किया करें। तत्पश्चात अन्य वस्तुओंध्सेवाओं का विक्रय करें। प्रत्येक दुकान,संस्थान में स्वयं तथा आगंतुकों के उपयोग के लिए सैनिटाइजर रखना अनिवार्य होगा। अगर किसी बाजार या अन्य किसी क्षेत्र में कन्टेनमेंट जोन घोषित हो जाता है तो उस क्षेत्र के समस्त व्यवसाय बंद हो जाएंगे और उस क्षेत्र में कन्टेनमेंट जोन के समस्त नियमों का पालन करना होगा। यदि किसी व्यवसायी से उपरोक्त शर्तों में से किसी एक या एक से अधिक शर्तों का उल्लंघन किया जाता है, तो उसकी दुकान, संस्थान को तत्काल प्रभाव से 15 दिवस के लिए सील कर दिया जाएगा।
महिला बाल विकास विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी

महिला बाल विकास विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी

रायगढ़ । थाना खरसिया में आवेदक हितेन्द्र कुमार चौहान निवासी खरताल अड़भार की शिकायत पर मंगलवार 6 अप्रेल को मां-बेटे पर धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। जानकारी के अनुसार आवेदक हितेन्द्र कुमार द्वारा अनावेदकगण (1) लक्ष्मी देवी चौहान तथा सुरेश कुमार चौहान, निवासी रनपोता थाना हसौद जिला जांजगीर चांपा के विरूद्ध प्रेषित शिकायत पत्र जांच के लिये थाना प्रभारी खरसिया को प्राप्त हुआ। शिकायतकर्ता के अनुसार सितम्बर 2018 में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती लक्ष्मीदेवी चौहान घर आकर जिला महिला एवं बाल विकास कोरबा में भृत्य पद में इसे और इसके चचेरे भाई राहुल चौहान पिता रामप्रसाद चौहान ग्राम झारीडीह को नौकरी दिलाने का भरोसा दिलाकर 25 सितंबर 2018 से 8 जनवरी 2019 तक 72,500 रूपये ले लिए। इसके बाद लक्ष्मीदेवी और उसका पुत्र सुरेश इकरारनामा लिखकर दिए कि नौकरी नहीं लगा पाने पर 72,500 रूपये को 5 रू. ब्याज के साथ से वापस कर देंगे, पर उनके द्वारा नौकरी नहीं लगाया गया और अब पैसा वापस नहीं कर झूठे केस में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। शिकायत पत्र पर से अनावेदक मां बेटे पर थाना खरसिया में अप.क्र. 221/2021 धारा 420, 34 भादवि दर्ज कर विवेचना में लिया गया है।
 

 दिल्ली सरकार की तरह छत्तीसगढ़ सरकार भी शहीदों के परिवारों को दे 1-1 करोड: रामचंद्र शर्मा

दिल्ली सरकार की तरह छत्तीसगढ़ सरकार भी शहीदों के परिवारों को दे 1-1 करोड: रामचंद्र शर्मा

रायगढ़। नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के परिवार वालों को एक एक करोड रुपए देने की मांग पूर्व पुलिस निरीक्षक रामचंद्र शर्मा ने की है। कल के हुए दर्दनाक हादसे के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस में निरीक्षक के पद पर कार्य कर चुके रामचंद्र शर्मा ने कहा कि दिल्ली सरकार के द्वारा ड्युटी में कार्यरत पुलिसकर्मी की मौत पर उक्त पुलिस कर्मी के परिवार को एक करोड रूपए की राहत राशि दी जाती है, इसी तरह छत्तीसगढ़ सरकार को भी ड्युटी पर तैनात पुलिस कर्मी के देहांत पर एक करोड रुपए की राशि प्रदान की जानी चाहिए। शर्मा ने जोर देते हुए कहा कि केवल शहीद कहकर अन्तिम संस्कार कर देने से जिम्मेदारी पुरी नहीं मानी जायेगी क्युकी कई ऐसी घटनाएं सामने आती है जब शहीद परिवार बाद में तकलीफ पाता है और कोई सुनवाई नहीं होती या कोई पूछने वाला नहीं होता। सरकारें आती है चली जाती है पर वह परिवार दर दर भटकता है ऐसी स्थिति में परिवार को आर्थिक सहायता मजबूती से मिलना चाहिए। इस विषय पर ध्यान दिया जाना चाहिए।
 
चलायेंगे हस्ताक्षर अभियान
पूर्व पुलिस निरीक्षक रामचंद्र शर्मा ने कहा कि यदि पुलिस कर्मियों के लिए ये राशि न ते की जाती है तो वे सिविल सोसायटी के साथ मिलकर पूरे राज्य में हस्ताक्षर अभियान चलाएंगे और संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी से मांग करेगें की कम से कम नक्सली हमलों में शहीद होने वाले पुलिस के परिवार को आर्थिक सहायता के रूप में एक करोड रुपए की राशि दिए जाने का अनिवार्य प्रावधान किया जाए। शर्मा ने सिविल सोसायटी से ये अपेक्षा की है की इसमें मदद के लिए वे भी आगे आएं। इसकी शुरुआत रायगढ़ जिले से ही किए जाने की बात कही गई है।
 
 अवैध कबाड़ पर बड़ी कार्यवाही: 54 टन कबाड़ के साथ 3 ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार

अवैध कबाड़ पर बड़ी कार्यवाही: 54 टन कबाड़ के साथ 3 ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार

रायगढ़। अवैध कबाड़ पर कार्यवाही कर चोरी के अपराधों पर अंकुश लगाने के पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देशन पर पूंजीपथरा पुलिस द्वारा कबाड़ के अवैध परिवहन पर आज तीन बड़ी कार्रवाई की गई है। पूंजीपथरा टीआई कृष्णकांत सिंह के नेतृत्व में स्टाफ द्वारा ओड़िसा से पूंजीपथरा लाई गई तीन ट्रकों को सराईपाली व तराईमाल के पास मुखबिर सूचना पर घेराबंदी कर पकड़ा गया है। तीनों ट्रकों से लोहे का छड़, एंगल, चादर के टुकड़े लोड़ था, तीनों ट्रकों के कबाड़ का वजन करीब 54.5 टन, कीमती 18,06,840 रूपये का है । वाहन चालकों पर पूंजीपथरा पुलिस द्वारा कार्यवाही कर रिमांड पर भेजा गया है। जानकारी के मुताबिक रविवार को थाना प्रभारी पूंजीपथरा निरीक्षक कृष्णकांत सिंह को मुखबिर से अवैध कबाड़ परिवहन की सूचना मिली। सूचना पर कार्यवाही के लिये तीन पार्टी उप निरीक्षक एम.डी. जायसवाल, सहायक उपनिरीक्षक विजय कुमार एक्का एवं सहायक उप निरीक्षक आशीष रात्रे के हमराह आरक्षक बालचंद राव, धर्मेंद्र ठाकुर, वीरेंद्र कुमार कंवर, विद्याधर सिदार की बनाई गई। दोपहर में सराईपाली एवं तराईमाल के पास पुलिस की जांच को देख वाहन चालकों को वाहन छोड़ भागने लगे, जिन पर पुलिस को संदेह हुआ और उन्हें पकड़कर पूछताछ करने पर ओडिसा से स्क्रैप लेकर आना बताये। तीन ट्रकों को जप्त कर वजन कराया गया। 

ट्रक क्रमांक OD 05 AW 2949 में 18 टन स्क्रैप कीमती 5,87,840 रूपये
ट्रक क्रमांक CG 04 JD 5912 में 20 टन स्क्रैप कीमती 6,91,000 रूपये
ट्रक क्रमांक OD 05 AJ 6295 में 16.5 टन स्क्रैप कीमती 5,28,000 रूपये

वाहन चालक -1. ज्ञानरंजन सामल पिता सरिया सामल 30 साल निवासी उपशाही थाना बलयंता जिला खुरदा ओडिसा 2. अमीय कुमार नायक पिता हरिनायक 33 साल कुम्भर स्ट्रीट जयपुर थाना जयपुर जिला कटक ओडिसा 3. विरेन्द्र कुमार पिता भिखारी कुंवर 44 साल निवासी लबनसेन थाना बुडराज जिला जिला मुजफ्फरपुर बिहार हाल मुकाम जगतपुर रायगढ़ से पूछताछ पर ओडिशा से माल (कबाड़) लेकर आना बताए, कबाड़ परिवहन को लेकर कोई वैध कागजात एवं संतोषजनक जवाब नहीं देने पर सम्पत्ति चोरी का होने के संदेह पर पूंजीपथरा पुलिस द्वारा ट्रक समेत कबाड़ जप्त कर वाहन चालकों के विरूद्ध थाना पूंजीपथरा में धारा 41(1+4)CrpC/379 IPC की कार्यवाही कर आरोपियों को रिमांड पर भेजा गया है।
+ Load More