COVID-19 :

Confirmed :

Recovered :

Deaths :

Maharashtra / 1282963 Andhra Pradesh / 654385 Tamil Nadu / 563691 Karnataka / 548557 Uttar Pradesh / 374277 Delhi / 260623 West Bengal / 237869 Odisha / 196888 Telangana / 179246 Bihar / 174266 Assam / 165582 Kerala / 154458 Gujarat / 128949 Rajasthan / 122720 Haryana / 118554 Madhya Pradesh / 115361 Punjab / 105220 Chhattisgarh / 93351 Jharkhand / 76438 Jammu and Kashmir / 68614 Uttarakhand / 43720 Goa / 30552 Puducherry / 24895 Tripura / 23786 Himachal Pradesh / 13386 Chandigarh / 10968 Manipur / 9537 Arunachal Pradesh / 8133 Nagaland / 5730 Meghalaya / 4961 Ladakh / 3969 Andaman and Nicobar Islands / 3712 Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu / 2978 Sikkim / 2548 Mizoram / 1759 State Unassigned / 0 Lakshadweep / 0

   BIG BREAKING : प्रदेश में आज 2272 नए कोरोना संक्रमितों की हुई पहचान, 10 कोरोना मरीजों की हुई मौत    |    सोशल मिडिया में वायरल हो रहे निजी अस्पताल में निशुल्क कोरोना इलाज वाले समाचार की क्या है सच्चाई, पढ़े ये खबर    |    कोतवाली थाना क्षेत्र के काली बाड़ी में शराब एवं सट्टा का कारोबार करने वाले 05 आरोपी गिरफ्तार, पढ़ें पूरी खबर    |    BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में कार से IPL क्रिकेट में सट्टा खिलवा रहे 7 सटोरी हुए गिरफ्तार, आरोपियों से 10 करोड़ का सट्टा पट्टी जब्त    |    आईपीएल 2020: बैंगलोर के खिलाफ पंजाब कर सकता है बड़ा बदलाव, शामिल होगा विस्फोटक बल्लेबाज    |    किसानों को मजदूर बनाने की साजिश: सीएम भूपेश बघेल    |    Rafale पर CAG की रिपोर्ट, कांग्रेस बोली- अब समझ में आई डील की क्रोनोलॉजी    |    बड़ी खबर: ड्रग्स केस में एनसीबी की रडार पर 50 फिल्मी कलाकार, कई ए-लिस्टर्स एक्टर्स भी शामिल    |    शर्लिन चोपड़ा का बड़ा दावा- बड़े क्रिकेटर्स की बीवियां लेती हैं ड्रग्स    |    कोरोना अपडेट : कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 57 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में 1,129 लोगो की हुई मौत    |
Previous123456789...147148Next
टोटल लॉक डाउन का आयुक्त ने अधिकारियों के साथ किया निरीक्षण, मॉर्निंग वॉक पर निकले तीन लोगों पर लगाया जुर्माना

टोटल लॉक डाउन का आयुक्त ने अधिकारियों के साथ किया निरीक्षण, मॉर्निंग वॉक पर निकले तीन लोगों पर लगाया जुर्माना

भिलाई | नगर निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी, उपायुक्त अशोक द्विवेदी और तरूण पाल लहरे ने शहर का भ्रमण कर टोटल लाक डाउन की स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान एडीएम श्री प्रकाश कुमार सर्वे, तहसीलदार श्री योगेंद्र वर्मा, जोन आयुक्त सुनील अग्रहरी, अमिताभ शर्मा, पूजा पिल्ले एवं प्रीति सिंह भी काफिले में मौजूद थे ! आयुक्त ने सभी जोन के मार्केट, सब्जी बाजार, मंडी का निरीक्षण किया। आयुक्त के निर्देशानुसार एआरओ की टीम ने बिना मास्क के मार्निंग वॉक पर निकले आम नागरिक और छूट प्राप्त दुकानदारों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की। कुल 13 लोगों से 5100 रुपए जुर्माना वसूला गया।

पढ़ें : BIG BREAKING : जिले में सम्पूर्ण लॉक डाउन के बीच इन दुकानों को कुछ समय के लिए खोलने की मिली अनुमति, पढ़ें पूरी खबर 

आयुक्त श्री रघुवंशी ने जोन-1 नेहरू नगर भेलवा तालाब, केपीएस रोड, रानी अवंती बाई कोहका चौक, डॉ राजेन्द्र प्रसाद चौक सुपेला, लक्ष्मी मार्केट, होजियारी मार्केट, हार्डवेयर लाइन, आकाश गंगा सब्जी मंडी, वैशाली नगर गोल मार्केट,नेताजी सुभाष चंद्र बोस सब्जी मार्केट, लिंक रोड, सर्कुलर मार्केट, पावर हाउस बस स्टैंड, खुर्सीपार सुभाष मार्केट, खुर्सीपार होते हुए बीएसपी क्षेत्र के सिविक सेंटर, सेक्टर 10 मार्केट सहित अन्य क्षेत्रों का जायजा लिया इस दौरान एक दूध विक्रेता दुकान पर ही शटर खोलकर दूध विक्रय कर रहा था जिससे 1000 रुपए जुर्माना लिया गया और समझाइश दी गई कि दुकान खोलकर दूध का विक्रय न करें बल्कि दुकान के सामने फिजिकल डिस्टेंस एवं अन्य नियमों का पालन करते हुए अनुमति प्रदान की गई है।

पढ़ें : LOCK DOWN : प्रदेश के इस जिले में कल से 2 अक्टूबर तक लगने जा रहा है सम्पूर्ण लॉक डाउन, पढ़ें पूरी खबर 

मॉर्निंग वॉक पर निकले तीन लोगों पर लगाया जुर्माना मार्निंग वॉक पर निकले लोगों से जुर्माना वसूल किया गया और जोन आयुक्त और एआरओ की टीम ने लाक डाउन में घर पर रहने की समझाइश देकर उन्हें वापस भेज दिया। निरीक्षण के दौरान 11 लोगों के खिलाफ मास्क नहीं लगाए जाने पर जुर्माने की कार्रवाई की गई। जोन-1 आयुक्त सुनील अग्रहरि की टीम ने 2 लोगों से 1500, जोन-2 आयुक्त पूजा पिल्ले की टीम ने 7 लोगों से 2800 जुर्माना वसूला। जोन-3 की आयुक्त प्रीति सिंह की टीम ने बिना मास्क के मार्निग वाक पर निकले तीन लोगों से 200-200 की दर से 600 रुपए जुर्माना वसूला। जोन-5 आयुक्त महेन्द्र पाठक की टीम ने टाउनशिप में एक व्यक्ति के खिलाफ 200 रुपए जुर्माना लगाया।
 
BIG BREAKING : जिले में सम्पूर्ण लॉक डाउन के बीच इन दुकानों को कुछ समय के लिए खोलने की मिली अनुमति, पढ़ें पूरी खबर

BIG BREAKING : जिले में सम्पूर्ण लॉक डाउन के बीच इन दुकानों को कुछ समय के लिए खोलने की मिली अनुमति, पढ़ें पूरी खबर

बलौदा बाजार | छत्तीसगढ़ प्रदेश के बलौदा बाजार जिले से एक बड़ी खबर आ रही है | खबर है कि  जिले में विगत दो तीन दिनो से लगातार बारिश के चलते धान की फसलों में कीट लगने की संभावनाएं अधिक बढ़ गयी है। जिससे फसलों को और अधिक नुकसान हो सकता है। फसलों को नुकसान से बचने के लिए किसानों के अनुरोध पर आज कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने केवल कृषि दवाई दुकानों को सम्पूर्ण लॉकडाउन से छूट प्रदान किये है। यह दुकाने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सुबह 8 से 10 बजे तक खोले जा सकते है।

भूपेश बघेल की संवेदनशील सरकार द्वारा जनजातीय युवाओं को विशेष शिक्षक की नियुक्ति प्रदान करना प्रशंसनीय -कांग्रेस

भूपेश बघेल की संवेदनशील सरकार द्वारा जनजातीय युवाओं को विशेष शिक्षक की नियुक्ति प्रदान करना प्रशंसनीय -कांग्रेस

रायपुर | प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने भूपेश बघेल सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा है कि विशेष पिछड़ी जनजातियों के पढ़े-लिखे युवाओं को विशेष शिक्षक का दर्जा देकर नियुक्ति प्रदान करने की प्रक्रिया को सराहनीय एवं संवेदनशील कदम बताया है। जशपुर जिले के पहाड़ी कोरवा और बिरहोर जनजाति युवाओं की नियुक्ति से जनजातियों की सामाजिक एवं आर्थिक स्तर में व्यापक परिवर्तन आएगा। छत्तीसगढ़ में बैगा, कमार, बिरहोर, पहाड़ी कोरवा और अबूझमाड़िया को विशेष जनजातिय का दर्जा प्राप्त है।

पढ़ें : LOCK DOWN : प्रदेश के इस जिले में कल से 2 अक्टूबर तक लगने जा रहा है सम्पूर्ण लॉक डाउन, पढ़ें पूरी खबर 

यह जनजातियां अपना अस्तित्व बचाने संघर्ष कर रही थी।सरकार के संरक्षण से अब बड़े पैमाने पर सुधार आ रहा है। गरीबी अशिक्षा और बेरोजगारी के दलदल में फंसी- धंसी इन विशेष जनजातियों को विकास के जिस मुकाम की जरूरत थी, छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद भूपेश बघेल की सरकार ने इन वर्गों को मुख्यधारा में लाने हेतु एड़ी चोटी लगा दिया है। सभी योजनाओं का लाभ ना सिर्फ इन जनजातियों तक पहुंच रहा है, बल्कि उन्हें रोजगार प्रदान करने में सरकार की विशेष भूमिका कारगर सिद्ध हो रही है। विकास कार्यों के लिए ना बजट की कमी आड़े आ रही है और ना ही शिक्षा तथा कुपोषण को लेकर कोई लापरवाही बरती जा रही है।  

पढ़ें : BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में कार से IPL क्रिकेट में सट्टा खिलवा रहे 7 सटोरी हुए गिरफ्तार, आरोपियों से 10 करोड़ का सट्टा पट्टी जब्त 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कहा है कि जहां यह जनजाति विलुप्त हो रही थी, अब जनसंख्या में उत्तरोत्तर वृद्धि से स्पष्ट हो रहा है कि ना सिर्फ इनके जीवन स्तर में सुधार हो रहा है अपितु कुपोषण से निजात मिल रही है और संक्रामक रोगों से होने वाली मौतों को भी सरकार की सक्रियता से मात दी गई है। छत्तीसगढ़ के रायगढ़, जशपुर, कोरबा, कबीरधाम, सरगुजा, नारायणपुर, बिलासपुर, बस्तर जिले में इन विशेष जनजातियों के सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक, विकास की जिम्मेदारी इसी तरह शिक्षित युवाओं को प्रदान की जा रही है। सरकार द्वारा विशेष जनजातिय क्षेत्रों में शिक्षित युवाओं को रोजगार प्रदान करके इन वर्गों को सुदृढ़ बनाए जाने की दिशा में किया जा रहा प्रयास मील का पत्थर साबित होगा।
 
NSS की स्थापना दिवस पर दुर्गा महाविद्यालय के NSS की कार्यक्रम अधिकारी प्रो.सुनिता चंसोरिया द्वारा सेवा कार्य किया गया

NSS की स्थापना दिवस पर दुर्गा महाविद्यालय के NSS की कार्यक्रम अधिकारी प्रो.सुनिता चंसोरिया द्वारा सेवा कार्य किया गया

रायपुर | आज 24 सितम्बर राष्ट्रीय सेवा योजना की 51 वाँ स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर दुर्गा महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना की कार्यक्रम अधिकारी प्रो.सुनिता चंसोरिया द्वारा चौक चौराहों (पचपेड़ी नाका, पुरानी बस्ती, महोबाबाज़ार, कालीबाड़ी, बुढ़ातालाब, शीतला चौक, नगर निगम, कचहरी चौक) पर पुलिस कर्मियों  व नगर निगम कर्मचारियों को चाय बिस्कुट का वितरण किया गया ।

LOCK DOWN : प्रदेश के इस जिले में कल से 2 अक्टूबर तक लगने जा रहा है सम्पूर्ण लॉक डाउन, पढ़ें पूरी खबर

LOCK DOWN : प्रदेश के इस जिले में कल से 2 अक्टूबर तक लगने जा रहा है सम्पूर्ण लॉक डाउन, पढ़ें पूरी खबर

दंतेवाड़ा जिला कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने हेतु दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा के संपूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। महामारी रोग अधिनियम के अंतर्गत दी गई शक्तियों का प्रयोग करते हुए सीमा क्षेत्र के अंतर्गत संक्रमण से बचाव एवं स्वास्थ्य गत आपातकालीन स्थिति को नियंत्रण में रखने हेतु 23 सितम्बर 2020 प्रातः 7 बजे से 2 अक्टूबर 2020 मध्य रात्रि 12 बजे तक लॉकडाउन घोषित किया है और विभिन्न गतिविधियों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई है। आदेश के अनुसार दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा में प्रतिदिन लगातार कोरोनावायरस मरीज चिन्हित किए जा रहे हैं। कोरोनावायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए भारत सरकार, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी गाईडलाइन अनुसार कोरोनावायरस पाए जाने वाले क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

पढ़ें : BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में कार से IPL क्रिकेट में सट्टा खिलवा रहे 7 सटोरी हुए गिरफ्तार, आरोपियों से 10 करोड़ का सट्टा पट्टी जब्त 

दंतेवाड़ा में कंटेनमेंट जोन बनाए जा चुके हैं जो अभी भी प्रभावशील है। दंतेवाड़ा क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोड़कर उक्त नगर पालिका की सभी सीमाओं को एददद्वारा सील किया जा रहा है। इस अवधि में केवल मेडिकल दुकानों को अपने निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। मरीज एवं मेडिकल दुकान संचालक दवाओं की होम डिलीवरी व्यवस्था को प्राथमिकता देगें। पेट्रोल पम्प संचालको द्वारा केवल शासकीय वाहनों एवं शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, मेडिकल इमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन/एम्बुलेंस तथा एल.पी.जी. परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहनों को ही पी.ओ.एल. प्रदान किया जायेगा अन्य सभी वाहनों हेतु पी.ओ.एल प्रदान करना पूर्णतः प्रतिबंधित होगा। दुग्ध पार्लर व वितरण की समयावधि प्रातः 6 बजे से प्रातः 8 बजे तक एवं संध्या 5 बजे से संध्या 6.30 तक ही होगी। केवल दुकान/पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध वितरण की अनुमति होगी।

पढ़ें : बड़ी खबर: हिस्ट्रीशीटर की 7 लोगों ने मिलकर की हत्या, चार बदमाशों ने थाने में किया सरेंडर

पैट शॉप/एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने हेतु प्रातः 6 बजे से प्रातः 8 बजे तक एवं सायं 5 बजे से सायं 6.30 बजे तक शॉप खुली रहेंगीं। एलपीजी गैस सिलेण्डर की एजेंसिया केवल टेलिफोनिक या ऑनलाईन आर्डर लेंगे तथा ग्राहको को सिलेण्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध करायेंगे। औधोगिक संस्थानों एवं निर्माण ईकाईयों को अपने कैम्पस के भीतर मजदूरों को रखकर एवं अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योगों के संचालन व निर्माण कार्यो की अनुमति होगी। इस अवधि के दौरान नगरीय निकाय बचेली किरन्दुल क्षेत्र के अंतर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेंगी। सभी धार्मिक, सास्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। नगर पालिका बचेली एवं किरन्दुल क्षेत्र के समस्त शासकीय, अर्धशासकीय, अशासकीय कार्यालय बंद रहेंगे। सभी पदाधिकारी एवं कर्मी अपने घर से शासकीय कार्य का निष्पादन करेंगे। आवश्यकता पड़ने पर कार्यालय प्रमुख उन्हें कार्यालय में बुला सकते है। सभी प्रकार के सभा, जूलूस आयोजन आदि प्रतिबंदित रहेंगे।

पढ़ें : बड़ी खबर: राजधानी के ब्लू स्काई कैफे में लॉकडाउन के दौरान हुक्का पीते 28 गिरफ्तार 

होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड पॉजिटिव मरीजों को भोजन की समस्या उत्पन्न होने पर कोविड केयर सेंटर आवश्यकतानुसार भेजा जाएगा, आपात स्थिति में 07856-252412, 9302706669 नंबर में आवश्यकतानुसार संपर्क किया जा सकता हैै। कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम हेतु कार्य जैसे- कॉन्टेक्ट, टेªसिंग, ऐक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे। इन कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेन्टर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। अपरिहार्य परिस्थितयों में से अन्यत्र जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 4 पहिया वाहनों में ड्राईवर सहित अधिकतम 3 एवं 2 पहिया वाहन में केवल दो व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। इस निर्देश का उल्लंघन किये जाने पर 15 दिवस हेतु वाहन जप्त करते हुए चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जावेगी।

पढ़ें : BIG BREAKING : बिलासपुर सिम्स की नयी प्रभारी डीन की हुई नियुक्ति, राज्य सरकार ने जारी किया आदेश 

  नगर में आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोड़कर निगम क्षेत्र की सभी सीमाओं को एतद द्वारा सील किया जाता है। सिर्फ वाणिज्यिक कार्गो परिवहन की अनुमति ही इस प्रतिबंधित क्षेत्र में (रात में भी) होगी। नगर पालिका बचेली, किरंदुल, की सभी दुकानें, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, गोदाम, साप्ताहिक हाट-बाजार आदि अपनी सम्पूर्ण गतिविधियों को बंद रखेंगे।

पढ़ें : राजधानी में लगे लॉक डाउन का जायजा लेने निकले मंत्री रविन्द्र चौबे, पढ़ें पूरी खबर 

       नगर के अंतर्गत आने वाले फैक्ट्री, निर्माण एवं श्रम कार्य संचालित करने वाली इकाईयों को निम्न शर्तों के अधीन छूट रहेगी। यथासंभव श्रमिकों के रहने की व्यवस्था फैक्ट्री या इकाईयों के अंदर करनी होगी। आवश्यकता पडने पर कर्मचारियों के परिवहन की व्यवस्था फैक्ट्री या ईकाईयों को स्वयं करनी होगी। संक्रमण विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार, राज्य शासन तथा समय-समय पर अन्य संस्थानों द्वारा महामारी से सुरक्षा हेतु जारी समस्त निर्देशों का अक्षरशः पालन सुनिश्चित करना होगा। इन इकाईयों से धनात्मक मरीजों की पहचान होने पर ईलाज पर होने वाले समस्त व्ययों का वहन इन इकाईयों को ही करना होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के अंतर्गत स्थित फैक्ट्री, निर्माण एवं श्रम कार्य संचालित करने वाले संस्थान या इकाईयों को इस प्रतिबंध से छूट रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। मिडिया कर्मी यथासंभव वर्कफ्राम होम द्वारा कार्य सम्पादित करेंगे अत्यावश्यक स्थिति में कार्य हेतु बाहर निकलने पर अपना आई-कार्ड साथ रखेंगे तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधि निर्देशों का कड़ाई से पालन करेंगे।

पढ़ें : बड़ी खबर: ड्रग्स केस में एनसीबी की रडार पर 50 फिल्मी कलाकार, कई ए-लिस्टर्स एक्टर्स भी शामिल

यह आदेश अनुविभागीय अधिकारी (रा0), उप पुलिस अधीक्षक, कोषालय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधिनस्त समस्त कार्यालय, तहसील, थाना, एवं चौकी पर लागू नहीं होंगे। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मी, बिजली, पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवायें, जिसमें सफाई, सिवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है, तथा अग्निशमन सेवायें के अधिकारी/कर्मचारी पर लागू नहीं होगा। इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित होगा।

पढ़ें : Rafale पर CAG की रिपोर्ट, कांग्रेस बोली- अब समझ में आई डील की क्रोनोलॉजी

आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, प्रतिष्ठान, भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 तथा अन्य सुसंगत विधि के तहत् दण्डनीय होंगे। इन वर्णित गतिविधियों में संशय उत्पन्न होने पर जिला दण्डाधिकारी का निर्णय अंतिम होगा। पूर्व में जारी समस्त आदेशों को अधिक्रमित करते हुए यह आदेश जारी किया गया है। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा।

छत्तीसगढ़ से दो श्रेष्ठ स्वयंसेवकों को मिला  राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार, समारोह में राज्यपाल वर्चुअल रूप से हुई शामिल

छत्तीसगढ़ से दो श्रेष्ठ स्वयंसेवकों को मिला राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार, समारोह में राज्यपाल वर्चुअल रूप से हुई शामिल

रायपुरनई दिल्ली में आज राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार 2018-19 समारोह का वर्चुअली आयोजन हुआ, इसका आयोजन खेल एवं युवा मंत्रालय द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद थे। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके वर्चुअल रूप से इस कार्यक्रम में शामिल हुई।

पढ़ें : बड़ी खबर: राजधानी के ब्लू स्काई कैफे में लॉकडाउन के दौरान हुक्का पीते 28 गिरफ्तार 

उन्होंने पुरस्कार प्राप्त सभी राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों को शुभकामनाएं दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर केन्द्रीय खेल मंत्री श्री किरण रिजिजू भी उपस्थित थे। राज्यपाल ने इस समारोह में सम्मानित छत्तीसगढ़ के बीसीएस शासकीय महाविद्यालय धमतरी के छात्र श्री सत्येन्द्र साहू एवं शंकराचार्य इंजीनियरिंग महाविद्यालय भिलाई के छात्र श्री राकेश कुमार को भी शुभकामनाएं दी है।

पढ़ें : बड़ी खबर: ड्रग्स केस में एनसीबी की रडार पर 50 फिल्मी कलाकार, कई ए-लिस्टर्स एक्टर्स भी शामिल

राज्यपाल ने उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए कहा है कि यह गर्व की बात है कि छत्तीसगढ़ के दो छात्र राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हुए हैं। एन.एस.एस. युवाओं में राष्ट्रप्रेम तथा नेतृत्व की भावना का विकास करता है। उनके कार्यों से पूरे समाज को प्रेरणा मिलती है। उल्लेखनीय है कि श्री सत्येन्द्र शर्मा तथा श्री राकेश कुमार को श्रेष्ठ स्वयंसेवक के रूप में राष्ट्रीय सेवा योजना का राष्ट्रीय पुरस्कार (स्वयंसेवक श्रेणी के अंतर्गत) प्राप्त हुआ है, जिसके अंतर्गत राशि रू. 50,000/- व प्रशस्ति पत्र वर्चुअली प्रदान किया गया।

राजधानी में लगे लॉक डाउन का जायजा लेने निकले मंत्री रविन्द्र चौबे, पढ़ें पूरी खबर

राजधानी में लगे लॉक डाउन का जायजा लेने निकले मंत्री रविन्द्र चौबे, पढ़ें पूरी खबर

रायपुर कृषि मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री ने राजधानी में लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर बयान दिया है। मंत्री रबिंद्र चौबे ने कहा कि वर्तमान में सात दिन के लगाए गए लॉकडाउन की समीक्षा करने के बाद ही इसे आगे बढ़ाने पर फैसला लेंगे।

पढ़ें : बड़ी खबर: ड्रग्स केस में एनसीबी की रडार पर 50 फिल्मी कलाकार, कई ए-लिस्टर्स एक्टर्स भी शामिल

राजधानी में लॉकडाउन के तीसरे दिन भी प्रभारी मंत्री श्री चौबे व जिला प्रशासन ने सड़क पर उतरकर स्थिति का जायजा लिया। लॉकडाउन में प्रशासनिक व्यवस्था और लोगों के सहयोग बारे में जानकारी ली और मंत्री ने पुलिस कर्मचारियों के कार्यों की सराहना की। साथ ही प्रशासनिक व्यवस्था की तारीफ भी की। मंत्री श्री चौबे ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दौरा किया है। राजधानी रायपुर में और पूरे जिले में लॉकडाउन करने का जो निर्णय लिया गया है। इसका जायजा लेने संसदीय सचिव विकास उपध्याव, गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष और विधायक कुलदीप जुनेजा जिला प्रशासन के सभी अधिकारियों के साथ पूरे शहर में भ्रमण के लिए निकला था, अभी लॉकडाउन इकी जो स्थिति है, सबसे पहले हमारे प्रशासन के अधिकारियों को बधाई देना चाहूंगा। मैं अपने जनप्रतिनिधियों को विशेष रूप से बधाई देना चाहूंगा, समाजसेली संगठनों का भी जो रास्ते में गरीबों को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं।

पढ़ें : बड़ी खबर: हिस्ट्रीशीटर की 7 लोगों ने मिलकर की हत्या, चार बदमाशों ने थाने में किया सरेंडर

मैंने कई जवानों से भी बात की 6 महीने में जिस तरीके प्रशासन के लोगों, नगरी निकाय के अधिकारीऔर कर्मचारियों ने मेहनत की, निश्चित रूप से बड़ा अनुकरणीय है। श्री चौबे ने कहा लॉकडउन के बाद मुझे महसूस हुआ कि टेस्ट लगातार उतने ही हो रहे हैं, लेकिन मामले थोड़े से कम हुए हैं। प्रशासन, पुलिस के प्रति आभार व्यक्त करता हूं आप सब के प्रति आभार व्यक्त करता हूं आप सबकी मदद से हम कितना कोरोना पर कंट्रेाल कर पाए, यह 5 दिन के बाद ही पता चलेगा। अभी तो 3 दिन ही हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग भी यही कहना है कि संक्रमण के आंकड़े हम 5 दिन के बाद ही पता लगा सकते हैं, वक्त बीत जाने दीजिए उसके समीक्षा की जाएगी।

BIG BREAKING : बिलासपुर सिम्स की नयी प्रभारी डीन की हुई नियुक्ति, राज्य सरकार ने जारी किया आदेश

BIG BREAKING : बिलासपुर सिम्स की नयी प्रभारी डीन की हुई नियुक्ति, राज्य सरकार ने जारी किया आदेश

बिलासपुर | छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है खबर है कि डॉ तृप्ति नागरिया बिलासपुर सिम्स यानि छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान की प्रभारी डीन होंगी । राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिया है। आपको बता दें कि  स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ तृप्ति नागरिया अभी रायपुर के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालेज में पदस्थ थी।

पढ़ें : बड़ी खबर: मेडिकल कॉलेज के पूर्व डीन डॉ. आदिले की संविदा नियुक्ति खत्म 

मिली जानकारी के अनुसार सिम्स के डीन पीके पात्रा को रायपुर वापस भेज दिया गया है। वो रायपुर के मेडिकल कालेज में संचालक सह प्राध्यापक के तौर पर काम करेंगे। आपको बता दें कि 21 सितंबर को ही मुख्यमंत्री ने सिम्स की अव्यवस्थाओं पर कड़ा एक्शन लेते हुए तत्काल प्रभाव से सिम्स के डीन डॉ पीके पात्रा को हटाने का आदेश दिया था, साथ ही बिलासपुर जिला अस्पताल से सिविल सर्जन को भी हटाने का निर्देश दिया गया था।मिली जानकारी के अनुसार अंबिकापुर मेडिकल कालेज में पदस्थ डॉ रमणेश मूर्ति को अंबिकापुर मेडिकल कालेज का प्रभारी डीन बनाया गया है।

 

 बड़ी खबर: मेडिकल कॉलेज के पूर्व डीन डॉ. आदिले की संविदा नियुक्ति खत्म

बड़ी खबर: मेडिकल कॉलेज के पूर्व डीन डॉ. आदिले की संविदा नियुक्ति खत्म

रायपुर। पंडित जवाहर लाल चिकित्सा महाविद्यालय में पदस्थ रहे पूर्व डीन डॉ. एस.एल. आदिले की संविदा नियुक्ति राज्य शासन स्वास्थ्य विभाग ने रद्द कर दी है। ज्ञातव्य है कि डॉ. आदिले डीन पद से 31 मार्च 2020 को सेवानिवृत्त हुए थे। एक वर्ष के लिए उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा संविदा नियुक्ति पर पदस्थ किया गया था। मेडिकल कॉलेज की एक छात्रा को घर बुलाकर उसका यौन शोषण करने का आरोप उक्त छात्रा द्वारा लगाए जाने के उपरांत एवं एफआईआर दर्ज करने के बाद डॉ. आदिले के खिलाफ पुलिस में की गई रिपोर्ट एवं स्वास्थ्य विभाग की जांच के उपरांत उन्हें यौन शोषण का दोषी पाया गया। दोष सिद्ध होने के उपरांत राज्य शासन ने आज महानदी भवन से जारी आदेश के अनुसार उनकी संविदा नियुक्ति समाप्त कर दी है। 
 
 750 नग कफ सिरप  के साथ पांच युवक हुए गिरफ्तार, जंगल में कफ सिरप कर रहे थे पैक

750 नग कफ सिरप के साथ पांच युवक हुए गिरफ्तार, जंगल में कफ सिरप कर रहे थे पैक

महासमुंद। बसना पुलिस व साइबर सेल की संयुक्ट टीम ने बुधवार को कफ सिरप परिवहन करते हुए पांच युवकों को गिरफ्तार किया है। ये लोग बसना क्षेत्र के कुदारीबाहरा जंगल में सिरप को बोरियों व कार्टून में भर रहे थे। उसी दौरान टीम ने घेराबंदी कर पकड़ा है। इन आरोपियों के कब्ज से टीम ने 750 नग कफ सिरप जप्त किया है। जिसकी कीमत 2 लाख 22 हजार रुपए आंकी गई है। पकड़े गए सभी युवक झारबंद ओडिशा के निवासी है। इन आरोपियों के खिलाफ बसना पुलिस ने 21बी नारकोटिक्स एक्ट के तहत कार्रवाई की है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार लगातार सूचना मिल रही थी कि, कफ सिरप खपाने का काम जिले में चल रहा है। इसी दौरान एसपी प्रफुल्ल ठाकुर को पता चला कि बसना की ओर खपाने का प्लान हो रहा है। इसके बाद उन्होंने बसना व साइबर सेल की संयुक्ट टीम को नजर व कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। इसी दौरान मोटर सायकल क्रमांक ---17 ---0752 को बसना थाना क्षेत्रांतर्गत के ग्राम कुदारीबाहरा जंगल की ओर जाते देखा गया। टीम ने मोटर साइिकल सवार का पीछा किया और जंगल पहुंच गए। जहां देखा कि भारी मात्रा में कफ सिरप को संदिग्धों द्वारा एक जगह एकत्रित कर किया जा रहा था, तथा उनके साथी सिरप को कार्टून एवं बोरियों में पैकिंग कर रहे थे। इसके बाद टीम ने घेराबंदी करते हुए सभी को हिरासत में लिया। इस कार्रवाई में सायबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत, उनि0 लक्ष्मीनारायण साव थाना बसना, सउनि. सिकांदर भोई प्रआ. प्रकाश नंद, मिनेश ध्रुव, आरक्षक त्रिनाथ प्रधान, ललित यादव, हेमंत नायक, युगल पटेल, संदीप भोई, योगेन्द्र दुबें, छत्रपाल सिन्हा शामिल थे।

ये पांच युवक हुए गिरफ्तार-
टीम ने जंगल में घेराबंदी कर झारबंद ओडिशा निवासी निर्पराज पिता बधु छतर (46), अजीत पिता गजाधर (18), बीरेन्द्र पिता जन पटेल (27), राजेन्द्र पिता पियारी लाल थापा (47) एवं भगवान पिता हिर्सीकेस पटेल (22) को पकड़ा। इनके कब्जे से 03 कार्टून, 2 बोरी में कुल 750 नग कप सिरप जप्त किया गया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि क्षेत्र में कप सिरप का सेवन कर नशा करने वाले युवकों को को विक्रय करते थे। ये लोग ओड़शा से प्रति नग 250 रुपए से खरीदकर उसे बसना, सरायपाली सहित आसपास के क्षेत्रों में 300 रुपए की दर से विक्रय करते थे।   
 कृषि विधेयक का विरोध कर बिचौलियों के साथ खड़ी है कांग्रेस: बृजमोहन अग्रवाल

कृषि विधेयक का विरोध कर बिचौलियों के साथ खड़ी है कांग्रेस: बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस द्वारा कृषि विधेयक के विरोध के संबंध में दिये गए कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया के बयान के जवाब में भाजपा विधायक व पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने तगड़ा पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि बिचौलियों, अवैध भंडारण करने वालों और लूट खसोट करने वालों के साथ खड़ा होना कांग्रेस की संस्कृति है।
 
 
कांग्रेस अपनी उसी संस्कृति के अनुरुप कृषि विधेयक का विरोध कर बिचौलियों और कालाबाजारी करने वालों का साथ दे रही है। उन्होंने कहा कि नये किसान विधेयक में किसानों को उनकी फसल को अच्छी कीमत पर बेचने की पूरी स्वतंत्रता प्रदान की गयी है। न्यूनतम समर्थन मूल्स जारी रहेगा, मंडिया बंद नहीं होगीं तो फिर आखिर विरोध किस बात का हो रहा है। उन्होंने छत्तीसगढ़ में हो रहे रेत खनन, शराब बिक्री जैसे मामलों का उदाहरण देते हुए कहा कि कांग्रेस किसानों का हित नहीं चाहती है।
 
 
कांग्रेस उनका हित चाहती है जो बिचौलिए हैं, जो अवैध भंडारण करते हैं। इसलिए वह इस कृषि विधेयक का विरोध कर रही है। उन्होंने किसानों के हित में उठाये गये इस ऐतिहासिक कदम के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का धन्यवाद ज्ञापित किया है। 
बड़ी खबर: हिस्ट्रीशीटर की 7 लोगों ने मिलकर की हत्या, चार बदमाशों ने थाने में किया सरेंडर

बड़ी खबर: हिस्ट्रीशीटर की 7 लोगों ने मिलकर की हत्या, चार बदमाशों ने थाने में किया सरेंडर

राजनांदगांव। बुधवार देर रात 7 बदमाशों ने मिलकर एक हिस्ट्रीशीटर की हत्या कर दी। हिस्ट्रीशीटर के चेहरे और पेट पर मौत होने तक वार किया गया। इस दौरान उसके साथी पर भी हमला किया। उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वारदात के बाद 4 आरोपियों ने बसंतपुर थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया।

READ MORE : शर्लिन चोपड़ा का बड़ा दावा- बड़े क्रिकेटर्स की बीवियां लेती हैं ड्रग्स 

जानकारी के मुताबिक, स्टेशन पारा निवासी गोल्डी मरकाम हिस्ट्रीशीटर था। बुधवार देर रात वह अपने एक साथी प्रतीक के साथ राजीव नगर स्थित फल मंडी परिसर में बैठकर शराब पी रहा था। बताया जा रहा है कि इसी दौरान 7 बदमाश वहां पर पहुंच गए और उनके बीच विवाद शुरू हो गया। इस दौरान दूसरे पक्ष ने गोल्डी और प्रतीक से मारपीट शुरू कर दी।

इस बीच बदमाशों ने चाकू निकाल लिया और गोल्डी के चेहरे और पेट पर वार कर दिया। बीच-बचाव करने आए प्रतीक को भी चाकू मारा। वारदात में गोल्डी की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि प्रतीक गंभीर रूप से घायल हो गया। जाते हुए बदमाशों ने गोल्डी की फॉरच्यूनर कार में भी आग लगा दी। इसके बाद थाने पहुंचकर 3 बदमाशों ने सरेंडर कर दिया।
 
 
वारदात राजीवनगर शीतला मंदिर चौक के पास की है। इसे देखते हुए पूरे क्षेत्र को पुलिस छावनी में बदल दिया गया है। पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर और आरोपियों के घर की भी सुरक्षा बढ़ा दी है। आशंका है कि गैंगवार के चलते वारदात को अंजाम दिया गया है। फिलहाल पूरे मामले में अभी पूछताछ चल ही है। घटना का साफ कारण सामने नहीं आ सका है।
 बड़ी खबर: राजधानी के ब्लू स्काई कैफे में लॉकडाउन के दौरान हुक्का पीते 28 गिरफ्तार

बड़ी खबर: राजधानी के ब्लू स्काई कैफे में लॉकडाउन के दौरान हुक्का पीते 28 गिरफ्तार

रायपुर। आईपीएल क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा खिलाते ब्लू स्काई कैफे में छापा मारकर पुलिस ने दो लोगों से 1 लाख 23 हजार रुपयें नगदी एवं दो सेट मोबाईल जब्त कर आरोपियों गिरफ्तार किया है। वहीं छापामार कार्रवाही के दौरान बड़ी संख्या में अलग-अगल 4 टेबल पर हुक्का पीते 28 लोगों को पकड़ गया है।  कोविड़ 19 महामारी के दौरान लॉकडाउन का उल्घंन करते पाये जाने पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाही किया है। 

रायपुर पुलिस के सीविल लाइन थाना की बड़ी कार्यवाही थाना सिविल लाइन अंतर्गत ब्लू स्काई कैफ़े में छुप छुप कर कुछ युवाओं...

Posted by Mahendra Giri Goswami on Wednesday, 23 September 2020
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिविललाईन पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर बुधवार की रात्रि 10 बजे सिविल लाईन में जब्बाल टॉवर के चौथी मंजिल स्थित ब्लू स्काई टॉवर में पुलिस टीम ने छापा मारकर चार अलग-अलग स्थानों पर टेबल लगाकर तम्बाकु युुक्त हुक्का पीते पकड़े जाने पर सहबाज मोहकाबी ,देवास ठाकुर व सोयेब रहिस एवं संचालक सहित अन्य 118 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये सभी आरोपियों के खिलाफ  कोरोना महामारी के दौरान शासन के नियमों का उल्घंन करते ताये जाने पर धारा 270,269,34 के तहत अपराध दर्ज किया गया है।
 
 
कार्यवाही के दौरान हीरक बारमेडा एवं हिलोर बारमेडा के मोबाइल मे लगातार काल एवं मैसेज आ रहा था। जिसे चेक करने पर हीरक बारमेडा के द्वारा क्रिकेट एक्सचेंज एवं क्रिक बज एप के माध्यम से एवं हिलोर बाडमेरा के द्वारा क्रिक बज एवं क्रिकेट लाइन गुरू एप के माध्यम से आईपीएल क्रिकेट मैच मुंबई इंडियन एवं कोलकाता नाईट राइडर्स का प्रत्येक ओवर रन एवं बाल को देखकर रूपये पैसो का हार जीत का दांव लगाकर क्रिकेट सट्टा (जुआ) खिलाते पाये जाने पर घटना स्थल पर हीरक बाडमेरा  के पास से जब्त  एक आई मोबाईल  एवं 49 हजार रुपयें  नगद व आरोपी हिलोर बाडमेरा के पास से सैमसंग कंपनी का मोबाइल एवं नगदी रकम 74 हजार रुपयें जब्त किया है। दोनों ओरापियों के पास से कुल 1 लाख 23 हजार रुपयें एंव दो मोबाईल फोन जब्त कर उनके खिलाफ जुआ एक्ट की धारा 4 (क) के तहत कानूनी कार्रवाही किया गया है। 
जिला आबकारी टीम ने शराब की अवैध परिवहन पर कार्रवाई : 28 पेटी शराब और वाहन आरोपी गिरफ्तार

जिला आबकारी टीम ने शराब की अवैध परिवहन पर कार्रवाई : 28 पेटी शराब और वाहन आरोपी गिरफ्तार

वर्धा, छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन को दृष्टिगत रखते हुए आबकारी आयुक्त रायपुर छत्तीसगढ़ श्री निरंजन दास एवं प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कारपोरेशन श्री ए.पी. त्रिपाठी द्वारा अन्य प्रांत के मदिरा परिवहन में रोक लगाने हेतु आदेशित किया गया थां इसी क्रम में कलेक्टर कबीरधाम श्री रमेश कुमार शर्मा के मार्गदर्शन में प्रभारी जिला आबकारी अधिकारी कबीरधाम श्री जीपीएस दर्दी के निर्देशन में बुधवार को प्रातः मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले से मदिरा परिवहन होने की सूचना मिली।

READ MORE : कोरोना की गंभीरता को जनता ने समझा: रायपुर जिले में लॉकडाउन का हो रहा सख्ती से पालन

सूचना अनुसार तत्काल आबकारी विभाग कबीरधाम के द्वारा सहायक जिला आबकारी अधिकारी श्री नितिन कुमार खंडूजा के निर्देशन में एक टीम द्वारा नाका लगाकर सहसपुर लोहारा पेट्रोल पंप की तिराहा में वाहन क्रमांक सीजी 04 एच 4977 शेवरलेट एवीओ वी5 को रोककर तलाशी लेने पर मध्यप्रदेश में विक्रय हेतु निर्मित विदेशी मदिरा गोवा व्हिस्की 21 पेटी, मैकडॉवेल नंबर वन 3 पेटी, रॉयल स्टैग 3 पेटी एवं 1 पेटी रॉयल चैलेंज व्हिस्की कुल 28 पेटी/252 बल्क मदिरा बरामद कर कब्जे आबकारी लिया गया। उक्त 28 पेटी जब्त मदिरा का बाजार मूल्य लगभग180000 है।

READ MORE : राजधानी रायपुर में पदस्थ डीएसपी लक्ष्मण चौहान की कोरोना से मौत

मौके पर वाहन चालक श्री संजय वर्मा पिता ददन वर्मा उम्र 26 वर्ष निवासी हथखोज भिलाई-3 जिला दुर्ग तथा एक अन्य व्यक्ति विजय कुमार यादव पिता रामविलास यादव उम्र 26 वर्ष निवासी देवादा जिला राजनांदगांव को आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) व 36 के तहत गिरफ्तार किया गया एवं रिमांड में जेल भेजने की कार्यवाही की जा रही है। कार्यवाही में कुल जब्ती 150000 की वाहन सहित लगभग रूपये 330000 की है। कार्यवाही के दौरान आबकारी उपनिरीक्षक श्री नागेश राज श्रीवास्तव, योगेश सोनी, मनीष कुमार साहू व तुलेश देशलहरें तथा आरक्षक हेमचंद कौशिक एवं ड्राइवर डायमंड साहू शामिल थें 

 कोरोना की गंभीरता को जनता ने समझा: रायपुर जिले में लॉकडाउन का हो रहा सख्ती से पालन

कोरोना की गंभीरता को जनता ने समझा: रायपुर जिले में लॉकडाउन का हो रहा सख्ती से पालन

रायपुर। रायपुर जिले में लॉकडाउन के आज तीसरे दिन भी सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। इस बार के लॉकडाउन में जनता भी कोरोना संक्रमण को लेकर गंभीर दिख रही है। यही वजह है कि सड़कों पर पुलिस के न होने के बाद भी लोग स्वस्र्फूत अपने-अपने घरों में कैद हैं। सड़कों पर एक्का-दुक्का लोग ही निकल रहे हैं, वो भी ऐसे लोग जिन्हें बेहद जरूरी काम है। 
 
 
राज्य में जिस तेजी से कोरोना संक्रमण ने अपना पैर पसारना शुरू किया है, इससे सभी वर्ग खासे भयभीत हैं। कोरोना संक्रमण से पीडि़त मरीजों की संख्या और आंकड़े डराने वाले हैं। विगत दो दिनों से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा हजारों में आ रहा है। इस बात को लेकर आम लोगों में भी भय का माहौल देखा जा सकता है। शायद यही वजह है कि इस बार के लॉकडाउन को लोगों ने गंभीरता से लिया है और इसका सख्ती से पालन कर रहे हैं। इसके लिए पुलिस अथवा प्रशासन को ज्यादा हाथ-पैर मारने की जरूरत नहीं पड़ रही है। रायपुर कलेक्टर ने भी एक वीडियो संदेश जारी कर जनता से लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने की अपील की थी। दूसरी ओर लॉकडाउन के आज तीसरे दिन शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। लॉकडाउन की सख्ती का लोग इस कदर पालन कर रहे हैं कि चोरी-छिपे खुलने वाले दुकान और चाय-पानी की टपरियां भी बंद है।
 
 
गली-मोहल्लों में मिलने वाली सब्जियां और छोटे-छोटे किराना की दुकानें भी पूरी तरह से बंद है। इस बार लोग किसी भी कीमत पर रिस्क नहीं उठाना चाहते। शहर के कालीबाड़ी चौक में जरूर थोड़ी हलचल नजर आती है, लेकिन यह कोविड-19 केन्द्र में जांच के लिए आने वाले लोगों के चलते हैं, यहां कोविड-19 जांच शिविर संचालित हैं, लिहाजा यहां जरूरतमंद लोग और संदिग्ध मरीज ही आ रहे हैं। इसके अलावा शहर के अन्य चौक-चौराहों पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है। जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी लगातार लॉकडाउन की मॉनीटरिंग कर रहे हैं, लिहाजा इस बार के लॉकडाउन को पूरी तरह से सफल माना जा सकता है। हालांकि आज लॉकडाउन का तीसरा दिन है और यह लॉकडाउन अभी 28 सितंबर तक चलेगा। इसके बाद हालातों का जायजा लेने और वरिष्ठ अफसरों के मंथन के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि लॉकडाउन आगे रहेगा अथवा समाप्त होगा। 
  राजधानी रायपुर में पदस्थ डीएसपी लक्ष्मण चौहान की कोरोना से मौत

राजधानी रायपुर में पदस्थ डीएसपी लक्ष्मण चौहान की कोरोना से मौत

रायपुर। राजधानी रायपुर में पदस्थ डीएसपी लक्ष्मण राम चौहान का कोरोना उपचार के दौरान निधन हो गया है। 

मिली जानकारी के अनुसार डीएसपी लक्ष्मण चौहान कोरोना  संक्रमित होने के साथ अन्य दूसरी बीमारियों से भी पीडि़त थे। उन्हें एम्स रायपुर में भर्ती किया गया था, जहां उनका निधन हो गया। स्व. चौहान 1989 में राजनांदगांव के लालबाग थाने में प्रशिक्षु उपनिरीक्षक के बतौर काम करने के बाद वे जिले में कई थानों में प्रभारी रहे। कवर्धा, बेमेतरा दुर्ग जिलों में सेवाएं देने के बाद वे रायपुर में सेवा दे रहे थे। बताया जा रहा है कि स्व. चौहान का अंतिम संस्कार राजनांदगांव जिले में स्थित उनके गृहग्राम में किया जाएगा। 
बड़ी खबर : राजधानी रायपुर के आधे से ज्यादा इलाकों में कल नहीं होगी पानी की सप्लाई, जाने क्या है वजह

बड़ी खबर : राजधानी रायपुर के आधे से ज्यादा इलाकों में कल नहीं होगी पानी की सप्लाई, जाने क्या है वजह

रायपुर। राजधानी रायपुर में लॉकडाउन के बीच रायपुरवासियों के लिए एक और परेशान करने वाली खबर सामने आई है। खबर मिली है कि 25 सितंबर को राजधानी रायपुर के आधे से ज्यादा इलाकों को पानी नहीं मिलेगा। मिली जानकारी के अनुसार 25 सितंबर सीएसईबी ने 33 केवी लाइन के सीटीपीटी विस्थापन के चलते शटडाउन किया है। शटडाउन के चलते शुक्रवार को शहर की 27 टंकियों में पानी की सप्लाई नहीं होगी।

छत्तीसगढ़ के इस शहर में शव के अन्तिम संस्कर के लिए अब लेना होगा टोकन

छत्तीसगढ़ के इस शहर में शव के अन्तिम संस्कर के लिए अब लेना होगा टोकन

बिलासपुर, छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों के मौत के साथ साथ सामान्य मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है इस कारण मुक्तिधाम में शव के दाह संस्कार के लिए शेड कम पड़ जा रहा है। शेड के लिए लोगों के बीच में विवाद भी हो जा रहा है जिसके कारण अब बिलासपुर के सरकण्डा मुक्तिधाम में टोकन सिस्टम लागू कर दिया है। मृतक के घर से एक व्यक्ति मुक्तिधाम पहुंचकर शेड बुक कराता है जिसको टोकन नंबर दिया जाता है जिसमें शेड का नंबर लिखा रहता है।

आपको बता दे पिछले कुछ दिनों से शव को जलाने के लिए शेड कम पड़ जा रहा है। एक व्यक्ति शेड के पास लकड़ी रखकर गया था और दूसरे ने उस शेड में शव को जला दिया जिसके कारण विवाद हो गया था। इसलिए अब यहां टोकन सिस्टम लागू कर दिया गया है। मृतक के घर के एक व्यक्ति मुक्तिधाम के चौकीदार से नाम बताकर टोकन लेगा। टोकन में बकायदा शेड का नम्बर लिखा रहता है। उसके हिसाब से शेड में शव को जला सकता है।
 

 राजधानी के गली-मोहल्लों में बाइक पेट्रोलिंग शुरू, बेवजह घूमने वालों पर होगी कार्यवाही

राजधानी के गली-मोहल्लों में बाइक पेट्रोलिंग शुरू, बेवजह घूमने वालों पर होगी कार्यवाही

रायपुर। राजधानी में लॉकडाउन के दौरान गली मोहल्लों में भीड़ लगाकर बैठने वालों पर कार्यवाही शुरू हो गई है। साथ ही गलियों में बेवज़ह घूमने वालों को टोका टाकी करने मोटरसाइकल पेट्रोलिंग जयस्तंभ चौक से रवाना किया गया है। इस दौरान सिटी एसपी लखन पाटले ने मोटरसाइकल पेट्रोलिंग को रवाना किया है। इतना ही नहीं, जिन गलियों में बेवजह घूमने की शिकायत मिल रही है। उन पर कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए है। 
छत्तीसगढ़ के साथ सौतेला व्यवहार करने की अपराधी है भाजपा की केंद्र सरकार: कांग्रेस

छत्तीसगढ़ के साथ सौतेला व्यवहार करने की अपराधी है भाजपा की केंद्र सरकार: कांग्रेस

रायपुर। केंद्रीय मंत्रियों से  भाजपा सांसदों द्वारा  की जा रही  शिकवा शिकायतों के दौर पर  तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए  कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मनरेगा प्रधानमंत्री आवास योजना और केंद्र सरकार की अन्य योजनाओं से लाभान्वित हो रहे छत्तीसगढ़ वासियों के खिलाफ भाजपा के सांसद षड्यंत्र कर रहे हैं राजनैतिक फायदा उठाने की मानसिकता के चलते भाजपा के सांसद इतना गिर गए हैं कि केंद्र सरकार से झूठी शिकायतें करके केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभ से छत्तीसगढ़वासियों को वंचित करने की चाल चलना शुरू कर दिया है।


प्रदेश की जनता के हक और अधिकार की लड़ाई लडऩा हर जनप्रतिनिधि का कर्तव्य होता है। लेकिन मानसिक कुंठा के शिकार भाजपा सांसद करोना आपदा काल में बहुत बेहतर काम कर रही राज्य सरकार पर तथ्यहीन और तर्कहीन झूठी शिकायत कर रहे हैं। कांग्रेस का विरोध करते-करते अब भाजपा सांसदों का रवैया छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढिय़ा विरोधी बन चुका है! 

विपदा के समय भी भाजपा सांसद केवल राज्य सरकार की शिकायत करने और मोदी के झूठे महिमा गायन में लगे हुए हैं। राजनीतिक स्वार्थ के चलते संवेदनहीन हो चुके भाजपा सांसद छत्तीसगढ़ के गरीबों मजदूरकिसानों गाँववालों के दुखदर्द के प्रति संवेदनहीन बन चुके हैं। एक ओर केंद्र सरकार के समक्ष छत्तीसगढ़ सरकार ने और संसद में कांग्रेेेस के सभी  सांसदों ने छत्तीसगढ़ के हकों और हितों की बात को पुरजोर तरीके से उठाया है।

वहीं भाजपा सांसद केंद्रीय मंत्रियों से मिलकर झूठी शिकायत और चुगल खोरी करके राज्य में संचालित गिने-चुने केंद्रीय योजनाओं को भी बंद करवाने प्रयासरत रहे।

करोना के संकट काल में लॉक डाउन होने के बावजूद छत्तीसगढ़ सरकार ने देश में सबसे अच्छा काम किया और यह बात केंद्र सरकार के आंकड़ों से  प्रमाणित हुई है। भाजपा के सांसद अपनी ही केंद्र सरकार के आंकड़ों को झूठलाते हुए छत्तीसगढ़ सरकार की झूठी शिकायत मनरेगा के मामले में करने लगे। इससे स्पष्ट है कि छत्तीसगढ़ में यदि मजदूरों को मनरेगा में काम मिला तो यह भाजपा के सांसदों को बर्दाश्त नहीं हो रहा है।

भाजपाई सांसदों ने पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से मिलकर छत्तीसगढ़ में कोरोना से लड़ाई को कमजोर करने झूठी शिकायत की, यही नहीं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात कर छत्तीसगढ़ के भाजपा सांसदों के द्वारा केंद्रीय योजनाओं में लापरवाही का झूठा आधारहीन आरोप प्रदेश सरकार पर लगाया गया! 

14वें वित्त आयोग की राशि जिसका उपयोग रमन सिंह जी के कार्यकाल में भारतीय जनता पार्टी के द्वारा राजनैतिक रैलियों में भीड़ जुटाने और सभाओं के लिए गाडिय़ों और डीजल पेट्रोल में फूकने के लिए किया जाता रहा, उस 14वें वित्त आयोग की राशि का उपयोग आपदाकाल के विपरीत हालात में 7 लाख 14 हज़ार से अधिक वापस लौटे छत्तीसगढ़ के प्रवासी मजदूरों के लिए क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्था और गौ सेवा की दिशा में स्थापित किए जा रहे गौठानों पर खर्च किए जाने पर आपत्ती किया जाना भाजपा सांसदों के मानसिक दिवालियापन का प्रमाण है! 

छत्तीसगढ़ की उपेक्षा और भेदभाव के खिलाफ संसद में आवाज  उठानेे के बजाय मोदी सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के 25 लाख़ किसानों को किसान सम्मान निधि के लाभ से दुर्भावना पूर्वक वंचित किए जाने पर भी भारतीय जनता पार्टी के सांसद प्रदेश सरकार पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं! 

हकीकत यह है कि भारतीय जनता पार्टी की नीति किसान विरोधी है मजदूर विरोधी है युवा और बेरोजगार विरोधी है आदिवासियों और महिला विरोधी है पूंजीवाद की समर्थक अधिनायक वादी मोदी सरकार का प्रत्येक निर्णय जनविरोधी निर्णय है!

संघीय व्यवस्था में सांसद (लोकसभा और राज्यसभा सदस्य) राज्य की जनता के केंद्र में प्रतिनिधि होते हैं! प्रदेश के हित और हक की लड़ाई लडऩा, उनकी मांगों को प्रभावी तरीके से केंद्र सरकार के समक्ष रखना इनकी राजनैतिक और नैतिक जिम्मेदारी है! आपदा काल में कांग्रेस के सांसद लगातार केंद्र की मोदी सरकार से प्रदेश की जनता की हक और अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं! 

15 साल के कुशासन में छत्तीसगढ़ को गरीबी रेखा में नंबर वन पर पहुंचाने के जिम्मेदार भारतीय जनता पार्टी के द्वारा दुर्भावना पूर्वक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना में शामिल नहीं किए जाने पर कांग्रेस के सांसदों ने पुरजोर आपत्ति की लेकिन भाजपा सांसद मौन बने रहकर मेजें ही थपथपाते रहे।
रायपुर : निजी चिन्हांकित अस्पतालों के 50 प्रतिशत बिस्तरों में मरीजों के लिए आक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए- स्वास्थ मंत्री

रायपुर : निजी चिन्हांकित अस्पतालों के 50 प्रतिशत बिस्तरों में मरीजों के लिए आक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए- स्वास्थ मंत्री

रायपुर, राज्य में कोविड 19 के मरीजों की सुविधा के लिए निजी अस्पतालों में कुल संचालित बिस्तरों कोविड एवं नान कोविड सहित, में से 50 प्रतिशत बिस्तरों में आक्सीजन की 24x7 उपलब्धता कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।


स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा इस संबंध में सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं। जारी निर्देश में कहा गया है कि विभिन्न जिलों में निजी चिकित्सालयों में कोविड 19 मरीजों के उपचार हेतु चिन्हांकित अस्पतालों के कुल संचालित बिस्तरों कोविड एवं नान कोविड सहित में से 50 प्रतिशत बिस्तरों को आवश्यकतानुसार आरक्षित कर इन बिस्तरों का उपयोग कोविड -19 मरीजों के उपचार हेतु लाया जा सकेगा। इस संबंध में निजी चिकित्सालयों के संचालकों को अवगत कराया जाए और कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

 

 

 हाथी की मौत के मामले में दो आरोपी गिरफ्तार, करंट लगने से हुई थी मौत

हाथी की मौत के मामले में दो आरोपी गिरफ्तार, करंट लगने से हुई थी मौत

रायगढ़। धरमजयगढ़ के मेंढरमार में मंगलवार रात को करंट की चपेट में आने से एक नर हाथी की मौत हो गई। इस मामले में वन विभाग ने आरोपी पिता और पुत्र के खिलाफ कार्रवाई की है। दोनों आरोपियों को वन विभाग ने गिरफ्तार लिया है। आरोपी सुधुसाय उरांव और धरम साय उरांव के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। 

इससे पहले मामले की जांच करने पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ, सीसीएफ अनिल सोनी मौके पर पहुंचे। यहां उन्होंने जांच के बाद दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही। फिर तमाम आलाधिकारी व कर्मचारियों के साथ हाथी का अंतिम संस्कार किया। 

सीसीएफ अनिल सोनी ने जानकारी दी कि लगातार इस क्षेत्र में हाथियों की ट्रेकिंग की जा रही है। जिस हाथी की करंट लगने से मौत हुई है उसकी ट्रेकिंग कल रात तक की गई है। किसी ने गैरकानूनी तरीके से खेत में बिजली का अवैध कनेक्शन ले रखा था। जिसकी चपेट में आने से हाथी की मौत हुई है। फिलहाल इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आगे जांच की जा रही है। जांच में अगर किसी विभाग की संलिप्तता पाई जाएगी तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। 
 
 छत्तीसगढ़ के इस जिले में 25 से 30 तक बढ़ा लॉकडाउन, जिला प्रशासन ने जारी किया आदेश

छत्तीसगढ़ के इस जिले में 25 से 30 तक बढ़ा लॉकडाउन, जिला प्रशासन ने जारी किया आदेश

मुंगेली। पिछले 6 महीनों से कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार हो रहा है। इस बढते संक्रमण को देखते हुए 1 सप्ताह के लॉकडाउन के बाद मुंगेली में 25 से 30 तक के लिए फिर बढाया गया। इसके पहले 17 से 23 तक लॉकडाउन किया गया था 
 राज्य सरकार की चेतावनी: कोरोना मरीजों से अधिक वसूली की तो लायसेंस होगा निरस्त

राज्य सरकार की चेतावनी: कोरोना मरीजों से अधिक वसूली की तो लायसेंस होगा निरस्त

रायपुर। राज्य सरकार के द्वारा पूर्व में निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क लेने की अगर शिकायत प्राप्त होगी तो उस चिकित्सालय को इलाज के लिए अनुमति निरस्त की जा सकती है। संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ ने इस संबंध में सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं।

जारी निर्देश में कहा गया है कि निर्धारित शुल्क से अधिक लेने की शिकायत प्राप्त होने पर एपिडेमिक डिसीज एक्ट 1897,छत्तीसगढ़ पब्लिक एक्ट १९४९ तथा छत्तीसगढ़़ एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन एक्ट 2020 के तहत कार्यवाही करें । इस आशय की जानकारी जिला कलेक्टर को दी जाए और उनके निर्देशानुसार आवश्यकता पड़ने पर उस चिकित्सालय को कोविड 19 के इलाज के लिए प्रदान की गई अनुमति निरस्त की जाए।

राज्य शासन ने 5 सितंबर को आदेश जारी कर निजी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए दर का निर्धारण किया है। निजी अस्पतालों में उपलब्ध सुपरस्पेशियालिटी सुविधाओं के आधार पर इन्हें तीन श्रेणियों में बांटा गया है। ए-श्रेणी में रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बिलासपुर, कोरबा और रायगढ़ जिले के अस्पतालों को रखा गया है। बी-श्रेणी में सरगुजा, महासमुंद, धमतरी, कांकेर, जांजगीर-चांपा, बलौदाबाजार-भाटापारा, कबीरधाम एवं बस्तर जिले के अस्पतालों को रखा गया है। शेष जिलों के अस्पताल सी-श्रेणी में शामिल हैं। निजी अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज में होने वाला व्यय मरीज को स्वयं वहन करना होगा।

ए-श्रेणी वाले जिलों के एन.ए.बी.एच. मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों में मॉडरेट स्थिति वाले मरीजों के इलाज के लिए प्रतिदिन 6200 रूपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। इसमें सर्पोर्टिव केयर आइसोलेशन बेड के साथ आक्सीजन एवं पीपीई किट की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। गंभीर स्थिति वाले मरीजों के उपचार के लिए रोजाना 12 हजार रूपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। इसमें वेंटिलेटर केयर के बिना आईसीयू और पीपीई किट शामिल है। अति गंभीर मरीजों के इलाज के लिए 17 हजार रूपए प्रतिदिन की दर निर्धारित की गई है। इसमें वेंटिलेटर केयर के साथ आईसीयू एवं पीपीई किट शामिल है। वहीं एन.ए.बी.एच. से गैर मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों के लिए मॉडरेट, गंभीर और अति गंभीर मरीजों के इलाज के लिए प्रतिदिन 6200 रूपए, दस हजार रूपए एवं 14 हजार रूपए का शुल्क निर्धारित किया गया है।

बी-श्रेणी में शामिल जिलों के सुपरस्पेशियालिटी सुविधा वाले अस्पताल तीनों स्थिति (मॉडरेट, गंभीर और अति गंभीर) के मरीजों के इलाज के लिए ए-श्रेणी के लिए निर्धारित दर का 80 प्रतिशत और सी-श्रेणी वाले जिलों के अस्पताल 60 प्रतिशत शुल्क ले सकेंगे।

सभी अस्पताल डायग्नोसिस के लिए आयुष्मान भारत एवं डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत आई.पी.डी. मरीजों के लिए निर्धारित शुल्क ही लेंगे। जहां ये योजनाएं लागू नहीं है वहां सीजीएचएस दरों के अनुसार शुल्क लिया जाएगा। सभी अस्पतालों में दवाईयों की कीमत वास्तविक बाजार मूल्य के अनुसार ही लिए जाएंगे।
आपत्तिजनक पोस्ट के मामले में मेयर और सभापति शिकायत करने पहुंचे एस पी कार्यालय

आपत्तिजनक पोस्ट के मामले में मेयर और सभापति शिकायत करने पहुंचे एस पी कार्यालय

रारयपुर। सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट करने को लेकर नगर निगम के मेयर एजाज ढेबर और सभापति प्रमोद दुबे ने रायपुर एसएसपी अजय यादव से मुलाकात कर बीजेपी नेता व प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है एसएसपी ने मामले की जांच सीएसपी से कराने और बाद में एफआईआर दर्ज करने की बात कही है। मेयर और सभापति के खिलाफ भाजपा प्रवक्ता ने की है तथ्यहीन टिप्पणी।

आपको बता दे की अपने फेसबुक पोस्ट में गौरीशंकर श्रीवास ने लिखा है कि सेनेटाइजर छिड़काव के नाम पर महाचोर लोगों ने करोड़ों रूपए फूंका, इसका नतीजा आज सब भुगत रहे हैं इसमें पानी ज्यादा और सेनेटाइजर नाम मात्र का था इस खेल में सभापति भी कहाँ पीछे रहने वाले थे इस पानी छिड़काव में अपने घर के बस (शारदा ट्रेव्लस) को लगाकर लाखों रूपए का बिल आहरित किया गया ? कोरोना तो जैसे महाचौरों के लिए अवसर बनकर आया है। मिट्टी को ब्लीचिंग पाउडर के नाम से प्रति बोरा 500 रूपये में खरीदा गया |ये वक्त की मार ही तो है |मिट्टी खरीदने वाले कमीशनखोर अधिकारी जान बचाने भागे भागे फिर रहे है। 

यह टिप्पणी यही नहीं रूका, जब महापौर और सभापति ने एसएसपी से इसकी शिकायत की, तो बीजेपी नेता गौरीशंकर श्रीवास ने इसे बकायदा अपने फेसबुक में पोस्ट किया है। जिसमें लिखा है कि आप दोनों ने शिकायत करने के लिए कीमती समय निकाला है उसके लिए धन्यवाद इतना समय कोरोना से निपटने के लिए निकाला होता, तो मुझे और खुशी होती सच बोलने पर जो भी विधिसम्मत कार्रवाई होगी उसके लिए तैयार हूं।
Previous123456789...147148Next