BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना से मौत की रफ्तार फिर बढ़ी, आज इतने कोरोना मरीजों की हुई मौत, प्रदेश में आज इतने नए मरीज मिले    |    बड़ी खबर : सहायक प्राध्यापक लिखित परीक्षा परिणाम जारी    |    बड़ी खबर : अब संसद की कैंटीन में नहीं मिलेगा सांसदों को इस रेट में खाना, जाने क्या है वजह    |    प्रधानमंत्री 20 जनवरी को इस राज्य में पीएमएवाई आर्थिक सहायता राशि जारी करेंगे    |    भारत किस देश के साथ कर रहा है वायुसैनिक अभ्यास, पढ़े पूरी खबर    |    शर्मनाक हरकत: 13 साल की नाबालिग से दुष्कर्म के बाद किया जिंदा दफन, पढ़े पूरी खबर    |    इस टीवी एक्ट्रेस ने पायलट पर लगाया शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप, पढ़े पूरी खबर    |    देश में अब पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जायेगी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती    |    योगी की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ कर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले आरोपी की जमानत खारिज    |    3 बड़े कारोबारियों के 28 ठिकानों पर इंकम टेक्स का छापा: 200 से अधिक अधिकारियों की टीम मौजूद    |
खड़े ट्रक से टकराई शादी कार्यक्रम से लौट रहे युवकों की बाइक, हादसे में हुई दो की मौत

खड़े ट्रक से टकराई शादी कार्यक्रम से लौट रहे युवकों की बाइक, हादसे में हुई दो की मौत

अंबिकापुर। वैवाहिक कार्यक्रम से शुक्रवार की रात घर लौट रहे युवकों की एक-एक कर दो बाइक सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकरा गई। हादसा इतना जबरदस्त था कि दोनों बाइक में सवार एक-एक युवकों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। एक युवक का गर्दन कटकर अलग हो गया, जबकि तीसरा युवक बेहोश हो गया।

सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा घायल को मेडिकल कॉलेज अस्पताल भिजवाया गया, वहीं मृतकों का शव पीएम के लिए भेजा गया। सड़क हादसे में 2 युवकों की मौत से परिजनों में मातम पसर गया है। 

मिली जानकारी के अनुसार बतौली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम गहिला निवासी ब्रम्हदेव तिर्की पिता अमर तिर्की 22 वर्ष, रामसाय लकड़ा पिता मोहरलाल 20 वर्ष तथा सुनील लकड़ा पिता नेतलाल 20 वर्ष ग्राम खड़धोवा निवासी परिचित की शादी पार्टी में शामिल होने गए थे। तीनों 2 बाइक पर सवार होकर शुक्रवार की रात 9.30 बजे घर लौट रहे थे।

 अंबिकापुर-रायगढ़ नेशनल हाइवे पर बतौली से पहले चिरगा मोड़ के आस-पास पहुंचे ही थे कि एक-एक कर दोनों बाइक सड़क किनारे खड़े ट्रक  से जा टकराई। हादसे में तीनों युवकों के सिर में गंभीर चोट आई।

इस दौरान ब्रम्हदेव तिर्की व रामसाय लकड़ा की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि सुनील लकड़ा बेहोश हो गया। ब्रम्हदेव तिर्की की गर्दन धड़ से अलग हो गई।

पुलिस ने भिजवाया अस्पताल-
सड़क हादसे में युवकों की मौत की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस टीम मौके पर पहुंची और घायल को तत्काल अस्पताल भिजवाया। यहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर रेफर कर दिया गया। वहीं मृतकों का शव पीएम के लिए अस्पताल भेजा।

सड़क हादसे में युवकों की मौत से दो परिवार सहित पूरे गहिला गांव में मातम पसर गया है। शनिवार को पीएम पश्चात उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। गौरतलब है कि जिले के मुख्य मार्गों पर सड़क किनारे अंधेरे में भारी वाहन खड़ा कर दिया जाता है।

उनके द्वारा न तो इंडिकेटर ऑन रखा जाता है और न ही कोई संकेत दिया जाता है, ताकि आने वाले छोटे वाहन चालकों को दूर से ही खड़ा वाहन दिखाई पड़ जाए। ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ पुलिस भी कार्रवाई नहीं करती।
इस दिन जिले की समस्त देशी और विदेशी मदिरा दुकानें, बंद

इस दिन जिले की समस्त देशी और विदेशी मदिरा दुकानें, बंद

अम्बिकापुर कलेक्टर झा ने छत्तीसगढ़ शासन वाणिज्यिकर आबकारी विभाग रायपुर के अधिसूचना के अनुसार गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 2021 को और महात्मा गांधी निर्वाण दिवस 30 जनवरी 2021 को शुष्क घोषित किया गया है। इस दिन जिले की समस्त देशी और विदेशी मदिरा दुकानें, एफ.एल. 8 और मद्य भांडागार बंद रहेंगे तथा मदिरा का विक्रय पूर्णत: बंद रहेगी। उन्होंने शासन के आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने कहा है।

 खाद्य मंत्री भगत ने ली खाद्य विभाग की बैठक: जानिए आखिर किस विषय पर हुई चर्चा

खाद्य मंत्री भगत ने ली खाद्य विभाग की बैठक: जानिए आखिर किस विषय पर हुई चर्चा

अम्बिकापुर। छत्तीसगढ़ शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत की अध्यक्षता में आज यहां जिला पंचायत सभाकक्ष में खाद्य विभाग की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक हुई सम्पन्न। बैठक में संभाग के जिलों में अब तक हुई धान की खरीदी, बारदाने की उपलब्धता, रकबा संशोधन, धान का उठाव, पी.डी.एस. संचालन, वेयर हाउस का निर्माण एवं क्षमता, अवैध धान परिवहन, वनाधिकार पत्र धारक किसानों का पंजीयन आदि के संबंध में एजेंडावार विस्तार से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिए गए। सरगुजा संभाग में अब तक 55 प्रतिशत धान की खरीदी हुई है। एक लाख 61 हजार 661 पंजीकृत किसानों में से अब तक 90 हजार 232 किसानों ने धान बेचा है। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी सरकार के सर्वोच्च प्राथमिकता वाले तथा सरकार की छवि को प्रभावित करने वाला है। किसानों की समस्याओं का तत्काल निराकरण करते हुए व्यवस्थित धान खरीदी करें। किसानों को उपार्जन केंद्रों में धान बेचने में पूरी सहूलियत दें। 

खाद्य मंत्री ने कहा कि किसानों के छोटी-छोटी समस्याओं तथा शिकायतों का तत्काल निराकारण कर राहत दें। वनाधिकार प्राप्त किसानों के पंजीयन के संबंध में कहा कि समय पर जिन किसानों ने पंजीयन कराया है उन्हें धान बेचने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए तथा जिनका आवेदन समय के बाद आया है उनके पंजीयन के लिए राज्य कार्यालय से पहल की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी खरीदी केंद्र में धान खरीदी समय से पहले बंद नहीं होना चाहिए। इस वर्ष प्रदेश स्तर से बारदाने की समस्या है फिर भी धान खरीदने के लिए व्यवस्था की जा रही है। बारदाने की समुचित व्यवस्था के लिए मार्कफेड के प्रबंध संचालक को पत्र लिख कर सरगुजा में बारदाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि संभाग के सभी जिले की खाद्य अधिकारी व्हाट्स ग्रुप में आपस मे जुड़े तथा जिस जिले में अतिरिक्त बारदाना कि जानकारी मिलती है उसे आवश्यकता वाले जिले से मंगा लें। मिलरों के द्वारा उपार्जन केंद्रों से धान का उठाव तेजी से करायें। जिन मिलरों का अनुबंध शेष है उनका अनुबंध पूरा कराये। उन्होंने कहा कि उपार्जन केंद्रों में धान को बारिश के पानी से बचाना बहुत जरूरी है। इसके लिए तिरपाल की व्यवस्था तहत चबूतरों का निर्माण पूरा करायें। भगत ने कहा कि धान भण्डारण व्यवस्था के लिए जिन जिलों में जितनी क्षमता के भंडारगृह की आवश्यकता है उसका प्रस्ताव शीघ्र दें। उन्होंने सभी पी.डी.एस. दुकानों में राशन की उपलब्धता तथा सीसीटीवी कैमरा लगाने और रंग-रोगन कराने के निर्देश दिए। 

किसानों के मेहनताना का राशि दें- मंत्री भगत ने कहा कि उपार्जन केंद्रों में समुचित धान खरीदी के लिए राज्य शासन मदवार धान की तौलाई से लेकर बारदाने सिलाई तक की राशि जारी करती है। किसी भी किसान को खरीदी केंद्र में अपने धान बेचने के लिए काम न कराएं। यदि किसानों से काम करते हैं तो नियमानुसार पारिश्रमिक उनके खाते में जमा कराएं। किसी भी धान खरीदी में किसानों से मुफ्त में काम न कराएं। 

राशन कार्ड में नाम जोड़ने-विलोपन के लिए लगेगा कैम्प- मंत्री भगत ने राशन कार्ड में परिवार के किसी सदस्य के छूटे हुए नाम जोड़ने-विलोपित करने या अन्य राशन कार्ड बनाने के लिए धान खरीदी पूर्ण होने के बाद विशेष कैम्प लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राशन कार्ड के आवेदन में अनजाने में आवेदक के द्वारा सही जानकारी नही देने के कारण बी.पी.एल. कार्ड के स्थान पर ए.पी.एल. कार्ड जारी हो गए हैं। इसी प्रकार विवाह के पश्चात बहु-बेटियों के नाम जोड़ने और विलोपित करने में भी समस्याएं हैं। इनकी वार्डवार जानकारी लेकर सुधार करें। 

छत्तीसगढ़ राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह बाबरा ने कहा कि किसानों को टोकन लेने तथा धान बेचने में समिति का चक्कर लगाने की नौबत नहीं आनी चाहिए। वर्तमान में एक पी.डी.एस. संचालक तीन-तीन दुकानों का संचालन कर रहे हैं उसे 2 दुकान तक सीमित किया जाए। छत्तीसगढ़ औषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष बालकृष्ण पाठक ने कहा कि निगम क्षेत्र मे पिछले कई वर्षों से पी.डी.एस. दुकानों का संचालन करने वाले संचालकों के व्यापक शिकायतें आ रही है। इन संचालको की जांच कर उन्हें परिवर्तन करने की कार्यवाही होनी चाहिये। बीस सूत्रीय कार्यान्वयन के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल ने कहा कि नए संशोधित राशन कार्ड बनाने के लिए वार्डवार शिविर लगाएं। 

कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कहा कि बैठक में खाद्य मंत्री द्वार धान खरीदी सहित अन्य मुद्दों पर जो भी निर्देश दिए है उन्हें सभी जिले के अधिकारी अक्षरशः पालन करेंगे। 

बैठक में मेयर डॉ अजय तिर्की, नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध संचालक अमृत विकास टोपनो,अपर कलेक्टर द्वय ए.एल. ध्रुव, संतन देवी जांगडे सहित संभाग के जिलों के खाद्य अधिकारी, जिला विपणन अधिकारी उपस्थित थे।
 
जानिए किस रेंज के आईजी कर रहें हैं नक्सलियों के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन चलाने की तैयारी

जानिए किस रेंज के आईजी कर रहें हैं नक्सलियों के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन चलाने की तैयारी

अंबिकापुर । छत्तीसगढ़ शासन में पुलिस अधिकारियों के नए फेरबदल की लिस्ट में सरगुजा रेंज के आईजी रतनलाल डांगी के स्थानांतरण के बाद सरगुजा रेंज के नए आईजी पी साय पद संभालते ही नक्सल प्रभावित क्षेत्र बलरामपुर का दौरा किया। इस दौरे में बलरामपुर के नक्सल प्रभावित क्षेत्र चुनचुना, पुदांग, सबाग, सामरी, कुसमी, क्षेत्र में पैदल मार्च करते हुए वहां की भौगोलिक स्थिति का जायजा लिया। साथ ही पुलिस स्पंदन कार्यक्रम में पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों की समस्याओं और आवेदनों पर सुनवाई करते हुए कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।   इस दौरान नक्सली गतिविधियों को पूरी तरह से खत्म करने और नक्सलियों के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन चलाने व पुलिस कर्मचारियों को समुचित सावधानी के साथ सतर्कता बरतने के भी निर्देश दिया गया, इस दौरान बलरामपुर पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के साथ सीआरपीएफ के अधिकारी मौजूद रहे। 

 
बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : श्रमिकों से भरी बस पलटी, एक मजदूर की मौत हुई, 1 दर्जन से ज्यादा लोग घायल

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : श्रमिकों से भरी बस पलटी, एक मजदूर की मौत हुई, 1 दर्जन से ज्यादा लोग घायल

अंबिकापुरअंबिकापुर में श्रमिकों से भरी बस पलट गई। मिली जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जाते हुए रास्ते में पलट गई। इस हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई वही एक दर्जन से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं।

पढ़ें : BIG BREAKING : शहर के श्मशान घाट हादसे में अब तक 25 लोगों के शव बरामद, 3 लोगों को किया गया गिरफ्तार

घटना लखनपुर थाना क्षेत्र के कुंवरपुर जलाशय मोड़ के पास हुई है, जहां श्रमिकों से भरी बस अनियंत्रित होकर पलट गई। घायलों को इलाज के लिए लखनपुर सामुदायिक केंद्र में भर्ती कराया गया है।

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़ के इस पर्यटन स्थल में लगी भीषण आग, 10 से अधिक दुकाने जलकर खाक

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़ के इस पर्यटन स्थल में लगी भीषण आग, 10 से अधिक दुकाने जलकर खाक

अंबिकापुर जिले के मैनपाट से आगजनी की बड़ी घटना सामने आई है। यहां कमलेश्वरपुर थाना अंतर्गत 10 से ज्यादा दुकानों में भीषण आग लग गई। कुछ ही घंटों में दुकान के साथ-साथ कीमती सामान जलकर खाक हो गया।

सूचना के बाद पहुंची दमकल की टीम ने आग पर काबू पाया है। जानकारी के अनुसार मैनपाट के पर्यटन स्थल पर यह आगजनी की घटना हुई है। एक दुकान में आग लगते ही बारी-बारी से उससे लगे 10 से ज्यादा दुकानों में आग फैल गई।


भीषण आग की लपटों को लोगों को बुझाने की कोशिश की। बता दें कि जिन दुकानों में आग लगी वो सभी दुकानें बांस बल्ली से बने हुए थे। जिसकी वजह से आग तेजी से फैली। आग से दुकानें सहित सामान पूरी तरह से जलकर खाक गई। अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। वहीं आग से भारी नुकसान हुआ है। फिलहाल पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

मादा भालू ने छोड़ा दो शावकों का साथ, ग्रामीण कर रहे शावकों की देखभाल, दे रहे मानवता की मिसाल

मादा भालू ने छोड़ा दो शावकों का साथ, ग्रामीण कर रहे शावकों की देखभाल, दे रहे मानवता की मिसाल

सरगुजा | जिले का उदयपुर क्षेत्र जंगल व जंगली जानवरों से आबाद है। इस क्षेत्र में हाथियों के साथ भालुओं की संख्या भी अच्छी खासी है। ऐसे में ग्रामीणों का सामना भालुओं या हाथियों के साथ होता रहता है। जिसके परिणाम हमेशा सुखद नहीं होते। आए दिन ग्रामीण इन जंगली जानवरों के हमले के शिकार भी होते रहते है।

पढ़ें : BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में कार्यरत अनियमित कर्मचारीयों की मंत्रालय ने मंगाई जानकारी, नए साल में मिल सकता है कर्मचारियों को बड़ा तोहफा

भालू के नाम से वैसे ही लोग खौफ खाते है, लेकिन खरसुरा के गामीणों के साथ एक भालू के रिश्ते ने मानवता की मिसाल पेश की है। जन्म के बाद अपने बच्चों को बस्ती किनारे छोड़ गई मादा भालू के दो शावकों का ग्रामीण वन विभाग की निगरानी में पूरा ख्याल रख रहे हैं। ग्रामीण शावकों को बोतल से दूध पिला रहे हैं और बड़े जतन से उनकी देखभाल कर रहे हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उदयपुर विकासखंड से लगे ग्राम खरसुरा में 16 दिसम्बर को एक मादा भालू ने खेत में दो शावकों को जन्म दिया था। शावकों को जन्म देने के बाद मादा भालू जंगल में चली गई थी। बस्ती किनारे भालू के शावक को जन्म देने से ग्रामीणों में भी दहशत का माहौल था। भालू के शावक तीन दिनों तक वन विभाग की निगरानी में बस्ती किनारे ही रह रहे थे।

पढ़ें : इस देश में कोरोना की नई स्ट्रेन से लोगों में दहशत, अब तक दो रूप आए सामने


इस बीच 19 दिसम्बर को मादा भालू अपने शावकों को लेकर जंगल में चली गई थी, जिससे लोगों ने राहत की सांस ली थी। लेकिन अब फिर से मादा भालू दोनों शावकों को बस्ती किनारे छोड़कर चली गई है। सुबह जब ग्रामीणों की नजर शावकों पर पड़ी, तो गांव में हड़कंप मच गया और बड़ी संख्या में लोग उन्हें देखने के लिए पहुंच गए।
वन विभाग का कहना है कि मादा भालू अपने शावकों को बस्ती किनारे छोड़कर जंगल में भोजन की तलाश में चली जाती है और रात को वापस बस्ती किनारे आती है। शावकों की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे थे। वन विभाग की निगरानी में ग्रामीणों ने भालू के शावकों को दूध पिलाया। शावक काफी छोटे और कमजोर हैं। इसके कारण ग्रामीण ही उनकी देखभाल कर रहे हैं।
मादा भालू अपने शावकों को लेकर काफी संवेदनशील होती है। जिस तरह ग्रामीण शावक के नजदीक जा रहे हैं, उससे उन्हें खतरा भी बना हुआ है। यदि ग्रामीणों की मौजूदगी के समय मादा भालू अपने शावकों के पास लौटी, तो निश्चित रूप से वह ग्रामीणों पर हमला कर सकती है। हालांकि वन विभाग भी लोगों को भालू के शावकों से दूर रहने और उनसे ज्यादा छेड़छाड़ नहीं करने की सलाह दे रहा है।

 युवती ने जिला अस्पताल के डॉक्टर पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, कहा- शादी का झांसा देकर बना रहा था शारीरिक संबंध

युवती ने जिला अस्पताल के डॉक्टर पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, कहा- शादी का झांसा देकर बना रहा था शारीरिक संबंध

अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर इलाके से एक मामला सामने आया है, जहां एक युवती ने जिला अस्पताल के डॉक्टर पर रेप का आरोप लगाया है। युवती का कहना है कि आरोपी डॉक्टर पिछले 7 साल से उससे अपनी हवस की भूख मिटा रहा है। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

पढ़िये पूरी खबर-
मिली जानकारी के अनुसार मामला गांधीनगर थाना क्षेत्र का है, जहां डॉ प्रसुन्न टोप्पो अंबिकापुर जिला अस्पताल में डॉक्टर के तौर पर पदस्थ हैं। डॉ टोप्पो पर एक युवती ने रेप का आरोप लगाया है। युवती का कहना है कि डॉक्टर और उसकी मुलकात बीएड की पढ़ाई के दौरान हुई थी। मुलाकात के कुछ ही दिन बाद ही डॉक्टर और पीड़िता रिलेशनशिप में आ गए थे। पीड़िता का यह भी कहना है कि आरोपी डॉक्टर ने रेप करने से पहले शादी करने का वादा किया था।
मुख्यमंत्री ने अंबिकापुर में प्रदेश के पहले ‘गोधन एम्पोरियम‘ का किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने अंबिकापुर में प्रदेश के पहले ‘गोधन एम्पोरियम‘ का किया उद्घाटन

अंबिकापुरमुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज सरगुजा जिला प्रवास के दौरान जिला मुख्यालय अंबिकापुर में प्रदेश के पहले गोधन एम्पोरियम का उद्घाटन किया। इस एम्पोरियम में गोधन न्याय योजना के तहत गोठानों में खरीदे गए गोबर से महिला समूहों द्वारा निर्मित हो रहे विभिन्न उत्पादों की बिक्री की जाएगी।

पढ़ें : बड़ी खबर : ड्यूटी से वापस आ रहे पेसेंजर गार्ड की सड़क हादसे में मौत, ट्रक चालक के खिलाफ अपराध दर्ज


    गोधन एम्पोरियम में गोबर से महिला समूहों द्वारा बनाई गई लकड़ी, ईंट, दीये, धूप बत्ती, अगरबत्ती, खिलौने, सजावटी समान सहित घनजीवामृत विक्रय के लिए उपलब्ध रहेगा। महिलाओं द्वारा गोबर तथा बेसन के साथ अन्य प्राकृतिक उत्पाद के मिश्रण से घनजीवामृत तैयार किया जा रहा है। इसके उपयोग से भूमि की उर्वरता बढ़ती है।

पढ़ें : राजधानी में सड़क हादसा : नशे में धुत्त सिंघानिया बिल्डर्स के बेटे ने टीयूवी को ठोंका, सभी गंभीर


    गोधन उत्पाद विक्रय सह प्रदर्शनी केंद्र के रूप में अंबिकापुर के कला केंद्र मैदान के सामने गांधी स्टेडियम के प्रवेश द्वार के निकट गोधन एम्पोरियम की शुरुआत की जा रही है। एम्पोरियम का संचालन गोठान प्रबंध समिति द्वारा नगर निगम एवं राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के मार्गदर्शन एवं निगरानी किया जाएगा। गोधन एम्पोरियम खुलने से जहां नागरिकों को गोधन उत्पाद खरीदने में सुविधा होगी वहीं समूह की महिलाओं अपने उत्पादों के विक्रय के लिए एक व्यवस्थित स्थान मिलेगा। अंबिकापुर का गोधन एम्पोरियम प्रदेश के लिए एक मॉडल साबित हो सकता है।

पढ़ें : अश्लील फोटो वायरल करने की पति दे रहा था धमकी, पत्नी ने दर्ज करायी एफ.आईआर


    इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमेश पटेल, संसदीय सचिव श्री चिंतामणि महाराज, सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री बृहस्पति सिंह, राज्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री रामगोपाल अग्रवाल भी उपस्थित थे।

कोतवाली पुलिस ने नशीली दवाओं और इंजेक्शनों के बड़े ज़ख़ीरे को धर दबोचा, एसपी ने किया खुलासा

कोतवाली पुलिस ने नशीली दवाओं और इंजेक्शनों के बड़े ज़ख़ीरे को धर दबोचा, एसपी ने किया खुलासा

अंबिकापुर। सरगुजा की कोतवाली पुलिस ने नशीली दवाओं और इंजेक्शनों के बड़े ज़ख़ीरे को धर दबोचा है। पुलिस ने मुखबिर की सूचना के बाद दो अलग-अलग कार्रवाइयों में कुल सत्रह लाख की नशीली दवाओं और इंजेक्शनों की खेप बरामद की है। पुलिस ने प्रकरण में दो आरोपियों को हिरासत में लिया है। 

सरगुजा एसपी टीआर कोशिमा ने बताया, “नशीली दवाओं और इंजेक्शनों पर लगातार कार्यवाही जारी है, सूचना मिली कि बिहार से शिवशंकर बरनवाल उर्फ पप्पू नशीली दवाओं और इंजेक्शनों की बिक्री सरगुजा इलाक़े में करता है,पप्पू दवाओं और इंजेक्शनों की खेप लेकर अंबिकापुर आया हुआ था उससे 14 लाख की नशीली दवाओं और इंजेक्शनों बरामद हुआ है, जबकि दूसरी कार्यवाही नवागढ में हुई है जहां से छोटू उर्फ़ मोहम्मद उसैद के पास से तीन लाख रुपये की नशीली दवाओं और इंजेक्शनों की खेप पकड़ी गई है।” जो दवाएँ और इंजेक्शनों को पकड़ा गया है, उनमें बुप्रेनाफिन रेक्सोजेसिक इंजेक्शन,पेन्टाजोकाईन इंजेक्शन,इविल,ट्रामाडोल स्पाश,ट्रामाडोल विन्सस्पास्मो टेबलेट और ऐलप्राजोलेम टेबलेट शामिल हैं।
ब्राउन शुगर और नशीले पदार्थ के साथ दो लोग हुए गिरफ्तार

ब्राउन शुगर और नशीले पदार्थ के साथ दो लोग हुए गिरफ्तार

अंबिकापुर, कोतवाली पुलिस ने शहर के दो अलग-अलग स्थान से रविवार को एक लाख की ब्राउन शुगर व नशीली दवा, इंजेक्शन के साथ 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी बाइक की डिक्की में मादक पदार्थ लेकर बेचने के के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया है।
कोतवाली टीआई भारद्वाज सिंह ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि अंबिकापुर-राजपुर मार्ग पर स्थित शंकर घाट के आस-पास एक बाइक सवार युवक मादक पदार्थ बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा है। इसकी जानकारी एसपी टीआर कोशिमा को दी गई।एसपी के निर्देश पर कोतवाली टीआई ने अपने नेतृत्व में टीम गठित कर शंकर घाट के पास पहुंच कर घेराबंदी की। मुखबिर के बताए अनुसार युवक को हिरासत में लेकर बाइक व उसकी तलाशी ली गई तो युवक के जेब में सफेद रंग की पन्नी में 5.34 ग्राम ब्राउन शुगर जिसकी कीमत 1 लाख रुपए बताई जा रही है।
वहीं बाइक की डिक्की की तलाशी ली गई तो 285 नग नशीली दवाएं पाई गई। जिसकी कीमत 660 रुपए है। पुलिस ने युवक के पास से मादक पदार्थ की बिक्री की राशि 22 हजार 5 सौ रुपए नगद, ब्राउन शुगर, नशीली दवा व बाइक जब्त कर युवक को गिरफ्तार कर लिया।
आरोपी का नाम अकरम रजा पिता मो. इसरार है जो कि बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र ग्राम आरा का निवासी है। पुलिस ने उसके खिलाफ 21 बी एनडीपीएस के तहत कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया है।
रायगढ़ से लाकर बेच रहा था नशीली दवाएं
वहीं दूसरे मामले में कोतवाली पुलिस ने शहर के दरिमा मोड़ के पास से रविवार की शाम को एक युवक को गिरफ्तार किया है। वह बाइक की डिक्की में 17 नग कफ सिरप, नशीली दवाएं बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है।
आरोपी नूर मोहम्मद पिता गुलाम अली रायगढ़ जिले के लैलूंगा थाना क्षेत्र के ग्राम तारागढ़ का रहने वाला है। वह रायगढ़ से नशीली दवा लाकर यहां खपाने का काम करता था। पुलिस ने उसके खिलाफ 21 सी एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेज दिया है।
दोनों कार्रवाई में ये रहे शामिल
कार्रवाई में मुख्य रूप से कोतवाली टीआई भारद्वाज सिंह, अब्दुल मुनाफ, डाकेश्वर ङ्क्षसह, मनीष सिंह, अरविन्द उपाध्याय, संजीव चौबे, जयदीप सिंह, आलोक गुप्ता, कुन्दन ङ्क्षसह, शिवमंगल सिंह शामिल रहे।
 

 बड़ी खबर: लाखों रुपये की ब्राउन शुगर व नशीली दवाइयों के साथ 2युवक गिरफ्तार

बड़ी खबर: लाखों रुपये की ब्राउन शुगर व नशीली दवाइयों के साथ 2युवक गिरफ्तार

अंबिकापुर। पुलिस ने शहर के दो अलग-अलग स्थान से रविवार को एक लाख की ब्राउन शुगर व नशीली दवा, इंजेक्शन के साथ 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी बाइक की डिक्की मेंं मादक पदार्थ लेकर बेचने के के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया है।

कोतवाली टीआई भारद्वाज सिंह ने बताया कि रविवार को मुखबिर से सूचना मिली कि, अंबिकापुर-राजपुर मार्ग पर स्थित शंकर घाट के आस-पास एक बाइक सवार युवक मादक पदार्थ बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा है। इसकी जानकारी एसपी टीआर कोशिमा को दी गई। एसपी और कोतवाली टीआई ने टीम गठित कर शंकर घाट के पास पहुंच कर घेराबंदी की। मुखबिर के बताए अनुसार युवक को हिरासत में लेकर बाइक व उसकी तलाशी ली गई तो युवक के जेब में सफेद रंग की पन्नी में 5.34 ग्राम ब्राउन शुगर जिसकी कीमत 1 लाख रुपए बताई जा रही है। वहीं बाइक की डिक्की की तलाशी ली गई तो 285 नग नशीली दवाएं पाई गई। जिसकी कीमत 660 रुपए है। पुलिस ने युवक के पास से मादक पदार्थ की बिक्री की राशि 22 हजार 5 सौ रुपए नगद, ब्राउन शुगर, नशीली दवा व बाइक जब्त कर युवक को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी का नाम अकरम रजा पिता मो. इसरार है, जो कि बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र ग्राम आरा का निवासी है। पुलिस ने उसके खिलाफ 21 बी एनडीपीएस के तहत कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया है। 

रायगढ़ से लाकर बेच रहा था नशीली दवाएं-
वहीं दूसरे मामले में कोतवाली पुलिस ने शहर के दरिमा मोड़ के पास से रविवार की शाम को एक युवक को गिरफ्तार किया है। वह बाइक की डिक्की में 17 नग कफ सिरप, नशीली दवाएं बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है।

आरोपी नूर मोहम्मद पिता गुलाम अली रायगढ़ जिले के लैलूंगा थाना क्षेत्र के ग्राम तारागढ़ का रहने वाला है। वह रायगढ़ से नशीली दवा लाकर यहां खपाने का काम करता था। पुलिस ने उसके खिलाफ 21 सी एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेज दिया है।
बड़ी खबर छत्तीसगढ़: फेसबुक का प्यार युवती को पड़ा महंगा, दोस्तों के साथ मिलकर प्रेमी ने लुट ली युवती की आबरू

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: फेसबुक का प्यार युवती को पड़ा महंगा, दोस्तों के साथ मिलकर प्रेमी ने लुट ली युवती की आबरू

अंबिकापुर। एक बार फिर से फेसबुक का प्यार एक युवती को महंगा पड़ गया। युवती के फेसबुक प्रेमी ने दोस्तों के साथ मिलकर प्रेमिका की आबरू लुट ली। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। अभी एक आरोपी फरार है।

पढ़िए पूरी खबर-
जानकारी के मुताबिक प्रेमी ने युवती को धमकी देकर अपने साथ घर ले गया। जहां पहले से तीन लोग मौजूद थे. चारों ने युवती के साथ दुष्कर्म कर दिया.लड़की किसी तरह घर पहुंची। इसके बाद परिजनों को गैंगरेप की जानकारी दी। फिर थाने में आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। 
ये घटना जशपुर के लुडक में हुई थी। अंबिकापुर मिशन चौक में रहने वाली युवती की पहचान आरोपी युवक से फेसबुक के माध्यम से ढाई महीने पूर्व हुई थी और युवक-युवती फेसबुक के जरिए एक दूसरे से बात किया करते थे। बातचीत का सिलसिला प्रेम संबंध में बदल गया फिर वह फोन पर बात करने लगे, प्रेम संबंध होने के बाद युवक ने युवती को गुदरी बाजार में बुलाया और गुदरी बाजार से उसे मैनपाट जाने की बात कहकर युवक ने युवती को डरा धमकाकर अपने निवास जशपुर लुडेग ले गया। जहां अपने अन्य 4 साथियों के साथ मिलकर युवती के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। 
पढ़ाने-लिखाने के नाम पर SDO लूट रहा था युवती की अस्मत, मामला हुआ दर्ज

पढ़ाने-लिखाने के नाम पर SDO लूट रहा था युवती की अस्मत, मामला हुआ दर्ज

अंबिकापुर। पीएचई विभाग के एसडीओ एनआर कुरैशी पर युवती से दुष्कर्म का आरोप लगा है। एसडीओ ने युवती को पढ़ाने-लिखाने के नाम पर घर पर रखा था। पीड़िता ने अजाक थाने में एसडीओ के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।
 
 
पीड़िता के मुताबिक एसडीओ करीब एक साल तक उससे दुष्कर्म कर रहा था। शिकायत पर पुलिस फरार चल रहे एसडीओ की तलाश में जुट गई है। पीड़िता के मुताबिक एसडीओ ने अपने घर में काम करने व पढ़ाने लिखाने के नाम पर उसे रखा था। इसी बीच उसकी नीयत बिगड़ गई और नौकरी लगवाने व बैंक खाता खुलवा देने का लालच देकर उससे दुष्कर्म करता था।
 
 
मध्यप्रदेश निवासी 60 वर्षीय एनआर कुरैशी अंबिकापुर में पीएचई विभाग में एसडीओ के पद पर पदस्थ है। वह अंबिकापुर में ही रहता है। उसने वर्ष 2016 में 24 वर्षीय एक युवती को घर का काम करने व पढ़ाने-लिखाने के नाम पर अपने घर में रखा था।
कोविड केयर सेंटर में दिया गया दुर्गंध युक्त भोजन, नाराज मरीजो ने किया जमकर हंगामा

कोविड केयर सेंटर में दिया गया दुर्गंध युक्त भोजन, नाराज मरीजो ने किया जमकर हंगामा

रामानुजगंज, आरागाही कोविड-19 केयर सेंटर में बीती रात दुर्गंध युक्त भोजन दिए जाने से नाराज कोरोना पॉजिटिव मरीजों के द्वारा भोजन को लाकर आंगन में रख दिया गया एवं भोजन नहीं करने पर अड़ गए जिसकी सूचना सीएमएचओ एवं एसडीएम को लगी तो रात में 11 बजे गर्म भोजन कोरेना पॉजिटिव मरीजों को दिया जा सका। गौरतलब है कि जब से आरागाही में कोविड-19 केयर सेंटर बना है तब से ही कोरेना पॉजीटिव मरीजों के भर्ती होने के साथ ही लगातार मरीजों के द्वारा अत्यंत घटिया भोजन दिए जाने की शिकायत की जा रही है इसी बीच बीती रात जब मरीजों को भोजन दिया गया तो उसमें से दुर्गंध आ रही थी। जिसके बाद मरीज नाराज हो गए एवं भोजन को ला ला कर आंगन में रखने लगे। जिसकी सूचना देर रात ही सीएमएचओ एवं एसडीएम को दी गई जिसके बाद रात में 11 बजे गर्म भोजन कोरेना को दिया जा सका। डीएवी के प्राचार्य ने बीती रात से भोजन का किया त्याग- डी ए वी भवरमाल में पदस्थ प्रभाष चंद्र झा कोरेना पॉजीटिव पाए जाने के बाद कोविड-19 केयर सेंटर आरागाही में भेजा गया जहा भोजन बिल्कुल ठंडा मिलने से नाराज होकर श्री झा ने बुधवार की रात से भोजन का त्याग कर दिया है श्री झा ने बताया कि यहां साफ -सफ ाई की व्यवस्था भी ठीक नहीं है, परिसर को सैनिटाइज भी नहीं किया जा रहा है यदि प्रशासन व्यवस्था नहीं कर सकती है तो हमें होम आइसोलेशन में भेजा जाए ताकि हम खुद अपना ख्याल अच्छे से रख सकें। भोजन रहता है बिल्कुल ठंडा- मरीजों ने आरोप लगाया कि भोजन बिल्कुल ठंडा दिया जाता है कोरेना पॉजीटिव मरीजों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि भोजन देने में जमकर मनमानी की जा रही है शिकायत के बाद भी इसमें सुधार नहीं किया जा रहा है। समय के चलते भी हो रही है समस्या- आरागाही कोविड-19 केयर सेंटर में दूरस्थ विकासखंड से भी कोरेना पॉजीटिव मरीज आ रहे हैं यहां पर मरीजों के प्रवेश देने का समय दोपहर 1:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक है ऐसे में जब मरीज देर से पहुंचते हैं तो भोजन की समस्या आती है। इस संबंध में विकासखड स्वास्थ्य अधिकारी डॉ कैलाश ने बताया कि दुर्गंध युक्त भोजन दिए जाने की सूचना कल रात में प्राप्त हुई थी। जिसके बाद रात में 11 बजे गरम भोजन कोरेना पॉजीटिव मरीजों को दिया जा सका। इस संबंध में सीएमएचओ डॉ बसंत ने कहा कि पहले 90 एक मरीज पर 1 दिन का खाने का खर्च किया जा रहा था वही अब 5 दिन में नया टेंडर हो जाएगा जिसके बाद 180 प्रतिदिन एक व्यक्ति के खाने पर खर्च किया जाएगा। डॉक्टर एवं अन्य स्टाफ भी वही भोजन करेंगे। कलेक्टर श्याम धावडे ने कहा कि आरागाही कोविड-19 केयर सेंटर के देखरेख की जिम्मेवारी एसडीएम रामानुजगंज को है तत्काल एसडीएम को निर्देशित करता हूं कि वहां की व्यवस्था को दुरुस्त करें। 

बड़ी खबर: मैनपाट में जबरदस्त विस्फोट, कई लोग गंभीर रूप से घायल

बड़ी खबर: मैनपाट में जबरदस्त विस्फोट, कई लोग गंभीर रूप से घायल

अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ के मैनपाट में मंगलवार को बालको  प्रबंधन की लापरवाही के चलते जबरदस्त बारूदी विस्फोट हुआ। इस घटना में कई लोगों गम्भीर रूप से घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है वहीं इस हादसें में आसपास रखे कई वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए है।

जानकारी के अनुसार उक्त विस्फोट बालको स्टाफ द्वारा बारूद के नष्टीकरणनके दौरान ब्लास्ट हुआ। इस दौरान एक्सपर्ट समेत कई अधिकारी मौके पर थे। इस दौरान एक के बाद एक कई ब्लास्ट हो रहे थे। एक विस्फोट इतना भयानक हुआ कि धमाके की आवाज दो-तीन किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। इधर इस ब्लास्ट की चपेट में वो लोग आ गए जो मौके से कुछ दूरी पर थे। विस्फोट के दौरान आसपास की गाडिय़ां भी क्षतिग्रस्त हो गई हैं। बताया जा रहा है कि बालकों के अधिकारियों की लापरवाही और गैर जिम्मेदराना रवैया के कारण उक्त हादसा हुआ है। इस संबंध में जानकारी मिली है कि बालकों की बाक्साइड खदान के लिए भारी मात्रा में बारूद यहां, कई महीनों से रखा हुआ था । खदान बंद होने की वजह से बालकों प्रबंधन ने उसे अन्यत्र परिवहन करने के बजाये नष्ट करने का फैसला लिया था। इसी कि चलते बारूद के नष्टीकरण के दौरान उक्त हादसा हो गया। 
8 हजार की रिश्वत लेते आरआई गिरफ्तार, एसीबी ने की कार्रवाई, जाने कहा की है यह खबर

8 हजार की रिश्वत लेते आरआई गिरफ्तार, एसीबी ने की कार्रवाई, जाने कहा की है यह खबर

अंबिकापुर | एंटी करप्शन ब्यूरो ने आरआई को सह कार्यालय से 8 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। पटवारी महिला से जमीन नापने के बाद नक्शा बनाने के नाम पर 10 हजार की रिश्वत मांग रहा था। दरअसल अम्बिकापुर की अर्चना खाखा की जमीन नापने के बाद नक्शा बनाने के नाम ठाकुरपुर हल्का पटवारी नम्बर 57 राजबहादुर सिंह ने 10 हजार रुपए की मांग की थी।

पढ़ें : सेक्स रैकेट का भंडाफोड़: आपत्तिजनक स्थिति में पांच लड़कियों सहित तीन युवक गिरफ्तार

महिला ने इसकी शिकायत एसीबी अम्बिकापुर कार्यालय में गई थी जिसके बाद एसीबी की टीम ने डीएसपी गौरव मंडल के नेतृत्व में ट्रेप कार्रवाई कर आरोपी को उसके कार्यालय से 8 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। महिला की शिकायत के बाद ट्रेप कार्रवाई की गई थी। हमने सत्यापन कराया और फिर आरोपी आरआई को 8 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है। आरोपी के विरुद्ध धारा 7, पीसी एक्ट 1988 एवं संशोधन अधिनियम 2018 के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जाएगा।

 

 
कॉलेज छात्रा को देह व्यापर करने महिला ने किया मजबूर, शिकायत के बाद महिला चढ़ी पुलिस के हत्थे

कॉलेज छात्रा को देह व्यापर करने महिला ने किया मजबूर, शिकायत के बाद महिला चढ़ी पुलिस के हत्थे

अंबिकापुर | छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से एक बड़ी खबर सामने आई है | खबर के अनुसार अंबिकापुर के गांधीनगर पुलिस थाने में कॉलेज छात्रा को देह व्यापार करने के लिए मजबूर कर रही एक मह एक ऐसी महिला को गिरफ्तार किया गया है, जो एक कॉलेज छात्रा को देह व्यापार करने के लिए मजबूर कर रही थी। यह शहर इसलिए भी ज्यादा संवेदनशील है, क्योंकि यह तीन राज्यों के संपर्क में है और इन सभी राज्यों में देह व्यापार धड़ल्ले से संचालित किया जाता है।

पढ़ें : 65 वर्ष के बुजुर्ग ने किया 5 बच्चियों के साथ बलात्कार, पढ़ें पूरी खबर

जानकारी के मुताबिक इस मामले में पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर कार्रवाई शुरू कर दी है और पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की बात भी कह रही है।
दरअसल मामला गांधीनगर थाना क्षेत्र का है, जहां की रहने वाली माही नामक महिला के खिलाफ आरोप है कि वो कॉलेज की छात्राओं पर दबाव बनाकर देह व्यापार करने को मजबूर करती है।
 
 
पीड़िता को महिला ने एक रात का 5 हजार और 2 घंटे का 2 हजार दिए जाने की बात कह, उसे देह व्यापार करने को मजबूर कर रही थी। यही नहीं आरोपी महिला ऐसा नहीं करने पर पीड़िता को घर मे बदनाम करने की धमकी भी दे रही थी।
इधर पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद अब आरोपी महिला अपने ऊपर लगे आरोपों से साफ इंकार कर रही है वहीं, पीड़िता पर ही आरोप लगा रही है कि कॉलेज छात्रा का उसके पति के साथ संबंध है, जिसके लिए उसका विवाद चल रहा था। महिला ने देह व्यापार कराने की बात से इनकार किया है।

 

 वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के बेटे ने खुद को गोली मारकर की खुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के बेटे ने खुद को गोली मारकर की खुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

अम्बिकापुर। छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर से बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता के बेटे ने लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। मिली प्राथमिक जानकारी के मुताबिक अम्बिकापुर के बाबूपारा स्थित एक खंडहर में कांग्रेस नेता के बेटे ने खुद को गोली मार ली है. घटना की सूचना मिलते ही फ़ॉरेंसिक टीम और पुलिस बल मौके पर पहुँच चुकी है। मामला अम्बिकापुर के कोतवाली थाना का है। फि़लहाल आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामले की विस्तृत विवेचना में जुट चुकी है।
मैनपाट के टाइगर प्वाइंट पर बड़ा हादसा, 3 युवक खाई में गिरे

मैनपाट के टाइगर प्वाइंट पर बड़ा हादसा, 3 युवक खाई में गिरे

अंबिकापुर, छत्तीसगढ़ में दुर्गम पहाड़ी वाले इलाके मैनपाट में हादसे की खबर मिल रही है। यहां टाइगर प्वाइंट पर 3 युवक 100 मीटर खाई में गिर गए हैं। इस हादसे की जानकारी मिलते ही मौके पर बचाव दल पहुंची है।
जानकारी के अनुसार हादसा दोपहर की बताई जा रही है। वहीं अभी पता नहीं चल पाया है कि एक साथ 3 युवक खाई में कैसे गिर गए। फिलहाल  युवकों को रेस्क्यू कर बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है।
इधर खबर फैलते ही लोगों में हड़कंप मच गया। बता दें कि अंबिकापुर का मैनपाट इलाका पूरी तहर से पहाड़ों और जंगलों से घिरा हुआ है। लोग अक्सर मनोरम वादियों का लुफ्त उठाने के लिए यहां आते हैं।
 

चिकित्सक से मारपीट के बाद डॉक्टर बैठे एक दिवसीय हड़ताल पर, पढ़ें पूरी खबर

चिकित्सक से मारपीट के बाद डॉक्टर बैठे एक दिवसीय हड़ताल पर, पढ़ें पूरी खबर

अंबिकापुर | चिकित्सक से मारपीट और गालीगलौज के विरोध में मेडिकल कॉलेज अस्पताल के सभी डॉक्टरों एक दिवसीय हड़ताल पर है। बीते तीन जुलाई की शाम लगभग आठ बजे डॉक्टर पुकेश्वर वर्मा व डॉ दीपक चंद्रवंशी के अलावा स्टॉफ नर्स के साथ गाली-गलौज व मारपीट के बाद भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर चिकित्सकों में आक्रोश है। चिकित्सकों ने आरोपी युवक को 24 घंटे के भीतर पुलिस द्वारा गिरफ्तार नहीं करने पर पहले ही ओपीडी सेवाओं को बंद करने की चेतावनी दी थी। प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के मंत्री टीएस सिंह देव ने घटनाक्रम से गृह मंत्री को अवगत कराया था, वहीं पुलिस अधिकारियों से आरोपित को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद भी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

 

 
छत्तीसगढ़ के इस जिले में टिड्डियों ने बोला हमला, प्रशासन में बढ़ी चिंता

छत्तीसगढ़ के इस जिले में टिड्डियों ने बोला हमला, प्रशासन में बढ़ी चिंता

अंबिकापुर। पाकिस्तान से भारत के राजस्थान, मध्यप्रदेश और फिर छत्तीसगढ़ के सरगुजा इलाके में टिड्डियों का हमला प्रशासन के लिए सिरदर्द बना हुआ है।

छत्तीसगढ़ में एक बार फिर टिड्डियों ने हमला बोल दिया है। खबर मिल रही है कि इस बार टिड्डी दल सरगुजा की ओर से प्रदेश में दाखिल हुए हैं। इससे पहले दो बार टिड्डियों ने छग घुसने की नाकाम कोशिश की थी, लेकिन पूर्व सतर्कता की वजह से ठहर नहीं पाए थे।

जानकारी के मुताबिक पड़ोसी राज्यों के बाद अब छत्तीसगढ़ में टिड्डी दल ने एंट्री मारी है। बताया जा रहा है कि टिड्डी दल ने सरगुजा जिले के गन्ने की खेतों पर हमला बोला है। 

कृषि विभाग के अधिकारियों ने संभाला मोर्चा-
टिड्डियों के हमले की जानकारी मिलते ही कृषि विभाग के अधिकारी खेतों में पहुंचे हैं। टिड्डियों को भगाने के लिए कीटनाशक दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है। वहीं, कृषि विभाग ने टिड्डी दल का सामान्य बताते हुए ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाने की बात कही है।
डिप्टी कलेक्टर श्री अनमोल विवेक टोप्पो को अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी का प्रभार

डिप्टी कलेक्टर श्री अनमोल विवेक टोप्पो को अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी का प्रभार

अंबिकापुरकलेक्टर श्री संजीव कुमार झा के द्वारा बतौली तहसील के तहसीलदार एवं डिप्टी कलेक्टर श्री अनमोल विवेक टोप्पों को आगामी ओदश पर्यन्त जिला पंचायत सरगुजा के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी का प्रभार सौंपा है वहीं नायब तहसीलदार श्री देवेन्द्र चौबे को तहसीलदार बतौली का प्रभार सौंपा गया है। तहसीलदार बतौली के आहरण संवितरण का अधिकारी तहसीलदार सीतापुर को सौंपा गया है।

शिक्षक से घूस लेते हुए विकास खंड अधिकारी का बाबू गिरफ्तार, एसीबी की कार्रवाई

शिक्षक से घूस लेते हुए विकास खंड अधिकारी का बाबू गिरफ्तार, एसीबी की कार्रवाई

अम्बिकापुर। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर जिले में एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय लुंड्रा के लेखापाल को 10 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। यह कार्रवाई अंबिकापुर रिंग रोड में नमनाकला पेट्रोल पंप के नजदीक की है। एसीबी के डीएसपी गौरव मंडल ने रिश्वत की रकम के साथ लेखापाल को रंगे हाथों पकडऩे की पुष्टि की है। 

बताया जा रहा है कि शिक्षक के स्वत्व के भुगतान के लिए परिवार के सदस्यों द्वारा आवेदन प्रस्तुत किया गया था लेकिन रिश्वत नहीं देने के कारण स्वत्वों का भुगतान नहीं किया जा रहा था तब एसीबी से शिकायत की गई थी। शिकायत प्रमाणित पाए जाने पर गुरुवार को एसीबी की टीम ने लेखापाल को रंगे हाथों पकडऩे की योजना बनाई। योजना के तहत नमनाकला रिंग रोड में शिक्षक को बुलाकर कलर वाले रुपये दिये। जैसे ही लेखापाल ने दस हजार रुपए लिया, पहले से ही मुस्तैद एसीबी की टीम में उन्हें धर दबोचा।
+ Load More