कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
हाईकोर्ट में सुनवाई: राज्य सरकार कोविड वैक्सीन बर्बाद न करें, दूसरी श्रेणी में शिफ्ट करें, जिनका ऐप में रजिस्ट्रेशन हो रहा है उनका टीकाकरण सुनिश्चित करें

हाईकोर्ट में सुनवाई: राज्य सरकार कोविड वैक्सीन बर्बाद न करें, दूसरी श्रेणी में शिफ्ट करें, जिनका ऐप में रजिस्ट्रेशन हो रहा है उनका टीकाकरण सुनिश्चित करें

बिलासपुर, छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया है कि वैक्सीन की बर्बादी रोकने के लिए अगर किसी एक श्रेणी में टीके बच जाते हैं तो उसे दूसरी श्रेणी में स्थानांतरित किया जाये। राज्य सरकार की ओर से बताया गया है कि ऐसा किया जा रहा है। कोर्ट ने दो दिन के भीतर इस पर शपथ-पत्र प्रस्तुत करने का निर्देश सरकार को दिया है।
हाईकोर्ट में कोविड-19 आपदा और उससे जुड़े मुद्दों पर एक स्वतः संज्ञान जनहित याचिका पर सुनवाई चल रही है। आज अवकाशकालीन युगल पीठ में जस्टिस प्रशांत मिश्रा और जस्टिस पीपी साहू ने इस सम्बन्ध में दायर अन्य याचिकाओं के साथ वर्चुअल सुनवाई की। पूर्व विधायक अमित जोगी सहित अन्य ने एक मई से प्रारंभ 18 से 44 वर्ष के लोगों के टीकाकरण पर सरकार की आरक्षण नीति, जिसमें अंत्योदय श्रेणी को पहले टीका लगाने की बात थी, को गलत बताते हुए याचिका दायर की थी। इस पर पिछली सुनवाई में हाईकोर्ट ने कहा था कि राज्य सरकार सभी वर्गों को समान रूप से टीका लगे यह सुनिश्चित करे। इसके बाद राज्य शासन ने टीकाकरण पर रोक लगा दी थी लेकिन अगली हुई सुनवाई में कोर्ट ने तत्काल टीकाकरण शुरू करने का निर्देश दिया था, जिसके बाद बीपीएल, कोरोना वारियर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स, बीपीएल तथा अंत्योदय श्रेणी के लिये टीकाकरण अलग-अलग प्रतिशत आधार पर शुरू कर दिया गया था।
आज की सुनवाई के दौरान राज्य शासन की ओर से 9 पेज का जवाब प्रस्तुत किया गया। इसमें याचिकाकर्ताओं की ओर से पलाश तिवारी द्वारा बताया गया कि टीकाकरण केंद्रों में लंबी लंबी लाइन लग रही है। लोग घंटों खड़े रहते हैं और उन्हें लौटाया जा रहा है। कोविन ऐप में लोगों को तारीख मिल रही है लेकिन सीजी टीका ऐप में ऐसा नहीं हो रहा है। अधिवक्ता अनुमय श्रीवास्तव की ओर से कहा गया कि अंत्योदय श्रेणी में बहुत से टीके बच रहे हैं। उनको अन्य वर्ग में शिफ्ट किया जाए। एक ओर टीका बर्बाद हो रहा है तो दूसरी ओर लोगों को टीकाकरण से वंचित किया जा रहा है। राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि टीके बर्बाद नहीं हो रहे हैं, उसे अन्य वर्गों में आवश्यकतानुसार शिफ्ट किया जा रहा है। राज्य सरकार से इस जवाब को कोर्ट ने शपथ पत्र के साथ मांगा है। साथ ही यह सुनिश्चित करने कहा है कि टीकाकरण के ऐप में रजिस्ट्रेशन के अनुसार टीकाकरण सुनिश्चित किया जाये। प्रकरण पर अगली सुनवाई 19 मई को होगी।
 

वैक्सीन की बर्बादी पर छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट सख्त, दो दिन में सरकार से माँगा शपथ पत्र

वैक्सीन की बर्बादी पर छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट सख्त, दो दिन में सरकार से माँगा शपथ पत्र

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में 18+ वैक्सीनेशन को लेकर हाईकोर्ट ने फिर सख्त रुख अपनाया है। कोर्ट ने वैक्सीन डोज की बर्बादी को लेकर नाराजगी जताई है। कहा कि सेंटर के बाहर लोगों की लंबी लाइन लगी है। ऐसे में वैक्सीन की बर्बादी रोकनी होगी। एक जगह बच रही है तो उसे अन्य वर्ग के लिए शिफ्ट करें। इस मामले में कोर्ट ने दो दिन में सरकार को शपथ पत्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। मामले की अगली सुनवाई 19 मई को होगी।हाईकोर्ट में स्व प्रेरणा से चल रही सुनवाई में यह जनहित याचिका लगाई गई है। अधिवक्ता पलाश तिवारी, राकेश पांडेय, हिमांशु चौबे, सब्यसाची भादुड़ी और अनुमय श्रीवास्तव ने कोर्ट को बताया कि राज्य सरकार ने अपने 9 पेज के जवाब में वैक्सीनेशन के लिए CG TEEKA को भी जोड़ा है। इस पोर्टल में टीके के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा, पर इसकी व्यवस्था सही नहीं है। इसके कारण पंजीकरण के बाद भी वैक्सीन नहीं लग पा रही है। अधिवक्ता पलाश तिवारी ने कहा कि हर वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर लंबी-लंबी लाइन लग रही है। लोग घंटों खड़े रहते हैं, फिर लौट जाते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र के कोविन एप में वैक्सीन लगवाने के लिए 5 दिन आगे तक की तारीख मिल रही है, लेकिन CG TEEKA में सही व्यवस्था नहीं है। इसमें भी ऐसा होना चाहिए कि उतने ही हर सेंटर के लिए रजिस्ट्रेशन मिले, जितनी वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई गई है। जिससे लोग परेशान न हों। सरकार की ओर से अधिवक्ता अनुमय श्रीवास्तव ने कहा, वैक्सीन बच जा रही है तो बाकी का क्या होगा उसका पता नहीं है। अंत्योदय में जो वैक्सीन बच जाती है, उसे दूसरे वर्ग के लिए शिफ्ट करें। जिससे बेकार न हो। इस पर राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि हम शिफ्ट कर देते हैं। वैक्सीन की बर्बादी को रोक रहे हैं। इस पर कोर्ट ने सरकार को दो दिन में इस मामले और 9 पेज की नीति को लेकर शपथ पत्र प्रस्तुत करने का आदेश दिया है।

 

 बड़ी खबर: लॉटरी लगने का झांसा देकर महिला से लाखों की ठगी

बड़ी खबर: लॉटरी लगने का झांसा देकर महिला से लाखों की ठगी

बिलासपुर। जिले के सरकंडा इलाके में एक महिला से लाखों की ठगी हो गई है। आरोपी ने महिला को लॉटरी का झांसा देकर लाखों पर चपत कर गया। पीडि़त महिला ने मामले की शिकायत सरकंड़ा पुलिस से की है।

जानकारी के अनुसार अज्ञात आरोपी ने महिला को फोन कर लॉटरी की जानकारी दी। इस दौरान आरोपी ने कई बड़े—बड़े सपने दिखाकर बैंक समेत पूरी डिटेल मांग ली। महिला ने बताया कि बातों में आकर सभी जानकारी दे दी।

वहीं इसके कुछ देर बार अकाउंट से पैसे कट गए। बताया कि आरोपी ने 9 लाख 20 हजार रुपए की ठगी की है। सरकंड़ा पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में ठगी के कई ऐसे मामले सामने आए हैं। फिलहाल पुलिस ने जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी का दावा किया है।
बाल विवाह कराने पर दो साल का कठोर कारावास, एक लाख रुपये जुर्माना

बाल विवाह कराने पर दो साल का कठोर कारावास, एक लाख रुपये जुर्माना

बिलासपुर । बाल विवाह कानून के अंतर्गत 21 वर्ष से कम आयु के लड़के और 18 वर्ष से कम आयु की लड़की का विवाह कानूनन प्रतिबंधित है। बाल विवाह करना, करवाना, सहायता करना, बाल विवाह को बढ़ावा देना, उसकी अनुमति देना अथवा बाल विवाह में सम्मिलित होना अपराध है। इसके लिए 2 वर्ष तक का कठोर कारावास अथवा जुर्माना जो कि 1 लाख रुपए तक हो सकता है अथवा दोनों से दण्डित किया जा सकता है। बाल विवाह कानूनन अपराध है और इसके बहुत सारे नुकसान हो सकते है। बाल विवाह से शिक्षा का अभाव, मानसिक विकास में रूकावट, मातृ मृत्यु दर में वृद्धि, सम्पूर्ण गर्भावस्था, हिंसा व दुव्र्यवहार, शारीरिक दुर्बलता जैसे विकार उत्पन्न हो जाते है।
महिला एवं बाल विकास विभाग ने छत्तीसगढ़ में बाल विवाह के रोकथाम के लिए पहल की जा रही है। बाल विवाह के रोकथाम एवं शिकायत के लिए छत्तीसगढ़ शासन के हेल्पलाईन नंबर 1098 या 181 जारी किया गया है। इसके साथ ही पुलिस सहायता के लिए 100 या 112 नंबर डायल करके सहायता ली जा सकती है।
 

 बड़ी खबर: नशीला कप सिरप के साथ 02 गिरफ्तार,150 नग कफ सिरप जब्त

बड़ी खबर: नशीला कप सिरप के साथ 02 गिरफ्तार,150 नग कफ सिरप जब्त

बिलासपुर। नशीला कफ सिरप बेचने की सूचना पर पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से 150 नग नशीला कफ सिरप जब्त की है। 


मिली जानाकारी के अनुसार बिलासपुर जिले के सिविललाईन थाना पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर शनिवार को रात 1.10 बजे बजरंग चौक तालपारा के पास 02 लोगों के द्वारा नशीला सिरप बेचने की जानकारी मिलने पर घेराबंदी कर पकडऩे पर उनके पास से एक प्लास्टिक बोरी में 150 नग कफ सिरप 100 एमएल सिलबंद तथा 4 सौ रुपये नगदी व 02 नग मोबाईल जब्त की है।

जिसकी कुल अनुमानित कीमत 88000 रुपये आंकी गई है। पकड़े गए आरोपियों के नाम पुछने पर उन्होंने अपना नाम आदिल खान 21 वर्ष पिता रहीम खान निवासी घोड़ा दाना स्कूल के पास तालपारा सिविललाइंस एवं मयंक पाण्डे 20 वर्ष पिता सुरेन्द्र पाण्डे निवासी भारतीनगर बिलासपुर सिविललाइन्स बताया है। दोनों के खिलाफ नार्कोटिक्स एक्ट 21,22 अधिनियम एनडीपीएस के तहत कार्रवाई की गई है। 
लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : इस जिले में 24 मई तक कुछ छूट के साथ लॉकडाउन बढ़ाने का आदेश हुआ जारी, देखें आदेश

लॉकडाउन छत्तीसगढ़ : इस जिले में 24 मई तक कुछ छूट के साथ लॉकडाउन बढ़ाने का आदेश हुआ जारी, देखें आदेश

बिलासपुर | छत्तीसगढ़ में कोरोना का प्रकोप जारी है जिसके चलते प्रदेश के सभी जिलों में लॉकडाउन लगा दिया गया है | राज्य के कई जिलों में कोरोना का संक्रमण अधिक बढ़ रहा है | कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के जिलों में लॉकडाउन बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है | इसी बीच प्रदेश की न्यायधानी बिलासपुर से एक बड़ी खबर आ रही है | खबर मिली है कि बिलासपुर में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। बिलासपुर में 24 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। कलेक्टर सरांश मित्तर ने जारी आदेश में कहा है कि 24 मई की रात 12 बजे तक संपर्ण जिला कंटेनमेंट जोन रहेगा। इस बार लॉकडाउन में थोड़ी राहत दी गयी है। मंडिया और थोक-फुटकर दुकानें बंद रहेगी लेकिन गोडाउन, मंडी में लोडिंग-अनलोडिंग की अनुमति सुबह 4 बजे से 10 बजे तक की होगी।

फल, सब्जी की होम डिलेवरी 2 बजे तक केवल ठेलों और अस्थायी दुकानों के जरिये होगी। गाड़ियों में भी समाना बेंचा जा सकेगा। अंडा, मटन, मछली की दुकानें शाम 4 बजे तक खोली जा सकेगी। हालांकि सुपर मार्केट, माल और बाजार इस दौरान नहीं खुलेंगे।

स्वीगी व जैमेटो से होटल व रेस्टोरेंट में सुबह 6 बजे से रात के 9 बजे तक होम डिलेवरी की सुविधा होगा। हालांकि ग्राहकों के लिए इन हाउड डाइनिंग व टेक अवे पर प्रतिबंध होगा। गैराजा, आटा चक्की, चश्मा दुकान, निर्माण सामिग्री की दुकान, रिपयरिंग की दुकान, कृषि संबंधी दुकान शाम 4 बजे तक खुलेंगे। दुध की दुकान सुबह 7 बजे से 11 बजे तक और शाम में 5 बजे से 6.30 बजे तक होगी।

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : बेटी की शादी से पहले मुख्य कार्यपालन अधिकारी के घर में हुई चोरी, पढ़ें पूरी खबर

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : बेटी की शादी से पहले मुख्य कार्यपालन अधिकारी के घर में हुई चोरी, पढ़ें पूरी खबर

बिलासपुर | बेटी की शादी के लिये निर्माणाधीन मकान में रखा गया सामान चोरी कर लेने की रिपोर्ट सिविलाईलाइन्स थाने में दर्ज करायी गई है। 

मिली जानकारी के अनुसार नर्मदानगर एच 1/6 बिलासपुर निवासी प्रेमवति धुर्व 65 वर्ष ने थाने में 14 मई को शिकायत दर्ज करायी है कि प्रार्थिया आदिवासी विकास विभाग इंद्रावती भवन रायपुर से मुख्यकार्यपालन अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हुई है। खुद का मकान मंगला चौक के आगे देवदाल मिल वाली गली में निर्माण करा रही है। मकान में फिनिसिंग का काम चल रहा है। पीडि़ता मकान के एक कमरे में अपनी छोटी बेटी के शादी के लिये कांसे तथा स्टील के बर्तन एवं साड़ी ,कपड़े सहित अन्य सामान करीब 45 से 50 हजार रुपये को रखा था। जिसे किसी ने चोरी कर लिया है। मकान की देखरेख करने तथा फिनिसिंग के लिये अशोक यादव को बोली थी। सामान चेक करने जाने पर पता चला कि किसी ने 27 मार्च से 3 मई के बीच सामान चोरी होने की आशंका है।  घटना की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ धारा 380,457 के तहत अपराध कामय कर मामला दर्ज कर लिया है। 
 
 छत्तीसगढ़ के इस जिले में हुआ 3 दिनों का टोटल सख्त लॉकडाउन

छत्तीसगढ़ के इस जिले में हुआ 3 दिनों का टोटल सख्त लॉकडाउन

पेंड्रा। कोरोना प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन लॉकडाउन में लगातार सख्ती बरत रही है। इसी क्रम में पेंड्रा जिले में लॉकडाउन को और सख्त कर दिया है। कलेक्टर नम्रता गांधी ने नया आदेश जारी करते हुए तीन दिन तक पूर्ण लॉकडाउन का आदेश जारी किया है।

जिले में आज रात 12 बजे से 3 दिन का पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। 13, 14 और 15 मई को जिले की सभी दुकानें बंद रहेंगे। शादी और दशगात्र में केवल 10 लोग ही शामिल हो सकेंगे। वहीं बेवजह घूमने वालों पर 10 हजार का जुर्माना ठोका जाएगा।
 कोविड केयर सेण्टर में मरीजों का बेहतर ईलाज सुनिश्चित करें : कलेक्टर

कोविड केयर सेण्टर में मरीजों का बेहतर ईलाज सुनिश्चित करें : कलेक्टर

बिलासपुर। कलेक्टर ने आज जिले में संचालित कोविड केयर सेंटर और वैक्सीनेशन कार्य की समीक्षा की। उन्होंने कोविड मरीजों के उपचार पर संतुष्टि जाहिर करते हुए और बेहतर ईलाज सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने 18 से 44 वर्ष आयु वाले नागरिकों के कोविड-19 के वैक्सीनेशन की जानकारी लेते हुए इस बात पर प्रसन्नता जाहिर की कि लाॅकडाउन की अवधि में भी लोग उत्साह से वैक्सीनेशन करा रहे हैं।

मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कोविड वैक्सीनेशन और कोविड मरीजों के उपचार के संबंध में विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कोविड केयर सेंटर तथा डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों में मरीजों के उपचार की जानकारी ली। उन्होंने कोविड केयर सेंटर में मरीजों को दी जा रही चिकित्सा सुविधा पर संतुष्टि व्यक्त करते हुए कहा कि आने वाले समय में भी मरीजों को बेहतर उपचार देेने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएं ।

कलेक्टर ने 18 से 44 वर्ष के हितग्राहियों के टीकाकरण की विकासखण्डवार एवं केन्द्रवार समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि 10 मई तक कुल 11 हजार 796 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया हैं। जिसमें से अंत्योदय श्रेणी के 3 हजार 106, बीपीएल श्रेणी के 3 हजार 389, एपीएल श्रेणी के 5 हजार 131 और 170 फाँटलाइन वर्कर शामिल है। उन्होंने सभी एसडीएम को फ्रंटलाइन वर्कर के लिए भी अनुविभाग में टीकाकरण प्रारंभ करने के लिए कार्ययोजना बनाने कहा। सभी एसडीएम आर बीएमओ को लगातार टीकाकरण केन्द्र की माॅनिटरिंग करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने टीकाकरण केन्द्र में सोशल डिस्टेंसिंग, वैक्सिनेशन के लिए कोल्ड चैन की व्यवस्था, टीकाकरण के बाद प्रविष्टि का कार्य आदि सुचारू रूप से सुनिश्चित करने कहा। उन्होंने बीएमओ से कहा कि वैक्सिनेटर आरक्षित भी रखें। जिससे टीकाकरण का कार्य प्रभावित न हो। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वैक्सीनेशन के संबंध में अधिक से अधिक जानकारी आम लोगों तक पहुंचाएं ।
 
 छत्तीसगढ़ के इस जिले में 13 से 15 तक रहेगा पूर्ण लॉकडाउन, शादियों पर प्रशासन की रहेगी पैनी नजर

छत्तीसगढ़ के इस जिले में 13 से 15 तक रहेगा पूर्ण लॉकडाउन, शादियों पर प्रशासन की रहेगी पैनी नजर

गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही। गौरेेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में कोरोना वायरस के नये वेरियंट के संक्रमण पर नियंत्रण के परिपेक्ष्य मे 13, 14 और 15 मई को जिले में पूर्ण लाकडाउन रहेगा। इस दौरान शादी और दशगात्र कार्यक्रम को छोडकर इत्यादि अन्य सभी गतिविधियां पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगी । शादी के कार्यक्रम मे वर पक्ष के अधिकतम 5 सदस्य और वधु पक्ष के अधिकतम 5 सदस्य सहित कुल 10 सदस्य की उपस्थिति में शादी के कार्यक्रम किये जा सकेगे। और इसी प्रकार दशगात्र कार्यक्रम में भी अधिकतम 10 लोगो को शामिल होने की अनुमति होगी। लेकिन इन आयोजनों के पूर्व भी संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही कलेक्टर द्वारा आगामी अक्षय तृतीया और ईद के त्यौहार पर समस्त जिलेवासियों से घर पर रहकर ही पूजा पाठ करने, नमाज पढ़ने की अपील की गई है, जिससे कोरोना महामारी के संक्रमण को रोका जा सके।
 
प्रत्येक टीकाकरण केन्द्र पर सभी श्रेणी के लोगों का टीकाकरण हो, भाजपा ने सौपा ज्ञापन

प्रत्येक टीकाकरण केन्द्र पर सभी श्रेणी के लोगों का टीकाकरण हो, भाजपा ने सौपा ज्ञापन

बिलासपुर। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कोरोना संक्रमण महामारी को लेकर सरकार के कार्यप्रणाली पर चिंता व्यक्त करते हुए अनेक विषयों एवं मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम, सांसद अरूण साव, पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल, मस्तुरी विधायक कृष्णमूर्ति बांधी, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, भाजपा प्रदेश महामंत्री भूपेन्द्र सव्वनी, भाजपा जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत एवं भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष निखिल केशरवानी के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर एस.डी.एम. देवेन्द्र पटेल के माध्यम से ज्ञापन सौंपा।
इस दौरान ज्ञापन पत्र के माध्यम से भाजपा नेताओं ने वैश्विक महामारी कोविड 19 के इस कठिन समय में भेदभाव रहित टीकाकरण के सुझाव देते हुए कहा कि, भारत मे निर्मित दोनों टीके हमारे लिए आशा की एक मात्र किरण है। भाजपा नेताओं ने प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर चिंता व्यक्त करते हुए सुझाव दिया कि, माननीय छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के संबंधित आदेश के अनुपालन में ऐसी नीति बनाई जाए, जिसमें टीकाकरण में कोई भेदभाव ने हो। सर्व समाज का हित निहित हो। अन्त्योदय कार्डधारी, बी.पी.एल., ए.पी.एल. श्रेणी के लिए अलग-अलग वर्गो में केन्द्र का निर्माण किया जाना निहायत ही अव्यवहारिक निर्णय है। हर केन्द्र पर सभी श्रेणी के बूथ होने की मांग की है।
भारतीय टीके के खिलाफ प्रदेश में राजनीतिक कारणों से लगातार दुष्प्रचार किया गया, इस कारण गांव-कस्बों में टीका लगाने गए कर्मचारियों पर हमले की खबरे लगातार आ रही है। ऐसे कर्मियों की सुरक्षा हो। टीका कर्मियों का पर्याप्त बीमा भी हो। साथ ही जनमानस में फैलाई गई भ्रांतियों को दूर करने प्रदेश स्तर पर जन जागरण अभियान चलाया जाए। टीके की वर्तमान कमी का कारण समय से आर्डर नहीं दे पाना भी है। हमारे पड़ोसी राज्य ने अनुमति मिलते ही 8 करोड टीको के लिए आदेश कर दिया था, जबकि हम अंतिम समय तक पत्र लिखते रहे। भाजपा नेताओं ने कहा कि, करीब 2.50 लाख टीके बर्बाद हुए है, इसे रोकने के लिए केरल मार्डल से प्रेरणा ले वेस्टर फैक्टर के मद्देनजर दिए जाने वाले खुराक का बेहतरीन उपयोग किया जाना चाहिए।
छत्तीसगढ़ में टेस्टिंग कम चिंताजनक है, आर.टी.पी.सी.आर. एंटीजन, और टूनीट सभी पर्याप्त संख्या में हो, जांच की कमी के कारण प्रदेश में मृत्यू दर बढ़ना चिंताजनक है, पत्रकारो को फ्रंटलाईन वर्कर मानते हुए इनका भी प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण होना चाहिए।
 

 लॉकडाउन में चोरी छुपे चल रहा था जिम, संचालक समेत 21 गिरफ्तार

लॉकडाउन में चोरी छुपे चल रहा था जिम, संचालक समेत 21 गिरफ्तार

बिलासपुर। बिलासपुर शहर के सरकंडा पुलिस द्वारा लॉकडाउन के शर्तों का उल्लंघन करने वालों पर लगातार कार्यवाही जारी है, इसी कड़ी में लॉकडाउन के नियमों की अनदेखी कर जिम चला रहे एक जिम संचालक और वहां एक्सरसाइज कर रहे 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया, वहीं 3 किराना दुकान वालों समेत सरकंडा पुलिस ने आज कुल 24 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की। जिले में दिनांक 15 मई तक लॉकडाउन प्रभावशील है, सरकंडा थाना क्षेत्र में लॉकडाउन का पालन कराने पुलिस नियमों की अनदेखी करने वालों पर कार्यवाही कर रही है। इसके बावजूद भी कुछ दुकानदार और व्यवसाई लॉकडाउन के शर्तों का उल्लंघन कर व्यवसाय संचालित कर रहे हैं। इसी तारतम्य में आज सरकंडा पुलिस टीम को सूचना मिली कि लिंगियाडीह वेयरहाउस के सामने स्थित फिटनेस जोन जिम का संचालक चोरी-छिपे किया जा रहा है। जिम में बहुत भीड़-भाड़ है। जिस पर थाना प्रभारी जयप्रकाश गुप्ता के नेतृत्व में टीम बनाकर रेड कार्यवाही की, तो फिटनेस जोन जिम में काफी संख्या में लोग उपस्थित थे, जिम संचालक द्वारा भीड़-भाड़ इक_ा कर चोरी छिपे जिम खोलकर लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करना पाया गया। आरोपी जिम संचालक मनोज वर्मा एवं उपस्थित 20 अन्य आरोपियों के विरुद्ध लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने पर अपराध पंजीबद्ध किया गया।
 बड़ी खबर : टीकाकरण पर छत्तीसगढ़ सरकार ने हाईकोर्ट में रखा यह प्रस्ताव

बड़ी खबर : टीकाकरण पर छत्तीसगढ़ सरकार ने हाईकोर्ट में रखा यह प्रस्ताव

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में 18-44 वर्ष आयुवर्ग के टीकाकरण में आरक्षण के मामले में आज हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही। सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से प्रस्ताव रखा गया कि तीनों वर्गों अंत्योदय, एपीएल और बीपीएल कार्डधारियों को बराबरी से टीकाकरण होगा, अर्थात एक तिहाई के हिसाब से सभी वर्ग को बराबरी से टीका लगाया जाएगा। राज्य सरकार के इस प्रस्ताव पर हाई कोर्ट विचार कर रही है। 

ज्ञातव्य है कि देश में कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण की शुरूआत 1 मई से हुई थी। छत्तीसगढ़ में भी वैक्सीनेशन की शुरूआत हो गई है। इस बीच सरकार ने नया आदेश जारी कर सिर्फ अन्त्योदय कार्ड धारियों को पहले टीका लगाने का आदेश जारी किया था। वहीं राज्य सरकार वैक्सीनेशन में रजिस्ट्रेशन करने वालों को प्राथमिकता नहीं दी जा रही थी। वर्गीकरण के खिलाफ कई लोगों ने कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। वहीं आज चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच में मामले की सुनवाई चल रही है।
 
 मुख्यमंत्री ने बिलासपुर, सरगुजा संभाग के अधिकारियों से की वर्चुअल बैठक

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर, सरगुजा संभाग के अधिकारियों से की वर्चुअल बैठक

बिलासपुर। मुख्यमंत्री ने आज राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बिलासपुर और सरगुजा संभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों, एसडीओपी, थाना प्रभारियों, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों और विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कोरोना के रोकथाम और बचाव के उपायों पर चर्चा की।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड टीकाकरण की प्रगति, मरीजों के ईलाज की व्यवस्थाओं, आईसोलेशन की व्यवस्था एवं कोविड संक्रमण टेस्ट आदि विषयों पर समीक्षा की। बैठक में लोक निर्माण एवं गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, राजस्व आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अतिरिक्त मुख्य सचिव सुब्रत साहू भी शामिल हुए।

बिलासपुर जिले के अधिकारियों से भी मुख्यमंत्री ने चर्चा की। बिल्हा के एसडीएम अखिलेश साहू ने बताया कि बिल्हा में कुल 5 हजार 950 केस है। जिनमें से 1800 एक्टिव केस है और 1600 मरीज होेम आईसोलेशन में है। बिल्हा आईटीआई भवन में 42 बिस्तरों का प्राथमिक कोविड केयर संेटर तैयार किया गया हैं। जिसमें 20 ऑक्सीजन बेड है। वर्तमान में यहां 14 मरीजों का ईलाज चल रहा है। बिलासपुर तहसीलदार गवेल ने बिलासपुर अनुविभाग में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। सीएसपी निमेश बरैय्या ने बताया कि लाॅकडाउन की अवधि में पेट्रोलिंग लगातार कराई जा रही है। लाॅकडाउन का उल्लंघन न हो इसकी सतत निगरानी की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत स्तर पर मितानिन, पटवारी, रोजगार सहायक और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के माध्यम से जागरूकता लाए । उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोरोना शहरी क्षेत्रों के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी फैला है। गांव में अभी भी कोविड प्रोटोकाल, हैंडवाश, मास्क, सैनेटाईजर, वैक्सीन तथा आईसोलेशन आदि को लेकर जागरूकता की बहुत कमी है। ऐसे में आप सभी की जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि अपने-अपने कार्यक्षेत्र की जनता खासकर महिलाओं को कोरोना के बारे में समझायें और ग्रामीणों को सर्तकता बरतने के लिए मैदानी अमलों के माध्यम से प्रेरित करें। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि गांव में लोग कोविड के लक्षणों को जानते समझते नहीं है इसलिए उनका संक्रमण अंदर ही अंदर काफाी बढ़ जाता है और स्थिति काफी गंभीर होने के बाद वे दवाई लेने जाते है। जिससे इनका इलाज करने में बहुत मुश्किलें आती है। इसे ध्यान में रखते हुए मितानिन और स्वास्थ्य कार्यकर्ता लोगों को कोविड के लक्षणों के बारे में समझाएं। मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया में प्रसारित भ्रांतियों का भी खंडन करने के निर्देश दिए। मितानिन किट में दवाईयां की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
 
 बड़ी खबर छत्तीसगढ़: एल्कोहल युक्त सिरप पिने से एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: एल्कोहल युक्त सिरप पिने से एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से एक हृदय विदारक खबर सामने आ रही है। यहां एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 6 गंभीर हालत में इलाज चल रहा है। बताया जाता है कि परिवार के सदस्यों ने एल्कोहल युक्त सिरप पी लिया था। मामला सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के गांव कोरमी का है। यहां बुधवार को एक ही परिवार के लोगों ने कोरोना से बचने के लिए एल्कोहलयुक्त सिरप पी लिया था। जिसके बाद अचानक कुछ लोगों की तबीयत खराब हो गई थी। उन्होंने दम तोड़ दिया था। देर रात 4 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया था। सुबह 3 और लोगों की मौत हो गई। जबकि तीन का अभी इलाज चल रहा है। शुरुआती जांच में पता चला है कि जो सिरप इन्होंने पिया था उसमें दवा की मात्रा बहुत ज्यादा थी। अभी भी 5 की हालत गंभीर बनी हुई है। CMO ने बताया, होमियोपैथिक दवा पीना इन मौतों का कारण हो सकता है क्योंकि वो एल्कोहलिक है। अन्य कारणों को पता करने के लिए भी टीम लगी है। 7 लोगों की मौत हो चुकी है और 5 अस्पताल में भर्ती हैं। 
छत्तीसगढ़ में शराब की लत ने ले ली 6 और की जान! अल्कोहल युक्त सिरप पीने से 6 युवकों की मौत

छत्तीसगढ़ में शराब की लत ने ले ली 6 और की जान! अल्कोहल युक्त सिरप पीने से 6 युवकों की मौत

बिलासपुर, शराब की लत ने फिर 6 लोगों की जान ले ली। दरअसल बिलासपुर में अल्कोहल युक्त सिरप पीने से 6 लोगों की मौत हो गई। पीने के कुछ घंटे बाद ही दो की मौत हो गई। वहीं आज उपचार के दौरान चार युवकों की मौत हो गई।
सभी युवकों का उपचार सिम्स अस्पताल में चल रहा था। जानकारी के अनुसार सिरगिट्टी के कोरमी गांव के 6 युवक की मौत एल्कोहल युक्त सिरप पीने से हो गई। ये सभी युवक एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। प्रारंभिक बात में सामने आई है कि शराब नहीं मिलने से सिरप पी ली।
वहीं एक-एक कर सभी की मौत हो गई। 6 युवकों की मौत के मामला सामने आने से हड़कंप मच। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि सिरप का अधिक डोज सेवन करने से युवकों की मौत हो गई। बताया कि युवकों ने खांसी के इलाज में ली जाने वाली होम्योपैथिक सिरप ड्रोसेरा पीने से मौत हुई है।
 

 बड़ी खबर बिलासपुर : पैसा को लेकर आपस में भिड़े दो परिवार, एक दूसरे पर किया लाठी-डंण्डे व टंगिया से जानलेवा हमला

बड़ी खबर बिलासपुर : पैसा को लेकर आपस में भिड़े दो परिवार, एक दूसरे पर किया लाठी-डंण्डे व टंगिया से जानलेवा हमला

बिलासपुर। ईट भट्ठा का पैसा को लेकर दो परिवारों के बीच विवाद होने पर एक दूसरे पर लाठी-डण्डों व टंगिया से मारकर चोट पहुंचाया। घटना की रिपोर्ट कोटा थाने में दर्ज करायी गई है। 

मिली जानकारी के अनुसार ग्राम खैरझिटी कोटा बिलासपुर निवासी शत्रुघन गेंदले 26 वर्ष पिता गणेशराम गेंदले ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है कि 3 मई को रात 09 बजे घर के बाहर लड़ाई-झगड़े की आवाज को सुनकर प्रार्थी बाहर निकला तब उसके पिता के साथ ईट भट्ठा का पूर्व पैसा को लेकर महंगूचेलकर 30 वर्ष गाली-गलौच कर रहा था। बीच-बचाव करने पर मंहगू का बेटा एंथोनी,अकबर  एवं उसकी पत्नी प्रमिला ने लाठी डंडा एवं टंगिया लेकर बाहर आये और सभी ने मिलकर प्रार्थी के पिता व उसे एवं उसके परिवार के लोगों पर जानलेवा हमला कर दिया। जिसके चलते  उसके पिता ,मॉ एवं उसके भाई को गंभीर चोट लगी है। इसी तरह मंहगू राम चेलकर 45 वर्ष ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है कि 3 मई को रात 09 बजे ईट भट्ठा के पूर्व पैसा को लेकर गणेश गेंदले,शत्रुघन गेंदले,पुन्नी लाल गेंदले एवं श्रीमती मुखनी गेंदले ने मिलकर प्रार्थी व उसके परिवार के ऊपर जानलेवा हमला कर लाठी-डण्डे एवं टंगिया से मारकर चोट पहुंचाया। घटना की शिकायत पर पुलिस ने दोनों पक्ष के खिलाफ धारा 307,294,323,34 के तहत अपराध कायम कर मामले की विवेचना में जुटी है। 
बड़ी खबर: स्कोडा कार से अवैध शराब की तस्करी करते पकड़ा गया एक आरोपी

बड़ी खबर: स्कोडा कार से अवैध शराब की तस्करी करते पकड़ा गया एक आरोपी

बिलासपुर। स्कोडा कार में अवैध शराब तस्करी करते एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर कार की डिक्की से 22 बॉटल अंग्र्रेजी शराब जब्त की है। 


मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर जिले के सिविललाईन थाना पुलिस ने मुखबीर की सुचना पर ई-चार्जिग प्वाईन्ट सिंधी कालोनी रोड बिलासपुर में 3 मई को रात 11.30 बजे सिंधी कालोनी की ओर से एक काले रंग का स्कोडा कार क्रमांक सीजी 10 एसी 3160 में सिरगिट्टी की ओर जा रही कार को रोकने पर उसमें बैठे व्यक्ति का नाम पुछने पर उसने अपना नाम परनीत सिंह वेदी उर्फ अंगद 29 वर्ष पिता स्व.परमजीत सिंह वेदी निवासी अमलताश कालोनी सिविलाईन बिलासपुर बताया। कार चेक करने पर डिक्की के अंदर अलग-अलग ब्रांड के 22 बॉटल अवैध अंग्रेजी शराब  32024 रुपये कीमत बरामद होने पर उससे शराब रखने के संबंध में कागजात मांगा गया। जिसके बाद आरोपी ने अवैध रुप से शराब रखने की पुलिस को जानकारी दी। आरोपी के पास से 22 बॉटल अंग्रेजी अवैध शराब तथा 08 लाख कीमत की स्कोडा कार जब्त कर हिरासत में लेकर आबकारी एक्ट की धारा 34/2 ,59 ए के तहत कारवाई की गई है।
हाई कोर्ट ने छत्तीसगढ़ में टीकाकरण को लेकर आरक्षण पर जताया ऐतराज, राज्य सरकार को दिए ये निर्देश

हाई कोर्ट ने छत्तीसगढ़ में टीकाकरण को लेकर आरक्षण पर जताया ऐतराज, राज्य सरकार को दिए ये निर्देश

बिलासपुर। प्रदेश में टीकाकरण में आरक्षण लगाने को लेकर प्रस्तुत हस्तक्षेप याचिकाओं पर मंगलवार को हाई कोर्ट की युगलपीठ में सुनवाई हुई। इस दौरान हाई कोर्ट ने टीकाकरण में आरक्षण लागू करने पर सख्त एतराज जताया है। कोर्ट ने शासन को स्पष्ट किया है कि टीकाकरण में इस तरह का भेदभाव जायज नहीं है। हाई कोर्ट ने टीकाकरण को लेकर शासन को दो दिन में नीति बनाने के निर्देश दिए हैं।
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने राज्य शासन द्वारा टीकाकरण में आरक्षण लागू करने के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। उन्होंने हाई कोर्ट में लंबित जनहित याचिका पर इसे हस्तक्षेप याचिका मानकर सुनवाई करने का आग्रह किया है। इसी तरह टीकाकरण में आरक्षण को लेकर अलग-अलग पांच से अधिक हस्तक्षेप याचिकाएं दायर हुई है, जिस पर मंगलवार को हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन व जस्टिस पीपी साहू की बेंच में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए सुनवाई हुई।
इस दौरान हस्तक्षेप याचिकाककर्ता किशोर भादुड़ी सहित अन्य अधिवक्ताओं ने टीकाकरण को लेकर शासन द्वारा आरक्षण लागू किए जाने पर आपत्ति जताई और कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी टीकाकरण को लेकर प्राथमिकताएं तय की है। लेकिन, उसमें आरक्षण जैसी स्थिति नहीं है। शासन ने प्रदेश की जनता के संवैधानिक अधिकारों का हनन किया है। सभी ने शासन के इस आदेश को तत्काल निरस्त करने व नई नीति बनाने की मांग की।
सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता सतीशचंद्र वर्मा ने शासन का पक्ष रखा। सभी पक्षों को सुनने के बाद हाई कोर्ट ने शासन को दो दिन के भीतर टीकाकरण को लेकर स्पष्ट नीति बनाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही टीकाकरण को लेकर लागू किए गए आरक्षक पर एतराज जताया है। करीब दो घंटे तक हाई कोर्ट में इस प्रकरण में आनलाइन बहस चली। इस मामले में हाई कोर्ट का अधिकारिक आदेश शाम तक जारी हो सकता है। याचिका में अमित जोगी सहित अन्य हस्तक्षेप याचिकाकर्ताओं की तरफ से अनुमेश श्रीवास्तव, सुमित सिंह पतलाश तिवारी, हिमांशु चौबे ने पक्ष रखा।
 

 फिल्ड में निकलते ही आईजी ने जवानों को 1-1 हजार रूपए देकर कहा...

फिल्ड में निकलते ही आईजी ने जवानों को 1-1 हजार रूपए देकर कहा...

बिलासपुर। कोरोना संक्रमण से जंग जीतकर आईजी तुरन्त फील्ड में निकले। आईजी रतन लाल डाँगी फील्ड में निकले और फील्ड में निकलते ही जवानों के दिलो में जगह बना ली। 

आईजी सबसे पहले नेहरू चैक गए जहां पर जवानो को 1000 दिया और कहा की यह पैसा रखिए और आने जाने वाले गरीबो पर खर्च करे। किसी को खाने की जरुरत हो या फिर किसी को कुछ जरुरत हो तो यह पैसा काम आएगा। आप लोग यह पैसा उस गरीब के पीछे खर्च करना। इतना ही नही आईजी ने सत्यम चैक महाराणा प्रताप चैक और जरहाभाठा चैक के अलावा अन्य चैक पर भी यही काम किए। हालांकि पल भर के लिए अपने पास आए आईजी को देखकर जवान दो मिनट औए लिए डर गए। जवानों ने सोचा कि आज तो आईजी साहब खुद दौरे पर आए है। मतलब आज किसी की खैर नही लेकिन ऐसा कुछ नही हुआ बल्कि आईजी ने उसी अंदाज में 1 - 1 हजार दिया और कहा कि गरीबी की सेवा करना ये पैसा उनके लिए काम आएगा। 

आईजी के इस अंदाज को देखकर न सिर्फ जवान खुश हुए बल्कि आश्चर्यचकित होकर आईजी का चेहरा देखने लगे। आईजी ने ट्रैफिक जवानो से कहा कि आप लोग चैक में डयूटी करते है और जाहिर है कि इस प्रमुख चैक चैराहे से होकर कई लोग गुजरते है। जिनके पास पैसा नही रहता है जब पैसा नही है तो खाने को भी कुछ नही मिलेगा। लेकिन जब भी आप किसी गरीब को देखे तो मदद जरूर करे। इसके बाद आईजी ने शहर का दौरा किया और बारीकी से निरीक्षण किया। जिसमे उन्होंने चैक चैराहों पर तैनात जवानों को देखकर और उनकी डयूटी को देखकर खुशी जताई। इधर आईजी रतन लाल डांगी से जब बात हुई तो उन्होंने बताया कि ट्रैफिक के जवानों के पास पैसा खर्च करने के लिए कहा से आएगा। इसलिए उनको दिया गया है और यह सेवा है जिससे गरीबो और पीड़ितों को मदद मिल सके।
 
 लाकडाउन का उल्लंघन कर रहे 44 लोगों से वसूला गया 15 हजार जुर्माना

लाकडाउन का उल्लंघन कर रहे 44 लोगों से वसूला गया 15 हजार जुर्माना

बिलासपुर। बिलासपुर के सरकंडा में चाटीडीह सब्जी मार्केट मेें लाकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने जुर्माना वसूल किया है। सरकंडा थाने की पेट्रोलिंग पुलिस टीम ने चाटीडीह सब्जी मार्केट का निरीक्षण किया। यहां लाकडाउन का उल्लंघन करते हुए 44 लोग पाये गये। पुलिस टीम ने इन लोगों से 15 हजार रुपये का जुर्माना वसूल किया है। 
 हाइकोर्ट ने रद्द की ये परीक्षा, 3 मई से होने वाली थी शुरू

हाइकोर्ट ने रद्द की ये परीक्षा, 3 मई से होने वाली थी शुरू

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में 3 मई से शुरू होने वाली मास्टर ऑफ डेंटल सर्जरी की ऑफलाइन परीक्षा पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। आयुष यूनिवर्सिटी ने एमडीएस परिक्षा का जो कार्यक्रम घोषित किया था, उसके मुताबिक 3 मई से छात्र-छात्राओं को सेंटर पर जाकर ऑफलाइन परीक्षा देनी थी। इसमें करीब 200 छात्र-छात्राओं को शामिल होना था। कोरोनाकाल में जहां सभी परीक्षाएं निरस्त हो रही हैं या ऑन लाइन हो रही हैं, ऐसे में इस परीक्षा से छात्र नाराज थे। 

इस निर्णय के खिलाफ यूनिवर्सिटी की छात्रा डॉक्टर स्नेहा समेत 14 अन्य छात्र छात्राओं ने वकील धीरज वानखेडे के जरिए हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। याचिका में कहा कि इस भीषण कोरोना काल में ऑफलाइन परीक्षा आयोजित करना गलत है। यूनिवर्सिटी के इस निर्णय से कई छात्र छात्राओं पर संक्रमित होने का खतरा बन जाएगा। इसलिए हाईकोर्ट यूनिवर्सिटी के इस निर्णय पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाएं। जस्टिस पी. सेम.कोशी की सिंगल बेंच ने पूरे मामले में सुनवाई के बाद याचिकाकर्ताओं की अपील स्वीकार करते हुए यूनिवर्सिटी के आदेश पर रोक लगा दी है।
 
 बड़ी खबर: अवैध शराब के साथ तीन गिरफ्तार, 28 लीटर देशी कच्ची महुआ शराब व नगदी जब्त

बड़ी खबर: अवैध शराब के साथ तीन गिरफ्तार, 28 लीटर देशी कच्ची महुआ शराब व नगदी जब्त

बिलासपुर। बिलासपुर जिले के अलग-अलग क्षेत्र में पुलिस ने अवैध शराब बेचने की सुचना पर छापामारकर  हाथ भट्ठी निर्मित अवैध 28 लीटर 500 एमएल महुआ शराब व ब्रिकी की रकम जब्त की है। 

मिली जानकारी के अनुसार 29 अप्रैल को कोटा थाना पुलिस ने मुखबीर की सुचना पर गुरुवार को रात 8.15 बजे के करीब ग्राम भूण्डा में अजयपुर मोड के पास कोटा में छापामाकर रेड की कार्रवाई के दौरान एक व्यक्ति को कच्ची महुआ शराब बेचते पाए जाने पर उसके पास से 150 रुपये तथा दो जरिकेन में 14 लीटर अवैध महुआ शराब बरामद की है। पकड़े गए आरोपी का नाम पुछने पर उसने अपना नाम लक्की साहू 21 पिता बलराम साहू निवासी ग्राम भूण्डा थाना कोटा बिलासपुर बताया है। इसी तरह ग्राम बोडसरा में हिर्री पुलिस ने गुुरुवार को 9.40 बजे नया तालाब के पास घेराबंदी कर मुकेश कुमार यादव 24 वर्ष पिता केहरु यादव निवासी लक्ष्मी ढाबा के पीछे ग्राम बोडसरा थाना हिर्री जिला बिलासपुर को हिरासत में लेने पर उसके पास से पीले कलर की प्लास्टिक की बोरी में 05-05 लीटर वाले दो हरा-पीला रंग के जरिकेन जिसमें हरा 07 लीटर महुआ की हाथ भ_ी से बनी कच्ची शराब कीमत 1400 रूपये को बरामद की है। तथा पचपेड़ी थाना पुलिस ने मुखबीर की सुचना पर 29 अप्रैल को रेड कर कार्रवाई के दौरान कुधरी पारा तालाब के पास एक व्यक्ति प्लास्टिक थैला के अन्दर 15 नग सफेद पन्नी प्रत्येक पन्नी में करीबन 500 एमएल कच्ची महुआ अवैध शराब कुल 7 लीटर 500 एमएल भरा रखा मिला जिसे नाम पता पूछने पर अपना नाम भुनेश्वर श्रीवास पिता स्व. रामरतन श्रीवास उम्र 29 वर्ष साकिन गुड़ीपारा जोंधरा का होना बताया जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।  पकड़े गए आरोपियेां के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34/2 के तहत कार्रवाई की गई है। 
कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिले में प्रत्येक सप्ताह दो दिन चलेगा विशेष सर्वेक्षण अभियान

कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिले में प्रत्येक सप्ताह दो दिन चलेगा विशेष सर्वेक्षण अभियान

गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही। कोरोना महामारी के बढते संक्रमण को देखते हुये गौरेला पेण्ड्रा मरवाही जिले में 28 और 29 अप्रैल को कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए जिले मे विशेष संर्वेक्षण अभियान चलाया गया। विशेष सघन सर्वेक्षण अभियान मे ऐसे व्यक्ति जिनमें कोरोना के लक्षण (सर्दी, खांसी, बुखार इत्यादि ) या ऐसे व्यक्ति जो को-मार्बिड ( हाई ब्लडप्रशेर, शुगर, कैन्सर, किडनी इत्यादि ) जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है उनका चिन्हांकन कीया गया। जिले की कलेक्टर सुश्री नम्रता गांधी द्वारा सघन सर्वेक्षण अभियान में चिन्हाकीत कीये गये लक्षणात्मक व्यक्तियो की जानकारी लेते हुये दवाईकीट वितरण, कोरोना जाच किये गये व्यक्तियो की संख्या टेस्टींग टीम इत्यादी की जानकारी ली गई और साथ ही सधन सर्वेक्षण अभियान से बचे हुये व्यक्तियों की संख्यात्मक जानकारी ली गई और उनके द्वारा अगामी बुधवार और गुरूवार को भी सधन सर्वेक्षण अभियान किये जाने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही उन्होने सघन सर्वेक्षण अभियान में चिन्हाकित लक्षणात्मक व्यक्ति, कोमार्बिड और 60 वर्ष के अधिक उम्र के व्यक्तियों की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये है। ऐसे सभी व्यक्ति जिनमें कोरोना के लक्षण है उन्हें यथाशीघ्र नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में सम्पर्क करना चाहिए जिससे समय रहते उनका उचित उपचार किया जा सकें । 

 बड़ी खबर: उच्च न्यायालय एवं जिला न्यायालयों में 5 मई तक कामकाज बंद

बड़ी खबर: उच्च न्यायालय एवं जिला न्यायालयों में 5 मई तक कामकाज बंद

बिलासपुर। प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है. अब छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में भी सुनवाई नहीं होगी। हाईकोर्ट ने 5 मई तक सारी सुनवाई रद्द कर दी है। जारी आदेशानुसार कोरोना संक्रमण के कारण बिलासपुर में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। इससे सभी सरकारी संस्थानें बंद हैं. जिला न्यायलय भी बंद हैं. अब 5 मई तक बिलासपुर हाईकोर्ट में भी कोई सुनवाई नहीं होगी।
+ Load More