प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..    |    कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा    |    लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज    |    बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान    |    मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत    |    बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट    |    ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर    |
छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े दानवीर दाऊ कल्याण सिंह अग्रवाल की जमीनें होंगी राजसात, शासन ने जारी किया आदेश

छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े दानवीर दाऊ कल्याण सिंह अग्रवाल की जमीनें होंगी राजसात, शासन ने जारी किया आदेश

बिलासपुर | छत्तीसगढ़ के दानवीरों में पहले नंबर पर दर्ज भाटापारा ग्राम तरेंगा के दाऊ कल्याण सिंह अग्रवाल की संपत्ति को राजस्व मंडल बिलासपुर ने राजसात कर शासकीय राजस्व अभिलेख में दर्ज करने का आदेश दिया है। साथ ही कहा है कि यदि किसी भूमि स्वामी की बिना संतान मौत हो जाती है तो ऐसी स्थिति में छत्तीसगढ़ भू-राजस्व संहिता के अनुसार वाद भूमि को शासकीय मद में दर्ज करने का प्रावधान है।

पढ़ें : कोरोना रिटर्न: राजधानी में लगाया जा सकता है नाइट कर्फ्यू, पढ़े पूरी खबर 

उल्लेखनीय है कि दाऊ कल्याण सिंह ने पहली पत्नी जनकनंदनी से कोई संतान नहीं होने पर सरजा देवी से दूसरा विवाह किया था। सरजा से भी कोई संतान नहीं हुई। राजस्व मंडल के आदेश में राममूर्ति अग्रवाल के नाम का जिक्र है, जिन्होंने सरजा की मृत्यु के बाद फर्जी तरीके से अपने नाम पर मुख्तियारनामा बनवा लिया। वसीयत भी फर्जी पाई गई। इसके बाद राजस्व मंडल ने 19 नवंबर 2020 को यह फैसला दिया।

पढ़ें : BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने शादी कार्यक्रम हेतु जारी की नयी गाइड लाइन, 11 अलग-अलग बिन्दुओं का रखना होगा ध्यान 

संपत्ति विवाद 1967 से चल रहा था। अपने फैसले में राजस्व मंडल ने कहा है कि यदि किसी भूमि स्वामी की बिना संतान मौत हो जाती है तो ऐसी स्थिति में छत्तीसगढ़ भू-राजस्व संहिता की धारा 57, 176 व हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम 1958 की धारा 29 के अनुसार वाद भूमि को शासकीय मद में दर्ज करने का प्रावधान है। मंडल ने 30 दिनों के भीतर कार्रवाई कर बलौदाबाजार-भाटापारा कलेक्टर को अभिलेख सौंपने का आदेश दिया है।

पढ़ें : मौसम का मिजाज: छत्तीसगढ़ में बढ़ने लगी कंकनाहट, कंपकपाने आ रही है उत्तरी बर्फीली हवा 

फर्जी वसीयता बनाने का खुलासा वर्ष 1985 में हुआ। राजस्व दस्तावेज की पड़ताल के दौरान राजस्व निरीक्षक ने पाया कि दाऊ कल्याण सिंह अग्रवाल के स्वामित्व वाली जमीन व अचल संपत्ति को सरजा के स्थान पर राममूर्ति अग्रवाल के नाम पर राजस्व दस्तावेज में हेरफेर कर नामातंरण करा लिया था। नामांतरण पंजी में राममूर्ति के आम मुख्तियार के रूप में अनूप कुमार अग्रवाल का नाम दर्ज करा लिया गया था। इस नामांतरण के खिलाफ शांतिबाई ने अनुविभागीय अधिकारी के कोर्ट में चुनौती दी थी। अनुविभागीय अधिकारी ने पूर्व की स्थिति बहाल करने के निर्देश दिए थे।

पढ़ें : मंत्रालय में भी चालू हुआ बिना मास्क वाले कर्मचारियों से अर्थदण्ड की वसूली, 6 कर्मचारियों पर आज हुई कार्यवाही

दाऊ कल्याण सिंह ने राजधानी रायपुर में अस्पताल के लिए जमीन दान दी थी। इसी जमीन पर डीके अस्पताल का संचालन किया जा रहा था। राज्य निर्माण के बाद डीके अस्पताल भवन को मंत्रालय में तब्दील किया गया। एक दशक से भी अधिक समय तक यहां मंत्रालय चल रहा था। दान के अलावा भी उनके नाम की भाटापारा, तरेंगा, हथनी, अवरेटी व रायपुर में करीब 115 एकड़ जमीन थी।

 बड़ी खबर: हिस्ट्रीशीटर दद्दू सोनी को गिरफ्तार कर पुलिस ने निकाला जुलूस, पूरे इलाके में स्टाइगर किंग के नाम से दहशत

बड़ी खबर: हिस्ट्रीशीटर दद्दू सोनी को गिरफ्तार कर पुलिस ने निकाला जुलूस, पूरे इलाके में स्टाइगर किंग के नाम से दहशत

बिलासपुर। बिलासुपर संभाग के रतनपुर के हिस्ट्रीशीटर दद्दू सोनी के खौफ को खत्म करने के लिए रतनपुर पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार करने के बाद उसका जुलूस निकाला। स्टाइगर किंग के नाम से कुख्यात दद्दू सोनी के गैंग की दहशत पूरे इलाके में है। खूंटाघाट, राम टेकरी, कलमीटार दारु भट्टी से लेकर मरहीमाता तक इस गैंग लोग स्टाइगर के नाम पर जुआ खिलाते हुए लोगों को ठगते हैं। पुलिस को कुछ दिनों पहले हुए लूट के मामले में दद्दू सोनी की तलाश थी। 23 नवंबर को पचपेड़ी में रहने वाले चंद्रशेखर को भी जुए के खेल में फंसा कर दद्दू उर्फ यशवंत सोनी ने उससे 4000 रुपए लूट लिए थे। दद्दू सोनी का गैंग इसी तरह लोगों को जुआ के खेल में फंसा लेता था, फिर हारने की स्थिति में उनसे नकद रकम या मोबाइल घड़ी, पर्स, केडिट कार्ड आदि सामान लूट लेता था। लोग भी इस डर में शिकायत नहीं करते हैं कि वे खुद जुआ खेलने के आरोपी बन जाएंगे। इसी का फायदा यह गैंग उठाता रहा है। 
 
 बड़ी खबर: शारीरिक संबंध बनाने से इंकार करने पर पति ने कर दी पत्नी की निर्मम हत्या, पूरे क्षेत्र में फैली सनसनी

बड़ी खबर: शारीरिक संबंध बनाने से इंकार करने पर पति ने कर दी पत्नी की निर्मम हत्या, पूरे क्षेत्र में फैली सनसनी

बिलासपुर। बिलासपुर जिले के कोटा में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। ससुराल में सनकी पति ने पत्नी के शारीरिक संबंध बनाने से इंकार करने पर हत्या कर दी। इसके बाद खुद भी फांसी लगाने का प्रयास किया। इस घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

पढ़िए पूरी खबर-
मामला कोटा थाना क्षेत्र के ग्राम खैरझिटी का है, जहां मंतेश दिनकर ने अपनी पत्नी कमलेश्वरी की हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक इन दिनों कमलेश्वरी अपने पति मंतेश दिनकर के साथ मायके आयी हुई थी। आरोप है कि वहां भी कामातुर पति ने अपनी पत्नी के साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाने का प्रयास किया। इसका विरोध करने पर पति ने अपने पत्नी की गला दबाकर जान ले ली।

इसी बीच कमलेश्वरी की मौसी कमरे में पहुंच गई, जिसे देखकर आरोपी पति ने सब्बल लेकर उसकी भी जान लेने की कोशिश की। लेकिन उसकी मौसी ने किसी तरह उससे सब्बल छीन कर दूर फेंक दिया। इसके बाद मंतेश वही फांसी लगाकर आत्महत्या की कोशिश करने लगा, जिसे देखकर महिला ने जोर-जोर से आवाज लगाई।

आवाज सुनकर परिजन कमरे में पहुंच गए और उन्होंने आरोपी को पकड़ लिया। वहीं कमलेश्वरी के इलाज के लिए 108 और 112 को सूचना दी गई। हत्यारे पति को पकड़कर कोटा थाने लाया गया। हत्यारा मंतेश दिनकर मूलतः भाटापारा सांवरिया का रहने वाला है। आरोपी पति को पुलिस ने पकड़ लिया है।
 बड़ी खबर: पति और ससुर ने शराब पिलाकर किया दुष्कर्म, पीडि़ता की शिकायत पर दोनों गिरफ्तार

बड़ी खबर: पति और ससुर ने शराब पिलाकर किया दुष्कर्म, पीडि़ता की शिकायत पर दोनों गिरफ्तार

बिलासपुर। पति और ससुर ने जबरदस्ती शराब पिलाकर विवाहिता से दुष्कर्म किया। परेशान महिला ने पड़ोसियों को आपबीती सुनाई, तो उन्होंने मायके वालो को सूचना दी। पीडि़ता रिश्तेदारों के साथ थाना पहुंची, जिसकी शिकायत पर मल्हार पुलिस ने पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया है।

बेलगहना क्षेत्र की रहने वाली युवती की शादी एक महीने पहले मल्हार क्षेत्र के आटो चालक से हुई थी। शादी के बाद से ही ससुर बहू पर गलत नीयत रखता था। 50 वर्षीय ससुर अपनी बहू को जबरन शराब पिलाकर दुष्कर्म करता था। महिला लोकलाज के भय से चुप रही। गुरुवार की शाम भी ससुर ने महिला को जबरन शराब पिलाकर दुष्कर्म करने की कोशिश की। महिला ने इसका विरोध किया तो मारपीट की। शाम को महिला का पति आटो चलाकर लौटा, तो उसने घटना की जानकारी दी। इस पर आटो चालक पति ने अपने पिता का पक्ष लेते हुए पत्नी की पिटाई कर दी। फिर युवक ने पत्नी को शराब पिलाई। इसके बाद पिता व पुत्र ने उसके साथ दुष्कर्म किया। फिर महिला को बंधक बना लिया। महिला ने किसी तरह घटना की जानकारी पड़ोसियों को दी। इसकी जानकारी होने पर महिला के मायके वाले पहुंचे और उसे मुक्त कराया। महिला ने घटना की शिकायत मल्हार पुलिस से की है। पुलिस ने धारा 376, 342,323, 506 व 34 के तहत जुर्म दर्ज कर हैवान पिता पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है

आरोपी पति इससे पहले भी दो शादियां कर चुका है। दोनों पत्नी उसे छोड़कर चली गई हैं। इसके बाद युवक ने एक महीने पहले तीसरी शादी की थी।
शीतलहर से बचाव के लिए जारी हुए दिशा-निर्देश

शीतलहर से बचाव के लिए जारी हुए दिशा-निर्देश

बिलासपुर। राज्य शासन द्वारा शीतलहर उत्पन्न होने की स्थिति में इससे बचाव एवं उपायों के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किया गया है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं मौसम विज्ञान केन्द्र के द्वारा समय-समय पर जारी निर्देशों के अनुसार प्रदेश में सामान्यतः माह दिसंबर एवं जनवरी के बीच ठंड की व्यापकता और कभी-कभी शीतलहर का रूप ले लेती है। इससे निःसहाय, आवासहीन, गरीब, वृद्ध एवं स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों के प्रभावित होने की संभावना बनी रहती है। इससे बचाव के लिये राज्य शासन द्वारा भी दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं।
 

शीतलहर से बचाव के लिये जितना संभव हो घर के अंदर रहें, अति आवश्यक कार्य होने पर बाहर निकलें। मौसम से संबंधित समाचार व आपातकाल के संबंध में जारी समाचारों को ध्यान से सुने। वृद्ध व्यक्तियों का ध्यान रखे तथा उन्हें अकेला न छोड़ें। यह भी सुनिश्चित करें कि पावर सप्लाई आपातकाल में भी रहे। ऐसे आवास का उपयोग करें जहां तापमान सही रहता हो, आवश्यकतानुसार गर्म पेय पीते रहे। बिजली का प्रवाह अवरूद्ध होने की स्थिति में फ्रीज में खाने के सामान को 48 घंटे से अधिक न रखें।
 
 
शीतलहर से बचाव हेतु टोपी या मफलर का भी उपयोग किया जा सकता है अथवा सिर व कान को ढंककर रखें। यदि केरोसिन व कोल की हीटर का उपयोग करते हैं तो गैस व धुएं निकलने वाले रोशनदार की व्यवस्था रखें। स्वास्थ्यवर्धक खाने का उपयोग करें। यदि सर्दी से संबंधित कोई प्रभाव शरीर पर दिखाई दे जैसे नाक, कान, पैर, हाथ की उंगलियां आदि लाल हो, तो तत्काल स्थानीय चिकित्सक से परामर्श लें। असामान्य तापमान की स्थिति, अत्यधिक कांपना, सुस्ती, कमजोरी, सांस लेने में परेशानी हो, तो ऐसी स्थिति में तत्काल स्थानीय चिकित्सक से परामर्श लें।
BIG BREAKING : नशे में एक युवक ने की आत्मदाह की कोशिश, अस्पताल में कोरोना जाँच रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो अस्पताल से हुआ फरार

BIG BREAKING : नशे में एक युवक ने की आत्मदाह की कोशिश, अस्पताल में कोरोना जाँच रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो अस्पताल से हुआ फरार

गौरेला | छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है, खबर मिली है कि जिले में एक युवक ने शराब के नशे में अपने ही शरीर पर केरोसीन डालकर खुद को आग के हवाले कर दिया। घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने आनन फानन में युवक को 30 फीसदी जली हुई हालत में अस्पताल में भर्ती कराया। जानकारी के अनुसार अस्पताल में युवक का कोरोना एंटीजन टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो युवक अगले दिन मंगलवार सुबह अस्पताल से भाग निकला।

पढ़ें : BIG BREAKING : राजधानी रायपुर से सटे इस इलाके में एक ही परिवार के 5 लोगों की मिली लाश, इलाके में मचा हड़कंप

 

यह है पूरा मामला :-

गौरेला के भट्टा टोला निवासी प्रताप पासी ने सोमवार रात पारिवारिक झगड़े के बाद शराब पी और फिर खुद पर केरोसीन डाल आग लगा ली। जब वह जलने लगा तो खुद ही बाल्टी से पानी डालकर आग बुझाई। हालांकि तब तक वह 30 फीसदी जल चुका था। उसकी हालत गंभीर देख परिजन पास ही स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे और भर्ती कराया।

पढ़ें : छत्तीसगढ़ प्रदेश में हाई कोर्ट समेत सभी न्यायालयों में शुरू हुई प्रत्यक्ष सुनवाई, पढ़ें पूरी खबर

जानकारी के अनुसार उपचार के दौरान डॉक्टरों ने प्रताप की एंटीजन किट से कोरोना जांच की तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद उसे कोविड केयर सेंटर टिकरा कला भेजने की तैयारी की जा रही थी। पता चलने पर उससे पहले ही प्रताप अस्पताल से भाग निकला। इसके बाद भी ड्यूटी डॉक्टर की ओर से इसकी सूचना स्थानीय थाने में नहीं दी गई। युवक के आत्मदाह के प्रयास की सूचना क्षेत्र में फैली तो लोगों को पता चला।

अस्पताल में मौजूद नर्सों के मुताबिक सोमवार रात करीब 9 बजे बाइक से दो लोग प्रताप को लेकर आए थे। उन्होंने पटाखों से जलने की बात कही थी, लेकिन प्रताप के पास से केरोसीन की बदबू आ रही थी। उन्होंने बताया कि प्रताप 30 प्रतिशत जल चुका था। उसकी गंभीर हालत को देखते हुए अस्पताल में भर्ती कर उपचार शुरू किया। टेस्ट रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव आया तो पता चलने पर डर से अस्पताल से भाग निकला।

 बड़ी खबर: पूरानी रंजिश के चलते युवक की दिनदहाड़े चाकूमार कर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

बड़ी खबर: पूरानी रंजिश के चलते युवक की दिनदहाड़े चाकूमार कर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर। बिलासपुर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां बदमाशों ने दिनदहाड़े एक युवक की चाकूमार कर हत्या कर दी। बता दें कि तीन आरोपीयों ने मील कर इस घटना को अंजाम दिया। सूत्रों के मुताबिक दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पढ़िए पूरी खबर-
जानकारी के अनुसार- यह घटना सिविल लाइन थाना क्षेत्र कस्तूरबा नगर का है। बताया जा रहा है​ कि 23 वर्षीय युवक हरिशंकर यादव पिता बबलू यादव से पूरानी रंजिश के चलते विवाद हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि तीनों अपराधियों ने इस घटना कों अंजाम दिया। हत्या करने वाले दो आरोपी को पु​लिस ने हिरासत में ले लिया है। वही एक आरोपी फरार बताया जा रहा है। पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम लिए मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया।
बड़ी खबर: ससुर ने की बहु की हत्या, धारदार हथियार से किया हमला

बड़ी खबर: ससुर ने की बहु की हत्या, धारदार हथियार से किया हमला

पेंड्रा। घरेलू विवाद में ससुर ने अपनी ही बहू की हत्या कर दी हैं, मामला गौरेला थाना क्षेत्र के बालधार गांव का है जहां ससुर ने अपनी ही बहू की हत्या कर दी हैं। पूरे वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंची और मृतिका के शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। बता दें मृतिका के ससुर ने धारदार हथियार से अपनी बहू के सिर में पर मारी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई हैं।
कोर्ट के आदेश के बाद आईपीएस मुकेश गुप्ता और रजनीश सिंह पर दर्जनों धाराओं से हुआ मामला दर्ज

कोर्ट के आदेश के बाद आईपीएस मुकेश गुप्ता और रजनीश सिंह पर दर्जनों धाराओं से हुआ मामला दर्ज

बिलासपुर। कथित तौर पर कूटरचित एफआईआर तैयार करने और असत्य तथा अपूर्ण तथ्यों के साथ सर्च वारंट के आधार पर तलाशी लिए जाने के मसले पर पेश परिवाद पर सीजेएम डमरुधर चौहान के आदेश पर धारा -120-बी-आईपीसी, 166-आईपीसी, 167-आईपीसी, 213-आईपीसी, 218-आईपीसी, 380-आईपीसी, 382-आईपीसी, 420-आईपीसी, 467-आईपीसी, 468-आईपीसी, 471-आईपीसी, 472-आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना के निर्देश थाना सिविल साईंस थाने को दिए हैं।
 

कल देर शाम सिविल लाईंस थाने में अज्ञात के विरुद्ध क्राईम नंबर 0791/2020 कायम कर विवेचना शुरु कर दी गई है। जिस परिवाद पर जारी निर्देश पर यह मामला पंजीबद्ध किया गया है उसमें परिवादी पवन अग्रवाल हैं, जो कि जल संसाधन विभाग में पदस्थ रहे कार्यपालन अभियंता आलोक अग्रवाल के भाई हैं।
 

परिवाद में यह आरोप लगाया गया है कि,30 दिसंबर 2014 को ्रष्टक्च के अधिकारी विजय कटरे और आलोक जोशी पहुँचे और सर्च वारंट दिखाया, सर्च वारंट में एफआईआर नंबर अंकित नही था,अधिकारीयों ने सर्च के दौरान आवेदन की निजी संपत्ति, स्व अर्जित आय और स्त्रीधन के आभूषण को जप्त किया, और इसके लिए तत्कालीन एसीबी के मुखिया मुकेश गुप्ता और कप्तान रजनीश सिंह के मौखिक निर्देश का हवाला दिया। इस जप्ती का कोई पत्रक न्यायालय में पेश भी नही किया गया। वहीं यह सूचना भी प्राप्त हुई कि,जिस अपराध क्रमांक 56/14 के तहत सर्च किया गया, वैसी कोई स्नढ्ढक्र थाना ऐसीबी/ईओडब्लू में दर्ज नही है।
 

सीजेएम बिलासपुर ने इस परिवाद को पंजीबद्ध कर आदेश देते हुए लिखा है परिवादी के द्वारा पुलिस अधीक्षक राज्य आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो से जाँच कराए जाने का निवेदन किया गया है,किंतु प्रस्तुत परिवाद में आर्थिक अपराध के अपराध किए जाने के संबंध में परिवाद में उल्लेख नही किया गया है, और ना ही ऐसा कोई दस्तावेज पेश किया गया है,ऐसी स्थिति में प्रस्तुत परिवाद की जाँच पुलिस अधीक्षक राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो रायपुर से कराये जाने की आवश्यकता दर्शित नही होती, बल्कि इस न्यायालय के सुनवाई क्षेत्राधिकार में स्थित थाना सिविल लाईंस से कराया जाना उचित प्रतीत होता है|
 

परिवाद पर अदालत के निर्देश पर थाना सिविल लाईंस ने अज्ञात के विरुद्ध धारा -120-बी-आईपीसी, 166-आईपीसी, 167-आईपीसी, 213-आईपीसी, 218-आईपीसी, 380-आईपीसी, 382-आईपीसी, 420-आईपीसी, 467-आईपीसी, 468-आईपीसी, 471-आईपीसी, 472-आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।
 जन्मदिन मनाने के आड़ में छात्रा से दुष्कर्म, कोल्ड-ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर दिया घटना को अंजाम

जन्मदिन मनाने के आड़ में छात्रा से दुष्कर्म, कोल्ड-ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर दिया घटना को अंजाम

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां एक स्कूली छात्रा से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है। यहां जन्मदिन मनाने के बहाने बंधक बनाकर छात्रा का बलात्कार किया गया। ख़ास बात ये है कि इस पूरे घटनाक्रम में पीड़िता की सहेली ने आरोपियों का साथ दिया। मामले का खुलासा तब हुआ जब किशोरी का गर्भ ठहर गया। पीड़िता और उसके परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने अपराध में शामिल मुख्य आरोपियों सहित सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 

पढ़िए पूरी खबर-
बता दें कि मामला तखतपुर इलाके का है। नाबालिग (15) स्कूली छात्रा है। मार्च के महीने में उसका जन्मदिन था। इस पर, उसकी सहेली उसका जन्मदिन मनाने के बहाने उसे स्कूटी पर लेने के लिए घर पहुँची। छात्रा के मना करने पर उसके दोस्त ने दोस्ती तोड़ने की धमकी दी। इस दौरान नाबालिग के दोस्त वासुदेव ठाकुर का दोस्त महेंद्र ठाकुर भी आ गया। वे सभी बेलपान गए जहां वे नाबालिग को एकांत घर में ले गए। इसके बाद आरोपियों ने आरोपी किशोर के साथ नाबालिग को कमरे में बंद कर दिया और उसे बाहर से बंद कर दिया। इस दौरान किशोरी ने कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिला दिया। फिर उसने जबरन बलात्कार की घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद स्कूटी में बैठकर उसकी सहेली उसे घर ले आई । साथ ही घटना की जानकारी किसी को देने पर उसे बदनाम करने की धमकी दी। घटना का खुलासा तब हुआ जब लड़की गर्भवती हो गई। मामले की रिपोर्ट पर, पुलिस ने नाबालिग के दोस्त, मुख्य आरोपी किशोर को गिरफ्तार किया है, जिसमें महेंद्र ठाकुर, वासुदेव ठाकुर और एक अन्य युवती शामिल है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 342, 376, 506 और 4 पॉक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है।
BIG BREAKING : पुराने प्रकरण में घिरा एंटी करप्शन ब्यूरो, कोर्ट ने दिए जाँच के आदेश

BIG BREAKING : पुराने प्रकरण में घिरा एंटी करप्शन ब्यूरो, कोर्ट ने दिए जाँच के आदेश

बिलासपुरपांच साल पहले सिंचाई अफसर आलोक अग्रवाल के यहां छापेमारी के प्रकरण में एसीबी का अमला जांच के घेरे में आ गया है। सीजेएम के आदेश पर सिविल लाइन पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ चोरी, धोखाधड़ी और दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पढ़ें : BIG BREAKING : राजधानी में आज आत से 30 नवम्बर तक पटाखे फोड़ने में लगा प्रतिबन्ध, NGT ने लिया बड़ा फैसला 

एसीबी ने सिंचाई विभाग के कार्यपालन यंत्री आलोक अग्रवाल के यहां छापेमारी की थी। आलोक अग्रवाल के साथ ही उनके भाई पवन अग्रवाल और परिवार के लोगों के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया था। आलोक अग्रवाल की गिरफ्तारी भी हुई थी। अग्रवाल के परिजनों ने एसीबी की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए थे, और गंभीर आरोप लगाए थे।

पढ़ें : बड़ी खबर: बुलेरो और डंपर की जबरदस्त भिड़ंत में सात लोगों की मौत, जाने कहा की है यह घटना


परिजनों का आरोप था कि आलोक अग्रवाल के साथ-साथ उनके परिवार के लोगों की संपत्ति और सामान को भी अवैध कमाई का बताया गया। और जब्त किया गया। जबकि उनका पुश्तैनी व्यवसाय है। कई सामान गायब हो गए, और दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ की गई। फर्जी दस्तावेज तैयार कर पवन अग्रवाल और अन्य लोगों को फंसाया गया। यह सब कार्रवाई तत्कालीन आईजी मुकेश गुप्ता और एसपी रजनेश सिंह के नेतृत्व में हुई थी।

पढ़ें : मछली दिखाने के बहाने युवक ने नाबालिग को छेड़ा, अपराध दर्ज


परिजनों ने इस पूरे मामले में कई जगह शिकायत की थी, और फिर कोई कार्रवाई न होने पर न्यायालय में परिवाद दायर किया था। बिलासपुर सीजेएम ने इस पूरे मामले में गंभीर माना है। कोर्ट ने कार्रवाई के आदेश दिए हैं। कोर्ट के आदेश पर सिविल लाइन पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 120 (बी), 420, 467, 468, 471, 166, 167, 380 के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बिलासपुर एसपी प्रशांत अग्रवाल ने छत्तीसगढ़से चर्चा में कहा कि कोर्ट के आदेश पर प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया गया है। जिन लोगों की भूमिका सामने आएगी, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 बड़ी खबर: नाबालिग लड़की भगाने के आरोप में परिजनों ने युवक की कर दी बेदम पिटाई, इलाज के दौरान हुई मौत

बड़ी खबर: नाबालिग लड़की भगाने के आरोप में परिजनों ने युवक की कर दी बेदम पिटाई, इलाज के दौरान हुई मौत

बिलासपुर। नाबालिग लड़की को भगाकर ले जाने के आरोप में लड़की के परिजनों ने लड़के से मारपीट की, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में पुलिस के आरोपी 3 युवकों को गिरफ्तार कर लिया है, घटना रतनपुर थाना क्षेत्र के बोधिबन्द गाँव की है। 
 

जानकारी के मुताबिक रतनपुर थाना क्षेत्र के बोधिबंद में रहने वाले रामनारायण पिता सीताराम ध्रुव उम्र 25 वर्ष मोहल्ले की एक नाबालिग किशोरी को भगा ले गया। सितम्बर महीने में हुई इस घटना के कुछ दिनों बाद लड़की के परिजनों को पता चला, कि राम नारायण उनकी बेटी के साथ तखतपुर क्षेत्र के बिजराकापा में रह रहा है। लड़की के परिजन बिजराकापा पहुंचे, और लड़की को अपने साथ गाँव लेकर आ गए। कुछ दिनों बाद रामनारायण भी गाँव लौट आया।
 

घटना के बाद से लड़की के परिजन राम नारायण को सबक सिखाने मौके की तलाश में थे। बीते 30 सितम्बर की रात रामनारायण उन्हे गाँव में अकेले मिल गया, तो लड़की के परिवार वालो ने लाठी डंडे से हमला करते हुए घायल कर दिया था। युवक को उपचार के लिए हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था, जहाँ उसके सिर में गंभीर चोटें आई थी जिसका उपचार किया जा रहा था, जहाँ से तबीयत ठीक लगने की स्थिति में 12 अक्टूबर को फिर वापस घर ले गए थे, लेकिन इसी बीच युवक की फिर से तबियत बिगड़ गई जिसे फिर से बर्न एंड ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया गया, जहाँ 6 नवम्बर को युवक की मौत हो गई।
 

इस मामले में परिजनों की रिपोर्ट पर रतनपुर पुलिस ने  धारा 302, 34 के तहत अपराध दर्ज कर आरोपी संदीप नेताम उर्फ संटी पिता गेंद राम नेताम उम्र 22 वर्ष, पिंटू नेताम पिता गेन्दू नेताम उम्र 18.6 वर्ष और मुकेश नेताम पिता गेंद राम नेताम उम्र 28 वर्ष को गिरफ्तार कर लिया है।
बड़ी खबर: घर के बाहर खेल रहे 6 साल के मासूम की ट्रेलर की चपेट में आने से मौत

बड़ी खबर: घर के बाहर खेल रहे 6 साल के मासूम की ट्रेलर की चपेट में आने से मौत

बिलासपुर। घर के सामने खेल रहे छह वर्षीय बालक को तेज रफ्तार ट्रेलर ने चपेट में ले लिया। हादसे में घायल बालक ने उपचार के दौरान सिम्स में दम तोड़ दिया। मामले में बिल्हा पुलिस ने ट्रेलर चालक के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।
 

बिल्हा थाना क्षेत्र के अमेरीकापा निवासी संतोष साहू राजमिस्त्री हैं। उनका 6 वर्षीय पुत्र भरत मंगलवार की सुबह घर के सामने खेल रहा था। इस दौरान बिल्हा की ओर से आ रहे तेज रफ्तार ट्रेलर बालक को टक्कर मार दी। हादसे में बालक के कमर और पैर में गंभीर चोटे आई।
 
 
घटना के बाद ट्रेलर का चालक वहां से फरार हो गया। घायल बालक को इलाज के लिए परिजन सिम्स लेकर गए, जहाँ उपचार के दौरान बालक ने दम तोड़ दिया।
 मरवाही उप चुनाव में शाम 5 बजे तक 71.99 फ़ीसदी मतदान, ईव्हीएम मशीनों में तकनीकी ख़राबियों की शिकायतों का सिलसिला जारी

मरवाही उप चुनाव में शाम 5 बजे तक 71.99 फ़ीसदी मतदान, ईव्हीएम मशीनों में तकनीकी ख़राबियों की शिकायतों का सिलसिला जारी

मरवाही। मरवाही उप चुनाव में शाम पाँच बजे तक 71.99 फ़ीसदी मतदान दर्ज किया गया है। अंतिम आँकड़े शाम करीब छ बजे के बाद जारी होंगे, जिसके बाद स्थिति पूरी तरह स्पष्ट होगी। ईव्हीएम मशीनों में तकनीकी ख़राबियों की शिकायतों के आने का सिलसिला जारी रहा है। पंक्तियों के लिखे जाने तक कुल 19 ईव्हीएम मशीनों में ख़राबी पाई गई, जिससे बदला गया है।

जिन 19 ईव्हीएम मशीनों में ख़राबी पाई गई उनमें तीन सीयू तीन पीयू और तेरह व्ही पैट मशीनें शामिल हैं। पूरे दिन कोई मतदान केंद्रों से ईव्हीएम मशीनों की शिकायतें आती रही हैं। हालांकि कहीं पर भी ईव्हीएम मशीनों की वजह से मतदान प्रभावित नही हुआ है।

ज़िला निर्वाचन कार्यालय ने अब से कुछ देर पहले पाँच बजे तक के मतदान के अधिकृत प्रतिशत आँकड़े के रुप में 71.99 फ़ीसदी मतदान होने की जानकारी सार्वजनिक की है। इनमें महिला मतदाता 72.10% जबकि पुरुष मतदाता 71.89% हैं। मरवाही विधानसभा में कुल चार थर्ड जेंडर मतदाता थे, जिनमें से दो के द्वारा मतदान किए जाने की सूचना है।
 
मरवाही उपचुनाव: सुबह 11 बजे तक 21.52 प्रतिशत हुआ मतदान, पढ़ें पूरी खबर

मरवाही उपचुनाव: सुबह 11 बजे तक 21.52 प्रतिशत हुआ मतदान, पढ़ें पूरी खबर

मरवाही | छत्तीसगढ़ के मरवाही विधानसभा उपचुनाव के लिए आज सुबह 8 बजे से 286 मतदान केन्द्रों में मतदान शुरू हो गया है। सुबह 11 बजे तक 21.52 प्रतिशत मतदान हो पाया है। 

पढ़ें : आज दिनांक 3 नवम्बर का राशिफल, जाने कैसा रहेगा आज आपका दिन 

निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार मरवाही उपचुनाव के लिए आज मतदान निर्धारित समय पर शुरू हो गया है। मतदान सुबह 8 बजे से शुरू हुआ जो शाम 6 बजे तक चलेगा। मरवाही में मतदान को लेकर लोगों में उत्साह देखने का मिल रहा है, हालांकि सुबह 9 बजे तक यानी 01 घंटे में 2.4 प्रतिशत मतदान हो पाया था, वहीं 11 बजे तक मतदान का प्रतिशत बढ़कर 21.52 पहुंच गया। चूंकि मतदान का समय शाम 6 बजे तक है इसलिए मतदान में तेजी दोपहर बाद ज्यादा देखने को मिल सकती है। मरवाही में इस बार 01 लाख 91 हजार 04 मतदाता है, जिनमें 93 हजार 735 पुरूष, 97 हजार 265 महिला एवं 04 तृतीय लिंग मतदाता है। 
 
 
मरवाही चुनाव के लिए कुल 286 मतदान केन्द्र बनाए गए है, इन सभी मतदान केन्द्रों में मतदान प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। मतदाता कतार में खड़े होकर बारी-बारी से अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे है। समाचार लिखे जाने तक मतदान जारी है।
 
 CGPSC मेन्स परीक्षा 2020 मामले में हाईकोर्ट का अहम फैसला: इस फैसले से अभ्यर्थियों को मिलेगी बड़ी राहत

CGPSC मेन्स परीक्षा 2020 मामले में हाईकोर्ट का अहम फैसला: इस फैसले से अभ्यर्थियों को मिलेगी बड़ी राहत

बिलासपुर। इस वक्त CGPSC मेन्स परीक्षा 2020 को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है की इस मामले में हाईकोर्ट ने अहम फैसला सुनाया है। कोर्ट के इस फैसले से अभ्यर्थियों को बड़ी राहत मिलेगी। मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा है कि प्रश्न क्र .2,76 और 99 की दोबारा जांच कर दोबारा मेरिट लिस्ट बनाकर जारी किया जाए। साथ ही कोर्ट ने यह भी आदेश दिया है कि मेरिट लिस्ट जारी करने के तीन माह के भीतर मेंस की परीक्षा आयोजित किया जाए।

18 अक्टूबर को होने वाली थी CGPSC 2020 मेन्स की परीक्षा-
गौरतलब है कि 24 अभ्यर्थियों ने CGPSC2020 की प्री परीक्षा के मॉडल अंसर के उत्तरों को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसके बाद कोर्ट ने मेन्स परीक्षा पर रोक लगा दी है। CGPSC 2020 मेन्स की परीक्षा 18 अक्टूबर को होने वाली थी।
रिश्ता हुआ शर्मसार : पिता ने ही बनाया अपनी सगी नाबालिग बेटी को हवस का शिकार, पढ़ें पूरी खबर

रिश्ता हुआ शर्मसार : पिता ने ही बनाया अपनी सगी नाबालिग बेटी को हवस का शिकार, पढ़ें पूरी खबर

बिलासपुर | बिलासपुर से इलाज करवा कर तखतपुर स्थित घर लौट रहे पिता ने अपनी बच्ची को ही हवस का शिकार बनाया है। बच्ची की मां की शिकायत पर तखतपुर पुलिस फरार आरोपी की तलाश कर रही है। तखतपुर में पिता ने अपनी बच्ची को ही हवस का शिकार बनाया है।

पढ़ें : BIG BREAKING : इस देश में लगा 2 दिसंबर तक लॉक डाउन, प्रधानमंत्री ने किया एलान 

मामला एक दिन पहले यानि 31 अक्टूबर की है। बच्ची से जानकारी मिलने के बाद उसकी मां ने पुलिस में शिकायत की है। बहरहाल आरोपी फरार बताया जा रहा है । सूत्रों के अनुसार तखतपुर निवासी एक व्यक्ति बच्ची का इलाज कराने बिलासपुर स्थित अस्पताल आया था। बच्ची की उम्र करीब 13 साल है।

पढ़ें : अनलॉक-6.0 : आज से देश में शुरू हुआ अनलॉक 6, जानें क्या क्या हुआ अनलॉक

जानकारी के अनुसार 31 अक्टूबर को 13 साल की नाबालिग बीमार बच्ची की इलाज कराने के बाद बच्ची पिता के साथ घर लौट रही थी। इसी दौरान कानन पेण्डारी के पास व्यक्ति की नीयत डोल गयी और बच्ची को वहीं जंगल में हवस का शिकार बनाया।

पढ़ें : बड़ी खबर : दो सगे भाइयों की एक ही कमरे में फांसी पर झूलती मिली लाश, इलाके में मचा हड़कंप, जाने कहा की है यह खबर

घर लौटने पर बच्ची ने अपनी मां को घटना की जानकारी रो रो कर दी। इसके बाद  बच्ची की मां ने सारी जानकारी पुलिस को दी। जानकारी के बाद पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। बताया जा रहा है कि व्यक्ति की दो पत्नियां है।
 बलवा: बच्चों के झगड़े में दो परिवार के बीच जमकर विवाद, दोनों पक्षों में जमकर चली लाठी

बलवा: बच्चों के झगड़े में दो परिवार के बीच जमकर विवाद, दोनों पक्षों में जमकर चली लाठी

बिलासपुर। बच्चों के झगड़े में दो परिवार के बीच जमकर विवाद हुआ, इस दौरान दोनों पक्ष ने जमकर लाठियां चलाईं। इसमें कई को गंभीर चोटे आई हैं। दोनों पक्ष की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने 15 लोगों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है। इसमें सात को गिरफ्तार कर लिया गया है। जरहाभाठा मिनी बस्ती निवासी विनय घृतलहरे ने अपनी शिकायत में बताया कि शुक्रवार की सुबह राम लखन के 10 वर्षीय पुत्र और देवा बंजारे के भांजे के बीच खेल के दौरान झगड़ा हो गया। इसी बात को लेकर देवा अपने परिवार के सदस्यों के साथ आकर रामलखन के जीजा विनय से विवाद करने लगा। इसके बाद देवा और उसके परिवार के पन्ना घृतलहरे, राजकुमारी, शिवकुमारी, सतकुमारी, संतकुमारी, संगीता, सूरजा, प्रियंका व अमित ने विनय पर लाठी और लोहे के पाइप से हमला कर दिया। देवा और उसके परिवार वालों ने बीच-बचाव करने आई संतोषी और रामलखन की पिटाई कर दी। इसके बाद देवा और उसके परिवार के सदस्यों ने विनय की मोटरसाइकिल में तोडफ़ोड़ की। पीडि़त की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने देवा समेत 12 लोगों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।

वहीं, राजकुमारी घृतलहरे ने अपनी शिकायत में बताया कि बच्चों के झगड़े के बाद उनकी बहन सतकुमारी ने समझाइश देकर दोनों को शांत किया था। इसके बाद राम लखन पहुंचा और बेटे से झगड़े की बात पर सतकुमारी को लोहे के पाइप से मारकर घायल कर दिया। बीच-बचाव करने आई संगीता और सूरजा बाई समेत परिवार के अन्य लोगों की भी पिटाई कर दी। इसके बाद जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से चला गया। मारपीट में सतकुमारी, संगीता और नाबालिग को चोटे आई है। राजकुमारी की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने रामलखन, विनय व धन्नू के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है। इसमें रामलखन व विनय की गिरफ्तारी हो गई है। वहीं, दूसरे पक्ष से राजकुमारी, संतकुमारी, देवा और राजू को गिरफ्तार किया गया है।
भूपेश सरकार आतंक के बल पर कर रही शासन -रमन सिंह

भूपेश सरकार आतंक के बल पर कर रही शासन -रमन सिंह

गौरेला। मरवाही विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजऱ गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी का प्रचार अभियान 'विजय संकल्प में परिणत हुआ और भाजपा के दिग्गज नेताओं की मौज़ूदगी में कार्यकर्ताओं ने मरवाही विधानसभा उपचुनाव में विजय का संकल्प व्यक्त किया। मरवाही में भाजपा ने विजय संकल्प रैली रखकर कांग्रेस और प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा। भाजपा नेताओं ने अपने प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह को भारी समर्थन के साथ विधानसभा में भेजकर मरवाही में सकारात्मक बदलाव और विकास का शुभारंभ करने की अपील करते हुए कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में आतंक की सरकार चल रही है। इस सरकार को विकास से कोई मतलब नहीं है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेश के विकास पर कभी भी चर्चा नहीं करते हैं। केवल कपोल-कल्पनाएँ करके वास्तविकता और सार्थक मुद्दों पर चर्चा से बचना चाहते है। हमने आपके भरोसा पर खरा उतरकर 15 सालों तक प्रदेश के समग्र विकास के लिये कार्य किया है और भविष्य में भी करते रहेंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि हमने एक संवेदनशील प्रत्याशी के रूप में डॉ. गंभीर सिंह को आपकी सेवा के लिये भाजपा प्रत्याशी के तौर पर मरवाही उपचुनाव के लिए मैदान में उतारा है। आप सबके सहयोग से ही वे जनकल्याण के कार्यों को जारी रखेंगे। साय ने कहा कि मरवाही के विकास के लिये भाजपा प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह को समर्थन और आशीर्वाद की ज़रूरत है। हम सबने मरवाही के समग्र विकास का संकल्प लिया है, जो आप सबके सहयोग से पूरा होगा।

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद (राज्यसभा) रामविचार नेताम ने रैली में कहा कि हमारे प्रखर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संवेदनशीलता से योजनाएँ बनाई हैं, लेकिन मरवाही में केंद्र की योजनाओं का पता ही नहीं है। वनवासियों के विकास के लिये जितनी भी योजना केंद्र सरकार चला रही है, उन योजनाओं का लाभ मरवाही के अंतिम व्यक्ति तक यह प्रदेश सरकार नहीं पहुँचने दे रही है। प्रदेश के लोगों की खुशी कांग्रेस कभी नहीं देख सकती है। कांग्रेस के लोग तो अपने केवल दिल्ली-दरबार को खुश देखना चाहते हैं और उसे ही खुश करने में लगे रहते हैं। भाजपा की पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री व सांसद (राज्यसभा) डॉ. सरोज पाण्डेय ने कहा कि केन्द्र की योजनाओं का मरवाही के लोगों को लाभ नहीं मिल रहा है। इसके लिये कांग्रेस की प्रदेश सरकार जिम्मेदार है। अब कांग्रेस को तीन नवम्बर को ज़वाब देने का मौक़ा आ गया है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि मतदान के माध्यम से कांग्रेस को बताना होगा कि जनतंत्र में कितनी शक्ति होती है! सबको छलकर सत्ता में आई कांग्रेस अब जनहित में एक भी काम नहीं कर रही है।

केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने कहा कि हमारी भावनाओं के मुताबिक छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण हुआ है, लेकिन प्रदेश की मौज़ूदा कांग्रेस सरकार को छत्तीसगढ़ के विकास की चिंता नहीं हैं। केंद्र सरकार द्वारा भेजे जा रहे पैसा का यहां सही उपयोग नहीं हो रहा है। पूर्व मंत्री व उपचुनाव प्रभारी अमर अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस प्रशासनिक तंत्र का दुरुपयोग कर चुनाव को प्रभावित करना चाहती है, जिसका हम जनतंत्रिक तरीके से ज़वाब देंगे। भाजपा प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह ने कहा कि आपकी सेवा में हमेशा ही सक्रिय रहा हूं और भविष्य में भी रहूंगा। हम सब मरवाही के विकास के लिये जो सपना देख रहे हैं, उसे एकजुटता से पूरा करने संकल्पित होने की जरूरत है। सभा को पूर्व सांसद विक्रम उसेंडी व पूर्व मंत्री केदार कश्यप समेत कई वक्ताओं ने संबोधित किया। इस दौरान कई युवाओं के भाजपा ने विजय संकल्प का समर्थन करते हुए भाजपा में प्रवेश लिया। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश महामंत्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी  ने किया। इस मौके पर जिला अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल, समीरा पैकरा, दिलीप यादव, किशन सिंह, नीरज जैन, रामजी वास, शिवप्रताप राय, विभा नहरेल, शंकर चक्रधारी, राकेश दीक्षित, लालजी यादव, भोलू नहरेल सहित पार्टी कार्यकर्ता, पार्टी पदाधिकारी व आम जन मौजूद थे।
शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके में मिली अज्ञात व्यक्ति की लाश, पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से मांगी है मदद, पढ़ें पूरी खबर

शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके में मिली अज्ञात व्यक्ति की लाश, पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से मांगी है मदद, पढ़ें पूरी खबर

बिलासपुर। शुक्रवार सुबह शहर के भीड़भाड़ वाले इलाकों में से एक देवकीनंदन चौक के पास स्थित अशोक प्रसुति गृह के सामने एक व्यक्ति की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। सुबह करीब 8:30 बजे से लोगों की निगाह उस पर पड़ी।
 
 
पहले तो लोगों को लगा कि कोई सोया हुआ है लेकिन बाद में करीब जाकर देखने पर पता चला कि उस व्यक्ति की मौत हो चुकी है। व्यक्ति की उम्र 50- 55 वर्ष के आसपास जान पड़ रही है । इसकी जानकारी सिविल लाइन पुलिस को दे दी गई है।
 
 
फिलहाल व्यक्ति की पहचान नहीं हो पाई है और न ही उसके संबंध में कोई जानकारी मिल पाई है इसलिए पुलिस ने सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीर जारी कर लोगों से निवेदन किया है इसके संबंध में कोई जानकारी होने पर वे 94791 93019 पर जानकारी दें। पिछले दो दिनों में तापमान नीचे आया है पारा करीब 5 डिग्री नीचे चला गया और तापमान 18 डिग्री के आसपास दर्ज किया गया। यह मौत ठंड के कारण हुई या फिर किसी और कारण से इसकी जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही हो पाएगी।
बड़ी खबर: डीएसपी के मकान में चोरों ने बोला धावा, सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई वारदात

बड़ी खबर: डीएसपी के मकान में चोरों ने बोला धावा, सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई वारदात

बिलासपुर। शहर के शांति नगर त्र5 में डीएसपी कवि गुप्ता का मकान है। वे पुलिस मुख्यालय में पदस्थ है। उनके पिता राकेश गुप्ता रिटायर्ड अफसर है। 25 सितंबर को वे बिलासपुर के मकान में ताला लगाकर परिवार के साथ रायपुर चले गए थे जो अपने बेटे के साथ रह रहे थे। हाई सिक्योरिटी सिस्टम का इस्तेमाल करते हुए इनके द्वारा मकान में लगाए गए सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से मोबाइल में ही घर की मॉनिटरिंग की जा रही थी।
 
 
बीच-बीच में परिवार का कोई न कोई सदस्य बिलासपुर आकर भी घर को देख जाता था। 28 अक्टूबर की रात करीब 9:30 बजे जब उन्होंने मोबाइल में मकान के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया तो पाया कि मकान का ताला टूटा हुआ है। दूसरे दिन सुबह दरवाजा खुला मिला। इसके बाद उन्होंने अपने पड़ोसी राखी झा को घर जाकर देखने की बात कही, जिन्होंने आकर बताया कि घर का दरवाजा खुला है। अलमारी खुली हुई है और घर का पूरा सामान बिखरा पड़ा है।
 
 
सूचना मिलते ही भागे भागे रिटायर अफसर घर पहुंचे और जांच की तो पता चला कि अलमारी में रखें जेवर के डिब्बे बिखरे पड़े हैं। हालांकि मकान में कोई कीमती सामान तो नहीं था इसलिए चोरों के हाथ कुछ खास लगा नहीं फिर भी इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में दर्ज करा दी गई है। सीसीटीवी कैमरा लगाने और लगातार मॉनिटर करने का भी कोई खास लाभ गुप्ता परिवार को नहीं मिला। हालांकि इससे चोर जरूर कैमरे में कैद हो चुके हैं ।सीसीटीवी फुटेज में मकान में घुसते तीन लोगों का चेहरा भी नजर आ रहा है जिसमें से एक का चेहरा तो खुला हुआ भी है और बाकी दो नकाबपोश है ।सिविल लाइन पुलिस ने इसी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश शुरू कर दी है और दावा किया है कि जल्द ही डीएसपी के घर ताला तोड़कर चोरी करने वालों को पकड़ लिया जाएगा।
 बड़ी खबर: आईएएस आलोक शुक्ला की संविदा नियुक्ति के मामले में फिर रिट याचिका

बड़ी खबर: आईएएस आलोक शुक्ला की संविदा नियुक्ति के मामले में फिर रिट याचिका

बिलासपुर। आईएएस डॉ. आलोक शुक्ला की संविदा नियुक्ति का मामला फिर हाईकोर्ट में पहुँच गया है। बीजेपी नेता नरेश चंद्र गुप्ता ने सिंगल बेंच के उस फैसले को रिट अपील के जरिए चुनौती दी है, जिसमें नियुक्ति को जायज ठहराया गया था। जस्टिस गौतम भादुड़ी की सिंगल बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए पूर्व में लगाई गई याचिका को खारिज कर दिया था।
 

सिंगल बेंच के फैसले को बीजेपी नेता नरेश चंद्र गुप्ता ने रिट अपील के जरिए एक बार फिर चुनौती दी है. उनकी इस अपील को हाईकोर्ट की डबल बेंच ने सुनवाई योग्य मानते हुए स्वीकार कर लिया है. जस्टिस प्रशांत मिश्रा और गौतम चौरड़िया की डबल बेंच मामले की सुनवाई कर रही है. डबल बेंच ने इस मामले में राज्य शासन और डाॅ.आलोक शुक्ला को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. मामले की अगली सुनवाई नवंबर के आखिरी हफ्ते में होने की संभावना है. कहा गया है कि फिजिकल कोर्ट शुरू होने के बाद इस मामले की सुनवाई शुरू होगी। 
 

इससे पहले डाॅ. आलोक शुक्ला की संविदा नियुक्ति को यह कहते हुए चुनौती दी गई थी कि यह नियम विरूद्ध है. याचिका में डाॅक्टर शुक्ला को संविदा नियुक्ति पर रखे जाने की राज्य सरकार की मंशा पर सवाल उठाया गया था. याचिका में कहा गया है कि बहुचर्चित नान घोटाले में शुक्ला का नाम शामिल हैं, ऐसे में उनकी पुनःनियुक्ति असंवैधानिक है. संविदा भर्ती नियम 2013 के मुताबिक रिटायर अधिकारी के विरूद्ध यदि कोई विभागीय या अन्य तरह की जांच लंबित है, तो उस अधिकारी को पोस्ट रिटायरमेंट संविदा नियुक्ति नहीं दी जा सकती. आलोक शुक्ला नान घोटाले में चार्टशीटेड हैं. उनके खिलाफ जांच जारी है. तत्कालीन मुख्य सचिव ने भी उनके खिलाफ निलंबन की सिफारिश की थी। 
 आईजी बंगला के पास सड़क किनारे पेड़ में घुसा ट्रेलर, नशे में धुत ट्रेलर चालक पुलिस की हिरासत में

आईजी बंगला के पास सड़क किनारे पेड़ में घुसा ट्रेलर, नशे में धुत ट्रेलर चालक पुलिस की हिरासत में

बिलासपुर। शहर के सिविल लाइन क्षेत्र मे आईजी बंगला मार्ग में उस समय अफरा तफरी मच गया जब तेज गति से अनियंत्रित ट्रेलर सड़क किनारे पेड़ में जा घुसी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि ट्रेलर का ऊपर का हिस्सा छतिग्रस्त हो गया। किसी के हताहत की कोई खबर नही है। वही इस घटना के बाद मौके पर सिविल लाइन थाना की पुलिस मौके पर पहुँच गई और आरोपी वाहन चालक महावीर धुरी बैमानागोई निवासी को हिरासत में लेलिया है। वही सिविल लाइन पुलिस के थाना प्रभारी सनीप रात्रे ने बताया कि यह बेलमुंडी में माल उतार कर पेंड्रीडीह बाईपास वापस जाने के लिए शार्ट कट रास्ता अपना कर जा रहा था। और मालिक से पैसा नही मिलने के कारण वह शराब को सेवन अधिक मात्रा में कर लिया था।
 लिविंग पार्टनर की बेवफाई से नाराज प्रेमिका ने दर्ज कराई प्रेमी के खिलाफ रेप का मामला

लिविंग पार्टनर की बेवफाई से नाराज प्रेमिका ने दर्ज कराई प्रेमी के खिलाफ रेप का मामला

बिलासपुर। त्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले से एक खबर सामने आ रही है जहां पर लिविंग पार्टनर की बेवफाई से नाराज प्रेमिका ने प्रेमी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया है। पीड़ित युवती सिक्यूरिटी गार्ड के पद पर है तो वहीं आरोपी युवक रायपुर के वालमार्ट में सेल्समेन का काम कर रहा है। बेवफाई का ये किस्सा लगभग छह साल पुराना है।
 

पढ़िए पूरी खबर-
दरअसल पीड़िता जांजगीर की रहने वाली है और घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के चलते बिलासपुर के बिग बाजार में सिक्यूरिटी गार्ड के पद पर काम करती है। पीड़िता ने शिकायत में बताया था कि उसकी पहचान 2014 में बिग बाजार में सेल्समेन का कार्य करने वाले पंकज बंजारा निवासी मुंगेली से हुई थी।
 
 
पंकज ने युवती के साथ लिविंग पर रहने की बात कही और फिर दोनों 2014 से एक साथ रहने लगे। इस दौरान आरोपी ने पीड़िता को शादी का झांसा देकर उसके साथ कई बार शारिरीक संबंध भी बनाए। इसके बाद पंकज का तबादला 2019 में बिग बाजार से रायपुर के वामार्ट में हो गया। आरोपी को जब भी छुट्टी मिलती थी तब वो बिलासपुर आकर युवती के साथ रूम पर रहने लगता था।
 
 
एक दिन पीड़िता को जानकारी मिली कि पंकज ने उसे धोका देकर 27 जून को किसी दूसरी लड़की के साथ शादी कर ली है। तब इस बात को लेकर दोनों में जमकर विवाद भी हुआ था। पीड़िता जब गर्भवती हुई तो उसे बदनाम करने की धमकी देकर जबरन उसका गर्भपात करा लिया। इसके बाद आरोपी पीड़िता का नंबर ब्लाक कर बात करना और मिलना जुलना भी बंद कर दिया था, जिसके बाद इस बात से दुखी युवती ने बिलासपुर के सिविल लाईन थाने में आरोपी युवक पंकज बंजारा के खिलाफ 376 के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। फिलहाल शिकायत के बाद से ही आरोपी फरार है, जिसकी तलाश पुलिस कर रही है।
 बड़ी खबर: बैंक से रुपयें निकाल कर घर जा रहे व्यक्ति से हजारों रुपयों की लूट, तीन अज्ञात बाईक सवारों ने दिया घटना को अंजाम

बड़ी खबर: बैंक से रुपयें निकाल कर घर जा रहे व्यक्ति से हजारों रुपयों की लूट, तीन अज्ञात बाईक सवारों ने दिया घटना को अंजाम

बिलासपुर। नकाबपोश बाईक सवार महाविद्यालय तखतपूर के रिटायर्ड प्रयोगशाला तकनिशियन से 60 हजार रुपयें लूट कर फरार हो गए। घटना की रिपोर्ट तखतपुर थाने में दर्ज की गई है। 
 
 
मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर जिले के तखतपुर वार्ड क्रमांक 12 गजेन्द्र नगर निवासी अब्बास हिरानी आयु 63 वर्ष से आज सुबह 11 बजे थैला में रखे तीन अज्ञात सीडी डिलक्स में सवार बाईक सवार 60 हजार रुपयें हजार लूटकर फरार हो गए। तीनों आरोपी अपने चेहरे पर लाल व सफेद गमछा बांधे हुये थे व सफेद चेकदार शर्ट एवं नीला जिंस पहना हुआ था।
 
 
प्रार्थी ने रिपोर्ट दर्ज करायी है कि वह शासकीय जे.एम.पी.महाविद्यालय तखतपुर से सेवा निवृत हुआ,आज सुबह चेकबुक व पासबुक लेकर पैसा निकालने एसबीआई बैंक तखतपुर गया था, 60 हजार रुपयें निकालकर वापस आ रहा था तभी जेएमपी कॉलेज के सामने मेन रोड तखपुर के पास अज्ञात बाईक सवार थैला में रखे चेकबुक व पासबुक एवं रुपयें थैला सहित लूटकर मुंगेली रोड की तरफ फरार हो गये। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात बाईक सवार लूटेरों के खिलाफ धारा 392,34 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 
+ Load More