• -

COVID-19 :

Confirmed :

Recovered :

Deaths :

Maharashtra / 230599 Tamil Nadu / 122350 Delhi / 104864 Gujarat / 38419 Uttar Pradesh / 31156 Karnataka / 28877 Telangana / 29536 West Bengal / 24823 Andhra Pradesh / 23814 Rajasthan / 22212 Haryana / 19364 Madhya Pradesh / 16341 Assam / 14033 Bihar / 13978 Odisha / 11201 Jammu and Kashmir / 9261 Punjab / 7140 Kerala / 6535 State Unassigned / 4385 Chhattisgarh / 3526 Uttarakhand / 3305 Jharkhand / 3192 Goa / 2039 Tripura / 1773 Manipur / 1435 Puducherry / 1200 Himachal Pradesh / 1101 Ladakh / 1055 Nagaland / 673 Chandigarh / 523 Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu / 456 Arunachal Pradesh / 287 Mizoram / 203 Andaman and Nicobar Islands / 151 Sikkim / 134 Meghalaya / 113 Lakshadweep / 0

   BIG BREAKING : रायपुर में मिले 52 नए कोरोना संक्रमित मरीज, डीकेएस हॉस्पिटल के 8 स्टाफ निकले कोरोना संक्रमित    |    त्वरित कार्रवाई से पुलिस के प्रति जनता में बढ़ता है विश्वास : श्री अवस्थी : रायगढ़ और बलौदाबाजार के पुलिसकर्मियों को डीजीपी ने इंद्रधनुष सम्मान से किया सम्मानित    |    BIG NEWS : राजधानी के एक बंद पड़े कंपनी में डकैती करने जा रहे युवकों को मुखबिरी पर पुलिस ने किया गिरफ्तार    |    सावधान: अब एक बार से ज्यादा कोरोना की जांच करवाने वालो पर होगी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर    |    हिरासत में पिता-पुत्र की मौत मामले में पांच और पुलिसकर्मी गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: एक और फिल्म अभिनेता ने दुनिया को कहा अलविदा-जगदीप    |    बड़ी खबर: कानपुर गोलीकांड के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर    |    कोरोना बुलेटिन : प्रदेश में आज 65 नए कोरोना संक्रमित मिले, रायपुर से मिले 13 देखे किन किन जिलो से है    |    प्रदेश में मिले 14 नए कोरोना संक्रमित मरीज, देखे किन जिलो से है    |    बड़ी खबर: राजधानी के हाउसिंग बोर्ड कालोनी में चाकू बाजी करने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर    |
लोक सेवा गारंटी के तहत् समय सीमा में सेवायें प्रदान करने में अग्रणी है जिला

लोक सेवा गारंटी के तहत् समय सीमा में सेवायें प्रदान करने में अग्रणी है जिला

बिलासपुरलोक सेवा गारंटी अधिनियम के अंतर्गत सेवायें प्रदान करने में बिलासपुर जिला प्रदेश में अग्रणी है। जिले में लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से प्राप्त आवेदनों के निराकरण तय समय सीमा में हो रहे है।
    राज्य शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं में शामिल लोक सेवा गारंटी के तहत् विभिन्न विभागों की सेवायें प्रदान करने के लिए समय सीमा निर्धारित है। जिले में योजना की शुरूवात से अब तक 6 लाख 68 हजार से अधिक आवेदन प्राप्त हुये हैं। जिनमें से 6 लाख 10 हजार से अधिक आवेदन अनुमोदित किये गये। लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से बिलासपुर नगर निगम में सर्वाधिक 93 हजार 405 आवेदनों का निराकरण किया गया। बिलासपुर तहसील में 89 हजार 143 आवेदन, मस्तूरी तहसील में 69 हजार 521 आवेदन, बिल्हा तहसील में 59 हजार 177 आवेदन, तखतपुर 52 हजार 243 आवेदन, बिलासपुर कलेक्टरेट में 42 हजार 748 आवेदन, कोटा तहसील में 93 हजार 634 आवेदन, रतनपुर उप तहसील में 30 हजार 452, सीपत उप तहसील में 26 हजार 101 आवेदन, सकरी उप तहसील में 24 हजार 649 आवेदन, गनियारी उप तहसील में 22 हजार 90 आवेदन, बेलगहना में 20 हजार 715 आवेदन समय सीमा में निराकृत किये गये है। इसी तरह अन्य नगरीय निकाय एवं जनपद पंचायतों में लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से आवेदन लेकर समय सीमा के भीतर उनका निराकरण किया गया है।

दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार युवक निकला कोरोना पॉजिटिव, सिविल लाइन थाना सील

दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार युवक निकला कोरोना पॉजिटिव, सिविल लाइन थाना सील

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में दो थाना कोरोना संक्रमितों के पाये जाने के बाद सील किया गया है। जिसमें से पहला मामला मस्तुरी क्षेत्र के पचपेढ़ी थाना को सील किया गया था। वो वहीं अब शहर के ही सिविल लाइन थाना को सील किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी युवक कर्नाटका के मैसूर का रहने वाला है। वह बिलासपुर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में दुष्कर्म के आरोप से वंछित था जिसे चार जुलाई को गिरफ्तार कर पुलिस की टीम थाने लाई थी। गिरफ्तार युवक का कोरोना टेस्ट कराया गया जिसमें वह पाजीटिव निकला। गिरफ्तार युवक के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद प्रशासन के हाथ पांव फूल गये। थाना प्रभारी ने तत्काल एक अधिकारी और दो आरक्षकों की कोरोना टेस्ट कराकर संक्रमण न फैल जाने के चलते थाने को पुरी तरह सील करवा दिया। 

पीडीएस चावल की हेराफेरी का मामला में रतनपुर नगर पालिका अध्यक्ष समेत 3 के खिलाफ एफआईआर

पीडीएस चावल की हेराफेरी का मामला में रतनपुर नगर पालिका अध्यक्ष समेत 3 के खिलाफ एफआईआर

बिलासपुर। कोर पीडीएस के चावल की बंदरबांट के मामले में रतनपुर नगर पालिका अध्यक्ष घनश्याम रात्रे समेत तीन लोगों के खिलाफ  रतनपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराया गया है, पुलिस तीनों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर जांच कर रही है।


मिली जानकारी के अनुसार पूर्व में नगर पालिका रतनपुर कार्यालय में 72 बोरी पीडीएस का चावल मिलने की शिकायत जिला प्रशासन से की गई। जिसमें तत्कालीन जिला कलेक्टर सारांश मित्तर के निर्देश पर चार सदस्यीय जांच समिति गठित की गई। उक्त जांच दल नायब तहतीलदार रतनपुर, सहायक खाद्य अधिकारी कोटा एवं सहकारिता विस्तार अधिकारी कोटा द्वारा कार्यालय अतिरिक्त तहसीलदार रतनपुर शामिल थे। जिन्होने नगर पालिका अध्यक्ष घनश्याम रात्रे के द्वारा नगर पालिका के कार्यालय में नगर पालिका अध्यक्ष रतनपुर के कमरे में तथा नगर पालिका परिसर में सार्वजनिक वितरण प्रणाली का चावल अवैध रूप से रखना पाया है। वही उनका साथ देने वाले दुर्गावती स्वसहायता समुह के संचालक राजेन्द्र महावर और महामाया उपभोक्ता भंडार के संचालक जतिन महावर को जिम्मेदार होना पाया है। जिसके आधार पर रतनपुर थाना में तीनों के खिलाफ रविवार को छत्तीसगढ सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंत्रण आदेश 2016 का उल्लंघन करना एवं आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत अपराध करना पाये जाने से धारा 3, 7 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।
 
जिला प्रशासन के निर्देश पर गठित जांच में नगर पालिका परिषद रतनपुर के सीएमओ द्वारा 14 जून को जारी खरीदी पत्रक में लिपिकीय त्रुटि पाया गया है। जो कि नगर पालिका अध्यक्ष घनश्याम रात्रे के इशारों पर किया गया है। इसके अलावा जांच के दौरान पीडीएस दुकान रानी दुर्गावती स्वसहायता समूह के संचालक राजेन्द्र महावर और महामाया उपभोक्ता भंडार रतनपुर के संचालक जितिन महावर द्वारा पीडीएस के चावल को अधिक राशि मे बेचने की पुष्टि हुई है। विभागीय जांच में पीडीएस दुकान रानी दुर्गावती स्वसहायता समूह के भौतिक सत्यापन में 9.15 क्विंटल चावल कम होना पाया गया है। इन सब कार्यो के मुख्य सूत्रधार नगर पालिका अध्यक्ष घनश्याम रात्रे के कार्यालय से 67 प्लास्टिक बोरी सहित सिलाई मशीन मिली है।
महाधिवक्ता कार्यालय कंटेनमेंट जोन घोषित, एक व्यक्ति मिला था कोरोना संक्रमित

महाधिवक्ता कार्यालय कंटेनमेंट जोन घोषित, एक व्यक्ति मिला था कोरोना संक्रमित

बिलासपुर। लॉकडाउन खुलने के बाद छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सरकारी कार्यालयों में भी कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। इसी क्रम में बिलासपुर स्थित महाअधिवक्ता कार्यालय का एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। कर्मचारी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हाईकोर्ट का महाअधिवक्ता कार्यालय एक हफ्ते के लिए बंद कर दिया गया है। महाअधिवक्ता कार्यालय को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है।

महाअधिवक्ता कार्यालय के सभी कर्मचारियों को ए होम क्वॉरंटाइन रहने के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि शनिवार को जिले में 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं।
बड़ी खबर: जिला सहकारी बैंक की महिला ब्रांच मैनेजर सस्पेंड, गबन का हैं आरोप

बड़ी खबर: जिला सहकारी बैंक की महिला ब्रांच मैनेजर सस्पेंड, गबन का हैं आरोप

बिलासपुर। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की महिला ब्रांच मैनेजर को बैंक खाते से रकम गबन करने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। सीईओ श्रीकांत चंद्राकर ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की महिला ब्रांच मैनेजर को प्रथम दृष्टया दोषी पाते हुए निलंबित किया है। जिस बैंक में महिला कर्मचारी कार्यरत है, इस शाखा में 4 खातेदारों के बचत खाते से राशि गायब होने पर ये कार्रवाई की गई है। खातों से तकरीबन करीब 8 लाख रुपये खाते पार कर दिए गए हैं।

बड़ी खबर: शहर की महिला डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लेकर की खुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

बड़ी खबर: शहर की महिला डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लेकर की खुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

बिलासपुर। शहर के प्रसिद्व डॉक्टर डॉ.चंद्रशेखर रहालकर की धर्मपत्नी डॉ.अलका रहालकर ने सुसाइड कर लिया है। उनके पास एक सुसाइड लेटर बरामद हुआ है, पुलिस मामले की जांच में जुटी है।बताया जा रहा है, कि उन्होंने जहर का इंजेक्शन लेकर सुसाइड किया है। वे बीते कई दिनों से डिप्रेशन में थी, डॉ अलका एनेस्थीसिया की डॉक्टर थी। जो यहाँ अपने पति के साथ रहती थी, बेटा उनका बाहर रहता है। सिविल लाइन थान प्रभारी सुरेंद्र स्वर्णकार ने बताया कि डॉक्टर अलका ने अपने बेडरूम में देर रात आत्महत्या की है। मौत हाई डोज एनेस्थीसिया डोज से हुआ है। उन्होंने स्वयं इंजेक्शन लगाया है। थाना प्रभारी ने जानकारी दी कि डॉक्टर अलका ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि जीवन से पूरी तरह संतुष्ट हूं। होश हवास में आत्महत्या कर रही हूँ। इसके लिए कोई जिम्मेदार नही है। लेकिन डॉ अलका ने आत्महत्या का कारण नही लिखा है। थाना प्रभारी ने परिवार के हवाले बताया कि डॉक्टर अलका के पति डॉक्टर चंद्रशेखर राहलकर कैंसर के डॉक्टर है। पिछले 2 साल से हार्ट की परेशानियों गुजर रहे है। उनका इलाज अपोलो और श्रीराम अस्पताल रायपुर में छा रहा है। एक दिन पबल दोनों पति पत्नी रायपुर से इलाज के बाद घर लौटे है। कल शुक्रवार को डॉक्टर अलका ने परिवार के अपना 60 वां जन्मदिन धूमधाम से मनाया। इसके बाद परिवार के सभी अपने अपने कमरे में चले गए। फिर दोनों पति पत्नी भी अपने अपने कमरे में गए। घर के सदस्योने बताया डॉक्टर अलका ने जन्मदिन पर सिंगापुर में राह रहे बेटे को कॉल किया, लेकिन बातचीत नही हो पाई। अकेले कमरे में खुद हाई डोज एनेस्थेसिया लेकर आत्महत्या की। सुसाइड नोट में डॉ राहलकर ने लिखा है कि उनका पोस्टमार्टम नही किया जाय।

मोबाईल चोर गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार,18 नग मोबाइल बरामद

मोबाईल चोर गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार,18 नग मोबाइल बरामद

भाटापारा। पुलिस ने मोबाइल चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने गिरोह के 3 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से 18 नग मोबाइल पुलिस ने बरामद किया है। पुलिस ने आरोपियों को तब धर दबोचा जब वे मोबाइल बेचने की फिऱाक में ग्राहकों की तलाश कर रहे थे। यह घटना सिमगा ब्लॉक के ग्राम कचलोन की है, जहां ओवर ब्रिज के नीचे अरुण वर्मा पिता सुंदर लाल वर्मा उम्र 35 वर्ष ग्राम मुशी स्माइल वार्ड थाना भाटापारा शहर, महेश सांवरा पिता गुल्फी सांवरा उम्र 19 वर्ष ग्राम ओवर ब्रिज के नीचे भाटापारा और राहुल सांवरा पिता दुकालहा सांवरा उम्र 23 वर्ष को पुलिस ने मोबाइल चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है।
 मानवता हुई शर्मसार: दो हैवानो ने बनाया 7 साल की नाबालिग बच्ची को अपने हवस का शिकार

मानवता हुई शर्मसार: दो हैवानो ने बनाया 7 साल की नाबालिग बच्ची को अपने हवस का शिकार

पेंड्रा। छत्तीसगढ़ के पेंड्रा से एक शर्मसार कर देने वाली खबर सामने आई है जहां कोरोना वायरस का डर दिखाकर 7 साल की नाबालिग बच्ची से दो आरोपियों ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया है। आपको बता दे की यह घटना पेंड्रा के मगुरदा क्षेत्र की है। पुलिस दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद आगे की कार्रवाई में जुट गई है।
बड़ी खबर: क्वारंटाइन सेंटर से देवर संग भाभी फरार, मामला दर्ज

बड़ी खबर: क्वारंटाइन सेंटर से देवर संग भाभी फरार, मामला दर्ज

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के एक क्वारंटाइन सेंटर से भाभी देवर संग फरार हो जाने का मामला प्रकाश में आया है। श्रमिक का परिवार लखनऊ से बिलासपुर लौटा था।


मिली जानकारी के अनुसार मामला जिले के ग्राम सैदा शासकीय स्कूल के क्वारंटाइन सेंटर का है।इस मामले में  ग्राम पंचायत सचिव ने सकरी थाने में देवर संग भाभी की फरार होने की रिपोर्ट लिखाई है। ईधर क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था पर अब सवाल उठने लगे हैं। मामला प्रेम प्रसंग का भी बताया जा रहा है। शिकायत मिलने पर सकरी थाना पुलिस की टीम ने मामले को दर्ज कर दोनों की तलाश में जुट गई हैं।
अतिक्रमण हटाने गए निगम की टीम पर हमला, 6 गिरफ्तार

अतिक्रमण हटाने गए निगम की टीम पर हमला, 6 गिरफ्तार

बिलासपुर। निगम अमले, पुलिस बल और स्थानीय लोगों के बीच जमकर झड़प होने की खबर है। बताया जा रहा है कि अतिक्रमण हटाने पहुंची टीम और स्थानीय लोग आमने-सामने आ गये और दोनों पक्षों के बीच जमकर झूमा-झटकी हुई। इस मामले में पुलिस ने आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में ले लिया है।

यह घटना गोड़पारा की है, जहां अतिक्रमण हटाने गए निगम अमले, पुलिस बल बेजा कब्जा हटाने पहुंची हुई थी। इस दौरान प्रशासन की कार्रवाई से नाखुश स्थानीय लोग ने इसका विरोध किया और दोनों पक्षों में झड़प हो गई। बताया जा रहा है कि बेजाकब्जा हटाने पहुंची अतिक्रमण टीम पर हमला किया गया है। इसके बाद मौके पर तनाव की स्थिति निर्मित हो चुकी है।
क्वारेंटाइन सेंटर में युवक ने फांसी लगाकर की ख़ुदकुशी, मामले की जाँच में जुटी पुलिस

क्वारेंटाइन सेंटर में युवक ने फांसी लगाकर की ख़ुदकुशी, मामले की जाँच में जुटी पुलिस

भाठापारा। क्वारेंटाइन सेंटर में युवक ने फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली| पुलिस मामले की जाँच में जुटी हुई है| मिली प्राथमिकजानकारी के मुताबिक युवक परिवार समेत बीते गुरुवार शाम को ही अटरा उत्तर प्रदेश से भाटापारा आया था| सिनोधा में युवक क्वारेंटाइन था| 24 वर्षीय युवक ने कल शाम लगभग साढ़े 5 बजे फांसी लगा ली| युवक द्वारा फांसी लगाकर ख़ुदकुशी करने का कारण अज्ञात है| पुलिस मामले की विस्तृत विवेचना में जुटी हुई है।
थाने में पदस्थ एक आरक्षक हुआ कोरोना संक्रमित, पचपेड़ी थाना सील

थाने में पदस्थ एक आरक्षक हुआ कोरोना संक्रमित, पचपेड़ी थाना सील

बिलासपुर। जिले के पचपेड़ी थाना में कोरोना ने दस्तक दे दी है। थाने में पदस्थ एक आरक्षक कोरोना संक्रमित निकला है, जिसके बाद पचपेड़ी थाना भवन को कण्टेन्मेंट जोन घोषित कर सील कर दिया गया है। वहीं थाने के पूरे स्टॉफ को क्वारेण्टाइन में भेज दिया गया है। आगामी आदेश तक पचपेड़ी थाना के सभी काम मस्तूरी थाना से संचालित करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक पचपेड़ी में पदस्थ आरक्षक की ड्यूटी रायपुर मंत्रालय में लगी थी, जहां उसका कोरोना सैम्पल लिया गया था। बाद में आरक्षक ने पचपेड़ी थाना में अपनी आमद दे दी थी, इस बीच आरक्षक का कोरोना सैम्पल रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। जिसके बाद थाने को सील कर पूरे स्टॉफ  को क्वारेण्टाइन किया गया है।
कॉलगर्ल का सहारा लेकर अश्लील वीडियो बनाकर युवकों से मोटी रकम वसूल करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

कॉलगर्ल का सहारा लेकर अश्लील वीडियो बनाकर युवकों से मोटी रकम वसूल करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के जिला बिलासपुर मुख्यालय में फिल्मी स्टाईल में एक गिरोह द्वारा कालगर्ल का सहारा लेकर युवकों का अश्लील फोटो और विडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल मोटी रकम वसूली करने का मामले का पर्दाफाश हुआ है। पुलिस ने इस गिरोह के मास्टर माइंड आरोपी के अलावा दो युवती और चार सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। गिरोह का मास्टरमाइंड फर्जी डीएसपी बनकर पीडि़तों पर पैसा देने के लिए दबाव बनाया करता था।

पुलिस ने आज इस गिरोह का पर्दाफाश करते हुए मीडिया को जानकारी दी कि करीब छह महीने पहले पीडि़त युवक का एक कालगर्ल लड़की के साथ मुलाकात हुई थी। इसदौरान आरोपियों ने उसका अश्लील फोटो खीचने के साथ वीडियो बना लिया था जिसे वायरल करने के साथ बलात्कार के झूठे मामले में फंसा देने की धमकी देते हुए पैसों की मांग कर रहे थे। पीडि़त ने कुछ पैसे तो दिए लेकिन इसके बाद एक व्यक्ति जो खुद को क्राइम ब्रांच का डीएसपी बताते हुए उससे दो लाख रुपए की मांग करने लगा। उसके द्वारा बार-बार धमकी दी जाती थी, जिससे तंग आकर पीडि़त युवक ने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल से की। इस मामले की गंभीरता को देखकर एसपी ने तत्काल एएसपी शहर ओमप्रकाश शर्मा और सीएसपी सरकंडा निमिषा पांडेय के नेतृत्व में एक टीम गठित की और इस मामले का तत्काल पर्दाफाश करने के निर्देश दिए। इसके बाद टीम ने आरोपियों तक पकडऩे के लिए सायबर सेल की मदद से जाल बिछाया। टीम ने पीडि़त युवक को आरोपियों को पैसे देने के लिए साइंस कालेज के पास बुलाया। पीडि़त युवक से पैसे लेने के लिए मौके पर साइकिल पर एक व्यक्ति आया था, जिसे पुलिस ने घेराबंदी कर धर-दबोचा। पकड़ाया आरोपी ने मक्कु उर्फ मुकेश कुर्मी उर्फ मुकुल शर्मा निवासी सागर के कहने पर पैसे लेने के यहां आने की बात कहीं। पूछताछ में आरोपी ने अपने अन्य साथियों के नाम भी उजागर किए। पीडि़त के निशानदेही पर लड़की को भी घेराबंदी कर पकडऩे के साथ उसकी महिला सहयोगी को भी हिरासत में लिया गया। दोनों महिलाओं ने मुकेश कुर्मी के कहने पर लोगों को हनी ट्रेप के जरिए फंसाने की बात स्वीकार की। साथ ही सहयोगी के रूप में पुलिस आरक्षक रामकुमार खाण्डेकर की पहचान की जिसके जरिए उसके साथी पूर्व में पीसीआर वाहन में प्रायवेट चालक सूरज सारथी को पकड़ा गया। दोनों के बयान के आधार पर पुलिस मास्टरमाइंड मुकेश शर्मा को ट्रांजिट रिमांड सागर मध्यप्रदेश से लेकर बिलासपुर ला रही है। इस तरह से इस मामले में मुख्य आरोपी सागर निवासी मुकेश के अलावा सूरज सारथी, रामकुमार खाण्डेकर, कृष्णा शर्मा, आकाश कुमार निर्मलकर और दो महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है।
रतनपुर के शासकीय महामाया महाविद्यालय के क्वारंटाईन सेंटर में एक मजदूर की मौत

रतनपुर के शासकीय महामाया महाविद्यालय के क्वारंटाईन सेंटर में एक मजदूर की मौत

बिलासपुर | छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के रतनपुर में स्थित शासकीय महामाया विद्यालय के क्वारंटाईन सेंटर में एक मजदूर की मौत हो गई। मजदूर का नाम जागेश्वर यादव पिता चुन्नू यादव उम्र 55 वर्ष निवासी ग्राम मानिकचौरी, मस्तुरी बताया जा रहा है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक 13 तारीख को लखनऊ से आया था और उसे रतनपुर के ही महामाया कॉलेज क्वारंटिन सेंटर में रखा गया था। जागेश्वर की तरह महामाया क्वारंटाईन सेंटर में करीब 210 मजदूरों को भी क्वारंटाईन किया गया है। प्रवासी श्रमिक की मौत के बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। प्रशासन की टीम मजदूर की संदिग्ध मौत को देखते हुए सैंपल जांच के लिए भेजा है। जांच के बाद पता चलेगा की मृतक को कोरोना हुआ था या नहीं। 
 
बिलासपुर प्रिंटिंग एसोसिएशन ने भी अपने प्रतिष्ठानो को शाम 7 बजे तक ही खोलने का लिया निर्णय

बिलासपुर प्रिंटिंग एसोसिएशन ने भी अपने प्रतिष्ठानो को शाम 7 बजे तक ही खोलने का लिया निर्णय

बिलासपुर, कोरोना महामारी के चलते बिलासपुर प्रिंटर एसोसिएशन के अध्यक्ष रघुवीर प्रसाद केशरवानी और सचिव संदीप अग्रवाल ने संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा कि सदस्यों की प्रिंटिंग कार्य की सेवाएं सोमवार से शनिवार सुबह 9 बजे से संध्या 7 बजे तक ही उपलब्ध रहेगी तथा रविवार को पूर्णतः बंद रखा जावेगा।

आपको बता दे कुछ दिन पूर्व में सरकार द्वारा अपने प्रतिष्ठानो को सुबह 5 से रात्रि 9 बजे तक खोल सकने के आदेश जारी किया था।
इस आदेश के उलट रायपुर समेत सभी शहरों से प्रतिक्रिया सामने आ रही है और लोग स्वस्फूर्त होकर अपने दुकानों को पूर्व की भांति 7 बजे तक संचालन करने की बात कर रहे है। 

 बड़ी खबर: इंजीनियरिंग छात्रा से हुए गैंगरेप के मामले में दो वार्डबॉय हिरासत में, पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर: इंजीनियरिंग छात्रा से हुए गैंगरेप के मामले में दो वार्डबॉय हिरासत में, पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां बिलासपुर जिले के श्रीराम केयर हॉस्पिटल की आईसीयू में भर्ती इंजीनियरिंग छात्रा (20 वर्ष) से गैंगरेप के आरोप में पुलिस ने अस्पताल के दो स्टाफ को हिरासत में ले लिया है। अब से कुछ देर पहले युवती ने तहसीलदार तुलसी मंजरी साहू के सामने आरोपी वार्ड बॉय की पहचान की। 

पढ़िए पूरी खबर-
आपको बता दे की 18 मई को युवती को ज़हर सेवन के बाद गंभीर हालत में श्रीराम केयर अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। जहां उसने अपने पिता को लिख कर बताया कि उसका रात को रेप हुआ है। युवती को सुरक्षा कारणों से अपोलो दाखिल कराया गया और रेप की पुष्टि के लिए मेडिकल कराया गया। मेडिकल में रेप की पुष्टि नहीं हुई प्रक्रिया के तहत युवती को पहचान परेड के लिए बुलाया गया पर पहली बार में युवती और परिजनों ने स्वास्थ्यगत कारणों से असमर्थता जताते हुए इनकार किया और फिर आज युवती उपस्थित हुई और उसने पहचान परेड में दो की पहचान की है। दोनों वार्ड बॉय हैं।
अस्पताल से डिस्चार्ज हुए प्रवासी श्रमिक की संदिग्ध मौत, मचा हड़कंप

अस्पताल से डिस्चार्ज हुए प्रवासी श्रमिक की संदिग्ध मौत, मचा हड़कंप

बिलासपुर। जिले में एक श्रमिक की संदिग्ध स्थिति में मौत हो जाने के बाद हड़कंप मच गया। घटना जिले के तखतपुर ब्लॉक के लमेर गांव की है, जहां 41 वर्षीय श्रमिक फागूराम गोंड़ ने क्वारेंटाइन सेंटर में दम तोड़ दिया। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला में बीते 8 जून को फागूराम को क्वारेंटाइन किया गया था। फागूराम को अचानक 9 जून को तबियत बिगडऩे पर सिम्स अस्पताल में दाखिल किया गया था। सिम्स अस्पताल प्रबंधन ने 14 जून की रात मरीज को डिस्चार्ज किया था। क्वारंटाइन सेंटर पहुंचते ही श्रमिक की मौत हो गई। श्रमिक की मौत से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। प्रशासनिक अमला मौत का कारण जानने जुटा हुआ है। बताया जा रहा है श्रमिक लखनऊ से बिलासपुर लौटा है।
सिम्स अस्पताल के कविड 19 वार्ड के ओपीडी में कार्यरत स्टाफ और नर्सों ने सिम्स चिकित्सालय के संयुक्त संचालक और चिकित्सा अधीक्षक से गुहार लगाई है, जाने क्या है पूरा मामला

सिम्स अस्पताल के कविड 19 वार्ड के ओपीडी में कार्यरत स्टाफ और नर्सों ने सिम्स चिकित्सालय के संयुक्त संचालक और चिकित्सा अधीक्षक से गुहार लगाई है, जाने क्या है पूरा मामला

बिलासपुर | बिलासपुर के सिम्स अस्पताल के कविड 19 के ओपीड़ी में कार्यरत स्टाफ और नर्सों ने संयुक्त संचालक और चिकित्सा अधीक्षक को एक पत्र भेजकर कहा है कि कोविड़-19 के ओपीडी, आईपीडी और आइसोलेशन वार्ड में कार्यरत कर्मचारियों का संपर्क संदेही मरीजों से होता है | जो भी मरीज संदेही होता है उसका सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा जाता है | जब तक मरीज का पॉजिटिव नहीं पाया जाता तब तक वह कोविड-19 के नाम से बनाए गए अस्पताल में कार्यरत स्टाफ व नर्सों के संपर्क में रहता है | फिलहाल हमें सिम्स में 14 दिनों तक कार्य लिया जाता है | जानकारी के अनुसार जब 14 दिन की डयूडी पूरी हो जाती है तो नर्सों और स्टाफ को बिना आरटीपीसी आर टेस्ट के घर जाने को कह दिया जाता है | नियमानुसार संक्रमित मरीजों के संपर्क में रहने वाले अस्पताल के प्रत्येक स्टाफ व नर्स का चेकअप होना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है | नर्सों और स्टाफ ने कहा है कि अगर कोई कर्मचारी संक्रमित होता है और संक्रमण उसके परिवार में फैलता है तो उसकी जिम्मेदारी सिम्स प्रबंधन की मानी जाएगी | 

डिवाइडर से टकराई स्कुटी, महिला और पुरूष की मौके पर मौत

डिवाइडर से टकराई स्कुटी, महिला और पुरूष की मौके पर मौत

बिलासपुर। बिलासपुर रतनपुर मुख्य मार्ग के गतोरी के पास आज सड़क पर डिवाइडर से टकराकर स्कूटी दुर्घटनाग्रस्त हो गई इस घटना में मोपका निवासी तीन लोग स्कूटी में सवार होकर कहीं आसपास में जा रहे थे बताया जाता है कि इस फोटो को एक पुरुष चला रहा था साथ में एक महिला और एक छोटी बच्ची बैठी थी सभी गतोरी के पास उनका वाहन अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराई  हादसे में महिला और पुरुष की मौके पर ही मौत हो गई तो वही बच्चे गंभीर रूप से घायल हुई है जिसे उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया घटना के बाद पुलिस जांच में जुट गई है।
ट्यूशन पढ़ाने वाली महिला शिक्षिका के सम्पर्क में नही आये थे बच्चे, पुलिस ने बताया अफवाह

ट्यूशन पढ़ाने वाली महिला शिक्षिका के सम्पर्क में नही आये थे बच्चे, पुलिस ने बताया अफवाह

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर में कुछ दिनों से एक महिला शिक्षिका की कोरोना पॉजिटिव होने की खबर फैली  इस खबर में शिक्षिका द्वारा करीब 8 से 10 बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने की बात कही गई थी और दिलचस्प बात यह है कि वह महिला शिक्षिका कोरोना पॉजिटिव निकली ऐसी खबर उड़ी थी। बिलासपुर पुलिस ने ट्वीट करते हुए स्पष्ट किया है, कि 4 जून को महिला झारखंड से लौटी थी। 8 जून को उसका सैंपल रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद उसे कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन संक्रमित महिला द्वारा बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने की खबर झूठी है। बच्चों को ट्यूशन महिला नहीं, बल्कि उसकी (भतीजी) इंजीनियरिंग की छात्रा पढ़ाती थी। उसे भी एहतियातन क्वारेंनटाइन किया गया है, इतना ही नहीं 40 बच्चों को पढ़ाने वाली बात भी झूठी है, छात्रा 4 बच्चों को ट्यूशन देती थी।

महिला शिक्षिका की कोरोना पॉजिटिव होने और 1 महीने से 40 बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने की फैली अफवाह झूठी साबित हुई है। इस मामले में एसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया, कि कोरोना पॉजिटिव महिला टीचर की ट्यूशन पढ़ाने की खबर भ्रामक है। ऐसी अफवाहों से बचने की जरूरत है। बाहर से आने की ट्रेवल हिस्ट्री छुपाने पर महिला के खिलाफ सीपत थाने में एफआईआर दर्ज किया गया है। उन्होंने आम लोगों से ऐसी भ्रामक जानकारी से बचने की अपील की है।
 नकली क्राइम ब्रांच का पर्दाफास: क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर चल रहा था वसूली, एक महिला समेत 2 युवक गिरफ्तार

नकली क्राइम ब्रांच का पर्दाफास: क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर चल रहा था वसूली, एक महिला समेत 2 युवक गिरफ्तार

कोटा। छत्तीसगढ़ के रतनपुर क्षेत्र से एक खबर सामने आ रही है जहां रतनपुर क्षेत्र में एक बार फिर नकली पुलिस उगाही के लिए पहुंची, लेकिन लोगों की सतर्कता की वजह से इस बार नकली पुलिस असली पुलिस के हत्थे चढ़ गई। खुद को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर कार्यवाही करने वालों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 

पढ़िए पूरी खबर-
आपको बता दे की यह घटना गुरुवार की है, जहां रतनपुर के पास ग्राम नेवसा में स्कॉर्पियो क्र. सीजी 10 एयू 1636 में सवार होकर चालक सहित एक महिला और पुरुष पहुंचे थे, जिन्होंने खुद को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताया और धड़ाधड़ कार्यवाही शुरू कर दी। सड़क किनारे अवैध रूप से पेट्रोल बेचने वाले पर कार्यवाही करते हुए एक जरीकेन पेट्रोल जब्त कर लिया। इसी तरह एक जगह से इन लोगों ने महुआ की भी जब्ती बनाई। जो लोग बिना मास्क के घूम रहे थे उन पर भी जुर्माना कर दिया, लेकिन इसी बीच किसी ने इसकी सूचना रतनपुर और सीपत थाने में कर दी। इसके बाद रतनपुर और सीपत पुलिस ने संयुक्त घेराबंदी करते हुए महिला पुरुष और उनके चालक को धर दबोचा। शुरुआती जांच में ही पता चल गया कि यह लोग पुलिस कर्मचारी नहीं है और नकली पुलिस बनकर इस तरह से उगाही कर रहे थे। इससे पहले भी रतनपुर क्षेत्र में इसी तरह के कई मामले सामने आए हैं इस कारण से पुलिस भी सतर्क थी। फिलहाल तीनों आरोपियों को पकड़कर सीपत थाने ले जाया गया है, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है।
 किन्नर लवली वर्मा गिरफ्तार: लड़की बनकर नाबालिग लड़कों को अपने प्यार के जाल में फंसा कर करती थी ब्लैकमेलिंग

किन्नर लवली वर्मा गिरफ्तार: लड़की बनकर नाबालिग लड़कों को अपने प्यार के जाल में फंसा कर करती थी ब्लैकमेलिंग

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के सिरगिट्टी थाना क्षेत्र में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक आरोपी किन्नर द्वारा लड़की बनकर नाबालिग लड़कों को पहले अपने प्यार के जाल में फंसाती थी फिर उनका अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेलिंग कर उनसे रकम वसूला करती है। किन्नर के शिकार बने कई लड़के जहां कंगाल हो गये, वहीं एक की जान भी चले गयी। घटना का उजागर होने के बाद पुलिस ने आरोपी किन्नर को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पकड़ी गयी शातिर किन्नर का नाम लवली वर्मा (22 वर्ष) है। बताया गया कि लवली अक्सर नाबालिग लड़कों को अपना शिकार बनाती थी। लवली रात के अंधेरे में लड़की बनकर निकलती थी और जिस्म का लालच दिखाकर नाबालिग लड़कों को अपना दिवाना बनाती थी। किन्नर के असली चेहरे एवं खौफनाक इरादे से अंजान लड़के भी उसके झांसे में आ जाते थे। बस इसके बाद किन्नर उन लड़कों को अपना शिकार बनाती थी। किन्नर ब्लैकमेल करने के लिए लड़कों का अश्लील विडियो बनाती थी। संबंध बनाने के दौरान राज खुलने के बाद लड़के को मालूम पड़ता था कि वो किसी साजिश का शिकार हो गये है। किन्नर के इस घिघौने अपराध का खुलासा तब हुआ जब एक नाबालिग लड़के के परिजनों ने उसके खिलाफ ब्लैकमेलिंग और उकसाकर शारीरिक संबंध बनाने की शिकायत दर्ज करायी। शिकायत में बताया गया कि लवली ने नाबालिग को अपने प्रेम जाल में फसाया और फिर उसके साथ संबंध बनाते हुये अश्लील वीडियों बना ली। साथ ही किन्नर ने नाबालिग को अश्लील वीडियों वायरल करने की धमकी देकर उससे पैसों की डिमांड की। 

परिजनों की शिकायत के बाद जब आरोपी किन्नर को सिरगिटटी पुलिस ने गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की तो कई चौकाने वाले खुलासे सामने आये। किन्नर ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसने तोरवा क्षेत्र के एक नाबालिग को भी अपने प्रेमजाल में फंसाकर 9 मई को उसका अश£ील वीडियो बनाया था जिसे उसने कई वाट्सप ग्रुप में वायरल किया था। जब इस बात की जानकारी नाबालिग को हुई तो उसने लोकलाज के भय से आत्महत्या कर ली थी। इसी तरह किन्नर ने कई लड़कों से काफी रकम ब्लैकमेलिंग कर वसूल चुकी थी। पुलिस किन्नर के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर आगे की कार्यवाही कर रही है।
 पार्टनर बनाने और नौकरी लगाने के नाम पर तीन व्यापारियों से लाखो की धोखाधड़ी, पढ़े पूरी खबर

पार्टनर बनाने और नौकरी लगाने के नाम पर तीन व्यापारियों से लाखो की धोखाधड़ी, पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले से कृषि विज्ञान केंद्र व सहायता समूह में पार्टनर बनाने और नौकरी लगाने का झांसा देकर तीन व्यापारियों से साढ़े दस लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले में धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है। 

पढ़िए पूरी खबर-
टिकरापारा स्थित विनायक अपार्टमेंट निवासी गुरमीत सिंह पिता महेंद्र सिंह, नेचर सिटी निवासी कृष्ण कुमार बघेल पिता वेदप्रकाश व चांटीडीह निवासी नंद कुमार साहू की मुलाकात 2017-18 में सरकंडा क्षेत्र के मोपका स्थित विवेकानंद कॉलोनी निवासी तरुनी सारथी से हुई। उसने खुद को हंसवाहिनी महिला मंडल स्व. सहायता समूह की संचालिका बताया और तीनों व्यवसायियों को साथ में बतौर पार्टनर काम करके सूमह के माध्यम से लाभ कमाने की बात कही। इसके साथ ही महिला ने उन्हें कृषि विज्ञान केंद्र में पार्टनरशिप व नौकरी दिलाने का झांसा दिया। महिला ने दावा किया कि उसके बड़े-बड़े अफसरों से भी जान पहचान है। तीनों व्यापारी उसकी बातों में आ गए। उन्होंने महिला के ऑफर को स्वीकार कर लिया। फिर तीनों ने मिलकर करीब 11 लाख रुपये जुटाए और महिला को दे दिए। लेकिन उन्हें न तो पार्टनरशिप व उसका लाभ मिला और न ही महिला ने रकम वापस की। इधर महिला लगातार उन्हें झांसा देकर गुमराह करती रही। करीब डेढ़ साल तक चक्कर काटने के बाद महिला टालमटोल करने लगी। आखिरकार परेशान होकर उन्होंने इस मामले की शिकायत पुलिस से की। कोतवाली पुलिस ने आरोपित महिला तरुनी सारथी के खिलाफ धारा 120(बी) और 420 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।
 श्री रामकेयर गैंगरेप: पीडि़ता का मजेस्ट्रीयल बयान दर्ज, रेप की हुई पुष्टि

श्री रामकेयर गैंगरेप: पीडि़ता का मजेस्ट्रीयल बयान दर्ज, रेप की हुई पुष्टि

बिलासपुर। श्रीराम केयर गैंगरेप काण्ड की पीडि़ता का अपोलो हॉस्पिटल में मजिस्ट्रियल बयान दर्ज किया गया। पीडि़ता ने अपने बयान में रेप की पुष्टि की है, बयान की कापी बन्द लिफाफे में सिविल लाइन थानेदार को सौंप दी गयी है, वहीं पीडि़ता के बयान के बाद परिजनों ने लगाए गए आरोप को सही बताया। आज आरोपियों की शिनाख्त परेड होगी

मालूम हो, कि करीब दो सप्ताह पहले शहर से लगे ग्रामीण क्षेत्र की एक युवती को 18 मई को गंभीर हालत में श्रीरामकेयर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया, दो दिन बाद उसकी हालत में सुधार देखने को मिला, लेकिन 22 मई को लड़की की हालत खराब हो गयी, इस बीच होश आते ही उसने इशारे से अपने पिता माता को बताया कि उसके साथ रेप हुआ है। एक कागज में लिखकर बताया कि 21 की रात को अस्पताल के दो वार्ड व्याय ने रेप किया है,युवती ने अपनी मां के हाथ में भी लिखकर रेप की जानकारी दी।
 
पीडि़ता की तबियत थोड़ी ठीक होने पर आज दोपहर लड़की का बयान लेने नायब तहसीलदार अपोलो हॉस्पिटल पहुंची। पीडि़ता ने अपने बयान में बताया, कि 21 की रात्रि को श्रीराम केयर के दो वार्ड ब्वाय ने रेप किया है। मजिस्ट्रेट ने लड़की के बयान दर्ज कर इसकी जानकारी सिविल लाइन टीआई को दी है।
 छत्तीसगढ़ के इस जिले में शनिवार और रविवार को टोटल लॉकडाउन, पढ़े पूरी खबर

छत्तीसगढ़ के इस जिले में शनिवार और रविवार को टोटल लॉकडाउन, पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना के आकड़े में एक दम से उछाल आया है। जिसके बाद न्यायधानी बिलासपुर में आज शनिवार और रविवार को टोटल लॉकडाउन रखा गया है। बिलासपुर के रेड जोन में शामिल होने के बाद यहां दो दिन टोटल लॉकडाउन के आदेश दिए गए हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर प्रशासन ने ये फैसला लिया है। टोटल लॉकडाउन के दौरान तय समय मेें आवश्यक दुकानों को खोलने के लिए छूट दी गई है। आपको बता दे की छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामले ने शुक्रवार को हैरान कर दिया। यहां शुक्रवार को प्रदेश में सर्वाधित 129 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई है।
 
+ Load More