बड़ी खबर : इस BJP सांसद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने क्या है मामला...    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 203 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, देखे जिलेवार आकड़े    |    बड़ी खबर : जेल में बैरक की दीवार ढही, 22 कैदी गंभीर रूप से घायल    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज एक्टिव मरीजो की संख्या हुई 2 हजार से कम, 243 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: पान मसाला कंपनी पर आयकर का शिकंजा, 400 करोड़ रुपए के काले कारोबार का हुआ खुलासा    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, आकडों में आज रायपुर से मिले सर्वाधिक    |    जज की संदिग्ध मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से एक हफ्ते में मांगा जवाब    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज मिले सिर्फ इतने ही मरीज, 270 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, नही हुई किसी की मृत्यु, देखें जिलेवार आंकड़े    |    पोर्नोग्राफी केस: शिल्पा शेट्टी ने बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर की 29 मीडिया कर्मियों और मीडिया घरानों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा    |
जिले को वैक्सीनेशन के लिए 8000 डोज हुए प्राप्त, 18 को 305 टीका केन्द्र में लगाए जाएंगे टीके

जिले को वैक्सीनेशन के लिए 8000 डोज हुए प्राप्त, 18 को 305 टीका केन्द्र में लगाए जाएंगे टीके

जशपुरनगर: कलेक्टर कावरे के निर्देशन में 18 से 44 वर्ष के सभी वर्ग व 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिले के लोगों को शत् प्रतिशत टीकाकरण के लिए कुल 305 टीका केन्द्र बनाए गए है, जिसके अंतर्गत जिला चिकित्सालय, समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केन्द्र सहित अन्य टीका केंद्र शामिल है। जहां लोगों को प्राथमिकता से टीका लगाया जा रहा है। कलेक्टर कावरे ने बताया कि जिले को टीकाकरण के लिए कोविशिल्ड की कुल 8000 डोज प्राप्त हुई है। कल से सभी 305 केंद्रों में टीका लगाया जाएगा। कलेक्टर कावरे ने जिले के सभी पात्र लोगों से अपील की है, कि वे टीका केंद्र में जाकर अनिवार्य रूप से टीका लगवाकर कोरोना संक्रमण को रोकने में शासन की सहयोग करें।

 डेढ़ साल तक पति-पत्नी बनकर रह रहे थे दो युवक, एक ने दिया धोखा तो दूसरे ने लगाया अप्राकृतिक सेक्स का आरोप...

डेढ़ साल तक पति-पत्नी बनकर रह रहे थे दो युवक, एक ने दिया धोखा तो दूसरे ने लगाया अप्राकृतिक सेक्स का आरोप...

जशपुर। जिले में अजब प्रेम की गजब कहानी का मामला सामने आया है। यहां एक युवक ने दूसरे युवक पर शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया है। दरअसल, दोनों लड़के एक दूसरे से प्रेम करते थे। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली। लेकिन शादी के डेढ़ साल बाद दोनों अलग हो गए। वहीं, अब पत्नी के रुप में रह चुके युवक ने दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। इसके बाद पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। मामला जिले के कुनकुरी थाना क्षेत्र का है।

युवक का आरोप है कि नारायणपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला 22 साल का सत्यनारायण यादव 2018 में स्कूल में उसके साथ पढ़ता था। इसी दौरान दोनों एक दूसरे के दोस्त बन गए। इसके बाद उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। आरोपी सत्यनारायण जुलाई में उसे अपने घर ले गया। सत्यनारायण ने 2019 में उससे शादी कर ली। वह पीड़ित को हमेशा पत्नी की तरह रखता था। वो उसे हमेशा महिलाओं के कपड़े पहनने को कहता था। एक पत्नी की तरह ही घर के पूरे काम-काज कराता था। सत्यनारायण पीड़ित को घर से बाहर भी निकलने नहीं देता था।

पीड़ित ने बताया कि सत्यनारायण ने उसे जान से मारने की धमकी भी दी। घर से भागने पर तंत्र-मंत्र कर उसे खत्म कर देने की बात भी कही। इस डर से पीड़ित ने उसकी पत्नी के रुप में रहना शुरू कर दिया। लेकिन, अप्रैल 2021 में युवक मौका मिलते ही घर से किसी तरह भाग गया।

पीड़ित ने बताया कि वह घर पंहुचने के बाद भी तंत्र-मंत्र की बात से डरा हुआ था। घर में रहते हुए तीन महीने बीत जाने के बाद भी जब युवक को कुछ नहीं हुआ तो उसे तंत्र मंत्र की बात झूठी लगी। इसके बाद पीड़ित ने कुनकुरी थाने में सत्यनारायण के खिलाफ केस दर्ज करा दिया। पुलिस सत्यनारायण के खिलाफ धारा 377 का मामला दर्ज कर लिया है।

कुनकुरी टीआई भास्कर शर्मा ने बताया कि युवक ने अप्राकृतिक कृत्य करने के संबंध में रिपोर्ट दर्ज कराई है। सत्यनारायण के खिलाफ धारा 377 का मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले में जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
 छत्तीसगढ़ में बड़ा हादसा: आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 4 बच्चों की मौत

छत्तीसगढ़ में बड़ा हादसा: आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 4 बच्चों की मौत

जशपुर। छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में बारिश हो रही है। जिसके चलते कई जिलों में जनजीवन प्रभावित हुआ है। इस बीच आकाशीय बिजली गिरने की भी घटनाएं हो रही है। इधर जशपुर जिले में आकाशीय बिजली गिरने से चार बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई।

गोताखोरों की टीम ने दो लड़कियों समेत दो लड़कों का शव बरामद किया है। एक ही गांव दो अलग-अलग घटनाओं में चार मासूमों की मौत से गांव में मातम पसर गया है। बताया जा रहा है कि बेलसोंगा गांव में घर के पास खेल रहे दो बच्चे आकाशीय बिजली की चपेट में आ गए। मौके पर दोनों की मौत हो गई।

दूसरी घटना बेलसोंगा गांव के डेम के पास हुआ है। डेम में नहाते समय आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो बच्चों की मौत हो गई। बताया जा रहा ​है कि सोमवार को चार बच्चे डेम में उतरे थे। वहीं आकशीय बिजली गिरने से दो की मौत हो गई। आज सुबह सुबह गोताखोरों ने डेम से दो और शव निकाले।

मौसम विभाग प्रदेश के सभी जिलों में आकाशी बिजली गिरने की संभावना जताते हुए अलर्ट जारी किया था। लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की चेतावनी जारी की थी। प्रदेश के गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद, बालोद, बस्तर कोण्डागांव और नारायणपुर जिलों में बिजली गिरने का सबसे ज्यादा खतरा बताया था। लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की चेतावनी जारी की है।
 बड़ा हादसा: बरातियों से भरी पिकअप वाहन पलटने से मौके पर दो लोगों की मौत, कई घायल

बड़ा हादसा: बरातियों से भरी पिकअप वाहन पलटने से मौके पर दो लोगों की मौत, कई घायल

जशपुर: जशपुर जिले के सन्ना थाना क्षेत्र से बड़ी खबर आ रही है यहां बाराती से भरी पिकअप वाहन पलट गई। दुर्घटना में मौके पर ही दो लोगों की मौत हो गई। वहीं कई लोग घायल बताए जा रहे हैं। पिकअप वाहन में बड़ी संख्या में बच्चे भी सवार थे और बच्चों को भी घटना में चोट आई है। वही बताया जा रहा है कि कई घायलों की स्थिति गंभीर है और मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है।

पढ़िए पूरी खबर-
सन्ना थाना के ग्राम फुलझर में गुरूवार की रात 9 बजे बाराती से भरे एक पिकअप वाहन पलटने से घटना स्थल पर दो लोगों की मौत कई लोग घायल बताया जा रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक गुरूवार की सुबह सन्ना थाना क्षेत्र के ग्राम खखरा से बारात लेकर एक पिकप वाहन ग्राम फुलझर आई थी।

वहीं शादी के बाद वापस लौट रहे बाराती से भरी पिकअप वाहन ड्राईवर की लापरवाही से ग्राम फुलझर के समीप पलट गई, जिसमें घटना स्थल पर ही दो लोगों की मौत हो गई। पिकअप में सवार कई लोगों को गंभीर चोटें आई है जिसे इलाज के लिए सन्ना प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र भेजा गया है।

वहीं घटना की सुचना मिलने पर सन्ना पुलिस घटना स्थल पहुंच गई है। घायलों का इलाज किया जा रहा है, वहीं दोनों परिवारों सहित गांव के लोग सदमे में है। उल्लेखनीय है की जसपुर जिले में पिकअप वाहन से कई बार दुर्घटना हुई है और अधिकांश घटना में बारात लेकर लोग जा रहे थे। बड़ी दुर्घटनाओं के बावजूद लोग सबक नहीं ले रहे हैं और पिकअप वाहन का उपयोग को ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए कर रहे हैं, जिसका परिणाम यह दुर्घटना भी है। बहरहाल पुलिस मामले में कार्रवाई भी कर रही है और घायलों को मदद पहुंचाई जा रही है।
 
अत्यावश्क सेवा को छोड़कर इस जिले में रविवार को रहेगा पूर्ण लॉकडाउन

अत्यावश्क सेवा को छोड़कर इस जिले में रविवार को रहेगा पूर्ण लॉकडाउन

जशपुरनगर: कलेक्टर महादेव कावरे ने जशपुर जिले में कोरोना वायरस संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए रविवार 27 जून को पूर्ण रूप से बंद रखे जाने की निर्देशित किया है। उन्होंने कहा है कि अत्यावश्यक सेवाओं के अतिरिक्त अन्य दुकानें बंद रहेंगें। कलेक्टर ने सभी नागरिकों से अपील की है की सभी लॉकडाउन के नियमों का पालन करें। 

इस जिले को 15 जून से आगामी आदेश तक किया गया कंटेनमेंट जोन घोषित, जाने इस दौरान किन्हें मिलेगी छुट

इस जिले को 15 जून से आगामी आदेश तक किया गया कंटेनमेंट जोन घोषित, जाने इस दौरान किन्हें मिलेगी छुट

जशपुरनगर। छत्तीसगढ़ शासन व भारत सरकार की ओर से जारी गाईडलाईन अनुसार कोरोना (कोविड-19) नियंत्रण के संबंध में कलेक्टर महादेव कावरे ने जिले को आगामी आदेश तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में कमी होने के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों से भी पॉजिटिव प्रकरण आ रहे हैं। इन उत्पन्न परिस्थितियों के अनुक्रम में जिला जशपुर में सार्वजनिक आवागमन और अन्य गतिविधियों पर कड़े प्रतिबंध अधिरोपित किया जाना आवश्यक हो गया है।
आम जनता के लिए आवश्यक वस्तुओं व सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ-साथ श्रमिकों और निम्न आय वर्ग छोटे-बड़े व्यवसायिकगण की हितों के सुरक्षा के जिउ निर्बधनों में समुचित रियायत भी दिया जाना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि उक्त परिस्थितियों में समुचित विचारोपरान्त कोरोना वायरस की चैन को तोडऩे तथा सभी वर्गो के के हितों की सुरक्षा के लिए युक्तियुक्त पुनरीक्षित निर्बधन अधिरोपित करते हुए सम्पूर्ण जशपुर जिले में कंटेनमेंट जोन की अवधि बढ़ाया जाना आवश्यक है।
कलेक्टर महादेव कावरे ने जारी आदेश में जशपुर जिला अन्तर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को 15 जून 2021 सुबह 6 बजे से आगामी आदेष तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। जारी आदेश के अनुसार इस अवधि में जशपुर जिले की सभी सीमाएॅ सील रहेगी। सभी प्रकार के सभा, जुलूस, धरना, प्रदर्शन, सामाजिक, धार्मिक और राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। स्वीमिंग पूल, सिनेमा हॉल पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। साप्ताहिक बाजार बन्द रहेंगे। सभी पार्क, रिसोर्ट तथा समूह उपस्थिति वाले सभी धार्मिक स्थल, सांस्कृतिक और पर्यटन स्थल इत्यादि आम जनता के लिए पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। स्कूल व कॉलेज विद्यार्थियों के लिए बंद रहेंगे। छात्रावास में केवल परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को निवास की अनुमति होगी। शासन से अनुमति प्राप्त समस्त परीक्षाओं को छोड़कर कोचिंग क्लासेस सहित अन्य समस्त शैक्षणिक गतिविधियॉ बंद रहेगी। देशी-विदेशी मदिरा की फुटकर दुकानों को नगद विक्रय की अनुमति सुबह 6:00 बजे से शाम 8:00 बजे तक होगी।
कोविड-19 के समस्त मापदंड यथा मास्क, सोशल डिस्टेंस, सेनेटाईजर का पालन करना होगा। कोविड-19 के मापदंड का पालन करते हुए 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ सभी कार्यालय खुलेंगे। टेलीकॉम, खाद्य सामग्री के थोक परिवहन, धान मिलिंग के लिए परिवहन की अनुमति पूर्ववत रहेगी। दशगात्र के लिए 20 व्यक्तियों तथा वैवाहिक अनुमति कार्यक्रम में शामिल होने वाले 50 व्यक्तियों को कोविड-19 का नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट (72 घंटा अर्थात 03 दिवस) रखना अनिवार्य होगा तथा समय-समय पर हाथ धोना, सेनेटाईजर करना भी अनिवार्य होगा। कार्यक्रम के लिए नियमानुसार जिला दंडाधिकारी अथवा अनुविभागीय दंडाधिकारियों से लिखित अनुमति प्राप्त करना होगा। मृतक के अंतिम संस्कार के लिए अधिकतम 10 व्यक्तियों के लिए अनुमति होगी। आवश्यक वस्तुओं, माल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए गोडाऊन, मंडियों में थोक माल, कार्गो, फल, सब्जी लोडिंग, अन-लोडिंग की अनुमति रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक रहेगी। हॉटल व रेस्टोरेंट्स कोविड-19 निर्देशों का पालन करते हुए खोले जाएंगे, लेकिन खुद के रूके ग्राहक को छोड़कर हॉटल और रेस्टोरेंट्स में बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी। पार्सल, टेक-अवे, होम डिलीवरी का समय रात 10:00 बजे तक रहेगा।
कोविड मापदंड को पालन करते हुए जीम खोलने की अनुमति होगी। लोक सेवा केन्द्र, च्वाईस सेंटर और 6:00 बजे तक खोले जाएंगे, किन्तु मास्क तथा फिजिकल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन कराना अनिवार्य होगा। उल्लंघन की दशा में अर्थदण्ड के साथ-साथ केन्द्र की आई.डी. निलंबित की जाएगी। कृषि क्षेत्र में बीज, उर्वरक, कीटनाशक विक्रय के लिए दुकान, गोडाऊन तथा कृषि मशीनरी के विक्रय, मरम्मत के लिए दुकानों को रात 8:00 बजे तक खुलने की अनुमति होगी। उपरोक्त कृषि सामग्री के परिवहन के लिए भी अनुमति रहेगी। वाहन मरम्मत, पंचर सुधार, लॉन्ड्री सर्विसेस, आटा-चक्की, पैकेजिंग मटेरियल व संबंधित इकाईयों के संचालन के लिए रात 8:00 बजे तक अनुमति रहेगी। समस्त प्रकार के एकल दुकानें व एकल किराना, डेली नीड्स दुकाने, कपड़ा, जूता-चप्पल, ज्वेलरी, फल,सब्जी, तथा दुग्ध, दुग्ध उत्पाद संबंधी दुकानें सुबह 6:00 बजे से रात 8:00 बजे तक रविवार छोड़कर खोली जा सकेगी। किसी दुकान में मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने या भीड़-भाड़ होने की दशा में अर्थदंड के साथ 30 दिवस के लिए दुकान नियमानुसार सील की जाएगी। स्थापित बाजारों में दुकाने जैसे टू व्हीलर शो रूम, स्टेशनरी, हार्डवेयर, प्लबिंग, इलेक्ट्रानिक्स दुकाने, इलेक्ट्रानिक्स ए.सी., कूलर पान, गुपचुप ठेला, सैलुन सहित रविवार को छोडकर सुबह 6:00 बजे से रात 8:00 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। मास्क तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन निवार्य होगा। दुकानदार अंडा, मछली, मांस, पोल्ट्री और किराना सामग्री अथवा ग्रासरी की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देगें तथा शहर के बाहर सुबह 6:00 बजे से रात 8:00 बजे तक खोली जा सकेगी। रविवार को छोड़कर घरेलु निर्माण कार्य, मरम्मत कार्य जिसमें लगने वाले मजदूरों का कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट के साथ अनुमति होगी।
कोविड-19 के मापदंड का पालन न होने पर कार्यवाही होगी। ई-कामर्स एप्लीकेशन जैसे अमेजॉन, फ्लिपकार्ट इत्यादि के माध्यम से वस्तुओं की होम डिलीवरी तथा कोरियर डिलीवरी अपरान्ह् 6:00 बजे तक ही की जा सकेगी। टोकन व्यवस्था के साथ बैंक शाम 04:00 बजे तक खोले जा सकेंगे। बी.सी सखी को भी कोविड मापदंड पालन करते हुए लेन-देन की अनुमति होगी। कोविड-19 का पालन करते हुए खाद, बीज वितरण, के.सी.सी. सभी सहकारी समितियों दिया जावेगा। उन्होंने अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लिनिक और पशु-चिकित्सालय को उनके निर्धारित समय में संचालन की अनुमति होगी। मेडिकल दुकन संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देगें। दुग्ध पार्लर व दुग्ध-वितरण तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समयावधि सुबह 6:00 बजे से रात 8:00 बजे तक ही होगी। पैट शॉप-एक्योरियम को केवल पशुओं को पशुचारा विक्रय के लिए सुबह 06:00 बजे से रात 8:00 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। कोविड मापदंड का पालन करते हुए औद्योगिक संस्थानों एवं निर्माण इकाईयों को यथासंभव अपने के भीतर मजदूरों को रखकर व अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योग के संचालन व निर्माण कार्यो की अनुमति होगी। राष्ट्रीय राजमार्ग, लोक निर्माण, जल संसाधन, वन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, पंचायत और ग्रामीण विकास, ग्रामीण यांत्रिकी सेवाएॅ तथा महात्मा गांधी नरेगा इत्यादि अन्तर्गत श्रमिकों की आवश्यकता वाले सभी ऑन-साईट कार्यो निजी निर्माण गतिविधियों के संचालन के लिए अनुमति रहेगी।
पेट्रोल पंप, गैस एजेन्सी व मेडिकल दुकानें पूर्ण समयावधि के लिए खुल सकेंगे, किन्तु गैस एजेंसियों टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर के माध्यम से ग्राहकों को सिलेन्डरों की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देगें। शासकीय उचित मूल्य दुकानों को खाद्य नियंत्रण, जशपुर की ओर से निर्धारित समयावधि में मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग, नियमित सेनिटाइजेशन व भीड़-भाड़ नहीं होने देने की शर्त का कड़ाई से पालन कराने के अधीन, टोकन व्यवस्था के साथ खुलने की अनुमति होगी। प्रत्येक रविवार को पूर्ण लॉकडाउन रखा जावेगा, जिसके दौरान केवल अस्पताल, क्लिनिक, पशु चिकित्सा, मेडिकल दुकान, पेट्रोल पंप ही चालू रहेंगे। होम डिलीवरी के दौरान मास्क धारण करना और फिजिलकल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालना करना अनिवार्य होगा। प्रतिदिन रात 08:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक रात्रिकालीन लॉकडाउन लागू रहेगा, जिसके दौरान इस आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त गतिविधियॉ जैसे होटल, रेस्टोरेंट से होम डिलीवरी तथा थोक माल, फल, सब्जी की लोडिंग, अन-लोडिंग की अनुमति निर्धारित समयावधि में रहेगी। आपातकालीन आवागमन को छोड़कर अन्य समस्त गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा।
कोविड संक्रमण के रोकथाम के लिए जिले में समस्त कार्य जैसे कंाटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेगें। जशपुर जिले में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए संक्रमित व्यक्ति को सार्वजनिक खुले स्थान, तालाब, नदी- नाला, कुंआ, हैण्डपम्प, डभरी इत्यादि में स्नान करने पर प्रतिबंध लगायी जाती है। संक्रमित व्यक्ति अपने होम आईसोलशन के दौरान अपने घर में ही स्नान करेंगे। संक्रमित व्यक्ति के लिए आवश्यक जल की व्यवस्था उसके परिवार के द्वारा की जाएगी। उपरोक्त अवधि में बस यात्रा टिकट को बस स्टेण्ड तक आन-जाने के लिए पास माना जाएगा। अपरिहार्य परिस्थितियों में जशपुर जिले से अन्यत्र आने-जाने वाले यात्रियें को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा तथापि प्रतियोगी, अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों के लिए उनका एडमिट कार्ड तथा रेलवे, टेलीकॉम, एयरपोर्ट संचालन और रख-रखाव कार्य या हॉस्पिटल या कोविड-19 ड्यूटी में संलग्न कर्मचारियों, चिकित्सकों की दशा में नियोक्ता की ओर से आई.डी. कार्ड ई-पास के रूप में मान्य किया जाएगा। आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 04 पहिया वाहनों में अधिकतम 03, ऑटो में ड्राईवर सहित अधिकतम 03 और दो पहिया वाहन में अधिकतम 02 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। बस स्टेंड, हॉस्पिटल आवागमन के लिए ऑटो, टैक्सी परिचालन की अनुमति रहेगी, किन्तु अन्य प्रयोजन के लिए परिचालन पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा।
इस निर्देश का उल्लंघन किये जाने पर 15 दिवस के लिए वाहन जब्त करते हुये चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जाएगी। यह आदेश कार्यालय कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय और उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय अनुविभागीय अधिकारी, तहसील, अस्पताल, थाना व पुलिस चौकी पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित अधिकारी, विद्युत, पेयजल आपूर्ति और नगर पालिका सेवायें जिसमें सफाई, सीवरेज व कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है तथा अग्निशमन सेवाओं के संचालन के लिए संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों को कार्यालय संचालन और आवागमन की अनुमति होगी। राज्य शासन या इस कार्यालय के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, प्रतिष्ठानों पर भारतीय दण्ड सहिता सहित अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश अल्प समयावधि में लागू किया जाना आवश्यक है। यह आदेश अल्प समयावधि में लागू किया जाना आवश्यक है। वर्तमान परिस्थितियों में इस आदेश से प्रभावित होने वाले व्यक्तियों को सम्यक समय में तामीली संभव नहीं होने के कारण यह आदेश एक पक्षीय रूप से पारित किया जाता है। आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार तथा कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जावें। यह आदेश 15 जून 2021 सुबह 6 बजे से आगामी आदेश तक लागू होगा।
 

 बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में फिर दंतैल हाथी के हमले से दो की मौत

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में फिर दंतैल हाथी के हमले से दो की मौत

जशपुर। जशपुर जिले से बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। दंतैल ने दो लोगो के उपर हमला कर दोनो की जिंदगी छीन ली वहीं चार साल कि मासूम बच्ची को अपने सूंड़ से ढकेल कर घायल कर दिया है। यह हृदय विदारक घटना जशपुर जिले के तपकरा वन परिक्षेत्र के जमुना गांव मे घटी है।

आज भोर मे लगभग 5 बजे प्रकाश एक्का उम्र- 55 वर्ष बीट-जमुना, कम्पार्टमेंट-862 मे जंगल के अंदर पट्टा जमीन मे किये गये धान की फसल को देखने गया था उसी दौरान दंतैल हाथी उस पर हमला कर दिया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा मृतक जंगल मे डोरी और पुटु भी बीन रहा था इसी दौरान वह हाथी की चपेट मे आ गया।

वहीं दयामनी तिर्की उम्र- 59 वर्ष बीट-जमुना कंपार्टमेंट- 862 मे ही जंगल के अंदर पट्टा जमीन मे लगे धान की फसल को देखने के साथ ही जंगल मे पुटु-खुखड़ी उठा रही थी इसी दौरान दंतैल ने उस पर भी हमला कर उसे भी मौत के घाट उतार दिया। पास मे ही चार साल की बच्ची आलिया खेल रही थी जिसे हांथी अपने सूंड़ से धकेल दिया जिससे बच्ची घायल हो गई।

बच्ची को परिजनो ने अपनी सुविधा से प्राथमिक स्वास्थय केन्द्र तपकरा लेकर आये थे लेकिन डाक्टर ने बच्ची की स्थिति को देखते हुए अच्छे ईलाज के लिये तपकरा से 28 किलोमीटर दूर कुनकुरी स्थित हालीक्रास हास्पीटल रेफर किया हैं जहां बच्ची का ईलाज जारी है। तपकरा वन परिक्षेत्र के रेंजर अभिनव केशरवानी ने बाताया कि मृतक के परिजनो को तत्कालिक सहायता के रूप मे 25-25 हजार रूपये दिया गया है। शेष पांच लाख पचहत्तर हजार रूपये मुआवजा राशि जल्द परिजनो को दे दी जायेगी।

 बड़ी खबर : प्रेमी युगल की पेड़ से लटकी मिली लाश, पुलिस कर रही मामले की जाँच

बड़ी खबर : प्रेमी युगल की पेड़ से लटकी मिली लाश, पुलिस कर रही मामले की जाँच

जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में आज एक प्रेमी युगल ने फांसी के फंदे पर झुलकर आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा हैं कि, युवक की शादी किसी और युवती से तय हो गयी थी, इसी के चलते उसने अपनी नाबालिग प्रेमिका के साथ फांसी लगा कर जान दे दी है। फिलहाल घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पढ़िए पूरी खबर-
जानकारी के मुताबिक घटना पत्थलगांव के ग्राम पाकेरटिकरा की है। यहां के रहने वाले युवक इंदर साय 21 वर्ष को पड़ोस के गांव इला की रहने वाली एक नाबालिग लड़की 16 वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों एक दूसरे के साथ शादी करना चाहते थे, लेकिन लड़की के नाबालिग होने के कारण दोनों की शादी नहीं हो पा रही थी। इस बीच प्रेमी युवक की शादी एक दूसरी युवती संग तय हो गया था। इस बात से परेशान प्रेमी युगल ने बीती रात गांव के एक पेड़ से लटक कर जान दे दी। आज सुबह जब ग्रामीणों ने दोनों को फंदे पर लटका देखा तो इसकी जानकारी पत्थलगांव पुलिस को दी।
छत्तीसगढ़: इस जिले में ग्राहकों को होटल में बिठाकर खिलाने की लगी पाबंदी, सिर्फ कर सकते है ये काम

छत्तीसगढ़: इस जिले में ग्राहकों को होटल में बिठाकर खिलाने की लगी पाबंदी, सिर्फ कर सकते है ये काम

 जशपुरनगर। कलेक्टर ने आज वर्चुअल साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक ली और टीएल के लंबित प्रकरणों, कोविड-19 के मापदण्ड, दवा की उपलब्धता, गौधन न्याय योजना, मुख्यमंत्री पौधारोपण प्रोत्साहन योजना, उचित मूल्य दुकान में राशन भण्डारण की स्थिति, गौठान में खाद बनाने के प्रगति के संबंध में विस्तार से समीक्षा की। 

 


 

कलेक्टर महादेव कावरे ने समीक्षा के दौरान पत्थलगांव एसडीएम और विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को ऑक्सीजन प्लांट और पार्किंग शेड के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने एंटीजन टेस्ट, आरटी पीसीआर टेस्ट, टू नॉट टेस्ट के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी दुकानदारों को कोविड-19 के मापदण्डों का पालन करना अनिवार्य है। होटल में ग्राहकों को बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी। वे होटल से खाना या नाश्ता पैकिंग करवाकर खाना घर ले जा सकते हैं। कोविड-19 के मानदंड का उल्लंघन करने वाले होटल और दुकान संचालकों पर सील करने की कार्यवाही की जायेगी। लोग अनावश्यक न घुमे इसका विशेष ध्यान रखे। होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को नियमों का गंभीरता से पालन करने के निर्देश दि। हैं।

 


 

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री के.एस.मण्डवाी ने टीएल में सभी जनपद सीईओ और एसडीएम को निर्देश देते हुए कहा कि जिन गांव में पाॅजिटिव मरीज की संख्या अधिक निकल कर आ रहे हैं उन गांव में विशेष ध्यान देने के लिए कहा गया है और लोगो दवाई वितरण करने के भी निर्देश दिए हैं।

 


 

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के.एस.मण्डावी, अपर कलेक्टर आई.एल.ठाकुर, सभी एसडीएम, सभी जनपद सीईआ,े विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी, तहसीलदार और जिला स्तरीय सीधे जुड़े थे।

 
बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में फिर हाथी के हमले में एक ग्रामीण की मौत

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में फिर हाथी के हमले में एक ग्रामीण की मौत

जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में जंगली हाथी के हमले में एक ग्रामीण की मृत्यु हो गई। ग्रामीण के शव को जंगल से निकालने की कोशिश जारी है। जशपुर जिले के वन विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को यहां बताया कि जिले के बगीचा वन परिक्षेत्र के अंतर्गत झिक्की गांव के जंगल में जंगली हाथी के हमले में ग्रामीण आगेश राम (21) की मौत हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि वन विभाग को जानकारी मिली है कि फुलडीह गांव निवासी आगेश राम सोमवार सुबह जंगल गया था। दोपहर तब जब वह वापस घर नहीं लौटा तब ग्रामीणों ने उसकी खोजबीन शुरू की। बाद में ग्रामीणों को झिक्की गांव के जंगल में उसका शव मिला। उन्होंने बताया कि ग्रामीण जब ट्रैक्टर से शव को बाहर निकाल रहे थे तब हाथियों का दल वहां पहुंच गया और ग्रामीणों को वहां से भागना पड़ा।। अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग के दल को वहां रवाना किया गया था। दल ने शव को जंगल से बाहर निकालने की कोशिश की लेकिन हाथियों के वहां होने के कारण सफलता नहीं मिली। उन्होंने बताया कि वन विभाग का दल ग्रामीण का शव निकालने की कोशिश कर रहा है। मृत ग्रामीण के परिजनों को 25 हजार रुपए की सहायता राशि दी गई है। वहीं ग्रामीणों को जंगल के भीतर प्रवेश करने से मना किया गया है।

नई रियायत,  जिले में इन्हें खोलने की  मिली अनुमति

नई रियायत, जिले में इन्हें खोलने की मिली अनुमति

जशपुर जशपुर जिले में आगामी 15 जून तक लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गयी है। इस लॉकडाउन में बाजार को पटरी पर लाने के लिए जिला प्रशासन ने कवायद शुरू कर दी है लिहाजा कई रियायतें भी दी गई हैं।खास बात यह है कि सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पूल और जिम को खोलने की अनुमति दे दी गयी है। प्रातः 9 बजे से शाम 6 बजे तक शराब दुकानों से शराब की नकदी खरीदी की जा सकती है। मगर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य रहेगा।

 

छत्तीसगढ़ में हाथी का आतंक जारी: जिले में हाथी के हमले से एक और महिला की मौत

छत्तीसगढ़ में हाथी का आतंक जारी: जिले में हाथी के हमले से एक और महिला की मौत

जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में जंगली हाथी के हमले में एक महिला की मौत हो गई है। जशपुर जिले के वन विभाग के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि जिले के साहीडांड क्षेत्र के अंतर्गत कुहापानी गांव के करीब जंगली हाथी के हमले में प्रतिमा तिग्गा (42) की मौत हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि प्रतिमा तिग्गा बुधवार शाम रेंगले गांव से बांसधार गांव जा रही थी। प्रतिमा के साथ उसकी सात वर्षीय बेटी भी थी। जब दोनों डेगाडेगी नदी को पार करने के बाद कुहापानी गांव के करीब पहुंचे तब एक जंगली हाथी ने उन पर हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि हाथी ने प्रतिमा को कुचल दिया जिसमें उसकी मौत हो गई। उसकी बच्ची वहां से भागकर गांव चली गई। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी वन विभाग को दी। अधिकारियों ने बताया कि वन विभाग ने ग्रामीणों के सहयोग से शव को बरामद कर लिया है तथा पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में हाथियों का समूह विचरण कर रहा है। ग्रामीणों को जंगल के भीतर जाने से मना किया गया है।

 छत्तीसगढ़: अज्ञात वाहन की चपेट में आकर 1 की मौत, दूसरा गम्भीर

छत्तीसगढ़: अज्ञात वाहन की चपेट में आकर 1 की मौत, दूसरा गम्भीर

जशपुर। जशपुर जिले केखबर पत्थल गाँव से आ रही है ।यहॉ के फुलेता चौक के पास अज्ञात वाहन की चपेट में 2 बाईक सवार आ गए । एक बाईक सवार की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि दूसरे की हालत गम्भीर बताई जा रही है।दोनो युवक ग्राम शेखरपुर बूढ़ा डाँड़ के रहने वाले हैं। पत्थल गांव पूलिस को घटना की सूचना दे दी गयी है।पूलिस मौके पर पहुँच गयी है। 
अब 23 मई रात्रि 12 तक लॉकडाउन बढ़ाते हुए जिले की सीमाओं को सील करने के आदेश जारी

अब 23 मई रात्रि 12 तक लॉकडाउन बढ़ाते हुए जिले की सीमाओं को सील करने के आदेश जारी

जशपुर। जशपुर कलेक्टर महादेव कावरे ने जिले में अब 23 मई रात्रि 12 तक लॉकडाउन बढ़ाते हुए जिले की सीमाओं को सील करने के आदेश जारी किए हैं। पिछले एक माह से जिला पूर्णः लॉक डाउन है इसके बावजूद कोरोना की लहर थमने का नाम नहीं ले रही वहीँ ग्रामीण इलाकों में लगातार संक्रमण बढ़ रहा है जिसे देखते हुए इस बार भी फल,सब्जी व किराना दुकानों को छूट नहीं दी गई। है पूर्व की तरह इन सेवाओं की होम डिलीवरी चालू रहेगी।
उल्लेखनीय है कि ग्रामीण इलाकों में लॉक डाउन का कड़ाई से पालन नहीं हो रहा है वहीँ संक्रमण के मामलों के बाद भी संक्रमितों के गाँव में घूमने की खबरें आती रहती हैं। जिसके कारण संक्रमण फ़ैल रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम आइसोलेशन का कड़ाई से पालन कराया जाना आवश्यक है।जिला कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में जानिए किसे मिलेगी छुट किन सेवाओं पर है पूरा प्रतिबन्ध।
जाए आदेश के अनुसार जशपुर जिला अन्तर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को 15 मई की रात्रि 12:00 बजे से 23 मई की रात्रि 12:00 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है। उपरोक्त दर्शित अवधि में जशपुर जिले के सभी सीमाएँ पूर्णतः सील रहेगी। इस अवधि में केवल मेडिकल दुकानों , क्लीनिक / पशु चिकित्सा एवं पेट्रोल पम्प , गैस एजेन्सी को अपने निर्धारित समय में खोलने की अनुमति होगी।
जिले के अंतर्गत लगने वाले समस्त मार्केट, होटल, रेस्टोरेंट, मैरिज हॉल, क्लब, स्वीमिंग पूल, सुपर मार्केट, धार्मिक स्थल, स्कूल/कॉलेज, चाय ठेला, रिसॉर्ट/पर्यटन स्थल, चाट ठेला, पान ठेला, मोबाईल शॉप, पार्क, नाई दुकान, जिम, साप्ताहिक बाजार / फल एवं सब्जी की दुकाने पूर्णतः बंद रहेंगे ।
स्थानीय प्रशासन एवं ठेले वाले कॉलोनियों में जाकर सब्जी , फल , राशन सामग्री , खाद्य तेल , नमक , आटा , चिकन, मटन, मछली व अण्डा घर पहुंच सेवा के माध्यम से विक्रय कर सकेंगे । लेकिन किसी दुकान से विक्रय नहीं कर सकेंगे ।
शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी मण्डी , थोक / फुटकर दुकान बंद रहेंगे , किन्तु सीधे किसानों / उत्पादकों से सप्लाई शर्त के साथ फल , सब्जी , किराना सामान , इलेक्ट्रानिक सामान की आपूर्ति प्रातः 06:00 बजे से सायंकाल 05:00 बजे तक घर पहुंच सेवा ( होम डिलिवरी ) के माध्यम से कोविड -19 के मापदण्डो का पालन करते हुए किया जा सकेगा, लेकिन दुकान खोलकर ग्राहकों को विक्रय नहीं किया जावेगा ।
कृषि कार्य , बीज , खाद ,कृषि यंत्र एवं कृषि यंत्र मरम्मत दुकान खुलेगा । खाद गोदाम में अनलोडिंग का कार्य रात्रि 11:00 बजे से प्रातः 05:00 बजे के मध्य किये जाने की अनुमति रहेगी । कृषि उपकरण , खाद विक्रय का समय प्रातः 08:00 बजे से अपरान्ह 02:00 बजे तक नियत किया जाता है । कोरियर सर्विस , ई - कार्मस चालू रहेगा । इलेक्ट्रीसीयन , प्लंबर , घरों में जाकर ए.सी. , कूलर , पंखा , सेनेटरी फिटिंग आदि कार्य कर सकेंगे ।
आटा चक्की की दुकाने प्रातः 08:00 बजे से सायं 05:00 बजे तक खुली रहेगी ।
दुग्ध वितरण , तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों में वितरण की समयावधि प्रातः 08:00 बजे से प्रातः 09:00 बजे तक एवं सायं 06:00 बजे से सायं 07:00 बजे तक ही होगी ।
साथ ही यह स्पष्ट किया जाता है कि दुग्ध व्यवसाय हेतु कोई भी दुकान / पार्लर नहीं खोले जायेगे । केवल दुकान / पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी । पैट शॉप / एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने हेतु प्रातः 08:00 बजे से प्रातः 09:00 बजे तक एवं संध्या 06:00 बजे से संध्या 07:00 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी ।
जशपुर जिले में संचालित शासकीय उचित मुल्य की दुकान प्रातः 08:00 बजे से दोपहर 02:00 बजे तक टोकन सिस्टम से नियमित रूप से संचालित होगी । शासकीय उचित मुल्य की दुकान के संचालन के समय दुकान के सामने रस्सी / बांस / बल्ली का घेरा लगाना आवश्यक होगा ।
दुकान संचालक को मास्क एवं सेनेटाईजर का उपयोग करना आवश्यक होगा तथा क्रेता को भी मास्क का उपयोग के साथ ही साथ 02 गज की दुरी बनाये रखना अनिवार्य होगा । शासकीय उचित मुल्य की दुकान के सामने क्रेताओं के लिए चुने का घेरा कराना आवश्यक होगा ।
एल.पी.जी. गैस सिलेन्डर की एजेंसियों केवल टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर भी ले सकेंगे तथा ग्राहकों को सिलेन्डरों की घर पहुँच सेवा उपलब्ध करायेंगे । जशपुर जिले में संचालित राष्ट्रीय राजमार्ग से लगे हुए ढाबा ( नगरीय क्षेत्र को छोड़कर ) केवल खाना पार्सल करने की सुविधा रात्रि 09:00 बजे तक रहेगी। ढाबा में बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी । राष्ट्रीय राजमार्ग , प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना , लोक निर्माण विभाग , ग्रामीण यांत्रिकी सेवा , सिचाई विभाग , लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग आदि से संबंधित सभी विभागीय कार्य के लिए कर रहे मजदुरों एवं मशीनरी वाहन को कैम्प से कार्यस्थल तक ही जाने की अनुमति होगी । मजदूरों को कार्यस्थल पर ही कैंप में रहना होगा ।
औद्योगिक संस्थानों एवं निर्माण इकाईयों को अपने कैम्पस के भीतर ( Onsite ) मजदुरों को रखकर व अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योगो के संचालन एवं निर्माण कार्यों की अनुमति होगी ।
उक्त अवधि के दौरान सम्पूर्ण जिला अन्तर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेगी । 18 . सभी धार्मिक , सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे ।
उपरोक्त अवधि में जशपुर जिला अन्तर्गत सभी केन्द्रीय / शासकीय सार्वजनिक / अर्द्ध - सार्वजनिक एवं निजी कार्यालय बंद रहेंगे तथापि ए.टी.एम. , टेलीकॉम , स्वास्थ्य विभाग , पुलिस विभाग , कोविड कार्य के लिए राजस्व विभाग , मनरेगा कार्य , खाद्य सामग्री के थोक परिवहन , धान मिलिंग , कृषि कार्य हेतु परिवहन को छोड़कर अन्य समस्त गतिविधियाँ बंद रहेगी । पंजीयन कार्यालय 50 प्रतिशत कर्मचारी के साथ ( टोकन सिस्टम ) सायंकाल 05:00 बजे तक कार्य कर सकेंगे ।
उपरोक्त अवधि के दौरान को - मॉर्बिड / गर्भवती अधिकारियों / कर्मचारियों को एक्टिव डयूटी से छूट देते हुए बैंकों को हब - बैंकिंग सिद्धांत अनुसार न्यूनतम स्टॉफ के साथ कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाती है किन्तु सभी बैंक / शाखाएँ प्रातः 10:00 बजे से अपरान्ह 03:00 बजे तक ही संचालित हो 21 . सकेंगी ।
बैंक / पोस्ट ऑफिस कार्यालयीन कार्य 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ ( ग्राहक सेवा नहीं ) एवं ए.टी.एम. में पैसे डालने हेतु खुले रहेंगे । ए.टी.एम. में कोविड -19 के मापदण्ड का पालन कराने की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबंधित बैंक की होगी । उपरोक्त अवधि के दौरान केवल ए.टी.एम. कैश रि - फिलिंग , मेडिकल इक्विपमेंट , मेडिसिन , पेट्रोल / डीजल पंप , एल.पी.जी. , पी.डी.एस. / केरोसीन वितरक शासकीय उचित मूल्य दुकानदारों संबंधी लेन - देन , उद्योगों एवं व्यवसायिक लेन - देन / श्रमिकों के भुगतान , मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति / लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादक , शासकीय लेन - देन , निविदा , अस्पताल एवं मेडिकल प्रयोजन को छोड़कर आम जनता हेतु किसी प्रकार के सामान्य लेन - देन की अनुमति नहीं होगी । इस हेतु शाखा प्रबंधक संबंधित व्यक्तियों से विधिवत आवेदन प्राप्त कर अभिलेख संधारित करेंगे । मृत्यु दावा राशि . परिपक्वता राशि , बोनस राशि आदि का भुगतान समय पर सुनिश्चित करने हेतु बीमा कम्पनियों यथा भारतीय जीवन बीमा निगम आदि मई, 2021 को बैंको के लिए निर्धारित समयावधि प्रातः 10:00 बजे से अपरान्ह 03:00 बजे तक कार्यालय संचालित करने की अनुमति दी जाती है । सोशल डिस्टेसिंग के साथ कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा । बीसी सखी को भी कोविड मापदण्ड पालन करते हुए लेन-देन की अनुमति होगी ।
सभी प्रकार की सभा , जुलूस , सामाजिक , धार्मिक एवं राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगें ।
कोविड संक्रमण के रोकथाम हेतु जिले में समस्त कार्य जैसे - कांटेक्ट ट्रेसिंग , एक्टिव सर्विलांस , होम आईसोलेशन , दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेगें । इन कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी । कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेगें । जशपुर जिले में कोविड -19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए संक्रमित व्यक्ति को सार्वजनिक खुले स्थान , तालाब , नदी - नाला , कुंआ , हैण्डपम्प , डभरी इत्यादि में स्नान करने पर प्रतिबंध लगायी जाती है । संक्रमित व्यक्ति अपने होम आईसोलशन के दौरान अपने घर में ही स्नान करेंगे । संक्रमित व्यक्ति के लिए आवश्यक जल की व्यवस्था उसके परिवार के द्वारा की जावेगी ।
अपरिहार्य परिस्थितियों में जशपुर जिले से अन्यत्र आने - जाने वाले यात्रियों को ई - पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा तथापि प्रतियोगी / अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों हेतु उनका एडमिट कार्ड तथा टेलीकॉम एवं रख - रखाव कार्य या हॉस्पिटल या कोविड -19 ड्यूटी में संलग्न कर्मचारियों / चिकित्सकों की दशा में नियोक्ता द्वारा जारी आई.डी. कार्ड ई - पास के रूप में मान्य किया जायेगा ।
कोविड -19 टीकाकरण हेतु पंजीयन , कोविड -19 जांच हेतु , मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड / विधिमान्य परिचय - पत्र दिखाने पर कोविड -19 टीकाकरण केन्द्र अस्पताल / पैथोलॉजी लैब अथवा आने - जाने की अनुमति होगी किन्तु अनावश्यक भ्रमण सख्त प्रतिबंधित रहेगा ।
आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 04 पहिया वाहनों में ड्राईवर सहित अधिकतम 03 , ऑटो में ड्राईवर सहित अधिकतम 03 एवं दो पहिया वाहन में अधिकतम 02 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी । बस स्टैण्ड , हॉस्पिटल आवागमन हेतु ऑटो / टैक्सी परिचालन की अनुमति रहेगी किन्तु अन्य प्रयोजन हेतु पूर्णतःप्रतिबंध रहेगी । इस निर्देश का उल्लंघन किये जाने पर 15 दिवस हेतु वाहन जप्त करते हुये चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जायेगी । मीडियाकर्मी यथासंभव वर्क फ्राम होम द्वारा कार्य संपादित करेगें । अत्यावश्यक स्थिति में कार्य हेतु बाहर निकलने पर अपना आई - कार्ड साथ रखेगें तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित 30 . करेगे ।
यह आदेश कलेक्टर , वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक , अतिरिक्ति जिला दण्डाधिकारी , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक , उप पुलिस अधीक्षक , मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय , अनुविभागीय दण्डाधिकारी , तहसील , थाना एवं पुलिस चौकी पर लागू नहीं होगा । इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था सेवा से संबंधित अधिकारी , विद्युत , पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवायें जिसमें सफाई , सीवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल तथा अग्निशमन सेवाओं के संचालन हेतु संबंधित अधिकारियों / कर्मचारियों को कार्यालय संचालन एवं आवागमन की अनुमति होगी किन्तु इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा ।
अन्य शासकीय कार्यालय अपने अत्यावश्यक कार्यालयीन कार्य व इमरजेंसी सेवा के लिए खुलेंगी लेकिन आम जनता के लिए नहीं खोला जावेगा । अंत्येष्टि / दशगात्र अथवा उसमें संबंधित आवश्यक कार्यक्रम में फिजिकल डिस्टेसिंग के साथ मास्क का कड़ाई से उपयोग की शर्त के अधीन अधिकतम 10 व्यक्तियों को ही शामिल होने की अनुमति होगी । विवाह की नयी अनुमति जारी नहीं होगी । पूर्व में जारी वैवाहिक अनुमति कार्यक्रम में शामिल होने वाले 10 व्यक्तियों को कोविड -19 का नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट ( 72 घण्टा अर्थात 03 दिवस ) तक का रखना अनिवार्य होगा तथा समय - समय पर हाथ धोना / सेनेटाईजर करना भी अनिवार्य होगा तथा कार्यक्रम के लिए नियमानुसार जिला दण्डाधिकारी अथवा अनुविभागीय दण्डाधिकारियों से लिखित अनुमति प्राप्त करना होगा ।
राज्य शासन के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी । जिले में रविवार पूर्ण लॉकडाउन होगा ( केवल अस्पताल . पेट्रोल पम्प , दवा दुकान , होम डिलिवरी सेवाएँ को छोड़कर ) । उपरोक्त बिन्दुओं को छोड़कर जिले में समस्त गतिविधियाँ पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी ।
इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति / प्रतिष्ठानों पर भारतीय दण्ड संहिता , 1860 की धारा 188 , आपदा प्रबंधन अधिनियम , 2005 की धारा 51-60 तथा अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्यवाही की जायेगी ।
 

जिले के इतने अधिकारियों और कर्मचारियों ने स्वेच्छा से एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में किया जमा

जिले के इतने अधिकारियों और कर्मचारियों ने स्वेच्छा से एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में किया जमा

जशपुरनगर। कोरोना संक्रमण के दौरान लोगों की मदद के लिए जशपुर जिले के अधिकारियों और कर्मचारियों ने जरुरतमंद लोगों की मदद के लिए अपैल माह से एक दिन का वेतन स्वेच्छा से मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया गया है। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि जरूरमंद लोगों के लिए सहयोग के लिए सभी आगे बढ़कर अपना एक दिन का वेतन दिया।
जिला कोषालय अधिकारी गणेशु प्रसाद घिदौड़े ने बताया कि जशपुर जिले में लगभग 14 हजार 72 अधिकारियों और कर्मचारियों में से 13 हजार 27 अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपने अप्रैल माह में से एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा किया गया है। कुल राशि 1 करोड़ 52 लाख दो सौ 7 रुपए जमा किया गया। इस राशि का उपयोग जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए की जाएगी।
 

कलेक्टर ने जारी किए निर्देश ,अक्षय तृतीया के दिन बिना अनुमति के शादी करने वालों पर, पढ़े पूरी खबर

कलेक्टर ने जारी किए निर्देश ,अक्षय तृतीया के दिन बिना अनुमति के शादी करने वालों पर, पढ़े पूरी खबर

जशपुरनगर। कलेक्टर कावरे ने आज वर्चुअल माध्यम से साप्ताहिक समय सीमा की बैठक लेकर अधिकारियों को कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए बेहतर कार्य करने के निर्देश दिए। ताकि संक्रमण से जशपुर जिले को शीघ्र मुक्त कर सकें। वर्चुअल से पुलिस अधीक्षक बालाजी राव, जिला पंचायत सीईओ केएस मंडावी सभी एसडीएम जनपद सीईओ पुलिस विभाग के एसडीओपी थाना प्रभारी विकासखंड चिकित्सा अधिकारी और तहसीलदार सीधे जुड़े थे। कलेक्टर प्रारंभ में टिकाकरण की प्रगति की जानकारी ली और जिले में बनाए गए टिका केन्द्र में अन्तोदय राशनकार्ड धारकों बीपीएल परिवारों और एपीएल परिवार के साथ ही फ्रंट लाइन वर्कर के लिए अलग अलग जगह या अलग कमरे में व्यथा करने के निर्देश दिए हैं। और बैनर भी लगाने के लिए कहा गया। उन्होंने पुलिस विभाग स्वास्थ्य विभाग वन विभाग, राजस्व विभाग पंचायत विभाग, महिला बाल विकास विभाग के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका मितानी समाज कल्याण विभाग या अन्य राज्य शासन के सरकारी विभाग के अधिकारी कर्मचारियों और उनके निकट के परिजन माता पिता पत्नी उनके बच्चे फ्रंट लाइन वर्कर में शामिल होंगे।
कलेक्टर महादेव कावरे ने सभी विभाग प्रमुखों को अपने अधिनस्थ अम्लों और अधिकारियों कर्मचारियों को फ्रंट लाइन वर्कर मानकर निर्धारित प्रारूप में टिकाकरण के लिए प्रमाण पत्र जारी करना के निर्देश दिए हैं। परिवहन विभाग और बस डायवर कन्डेक्टर का टिकाकरण करवाने के लिए कहा गया है। साथ समाज कल्याण विभाग को वृद्धा आश्रम अन्य उनके अंतर्गत संचालित संस्था को भी टिकाकरण के लिए प्रमाण पत्र देने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने अधिकारियो को निर्देश दिए हैं कि सीमित लोगों की कर्मचारियों की उपस्थिति में जरुरी कार्य के लिए अपना कार्यालय खोल सकते हैं। टेंडर प्रक्रिया या अन्य जरूरी कार्य हो तो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना संक्रमण के दौरान कोई भी अधिकारी बिना कलेक्टर के अनुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे इसका विशेष ध्यान रखे। साथ ही किसानों की सुविधा को देखते हुए सहकारिता विभाग के सहायक पंजीयक को कोरोना का मापदंड का पालन करते हुए सोसायटी में किसानों के लिए खाद बीज कि भंडारन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एसडीएम को सख्त निर्देश दिए हैं कि शादी के लिए कोई अनुमति नहीं दे और पुराने आवेदन को भी निरस्त करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर ने कहा कि लोग शादी समारोह में 10 से अधिक व्यक्तियों को शामिल करके कोरोना संक्रमण को बढ़ा रहे। ऐसी शिकायतें आ रही हैं। इसके कारण अब कोई भी शादी के आवेदन आने पर नहीं अनुमति देने के निर्देश दिए है। पुलिस अधीक्षक बालाजी राव ने कहा कि पुलिस विभाग और राजस्व विभाग की संयुक्त टीम अपने क्षेत्र के गांव में जाकर यह सुनिश्चित करें की टेंट हाउस वाले, गाजे बाजे वाले और घरों में अधिक लोगों के लिए भोजन तो नहीं बन रहा है। इसकी भी अधिकारी को अपने स्तर पर पुष्टि करने के निर्देश दिए हैं और उलंघन करने वाले पर सख्त कार्रवाई और जुर्माना लगाने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर ने कहा कि आगामी 14 तारीख और अक्षय तृतीया के दिन बिना मुहूर्त के शादी करते हैं। और बिना शासन के अनुमति के शादी समारोह कर रहे हैं। ऐसी सूचना मिलने पर कार्रवाई करने के लिए कहा गया है। साथ ही 14 मई को ईद भी है, इस दिन मुस्लिम समुदाय और भाईयों को नमाज अपने अपने घरों में अदा करने का आग्रह किया है। लोग ई पास लेकर अपने गाडिय़ों में अनुमति से ज्यादा लोगों को सवारी करवाने सड़कों पर पेट्रोल भरवाने के नाम से भीड़ भाड़ की शिकायते मिल रही है, ऐसे लोगों पर 1000 रुपया का जुर्माना लगाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही पेट्रोल पंप, दवाई दुकान उचित मूल्य दुकान में घेरा करने और सोशल डिस्टेंस का अनिवार्य रूप से लोगों को पालन करवाने के लिए कहा गया है। कलेक्टर ने विकासखंड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए कि पाजिटिव मरीज को बार बार टेस्ट करवाने की आवश्यकता नहीं। केवल कोविड केयर सेंटर में निर्धारित अवधि तक रहे और कोरोना दवाई का नियमित सेवन करें, साथ ही होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों बाहर ना घूमें इसका भी विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं। जिनके घरों में पाजिटिव आए उनके परिजनों को सभी को दवाई देने के लिए कहा गया है। कलेक्टर ने साप्ताहिक समय सीमा की बैठक में अधिकारियों से एक करके टी एल के लंबित प्रकरणों की जानकारी ली और आवेदनों का प्राथमिक से निराकरण करने के निर्देश दिए हैं।
 

बड़ी खबर: आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 3 लोगो की मौत, 4 लोग गम्भीर रूप से घायल

बड़ी खबर: आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 3 लोगो की मौत, 4 लोग गम्भीर रूप से घायल

जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले से एक दर्दनाक खबर प्रकाश में आ रही है। जिले के सन्ना इलाके से  10 किमी दूर दूभर कोना में थोड़ी देर पहले गाज गिरने से एक साथ 3 लोगो की मौत हो गयी है। जबकि 4 लोग गाज की चपेट में आने से घायल हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक गाज की चपेट में आकर जान गंवा चूके मृतक मिर्ची खेती की रखवाली कर रहे थे तभी अचानक तेज बारिश शुरू हो गयी।इसी बीच आकाशीय बिजली गिरी और मिर्ची खेत मे मौजूद करीब 7 से 8 लोगो को अपने चपेट में ले लिया । 3 की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि अन्य घायलों को सन्ना और छिछली असप्ताल लाया गया है। मौसम विभाग ने बीते 24 घंटे पहले राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश तथा वज्रपात के साथ तेज हवा और अंधड़ चलने की संभावना जताई थी। उत्तरी छत्तीसगढ़ के सरगुजा जशपुर जैसे जिलों के सुदूर इलाकों में तेज हवाओं के साथ बज्रपात भी हुई है।

सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए निर्धारित क्षेत्र को 7 दिवस के लिए किया गया कंटेनमेंट जोन घोषित

सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए निर्धारित क्षेत्र को 7 दिवस के लिए किया गया कंटेनमेंट जोन घोषित

जशपुर। कलेक्टर ने कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रण करने एवं इस फैलाव को दृष्टिगत रखते हुए जिले के क्षेत्रों को कंटनमेंट जोन घोषित किया है। जिसमें जशपुर विकासखंड के ग्राम टेकुल पतराटोली लोदाम में 7, फरसाबहार विकासखंड के ग्राम टोंगरीटोला बनगांव में 10, पत्थलगांव विकासखंड के ग्राम बुढ़ाडांड में 6, कांसाबेल के ग्राम कोडलिया में 7 व्यक्तिों के कोरोना पाॅजीटिव प्रकरण पाए जाने पर उक्त क्षेत्र के निर्धारित परिधि 7 दिवस के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित किया है।
जिसमें जशपुर विकासखंड के ग्राम टेकुल पतराटोली लोदाम के उत्तर दिशा में मुन्नू के मकान तक, दक्षिण दिशा में प्रमोद राम के मकान तक, पूर्व दिशा में जेण्डर केरकेट्टा के मकान तक, पष्चिम दिशा में पुना राम के मकान तक, फरसाबहार विकासखंड के ग्राम टोंगरीटोला बनगांव के उत्तर दिषा में आंगनबाड़ी केन्द्र तक, दक्षिण दिशा में षिवषंकर साय के मकान तक, पूर्व दिशा में तुलसी साय के मकान तक पष्चिम दिशा में कृष्णा साय के मकान तक, पत्थलगांव विकासखंड के ग्राम बुढ़ाडांड के उत्तर दिशा में नारायण गुप्ता के मकान तक दक्षिण दिशा में ग्राम पंचायत भवन तक, पूर्व दिशा में धनसिंह रावत के मकान तक, पष्चिम दिशा में खगेष्वर यादव के मकान तक तथा कांसाबेल के ग्राम कोडलिया केउत्तर दिशा में मुख्य पक्की सड़क तक, दक्षिण दिशा में नाला तक, पूर्व दिशा में निस्तार खेस्स के मकान तक, पष्चिम दिशा में ब्यातोर के मकान तक के निर्धारित परिधि को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।
 

कलेक्टर ने कंटेनमेंट जाने की अवधि में जारी किया संशोधित आदेश

कलेक्टर ने कंटेनमेंट जाने की अवधि में जारी किया संशोधित आदेश

जशपुरनगर। कलेक्टर कावरे ने जिले को 26 अपै्रल से 5 मई तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। उन्होंने इस अवधि में संसोधन आदेश जारी करते हुए कहा है कि ई कामर्स जैसे, अमेजन, फिल्पकार्ड, स्थानीय ऑनलाईन सेवा होम डिलिवरी से हो सकेगी, लेकिन इसके लिए कोई दुकान नहीं खुलेगा को विलोपित किया जाता है। उद्योगों के व्यापारिक लेन-देन को विलोपित कर उद्योगों एंव व्यवसायिक लेन देन जोड़ा जाता है। मृत्यु दावा राशि परिपक्वाता राशि, बोनस राशि आदि का भुगतान समय पर सुनिश्चित करने के लिए बीमा कम्पनियों यथा भारतीय जीवन बीमा निगम आदि को बैंकों के लिए निर्धारित समयावधि सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक कार्यालय संचालित करने की अनुमति दी जाती है। सोषल डिस्टेंस के साथ कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य होगा। साथ ही विवाह कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों अधिकतम 10 को कोविड-19 का नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट 72 घंटा अर्थात 3 दिवस तक का रखना अनिवार्य होगा।
 

कलेक्टर ने बैंकर्स को एटीएम में पर्याप्त संख्या में पैसा डालने के दिए निर्देश

कलेक्टर ने बैंकर्स को एटीएम में पर्याप्त संख्या में पैसा डालने के दिए निर्देश

जशपुर। कलेक्टर ने आज जिले की बैंकर्स की आनलाइन बैठक लेकर कोरोना के मापदंड का पालन गंभीरता से करने के निर्देश दिए हैं उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी एटीएम में पर्याप्त राशि डाले। साथ ही छोटे व्यापारियों को कैश डिपोजिट मशीन का उपयोग करने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा 1 मई से 18 से लेकर 44 आयु वाले लोगों का टिकाकरण किया जाएगा इसके लिए कोविड पोटल में टिकाकरण करने के लिए आनलाइन एंटी करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कहा की बैंको में कार्यालयीन कार्य ग्राहक सेवा की सुविधा नहीं होगी एवं ए.टी.एम. में पैसे डालने के लिए खुले रहेंगे। ए.टी.एम. में कोविड-19 के मापदण्ड का पालन कराने की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबंधित बैंक की होगी। उपरोक्त अवधि के दौरान को-माॅर्बिड,गर्भवती अधिकारियों, कर्मचारियों को एक्टिव डयूटी से छूट देते हुए बैंकों को हब-बैंकिंग सिद्धांत अनुसार न्यूनतम स्टाफ के साथ कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाती है किन्तु सभी बैंक, शाखाए प्रातः 10ः00 बजे से अपरान्ह 1ः00 बजे तक ही संचालित हो सकेंगी। उन्होंने कहा कि उपरोक्त अवधि के दौरान केवल ए.टी.एम. कैश रि-फिलिंग, मेडिकल इक्विपमेंट, मेडिसिन, पेट्रोल, डीजल पंप, एल.पी.जी., पी.डी.एस.केरोसीन वितरक शासकीय उचित मूल्य दुकानदारों संबंधी लेन-देन, उद्योग के व्यापारिक लेन-देन, श्रमिकों के भुगतान, मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति, लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादक, शासकीय लेन-देन, निविदा, अस्पताल एवं मेडिकल प्रयोजन को छोड़कर आम जनता के लिए किसी प्रकार के सामान्य लेन-देन की अनुमति नहीं होगी। इस के लिए शाखा प्रबंधक संबंधित व्यक्तियों से विधिवत आवेदन प्राप्त कर अभिलेख संधारित करेंगे। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ के एस मंडावी लीड बैंक अधिकारी पी एस ओड़िया उपस्थित थे। 

सरगुजा संभाग के इस जिले में 26 अप्रैल से 5 मई तक बढ़ी लॉकडाउन, आदेश जारी

सरगुजा संभाग के इस जिले में 26 अप्रैल से 5 मई तक बढ़ी लॉकडाउन, आदेश जारी

जशपुरनगर। छत्तीसगढ़ शासन व भारत सरकार की ओर से जारी गाईडलाईन अनुसार कोरोना कोविड-19 नियंत्रण के संबंध में कलेक्टर महादेव कावरे ने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या लगातार वृद्धि होने के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के अनुक्रम में जिला जशपुर में सार्वजनिक आवागमन और अन्य गतिविधियों पर कड़े प्रतिबंध अधिरोपित किया जाना आवश्यक है।
कलेक्टर महादेव कावरे ने प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जषपुर जिला अन्तर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को 26 अपै्रल सुबह 6:00 बजे से 5 मई सुबह 6:00 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है। उपरोक्त दर्शित अवधि में जशपुर जिले के सभी सीमाएॅ पूर्णत: सील रहेगी। उपरोक्त अवधि में केवल मेडिकल दुकानों को अपने निर्धारित समय में खोलने की अनुमति होगी। मेडिकल दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देंगे। पेट्रोल पम्प संचालकों की ओर से केवल शासकीय वाहन,शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, ए.टी.एम. कैश वैन, अस्पताल, मेडिकल इमरजेंसी से संबंधित निजी वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, एम्बुलेंस, एल.पी.जी. परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहन, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, अन्तर्राज्यीय बस स्टैण्ड से संचालित ऑटो, टैक्सी विधिमान्य ई-पास धारित करने वाले वाहन एडमिट कार्ड, कॉल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थी, उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, पे्रस वाहन, न्यूज पेपर हॉकर, दुग्ध-वाहन तथा छत्तीसगढ़ में नहीं रूकते हुए एक राज्य से सीधे अन्य राज्य जाने वाले वाहनों को पी.ओ.एल. प्रदान किया जाएगा। वाहन चालक और वाहन में बैठने वाले व्यक्तियों को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। अन्य सभी वाहनों के लिए पी.ओ.एल. प्रदान करना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।
जिले के अंतर्गत लगने वाले समस्त साप्ताहिक बाजार, फल एवं सब्जी की दुकाने पूर्णत: बंद रहेंगे। शहरी क्षेत्र, कंटेनमेंट जोन, ग्रामीण क्षेत्रों में सब्जी, फल, राशन स्थानीय प्रशासन की ओर से घर पहुंच के तहत् सेवा देगा। ठेले वाले कॉलोनियों में जाकर सब्जी, फल, राशन सामग्री, खाद्य तेल, नमक, आटा, चिकन, मटन, मछली व अंडा घर पहुंच सेवा के माध्यम से विक्रय कर सकेंगे। लेकिन किसी दुकान से नहीं विक्रय कर सकेंगे।
कंटेनमेंट जोन अवधि 5 मई सुबह 6:00 बजे तक जशपुर जिला अन्तर्गत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में किराना दुकानदारों के द्वारा आवश्यक खाद्य सामग्री की आपूर्ति सुबह 8:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक घर पहुंच सेवा (होम डिलिवरी) के माध्यम से कोविड-19 के मापदंडों का पालन किया जा सकेगा, लेकिन दुकान खोलकर ग्राहकों को विक्रय नहीं किया जाएगा। ई-कामर्स जैसे- अमेजन, फ्लिपकार्ट, स्थानीय ऑनलाईन सेवा होम डिलिवरी से हो सकेगी लेकिन इसके लिए कोई दुकान नहीं खुलेगा। किराना दुकानों में खाद्य सामग्री परिवहन के माध्यम से अनलोडिंग का कार्य रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे के मध्य किये जाने की अनुमति रहेगी। दुग्ध वितरण, तथा न्यूज पेपर हॉकर द्वारा समाचार पत्रों में वितरण की समयावधि सुबह 8:00 बजे से सुबह 9:00 बजे तक एवं शाम 6:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक ही होगी। साथ ही यह स्पष्ट किया जाता है, कि दुग्ध व्यवसाय के लिए कोई भी दुकान, पार्लर नहीं खोले जाएंगे। केवल दुकान, पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी।
पैट शॉप, एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने के लिए सुबह 8:00 बजे से सुबह 9:00 बजे तक और शाम 6:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। जशपुर जिले में संचालित शासकीय उचित मुल्य की दुकान सुबह 8:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक टोकन सिस्टम सेनियमित रूप से संचालित होगी। शासकीय उचित मुल्य की दुकान के संचालन के समय दुकान के सामने रस्सी, बांस, बल्ली का घेरा लगाना आवश्यक होगा। दुकान संचालक को मास्क एवं सेनेटाईजर का उपयोग करना आवश्यक होगा तथा क्रेता को भी मास्क का उपयोग के साथ ही साथ 2 गज की दुरी बनाये रखना अनिवार्य होगा। शासकीय उचित मुल्य की दुकान के सामने क्रेताओं के लिए चुने का घेरा कराना आवश्यक होगा। एल.पी.जी. गैस सिलेन्डर की एजेंसियॉ केवल टेलीफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर लेंग तथा ग्राहकों को सिलेन्डरों की घर पहॅुच सेवा उपलब्ध कराएंगे। जशपुर जिले में संचालित राष्ट्रीय राजमार्ग से लगे हुए ढाबा (नगरीय क्षेत्र को छोड़कर) केवल खाना पार्सल करने की सुविधा रात 9:00 बजे तक रहेगी, ढाबा में बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी। राष्ट्रीय राजमार्ग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा आदि से संबंधित सभी विभागीय कार्य के लिए कर रहे मजदुरों और मशीनरी वाहन को कैम्प से कार्यस्थल तक ही जाने की अनुमति होगी। मजदूरों को कार्यस्थल पर ही कैंप में रहना होगा। औद्योगिक संस्थानों एवं निर्माण इकाईयों को अपने कैम्पस के भीतर ऑनसाईट मजदुरों को रखकर व अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योगों के संचालन और निर्माण कार्यो की अनुमति होगी। उक्त अवधि के दौरान सम्पूर्ण जिला अन्तर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णत: बंद रहेंगे।
उपरोक्त अवधि में जशपुर जिला अन्तर्गत सभी केन्द्रीय,षासकीय सार्वजनिक, अद्र्ध-सार्वजनिक एवं निजी कार्यालय बंद रहेंगे तथापि ए.टी.एम., टेलीकॉम, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग, कोविड कार्य के लिए राजस्व विभाग, मनरेगा कार्य, खाद्य सामग्री के थोक परिवहन, धान मिलिंग के लिए परिवहन को छोड़कर अन्य समस्त गतिविधियॉ बंद रहेगी। बैंक कार्यालयीन कार्य ग्राहक सेवा नहीं और ए.टी.एम. में पैसे डालने के लिए खुले रहेंगे। ए.टी.एम. में कोविड-19 के मापदंड का पालन कराने की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबंधित बैंक की होगी। उपरोक्त अवधि के दौरान को-मॉर्बिड, गर्भवती अधिकारियों, कर्मचारियों को एक्टिव डयूटी से छूट देते हुए बैंकों को हब-बैंकिंग सिद्धांत अनुसार न्यूनतम स्टाफ के साथ कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाती है, किन्तु सभी बैंक, शाखाएॅ सुबह 10:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक ही संचालित हो सकेंगी। उपरोक्त अवधि के दौरान केवल ए.टी.एम. कैश रि-फिलिंग, मेडिकल इक्विपमेंट, मेडिसिन, पेट्रोल,डीजल पंप, एल.पी.जी., पी.डी.एस.केरोसीन वितरक शासकीय उचित मूल्य दुकानदारों संबंधी लेन-देन, उद्योगों के व्यापारिक लेन-देन, श्रमिकों के भुगतान, मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति, लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादक, शासकीय लेन-देन, निविदा, अस्पताल एवं मेडिकल प्रयोजन को छोड़कर आम जनता के लिए किसी प्रकार के सामान्य लेन-देन की अनुमति नहीं होगी। इसके लिए शाखा प्रबंधक संबंधित व्यक्तियों से विधिवत आवेदन प्राप्त कर अभिलेख संधारित करेंगे। सभी प्रकार की सभा, जुलूस, सामाजिक, धार्मिक और राजनैतिक आयोजन इत्यादि पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगें। कोविड संक्रमण के रोकथाम के लिए जिले में समस्त कार्य जैसे-कांटेक्ट टेऊसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेगें। इन कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेगें।
अपरिहार्य परिस्थितियों में जशपुर जिले से अन्यत्र आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा तथापि प्रतियोगी, अन्य परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों के लिए उनका एडमिट कार्ड तथा टेलीकॉम और रख-रखाव कार्य या हॉस्पिटल या कोविड-19 ड्यूटी में संलग्न कर्मचारियों, चिकित्सकों की दशा में नियोक्ता द्वारा जारी आई.डी. कार्ड ई-पास के रूप में मान्य किया जायेगा। कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीयन, कोविड-19 जांच हेतु, मेडिकल दस्तावेज या आधार कार्ड, विधिमान्य परिचय-पत्र दिखाने पर कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र अस्पताल, पैथालॉजी लैब अथवा आने-जाने की अनुमति होगी किन्तु अनावश्यक भ्रमण सख्त प्रतिबंधित रहेगा।
आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 4 पहिया वाहनों में ड्राईवर सहित अधिकतम 3, ऑटो में ड्राईवर सहित अधिकतम 3 और दो पहिया वाहन में अधिकतम 2 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। बस स्टैण्ड, हॉस्पिटल आवागमन के लिए ऑटो, टैक्सी परिचालन की अनुमति रहेगी, किन्तु अन्य प्रयोजन के लिए पूर्णत: प्रतिबंध रहेगी। इस निर्देश का उल्लंघन किये जाने पर 15 दिवस हेतु वाहन जप्त करते हुये चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जाएगी। मीडियाकर्मी यथासंभव वर्क फ्राम होम द्वारा कार्य संपादित करेगें। अत्यावश्यक स्थिति में कार्य के लिए बाहर निकलने पर अपना आई-कार्ड साथ रखेगें तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करेंगे।
यह आदेश कलेक्टर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्ति जिला दंडाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय व उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय, अनुविभागीय दंडाधिकारी, तहसील, थाना और पुलिस चौकी पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था सेवा से संबंधित अधिकारी, विद्युत, पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवायें जिसमें सफाई, सीवरेज और कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है तथा अग्निशमन सेवाओं के संचालन के लिए संबंधित अधिकारियां, कर्मचारियों को कार्यालय संचालन एवं आवागमन की अनुमति होगी, किन्तु इनशासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। विवाह, अंत्येष्टि, दशगात्र अथवा उसमें संबंधित आवश्यक कार्यक्रम में फिजिकल डिस्टेसिंग के साथ मास्क का कड़ाई से उपयोग की शर्त के अधीन अधिकतम 10 व्यक्तियों को ही शामिल होने की अनुमति होगी। कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों को समय-समय पर हाथ धोना, सेनेटाईजर करना अनिवार्य होगा तथा कार्यक्रम के लिए नियमानुसार जिला दंडाधिकारी अथवा अनुविभागीय दंडाधिकारियों से लिखित अनुमति प्राप्त करना होगा। राज्य शासन के विशेष आदेश द्वारा अनुमति प्राप्त किसी सेवा के संचालन की अनुमति होगी। उपरोक्त बिन्दुओं को छोड़कर जिले में समस्त गतिविधियॉ पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगी।
कलेक्टर ने कहा कि इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति प्रतिष्ठानों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। यह आदेश अल्प समयावधि में लागू किया जाना आवश्यक है। वर्तमान परिस्थितियों में इस आदेश से प्रभावित होने वाले व्यक्तियों को सम्यक समय में तामीली संभव नहीं होने के कारण यह आदेश एकपक्षीय रूप से पारित किया जाता है। आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार तथा कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जावे। यह आदेश 26 अप्रैल सुबह 6.00 बजे से लागू होगा।
 

लॉकडाउन ब्रेकिंग : रायपुर और सूरजपुर के बाद अब इस जिले में लॉकडाउन 5 मई तक बढ़ा, पढ़ें पूरी खबर

लॉकडाउन ब्रेकिंग : रायपुर और सूरजपुर के बाद अब इस जिले में लॉकडाउन 5 मई तक बढ़ा, पढ़ें पूरी खबर

जशपुरछत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर बढ़ते ही जा रहा है | प्रदेश के सभी जिलों में लॉकडाउन लगाया जा चूका है | बीते दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सभी राज्य के मुख्यमंत्रियों से कोरोना संक्रमण को ले कर बैठक की थी | बैठक में पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों को अपने राज्य में कोरोना संक्रमण की दर देख कर लॉकडाउन को 5 मई तक आगे बढ़ाने का सुझाव दिए थे | इस सुझाव को मानते हुए छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कलेक्टरों को आदेश दिए थे कि वे अपने जिले में कोरोना संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय लें | इसी कड़ी में आज सूरजपुर और रायपुर जिले में लॉक डाउन बढ़ाने का निर्णय लिया गया है | सूरजपुर और रायपुर के बाद अब जशपुर जिले में भी 5 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया हैं। जशपुर जिले के कलेक्टर महादेव कावरे ने इसके आदेश जारी कर दिए है, इस दौरान फल, सब्जी, किराना सामान की होम डिलीवरी की छूट होगी।

 

स्रोत : IBC24 News

लाकडाउन का उल्लघंन करने वाले दो दुकान सील

लाकडाउन का उल्लघंन करने वाले दो दुकान सील

जशपुर । कलेक्टर के मार्गदर्शन और एसडीएम जशपुर आकांक्षा त्रिपाठी के दिशा निर्देश में लॉकडाउन मे नियमों का उललंघन किये जाने पर कड़ी कार्यवाही करते हुए आज तहसीलदार जशपुर लक्ष्मण राठिया ने दो दुकानो को लॉकडाउन अवधि के लिए सील कर दिया गया विदित हो की जिले मे लॉक डाउन की अवधि 26 अप्रैल तक बढ़ा दी गयीं है। तहसील अंतर्गत बाजार डाँड़ मे स्थित थोक व्यापारी अम्बिका सोनी द्वारा नियमों का उललंघन करने एवं नियत समय 6 से 9 के बाद भी दुकान मौके पर खुला पाये जाने के कारण तहसीलदार जशपुर लक्ष्मण राठिया, थाना प्रभारी जशपुर ध्रुव, रा नि गोविन्द सोनी, पटवारी तरुण खलखो, एवं पुलिसगण उपस्थित थे उसी क्रम मे सन्नारोड स्थित मिश्रा पशु आहार केंद्र संचालक शुभम मिश्रा के द्वारा नियत अवधि के बाद भी गोदाम खोल कर दुकान संचालित किया जा रही थी, जिसे मौके पर ही तहसीलदार एवं थाना प्रभारी द्वारा सील किया गया। 

अब इस जिले में लॉकडाउन को 26 अप्रैल तक बढ़ाया गया, जारी हुआ आदेश

अब इस जिले में लॉकडाउन को 26 अप्रैल तक बढ़ाया गया, जारी हुआ आदेश

जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में कोरोना का संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ रहा है. इसे देखते हुए एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गई है. कलेक्टर महादेव कावरे ने 18 अप्रैल की सुबह 6 बजे से 26 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है. कलेक्टर महादेव कावरे ने आदेश जारी किया है.
देखे आदेश:-
 

 कोरोना: इन गांवों में कोरोना विस्फोट होने के बाद कलेक्टर ने किया कन्टेनमेंट जोन घोषित

कोरोना: इन गांवों में कोरोना विस्फोट होने के बाद कलेक्टर ने किया कन्टेनमेंट जोन घोषित

जशपुर। प्रदेश के अधिकांश जिलों में लॉकडाउन के बाद भी लगातार बड़ी संख्या में नए संक्रमित मिल रहे हैं। इसके साथ कन्टेनमेंट जोन भी बढ़ते जा रहे है। जशपुर जिले के कुछ विकासखंडो में 5 से अधिक मरीज कोरना वायरस से संक्रमित मिले हैं। इन क्षेत्रों को कलेक्टर महादेव कावरें ने 20 अप्रैल तक कन्टेनमेंट जोन घोषित कर दिया हैं.

छत्तीसगढ़ में कोरोना के बारे में सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जशपुर विकासखंड के कदमटोली में 7 और भागलपुर में 8 व्यक्ति, पत्थलगांव विकासखंड के ग्राम मुड़ापारा, करंगा बहला बस्ती में 6 व्यक्ति के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर संबंधित ग्राम के निर्धारित परिधि क्षेत्र को 20 अप्रैल के रात्रि 12 बजे तक के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित किया है इस क्षेत्र में गतिविधियॉं निर्धारित हैं, जिसके तहत अत्यावश्यक सेवाओं जैसे -खाद्य आपूर्ति, आपातकालीन चिकित्सा सेवा को छोड़कर शेष सेवाएं पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगी। सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर अन्य किसी भी कारणों से घर से बाहर निकलना प्रतिबंधित होगा। कंटेन्मेंट जोन की निगरानी के लिए लगातार पुलिस पेट्रोलिंग की जाएगी। प्रभारी अधिकारी से कन्टेनमेंट जोन में होम डिलीवरी के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर सुनिश्चित की जाएगी।
+ Load More