कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
यहाँ हो रहा है बायें-दायें दुकान खोलने के आदेश का विरोध, संगठनों ने कल दूकान नही खोलने का लिया निर्णय

यहाँ हो रहा है बायें-दायें दुकान खोलने के आदेश का विरोध, संगठनों ने कल दूकान नही खोलने का लिया निर्णय

धमतरी। जिला प्रशासन के निर्देश पर नगर निगम से लागू किए गए बायें-दायें अनुसार दुकानें खोलने की व्यवस्था को लेकर व्यापारियों में आक्रोश है। व्यापारिक संगठनों ने इस निर्णय का विरोध करते हुए 17 मई को एक दिन दुकान बंद करने का निर्णय लिया है।
कोरोना वायरस के बचाव के लिए जारी लॉकडाउन के बीच कलेक्टर के निर्देश पर निगम आयुक्त ने शहर के कपड़ा, सराफा, मोबाइल आदि दुकानों को अलग-अलग दिन अलग-अलग क्षेत्र में खोलने की व्यवस्था की है। जिसका कुछ व्यापारी संगठनों ने विरोध किया है। व्यापारियों का कहना है कि जिला प्रशासन से समस्त व्यापारियों की 14 मई को नई कृषि उपज मंडी में बैठक लिया। जिसमें जनप्रतिनिधियों के अलावा चेंबर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारी उपस्थित थे। व्यापारियों से सुझाव दिया गया था और व्यापारियों ने लॉकडाउन का पूर्णत: पालन करने का आश्वासन दिया था। लेकिन जिस तरह आदेश जारी हुआ उससे व्यापारी संतुष्ट नहीं हैं। धमतरी चेंबर ऑफ कामर्स, चिल्हर किराना व्यापारी संघ, धमतरी सराफा संघ, मोबाइल शॉप, फुट वियर संघ, इलेक्ट्रानिक फर्नीचर संघ, चिल्हर मनिहारी संघ, डिस्ट्रीब्यूटर संघ ने इस विरोध के चलते एक दिन व्यापार बंद करने का निर्णय लिया है।
 

छत्तीसगढ़ में शराब की होम डिलीवरी सरकारी गाड़ी से...

छत्तीसगढ़ में शराब की होम डिलीवरी सरकारी गाड़ी से...

धमतरी । छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार ने शराब की होम डिलीवरी जब से शुरू की है प्रदेश में नए-नए कारनामें विभाग के सामने आ रहे हैं। पहले ही दिन सरकार को 4 करोड़ से ज्यादा की आमदनी शराब के ऑनलाइन आर्डर से हुई। इसके बाद प्रदेश में शराब की समय पर डिलीवरी नहीं होने से विभाग को शराब प्रेमियों की आलोचना भी झेलनी पड़ी, लेकिन अब तो हद ही हो गई, सरकारी वाहन से शराब की डिलीवरी की खबर धमतरी से सामने आई है।
छत्तीसगढ़ में आबकारी विभाग की सीजी 02 पासिंग की सरकारी सूमो को धमतरी में शराब की होम डिलीवरी करते देखा गया है। मीडिया की सक्रियता से घबराए वाहन चालक और डिलीवरी ब्वाय ने पहले गाड़ी नेशनल हाइवे स्थित आबकारी कंट्रोल रूम में ले गया, लेकिन वो भी बंद था। वहीं लगातार सवालों के बाद ड्राइवर ने गाड़ी को वापस वहीं ले जाना उचित समझा जहां से वो निकली थी। यानि रत्ना बांधा रोड स्थित अंग्रेजी शराब दुकान, और सूमो में रखा सारा माल वापस दुकान में रख दिया गया।
यह वाहन विभाग के अधिकारियों को सरकारी काम काज के लिए मिला है। चालक भी शासकीय सेवक है, वाहन में अंग्रेजी शराब की खेप भरी मिली और उन ग्राहकों की लिस्ट भी थी जिन्हें शराब डिलीवर करना था। डिलीवरी ब्वाय भी लिस्ट लेकर बैठा हुआ था। हमारे सवालों के जवाब में शासकीय वाहन चालक ने सिर्फ इतना ही कहा कि, जैसा आदेश होता है हम वैसा ही काम करते हैं। इसके अलावा किसी भी सवाल का जवाब उसके पास नही था। वहीं धमतरी क्लेक्टर ने इस मामले को गंभीर मांना है, कलेक्टर ने कहा है कि इस गलती के जिम्मेदार को जांच के बाद नोटिस जारी किया जाएगा।
 

 तेंदुआ ने मासूम को बनाया शिकार, बच्चे की दर्दनाक मौत

तेंदुआ ने मासूम को बनाया शिकार, बच्चे की दर्दनाक मौत

धमतरी। छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के नगरी इलॉके में अपने दोस्तों के साथ जंगल पहाड़ी की ओर चार खाने गए मासूम बच्चे को जान गवानी पड़ी। उस क्षेत्र में मौजूद तेंदुआ ले हमला कर उसे घायल कर दिया नगरी अस्पताल लाने पर डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। तेंदुआ के हमले से पहली बार उस क्षेत्र में किसी इंसान की मौत हुई है अब तक जानवरों को ही घायल किया करता था। वन विभाग की टीम अस्पताल पहुंच गई है।

मिली जानकारी के अनुसार थाना नगरी के सड़कपारा मुकुंदपुर के कुछ लोग लकड़ी के लिए जंगल की ओर गए थे। जिसमें यही का निवासी आशीष 8 वर्ष पिता विशंभर अपने दोस्तों के साथ भी गया हुआ था। लकड़ी वाले वापस लौट रहे थे। आशीष अपने दोस्तों के साथ चार खाने रुक गया ।दोस्त आगे चल रहे थे यह थोड़ा पीछे हो गया 

तभी तेंदुआ ने उस पर हमला कर उसे ले गया। उसके दोस्त भागते गांव पहुंचे और लोगों को इसकी जानकारी दी। सभी ग्रामीण अगस्त्य ऋषि आश्रम की तरफ दौड़े, तो देखा तेंदुआ बच्चे को पकड़ा हुआ था। शोर मचाने के बाद तेंदुआ भाग खड़ा हुआ। घायल आशीष को तुरंत नगरी अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही रेंजर जी एस परमार, डिप्टी रेंजर गोपाल वर्मा सहित वन विभाग की टीम पहुंच गई।

प्रशिक्षु आईफएस और नगरी रेंज के एसडीओ आलोक बाजपेई ने बताया कि इस क्षेत्र में बीच-बीच में तेंदुआ की जानकारी मिलती थी। अब तक जानवरों का ही शिकार करते थे,यह पहली घटना है जब किसी इंसान का शिकार किया गया है। उन्होंने बताया कि मुआवजाका प्रकरण बनाकर भेजा जा रहा है। जल्दी उस परिवार को छह लाख की राशि दी जाएगी ।वन विभाग द्वारा आगे की कार्रवाई की जा रही है

डीएफओ सतोविशा समाजदार और वन विभाग ने लोगों से अपील की है कि गर्मी के दिनों में जंगली जानवर आक्रमक होते हैं और पानी की तलाश में वे निकलते हैं इसलिए ग्रामीण जंगलों की ओर न जाएं।
अक्षय तृतीया के लिए गुड्डे गुडियों की बिक्री शुरू लॉकडाउन की वजह से बिक्री पर सीधा असर

अक्षय तृतीया के लिए गुड्डे गुडियों की बिक्री शुरू लॉकडाउन की वजह से बिक्री पर सीधा असर

धमतरी। वैशाख मास की तृतीया तिथि का हिंदू धर्म में बहुत विशेष महत्व है। इस दिन को अक्षय तृतीया और भगवान परशुराम के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस बार अक्षय तृतीया 14 मई शुक्रवार को मनाई जाएगी। यह तिथि बहुत ही पवित्र मानी जाती है। यह तिथि सभी पापों का नाश करने वाली और सुखों को प्रदान करने वाली मानी गई है। इस दिन लोग सोने, चांदी और अन्य चीजों की खरीदारी करते हैं। इसके साथ ही इस दिन भगवान विष्णु, परशुराम और मां लक्ष्मी की पूजा का विधान है।
अक्षय तृतीया के दिन अबूझ मुहूर्त रहता है। इस दिन कोई भी शुभ कार्य बिना मुहूर्त देखे किया जा सकता है। इस दिन दान-पुण्य करने से अक्षय फल कभी न समाप्त होने वाला की प्राप्ति होती है। इस दिन लोग सोने चांदी से बनी चीजों की विशेष तौर पर खरीददारी करते हैं। मान्यता है कि इस दिन खरीदी गई चीज में हमेशा बढ़ोत्तरी होती है और सोना खरीदने से सुख-समृद्धि आती है। इस पावन तिथि पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से घर में धन-धान्य आता है। भगवान परशुराम ने भी इसी दिन जन्म लिया था। इसलिए इस दिन उनकी पूजा करने से भी विशेष फल की प्राप्ति होती है।
इस वर्ष यह तिथि लॉकडाउन के बीच में आई है। इस वजह से व्यापार नहीं होगा। इस दिन शादियां भी अधिक होती है। लेकिन सीमित लोग ही शादी में शामिल होंगे। इस तिथि में गुड्डा गुडिया का विवाह भी कराया जाता है। जिसकी बिक्री के लिए कुम्हार मकई चैक में बैठे हुए ग्राहक का इंतजार कर रहे हैं। 14 मई तक यहां पर बैठेंगे। इस बार व्यापारियों को व्यवसाय की काफी उम्मीद थी लेकिन लॉकडाउन की वजह से सब धरा का धरा रह गया।


शुभ कार्य के लिए मुहुर्त शुद्धि की जरुरत नहीं:-
विप्र विद्वत परिषद धमतरी ने बताया कि देव पंचाग के अनुसार इस वर्ष 14 मई को अक्षय तृतीया अक्ति और भगवान विष्णु के छठवें अवतार परशुराम का प्राकटय उत्सव का पर्व मनाया जाएगा। परिषद के मीडिया प्रभारी पंडित राजकुमार तिवारी ने बताया कि हिन्दु मान्यताओं के अनुसार अक्षय तृतीया को वर्ष का सबसे शुभ दिन माना जाता है। किसी भी शुभ कार्य के लिए मुहुर्त शुद्धि की जरुरत नही होती है। अक्षय तृतीया को पुण्य का तीन गुना फल देने वाली तिथि कही जाती है। इस दिन दान पुण्य करने से कभी क्षय नहीं होता।
इसी दिन किसान ग्रमीण देवता ठाकुर देवता का पूजा पाठ साथ मे परसा पत्ते का दोना बनाकर उसमे धान भरकर देवों पर चढ़ाते हैं। उसी धान को अच्छी फसल होने की कामना करते हुऐ फसल बोनी का कार्य प्रारंभ करते हैं। विवाह और पाणीग्रहण गोधोली बेला मे करने को शुभ मुर्हुत माना जाता है। इस कारण यह अक्षय तृतीया अक्ति का विशेष महत्व है। परिषद ने अपील की है की कोविड 19 की शासन प्रशासन के गाईड लाईन के अनुसार उपरोक्त पर्व को हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाए। अपने घर पर रहें और सुरक्षित रहें।
 

  धमतरी जिले में प्रभारी मंत्री लखमा 11 मई को वीसी के जरिए लेंगे जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों की बैठक

धमतरी जिले में प्रभारी मंत्री लखमा 11 मई को वीसी के जरिए लेंगे जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों की बैठक

धमतरी। उद्योग मंत्री कवासी लखमा 11 मई को कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों की बैठक लेंगे। दोपहर दो से तीन बजे के बीच आयोजित उक्त वीसी में जिला स्तरीय अधिकारी, विधायक, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, व्यापारीगण, सामाजिक कार्यकर्ता, स्थानीय जनप्रतिनिधि, अस्पताल संचालक तथा राजनीतिक प्रतिनिधि शामिल होंगे।

आज इस जिले में 357 संक्रमित नए मरीजों की हुई पहचान

आज इस जिले में 357 संक्रमित नए मरीजों की हुई पहचान

धमतरी। जिले में 24 घंटे के अंदर 357 कोरोना संक्रमित मरीज की पहचान हुई है। जिले में नए मिले संक्रमितों में से धमतरी ग्रामीण से 85, कुरूद ब्लाक से 79, नगरी से 117, धमतरी शहर से 30 और मगरलोड से 38 संक्रमित मरीज हंै। वहीं शुक्रवार की रात को धमतरी ग्रामीण से 4, कुरूद ब्लाक से 0, नगरी से 3, धमतरी शहर से 1 और मगरलोड से 0 पहचान हुई है।
धमतरी ग्रामीण से 1, कुरुद से 4, मगरलोड से 1, नगरी से 1 और धमतरी शहर से 2 संक्रमित मरीज की मौत हुई है। जिले में अब तक कोरोना मृतकों की संख्या 445 हो चुकी है। अब तक मिले कुल संक्रमितों की संख्या 22611 हो चुकी है। जिसमें से एक्टिव केस की संख्या 6519 है। शनिवार को 462 संक्रमितों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज दिया गया, अब तक कुल 15648 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।
जिले के अन्य स्थानों में मिले मरीजों के अलावा शहर से मराठा पारा, डीसीएच कैम्पस, मैत्री विहार कॉलोनी, जोधापुर, रिसाईपारा, गुजराती कॉलोनी, हटकेशर, पंचवटी कॉलोनी, घड़ी चैक, सोरिद नगर, बालक चैक, गोकुलपुर, रत्नाबांधा रोड, सुभाष नगर आदि शामिल हैं।
 

18़+ युवाओं में टीका लगवाने दिखा उत्साह लेकिन शुरू के 2 घंटे बाद ही ...

18़+ युवाओं में टीका लगवाने दिखा उत्साह लेकिन शुरू के 2 घंटे बाद ही ...

धमतरी। कोर्ट के आदेश और राज्य सरकार के फैसला के बाद 8 मई से अंत्योदय, बीपीएल के साथ एपीएल के लोगों को भी टीकाकरण शुरू किया गया। एपीएल के युवाओं में जबरदस्त उत्साह देखा गया। शुरू के 2 घंटे में ही लगभग सभी सेंटर में एपीएल का कोटा खत्म हो गया। हालांकि अंत्योदय और बीपीएल में बहुत कम लोग पहुंचे। जिससे एपीएल के युवाओं को निराशा हुई।
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 65 प्लस के बाद 45 से 59 और फिर अब 18 प्लस युवाओं को टीका लगाया जा रहा है। राज्य सरकार ने 1 मई से टीका की स्थिति को देखते हुए सिर्फ अंत्योदय वालों को टीका लगाने के लिए आदेश जारी किया। इसके बाद बीपीएल फिर एपीएल कहा गया था। कोर्ट के सख्त टिप्पणी के बाद राज्य सरकार ने अब अंत्योदल बीपीएल और एपीएल के लिए टीकाकरण शुरू कर दिया है। सभी केन्द्रों में डोज को 3 बराबर भागों में बांटा जा रहा है। धमतरी के ज्यादातर केन्द्र में 210 डोज पहुंचे। जिसमें से तीनों केटेगरी को 70-70 डोज मिले। शुरू के लगभग 2 घंटे में ही एपीएल का कोटा खत्म हो गया। जबकि अंत्योदय और बीपीएल का कोटा शाम तक बचा रहा। जिससे एपीएल के युवाओं को निराशा हुई। कुछ लोगों ने नाराजगी भी जाहिर की।

 2 लाख 3 हजार 185 डोज लग चुका:-
स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार 7 मई तक 1 लाख 68 हजार 711 लोगों को पहला डोज और 34 हजार 474 लोगों को सेकंड डोज लग चुका है। पूर्व में 18 से 44 वर्ष 2470 अंत्योदय वालों के लिए लक्ष्य रखा गया था। जिसमें सिर्फ 748 लोगों ने ही टीका लगाया है। 45 प्लस के लिए 1 लाख 60 हजार 753 लोगों का लक्ष्य रखा गया था। जिसमें से 96 फीसदी लोगों ने टीका लगवा लिया है। इसी तरह 8121 हेल्थ वर्कर में 89 फीसदी और फ्रंट लाइन वर्कर के 6472 लक्ष्य में 87 फीसदी लोगों ने टीका लगवाया है। धमतरी शहर में अभी भी लक्ष्य के अनुपात में 3480 लोगों ने टीका नहीं लगवाया है।
 

उधारी रकम मांगने गए युवक पर हमला, पुलिस ने दर्ज किया अपराध

उधारी रकम मांगने गए युवक पर हमला, पुलिस ने दर्ज किया अपराध

कुरुद। उधारी रकम मांगने गए एक युवक पर ग्राम मेडरका में जनपद सदस्य के पति सहित उसके तीन भाइयों ने मारपीट कर घायल कर दिया। जिसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने अपराध दर्ज किया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम मेडरका निवासी मुकेश चंद्राकर पिता अलखराम चंद्राकर का दोस्त ग्राम दहदहा निवासी सोमेश चंद्राकर मेडरका में नेतराम साहू से उधारी पैसा मांगने 6 मई को गया था। रात्रि करीबन 8 बजे दोनों नेतराम साहू के घर गए थे। इसी दौरान उधारी पैसे की बात को लेकर उसका बड़ा भाई परदेशी राम साहू और उसका भांजा तुलाराम साहू अश्लील गाली गलौज, झगड़ा विवाद करते हुए हाथ मुक्कों से मारपीट की। इस बात को लेकर दूसरे दिन सुबह 9 बजे कुरुद जनपद सदस्य के पति मिलन साहू जो नेतराम का छोटा भाई हैं। ने बात करने के लिए फोन कर घर के पास बुलाया। जैसे ही पहुंचा नेतराम, मिलन और तुलाराम ने मिलकर बहुत दादागिरी करता है, कहते हुए अश्लील गालियां देकर डंडे से मारपीट की। झगड़ा मारपीट को सुनकर बीच बचाव करने आए उसके भाई मिथलेश चंद्राकर को भी तीनों ने मिलकर पिटाई कर दी। मारपीट से प्रार्थी मुकेश चंद्राकर के सिर पर गंभीर चोटें आईं हैं। साथ ही हथेली, पीठ ,चेहरा और उसके भाई के बाएं हाथ, पीठ में चोटें आई हैं। प्रार्थी की रिपोर्ट पर पुलिस धारा 294,323,506 34 ताहि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना कर रही है।

मौत के बाद मोबाइल में आ रहा पॉजिटिव होने का मैसेज

मौत के बाद मोबाइल में आ रहा पॉजिटिव होने का मैसेज

धमतरी । काफी प्रयास के बाद भी कोरोना संक्रमण की चेन तोडने में कामयाबी हासिल नहीं हो पा रही है और ना ही मृत्यु दर का आंकड़ा भी नीचे लाए जाने में हम सफल हो रहे हैं । इसका कारण कहीं ना कहीं लक्षणात्मक एवं धनात्मक मरीजों की हो रही टेस्ट की रिपोर्ट में विलंब आने को माना जा रहा है। क्योंकि जो व्यक्ति संक्रमित पॉजिटिव रिपोर्ट आता है उसके बहुत सारे संपर्क टेस्ट व रिपोर्ट आने के अंतराल में हो जाए रहते हैं और संक्रमण का फैलाव हो जाता है। विशेषकर यहां बात ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण बढने का महत्वपूर्ण कारण माना जा रहा है। प्रशासन मितानिनों के समक्ष कोरोना वायरस दवाई किट उपलब्ध कराएं जाने के बाद भी उसे लेने में लापरवाही भी मौत का एक कारण बन रही है। ऐसे ही घटना समीपस्थ ग्राम लोहारसी के 35 वर्षीय एक युवक जिसके परिवार में उसके अलावा पत्नी व दो बच्चे हैं उनके साथ घटी और वह सुबह 4 बजे जब शासकीय अस्पताल पहुंचा तो उसकी मृत्यु हो गई थी। उस व्यक्ति की अंतिम क्रियाक्रम हो जाने के बाद मोबाइल पर कोरोना वायरस से संक्रमित होने की रिपोर्ट का मैसेज प्राप्त हुआ, लेकिन समय निकल चुका। उनके परिजनों को सूचित किए जाने पर नगर निगम के पूर्व सभापति व अधिवक्ता राजेंद्र शर्मा वहां पहुंचे।
00 रिपोर्ट के विलंब से संक्रमण व मृत्युदर का आंकड़ा बढ़ रहा: राजेंद्र शर्मा
नगर निगम के पूर्व सभापति राजेन्द्र शर्मा ने कहा ै कि विपरीत परिस्थितियों में स्वास्थ्य सेवा से जुड़े हुए लोग अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। किंतु किसी न किसी रूप में यदि टेस्टिंग रिपोर्ट अविलंब आती है तो वे संक्रमण की चेन को तोडने और मृत्यु दर को नीचे लाने में कामयाबी हासिल की जा सकती है। प्रदेश सरकार को इस व्यवस्थागत खामी को दूर करने के लिए सार्थक कदम उठाने की आवश्यकता है इस संबंध में उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र भी लिखा है। साथ ही श्री शर्मा ने लक्ष्मण वाले लोगों को प्राथमिक उपचार के लिए मितानिनों के पास उपलब्ध दवाओं की किट को उपयोगिता मे लाने का आग्रह भी किया है।
 

कोविड काल के रियल हीरो से मिलने नेता प्रतिपक्ष के साथ पार्षद पहुंचे शमशान घाट

कोविड काल के रियल हीरो से मिलने नेता प्रतिपक्ष के साथ पार्षद पहुंचे शमशान घाट

धमतरी। कोरोना संक्रमण के इस कठिन दौर में पूरे सेवा व संस्कार के साथ हर धर्म की भावनाओं को अपने में आत्मसात करते हुए, अंतिम संस्कार करने वाले वर्तमान समय में समाज के रियल हीरो की तरह अपनी भूमिका निभा रहे युवाओं के बीच भाजपाई पार्षद पहुंचे।
नगर निगम के सुभाष साहू, ओंकार निषाद, जगनंदन राजपूत, वीरेंद्र साहू, रितेश टंडन, खिलेश्वर साहू, ओंकार निर्मलकर, सुरमुख चौहान आदि इन रियल हीरो और फ्रंटलाइन वारियर्स से मिलने नेता प्रतिपक्ष नरेंद्र रोहरा, नगर निगम के पूर्व सभापति और वर्तमान पार्षद राजेंद्र शर्मा, आमापारा के पार्षद व भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष विजय मोटवानी मुख्य नहर किनारे स्थित श्मशान घाट पहुंचे। उनकी समस्याओं से वाकिफ भी हुए।
नेता प्रतिपक्ष श्री रोहरा ने निगम के उक्त कार्य के प्रभारी अधिकारी से कहा कि समाज के सामने आई इस भीषण तथा चुनौतीपूर्ण दौर में हम सबको सेवा दे रह,े उक्त सेवाधारियों को समस्या मुक्त रखना हमारा नैतिक धर्म है। निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा ने आने वाले बारिश से पूर्व अंतिम संस्कार करने के लिए निगम को परेशानी ना हो उससे पूर्व शेड बनाने और विद्युत शवदाह मशीन को वर्तमान समय की अनिवार्य व महत्वपूर्ण आवश्यकता बताते हुए, उक्त कार्यों को अविलंब पूरा करने के लिए निगम के जिम्मेदार लोगों से मांग की।
पार्षद विजय मोटवानी ने संकट के इस गंभीर व कठिन दौर में अपनी जान जोखिम में डालकर सेवा दे रहे अग्रिम पंक्ति के इन कोरोना वाँरियरो को प्रोत्साहित व हर संभव सहयोग प्रदान करने को अपना धर्म व कर्तव्य निरूपित किया है। इस अवसर पर श्मशानघाट घाट में स्वच्छता प्रभारी शशांक मिश्रा, स्वास्थ्य निरीक्षक योगेश निषाद, राजस्व अधिकारी निखिल चंद्रांकर, उप अभियंता कामता नागेन्द्र सिन्हा उपस्थित रहे।
 

बड़ी खबर : इस मेडिकल स्टोर का संचालक कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद खोल कर बैठा मेडिकल, प्रशासन ने किया सील

बड़ी खबर : इस मेडिकल स्टोर का संचालक कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद खोल कर बैठा मेडिकल, प्रशासन ने किया सील

धमतरी | ग्राम छाती में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही, वहीं छाती स्थित कबीर मेडिकल दुकान संचालक कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद मेडिकल खोल के बैठे थे।

इस पर गठित संयुक्त दल जिसमें राजस्व, पुलिस और पंचायत का अमला सम्मिलित है, ना केवल उस दुकान को जाकर बंद करवाया बल्कि उसे सील कर दुकान संचालक के खिलाफ एफ.आई.आर. कराई गई।
अनुविभागीय अधिकारी धमतरी चंद्रकांत कौशिक ने बताया कि इस तरह की जानलेवा लापरवाही से गांव में संक्रमण तेजी से फैलेगा और प्रशासन से कोरोना रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों में दिक्कतें बढ़ेंगी। इसके मद्देनजर इस दुकान को सील कर दुकान संचालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

झोला छाप डाॅक्टरों पर कड़ी निगाह रखने जिला दण्डाधिकारी ने अधिकारियों को दिए निर्देश

झोला छाप डाॅक्टरों पर कड़ी निगाह रखने जिला दण्डाधिकारी ने अधिकारियों को दिए निर्देश

धमतरी। जिले के कुछ क्षेत्रों में बिना योग्यता के झोला छाप डाॅक्टरों ने कोरोना संक्रमण संबंधी दवाइयां लेने की सलाह लोगों को दी जा रही है, जो कि पूरी तरह अवैधानिक है। इसके मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जय प्रकाश मौर्य ने जिले में संचालित सभी क्वैक/झोलाछाप डाॅक्टरों पर कड़ी निगाह रखने का जिम्मा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, आयुक्त नगरपालिक निगम धमतरी, सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी और सहायक नियंत्रक खाद्य और औषधि नियंत्रण को सौंपा है। उन्होंने स्वास्थ्य, राजस्व एवं पुलिस विभाग के संयुक्त दल को ऐसे झोलाछाप डाॅक्टरों के विरूद्ध अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। जिला दण्डाधिकारी ने दवा दुकान संचालकों को भी कड़े शब्दों में निर्देशित किया है कि बिना डाॅक्टरी पर्ची के किसी भी व्यक्ति को दवा का विक्रय नहीं किया जाए।  

जिले में रविवार को पहुंच रहे आठ वेंटीलेटर

जिले में रविवार को पहुंच रहे आठ वेंटीलेटर

धमतरी। जिले में रविवार दो मई को 110 जंबो सिलेंडर की दूसरी खेप आ रही है। गौरतलब है कि सांसद, विधायक निधि की राशि का उपयोग करते हुए कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने मुम्बई की कंपनी को 300 जंबो सिलेंडर खरीदने अप्रैल माह में मांग पत्र प्रेषित किया था। फलस्वरूप पिछले दिनों पहली खेप के तौर पर 100 जंबो सिलेंडर जिले में आए और इसी कड़ी में रविवार को 110 जंबो सिलेंडर जिले में पहुंच रहे हैं। इसके अलावा डीएमएफ से जिले के मरीजों के लिए वेंटीलेटर खरीदने दिल्ली की उत्पादक संस्था को अप्रैल माह में मांग पत्र कलेक्टर ने भेजा था। उक्त निजी संस्था ने भेजे जा रहे आठ वेंटीलेटर भी कल ही धमतरी जिले में आ जाएंगे। कलेक्टर ने बताया है कि इन आठ वेंटीलेटर की टेस्टिंग कर कल शाम तक ही इंस्टालेशन की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।  

शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलिंडर की उपलब्धता व विश्लेषण के लिए टीम गठित

शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलिंडर की उपलब्धता व विश्लेषण के लिए टीम गठित

धमतरी। नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत करते हुए जिले के शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलिंडर की मांग एवं आपूर्ति का विश्लेषण कर रिपोर्टिंग करने के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जयप्रकाश मौर्य ने दल का गठन किया है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मयंक चतुर्वेदी इसके नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी आदेश के अनुसार सहायक परियोजना अधिकारी (मनरेगा) धरम सिंह सहायक नोडल अधिकारी, जिला चिकित्सालय धमतरी के ऑक्सीजन प्लांट टेक्नीशियन प्रेमलाल प्रजापति को दल के तकनीकी सदस्य के तौर पर नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार अनुविभागीय अधिकारी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा उपसंभाग धमतरी शिवप्रसाद सिन्हा, अनुविभागीय अधिकारी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा उपसंभाग कुरूद बी.आर. पाल, अनुविभागीय अधिकारी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा उपसंभाग मगरलोड श्रीमती अश्विनी चतुर्वेदी तथा अनुविभागीय अधिकारी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा उपसंभाग नगरी आर.एस. नाग को उक्त दल के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है। आदेश में कहा गया है कि उक्त दल के सभी सदस्यों का यह दायित्व होगा कि विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से समन्वय स्थापित कर संबंधित ब्लॉक में स्थित शासकीय अस्पतालों में कुल ऑक्सीजन बेड की संख्या, ऑक्सीजन बेड पर मरीजों की संख्या, उपलब्ध बिस्तरों की संख्या, उपलब्ध ऑक्सीजन सिलिंडर की संख्या, सिलिंडरों की अवधि एवं क्षमता, भविष्य की मांग और ऑक्सीजन बेड क्षमता का विस्तार व ऑक्सीजन सिलिंडर की मांग एवं आपूर्ति का विश्लेषण कर नोडल अधिकारी को प्रतिदिन प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। 

 जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में स्थापित किए जाएंगे कोविड कॉल सेंटर, आदेश जारी

जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में स्थापित किए जाएंगे कोविड कॉल सेंटर, आदेश जारी

धमतरी। कोरोना वायरस कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए तथा जिले की ग्राम पंचायतों में स्थापित आइसोलेशन सेंटर में समन्वय स्थापित करने के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री जयप्रकाश मौर्य ने प्रत्येक ग्राम पंचायत में कोविड कॉल सेंटर स्थापित करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर के निर्देशानुसार जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मयंक चतुर्वेदी के द्वारा तत्संबंध में आदेश जारी कर कोविड कॉल सेंटर स्थापित कर विभिन्न गतिविधियों का संचालन करने तथा आइसोलेशन सेंटरों में रह रहे कोविड-19 के धनात्मक मरीजों व उनके परिजनों की मॉनिटरिंग करने, दवाओं का समयानुसार सेवन करने व कोविड के लक्षण के आधार पर पूछताछ कर जानकारी एकत्रित करने कहा गया है। आदेश में कहा गया है कि आइसोलेशन सेंटर एवं होम आइसोलेशन के संचालन के संबंध में उपरोक्त उत्तदायित्व के अलावा प्रत्येक ग्राम पंचायत में होम आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से पालन करने के लिए कोविड कॉल सेंटर स्थापित कर वहां स्वतंत्र रूप से वॉलिंटियर्स या ग्राम पंचायत स्तर पर पदस्थ कर्मचारियों, स्वसहायता समूहों की सक्रिय महिला की नियुक्ति की जा सकती है। मरीजों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए वहां सतत् निगरानी रखने के लिए संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच पंचायत दर पर कर्मचारी रख सकते हैं। कोविड कॉल सेंटर के संचालन के लिए उपयोग में लाए जा रहे दूरभाष नंबरों को पंचायत स्तर पर सार्वजनिक स्थानों पर लेखन व प्रसारित किए जाने के निर्देश भी दिए गए हैं। होम आइसोलेशन एवं पंचायत आइसोलेशन सेंटर के उपचारित मरीजों का पंजी संधारण करने एवं प्रतिदिन कम से कम दो-तीन बार मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उनकी अद्यतन स्थिति दूरभाष से प्राप्त कर पंजी में संधारित करने, मरीजों द्वारा नियमित दवाइयों का सेवन, उनका ऑक्सीजन स्तर एवं तापमान की जानकारी लेने के अलावा मितानिनों द्वारा दी जा रही सेवाओं के संबंध में जानकारी रखने के निर्देश दिए गए हैं। आदेश में यह भी कहा गया है कि संक्रमण के प्रभाव को नियंत्रित करने हेतु पूछताछ के दौरान होम आइसोलेशन के समीपस्थ परिवारों को घर में ही निवासरत रहने एवं कोविड धनात्मक मरीजों के परिवार के सदस्यों द्वारा कोविड के नियमों का उल्लंघन कर बाहर जाने के संबंध में सूचना एकत्रित करने व सूचित करने, मरीजों के स्वास्थ्य की गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुए स्वास्थ्य विभाग से समन्वय कर रिपोर्टिंग करने का भी दायित्व कॉल सेंटर को सौंपा गया है। साथ ही नवीन कोविड धनात्मक/लक्षणात्मक मरीजों के द्वारा आवश्यक चिकित्सकीय सहयोग एवं मितानिन किट, दवाई की मांग प्राप्त होने पर स्वास्थ्य विभाग या मितानिन को सूचना देने, आइसोलेशन सेंटर में मूलभूत सुविधा (स्वच्छ शौचालय, पेयजल, विद्युत व्यवस्था) की अद्यतन रिपोर्टिंग करने, शासन द्वारा निर्धारित किये गये टीकाकरण अभियान में संबंधित व्यक्तियों को दूरभाष के माध्यम से टीकाकरण तिथि की जानकारी एवं टीकाकरण हेतु प्रोत्साहित करने में सहयोग करने के भी निर्देश दिए गए हैं। इस संबंध में अनुभाग स्तर पर अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) एवं विकासखंड स्तर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत कोविड कॉल सेंटरों के नियमित संचालन हेतु सतत् मॉनिटरिंग करते हुए जिला कार्यालय को सूचित करने का आदेश दिया गया है।
डीईओ के फरमान से नहीं मिला शिक्षकों को वेतन

डीईओ के फरमान से नहीं मिला शिक्षकों को वेतन

धमतरी । जिला शिक्षा अधिकारी रजनी नेल्सन ने जिला के आहरण संवितरण अधिकारियों को फेरबदल किया गया है। जिसका खामियाजा शिक्षकों को भुगतना पड़ रहा है। अभी तक शिक्षको को मार्च माह का वेतन अप्राप्त है और शायद अप्रैल का वेतन भी मिल पाए इसकी संभावना कम दिखायी पड़ती है।
तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष राजेंद्र चन्द्राकर ने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी से मनमाने ढंग से आहरण संवितरण अधिकारियों को फेरबदल किया गया है। जिसके कारण न सिर्फ इस कोविड़ महामारी के दौर में शिक्षको को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है बल्कि प्रशासनिक तथा वित्तीय अधिकार दो अलग अलग अधिकारियों को दिए जाने से विभागीय कार्यो में भी कर्मचारियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिससे कार्यालय की व्यवस्था टकराव पूर्ण, बोझिल और हास्यस्पद प्रतीत हो रही है।
जिला शिक्षा अधिकारी के इस तुगलकी फरमान के कारण ही मृतक कर्मचारियों को तत्काल प्रदान की जाने एग्रेसिया राशि का अभी तक भुगतान नहीं हो पाया है। जिससे मृतक कर्मचारी के परिवार पर बेवजह आर्थिक और मानसिक दबाव का समाना करना पड़ रहा है। विभिन्न संघ संगठनों के से इस तुगलकी फरमान को निरस्त करने जिला शिक्षा अधिकारी से निवेदन किया गया था। किंतु कर्मचारी संगठन की बात को तवज्जो न देते हुए सम्बन्धित अधिकारी से संगठन के पदाधिकारियों के खिलाफ झूठी शिकायतों के आधार लेकर समाचार प्रकाशित कर दबाव बनाया जा रहा है।
तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के सदस्यों चन्दूलाल चन्द्राकर, राजेश साहू,संतलाल साहू, पवन बनस्कार, राजेश पाण्डेय, कमल सार्वा, महेंद्र साहू आदि ने यह मांग रखी कि शिक्षको के वेतन भुगतान, मृतक कर्मचारियों के एग्रेसिया राशि का भुगतान नही हो पाने की जिम्मेदारी जिला शिक्षा कार्यालय ले। विकासखण्ड शिक्षा कार्यालय कुरुद और नगरी में दो अधिकारियों के चक्कर मे बेवजह शिक्षकों को जो परेशानी हो रही है। उसे दूर करने हेतु तत्काल आदेश को निरस्त किया जाए। अन्यथा संगठन से आंदोलन किया जाएगा।
 

 कोरोना संक्रमण काल में अफवाह और गलत बातों का प्रचार करने से सबको बचना चाहिए-कलेक्टर

कोरोना संक्रमण काल में अफवाह और गलत बातों का प्रचार करने से सबको बचना चाहिए-कलेक्टर

धमतरी। जिला प्रशासन ने इस खबर का खण्डन किया है, जिसमें कहा गया है कि लॉक डाउन के दौरान जिन परिवारों के घर पर राशन, पैसे खत्म हो गए और कहीं काम पर नहीं जा पा रहे, तो जिला कलेक्टर कार्यालय, पुलिस कंट्रोल रूम, एस.डी.एम. इत्यादि के नंबर पर कॉल कर परिवार के सदस्यों की संख्या बताकर राशन प्राप्त कर सकते हैं। वास्तविकता यह है कि खाद्य विभाग ने आगामी मई माह में बी.पी.एल. राशन कार्डधारी परिवारों के लिए व्यवस्था की है कि वे शासकीय उचित मूल्य की दुकान से मई और जून माह का चावल, माह मई में नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य ने कहा है कि महामारी के इस संक्रमण काल में सबको अफवाहों और गलत बातों का प्रचार करने से बचना चाहिए। इस तरह की खबर फैलाने वाले के विरुद्ध एफ.आई.आर. दर्ज की जाएगी। उन्होंने लोगों से अपील की है, कि सभी भ्रामक खबरों की पुष्टि कर लें और सकारात्मक रहकर इस कोरोना बीमारी से सुरक्षा और बचाव में जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सहयोग करें।
 बड़ी खबर: किराना सामान बेचते पकड़ाया कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति

बड़ी खबर: किराना सामान बेचते पकड़ाया कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति

धमतरी। 26 अपै्रल को धमतरी तहसील अंतर्गत आमदी नगर पंचायत में रहने वाला एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद वह अपने दुकान में ग्राहकों को सामान बेचते हुए पकड़ा गया। 

तहसीलदार और नगर पंचायत की संयुक्त टीम सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची और धारा 188 के तहत कार्यवाही की। प्राप्त जानकारी के मुताबिक नगर पंचायत आमदी के महावीर किराना स्टोर्स के संचालक पर यह कार्यवाही की गई है। इसी नगर पंचायत के 3 घरों में अलग-अलग लड़कों की शादी का कार्यक्रम चल रहा था। जिन्होंने लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर 10 लोगों की अनुमति लेकर अनेक लोगों को आमंत्रित कर भोजन कराया जा रहा था। इन तीनों परिवार पर 18900 रूपए की जुर्माना वसूली की गई है। इसके अलावा पेट्रोल पंप और वेल्डिंग दुकान में भी कार्यवाही की गई है। मंगलवार को गोलबाजार स्थित एक किराना व्यापारी शटर बंद कर ग्राहक को सामान दे रहा था। उसके खिलाफ भी जुर्माना वसूली की कार्यवाही की गई। प्रशासन की कार्यवाही लगातार जारी है।
 सोशल मीडिया में भाजपा नेता का समर्थन करने वाले जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष को कारण बताओं नोटिस जारी

सोशल मीडिया में भाजपा नेता का समर्थन करने वाले जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष को कारण बताओं नोटिस जारी

धमतरी। सोशल मीडिया में भाजपा नेता निरंजन सिन्हा से पोस्ट किए गए कांग्रेस सरकार के विरोध प्रदर्शन को समर्थन करने वाले, जिला कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष भरत नाहर को जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शरद लोहाना की अनुमति पर, महामंत्री आलोक जाधव ने कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे एक सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है। 

महामंत्री आलोक जाधव से जारी नोटिस में कहा कि भारतीय जनता पार्टी से छत्तीसगढ़ सरकार के विरोध में 25 अपै्रल को पूरे राज्य में अपने स्थान में धरना प्रदर्शन कर, सोशल मीडिया में फोटो, वीडियो पोस्ट किया गया था। धरना प्रदर्शन का एक फोटो धमतरी फ्रेंड्स गुप में भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष निरंजन सिन्हा से पोस्ट की गई थी। उक्त फोटो में भाजपा नेता ने हाथ में एक तख्ती लिया है। जिसमें भूपेश बघेल तुम शर्म करो दवाई की कालाबाजारी बंद करो का स्लोगन लिखा है। भरत नाहर ने उक्त फोटो को बढिया बताया। नोटिस में कहा कि हमारी पार्टी के सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भाजपा नेता से पोस्ट की गई फोटो को बढिया फोटो लिखकर समर्थन करना पार्टी की अनुशासनहीनता की परिधि में आता है।

7 दिनों के भीतर इस प्रकरण में उन्हें स्पष्टीकरण मांगा गया है। नहीं तो अनुशासनात्मक की कार्यवाही की जाएगी। इस संबंध में पूछे जाने पर भरत नाहर ने कहा कि मैं पार्टी का निष्ठावान कार्यकर्ता हंू। नोटिस के संबंध में जवाब पार्टी फोरम में ही देंगे।
 
 धमतरी लॉकडाउन : धमतरी जिले में आज से 9 दिनों तक रहेगी सख्ती, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

धमतरी लॉकडाउन : धमतरी जिले में आज से 9 दिनों तक रहेगी सख्ती, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

धमतरी। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए जिले में 5 मई की रात 12 बजे तक लॉकडाउन का दूसरा फेज लागू रहेगा। इस बार के लॉकडाउन को सख्ती से प्रभावी बनाया जाएगा। मंगलवार को पुलिस और प्रशासन की टीम ने सब्जी बाजार और मार्केट के अन्य इलाकों में घूम-घूमकर बंद कराया। वहीं कुछ छिपकर सामान बेच रहे लोगों पर भी ताबड़तोड़ कार्यवाही चल रही है।

कलेक्टर जेपी मौर्य ने जारी आदेश में कहा कि जनता की सुविधाओं को देखते हुए कुछ आवश्यक वस्तुओं को प्रतिबंध से मुक्त रखा गया था। लेकिन आम जनता द्वारा सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने और आवश्यक भीड़ बढने के कारण आदेश में दिए गए सुविधाओं को हटाया गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व के आदेश में सब्जी, फल, मीट, मछली की दुकानों को प्रातरू 8 बजे से 10 बजे तक दुकानों को खोलकर बेचने की सुविधा प्रदान की गई थी। इस आदेश के तहत सब्जी, फल, मछली की दुकानों को सुबह 8 बजे से 10 बजे तक बेचने की अनुमति रहेगी। परंतु दुकानदार किसी भी व्यक्ति, ग्राहक को अपने दुकान के समक्ष उपस्थित रखकर सामग्री बिक्री नहीं कर सकेगा।

दुकानदार उपरोक्त वस्तुओं की होम डिलीवरी प्रातरू 8 बजे से शाम 6 बजे तक कर सकेगा। दुकानदार होम डिलीवरी करने वाले कर्मचारी को हस्तलिखित पास जारी कर सकता है। दुकान खुलने की अवधि के दौरान दुकानों का शटर बंद रहेग। केवल होम डिलीवरी करने हेतु दुकानों का शटर एक चैथाई खुला रहेगा। दुकानों में खुले रूप से ग्राहकों को सामग्री की आपूर्ति किसी भी परिस्थिति में नहीं की जाएगी। उल्लंघन करते पाए जाने पर 200 रूपए अर्थदण्ड लिया जाएगा तथा 48 घंटे के लिए दुकानें सील बंद कर दी जाएगी।

वाहनों व ठेले में बेचने की अनुमति प्रातः 8 से 10 बजे के मध्य होगी। परंतु इन वस्तुओं की होम डिलीवरी सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक की जा सकेगी। दुग्ध काउंटर शाम 6 बजे तक खुले रह सकेंगे। परंतु ग्राहक को समक्ष उपस्थित होकर दूध बेचने की अनुमति नहीं रहेगी।
दूध बेचने वाले सायकल, मोटरसायकल और वाहनों में घूम-घूमकर प्रातरू 8 बजे से शाम 6 बजे तक होम डिलीवरी कर सकते हैं। पूर्व आदेश में किराना और जनरल स्टोर सुबह 8 बजे से 10 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई थी। इस आदेश को स्पष्ट किया कि केवल किराना दुकानें खुली रहेंगी। जनरल स्टोर्स की दुकानें बंद रहेंगी, ऐसे जनरल स्टोर्स जो खाद्य वस्तुओं चावल, दाल, तेल, मसाला इत्यादि के साथ जनरल स्टोर के सामान बिक्री करते हैं, ऐसे दुकानों को किराना दुकान माना जाएगा। शेष जनरल स्टोर पूर्णतरू बंद रहेंगे। इस आदेश के तहत किराना स्टोर्स, किराना सह जनरल स्टोर्स को प्रातरू 8 से 10 बजे तक खोलने की अनुमति रहेगी।

 
 इतवारी बाजार के सब्जी पसरा में अनियंत्रित होकर घुस गई पिकअप, हादसे में 2 महिला जख्मी

इतवारी बाजार के सब्जी पसरा में अनियंत्रित होकर घुस गई पिकअप, हादसे में 2 महिला जख्मी

धमतरी। इतवारी बाजार सब्जी पसरा में पिकअप वाहन के अनियंत्रित होकर घुस जाने से एक बाइक क्षतिग्रस्त हुआ है। वहीं 2 महिलाएं जख्मी हुई हैं जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस पिकअप चालक को पकड़कर ले गई। 

लॉकडाउन के बाद हर रोज सुबह 8 से 10 बजे तक इतवारी बाजार में सब्जी पसरा लगता है। इसके अलावा थोक सब्जी मंडी बंद होने के कारण कई थोक सब्जी विक्रेता वाहनों में सब्जी लेकर बेचने के लिए पहुंचते हैं और इसी स्थान पर बोली भी लगती है। जिसके कारण हर रोज सुबह से भारी भीड़ हो जाती है। पिछले वर्ष लॉकडाउन में लोगों की ऐसी ही भीड़ लगती थी। नियंत्रण के लिए बाजार के दोनों छोर में बेरिकेट्स लगाकर पुलिस तैनात किया जाता रहा। इस साल सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं होने से भीड़ के बीच चारपहिया वाहन लाते-ले जाते हैं। 

सोमवार को सुबह करीबन 9ः30 बजे इतवारी बाजार के मछली पसरा के सामने एक अनियंत्रित पिकअप वाहन क्रमांक सीजी 05 एफ 1848 भीड़ में घुस गई। इस वाहन ने सब्जी पसरा को रौंदते हुए खड़ी मोटरसायकल को अपनी चपेट में ले लिया। इसके बाद भी वाहन दौड़ता रहा जिससे बाजार में अफरा-तफरी मच गई। कुछ दूर में जाकर पिकअप हाथ ठेला में जा टकराया जिससे ठेला पलट गया। तब पिकअप वाहन रूक पाया। इस हादसे में सब्जी बेच रही उषा साहू के पैर में चोटें आई और उसकी सब्जी पूरी तरह नष्ट हो गई। 

इसी मार्ग से काम पर जा रही चंदा बाई बांसपारा को भी इस वाहन ने ठोकर मार दिया जिससे उसके हाथ में चोटें आई है। इसके अलावा मिट्टी के बर्तन पसरा को भी वाहन ने रौंद दिया। सड़क किनारे पसरा लगाकर सामान बेचने वाले लोगों को भी नुकसानी का सामना करना पड़ा है। जख्मी महिलाओं को पास के अस्पताल में उपचार के लिए भेजा गया। सूचना पाते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस के पहुंचने से पहले बाजार में आक्रोशित भीड़ ने वाहन चालक की पिटाई कर दी। पुलिस वाहन चालक को थाना ले गई। 





 

 

धमतरी जिले में 5 मई तक बढ़ा लाॅक डाउन आवश्यक वस्तु वाली थोक दुकाने अब खुलेंगी इस समय, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

धमतरी जिले में 5 मई तक बढ़ा लाॅक डाउन आवश्यक वस्तु वाली थोक दुकाने अब खुलेंगी इस समय, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

धमतरी। राज्य में कोरोना संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर ने 11 अप्रैल से 26 अप्रैल तक जिले में पूर्णतया तालाबंदी का आदेश दिया था। कोरोना के बढ़ते संक्रमण की दर को दृष्टिगत करते हुए जनहित और जन स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उन्होंने तालाबंदी की तिथि में वृद्धि करते हुए इसे 5 मई तक बढ़ाने का आदेश जारी किया है।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने जारी आदेश में कहा कि पूर्व में उल्लेखित छूट और प्रतिबंध यथावत् रहेंगे। 24 अप्रैल से अतिरिक्त गतिविधियों के संचालन में छूट दी गई है। इसके तहत मीट, मछली और चिकन की दुकानें सुबह आठ बजे से सुबह 10 बजे तक खुली रहेंगी। ऑनलाइन वस्तुओं की सप्लाई करने वाले डिलीवरी ब्वाॅय को भी सुबह आठ से 10 बजे तक के बीच ऑनलाइन आर्डर के आधार पर मांग की गई वस्तुओं की आपूर्ति में छूट प्रदान की गई है।
इसी प्रकार आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति करने वाले गोदाम रात्रि 10 बजे से सुबह 10 बजे तक खुले रह सकेंगे। आदेश में यह भी उल्लेख किया है कि ऐसे कार्य स्थल जहां पर कार्य में लगने वाली आवश्यक सामग्रियों की पूर्ति के लिए कच्चा माल पूर्व में उपलब्ध मजदूरों को रहने की व्यवस्था कर और लाॅकडाउन का पूर्णतया पालन कराकर कार्य स्थल में कार्य सम्पादित करा सकेंगे।
जिले के अंतर्गत आने वाली सभी उचित मूल्य की राशन दुकानें सुबह छह बजे से 10 बजे तक खुली रहेंगी। साथ ही यह भी कहा कि प्रत्येक ग्राहक को पूर्व में ही टोकन का वितरण उचित सामाजिक दूरी का पालन कर ही सामग्री प्रदाय की जाएगी। उक्त संशोधन सहित पूर्व में जारी तालाबंदी का आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है। आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति,प्रतिष्ठान को दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 के तहत दण्डित किया जाएगा।
 

 छत्तीसगढ़: आठ प्रतिष्ठानों से वसूला गया साढ़े 18 हजार रूपए का जुर्माना

छत्तीसगढ़: आठ प्रतिष्ठानों से वसूला गया साढ़े 18 हजार रूपए का जुर्माना

धमतरी। कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन में कोविड 19 के संक्रमण की रोकथाम और निगाह रखने के लिए नगरपालिक निगम धमतरी, राजस्व और पुलिस विभाग का संयुक्त दल गठित किया गया है। इस दल द्वारा आज शहर के आठ प्रतिष्ठानों की जांच की गई, जिसमें कोविड 19 के नियमों का उल्लंघन करना, मास्क नहीं लगाना और नापतौल कांटा में सील अंकित नहीं करना पाया गया। इसके मद्देनजर दल द्वारा कुल साढ़े 18 हजार रूपए का जुर्माना वसूला गया। मिली जानकारी के मुताबिक गोपाल दास-आनंद दास प्रतिष्ठान से साढ़े पांच हजार रूपए, नेहा प्लास्टिक स्टोर से पांच हजार रूपए, विक्की प्रोविजन, मानिक मेडिकल और मनीष दुकान से दो-दो हजार रूपए, राखेचा मेडिकल से डेढ़ हजार रूपए तथा ओम डेयरी से पांच सौ रूपए का जुर्माना वसूला गया।
 कोविड के लक्षणात्मक मरीजों की रिपोर्ट आने तक आवश्यक दवाएं देकर उपचार करने के निर्देश

कोविड के लक्षणात्मक मरीजों की रिपोर्ट आने तक आवश्यक दवाएं देकर उपचार करने के निर्देश

धमतरी। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग से मरीजों का उपचार कर आवश्यक दवाएं दी जा रही हैं, साथ ही स्वास्थ्यगत सलाह भी दी जा रही है। 

कोविड की सैम्पल रिपोर्ट आने के बाद धनात्मक मरीजों को जरूरी दवाएं लेने की सलाह चिकित्सकों से दी जाती है। कई बार सैम्पल की जांच के उपरांत रिपोर्ट आने में विलम्ब हो जाता है। जिसके चलते मरीजों को यथोचित उपचार नहीं मिल पाता। इसे दृष्टिगत करते हुए छत्तीसगढ़ शासन के स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय से रिपोर्ट मिलने तक मरीजों को लक्षण के आधार पर पांच प्रकार की दवाइयों की खुराक शुरू कर उपचार करने के निर्देश दिए गए हैं।

मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. डी.के. तुरे ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग से यह निर्देश जारी हुआ है कि वर्तमान में राज्य में कोविड-19 के संक्रमण की दर तेजी से बढ़ रही है। जिसके चलते सैम्पल की रिपोर्ट मिलने में विलम्ब हो रहा है। इसे दृष्टिगत करते हुए कोविड की रोकथाम के लिए गठित राज्य स्तरीय ट्रीटमेंट समिति से लक्षणात्मक मरीजों को तत्काल आवश्यक दवाइयां उपलब्ध कराने की अनुशंसा की गई है। 

उन्होंने बताया कि लक्षण के आधार पर मरीज को रिपोर्ट आने से पहले छह प्रकार की दवाइयां देने के संबंध में आदेश प्राप्त हुआ है। इसमें आइवरमेक्टिन 12 एमजी की टैबलेट भोजन करने के बाद एक बार पांच दिन तक देने, डोक्सीसाइक्लिन-100 एमजी की टैबलेट भोजन के पश्चात् दिन में दो बार सात दिनों तक, पैरासिटामाॅल टैबलेट दिन में चार बार भोजन करने के बाद तीन दिन तक और चौथे दिन से बुखार आने, बदन दर्द रहने की स्थिति में ही दिन में एक बार खाना खाने के उपरांत देने के निर्देश दिए गए हैं। 

इसी प्रकार विटामिन-सी के 500 एमजी की टैबलेट खाना खाने के बाद दिन में दो बार दस दिनों तक देने कहा गया है। साथ ही जिंक के 50 एमजी की टैबलेट देने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा मरीज को प्रतिदिन 3 से 4 लीटर गुनगुना पानी पीने, आठ घण्टे की नींद लेने, 45 मिनट तक व्यायाम करने या टहलने के साथ-साथ ऑक्सीज़मीटर से ऑक्सीज़ लेवल की जांच नियमित रूप से करने की भी सलाह समिति से दी गई है। यदि ऑक्सीज़ लेवल 94 प्रतिशत से कम आता है और सांस लेने संबंधी परेशानी आ रही हो तो तत्काल चिकित्सक से सम्पर्क करें। 
 
 कोरोना से मृत्यु पर शासन से नहीं मिलेगी कोई राशि

कोरोना से मृत्यु पर शासन से नहीं मिलेगी कोई राशि

धमतरी। कोविड-19 से मृत्यु होने पर संबंधित के परिजन को शासन की ओर से किसी प्रकार की सहायता राशि प्रदान करने का कोई प्रावधान नहीं है।

कोरोना संक्रमण से जिले में रोज 4-5 लोगों की मौत हो रही है। जिला प्रशासन कोविड मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में सुविधाएं मुहैया कराई है। मरीजों की संख्या लगातार बढने से स्थितियां बिगडने लगी है। कई सरकारी और प्रायवेट जगहों को कोविड अस्पताल बनाने की तैयारी चल रही है। कोविड से मौत होने वाले के परिजनों को सहायता राशि देने की भी मांग उठ रही है। लेकिन शासन किसी प्रकार से कोई सहायता राशि देने का प्रावधान नहीं है और न ही ऐसा कोई आदेश प्राप्त हुआ है। कोविड-19 नियंत्रण संबंधित जिला नोडल अधिकारी और डिप्टी कलेक्टर एचएल गायकवाड़ ने कहा कि कोविड से मृत्यु पर सहायता राशि देने का कोई प्रावधान नहीं है।

जिले में 9170 वैक्सीन उपलब्ध:-
जिले में कोरोना के बचाव के लिए वैक्सीन लगाने का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। गुरूवार को जिले में 9170 वैक्सीन स्टॉक में है। नगरी में 690 कोविशील्ड, 140 कोवैक्सीन, मगरलोड में 910 कोविशील्ड, कुरूद में 1610 कोविशील्ड, 440 कोवैक्सीन, गुजरा में 890 कोविशील्ड, अर्बन में 470 कोविशील्ड, 1370 कोवैक्सीन, डीव्हीएस 190 कोविशील्ड, 2500 कोवैक्सीन उपलब्ध है।
+ Load More