कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
Previous123456789...2021Next
छत्तीसगढ़ सरकार के हर विभाग में भ्रष्टाचार चरम पर : सरोज पाण्डे

छत्तीसगढ़ सरकार के हर विभाग में भ्रष्टाचार चरम पर : सरोज पाण्डे

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की का ढाई साल का कार्यकाल एक माह बाद पूरा होने जा रहा है, लेकिन इन ढाई सालों में राज्य में जिस तरह भ्रष्ट्राचार पनपा है। इसी की बानगी है कि अब सरकार के एक अधिकारी को इस भ्रष्ट्राचार के खिलाफ अनशन पर बैठना पड़ रहा है। राज्यसभा सांसद और भाजपा की वरिष्ठ नेता सरोज पाण्डे यह बात पत्रकारों से हुई चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि महासमुंद जिले के महिला एवं बाल विकास अधिकारी जिस प्रकार अनशन पर बैठे, भ्रष्ट्राचार की शिकायत करने पर भी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई न होने पर उन्हें यह कदम उठाना पड़ा यह भूपेश सरकार के कार्यकाल में हो रहे भ्रष्ट्राचार की पोल खोलता है।
राज्यसभा सांसद सुश्री सरोज पाण्डे ने कहा कि कांग्रेस की भूपेश सरकार ने यह कैसा प्रदेश बना दिया जहाँ एक सरकारी अधिकारी ही भ्रष्ट्राचार के खिलाफ अनशन कर रहा है। संभवतः राज्य का यह पहल मामला है जब एक सरकारी अधिकारी को अनशन करना पड़ रहा है। महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी सुधाकर बोदले जिन्होंने महासमुंद जिले में विभाग में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना और स्कूलों में दिए जाने वाले रेडी टू इट योजना में 2020 में हुए 30 लाख से अधिक के बड़े भ्रष्टाचार को उजागर किया है। अब उन्हें ही भ्रष्ट्र तंत्र के खिलाफ अनशन करना पड़ रहा है। यही नहीं भ्रष्ट्राचार की शिकायत करने वाले इस अधिकारी को ही अब सरकार प्रताड़ित कर रही है। यह राज्य की भूपेश सरकार के लिए अफसोसनाक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की जाँच उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश के द्वारा करवाई जानी चाहिए साथ ही भ्रष्ट्राचार को उजागर करने वाले अनशन पर बैठे अधिकारी को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध करवाई जाना चाहिए यह भारतीय जनता पार्टी माँग करती है।
छत्तीसगढ़ राज्य में कांग्रेस की भूपेश सरकार ने अपने ढाई साल के कार्यकाल में प्रदेश को भ्रष्ट्राचार के रंग में ऐसा रंग दिया है कि यह राज्य सरकार कांग्रेस पार्टी के लिए एक फांयनेंसर की भूमिका निभा रही है। हाल ही में हुई असम विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को कांग्रेस ने वहाँ का प्रभारी बनाकर भेजा जहाँ उन्होंने भ्रष्ट्राचार के पैसे की गंगा बहा दी लेकिन उसके बाद भी वहाँ जीत हासिल नहीं कर सके। यही नहीं भूपेश बघेल सरकार कांग्रेस पार्टी के लिए फायनेंसर का काम कर रही है। राज्यसभा सांसद सुश्री सरोज पाण्डे ने कहा कि कांग्रेस की भूपेश सरकार का पिछले ढाई साल का मूल्यांकन किया जाए तो यह एक असफल और भ्रष्ट्र सरकार के रूप में जनता से सामने है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल में दूरदर्शिता की कमी है यही कारण है कि आज पूरा प्रदेश बेहाल है। भ्रष्ट्राचार के लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधाते हुए उन्होनें प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री को पद हटाए जाने की माँग भी उन्होंने की।
भाजपा महिला मोर्चा प्रभारी सुश्री लता उसेंडी ने बताया कि महासमुंद के मामले को लेकर 18 मई को महिला मोर्चा, तहसील व ब्लाक में तहसीलदार को ज्ञापन सौंपेगी। 19 तारीख को जिला मुख्यालयों में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा जाएगा व 20 मई को महिला मोर्चा के सभी बहने अपने घर के सामने भ्रष्टाचारी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए धरने पर बैठेंगी।
वर्चुअल प्रेस वार्ता में पुर्व मंत्री एवं प्रदेश उपाध्यक्ष सुश्री लता उसेंडी और महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती शालिनी राजपूत भी उपस्थित रही।
 

हमें भी BJP की तरह बड़ा सोचना होगा, अगर सफल होना है तो - सलमान खुर्शीद

हमें भी BJP की तरह बड़ा सोचना होगा, अगर सफल होना है तो - सलमान खुर्शीद

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने उनकी पार्टी से, भाजपा की तरह बड़ा सोचने की पैरवी करते हुए सोमवार को कहा कि कांग्रेस को इस निराशावादी दृष्टिकोण को नहीं मानना चाहिए कि वह बहुत छोटी व कमजोर हो चुकी है तथा अपनी खोई जमीन वापस नहीं पा सकती।
उन्होंने 'पीटीआई-भाषा' को दिए साक्षात्कार में कहा, ''मैंने पश्चिम बंगाल और असम से एक चीज सीखी है: आपको यह कभी भी स्वीकार नहीं करना चाहिए कि आप आप बहुत छोटे हैं, कमजोर हैं और किसी क्षेत्र या राज्य में कुछ बड़ा नहीं कर सकते।'' खुर्शीद ने यह भी कहा, ''मेरा मानना है कि भाजपा ने उन जगहों पर भी ऐसा (बड़ा सोचने की रणनीति) किया है जहां उनका कोई अस्तित्व ही नहीं था। उन्होंने उन स्थानों पर भ्री ऐसा करने का प्रयास किया जहां आज भी उनका कोई अस्तित्व नहीं है।''
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इस बात पर जोर दिया, ''कांग्रेस को यह निराशावादी दृष्टिकोण नहीं स्वीकारना चाहिए कि वह अपनी जमीन बहुत ज्यादा खो चुकी है और इसे फिर से हासिल नहीं कर सकती। मुझे लगता है कि प्रतिबद्धता और विश्वास के साथ ही हम यह कर सकते हैं और हमें करना भी चाहिए।'' उन्होंने इस धारणा से सहमति जताई कि पश्चिम बंगाल में लोगों ने सोची-समझी रणनीति के साथ मतदान किया जिस वजह से कांग्रेस और वाम दलों का सफाया हो गया।
उनसे सवाल किया गया था कि वह कांग्रेस के कुछ नेताओं की इस राय के बारे में क्या सोचते हैं कि पश्चिम बंगाल में इंडियन सेक्युलर फ्रंट और असम में एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन से कांग्रेस को नुकसान हुआ। खुर्शीद ने कहा, ''जब आप सफल नहीं होते हैं तो इस तरह के स्पष्टीकरण दिए जाते हैं। जब आप सफल होते हैं आपको अलग तरह का स्पष्टीकरण दिया जाता है।''
उनके मुताबिक, ''मुझे नहीं लगता है कि चुनाव बाद के स्पष्टीकरण का कोई मतलब है जब तक इससे आपको अपने निर्णय लेने की प्रक्रिया और निर्णय की खूबियों के बारे में विश्लेषण करने में मदद न मिले। मैं यही कह सकता हूं कि दोनों तरफ से बहुत सारी चीजें कही जा सकती हैं।'' खुर्शीद ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का घोषणापत्र लोगों के बीच की भावनाओं को प्रकट करेगा।

 

वैक्सीनेशन को  लेकर जनता को गुमराह ना करें- मीनल चौबे

वैक्सीनेशन को लेकर जनता को गुमराह ना करें- मीनल चौबे

रायपुर, नगर निगम नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने रायपुर ज़िलाधीश महोदय एवं स्वास्थ्य विभाग के सचिव ,उपसंचालक एवम् आला अधिकारी जो रायपुर नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के वैक्सीनेशन प्रक्रिया को अंजाम दे रहे हैं ,उनसे निवेदन किया है कि वे जनता के समक्ष सारी बातों को स्पष्ट रूप से रखें । ताकि जनता हताश एवं परेशान होकर इधर उधर न भटके ।
पूरे प्रशासन से आग्रह किया कि आपके पास जितने वैक्सीन उपलब्ध है । कृपा करके उतने ही लोगों का उस दिनांक मे रजिस्ट्रेशन किया जाए । .टीकाकरण केंद्र में किन लोगो का वैक्सीननेशन होने वाला है स्पष्ट रूप से बाहर चस्पाँ कर दें। ताकि बाकि जनता वहाँ इकट्ठी ना रहे.। यह सुनिश्चित करें कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन मे जिस सेंटर का नाम एवम् दिनांक मिल चुका है तो उनका वैक्सीनेशन वहाँ अवश्य हो जाए । आज अनेक लोगों को टीका ख़त्म हो गया है करके वापस भेज दिया गया है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में जिनको दिनांक दिया गया है ,मगर स्थान सिर्फ़ रायपुर लिखा है वे टीकाकरण के लिए कहाँ जाएँ चाहे स्पष्ट किया जाए।
पहले शासन ने कहा था कि रजिस्ट्रेशन के तुरंत बाद ही यह बता दिया जायेगा कि उन्हें टीका किस सेंटर में किस तारीख़ को लगाया जायेगा।
दिये हुए दिनांक पर अगर वैक्सीनेशन नहीं हो पा रहा है और वैक्सीन ख़त्म हो गया है ऐसे व्यक्तियों को अपना रजिस्ट्रेशन पुनः करने के लिए सेंटर में कहा जा रहा है । तय किये दिनांक व स्थान पर वैक्सीनेशन नहीं होता है तो तो उसे आगे क्या करना है स्पष्ट रूप से बताया जाय।
जिनके पास मोबाइल नहीं है हेल्प डेस्क में रजिस्ट्रेशन कराने के बाद उनको मेसेज कैसे दिया जाएगा यह शासन स्पष्ट करें? हेल्प डेस्क में सरकारी वेबसाइट CG Teeka ने आज धोका दे दिया.पूरा नगर निगम का अमला वैक्सीनेशन केंद्र में होने वाले मात्र लगभग 130 वैक्सीन नेशन में लगा हुआ है । नेता प्रतिपक्ष प्रशासन को आगाह किया है कि जनता की सब्र का इंतेहा मत लीजिये और उनका सहयोग करिये । उनको किसी भ्रांति में ना रखते हुए टीकाकरण की प्रक्रिया से अवगत कराएँ । नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने कहा कि रायपुर शहर की प्रबुद्ध जनता जानती है कि ये चरणबद्ध होने वाली प्रक्रिया है वह धैर्य रखेगी मगर उन्हें ग़लत जानकारी देकर गुमराह न करें।
 

छत्तीसगढ़ तक रोहिंग्या मुसलमानों की आमद और उन्हें यहाँ बसाने की चल रही सियासी कोशिशें चिंता का विषय : अनुराग सिंहदेव

छत्तीसगढ़ तक रोहिंग्या मुसलमानों की आमद और उन्हें यहाँ बसाने की चल रही सियासी कोशिशें चिंता का विषय : अनुराग सिंहदेव

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ तक रोहिंग्या मुसलमानों की आमद और उन्हें यहाँ बसाने की चल रही सियासी कोशिशों पर गहरी चिंता जताई है। सिंहदेव ने हाल ही अंबिकापुर नगर निगम की सामान्य सभा में सत्तापक्ष की ओर से कुछ लोगों को स्थानीय नागरिक के तौर पर मान्यता देने जाति और निवास प्रमाण पत्र बनाने के लाए गए प्रस्ताव के मद्देनज़र आशंका जताई कि प्रस्तावित लोगों में कुछ लोगों के रोहिंग्या मुसलमान होने की बात सामने आई है, जिसकी जाँच की जानी चाहिए।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सिंहदेव ने कहा कि निगम की सामान्य सभा में 20 लोगों के लिए पिछड़ा वर्ग जाति और निवास प्रमाण पत्र बनाने के आए प्रस्ताव में 15 नाम मुस्लिम समुदाय के थे। इस आशंका से इंक़ार नहीं किया जा सकता कि पिछले कई वर्षों से अंबिकापुर में अवैध रूप से रह रहे ये मुस्लिम बांलादेशी रोहिंग्या मुसलमान हैं, जिनमें से 12 लोग मुस्लिम जुलाहा जाति के बताए गए हैं, जिन्हें छत्तीसगढ़ में अन्य पिछड़ा वर्ग की श्रेणी में माना जाता है। सिंहदेव ने कहा कि यह सरकारी एजेंसियों की विफलता और नेताओं के वोट बैंक की सबसे गंदी और भयावह सियासत का नमूना है। नगर निगम में पार्षद आलोक दुबे के नेतृत्व में भाजपा ने इस प्रस्ताव का कड़ा विरोध किया है और साफ़ लफ़्ज़ों में कहा है कि कांग्रेस के लोग वोट बैंक की राजनीति के चलते यहाँ अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्या मुसलमानों को जाति और निवास प्रमाण पत्र देकर उन्हें यहाँ स्थायी रूप से बसाने की यह घटिया राजनीति करके छत्तीसगढ़ को भी अशांत प्रदेश बनाने पर आमादा नज़र आ रहे हैं। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सिंहदेव ने कहा कि रोहिग्याओं को बसाने के लिए कांग्रेस नगर निगम में अपने बहुमत का खुला दुरुपयोग कर यह प्रस्ताव पारित कराना चाहती है, लेकिन भाजपा अंबिकापुर में ऐसी किसी भी कोशिश को क़ामयाब नहीं होने देगी। सिंहदेव ने इस प्रस्ताव के परिप्रेक्ष्य में प्रशासन से टीम गठित कर दस्तावेज़ों की बारीकी से जाँच कराने और उक्त प्रस्ताव के साथ उनके ज़मीन संबंधी कोई राजस्व रिकॉर्ड नहीं पाए जाने पर प्रस्ताव लाने प्रामाणित करने वाले कांग्रेस नेता पर आपराधिक मामला क़ायम करने की मांग की है। सिंहदेव ने बताया कि प्रमाण पत्र हासिल करने की गरज से उक्त अल्पसंख्यकों ने ज़िला, तहसील प्रशासन तक गुहार लगाई थी, लेकिन कोई वैध दस्तावेज़ नहीं होने के कारण उन्हें बैरंग लौटाया गया था और अब वही लोग कांग्रेस के अल्पसंख्यक समुदाय के पार्षदों के माध्यम से यह प्रस्ताव पारित कराना चाहते हैं। सिंहदेव ने कहा कि भाजपा ऐसे किसी को भी ग़ैर-क़ानूनी तौर पर प्रमाण पत्र देकर बसाए जाने की पुरज़ोर मुख़ालफ़त करेगी।
 

धनंजय सिंह ठाकुर ने डी पुरंदेश्वरी से किया सवाल, मोदी ने हमारे बच्चों का वैक्सीन विदेश क्यों भेज दिया ?

धनंजय सिंह ठाकुर ने डी पुरंदेश्वरी से किया सवाल, मोदी ने हमारे बच्चों का वैक्सीन विदेश क्यों भेज दिया ?

रायपुर। भाजपा प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी वैक्सीनेशन के मामले में राज्य सरकार पर झूठे बेबुनियाद आरोप लगा रही है। उन्हें धरातल का ज्ञान नही है।टीकाकरण के विषय मे झूठे बयानबाजी करने के बजाये डी पुरंदेश्वरी को छत्तीसगढ़ के ढाई करोड़ जनता को बताना चाहिए आखिर मोदी ने हमारे बच्चो के टीका को विदेश क्यो भेज दिया? डी पुरंदेश्वरी झूठ बोलने अफवाह फैलाने में माहिर छत्तीसगढ़ भाजपा के नेताओ के फीड बैक पर बयानबाजी कर खुद की फजीहत ही करा रही है। देश मे छत्तीसगढ़ फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर को टीका लगाने में अव्वल है 99% हेल्थ वर्कर को टीका लगाया जा चुका है टीकाकरण में राष्ट्रीय औसत 89% है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार राज्य के 18+एक करोड़ 30 लाख लोगों को मुफ्त में वैक्सीन लगवा रही है इसके लिए सवा करोड़ डोज वैक्सीन का ऑडर दिया गया है। जिसकी आपूर्ति नही की जा रही है। बिना वैक्सीन मोदी सरकार की टीका उत्सव भी हवा हवाई निकला।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि महामारी संकटकाल में जहां देश की जनता वैक्सीन ऑक्सीजन वेंटिलेटर बैड दवाइयों के कमी से जूझ रही है जहां महामारी के चलते देश में लगभग 3लाख लोगों की असामयिक मौत हो चुकी है ढाई करोड़ से अधिक लोग इससे प्रभावित हैं लाकडॉउन के चलते व्यापार-व्यवसाय बंद है देश रोजी रोजगार के गंभीर संकट से जूझ रहा है पेट्रोल-डीजल रासायनिक खादों की दामों पर बेतहाशा वृद्धि कर मुनाफाखोरी की जा रही है ऐसे समय में एक ओर जहां केंद्र सरकार आर्थिक संकट का रोना रो रही है वहीं दूसरी ओर इस महामारी काल में आम जनता को मदद करने के बजाये 20 हजार करोड़ का सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट बना रही है। जिसका देश भर में विरोध हो रहा है। विदेश भेजे गए 6 करोड़ों वैक्सीन डोज, देश में वैक्सीन की किल्लत और सेंट्रल विस्ता प्रोजेक्ट के विषय में भाजपा नेताओंं की बोलती बंद है, झूठ बोलने और अफवाह फैलाने वाले भाजपा नेता जनता के सवालों का जवाब देने से बच रहे है।
 

केन्द्र के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह पालन कर रहा छत्तीसगढ़ : भूपेश बघेल

केन्द्र के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह पालन कर रहा छत्तीसगढ़ : भूपेश बघेल

रायपुर । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज दूरभाष पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से प्रदेश में कोविड-19 के संबंध में विस्तृत चर्चा की। मुख्यमंत्री बघले ने प्रधानमंत्री से कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उनके और केन्द्र सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशोें का छत्तीसगढ़ द्वारा पूरा पालन किया जा रहा है। राज्य में टेस्टिंग की संख्या में बढ़ोतरी की गई है। ट्रेसिंग में भी तेजी आई है। पॉजिटिविटी दर में निरंतर कमी आ रही है, मरीजों की संख्या घट रही है।
प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जिन इलाकों में अभी भी केस बढ़ रहे हैं वहां अतिरिक्त टीमें लगायी गई हैं।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को यह भी जानकारी दी कि प्रदेश में शासकीय और निजी कोविड अस्पतालों और केयर सेंटरों के बेडों की पूरी जानकारी को आनलाईन किया गया है ताकि कोई भी व्यक्ति आसानी से इनका लाभ ले सके। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने प्रधानमंत्री का राज्य में वैक्सीनेशन की कमी की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री से यह भी अनुरोध किया कि चूकि वर्तमान में आक्सीजन की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है कि अतः 80 प्रतिशत अस्पतालों को और 20 प्रतिशत छोटे-मोटे उद्योगों को उपलब्ध कराने की मंजूरी दी जाए ताकि ये उद्योग भी अपना काम प्रारंभ कर सके। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उक्त दोनो मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया है।
 

नहीं रहे कांग्रेस के ये सांसद , सुरजेवाला ने जताया दुख

नहीं रहे कांग्रेस के ये सांसद , सुरजेवाला ने जताया दुख

नई दिल्ली। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य राजीव सातव का रविवार को निधन हो गया। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे। 46 साल के राजीव सातव को एक नया विषाणु संक्रमण हो गया था जिसके बाद उनकी हालत बेहद गंभीर थी। सांसद राजीव सातव का इलाज पुणे के जहांगीर अस्पताल में चल रहा था और वह वेंटिलेटर पर थे।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बेहद करीबी माने जाने वाले सातव में 22 अप्रैल को कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें एक नया विषाणु संक्रमण भी हो गया था। जिसके बाद उनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी। सातव के निधन के बाद कांग्रेस में दुख की लहर है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर राजीव सातव के निधन की जानकारी दी।
00 कांग्रेस ने जताया दुख
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर सांसद राजीव सातव के निधन पर दुख जताया है। सुरजेवाला ने लिखा, `निशब्द! आज एक ऐसा साथी खो दिया जिसने सार्वजनिक जीवन का पहला कदम युवा कांग्रेस में मेरे साथ रखा और आज तक साथ चले पर आज... राजीव सातव की सादगी, बेबाक मुस्कराहट, जमीनी जुड़ाव, नेतृत्व और पार्टी से निष्ठा और दोस्ती सदा याद आयेंगी। अलविदा मेरे दोस्त! जहां रहो, चमकते रहो।`
 

टीकाकरण अभियान में पूरी तरह से छ. ग. प्रदेश सरकार नाकाम : डी.पुरंदेश्वरी

टीकाकरण अभियान में पूरी तरह से छ. ग. प्रदेश सरकार नाकाम : डी.पुरंदेश्वरी

रायपुर। भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने भाजपा के बिलासपुर व सरगुजा संभाग के प्रमुख पदाधिकारियों की वर्चुअल माध्यम से बैठक लेकर सेवा ही संगठन अभियान की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोरोना को परास्त करने के लिये टीकाकरण एक महात्वपूर्ण अस्त्र है। केन्द्र की हमारी सरकार ने प्रदेश सरकार को हर संभव मदद दे रही है। लेकिन प्रदेश सरकार पहले दिन से टीकाकरण अभियान पर सवाल उठाने में लगी थी यही कारण है कि प्रदेश में लगातार भ्रम की स्थिति बनी हुई है। जिस हम सबको दूर करने की जरूरत है। इसके साथ ही प्रदेश की नाकाम सरकार को हर मोर्चे पर हमें करारा जवाब देना होगा। प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने सेवा ही संगठन अभियान के माध्यम से अधिक से अधिक से जनता से जुड़ने अपील है। प्रदेश सरकार के नाकामियों के बताकर हम सबको सेवाभाव के साथ जुटे रहना होगा।
प्रदेश सहप्रभारी नितिन नबीन ने कहा कि हम इस समय पर जनता के बीच कोरोना गाइडलाइन का पालन कर हर संभव मदद के लिये सक्रिय रहना होगा। प्रदेश की जनता को कांग्रेस की सरकार ने इस पीड़ा काल में भगवान भरोसे छोड़ दिया है। हम सबको जनता के विश्वास पर खरा उतरना होगा।
प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक कार्यकर्ताओं की सहभागिता से सेवा ही संगठन अभियान को सफल बनाने में जुटे है। इस अभियान का हमें अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। हम समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचने में सफल हुए है। केन्द्रीय मंत्री रेणुका सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार प्रदेश सरकार को हर संभव मदद कर रही है। लेकिन प्रदेश की सरकार कोरोना से लड़ने के बजाय अपने आपसी लड़ाई में व्यस्त है। जिसका नुकसान प्रदेश की जनता को भुगतना पड़ रहा है। इसके साथ ही केन्द्र से संचालित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को लेकर प्रदेश सरकार की कोई रुचि नहीं है।
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि शहर के बाद गांव के स्तर पर जिस तरह से कोरोना विस्तार हो रहा है। उस पर अंकुश लगाने में पुरी तरह प्रदेश सरकार नाकाम है। अब हालत है कि कोरोना के आंकड़े ही छुपाये जा रहे हैं। कोरोना के जांच के नाम पर कुछ भी नहीं रहा है।
राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम कहा कि प्रदेश में कोरोना की स्थिति भयावह है। लेकिन हम सब सेवा ही संगठन अभियान के माध्यम से कोरोना को परास्त करने में कारगर कदम उठा रहे हैं। कोरोना मुक्ति अभियान में पार्टी हर कार्यकर्ता अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। बैठक संचालन प्रदेश महामंत्री व विधायक नारायण चंदेल व महामंत्री भूपेन्द्र सवन्नी किया। बैठक में प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय, प्रदेश महामंत्री किरण देव, आई टी सेल प्रदेश संयोजक दीपक म्हस्के व बिलासपुर से पूर्व मंत्री ननकीराम कंवर, संभाग प्रभारी कृष्णा राय, सांसद अरुण साव, गोमती साय, गुहाराम अजगले, पूर्व मंत्री व विधायक पुन्नूलाल लाल मोहले,पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल, कृष्ण मूर्ति बांधी, रजनीश सिंह, सौरभ सिंह व पूर्व महामंत्री गिरधर गुप्ता, विजय शर्मा, ओपी चौधरी सहित जिलाध्यक्ष व सरगुजा से पूर्व सांसद नंदकुमार साय, पूर्व प्रदेश संगठन महामंत्री रामप्रताप सिंह, मंत्री रामसेवक पैकरा, भैय्यालाल रजवाड़े, श्याम बिहारी जायसवाल, अखिलेश सोनी, अनुराग सिंह देव, प्रबल प्रताप सिंह जूदेव सहित पार्टी पदाधिकारी व जिलाध्यक्ष ने हिस्सा लिया।
 

लोगों से स्वयं के ख़र्च से वैक्सीन लगवाने की अपील कांग्रेस सरकार को ‘थोथा चना, बाजै घना’ साबित कर रही : भाजपा

लोगों से स्वयं के ख़र्च से वैक्सीन लगवाने की अपील कांग्रेस सरकार को ‘थोथा चना, बाजै घना’ साबित कर रही : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने कांग्रेस विधायक सत्यनारायण शर्मा के बेटे और अभा कांग्रेस कमेटी के सदस्य पंकज शर्मा द्वारा लोगों से स्वयं के ख़र्च से वैक्सीन लगवाने की अपील को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि यह अपील प्रदेश सरकार और कांग्रेस को ‘थोथा चना, बाजै घना’ साबित करने के लिए पर्याप्त है। श्री साहू ने कहा कि बड़ी-बड़ी डींगें हाँकते प्रदेश कांग्रेस नेताओं और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत अनेक मंत्रियों ने दावा तो ख़ूब किया था पर इन्हें केवल युवाओं को टीके लगाना है, इतने में ही इनके हाथ-पांव फूल रहे हैं?

भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष श्री साहू ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस नेता और प्रदेश सरकार के लोग केवल बातों का जमाख़र्च करना भर जानते हैं। हल्ला ज़्यादा मचाना और काम कुछ न करना ही कांग्रेस सरकार का सूत्र-वाक्य रह गया है। केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ स्यापा मचाने के आदी हो चुकी कांग्रेस कोरोना संक्रमण की रोकथाम और वैक्सीनेशन में अपने निकम्मेपन को ढँकने की क़वायद में रोज कोई-न-कोई नया शिगूफा छोड़ते रहते हैं ताकि लोगों का ध्यान बँटा रहे।

श्री साहू ने कहा कि प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव तो कह भी चुके हैं कि वैक्सीनेशन का काम केंद्र सरकार ख़ुद देखे। वैक्सीन की प्रामाणिकता पर सवाल उठाकर प्रदेश को ग़ुमराह करने और वैक्सीनेशन के काम में महीनों अड़ंगा डालने वाले स्वास्थ्य मंत्री को ढाई लाख वैक्सीन डोज़ बर्बाद करने का अपराध-बोध साता रहा होगा और इसलिए अब अपनी ज़िम्मेदारी से भाग रहे हैं। श्री साहू ने सवाल किया कि अगर सारा काम केंद्र सरकार को ही करना है तो प्रदेश सरकार क्या सिर्फ़ वैक्सीनेशन में आरक्षण के नाम पर घटिया राजनीति करने और कोराना संकट के समय अस्पताल, ऑक्सीज़न, दवाओं की चिंता से लापरवाह होकर घर-घर शराब पहुँचाने के लिए सत्ता में बैठी है?

भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष श्री साहू ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार पूरी तरह ग़ैर-ज़िम्मेदार है। कोरोना की दूसरी लहर की आशंका को नज़रंदाज़ करके मुख्यमंत्री बघेल और प्रदेश सरकार के मंत्री, सांसद-विधायक व कांग्रेस के नेता पहले क्रिकेट मैच और मेला-महोत्सव कराने में लगे रहे, फिर असम में चुनाव की रैलियाँ कर अपनी झूठी वाहवाही का रायता फैलाने में मगन थे। श्री साहू ने कहा कि अब वैक्सीनेशन अभियान को चौपट करने पर आमादा प्रदेश सरकार के कृत्यों पर पर्दा डालने के कांग्रेस नेताओं के तमाम उपक्रम नाकाम ही साबित होंगे।
 

कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला को पितृशोक, अंतिम संस्कार आज शाम को होगा सम्पन्न

कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला को पितृशोक, अंतिम संस्कार आज शाम को होगा सम्पन्न

रायपुर। छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध सर्जन डॉ आदित्य कुमार शुक्ला `सोहन भैया` पूर्व जिला चिकित्सा अधिकारी महासमुंद ग्राम कान्हेरे वाले का स्वर्गवास 14 मई शुक्रवार को हो गया। वे पूर्व जिला अध्यक्ष, महिला नागरिक सहकारी बैंक, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती अरुणा शुक्ला के पति और ज्योत्सना मुकुल द्विवेदी, प्रभारी महामंत्री प्रदेश कांग्रेस कमेटी छत्तीसगढ़ चंद्रशेखर शुक्ला के पिता थे। डॉ शुक्ला प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता/सचिव विकास तिवारी के जीजा थे। डॉ शुक्ला ने अपना पूरा जीवन गरीब एवं जरूरतमंदों की सेवा में लगाया और हजारों जरूरतमंद मरीजों का निःशुल्क चिकित्सकीय उपचार भी किया। उनका अंतिम संस्कार 15 मई शनिवार को शाम 5 बजे होगा।  

कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने भाजपा से पूछा बताये कब बन्द होगी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट साथ ही दागे ये सवाल

कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने भाजपा से पूछा बताये कब बन्द होगी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट साथ ही दागे ये सवाल

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार ने महामारी काल मे जनता के स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुये नवा रायपुर में निर्माणाधीन राजभवन विधानसभा सीएम हाउस मंत्री निवास सहित अनेक निर्माण कार्यों पर तत्काल रोक लगाकर केंद्र के मोदी भाजपा की सरकार को आईना दिखाया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के जनहित में लिए गए निर्णय से भाजपा नेता तिलमिला गये है क्योंकि इस आपदा के समय भी मोदी सरकार के लिए जनता का हित नही बल्कि स्व हित सर्वोपरी है।मोदी सरकार अपने शान शौकत के लिए मनमानी करते हुए इस महामारी संकटकाल में देश के 137 करोड़ जनता को मदद करने के बजाय 20हजार करोड़ के सेंट्रल विस्ता प्रोजेक्ट को पूरा करने में पूरी ताकत झोंक दी है।8 हजार करोड़ का विमान खरीदी है। विज्ञापनबाजी में करोड़ो रु फूंक रही है।और देश की जनता वैक्सीन ऑक्सीजन जीवन रक्षक दवाई बेड वेंटिलटर के लिए तरस रही है।राज्यो को मदद नही कर रही है।पीएमकेयर फंड भी मोदी भाजपा के लिए निजी फ़ंड बन गई है।सेंटल विस्टा के निर्माण के मोदी सरकार के इस तानाशाही निर्णय केे खिलाफ देश की जनता में आक्रोश है।जहां देश की जनता महामारी की चपेट में हैं लॉकडाउन से उपन्नत विषम परिस्थियों में मजदूर किसान गरीब मध्यमवर्गी युवा गृहणी कामकाजी महिलााये आर्थिक तंगी से जूझ रही है। लॉकडाउन के कारण उत्पन्न रोजी रोजगार के गंभीर संकट से हताश परेशान हैं। ऐसेेे समय में मोदी सरकार वैक्सीन में जीएसटी लगाकर वसूली कर रही है पेट्रोल डीजल उर्वरकों के दामों को बढ़ाकर आम जनता के ऊपर महंगाई का बोझ बढ़ा रही है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा बताये कि भाजपा के लिए महामारी के समय देश की जनता को स्वास्थ्य सुविधाएं देना ऑक्सीजन,दवाई फ्री वैक्सीन देना जरूरी है या सेंट्रल विस्टा का निर्माण को जरूरी है? एक ओर जहाँ मोदी सरकार लाल किला हवाई अड्डा, रेलवे स्टेशन,एयर इंडिया, एलआईसी, बैंक,सहित 150 से अधिक सरकारी कम्पनियॉ को बेचकर फंड जुटा रही, रिर्जव बैंक के रिजर्व फंड से एक लाख 76 हजार करोड़ रु जोर जबरदस्ती निकाल ली, बीते सात साल में विदेश से लाखो करोड़ डॉलर का कर्ज ले ली ऐसे में फिर 20 हजार करोड़ का सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर फिजूलखर्ची क्यो? मोदी सरकार कब सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर रोक लगाएगी?गरीब परिवार के बैंक खाता में 6 हजार रु महीना कब जमा कराएगी? वैक्सीन में जीएसटी कब खत्म करेगी? देश के 137 करोड़ जनता को फ्री वैक्सीन लगाने की घोषणा कब करेगी? पेट्रोल डीजल रासायनिक खादों के बढ़े दाम कब वापस लेगी?
 


Read Also:- 

कोरोना अपडेट: प्रदेश में हो रही है कोरोना की रफ़्तार कम आज 10444 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 7594 नए मरीज मिले 172 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़ में 31 मई तक लागू रहेगा लॉकडाउन, जानें किन पर होगा प्रतिबन्ध, किन्हे मिलेगी छूट, पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर : रेणु पिल्ले और डॉ. आलोक शुक्ला को मिली बड़ी जिम्मेदारी, आर प्रसन्ना को अतरिक्त प्रभार से किया मुक्त

सोनिया, राहुल को खुश करने, राज्य का नुकसान कर बैठे भूपेश: राजेश मूणत

सोनिया, राहुल को खुश करने, राज्य का नुकसान कर बैठे भूपेश: राजेश मूणत

रायपुर। पूर्व मंत्री व भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत ने नए राजभवन, नए सीएम हाउस समेत नवा रायपुर के सभी प्रमुख निर्माण कार्यों पर रोक लगाए जाने सरकार के फैसले पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी को खुश करने के चक्कर में राज्य का नुकसान कर बैठे। श्री मूणत ने पूछा कि कितने वित्तीय वर्ष के लिए यह सभी निर्माण कार्य रोका गया है? निर्माण कार्य की राशि का अब किस मद में उपयोग किया जाएगा? यह सरकार को स्पष्ट करना चाहिए।

श्री मूणत ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कई सवाल खड़े किए। उन्होंने पूछा कि मुख्यमंत्री बताए कि निर्माण कार्य रद्द क्यों किया? कितने वित्तीय वर्ष के लिए किया। क्या सरकार वित्तीय संकट से जूझ रही है।निर्माण ठेकेदार को किन शर्तों पर काम करने से मना किया है? क्या वह भुगतान के लिए न्यायालय नहीं जाएगा? आज बंद कर छह महीने बाद नए वित्तीय वर्ष में फिर निर्माण कार्य प्रारंभ तो नहीं होगा? इससे ठेकेदार को कहीं ज्यादा भुगतान तो नहीं करना पडेगा?

श्री मूणत ने आरोप लगाया कि निर्माण कार्य में भी राज्य की भूपेश सरकार ने आपदा को अवसर में बदलने की कोशिश की है क्योंकि राजभवन और विधानसभा भवन का निर्माण कार्य अभी टेंडर की स्थिति में था। मनचाहे व्यक्ति को टेंडर नहीं मिलने से यह निर्णय लिया गया है? ऐसा पूरे प्रदेश में चर्चा है। उन्होंने यह भी पूछा कि निर्माण कार्य रोकने से सरकार को इस वित्तीय वर्ष में कितना लाभ होगा? जो राशि बचेगी, उस राशि का किस मद में उपयोग करेंगे। किस उम्मीद में निर्माण कार्य बंद किया गया, क्योंकि पहले अनुमोदन करने के बाद बंद करना कहीं से उचित प्रतीत नहीं होता है। श्री मूणत ने पूछा कि क्या सरकार कोरोना संक्रमण काल में इस राशि का उपयोग करेगी? यदि ऐसा है तो पहले शराब के सेस का 600 करोड़ की राशि का कितना उपयोग हुआ, उसकी जानकारी सार्वजनिक करना चाहिए। क्योंकि कोरोना में सरकार का कोई भी जमीनी काम दिखाई नहीं देता है। अस्पतालों में न आक्सीजन है, न वेटीलेंटर, न वैक्सीन की व्यवस्था कर पाए और न ही दवाओं का।
 

स्मार्ट पुलिसिंग की जुमलेबाजी छोड़ मुख्यमंत्री-गृहमंत्री मैदानी स्तर पर क़ानून-व्यवस्था क़ायम करें : सिंहदेव

स्मार्ट पुलिसिंग की जुमलेबाजी छोड़ मुख्यमंत्री-गृहमंत्री मैदानी स्तर पर क़ानून-व्यवस्था क़ायम करें : सिंहदेव

रायपुर । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता ने प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था का मखौल उड़ाते आपराधिक तत्वों के बढ़ते दुस्साहस पर हैरत जताते हुए प्रदेश सरकार और राजधानी के प्रशासनिक अमले की कार्यप्रणाली पर जमकर निशाना साधा है। अनुराग सिंहदेव ने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में चरमराती क़ानून-व्यवस्था और आपराधिक प्रवृत्ति वालों की गुंडागर्दी के मद्देनज़र पुलिस प्रशासन की उदासीनता के चलते जब राजधानी में ही लोगों में दहशत देखी जा रही है, तो प्रदेश के दीग़र इलाक़ों में भयावह स्थिति की सहज ही कल्पना की जा सकती है।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री सिंहदेव ने राजधानी स्थित एक कॉलोनी की गली में चाकू-तलवार व खंजर लहराते लगभग 35-40 बदमाशों की गुंडागर्दी और धमकियों के वायरल वीडियो का हवाला देते हुए इस बात पर हैरत जताई कि जब राजधानी में प्रदेश सरकार सख़्त लॉकडाउन का ढिंढोरा पीटती नहीं थक रही है, तब इस तरह की घटनाएँ बताती हैं कि प्रदेश सरकार और उसकी प्रशासनिक मशीनरी न तो अपने ग़ैर-ज़िम्मेदारान आचरण से बाज आ रही है, न अपराधियों में क़ानून के राज का ख़ौफ़ पैदा कर पा रही है और न ही लॉकडाउन की अवधि में कोविड गाइडलाइन के प्रति गंभीरता का परिचय दे रही है। श्री सिंहदेव ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस शासनकाल में अपराधियों के बढ़ते दुस्साहस ने चहुँओर दहशत फैला रखी है और नागरिक सुरक्षा व भयमुक्त प्रदेश बनाने के राज्य सरकार के दावों की धज्जियाँ उड़ाकर लोगों का जीना मुहाल कर रखा है। श्री सिंहदेव ने कहा कि 35-40 गुंडों में घटना के चार-पाँच दिन बाद पुलिस ने महज़ तीन बदमाशों को ही गिरफ़्तार किया है, जो उसकी लचर कार्यप्रणाली का द्योतक तो है ही, साथ ही शासन-प्रशासन और अपराधियों रिश्तों को लेकर कई सवाल भी खड़े किए हैं। श्री सिंहदेव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से स्मार्ट पुलिसिंग की जुमलेबाजी छोड़कर मैदानी स्तर पर ठोस काम करके क़ानून-व्यवस्था क़ायम करने की मांग की है।
 

कलेक्टर अन्य विभागों के कर्मचारियों की ड्यूटी करोना कार्य में लगाएं, ताकि अपने मूल कार्यों की ओर लौट सकें निगम के कर्मचारी : मीनल

कलेक्टर अन्य विभागों के कर्मचारियों की ड्यूटी करोना कार्य में लगाएं, ताकि अपने मूल कार्यों की ओर लौट सकें निगम के कर्मचारी : मीनल

रायपुर । भाजपा पार्षद दल की बैठक आज कोविड-19 का पालन करते हुए एकात्म परिसर भाजपा कार्यालय में संपन्न हुई बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व महापौर व रायपुर सांसद सुनील सोनी ने कहा राजधानी के पार्षद होने के नाते आप के ऊपर बड़ी जिम्मेदारी है। वैक्सीनेशन पर अभी भी बहुत काम करने की आवश्यकता है। इस युध्द के प्रथम योद्धा आप है। आप अपने वार्ड के मध्यम वर्ग के लोगों को चिन्हांकित कर सरकार से अपेक्षा न करके अपने संसाधनों से बिना प्रचार के उनकी मदद करें।
उन्होंने कहा कि इस विपदा काल मे सरकार में बैठे सत्ता पक्ष के नेता असंवेदनशील हो चुकी है। खुद गलती कर के अधिकारी वर्ग को आगे कर दोषी बनाया जा रहा है, लेकिन याद रखे इस विपरीत अवस्था में भी अधिकारी वर्ग अपनी क्षमता से कार्य करने का प्रयास कर रहे है आप उनका हौसला बढ़ाये। उन्हें लगे कि सशक्त विपक्ष सही कार्यो में उनके साथ खड़ा है और उनसे जन हित के कार्य करवाये।
भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने कहा पार्षदों को सदैव आक्रामक रहना चाहिए पर अभी परिस्थिति अनुसार आक्रामकता सेवाकार्य में दिखना चाहिए। उन्होंने सांसद सुनील सोनी को धन्यवाद देते कहा हुए कहा कि उन्होंने पहल करते हुए पार्षद दल की बैठक बुलाई व विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की इसके सार्थक परिणाम आने वाले समय में देखने को मिलेंगे।
निगम नेता प्रतिपक्ष पदभार ग्रहण पश्चात प्रथम बैठक में प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने कहा कि वर्तमान में कोविड महामारी प्राथमिकता में है, लेकिन निगम के मूल कार्य अभी रुके पड़े हैं। बरसात आने वाले हैं नाली, नालों , तालाबो की सफाई ,सड़क, मरम्मत, राशनकार्ड वितरण, पेंशन वितरण इत्यादि निगम के कार्य शीघ्रता से चालू करवाने के लिए उन्होंने जिलाधीश महोदय से अनुरोध किया है कि अन्य विभाग के कर्मचारियों की कोविड मामलों में डयूटी लगाई जाए व निगम के कुछ अमले को कोरोना कार्य से मुक्त कर मूल कार्य को प्रारंभ करवाएं।
भाजपा रायपुर मीडिया प्रभारी अनुराग अग्रवाल ने बताया कि पार्षद गणों ने सांसद महोदय के सामने अपने विचार रखे। उन्होंने स्मार्ट सिटी की शिकायत करते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी के कार्य महापौर, अधिकारी अपनी मनमर्जी से कर रहे हैं। सुनील सोनी ने कहा कि निगम के कार्यो पर सतत निगरानी रखे। अनियमितताओ का दस्तावेजी प्रमाण के साथ शिकायत करे जिससे जिम्मेदारों पर कार्रवाई हो।
बैठक में वरिष्ठ पार्षद,मनोज वर्मा, सरिता वर्मा, सीमा संतोष साहू, चंद्रपाल धनगर, गज्जू साहू, रोहित साहू, राजेश ठाकुर, सहित भाजपा पार्षदगण उपस्थित थे। जोन अध्यक्ष प्रमोद साहू धन्यवाद के साथ बैठक समाप्ति की घोषणा की।
 

छत्तीसगढ़ में रासायनिक खादों के दामों में बेहताशा वृद्धि से किसानों को राहत दे केंद्र एवं राज्य सरकार -कोमल हुपेंडी

छत्तीसगढ़ में रासायनिक खादों के दामों में बेहताशा वृद्धि से किसानों को राहत दे केंद्र एवं राज्य सरकार -कोमल हुपेंडी

आम आदमी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने आज केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस प्रकार केंद्र सरकार काम कर रही है उससे ये साबित होता है कि देश व देश की जनता से उनका कोई सरोकार नही है , छत्तीसगढ़ में रासायनिक खादों के दाम में बेतहाशा बढ़ोतरी हो गई है। केंद्र के रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय (केमीकल एंड फर्टीलाइजर मिनीस्ट्री) के अंतर्गत आने वाले इफको ने खाद के दामों में लगभग डेढ़ गुना की वृद्धि की है। 12 सौ रुपये वाले डीएपी की कीमत बढ़कर 19 सौ रुपये हो गई है ।

प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी जी ने कहा कि अब डीएपी के मूल्य में लगभग 58 फीसद की एकाएक वृद्धि से किसान हैरान हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 खरीफ सीजन में डीएपी खाद किसानों को 1150 रुपये प्रति बोरी की दर से व रबी सीजन 2020-21 में 1200 रुपये प्रति बोरी की दर से दी गई थी। अब ये 1900 रुपये हो गई है । तरह रासायनिक खाद एनपीके के दाम में भी प्रति बोरी 565 रुपये की वृद्धि की गई है।

अब यह खाद किसानों को 1185 रुपये प्रति बोरी के स्थान पर 1747 रुपये प्रति बोरी देकर खरीदना होगा। सिंगल सुपर फास्फेट के सभी प्रकार के खादों के दाम में प्रति बोरी लगभग 36 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। रासायनिक खाद एमओपी के दाम में भी प्रति बोरी 150 रुपये की वृद्धि की गई है। इसका दाम 850 रुपये प्रति बोरी से बढ़ाकर 1000 रुपये प्रति बोरी कर दिया गया है।
प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा- बस्तर में हाल ही में किसान ने बढ़ते खाद के दामों को लेकर और कर्ज की वजह से आत्महत्या कर ली थी, कोरोना की वजह से पहले ही आम इंसान और साथ-साथ किसानों के हालत खराब है । ऐसे में खाद के दामों में तेजी से वृद्धि करने से किसान मुसीबतों के दौर से गुजर रहे हैं । ऐसे में केंद्र सरकार को बढ़ाए हुए दामों को किसानों के हित को देखते हुए वापस जल्द लेना चाहिए और राज्य की भूपेश सरकार को किसानों को खाद पर सब्सिडी देना चाहिए , जिससे किसानों को राहत मिल सके । आम आदमी पार्टी राज्य सरकार से मांग करती है कि छत्तीसगढ़ के लगभग सभी जिलो के विभिन्न सोसाइटियों में तथा व्यापारियों को कम रेट में मार्च में ही खाद दिया जा चुका है । अभी इन खादो की कीमत सोसाइटी में 1150 रुपये है । इसकी बोरी में एमआरपी 1200 रुपए का है ।।इसी तरह मार्च में ही व्यापारी गण खाद कम रेट में खरीद कर अपने गोदामों में रख चुके हैं जिसे वे अभी खरीफ फसल ने बेचेंगे । आम आदमी पार्टी की यह मांग है की राज्य सरकार इन सोसाइटी एवं व्यापारियों के लिए आदेश जारी करें की कोई भी सोसाइटी या व्यापारी अपने पुराने खरीद के खाद को 1200 रुपए एम आर पी से अधिक नहीं बेच सकते । यदि इस तरह का आदेश सरकार जारी नहीं करेगी तो बाजार में खाद की कालाबाजारी शुरू हो जाएगी जो कि किसानों के लिए इस कोरोना काल में घातक होगा, छत्तीसगढ़ की जनता ने भूपेश सरकार को चुना है ।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश सह संयोजक सूरज उपाध्याय ने कहा है कि खाद के बढ़े दामों को लेकर आम आदमी पार्टी कल प्रदेशव्यापी वर्चुअल उग्र प्रदर्शन करेगी ।
 

सांसद सुनील सोनी का कांग्रेस पर पलटवार, राशन कार्ड के रंग को लेकर कही ये बात

सांसद सुनील सोनी का कांग्रेस पर पलटवार, राशन कार्ड के रंग को लेकर कही ये बात

रायपुर ! भाजपा सांसद सुनील सोनी ने रविंद्र चौबे के बयान पर पलटवार करते हुए कहा यह सरकार के मुखिया ने एप पर अपनी फोटो लगाने के कारण वैक्सीन का आर्डर देने में देरी की है। यहां यह विदित हो कि छत्तीसगढ़ सरकार ने वैक्सीनेशन के लिए जो एप बनाया है अब उसमें मिलने वाले सर्टिफिकेट में मुख्यमंत्री की फोटो रहेगी । उन्होंने रविंद्र चौबे को धन्यवाद देते हुए कहा कि चलो आपने स्वीकार तो किया कि जो लाल कार्ड ,नीला कार्ड ,पीला कार्ड कर रहे थे। वह फोटो की राजनीति के लिए था। उन्होंने सरकार से मांग की कि जब आपकी मंशा पूरी हो गई ,अब जो हजार करोड़ रुपए आपके पास है । वह वैक्सीन के लिए आर्डर दे देवें ताकि हमारे प्रदेश के युवा निकट भविष्य में वैक्सीन से युक्त हो जाएं और कोरोना से मुक्त हो जाएं।
छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मुख्यमंत्री निवास व अन्य निर्माण बंद करने संबंधी घोषणा पर प्रतिक्रिया देते हुए सांसद सुनील सोनी जी ने कहा अब समय आ गया है कि मुख्यमंत्री स्तर पर ऐसी स्तरीन बयान बाजी बंद हो और सारा संसाधन, सारा प्रशासन ,इस ओर ध्यान दें कि कैसे जल्दी से जल्दी 18 से 44 वर्ग के व्यक्तियों को वैक्सीन लगे। उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व मानता है कि कोरोनावायरस से बचाओ का वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय है। उन्होंने कहा कि सरकार आरोप-प्रत्यारोप से ऊपर उठकर अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए व्यक्ति के जीवन कवच वैक्सीन का अधिकार दिलाने की ओर कार्य करें। 

पश्चिम बंगाल विधानसभा में BJP विधायकों की संख्या हुई कम, 2 सदस्यों ने दिया इस्तीफा, जाने क्यों

पश्चिम बंगाल विधानसभा में BJP विधायकों की संख्या हुई कम, 2 सदस्यों ने दिया इस्तीफा, जाने क्यों

कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elecion) में 77 सीटें जीतनी वाली भारतीय जनता पार्टी के विधायकों की संख्या 75 ही रह गई है. बीजेपी को दो सांसद निशीत प्रमाणिक (Nishit Pramanik) और जगन्नाथ सरकार (Jagannath Sarkar) ने पद से इस्तीफा दे दिया है. दोनों ने पार्टी हाईकमान के निर्देश के बाद बुधवार को स्पीकर को अपनी त्यागपत्र सौंप दिया है. वहीं, राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने बीजेपी के इस कदम का मजाक उड़ाया है. टीएमसी का कहना है कि बीजेपी इसके जरिए लोकसभा स्थिति सुरक्षित करने की कोशिश कर रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीजेपी का मानना है कि दोनों सदस्यों की जरूरत राज्य से ज्यादा संसद में है. इसके चलते दोनों सांसदों ने विधायक पद से इस्तीफा दिया है. खास बात है कि प्रमाणिक और सरकार उन 5 बीजेपी सांसदों में शामिल थे, जिनसे पार्टी ने राज्य में बड़ी जीत की उम्मीद लगाई थीं. वहीं, चुनाव के बाद से राज्य में भड़की हिंसा के बाद केंद्र सरकार ने बीजेपी विधायकों को सुरक्षा देने का फैसला किया था. टीएमसी ने केंद्र पर करदाताओं के रुपयों के दुरुपयोग का आरोप लगाया था.

नादिया जिले के राणाघाट से बीजेपी सांसद और शांतिपुर विधानसभा सीट से जीत दर्ज करने वाले सरकार ने  बताया 'बंगाल में नतीजे उम्मीद के मुताबिक नहीं रहे. अगर बीजेपी सरकार बनाती, तो हमें अलग भूमिका मिलती. अब ऐसा नहीं है, तोपार्टी ने कहा कि हमें सांसद रहना चाहिए और विधायक के तौर पर इस्तीफा दे देना चाहिए. यही कारण है कि हम ऐसा कर रहे हैं.' सांसद के तौर पर प्रमाणिक और सरकार के पास केंद्र की सुरक्षा है. नंदीग्राम सीट से मुख्मयंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ जीत दर्ज करने वाले शुभेंदु अधिकारी को भी जेड प्लस सुरक्षा मिली है.
 

सुनील सोनी बताये जब भाजपा वर्चुअल प्रेसवार्ता धरना प्रदर्शन बैठक कर सकती है तो CM के साथ बैठक करने में दिक्कत क्यो :धनंजय सिंह ठाकुर

सुनील सोनी बताये जब भाजपा वर्चुअल प्रेसवार्ता धरना प्रदर्शन बैठक कर सकती है तो CM के साथ बैठक करने में दिक्कत क्यो :धनंजय सिंह ठाकुर

रायपुर। सांसद सुनील सोनी के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा
भाजपा सांसद सुनील सोनी का बयान कोरोना  रोकने तय गाइडलाइन के पालन करने वालों का अपमान है। सांसद सुनील सोनी के बयान से ऐसा प्रतीत होता है कि महामारी को फैलने से रोकने के लिए तय गाइड लाइन का पालन करने वाले सब अछूत है।जहां देश के प्रधानमंत्री  मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक करते हैं भाजपा छत्तीसगढ़ में वर्चुअल प्रेस वार्ता करती है धरना प्रदर्शन करती है संगठन की बैठक करती है लेकिन सीएम के साथ आयोजित वर्चुअल बैठक से भागती है और वर्चुअल बैठक को अपना अपमान बताती है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के प्रस्ताव का स्वागत करते हुए उन्हें वर्चुअल बैठक के लिए आमंत्रित किए और समय भी निर्धारित किए। लेकिन भाजपा की झूठ प्रोपोगंडा गुमराह की राजनीति करने की आदत है इसलिए वो वर्चुअल बैठक से भाग गई इससे स्प्ष्ट हो गया है  कि भाजपा के पास मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ बैठक करने कोई मुद्दा नही था ना ही महामारी रोकने कोई सुझाव थे।भाजपा ये सारी कवायद सिर्फ मीडिया में हेडलाइन बनने के लिए कर रही थी।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा सांसद सुनील सोनी झूठ की राजनीति  करने पवित्र गंगाजल का सहारा ले रहे हैं गंगाजल के आड़ में अपने झूठ को सच साबित करने में लगे है। कांग्रेस नेताओ ने गंगाजल हाथ में लेकर किसानों के कर्ज माफी करने का शपथ लिया था और उसे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सरकार ने पूरा किया है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी भाजपा की सरकार महामारी संकटकाल में 20 हजार करोड रुपए का सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट बना रही है जबकि इस कठिन दौर में देश के गरीब मजदूर असहाय लोगो के बैंक खाता में 6000रु जमा कराना चाहिए। कोविड मरीजो के अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था करना चाहिए देश के 137 करोड़ जनता को फ्री वैक्सीन देना चाहिए दवाइयों की सुविधा देनी चाहिए। मोदी सरकार जहां एक ओर रेलवे स्टेशन हवाई अड्डा विमानन कंपनी बैंक एलआईसी सहित 150 से अधिक सरकारी उपक्रमों को बेचकर फंड जुटाने की बात कर रही है।वही फिजूलखर्ची कर सेंट्रल विस्टा का निर्माण कर रही है वैक्सीन पर जीएसटी लगाकर वसूली कर रही है। पेट्रोल डीजल रसायनिक खादों का दाम बढ़ाकर महामारी काल में आम जनता को महंगाई के बोझ तल दबा रही है।भाजपा नेताओं को शर्म नहीं आती उस राज्य सरकार पर आरोप लगा रहे हैं जो राज्य सरकार 60 करोड़ का विधानसभा भवन बना भी रही है और राज्य के 1करोड़ 30 लाख लोगों को मुफ्त वैक्सीन दे रही है किसानों को 10 हजार रु प्रति एकड़ सहायता दे रही है। गोधन न्याय योजना के माध्यम से गोबर खरीदी कर ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक मजबूती ला रही है महामारी काल में  2 माह का राशन निशुल्क दे रही है प्रवासी मजदूरों के घर आने से लेकर रहने खाने जूता चप्पल रोजगार की व्यवस्था  कर रही है दूसरे राज्यों को ऑक्सीजन देकर महामरी काल में मदद कर रही हैं ऐसे जन हितेषी सीएम भूपेश बघेल सरकार पर भाजपा आरोप लगाकर नरेंद्र मोदी सरकार के काले कारनामे पर पर्दा नहीं डाल सकती है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा सांसद सुनील सोनी को वैक्सीन कंपनियों के भुगतान की चिंता है लेकिन राज्य को वैक्सीन जल्दी मिले इसके लिए उनके द्वारा अभी तक कोई पहल नहीं की गई है राज्य सरकार ने 75लाख डोज वैक्सीन का आर्डर दिया है और वैक्सीन निर्माता कंपनियों को अब तक 15 करोड़ रु की राशि का अग्रिम भुगतान कर दिया है। 

 भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने सोशल मीडिया टीम के वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए कही यह बात

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने सोशल मीडिया टीम के वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए कही यह बात

रायपुर। राज्य सरकार की लापरवाही से ग्रामीण क्षेट्रिम में यह कोविड वैक्सीन को लेकर अनेक अफ़वाह फ़ेला है। भारतीय जनता पार्टी आईटी और सोशल मीडिया की टीम लोगों को जागरूक करे और उन्हें यह बताए कि देश के राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री और अधिकांश डाक्टरों ने यह वैक्सीन ले ली है और सभी स्वस्थ हैं, इस लिए वैक्सिन से डरने की नही, इसे अपनाने की जरूरत है। वैक्सीन से ही कोरोना का अंत होगा।

उक्त बातें भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने पार्टी की सोशल मीडिया और आईटी सेल के प्रभारियों, ज़िला संयोजकों, प्रदेश कार्यसमिति सदस्यों की वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए कही।

डा. सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार की कोरोना से लड़ने की कोई नीति नही है। छत्तीसगढ़ कोरोना का हॉट स्पॉट बन चुका है। पड़ोसी भाजपा शासित राज्य उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सरकारें कोरोना मरीजों का निजी और सरकारी अस्पतालों में निशुल्क इलाज कर रही है। दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ में मरीज की मृत्यु हो जाने पर मृत देह घर तक ले जाने के लिए भी ढाई हजार की रसीद कटवानी पड़ रही है।

डॉ रमन सिंह ने कहा कि इस राज्य सरकार की प्राथमिकता वैक्सिनेशन, ऑक्सीजन ,इलाज और दवाई नही है बल्कि यह सरकार आपदा को अवसर तलाश रही है। जहरीली शराब से दस लोगो की मृत्यु होते ही इसने शराब बेचने का अवसर तलाश लिया। इस आपदा काल में जब लोगो की जरूरत इलाज और राशन और दवाई है, तब शराब बेचना गरीब जनता के साथ घिनौना मजाक है।

उन्होंने सोशल मीडिया और आईटी सेल के कार्यकर्ताओ से कहा कि वर्तमान समय मे सोशल मीडिया का दायरा बहुत बड़ा है। इस माध्यम से एक बड़े वर्ग तक अपनी बात पहुँचाई जा सकती है। इस आपदा काल मे जब छत्तीसगढ़ के अधिकांश जिले लॉक डाउन से गुजर रहे है तब विपक्ष के तौर पर सरकार की कमियों को उजागर करने या अपनी बात कहने के लिए सड़कों पर उतरना मुमकिन नही है। ऐसे में सोशल मीडिया और आईटी सेल के हमारे युवा साथियों ने जिस जोश और ऊर्जा के साथ पार्टी का पक्ष और प्रदेश सरकार की कमियां जनता तक पहुंचाई है उसके लिए मैं आप सबको बधाई देता हूँ।

बैठक में प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना की इस वैश्विक महामारी के बीच भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता प्रदेश के सभी क्षेत्रों में जरूरतमंदों की सेवा का कार्य कर रहे है, उनकी आवश्यकताओं की सामग्रियों को यथासंभव पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। इन सेवा कार्यों को सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने का कार्य आईटी सेल की टीम कर रही है जो सराहनीय है। उन्होंने इन सेवा कार्यों से प्रदेश वासियों को जोड़ने के लिए अपने जन जागरूकता वृहद स्तर पर कार्यक्रम चलाने हेतु कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया साथ ही बूथ स्तर तक भाजपा कार्यकर्ताओं को जोड़कर उन तक केंद्र सरकार की उपलब्धियों, सकारात्मक खबरें, संगठन के कार्यों की जानकारी पहुंचाने सहित सोशल मीडिया के माध्यम से आम जनता की सहायता करने हेतु आईटी सेल का मनोबल बढ़ाया।

बैठक के दौरान भाजपा आईटी व सोशल मीडिया के प्रदेश प्रभारी दीपक म्हस्के ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को छत्तीसगढ़ में भाजपा आईटी व सोशलमीडिया की कार्यप्रणाली सहित कोरोना संक्रमण के दौरान चलाये जा रहे जन-जागरूकता कार्यक्रमों के संबंध में विस्तार से जानकारी दिया।

आज की बैठक में प्रमुख रूप से भाजपा सोशल मीडिया प्रबंधन विभाग के प्रभारी पंकज झा, आईटी और सोशल मीडिया प्रदेश सह प्रभारी दुर्गेश ठाकुर, सुनील पिल्लई, मितुल कोठारी, आलोक सिंह, सोमेश पांडेय, राकेश चंद्राकर, अभिमन्यु, रवि मिश्रा सहित भाजपा आई.टी. और सोशल मीडिया टीम के सभी प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवं जिला संयोजक उपस्थित थे। 

कांग्रेस ने भाजपा से पूछे पांच सवाल, पढ़े खबर विस्तार से, जाने क्या है इन प्रश्नों में ...

कांग्रेस ने भाजपा से पूछे पांच सवाल, पढ़े खबर विस्तार से, जाने क्या है इन प्रश्नों में ...

रायपुर,  प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि झूठो बयान बाजी और झूठे आरोप लगाने को ही भाजपा विपक्ष का धर्म समझ बैठी है।यह दुःखद है की वैश्विक महामारी के इस दौर में भी प्रदेश की विपक्षी पार्टी सिर्फ राजनैतिक प्रोपोगंडा में लगी है ।कोरोना के दूसरी लहर की शुरुआत में राज्य में कोरोना का संक्रमण तेजी और भयावह रूप से बढ़ा ।राज्य सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सूझ बूझ से आज छत्तीसगढ़ में टेस्टिंग से ले कर इलाज तक की सारी सुविधाएं व्यवस्थित है ।राज्य में ऑक्सीजन बेड से ले कर वेंटिलेटर पर्याप्त उपलब्ध है ।रिकवरी दर बढ़ी है संक्रमण दर घटी है ।देश भर के अन्य राज्यो के भयावह हालात की तुलना में राज्य अपने नागरिकों को बेहतर चिकित्सा उपलब्ध करवा रहा है। ऐसे समय भी भाजपाई आरोप लगाने की घटिया राजनीति से ऊपर नही उठ पा रहे है।

कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने भाजपा से पांच सवाल पूछा है -
1-पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह राज्य सरकार से पूछते है हर महीने 25 लाख वेक्सीन कहा से आएगी ?राज्य सरकार ने तो दोनों ही कम्पनियों को 75 लाख डोज का ऑर्डर दे दिया है ।और ऑर्डर देने की तैयारी है ।15 करोड़ का अग्रिम भुगतान भी हो गया है।रमन सिंह राज्य सरकार से सवाल तो पूछ रहे लेकिन केंद्र से उन्होंने राज्य को वैक्सीन दिलवाने में के लिये पत्राचार फोन आदि कोई प्रयास क्यो नही किया ?
रमन सिंह जब भाजपा नेताओं के साथ राज्यपाल से मिलने गए तो उन्होंने राज्यपाल महोदय से प्रदेश के द्वारा ऑर्डर की गई 75 लाख वैक्सीन की डिलवरी जल्दी करवाने की केंद्र से पहल करने का अनुरोध क्यो नही किया ?
2 भाजपा के नेता मुख्य मंत्री से वर्चुवल मीटिंग करने क्यो तैयार नही हुये ? यदि उनके पास वास्तव में कोरोना से निपटने के कोई ठोस महत्वपूर्ण सुझाव थे उसे नही दे कर क्या भाजपा अपनी विपक्ष की जिम्मेदारी से भाग नही रही ? भाजपा ने प्रेस कांफ्रेंस ले कर जो सुझाव दिया उन सुझावो को केंद्र को क्यो नही देते ?
3 कोरोना काल मे जब सोशल डिस्टेंसिग महत्व पूर्ण और आवश्यक है तब सोशल डिस्टेंसिग के बजाय प्रत्यक्ष मीटिंग करके भाजपा क्या संदेश देना चाहती थी ?

मुख्य मंत्री द्वारा वर्चुवल मीटिंग का प्रस्ताव यदि विपक्ष का अपमान है तो क्या मोदी जी लगातार जो मुख्यमंत्रियों से वर्चुवल मीटिंग कर रहे ।केंद्रीय मंत्री मंडल की वर्चुबल बैठक लिए क्या यह सब उन सबको अपमानित करने के लिए कर रहे है ?
4 राज्य में कोरोना वैक्सीन की कमी है इस कारण वेक्सिनेशन प्रभावित हो रहा भाजपा के लोकसभा के 9 सांसदों राज्य सभा के 2 सांसदों और केंद्रीय राज्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ को वैक्सीन की आपूर्ति दिलवाने के लिए क्या प्रयास किये ?राज्य को सस्ता वैक्सीन दिलवाने के लिए कब क्या प्रयास किया ।
5-नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक कहते है छत्तीसगढ़ ने पीएम केयर से खराब वेंटिलेटर खरीदे है ।राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट कर दिया कि छत्तीसगढ़ ने पीएम केयर से कोई वेंटिलेटर नही खरीदा ।केंद्र ने पीएम केयर के फंड से वेंटिलेटर भेजे थे जिनमें से 70 खराब को बनवाया गया उनमें से 4 सुधर भी नही पाए ।जब कि यह स्प्ष्ट हो गया केंद्र ने छत्तीसगढ़ को घटिया वेंटिलेटर भेजे थे ।राज्य पर आरोप लगाने वाले नेता प्रतिपक्ष ने केंद्र से पूछा कि राज्य को इस आपदा के समय घटिया वेंटिलेटरो की सप्लाई कर राज्य की जनता के प्राणों को संकट में क्यो डाला गया ?
कोरोना काल मे सिर्फ झूठे बयान बाजी को अपना कर्तब्य समझने वाले भाजपा नेताओ में साहस हो तो राज्य की जनता को इन सवालों के जबाब दें।
 

Previous123456789...2021Next