कोरोना अपडेट : फिर बढे राजधानी में कोरोना संक्रमित, जानिए प्रदेश सहित जिलों के आकड़े...    |    भारत बायोटेक ने जारी किए कोवैक्सिन के तीसरे चरण के आंकड़े, इतने प्रतिशत प्रभावी होने का दावा    |    तापसी पन्नु, अनुराग कश्यप समेत 22 ठिकानो पर आयकर विभाग ने मारे छापे…    |    राज्य की सभी जेलों में एक साथ छापेमारी: डीएम-एसपी कर रहे लीड    |    स्कूली छात्रा का अपहरण कर किया खंडहर में दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार    |    BIG BREAKING : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक    |    बड़ी खबर : पत्नी कोई निजी संपत्ति या गुलाम नहीं है, साथ रहने को मजबूर नहीं किया जा सकता: सुप्रीम कोर्ट    |    INCOME TAX RAID: अभिनेत्री तापसी पन्नू और फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप के घर पर इनकम टैक्स का छापा    |    नोटबंदी जैसे गलत फैसले के चलते देश में बढ़ी बेरोजगारी: मनमोहन सिंह    |    BIG BREAKING : आज फिर राजधानी रायपुर सहित प्रदेश में इतने कोरोना मरीजों की हुई पहचान, 2 मरीजों की मौत    |
Previous123456789...1314Next
भाजपा रायपुर जिला जनजाति मोर्चा ने की कार्यकारिणी की घोषणा, दखे किन्हें मिला स्थान

भाजपा रायपुर जिला जनजाति मोर्चा ने की कार्यकारिणी की घोषणा, दखे किन्हें मिला स्थान

रायपुर, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के निर्देशानुसार जनजातिय मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष विकास मरकाम व भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी की अनुशंसा पर रायपुर जिला जनजाति मोर्चा अध्यक्ष बजरंग ध्रुव ने रायपुर जिला कार्यकारिणी की घोषणा की। यह जानकारी जिला मीडिया प्रभारी अनुराग अग्रवाल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी।

अध्यक्ष- बजरंग ध्रुव
उपाध्यक्ष- घासीराम मांझी , सोमचंद माकरे, मनीष ध्रुव,
महामंत्री-रजियंत ध्रुव, वेदप्रकाश शोरी,
मंत्री- योगेन्द्र प्रताप ठाकुर, दौलत राम ध्रुव,लोकमती ठाकुर,
कोषाध्यक्ष- भाऊ सिंग ठाकुर,
कार्यालय मंत्री-भरत ठाकुर,
मिडिया प्रभारी- कमल नारायण,
प्रचार-प्रसार मंत्री-दिग्विजय सिंह ठाकुर
मंडल अध्यक्ष- महेश ध्रुव-तेलीबांधा,दिनेश नेताम-शंकर नगर, ऋतुराज ठाकुर-जवाहर नगर, हरीश ध्रुव –पुरानी बस्ती, पुनेन्द्र ध्रुव-लाखेनगर, शेरू ध्रुव-सिविल, श्रीमती शशी नाग-डी.डी नगर, संजय ध्रुव-रामसागर पारा, अमर गन्धर्व-गुढ़ियारी, बल्लू राम-बिरगाव, रवि ध्रुव-भनपुरी, तुलसी राम ध्रुव-माना
कार्यकारणी सदस्य-
गुरूदयाल नेताम, खिलावन सिंह उइके,पुनीत गोड़, शिव नन्दनी ध्रुव, चन्द्रिका ध्रुव,सुलोचना नेताम, राजा ध्रुव, सुरेश ध्रुव, तुलसी ध्रुव, रितेश ठाकुर, रोहित नागवंशी,

विशेष आमंत्रित सदस्य-
पूर्णिमा फुल्स्ते , टिकेश्वर बरिहा, चंद्रशेखर ध्रुव, तुलसी तांडी, गोविन्द ठाकुर, उत्तम ध्रुव, नरेश ध्रुव, अविनाश कुजुर, माखन ध्रुव, चंद्रहाश ठाकुर, चन्द्रशेखर छेदैइया, दिलीप ध्रुव
 

भाजपा जिला अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा की कार्यकारिणी घोषत, लव यदु बीजेपी पिछड़ा वर्ग मोर्चा पुरानी बस्ती मण्डल अध्यक्ष नियुक्त, देखिए पूरी लिस्ट

भाजपा जिला अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा की कार्यकारिणी घोषत, लव यदु बीजेपी पिछड़ा वर्ग मोर्चा पुरानी बस्ती मण्डल अध्यक्ष नियुक्त, देखिए पूरी लिस्ट

रायपुर । भाजपा जिला अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा की कार्यकारिणी घोषित कर दी गई है। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के निर्देषानुसार अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष अखिलेश सोनी व भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी की अनुशंषा से जिलाध्यक्ष सुनील चौधरी ने जिला पदाधिकारी मण्डल अध्यक्ष एवं जिला कार्याकारिणी की घोषणा की जो निम्नानुसार है।

लव यदु को बीजेपी पिछड़ा वर्ग मोर्चा पुरानी बस्ती मण्डल अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
उनकी नियुक्ति से पूरे कार्यकर्ताओ समर्थकों में उत्साह की लहर है। श्री लव यदु जी वर्तमान में सक्रिय राजनीति के साथ साथ यादव (ठेठवार) समाज रायपुर राज के उप कोषाध्यक्ष भी है। जिससे समाज जनों में भी उनकी नियुक्ति में उत्साह है।

अध्यक्ष-सुनील चौधरी

उपाध्यक्ष-अशोक सिन्हा, विशेष बघेल, संतोष साहू,

महामंत्री-अखिलेश कश्यप,यादराम साहू,

मंत्री-राकेश सोनकर,राजा रजक, सोनिया साहू,

कोषाध्यक्ष-राजु गोस्वामी,

सहकोषाध्यक्ष-पंकज प्रधान प्रचार-प्रसार-कुशल गिरी गोस्वामी, राकेश वर्मा,चन्दु कौशिक,वीणा वर्मा

मीडिया प्रभारी-विक्रम प्रधान,गोपी साहू, भारती वर्मा कार्यालय प्रभारी-मिलेष नायक,

सह.कार्यालय प्रभारी-युवराज सेन

सोशल मीडिया प्रभारी – गुडडु साहू, यशवंत निर्मलकर, प्रकाश सिन्हा, करण यदु, रामेश्वर साहू, अनुप वर्मा

मंडल अध्यक्ष-प्रकाश यादव – तेलीबांधा, दीपेश निर्मलकर-फाफाडीह, साजन श्रीवास-जवाहर नगर, मनोज देवांगन-शंकर नगर, उत्तम देवांगन – डी.डी. नगर, ओखराज पटेल – तात्यापारा, मुकुल वर्मा – गुढ़ियारी, प्रकाश यादव – रामसागर पारा, नीरज निर्मलकर – माना, भुपेन्द्र सोनबेर – बीरगांव, विनोद देवांगन – भनपुरी, राजेन्द्र साहू – रायपुर ग्रामीण, लव यदु – पुरानी बस्ती, तामेश्वर साहू – सिविल लाइन, प्रताप यादव – लाखेनगर, नितीन साहू – सदर बाजारकार्याकारिणी सदस्य- अशोक मानिकपुर, बिसाहु बाघमार, नीरज प्रजापती, मनोज विश्वकर्मा, वरूण साहू, सतीश कुरेन्जकर, उमेश्वरी चन्द्राकर, अहिल्या कौशिक, राखी श्रीवास, बल्ला साहू, अरूण चक्रधारी, रजत साहू, अनिल साहू, अरविन्द यादव, प्रकाश जंघेल, दीपक नोखवाल। 

भाजपा जिला अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा की कार्यकारिणी हुई घोषित, देखे किन्हें मिली है जगह

भाजपा जिला अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा की कार्यकारिणी हुई घोषित, देखे किन्हें मिली है जगह

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के निर्देषानुसार अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष अखिलेश सोनी व भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी जी की अनुशंषा से जिलाध्यक्ष सुनील चौधरी ने जिला पदाधिकारी मण्डल अध्यक्ष एवं जिला कार्याकारिणी की घोषणा की जो निम्नानुसार हैः-

अध्यक्ष-सुनील चौधरी
उपाध्यक्ष-अशोक सिन्हा, विशेष बघेल, संतोष साहू,

महामंत्री-अखिलेश कश्यप,यादराम साहू,

मंत्री-राकेश सोनकर,राजा रजक, सोनिया साहू,

कोषाध्यक्ष-राजु गोस्वामी,

सहकोषाध्यक्ष-पंकज प्रधान

प्रचार-प्रसार-कुशल गिरी गोस्वामी, राकेश वर्मा,चन्दु कौशिक,वीणा वर्मा

मीडिया प्रभारी-विक्रम प्रधान,गोपी साहू, भारती वर्मा

कार्यालय प्रभारी-मिलेष नायक,

सह.कार्यालय प्रभारी-युवराज सेन

शोशल मीडिया प्रभारी - गुडडु साहू, यशवंत निर्मलकर, प्रकाश सिन्हा, करण यदु, रामेश्वर साहू, अनुप वर्मा
मंडल अध्यक्ष-प्रकाश यादव - तेलीबांधा, दीपेश निर्मलकर-फाफाडीह, साजन श्रीवास-जवाहर नगर, मनोज देवांगन-शंकर नगर, उत्तम देवांगन - डी.डी. नगर, ओखराज पटेल - तात्यापारा, मुकुल वर्मा - गुढ़ियारी, प्रकाश यादव - रामसागर पारा, नीरज निर्मलकर - माना, भुपेन्द्र सोनबेर - बीरगांव, विनोद देवांगन - भनपुरी, राजेन्द्र साहू - रायपुर ग्रामीण, लव यदु - पुरानी बस्ती, तामेश्वर साहू - सिविल लाइन, प्रताप यादव - लाखेनगर, नितीन साहू - सदर बाजार
कार्याकारिणी सदस्य- अशोक मानिकपुर, बिसाहु बाघमार, नीरज प्रजापती, मनोज विश्वकर्मा, वरूण साहू, सतीश कुरेन्जकर, उमेश्वरी चन्द्राकर, अहिल्या कौशिक, राखी श्रीवास, बल्ला साहू, अरूण चक्रधारी, रजत साहू, अनिल साहू, अरविन्द यादव, प्रकाश जंघेल, दीपक नोखवाल
 

सिर पर टोकरी बांधे बागान में चाय की पत्तियां तोड़ती दिखीं प्रियंका गाँधी

सिर पर टोकरी बांधे बागान में चाय की पत्तियां तोड़ती दिखीं प्रियंका गाँधी

गुवाहाटीकांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा दो दिवसीय दौरे पर असम में हैं। प्रियंका असम में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए लिए चुनावी प्रचार में जुटी हुई हैं। अपने दौरे के दूसरे दिन प्रियंका ने असम के तेजपुर में चाय बागान में मजदूरों से मुलाकात की। प्रियंका यहां मजदूरों के बीच में उनके ही अंदाज में पहुंची।

पढ़ें : लॉकडाउन: कोरोना रिटर्न के बाद इन जिलों में किया गया लॉकडाउन और स्कूल, कॉलेज 14 मार्च तक बंद

मजदूरों की तरह सिर पर टोकरी बांधे प्रियंका चाय की पत्तियां तोड़ती दिखाई दीं। यहां बाग में प्रियंका चाय बाग के अन्य कर्मचारियों की तरह वेशभूषा में नजर आईं। उन्होंने बाग में चाय की पत्तियों को अपने हाथ से चुनकर टोकरी में डाला। असम में हर चुनाव में चाय बागान और मजदूर चुनावी मुद्दा बनते हैं।

मजदूरों के बीच पहुंचकर प्रियंका ने उनको साधने की कोशिश की और यह मैसेज देना चाहा कि कांग्रेस उनके बारे में सोचती है। बता दें कि इससे पहले प्रियंका ने सोमवार को केन्द्र और असम सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उनकी संवेदनहीनता के कारण ईंधन और आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में इजाफा हो रहा है। प्रियंका ने केंद्र और राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि दोनों की बेरुखी के कारण ही आम आदमी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।


वहीं प्रियंका गांधी ने गुवाहाटी के कामाख्या देवी के मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ ही सोमवार को असम के दो दिवसीय दौरे की शुरुआत की। असम में 126 सदस्यीय विधानसभा के लिए 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को तीन चरणों में मतदान होगा। प्रियंका सबसे पहले जलुकबारी इलाके में रुकी, जहां कांग्रेस समर्थकों ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह नीलाचल हिल्स स्थित शक्ति पीठ के लिए रवाना हो गईं।

शराबबंदी के बजाय शराब से 600 करोड़ रुपए अधिक कमाई की योजना बना अपनी मंशा जाहिर कर दी कांग्रेस सरकार ने - शालिनी राजपूत

शराबबंदी के बजाय शराब से 600 करोड़ रुपए अधिक कमाई की योजना बना अपनी मंशा जाहिर कर दी कांग्रेस सरकार ने - शालिनी राजपूत

रायपुर। महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने कहा कि इस बजट में सरकार ने एक बार फिर महिलाओं से छल किया है। शराबबंदी का वादा करके सत्ता में आई कांग्रेस शराबबंदी की ओर बढ़ने के बजाय शराब के व्यापार में 600 करोड रुपए और अधिक कमाने का लक्ष्य निर्धारित कर रही हैं। पिछले वर्षों में महिलाओं के खिलाफ लगातार अनाचार, अपहरण, और हिंसा की घटनाएं बढ़ी है। परंतु सरकार ने इस पर कोई बात नहीं की है। “गढ़बो नवा छत्तीसगढ़” के नारे लगाने वाली सरकार के क्रियाकलाप से छत्तीसगढ़ अपराध के नए कीर्तिमान की ओर बढ़ रहा है। एक तरफ कांग्रेस सरकार पुलिस कर्मियों को पदक देने की बात कर रही है दूसरी तरफ कांग्रेस के कार्यकर्ता थानों में घुसकर पुलिसकर्मियों को पीट रहे हैं । कांग्रेस के जन घोषणा पत्र में किए वादे के महिला स्व सहायता समूह को कर्जा माफ करने के बाद करने के बजाए बजट में जो व्यवस्थाएं रखी गई है वह उठ के मुंह में जीरा साबित होगा छोड़ा जाएगा। 

बजट 2021 पर बृजमोहन अग्रवाल की प्रतिक्रिया- बजट, खाओ-पीयो, उधार लेकर छ.ग. को कर्जदार बनाओ है

बजट 2021 पर बृजमोहन अग्रवाल की प्रतिक्रिया- बजट, खाओ-पीयो, उधार लेकर छ.ग. को कर्जदार बनाओ है

रायपुर, भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने प्रदेश 2021-22 के बजट को निराशाजनक, विकाश विरोधी बताते हुए कहा कि यह खाओ-पीयो-उधार लेकर छत्तीसगढ़ को कर्जदार बनाओ बजट है। इस बजट में किसान, मजदूर, युवा, महिला, बेरोजगार, शासकीय सेवक किसी के लिए कुछ नहीं है। यह बजट छत्तीसगढ़ के धरातल पर कोई परिवर्तन नहीं ला सकता। बजट की सबसे बड़ी राशि 355 करोड़ नया राजधानी को मुख्यमंत्री, मंत्री, राज्यपाल निवास व विधानसभा के लिए दी गई जिससे टेंडर-टेंडर व भ्रष्टाचार का खेल हो। एक शब्द में यह बजट ‘‘थोथा चना-बाजे घना‘‘ को चरितार्थ कर रहा है।
श्री अग्रवाल ने कहा कि भारी भरकम लगभग 86 प्रतिशत के राजस्व व्यय व ऊॅट के मुंह में जीरा के समान लगभग 14 प्रतिशत से कम पूंजीगत व्यय सरकार की असफलता व छत्तीसगढ़ को बिमारू राज्य बनाने का आईना दिखा रहा है। सरकारी योजनाएं एवं विकास कार्य सिर्फ और सिर्फ होल्डिंग में रहेगी। बजट सरकार का विजन डाॅक्यूमेंट होता है पर यह बजट छूट का पुलिंदा है। भलाई का नहीं झूठे प्रचार का बजट है।
श्री अग्रवाल ने कहा कि इस सरकार ने प्रदेश के 56 लाख गरीबों से नीजि अस्पताल में ईलाज का उनका हक छिन लिया। गरीबों से उनके पक्के मकान, छत व घर का सपना छिन लिया। ईलाज व आवास के लिए बजट में नया कुछ नहीं है। यह सरकार हिन्दी स्कूलों के उत्थान के बजाय अंग्रेजी को छ.ग. की राजभाषा बनाने पर तुल गई है। इस बजट का हर पन्ना आंकड़ों की झूठी कहानी बया करती है।
श्री अग्रवाल ने कहा कि केन्द्र के उपर निर्भर पूरी तरह केन्द्राषित बजट है। प्रदेश का घटता बजट देखकर यह तो प्रमाणित हो गया कि प्रदेश को आर्थिक बदहाली की ओर ढकेल दिया गया है। राजकोषकीय नीति 2005 के अनुसार जो वित्तीय घाटा कुल 3 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए किंतु राज्य से सकल बजट का घाटा 4.56 प्रतिशत है जो सीधा सीधा छ.ग. पर ऋण बढ़ाने वाला सिद्ध हो रहा है। कुल राजस्व प्राप्ति (आमदनी) का जो आंकड़ा दिया गया है उससे राज्य सरकार की आमदनी 35 हजार करोड़ बताया गया वहीं केन्द्र से राजस्व प्राप्ति 44 हजार 325 करोड़ की है। राज्य सरकार ने 2 साल में आमदनी बढ़ाने का कोई प्रयास ही नहीं किया सिर्फ शब्दों का मायाजाल ही फैलाया है।
श्री अग्रवाल ने कहा कि इस बजट में 14000 करोड़ रूपए संरचना विकास पर खर्च करने की बात कही गई है, मगर, नए रोजगार के सृजन की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। यह बजट छत्तीसगढ़ को विकास के रास्ते पर पीछे ले जाने वाला है। यह तीसरा बजट भी पहले के दो बजट के समान ही राज्य के 
 पेंशनरों एवं कर्मचारी जगत क लिये निराशाजनक है। वरिष्ठ नागरिक संवर्ग के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को इस बजट से मायूसी मिली है, उनका छठवें वेतनमान और सातवें वेतनमान के एरियर के भुगतान का भरोसा टूट गया। इस तीसरे बजट से सबसे ज्यादा उम्मीद जुलाई 19 से बकाया पांच फीसद महंगाई राहत की घोषणा का इंतजार था, उस पर भी चुप्पी से राज्य के पेंशनर हताश हुए हैं।
 

 विधायक विकास उपाध्याय को असम चुनाव में मिली बड़ी जिम्मेदारी

विधायक विकास उपाध्याय को असम चुनाव में मिली बड़ी जिम्मेदारी

रायपुर/नई दिल्ली। असम चुनाव का ऐलान होने के बाद कांग्रेस जीत के लिए पूरी ताकत झोंक रही है। चुनाव के मद्देनजर छत्तीसगढ़ के मुखिया भूपेश बघेल, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय सहित तमाम नेता चुनावी मैदान में जमकर पसीना बहा रहे हैं। इसी बीच कांग्रेस ने असम चुनाव के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी में पृथ्वीराज चौहान को अध्यक्ष बनाया गया है। जबकि ससंदीय सचिव विकास उपाध्याय को सदस्य के तौर पर शामिल किया गया है।
 अपनी नाकामियों का दोष बार-बार केंद्र को देकर अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते भूपेश: डाॅ. रमन

अपनी नाकामियों का दोष बार-बार केंद्र को देकर अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते भूपेश: डाॅ. रमन

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री की ओर से केंद्र सरकार पर प्रश्न उठाए जाने पर कहा कि भूपेश सरकार के बजट में कहीं भी छत्तीसगढ़ को नई दिशा देने वाला प्रावधान नहीं दिखाई देता। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि बार-बार अपनी पीठ थपथपाने की कोशिश में लगे मुख्यमंत्री यह भूल गए कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने, कोरोनाकाल जैसी विपरीत परिस्थिति में से निकाल कर देश को कैसे पुनः ऊंचाइयों पर ले जाया जाता है। यह कर दिखाया है। आज इंटरनेशनल मॉनिटरिंग फंड ने भारत की विकास दर को 13.5 प्रतिशत होने का संकेत दिया है जो विश्व में किसी भी देश में सर्वाधिक है। विपरीत परिस्थितियों में 80 करोड़ लोगों को निशुल्क राशन दिए गया। 3 करोड़ लोगों को निशुल्क कोरोना वैक्सीन और अब 45 व 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए निशुल्क कोरोना वैक्सीनेशन की व्यवस्था कर यह बता दिया है। देश में अगर किसी के पास नेतृत्व क्षमता है तो वह केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही है। मोदी सरकार ने प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए जल जीवन मिशन के तहत 7 हजार करोड़ रुपए दिए, 6 लाख से अधिक प्रधानमंत्री आवास स्वीकृति किया। भूपेश बघेल ने केन्द्र सरकार की योजनाओं का नाम बदल का यह बजट बनाया है। वनवासी समुदाय के लिए बड़ी-बड़ी बातें की लेकिन प्रदेश की इस 32 प्रतिशत आबादी के लिए बजट में केवल 170 करोड़ का प्रावधान किया है। बोधघाट परियोजना व निशुल्क कोरोना वैक्सीन देने तक का जिक्र तक इस बजट में नहीं किया गया। यह बजट निराशाजनक है। 

पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि भूपेश बघेल सदैव केंद्र को उपदेश देकर अपनी जिम्मेदारियों से बचने जनता की भावनाओं से खेलते हैं। यह दिखावा ज्यादा दिन नहीं टिक सकता है। उन्होंने कहा कि भूपेश बघेल को अपने अंदर झांकने की आवश्यकता है ताकि समय रहते सुधार आए और प्रदेश का भला हो सके।
 
BJP समर्थन मूल्य में धान खरीदी परम्परा को बंद करने का षड्यंत्र रच रही : कांग्रेस

BJP समर्थन मूल्य में धान खरीदी परम्परा को बंद करने का षड्यंत्र रच रही : कांग्रेस

रायपुरकांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भाजपा की केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ के किसानों से प्रतिवर्ष होने वाली धान खरीदी को हमेशा के लिए बंद करने का षड्यंत्र रच रही है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि राज्य भाजपा के नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस सरकार को मुद्दों के आधार पर घेर नही पा रहे है तो राज्य में चल रही हितैषी योजनाओं को बंद करवाने में लग गए है। देश भर में किसान समर्थन मूल्य की गारंटी के लिए आंदोलन कर रहे है। छत्तीसगढ़ की सरकार अपने राज्य में किसानों से समर्थ मूल्य पर धान खरीदी कर रही है। छत्तीसगढ़ के किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से प्रति एकड़ दस हजार रूपये की सहायता राशि भी मिल रही है। यह बात भरतीय जनता पार्टी को नागवार गुजर रही है। इस लिए केंद्र की मोदी सरकार ने राज्य से लिए जाने वाले सेंट्रल पुल के चावल के कोटे में कटौती कर दिया है। पहले 60 लाख मीट्रिक टन चावल लेने की सहमति का पत्र देने के बाद केंद्र ने इस कोटे को कम कर 24 लाख मीट्रिक टन क्यो किया ?

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा नेता कांग्रेस सरकार के किये गए 92 लाखमीट्रिक टन धान की खरीदी के आंकड़े को बर्दाश्त नही कर पा रहे। जिस दिन छत्तीसगढ़ सरकार ने 90 लाख टन धान खरीदी का लक्ष्य सामने रखा उसी दिन से भाजपा के छत्तीसगढ़ से ले कर केंद्र तक का नेतृत्व इस लक्ष्य को पूरा करने में तमाम बाधा उतपन्न करने में लग गया ।पहले धान खरीदी को बाधित करने राज्य के मांगे गए बारदाना को देने में हीलाहवाला किया गया। जब राज्य सरकार ने जूट के बोरो की जगह पॉली बेग में धान खरीदी की व्यवस्था बनाने पर विचार शुरू किया तो मोदी मंत्री मंडल ने खाद्य सामग्री और अनाजो के पोली बेग में भंडारण पर बेन लगा दिया। राज्य सरकार ने वैकल्पिक माध्यमो से बोरा की व्यवस्था कर धान खरीदी शुरू किया तो धान खरीदी व्यवस्था बिगाड़ने के उद्देश्य से एफसीआई के चावल जमा करने की अनुमति देने में एक महीने का बिलम्ब इसलिए किया गया ताकि खरीदी केंद्रों पर धान का उठाव न हो और धान खरीदी बाधित हो। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री और खाद्य मंत्री से बार बार आग्रह के बाद एफसीआई ने चावल जमा करने की अनुमति दे तो दिया लेकिन पूर्व में दी गयी सहमति को बदल कर सिर्फ 24 लाख मीट्रिक टन चावल जमा करने की अनुमति दी गयी।
कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि केंद्र सरकार यह सारे निर्णय राज्य भाजपा के नेताओ पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के कहने पर ले रहा है ताकि राज्य सरकार किसानों की भलाई के लिए जो योजनाएं चला कर लोकप्रिय हो रही है वह बन्द हो जाए। केंद्रीय खाद्य मंत्री पीयूष गोयल मुख्यमंत्री के स्पष्टीकरण के बावजूद क्यो नही मान रहे कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना धान का बोनस नही बल्कि राज्य के गन्ना मक्का धान उत्पादक किसानों को दी जा रही अतिरिक्त सहायता है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सेंट्रल पुल के चावल के कोटे में 60 लाख से 24 मीट्रिक टन कटौती के लिए नेता प्रतिपक्ष पिछले साल के तथाकथित 2 लाख टन चावल जमा नही करने की दुहाई दे रहे जबकि केंद्र ने कटौती के लिए इस कारण कभी आधार नही बताया फिर धर्म लाल कौशिक कैसे दावा कर रहे कि पिछला चावल नही जमा हुआ इसलिए कोटा कम कर दिया गया ? धान के मामले में भाजपा के नेता और उनका दोहरा चरित्र बेनकाब हो चुका है। अपनी राजनैतिक बदले की भावना को पूरा करने भाजपाई राज्य के किसान और धान को निशाना बनाने का घृणित काम कर रहे।

 राजीव भवन में 1 मार्च को आवश्यक बैठक, बैठक में प्रभारी सचिव चंदन यादव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम रहेंगे उपस्थित

राजीव भवन में 1 मार्च को आवश्यक बैठक, बैठक में प्रभारी सचिव चंदन यादव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम रहेंगे उपस्थित

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के मुख्यालय राजीव भवन में मोर्चा संगठनों, प्रकोष्ठों, विभागो के समस्त प्रदेश अध्यक्षों की अतिआवश्यक बैठक 1 मार्च दोपहर 2 बजे रखी गई है। बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम उपस्थित रहेंगे।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव का दौरा कार्यक्रम अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव 28 फरवरी दोपहर 2 बजे इंडिगों की नियमित विमान सेवा से नई दिल्ली से रायपुर पहुंचेंगे। प्रदेश प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव सर्किट हाउस में प्रदेश के कांग्रेस जनों से भेंट और चर्चा करेंगे।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव सोमवार को दोपहर 2 बजे राजीव भवन में प्रदेश कांग्रेस मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ-विभाग की बैठक में भाग लेंगे।
 
 चुनाव में हार के डर से भाजपा कांग्रेस की नकल कर रही है- विकास उपाध्याय

चुनाव में हार के डर से भाजपा कांग्रेस की नकल कर रही है- विकास उपाध्याय

रायपुर/असम। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं असम प्रदेश के प्रभारी विकास उपाध्याय आज असम में चुनाव तिथि की घोषणा के बाद दौरा और तेज किया। कल जोरहाट सहित विभिन्न विधानसभा क्षेत्र में हजारों की संख्या में उपस्थित कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक लेने के पश्चता् आज लखीमपुर में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा कांग्रेस द्वारा उठाए जा रहे जनहित के मुद्दों को नकल कर रही है। उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह पर सीधा हमला बोलते हुए कहा, अमित शाह असम में चुनाव हारने के डर से मुस्लिमों के आड़ में भड़काऊ भाषण देकर हिन्दुओं को डरा रहे हैं। विकास उपाध्याय ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए आव्हान किया है कि असम में कांग्रेस की सत्ता में वापसी ही पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगई को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। विकास ने इस बात पर जोर दिया कि असम के चुनाव में सीएए कांग्रेस का मुख्य मुद्दा होगा, जिसे असम के लोगों से मुक्त कराना है।

असम प्रभारी विकास उपाध्याय लगातार चुनावी सभाओं में हिस्सा लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम कर रहे हैं। पिछले कई दिनों से वे अपर असम के विधानसभाओं में सघन दौरा कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित शिविर एवं सभाओं में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगई को सच्ची श्रद्धांजलि तभी मिलेगी, जब असम में इस बार कांग्रेस की सत्ता में वापसी होगी। उन्होंने आरोप लगाया कि असम में भारतीय जनता पार्टी ने अपने पाँच साल के कार्यकाल में कुछ नहीं किया, बल्कि असम में कांग्रेस द्वारा उठाए जा रहे जनहित के मुद्दों को भाजपा नकल कर जनता की हितैशी बन रही है। उन्होंने कहा, भाजपा चाय बागान में काम करने वाले मजदूरों की दिहाड़ी बढ़ाए जाने पिछली घोषणा पत्र में शामिल किया था, परन्तु आज आचार संहिता के लागू हो जाने के बाद भी इन्हें 167 रूपये प्रतिदिन दिहाड़ी में ही काम करना पड़ रहा है और जब कांग्रेस इन मजदूरों के हित की बात कर इसे 365 रूपये प्रतिदिन की घोषणा कर चुकी है। ऐसे में भाजपा इसे नकल कर फिर से एक बार असम की जनता के साथ झूठ बोल कर 351 रूपये देने की बात कर रही है और ये सब असम की जनता देख समझ रही है।

विकास उपाध्याय आज लखीमपुर में हजारों की संख्या में उपस्थित कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ जनसंपर्क कर कांग्रेस के लोगों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि इस बार के चुनाव में भाजपा इस कदर डरी हुई है कि अमित शाह मुस्लिमों के आड़ में भड़काऊ भाषण देकर हिन्दुओं को डराने का काम कर रहे हैं। उन्होंने प्रश्न किया कि गृह मंत्री अमित शाह को किसने रोका था जो असम में घूसपैठियों की पहचान पिछले 05 साल में नहीं कर सके। आज 05 साल बाद घूसपैठियों को लेकर कांग्रेस पर आरोप लगाने वाले अमित शाह को बताना चाहिए कि उन्होंने इस अंतराल में इसको लेकर क्या किया? विकास उपाध्याय ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा कही जा रही बातों का भी आड़े हांथों लेते हुए कहा, मोदी जिस विकास को लेकर चुनाव के ठीक पहले करोड़ों रूपये की आधारशीला असम में रख रहे हैं, तो क्या पाँच साल तक वे पुर्वोत्तर राज्यों सहित असम की अनदेखी कर रहे थे? विकास उपाध्याय ने कहा, भाजपा केन्द्र में 07 साल तक पूर्ण बहूमत के साथ राज करने के बाद भी असम की अनदेखी करती रही। उन्होंने तंज कसते हुए कहा, मोदी की सरकार सब का साथ सबका विकास नहीं बल्कि सबका वोट पर विकास सिर्फ भाजपा का कर रही है।
 मुख्यमंत्री बघेल के फैसलों के कारण ही छत्तीसगढ़ देश से बेहतर स्थिति में: त्रिवेदी

मुख्यमंत्री बघेल के फैसलों के कारण ही छत्तीसगढ़ देश से बेहतर स्थिति में: त्रिवेदी

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष ने कहा कि भूपेश बघेल ने सरकार के नेतृत्व के साथ-साथ बेहतर वित्तीय प्रबंधन की नई मिसाल गढ़ी है। 

कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बावजूद छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था का बेहतर प्रदर्शन है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के फैसलों के कारण ही छत्तीसगढ़ देश से बेहतर स्थिति में है। रमन सिंह सरकार की 15 साल में प्रशासन ने छत्तीसगढ़ को बदहाल ही किया। भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी के कारण 15 साल में छत्तीसगढ़ में गरीबों की संख्या गरीबी और कुपोषण की मात्रा बढ़ती ही रही। अब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पुरखों के देखे सपनों के अनुरूप छत्तीसगढ़ गढऩे और बनाने में लगे है। इसी का परिणाम है कि राज्य के सकल घरेलू उत्पाद बाजार मूल्य त्वरित अनुमान के अनुसार गत वर्ष 2018-19 की तुलना में वर्ष 2019-20 में 5.12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। जिसमें कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र कृषि, पशुपालन, मत्स्य और वन में 3.67 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र निर्माण, विनिर्माण, खनन और उत्खनन, विद्युत, गैस, जल आपूर्ति सम्मिलित में 3.43 प्रतिशत और सेवा क्षेत्र में 7.71 प्रतिशत वृद्धि हुई है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि कोरोना के बावजूद हर क्षेत्र में छत्तीसगढ़ ने देश के राष्ट्रीय सूचकांको से बेहतर प्रदर्शन किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सही फैसलों और कांग्रेस सरकार की सही नीतियों के कारण ही कोरोना संकट और लॉकडाउन के बावजूद छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था देश की अर्थव्यवस्था बहुत बेहतर स्थिति में है। देश के प्रति व्यक्ति आय में 5.41 प्रतिशत की बड़ी गिरावट के मुकाबले छत्तीसगढ़ में प्रति व्यक्ति आय में गिरावट नहीं के बराबर मात्र 0.14 प्रतिशत है जो स्पष्ट करता है कि भूपेश बघेल सरकार की नीतियों के परिणाम स्वरूप छत्तीसगढ़ के लोग खुशहाल बने है। 

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य में सकल राज्य घरेलू उत्पाद वर्ष 2019-20 के अग्रिम अनुमान, पिछले वर्ष की तुलना में बाजार मूल्य स्थिर भाव पर 231182 करोड़ रूपए से बढ़कर रूपए 243477 करोड़ रूपए हो गई है। जो कि 5.32 प्रतिशत वृद्धि है। 

छत्तीसगढ़ राज्य के आर्थिक संर्वेक्षण 2020-21 को भूपेश बघेल सरकार की नीतियों पर अर्थव्यवस्था की मुहर निरूपित करते हुए प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष श्री त्रिवेदी ने कहा कि अखिल भारतीय वृद्धि दर से तुलनात्मक रूप से छत्तीसगढ़ की वृद्धि दर बेहतर है। 

वर्ष 2020-21 में कोविड-19 महामारी एवं लाकडाउन होने के बावजूद भी कृषि और सेवा क्षेत्र में वृद्धि का सकारात्मक रूझान क्रमश: 4.61 प्रतिशत और 0.75 प्रतिशत है। जो कि शासन की नीतियों और नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी विकास योजना के प्रभाव को दिखाता है। इसके विपरीत भारत का कृषि क्षेत्र में मात्र 3.38 प्रतिशत वृद्धि है और सेवा क्षेत्र में 8.77 प्रतिशत की गिरावट है। औद्योगिक क्षेत्र में भी छत्तीसगढ़ में कोरोना और लॉकडाउन के बावजूद सिर्फ 5.28 प्रतिशत की गिरावट आई जबकि राष्ट्रीय स्तर पर यही गिरावट लगभग दुगुनी 9.57 प्रतिशत है। 



 
 पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भूपेश सरकार पर साधा निशाना, जानिए आखिर क्या कहा रमन सिंह ने

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भूपेश सरकार पर साधा निशाना, जानिए आखिर क्या कहा रमन सिंह ने

रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ ट्वीट कर एक बार निशाना साधा है। 

डॉ. सिंह ने एक अखबार में छपि खबर को अपने ट्वीट अकाउंट में पोस्ट करते हुए लिखा है कि भूपेश सरकार के खाने के दांत अलग है और दिखाने के दांत अलग है। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो यह सरकार नगरनार प्लांट के निजीकरण का विरोध कर रही है, तो वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मंडल को निजी हाथों में देने की तैयारी में है। कांग्रेस सरकार का यह कैसा दोहरा मापदंड है। 
 संतों की विरासत को हर पीढ़ी तक ले जाना चाहिए: अमरजीत भगत

संतों की विरासत को हर पीढ़ी तक ले जाना चाहिए: अमरजीत भगत

रायपुर। संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने आज महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय परिसर स्थित सभागार में छत्तीसगढ़ में ऐतिहासिक संत परंपरा विषय पर आयोजित दो दिवसीय शोध संगोष्ठी का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि इस तरह की संगोष्ठी से जनमानस में नए विचारों का जन्म होता है। संतों की विरासत को हर पीढ़ी तक ले जाना चाहिए। संगोष्ठी की अध्यक्षता संसदीय सचिव  कुंवर सिंह निषाद ने की। संगोष्ठी में पहले दिन कुल 12 शोध पत्र पढ़े गए। 


संसदीय सचिव  कुंवर सिंह निषाद ने कबीर की पंक्तियों को गाकर आयोजन की महत्ता से अवगत कराया। संस्कृति सचिव  अन्बलगन पी. ने संगोष्ठी के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि पविर्तन और सोच हर तीन से पांच वर्ष में बदलते रहते है।

संगोष्ठी के प्रथम अकादमिक सत्र की अध्यक्षता डॉ. सुशील त्रिवेदी ने की। उन्होंने अपने वक्तव्य में महाजनपद काल से लेकर आधुनिक काल तक की ऐतिहासिक संत परंपरा को रेखांकित किया। दूसरे सत्र में डॉ. ओमप्रकाश वर्मा ने स्वामी विवेकानंद, डॉ. बालचंद कछवाहा ने स्वामी आत्मानंद के जीवन यात्रा, मानवता के कल्याण के लिए किए गए कार्यों को अपने उद्बोधन के माध्यम से अवगत कराया। तीसरे सत्र के सत्राध्यक्ष डॉ. परदेशी राम वर्मा और वक्ता डॉ. अनिल भतपहरी थे। उन्होंने गुरू घासीदास जी के अवदान को विस्तृत रूप से बताया। संगोष्ठी के प्रथम दिवस के कार्यक्रम का समापन गहिरा गुरू महिमा भजन, स्वामी विवेकानंद का अवदान गीत और पंथी नृत्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रो. केसरी लाल वर्मा, प्रो. रमेन्द्रनाथ मिश्र, डॉ. परदेशी राम वर्मा, सत्यभामा आडिल भी मंच पर उपस्थित थे।
भूपेश बघेल की सरकार चिटफंड निवेशकों का पैसा दिलाने के लिये उसी तत्परता से काम कर रही है जिस तत्परता से रमन सिंह की सरकार ने इन लूटेरों का साथ दिया- शैलेश नितिन त्रिवेदी

भूपेश बघेल की सरकार चिटफंड निवेशकों का पैसा दिलाने के लिये उसी तत्परता से काम कर रही है जिस तत्परता से रमन सिंह की सरकार ने इन लूटेरों का साथ दिया- शैलेश नितिन त्रिवेदी

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने चिटफंड कंपनी के मामले में भाजपा नेताओं की बयानबाजी पर कहा है कि भाजपा अपनी 15 साल की सरकार के कार्य पर नजर डाल लें। भाजपा द्वारा फर्जी चिटफंड कंपनियों को 15 साल तक संरक्षण देने और जनता के धन की लूट के लिये प्रोत्साहित करने के कुकृत्य को छुपाने का आरोप लगाते हुये कहा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार चिटफंड कंपनी निवेशकों एवं अभिकर्ताओं के पैसे वापस दिलाने हेतु लगातार काम कर रहे है। राज्य सरकार पूरी तत्परता से कार्यवाही कर रही है एवं चिटफंड कंपनियों की संपत्तियों को कुर्क करते हुये 17 हजार निवेशकों को 7 करोड़ रू. की राशि वापस भी दी जा चुकी है। भूपेश बघेल की सरकार चिटफंड निवेशकों का पैसा दिलाने के लिये उसी तत्परता से काम कर रही है जिस तत्परता से रमन सिंह की सरकार ने इन लूटेरों का साथ दिया।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने बताया कि 15 वर्षो के भाजपा के कार्यकाल में शासन के संरक्षण में प्रदेश में लगभग 350 से अधिक चिटफंड कंपनियों ने राज्य में अपने पैर पसारे थे जिसमें लाखों लोगों ने अपनी मेहनत की पूंजी निवेश की। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, उनकी पत्नी एवं उनके तत्कालीन सांसद पुत्र, तत्कालीन भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं वर्तमान नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक इन चिटफंड कंपनियों के कार्यालय उद्घाटन एवं कार्यक्रमों में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करते थे। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की सरकार में जांजगीर चांपा जिले में एक चिटफंड कंपनी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में चिटफंड कंपनी में कार्यरत अभिकर्ताओं की नियुक्ति को रोजगार की श्रेणी में रखने की शर्मनाक बात कही थी। राज्य में कांग्रेस की भूपेश सरका र ने रमन सिंह की भाजपा सरकार के निशाने पर चिटफंड कंपनी के अभिकर्ताओं के खिलाफ कार्यवाही निरस्त करते हुये सीधे कार्यवाही चिटफंड कंपनियों के मालिकों पर करने के निर्देश दिये है। तत्परता से कार्यवाही जारी भी है। इन कंपनी के मालिकों पर कार्यवाही जारी है और इनकी संपत्तियों को कुर्क करते हुये इसकी राशि निवेशकों और अभिकर्ताओं को लौटायी जायेगी।
 

कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे डोज में छत्तीसगढ़ लक्ष्य से पीछे, राजनीतिक बयानबाजी छोड़ वैक्सीनेशन बढ़ाने की ओर ध्यान दे सरकार : विष्णुदेव साय

कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे डोज में छत्तीसगढ़ लक्ष्य से पीछे, राजनीतिक बयानबाजी छोड़ वैक्सीनेशन बढ़ाने की ओर ध्यान दे सरकार : विष्णुदेव साय

रायपुर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को निःशुल्क कोरोना वैक्सीन लगाने की घोषणा का स्वागत किया है। कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर भारत सरकार ने बुधवार को बड़ा ऐलान किया है। मोदी सरकार के कैबिनेट की बैठक में यह तय किया गया है कि देश में 1 मार्च से 60 साल से अधिक उम्र व 45 साल से अधिक उम्र के गंभीर बीमारियों से ग्रसित लगभग 26 करोड़ लोगों को वैक्सीन देना प्रारंभ कर दिया जाएगा। यह वैक्सीन देश के सभी सरकारी वैक्सीनेशन केंद्र में निशुल्क लगाया जाएगा।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि भारत में जनवरी से वैक्सीनेशन का काम प्रारंभ हो गया है। प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को उसके बाद द्वितीय चरण में कोरोना वॉरियर्स को लगभग 1 करोड़ 10 लाख वैक्सीन लगाई जा चुकी है। जबकि लगभग 14 लाख लोगों को वैक्सीन का दूसरा टीका भी लगाया जा चुका है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि इस वैश्विक महामारी से निपटने में देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में हमारे वैज्ञानिक और डॉक्टरों की टीम ने जो तत्परता दिखाई है और उसे भारत के हर व्यक्ति के साथ-साथ विश्व मानवता की रक्षा के लिए विदेशों में भी पहुंचाने के भारत सरकार के प्रयासों की वैश्विक मीडिया भी तहेदिल से तारीफ कर रहा है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जब एक तरफ पूरा विश्व कोरोना महामारी से लड़ाई में भारत की इच्छाशक्ति का कायल है, वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ के मंत्री कोरोना वैक्सीन के बारे में भ्रम फैला रहे हैं। इसकी परिणाम स्वरूप वैक्सीनेशन के दूसरे डोज में छत्तीसगढ़ लक्ष्य से बहुत पीछे चल रहा है। प्रदेश कांग्रेस सरकार के अस्पष्ट बयानबाजी के कारण जब कोरोना वॉरियर्स भी दूसरा डोज लगवाने में हिचकिचा रहे हैं तो जब आम लोगों को यह टीका लगेगा तो छत्तीसगढ़ में अव्यवस्था की कल्पना आसानी से लगाई जा सकती है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कांग्रेस सरकार के मंत्रियों से राजनीतिक बयानबाजी से दूर रहकर इस कोरोना वायरस से लड़ने में केन्द्र सरकार का साथ देकर टीकाकरण में तत्परता दिखाने की मांग की है।
 

बहुत हुआ महंगाई की मार अब केन्द्र से उखाड़ फेंकेगे मोदी सरकार के नारा के साथ महिलाएँ काली पट्टी बांधकर करेंगे प्रदर्शन- वंदना राजपूत

बहुत हुआ महंगाई की मार अब केन्द्र से उखाड़ फेंकेगे मोदी सरकार के नारा के साथ महिलाएँ काली पट्टी बांधकर करेंगे प्रदर्शन- वंदना राजपूत

रायपुर, नरेंद्र मोदी के गलत नीति के कारण महंगाई बेलगाम हो गई। बढ़ती महंगाई और पेट्रोल, डीजल व गैस सिलेंडर के बढ़ते दाम को लेकर महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुश्री सुष्मिता देव जी, छत्तीसगढ़ महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम जी, छत्तीसगढ़ महिला कांग्रेस प्रभारी सुनीता सहरावत जी के निर्देश पर 25 फरवरी 2021 को महिला कांग्रेस बढ़ती महंगाई पर बड़ा आंदोलन प्रदेश स्तर पर प्रदर्शन करने जा रही है। प्रधानमंत्री व वित्त मंत्री को गहरी निद्रा से जागने थाली व नगाड़ा बजाया जायेगा। महंगाई ताड़का सूर ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। दैनिक जीवन के प्रत्येक वस्तुओं के दाम आसमान छू रही है। बढ़ती महंगाई को नियंत्रण करने केन्द्र की भाजपा सरकार ने अब तक कोई भी आवश्यक कदम नहीं उठाये, महंगाई से राहत के कोई आसार नजर नहीं आ रही है। लेकिन अब बहुत हुआ महंगाई की मार अब तो बदलेगे ये सरकार के साथ महिला कांग्रेस कसम खाकर काली पट्टी पहन कर केन्द्र की भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने जा रही है। इस प्रदर्शन में प्रदेश के पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष ब्लॉक अध्यक्ष, वार्ड अध्यक्ष, बूथ अध्यक्ष सहित हजारों की संख्या में उपस्थित होगे। 

मानहानि मामला: कांग्रेस के इस दिग्गज नेता खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

मानहानि मामला: कांग्रेस के इस दिग्गज नेता खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

हैदराबाद की एक अदालत ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ मानहानि के एक मामले में उसके समक्ष उपस्थित नहीं होने को लेकर सोमवार को गैर जमानती वारंट जारी किया। यह मामला उनके खिलाफ 2017 में दायर किया गया था।
सांसदों/विधायकों के खिलाफ मामलों पर सुनवाई के लिए गठित विशेष अदालत ने दिग्विजय सिंह के उसके समक्ष उपस्थित होने में विफल रहने के बाद यह गैर जमानती वारंट जारी किया है।
सिंह के खिलाफ मानहानि का यह मामला एआईएमआईएम नेता एस ए हुसैन अनवर ने दायर किया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि सिंह ने यह कहकर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की मानहानि की कि हैदराबाद के सांसद की पार्टी वित्तीय लाभों के लिए दूसरे राज्यों में चुनाव लड़ रही है।
याचिकाकर्ता के वकील, मोहम्मद आसिफ अमजद ने कहा कि उन्होंने दिग्विजय सिंह और लेख प्रकाशित करने वाले एक उर्दू दैनिक के संपादक दोनों को कानूनी नोटिस भेजे थे और माफी मांगने को कहा था। हालांकि दोनों ने नोटिस का जवाब नहीं दिया जिसके बाद अमजद ने अदालत का रुख किया था।
सुनवाई की पिछली तारीख के दौरान अदालत ने निर्देश दिया था कि दिग्विजय सिंह और संपादक 22 फरवरी को उसके समक्ष उपस्थित हों। अमजद ने बताया कि संपादक ने ऐसा किया, लेकिन सिंह अदालत में पेश नहीं हुए।
अमजद ने कहा कि दिग्विजय सिंह के वकील ने एक याचिका दायर करके चिकित्सा आधार पर उपस्थिति से छूट की मांग की थी, लेकिन अदालत ने इसे खारिज कर दिया और गैर जमानती वारंट जारी किया।
अदालत ने मामले की अगली सुनवाई आठ मार्च को तय की है। सिंह के वकील ने कहा कि उन्होंने कार्यवाही को रद्द करने के लिए उच्च न्यायालय के समक्ष पहले ही रोक को बढ़ाने के लिए याचिका दायर कर दी है।
 

पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की महंगी दाम से त्रस्त महिलाओं को अब प्याज भी रूलाने लगी: वंदना राजपूत

पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की महंगी दाम से त्रस्त महिलाओं को अब प्याज भी रूलाने लगी: वंदना राजपूत

रायपुर। केन्द्र सरकार की गलती की सजा महिलाएं भुगत रही है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रवक्ता वंदना राजपूत ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुये कहा कि महंगाई नियंत्रण में करने में असफल मोदी सरकार को महिलाओं से माफी मांगे एवं तुरंत इस्तीफ़ा देना चाहिये। केन्द्र की भाजपा सरकार में महंगाई कम करने की क्षमता नहीं। पहले से ही पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस में दाम में आग लगी है, ऊपर से केंद्र सरकार रोज-रोज कीमतें बढ़ा-बढ़ाकर इस आग में पेट्रोल, डीजल छिड़क रही है। महंगाई से महिलाएं त्रस्त है और अब प्याज 60-70 रूपये प्रति किलो, खाद्य तेल 200 रुपये लीटर से पार हो गया है। दाल, बेसन जैसे अनगिनत आवश्यक  वस्तुओं के बढ़ती दामों ने महिलाओं के घर का पूरा बजट ही बिगाड़ दिया है। घर के रसोई गैस से लेकर दाल, बेसन, फल्ली तेल इत्यादि गायब। प्रदेश प्रवक्ता वंदना राजपूत ने कहा कि मोदीजी  ने सात साल में देश के अर्थव्यवस्था को बिगाड़ दिया। मोदी जी, महिलाएं समझ गई है कि महंगाई को काबू में करना आपके बस की बात नही है। बढ़ती महंगाई को नियंत्रण करने के लिये कोई भी कारागार कदम नहीं उठाये तो महंगाई को तो आप सात जन्म में भी कम नहीं कर पाओगे। राज्यसभा सांसद सरोज पांडे जी एवं अन्य भाजपा नेत्रियों को वास्तविकता में महिलाओं की फिक्र है तो बेलगाम महंगाई पर जुबान बंद क्यों? 15 साल तक दमनकारी सरकार में अनगिनत महिलाओं पर हुए अत्याचार, बलात्कार, अनाचार पर भाजपा महिलाओं पर दबाव था इसलिये  बोल नहीं पाई।भूपेश बघेल सरकार ने दो वर्षों में छत्तीसगढ़ में बहुमुखी विकास व महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया। छत्तीसगढ़ में महिला सशक्तिकरण मिसाल बना रही है इसलिये भाजपा नेत्रियां निर्भय होकर अपनी बात रख रही है। भाजपा नेत्रियां चाह रही है कि आने वाले चुनाव में छत्तीसगढ़ की तरह  केन्द्र में भी यूपीए की सरकार काबिज हो ताकि महिलाओं के मुद्दों पर बोल  सके। भाजपा में महिलाओं की आवाज़ को दबाया जाता है। बेलगाम महंगाई को नियंत्रण व कम करने में असफल मोदी सरकार में थोड़ी बहुत भी लज्जा बाकी है तो तुरंत इस्तीफ़ा दे।

भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बड़ी बैठक आज ,प्रधानमंत्री करेंगे संबोधित ...हो सकती है इन मुद्दों पर चर्चा

भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बड़ी बैठक आज ,प्रधानमंत्री करेंगे संबोधित ...हो सकती है इन मुद्दों पर चर्चा

नई दिल्ली । आज भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की एक बड़ी बैठक होने वाली है। इस बैठक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे। यह बैठक दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे के बीच होगी। पीएम मोदी इस बैठक का उद्घाटन करेंगे जबकि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा इस बैठक की अध्यक्षता करेंगे। इस बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों के अलावा राज्य प्रभारी और सह प्रभारी के साथ ही प्रदेश इकाई के प्रमुख भी शामिल होंगे।
जेपी नड्डा ने की अहम बैठक
इससे पहले शनिवार को भाजपा मुख्यालय में पार्टी के संगठन महासचिवों की बैठक हुई। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभी राज्यों के महासचिवों की इस बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान सभी महासचिवों ने नड्डा को अपने-अपने राज्यों में दी गई जिम्मेदारी निभाने के संबंध में जानकारी दी। बैठक से पहले भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, बैठक का मकसद इस बात का जायजा लेना है कि विभिन्न राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए हमारी तैयारी कैसी है?


चुनावी राज्यों को लेकर रणनीति पर जोर
बंगाल, केरल, तमिलनाडु, असम और पुडुचेरी में कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। भाजपा इन राज्यों में अपना जनाधार बढ़ाने की कोशिश कर रही है। समझा जा रहा है कि महासचिवों के साथ बैठक के बाद भाजपा अध्यक्ष इन राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की रणनीति को और धार देंगे।

इस अहम बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक के एजेंडे, राज्य की इकाइयों द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों और चुनावी राज्यों की तैयारियों को लेकर मंथन किया गया।यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब तीन कृषि कानूनों को लेकर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान राजधानी दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर पिछले लगभग तीन महीने से आंदोलन कर रहे हैं। आंदोलन कर रहे किसान संगठन आंदोलन को देशव्यापी बनाने की कोशिशों में हैं और लगातार पीएम मोदी पर हमलवार हैं। 

Previous123456789...1314Next