कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
Previous123456789...4748Next
प्राइवेट अस्पताल में कोरोना संक्रमित महिला से गैंगरेप का आरोप, बेटी ने फेसबुक पर डाला वीडियो

प्राइवेट अस्पताल में कोरोना संक्रमित महिला से गैंगरेप का आरोप, बेटी ने फेसबुक पर डाला वीडियो

पटना, बिहार की राजधानी पटना से एक शर्मनाक वारदात सामने आई है। यहां के एक बड़े अस्पताल के आईसीयू में कोरोना से जंग लड़ रही महिला से गैंगरेप का आरोप लगा है। बताया जाता है कि अस्पताल के तीन से पांच कर्मचारियों ने ही महिला से रेप किया है। महिला के बयान का वीडियो बनाकर बेटी ने फेसबुक पर डाला तो खलबली मच गई। पुलिस ने अभी वारदात की पुष्टि नहीं की है। पुलिस की ओर से सिर्फ इतना कहा गया है कि जांच जारी है।
पटना के पारस हास्पिटल में वारदात को अंजाम दिया गया है। कोरोना संकर्मित महिला कई दिनों से यहां भर्ती है। गंभीर हालत में उसका इलाज आईसीयू में चल रहा है। आरोप है कि महिला से अस्पताल के ही कर्मचारियों ने रेप किया। आईसीयू में महिला से मिलने पहुंची बेटी को मां ने जब लड़खड़ाती जबान में आपबीती सुनाई तो उसके होश उड़ गए। बेटी ने तत्काल अपना मोबाइल निकाला और मां की बातों का वीडियो भी बनाया।
महिला के बयान का वीडियो सोशल मीडिया से होते हुए अस्पताल प्रबंधन से लेकर प्रशासनिक हलके में पहुंचा तो हड़कंप मच गया। फिलहाल इस मामले में अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। इस मामले को लेकर शास्त्रीनगर थानेदार ने कहा है कि जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। फिलहाल पुलिस गैंगरेप होने की पुष्टि नहीं कर रही। छानबीन की जा रही है। जांच टीम में महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। वहीं अस्पताल प्रबंधन ने इस पूरे मामले को बेबुनियाद और झूठा बताया है।
 

 मेक्सिको की एंड्रिया मेजा को मिला Miss Universe 2020 का खिताब

मेक्सिको की एंड्रिया मेजा को मिला Miss Universe 2020 का खिताब

नई दिल्ली। मिस यूनिवर्स की 69वीं अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में विजेता का एलान हो चुका है। मेक्सिको की एंड्रिया मेजा को मिस यूनिवर्स 2020 का खिताब मिला है। अंतिम दो प्रतियोगी में ब्राजील की जूलिया गामा और मिस मैक्सिको एंड्रिया रही थीं। एंड्रिया को पूर्व मिस यूनिवर्स जोजीबिनी तुंजी ने मिस यूनिवर्स का ताज पहनाया। वहीं भारत की तरफ से ताज की दावेदारी कर रहीं 22 वर्षीय एडलिन कास्टलिनो टॉप 5 में अपनी जगह बना पाईं। वो इस रेस से बाहर हो गईं और इसी के साथ भारत की एडलिन कास्टलिनो का मिस यूनिवर्स का ताज पाने का सपना टूट गया। इस समारोह का ग्रैंड फिनाले फ्लोरिडा के सेमिनोल हार्ड रॉक होटल एंड कसीनो में आयोजित किया गया। प्रतियोगिता के अंतिम राउंड में एंड्रिया से सवाल किया गया कि अगर आप देश की नेता होतीं तो कोरोना वायरस महामारी से कैसे निपटती? इसके जवाब में एंड्रिया ने कहा कि, मेरा मानना है कि ऐसी कठिन परिस्थिति को संभालने का कोई एकदम सटीक तरीका नहीं है। हालांकि मैंने स्थिति बिगड़ने से पहले ही लॉकडाउन लगा दिया होता जिससे लोगों की जिंदगी बर्बाद नहीं होती। हम लोगों की जिंदगी इस तरह से बिखरते नहीं देख सकते और इसलिए मैंने शुरूआत से ही स्थिति को संभालने की कोशिश की होती। 
अब शुरू हुआ खेला: ममता सरकार के दो मंत्रियों के घर छापेमारी, सीबीआई दफ्तर लाए गए 4 नेता

अब शुरू हुआ खेला: ममता सरकार के दो मंत्रियों के घर छापेमारी, सीबीआई दफ्तर लाए गए 4 नेता

पश्चिम बंगाल में अब खेला शुरू होगया है ममता बनर्जी सरकार के दो मंत्रियों समेत 4 नेताओं के घर सीबीआई ने नारदा स्कैम के मामले में छापेमारी की है और उन्हें अपने दफ्तर लेकर आई है। इन नेताओं में सीनियर मंत्री फिरहाद हाकिम के अलावा सुब्रत मुखर्जी भी शामिल हैं। इसके अलावा विधायक मदन मित्रा को भी सीबीआई पूछताछ के लिए अपने दफ्तर लाई है। पूर्व मेयर सोवन चटर्जी भी इन लोगों में शामिल हैं। मंत्री फिरहाद हाकिम ने दावा किया है कि सीबीआई ने उन्हें नारदा घोटाले के केस में हिरासत में ले लिया है।
हालांकि एजेंसी ने उनके दावे को खारिज करते हुए कहा कि उन्हें हिरासत में नहीं लिया गया है बल्कि पूछताछ की गई है। इससे पहले राज्य के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने एजेंसी को फिरहाद हाकिम समेत सुब्रत मुखर्जी, मदन मित्रा और सोवन चटर्जी के खिलाफ केस दर्ज किए जाने को मंजूरी दी थी। फिरहाद हाकिम ने अपना बचाव करते हुए कहा था कि भरोसा है कि उन्हें क्लीन चिट मिलेगी।
फिरहाद हाकिम ने कहा था, 'मैं न्यायापालिका पर विश्वास करता हूं। मुझे भरोसा है कि क्लीन चिट मिलेगी। यह अच्छी बात है कि यह मामला अदालत में जाए। मैं वहां अपना पक्ष रखूंगा और अदालत की ओर से न्याय किया जाएगा।' नारदा घोटाले का मामला 2014 में सामने आया था, जब पत्रकार मैथ्यू सैमुएल ने कोलकाता में एक स्टिंग ऑपरेशन किया था। उस स्टिंग ऑपरेशन के बाद ही नारदा स्कैम उजागर हुआ था। इस वीडियो में टीएमसी के कई मंत्री रकम लेते हुए दिखे थे।
इसके अलावा एक पुलिस अफसर में घूस की रकम लेते हुए दिखा था। सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक गवर्नर जगदीप धनखड़ से ममता सरकार के 4 मंत्रियों के खिलाफ एंटी करप्शन ऐक्ट की धारा सेक्शन के तहत चार्जशीट दायर करने की मांग की गई थी। अंत में जगदीप धनखड़ की ओर से इसकी अनुमति दे दी गई है।
 

भीषण रूप लेता जा रहा है तौकते चक्रवात, 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ गुजरात से टकराएगा

भीषण रूप लेता जा रहा है तौकते चक्रवात, 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ गुजरात से टकराएगा

भारत के कुछ राज्यों में तबाही मचा चुका तौकते चक्रवात बहुत तेजी से गुजरात की तरफ बढ़ रहा है। तौकते अब एक भीषण तूफान में बदल चुका है और आईएमडी ने कहा है कि वर्तमान में इसकी हवा की गति 180-190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार है और इसकी रफ्तार 210 किमी प्रति घंटे की ओर बढ़ रही है। तौकते चक्रवात के उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और सोमवार शाम गुजरात तट तक पहुंचने की संभावना है। बता दें कि उसी शाम तौकते तूफान के पोरबंदर और महुवा (भावनगर जिला) के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना भी है। मौसम विभाग ने इसे बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान बताया है और कहा है कि यह 155-165 से 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तटों से टकरा सकता है।

अहमदाबाद के पोरबंदर, अमरेली जूनागढ़, गिर सोमनाथ, बोटाद, भावनगर और तटीय इलाकों में बड़े पैमाने पर नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है।

इन चीजों को हो सकता है खतरा


छप्पर के मकानों के पूरी तरह नष्ट होने और कच्चे मकानों को व्यापक नुकसान होने की संभावना है। पक्के घरों को कुछ नुकसान, उड़ने वाली वस्तुओं से संभावित खतरा, बिजली और संचार के खंभों को मुड़ या उखड़ सकते हैं; सड़कों को बड़ा नुकसान हो सकता है। कुछ रास्तों में बाढ़ आ सकती है. इसके अलावा खड़ी फसल को भारी नुकसान हो सकता है, पेड़ गिर सकते हैं, छोटी नांवों को भी नुकसान पहुंच सकता है।

बता दें कि गुजरात के देवभूमि द्वारका, कच्छ, जामनगर, राजकोट, मोरबी, वलसाड, सूरत, वडोदरा, भरूच, नवसारी और आणंद जिलों में भी कुछ नुकसान होने की आशंका है। आईएमडी ने असुरक्षित क्षेत्रों से लोगों को निकालने, मछली पकड़ने के संचालन को पूरी तरह से निलंबित करने की सिफारिश की है। इसके अलावा यह भी कहा है कि प्रभावित क्षेत्रों में लोगों घर के अंदर रहें। मोटर वाली नांवों और छोटे जहाजों में आवाजाही असुरक्षित है।


आईएमडी में चक्रवातों की प्रभारी सुनीता देवी ने कहा, "तौकते अपने ट्रैक पर है और यह और तेज हो जाएगा और गुजरात के तटीय इलाकों को 155 से 165 किसी से लेकर 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पार करेगा. हम इसके सुपर साइक्लोन बनने की उम्मीद नहीं कर रहे हैं लेकिन काफी बड़ा और तीव्र है। "

अगले 12 घंटों के दौरान यह इसी तरह समुद्र से ऊर्जा खींचता रहेगा। इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और सोमवार शाम तक गुजरात तट पर पहुंचने और मंगलवार की सुबह बहुत जल्दी तट को पार करने की संभावना है। सिस्टम की निगरानी डॉपलर मौसम रडार गोवा द्वारा की जा रही है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मौसम विज्ञान के एक जलवायु वैज्ञानिक रॉक्सी मैथ्यू कोल ने कहा, "पिछले 24 घंटों के दौरान समुद्र से गर्मी और ऊर्जा के कारण तौकता 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हुआ।"


वैक्सीनेशन पर असर

एक तरफ जहां पूरे देश पर कोरोना वायरस का खतरा लगातार बना हुआ है वहीं दूसरी तरफ अब देश के कुछ राज्यों में चक्रवात तौकते से तबाही मचने का डर भी है।तौकते चक्रवात कुछ राज्यों के लिए घातक साबित हो सकता है। इन राज्यों में गुजरात भी शामिल है और इसीलिए तौकते के मद्देनजर, 17 और 18 मई को गुजरात राज्य में कोई भी कोविड -19 वैक्सीन खुराक नहीं दी जाएगी। राज्य का टीकाकरण अभियान 19 मई तक रोक दिया गया है। 

फेसबुक फ्रेंड ने युवती के साथ की हैवानियत, अपहरण कर 25 लोगों ने किया गैंगरेप

फेसबुक फ्रेंड ने युवती के साथ की हैवानियत, अपहरण कर 25 लोगों ने किया गैंगरेप

पलवल, हरियाणा के पलवल में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. महिला सुरक्षा के तमाम दावे करने के बावजूद राज्य में महिलाओं के प्रति घिनौने अपराध कम होते नजर नहीं आ रहे हैं. अब राज्य में एक युवती से 25 लोगों के जरिए गैंगरेप करने का मामला सामने आया है.

दरअसल, फेसबुक पर हुई दोस्ती के बाद युवती अपने दोस्त के बुलाने पर उससे मिलने हरियाणा राज्य में पलवल जिले के होडल पहुंच गई. जहां पीड़िता का पहले अपहरण किया गया और उसके बाद 25 लोगों ने मिलकर रातभर उसको अपनी हैवानियत का शिकार बनाया. इसके बाद पीड़िता की तबीयत खराब होने पर आरोपी उसे कार में बदरपुर बॉर्डर पर छोडकर फरार हो गए. मामले में हसनपुर थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर तीन नामजद और 20-22 अन्य आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. फिलहाल अन्य आरोपी फरार हैं.


खेतों में ले जाया गया

पुलिस ने बताया कि मामला पलवल के हसनपुर थाना क्षेत्र गांव रामगढ़ का है. जहां बदरपुर से एक युवती को होडल बुलाया गया और अपहरण कर रामगढ़ गांव के खेतों में ले जाया गया. जहां 25 लोगों ने मिलकर पीड़िता के साथ बारी-बारी गैंगरेप किया. हसनपुर थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि एक युवती ने अपनी शिकायत में कहा है कि उसके दोस्त रामगढ़ निवासी सागर ने तीन मई को उसे शादी के लिए अपने परिजनों से मिलाने के लिए होडल बुलाया तो वह होडल आ गई.


पीड़िता ने बताया कि होडल से सागर उसे घर ले जाने की बजाय रामगढ़ गांव के निकट जंगल में एक ट्यूबवैल पर ले गया, जहां उसका भाई और 20-22 युवक और पहुंच गए. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उक्त युवक उसे वहां से जबरन जंगल में ले गए और सभी ने पूरी रात उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म किया. इसके बाद सुबह होने पर उसे गांव के निकट आकाश कबाड़ी के वहां ले गए, जहां पर आकाश और उसके 5-6 दोस्तों ने भी उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म किया. फिर वह चलने की स्थित में नहीं रही तो सागर और उसके तीन दोस्त गाड़ी में उसे बदरपुर बॉर्डर पर छोड़कर फरार हो गए.


कई आरोपी फरार

युवती ने शिकायत में कहा है कि उसी दिन से वह चारपाई पर पड़ी हुई थी, जब चलने लायक हुई तो 12 मई को इसकी शिकायत हसनपुर थाना पुलिस को दी. हसनपुर पुलिस ने 12 मई की देर रात युवती की शिकायत पर सागर, उसके भाई समुद्र और आकाश सहित 22 अन्य युवकों के खिलाफ अपहरण और सामुहिक दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर आरोपी सागर को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपी फिलहाल फरार है, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी है. 

खडी हुई एम्बुलेंस अचानक हिलने लगी, जब हिम्मत करके झांका तो उड़ गए सभी के होश

खडी हुई एम्बुलेंस अचानक हिलने लगी, जब हिम्मत करके झांका तो उड़ गए सभी के होश

वाराणसी, आमतौर पर कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आप एंबुलेंस चालक द्वारा मनमाना चार्ज वसूलने और ग्रामीण इलाके में एंबुलेंस की किल्लत से मरीजों की होने वाली दिक्कतों की खबर पढ़ रहे होंगे. ऐसा भी हो रहा है कि एंबुलेंस के आते ही लोग इलाके, मोहल्ले या फिर कॉलोनी में कोरोना मरीज की आशंका से भयभीत हो रहे हैं, लेकिन वाराणसी में एक एंबुलेंस को लेकर ऐसी तस्वीर और खबर सामने आई है जिसने सबको चौंका दिया है.

मामला वाराणसी के रामनगर थाना क्षेत्र के सुजाबाद का है. यहां सुजाबाद चौकी भी है. इसी चौकी के पास एक एंबुलेंस लंबे वक्त से खड़ी थी. पहले तो ये सामान्य ही दिखी, लेकिन वहां से गुजर रहे लोगों की जब इस पर नजर पड़ती तो उन्हें लगा कि शायद कोई मरीज आया है या किसी मरीज के लिए ही एंबुलेंस जा रही होगी. बार-बार उसी रास्ते से गुजरने पर लोगों ने देखा कि एंबुलेंस वहीं खड़ी है और अब हिल भी रही है. इससे लोग भय के कारण आशंकित हो गए. काफी देर बाद कुछ स्थानीय लोगों ने हिम्मत जुटाकर एंबुलेंस के पास जाने का निर्णय लिया. जब एंबुलेंस के पास पहुंचे और उसमें अंदर झांका तो उनके होश उड़ गए. उसमें मौजूद लोग आपत्तिजनक स्थिति में थे. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई.

सभी को भेजा गया जेल
सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जब एंबुलेंस के दरवाजे खुलवाए गए, तो सबकी आंखें शर्म से झुक गयीं. इस दौरान तीन युवक और एक युवती आपत्तिजनक हालत में थे. इसके बाद पुलिस ने एंबुलेंस सील कर दी. थानाध्यक्ष रामनगर वेद प्रकाश राय ने बताया कि चारों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है और एंबुलेंस पर सीलिंग कार्यवाही की गई है. फ़िलहाल एंबुलेंस थाने में खड़ी है. बताया जा रहा है कि एंबुलेंस मंडुआडीह के एक निजी अस्पताल से संबद्ध है जिसे लंका का एक व्यक्ति किराए पर लेकर चलाता था. वहीं मरीज़ों को लाने और ले जाने के लिए एंबुलेंस का उपयोग करता था, लेकिन इस आपदा काल में ऐसी तस्वीर देखकर पुलिस और आम पब्लिक हैरान रह गयी.
 

लॉकडाउन में नियमों का उल्लंघन करने पर BJP के तीन विधायक को लिया गया हिरासत में

लॉकडाउन में नियमों का उल्लंघन करने पर BJP के तीन विधायक को लिया गया हिरासत में

सिलीगुड़ी, पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में रविवार को तीन विधायकों को लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में हिरासत में लिया गया। हालांकि, बाद में तीनों को छोड़ भी दिया गया। ये तीन विधायक- शंकर घोष, आनंदमय बर्मन और शिखा चट्टोपाध्याय हैं। तीनों उत्तरी बंगाल में राज्य सरकार के खिलाफ कोरोना की बढ़ती मौतों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।
पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुछ घंटों के बाद तीनों विधायकों को हिरासत से रिहा कर दिया गया था। सिलीगुड़ी के सफदर हासमी चौक पर बैठकर विरोध करने के बाद दौरान विधायकों को पकड़ा गया। उन्होंने दावा किया कि प्रदर्शन के दौरान वे सभी कोविड प्रोटोकॉल्स का पालन कर रहे थे और उनके आस-पास लोगों की भीड़ भी नहीं थी।
बीजेपी पर हमला बोलते हुए तृणमूल के वरिष्ठ नेता गौतम ने कहा कि इन विधायकों ने अपने क्षेत्र के लोगों के साथ विश्वासघात किया है, क्योंकि लॉकडाउन जैसे समय में उन्होंने विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। उन्होंने कहा, ''लोगों को बीजेपी नेताओं का असली चेहरा देखना चाहिए। ये वायरस के प्रसार को लेकर कम परेशान हैं।''
उन्होंने आगे कहा कि ये नेता केवल संकट की स्थितियों का राजनीतिकरण करने में विश्वास करते हैं। राज्य सरकार महामारी से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। रविवार को बंगाल में 15 दिनों का लॉकडाउन लागू किया गया है। सरकार ने कई कड़े कदम उठाए हैं, जिससे कोरोना का प्रसार रोका जा सके।

 

राहुल गांधी ने क्यों कहा मुझे भी गिरफ्तार कर लो, जानिए क्या है पूरा मामला

राहुल गांधी ने क्यों कहा मुझे भी गिरफ्तार कर लो, जानिए क्या है पूरा मामला

नई दिल्ली: पीएम मोदी के खिलाफ जिस पोस्टर को लेकर दिल्ली में गिरफ्तारियां हुई हैं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने भी वही पोस्टर शेयर किए हैं. राहुल गांधी ने पोस्टर की तस्वीर शेयर करते हुए कहा है कि मुझे भी गिरफ्तार कर लो. वहीं प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल पिक्चर बदलकर यही पोस्टर लगा लिया. दरअसल, दिल्ली पुलिस ने प्रधानमंत्री मोदी की कथित तौर पर आलोचना करने वाले पोस्टर चिपकाने के मामले में 25 एफआईआर दर्ज की हैं और 25 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये पोस्टर दिल्ली के कई हिस्सों में लगाए गए थे. इनमें लिखा था, "मोदी जी हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दी?"पोस्टर दिल्ली के कई इलाकों जैसे शाहदरा, रोहिणी, रिठाला, द्वारका और कई अन्य में पाए गए थे. 12 मई को पुलिस को दिल्ली के विभिन्न इलाकों में ये पोस्टर लगे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद तुरंत कार्रवाई शुरू कर दी गई. 13 मई तक सभी पोस्टर हटा दिए गए. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार किए गए लोगों में एक 19 साल का लड़का है जिसने बीच में पढ़ाई छोड़ दी, 30 साल का ऑटो ड्राइवर है और 61 साल का दिहाड़ी मजदूरी करने वाला शख्स भी शामिल है. पुलिस ने बताया कि एक प्राथमिकी उत्तरी दिल्ली में दर्ज की गई और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. इस व्यक्ति ने दावा किया है कि उसे तीन पोस्टर चिपकाने के लिए 500 रुपये दिए गए. एक अन्य मामला शाहदरा में दर्ज किया गया, जहां पुलिस ने घटना की सीसीटीवी फुटेज बरामद की और इस घटना में शामिल लोगों को पकड़ने की कोशिश की.

इस्राइल ने मीडिया दफ्तरों को भी बनाया निशाना, बाइडन ने जताई चिंता

इस्राइल ने मीडिया दफ्तरों को भी बनाया निशाना, बाइडन ने जताई चिंता

वाशिंगटन/नई दिल्ली। इस्राइल और फलस्तीन के बीच खूनी संघर्ष जारी है। इस्राइल के युद्धक विमानों ने रविवार तड़के गाजा सिटी के अहम हिस्से में कई इमारतों, सड़कों और मीडिया दफ्तरों को निशाना बनाया। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बात कर नागरिकों और पत्रकारों की सुरक्षा पर चिंता जताई।
इस्राइली हवाई हमले में शनिवार को गाजा शहर में एक ऊंची इमारत को नष्ट कर दिया, जिसमें एसोसिएटेड प्रेस और अन्य मीडिया आउटलेट्स के कार्यालय थे। जानकारी के मुताबिक, मीडिया कार्यालय में मौजूद सभी पत्रकार, कर्मचारी और फ्रीलांसरों को इमारत से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।
बाइडन ने गाजा में पत्रकारों को लेकर जताई चिंता
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से फोन पर वार्ता की। इस दौरान बाइडन ने हमास के मिसाइल हमलों के जवाब में गाजा में इस्राइली हमलों के प्रति पूरा समर्थन व्यक्त किया, लेकिन हमलों में आम नागरिकों के हताहत होने और पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई।
व्हाइट हाउस ने बताया कि बाइडन ने शनिवार को हुई बातचीत के दौरान इस्राइल में अंतरसांप्रदायिक हिंसा और वेस्ट बैंक में बढ़ते तनाव पर गहरी चिंता जताई। बाइडन और नेतन्याहू ने येरुशलम पर भी चर्चा की। इस दौरान बाइडन ने कहा कि यह सभी धर्मों एवं पृष्ठभूमियों के लोगों के लिए एक साथ मिलकर शांति से रहने की जगह होनी चाहिए।
 इस्राइल ने गाजा में इमारतों और सड़कों को बनाया निशाना
इस्राइल के युद्धक विमानों ने रविवार तड़के गाजा सिटी के अहम हिस्से में कई इमारतों और सड़कों को निशाना बनाया। निवासियों और पत्रकारों द्वारा जारी तस्वीरों के अनुसार, हवाई हमलों से गड्ढा बन गया, जिससे शिफा अस्पताल की ओर जाने वाली एक मुख्य सड़क अवरुद्ध हो गई। शिफा गाजा पट्टी में सबसे बड़ा अस्पताल है।
रिपोर्ट के मुताबिक, ताजा हवाई हमलों में दो लोगों की मौत हो गई और 25 घायल हो गए, जिनमें बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। बचावकर्ता अब भी मलबा हटा रहे हैं। दो घंटों तक भारी बमबारी करने के बाद भी इस्राइली सेना ने कोई टिप्पणी नहीं की है।
 फलस्तीन के राष्ट्रपति और बाइडन के बीच हुई बातचीत
बाइडन ने राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार संभालने के बाद फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ भी फोन पर पहली बार बातचीत की, जिसमें उन्होंने हमास से इस्राइल पर रॉकेट हमले रोकने की अपील की। व्हाइट हाउस ने बताया कि बाइडन ने फलस्तीनी लोगों को सक्षम बनाने की खातिर कदम उठाने के लिए अपना समर्थन जताया ताकि वे गरिमा, सुरक्षा एवं स्वतंत्रता के साथ जी सकें और उन्हें आर्थिक अवसर मिल सकें, जिसके वे हकदार हैं।
 

आईसीएमआर और कोविड-19 नेशनल टास्क फोर्स, प्लाज्मा थैरेपी को हटाने पर सहमत, जाने क्या है मामला

आईसीएमआर और कोविड-19 नेशनल टास्क फोर्स, प्लाज्मा थैरेपी को हटाने पर सहमत, जाने क्या है मामला

नई दिल्ली । कोरोना संक्रमित मरीजों की जिंदगी बचाने में प्लाज्मा थैरेपी असरदार साबित नहीं हो रही है। इसके इस्तेमाल के बावजूद संक्रमित की मौत और उनकी बीमारी की गंभीरता को कम नहीं किया जा सका है। सूत्रों के अनुसार ऐसे में जल्द ही इसे चिकित्सकीय प्रबंधन दिशानिर्देशों (सीएमजी) से हटा दिया जाएगा।
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और कोविड-19 के लिए गठित नेशनल टास्क फोर्स की शुक्रवार को आयोजित बैठक में सभी सदस्य सीएमजी से प्लाज्मा थैरेपी को हटाने पर सहमत थे।

वायरस का विषैला स्वरूप पनपने का खतरा
हाल ही में कुछ विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों ने मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन को पत्र लिखकर कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थैरेपी को अवैज्ञानिक बताया था। इस पत्र की प्रति आईसीएमआर प्रमुख बलराम भार्गव और एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया को भी भेजा गया था।
विशेषज्ञों के अनुसार इसकी वजह से महामारी का प्रकोप कम होने की जगह बढ़ ही सकता है क्योंकि इससे वायरस के और विषैले स्वरूप के विकसित होने का खतरा है।
गौरतलब है कि प्लाज्मा थैरेपी में कोविड से ठीक हुए मरीज के रक्त में मौजूद एंटीबॉडी को गंभीर मरीजों को दिया जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार 11,588 मरीजों पर इसका परीक्षण करने के बाद पाया गया कि इससे मरीजों की मौत और अस्पताल से छूटने के अनुपात में कोई फर्क नहीं आया।
 

गोवा के तट से टकराया `तौकते` : मचाई तबाही, इस राज्य को हाई अलर्ट जारी...

गोवा के तट से टकराया `तौकते` : मचाई तबाही, इस राज्य को हाई अलर्ट जारी...

पणजी । चक्रवाती तूफान तौकते गोवा के तटीय क्षेत्र से टकरा गया है। पणजी में इसका असर देखा गया। गोवा में चक्रवाती तूफान से भारी नुकसान की खबर है। गोवा के तट पर तेज हवाओं के साथ-साथ मूसलाधार बारिश भी हो रही है। इस बीच चक्रवात पर तैयारियों को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने समीक्षा बैठक बुलाई है।
अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौकते को लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी है। एक तरफ जहां कर्नाटक में साइक्लोन के बीच तेज बारिश की वजह से 4 लोगों की मौत हो गई और राज्यए में कुल 73 गांव चक्रवाती तूफान से प्रभावित हुए हैं। वहीं यह तूफ़ान गोवा के तटीय क्षेत्र से भी टकरा गया है।
पणजी में इसका असर देखा गया। गोवा में चक्रवाती तूफान से भारी नुकसान की खबर है, सड़कों पर कई जगह पेड़ गिर गए हैं। भारी पेड़ गिरने से सड़क किनारे खड़ी कार डैमेज हो गई है। गोवा के तट पर तेज हवाओं के साथ-साथ मूसलाधार बारिश भी हो रही है।
00 कर्नाटक के कई जिलों में भारी बारिश, 4 लोगों की मौत
चक्रवाती तूफान के प्रभाव से कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों और दक्षिण कन्नड़ जिले में भारी बारिश हुई है। आईएमडी ने रविवार को पश्चिमी घाट क्षेत्र से सटे कुछ स्थानों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के अनुसार बेलगावी, चिक्कमगलुरु, दक्षिण कन्नड़, हसन, कोडागु, शिवमोग्गा, उडुपी और उत्तर कन्नड़ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।
00 अमित शाह ने बुलाई समीक्षा बैठक
इस बीच चक्रवात पर तैयारियों को लेकर गृह मंत्री अमित शाह की समीक्षा बैठक जारी है। जिसमें गुजरात, महाराष्ट्र, दमन -दीव और दादर नगर हवेली राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के अधिकारी शामिल हैं।
चक्रवाती तूफान की आशंका के मद्देनजर गुजरात में हाई अलर्ट जारी है। सूरत ज़िले के 40 गांव और ओलपाड तहसील के 28 गांव को अलर्ट किया गया है। चक्रवाती तूफान के अलर्ट के चलते सूरत हजीरा से भावनगर के बीच चलने वाली रो-रो फेरी को 17-18 मई के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं, सौराष्ट्र के पोरंबदर के 30 गांव में अलर्ट जारी है।
मौसम विभाग के अनुसार माना जा रहा है कि ये चक्रवाती तूफान तौकते गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा।महाराष्ट्र, केरल और गुजरात के तटों पर तीन दिन तक तूफान का असर रहने की संभावना है। मौसम विभाग का अनुमान है कि चक्रवाती तूफान के दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। आईएमडी ने कहा कि 17 मई को मुंबई सहित उत्तरी कोंकण में कुछ स्थानों पर तेज हवाएं चलेंगी और भारी बारिश होगी। तूफान के खतरे को देखते हुए पीएम मोदी ने शनिवार को हाईलेवल मीटिंग की और तैयारियां का जायजा लिया। प्रधानमंत्री मोदी ने राहत-बचाव के सभी इंतजाम करने और लोगों की सुरक्षा के निर्देश दिए हैं।
00 अलर्ट पर कोस्ट गार्ड
मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिन में तौकते नाम का तूफान केरल, गोवा, गुजरात और महाराष्ट्र के लिए बड़ी मुसीबत बन सकता है। जिसके लिए एनडीआरएफ की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है। अनुमान है कि 18 मई को चक्रवाती तूफान गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा। गुजरात के कच्छ और सौराष्ट्र के समुद्री इलाकों में साइक्लोन को लेकर कोस्ट गार्ड अलर्ट पर है। साथ ही मछुआरों को समंदर से दूर रहने की चेतावनी दी गई है।
00 गुजरात में लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचे में जुटे बीएसएफ जवान
गुजरात के समुद्र तट पर चक्रवाती तूफान का संकट मंडरा रहा है. इस बीच गुजरात के संवेदनशील बॉर्डर भारत-पाक सीमा (कच्छ बॉर्डर) पर बीएसएफ ने भी अपना मोर्चा संभाल लिया है। कच्छ के क्रीक बॉर्डर इलाके में मछुआरों को समुद्र किनारे जाकर मछलियां ना पकड़ने की सलाह दी गई है। साथ ही में चक्रवाती तूफान के बीच पाकिस्तान के समुद्री रास्ते से कोई नापाक घुसपैठ की हरकत न हो इसके लिए बीएसएफ के जवान कच्छ के क्रीक इलाके में पेट्रोलिंग कर रहे हैं।
मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान के अगले कुछ घंटों में `अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान` में बदलने की संभावना है। इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिमी दिशा की तरफ बढ़ने और लगभग 18 मई को पोरबंदर तथा नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की उम्मीद है। केंद्र और तटीय राज्यों की सरकारें चक्रवात से निपटने की तैयारी कर रही हैं।
 

तौक ते ने बढ़ाई चिंता,शहर से 580 मरीजों को कोविड-19 देखभाल केंद्रों से हटाया गया

तौक ते ने बढ़ाई चिंता,शहर से 580 मरीजों को कोविड-19 देखभाल केंद्रों से हटाया गया

मुंबई । पहले से ही कोरोना वायरस से जूझ रहे देश की चिंता चक्रवाती तूफान तौकते के कारण और भी बढ़ गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने देश के तटीय क्षेत्रों के अलावा मुंबई में भी तूफान आने की चेतावनी जारी कर रखी है, जिसके मद्देनजर बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने एहतियाती कदम उठाया है। दरअसल, बीएमसी ने शहर से 580 मरीजों को कोविड-19 देखभाल केंद्रों से स्थानांतरित कर दिया।
बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि नगर निकाय ने कोविड देखभाल केंद्रों से 580 मरीजों को मुंबई के राज्य सरकार और नगर निकाय द्वारा संचालित अस्पतालों में शनिवार (14 मई) की रात को स्थानांतरित कर दिया। 580 मरीजों में से 243 बीकेसी, 183 दहिसर और 154 मरीज मुलुंड से स्थानांतरित किए गए हैं। इसके अलावा बीएमसी ने शुक्रवार (13 मई) को शहर के अस्पतालों को सतर्क किया था कि बेड और ऑक्सीजन उपकरणों की उपलब्धता को लेकर अंतिम समय में कोई अव्यवस्था न हो। एक अधिकारी ने बताया कि मुंबई में उपनगरीय रेल सेवा रविवार (15 मई) को जारी रहेगी।

 बांद्रा-वर्ली सी लिंक को किया जा सकता है बंद
मालूम हो कि आईएमडी ने घोषणा की है कि चक्रवात ताउते आज यानी रविवार (15 मई) को शहर से गुजर सकता है। इसी के मद्देनजर अधिकारी बांद्रा-वर्ली सी लिंक को एहतियातन बंद करने की संभावना पर विचार कर रहे हैं। आईएमडी ने शनिवार को कहा था कि ताउते चक्रवात और मजबूत हो गया है और यह गुजरात तट व केंद्र शासित प्रदेश दमन-दीव और दादरा-नगर हवेली तट की ओर बढ़ रहा है। आईएमडी ने यह भी कहा था कि तूफान के शनिवार देर रात तक ‘‘बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान’’ में तब्दील होने की संभावना है। विभाग ने कहा था कि इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और 18 मई की दोपहर के आसपास पोरबंदर और नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है।
साथ ही मौसम विभाग ने यह भी कहा था कि तूफान के शनिवार देर रात या रविवार तड़के मुंबई से कुछ दूरी से गुजरने की संभावना है, इसलिए अधिक नुकसान होने की आशंका नहीं है। हालांकि, मुंबई, ठाणे और पालघर में तेज हवाएं चलने के साथ भारी बारिश भी हो सकती है।
 

अच्छी खबर: रूस से स्पूतनिक-वी की दूसरी खेप पहुंची हैदराबाद

अच्छी खबर: रूस से स्पूतनिक-वी की दूसरी खेप पहुंची हैदराबाद

हैदराबाद। देश में मात्र दो वैक्सीन के जरिए ही टीकाकरण अभियान किया जा रहा है लेकिन जल्द ही इस अभियान एक और वैक्सीन का नाम जुड़ जाएगा। अब कोविशील्ड और कोवैक्सीन के साथ रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी की खुराकें भी दी जाएंगी और अगले हफ्ते से ये वैक्सीन बाजार में उपलब्ध हो जाएगी।
आज रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी की दूसरी खेप हैदराबाद पहुंची। वैक्सीन के भारत पहुंचने के बाद रूसी राजदूत एन कुदाशेव ने इस वैक्सीन को रशियन-इंडियन वैक्सीन का नाम दिया। उन्होंने कहा कि रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी की प्रभावकारिता के पूरे दुनिया में चर्चे हैं। सभी अच्छी तरह से जानते हैं कि स्पूतनिक-वी कोरोना के खिलाफ कितनी कारगार है।
इसके अलावा एन कदाशेव ने कहा कि रूसी के जानकारों ने इस वैक्सीन को कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ प्रभावशाली बताया है। यही नहीं रूसी राजदूत ने स्पूतनिक-वी को रशियन-इंडियन वैक्सीन तक कह डाला। उन्होंने आगे कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि स्पूतनिक-वी का उत्पादन भारत में धीरे-धीरे बढ़ेगा और कंपनी मिलकर एक साल 850 मिलियन खुराकें तैयार करेगी।
इसके अलावा उन्होंने आगे जानकारी दी कि भारत में एक खुराक वाली स्पूतनिक लाइट वैक्सीन के उत्पादन पर भी जोर दिया जाएगा। बता दें कि देश में पहले से ही दो वैक्सीन लोगों को लगाई जा रही हैं। अब ऐसे में स्पूतनिक वी के बाजार में उपलब्ध हो जाने से वैक्सीनेशन में तेजी तो आएगी, साथी ही ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग सकेगी।
 

साइबर क्राइम : बंगाल के नंबरों से बिहार में सक्रिए ठग, दिल्लीवालों को बना रहे शिकार

साइबर क्राइम : बंगाल के नंबरों से बिहार में सक्रिए ठग, दिल्लीवालों को बना रहे शिकार

ऑक्सीजन, इंजेक्शन, दवाइयों और हॉस्पिटल में बेड दिलाने के नाम पर जमकर जालसाजी कर रहे साइबर अपराधियों पर नकेल कसने के लिए साइबर सेल की अगुवाई में सभी जिला पुलिस सहित 20 टीमों को लगा दिया गया हैं। इन टीमों की पड़ताल और धरपकड़ में खुलासा हुआ कि जिन नंबरों से साइबर बदमाश लोगों से ठगी कर रहे थे, उनमें से करीब 40 फीसदी नंबर बंगाल से जारी किए गए थे। वहीं 50 फीसदी नंबर अन्य प्रदेशों जैसे हरियाणा, राजस्थान, असम, उड़ीसा, बता यूपी और दिल्ली-एनसीआर के हैं।
दूसरा बड़ा खुलासा हुआ है कि साइबर सेल की तरफ से चिह्नित किए ए नंबरों में से करीब 70 फीसदी नंबरों का ऑपरेशन बिहार और झारखंड से हो रहा था। निशाने पर दिल्ली-एनसीआर के लोग थे। जिन अकाउंट में रकम ट्रांसफर कराई जा रही थी, वे अकाउंट नंबर भी महाराष्ट्र, बंगाल, बिहार, राजस्थान, हरियाणा के पते पर थे। ठगी के ज्यादातर मामलों में बंगाल का नंबर, बेहार से ऑपरेशन और दिल्ली एनसीआर के लोग निशाने पर थे।
सबसे अधिक बंगाल के 359 नंबर ब्लॉक किए गए
साइबर सेल के ज्वाइंट कमिश्नर प्रेमनाथ ने यह बताया कि ठगी करने वाले 900 नंबरों को ब्लॉक कर दिया गया है। इसमें से बंगाल के करीब 359, बाकि 541 नंबर हरियाणा, राजस्थान, असम, कर्नाटक, उड़ीसा, यूपी व दिल्ली-एनसीआर के हैं। बाकी प्रदेशों के नंबर सात से लेकर 13 फीसदी के बीच हैं। जांच के दौरान 372 मामले दर्ज किए गए और 91 को गिरफ्तार किया गया है। वहीं ठगी की रकम लेने में इस्तेमाल 95 डिवाइस सीज की गई।

 

राष्ट्रपति की वरिष्ठ सलाहकार नियुक्त हुईं भारतीय मूल की नीरा टंडन,बाइडन ने कहा...

राष्ट्रपति की वरिष्ठ सलाहकार नियुक्त हुईं भारतीय मूल की नीरा टंडन,बाइडन ने कहा...

वॉशिंगटन/नई दिल्ली । अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कैबिनेट के लिए चुनी गईं भारतीय मूल की नीरा टंडन को व्हाइट हाउस का वरिष्ठ सलाहकार नियुक्त किया है। इससे पहले उन्हें बाइडन ने प्रबंधन एवं बजट कार्यालय का नेतृत्व करने के लिए चुना था, लेकिन विरोध के बीच मार्च में उन्होंने अपना नामांकन वापस ले लिया था। सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस (सीएपी) के संस्थापक जॉन पोडेस्टा ने एक बयान में कहा कि नीरा बुद्धिमत्ता, कड़ी मेहनत और राजनीतिक दृष्टि बाइडन प्रशासन के लिए अहम साबित होगी। हालांकि हमें सीएपी में उनकी विशेषज्ञता और लीडरशिप की कमी खलेगी जिसका 2003 में गठन किया गया था।
मार्च में व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति जो बाइडन के बजट कार्यालय में नीरा टंडन को निदेशक बनाने का नामांकन प्रस्ताव वापस ले लिया था। दोनों पार्टियों में नीरा के नाम पर उठा विरोध खत्म नहीं किया जा सका था। नीरा ने भी नाम वापसी की घोषणा कर दी थी, क्योंकि वे डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकनों के बीच अपने नामांकन की पुष्टि के लिए पर्याप्त वोट जुटाने में नाकाम रहीं।
नीरा के नाम पर पुष्टि का अनुरोध बाइडन की डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने भी खारिज कर दिया था। तब बाइडन ने कहा था- `सुश्री टंडन ने कहा है कि प्रबंधन कार्यालय और बजट निदेशक के लिए उनका नामांकन वापस ले लिया जाए और मैंने उनका प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है।`
बता दें कि टंडन के नामांकन की पुष्टि का रास्ता पहले ही कठिन था और उन्हें पूर्व में कई सांसदों के खिलाफ किए गए ट्वीट के कारण विरोध का सामना करना पड़ रहा था। हालांकि उन्होंने ऐसे 1,000 से ज्यादा ट्वीट डिलीट कर सीनेटरों से माफी भी मांग ली थी लेकिन उनका विरोध कम नहीं हुआ था।
तब बाइडन ने कहा था कि मैं उनके अनुभव, कौशल और विचारों का बहुत सम्मान करता हूं और चाहता हूं कि मेरे प्रशासन में उनकी कोई भूमिका हो। और आखिरकार बाइडन ने उन्हें इतना महत्वपूर्ण पद देते हुए नई जिम्मेदारी सौंप दी।
 

घर में चल रहा था रोना-धोना, तभी अर्थी से उठकर रोने लगी कोरोना संक्रमित महिला, जानें फिर क्या हुआ

घर में चल रहा था रोना-धोना, तभी अर्थी से उठकर रोने लगी कोरोना संक्रमित महिला, जानें फिर क्या हुआ

शकुंतला गायकवाड़ के नाम की एक बुजुर्ग महिला की कोरोना रिपोर्ट कुछ दिनों पहले ही सकारात्मक आई थी। कुछ दिन वह घर पर अलग-थलग थी लेकिन वृद्धावस्था के कारण उसकी हालत बिगड़ गई, जिसके बाद परिवार ने उसे बारामती के एक अस्पताल में ले जाने का फैसला किया। 10 मई को बुजुर्ग महिला को निजी वाहन से बारामती ले जाया गया।Also Read:-ममता बनर्जी के परिवार में शोक की लहर, अस्पताल में चल रहा था कोरोना का इलाज
परिवार ने बारामती में उसके लिए एक अस्पताल के बिस्तर को सुरक्षित करने की कोशिश की, लेकिन असफल रहे। जैसे ही वे कार में इंतजार कर रहे थे, महिला बेहोश हो गई और उसने आगे बढ़ना बंद कर दिया। परिवार ने मान लिया कि महिला की मौत हो गई है। उन्होंने अपने परिजनों को भी अंतिम संस्कार की जानकारी दी। परिजन उसे वापस घर ले गए और दाह संस्कार की तैयारी करने लगे। जैसे ही परिजनों ने शोक मनाया, महिला को उसकी अंतिम यात्रा के लिए अर्थी पर बिठाया गया। अचानक महिला रोने लगी और फिर आंखें खोली।
Also Read:-बड़ी खबर रायपुर: अवैध शराब के साथ दो सगे भाई गिरफ्तार, 11.5 लीटर महुआ शराब जब्त 
सदमे में उसके परिजन उसे अस्पताल ले गए। पुलिसकर्मी संतोष गायकवाड़ ने पुष्टि की कि घटना बारामती के मुधले गांव में हुई थी। इस बीच, महिला को आगे के इलाज के लिए बारामती के सिल्वर जुबली अस्पताल में भर्ती कराया गया।
Also Read:-रायपुर लॉकडाउन ब्रेकिंग: रायपुर में 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, देखे कीन्हे मिली इस लॉकडाउन में छूट, आदेश हुआ जारी 

 

बैंड न बराती, 17 मिनट में विवाह, दूल्हे-दुल्हन ने ऐसे लिए सात फेरे

बैंड न बराती, 17 मिनट में विवाह, दूल्हे-दुल्हन ने ऐसे लिए सात फेरे

शाहजहांपुर जिले के कलान तहसील क्षेत्र के पटना देवकली शिव मंदिर में अक्षय तृतीया के अति शुभ मुहूर्त में एक विवाह हुआ। केवल 17 मिनट में वर वधू ने सात फेरे लिए। दूल्हे के सिर पर न सेहरा था, न दूल्हा घोड़ी पर बैठ कर आया। न ही बैंड बाजा था। कोरोना के कारण लगी बंदिशों के कारण ऐसी शादी हुई।

गुरु शुक्राचार्य की पावन तपोभूमि पटना देवकली शिव मंदिर पर महंत गिरी द्वारा सनाय के रहने वाले भाजपा महामंत्री व मीडिया कर्मी पुष्पेंद्र दुबे और हरदोई की प्रीति दुबे का विवाह सम्पन्न कराया गया। बेहद सादे समारोह में हुई शादी पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। वर-वधू बिना किसी बैंड बाजा व बारात के मात्र 17 मिनट में जीवन की डोर में बंध गए। शादी समारोह में उपस्थित मेहमानों समेत वर वधू ने दहेज प्रथा का विरोध करते हुए यह जागरूकता संदेश युवाओं को दिया।

पुष्पेंद्र ने लड़की वालों से बतौर शगुन एक रामायण ली। पुष्पेंद्र कहा कि हमें लोगों को बेटी की अहमियत समझनी चाहिए। उनकी जीवनसंगिनी बनी प्रीति ने बताया कि दहेज प्रथा ने बहुत से परिवारों को तबाह कर दिया है। इसे खत्म करने के लिए युवा वर्ग को आगे आना होगा। 

इंसानियत हुई शर्मसार: कोरोना पीड़ित महिला से वार्ड बॉय ने किया रेप, घटना के 24 घंटे के भीतर ही...

इंसानियत हुई शर्मसार: कोरोना पीड़ित महिला से वार्ड बॉय ने किया रेप, घटना के 24 घंटे के भीतर ही...

MP Crime News: देश में जारी कोरोना संकट के बीच इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबरें भी सामने आती रहती हैं. ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आया है. यहां कोरोना पीड़ित महिला के साथ हुई हैवानियत ने इंसानियत को शर्मसार कर दिया. भोपाल के एक अस्पताल में कोरोना पीड़ित महिला के साथ हैवानियत हुई और उसने अगले दिन दम तोड़ दिया. इस घटना को एक माह से जयादा का वक्त गुजर जाने के बाद ही परिवार को महिला से हुई ज्यादती की जानकारी ही नहीं दी गई. इसके चलते पुलिस ही सवालों के घेरे में आ गई है.
मामला भोपाल के गैस पीड़ितों के लिए बनाए गए भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (BMHRC) का है. इस अस्पताल में पुराना भोपाल के काजी कैंप में रहने वाली 43 वर्षीय महिला को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उपचार के लिए भर्ती कराया गया था. महिला से 6 अप्रैल को अस्पताल के वार्ड बॉय ने दुष्कर्म किया. उसके बाद महिला की तबीयत और बिगड़ी तथा उसने अगले दिन दम तोड़ दिया. रेप की घटना के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और जेल भेज दिया.
बताया जा रहा है कि अस्पताल के मेल वार्ड बॉय संतोष 6 अप्रैल की सुबह चार बजे महिला के कमरे में आया और उससे कहा कि मेडिकल चेकअप करना है. उसने पहले महिला के शरीर से छेड़छाड़, जांच के नाम पर बाथरूम में ले गया और उसके साथ अश्लील हरकत की. उसके बाद महिला की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई, उसे वैंटिलेटर पर रखा और अगले दिन उसने दम तोड़ दिया. यह मामला तब सामने तब आया जब भोपाल के गैस पीड़ितो की लड़ाई लड़ने वाले संगठनों ने इसे उठाया. उन्होंने भोपाल गैस पीड़ितों के चिकित्सकीय पुनर्वास के लिए बनाई गई समिति के चेयरमैन न्यायाधीश वी के अग्रवाल को पत्र लिखा.
भोपाल ग्रुप फॉर इंफॉर्मेशन एंड एक्शन की रचना ढींगरा का कहना है कि गैस पीड़ित संगठनो ने इस शर्मनाक घटना के सम्बंध में 12 मई को चिट्ठी लिख कर एवं सबूत भी दिए है. साथ ही मांग की है कि इस घटना की जांच हो. उन्होंने आगे कहा इस मामले को हाई कोर्ट के भी संज्ञान में लाया जाए. इसके अलावा चिट्ठी में बीएमएचआरसी के कोविड वार्ड की खामियों के बारे में लिखा है. अभी तक बीएमएचआरसी के प्रबंधन ने सिर्फ इस घटना को दबाने का काम किया है. कोविड वार्ड के जो हालात है उससे तो यह साफ है कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाए गए हैं.
पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने टवीट कर कहा, ‘मध्यप्रदेश के भोपाल में अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित महिला के साथ दुष्कर्म व छेड़छाड़ की घटना, बेहद शर्मनाक! बड़ा ही शर्मनाक कि पीड़ित महिला की मौत हो गयी और कार्यवाही की बजाय, अस्पताल प्रबंधन व पुलिस ने इस पूरे मामले को दबाये रखा !’
कमल नाथ ने आगे कहा, ‘इससे पहले भी इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी है. क्या बहन- बेटियां अब अस्पताल में भी सुरक्षित नहीं हैं? ऐसी घटनाएं मानवता व इंसानियत पर कलंक व प्रदेश को देश भर में शर्मसार करने वाली हैं. ऐसे तत्वों व दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो और ऐसी घटनाओं को रोकने के लिये सरकार तत्काल आवश्यक कदम उठाये।.’
पुलिस पर आरोप लग रहे है कि उसने युवती के परिजनो से दुष्कर्म की बात को छुपाए रखा. इस बात को लेकर भोपाल के उप महानिरीक्षक (डीआईजी) की ओर से ट्वीट किया है. इसमें कहा गया है कि ‘छह अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित महिला के साथ दुष्कर्म की जानकारी अस्पताल प्रबंधन के माध्यम से पुलिस को मिली. पुलिस ने तत्काल उसी दिन अपराध दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और उसी दिन जेल भेज दिया. वह अब भी जेल में ही है. भोपाल पुलिस परिजनों के संपर्क में है और विवेचना पूर्ण कर न्याय के लिए प्रकरण न्यायालय में पेश किया जा रहा है.’ उप-पुलिस महानिरीक्षक के टवीट में कहा गया है कि ‘भोपाल पुलिस द्वारा मामले को दबाने और छुपाने का कोई प्रयास नहीं किया गया है.’
(इनपुट: IANS)

 

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को घोषणा की कि राज्य का नया जिला होगा...

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को घोषणा की कि राज्य का नया जिला होगा...

चंडीगढ़, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को घोषणा की कि मलेरकोटला राज्य का नया जिला होगा। संगरूर जिले में स्थित मलेरकोटला मुस्लिम बहुल कस्बा है। मलेरकोटला के साथ लगे अमरगढ़ और अहमदगढ़ भी पंजाब के इस 23वें जिले का हिस्सा होंगे।
संगरूर जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर स्थित मलेरकोटला को जिले का दर्जा कांग्रेस का चुनावी वादा था।
ईद-उल-फितर के मौके पर लोगों को बधाई देने के लिए राज्य स्तर पर ऑनलाइन तरीके से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने मलेरकोटला के लिए 500 करोड़ रुपये की लागत से मेडिकल कॉलेज, एक महिला कॉलेज, एक नया बस स्टैंड और एक महिला पुलिस थाना बनाने की भी घोषणा की।
नये जिले की घोषणा करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा, `मैं जानता हूं कि यह लंबे समय से लंबित मांग रही है।` सिंह ने कहा कि मलेरकोटला शहर, अमरगढ़ और अहमदगढ़ भी मलेरकोटला की सीमा में आएंगे।
बाद में एक ट्वीट में उन्होंने कहा, `यह साझा करते हुए खुशी हो रही है कि ईद-उल-फितर के पाक मौके पर मेरी सरकार ने घोषणा की है कि मलेरकोटला राज्य का नवीनतम जिला होगा। 23वें जिले का विशाल ऐतिहासक महत्व है। जिला प्रशासनिक परिसर के लिए उचित स्थान का तत्काल पता लगाने का आदेश दिया है।` उन्होंने कहा कि देश की आजादी के वक्त पंजाब में 13 जिले थे। वर्ष 1947 में बंटवारे के दौरान मलेरकोटला में काफी हद तक शांति रही, जबकि भारत-पाकिस्तान सीमा पर सांप्रदायिक संघर्ष और बड़े पैमाने पर पलायन हुआ।
 

इस राज्य में पिछले चार दिनों में 75 मरीजों की मौत से मचा हड़कंप, इस समस्या को बताई जा रही वजह

इस राज्य में पिछले चार दिनों में 75 मरीजों की मौत से मचा हड़कंप, इस समस्या को बताई जा रही वजह

पणजी । गोवा के सबसे बड़े कोविड सेंटर गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में पिछले चार दिनों में 75 मरीजों की मौत से हड़कंप मचा हुआ है। इन मरीजों की मौत के पीछे मेडिकल सप्लाई में समस्या को वजह बताया जा रहा है। गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए हुए सीएम प्रमोद सावंत, मुख्य सचिव परिमल राय और अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई के आवंटन की जिम्मेदारी संभाल रही नोडल ऑफिसर श्वेतिका सचान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।
गोवा फॉरवर्ड पार्टी के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम विजय सरदेसाई ने बताया है कि 13 मरीजों की मौत शुक्रवार को हुई है। पिछले महीने ही गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने सत्ताधारी बीजेपी पर गोवा विरोधी नीतियों का आरोप लगाते हुए खुद को सरकार से अलग कर लिया था।

75 मरीजों की मौत
सरदेसाई ने बताया कि गुरुवार को 15 मरीजों की मौत हुई थी। जबकि उसके एक दिन पहले बुधवार को अस्पताल में 21 मरीजों ने दम तोड़ा था और मंगलवार को 26 मरीजों की जान चली गई। सरदेसाई ने कहा कि अब तक कुल 75 मरीजों की मौत हो चुकी है।
विपक्षी गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने घटना पर सख्त रुख अपनाते हुए शुक्रवार को सीएम सावंत समेत वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में ऑक्सीजन की आपूर्ति में रुकावट का जिक्र करते हुए लापरवाही, जानबूझकर कर्तव्यों की चूक और लापरवाही का आरोप लगाया गया है जिसके चलते कोविड रोगियों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है।

गोवा सरकार ने कमेटी गठित की
वहीं गोवा सरकार ने मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर एक कमेटी गठित की है। इस कमेटी को तीन दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। कमेटी अस्पताल को मिलने वाली ऑक्सीजन सप्लाई और ऑक्सीजन को लेकर आ रही दिक्कतों को दूरने पर नजर रखेगी।
 

Previous123456789...4748Next