प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..    |    कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा    |    लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज    |    बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान    |    मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत    |    बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट    |    ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर    |
पुलिस हिरासत में जूनियर इंजीनियर की मौत मामले में हुई बड़ी कार्रवाई, 10 पुलिसकर्मी लाइन अटैच

पुलिस हिरासत में जूनियर इंजीनियर की मौत मामले में हुई बड़ी कार्रवाई, 10 पुलिसकर्मी लाइन अटैच

सूरजपुर। पुलिस हिरासत में जूनियर इंजीनियर की मौत मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है। मामले में चौकी प्रभारी सहित 10 पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच कर दिया गया है। साथ ही नए चौकी प्रभारी की पोस्टिंग भी की गई है। बता दें कि मंगलवार को जूनियर इंजीनियर पूनम कतलम की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी, जिसके बाद पूनम के परिजनों ने आरोप लगाया था कि पुलिसकर्मियों ने उसके साथ मारपीट की है।


दरअसल, सोमवार की सुबह ग्राम करवां विद्युत सब स्टेशन परिसर में सडक़ पर एक युवक की नग्न अवस्था में लाश मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने सब स्टेशन के जेई पूनम कतलम को संदेह के आधार पर हिरासत में लिया था, लेकिन देर रात पूनम की भी तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद उसे स्थानीय अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में उपचार के दौरान पूनम की मौत हो गई। वहीं, दूसरी ओर पूनम के परिजनों ने पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाया है। मामले में चौकी प्रभारी एएसआई सुनील सिंह सहित 10 पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच कर दिया गया है।
 
 पुलिस हिरासत में हत्या के संदेही जूनियर इंजीनियर की मौत, परिजनों ने पुलिस पर लगाया आरोप

पुलिस हिरासत में हत्या के संदेही जूनियर इंजीनियर की मौत, परिजनों ने पुलिस पर लगाया आरोप

सूरजपुर। जिले की लटोरी चौकी में हत्या के केस में पूछताछ के लिए लाए गए बिजली विभाग के सब इंजीनियर की मंगलवार सुबह मौत हो गई। परिजनों के मुताबिक मृतक के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। परिवारवालों ने पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाया है।

जानकारी के अनुसार, सूरजपुर के लटोरी चौकी के ग्राम करवां विद्युत सब स्टेशन परिसर में सोमवार को एक युवक का खून से लथपथ लाश मिला था। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने संदेह के आधार पर बालोद निवासी जूनियर इंजीनियर पूनम कतलम (40) को हिरासत में ले लिया। मंगलवार सुबह पूनम की मौत हो गई।

वहीं पुलिस का कहना है कि, पूनम को थाने ले जाने के दौरान रास्ते में ही उसकी तबीयत खराब हो गई, जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। सुबह जब पूनम बाथरूम के लिए उठा तो हार्ट अटैक से उसकी मौत हो गई। 
 जिले में महिला समूहों द्वारा निर्मित गोबर व मिट्टी के आकर्षक रंगबिरंगे इकोफ्रें डली दीपक से रौशन होगी दीपावली

जिले में महिला समूहों द्वारा निर्मित गोबर व मिट्टी के आकर्षक रंगबिरंगे इकोफ्रें डली दीपक से रौशन होगी दीपावली

सूरजपुर। कोविड महामारी से लडऩे के लिए मास्क, सेनिटाईजर, हैण्डवाश, हर्बल फिनाईल एवं हैण्ड मेड साबुन का निर्माण कर धूम मचाने के बाद जिले की महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं ने कलेक्टर रणबीर शर्मा एवं जिला पंचायत सीईओ श्री आकाश छिकारा के मार्गदर्शन में गोबर एवं मिट्टी के दिये निर्माण का कार्य प्रारंभ किया है।
 
 
रक्षाबंधन में हैण्डमेड राखियां और गणेश चतुर्थी में इकोफ्रेण्डली पंचगव्य गणेष मूर्ति निर्माण कर अच्छा व्यवसाय किये जाने से उत्साहित होकर जिले की महिलाओं द्वारा गोबर एवं मिट्टी के दिये तैयार कर रंगबिरंगे तथा आकर्षक गिफ्ट पैक तैयार किया जा रहा है।  जिसमें सूरजपुर जिले के कमलपुर ग्राम में शक्ति महिला ग्राम संगठन की 20 महिलाएं, रामानुजनगर विकासखण्ड के आमगांव में तुलसी महिला स्व सहायता समूह 12 पण्डो जनजाति एवं आदिवासी समुदाय की महिलाओं द्वारा गोबर से दीया, शुभ-लाभ, ऊॅ एवं स्वास्तिक के सिंक्कोंं एवं सजावटी सामग्री का निर्माण किया जा रहा है।
 
 
इसके साथ ही रामानुजनगर विकासखण्ड के दवना ग्राम के षिवम् महिला स्व सहायता समूह की 10 महिलाएं, महामाया महिला ग्राम संगठन भैयाथान की 05 महिलाओं द्वारा मिट्टी के दीये तैयार कर उन्हे रंगबिरंगे रंगों से सजा कर गिफ्ट पैक तैयार किया जा रहा हैं। सभी महिला स्व सहायता समूहों ने कुल 12 हजार से भी अधिक दीया तैयार कर लिया हैं एवं दीया प्रतिदिन तैयार किया जा रहा है। गोबर से बने इकोफ्रेंडली दिये उपयोग के बाद मिट्टी में आसानी से मिल कर खाद का रूप ले लेते हैं जो गार्डनिंग करने वालों के लिए बहुत ही उपयोगी हैं, दिये जलाने के बाद इसे खाद के रूप में उपयोग किया जा सकता हैं। 

महिलाओं ने कच्ची मिट्टी से भी आकर्षक दिये बनाए हैं जो उपयोग के तुरंत बाद मिट्टी में आसानी से मिल जाते है। सभी महिला स्व सहायता समूहों द्वारा जिला एवं जनपद स्तर पर विभिन्न स्थानों पर स्टॉल लगाकर दीया विक्रय किये जाने की तैयारी की है। करवाचैथ, धनतेरस, दीपावली एवं एकादषी के त्योंहारों को देखते हुए उजाला महिला ग्राम संगठन सिलफि ली एवं उलाजा महिला ग्राम संगठन षिवनंदनपुर की महिलाओं के द्वारा रूई की बत्ती एवं पूजासामग्री के पैकेट निर्माण का कार्य भी प्रारंभ किया गया है। दीयों का आर्डर सभी जनपद पंचायत कार्यालयों में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिषन ''बिहान'' प्रकोष्ट अथवा मो.न. 09926397378 पर किया जा सकता है।
वैवाहिक कार्यक्रमों में व्यक्तियों की उपस्थिति के संबंध में कलेक्टर ने जारी किया आदेश, पढ़ें पूरी खबर

वैवाहिक कार्यक्रमों में व्यक्तियों की उपस्थिति के संबंध में कलेक्टर ने जारी किया आदेश, पढ़ें पूरी खबर

सूरजपुर संयुक्त कलेक्टर श्री शिव कुमार बनर्जी से प्राप्त जानकारी अनुसार वर्तमान में कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी रोक हेतु जिले में वैवाहिक कार्यक्रम के आयोजन समान्यतः नहीं किये जाने की सलाह दी गई है। यदि अपरिहार्य कारणों से वैवाहिक कार्यक्रम आयोजित किये जाने की आवश्यकता हो तो सोशल, फिजीकल डिस्टेंस, फेस मास्क, थर्मल स्क्रीनिंग, हैण्डवास तथा सैनिटाईजर सहित सावधानियॉ बरतते हुए आयोजन किये जाने की अनुमति दी गई है। जिसमें केवल 100 व्यक्तियों को ही सम्मिलित होने अनुमति होगी एवं आयोजक यह सुनिश्चित करेंगें कि आयोजन जिस स्थल पर किया जा रहा है, वहॉ की क्षमता अनुरूप केवल 50 प्रतिशत ही व्यक्तियों की उपस्थिति होनी चाहिए।

इस जिले के जेल में हुआ कोरोना विस्फोट, दो प्रहरियों सहित 198 कैदी हुए संक्रमित

इस जिले के जेल में हुआ कोरोना विस्फोट, दो प्रहरियों सहित 198 कैदी हुए संक्रमित

रामानुजगंज, रामानुजगंज जिला जेल में जिले दो प्रहरियों सहित 198 विचाराधीन कैदी कोरेना पॉजिटिव पाए गए। वही अभी भी अन्य विचाराधीन कैदियों का रिपोर्ट आना बाकी है। विचाराधीन कैदियों के कोरेना पॉजीटिव पाए जाने के बाद शनिवार को जहां कलेक्टर श्याम धावडे स्वास्थ्य अमले के साथ निरीक्षण में आए थे वही आज सेंट्रल जेल के अधीक्षक राजेंद्र गायकवाड ने भी जेल में बने कोविड-19 सेंटर का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को यह आंकड़ा बढ़कर 198 हो गया जिसमें 196 विचाराधीन कैदी एवं दो जेल प्रहरी हैं सभी का रैपिड एंटीजन टेस्ट हुआ है। अचानक जिला जेल में हुए कोरेना विस्फोट से जेल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। विचाराधीन कैदियों में कैसे संक्रमण फैला अभी तक इसका पता नहीं चल सका है। जेल प्रशासन के द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए विशेष एहतियात बरते जा रहे हैं। विकासखंड स्वास्थ्य अधिकारी डॉ कैलाश एवं जिला जेल के नोडल अधिकारी बनाए गए डॉक्टर शरद चंद्र गुप्ता के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा कोरेना पॉजीटिव मरीजों की सतत निगरानी की जा रही है। ज्ञात हो कि शनिवार को जहां 26 कोरेना पॉजीटिव विचाराधीन कैदी जिला जेल में पाए गए थे।
इस संबंध में कलेक्टर श्याम धावडे ने कहा कि जेल के अंदर ही दो बैरक अलग से कर वहां विचाराधीन कैदियों को क्वांरंटाईन किया जा रहा है वहीं डॉक्टरों की टीम के द्वारा सतत निगरानी की जा रही है। जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बसंत ने कहा कि जो कोरेना पॉजिटिव विचाराधीन कैदी की उम्र ज्यादा है एवं हाइपरटेंशन व शुगर के मरीज हैं उन्हें कलेक्टर के मार्गदर्शन में आरागाही कोविड-19 केयर सेंटर भेजे जाने पर विचार किया जा रहा है।
 

दुर्गोत्सव मनाने को लेकर जारी हुआ दिशा निर्देश : कलेक्टर ने जारी किये आदेश

दुर्गोत्सव मनाने को लेकर जारी हुआ दिशा निर्देश : कलेक्टर ने जारी किये आदेश

सूरजपुर | कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के द्वारा दुर्गोत्सव के लिए कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए शर्ताे के अधीन अनुमति प्रदान की गई है। उन्होनें बताया है कि छत्तीसगढ़ में दुर्गोत्सव धार्मिक परम्परा का अभिन्न अंग है , जिससे लोगों की असीम श्रद्धा जुड़ी हुई है व विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी दुर्गोत्सव का आयोजन शहरी व ग्रामीण अंचल में किया जाना है । परंतु छत्तीसगढ़ प्रदेश के साथ सूरजपुर जिले में भी नोवल कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि को देखते हुए नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु लगातार प्रयास किया जा रहा है ।
दुर्गोत्सव के लिए कलेक्टर के द्वारा निम्न शर्तो पर अनुमति प्रदान की गई है।
01. मूर्ति की ऊँचाई एवं चैडाई 4X4 फिट से अधिक न हो ।

02. मूर्ति स्थापना वाले पंडाल का आकार 15X15 फिट से अधिक न हो ।

03. पंडाल के सामने कम से कम 5000 वर्ग फिट की खुली जगह हो ।

04. पंडाल एवं सामने 5000 वर्गफिट की खुली जगह में कोई भी सड़क अथवा गली का हिस्सा प्रभावित न हो ।

05. मंडप, पंडाल के सामने दर्शकों के बैठने हेतु पृथक से पंडाल न हो । दर्शकों एवं आयोजकों के बैठने हेतु कुर्सी नहीं लगाये जायेंगे ।

06. किसी भी एक समय में मण्डप एवं सामने मिलाकर 20 व्यक्ति से अधिक न हों ।

07. मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति एक रजिस्टर संधारित करेगी , जिसमें दर्शन हेतु आने वाले सभी व्यक्तियों का नाम , पता , मोबाईल नम्बर दर्ज किया जायेगा , ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके ।

08. मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति 04 सीसीटीवी लगायेगा , ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके ।

09. मूर्ति दर्शन अथवा पूजा में शामिल होने वाला कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के नहीं जायेगा । ऐसा पाये जाने पर सम्बन्धित एवं समिति के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही किया जायेगा ।

10. मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति द्वारा सैनेटाइजर , थर्मल स्क्रिनिंग , आक्सीमीटर , हैण्डवाश एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की जायेगी । थर्मल स्क्रिनिंग में बुखार पाये जाने अथवा कोरोना से सम्बन्धित कोई भी सामान्य या विशेष लक्षण पाये जाने पर पंडाल में प्रवेश नहीं देने की जिम्मेदारी समिति की होगी ।

11. व्यक्ति अथवा समिति द्वारा फिजिकल डिस्टेंसिंग आगमन एवं प्रस्थान की पृथक से व्यवस्था , बांस , बल्ली से बेरिकेडिंग कराकर कराया जायेगा ।

12 यदि कोई व्यक्ति , जो मूर्ति स्थापना स्थल पर जाने के कारण संक्रमित हो जाता है , तो ईलाज का सम्पूर्ण खर्च मूर्ति स्थापना करने वाला व्यक्ति अथवा समिति द्वारा किया जायेगा ।

13. कन्टेनमेंट जोन में मूर्ति स्थापना की अनुमति नहीं होगी । यदि पूजा की अवधि के दौरान भी उपरोक्त क्षेत्र कन्टेनमेंट क्षेत्र घोषित हो जाता है तो तत्काल पूजा समाप्त करनी होगी ।

14. मूर्ति स्थापना के दौरान , विसर्जन के समय अथवा विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार के भोज , भण्डारा , जगराता अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं होगी ।

15. मूर्ति स्थापना के समय स्थापना के दौरान , विसर्जन के समय अथवा विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार के वाद्य यंत्र , ध्वनि विस्तारक यंत्र , डीजे बजाने की अनुमति नहीं होगी ।

16 मूर्ति स्थापना एवं विसर्जन के दौरान प्रसाद , चरणामृत या कोई भी खाद्य एवं पेय पदार्थ वितरण की अनुमति नहीं होगी ।

17. मूर्ति विसर्जन के लिए एक से अधिक वाहन की अनुमति नहीं होगी ।

18 , मूर्ति विसर्जन के लिए पिकअप , टाटा एस ( छोटा हाथी ) से बड़े वाहन का उपयोग प्रतिबंधित होगा।

19. मूर्ति विसर्जन के वाहन में किसी भी प्रकार के अतिरिक्त साज - सज्जा , झांकी की अनुमति नहीं

20. मूर्ति विसर्जन के लिए 04 से अधिक व्यक्ति नहीं जा सकेंगे एवं वे मूर्ति के वाहन में ही बैठेंगे । पृथक से वाहन ले जाने की अनुमति नहीं होगी ।

21. मूर्ति विसर्जन के लिए प्रयुक्त वाहन पण्डाल से लेकर विसर्जन स्थल तक रास्ते में कहीं रोकने की अनुमति नहीं होगी ।

22. विसर्जन के लिए नगर पालिका परिषद् , नगर पंचायत ध् ग्राम पंचायत द्वारा निर्धारित रूट मार्ग एवं तिथि एवं समय का पालन करना होगा । शहर के व्यस्त मार्गों से मूर्ति विसर्जन वाहन को ले जाने की अनुमति नहीं होगी । सामान्य रूप से सभी वाहन रिंग रोड के माध्यम से ही गुजरेंगे ।

23. विसर्जन के मार्ग में कहीं भी स्वागत , भण्डारा , प्रसाद वितरण , पंडाल लगाने की अनुमति नहीं होगी ।

24. सूर्यास्त के पश्चात् एवं सूर्योदय के पहले मूर्ति विसर्जन के किसी भी प्रक्रिया की अनुमति नहीं होगी ।

25. उपरोक्त शर्तों के साथ घरों में मूर्ति स्थापित करने की अनुमति होगी । यदि घर से बाहर मूर्ति स्थापित किया जाता है तो कम से कम 7 दिवस पूर्व अनुविभागीय दण्डाधिकारी कार्यालय में निर्धारित शपथ - पत्र मय आवेदन देना होगा एवं अनुमति प्राप्त होने पश्चात् अनुमति की सूचना नगरपालिका परिषद, नगर पंचायत, ग्राम पंचायत एवं सम्बन्धित पुलिस थाना, चैकी को देकर ही मूर्ति स्थापित करने की अनुमति होगी ।

26. इन सभी शर्तों के अतिरिक्त भारत सरकार , स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं छ.ग. शासन द्वारा समय - समय पर जारी एसओपी का पालन अनिवार्य रूप से किया जाना होगा । बताया गया है कि निर्देश का उल्लंघन करने पर एपीडेमिक डिजीज एक्ट एवं विधि अनुकूल अन्य धाराओं के तहत् कठोर कार्यवाही की जायेगी ।

जिले के इन विभिन्न इलाकों को किया गया कन्टेनमेंट जोन से मुक्त, पढ़ें पूरी खबर

जिले के इन विभिन्न इलाकों को किया गया कन्टेनमेंट जोन से मुक्त, पढ़ें पूरी खबर

सूरजपुरसंयुक्त कलेक्टर श्री शिव बनर्जी सूरजपुर से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विकासखण्ड प्रतापपुर के ग्राम, सिंघरा, वार्ड क्रं. 10 में एक व्यक्ति 12 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण मरीज के घर के चारों ओर के क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार प्रतापपुर के ग्राम, सिंघरा, वार्ड क्रं. 10 कंटेटमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। अधिकारी के प्रतिवेदन पर विचार करते हुए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देषन में संयुक्त कलेक्टर श्री षिव बनर्जी के द्वारा आदेष जारी करते हुए ग्राम, सिंघरा, वार्ड क्रं. 10 को कन्टेन्मेंट जोंन से मुक्त कर दिया गया है।

पढ़ें : बड़ी खबर : स्वर कोकिला लता मंगेशकर की बिल्डिंग हुई सील, जाने क्या है वजह

डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान सूरजपुर से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा तहसील रामानुजनगर के ग्राम, रामानुजनगर में तीन व्यक्ति 12 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण मरीज के घर के चारों ओर के क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार ग्राम, रामानुजनगर कंटेटमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। अधिकारी के प्रतिवेदन पर विचार करते हुए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देषन में डिप्टी कलेक्टर सूरजपुर के द्वारा आदेष जारी करते हुए ग्राम दवना, हरिजनपारा को कन्टेन्मेंट जोंन से मुक्त कर दिया गया है।

पढ़ें : राजधानी रायपुर में कल इन जगहों से मिले कोरोना संक्रमित मरीज, देखें पूरी लिस्ट

डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान सूरजपुर से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विकासखण्ड ओड़गी के ग्राम दवना, हरिजनपारा में एक व्यक्ति 14 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण मरीज के घर के चारों ओर के क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार ग्राम दवना, हरिजनपारा कंटेटमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। अधिकारी के प्रतिवेदन पर विचार करते हुए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देषन में डिप्टी कलेक्टर सूरजपुर के द्वारा आदेष जारी करते हुए ग्राम दवना, हरिजनपारा को कन्टेन्मेंट जोंन से मुक्त कर दिया गया है।

पढ़ें : रेप के आरोपी पूर्व डीएमई डॉ. आदिले का खुला एक और बड़ा राज, जाने क्या है पूरी खबर

डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान सूरजपुर से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विकासखण्ड प्रतापपुर के अंतर्गत ग्राम दरहोरा, वार्ड क्रमांक 18 में एक व्यक्ति 13 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण ग्राम दरहोरा, वार्ड क्रमांक 18 को कन्टेनमेंट जोन बनाया गया था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार ग्राम दरहोरा, वार्ड क्रमांक 18 कंटेनमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। अधिकारी के प्रतिवेदन पर विचार करते हुए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देषन में डिप्टी कलेक्टर सूरजपुर के द्वारा आदेष जारी करते हुए ग्राम दरहोरा, वार्ड क्रमांक 18 को कन्टेन्मेंट जोंन से मुक्त कर दिया गया है।

इसी प्रकार संयुक्त कलेक्टर श्री षिव कुमार से प्राप्त जानाकारी अुनसार प्रतापपुर के ग्राम, धरमपुर, उपरपारा, वार्ड क्रं.07 में एक व्यक्ति 12 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण मरीज के घर के चारों ओर के क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया था। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार ग्राम धरमपुर,उपरपारा, वार्ड क्रमांक 07 कंटेटमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। ग्राम धरमपुर, उपरपारा वार्ड क्रमांक 07 को कन्टेन्मेंट जोन से मुक्त कर दिया गया हैं।

पढ़ें : अलग रहने की बात को लेकर पत्नी की पिटाई, पति के खिलाफ मामला दर्ज, पढ़ें पूरी खबर 

डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान सूरजपुर से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विकासखण्ड भैयाथान के अंतर्गत षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा में एक व्यक्ति 13 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा को कन्टेनमेंट जोन बनाया गया था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा कंटेटमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। दोनों कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। अधिकारी के प्रतिवेदन पर विचार करते हुए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देषन में डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान के द्वारा आदेष जारी करते हुए षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा को कन्टेन्मेंट जोंन से मुक्त कर दिया गया है।

पढ़ें : सड़क हादसे में ढाबाकर्मी की हुई दर्दनाक मौत, जाने कहा की है यह खबर

डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान सूरजपुर से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विकासखण्ड भैयाथान के अंतर्गत षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा में एक व्यक्ति 13 अगस्त 2020 को कोविड-19 का धनात्मक पाये जाने के कारण षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा को कन्टेनमेंट जोन बनाया गया था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन अनुसार षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा कंटेटमेंट जोन मे कोविड-19 का और कोई केस नही आया है। दोनों कन्टेनमेंट जोन घोषित करने के बाद 14 दिवस की अवधि पूर्ण हो चुका है। अधिकारी के प्रतिवेदन पर विचार करते हुए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देषन में डिप्टी कलेक्टर श्री वहीदुर्ररहमान के द्वारा आदेष जारी करते हुए षिव मंदिर के पास, ग्राम भैयाथान एवं सिवारीपारा को कन्टेन्मेंट जोंन से मुक्त कर दिया गया है।

 दो बाइक  में जबरदस्त भिड़ंत 3 की मौत,  मृतको में दो मासूम भी शामिल

दो बाइक में जबरदस्त भिड़ंत 3 की मौत, मृतको में दो मासूम भी शामिल

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ में लागतार हो रहे सड़क हादसों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार सुबह कोरबा जिले में हुए सड़क हादसे में 4 लोगो की मौत हुई थी तो वही आज सूरजपुर में हुए सड़क हादसे  दर्दनाक सड़क हादसे में दो मासूम समेत तीन लोगों की मौत हो गई है। वहीं चार घायल हो गए। जानकारी के मुताबिक सूरजपुर जिले के भटगांव थाना क्षेत्र के ग्राम नरकालो निवासी 30 वर्षीय राकेश अपनी पत्नी चंदा 28 वर्ष को लेकर उसके मायके बिश्रामपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कुरुवां में भाइयों को राखी बंधवाने बाइक से लेकर जा रहा था। उनके साथ में 1 वर्षीय पुत्र के अलावा 4 वर्षीय पुत्री दुर्गा व 5 वर्षीय पुत्री लक्ष्मी भी सवार थे।

बाइको के उड़े परखच्चे-
उसी दौरान भटगांव-बिश्रामपुर मार्ग पर स्थित रामनगर चौक के पास उनकी बाइक की भिड़ंत सामने से आ रही तेज रफ्तार बाइक सवारों से आमने-सामने की जबरदस्त भिड़ंत हो गई। बाइक में ग्राम सोहागपुर निवासी कॉलरीकर्मी बसंत सिंह 50 वर्ष व उसके पड़ोस का युवक 30 वर्षीय जोगिंदर सवार थे। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि राकेश की दोनों बेटियों व कॉलरीकर्मी की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राकेश, उसकी पत्नी व पुत्र तथा युवक घायल हो गए। इस हादसे में दोनों बाइक के परखच्चे उड़ गए। 
तीन लाख के कबाड़ के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तार, वाहन जप्त

तीन लाख के कबाड़ के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तार, वाहन जप्त

सूरजपुर।  सूरजपुर पुलिस ने 3 टन अवैध लोहे के कबाड़ कीमत 3 लाख रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त वाहन सहित 1 व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने जिले के थाना प्रभारियों को अवैध कार्यो में लिप्त लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही करने एवं क्षेत्र में सूचना तंत्र मजबूत बनाने के निर्देश दिए थे।

इसी परिपेक्ष्य में दिनांक 04 जुलाई 2020 को थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला को मुखबीर से सूचना मिला कि एक ट्रक में भारी मात्रा में अवैध लोहे का कबाड़ अम्बिकापुर की ओर से सूरजपुर आ रहा है जिसकी सूचना थाना प्रभारी के द्वारा पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को दी गई जिस पर उन्होंने तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

थाना प्रभारी सूरजपुर पुलिस टीम के साथ मुखबीर सूचना की तस्दीकी व कार्यवाही के लिए माताकर्मा चौक पर घेराबंदी लगाया। इसी बीच एक 14 चक्का ट्रक आते दिखा जिसमें कबाड़ लोड़ था जिसे रोकने का इशारा करने पर रिंग रोड़ बाईपास होकर तेज गति से भागने लगा जिसे पुलिस टीम के द्वारा पीछा करते हुए महगवां चौक पर घेराबंदी कर रोकवाया गया। ट्रक क्रमांक सीजी 15 सीवाई 5436 के ड्राईवर से पूछताछ करने पर अपना नाम पंकज मेहता पिता शिवधारी उम्र 30 वर्ष निवासी बालूगंज, थाना ढीबरा, जिला औरंगाबाद (बिहार) हाल मुकाम नवागांव अम्बिकापुर का रहने वाला बताया। ट्रक की तलाशी लेने पर उसमें छड़, लोहा के टुकड़े, लोहा एंगल एवं पुराने सायकल का कबाड़ पाया गया जिसके संबंध में वाहन चालक से वैध दस्तावेज की मांग किए जाने पर कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किया गया जो कबाड़ चोरी का होने की पूर्ण अंदेशा पर धारा 41(1-4) जा.फौ./379 भादवि के तहत कार्यवाही करते हुए 3 टन छड़, लोहे के टुकड़े, लोहा एंगल, सायकल कलपुर्जे व अन्य कबाड़ की वस्तुएं कीमत करीब 3 लाख रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त ट्रक क्रमांक सीजी 15 सीवाई 5436 को जप्त कर आरोपी पंकज मेहता को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
 बड़ी खबर: नशे की हालत में भाई ने की भाई की हत्या, पछतावा होने पर दूसरा भाई झूला फांसी पर

बड़ी खबर: नशे की हालत में भाई ने की भाई की हत्या, पछतावा होने पर दूसरा भाई झूला फांसी पर

अम्बिकापुर। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से एक खबर सामने आ रही है जहां नशे के हालात में भाई ने भाई की हत्या कर दी। हत्या के बाद खुद भी फांसी पर झूल गया। मिली प्राथमिक जानकारी के अनुसार दोनों भाई नशे के आदी थे किसी विवाद को लेकर भाई ने दूसरे भाई की हत्या कर दी।  वारदात को अंजाम देने के बाद भाई को बेहद पछतावा हुआ।  वारदात के तत्काल बाद दूसरे भाई ने भी तनाव में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मामला दरिमा थाना के कतकलो क्षेत्र का है घटना की सूचना मिलने के बाद दरिमा पुलिस मौके पर मुआयना के लिए पहुंची हुई है। पुलिस मामले की विस्तृत विवेचना में जुट चुकी है। 
 
बड़ी खबर : कई दिनों से लापता भाजपा नेता की टुकड़ों में मिली लाश, जांच में जुटी पुलिस

बड़ी खबर : कई दिनों से लापता भाजपा नेता की टुकड़ों में मिली लाश, जांच में जुटी पुलिस

सूरजपुर | लापता भाजपा नेता की लाश मंगलवार सुबह टुकड़ों में मिली है। शिवचरण काशी का धड़ पुलिस को मिला है, सिर की तलाश पुलिस कर रही है।

बीजेपी नेता शिवचरण काशी 14 की रात को घर के बाहर से लापता हो गए थे। परिजनों ने मामले की शिकायत स्थानीय पुलिस थाने में दर्ज कराई थी, पालस गांव से बीजेपी नेता शिवचरण काशी लापता होने के जानकारी परिजनों ने दी थी है। शव मिलने के पहले ही परिजनों ने उनकी हत्या करने का आरोप लगाया था। जानकारी के मुताबिक शिवचरण काशी का कुछ लोगों से जमीन विवाद चल रहा था।
हत्या करने का आरोप लगाया था। जानकारी के मुताबिक शिवचरण काशी का कुछ लोगों से जमीन विवाद चल रहा था। परिजनों ने कुछ संदिग्ध लोगों के नाम पुलिस को बताए थे। हालांकि पुलिस पूछताछ जरुर कर रही थी, पर शिवचरण की कोई जानकारी पुलिस के हाथ नहीं लगी थी। बीजेपी किसान मोर्चा के मंडल अध्यक्ष शिवचरण काशी की टुकड़ों में लाश मिलने पर इलाके में सनसनी फैल गई है।
घटना को लेकर मिली जानकारी के अनुसार हत्याकांड की वजह ज़मीन विवाद है। ज़मीन विवाद 2009 से चला आ रहा था। तीन दिन पहले जबकि शिवचरण किसी काम से घर से निकला था तो शाम कऱीब आठ बजे उसे पीठ पर गोली मारी गई, और उसकी मौक़े पर ही मौत हो गई। देर रात जबकि पूरा सन्नाटा पसर गया, आरोपियों ने शव को उठाया, और गाँव से कऱीब सात किलोमीटर दूर विशालपुर कांतिपुर के जंगल में दो टूकड़े कर फेंक दिया। इस मामले में पुलिस संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
 
अचानक गोली चली और भाजपा नेता हुआ गायब, जांच में जुटी पुलिस, जाने कहा की है यह खबर

अचानक गोली चली और भाजपा नेता हुआ गायब, जांच में जुटी पुलिस, जाने कहा की है यह खबर

सूरजपुर | जिले में भाजपा नेता बीती रात से लापता हो गये हैं। गोली चलने की आवाज से ग्रामीण दहशत में हैं। इसके बाद से भाजपा नेता लापता है। उनकी गोली मारकर हत्या की आशंका जताई जा रही है। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

यह घटना बिहारपुर क्षेत्र के पासल चौक की है, जहां भाजपा नेता शिवचरण घर से निकल कर कुछ ही दूरी पर पहुंचे थे। तभी अचानक गोली चलने की आवाज आई। घटनास्थल पर जब लोग पहुंचे तो वहां कोई भी मौजूद नहीं था। घटना स्थल पर शिवचरण की मोटरसायकल, कपड़ा, कागजात व खून मिले हैं। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। भाजपा नेता शिवचरण के पुत्र ने पुलिस से इस मामले में शिकायत की है, इस मामले में पुलिस जांच में जुट गई है।
 
24 घंटे बाद भी शव के पास डटा रहा हाथियों का झुंड, दो दिनों में 2 हथिनियों की मौत

24 घंटे बाद भी शव के पास डटा रहा हाथियों का झुंड, दो दिनों में 2 हथिनियों की मौत

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में दो दिनों में दो हथिनियों की मौत हो गई। हाथियों की लगातार मौत से वन विभाग की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं। वहीं हथिनी की मौत के बाद ऐसी घटना देखने को मिली, जिसे देखकर लोगों का दिल पसीज गया। दरअसल हथिनी की मौत होने के बाद भी पिछले 24 घंटे से उसके दल के हाथियों ने उसका साथ नहीं छोड़ा और मृत हथिनी के आस-पास मंडरा रहे हैं। इस वजह से हथिनी के मौत के पूरा दिन बीतने के बाद भी वन विभाग की टीम शव का पोस्टमार्टम नहीं कर पाई। पशु चिकित्सक मृत हथिनी का पोस्टमार्टम नहीं कर पाने की वजह से मौत का कारण अभी तक अज्ञात है।

कल प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के गणेशपुर जंगल में हथिनी का शव मिला था, जबकि एक दिन पहले भी एक मादा हाथी की मौत इसी जंगल में हुई थी। लिहाजा दो दिनों में दो हथिनियों की मौत ने विभाग के कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिया है। वहीं दूसरी ओर हाथियों का अपने साथी के साथ लगाव देखकर हर किसी का दिल पसीज गया।
अवैध संबंध के चलते पत्नी ने की भाई के साथ मिलकर पति की हत्या, 2 गिरफ्तार

अवैध संबंध के चलते पत्नी ने की भाई के साथ मिलकर पति की हत्या, 2 गिरफ्तार

सूरजपुर। अवैध संबंध के चलते पत्नी ने अपने भाई के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी, फिर मामले को हादसे का रूप देने की कोशिश की, हालांकि पुलिस ने हत्या के आरोपी पत्नी तारा साहू और भाई विकास साहू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया, कि बीते 26 मई को भटगांव थाना क्षेत्र के चुनगढी खोपा मार्ग में एसईसीएल में काम करने वाले भैयालाल साहू की लाश सड़क किनारे संदिग्ध हालत में मिली थी। मृतक के सर पर गंभीर चोट के निशान से साफ जाहिर हो रहा था, कि उसकी हत्या कि गई है। पुलिस को भैयालाल की पत्नी तारा साहू पर शक हुआ, तो उससे पूछताछ की गई, कड़ाई से पूछताछ में सप्ताह भर बाद आरोपी पत्नी ने हत्या करने की बात कबूल की|

आरोपी पत्नी तारा साहू ने पुलिस को बताया कि पति को उसके अवैध संबंध के बारे में भनक लग चुकी थी. जिसके कारण वो उससे अक्सर विवाद करता था। इस वजह से वो अपने पति को रास्ते से हटाने के लिए पिछले एक साल से प्लान बना रही थी। 25 मई की रात जब पति शराब के नशे में था, तब महिला ने अपने भाई विकास साहू को घर बुलाया, फिर पति को नशे की हालत में रात को कार में बैठाकर गांव से बाहर ले गए. गांव से दूर खोपा मार्ग में भैयालाल को पहले कार से उतारा गया, उसके बाद सर पर तवे से तबाड़तोड़ वार कर मौत के घाट उतार दिया। हत्या को हादसा बताने के लिए उसके शरीर पर वाहन भी चढ़ा दिया। जिससे मामला एक्सीडेंट का बन जाए, लेकिन उनकी यह चालाकी ज्यादा दिन तक चल नहीं पाई।
 संदिग्ध परिस्थितियों में मिली एसईसीएल कर्मी की लाश, जांच में जुटी पुलिस

संदिग्ध परिस्थितियों में मिली एसईसीएल कर्मी की लाश, जांच में जुटी पुलिस

सूरजपुर। एसईसीएल कर्मी की संदिग्ध हालत में लाश मिलने से इलाके में सनसनी फ़ैल गई है। लाश की हालत देखकर मामला हत्या का बताया जा रहा है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची है। यह घटना भटगांव थाना क्षेत्र की है, जहां चुनगढ़ी में सड़क के किनारे 45 वर्षीय एसईसीएल कर्मी भैया लाल साहू की लाश संदिग्ध हालत में मिली है। मृतक न्यू माइंस भटगांव निवासी बताया जा रहा है। हत्या की आशंका जताई जा रही है वहीं भटगांव पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई है। 
स्वास्थ्य विभाग का बाबू रिश्वत लेते गिरफ्तार, बीएमओ ऑफिस के लेखापाल को एंटी करप्शन ब्यूरो ने रंगे हांथो पकड़ा

स्वास्थ्य विभाग का बाबू रिश्वत लेते गिरफ्तार, बीएमओ ऑफिस के लेखापाल को एंटी करप्शन ब्यूरो ने रंगे हांथो पकड़ा

सूरजपुर | छत्तीसगढ़  के सूरजपुर जिले के प्रतापपुर में स्वास्थ्य विभाग का बाबू रिश्वत लेते गिरफ्तार हुआ है। प्रतापपुर में एंटी करप्शन ब्यूरो ने 16 हजार की रिश्वत लेते क्लर्क को गिरफ्तार किया है।

प्रतापपुर में स्वास्थ विभाग के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की पेंशन ग्रेच्युटी राशि दिलवाने के एवज में रिश्वत लेते हुए बीएमओ ऑफिस का लेखापाल गिरवर कुशवाह रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ है। आरोपी लेखापाल ने 3 लाख रुपए की राशि दिलवाने के एवज में 16 हजार रुपयो की रिश्वत मांगी थी। पूर्व में आरोपी अकाउंटेंड 7 लाख रुपए की राशि दिलवाने के एवज में रिटायर्ड कर्मचारी से भी रिश्वत ले चुका है। एसीबी की टीम ने मामले की शिकायत पर उसे रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई कर रही है।
कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग की अहमियत सबसे अधिक है ऐसे समय में स्वास्थ्य विभाग के कुछ कर्मचारी उसकी साख पर बट्टा लगाने के लिए आतुर हैं। एसीबी की कार्रवाई जारी है।
 
छत्तीसगढ़: दस कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद बढ़ी सख्ती, कई जिलों में टोटल लॉकडाउन के निर्देश

छत्तीसगढ़: दस कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद बढ़ी सख्ती, कई जिलों में टोटल लॉकडाउन के निर्देश

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ के सरगुजा संभाग के सूरजपुर जिले से मंगलवार देर शाम अचानक एक-एक कर दस कोरोना संक्रमित मरीजों की पॉजिटिव रिपोर्ट आने से हड़कंप मच गया। रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन भी तत्काल मुस्तैद होकर कोरोना संक्रमित मजदूरों को रायपुर स्थित एम्स रिफर करने के निर्देश दे दिए। अचानक बढ़े कोरोना पाजीटिव मरीजों के चलते प्रशासन द्वारा सूरजपुर, बलरामपुर और कोरबा से लगने वाले सीमाओं को सील करने के निर्देश जारी किये। 

इसी प्रकार बिना अनुमति के जिले में प्रवेश करने पर रोक लगाई गई है। छत्तीसगढ़ में कोरबा जिला को छोड़कर लगभग सभी जिले ग्रीन जोन में शामिल थे। रायपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव जैसे जिले आरेंज जोन में शामिल हैं लेकिन कई सप्ताह से यहां भी कोरोना पॉजिटिव केस नहीं आये थे। छत्तीसगढ़ में कोरोना एकाएक रिकार्ड मरीज बढ़े। इस क्रम में पुलिस वाला भी पाजीटिव पाया गया। छत्तीसगढ़ में यह पहला मामला है कि कोई पुलिस वाला कोरोना संक्रमित पाया गया है। पुलिस वाले की ड्यूटी आईसोलेशन सेंटर में लगी थी। मंगलवार देर शाम इसकी पुष्टि बिलासपुर रेंज के आईजी दिपांशु काबरा ने दी। विशेष बात यह है कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों में लगभग सभी छत्तीसगढ़ राज्य के निवासी नहीं है। वे महाराष्ट्र से पैदल चलकर झारखंड और उत्तरप्रदेश राज्य स्थित अपने मूल निवास जा रहे थे। 
 
 
आपको बता दे की बुधवार को छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में भी एक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। पत्थलगांव के लुड़ेग राहत शिविर में ठहरे एक मजदूर की कोरोना सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद से हड़कंप मच गया है। इसके पहले कल मंगलवार को सुरजपुर में 10 कोरोना मरीज मिले थे। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 14 हो गई है।
दंतैल हाथियों के झुंड ने दो ग्रामीणों को कुचलकर मार डाला, जंगल लकड़ी काटने गए थे ग्रामीण

दंतैल हाथियों के झुंड ने दो ग्रामीणों को कुचलकर मार डाला, जंगल लकड़ी काटने गए थे ग्रामीण

सूरजपुर। पूरे देश में कोरोना महामारी के चलते लाकडाउन हैं, लोग अपने घरों पर समय व्यतीत कर रहे हैं। इसी क्रम में अनेक जंगली जानवरों का भी उत्पाद देखने को मिल रहा है। 

छत्तीसगढ़ के सरगुजा सम्भाग के सूरजपुर जिले के प्रतापपुर विकासखंड में हाथियों का आंतक थमने का नाम नहीं ले रहा है। जंगल में लकड़ी लेने गए दो ग्रामीणों को दंतैल हाथी ने कुलचकर मार डाला है। ग्रामीणों की सूचना के बाद मौके पर पहुंची वन कर्मी और पुलिस की टीम ने दोनों की लाश बरामद कर ली है। जानकारी के अनुसार हाथियों के आतंक की यह घटना ग्राम करौंधा की है। बताया जा रहा है कि दोनों ग्रामीण हर दिन की तरह आज भी लकड़ी लेने जंगल गए थे। इस दौरान ग्रामीणों का सामना दंतैल हाथियों से हो गया। वहीं दोनों की मौत की खबर मिलते ही गांव में दहशत फैल गया।

जंगल मे मौजूद हैं 15 हाथियों का दल-
ग्रामीणों का कहना है कि जंगल में करीब 15 हाथियों का दल मौजूद है जो लोगों की जान ले रहा है। इस बीच वन विभाग का कहना है कि ग्रामीणों को लगातार समझाइश दी जा रही है कि वे जंगल में महुआ बीनने या लकड़ी काटने के इरादे से न जाएं। वहां हाथियों का विचरण लगातार हो रहा है।
गांजा तस्करी करते जनपद सदस्य सहित 4 गिरफ्तार, पुलिस ने की 47 पैकेट गांजा जब्त...

गांजा तस्करी करते जनपद सदस्य सहित 4 गिरफ्तार, पुलिस ने की 47 पैकेट गांजा जब्त...

सूरजपुर| रामानुजनगर में पुलिस ने गांजा तस्करी करते जनपद सदस्य सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों की कार से 47 किलो गांजा बरामद किया है। जब्त गांजे की कीमत 8 लाख रुपए आंकी गई है। बताया जा रहा है कि अरोपी जनपद सदस्य अपने साथियों के मिलकर इलाके में खपाने के इरादे से गांजा ला रहा था। फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।


पढ़े पूरी खबर-
आपको बता दे की पुलिस को मुखबिरों के हवाले सूचना मिली थी कि ओडिशा से गांजे की बड़ी खेप छत्तीसगढ़ लाया जा रहा है। सूचना के आधार पर पुलिस ने इलाके में घेरांबदी कर वाहनों की जांच शुरू कर दी। इसी दौरान रात में पुलिस को उड़ीसा के तरफ से कार आते दिखी, जिसे रूकवाकर उसकी तलाशी ली गई। कार में गांजे की 47 पैकेट मिली। गांजे की बरामदगी के बाद पुलिस ने अरोपियों की तफ्तीश की। चारों अरोपियों में एक अरोपी रामानुजनग जनपद पंचायत का बीडीसी सदस्य निकला जो अभी हाल ही में चुनाव जीतकर जनपद सदस्य बना है।
+ Load More