अच्छी खबर : सितंबर से देश में ही होगा स्पूतनिक-वी का उत्पादन...    |    कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 41 हजार नए मामले, 541 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर : इस BJP सांसद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने क्या है मामला...    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 203 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, देखे जिलेवार आकड़े    |    बड़ी खबर : जेल में बैरक की दीवार ढही, 22 कैदी गंभीर रूप से घायल    |    CG कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज एक्टिव मरीजो की संख्या हुई 2 हजार से कम, 243 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: पान मसाला कंपनी पर आयकर का शिकंजा, 400 करोड़ रुपए के काले कारोबार का हुआ खुलासा    |    आईसीएमआर अपडेट : आज शाम तक मिले इतने कोरोना पॉजिटिव, आकडों में आज रायपुर से मिले सर्वाधिक    |    जज की संदिग्ध मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से एक हफ्ते में मांगा जवाब    |
जिला अस्पताल का होगा कायाकल्प, मरीजों व परिजनों की सुविधा के अनुरुप किए जाएंगे बदलाव

जिला अस्पताल का होगा कायाकल्प, मरीजों व परिजनों की सुविधा के अनुरुप किए जाएंगे बदलाव

सुकमा। आने वाले दिनों में सुकमा वासियों को जिला अस्पताल नए स्वरूप में दिखाई देगा। जिला प्रशासन की ओर से अस्पताल भवन व परिसर में नए बदलाव किए जाने वाले हैं। कलेक्टर विनीत नंदनवार ने आज आला अधिकारियों के साथ जिला अस्पातल का पूर्ण निरीक्षण किया और भवन में किए जाने वाले बदलाव की जानकारी ली। एसडीएम सुकमा व स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी अधिकारी नभ एल स्माईल ने प्रस्तावित फेदबदल से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि अस्पताल परिसर व भवन के भीतर मरीजों व उनके परिजनों को चिकित्सकीय सुविधाओं का लाभ लेने में आसानी हो, ऐसे आवश्यक फेरबदल किया जा रहा है।
प्रगतिरत आॅक्सिजन जनरेशन प्लांट का अवलोकन
कलेक्टर नन्दनवार ने जिला अस्पताल परिसर में निर्माणाधीन आॅक्सीजन जनेरेशन प्लांट का अवलोकन किया और निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। आॅक्सीजन प्लांट स्थापित होने से कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के दौरान जिले के मरीजों को आॅक्सीजन आपूर्ति शीघ्र प्रदान की जा सकेगी। वहीं अन्य जिलों पर निर्भरता भी कम हो जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने आपात कक्ष, आॅपरेशन कक्ष, एक्स-रे कक्ष, पुरुष, महिला व शिशु वार्ड, सोनोग्राफी कक्ष सहित अन्य कक्षों का गहन अवलोकन किया और अस्पताल में आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होने चिकित्सक आवास का भी मुआयना किया।
इस दौरान मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सीबीपी बन्सोड़, कार्यापालन अभियंता, अनिल राठौर सहित स्वास्थ्य विभाग के डाक्टर व अधिकारीगण उपस्थित रहे।
 

सुखद खबर :  अब तक एक भी कोरोना के मरीज नही मिले इन गांवो में

सुखद खबर : अब तक एक भी कोरोना के मरीज नही मिले इन गांवो में

सुकमा । कोरोना महामारी संक्रमण से स्वयं को सुरक्षित रखने के लिये, ग्रामीण इलाकों में बेहतर प्रबंधन की स्थिति देखने को मिल रही है| दूसरी लहर के दौरान सुकमा जिले के विभिन्न ग्राम पंचायत कोरोना वायरस की पहुंच से दूर रहे। यहां के ग्रामीणों ने जागरूकता व अन्य उपायों से खुद को बचाया और सुरक्षित रखा। जिले के इन 17 गांव में छिंदगढ़ ब्लॉक से 6 गांव, कोंटा ब्लॉक के 9 गांव और सुकम के 2 गाँव शामिल है|
सीएमएचओ डॉ सी.बी.प्रसाद ने बताया ` जिले के कुल 17 ग्राम पंचायत कोरोना संक्रमण से पूरी तरह सुरक्षित रहे हैं। इसका कारण जन प्रतिनिधियों और यहां के लोगों की सजगता, एकजुटता एवं कोविड नियमों का अनुपालन करना है। वह सभी बधाई के पात्र हैं। ग्रामीणों क्षेत्रों में टीका लगवाने के लिये लोगों को लगातार प्रेरित किया जा रहा है। अभी खतरा पूरी तरह से टला नही है| ऐसे में जो लोग टीकाकरण से बचे हुए हैं वे आगे आकर टीका जरूर लगाएं।`
छिंदगढ़ ब्लॉक के 6 गाँव है: गुडरा, इडजेपाल, कोडरेपाल, कावराकोपा, मारेगा, और पेडमारास व कोंटा ब्लॉक से 9 गांव बुरकालंका, गोरगुंडा, केरलापेण्डा, मुलाकिसोली, नागलगुंडा, पेंटाचीमली, रेगड़गट्टा, तेतरइ, और बागडेगूडा| इसके अतिरिक्त सुकमा ब्लॉक से गोंडरास, और पोरदेम शामिल है। इन सभी गांव में अब तक कोरोना संक्रमण से सम्बंधित एक भी मरीज नही मिले है।
17 ग्राम पंचायत में शामिल कावराकोपा के ग्रामीणजन और जनप्रतिनिधि यह जनाकारी पाकर गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। गांव में संक्रमण नहीं फैलने का मुख्य कारण ग्रामीणों की जागरूकता और सतर्कता है जिन्होंने स्वयं संक्रमण से बचने व दूसरों को भी बचाने के लिए प्रेरणा दी। कावराकोपा ग्राम सचिव शिवराम मांझी ने बताया कोरोना की दूसरी लहर का असर दिखते ही ग्रामीणों ने गांव के बाहर आन जाने पर रोक लगा दी| बेहद जरूरी होने पर ही वे पूरी सावधानी के साथ बाहर गए। जिले मे लॉकडाउन की जानकारी मिलते ही गांव में नाकाबंदी कर बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई। इस दौरान गांवों के लोग अपने घर तक ही सीमित रहे। इसके अलावा शादी विवाह व अन्य कोई सामुहिक कार्यक्रम नहीं किए गए, उन्होंने बताया
उन्होंने बताया सीमावर्ती राज्य व बाहरी जिले में काम करने के लिये गये हुए ग्रामीणों को , फोन कर घर आने से पहले अपनी कोरोना जांच करवाने के लिए प्रेरित किया गया। इस कार्य में उनके परिजनों का भी सहयोग लिया गया। इस दौरान लोगों को बिना मास्क के घरों से बाहर न निकलने, शारीरिक दूरी का पालन करने और टीकाकरण के लिए भी प्रेरित किया गया।
कावराकोपा ग्राम सरपंच देवती कोर्राम ने बताया: `शासन-प्रशासन की जारी कोरोना सम्बन्धी नियमों का पालन कराने पंचायत के माध्यम से कार्ययोजना बनाई गयी। पंचायत के अंतर्गत आने वाले पारा-मोहल्ला के मुखिया व वार्ड प्रमुख को विशेष जिम्मेदारी दी गयी। ग्रामीणों को सामाजिक दूरी रखने और मास्क पहनने का महत्व समझाया गया। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को नज़दीकी क्वॉरेंटाइन सेंटर माध्यमिक शाला में रखा गया जहां उनकी नियमित कोरोना जांच होती रही जिसका असर ये हुआ कि गांवों तक कोरोना पहुंच ही नहीं पाया। यदि गांव में बाहर से आने वाले व्यक्ति की सूचना आती थी, तो ग्रामीण खुद प्रशासन को इस संबंध में सूचना देते थे। इस गांव में संक्रमण से बचाव के सारे उपायों का ही नतीजा है कि यहां अब तक कोरोना का कोई केस नहीं मिला है, जबकि आसपास के कुछ गांव में संक्रमण फैल चुका है।
 

बड़ी खबर : इस जगह जवानों के साथ नक्सलियों की मुठभेड़, एसपी सुनील शर्मा ने की खबर की पुष्टि

बड़ी खबर : इस जगह जवानों के साथ नक्सलियों की मुठभेड़, एसपी सुनील शर्मा ने की खबर की पुष्टि

सुकमा। आज सुबह चिंतागुफा थानाक्षेत्र के पदमगुड़ा में कार्रवाई के दौरान जवानों के साथ नक्सलियों की सुबह से मुठभेड़ चल रही है। बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से चल रही गोलीबारी में दो नक्सली मारे गए हैं, जबकि कई और नक्सलियों के घायल होने की खबर है। खबर की पुष्टि एसपी सुनील शर्मा ने की।
जानकारी के मुताबिक चिंतागुफा थाने व आस-पास के कैंपों से जिला बल के नेतृत्व में सीआरपीएफ 150 व 131 बटालियन, डीआरजी व एसटीएफ के करीब 200 जवान पदमगुडा की तरफ रात में रवाना हुए थे। सुबह गांव के पास जंगल में घात लगाए बैठे नक्सलियों ने हमला कर दिया। इधर, जवानों ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। रविवार सुबह नौ बजे तक मुठभेड़ जारी थी, जिसमें दो नक्सली मारे जाने की खबर है।
जवान इलाके की सर्चिंग कर रहे हैं। खबर की पुष्टि करते हुए एसपी सुनील शर्मा ने कहा कि मुठभेड़ चल रही है। सर्चिंग करने के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी कि कितने नक्सली मारे गए हैं और कितने घायल हैं। इलाके से नक्सली प्रभाव को खत्म करने के लिए सुरक्षाबल के जवान लगातार सर्चिंग और कॉम्बिंग करते रहते हैं।
बीते दिनों में कई नामी नक्सलियों को मार गिराया गया है और पुलिस की लोन वर्राटू योजना से भी कई नक्सलियों ने हथियार छोड़ दिया है। इसके अलावा पुलिस-प्रशासन की मदद से नक्सलियों के खिलाफ स्थानीय लोगों को शिक्षित और जागरूक भी किया जा रहा है।
 

नक्सली कमांडर की मृत्यु के बाद पत्नी ने भी तोड़ा दम, 4 नक्सली कमांडर की भी हालत गंभीर

नक्सली कमांडर की मृत्यु के बाद पत्नी ने भी तोड़ा दम, 4 नक्सली कमांडर की भी हालत गंभीर

सुकमा। नक्सली कमांडर हरीभूषण की पत्नी की मौत की खबर सामने आई है। 24 जून को हरीभूषण की पत्नी शारदा की मौत की खबर है। कोत्तागुड़म एसपी सुनील दत्त और दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव को यह खबर मिली है।

सूत्रों के अनुसार 4 नक्सली कमांडर की भी हालत खराब बताई जा रही है, तेलंगाना के कोत्तागुड़म और छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा एसपी ने जानकारी मिलने की बात की पुष्टि की है। इसके पहले इसके पहले 22 जून को नक्सलियों के तेलंगाना स्टेट सचिव हरीभूषण की मौत पुष्टि की गई है।


मृतक नक्सली हरीभूषण कोरोना संक्रमित था और उसकी हार्ट अटैक से मौत हुई है। तेलंगाना के कोत्तागुड़म एसपी सुनील दत्त ने इसकी पुष्टि की थी।


सुकमा में नक्सली दंपति ने सरेंडर किया है। कोरोना संक्रमण से कई कमांडर के मौत के बाद सरेंडर किया है। तेलंगाना के कोत्तागुड़म एसपी के सामने उन्होंने सरेंडर किया। पुरूष नक्सली यहां पर नक्सली स्टेट कमेटी सदस्य का सुरक्षा गार्ड था, कोत्तागुड़म एसपी सुनील दत्त ने पुष्टि की है।

मानसून पूर्व नालियों की साफ-सफाई में जुटा सफाई अमला

मानसून पूर्व नालियों की साफ-सफाई में जुटा सफाई अमला

सुकमा। मानसून के पूर्व दोरनापाल नगर पंचायत क्षेत्र में नालियों की साफ-सफाई का कार्य किया जा रहा है। सफाई कर्मी नालियों से मलबा निकालकर, ब्लिचिंग पाउडर का छिड़काव कर रहें हैं, ताकि मच्छरों के लार्वा ना पनपे। वर्षा ऋतु के मद्देनजर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जल भराव की स्थिति से निपटने की रणनीति के तहत मुख्य मार्गों सहित बड़े नालियों के गहराई तक मलबा निकालने के साथ ही कीटनाश्क पाउडर के छिड़काव का कार्य किया जा रहा है। इस अनुक्रम मे आज सफाई कर्मियों की ओर से वार्ड क्रमांक 9, 10, 11 और 12 में नालियों की समुचित साफ -सफाई की गई।
कलेक्टर विनीत नंदनवार की ओर से पूरे जिले में इस साल मानसून से निपटने के लिए समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी कड़ी में नगर पालिका सुकमा सहित सभी नगर पंचायतों में बारिश के पूर्व नाली की सफाई कार्य जोरशोर से प्रारंभ हो चुका है। ताकि वार्डों में बारिश का पानी निकासी सही ढंग से हो सके, पानी इक्_ा ना हो और मलेरिया सहित अन्य जल जनित बिमारियों से जिलेवासियों का बचाव हो सके।
 

शादी में शामिल होने जा रहे बारातियों पर हुई कार्यवाही, मिले दो पॉजिटिव

शादी में शामिल होने जा रहे बारातियों पर हुई कार्यवाही, मिले दो पॉजिटिव

सुकमा । पालोड़ी पारा बड़ेसेट्टी में शादी समारोह में शामिल होने जा रहे बारातियों पर जिला प्रशासन की ओर से सख्त कार्यवाही की गई। कोविड 19 नियमों का उल्लंघन करने के फलस्वरुप 10 हजार रुपए का अर्थदंड वसूला गया। साथ ही सवारी वाहनों की जब्ती भी की गई। कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए सभी व्यक्तियों का कोरोना जांच किया गया, जिसमें 2 व्यक्तियों की रिर्पोट पॉजिटिव प्राप्त हुई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पालोड़ी पारा में शादी का आयोजन बिना प्रशासनिक अनुमति के किया जा रहा था। जिसमें शामिल होने लगभग 50 से अधिक लोग दो ट्रैक्टर में सवार होकर जा रहे थे। मामले की जानकारी मिलने पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नूतन कंवर के निर्देश पर तहसीलदार गादीरास महेन्द्र लहरे द्वारा आवश्यक कार्यवाही की गई।
उल्लेखनीय है कि कलेक्टर विनीत नन्दनवार की ओर से जिले में कोविड-19 नियमों का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए गए है। शादी, अंत्येष्ठी कार्यक्रमों के आयोजन के लिए संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार से अनुमति पर ही आयोजन करने तथा कोविड-19 के नियमों के उल्लंघन पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही उक्त कार्यक्रमों में लोगों की संख्या अधिकतम 10 निर्धारित की गई है।
 

गिरफ्तार नक्सली कमांडर की मौत, कोरोना संक्रमित होने के बाद अस्पताल में था भर्ती

गिरफ्तार नक्सली कमांडर की मौत, कोरोना संक्रमित होने के बाद अस्पताल में था भर्ती

सुकमा । सुकमा में गिरफ़्तार नक्सली सोबराय की मौत हो गई है। इसकी पुष्टि बस्तर आईजी सुंदरराज पी. ने कर दी है। नक्सली सोबराय को 2 जून को तेलंगाना के वारंगल से गिरफ़्तार किया गया था।
ऐसा बताया जा रहा है कि बेहतर इलाज के लिए सोबराय को हैदराबाद रेफर किया गया था, जहां उनके मौत होने की खबर मिली है। जानकारी के अनुसार कई अन्य नक्सली भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।
सोबराय नक्सलियों के कम्युनिकेशन विंग का चीफ था। नक्सलियों के दक्षिण सब जोनल ब्यूरो के कम्यूनिकेशन टीम का चीफ सोबराय कोरोना से पीड़ित था। वो इलाज कराने तेलंगाना के वारंगल पहुंचा था। जहां वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।
नक्सली कमांडर सोबराय ने कई अहम खुलासे भी किए। सोबराय ने कई नक्सली नेताओं के नाम का भी खुलासा किया जो कोरोना से पीड़ित हैं। सोबराय के मुताबिक कटम सुदर्शन ऊर्फ आनंद, थिपिरी तिरुपति ऊर्फ चेतन, यापा नारायण ऊर्फ हरि भूषण, कट्टा रामचंद्र रेड्डी ऊर्फ विकल्प भी कोरोना से पीड़ित है। देवेंद्र रेड्डी, मुचाकी उंगल उर्फ सुधाकर, कोडी मंजूला उर्फ निर्मला, पुसम पद्मा और ककरला सुनीता भी कोरोना संक्रमित हैं।
नक्सलियों में कोरोना संक्रमण फैलने और कोरोना से कई बड़े नक्सलियों के गंभीर होने का कोत्तागुड़म एसपी सुनील दत्त का दावा अब सच होता दिखाई पड़ रहा है।
 

 नाबालिग सहित दो युवकों की हत्या में शामिल तीन नक्सली गिरफ्तार

नाबालिग सहित दो युवकों की हत्या में शामिल तीन नक्सली गिरफ्तार

सुकमा। जिले के जगरगुण्डा थाना क्षेत्र के मिलमपल्ली के जंगलों में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर कारर्वाई करते हुए जगरगुण्डा थाना से सीआरपीएफ 223 वीं वाहिनी के डीसी संजय तिवारी एवं एसी चंद्रसेन चौधरी व थाना प्रभारी एसआई अशोक यादव के हमराह जिला बल की टीम मौके के लिए रवाना हुई, सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने मिलमपल्ली के जंगल में घेराबंदी कर नाबालिग सहित दो युवकों की हत्या में शामिल तीन नक्सलियों माड़वी नवीन, बारसे जोगा और हेमला भीमा को गिरफ्तार कर सुकमा नयायालय में पेश कर जेल दाखिल कर दिया गया है। तीनो नक्सली माओवादी संगठन में डीएकेएमएस सदस्य के रूप में काम कर रहे थे। 

गिरफ्तार नक्सलियों के द्वारा 19 अप्रैल को पुलिस मुखबिरी के शक में दो युवकों की हत्या कर दी थी, इनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त लोहे का धारदार बण्डा, लोहे का चाकू व कुल्हाड़ी बरामद किया गया है। गिरफ्तार नक्सलियों द्वारा नाबालिग सहित दो की हत्या के बाद पुलिस इस हत्या में शामिल नक्सलियों की लगातार पतासाजी कर रही थी।
 छत्तीसगढ़ : नक्सलियों ने खूफिया विभाग के सहायक आरक्षक की हत्या कर दी

छत्तीसगढ़ : नक्सलियों ने खूफिया विभाग के सहायक आरक्षक की हत्या कर दी

सुकमा। जिले के दोरनापाल थाना क्षेत्र के पेंटा गांव के पुजारीपारा निवासी सहायक आरक्षक वेट्टी भीमा की नक्सलियों ने हत्या कर दी है। भीमा दोरनापाल थाने में पुलिस की खूफिया विभाग (एसआईबी) में पदस्थ था। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात वेट्टी भीमा अपने घर में सो रहा था। रात करीब 10 बजे 05-06 नक्सली उसके घर पहुंचे और दरवाजा तोड़कर अंदर घुस गए। यह देखकर भीमा भागने का प्रयास किया, लेकिन नक्सलियों ने उसे घेरकर पकड़ लिया। सहायक आरक्षक भीमा को लेकर नक्सली घर से कुछ दूरी पर एक पेड़ के नीचे लेकर गए। वहां डंडों से बुरी तरह पीटने के बाद धारदार हथियार से गोदकर उसकी हत्या कर दी।

जवान की पत्नी ने पुलिस को घटना की सूचना दी, लेकिन मौके पर पुलिस टीम के पहुंचने से पहले भीमा की हत्या कर नक्सली फरार हो चुके थे। घटना के बाद जवान के शव को दोरनापाल लाया गया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है।
 
सीमाएं सील हुई तो पड़ोसी राज्यों के इस रास्ते पहुंच रहे मजदूर...

सीमाएं सील हुई तो पड़ोसी राज्यों के इस रास्ते पहुंच रहे मजदूर...

सुकमा। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति अब भी चिंताजनक है। लेकिन इससे भी चिंताजनक है पड़ोसी राज्यों से पहुंच रहे मजदूरों की संख्या। इनके चलते बस्तर संभाग में कोरोना के नए स्ट्रेन का खतरा बढ़ गया है। पड़ोसी राज्यों को जोड़ने वाली सभी सीमाएं सील हैं। चेकपोस्ट बनाकर जांच भी की जा रही है, पर ग्रामीण अब जंगल के रास्ते प्रवेश कर रहे हैं। ये मजदूर आंध्र प्रदेश और तेलंगाना मिर्ची तोड़ने के लिए गए थे। अफसरों को भी इसका पता है, लेकिन नक्सली इलाका होने के कारण उनके सामने भी समस्या है। ऐसे में बीजापुर और सुकमा जिला प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती आ गई है।
लॉकडाउन के कारण अंतरराज्यीय परिवहन बंद है। जो वाहन आ रहे हैं, उनकी जांच की जा रही है। ऐसे में ग्रामीणों ने अपने घरों तक पहुंचने के लिए जंगल का रास्ता पकड़ लिया है। ये ग्रामीण बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा और जगदलपुर से तेलंगाना के धर्माराम मजदूरी करने गए थे। मजदूरों ने बताया कि वे 2 दिन पहले सुबह निकले थे। दोपहर में पेड़ के नीचे रुकते और रात में फिर सफर शुरू होता। ऐसे में 200 किमी का सफर तय कर बीजापुर पहुंचे हैं।
बीजापुर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र तारलागुड़ा में चेक पोस्ट बनाया गया है। इस चेक पोस्ट में तेलंगाना और अन्य राज्यों से आने वाले करीब 2200 से ज्यादा लोगों के नामों की एंट्री हो चुकी है। इनमें 6 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। वहीं सुकमा के कोंटा चेक पोस्ट पर 7764 लोगों के नाम प्रशासन ने रजिस्टर में दर्ज किए हैं। इनमें से 117 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि यह सिर्फ वह लोग हैं, जो सड़क मार्ग से प्रदेश की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं।
आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से आ रहे कई मजदूरों के सुकमा, बीजापुर सहित पड़ोसी जिलों में अपने घर पहुंचने की जानकारी मिल रही है। जिन जंगल के रास्तों का उपयोग ग्रामीण कर रहे हैं, वो पूरी तरह से नक्सल प्रभावित क्षेत्र है। इसके कारण प्रशासन को भी इसका पता नहीं लग पा रहा है। यह ग्रामीण सुकमा और बीजापुर में के गांवों में पहुंचे हैं। इनकी न तो कोरोना जांच हुई है और न ही प्रशासन के रजिस्टर में इन मजदूरों के नाम दर्ज हैं।
बीजापुर में भोपालपट्नम के एसडीएम हेमेंद्र बुआर्य कहते हैं कि चेक पोस्ट से गुजरने वाले हर किसी की जांच हो रही है। गर्मी के चलते नदी-नाले सूखे हुए है, इसलिए ज्यादातर मजदूर जंगल के रास्तों से भी आ रहे हैं। नक्सल इलाका होने की वजह से थोड़ी परेशानी होती है, जब ग्रामीण सड़क पर पहुंचते हैं तो उन तक पहुंच जाते हैं। वहीं सुकमा के कोंटा एसडीएम बनसिंह नेताम ने बताया की ग्रामीण अंचलों और जंगल के रास्तों पर भी हमारी नजर है। जो भी लोग आ रहे हैं, उनके नामों की एंट्री व जांच भी की जा रही है।
 

 छत्तीसगढ़: ग्रामीणों के विरोध के बावजूद फरार 04 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को लाया गया

छत्तीसगढ़: ग्रामीणों के विरोध के बावजूद फरार 04 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को लाया गया

सुकमा। जिले में ग्राम पंचायत बुडदी के काकडीआम से फरार 04 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को पुलिस के मदद से पकड़कर जिला कोविड अस्पताल लाया गया है। विदित हो कि स्वास्थ्य अमले की टीम गांव से इन लोगों को लाने के लिए गई थी, इस दौरान ये लोग जंगल की ओर भाग गए थे, जिसके बाद जिला प्रशासन द्वारा इनके विरूद्ध एफईआर दर्ज करवाया गया। इसके बाद आज पुलिस गांव पहुंची और चारों पॉजिटिव मरीज को पकड़ कर लाया गया। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार फरार चारों पॉजिटिव मरीज को लाने के लिए गए अधिकारियों पर ग्रामीणों ने रोष जताया। वहीं केरलापाल इलाके के सामसट्टी में कोविड पॉजिटिव एक मरीज को अस्पताल लेकर आने से ग्रामीण मना कर रहे थे। किसी तरह से अधिकारियो ने पुलिस के मदद से कोविड मरीजों को अस्पताल लाया गया। ग्रामीणों का कहना था कि अस्पतालों में कोरोना के नाम से इलाज के दौरान मौत हो जाती है। इसलिए ग्रामीण मरीजों को ले जाने का विरोध करने लगे हैं। अधिकारियों के समझाई के बाद ग्रामीण किसी तरह से मान गए, लेकिन ग्रामीणों ने इन मरीजों के सपंर्क में आने वाले लोगों ने कोविड जांच कराने से मना कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि कोविड जांच करने पर पॉजिटिव ही आता है इसलिए जांच नहीं करने की बात कह रहे हैं।  तहसीलदार प्यारेलाल नाग ने बताया कि यहां के लोगों को लगातार समझाने की प्रयास किया जा रहा है।
 बड़ी खबर: 2 सहायक आरक्षकों की हत्या में शामिल 2 नक्सली गिरफ्तार

बड़ी खबर: 2 सहायक आरक्षकों की हत्या में शामिल 2 नक्सली गिरफ्तार

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के के तहत थाना भेज्जी से निरीक्षक नरेन्द्र राठौर थाना प्रभारी भेज्जी के हमराह जिला पुलिस बल एवं 219 वाहिनी सीआरपीएफ पृथक-पृथक बल सर्चिंग एवं नक्सली आरोपियों की थरपकड़ हेतु ग्राम चिंतागुफा, एलारमडगू व आसपास रवाना हुये थे, इस दौरान मुखबीर की सूचना पर घेराबंदी कर ग्राम चिंतागुफा में 02 सहायक आरक्षकों की हत्या में शामिल नक्सली उईका आयता पिता उईका मुत्ता उम्र लगभग 26 वर्ष जनमिलिशिया सदस्य तथा ग्राम एलारमङगू से मडकम हडमा पिता मुक्का उम्र लगभग 25 वर्ष को गिरफ्तार किया गया है। 

गिरफ्तारी नक्सलियों ये पुछताछ करने पर दोनो नक्सली आरोपियों द्वारा प्रतिबंधित नक्सली संगठन में मिलिशिया सदस्य के रूप में कार्य करना बताया। उक्त दोनो आरोपियों से गहन पूछताछ करने पर आरोपियों द्वारा 15 अप्रेल 2021 को थाना भेज्जी क्षेत्रान्तर्गत भेजी बस्ती रोड पुलिया के पास 02 सहायक आरक्षकों धनीराम कश्यप एंव पुनेम हडमा की कोंटा एरिया कमेटी सचिव मंडगू, मिलिशिया कमांडर गजेन्द्र व कवासी हूंगा व अन्य नक्सलियों के साथ मिलकर धारदार हथियार व लाठी डण्डा से पीटकर हत्या कर शव रोड़ में फेंक देना बताया। घटना पर थाना भेजी में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपराध क्रमांक 02/21 थारा 302 भादवि. 25, 27 आर्स एक्ट का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। उक्त नक्सली आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त खून से सना डण्डा व घटनास्थल का खून आलूदा मिट्टी बरामद किया गया है। घटना में शामिल अन्य नक्सली आरोपियों को विशेष अभियान चलाकर गिरफ्तारी की कार्यवाही किया जायेगा। उक्त नक्सली आरोपी पर कार्यवाही करते हुये आज न्यायालय सुकमा के समक्ष पेश कर जेल दाखिला किया गया। 
 बड़ी सफलता: विस्फोटक के साथ 8 नक्सली गिरफ्तार

बड़ी सफलता: विस्फोटक के साथ 8 नक्सली गिरफ्तार

सुकमा। जिले की पुलिस ने एराबोर थाना अंर्तगत एरीबोर खासपारा से 04 नक्सलियों एवं थाना चिंतलनार के ग्राम मुकरम बड़े नाला के पास सक 04 नक्सलियों कुल 08 नक्सलियों को घेराबंदी कर विस्फोटक सहित गिरफ्तार किया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जिला बल एवं 228 वाहिनी सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई में एराबोर थाना क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग-30 में एरीबोर खासपारा के पास 07 वाहनों पर आगजनी करने में शामिल 04 नक्सली कवासी जोगा, कवासी हुंगा, सोयम सोना, व नुप्पो लच्छा को पुलिस ने बोदागुबाली के पास जंगल से गिरफ्तार कर तलाशी में विस्फोटक बरामद किया गया।

वहीं दूसरे मामले में कोबरा की 201 बटालियन के कमाडेंट सौमित्र के मार्गदर्शन में थाना चिंतलनार से सहायक उपनिरीक्षक सावंत पटेल के हमराह जिला बल एवं कोबरा एसी. पवन बदगुजर के हमराह 201 वाहिनी कोबरा का संयुक्त बल आरओपी/एरिया डोमिनेशन के लिए ग्राम तोगगुड़ा, मुकरम, कोत्तागुड़ा की ओर रवाना हुए थे। वापसी के दौरान ग्राम मुकरम बड़े नाला के पास जंगल में पहुंचे थे कि कुछ अज्ञात संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को देखकर लुकने छिपने व भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस पार्टी ने घेराबंदी कर 04 नक्सलियों माड़वी मंगू, मड़कम हिड़मा, मड़कम गंगा और मड़कम सोना को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से 04 नग इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 04 नग जिलेटिन रॉड, 01 बंडल इलेक्ट्रिक वायर, 05 नग बैटरी, 02 नग स्वीच वायर बरामद किया गया है। 
कोविड नियमों का उल्लंघन करने पर 9 के खिलाफ एफआईआर दर्ज

कोविड नियमों का उल्लंघन करने पर 9 के खिलाफ एफआईआर दर्ज

सुकमा। सुकमा जिले के छिन्दगढ़ तहसील में कोविड-19 नियमों के उल्लंघन किये जाने के परिणामस्वरुप 9 व्यक्तियों पर एफआईआर दर्ज की गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत पोन्दूम के आश्रित पारा अरकातोंग के निवासी 18 मजदूरों को कोविड सुरक्षा के दृष्टि से प्राथमिक/माध्यमिक शाला पोन्दुम में क्वारंटींन किया गया था। सभी मजदूर 30 अप्रैल की रात्रि लगभग 3ः00 बजे बिना किसी पूर्व सूचना के क्वारंटींन केन्द्र से भागकर अपने आवास चले गए। जो क्वारंटींन के नियमों का उल्ल्ंघन है।
मामले की सूचना मिलने पर संबंधित क्वारंटींन केन्द्र के नोडल अधिकारी ने समस्त 18 मजदूरों के खिलाफ रिर्पोट दर्ज कराई । जिसमें से 9 बालिग मजदूरों के खिलाफ कोविड नियमों के उल्लंघन करने और क्वारंटींन केन्द्र से भागने पर एफआईआर दर्ज किया गया है।
 

सीआरपीएफ की संयुक्त पार्टी ने 2 लाख के इनामी सहित 3 नक्सलियों को किया गिरफ्तार

सीआरपीएफ की संयुक्त पार्टी ने 2 लाख के इनामी सहित 3 नक्सलियों को किया गिरफ्तार

सुकमा। दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस बल ने बड़ी कार्रवाई की है। सुरक्षाबल के जवानों ने तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें 2 लाख का इनामी नक्सली भी शामिल है। मौके से विस्फोटक सामग्री बरामद की गई है।
तोंगपाल थाने से जिला बल और सीआरपीएफ-227 की संयुक्त पार्टी सूचना पर सर्चिंग के लिए प्रतापगिरी और कोलेमकोंटा की पहाड़ियों के लिए रवाना हुए थे। इसी बीच कुछ संदिग्ध जवानों का पीछा कर रहे थे। जब घेराबंदी की गई तो एक संदिग्ध पकड़ा गया। पूछताछ करने पर अपनी पहचान मुया उर्फ मुकेश के रूप में बताई। साथ ही आंध्र-ओडिशा बॉर्डर स्पेशल जोनल कमेटी सेक्शन ए सदस्य बताया।
छत्तीसगढ़ सरकार ने नक्सली मुकेश पर 2 लाख का इनाम घोषित है। नक्सली के पास से नक्सली वर्दी, जिलेटिन रॉड, डेटोनेटर, 303 रायफल जिंदा कारतूस समेत काफी सामग्री बरामद की गई। वहीं पिछले कई साल से नक्सल संगठन के लिए काम कर रहा था। साथ ही नक्सलियों के लिए कुकर बम और बूबी ट्रेप में काम करना बताया। पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया गया. जहां से कोर्ट ने जेल भेज दिया है।
डीआरजी और सीआरपीएफ 226 की सयुक्त पार्टी एरिया डोमिनेशन के लिए तराईटिकरा इलाके की ओर गई थी। सर्चिंग के दौरान दो संदिग्धों को पकड़ा गया. पूछताछ पर दोनों ने अपनी पहचान मुचाकि हड़मा और मुचाकी देवा के रूप में बताई। पिछले कई साल से नक्सल संगठन में काम करते हुए लूटपाट और आगजनी की बात स्वीकार की। पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया गया। जहां से कोर्ट ने दोनों को जेल भेज दिया है।
 

 नक्सलियों ने की दो ग्रामीण युवकों की मुखबीरी के आरोप में हत्या

नक्सलियों ने की दो ग्रामीण युवकों की मुखबीरी के आरोप में हत्या

सुकमा। जिले के जगरगुंडा थाना क्षेत्र अंर्तगत चिंतलनार मार्ग पर ग्राम मिलमपल्ली के पास नक्सलियों ने बीती रात को दो ग्रामीण युवको मड़कम अर्जून एवं ताती हड़मा की मुखबीरी का आरोप लगाते हुए हत्या कर दी है। दोनों मृतक युवक स्कूली छात्र बताये जा रहे हैं। 

मिली जानकारी के अनुसार चिंतलनार मार्ग पर ग्राम मिलमपल्ली के पास दो युवकों का शव मिला है, मृतकों की शिनाख्त मड़कम अर्जून एवं ताती हड़मा के रूप में की गई है। बताया जा रहा है कि देर रात नक्सलियों द्वारा युवकों की हत्या की गयी है। नक्सलियों ने पर्चे जारी कर युवकों पर पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाया है। 

सुकमा एसपी कन्हैया लाल ध्रुव ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि दो युवकों के शव मिलने की सूचना पर आज सुबह जवानों को घटना स्थल की ओर रवाना कर दिया गया था, पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
कलेक्टर ने कोविड कंट्रोल रूम प्रभारी को लगाई फटकार

कलेक्टर ने कोविड कंट्रोल रूम प्रभारी को लगाई फटकार

सुकमा । कलेक्टर नंदनवार ने जिला स्तर पर स्थापित कोविड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रभारी अधिकारियों को कोविड संबंधी कार्यों में कोई भी लापरवाही नहीं करने के सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने कंट्रोल रूम प्रभारी आशीष राम को होम आइसोलेशन संबधी कार्य में कोताही बरतने पर फटकार लगाई। इसके साथ ही कंट्रोल रूम में कार्यरत 4 डाटा एंट्री ऑपरेटर को कार्य में कोताही बरतने पर शो कॉस नोटिस जारी किए।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्टर नंदनवार के निर्देश पर एसडीएम सुकमा और कोविड जिला नोडल अधिकारी नभ एल स्माइल द्वारा कमलेश बघेल, ओम प्रकाश, पोज्जा और विनोद कुमार को कार्य में लापरवाही बरतने के परिणामस्वरूप शो कॉस नोटिस जारी किया गया है। सुकमा जिले वासियों को कोविड-19 संबंधी सहायता प्राप्त करने और सूचना देने में किसी भी परेशानी का सामना ना करने पड़े इस उद्देश्य से जिला स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। 24 घंटे संचालित कंट्रोल रूम से जिले में कोविड-19 संबंधी कार्यों की निगरानी और आमजन की सहायता के लिए प्रभारियों सहित कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है। कंट्रोल रूम के दूरभाष क्रमांक 07864-284262 पर संपर्क कर कोई भी व्यक्ति कोरोना संबंधी या होम आइसोलेशन से संबंधित सहायता प्राप्त कर सकते हैं, या सूचना दे सकते है।
 

शैक्षणिक पदों पर साक्षात्कार के लिए वरियता सूची जारी

शैक्षणिक पदों पर साक्षात्कार के लिए वरियता सूची जारी

सुकमा । जिले के नवीन संचालित उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय शासकीय हाई स्कूल पावारास में रिक्त शैक्षणिक पदों प्रतिनियुक्ति/संविदा पर शिक्षकों के भर्ती के लिए प्राप्त आवेदनों के संबंध में दावा आपत्ति के निराकरण के पश्चात् साक्षात्कार के लिए चयनित अभ्यर्थियों की वरियता सूची जारी की गई है। जिसे सुकमा जिले के वेबसाईट www.sukma.gov.in पर प्रकाशित किया गया है।
चयनित उम्मीदवारों का साक्षात्कार वाणिज्य, भौतिक, अंग्रेजी व सामाजिक विज्ञान के व्याख्याता पद के लिए 31 मार्च 2021 को ज्ञानोदय भवन कुम्हाररास सुकमा में पूर्वान्ह 11 बजे से आयोजित है। अंग्रेजी व जीव विज्ञान के लिए शिक्षक, रसायन समूह के लिए प्रयोशाला सहायक एक हिन्दी विषय के लिए सहायक शिक्षक के पद के लिए 1 अप्रैल 2021 को पूर्वान्ह 11 बजे से ज्ञानोदय भवन कुम्हाररास सुकमा में साक्षात्कार लिया जाएगा। चयनित अभ्यर्थियों को मोबाईल के माध्यम से पृथक से सूचना दी जाएगी एवं वरियता सूची के लिए जिले के वेबसाईट का अवलोकन किया जा सकता है।
 

 जिला मुख्यालय, न्यायालय व डिपो के पीछे लगी भीषण आग, मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम

जिला मुख्यालय, न्यायालय व डिपो के पीछे लगी भीषण आग, मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम

सुकमा। जंगल में लगी आग की चपेट में सुकमा जिला मुख्यालय, न्यायालय व डिपो के पीछे जोरदार लगी आग करीब आधे किलोमीटर तक फैल गई है। 

बताया जा रहा कि आग को बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की टीम पहुंच गई हैं। लेकिन पेड़ों और दुर्गम रास्तों की वजह से मौके तक नहीं पहुंच पा रही हैं। 

मौके पर पानी से भरी बाल्टी लेकर पहुंच रहे हैं फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों को आग बुझाने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, यह नाकाफी है और गर्मी व हवा के चलने की वजह से आग जंगल में फैलती जा रही है। आसमान में धुंए के बादल छा गए हैं। अधिकारियों की चिंता है कि अगर आग पर जल्द काबू नहीं पाया गया, तो यह बड़े इलाके को अपनी चपेट में ले सकती है।
 
ओपन स्कूल की असाइनमेन्ट वितरण एवं जमा करने की समय सारिणी जारी

ओपन स्कूल की असाइनमेन्ट वितरण एवं जमा करने की समय सारिणी जारी

सुकमा । छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल रायपुर ने हाई स्कूल और हायर सेकण्डरी परीक्षा वर्ष 2021 में अध्ययन केन्द्र शासकीय बालक उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय सुकमा केन्द्र क्रमांक 2401 व कोण्टा केन्द्र क्रमांक 2402 में प्रवेशित छात्रों के लिए सम्पर्क कक्षाएं 20 फरवरी से शुरू की गई है जो 16 मई तक चलेगी। सम्पर्क कार्यक्रम के लिए छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल की वेबसाइट में फरवरी, मार्च एवं अप्रैल माह के 25 तारीख को हाई स्कूल एवं हायर सेकण्डरी स्कूल के प्रत्येक संकाय के एसाइंमेन्ट 25 फरवरी को प्रथम असाइनमेन्ट जारी किया गया है, वहीं 25 मार्च को द्वितीय और तृतीय एसाइनमेन्ट 25 अप्रैल को अपलोड किया जाएगा। असाईनमेन्ट की लिखित उत्तर पुस्तिका 10 मार्च को प्रथम, 10 अप्रैल को द्वितीय और तृतीय असाईनमेन्ट 10 मई को जमा कर सकते हैं। 

बीएससी नर्सिंग की छात्रा का फांसी के फंदे पर लटकती मिली लाश, पढ़ें पूरी खबर

बीएससी नर्सिंग की छात्रा का फांसी के फंदे पर लटकती मिली लाश, पढ़ें पूरी खबर

सुकमा | जिले के दोरनापाल थाना क्षेत्र में एक बीएससी नर्सिंग की छात्रा पुडिय़ाम सुनीता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है। आत्महत्या का कारण अज्ञात है। प्राप्त जानकारी अनुसार  दोरनापाल निवासी पुडिय़ाम सुनीता पिता पुडिय़ाम राजू, उम्र 19 वर्षीय निवासी वार्ड क्रमांक 12 की बीएससी नर्सिंग की छात्रा ने अज्ञात कारणों से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुडिय़ाम सुनीता सुकमा में रहकर बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थी। बीते एक सप्ताह पूर्व वह अपने घर गई हुई थी, परिजनों के मुताबिक घरमे ही फांसी लगाई हुई मिली। जिसके बाद तत्काल परिजनों के द्वारा युवती को दोरनापाल अस्पताल ले जाया गया जहां स्थिति गंभीर देख उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया, वहीं जिला अस्पताल पहुंचने से पहले ही युवती की मौत हो चुकी थी। जिला अस्पताल में शव को पोस्टमार्टम कर परिवार को सौंप दिया गया है। 

छत्तीसगढ़ के इस जिले को सुखद, समृद्ध, सुंदर और स्वस्थ बनाने भूपेश बघेल ने की कई घोषणाएं

छत्तीसगढ़ के इस जिले को सुखद, समृद्ध, सुंदर और स्वस्थ बनाने भूपेश बघेल ने की कई घोषणाएं

सुकमा सुखद, समृद्ध, सुंदर और स्वस्थ सुकमा के सपने को साकार करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कई घोषणाएं की। आज सुकमा हाईस्कूल मैदान में आयोजित आमसभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि नवा छत्तीसगढ़ की तरह नवा सुकमा बनाना है। उन्होंने कहा कि नवा सुकमा का सपना बच्चों को शिक्षा, युवाओं को रोजगार, खेतों को सिंचाई के लिए पानी और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाकर पूरा होगा। छत्तीसगढ़ सरकार इस दिशा में कदम उठा रही है। उन्होंने सुखद, समृद्ध, सुंदर और स्वस्थ नवा सुकमा के सपने को साकार करने के लिए दुरमा जलप्रपात के सौन्दर्यीकरण के लिए 5 करोड़, सुकमा जिला अस्पताल को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के रूप में विकास करने, स्वामी विवेकानन्द परिसर के विस्तार के लिए एक करोड़ की स्वीकृति दी। उन्होंने जिले के समस्त देवगुड़ी के निर्माण के लिए 5-5 लाख रुपए, छिन्दगढ़ विकासखण्ड मुख्यालय में तीन किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग-30 को चार लेन सड़क चैड़ीकरण के लिए छः करोड़ की स्वीकृति दी। भेज्जी में प्री मैट्रिक बालक छात्रावास, गोलापाल्ली में कन्या आश्रम भवन, प्री मैट्रिक बालक आश्रम और पालाचलमा में पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास की घोषणा की। साथ ही सोलर ड्यूल पम्प ग्रामीणों क्षेत्रों के लिए चार सौ नग बोर खनन, गोंगला के लिए बीटी सड़क की स्वीकृति, कुकानार से सरईपारा के बीच तीन किलोमीटर सड़क का निर्माण, सामुदायिक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के समीप कर्मचारियों के लिए आवासीय भवन निर्माण की घोषणा की।
मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि आगे बढ़ने के लिए शिक्षा बहुत जरुरी है और छत्तीसगढ़ सरकार चाहती है कि कोई भी व्यक्ति शिक्षा से वंचित रहे, इसलिए वर्षों से बंद पड़े स्कूलों को खोलने का कार्य वर्तमान सरकार द्वारा किया गया। दो वर्षों के भीतर बंद पड़े 123 स्कूलों में से 90 स्कूलों का संचालन पुनः प्रारंभ कर दिया गया है। आज इसी का परिणाम है, कि जिस जिले की पहचान लाल आतंक से होती थी, अब उसी जिले के बच्चे बोर्ड परीक्षाओं में टाॅप कर रहे हैं। यह इस जिले में हो रहे बदलाव की पहचान है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी व्यक्ति स्वास्थ्य सेवाओं से वंचित रहे और गांव-गांव तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचे, इसके लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। आज इसी कड़ी में यहां 50 स्कूटियां भी मेडिकल किट के साथ स्वास्थ्यकर्मियों को उपलब्ध कराई गई है। लोगों को त्वरित उपचार उपलब्ध कराने के लिए दो एंबुलेंस भी प्रदाय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मलेरियामुक्त बस्तर अभियान का सपना साकार करने के लिए घर-घर जाकर लोगों की जांच और उपचार किया गया। आज इसी का परिणाम है कि मलेरिया के एपीआई में 65 फीसदी की गिरावट आई है। उन्होंने कहा कि बच्चे स्वस्थ और सुपोषित हों, इसके लिए बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जा रहा है। शासन द्वारा बच्चों को गर्म भोजन और अंडा उपलब्ध कराया जा रहा है। अंडों की आपूर्ति के लिए भी स्थानीय स्वसहायता समूह की महिलाओं को मुर्गीपालन और अंडा उत्पादन के लिए भी प्रोत्साहित किया गया है, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत हो।

इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, सांसद दीपक बैज, कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम, बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल, उपाध्यक्ष विक्रम शाह मंडावी, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप, चित्रकोट विधायक राजमन बेंजाम, अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार,जिला पंचायत के अध्यक्ष हरीश कवासी, नगर पालिका अध्यक्ष जगन्नाथ साहू, जगदलपुर नगर निगम की अध्यक्ष श्रीमती कविता साहू कमिश्नर जीआर चुरेन्द्र, पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज, मुख्य वन संरक्षक मोहम्मद शाहिद, कलेक्टर विनीत नंदनवार, पुलिस अधीक्षक केएल ध्रुव सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे। 

इस जिले में तीन स्थानीय अवकाश की घोषणा, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

इस जिले में तीन स्थानीय अवकाश की घोषणा, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

सुकमा कलेक्टर ने कैलेंडर वर्ष 2021 के लिए तीन स्थानीय अवकाश की घोषणा की है। जारी आदेश के अनुसार रामाराम मेला मंगलवार 2 मार्च, दशहरा(महानवमी) 14 अक्टूबर गुरुवार और दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा, शुक्रवार 5 नवंबर को जिले में स्थानीय अवकाश रहेगा। यह अवकाश बैंकों एवं कोषालय, उप कोषालय के लिए लागू नहीं होगा। 

 बड़ी खबर छत्तीसगढ़: बटालियन के जवान ने की आत्महत्या, सर्विस रायफल से खुद को मारी गोली

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: बटालियन के जवान ने की आत्महत्या, सर्विस रायफल से खुद को मारी गोली

सुकमा। कोबरा बटालियन के एक जवान ने सर्विस रायफल से खुद को गोली मार ली है। मौके पर ही जवान की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, जवान हरजीत सिंह चिंतागुफा थाना मैं पदस्थ था। बटालियन के जवान जंगल मैं ऑपरेशन के लिए निकले थे। अचानक उन्होंने रायफल से खुद को गोली मार ली। जिससे घटना स्थल पर उसकी मौत हो गई। मृतक जवान पंजाब लुधियाना का रहने वाला है। मामले की एसपी सुकमा केएल धुव ने पुष्टि की है।

आखिर जवान ने ये आत्मघाटी कदम क्योंन उठाया, पता नहीं चल पाया है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच मैं जुटी है।
 
 जमीन विवाद में परेशान महिला ने खाया जहर, गंभीर अवस्था मे उपचार के लिए कराया गया अस्पताल में भर्ती

जमीन विवाद में परेशान महिला ने खाया जहर, गंभीर अवस्था मे उपचार के लिए कराया गया अस्पताल में भर्ती

सुकमा। जिले के दोरनापाल थानांतर्गत ग्राम दुब्बाटोटा की एक महिला चिचोड आयते ने जमीन विवाद को लेकर जहर खा लिया जिसके बाद गंभीर अवस्था मे उप स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए भर्ती किया गया जहां प्रथमिक उपचार के बाद डॉ विजय ने बताया कि महिला की स्थिति खतरे से बाहर है। बेहतर उपचार के लिए महिला को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।
 

प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला के पति चिचोर हिरमा ने बताया कि घर बनाने की लिए वर्षों पहले करीबियों को जमीन दी गई थी, लेकिन करीबीयों ने 01 एकड़ भूमि पर कब्जा कर लिया जिसे लेकर लंबे समय बाद भी जब विवाद न सुलझा तो गुरूवार की रात्रि में महिला ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया, उन्होने बताया कि  पिछले एक सप्ताह से जमीन को लेकर आपसी विवाद लगातार हो रहा हो था। 
+ Load More