प्रदेश में आज मिले 1273 कोरोना संक्रमित, रायपुर से सर्वाधिक मरीजो के साथ इन जिलो से मिले इतने ..    |    कारोबारी के यहां छापे से अधिकारियों के उड़े होश, इतने बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा    |    लव जिहाद: उर्दू-अरबी न सीखने पर पति करता था पिटाई, पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: मजहब छिपाकर की शादी, प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज    |    बड़ी खबर: दर्ज हुआ शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पहला मामला, जारी हुआ आरोपी की गिरफ्तारी का फरमान    |    मन की बात में पीएम मोदी ने उदाहरण देकर किसानों को बताए नए कानूनों के फायदे, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: पिता ने पुत्र को मारी गोली, उपचार के दौरान बेटे की हुई मौत    |    बड़ी खबर: EOW ने 5 लाख रुपया रिश्वत लेते नगर निगम के सिटी प्लानर को किया गिरफ्तार    |    बड़ी खबर: माचिस न देने पर 2 युवकों ने पीट-पीटकर युवक को उतारा मौत के घाट    |    ओवैसी के क्षेत्र में गरजे योगी: कहा- हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से होगा भाग्यनगर    |
 जन्मदिन में डीजे बजाने के नाम पर दो गुटों में जमकर मारपीट, चार लोग गंभीर रूप से घायल

जन्मदिन में डीजे बजाने के नाम पर दो गुटों में जमकर मारपीट, चार लोग गंभीर रूप से घायल

सुकमा। जिले के गादीरास थाना क्षेत्र के चिंगावरम में दो गुटों के बीच देर रात मारपीट हुई जिसमें चार लोग गंभीर घायल हो गए। इस घटना की जानकारी मिलते ही गादीरास थाने से पुलिस पार्टी सुबह गांव पहुंच गई। इसके बाद सभी घायलों को गादीरास अस्पताल आया गया। जहां घायल लोगों को इलाज जारी हैं। गंभीर रूप से घायलों को बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
 

कलेक्टर विनीत नंदनवार और एसपी केएल ध्रुव ने घटना की जानकारी मिलते ही घायल लोगों से मिलने के लिए गादीरास अस्पताल पहुंचे। उन्होंने घायलों को बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए। कोया समाज प्रमुख वेको हुंगा ने बताया कि गांव में एक धर्म विशेष के एक परिवार के यहां बाहर से कुछ लोग आये थे। देर रात तक डीजे बजाया जा रहा था। ग्राम पटेल यहां चल रहे डीजे एवं कार्यक्रम के बारे में जाने पहुंचे थे।
 

इसी बात को लेकर पटेल के साथ मारपीट करने लगे। इसके बाद दूसरे गुट के लोग भी वहां पहुंच गए, जिसमें कुछ लोग घायल हुए हैं। वहीं घायल पोडियामी जोगा ने बताया कि जन्मदिन का आयोजन था। डीजे बज रहा था। इसी बीच 15 से 20 लोग पहुंचकर विवाद करने लगे।
 

सुकमा जिला मुख्यालय से 30 किमी दुर चिंगावरम में रात करीब 12 बजे गांव के एक परिवार के यहां जन्मदिन मनाने की तैयारी में थे, जिसमें शामिल होने के लिए परिचित एवं अन्य कुछ लोग बाहर से आए हुए थे। रात में डीजे बजाया जा रहा था।
 

पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि जिसको लेकर ग्राम पटेल यहां पहुंचकर देर रात तक डीजे बजाने एवं कार्यक्रम को लेकर जानकारी लेने की कोशिश की। इस बात को लेकर पटेल के साथ बहसबाजी होने लगी। इसकी जानकारी ग्रामीणों को लगी तो वे बीच बचाव करने पहुंचे पर विवाद ज्यादा बढ गया व मारपीट होने लगी।
 बड़ी खबर छत्तीसगढ़: CRPF के जवान ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

बड़ी खबर छत्तीसगढ़: CRPF के जवान ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां सुरक्षा बल के एक जवान ने आत्महत्या कर ली है। मृतक जवान दोरनापाल में पदस्थ था।

पढ़िए पूरी खबर-
जानकारी के मुताबिक 223 बटालियन दोरनापाल कैम्प में बीती रात करीब पौने 12 बजे कांस्टेबल कमला कांता रोहिदास ने अपने इंसास राइफल से खुद को गोली मार ली। कैम्प में गोली की आवाज सुनकर सभी सकते में आ गए। साथी जवानों ने मौके पर जाकर देखा तो जवान कमला कांता रोहिदास जमीन पर खून से लथपथ पड़ा था। इससे पहले की उसे कुछ इलाज मिल पाता जवान की मौत हो चुकी थी। मृतक जवान ओडिशा के झारसुगुडा का रहने वाला था। बताया गया है कि जवान ने अपने वैपन से बेहद करीब से गोली चलाई जो सिर को भेदते हुए पार कर गई। जिसके चलते उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। फिलहाल, आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है।
 
 लाखों रुपये की उठाईगिरी करने वाले दो आरोपी को उड़ीसा से किया गया गिरफ्तार

लाखों रुपये की उठाईगिरी करने वाले दो आरोपी को उड़ीसा से किया गया गिरफ्तार

सुकमा। भारतिय स्टेट बैंक सुकमा से पुलिस के जवान के द्वारा निकाले गए दो लाख रुपये को दो अज्ञात लुटेरों के द्वारा लुट लिया गया था। जिसकी जानकारी मिलने पर सुकमा पुलिस के द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपियों की पतासाजी की गई। आरोपियों के पड़ोसी राज्य ओडिशा के मलकानगिरी जिले में होने की जानकारी मिलने पर पुलिस की विशेष टीम के द्वारा लूट के आरोपी कार्तिक दास एंव आउर काली को गिरफ्तार कर सुकमा लाने के बाद कार्यवाही करते हुए आज दोनो आरोपियों को जेल दाखिल कर दिया गया है।  

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गिरफ्तार दोनो आरोपियों के पास से लूट की रकम दो लाख रुपये एंव एक मोटर साइकिल को जप्त किया है। इस संबंध में आरोपियों से लगातार पुछताछ कीजा रही है कि आरोपियों का कोई संगठित गिरोह है, या और कितने वारदात मे सम्मिलित है। लूट के वारदात को सुलझाने में मुख्य भुमिका सुकमा थाना प्रभारी ऐके नाग, थाना प्रभारी छिंदगड़ राकेश यादव सहित उनके टीम का योगदान राहा है।
जादू-टोने की आशंका में बुजुर्ग की हत्या के 2 आरोपी गिरफ्तार

जादू-टोने की आशंका में बुजुर्ग की हत्या के 2 आरोपी गिरफ्तार

सुकमा | जिले की पुलिस ने जादू-टोने की आशंका में की गई अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए 02 आरोपियों करटामी रामा व माड़वी कोसा को एक बुजुर्ग की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर जेल दाखिल कर दिया है। 

पढ़ें : बड़ी खबर : जिले में दुकानों एवं प्रतिष्ठानों के संचालन हेतु जिला कलेक्टर ने की नई गाइड-लाईन जारी, पढ़ें पूरी खबर 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सुबह 09 बजे माड़वी जोगा की मां श्रीमती पार्वती सुकमा आने के लिए निकली तब माड़वी भीमा चटाई पर लेटा हुआ था। दोपहर 02 बजे जब माड़वी जोगा की मां पार्वती सुकमा से वापस घर लौटी तब भीमा जिस जगह पर लेटा हुआ था उसी जगह पर मृत अवस्था में मिला। जिसके बाद इसकी जानकारी सुकमा कोतवाली को दी गई। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए जांच में पाया कि मृतक के गले में एवं गले के पीछे तरल काला निशान होना पाया गया था उनके दांए कान में भी निशान था, जिससे किसी अज्ञात व्यकित द्वारा मृतक यो गला घोंटकर हत्या करना प्रतीत हो रहा था। 
 
 
मृतक के शव का पीएम में भी डॉक्टरों ने मृतक के गले की हड्डी का फ्रेकचर होना बताया। जिसके बाद पुलिस ने हत्या के एंगल में जांच के लिए एक टीम बनाई गई प्रकरण के आरोपी को पतासाजी एवं धरकड हेतु भरसक प्रयास किया। गांव वालों से पता चला कि मृतक बैगा-गुनिया का काम करता था, और उसी गांव के करटामी रामा व माड़वी कोसा मृतक पर शंका करते थे। जादू-टोने से कारटामी रामा के पिता मुंडा की मौत की आशंका के कारण दोनो आरोपियों ने माड़वी भीमा की हत्या कर दी। पुलिस ने दोनों को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया।
कोतवाली प्रभारी एके नाग ने बताया कि काफी जटिल मामला था। लेकिन हमारी टीम ने सूझबूझ से हत्या की गुत्थी सुलझा दी और आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल दाखिल कर दिया है।
 
 सीआरपीएफ में पदस्त एएसआई ने खुद को मारी गोली, कारण अज्ञात

सीआरपीएफ में पदस्त एएसआई ने खुद को मारी गोली, कारण अज्ञात

सुकमा। छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के सुकमा जिले में एक एएसआई ने अपनी सर्विस रायफल से खुदकुशी कर ली. सीआरपीएफ बटालियन के जवान ने आखिर ऐसा कदम क्यों उठाया ये अभी पता नहीं चल पाया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

मामले की पुष्टि करते हुए एडिशनल एसपी सुनील शर्मा ने बताया कि जवान ने अपने सर्विस राइफल  एके-47 से खुद को गोली मार ली है. आत्महत्या का कारण फिलहाल अज्ञात है. मौके पर कोई सोसाइड नोट नहीं मिला है. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

मृतक जवान का नाम शिवानंद सिदप्पा (49) है। वह गादीरास कैम्प में पदस्थ था। जवान कर्नाटक के बिदर जिला का रहने वाला था. वह जून महीने में छुट्टी मनाकर गादीराम थाने में लौटा था। मिली जानकारी के अनुसार घटना गादीराज थाना क्षेत्र के सीआरपीएफ कैंप की है, जहां ए एसआई शिवानंद की भी तैनाती थी, आज सुबह कैंप में अचानक से गोली चलने की आवाज सुनायी पड़ी।जब कैंप के जवान मौके की तरफ पहुंचे तो शिवानंद को लहूलुहान में पड़े देखा। जब तक उसे अस्पताल पहुंचाया जाता, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। जानकारी के मुताबिक शिवानंद पिछले कई दिनों से परेशान चल रहा था, माना जा रहा है कि मानसिक तनाव की वजह से उसने ये कदम उठाया है। कैंप में आज सुबह एएसआई अपने साथी जवानों के साथ वालीबॉल खेला।इसी बीच वह अचानक अपने बैरक में चला गया और सर्विस रायफल से खुद को गोली मार ली।
इस जिले के एसपी और एडिशनल एसपी हुए कोरोना संक्रमित

इस जिले के एसपी और एडिशनल एसपी हुए कोरोना संक्रमित

सुकमा। जिले के दो आईपीएस अफसरों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जानकारी के मुताबिक सुकमा एसपी और एडिशनल एसपी संक्रमित पाए गए है। बुधवार को दोनों अधिकारियों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई। 

इसकी जानकारी स्वयं सुकमा एसपी शलभ कुमार सिन्हा ने देते हुए कहा कि रैपिड ऐंटिजन टेस्ट निगेटिव आने के बाद मैंने टू नाट टेस्ट करवाया जिसने मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। उन्होने कहा कि जो भी पिछले दिनों मेरे सम्पर्क में आए हों वे अपना टेस्ट कर लें एवं सावधानी बरतें। सुकमा एएसपी की भी कोविड 19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने भी अपने संक्रमित होने की जानकारी देते हुए संपर्क में आए लोगों से कोरोना जांच करा लेने की अपील की है।

 छत्तीसगढ़: कोंटा में तैनात एक सीआरपीएफ के जवान की कोरोना से हुई मौत

छत्तीसगढ़: कोंटा में तैनात एक सीआरपीएफ के जवान की कोरोना से हुई मौत

सुकमा। जिले के कोंटा इलाके में तैनात में सीआरपीएफ के 219 बटालियन के जवान की कोरोना से रायपुर में उक्त जवान की मौत इलाज के दौरान हो गई है। जवान के कोरोना से मौत की पुष्टि करते हुए नभ एल इस्माईल ने बताया कि सीआरपीएफ 219 बटालियन का जवान कोंटा इलाके में पदस्थ था। कोरोना रिपोर्ट के पॉजिटिव आने के बाद उसे सुकमा के कोविड सेंटर में भर्ती करवाया गया था, जहां से जगदलपुर मेडिकल कालेज के कोविड़-19 अस्पताल में उपचार के लिए लाया गया। यहां भी उसके स्वास्थ में सुधार नही होने से उसे रायपुर रिफर किया गया था, जहा इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है।
 पिता ने शराब पीकर किया बवाल तो बेटी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

पिता ने शराब पीकर किया बवाल तो बेटी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

सुकमा। जिले के तोंगपाल सगुनघाट में शराब के नशे में धुत शांति के पिता दुलाराम घर पहुंचकर सहपरिवार को गाली गलौज करने लगा जिससे दुखी होकर शांति ने अपने दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है। मृतिका शांति के पिता दूलाराम के शराब के नशे में आए दिन सभी को गाली गलौज करता था। इससे शांति नाराज हो कर घर से निकलकर कहीं चले गए।
 
 
जिसके बाद पिता अपने बेटे को गाली देना शुरू कर दिया। अगले दिन मृतिका का भाई बाड़ी में पहले से गिरे हुए इमली के पेड़ पर शांति को उसके दुप्पटे से फांसी में लटकता पाया। इमली के गिरे हुए पेड़ पर शान्ति द्वारा डन्गाल पर अपना दुपट्टा से फांसी लगा कर आत्महत्या करने की रिपोर्ट कोसाराम मरकाम, हरीश मरकाम, हड़मा राम मांडवी (सरपंच) के द्वारा तोंगपाल थाना में एसआई भीमसेन भारती के उपस्थिति में दर्ज करवाया।
बाढ़ में फंसे दंपति के नवजात की हुई मौत, पुलिस ने किया सराहनीय सहयोग

बाढ़ में फंसे दंपति के नवजात की हुई मौत, पुलिस ने किया सराहनीय सहयोग

सुकमा। जिले के नक्सल प्रभावित चिंतलनार के मोरपल्ली निवासी दंपति नुप्पो पोज्जे पति नुप्पो जोग को प्रसव पीड़ा हुई। जिसे इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। अस्पताल में इस दंपती को ज्ञात हुआ कि एक बच्चा गर्भ में ही मर गया था, वहीं दूसरा बच्चे का जन्म सुरक्षित हो गया। जिसके बाद कल उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। एम्बुलेंस से गांव तक छोडऩे के लिए भेजा गया। लेकिन केरलापाल के पास बोदागुडा के पास एनएच 30 जाम हो गया जिसके बाद एम्बुलेंस ने उन्हें वही छोड़ दिया। 


प्राप्त जानकारी के अनुसार एम्बुलेंस के आगे नही जाने से अपने छोटे बच्चे के साथ नुप्पो दंपति चिकपाल पहुंचे। जहां थाना प्रभारी शैलेन्द्र नाग ने सभी फंसे हुए लोगों के साथ नुप्पो दंपति को भी खाना खिलाया। रात में अचानक नवजात बच्चे की तबियत खराब हुई और सुबह नवजात की मौत भी हो गई। जिसके बाद परिजन शव को लेकर गांव जाना चाहते थे। लेकिन रास्ते मे कई जगह बाढ़ के चलते वे गांव नही जा सकते थे। जिसकी जानकारी थाना प्रभारी शैलेन्द्र नाग को लगी, उन्होंने केरलापाल के ग्रामीणों से बातचीत की और शव को केरलापाल में ही दफनाने की व्यवस्था करवाई।

थाना प्रभारी शैलेन्द्र नाग ने बताया कि केरलापाल में एक नवजात बच्चे की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार की व्यवस्था करवाया गया तथा इस दंपती को पैसा व वाहन की व्यवस्था कर उन्हें उनके गृहग्राम भेजने की व्यवस्था की गई।
 डीआरजी जवानो और नक्सलियों के बिच मुठभेड़ में मारे गये चार नक्सली

डीआरजी जवानो और नक्सलियों के बिच मुठभेड़ में मारे गये चार नक्सली

सुकमा। जिले के थाना जगरगुंडा अंर्तगत ग्राम जंगलगूंडा के जंगल में संयुक्त कार्यवाही के दौरान सुरक्षाबलों ने चार पुरूष नक्सलियों को मुठभेड़ में मार गिराया है। 
 
 
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जिले के थाना जगरगुंडा से जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी), कोबरा 201 सीआरपीएफ़ 223 के जवान नक्सलियों की सूचना पर संयुक्त कार्यवाही के लिए निकले थे।
 
 
जवानों की सूचना टीम ने ग्राम जंगलगूंडा में नक्सलियों के विरूध्द बड़ी कार्रवाई करते हुए चार पुरूष नक्सलियों को मुठभेड़ में ठेर कर दिया है। मुठभेड़ के बाद मौके से भारी मात्रा में हथियार बरामद किये जाने की सूचना है। जवानों द्वारा इलाके की सर्चिंग जारी है।
 
 
मुठभेड़ की पुष्टि करते हुए बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि मुठभेड़ में चार पुरूष नक्सली मारे गये हैं, इलाके की सर्चिंग जारी है, जवानों के वापसी के बाद विस्तृत जानकारी मिल पायेगी।
 ग्रामीण महिला से क्वारेंटाइन सीआरपीएफ जवान ने किया दुष्कर्म, एफआईआर के बाद आरोपी जवान गिरफ्तार

ग्रामीण महिला से क्वारेंटाइन सीआरपीएफ जवान ने किया दुष्कर्म, एफआईआर के बाद आरोपी जवान गिरफ्तार

सुकमा। जिले के दोरनापाल थानाक्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत दुब्बाटोटा में सीआरपीएफ जवान द्वारा 01 ग्रामीण महिला से  दुष्कर्म व 01 अन्य युवती व 01 महिला से अलग-अलग छेडख़ानी के मामले में सर्व आदिवासी समाज द्वारा दोरनापाल थाने में सम्बन्धित जवान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई, जिसके बाद पुलिस की एक टीम महिला डीएसपी के नेतृत्व में सुकमा से दोरनापाल थाने पहुंची ग्रामीणों की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर आरोपी सीआरपीएफ जवान को गिरफ्तार कर लिया है।


पढ़िए पूरी खबर-
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दोरनापाल थाने में युवती व परिजनों का बयान लिया गया तथा युवती का मेडिकल टेस्ट के बाद उक्त जवान को गिरफ्तार कर घटनास्थल का रिक्रिएशन किया गया जिसके बाद रिमांड पर भेजा गया है। जिले के दोरनापाल थानांतर्गत दुब्बाटोटा में ग्रामीणों द्वारा लगाए गया आरोप के अनुसार बीते सोमवार सीआरपीएफ कैम्प से 200 मीटर की दूरी पर उसी कैम्प में पदस्थ पिछले 18 दिन से सीआरपीएफ गाइडलाइंस के अनुसार क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे जवान जवान के द्वारा गाय चरा रही 16 वर्षीय युवतियों से छेडख़ानी के साथ 21 वर्षीय महिला के साथ दुष्कर्म किया गया। जिसकी एफआईआर बुधवार को दोरनापाल थाना में कराई गई। जांच के बाद पुलिस का कहना है उक्त आरोपी जवान को ड्यूटी से पहले 22 दिन के लिए  क्वारेंटाइन में रखा गया था, क्वारेंटाइन के 18 दिन वह काट चुका था। 
 
 
इस मामले पर एसडीओपी दोरनापाल अखिलेश कौशिक ने बताया कि बुधवार को एक महिला से हमे लिखित शिकायत मिली थी कि उसके साथ किसी व्यक्ति के द्वारा दुष्कर्म की घटना की गई है। जिस पर हमने एफआईआर दर्ज करते हुए मामले की विवेचना किया गया। जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर आज न्यायिक रिमांड के लिए सुकमा भेज दिया गया है।
युवती ने CRPF के जवान पर लगाया रेप का आरोप

युवती ने CRPF के जवान पर लगाया रेप का आरोप

सुकमा, छत्तीसगढ़ सहित देश में जहां एक ओर कोरोना संक्रमण और मौत के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है तो वहीं दूसरी ओर क्वारंटाइन सेंटर और अस्पतालों में रेप और छेड़छाड़ के मामले भी लगातार सामने आ रहे हैं। इसी बीच छत्तीसगढ़ के वनांचल क्षेत्र के सुकमा जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। खबर है कि एक युवती ने सीआरपीएफ जवान पर रेप का आरोप लगाया है। मामले में आदीवासी समाज की शिकायत के आधार पर आरोपी जवान को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ALSO READ:-उच्च शिक्षा विभाग ने महाविद्यालयों के परीक्षा आयोजन एवं प्रवेश हेतु जारी किया गाइडलाइन

मिली जानकारएी के अनुसार सीआरपीएफ जवान को मध्यप्रदेश के बालाघाट से लौटने के बाद दुब्बाटोटा क्वारंटाइन सेंटर में क्वारंटाइन किया गया था। इस दौरान क्वारंटाइन सेंटर के पास युवती को अकेली देखकर जवान की नियत बिगड़ गई और उसने युवती को हवस का शिकार बना लिया। मामले की जानकारी होने पर आदिवासी समाज ने दोरनापाल थाने में शिकायत दर्ज कराई है।
 

बड़ी खबर: 225 किलो गांजे के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर: 225 किलो गांजे के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर

सुकमा। जिले के तोंगपाल पुलिस ने 225 किलो गांजा सहित के साथ 02 तस्करों को गिरफ्तार किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर की सूचना पर थाने के सामने नाकाबन्दी कर वाहनों की जांच पड़ताल के दौरान कल रात्रि को सफेद रंग की बोलेरो क्रमांक सीजी 18-0539 सुकमा की ओर से आ रही थी उसकी जांच करने पर वाहन में 225 किलो गांजा बरामद कर दो तस्कर वाहन चालक दीपक निहाल निवासी दोरनापाल एवं विप्रो सरकार निवासी मलकानगिरी पीव्ही 117 को गिरफ्तार किया गया है। इस कार्रवाई में थाना प्रभारी इस्पेक्टर विनोद एक्का, सउपनि.पन्ना लाल चंद्रवंशी, प्रधान आरक्षक दया शंकर भोई का योगदान रहा।
 
थाना प्रभारी तोंगपाल विनोद एक्का ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर वाहन की चेकिंग के तहत 225 किलो गांजा वाहन क्र0 सीजी 18 के 0539 सफेद रंग की बोलेरो में दोरनापाल से रायपुर जा रहे थे, जिसमें दो तस्करों को पकड़ा गया है।
सड़क निर्माण कार्य में लगे 6 वाहनों को नक्सलियों ने किया आग के हवाले

सड़क निर्माण कार्य में लगे 6 वाहनों को नक्सलियों ने किया आग के हवाले

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे वाहनों में आग लगा दी। नक्सलियों ने विकास कार्य ने बाधा डालने के लिए 2जेसीबी, 1 पोकलेन, 3टिप्पर में आग लगा दी। नक्सलियों ने कुल 6 गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया। एसपी शलभ सिन्हा ने इसकी पुष्टि की है। यह घटना जिले के कुकानार थानाक्षेत्र के धनीकोरता गांव की है, जहां भूसारास से मिचवार-कुकानार मार्ग पर नक्सलियों ने की आगजनी की वारदात को अंजाम दिया है। ग्रामीण सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक कुन्ना के पास सड़क निर्माण में लगी 6 गाडिय़ों में आग लगाई गई है।
अचानक बढ़ा शबरी का जलस्तर ट्रेक्टर ट्राली नदी में फंसी, जाने कहा की है यह घटना

अचानक बढ़ा शबरी का जलस्तर ट्रेक्टर ट्राली नदी में फंसी, जाने कहा की है यह घटना

सुकमा | बस्तर संभाग में मानसून का आगाज लगातार दो दिनों के झमाझम बारिश के साथ शुरू हुई। मानसून के प्रबल प्रभाव से पिछले दो दिनों से जिले के अलग-अलग इलाकों में लगातार बारीश हो रही है हालांकि आज मौसम सुबह से ही साफ है। उसके बावजूद शबरी नदी का जलस्तर अचानक बढ़ गया, जिसके चलते कोंटा में रेत खदान में रेत भरने गया ट्रेक्टर ट्राली देखते ही देखते ट्राली को चारों और से नदी के पानी ने घेर लिया। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार आज सुबह रेत के लिए कुछ मजदूर ट्रेक्टर लेकर कोंटा के शबरी नदी के किनारे रेत भरने के लिए गये हुए थे। ट्रेक्टर ट्राली में रेत भरने के दौरान देखते ही देखते शबरी नदी का जलस्तर बढऩा शुरू हो गया। ट्रेक्टर को किसी तरह वहां से निकालने मे कामयाब हो गये, लेकिन ट्राली वही पर फंस गई। वहा पर प्रत्यक्षदर्शीयों ने बताया कि जब आज सुबह 07 बजे वहां गए तो शबरी नदी का पानी सामान्य था। उसके बाद मजदूर ट्रेक्टर ट्राली में रेत भरने लगे गए लेकिन अचानक देखते ही देखते पानी 04 से 05 फीट बढ़ गया। 
 
नक्सलियों को सरकारी कारतूस सप्लायर एएसआई और हेड कांस्टेबल गिरफ्तार

नक्सलियों को सरकारी कारतूस सप्लायर एएसआई और हेड कांस्टेबल गिरफ्तार

सुकमा। जिले के पुलिस ने नक्सलियों के अर्बन नेटवर्क से जुड़े एएसआई आनंद जाटव और हेड कांस्टेबल सुभाष सिंह को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दोनों आरोपी नक्सलियों को सरकारी कारतूस सप्लाई करते थे। अप्रैल में कांकेर पुलिस ने शहरी नेटवर्क में शामिल ठेकेदार सहित कई लोगों को अपनी गिरफ्त में लिया था। इन्हीं से हुई पूछताछ के दौरान सुकमा से नक्सलियों को कारतूसों सप्लाई होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद से सुकमा पुलिस लगातार कई संदिग्ध जवानों पर नजर रख रही थी। 

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक संदिग्धों के लगातार मोबाइल फोन टेप व ट्रेस किए जा रहे थे। उनकी हर एक गतिविधियों पर पुलिस की नजर बनाए हुए थे। मनोज शर्मा व हरीशंकर स्कॉर्पियो से सुकमा पहुंचे थे। जैसे ही एएसआई बाइक से मलकानगिरी चौक पहुंचा, तभी सबको पकड़ लिया गया। तीनों को पकड़े जाने के बाद पुलिस ने हेड कांस्टेबल को भी इंदिरा कॉलोनी स्थित उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए हेड कांस्टेबल व एएसआई ने दो बार कारतूस बेचे जाने की बात कबूल की है। तीसरी बार वे पुलिस के हत्थे चढ़ गए। हेड कांस्टेबल की ड्यूटी शस्त्रागार में लगी थी। पुलिस ने 04 जून को माओवादियों के लिए गोला बारूद एवं अन्य सामग्री के सप्लाई के सम्बंध में मुखबिर से सूचना मिलने पर धमतरी निवासी मनोज शर्मा व बालोद निवासी हरिशंकर गेडाम को सुकमा मलकानगिरी चौक से घेराबंदी कर पकड़ा गया था। इनके कब्जे से 303 व एसएलआर हथियारों के 395 राउंड कारतूस मिले थे। जिसमे पूछताछ में मनोज शर्मा व हरिशंकर गेडाम की निशानदेही पर दुर्गकोंदल के गणेश कुंजाम व आत्माराम नरेटी को गिरफ्तार किया गया और उन दोनो का सम्पर्क कांकेर के बड़े नक्सली लीडर दर्शन पेद्दा प्रतापपुर एरिया कमेटी सचिव से होने की बात सामने आयी। इनके कब्जे से भी 70 राउंड इंसास और 303 के मिले ।303, एके 47, एसएलआर, इंसास के कुल 695 राउंड् कारतूस बरामद हुए जिस पर कोतवाली थाना सुकमा में अपराध क्रमांक 51/20 दर्ज कर विवेचना की जा रही है। बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि नक्सलियों को कारतूस बेचने के मामले में दोनों जवानों के संलिप्तता सामने आने पर दोनो को हिरासत में ले कर अग्रिम कार्यवाही की जा रही है। मामले की सूक्ष्मता से जांच करने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में 09 सदस्यीय एसआईटी गठित की गयी है। अभी इस मामले में और भी खुलासे होने की संभावना।
जिले में दो ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी निलंबित, साथ ही पांच अधिकारीयों पर हुई कार्यवाही, पढ़ें पूरी खबर

जिले में दो ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी निलंबित, साथ ही पांच अधिकारीयों पर हुई कार्यवाही, पढ़ें पूरी खबर

सुकमा | किसानों के कल्याण के लिए संचालित शासन के महत्वपूर्ण योजनाओं के क्रियान्वयन में भारी लापरवाही बरतने के कारण कलेक्टर चंदन कुमार ने दो ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों को निलंबित कर दिया हैं। वहीं पांच ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों के विरुद्ध एक-एक वेतनवृद्धि रोकने की कार्यवाही की गई है।

कलेक्टर चंदन कुमार की अध्यक्षता में तीन जून को आयोजित कृषि, सहकारिता और राजस्व विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक में किसान कल्याण हेतु संचालित योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की गई थी। समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री कृषक सम्मान निधि अंतर्गत लाभान्वित किसानों के साथ ही सभी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान करने हेतु दिए गए लक्ष्य को प्राप्त करने में बरती गई लापरवाही के साथ ही रबी फसल के क्षेत्राच्छादन की वास्तविक जानकारी नहीं दिए जाने के कारण कोर्रा क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी लकेश कुमार नरेटी और लेदा क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी कमलभान सिंह को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही जीरमपाल क्षेत्र के राजेन्द्र कुमार दरेन्द्र, नीलावरम क्षेत्र के मनोज कुमार देव, पालेम क्षेत्र के ललित कुमार ओझा, कोंटा क्षेत्र के संतोष कुमार तलाण्डी और मिसमा क्षेत्र के येम कुमार ठाकुर की एक-एक वेतनवृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकी गई है । निलंबित कर्मचारियों को नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।
 
कोरोना संकट के बीच शादी करना पड़ा भारी, नवदंपत्ति सहित बाराती पहुंचे 14 दिनों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर, जाने कहा की है ये खबर

कोरोना संकट के बीच शादी करना पड़ा भारी, नवदंपत्ति सहित बाराती पहुंचे 14 दिनों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर, जाने कहा की है ये खबर

सुकमा |  जिले के तोंगपाल से के पास ग्राम सुघनघाट निवासीे युवक का रिश्ता पड़ोसी उड़ीसा राज्य के मलकानगिरी में तय हुआ था। लॉक डाउन के चलते विवाह की तिथि आगे बढ़ा दी गई थी, लेकिन लॉक डाउन मिली थोड़ी छूट के बाद युवक अपनी दुल्हन को बिहाने के लिए बारात लेकर उड़ीसा गया, जहां उसकी शादी धूमधाम से सम्पन्न हुई। विवाह के बाद युवक जब अपने दुल्हन को लेकर वापस सुकमा के अपने गांव लौटा तो प्रशासन ने बारातियों सहित नवदंपत्ति और उसें परिवार को 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में डाल दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार सुकमा जिले के तोंगपाल से लगे हुए सुघनघाट गांव से बारात पड़ोसी राज्य उड़ीसा के मलकानगिरी गई थी। विवाह के बाद कल देर रात दुल्हन को लेकर बारात वापस अपने गांव लौटी जिसकी सूचना प्रशासन को लगते ही प्रशासन के अधिकारी गांव पहुंच गए और नवदंपत्ति सहित बारातियों को क्वारंटाइन सेंटर लाया गया है। अब नव दंपति और बाराती 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रहेंगे। प्रशासन के द्वारा एहतियात के तौर पर नव दंपत्ति एवं बारातियोंं को क्वारंटाइन किया है, क्योंकि उड़ीसा के मलकानगिरी में विगत तीन-चार दिनों से कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 19 तक पहुंच गई है। ऐसे में जिला प्रशासन किसी भी प्रकार का खतरा मोल नहीं लेना चाहती है।
 
जिले के क्वारंटाइन सेंटर से भागने वाले युवक के विरुद्ध हुई एफआईआर, जाने पूरी खबर

जिले के क्वारंटाइन सेंटर से भागने वाले युवक के विरुद्ध हुई एफआईआर, जाने पूरी खबर

सुकमा | जिले के ग्राम पुसपल्ली निवासी 19 वर्षीय तेलामी देवा को क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए युवक के वहां से भागने पर उसके विरूध्द आज एफआईआर दर्ज कर उसकी पतासाजी की जा रही है। क्वारंटाइन सेंटर से भागने वाला युवक तेलांगाना से लौटा था, जिसके बाद उसे क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। 

जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिंह ने बताया कि ग्राम पुसपल्ली का 19 वर्षीय तेलामी देवा तेलंगाना राज्य गया हुआ था। इस युवक की वापसी 18 मई को हुई थी। वापसी के बाद इसे क्वारंटाइन किया गया था, किन्तु वह 19 मई को सुबह-सुबह क्वारंटाइन सेंटर से भाग गया। कोरोना के रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों के विरुद्ध युवक द्वारा बरती गई लापरवाही को क्षेत्र की जनता के स्वास्थ्य के लिए जोखिम भरा पाए जाने पर उसके विरुद्ध एफआईआर की कार्यवाही गई है।
 
तेज अंधड़ व बारिश से क्वारंटाइन सेंटर पर गिरा पेड़, क्वारंटाइन सेंटर में 40 मजदूर थे मौजूद, जाने कहा की है ये खबर

तेज अंधड़ व बारिश से क्वारंटाइन सेंटर पर गिरा पेड़, क्वारंटाइन सेंटर में 40 मजदूर थे मौजूद, जाने कहा की है ये खबर

सुकमा | जिले के दोरनापाल में कल देर शाम को अचानक मौसम बदला और तेज अंधड़ व बारीश से घरों एवं वाहनों के उपर पेड़ गिर गये वहीं तेज हवा ने कई घरों की छत उड़ा दी तो बारीश ने घर में रखे सामान को खराब कर दिया। इसके अलावा करींगुड़म आश्रम में बनाये गये चरटाईन सेंटर में पेड़ गिर गया, जहां करीब 40 मजदूरों को रखा गया था, लेकिन किसी भी प्रकार के जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है। मौके पर पहुंची तहसीलदार की टीम पंहुचकर सुधार कार्य शुरू कर दिया है। साथ ही जिनके घरों को प्रकृतिक आपदा से नुकसान हुआ है, उन्हे मुआवजा देने की बात कही है।

मिली जानकारी के अनुसार शनिवार देर शाम करीब 6.30 बजे मौसम बदलने के साथ ही आसमान मेें गरज-चमक के साथ तेज हवा चलने लगी, हवा इतनी तेज थी कि दोरनापाल स्थित कई घरों की छते ही उड़ा ले गई। साथ ही करींगुड़म आश्रम में बनाये गये चरीटाईन सेंटर भवन पर पेड़ गिर गया। यहां तक कि घर के सामने खड़े टेक्टर व वाहन पर भी पेड़ गिर गऐ। अचानक आए इस तेज अंधड़ से बचाव के लिए लोग कुछ कर पाते कि बारीश शुरू हो गई। रात होने के कारण लोग ज्यादा कुछ नहीं कर पाऐं। हालांकि दो-तीन घंटे के बाद मौसम  ठीक जरूर ठीक हो गया। 
क्वारंटाइन सेंटर का कर्मचारी ने बताया कि जिस वक्त तूफान आया उस समय चरीटाईन सेंटर के कमरों में 40 ग्रामीण मजदूर रूके हुए थे। अचानक तूफान आया तो एक पेड़ भवन पर गिर गया। हालांकि वक्त रहते सभी मजदूरों को दुसरी जगह शिफ्ट किया गया। भवन को नुकसान जरूर हुआ है, लेकिन बड़ा हादसा नही हुआ। 
      दिनभर उमस व तेज गर्मी के बाद देर शाम को मौसम में बदलाव के बाद आसमान में काले बादल छा गए और तेज हवा चलने लगी। एकाएक तेज हवा के साथ बारीश शुरू हो गई। करीब एक घंटे तक तेज बारीश हुई। जिसके बाद मौसम ठंडा हुआ। बारीश से यहां लोगो को गर्मी से राहत जरूर मिली लेकिन दुसरी और इस बारीश ने फसल और वनोपज का नुकसान हुआ है। 
      दोरनापाल तहसीलदार महेन्द्र लहरे ने बताया कि कल शाम को तेज अंधड़ व बारीश के बाद हमारी टीम ने नगर का दौरा किया इसमें किसी भी प्रकार की जनहानि तो नहीं हुई। कुछ घरों पर पेड़ गिर गए, मामूली चोट आई उन्हे अस्पताल भेज दिया गया है। प्रभातिवों का सर्वे किया जा रहा है, आज ही उन्हे मुआवजा राशि उपलब्ध कराया जायेगा।
 
फरार हत्या के तीन आरोपी गिरफ्तार, जादू-टोना के शक में की थी एक युवक की हत्या

फरार हत्या के तीन आरोपी गिरफ्तार, जादू-टोना के शक में की थी एक युवक की हत्या

सुकमा। जिले के ऐर्राबोर पुलिस ने जादू टोना के शक में एक युवक कुहरम भीमा की हत्या करने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार तीनों आरोपियों ने मिलकर दो माह पहले गांव के एक युवक की जादू टोना के शक में हत्या कर दी थी। इस वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी फरार हो गए थे।  गौरतलब है कि  ऐर्राबोर पुलिस ने ग्राम गगनपल्ली में दो माह पहले एक युवक कुहरम भीमा की मौत हो गई थी। कुहरम की मौत के बाद परिजनों को आशंक थी कि गांव में ही रहने वाले बोड्डू लच्छा ने जादू टोना कर कुहरम को मारा था। इसी आशंका के पर मृतक के पुत्र कुहरम नरेश ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर बोड्डू लच्छा की हत्या कर दी थी और फरार हो गए थे। फिलहाल पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर न्यायलय में पेश किया, जहां से तीनों को जेल दाखिल कर दिया है।
हैदराबाद से 400 किलोमीटर पैदल यात्रा कर सुकमा पहुचे एक दर्जन से अधिक मज़दूर, प्रशासन ने किया क्वारन्टीन

हैदराबाद से 400 किलोमीटर पैदल यात्रा कर सुकमा पहुचे एक दर्जन से अधिक मज़दूर, प्रशासन ने किया क्वारन्टीन

सुकमा। पूरी दुनिया में करुणा वायरस का प्रकोप सर चढ़कर बोल रहा है भारत में कई महीनों से लाकडाउन लगा हुआ है यहां सबसे ज्यादा प्रभावित प्रतिदिन कमाने खाने वाले मजदूर हुए हैं छत्तीसगढ़ में मजदूरों की ऐसी मजबूरी की उन्हें 400 किलोमीटर पैदल चलकर आना पड़ रहा है| मजदूरी करने हैदराबाद गए छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के 17 मजदूर पैदल चलकर 4 दिनों में कोंटा पहुंचे, इस दौरान रास्ते में उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ा। हालांकि खाने के लिए गांव-गांव में ग्रामीणों ने व्यवस्था कर दी थी यहां स्वास्थ्य जांच कर क्वारंटाइन किया जाएगा उसके बाद ही उन्हे घर भेजा जाएगा।
 

कोरोना प्रकोप के सबसे ज्यादा प्रभावित मजदूर वर्ग हुआ है क्योंकि अपने घरों से मीलों दूर मजदूर करने गए मजदूरों का सब्र टूट चुका है| अब वो पैदल ही अपने घर जाने के लिए रवाना हो गए है ऐसे ही 17 मजदूर कोंटा पहुंचे हैं| वे मजदूर कोंटा से करीब 400 किलोमीअर दूर हैदराबाद से पैदल चलकर वो भी मात्र 4 दिनों में पहुंचे हैं मजदूरों ने बताया कि 22 अप्रैल को वो हैदराबाद से रवाना हुए थे और रास्ते में उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ा, हालांकि खाने की व्यवस्था बीच-बीच में गांव वालों ने कर दी थी. यहां बोर्डर पर उनका स्वास्थ्य जांच हुआ उसके बाद उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा। उसके बाद ही उन्हे गांव भेजा जाएगा। सभी मजदूर सुकमा जिले के तालनार इलाके के रहने वाले हैं।
लॉकडाउन में भी नक्सलियों का सीएए विरोध जारी फेंके पर्चे, सड़क काट कर आवागमन किया ठप्प

लॉकडाउन में भी नक्सलियों का सीएए विरोध जारी फेंके पर्चे, सड़क काट कर आवागमन किया ठप्प

सुकमा, जिले के दोरनापाल-जगरगुण्डा मार्ग पर नक्सलियों ने बीती रात सड़क काट कर आवागमन को ठप्प कर दिया है। बड़े वाहनों की आवाजाही जहां बंद हो गई है, वहीं दोपहिया वाहन किसी तरह गड्ढों को पार कर पा रहे हैं। सड़क काट कर रास्ते में कई जगह नक्सलियों की कोंटा ?एरिया कमेटी ने सीएए के विरोध पर्चे फेंके है।
गौरतलब है कि कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन से जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। वहीं नक्सल प्रभावित अंदरूनी बीहड़ अंचलों में जहां सामान्य दिनों में भी बड़ी मुश्किल से लोगों तक राशन और अन्य जरूरत की चीजें पहुंचाई जाती है। ऐसे संक्रमण काल में नक्सलियों के द्वारा ग्रामीणों को शासन से नि:शुल्क मिलने वाले चांवल में से आधे चांवल की उगाही कर रहे हंै। ग्रामीणों के हितैषी बताने वाले नक्सलियों का उत्पात अनवरत जारी है।
 

बड़ी खबर : लॉक डाउन के बीच चिंतानाल में मुठभेड़, सुरक्षाबल के जवानों ने मार गिराया 5 लाख का इनामी नक्सली

बड़ी खबर : लॉक डाउन के बीच चिंतानाल में मुठभेड़, सुरक्षाबल के जवानों ने मार गिराया 5 लाख का इनामी नक्सली

सुकमा | छत्तीसगढ़ के सुकमा के चिंतलनार मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 5 लाख के इनामी नक्सली को ढेर कर दिया है।

मौके से राइफल सहित ग्रेनेड और टिफिन के साथ ई नक्सल सामग्री भी जब्त किए गए हैं। मारे गए नक्सली पर ओडिशा ने भी 4 लाख का इनाम घोषित किया था।
एएसपी नक्सल ऑपरेशन सिद्धार्थ तिवारी ने इसकी पुष्टि की है। उनके मुताबिक डीआरजी के जवान सर्चिंग पर निकले थे। चिंतलनार में नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हो गई। एनकाउंटर में जवानों ने 5 लाख के इनामी नक्सली को मार गिराया। मारे गए नक्सली की पहचान एसीएम पोडिय़म काना उफऱ् नागेश के रूप में हूई हैं। आंध्र उड़ीसा बॉर्डर पर सक्रिय था मारा गया नक्सली नागेश उड़ीसा पुलिस ने भी रखा था ।
 
एक-एक लाख के 2 ईनामी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

एक-एक लाख के 2 ईनामी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

सुकमा। जिले के नक्सल ऑपरेशन कार्यालय में एक-एक लाख के 02 ईनामी नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। आत्मसमर्पित नक्सलियों में एक लाख की ईनामी महिला नक्सली भी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ईनामी महिला नक्सली कवासी भीमें नक्सली संगठन में केएएमएस अध्यक्ष के रूप में सक्रिय थी। दूसरा ईनामी नक्सली सोमारू घुरवा डीएएमएस अध्यक्ष के रूप में नक्सली संगठन में सक्रिय था। दोनो ईनामी नक्सलियों पर 01-01 लाख रूपये का ईनाम घोषित था। आज दोनों ही नक्सलियो ने मुख्यधारा से जुडऩे का फैसला लिया और नक्सल ऑपरेशन कार्यालय में एएसपी सिद्धार्थ तिवारी व सीआरपीएफ 02 बटालियन के अधिकारी ताशी ज्ञानिक के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। दोनों ही आत्मसमॢपत नक्सलियों को पुलिस ने दस हजार रूपये के प्रोत्साहन राशि के साथ पुनर्वास नीति के तहत समुचित लाभ प्रदान किया जाएगा।
+ Load More