Corona Update 04 Oct : प्रदेश में आज इतने मरीजों की हुई पुष्टि, इस जिले से मिले सबसे ज्यादा मामले, देखिए जिलेवार आंकड़ें    |    Corona Update 3 Oct : राज्य में कोरोना से 1 की मौत...इस जिले से मिले सबसे ज्यादा मामलें...देखें जिलेवार आंकड़ें    |    Corona Update 2 Oct : प्रदेश में आज मिले कोरोना के इतने मरीज, फिर इस जिले से सामने आए सर्वाधिक मामलें...देखें जिलेवार आंकड़े    |    TRANSFER BREAKING : लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में बड़ी फेरबदल, कई अधिकारी कर्मचारी इधर से उधर...देखें पूरी लिस्ट    |    Corona Update 30 Sept : प्रदेश में आज इतने मरीजों की हुई पुष्टि, इस जिले से मिले सबसे ज्यादा मामले, देखिए जिलेवार आंकड़ें    |    कोरोना को लेकर राहत की खबर...24 घंटे में मिले इतने नए कोरोना के मरीज...देखिए जिलेवार आकड़े    |    कोरोना को लेकर राहत की खबर...24 घंटे में मिले इतने नए कोरोना के मरीज...देखिए जिलेवार आकड़े    |    Corona Update 26 September : छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के इतने नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना को लेकर राहत की खबर...24 घंटे में मिले इतने नए कोरोना के मरीज...देखिए जिलेवार आकड़े    |    Corona Update 24 September : छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के इतने नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |
स्वामी आत्मानंद विद्यालय की विभिन्न पदों की सूची जारी

स्वामी आत्मानंद विद्यालय की विभिन्न पदों की सूची जारी

 सुकमा: जिले में संचालित स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय दोरनापाल, कुकानार और तोंगपाल में शैक्षिक एवं गैर शैक्षिक पदों पर प्रतिनियुक्ति व संविदा पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे। जिसमें शैक्षिक पद कम्प्यूटर शिक्षक एवं गैर शैक्षिक पद भृत्य, चौकीदार के पात्र-अपात्र अभ्यर्थियों की सूची जारी की गई है।

इस सूची का अवलोकन जिले की आधिकारिक वेबसाइट www.sukma.gov.in पर किया जा सकता है। जारी सूची में जिस किसी अभ्यर्थी को आपत्ति होने पर 19 सितंबर तक कार्यालयीन समय पर जिला शिक्षा कार्यालय के स्थापना शाखा के पास प्रमाणिक दस्तावेजों के साथ दावा आपत्ति प्रस्तुत कर सकते हैं। निर्धारित तिथि के पश्चात प्राप्त होने वाले दावा आपत्तियां स्वीकार नहीं की जाएगी।

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, एक महिला समेत 3 नक्सलियों ने किया सरेंडर, कई वारदातों में थे शामिल

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, एक महिला समेत 3 नक्सलियों ने किया सरेंडर, कई वारदातों में थे शामिल

 सुकमा: छत्तीसगढ़ में पुलिस द्वारा नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान जारी है। इसी कड़ी में सुकमा पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। जिले के कोंटा में एक महिला समेत 3 नक्सलियों ने सरेंडर किया है।

मंगलवार को कोंटा में इन नक्सलियों ने पुलिस एवं सीआरपीएफ अधिकारियों के समक्ष बिना हथियार के आत्मसमर्पण किया है। कोंटा नक्सल ऑपरेशन एएसपी गौरव मंडल ने बताया कि जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर नक्सली संगठन में सक्रिय रहे, एक महिला सहित 3 नक्सलियों ने पुलिस और सीआरपीएफ अधिकारी के समक्ष आत्म समर्पण किया।

आत्म समर्पित महिला नक्सली महिला मड़कम हिड़मा पिता मड़कम कोसा, निवासी पामेड़ थाना क्षेत्र जिला बीजापुर, पुनेम जोगा पिता पुनेम कन्ना, एलमागुड़ा जीआरडी डिप्टी कमांडर, डॉक्टर कमेटी सदस्य चिंतागुफा थाना क्षेत्र जिला सुकमा, कारम सुक्कु पिता कारम मासा, पेद्दागेलूर जनताना सरकार उपाध्यक्ष, निवासी बासागुड़ा थाना क्षेत्र जिला बीजापुर के है।

ये नक्सली कोंटा थाना क्षेत्र में घटित कई वारदातों में शामिल रहे थे। आत्मसमर्पित नक्सलियों को आत्मसमर्पण कराने में सीआरपीएफ का विशेष योगदान था। सभी आत्मसमर्पित नक्सलियों को शासन के पुनर्वास योजना के तहत प्रोत्साहन राशि व अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएगी।

माओवादियों ने लगाई जनअदालत: सरेंडर नक्सली को कटघरे में खड़े कर गांववालों से पूछा- ये गद्दार है, मारें या छोड़ दें

माओवादियों ने लगाई जनअदालत: सरेंडर नक्सली को कटघरे में खड़े कर गांववालों से पूछा- ये गद्दार है, मारें या छोड़ दें

 माओवादियों की चेरला एरिया कमेटी ने जनअदालत का एक वीडियो जारी किया है, जिसमे देखा जा सकता है कि छत्तीसगढ़ और तेलंगाना राज्य की सीमा के जंगल में माओवादियों ने जनअदालत लगाई। इस जनअदालत में एक सरेंडर नक्सली को कटघरे में खड़ा किया गया। यहां मौजूद सैकड़ों ग्रामीणों से पूछा- इस गद्दार का क्या किया जाए? मार दें या छोड़ दें। ग्रामीणों ने एक स्वर में कहा कि, इसने हमें परेशान नहीं किया है। एक मौका दे देते हैं। ग्रामीणों की बात सुनकर माओवादियों ने सरेंडर नक्सली को रिहा कर दिया है।
20 अगस्त को गांव से नक्सलियों ने किया था अपहरण
दरअसल, करीब 3 से 4 सालों तक नक्सलियों के साथ काम करने के बाद नक्सली जीवन ने साल 2021 में सरेंडर कर दिया था। जंगल से निकल कर खुशहाल जिंदगी जी रहा था। नक्सली लगातार इसकी तलाश कर रहे थे। वहीं 20 अगस्त को सुकमा के किस्टाराम के एटूपाका गांव से नक्सलियों ने जीवन का अपहरण कर लिया था। फिर आंखों पर पट्टी बांधकर तेलंगाना और छत्तीसगढ़ राज्य के सीमावर्ती जंगलों में 2 से 3 दिनों तक लगातार घुमाया गया। जिसके बाद तेलंगाना के भद्रादी जिले के एक गांव के जंगल में जनअदालत लगाकर जीवन को कटघरे में खड़ा कर दिया।

इस जनअदालत में आस-पास गांव के सैकड़ों ग्रामीण भी पहुंचे हुए थे। नक्सलियों ने जीवन के हाथ बांधे थे, आंखों पर काली पट्टी बांधी थी। कुछ देर बाद आंखों की पट्टी खोली। नक्सलियों की चेरला एरिया कमेटी के हार्डकोर नक्सलियों ने ग्रामीणों से कहा कि, यह गद्दार है। हमारा साथ छोड़कर पुलिस के साथ मिल गया है। हमारी खबर पुलिस को देता है। नक्सलियों ने ग्रामीणों के सामने जीवन से भी यह कबूल करवाया। जिसके बाद जनअदालत में मौजूद ग्रामीणों से पूछा गया कि इस गद्दार का क्या किया जाए? तब ग्रामीणों ने कहा इसे एक मौका और देना चाहिए। फिर नक्सलियों ने जीवन को रिहा कर दिया।

दोरनापाल से सुकमा तक निकाली तिरंगा रैली, मंत्री कवासी लखमा हुए शामिल, कहा - तिरंगा हमारी आन-बान-शान है

दोरनापाल से सुकमा तक निकाली तिरंगा रैली, मंत्री कवासी लखमा हुए शामिल, कहा - तिरंगा हमारी आन-बान-शान है

 सुकमा: भारत की आजादी के 75वें वर्ष को पूरे देश में आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव में हर घर तिरंगा अभियान की भी शुरुआत की गई है। इस मौके पर हर जगह अनेक आयोजन हो रहे हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 223वीं वाहिनी की ओर से दोरनापाल से लेकर सुकमा तक तिरंगा रैली का आयोजन किया गया। इस रैली में राज्य के उद्योग एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा शामिल हुए और तिरंगा लहराया।

इस दौरान मंत्री लखमा ने देश की स्वाधीनता की 75वीं वर्षगांठ पर सभी को अग्रिम बधाई व शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि तिरंगा देश की एकता के लिए हमारी ताकत है और यह हमारी आन-बान-शान है। मंत्री लखमा ने सुरक्षा जवानों का हौसला बढ़ाया। तिरंगा रैली के दौरान दोरनापाल से सुकमा के बीच अनेक स्थानों पर स्कूली बच्चों और स्थानीय लोगों ने हाथों में तिरंगा थामे रैली का स्वागत पूरे जोश से किया। इस रैली में सुकमा जिला कलेक्टर हरीश एस., पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा, कमांडेट रघुवंश कुमार समेत अनेक अधिकारी उपस्थित रहे।

गौरतलब है कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत स्वतंत्रता सप्ताह के अवसर पर हर घर तिरंगा कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इस बीच राज्य शासन की ओर से 11 से 17 अगस्त 2022 तक हमर तिरंगा अभियान का भी आयोजन किया जा रहा है। इस अभियान के माध्यम से प्रदेश के सभी नागरिकों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है ताकि समस्त नागरिकों के मन में देशभक्ति की भावना और राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान में वृद्धि हो।

सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, नक्सली कैंप को किया ध्वस्त, मुठभेड़ में तीन ढेर

सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, नक्सली कैंप को किया ध्वस्त, मुठभेड़ में तीन ढेर

 Chhattisgarh News : छत्तीसगढ़(Chhattisgarh) के बीजापुर (bijapur)में सुरक्षाबलों (security forces)के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। यहां जवानों ने नक्सलियों के कैंप को ध्वस्त कर दिया है। मौके से भारी मात्रा में हथियार, विस्फोटक बरामद किए गए हैं। इसके अलावा पुलिस का दावा है कि गोलीबारी में तीन नक्सलियों (three naxalites)को भी मार गिराया गया है।

पुलिस ने बताया, बीजापुर के मोदकपाल थाना क्षेत्र में जवानों ने नक्सलियों के खिलाफ तीन दिन पहले ऑपरेशन शुरू किया था। कैंप को ध्वस्त करने और तीन नक्सलियों को ढेर करके, पूरे तीन दिन बाद जवान मुख्यालय लौटे हैं। हालांकि, अभी तक किसी नक्सली का शव बरामद नहीं किया गया है।

पहाड़ी पर लगाया था कैंप
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, बोंगला-पुंगर के जंगल-पहाड़ी क्षेत्र में 25 से 30 नक्सलियों ने कैंप लगाया है। सभी नक्सली हथियारों से लैस हैं। सूचना के बाद डीआरजी, एसटीएफ और सीआरपीएफ 229 बटालियन को मौके पर रवाना किया गया।

जवानों को देखते ही शुरू हुई फायरिंग
अधिकारियों ने बताया, जवान सात अगस्त को नक्सलियों के इलाके में पहुंचे। उनके पहुंचते ही नक्सलियों की ओर से फायरिंग शुरू कर दी गई। इसके बाद सुरक्षाबलों के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। इसमें तीन नक्सलियों को मार गिराया गया। भारी फायरिंग के चलते नक्सली वहां से भाग गए। इसके बाद जवानों ने उनके कैंप को तहस-नहस कर दिया। अधिकारियों ने बताया सर्च ऑपरेशन के दौरान एक नक्सली घायल अवस्था में मिला, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं कैंप से भारी मात्रा में हथियार बरादम हुए हैं।

16 लाख के इनामी नक्सल दंपती ने किया आत्मसमर्पण, 76 जवानों की शहादत में थे शामिल

16 लाख के इनामी नक्सल दंपती ने किया आत्मसमर्पण, 76 जवानों की शहादत में थे शामिल

 सुकमा। एसपी कार्यालय में पुलिस व एसटीएफ के अफसरों के सामने 16 लाख के इनामी नक्सली दंपती सवलम मुत्ता उर्फ सुक्कु व सवलम गंगी ने मंगलवार को आत्मसमर्पण कर दिया। सरेंडर दंपती नक्सलियों की दक्षिण बस्तर डिवीजनल कमेटी में सक्रिय खूंखार नक्सली हिड़मा ने नेतृत्व वाली बटालियन नंबर-1 के सदस्य के रूप में सक्रिय थे।

सुक्कु जिले के एर्राबोर और गंगी चिंतागुफा थाना क्षेत्र के निवासी है। अफसरों ने सरेंडर दंपती को 10-10 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि का चेक देते हुए उन्हें शासन की पुनर्वास नीति का लाभ देने की बात कही। सुक्कु 2006 में नक्सली संगठन में शामिल हुआ। 3 साल बाद ही वह नक्सलियों की मिलिट्री कंपनी नंबर का सदस्य बना। 6 साल बटालियन मुख्यालय सेक्शन बी का सदस्य था।

नक्सलियों ने साल 2019 में बटालियन के कंपनी नंबर-1 के प्लाटून नंबर-1 का डिप्टी कमांडर बना दिया। सरेंडर नक्सली सुक्कु बीते 16 साल से नक्सली संगठन में सक्रिय था। वह सुकमा के अलावा बीजापुर जिले में घटित 16 बड़ी नक्सली वारदात में शामिल रहा। इन नक्ससी वारदातों में 175 जवानों की शहादत हुई। इनमें साल 2010 में चिंतागुफा थाना क्षेत्र के ताड़मेटला में हुई 76 सीआरपीएफ जवानों की शहादत के अलावा कसालपाड़, बुरकापाल व टेकलगुड़ेम जैसे बड़े नक्सली हमले में सुक्कु शामिल था।

नक्सली दंपति ने किया आत्मसमर्पण...दोनों पर था 8-8 लाख रुपये का इनाम

नक्सली दंपति ने किया आत्मसमर्पण...दोनों पर था 8-8 लाख रुपये का इनाम

 सुकमा: नक्सल प्रभावित जिले में माओवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे पुना नर्कोम अभियान का बड़ा असर देखने को मिला है। इसके तहत सक्रिय नक्सल दंपति ने सरेंडर किया है। दोनों पर 8-8 लाख रुपये का इनाम घोषित था। नक्सल दंपति ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आत्मसमर्पण किया है।जानकारी के मुताबिक आत्मसमर्पण करने वाले नक्सल दंपति में पुरुष नक्सली मुत्ता उर्फ सुक्कू 16 और पत्नी सवलम गंगी 10 वर्ष से सक्रिय थे। दोनों आत्‍मसमर्पित नक्‍सली ताड़मेटला, तोड़मरका समेत दर्जनभर घटनाओं में शामिल थे।

बस्तर फाइटर आरक्षक भर्तीः 1 अगस्त से होगा इंटरव्यू

बस्तर फाइटर आरक्षक भर्तीः 1 अगस्त से होगा इंटरव्यू

 सुकमा: बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती प्रक्रिया वर्ष 2021-2022 जिला सुकमा अंतर्गत शारीरिक दक्षता परीक्षा एवं लिखित परीक्षा में योग्य पाये गये 566 अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 1 अगस्त से 8 अगस्त तक दो पालियों में प्रथम पाली रिर्पोंटिग समय सुबह 8 बजे और द्वितीय पाली रिर्पाेटिंग समय 11 बजे से कार्यालय नवीन पुलिस अधीक्षक कार्यालय, कुम्हाररास, सुकमा में आयोजित किया जायेगा।

साक्षात्कार के लिए प्रवेश पत्र का वितरण 26 जुलाई से 30 जुलाई तक पुलिस अधीक्षक कार्यालय कुम्हाररास, सुकमा में किया जायेगा। साक्षात्कार के समय सभी अभ्यर्थियों का पुनः दस्तावेज परीक्षण किया जायेगा। अतः सभी अभ्यर्थी संबंधित प्रमाण पत्र की मूलप्रति जैसे-निवास और जाति प्रमाण पत्र, रोजगार पंजीयन, पासपोर्ट साईज का फोटो, शिक्षा संबंधी प्रमाण-पत्र, नियोक्ता का अनापत्ति प्रमाण-पत्र, भूतपूर्व सैनिक/नगर सैनिक/सहायक आरक्षक संबंधी प्रमाण-पत्र, जन्मतिथि सत्यापन के लिए प्रमाण पत्र, आयु में छुट की पात्रता है तो उक्त छूट के संबंध में प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से लाना होगा।

बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती परीक्षा के लिए साक्षात्कार 20 अंक का होगा। साक्षात्कार के समय ही बोनस अंक निर्धारित किये जाएंगे। प्रात्र अभ्यर्थी बोनस अंक संबंधी प्रमाण-पत्र की मूल प्रति साथ लकर उपस्थित होंगे। राष्ट्रीय स्तर पर खेलकूद में प्रवीणता के लिए 5 अंक एनसीसी सी प्रमाण पत्र और एनएसएस (राष्ट्रीय सेवा योजना) के प्रमाण-पत्र के लिए 5 अंक, जिले की स्थानीय बोली के ज्ञान के लिए 20 अंक निर्धारित है। साक्षात्कार केंद्र पर साक्षात्कार प्रवेश-पत्र लाना अनिवार्य होगा एवं बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन के बाद ही साक्षात्कार के लिए प्रवेश दिया जाएगा।

पुलिस ने मुठभेड़ में एक नक्सली को किया ढेर, हथियार बरामद

पुलिस ने मुठभेड़ में एक नक्सली को किया ढेर, हथियार बरामद

 सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा में पुलिस और नक्सलियों की मुठभेड़ जारी है। गोगुंडा पहाड़ी पर मुलेरवागू के जंगलों में ये मुठभेड़ चल रही है। मुठभेड़ में जवानों ने एक वर्दीधारी नक्सली को मार गिराया है। सर्चिंग के दौरान मारे गए नक्सली के पास से एक कट्टा बरामद किए हैं। मामला पुलबगड़ी थानाक्षेत्र का है। सुकमा एसपी सुनील शर्मा ने की मामले की पुष्टि की है

नक्सलियों की बर्बरता, बेटे और पत्नी के सामने की ग्रामीण की बेरहमी से हत्या

नक्सलियों की बर्बरता, बेटे और पत्नी के सामने की ग्रामीण की बेरहमी से हत्या

 सुकमा। नक्‍सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्‍सलियों ने एक दुकानदार की हत्‍या का मामला सामने आया है।जानकारी के अनुसार नक्‍सलियों ने ग्रामीण की हत्‍या के बाद उसके वाहन में आग लगा दी।  एसपी सुनील शर्मा ने घटना की पुष्टी की है। यह घटना सुकमा ( sukma)के पोलमपल्‍ली की है, जहां नक्‍सली मड़कम जोगा नाम के ग्रामीण घर में घुस गए। नक्‍सलियाें ने मड़कम जोगा की उसके बच्चे और पत्नी के सामने लाठी डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी। मृतक पोलमपल्ली में किराने की दुकान चलाता था। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी हुई है।

नक्सलियों ने सड़क काटकर फेंका पर्चा, किया अग्निपथ भर्ती का विरोध

नक्सलियों ने सड़क काटकर फेंका पर्चा, किया अग्निपथ भर्ती का विरोध

 सुकमा। जिले के चिन्तलनार थाना क्षेत्र अंर्तगत जगरगुंडा मार्ग पर ग्राम नरसापुरम के पास नक्सलियों ने कई जगहों पर सड़क को काटकर मार्ग अवरूद्ध कर दिया। नक्सलियो के जगरगुंडा एरिया कमेटी ने पर्चे भी फेंके हैं, इन पर्चों में अग्निपथ योजना का जिक्र करते हुए अग्निपथ भर्ती का विरोध किया गया है। नक्सलियों की कायराना करतूत की जानकारी मिलने पर आज सुबह कोबरा 201 बटालियन के जवान मौके पर पहुंचकर नक्सलियों द्वारा काटे गए सड़क को दुरुस्त कराया गया। जिसके बाद इस मार्ग पर आवाजाही शुरू हो गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को नक्सलियों ने जगरगुंडा मार्ग पर ग्राम नरसापुरम के पास सड़क को जगह-जगह काटकर तथा सड़कों में लकड़ी, पत्थर डालकर मार्ग बाधित कर नक्सलियों ने सड़क को जाम करने के साथ ही पर्चे भी फेंके हैं। इन पर्चों में अग्निपथ योजना का जिक्र करते हुए अग्निपथ भर्ती का विरोध किया गया है। नक्सलियों के जगरगुंडा एरिया कमेटी द्वारा फेंके गए पर्चे में फर्जी मुठभेड़ का आरोप लगाते हुए ऑपरेशन प्रहार को हराने की बात कही गई है। मंगलवार की देर शाम कई ग्रामीण गड्ढों के ऊपर से बाइक पार कर अपने गंतव्य की ओर जाते देखे गए। आज सुबह कोबरा 201 बटालियन के जवानों के द्वारा सड़क को दुरुस्त करवाने के बाद इस मार्ग पर आवाजाही शुरू हो गई है।

नक्सलियों ने मचाया उत्पात, काटी सड़कें और लगाया बैनर-पोस्टर...इस बात का कर रहे विरोध

नक्सलियों ने मचाया उत्पात, काटी सड़कें और लगाया बैनर-पोस्टर...इस बात का कर रहे विरोध

 सुकमा। जिले में नक्सलियों ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। जिले के कई इलाकों में नक्सलियों ने उत्पात मचाते हुए सड़क को काट दिया है। जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढे कर मार्ग बाधित कर दिए हैं। साथ ही बैनर-पोस्टर चस्पा कर अग्निपथ योजना का विरोध किया है। जानकारी मिलते ही कोबरा के 202 बटालियन के जवान मौके पर पहुंच मार्ग बहाल करवा रहे हैं। मामला जिले के चिंतलनार थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों ने जगरगुंडा के नरसापुरम गांव में गड्ढें कर कहीं लकड़ियां डाली हैं तो कहीं पत्थर डाल मार्ग पूरी तरह से बाधित कर दिया है। नक्सलियों ने जगह-जगह पर पर्चे फेंक के केंद्र और राज्य सरकार की कई योजनाओं का विरोध किया है। साथ ही केंद्र की अग्निपथ योजना को गलत बताया है। इस योजना का विरोध करने की बात कही है।

माओवादियों ने बैनर पोस्टर के माध्यम से जवानों पर फर्जी मुठभेड़ का भी आरोप लगाया है। माओवादियों ने पर्चे के माध्यम से कहा है कि, ऑपरेशन प्रहार के नाम पर पुलिस फर्जी मुठभेड़ कर रही है। माओवादियों ने ऑपरेशन प्रहार को बंद करने कहा है।

 
भारी बारिश से बस्तर तर-बतर...बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे कवासी लखमा

भारी बारिश से बस्तर तर-बतर...बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे कवासी लखमा

 सुकमा। बस्तर संभाग में मूसलाधार बारिश जारी है. मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी दिया है. सुकमा, बीजापुर, दंतेवाड़ा और बस्तर जिले में भारी बारिश की चेतावनी दी है. इसी कड़ी में बाढ़ ग्रस्त इलाकों का छत्तीसगढ़ के उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने दौरा किया. मंत्री इस दौरान पिकअप वाहन से बाढ़ प्रभावितों से मिलने पहुंचे.

दरअसल, बस्तर संभाग में भारी बारिश के कारण अंदरूनी इलाकों में रहने वाले ग्रामीणों की चिंता बढ़ गई है. नदी-नाले उफान पर हैं. कई गांव टापू बन गए हैं. इस दौरान कलेक्टर हरीश एस और एसपी सुनील शर्मा ट्रैक्टर पर सवार होकर लोगों से मिलने पहुंचे.

बता दें कि शबरी का लगातार जलस्तर बढ़ रहा है. इसी कड़ी में बाढ़ ग्रस्त इलाके का दौरा करने मंत्री कवासी लखमा पहुंचे. मंत्री के साथ कलेक्टर, एसपी औऱ नगर पालिका अध्यक्ष राजू साहू भी मौजूद रहे.

एनएच 30 पर बाढ़ का पानी आ जाने के चलते मंत्री कवासी लखमा पिकअप वाहन में सवार होकर इंजरम पहुंचे. वहीं कलेक्टर हरीश एस और एसपी सुनील शर्मा ट्रैक्टर पर सवार हुए और बाढ़ ग्रस्त इलाके का दौरा किया.

इस दौरान मंत्री लखमा ने कहा कि बाढ़ प्रभावितों तक समय पर मदद पहुंचाएं और उनकी जो भी आवश्यकताएं हैं, उसे समय पर उपलब्ध कराएं. राहत शिविर में रह रहे लोगों को किसी प्रकार की तकलीफ न हो इसका विशेष ध्यान रखें.

नक्सलियों के मंसूबो को CRPF जवानों ने किया विफल, 3 किलो वजनी IED बम किया डिफ्यूज

नक्सलियों के मंसूबो को CRPF जवानों ने किया विफल, 3 किलो वजनी IED बम किया डिफ्यूज

 सुकमा। छत्तीसगढ़( chhattisgarh) में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) ने तीन  किलों IED बम का पता लगाया और डिफ्यूज( difuse) कर दिया मामला चिंतागुफा थाना क्षेत्र का है।जानकारी के अनुसार चिंतागुफा थाना क्षेत्र के करीगुंडम इलाके में नक्सलियों( naxali) ने सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने 3 किलो का आईईडी बम लगाया था। इसे CRPF 150 वाहिनी और कोबरा की संयुक्त टीम( team) ने कार्रवाई कर बरामद किया। इसके बाद सहायक कमांडेंट गौतमचन्द्र के नेतृत्व में आईईडी बम( IED) को निष्क्रिय किया गया।

सुकमा में पुलिस-नक्सली में मुठभेड़... 5 लाख का इनामी माओवादी ढेर

सुकमा में पुलिस-नक्सली में मुठभेड़... 5 लाख का इनामी माओवादी ढेर

 सुकमा। जिले में शुक्रवार को पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है। DRG जवानों ने एक पुरुष माओवादी को ढेर किया है। जिसकी शिनाख्त एरिया कमेटी मेंबर (ACM) कमलेश के रूप में की गई है। मारे गए माओवादी पर 5 लाख रुपए का इनाम घोषित था। उसका शव भी बरामद कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि, मुठभेड़ में कई नक्सली भी घायल हुए हैं। जवानों ने हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद किया है। मामला गादीरास थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, ऑपरेशन मानसून के तहत DRG के जवानों को सर्चिंग पर निकाला गया था। जवान जब मनकापाल के जंगल में पहुंचे तो वहां पहले से ही घात लगाए बैठे माओवादियों ने जवानों को देख फायर खोल दिया। जिसके बाद जवानों ने भी फौरन मोर्चा संभाला और नक्सलियों की गोलियों का मुंहतोड़ जवाब दिया। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली बैकफुट हो गए और जंगल का सहारा लेकर भागने लगे। बताया जा रहा है कि, पुलिस और नक्सलियों के बीच करीब आधे घंटे से ज्यादा मुठभेड़ चली।

जवाबी कार्रवाई में जवानों ने एक पुरुष माओवादी को ढेर कर दिया है। मुठभेड़ स्थल पर कई जगह खून के धब्बे के भी निशान मिले हैं। ऐसे में पुलिस का दावा है कि इस मुठभेड़ में कई नक्सली घायल हुए हैं। फिलहाल मुठभेड़ रुक गई है और जवान सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं। इस इलाके में मोबाइल नेटवर्क नहीं होने की वजह से ज्यादा जानकारी निकलकर सामने नहीं आ सकी है।

दंतेवाड़ा और सुकमा जिले की सरहद पर पुलिस और नक्सलियों के बीच गुरुवार को भी मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ में 5 लाख रुपए के एक हार्डकोर इनामी माओवादी को जवानों ने ढेर कर दिया था। गुरुवार की दोपहर जवान जब मारजुम के जंगल में पहुंचे तो वहां पहले से ही घात लगाए बैठे माओवादियों ने जवानों पर फायर खोल दिया था। जवाबी कार्रवाई में माओवादियों को सफलता मिली थी।

सड़क और पुल निर्माण कार्य में लगे 6 वाहनों को नक्सलियों ने फूंका

सड़क और पुल निर्माण कार्य में लगे 6 वाहनों को नक्सलियों ने फूंका

 जगदलपुर। नक्सल प्रभावित जगदलपुर-महाराष्ट्र बॉर्डर पर नक्सलियों ने जमकर उत्पात मचाया है। नक्सलियों ने गढ़चिरौली जिले में सड़क और पुल निर्माण में लगे 6 वाहनों को फूंक दिया। वहां काम कर रहे मजदूरों को काम बंद करने धमकी दी। मिली जानकारी के मुताबिक, सीमा से लगे भामरागढ़ तहसील के एक अंदरूनी गांव में पिछले कई दिनों से सड़क और पुल निर्माण का काम चल रहा था।

नक्सलियों ने काम बंद करने की चेतावनी भी दी थी। काम बंद नहीं हुआ तो देर रात भारी संख्या में नक्सली मौके पर पहुंच गए। निर्माण स्थल पर मौजूद मजदूरों और मुंशी को बंधक बनाया। फिर सभी से मोबाइल फोन ले लिया। एक JCB, एक पोकलेन, दो ट्रैक्टर और दो बाइक का डीजल और पेट्रोल टैंक फोड़कर आग लगा दी। मजदूरों को काम बंद करने की धमकी भी दी है।

सडक हादसा : तेज रफ़्तार गाडी पलटने से हुई एएसआई की मौत...

सडक हादसा : तेज रफ़्तार गाडी पलटने से हुई एएसआई की मौत...

सुकमा : जिले में तेज रफ़्तार पुलिस की गाडी पलटने से एएसआई की मौत हो गई है। हादसा देर रात करीब 1:30 बजे ग्राम सिंगनपुर में हुआ है। बताया जा रहा है कि सुकमा से रायपुर जा रही एक पुलिस बोलरो अनियंत्रित होकर पलट गई।

गाडी पलटने से सवार ओम प्रकाश नरेटी की मौत हो गई। वही उनकी बेटी को भी चोटे आई है। बताया जा रहा है कि हादसा चालक को झपकी आने के कारण हुआ है। एएसआई ओमप्रकाश नरेटी थाना चिंतागुफा जिला सुकमा में पदस्थ थे।  

BREAKING NEWS : नक्सलियों ने मचाया उत्पात, यात्री बस को किया आग के हवाले...

BREAKING NEWS : नक्सलियों ने मचाया उत्पात, यात्री बस को किया आग के हवाले...

सुकमा : दंडकारण्य में नक्सलियों ने बंद के आव्हान पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए उत्पात मचाया है। नक्सलियों ने सोमवार सुबह एक यात्री बस को आग के हवाले किया है। मिली जानकारी के अनुसार उड़ीसा से यात्रियों को लेकर बस हैदराबाद के लिए निकली थी। जिसके बाद कोंटा से लगभग 15 किलोमीटर दूर आंध्र प्रदेश के चिंतुर थाना क्षेत्र के कोतुर में हथियार बंद नक्सलियों ने बस को रोका।

सभी यात्रियों को बंदूक की नोक पर बस से उतार दिया और बस में आगजनी की। इस आगजनी में यात्री बस जलकर पूरी तरह राख में तब्दील हो गई है। इस नक्सली वारदात की सूचना लोगों ने पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर रवाना होकर जांच शुरू कर दी है। इसके अलावा सुरक्षाबल के जवानों को भी सर्चिंग के लिए क्षेत्र में रवाना कर दिया गया है।


दरअसल नक्सलियों ने आज दंडकारण्य बंद का आह्वान किया था और इस बंद के दौरान नक्सली हमेशा से ही बस्तर के अलग-अलग क्षेत्र में उत्पात मचाते आए हैं यही कारण है कि नक्सलियों ने इस यात्री बस को आग के हवाले किया है इसके अलावा नक्सली बैनर पोस्टर अंदरूनी क्षेत्र में लगाकर दंडकारण्य बंद को सफल बनाने के लिए अपील की है।
 

ईनामी नक्सली कमांडर के साथ 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

ईनामी नक्सली कमांडर के साथ 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

सुकमा : जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान पूना नर्कोम के तहत एक नक्सली दंपत्ति सहित 04 नक्सलियों ने सुकमा एसपी सुनील शर्मा के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। ये सभी आत्मसमर्पित नक्सली पिछले कई वर्षों से सक्रिय थे। इनमें से एक उत्तर से बस्तर डिवीजन प्रेस टीम का कमांडर है एवं उसकी पत्नि प्रेस टीम की सदस्य है।

दोनो नक्सली दंपत्ति प्रेस नोट, बैनर पोस्टर बनाने और चस्पा करने के कार्य किया करते थे। वहीं 02 अन्य प्लाटून नंबर 17 सेक्शन ए का सदस्य एवं प्लाटून नंबर 04 का सदस्य है। ये दोनों नक्सली हत्या, लूट, आगजनी समेत कई बड़ी वारदातों में शामिल रहे हैं।

आत्मसमर्पित नक्सली मुचाकी सोमड़ा उत्तर बस्तर डिवीजन प्रेस टीम का कमांडर है, मुचाकी सोमड़ा इसपर 03 लाख रुपए का इनाम घोषित है। जबकि इसकी पत्नी मुचाकी सोमड़ी प्रेस टीम की सदस्य है। मुचाकी सोमड़ी को माओवाद संगठन में रहते हुए ही प्यार हुआ। फिर दोनों ने शादी कर ली। ये दोनों पिछले कई सालों से संगठन में रहकर प्रेस नोट , बैनर पोस्टर बनाने और चस्पा करने के कार्य किया करते थे।

इसके साथ पोडिय़म रमेश और माड़वी मुड़ा पिछले कई सालों से माओवाद संगठन में सक्रिय होकर काम कर रहे थे। माड़वी मुड़ा प्लाटून नंबर 17 सेक्शन ए का सदस्य है। वहीं पोडिय़म रमेश प्लाटून नंबर 04 का सदस्य है। इन दोनों को माओवादियों पर 02-02 लाख रुपए का इनाम घोषित है।

CG CRIME NEWS : आपसी विवाद में मां के साथ मिलकर बेटे ने अपने पिता की कर दी हत्या...

CG CRIME NEWS : आपसी विवाद में मां के साथ मिलकर बेटे ने अपने पिता की कर दी हत्या...

सुकमा : जिले के कुकानार थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम केरातोंग में मां के साथ मिलकर बेटे ने अपने पिता की इतनी पिटाई कर दी कि उसकी मौत हो गयी। आस-पास के लोगों ने बताया कि पत्नी बुधरी मुचाकी एवं बेटा पीदे मुचाकी ने बेदम पिटाई के बाद मृतक कोसा मुचाकी का गला भी दबा दिया था, जिसके चलते घटना स्थल पर ही कोसा मुचाकी ने दम तोड़ दिया।


प्राप्त जानकारी अनुसार आमा पंडुम के बाद ग्राम केरातोंग निवासी कोसा मुचाकी अपने घर खाना खाने आया, इस बीच वह अपनी पत्नी बुधरी मुचाकी एवं बेटा पीदे मुचाकी के साथ विवाद करने लगा। बात इतनी बढ़ गयी कि, पत्नी बुधरी मुचाकी एवं बेटा पीदे मुचाकी दोनों ने गुस्से में आकर पिता कोसा मुचाकी के चेहरे, सीने, पेट को लात घूसों से मारते हुए, गला दबाकर उसे मार डाला। इस घटना के बाद आस-पास के लोगों ने कुकानार थाने में इसकी सूचना दी, जिसके बाद थाना प्रभारी मनीष मिश्रा एवं टीम घटना स्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर पत्नी एवं बेटा दोनों आरोपियों को धारा 302, 34 आईपीसी के तहत गिरफ्तार कर लिया। जिन्हें आज कुकानार थाना में कार्यवाही के उपरांत सुकमा न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल दाखिल कर दिया गया।
 

नक्सलियों के इरादे हुये नाकाम , 5 किलो व 2 किलो वजनी आईईडी बरामद

नक्सलियों के इरादे हुये नाकाम , 5 किलो व 2 किलो वजनी आईईडी बरामद

सुकमा : छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के अरलमपल्ली के कण्टीपारा के मार्ग में नक्सलियों द्वारा सुरक्षा बलों के जवानों को नुकसान पहुचाने के इरादे से लगाए गए दो आईईडी बम 05 किलो एवं 02 किलो वजनी को बरामद कर मौके पर ही बीडीएस की टीम ने निष्क्रिय कर दिया है।

सुकमा एसपी सुनिल शर्मा ने बताया कि मुखबीर से मिली सूचना पर सीआरपीएफ 74 वाहिनी एवं जिला बल के जवानों एवं बीडीएस की टीम को मौके के लिए रवाना किया गया था। इलाके की सर्चिंग में दो आईईडी बम 05 किलो एवं 02 किलो का बरामद कर मौके पर ही निष्क्रिय कर दिया गया।

CRIME NEWS : मेला घूमने गए आरक्षक की हत्या, जांच में जुटी पुलिस...

CRIME NEWS : मेला घूमने गए आरक्षक की हत्या, जांच में जुटी पुलिस...

सुकमा : जिले के सुकमा में एक और आरक्षक की हत्या कर दी गई हैं। आरक्षक बोदारास का ही रहने वाला बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि वह अपने गाँव मेला देखने आया था, जहां रात करीब 2 बजे उसकी हत्या कर दी गई। हालांकि हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

ग्रामीणों का आरोप है कि नक्सलियों ने इस हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। वारदात सुकमा के कुकानार में हुई है।
आरक्षक की हत्या की सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची है। थाना प्रभारी मनीष मिश्रा और एसडीओपी घटनास्थल पर मौजूद थे। फिलहाल शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी गई है।
 

छत्तीसगढ़ : 28 जवानों की बिगड़ी तबियत, अस्पताल में भर्ती...

छत्तीसगढ़ : 28 जवानों की बिगड़ी तबियत, अस्पताल में भर्ती...

सुकमा : नक्सल प्रभावित जिला सुकमा में एक साथ 28 सीआरपीएफ जवानों की तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में सभी जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। इधर खबर फैलते ही हड़कंप मच गया। मामले में कमांडेंट राजेश यादव ने जांच के निर्देश दिए हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सीआरपीएफ की 150 वीं बटालियन के C कंपनी के जवान बीमार हुए हैं। बताया जा रहा है कि भोजन करने के बाद अचानक तबीयत बिगड़ गई। उल्टी के बाद सभी जवानों को हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद कुछ जवानों को छुटी दे दी गई वहीं 12 जवानों को फिल्ड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां जवानों का इलाज चल रहा है।

बताया जा रहा है कि पुराने सरसों के तेल से बने भोजन करने के बाद जवानों की तबीयत खराब हो गई। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। कमांडेंट राजेश यादव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के निर्देश दिए हैं।
 

छत्तीसगढ़ : 10 महिला नक्सली के साथ 24 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

छत्तीसगढ़ : 10 महिला नक्सली के साथ 24 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

सुकमा : छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के किस्टारम थाना क्षेत्र अंतर्गत पोटकपल्ली में नए सीआरपीएफ कैंप में नक्सल उन्मूलन अभियान पूना नर्कोम (नई सुबह, नई शुरुआत) के तहत 24 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में 10 महिला नक्सली भी शामिल हैं।

पोटकपल्ली कैंप में पुलिस के अधिकारियों ने होली मिलन समारोह आयोजित किया था। इस अवसर पर पोटकपल्ली के 100 से 120 ग्रामीणों ने नक्सली संगठन से जुड़े 24 सदस्यों को पोटकपल्ली कैंप में लाकर आत्मसमर्पण करवाया है। 

आत्मसमर्पित नक्सलियों के जनमिलिशिया सदस्यों में सोड़ी कोसा, वेट्टी हड़मा, माड़वी आयता, ओयम जोगा, वेट्टी हुंगा, वेट्टी भीमा, मड़कम हांदा, सोड़ी हुंगा, सोड़ी भीमा, वेट्टी देवा, वेको देवा, वेट्टी गंगा, सोड़ी हिड़मा, वेट्टी जोगा, वेट्टी भीमें, वेट्टी नंदे, वेट्टी मुये, वेट्टी देवे, किच्चे भीमें, किच्चे रामे, माड़वी हुंगी, सोड़ी सोमड़ी, सोड़ी सोमड़ी, वेट्टी मासे सभी नक्सली जनमिलिशिया सदस्य किस्टाराम में अलग-अलग नक्सली घटनाओं में शामिल रहे हैं। सभी समर्पित नक्सलियों को प्रोत्साहन राशि दी गई है, सरकार की पुनर्वास नीति के तहत अन्य सुविधा भी जल्द उपलब्ध करवाई जायेगी।

छत्तीसगढ़ : सीआरपीएफ कैंप पर नक्सलियों का हमला, 3 जवान घायल...

छत्तीसगढ़ : सीआरपीएफ कैंप पर नक्सलियों का हमला, 3 जवान घायल...

सुकमा : सुकमा जिले में सोमवार सुबह नक्सलियों व सीआरपीएफ जवानों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस गोलीबारी में सीआरपीएफ के तीन जवान घायल हो गए। बस्तर आईजी पी सुंदरराज ने बताया कि तीनों जवानों की हालत स्थिर है।

पी सुंदरराज ने बताया कि नक्सलियों व जवानों के बीच यह मुठभेड़ सुबह-सुबह हुई। एलमागुंडा कैंप के पास दोनों का आमना-सामना हुआ और गोलीबारी शुरू हो गई। उन्होंने बताया कि घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है।
जानकारी के मुताबिक, यह वारदात चिंतागुफा क्षेत्र में हुई है। बताया जाता है कि नक्सलियों ने जिस कैम्प पर हमला किया है उसे एक माह पहले ही खोला गया है। एलमागुंडा में सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के कैम्प में सुबह करीब 6.10 बजे नक्सलियों ने फायरिंग कर दी। अचानक हुए इस हमले पर जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

दोनों ओर से हुई फायरिंग के कुछ देर बाद नक्सली वहां से भाग निकले। हालांकि अभी इस हमले को लेकर पूरी जानकारी नहीं मिल सकी है। सीआरपीएफ कोबरा कैंप चिंतागुफा से करीब 12 किमी. पश्चिम दिशा और CRPF कैंप मीनपा से करीब 5.5 किमी. दक्षिण में स्थित है।
बताया जा रहा है कि यह इलाका जिले का सबसे ज्यादा नक्सल संवेदनशील है। यहां कैंप खुलने के बाद से ही नक्सलियों में बौखलाहट है। जवानों ने ज्यादातर जगहों पर अपना कब्जा कर लिया है। यहां ग्रामीणों और जवानों ने साथ मिलकर 2 दिन पहले होली मिलन समारोह मनाया था।
 

+ Load More