कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 14250 नए मरीजो की हुई पहचान, रायपुर में 4 हजार के करीब समेत इन जिलो से मिले इतने ..    |    खतरनाक हुआ कोरोना, RT-PCR टेस्ट को भी दे रहा है गच्चा, CT-Scan और ब्रोंकोस्कोपी की लेनी पड़ रही मदद    |    कोरोना अपडेट: आईसीएमआर के मुताबिक आज प्रदेश में 11694 मरीजो की पुष्टि, अकेले रायपुर से 3 हजार से अधिक समेत बाकी इन जिलो से...    |    यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस से संक्रमित, खुद दी जानकारी    |    बड़ी खबर: सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर प्रधानमंत्री ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक, शिक्षा मंत्री भी रहेंगे मौजूद    |    सरकार ने रेमडेसिविर को लेकर कही ये बड़ी बात, अब सिर्फ ये ही कर सकेंगे इस्तेमाल    |    कोरोना अपडेट: कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड देश में 24 घंटे में 1.85 लाख नए मरीज, 1027 की मौत    |    कोरोना अपडेट: छ ग में आज 15 हजार से अधिक मिले, 109 की मृत्यु के साथ रायपुर में रिकॉर्ड तोड़ 4168 समेत इन जिलो से इतने मरीज    |    क्या देश में है रेमडेसिविर दवा की कमी? जानिए केंद्र सरकार ने इसको लेकर क्या जवाब दिया है    |    रात्रि 8.30 बजे राज्य को करेंगे संबोधित मुख्यमंत्री, लॉकडाउन की चर्चा हुई तेज...    |

चुनाव के बाद स्कूटर से ले जा रहे थे ईवीएम मशीन, पार्टियों ने किया हंगाम

 चुनाव के बाद स्कूटर से ले जा रहे थे ईवीएम मशीन, पार्टियों ने किया हंगाम
Share

वेलाचेरी। तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान समाप्त होने के बाद स्कूटी पर ईवीएम रखकर ले जाने का मामला सामने आया है। वेलाचेरी में मंगलवार शाम को मतदान खत्म होने के बाद दो लोग स्कूटी पर ईवीएम रखकर ले जा रहे थे, तभी उन्हें भीड़ ने घेर लिया। इसके बाद राज्य में राजनीतिक पार्टियों ने हंगामा करते हुए चुनाव आयोग से सफाई मांगी है।

ईवीएम को स्कूटी पर रखकर ले जाने का मामला सामने आने के बाद द्रमुक (डीएमके) ने दावा किया कि ये लोग ईवीएम के साथ कोई गड़बड़ी करने वाले थे। इससे पहले ही इन लोगों को भीड़ ने देख लिया, जिसके बाद पुलिस दोनों को अपने साथ ले गई।

वेलाचेरी में हंगामा उस समय और बढ़ गया, जब पुलिस ने मौके से तीन लोगों को बिना किसी जांच के वहां से हटाने की कोशिश की। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। जबकि द्रमुक नेता और चेन्नई के पूर्व मेयर एमए सुब्रमणियम ने चुनाव आयोग से इस पूरे मामले पर सफाई मांगी। सुब्रमणियम ने कहा कि चुनाव आयोग इस मामले पर स्थिति स्पष्ट करे।

चुनाव आयोग ने दी सफाई
विवाद खड़ा होते देखकर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी सत्यब्रत साहू ने सफाई दी कि स्कूटी पर ईवीएम ले जाने वाले चुनाव आयोग के ही कर्मचारी थे। उन्होंने कहा कि उनके दो कर्मचारियों ने ये गलती की है और इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल मतदान के लिए नहीं हुआ था।

बता दें कि तमिलनाडु की 234 विधानसभा सीटों के लिए 6 अप्रैल को एक ही फेज में वोटिंग हुई। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, राज्य में 72.78 फीसदी वोटिंग हुई। यहां बहुमत के लिए 118 सीटें जीतना जरूरी है। वर्ष 2016 में एआईएडीएमके ने 134 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी। डीएमके को 97 सीटें मिली थीं।

Share

Leave a Reply