कोरोना अपडेट: छ ग में आज 15 हजार से अधिक मिले, 109 की मृत्यु के साथ रायपुर में रिकॉर्ड तोड़ 4168 समेत इन जिलो से इतने मरीज    |    क्या देश में है रेमडेसिविर दवा की कमी? जानिए केंद्र सरकार ने इसको लेकर क्या जवाब दिया है    |    रात्रि 8.30 बजे राज्य को करेंगे संबोधित मुख्यमंत्री, लॉकडाउन की चर्चा हुई तेज...    |    छग कोरोना अपडेट: आईसीएमआर के मुताबिक आज शाम तक 10748 नये मरीजो की हुई पुष्टि, रायपुर से अकेले 3293 समेत बाकी इन जिलो से...    |    छत्तीसगढ़ से राज्य सभा की ये सांसद हुई कोरोना संक्रमित, दिल्ली AIIMS में हुई भर्ती    |    इस दिन इतने समय के लिए पुरे भारत में बंद रहेगी आरटीजीएस की सुविधा    |    देश में पिछले 24 घंटे में 1.61 लाख कोरोना के नए मरीज मिले, 879 की गई जान, जानिये क्या है टीकाकरण का हाल    |    BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज कोरोना से मौत का आंकड़ा 100 के पार, प्रदेश में आज साढ़े 13 हजार नए मरीजों की हुई पहचान, देखें जिले वार आंकड़े    |    BIG BREAKING : राजधानी के इन 14 निजी अस्पतालों को सरकार ने पूरी तरह से कोरोना अस्पताल किया घोषित, देखें आदेश    |    BIG BREAKING : राजधानी में आज रिकॉर्ड तोड़ 11491 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, राजधानी में आज 72 कोरोना मरीजों की हुई मौत    |

जिले में महिला समूहों द्वारा निर्मित गोबर व मिट्टी के आकर्षक रंगबिरंगे इकोफ्रें डली दीपक से रौशन होगी दीपावली

 जिले में महिला समूहों द्वारा निर्मित गोबर व मिट्टी के आकर्षक रंगबिरंगे इकोफ्रें डली दीपक से रौशन होगी दीपावली
Share

सूरजपुर। कोविड महामारी से लडऩे के लिए मास्क, सेनिटाईजर, हैण्डवाश, हर्बल फिनाईल एवं हैण्ड मेड साबुन का निर्माण कर धूम मचाने के बाद जिले की महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं ने कलेक्टर रणबीर शर्मा एवं जिला पंचायत सीईओ श्री आकाश छिकारा के मार्गदर्शन में गोबर एवं मिट्टी के दिये निर्माण का कार्य प्रारंभ किया है।
 
 
रक्षाबंधन में हैण्डमेड राखियां और गणेश चतुर्थी में इकोफ्रेण्डली पंचगव्य गणेष मूर्ति निर्माण कर अच्छा व्यवसाय किये जाने से उत्साहित होकर जिले की महिलाओं द्वारा गोबर एवं मिट्टी के दिये तैयार कर रंगबिरंगे तथा आकर्षक गिफ्ट पैक तैयार किया जा रहा है।  जिसमें सूरजपुर जिले के कमलपुर ग्राम में शक्ति महिला ग्राम संगठन की 20 महिलाएं, रामानुजनगर विकासखण्ड के आमगांव में तुलसी महिला स्व सहायता समूह 12 पण्डो जनजाति एवं आदिवासी समुदाय की महिलाओं द्वारा गोबर से दीया, शुभ-लाभ, ऊॅ एवं स्वास्तिक के सिंक्कोंं एवं सजावटी सामग्री का निर्माण किया जा रहा है।
 
 
इसके साथ ही रामानुजनगर विकासखण्ड के दवना ग्राम के षिवम् महिला स्व सहायता समूह की 10 महिलाएं, महामाया महिला ग्राम संगठन भैयाथान की 05 महिलाओं द्वारा मिट्टी के दीये तैयार कर उन्हे रंगबिरंगे रंगों से सजा कर गिफ्ट पैक तैयार किया जा रहा हैं। सभी महिला स्व सहायता समूहों ने कुल 12 हजार से भी अधिक दीया तैयार कर लिया हैं एवं दीया प्रतिदिन तैयार किया जा रहा है। गोबर से बने इकोफ्रेंडली दिये उपयोग के बाद मिट्टी में आसानी से मिल कर खाद का रूप ले लेते हैं जो गार्डनिंग करने वालों के लिए बहुत ही उपयोगी हैं, दिये जलाने के बाद इसे खाद के रूप में उपयोग किया जा सकता हैं। 

महिलाओं ने कच्ची मिट्टी से भी आकर्षक दिये बनाए हैं जो उपयोग के तुरंत बाद मिट्टी में आसानी से मिल जाते है। सभी महिला स्व सहायता समूहों द्वारा जिला एवं जनपद स्तर पर विभिन्न स्थानों पर स्टॉल लगाकर दीया विक्रय किये जाने की तैयारी की है। करवाचैथ, धनतेरस, दीपावली एवं एकादषी के त्योंहारों को देखते हुए उजाला महिला ग्राम संगठन सिलफि ली एवं उलाजा महिला ग्राम संगठन षिवनंदनपुर की महिलाओं के द्वारा रूई की बत्ती एवं पूजासामग्री के पैकेट निर्माण का कार्य भी प्रारंभ किया गया है। दीयों का आर्डर सभी जनपद पंचायत कार्यालयों में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिषन ''बिहान'' प्रकोष्ट अथवा मो.न. 09926397378 पर किया जा सकता है।


Share

Leave a Reply