कोरोना अपडेट: प्रदेश में हो रही है कोरोना की रफ़्तार कम आज 10144 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 4888 नए मरीज मिले 144 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 4166 कोरोना पॉजिटिव, 19 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे बाकी जिलों के आकड़े    |    उपभोक्‍ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने उचित मूल्य की दुकानों के खुला रखने को लेकर कही ये बात    |    पीएम मोदी ने दिए ऑडिट के आदेश, पढ़े पूरी खबर    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटे में 3.11 लाख लोग हुए संक्रमित, 4 हजार से ज्यादा मौत    |    कोरोना अपडेट: प्रदेश में हो रही है कोरोना की रफ़्तार कम आज 11475 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 7664 नए मरीज मिले 129 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 6918 कोरोना पॉजिटिव, आज रायगढ़ में सर्वाधिक, देखे बाकी जिलों के आकड़े    |    स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन की पहली खुराक देने में छत्तीसगढ़ बना नंबर वन, दूसरे नंबर पर ये प्रदेश    |    राहुल गांधी का पीएम पर तंज, कहा- आपने तो मां गंगा को रुला दिया    |    प्रधानमंत्री मोदी का राज्यों को सख्त आदेश, तुरंत इंस्टॉल किए जाएं स्टोरेज में पड़े वेंटिलेटर्स    |

जिले के 5 राईस मिलर्स ब्लैक लिस्टेड घोषित

जिले के 5 राईस मिलर्स ब्लैक लिस्टेड घोषित
Share

अम्बिकापुर । कलेक्टर झा की ओर से नोटिस का जवाब नहीं देने तथा कस्टम मिलिंग का कार्य प्रारंभ नहीं करने वाले जिले के 5 राईस मिलों को दो वर्ष की कालावधि के लिए काली सूची (ब्लैक लिस्टेड) में दर्ज कर दिया गया है। जारी आदेश में कहा कि गया है राज्य शासन के आदेश के तहत कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन के लिए समस्त राईस मिलों का कस्टम मिलिंग के लिए पंजीयन कराकर मिलिंग का कार्य किया जाना अनिवार्य है। खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित एफसीआई अरवा कस्टम मिलिंग के लिए अब तक मे. अम्बे राईस मिल कोटया दरिमा, मे. बिमल राईस खड़धोवा थाना रोड बतौली, मे. महादेवी राईस मिल सकालो अम्बिकापुर, मे. महादेवी राईस मिल यूनिट - 3 सकालो अम्बिकापुर तथा मे. विक्की राईस मिल-2 प्रतापगढ़ सीतापुर के द्वारा निर्देश उपरांत भी कस्टम मिलिंग कार्य प्रारंभ नहीं करने के कारण स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के लिए पत्र प्रेषित किया गया था। किन्तु निर्धारित समयावधि में जवाब प्रस्तुत नहीं किया गया न ही कस्टम मिलिंग का कार्य प्रारंभ किया गया, जिससे छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 की कण्डिका 3 (1) (3) 4 (3) तथा आदेश के अंतर्गत दिए गए निर्देश के उल्लंघन के कारण उक्त राईस मिल को दो वर्ष की कालावधि के लिए काली सूची में दर्ज की गई है।
 



Share

Leave a Reply