कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |

अब कोविड पॉजिटिव मरीज का घर नेगेटिव रिपोर्ट आने तक रहेगा कंटेनमेंट

अब कोविड पॉजिटिव मरीज का घर नेगेटिव रिपोर्ट आने तक रहेगा कंटेनमेंट
Share

अम्बिकापुर। कलेक्टर झा ने मंगलवार को यहां कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक लेकर विभागीय कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने कोविड टीकाकरण की समीक्षा करते हुए कहा कि इस बार ऐसे देखने को मिल रहा है, कि किसी परिवार के एक सदस्य के कोविड पॉजिटिव आने पर उस परिवार के सभी सदस्य पॉजिटिव निकल रहे हैं। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कोविड पॉजिटिव मरीज के घर को तब तक कंटेनमेंट में रखें जब तक कि परिवार के सभी सदस्यों का रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आ जाता। कंटेनमेंट में रखे गए घर के सदस्यों को घर से बाहर घूमना पूर्णत: प्रतिबंधित करें।
कलेक्टर ने कहा कि कांटेक्ट ट्रेसिंग दल के सदस्य हमेशा सक्रिय रहें। प्रतिदिन एंटीजन रिपोर्ट आने के हर 2 घंटे का रिपोर्ट लेकर कांटेक्ट ट्रेसिंग पूरा करें। इसी प्रकार आरटीपीसीआर रिपोर्ट आने के 4 घंटे के भीतर पॉजिटिव मरीज के कांटेक्ट ट्रेसिंग करना सुनिश्चित करें ताकि मरीज के संपर्क में आए व्यक्ति की कोविड जांच तत्काल किया जा सके और संक्रमण फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि होमआइसोलेशन के मरीजों की कड़ी निगरानी करें। उन्हें समय पर दवाई एवं चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराएं। उन्होंने महिला व बाल विकास विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया कि पूर्व की तरह सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता होमआइसोलेशन में रहने वाले मरीजो के घर-घर जाकर दवाई पहुंचाएं। स्वास्थ्य विभाग पर्याप्त मात्रा में दवाई उपलब्ध कारना सुनिश्ति करें।
 



Share

Leave a Reply