CG CORONA UPDATE : छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामलों में बढ़त जारी...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 10 नए मरीज मिले, कहां कितने केस मिले, देखें सूची…    |    प्रदेश में थमी कोरोना की रफ्तार, आज इतने नए मामलों की पुष्टिं, प्रदेश में अब 91 एक्टिव केस    |    CG CORONA UPDATE : छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामलों में बढ़त जारी...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    BREAKING : प्रदेश में आज 15 नए कोरोना मरीजों पुष्टि, देखें जिलेवार आकड़े    |    प्रदेश में कोरोना का कहर जारी...कल फिर मिले इतने से ज्यादा मरीज, एक्टिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार    |    छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के 14 नए मरीज...इस जिले में सबसे ज्यादा संक्रमित,कुल 111 एक्टिव केस    |    सावधान : छत्तीसगढ़ में फिर बढ़ रहा कोरोना...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    Corona update: प्रदेश में 2 कोरोना मरीजों की मौत...इलाज के दौरान तोड़ा दम    |    छत्तीसगढ़ में तेजी से पांव पसार रहा कोरोना,कल फिर 8 नए मरीजों की पुष्टि...एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 71    |

Raman Taunted Bhupesh Like This – रमन बोले कांग्रेस का घोषणापत्र सिर्फ आखिरी 6 महीनों के लिए था

Raman Taunted Bhupesh Like This – रमन बोले कांग्रेस का घोषणापत्र सिर्फ आखिरी 6 महीनों के लिए था
Share

 रायपुर / पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने CM भूपेश बघेल पर तंज कस्ते हुए प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को कांग्रेस के घोषणापत्र के मुताबिक 4 साल से बकाया ₹12000 करोड़ तत्काल देने को कहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव नज़दीक आते ही दाऊ भूपेश को प्रदेश के बेरोजगारों के भत्ते की याद आने लगी है।

लगता है कांग्रेस और भूपेश सरकार का घोषणापत्र में किया सभी वादा महज़ आखरी के 6 माह के लिए था। विधायक अजय चंद्राकर ने भी भूपेश सर्कार पर पलटवार किया है उन्होंने भी बेरोजगारों के भत्ते और शराबखोरी का मुद्दा उठाते हुए राज्य सरकार को घेरा है।

रमन सिंह ने कहा चुनाव सामने देखकर दाऊ @bhupeshbaghel को बेरोजगारी भत्ता याद आ गया। 52 महीनों तक युवाओं के ₹2500 का जिक्र नहीं किया, क्या कांग्रेस का घोषणापत्र सिर्फ आखिरी 6 महीनों के लिए था? @RahulGandhi के वादे के अनुरूप 4 साल से बकाया ₹12000 करोड़ तत्काल बेरोजगार युवाओं को दिए जाने चाहिए।

विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि कांग्रेस ने अपने जन घोषणापत्र में बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था। और यह बेरोजगारी भत्ता यदि दिसंबर 2018 से ही लागू कर दिया जाता है तब तो बेरोजगारों को इसका फायदा मिलेगा।यदि नहीं दिया जाता तो इसे बेरोजगारों को झुनझुना पकड़ा कर चुनावी घोषणा माना जाएगा। अजय चंद्राकर ने राज्य सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि सरकार ने यहां दारू टूरिज्म शुरू की है मिजोरम का कपल यहां आकर राजधानी की सड़कों में शराब पीकर मस्ती करता है।



Share

Leave a Reply