छत्तीसगढ़ में कोरोना ने फिर दी दस्तक, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप    |    CORONA IN INDIA : एक बार फिर भारत में कोरोना की एंट्री, ये दो नए वेरिएंट पसारने लगे पैर    |    छत्तीसगढ़ पर फिर पड़ा Corona का साया,एक ही दिन में इस जिले में मिले इतने कोरोना मरीज,जानिए किस जिले में कितने एक्टिव केस ?    |    CG CORONA UPDATE : छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामलों में बढ़त जारी...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 10 नए मरीज मिले, कहां कितने केस मिले, देखें सूची…    |    प्रदेश में थमी कोरोना की रफ्तार, आज इतने नए मामलों की पुष्टिं, प्रदेश में अब 91 एक्टिव केस    |    CG CORONA UPDATE : छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामलों में बढ़त जारी...जानें 24 घंटे में सामने आए कितने नए केस    |    BREAKING : प्रदेश में आज 15 नए कोरोना मरीजों पुष्टि, देखें जिलेवार आकड़े    |    प्रदेश में कोरोना का कहर जारी...कल फिर मिले इतने से ज्यादा मरीज, एक्टिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार    |    छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के 14 नए मरीज...इस जिले में सबसे ज्यादा संक्रमित,कुल 111 एक्टिव केस    |

CORONA IN INDIA : एक बार फिर भारत में कोरोना की एंट्री, ये दो नए वेरिएंट पसारने लगे पैर

CORONA IN INDIA : एक बार फिर भारत में कोरोना की एंट्री, ये दो नए वेरिएंट पसारने लगे पैर
Share

 सिंगापुर : कहर बरपाने वाला कोविड का नया वेरिएंट केपी.2 और केपी.1 अब भारत में भी अपने पैर पसारने लगा है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, केपी.2 के 290 मामले और केपी.1 के 34 मामले भारत में सामने आए हैं। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया कि ये सभी जेएन1 के सब-टाइप हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि कोविड के नए वेरिएंट से अस्पताल में भर्ती होने और गंभीर मामलों में कोई वृद्धि नहीं हुई है।

सूत्र ने कहा, “कोविड के नए वेरिएंट केपी.2 और केपी.1 के मामले सामने आने से घबराने की कोई जरूरत नहीं है। मामलों में वृद्धि से चिंता की कोई बात नहीं है। उत्परिवर्तन तीव्र गति से होता रहेगा और यह SARS-CoV2 जैसे वायरस का प्राकृतिक व्यवहार है।” सूत्र ने आगे कहा कि INSACOG निगरानी संवेदनशील है और किसी भी नए प्रकार के उद्भव को पकड़ने में सक्षम है और वायरस के कारण बीमारी की गंभीरता में किसी भी बदलाव का पता लगाने के लिए अस्पतालों से संरचित तरीके से नमूने भी लिए जाते हैं।

भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) द्वारा संकलित आंकड़ों से पता चला है कि केपी.1 के 34 मामले सात राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पाए गए हैं, जिनमें से 23 मामले पश्चिम बंगाल से दर्ज किए गए हैं। जबकि अन्य राज्यों में – गोवा (1), गुजरात (2), हरियाणा (1), महाराष्ट्र (4) राजस्थान (2) और उत्तराखंड (1), मामले सामने आए हैं।

आंकड़ों के मुताबिक, केपी.2 के 290 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें सबसे ज्यादा 148 मामले महाराष्ट्र में दर्ज किए गए हैं। अन्य राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हैं दिल्ली (1), गोवा (12), गुजरात (23), हरियाणा (3), कर्नाटक (4), मध्य प्रदेश (1), ओडिशा (17), राजस्थान (21), उत्तर प्रदेश (8), उत्तराखंड (16) और पश्चिम बंगाल (36)

सिंगापुर में एक नई कोविड-19 लहर देखी जा रही है। यहां 5 से 11 मई तक 25,900 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं, जिसमें केपी.1 और केपी.2 सिंगापुर में दो-तिहाई से अधिक मामले हैं। विश्व स्तर पर, प्रमुख COVID-19 वैरिएंट अभी भी JN.1 और इसके सब-टाइप हैं, जिनमें केपी.1 और केपी.2 शामिल हैं।

केपी.1 और केपी.2 कोविड-19 वेरिएंट के एक समूह से संबंधित हैं। वैज्ञानिकों ने उनके उत्परिवर्तन के तकनीकी नामों के आधार पर, ‘FLiRT’ उपनाम दिया है। FLiRT में सभी स्ट्रेन जेएन.1 वैरिएंट के वंशज हैं, जो ओमिक्रॉन वैरिएंट की एक शाखा है। केपी.2 को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निगरानीधीन वैरिएंट के रूप में वर्गीकृत किया गया था।


Share

Leave a Reply