कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में कोरोना ने ढाया कहर, छत्तीसगढ़ में कल के मुकाबले आज बढ़ी नए कोरोना मरीजों की संख्या    |    बड़ा हादसा: खाई में गिरी मेटाडोर ,10 की मौत व 15 घायल, पीएम मोदी ने जताया शोक    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज 2 की हुई मृत्यु, आज इतने मरीजों की हुई पहचान, देखे जिलेवार आकड़े    |    मौसम अलर्ट: उत्तर-पूर्वी मानसून की आहट से इन राज्यों पर मंडराया बारिश का खतरा    |    बड़ी खबर: पटाखे की गोदाम में लगी भयानक आग से 5 की गई जान, 9 लोग घायल    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में फिर पैर पसारने लगा है कोरोना, छत्तीसगढ़ में आज इतने मरीजों की हुई पहचान    |    बदल गए पेंशन के नियम, 30 नवंबर तक ये काम ना किया तो रुक जाएगी पेंशन    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इस जिले में हुआ कोरोना विस्फोट, धीरे धीरे फिर से बढ़ रहे है एक्टिव मरीजो की संख्या, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: राज्यपाल की बिगड़ी तबियत, दिल्ली AIIMS में भर्ती    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश के इन दो जिलों में हुआ कोरोना विस्फोट, आज प्रदेश में मिले इतने नए मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |

Chanakya Niti: सेहत और धन के मामले में इन बातों का हमेशा रखना चाहिए

Chanakya Niti: सेहत और धन के मामले में इन बातों का हमेशा रखना चाहिए
Share

चाणक्य नीति के अनुसार धन और सेहत के मामले में व्यक्ति को हमेशा ही गंभीर और सतर्क रहना चाहिए. अच्छी सेहत में ही सफलता के राज छिपे हुए हैं. व्यक्ति प्रतिभाशाली है और सहेत से कमजोर है तो उसे सफलता प्राप्त करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए सेहत के मामले में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए.

चाणक्य नीति कहती है कि धन के मामले में भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. जो लोग धन आने पर उसकी सुरक्षा नहीं करते, उसके व्यय पर ध्यान नहीं देते, इसके साथ धन का उचित उपयोग नहीं करते, उन्हें आगे चलकर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. आचार्य चाणक्य कहते हैं कि धन और सेहत के मामले में व्यक्ति को अधिक गंभीर रहना चाहिए. जो लोग इस बात पर ध्यान नहीं देते हैं, उन्हें धन और सेहत के मामले में दिक्कतों को सामना करना पड़ता है. चाणक्य ने चाणक्य नीति में सेहत और धन को लेकर कुछ जरूरी बातें बताई हैं, जिन्हें हर व्यक्ति को जानना चाहिए-

खानपान और जीवनशैली पर ध्यान दें
चाणक्य नीति कहती है कि व्यक्ति को सेहत के मामले में उसी प्रकार से गंभीर रहना चाहिए जैसे एक सुरक्षा कर्मी अपने किले की रक्षा करता है. शरीर को रोग से बचने के लिए हर संभव प्रयास करने चाहिए. जो लोग इस बात का ध्यान नहीं रखते हैं, उन्हें बहुत जल्द रोग घेर लेते हैं. रोग से बचने के लिए व्यक्ति को अपने खानपान और जीवनशैली पर ध्यान देना चाहिए. व्यक्ति को यदि स्वस्थ्य रहना है तो पौष्टिक आहार लेना चाहिए. पौष्टिक आहर सेहत को तंदुरुस्त रखता है, इसके साथ ही कठोर अनुशासन का पालन करना चाहिए. हर महत्वपूर्ण चीज का समय निर्धारित करना चाहिए.

धन की सुरक्षा करनी चाहिए
चाणक्य नीति कहती है कि धन की सुरक्षा को लेकर व्यक्ति को अत्यंत गंभीर रहना चाहिए. धन की रक्षा न करने पर धन चला जाता है. धन अवगुणों से भी बहुत जल्द नष्ट होता है. इसलिए व्यक्ति को बुरी आदतों से दूर रहना चाहिए. प्रतिभा, ज्ञान, दान और दया से धन की देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं.

 


Share

Leave a Reply