BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में फिर हुआ कोरोना विस्फोट, आज प्रदेश में इतने नए मरीजों की हुई पहचान    |    कोरोना वैक्सीन के सर्टिफिकेट से पीएम मोदी की फोटो हटाने चुनाव आयोग ने दिया स्वास्थ्य मंत्रालय को निर्देश, पढ़े पूरी खबर    |    बड़ी खबर: इस भाजपा सांसद की बिगड़ी तबियत, अस्पताल में कराया जा रहा है भर्ती    |    डरा धमकाकर विवाहिता से दुष्कर्म, आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज    |    ईवेंट मैनेजर को होटल में बंधक बनाकर की छेड़छाड़, मामला दर्ज    |    बीजेपी विधायक के जन्मदिन की पार्टी में गोली चलने से दो की मौत    |    रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर: जाने क्या है डिजिटल इंडिया की तरफ रेलवे का नया कदम    |    बड़ी खबर: विदाई के दौरान इतना रोई दुल्हन कि पड़ा दिल का दौरा, मातम में तब्दील हुआ खुशी का माहौल    |    एक्ट्रेस तापसी पन्नू और अनुराग के घर छापेमारी के बाद आयकर विभाग का बड़ा बयान: कहा- करोड़ों की हेरफेरी    |    कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज फिर बढे कोरोना के मरीज राजधानी में 100 के करीब समेत इन जिलो से मिले इतने    |

कोरोना अलर्ट : कोरोना का नया स्ट्रेन है ज्यादा खतरनाक, यदि आपको ये लक्षण दिख रहे हैं तो हो जाइये सावधान

कोरोना अलर्ट : कोरोना का नया स्ट्रेन है ज्यादा खतरनाक, यदि आपको ये लक्षण दिख रहे हैं तो हो जाइये सावधान
Share

नई दिल्लीएक तरफ जहां भारत में कोविड19 से स्वस्थ होने की दर 95.99 फीसदी हो गई है, तो वहीं कोरोना के नए स्ट्रेन ने एक नई चिंता पैदा कर दी है। ब्रिटेन से भारत लौटे कई लोगों में वायरस के `नए रूप` के संक्रमण की पुष्टि हुई है। भारत में कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक हो सकता है। एम्स प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने ये आशंका जताई है। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस के प्रति हर्ड इम्युनिटी बनना एक मिथक है, क्योंकि इसके लिए 80 फीसदी आबादी में कोरोना वायरस के प्रति एंटीबॉडी बनना चाहिए, जो हर्ड इम्युनिटी के तहत पूरी आबादी की सुरक्षा के लिए जरूरी है।

पुराने कोरोना के लक्षण :
2019 के अंत में चीनी शहर वुहान से दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के लक्षण नए मिले कोरोना स्ट्रेन से अलग थे। शुरुआती दौर में कोरोना के जो लक्षण थे उनमें बुखार आना, लगातार खांसी होना और स्वाद के साथ-साथ गंध खोने की शिकायत शामिल थे। लेकिन कोरोना के नए स्ट्रेन के लक्षण इससे अलग हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि नए स्ट्रेन की उत्पत्ति कोरोना में उत्परिवर्तन (म्यूटेशन) की वजह से हुई है।


कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन में मिले सात अहम लक्षण
नए स्ट्रेन के लक्षण भी पुराने कोरोना वायरस से कुछ अलग पाए गए हैं।  ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) ने नए स्ट्रेन के सात अहम लक्षणों के बारे में बताया है।


क्या हैं लक्षण :
शरीर में दर्द एवं पीड़ा, गले में खराश, आंख आना, सिरदर्द, डायरिया, त्वचा पर रैशेज पड़नापैर की उंगलियों का रंग बिगड़ना कोरोना के नए स्ट्रेन के मुख्य लक्षण हैं। कुछ अन्य शोधकर्ताओं ने भी इसकी पुष्टि की है। शोधकर्ताओं ने विस्तृत आंकड़ों का भी अध्ययन किया है। इसमें उन्होंने पाया कि कोरोना की प्रकृति में पहला बदलाव सितंबर में ब्रिटेन के केंट में दर्ज किया गया था। कोरोना वायरस का दूसरा पैटर्न दक्षिण अफ्रीका में मिला था। इसके बाद दुनिया के कई देशों में कोरोना का यह स्ट्रेन मिल चुका है।


अनुवांशिक कोड में भी बदलाव :
वायरस की प्रकृति में चार नए बदलाव देखे गए हैं। इसके साथ ही शोधकर्ताओं ने आनुवंशिक कोड में छह बदलावों की भी खोज की है। इसके 12 में से नौ परिवर्तनों को गंभीर माना जाता है। उन्होंने ने नए स्वरूप के आनुवंशिक कोड में छह बदलावों का उल्लेख किया है। विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि आनुवंशिक कोड में परिवर्तन मामूली हैं, लेकिन 12 अन्य जीनों का प्रभाव गंभीर हो सकता है।


वायरस के लक्षणों पर बड़ा अध्ययन :
कोरोना वायरस के लक्षणों पर बड़ा अध्ययन हुआ है। इस अध्ययन को कनाडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित किया गया है। इसमें 70 हजार मरीजों के डाटा के आधार पर संक्रमण के लक्षणों को श्रेणीवार बताया गया है। शोधकर्ताओं ने लोगों के डाटा को तीन श्रेणियों में विभाजित किया है। पहला आउट पेशेंट, दूसरा इनपेशेंट और तीसरा आईसीयू में भर्ती मरीज। इन तीनों मरीजों के बीच में अंतर जानने की कोशिश की गई। 70,288 लोगों में से 53.4 फीसदी अस्पताल में भर्ती हुए। 4.7 प्रतिशत लोग आईसीयू में भर्ती हुए और शेष 46.6 फीसदी आउट पेशेंट थे।


Share

Leave a Reply