कोरोना अपडेट 29 नवम्बर: प्रदेश में आज रायगढ़ और रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, 21 जिलो में नहीं मिले कोई मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    BREAKING NEWS: हंगामे के बीच कृषि कानून वापसी बिल पारित    |    कोरोना अपडेट 28 नवम्बर: प्रदेश में आज कम टेस्ट के बावजूद ज्यादा मिले मरीज, दुर्ग और रायपुर में मिले सर्वाधिक मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    BIG NEWS: मस्जिद में कृष्ण की मूर्ति स्थापित करने की महासभा की धमकी के बाद मथुरा में धारा 144 लागू    |    टिकैत ने फिर दी धमकी: दिमाग ठीक कर ले भारत सरकार, नहीं तो 26 जनवरी दूर नहीं…    |    कोरोना अपडेट 27 नवम्बर: प्रदेश का ये जिला बना हुआ है कोरोना का हॉटस्पॉट, आज मिले इतने मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    मौसम अलर्ट: इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट    |    कोरोना अपडेट 26 नवम्बर: प्रदेश में आज मिले इतने मरीज, रायगढ़, रायपुर और जशपुर में लगातार बढ़ रहे है मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    बड़ी खबर: कोरोना के नए स्ट्रेन के चलते छह अफ्रीकी देशों से विमान सेवा हुई रद्द    |    26/11 Mumbai Attack की 13वीं बरसी पर राजनेताओं ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि    |

हर घर दस्तक अगले महीने से केंद्र सरकार की नई मुहिम होगी शुरू

हर घर दस्तक अगले महीने से केंद्र सरकार की नई मुहिम होगी शुरू
Share

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने बुधवार को कहा कि सरकार कोरोना संक्रमण बीमारी के खिलाफ अगले महीने से नई मुहिम की शुरुआत करने जा रही है। 'हर घर दस्तक' मुहिम के तहत स्वास्थ्यकर्मी घर-घर जाकर लोगों को टीका लगाएंगे। इस दौरान दूसरे डोज से वंचित लोगों के साथ ही अब तक एक भी डोज नहीं लगवाने वालों को भी टीका दिया जाएगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मुख्य तौर पर फोकस देश के उन 48 जिलों पर किया जाएगा, जहां 18 साल या इससे अधिक उम्र के 50 फीसदी से कम आबादी को कोरोना का टीका लगा है। मांडविया ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक के बाद यह घोषणा की। हाल ही में देश में 100 करोड़ कोविड टीके लगाने की सफलता हासिल की गई है। हालांकि देश के कुछ हस्सिों में टीकाकरण की गति धीमी है। इसका कारण लोगों में जागरुकता में कमी, टीके को लेकर हिचकिचाहट और भौगोलिक बाधाएं शामिल हैं।
11 करोड़ लोगों ने समय बीतने के बावजूद नहीं ली दूसरी खुराक
कोविड-19 टीके की पहली खुराक ले चुके 11 करोड़ से अधिक लोगों ने दो खुराकों के बीच निर्धारित अंतराल समाप्त होने के बाद भी दूसरी खुराक नहीं लगवाई है। आंकड़े बताते हैं कि 6 सप्ताह से अधिक समय से 3.92 करोड़ से अधिक लाभार्थियों ने दूसरी खुराक नहीं ली है। इसी तरह करीब 1.57 करोड़ लोगों ने चार से छह सप्ताह देरी से और 1.5 करोड़ से अधिक ने दो से चार सप्ताह देरी से कोविशील्ड या कोवैक्सिन की अपनी दूसरी खुराक नहीं ली है।
बच्चों के टीके पर भी चर्चा
समीक्षा बैठक के दौरान बच्चों के कोविड टीके पर भी चर्चा की गई। कोविड टीका नर्मिाता भारतीय कंपनी भारत बायोटेक बच्चों के लिए कोवैक्सिन टीका विकसित कर चुकी हैं। इसके आपात इस्तेमाल की सिफारिश विषय विशेषज्ञ समिति सिफारिश कर चुकी है। अब इसे भारतीय औषधि महानियंत्रक की मंजूरी की प्रतीक्षा है। बच्चों के लिए दूसरे टीका जायडस को वश्वि स्वास्थ्य संगठन ने आपात स्थिति में प्रयोग करने 'कोविड टीका सूची' में शामिल किया है। मांडविया ने कहा है कि दोनों टीको को मंजूरी देने की प्रक्रिया चल रही है और यह विशेषज्ञ समिति के अधिकार में हैं। सरकार इस प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करेगी।

 


Share

Leave a Reply