कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 14250 नए मरीजो की हुई पहचान, रायपुर में 4 हजार के करीब समेत इन जिलो से मिले इतने ..    |    खतरनाक हुआ कोरोना, RT-PCR टेस्ट को भी दे रहा है गच्चा, CT-Scan और ब्रोंकोस्कोपी की लेनी पड़ रही मदद    |    कोरोना अपडेट: आईसीएमआर के मुताबिक आज प्रदेश में 11694 मरीजो की पुष्टि, अकेले रायपुर से 3 हजार से अधिक समेत बाकी इन जिलो से...    |    यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस से संक्रमित, खुद दी जानकारी    |    बड़ी खबर: सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर प्रधानमंत्री ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक, शिक्षा मंत्री भी रहेंगे मौजूद    |    सरकार ने रेमडेसिविर को लेकर कही ये बड़ी बात, अब सिर्फ ये ही कर सकेंगे इस्तेमाल    |    कोरोना अपडेट: कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड देश में 24 घंटे में 1.85 लाख नए मरीज, 1027 की मौत    |    कोरोना अपडेट: छ ग में आज 15 हजार से अधिक मिले, 109 की मृत्यु के साथ रायपुर में रिकॉर्ड तोड़ 4168 समेत इन जिलो से इतने मरीज    |    क्या देश में है रेमडेसिविर दवा की कमी? जानिए केंद्र सरकार ने इसको लेकर क्या जवाब दिया है    |    रात्रि 8.30 बजे राज्य को करेंगे संबोधित मुख्यमंत्री, लॉकडाउन की चर्चा हुई तेज...    |

सिर पर टोकरी बांधे बागान में चाय की पत्तियां तोड़ती दिखीं प्रियंका गाँधी

सिर पर टोकरी बांधे बागान में चाय की पत्तियां तोड़ती दिखीं प्रियंका गाँधी
Share

गुवाहाटीकांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा दो दिवसीय दौरे पर असम में हैं। प्रियंका असम में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए लिए चुनावी प्रचार में जुटी हुई हैं। अपने दौरे के दूसरे दिन प्रियंका ने असम के तेजपुर में चाय बागान में मजदूरों से मुलाकात की। प्रियंका यहां मजदूरों के बीच में उनके ही अंदाज में पहुंची।

पढ़ें : लॉकडाउन: कोरोना रिटर्न के बाद इन जिलों में किया गया लॉकडाउन और स्कूल, कॉलेज 14 मार्च तक बंद

मजदूरों की तरह सिर पर टोकरी बांधे प्रियंका चाय की पत्तियां तोड़ती दिखाई दीं। यहां बाग में प्रियंका चाय बाग के अन्य कर्मचारियों की तरह वेशभूषा में नजर आईं। उन्होंने बाग में चाय की पत्तियों को अपने हाथ से चुनकर टोकरी में डाला। असम में हर चुनाव में चाय बागान और मजदूर चुनावी मुद्दा बनते हैं।

मजदूरों के बीच पहुंचकर प्रियंका ने उनको साधने की कोशिश की और यह मैसेज देना चाहा कि कांग्रेस उनके बारे में सोचती है। बता दें कि इससे पहले प्रियंका ने सोमवार को केन्द्र और असम सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उनकी संवेदनहीनता के कारण ईंधन और आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में इजाफा हो रहा है। प्रियंका ने केंद्र और राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि दोनों की बेरुखी के कारण ही आम आदमी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।


वहीं प्रियंका गांधी ने गुवाहाटी के कामाख्या देवी के मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ ही सोमवार को असम के दो दिवसीय दौरे की शुरुआत की। असम में 126 सदस्यीय विधानसभा के लिए 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को तीन चरणों में मतदान होगा। प्रियंका सबसे पहले जलुकबारी इलाके में रुकी, जहां कांग्रेस समर्थकों ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह नीलाचल हिल्स स्थित शक्ति पीठ के लिए रवाना हो गईं।


Share

Leave a Reply