कोरोना अपडेट 18 मई : छत्तीसगढ़ में बढ़ने लगे कोरोना के मामले, मिले इतने मरीज, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 17 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 16 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 15 मई : प्रदेश में आज 08 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, अब एक्टिव केस हुए इतने    |    कोरोना अपडेट 14 मई : प्रदेश में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची इतनी, आज प्रदेश में इतने नए मरीज की हुई पहचान, देखें आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 13 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 12 मई : प्रदेश के इस जिले में मिलने लगे ज्यादा मरीज, अब एक्टिव मरीज हुए इतने, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 11 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 10 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 09 मई : छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के इतने मरीज, देखे कुल एक्टिव मरीजो की संख्या...    |

सर्दी में गाजर खाने से होते हैं चौकाने वाले फायदे

सर्दी में गाजर खाने से होते हैं चौकाने वाले फायदे
Share

गाजर खाना बहुत कम लोगों को पसंद होता है लेकिन ठंड के दिनों में गाजर बहुत बेहतरीन होती है। ऐसे में इसे खाने से कई चौकाने वाले फायदे होते हैं और आज हम आपको उन्ही फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं गाजर के फायदे।
गाजर के फायदे-
माइग्रेन के दर्द से राहत-
माइग्रेन से राहत दिलाने में गाजर लाभकारी है। इसके लिए इसके पत्तों को घी से चुपड़कर गर्म करके उनका रस निकालकर 2-3 बूंद नाक और कान में डालने से दर्द से राहत मिलती है।
आँखों के लिए-
गाजर आँखों को स्वस्थ रखने में मदद करती है। जी हाँ, इसके लिए आप 250 ग्राम सौंफ को साफ करके कांच के पात्र में रखें, उसके बाद इसमें बादामी रंग की गाजरों के रस दें। वहीं सूख जाने के बाद 5 ग्राम रोज रात में दूध के साथ सेवन करने से आँखों की रोशनी बढ़ती है।
मुंह के रोगों में फायदेमंद –
गाजर का औषधीय गुण मुँह के रोगों में फायदेमंद होता है। ऐसे में गाजर के ताजे पत्तों को चबाने से मुँह का अल्सर, मुख में दुर्गंध, दांत के जड़ से ब्लीडिंग होने तथा पूयस्राव (पस डिस्चार्ज) में लाभ मिलता है।
खांसी –
खांसी से परेशान है तो गाजर से इसका इलाज किया जा सकता है। इसके लिए गाजर के 40-60 मिली रस में चीनी तथा काली मिर्च के चूर्ण को डालकर सेवन करने से कफ निकलने लगता है जिससे कफ संबंधी समस्या से राहत मिलती है।
एनीमिया –
खून में लौह की कमी होने के कारण लाल रक्तकण नहीं बन पाते हैं, जो एनीमिया होने का कारण होता है। ऐसे में गाजर को कद्दूकस कर दूध में उबालकर खीर की तरह खाने से हृदय को ताकत मिलती है, खून की कमी मिटती है।
 


Share

Leave a Reply