कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में जारी है कोरोना से मौत का तांडव, प्रदेश में आज 15 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से मिले सर्वाधिक मरीज    |    बंगाल चुनाव: EC की नई गाइडलाइंस जारी, प्रचार का समय कम करने से लेकर आपराधिक मामला दर्ज करने तक का आदेश    |    BIG BREAKING : केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर भी आये कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया में दी जानकारी    |    ICMR कोरोना अपडेट: राज्य में आज शाम तक 12079 कोरोना मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2921 समेत बाकी इन जिलो से...    |    इस राज्य में सरकार ने लागू किया वीकेंड लॉकडाउन, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा बड़ा जुर्माना    |    BIG BREAKING : नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, पीएम केयर्स फंड से अस्पतालों में लगेंगे प्लांट    |    कोरोना की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस शाह का पूरा स्टाफ...    |    कोरोना अपडेट : देश में 24 घंटे में सामने आए 2.16 लाख मामले, 1184 मौतें    |    BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना से मौत ने लगाई शतक, प्रदेश में आज 15 हजार से अधिक नए मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से इतने    |    कोरोना अपडेट: ICMR के मुताबिक आज प्रदेश में शाम तक 11819 मरीज मिले, अकेले रायपुर जिले से 2870 समेत बाकी इन जिलो से    |

3 महीने तक हवाई अड्डे पर छुपा रहा यह शख्स, कारण जान कर पुलिस भी हैरान

 3 महीने तक हवाई अड्डे पर छुपा रहा यह शख्स, कारण जान कर पुलिस भी हैरान
Share

शिकागो/ नई दिल्ली। भारतीय मूल के एक व्यक्ति ने अमेरिका के एकअंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर करीब तीन महीने गुजार दिए। अब इस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है। शिकागो ट्रिब्यून के मुताबिक आदित्य सिंह (36) कैलिफोर्निया के लॉस एंजिलिस के एक उपनगर में रहता है।
 
 
सिंह को शिकागो के ओहारे अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के एक सुरक्षित क्षेत्र में रहने के आरोप में शनिवार को गिरफ्तार किया गया। आदित्य ने छुपने का जो कारण बताया उसे सुनकर पुलिस व एयरपोर्ट अधिकारी हैरान है। कहा जा रहा है कि ऐसा उसने कोरोना वायरस महामारी के डर की वजह से किया।
 

आदित्य सिंह का कहना है कि वह कोरोना संक्रमण के कारण अपने घर लॉस एंजिल्स जाने से बहुत डर रहा था। फिलहाल उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही उस पर एयरपोर्ट पर अवैध तरीके से रहने, चोरी और दुर्व्यवहार का चार्ज लगाया गया। आदित्य सिंह लॉस एंजिल्स से 19 अक्टूबर को ओ’हारे इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर फ्लाइट के लिए पहुंचे थे, जिसके बाद वो वहीं रुक गए। हाल ही में उन्हें यूनाइटेड एयरलाइंस के दो कर्मचारियों ने आईडी कार्ड दिखाने के लिए कहा। सिंह ने उन्हें एक एयरपोर्ट आईडी बैज दिखाया, जोकि किसी और का था। जिसके गुम होने की सूचना भी दी गई थी।

कोरोना के कारण घर जाने से डर रहे थे-
यूनाइटेड एयरलाइंस के कर्मचारियों ने 911 को फोन किया और पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। बाद में एक बॉन्ड कोर्ट में आदित्य सिंह ने कहा कि वह 19 अक्टूबर से एयरपोर्ट पर रह रहे थे। दूसरे यात्री उन्हें खाना दे रहे थे। आदित्य ने कहा कि वह कोरोना के कारण घर जाने से डर रहे थे। हालंकि कोर्ट ने एयरपोर्ट अथॉरिटी से पूछा कि ओ’हारे एयरपोर्ट टर्मिनल के एक सेफ हिस्से में एक अनधिकृत, गैर-कर्मचारी इतने समय से रह रहा था और आपको पता नहीं चला था? ये लाखों लोगों की सेफ्टी के लिए एक खतरा है। शहर के हवाई अड्डों की देखरेख करने वाले शिकागो विमानन विभाग ने एक बयान में कहा, `ये घटना जांच के दायरे में है, हालांकि हमने पाया कि इस सज्जन ने हवाई अड्डे की यात्रा करने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए किसी तरह का ख़तरा पैदा नहीं किया। हालंकि इस मामले में जांच अभी जारी है और आदित्य को 1000 डॉलर की बेल पर छोड़ा गया है।

 


Share

Leave a Reply