कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
हथियार समेत तीन नक्सली गिरफ्तार

हथियार समेत तीन नक्सली गिरफ्तार

बीजापुर, बेदरे थाना अंतर्गत ग्राम नेतीकाकलेर के जंगल में मुठभेड़ के बाद पुलिस ने घेराबंदी करते हुए तीन नक्सलियों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया है। 

बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने बताया कि जिलाबल, छसबल, डीआरजी का संयुक्त बल मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर सर्चिंग के लिए रेंगावाया, कोड़ेपल्ली, गुण्डीपुरी, मरीमडग़ू, ओडरी की ओर रवाना हुई थी। रात ग्राम रेंगावाया में गुजारकर सुबह जब सर्चिंग पर रवाना हुए तो ग्राम नेतीकाकलेर के जंगल में पूर्व से घात लगाकर बैठे नक्सलियों के साथ उनकी मुठभेड़ हो गई। पुलिस पार्टी को भारी पड़ता देखकर नक्सली भागने लगे तो घेराबंदी कर घटना स्थल से लखमू पोयाम पिता स्व बुधराम पोयाम निवासी केतुलनार तथा टोक्क उर्फ सुखराम पिता चिन्ना निवासी मुकरम को एक-एक नग भरमार बंदुक के साथ और साधु मज्जी पिता गुण्डी मज्जी निवासी डुडेपल्ली को टिफिन बम के साथ धर दबोचा गया। तीनो नक्सली आरोपियों ने पूछताछ करने पर नेशनल पार्क एरिया कमेटी के दलम के लिए काम करना बताया। थाना बेदरे में अपराध पंजीबद्ध कर न्यायिक रिमाण्ड में जेल भेजा गया।

 किडनी प्रभावित मरीजों से मिलकर भावुक हुईं राज्यपाल अनुसुइया, कहा - सुपेबेड़ा अब मेरी जिम्मेदारी

किडनी प्रभावित मरीजों से मिलकर भावुक हुईं राज्यपाल अनुसुइया, कहा - सुपेबेड़ा अब मेरी जिम्मेदारी

रियाबंद | लंबे समय से किडनी रोग से लड़ रहे सुपेबेड़ा के ग्रामीणों को थोड़ी राहत उस वक्त मिली जब राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके खुद किडनी बीमारी से पीडि़त ग्रामीणों के बीच पहुंची। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के किडनी बीमारी से प्रभावित गांव सुपेबेड़ा में राज्यपाल अनुसुइया उइके मरीजों से चर्चा के दौरान भावुक हो गईं। राज्यपाल ने सुपेबेड़ा के ग्रामीणों से कहा कि अब चिंता की कोई बात नहीं है. सुपेबेड़ा अब मेरी जिम्मेदारी है. मंगलवार को राज्यपाल समेत स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव सांसद चुन्नीलाल साहू सुपेबेड़ा पहुंचे हैं. वहां राज्यपाल ने किडनी प्रभावित मरीजों और उनके परिजनों से वन टू वन चर्चा की.एक आंकड़े के अनुसार पिछले तीन साल में किडनी की बीमारी से पीडि़त सुपेबेड़ा के 71 लोगों की मौत हो चुकी है. यही नहीं गांव में 200 से ज्यादा किडनी मरीज बेहतर इलाज के लिए परेशान हैं. इसको लेकर ही इसी महीने महासमुंद से सांसद चुन्नीलाल साहू ने राज्यपाल से मुलाकात की थी. इसके बाद राज्यपाल ने सुपेबेड़ा में निरिक्षण का शेड्यूल तय किया था. इसके तहत ही आज राज्यपाल, मंत्री, सांसद व आला अफसर वहां पहुंचे हैं.सुपेबेड़ा में पहुंची राज्यपाल अनुसुइया उइके ने गांव के ग्रामीणों से एक एक कर चर्चा की. उनकी समस्याओं को जाना और परेशानियों पर चर्चा की. बता दें कि सुपेबेड़ा में दूषित पानी पीने से पिछले 5 साल से किडनी की बीमारी ग्रामीणों में फैल रही है. इसके चलते पिछले तीन साल में 71 लोगों की मौत हो गई. इसमें बीते 15 अक्टूबर को किडनी बीमारी से प्रभावित मरीज अकालू मसरा की मौत के बाद फिर से वहां ग्रामीणों में दहशत बढ़ गई है. हालांकि राज्य सरकार वहां बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने का दावा कर रहा है।

 
लंबे डिवाईडर के चलते आए दिन दोपहिया वाहन चालक हो रहे  दुर्घटनाग्रस्त, जानिए कहा की है ये खबर

लंबे डिवाईडर के चलते आए दिन दोपहिया वाहन चालक हो रहे दुर्घटनाग्रस्त, जानिए कहा की है ये खबर

रायपुर | शहर के अधिकांश क्षेत्रों में लंबे डिवाइडर होने के कारण आए दिन दोपहिया वाहन चालक विपरीत दिशा से आवाजाही के दौरान आए दिन चोटिल होते रहते हैं। वीआईपी काफिला सुगम यातायात व्यवस्था के कारण सरलता से आ जा सके। इस उद्देश्य से शासन द्वारा जीई रोड, शंकर नगर रोड, केनाल रोड, आदि सहित अन्य मार्गों पर लंबे डिवाइडर होने की वजह से उक्त मार्गों से संलग्र आबादी की आवाजाही जहां प्रभावित होती है। वहां प्रभावित क्षेत्रों के रहवासियों के अनुसार वीआईपी लोगों के लिए उपलब्ध करायी गई सुविधा आम नागरिक के लिए परेशानी का सबब बन रही है। आज सुबह-सुबह शंकर नगर सेक्टर एक रविशंकर उद्यान के समक्ष स्कूटी सवार मां बेटी को विपरीत दिशा से आ रहे बाइक सवार ने जमकर टक्कर मारकर मौके से गायब हो गया। उक्त घटना के समय सुबह की सैर में निकले लोगों ने मां बेटी को उठाकर उन्हें राहत देने की पहल की। ज्ञातव्य है कि लंबे डिवाइडर की वजह से ही तेज रफ्तार बाइक सवार आए दिन सही दिशा से आने वाले दोपहिया वाहन चालकों को टक्कर मारकर भाग जाते हैं। पकड़े जाने की स्थिति में अपनी गलती मानने के बजाय वे चोटिल दोपहिया वाहन चालक से न केवल दुव्यर्वहार करते हैं बल्कि हाथापाई करने में भी कोई कोताही नहीं करते हैं। शंकर नगर क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिक आलोक शर्मा ने डिवाइडर के चलते हो रहे हादसों पर मुख्यमंत्री से तत्काल प्रभाव से जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया है। 

 
न.नि. के पूर्व अध्यक्ष पांडे को आया धमकी भरा कॉल, जानिए कहा की है ये घटना

न.नि. के पूर्व अध्यक्ष पांडे को आया धमकी भरा कॉल, जानिए कहा की है ये घटना

गदलपुर | नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा जिला उपाध्यक्ष योगेंद्र पांडे को किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन पर उठा लेने और अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहने की धमकी दी है। पांडे ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की है। उन्होंने बताया कि उनके मोबाइल पर एक नंबर से फोन आया, जिसने फोन किया उसने अपना नाम मंडावी बताते हुए कहा कि अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो, तुम्हें उठा लेंगे। हम अंदर वाले लोग हैं। पुलिस ने योगेंद्र पांडे की शिकायत पर संबंधित नंबर की कॉल डिटेल खंगालना शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि यह किसी की बदमाशी है।

वृद्ध दम्पत्ति की धारदार हथियार से हमला, इलाके में मची सनसनी, जानिए कहा की है ये घटना

वृद्ध दम्पत्ति की धारदार हथियार से हमला, इलाके में मची सनसनी, जानिए कहा की है ये घटना

 त्तीसगढ़ के रायगढ में एक वृध्द दम्पत्ति की नृसंश हत्या की खबर प्रकाश में आई है। उक्त सनसनीखेज घटना जिले के  लैलूंगा में घटित हुआ है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीती रात अज्ञात लोगों ने वृद्ध दंपति की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि खेत के पास झोपड़ी में दोनों पति पत्नी सो रहे थे तब रात में दोनों की धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी है। मृतक का नाम मनकू यादव उम्र लगभग 70 वर्ष है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मामला लैलूंगा थाना क्षेत्र के ग्राम कुपाकानी का है। फिलहाल मौके पर लैलूंगा पुलिस सहित रायगढ़ एडीशनल एसपी मौके पर पहुंचे हैं। पुलिस जांच में जुटी है। 

 MP की पत्नी के पोस्ट पर उठा बवाल, जानिए कौन है वो MP

MP की पत्नी के पोस्ट पर उठा बवाल, जानिए कौन है वो MP

न्ना लिंडा ईडन ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि किस्मत रेप की तरह है, अगर आप उसे रोक नहीं सकते हैं तो उसका आनंद लीजिए. उनके इस पोस्ट पर काफी बवाल हुआ, जिसके बाद उन्होंने अपने पोस्ट पर माफी मांगी है

  • कांग्रेस सांसद हिबी ईडन की पत्नी का विवादित पोस्ट
  • किस्मत को रेप की तरह बताया, कोच्चि बाढ़ का उड़ाया मजाक
  • सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना के बाद हटाया पोस्ट

केरल से कांग्रेस सांसद हिबी ईडन की पत्नी अन्ना का एक सोशल मीडिया पोस्ट इस समय वायरल हो रहा है. अन्ना लिंडा ईडन ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि किस्मत रेप की तरह है, अगर आप उसे रोक नहीं सकते हैं तो उसका आनंद लीजिए. उनके इस पोस्ट पर काफी बवाल हुआ, जिसके बाद उन्होंने अपने पोस्ट पर माफी मांगी है.

मंगलवार सुबह अन्ना लिंडा ईडन ने ईडन ने फेसबुक पर वीडियो डालते हुए ये पोस्ट लिखा. उन्होंने एक वीडियो डाला और साथ ही साथ अपने पति और कांग्रेस सांसद हिबी ईडन की फोटो डाली.  

 

इन्हीं के साथ उन्होंने कैप्शन लिखा, ‘किस्मत बलात्कार की तरह है, अगर उसे रोक नहीं सकते तो उसका मजा लीजिए’

Income Tax छापे में खुला कल्कि भगवान का 'काला खजाना', जानिए पूरी खबर

Income Tax छापे में खुला कल्कि भगवान का 'काला खजाना', जानिए पूरी खबर

चेन्नई | धर्म के नाम पर भोली-भाली जनता के साथ छलावा करने वाले (Income Tax) के छापों के बाद सुर्खियों में हैं। खुद ‘कल्क‍ि भगवान’ बताने वाले नायडू के आश्रमों पर आयकर विभाग के छापों में 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की अघोषित संपत्ति का खुलासा हुआ है।

आयकर विभाग ने कल्कि भगवान के 40 ठिकानों पर छापेमारी की थी जिसमें 44 करोड़ रुपए नकद, 1271 कैरेट (कीमत लगभग 5 करोड़ रुपए) के हीरे और 90 किलो के जेवर, 25 लाख डॉलर बरामद किए गए हैं। आयकर विभाग ने आंध्रप्रदेश, कर्नाटक व तमिलनाडु के आश्रमों पर छापे मारे थे जिनमें इन संपत्तियों का खुलासा हुआ।

70 साल का विजय कुमार खुद को विष्णु भगवान का 10वां अवतार बताता है। खबरों के अनुसार आयकर के छापे के बाद 'कल्कि भगवान' गायब है। 1980 में विजय कुमार ने एलआईसी में क्लर्क की नौकरी छोड़कर जीवाश्रम संस्था की स्थापना की और वेलनेस गुरु के तौर पर मशहूर हुए।
 
आरोप है कि कथित कल्कि बाबा ने अपने ट्रस्टों के जरिए दर्शन और आध्यात्मिक ट्रेनिंग देने के बहाने विदेशियों से भी पैसा बनाया। बाबा के आश्रम में देश के धनी लोगों के अलावा विदेशी और एनआरआई की कतारें लगती थीं। कल्कि भगवान के साधारण दर्शन के लिए 5 हजार और विशेष दर्शन के लिए 25 हजार रुपए देने पड़ते थे।
आयकर छापे में खुलासा हुआ है कि अध्यात्म और दर्शन का ट्रेनिंग प्रोग्राम और कोर्स चलाने चलाने वाले बाबा का संस्थान देश और विदेश में भी निवेश कर चुका है। बाबा के आश्रम की कई कंपनियां चीन, अमेरिका, सिंगापुर और यूएई में भी हैं। आयकर विभाग की छापेमारी में बड़े पैमाने में विदेशी करेंसियां भी बरामद की गई हैं।
 

 

बाबा पर रसीदों में हेरफेर के जरिए कालेधन को सफेद करने के भी आरोप हैं। बाबा ने आश्रम के जरिए रियल स्टेट और खेल में पैसा लगाया। खबरों के मुताबिक कल्कि बाबा से कई बड़ी फिल्मी हस्तियों और रसूखदार लोगों से संबंधों का भी खुलासा हुआ है। बाबा के ट्रस्ट में उनकी पत्नी पद्मावती और बेटा एनकेवी कृष्णा भी पार्टनर हैं।
अयोध्या मामला, सुप्रीम कोर्ट तय करेगा, समझौता या फैसला, जाने पूरी खबर

अयोध्या मामला, सुप्रीम कोर्ट तय करेगा, समझौता या फैसला, जाने पूरी खबर

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में दूसरे दौर की मध्यस्थता से 70 साल पुराने विवाद का समाधान पेचीदा बन गया है। मामले में मुख्य पक्षकारों ने समाधान के बजाय फैसले पर जोर दिया है। सभी पक्षों में सहमति नहीं होने पर मध्यस्थता समिति सर्वसम्मति से समाधान नहीं कर सकता है।

दूसरे दौर की मध्यस्थता के समय को लेकर उत्सुकता बढ़ गई है क्योंकि शीर्ष अदालत द्वारा 18 अक्टूबर को सुनवाई पूरी करने की समय-सीमा तय करने के बाद इसका प्रस्ताव किया गया।
मध्यस्थता करने के इस प्रस्ताव से सुन्नी वक्फ बोर्ड के दो गुटों में दरार पैदा हो गई है क्योंकि इसके वकील ने अदालत में मामले में सुनवाई पूरी करना पसंद किया और बोर्ड में समाधान चाहने वाले पक्षकारों का विरोध किया।
इस परिस्थिति में हिंदू पक्षकार विवादित स्थल को भगवान राम की जन्मभूमि के रूप में स्थापित करने के लिए पहले ही काफी तर्क दे चुके हैं।
इसलिए माना जा रहा है कि हिंदू पक्षकार रणनीति के तहत अयोध्या विवाद में दूसरे दौर की मध्यस्थता से अलग हो गए हैं क्योंकि उनका मानना है कि बातचीत में शामिल पक्ष एक मंच पर नहीं आ सकते हैं।
हिंदू पक्ष के एक सूत्र ने कहा, हम देख सकते हैं कि वक्फ बोर्ड की राय में मतभेद है और मध्यस्थता का समर्थन करने वाले गुट को मामले में कई वर्षो से शामिल प्रमुख मुस्लिम पक्षकारों का समर्थन नहीं है। हमारा मानना है कि मध्यस्थता से समाधान के बजाय ज्यादा गड़बड़ी ही पैदा होगी। रामलला के वकीलों ने शीर्ष अदालत को साफतौर पर बता दिया कि उनको मध्यस्थता में हिस्सा लेने में दिलचस्पी नहीं है।
इलाहाबाद उच्च न्यायालय के 2010 के आदेश में रामलला, निर्मोही अखाड़ा और वक्फ बोर्ड के बीच 2.77 एकड़ विवादित भूमि को बराबर हिस्से में बांटने का फैसला हुआ था। रामलला और निर्मोही अखाड़ा में हमेशा टकराव बना रहा क्योंकि कोई विवादित स्थल को लेकर अपने दावे पर समझौता नहीं करना चाहते थे।
भिलाई स्टील प्लांट में निकली बम्पर भर्ती, जानिए कब तक आवेदन कर सकते है....

भिलाई स्टील प्लांट में निकली बम्पर भर्ती, जानिए कब तक आवेदन कर सकते है....

 आईटीआई वाले भी कर कते हैं अप्लाई

महारत्न कंपनी सेल (sail) ने अपने भिलाई स्टील प्लांट (bhilai steel plant) में विभिन्न 296 पदों (296 post) पर भर्ती (recruitment) करने जा रही है। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया दिवाली से एक दिन पहले यानी 26 अक्टूबर से शुरू होने जा रही है। यह प्रक्रिया 15 नवंबर तक शुरू रहेगी।

इन पदों पर निकली हैं भर्ती

सेल (sail) के स्टील प्लांट (bilai steel plant) में जिन 296 पदों (296 post) पर भर्ती (recruitment) हो रही है, उनमें ऑपरेटर सह तकनीशियन (प्रशिक्षु) के 123 पद व अटेंडेंड सह तकनीशियन (प्रशिक्षु/बॉयलर ऑपरेटर) के 53 पद हैं।

अन्य पदों में माइनिंग फोरमेन के 14, माइनिंग मेट-30 पद, सर्वेयर- 4 पद, सब फायर स्टेशन आफिसर (प्रशिक्षु)-08 पद, फायरमैन सह फायर इंजीनियर ड्राइवर प्रशिक्षु 36 पद, जूनियर स्टाफ नर्स प्रशिक्षु- 21 पद, एवं फार्मासिस्ट प्रशिक्षु के सात पद शामिल हैं। आवेदन करने की अंतिम तिथि 15/11/2019 हैं। अटेंडेंड सह तकनीशियन (प्रशिक्षु/बॉयलर ऑपरेटर) के 53 पदों के लिए 10वीं पास कर आईटीआई कर चुके अभ्यर्थी भी अावेदन कर सकते हैं।

भर्ती के लिए महत्वपूर्ण तिथियां

·         ऑनलाइन आवेदन प्रविष्ट करने की प्रारंभिक तिथि- 26-10-2019

·         आनलाइन आवेदन प्रविष्ट करने की अंतिम तिथि- 15-11-2019

·         शुल्क भुगतान विवरण प्रविष्टि की अंतिम तिथि- 16-11-2019

हर पद के लिए अनवार्य शैक्षणिक व आयु संबंधी अर्हता व आरक्षित श्रेणी में छूट व अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें-

क्लिक करें- https://www.sailcareers.com/

 

रिहायशी इलाके में घुसा भालू, 6 घन्टे बाद वन विभाग की टीम ने पकड़ा, जानिए कहा की ये घटना

रिहायशी इलाके में घुसा भालू, 6 घन्टे बाद वन विभाग की टीम ने पकड़ा, जानिए कहा की ये घटना

 कांकेर | जिले में भालुओ के आतंक से शहरवासी परेशान हैं । मंगलवार सुबह रिहायशी इलाके मांझा पारा के पी डब्लू डीऑफिस के पास मॉर्निंग वाक के लिए निकले लोग उस समय दहशत में आ गए जब रास्ते में उन्हें भालू मिल गया।

हालांकि भालू ने सड़क पर चल रहे लोगों पर हमला नहीं किया। भालू खुद लोगों से भयभीत होकर लोक निर्माण विभाग ऑफिस और उसके सामने बनी दुकानों के बीच झाडिय़ों में छिप गया।
जानकारी मिलते ही वन अमला मौके पर पहुंच गया है। वन विभाग ने पिंजरा मंगावाया । आसपास बैंक ऑफिस और अन्य कार्यलय होने के कारण भालू के हमले के डर को देखते हुए वन विभाग के अधिकारियों ने भालू को बेहोश करने की परमिशन उच्च अधिकारियों से मांगी है ताकि भालू को बिना नुकसान के सुरक्षित बाहर निकाल जा सके। बता दें कि बीते कुछ दिनों में शहर में भालू के प्रवेश की घटनाओं में वृध्दि देखी गई है।
डॉक्टर ने बच्ची का हाथ बिगाड़ा, शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं, जानिए कहा की है घटना

डॉक्टर ने बच्ची का हाथ बिगाड़ा, शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं, जानिए कहा की है घटना

दंतेवाड़ा | शहर के एक निजी हास्पिटल के चिकित्सक द्वारा बच्ची के हाथ का गलत आपरेशन करने के बाद अब उसके पिता इलाज करवाने भटक रहे हैं। रायपुर में दोबारा आपरेशन में डाक्टर दो लाख 20 हजार का खर्च बता रहे हैं जबकि शासन से उसे महज 60 हजार रूपये ही स्वीकृत हुए हैं। बच्ची के पिता ने मामले में कलेक्टर से गुहार लगाई है।

कटेकल्याण जिला दंतेवाड़ा निवासी श्रीमती शालिनी ठाकुर पति जयप्रकाश ठाकुर ने कलेक्टर व एसपी को दिए गए शिकायत में जिक्र किया है कि सितम्बर माह में उनकी पुत्री का हाथ फ्रेक्चर हो गया था। वे उसे उपचार के लिए शहर के एक निजी हास्पिटल में लाए थे। डाक्टर ने आपरेशन करने की आवश्यकता बताई। आपरेशन के बाद बच्ची का हाथ टेढ़ा हो गया। इसके बाद डाक्टर ने दोबारा आपरेशन की बात कही। आपरेशन के बावजूद बच्ची का हाथ ठीक नहीं हो सका। वहीं प्रबंधन द्वारा उपचार का पूरा रूपया भी वसूल कर लिया गया। श्रीमती ठाकुर ने डाक्टर के गंभीर लापरवाही की शिकायत प्रबंधन से की पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने इसकी शिकायत कलेक्टर बस्तर व एसपी से की है। मामले में कलेक्टर ने सीएचएमओ को जांच करने के निर्देश दिए वहीं एसपी ने सीएसपी हिमसागर सिदार को जांच उपरांत कार्रवाई का आदेश दिया है। अभी तक बच्ची के पिता को इंसाफ नहीं मिल सका है। इधर बच्ची के परिजनों ने जब उसे अन्य डाक्टरों को दिखाया तो दूसरे शहर ले जाने की सलाह दी गई। उन्होंने बच्ची को वीवी हास्पिटल रायपुर ले जाकर जांच करवाया तो डाक्टर ने एक लाख 20 हजार रूपये का खर्च बताते हुए दो बार आपरेशन करने की बात कही। इधर बच्ची की बिगड़ती हालत के चलते परिजन परेशान रहे। उन्हें मानसिक रूप से परेशान होना पड़ा। बच्ची के पिता ने मामले में कलेक्टर को दोबारा पत्र लिखकर डाक्टर के विरुद्ध कार्रवाई करने व बच्ची का निशुल्क उपचार करने की मांग की है। बता दें कि इसके पहले भी कुछ चिकित्सकों के विरुद्ध उपचार में लापरवाही के गंभीर आरोप लगते रहे हैं।
खाद्य सुरक्षा अधिकारी एहसान तिग्गा निलंबित, जानिए क्या है पूरा मामला

खाद्य सुरक्षा अधिकारी एहसान तिग्गा निलंबित, जानिए क्या है पूरा मामला

मतरी | आयुक्त, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग छत्तीसगढ़ शासन द्वारा खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री एहसान तिग्गा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक कर्तव्य निर्वहन में गंभीर लापरवाही एवं विधानसभा ध्यानाकर्षण सूचना का गलत जवाब प्रस्तुत करने करने के आरोप में उन्हें छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9 के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में श्री तिग्गा का मुख्यालय कार्यालय, उप संचालक, खाद्य एवं औषधि प्रशासन जिला-बीजापुर नियत किया गया है ।

 
युवक से 65 हजार की ठगी, एयरपोर्ट में नौकरी के नाम पर जमा कराए रुपए, जानिए कहा की है ये घटना

युवक से 65 हजार की ठगी, एयरपोर्ट में नौकरी के नाम पर जमा कराए रुपए, जानिए कहा की है ये घटना

हासमुंद | एयरपोर्ट में नौकरी लगाने के नाम पर एक युवक से 65 हजार रुपए ठगी का मामला सामने आया है। मामला तुमगांव थाना के ग्राम भोरिंग का है। युवक की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी मोबाइल धारक के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में लिया है। ग्राम भोरिंग निवासी टुकेश कुमार साहू पिता पवन कुमार (26) को एयर इंडिया से एक व्यक्ति के मोबाइल नंबर 95605-64503 से फोन आया और बोला कि एयर इंडिया में काम करने के लिए पहले बायोडाटा की आवश्यकता है। बायोडाटा मो 07088803926 में वाट्सएप करें। बताए अनुसार प्रार्थी ने बायोडाटा वाट्सएप किया। जिसके बाद रजिस्ट्रेशन के लिए फीस जमा करने के लिए कहते हुए दोबारा मो. 95605-64503दिया और  07088803926 इस नंबर से मैनेजर से  अकाउंट नंबर में रुपए जमा  करने के लिए कहा। डिटेल मिलने पर प्रार्थी ने फोन पे मोबाइल एप्लीकेशन द्वारा 1250 रुपए की रजिस्ट्रेशन फीस जमा की। कुछ दिन बाद एक पत्र  मिला। उसके बाद फिर फोन आया कि 24999 रुपए का जमा करो। प्रार्थी ने उसके कहने पर 25 हजार रुपए जमा किए। इसी प्रकार उस ठग ने करीब 65 हजार रुपए जमा करा लिए और में ठग ने  प्रार्थी को कोई जवाब नहीं दिया। उसके बाद उसे ठगी की अहसास हुआ। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा बयान : हर बार किसानों की कर्ज माफी नहीं हो सकती, जानिए पूरी खबर....

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा बयान : हर बार किसानों की कर्ज माफी नहीं हो सकती, जानिए पूरी खबर....

कांग्रेस ने अपना वादा पूरा किया और प्रदेश भर के किसानों का कर्जा माफ किया। लेकिन अब हर बार किसानों की कर्जमाफी नहीं होगी। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज झारखंड-उत्तरप्रदेश के दौरे पर रवाना होने के पूर्व मीडिया से संक्षिप्त बातचीत में कहा कि कांग्रेस ने अपना वादा पूरा किया है और सत्ता में आते ही किसानों का कर्जा माफ किया। एक बार प्रदेश भर के किसानों का कर्ज माफ हो चुका है, बार-बार कर्ज माफ नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि धान खरीदी हर साल की जाएगी, लेकिन कर्जमाफी का ऐलान एक बार के लिए ही किया गया था। ज्ञात हो कि कांग्रेस ने सत्ता संभालते ही प्रदेश भर के किसानों की कर्जमाफी का ऐलान किया था और किसानों का कर्ज माफ भी हुआ। लेकिन इसके बाद प्रदेश भर के किसानों ने एक बार फिर से विभिन्न बैंकों से मोटी रकम कर्ज के तौर पर ली है। कर्जमाफी की मांग उठते देख आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने धमतरी में कही कह दिया है कि बार-बार किसानों का कर्ज माफ नहीं हो सकता। श्री लखमा के बयान के बाद अब मुख्यमंत्री ने भी कर्ज माफ करने की बात से इंकार कर दिया है। 
दहेज की मांग कर विवाहिता को शारीरिक व मानसिक प्रताडऩा, 498 ए का मामला दर्ज, जानिए कहा की है ये घटना

दहेज की मांग कर विवाहिता को शारीरिक व मानसिक प्रताडऩा, 498 ए का मामला दर्ज, जानिए कहा की है ये घटना

मायके से दहेज में मोटरसाइकिल व जेवर लाने किया जा रहा था प्रताडि़त  

रायपुर | विवाहिता से शादी के बाद दहेज में मोटरसाइकिल व सोने चांदी के जेवर मायके से लाने की बात कह ससुरालियों द्वारा मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताडि़त किए जाने की रिपोर्ट सिविल लाइन थाने में दर्ज की गई है। मिली जानकारी के अनुसार इंदिरापारा वार्ड चरौदा भिलाई जिला दुर्ग निवासी विवाहिता 24 वर्ष ने रिपोर्ट दर्ज करायी है कि प्रार्थियां का विवाह हिन्दु रिति रिवाज के अनुसार न्यू शांति नगर रायपुर निवासी डी. संतोष कुमार 32 पिता डी कृष्णा राव के साथ 26 फरवरी 2016 में हुआ था, शादी के कुछ दिनों के बाद से ही ससुराल में पति एवं सास, ससुर तथा 4 ननदों करूणा, भारती, लक्ष्मी एवं पुष्पा एवं सास श्रीमती डी. जगदम्बा के द्वारा मायके से दहेज में मोटरसाइकिल व सोने चांदी के जेवर लाने की बात को लेकर आये दिन मानसिक एवं शारीरिक रूप से प्रताडि़त कर मारपीट किया जा रहा था। परिजनों के कहने पर प्रार्थियां को 09-जून 2018 को  जबरदस्ती मायके भिलाई 3 में छोड़ दिया गया। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 498 ए, 323,34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। 
 

 

पार्षद के लिए उम्र की अहर्ताएं 21 वर्ष एवं महापौर पद की अहर्ताएं 25 के प्रावधान बन रही है बाधा, जानिए क्या है मामला

पार्षद के लिए उम्र की अहर्ताएं 21 वर्ष एवं महापौर पद की अहर्ताएं 25 के प्रावधान बन रही है बाधा, जानिए क्या है मामला

 गदलपुर | छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा महापौर का चुनाव अप्रत्यक्ष मतदान से पार्षदों के माध्यम से किए जाने के निर्णय के बाद छत्तीसगढ़ नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 के प्रावधानों के तहत महापौर पद के लिए उम्र की अहर्ताओं की विसंगतियों से पार्षद का चुनाव जीत कर पार्षद बनने के बाद पार्षद महापौर नहीं बन सकते हैं, क्योंकि पार्षद के लिए उम्र की अहर्ता 21 वर्ष है और महापौर के लिए 25 वर्ष आयु का होना बन रही है बाधा, अधिनियम की यह विसंगति कई पार्षदों को महापौर बनने से वंचित करेगी। 

छत्तीसगढ़ नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 में महापौर एवं पार्षद के निर्वाचन के नियम में विसंगति है। छ.ग.नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा 12 (ए) में मतदान के लिए मतदाताओं की अहर्ता उस वर्ष की पहली जनवरी को 18 वर्ष की आयु पूर्ण किया होना आवश्यक है। 18 वर्ष का वयस्क मतदाता पार्षद के लिए मतदान कर सकता है, लेकिन पार्षद पद का चुनाव नहीं लड़ सकता है, क्योंकि वह 21 की अहर्ता नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 के अनुसार पूरी नहीं करता है। यह पहली अधिनियम की विसंगति है, जिसमें मतदान की पात्रता तो है, लेकिन चुनाव नहीं लड़ा जा सकता है। 
यह विसंगति लगभग सभी छोटे-बड़े चुनाव के साथ बनी हुई है। लेकिन नगर पालिक निगम क्षेत्र में छत्तीसगढ़ शासन के नए प्रावधान के तहत पार्षदों के द्वारा महापौर का अप्रत्यक्ष चुनाव की प्रणाली के लागू होने के बाद  छ.ग.नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा 16 (क) में उल्लेखित प्रावधान के अनुसार महापौर के चुनाव लडऩे हेतु न्यूनतम आयु 25 वर्ष निर्धारित है। छ.ग.सरकार के मंत्रिमंडल के समिति के द्वारा दिये गए अनुशंसा के अनुसार प्रत्यक्ष मतदान के माध्यम से निर्वाचित पार्षदों में से किसी एक पार्षद को पार्षदों द्वारा महापौर चुना जाना है, लेकिन अधिनियम की विसंगति से दुर्भाग्य की बात यह है कि यदी कोई पार्षद 21 वर्ष से अधिक और 25 वर्ष से कम आयु का है तो वह महापौर के निर्वाचन में भाग नहीं ले सकता है, क्योंकि 21 वर्ष का मतदाता तो पार्षद का चुनाव लड़कर पार्षद तो निर्वाचित हो सकता है और महापौर को वोट देकर महापौर का चुनाव  कर सकता है, लेकिन 25 वर्ष से कम आयु का निर्वाचित पार्षद चुनाव जीतने के बाद भी महापौर का चुनाव नहीं लड़ सकता है, क्योंकि उसकी आयु 25 वर्ष से कम है। 
छ.ग. नगर पालिक निगम अधिनियम की धारा 16 (ख) के अनुसार पार्षद चुनाव लडऩे की न्यूनतम आयु 21 वर्ष निर्धारित है और अगर 21 वर्ष से अधिक और 25  वर्ष से कम आयु का व्यक्ति पार्षद पद पर निर्वाचित होता है तो भी उन्हें महापौर पद पर निर्वाचन में हिस्सा लेने से वंचित रहना पड़ेगा। चूंकि अब पार्षदों के बीच से ही महापौर का निर्वाचन किया जाना है, इसलिए जो पार्षदों के निर्वाचन के लिए आयु सीमा तय है, वही महापौर के निर्वाचन के लिए आयु सीमा तय होनी चाहिए था, लेकिन अधिनियम की विसंगति को ठीक किए बिना यह संभव ही नहीं है कि कोई व्यक्ति 21 वर्ष  की आयु पूरी कर लेने के बाद पार्षद तो बन सकता है, लेकिन महापौर नहीं बन सकता। 
 
छत्तीसगढ़ राज्योत्सव की तैयारियां शुरू जानिए पूरी खबर....

छत्तीसगढ़ राज्योत्सव की तैयारियां शुरू जानिए पूरी खबर....

 अपर मुख्य सचिव  मंडल ने साइंस कॉलेज मैदान में तैयारियों का लिया जायजा

त्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस पर 1 से 3 नवम्बर तक आयोजित होने वाले राज्योत्सव की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव  आर.पी. मंडल ने आज शाम साइंस कॉलेज मैदान पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया और लोक निर्माण, संस्कृति विभाग तथा सी.एस.आई.डी.सी. के अधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने राज्योत्सव स्थल में मंच व्यवस्था, बैठक व्यवस्था और पार्किंग व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। अपर मुख्य सचिव ने राज्योत्सव के दौरान राज्य शासन के विभिन्न विभागों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों द्वारा लगाए जाने वाले स्टाल की व्यवस्था का भी जायजा लिया। उन्होंने युद्धस्तर पर काम करते हुए राज्योत्सव की सभी तैयारियां समय-सीमा के भीतर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस दौरान सामान्य प्रशासन विभाग की सचिव सु रीता शांडिल्य, उप पुलिस महानिरीक्षक  अजय यादव, संस्कृति विभाग के आयुक्त  अनिल साहू, कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन तथा रायपुर नगर निगम के आयुक्त  शिव अनंत तायल सहित कई विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।     

 
कृषि विश्वविद्यालय में उच्च तकनीक बागवानी पर आयोजित आठ दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न

कृषि विश्वविद्यालय में उच्च तकनीक बागवानी पर आयोजित आठ दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के निदेशालय विस्तार सेवाएं द्वारा उद्यानिकी फसलों के उच्च तकनीक उत्पादन एवं मूल्य संवर्धन विषय पर 14 से 21 अक्टूबर 2019 तक आयोजित आठ दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन आज इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के संचालक अनुसंधान सेवाएं डॉ. आर.के. बाजपेयी के मुख्य आतिथ्य सम्पन्न हुआ। विशिष्ट अतिथि के रूप में निदेशक विस्तार सेवाएं डॉ. एस.सी. मुखर्जी उपस्थित थे। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, ओडिशा तथा दिल्ली राज्यों के उद्यानिकी विस्तार अधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। भारत सरकार के कृषि मंत्रालय के वित्तीय सहयोग से आयोजित इस आठ दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के विस्तार अधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को उद्यानिकी फसलों के उच्च तकनीक उत्पादन तथा उनके मूल्य संवर्धन से संबंधित विषयों पर कृषि विश्वविद्यालय के विषय विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान उन्हें पॉली हाऊस में बागवानी फसलों का उत्पादन, ड्रिप इरिगेशन सिस्टम, मल्चिंग, ग्राफ्टिंग आदि तकनीकों के साथ ही बागवानी फसलों के संरक्षण, प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन तकनीकों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई। इस आठ दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के आयोजन सचिव एवं पाठ्यक्रम समन्वयक डॉ. विजय कुमार ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की संक्षिप्त जानकारी दी। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों द्वारा प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र प्रदान किया गया। इस अवसर पर डॉ. राज गाईन, वैज्ञानिकगण और विभिन्न राज्यों से आए विस्तार अधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

नवागांव मंदिर में विभिन्न प्रकार के फूलों से बने श्री यंत्र की पूजा संपन्न

नवागांव मंदिर में विभिन्न प्रकार के फूलों से बने श्री यंत्र की पूजा संपन्न

श्री राजराजेश्वरी विश्वनाथ महादेव मंदिर नवागांव में 9 रंगों के फूलों से श्री यंत्र का निर्माण कर पुष्य नक्षत्र के पावन अवसर पर पूजा की गई। इस पूजा से श्री गणेश जी ,श्री विष्णु जी श्री सूर्य जी एवं महादेव जी प्रसन्न होते हैं यह पूजा जनमानस की सर्व मनोकामना सिद्धि हेतु की गई।

इस पूजा में कमल फूल, सेवंती, गुलाब, गेंदा तुलसी पत्र का उपयोग कर श्री यंत्र का निर्माण किया गया था ।इस यंत्र को बनाने में 2 घंटे से भी ज्यादा समय लगा उसके उपरांत पूजा लगभग 4:00 बजे तक चली मंदिर समिति ने बताया इस तरह की पूजा से आज पुष्य नक्षत्र के अवसर पर विशेष फल प्राप्त होता है

शराब बंदी की मांग को लेकर आप पार्टी ने दिया धरना

शराब बंदी की मांग को लेकर आप पार्टी ने दिया धरना

कांग्रेस ने सत्ता में आने से पहले चुनाव जीतकर आने पर प्रदेश में पूर्ण शराब बंदी लागू करने की घोषणा अपने चुनावी घोषणा पत्र में की थी। बावजूद इसके खुले आम बिक रही शराब को लेकर पूर्ण शराब बंदी करने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) ने बुढ़ापारा धरनास्थल में प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के नेतृत्व में धरना दिया। धरना को संबोधित करते हुए आप के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश की भूपेश सरकार पर यह आरोप लगाया कि झूठे वादे करके कांगे्रस ने जनता को छला है। धरने में आप के अनेक कार्यकर्ता शामिल हुए।