कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में जारी है कोरोना से मौत का तांडव, प्रदेश में आज 15 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से मिले सर्वाधिक मरीज    |    बंगाल चुनाव: EC की नई गाइडलाइंस जारी, प्रचार का समय कम करने से लेकर आपराधिक मामला दर्ज करने तक का आदेश    |    BIG BREAKING : केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर भी आये कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया में दी जानकारी    |    ICMR कोरोना अपडेट: राज्य में आज शाम तक 12079 कोरोना मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2921 समेत बाकी इन जिलो से...    |    इस राज्य में सरकार ने लागू किया वीकेंड लॉकडाउन, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा बड़ा जुर्माना    |    BIG BREAKING : नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, पीएम केयर्स फंड से अस्पतालों में लगेंगे प्लांट    |    कोरोना की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस शाह का पूरा स्टाफ...    |    कोरोना अपडेट : देश में 24 घंटे में सामने आए 2.16 लाख मामले, 1184 मौतें    |    BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना से मौत ने लगाई शतक, प्रदेश में आज 15 हजार से अधिक नए मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से इतने    |    कोरोना अपडेट: ICMR के मुताबिक आज प्रदेश में शाम तक 11819 मरीज मिले, अकेले रायपुर जिले से 2870 समेत बाकी इन जिलो से    |
कोरोना अपडेट: छ ग में आज 15 हजार से अधिक मिले, 109 की मृत्यु के साथ रायपुर में रिकॉर्ड तोड़ 4168 समेत इन जिलो से इतने मरीज

कोरोना अपडेट: छ ग में आज 15 हजार से अधिक मिले, 109 की मृत्यु के साथ रायपुर में रिकॉर्ड तोड़ 4168 समेत इन जिलो से इतने मरीज

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 15121 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से सर्वाधिक 4168 मरीज, दुर्ग से 1755, राजनांदगांव से 1291, बालोद से 244, बेमेतरा से 528, कबीरधाम से 587, धमतरी से 232, बलौदा बाजार से 875, महासमुंद से 422, गरियाबंद से 411, बिलासपुर से 1024, रायगढ़ से 388, कोरबा से 724, जांजगीर-चांपा से 523, मुंगेली से 282, जीपीएम से 115, सरगुजा से 272, कोरिया से 194, सूरजपुर से 209, बलरामपुर से 130, जशपुर से 294, बस्तर से 199, कोंडागांव से 76, दंतेवाड़ा से 27, सुकमा से 10, कांकेर से 115, नारायणपुर से 9, बीजापुर से 12, अन्य राज्य से 05 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 4139 कोरोना संक्रमित मरीज कोरोना की जंग जीत कर स्वस्थ्य हुए है | राज्य में आज कुल 109 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 109139 है | आज प्रदेश में 53793 टेस्ट हुए है |

क्या देश में है रेमडेसिविर दवा की कमी? जानिए केंद्र सरकार ने इसको लेकर क्या जवाब दिया है

क्या देश में है रेमडेसिविर दवा की कमी? जानिए केंद्र सरकार ने इसको लेकर क्या जवाब दिया है

नई दिल्ली, देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी के बीच रेमडेसिविर दवाई की मांग में भी इज़ाफा हुआ है. हालांकि अब केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि देश में रेमडेसिविर दवा की कोई कमी नहीं है. साथ ही सरकार ने कहा है कि रेमडेसिविर केवल अस्पताल में भर्ती ऑक्सीजन पर आश्रित मरीजों के लिए है, घर पर इलाज में इसका इस्तेमाल नहीं होगा.

नीति आयोग के स्वास्थ्य सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा, "घर पर इलाज के दौरान रेमडेसिविर के इस्तेमाल का सवाल ही नहीं. इसकी ज़रूरत उनको है जिनको अस्पताल में भर्ती करने और ऑक्सीजन लगाने की ज़रूरत पड़ती है. केमिस्ट की दुकानों से इसकी खरीद नहीं की जाएगी."
हाल के दिनों में कई जगहों से रेमडेसिविर की किल्लत की खबरें आई हैं. इसको लेकर वीके पॉल ने कहा, "फिलहाल रेमडेसिविर की कोई कमी नहीं है. हम डॉक्टरों से अस्पतालों में भर्ती कोविड-19 के मरीजों के उपचार में तार्किक तरीके से इसका इस्तेमाल करने की अपील करते हैं."

 

रात्रि 8.30 बजे राज्य को करेंगे संबोधित मुख्यमंत्री, लॉकडाउन की चर्चा हुई तेज...

रात्रि 8.30 बजे राज्य को करेंगे संबोधित मुख्यमंत्री, लॉकडाउन की चर्चा हुई तेज...

मुंबई । महाराष्ट्र में लगातार तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच सीएम उद्धव ठाकरे ने आज रात 8.30 बजे राज्य को संबोधित करने का ऐलान किया है। सीएम के संबोधन की खबर आते ही राज्य में लॉकडाउन की चर्चा छिड़ गई है। लॉकडाउन की हलचल की वजह से मुंबई समेत कई शहरों में लोगों में खरीदारी के लिए हड़बड़ाहट देखी गई। दुकानों पर लंबी-लंबी कतारें देखी गईं।
हालांकि, राज्य सरकार की ओर से ऐसा कोई संकेत नहीं दिया गया है। सरकार की ओर से कहा गया है कि महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे आज शाम 8:30 मिनट पर सोशल मीडिया के जरिए राज्य को संबोधित करेंगे। माना जा रहा है कि अपने संबोधन में ठाकरे राज्य में कोरोना को काबू करने के लिए नई सख्त गाइडलाइंस जारी कर सकते हैं।
वहीं राज्य के एक मंत्री ने इससे पहले संकेत देते हुए कहा कि कोरोना को लेकर नई एसओपी और गाइडलाइंस जारी की जाएंगी जो कल से सूबे में लागू होंगी। मंत्री असलम शेख ने कहा कि कुछ घंटों के भीतर मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र में नए सख्त दिशानिर्देश लागू किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना पर अंकुश के लिए महाराष्ट्र सरकार द्वारा कई कदम उठाए गए हैं, लेकिन केस कम नहीं हो रहे हैं, इसलिए अब और सख्त दिशानिर्देश लागू किये जाएंगे।
 

छग कोरोना अपडेट: आईसीएमआर के मुताबिक आज शाम तक 10748 नये मरीजो की हुई पुष्टि, रायपुर से अकेले 3293 समेत बाकी इन जिलो से...

छग कोरोना अपडेट: आईसीएमआर के मुताबिक आज शाम तक 10748 नये मरीजो की हुई पुष्टि, रायपुर से अकेले 3293 समेत बाकी इन जिलो से...

रायपुर, 13 अप्रैल। राज्य में आज शाम 5.00 तक 10748 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सर्वाधिक 3293 अकेले रायपुर जिले के हैं। केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों के मुताबिक आज शाम तक 20 जिलों में सौ-सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
आईसीएमआर के मुताबिक आज बालोद 151, बलौदाबाजार 667, बलरामपुर 64, बस्तर 189, बेमेतरा 406, बीजापुर 17, बिलासपुर 803, दंतेवाड़ा 25, धमतरी 159, दुर्ग 1155, गरियाबंद 258, जीपीएम 10, जांजगीर-चांपा 321, जशपुर 191, कबीरधाम 289, कांकेर 93, कोंडागांव 57, कोरबा 465, कोरिया 175, महासमुंद 254, मुंगेली 159, नारायणपुर 0, रायगढ़ 314, रायपुर 3293, राजनांदगांव 894, सुकमा 11, सूरजपुर 187, और सरगुजा 141 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों में रात तक राज्य शासन के जारी किए जाने वाले आंकड़ों से कुछ फेरबदल हो सकता है क्योंकि ये आंकड़े कोरोना पॉजिटिव जांच के हैं, और राज्य शासन इनमें से कोई पुराने मरीज का रिपीट टेस्ट हो, तो उसे हटा देता है। लेकिन हर दिन यह देखने में आ रहा है कि राज्य शासन के आंकड़े रात तक खासे बढ़ते हैं, और इन आंकड़ों के आसपास पहुंच जाते हैं, कभी-कभी इनसे पीछे भी रह जाते हैं।
 

SOURCE: DAILY CHHATTISGARH

छत्तीसगढ़ से राज्य सभा की ये सांसद हुई कोरोना संक्रमित, दिल्ली AIIMS में हुई भर्ती

छत्तीसगढ़ से राज्य सभा की ये सांसद हुई कोरोना संक्रमित, दिल्ली AIIMS में हुई भर्ती

भिलाई, छत्तीसगढ़ से राज्य सभा की सांसद सरोज पाण्डेय कोरोना संक्रमित हो गयी है,उन्होंने ट्विट कर कहा- कल स्वास्थ्य ठीक ना होने के कारण #COVID19 की जाँच कराई और मेरी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी है। डॉक्टर्स के परामर्श से मुझे दिल्ली के #Aiims में भर्ती किया गया है. जितने भी लोग पिछले विगत दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं,वे सभी अपना टेस्ट जरूर करवायें। 

इस दिन इतने समय के लिए पुरे भारत में बंद रहेगी आरटीजीएस की सुविधा

इस दिन इतने समय के लिए पुरे भारत में बंद रहेगी आरटीजीएस की सुविधा

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ने सोमवार को कहा कि डिजिटल भुगतान रियल टाइम ग्रॉस सेट्लमेंट (आरटीजीएस) की सुविधा रविवार 18 अप्रैल को 14 घंटे के लिए बंद रहेगी। आरबीआई ने एक बयान में कहा है कि आरजीटीएस में तकनीकी सुधार के लिए ऐसा किया जा रहा है।
इसके लिए 17 अप्रैल शनिवार की मध्यरात्रि से रविवार दोपहर 2 बजे तक यह सुविधा बंद रहेगी। हालांकि इस दौरान नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (एनईएफटी) की सुविधा जारी रहेगी। आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वह अपने-अपने ग्राहकों को सूचित कर दें कि वे भुगतान को सुचारु रखने की योजना बना लें।
 

देश में पिछले 24 घंटे में 1.61 लाख कोरोना के नए मरीज मिले, 879 की गई जान, जानिये क्या है टीकाकरण का हाल

देश में पिछले 24 घंटे में 1.61 लाख कोरोना के नए मरीज मिले, 879 की गई जान, जानिये क्या है टीकाकरण का हाल

नई दिल्ली, देशभर में कोरोना ने हाहाकार मचा रहा है. पिछले 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 1,61,736 नए केस सामने आए हैं. नहीं कोरोना ने 879 लोगों को अपनी शिकार बना लिया. वहीं बीते दिन 97,168 लोग कोरोना को मात देकर ठीक भी हो गए.
देशभर में इस समय कोरोना के कुल मरीज 1,36,89,453 हैं. इनमें 12,64,698 एक्टिव केस हैं यानी इनका अस्पताल या घर में इलाज चल रहा है. कोरोना के कारण 1,71,058 लोग अब तक काल के गाल में समा चुके हैं. वहीं कुल 1,22,53,697 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं.

महाराष्ट्र में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, 24 घंटे में नए मरीज
महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 51,751 मामले सामने आए और महामारी से 258 लोगों की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा यह जानकारी दी गई। इससे एक दिन पहले राज्य में संक्रमण के 63,294 मामले सामने आए थे। महाराष्ट्र में कुल मामले बढ़कर 34,58,996 हो गए हैं और मृतकों की संख्या 58,245 पर पहुंच गई है। महाराष्ट्र में अब 5,64,746 मरीज उपचाराधीन हैं।

राजधानी दिल्ली में, 24 घंटे में 11 हजार से ज्यादा मरीज
बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोविड-19 के अब तक के सबसे ज्यादा 11,491 नए मामले आए तथा 72 और लोगों की मौत हो गयी. आंकड़ों के मुताबिक संक्रमण दर बढ़कर 12.44 प्रतिशत हो गयी है, जो एक दिन पहले 9.43 प्रतिशत थी. दिल्ली में पांच दिसंबर के बाद मौत के सबसे ज्यादा मामले आए हैं. पांच दिसंबर को 77 लोगों की मौत दर्ज की गयी थी. 19 नवंबर को संक्रमण से सबसे ज्यादा 131 लोगों की मौत के मामले सामने आए थे.

छत्तीसगढ़ में सामने आये कोरोना वायरस के 13,576 नये मामले
छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान 13,576 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के साथ ही राज्य में इस महामारी के मामले 4,56,873 हो गये. राज्य में सोमवार को 162 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई है, जबकि 4274 लोगों ने पृथक-वास पूर्ण किया है. राज्य में 132 मरीजों की मौत हुई है. इनमें से 24 घंटे के दौरान 107 लोगों की तथा पिछले दिनों 25 लोगों की मौत हुई है.

देश में अब कितने लोगों को लगा टीका
टीकाकरण अभियान 'टीका उत्सव' के दूसरे दिन सोमवार को कोविड-19 टीके की 37 लाख से अधिक खुराक दी गईं, जिससे देश में अभी तक दी गई टीके की कुल खुराकों की संख्या बढ़कर 10,82,92,423 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक टीका उत्सव के दूसरे दिन, सोमवार रात 8 बजे तक टीके की 37 लाख से अधिक खुराक दी गईं. किसी भी दिन औसतन 45,000 कोविड टीकाकरण केंद्र (सीवीसी) क्रियाशील होते हैं. आज, 71,000 सीवीसी परिचालन में थे जिसमें औसत 26,000 की वृद्धि होने का संकेत है.

 

BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज कोरोना से मौत का आंकड़ा 100 के पार, प्रदेश में आज साढ़े 13 हजार नए मरीजों की हुई पहचान, देखें जिले वार आंकड़े

BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ में आज कोरोना से मौत का आंकड़ा 100 के पार, प्रदेश में आज साढ़े 13 हजार नए मरीजों की हुई पहचान, देखें जिले वार आंकड़े

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 13576 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से सर्वाधिक 3442 मरीज, दुर्ग से 1591, राजनांदगांव से 1132, बालोद से 357, बेमेतरा से 641, कबीरधाम से 452, धमतरी से 332, बलौदा बाजार से 801, महासमुंद से 246, गरियाबंद से 312, बिलासपुर से 829, रायगढ़ से 413, कोरबा से 638, जांजगीर-चांपा से 465, मुंगेली से 256 जीपीएम से 119, सरगुजा से 208, कोरिया से 184, सूरजपुर से 240, बलरामपुर से 129, जशपुर से 295, बस्तर से 173, कोंडागांव से 82, दंतेवाड़ा से 58, सुकमा से 16, कांकेर से 143, नारायणपुर से 12, बीजापुर से 10, अन्य राज्य से 0 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 4436 कोरोना संक्रमित मरीज कोरोना की जंग जीत कर स्वस्थ्य हुए है | राज्य में आज कुल 107 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 98856 है | आज प्रदेश में 45997 टेस्ट हुए है |

BIG BREAKING : राजधानी के इन 14 निजी अस्पतालों को सरकार ने पूरी तरह से कोरोना अस्पताल किया घोषित, देखें आदेश

BIG BREAKING : राजधानी के इन 14 निजी अस्पतालों को सरकार ने पूरी तरह से कोरोना अस्पताल किया घोषित, देखें आदेश

नई दिल्लीदिल्ली मे बढ़ती कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुये केजरीवाल सरकार ने राजधानी दिल्ली के 14 प्राइवेट अस्पतालों को पूरी तरह से कोरोना अस्पताल घोषित कर दिया है |  अगले आदेश तक ये अस्पताल किसी भी गैर कोरोना मरीज को भर्ती नहीं कर सकेंगे | इनमें अपोलो अस्पताल, सर गंगा राम अस्पताल, होली फैमिली, महाराजा अग्रसेन, मैक्स शालीमार बाग, फोर्टिस शालीमार बाग, मैक्स साकेत, वैंकेटेश्वर, श्री बालाजी एक्शन, जयपुर गोल्डन, माता चानन देवी, पुष्पावती सिंगानिया, मनिपाल और सरोज सुपर स्पेशलिटी अस्पताल शामिल हैं |
इसके साथ ही 19 निजी अस्पतालों को अपने 80 फीसदी ICU बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करने का आदेश दिया है | 82 निजी अस्पतालों के 60 फीसदी ICU बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करने को कहा गया है | इसके अलावा 101 अस्पतालों को 60 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करने का निर्देश दिया है |
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज ही दिल्ली में कोरोना के मामलों की समीक्षा की थी, जिसके बाद कहा था कि जल्द ही दिल्ली के कुछ अस्पतालों को सिर्फ कोरोना के लिए आरक्षित किया जाएगा | दिल्ली सरकार ने 6 सरकारी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बेड बढ़ाए हैं | इनमें से चार को पूरी तरह से कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित किया गया |

BIG BREAKING : राजधानी में आज रिकॉर्ड तोड़ 11491 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, राजधानी में आज 72 कोरोना मरीजों की हुई मौत

BIG BREAKING : राजधानी में आज रिकॉर्ड तोड़ 11491 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, राजधानी में आज 72 कोरोना मरीजों की हुई मौत

नई दिल्लीराष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है | रात के करीब 8 बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 11,491 मामले आए हैं और 72 मरीजों की मौत हुई है | 

राष्ट्रीय राजधानी में अब तक 7,36,688 लोग संक्रमित हुए हैं | कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने समीक्षा बैठक की | इस बैठक में उन्होंने दिल्ली के सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड्स की संख्या युद्ध स्तर पर बढ़ाने के आदेश दिए |

साथ ही उन्होंने लोगों से कोविड प्रोटोकॉल फॉलो करने, ज्यादा जरूरी नहीं होने पर अस्पताल नहीं जाने और टीकाकरण करवाने की अपील की |

बड़ी खबर: ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर EC ने 24 घंटे के लिए रोक लगाई

बड़ी खबर: ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर EC ने 24 घंटे के लिए रोक लगाई

कोलकाता, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर चुनाव आयोग (EC) ने 24 घंटे के लिए रोक लगा दी है. बता दें कि सात अप्रैल को चुनाव आयोग ने अल्पसंख्यक वोटों के बंटवारे ना होने वाले बयान को लेकर मुख्यमंत्री को नोटिस भेजा था.
नोटिस में कहा गया था कि चुनाव आयोग को बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल से शिकायत मिली है जिसमें आरोप लगाया है कि तीन अप्रैल को, बनर्जी ने हुगली में ताराकेश्वर की चुनाव रैली के दौरान मुस्लिम मतदाताओं से कहा कि उनका वोट विभिन्न दलों में न बंटने दें.
नोटिस में बनर्जी के हवाले से कहा गया, “ विश्वविद्यालयों तक के लिए कन्याश्री छात्रवृत्ति है. अनुसूचित जातियों एवं अनुसूचित जनजातियों के लिए शिक्षाश्री है. सामान्य वर्ग के लिए स्वामी विवेकानंद छात्रवृत्ति है. अल्पसंख्यक समुदाय के मेरे भाइयों और बहनों के लिए एक्यश्री है और मैंने इसे दो करोड़ 35 लाख लाभार्थियों को दिया है. मैं हाथ जोड़कर अपने अल्पसंख्यक भाई-बहनों से अपने मत शैतान को नहीं देने और अपने मत को बंटने नही देने की अपील करती हूं जिसने बीजेपी से पैसे लिए हैं.”
चुनाव आयोग ने कहा कि उसने पाया है कि उनका भाषण जन प्रतिनिधित्व कानून और आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन करता है.
अब चुनाव आयोग ने उनके प्रचार पर 12 अप्रैल रात आठ बजे से कल 13 अप्रैल रात आठ बजे तक के लिए रोक लगा दिया है.

 

केंद्र सरकार ने इंजेक्शन रेमेडिसविर (Remdesivir) और इसके एक्टिव फ़ार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स पर लिया बढ़ा फैसला, जाने क्या

केंद्र सरकार ने इंजेक्शन रेमेडिसविर (Remdesivir) और इसके एक्टिव फ़ार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स पर लिया बढ़ा फैसला, जाने क्या

नईदिल्ली।  केंद्र सरकार ने इंजेक्शन रेमेडिसविर (Remdesivir) और इसके एक्टिव फ़ार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स के निर्यात पर रोक लगा दी है। इस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में COVID मामलों में काफी तेज़ वृद्धि हुई है और देश में 11 लाख से अधिक सक्रिय COVID मामले हैं। देश में कोविड मामलों के बढ़ने के कारण COVID रोगियों के उपचार में इस्तेमाल होने वाले इंजेक्शन रेमेडिसविर की मांग में वृद्धि हुई है। आने वाले दिनों में इस मांग में और वृद्धि होने की संभावना है। रेमेडिसविर के सभी घरेलू निर्माताओं को सलाह दी गई है कि वे अपनी वेबसाइट पर अपने स्टॉकिस्टों और वितरकों की जानकारी प्रदर्शित करें। ड्रग्स इंस्पेक्टर और अन्य अधिकारियों को स्टॉक को सत्यापित करने और उनकी खराबी की जांच करने के लिए निर्देशित किया गया है और जमाखोरी और कालाबाजारी पर अंकुश लगाने के लिए अन्य प्रभावी कदम उठाए गए हैं। फार्मास्युटिकल विभाग ने रेमेडिसविर के उत्पादन को बढ़ाने के लिए घरेलू निर्माताओं के साथ संपर्क किया है। गौरतलब है कि भारत में 7 कंपनियां अमेरिका के गिलियड साइंसेज (Gilead Sciences) के साथ स्वैच्छिक लाइसेंसिंग समझौते के तहत इंजेक्शन रेमेडिसविर का उत्पादन कर रही हैं। उनके पास प्रति माह लगभग 38 लाख 80 हजार इकाइयों की स्थापित क्षमता है।

 

BIG BREAKING : राजधानी के इस प्रसिद्द सिद्ध पीठ में नवरात्रि में ई पास के जरिये दिया जायेगा भक्तों को प्रवेश, कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा अनिवार्य

BIG BREAKING : राजधानी के इस प्रसिद्द सिद्ध पीठ में नवरात्रि में ई पास के जरिये दिया जायेगा भक्तों को प्रवेश, कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा अनिवार्य

नई दिल्ली | भारत देश में कोरोना संक्रमण फिर से अपना पैर पसारना शुरू कर दिया है | रोजाना देश में लाखों की संख्या में नए कोरोना मरीजों की पहचान हो रही हैं | जिसके कारण कई राज्यों में लॉक डाउन की स्थिति पैदा हो गई है | इसी बीच खबर मिल रही है कि  देश की राजधानी दिल्ली में फैलते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए अब धार्मिक स्थलों पर भी श्रद्धालुओं के आवागमन को रोकने के लिए मंदिर प्रशासन की ओर से कदम उठाए जा रहे है | कल मंगलवार से चैत्र नवरात्रि महोत्सव शुरू हो रहा है | ऐसे में मंदिर प्रशासन ने मंदिरों में श्रद्धालुओं के प्रवेश को रोकने और उनके दर्शनों के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं भी की हैं |

खबर मिली है कि इस बार नवरात्रि में दिल्ली के सिद्ध पीठ कालकाजी मंदिर प्रशासन की ओर से श्रद्धालुओं के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके मंदिर में प्रवेश की व्यवस्था की गई है | साथ ही कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने के बाद ही मंदिर में मां के दर्शन के लिए प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी | जानकारी के अनुसार इस बार भक्तों को ई पास के जरिए ही मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति होगी कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के चलते इस तरह के मंदिर प्रशासन की ओर से कदम उठाए गए हैं मंदिर प्रशासन और जिला प्रशासन के बीच नवरात्र को लेकर मंदिर में की गई व्यवस्था आदि को लेकर बैठक भी की गई है |

इस बारे में कालकाजी मंदिर के महंत सुरेंद्रनाथ अवधूत ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते सभी भक्तों से निवेदन है कि सभी भक्तगण कोरोना से बचाव संबंधी नियमों का पालन करें |

10 साल से छोटे व 60 साल से अधिक उम्र के भक्त मंदिर में नहीं आए

10 साल से छोटे बच्चे और 60 साल से अधिक उम्र के भक्त दर्शन के लिए मंदिर ना आए और घर से ही दर्शन करें | सभी भक्तों से निवेदन है कि मंदिर परिसर में आने के लिए नेहरू प्लेस की  तरफ से आएं |

ऑनलाइन पर्ची कालकाजी मंदिर की वेबसाइट पर उपलब्ध 
सभी भक्त कोरोना की जांच करवा कर नेगेटिव रिपोर्ट साथ में लाएं | मंदिर परिसर में प्रवेश ऑनलाइन पर्ची से ही प्रवेश होगा | ऑनलाइन पर्ची कालकाजी मंदिर की वेबसाइट पर उपलब्ध है | बिना पर्ची कालकाजी मंदिर में प्रवेश नहीं मिलेगा |

ICMR कोरोना अपडेट: आज 5:45 तक प्रदेश में 9769 मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2603 समेत बाकी इन जिलो से

ICMR कोरोना अपडेट: आज 5:45 तक प्रदेश में 9769 मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2603 समेत बाकी इन जिलो से

रायपुर, राज्य में आज शाम 5.45 तक 9769 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सर्वाधिक 2603 अकेले रायपुर जिले के हैं। केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों के मुताबिक आज शाम तक 19 जिलों में सौ-सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

आईसीएमआर के मुताबिक आज बालोद 301, बलौदाबाजार 780, बलरामपुर 72, बस्तर 157, बेमेतरा 507, बीजापुर 7, बिलासपुर 583, दंतेवाड़ा 36, धमतरी 206, दुर्ग 1363, गरियाबंद 207, जीपीएम 26, जांजगीर-चांपा 272, जशपुर 96, कबीरधाम 191, कांकेर 139, कोंडागांव 33, कोरबा 401, कोरिया 138, महासमुंद 179, मुंगेली 140, नारायणपुर 8, रायगढ़ 241, रायपुर 2603, राजनांदगांव 778, सुकमा 10, सूरजपुर 206, और सरगुजा 89 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों में रात तक राज्य शासन के जारी किए जाने वाले आंकड़ों से कुछ फेरबदल हो सकता है क्योंकि ये आंकड़े कोरोना पॉजिटिव जांच के हैं, और राज्य शासन इनमें से कोई पुराने मरीज का रिपीट टेस्ट हो, तो उसे हटा देता है। लेकिन हर दिन यह देखने में आ रहा है कि राज्य शासन के आंकड़े रात तक खासे बढ़ते हैं, और इन आंकड़ों के आसपास पहुंच जाते हैं, कभी-कभी इनसे पीछे भी रह जाते हैं।

साभार: दैनिक छत्तीसगढ़

 

बड़ा हादसा : तेज रफ्तार ट्रक ने कार को मारी टक्कर, पिता-पुत्र सहित 3 की मौत

बड़ा हादसा : तेज रफ्तार ट्रक ने कार को मारी टक्कर, पिता-पुत्र सहित 3 की मौत

झांसी। आगरा-कानपुर नेशनल हाइवे-सिक्सलेन पर सोमवार तड़के पूनम ढाबा के सामने हाइवे किनारे कड़ी एक कार में तेज रफ्तार ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में पिता-पुत्र की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी जबकि ड्राइवर ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। हादसे में मासूम बच्चों समेत मृतको के परिवार व गांव के अन्य आठ लोग घायल हो गए। हादसा उस समय हुआ जब पंचर होने पर कार का टायर बदला जा रहा है। झांसी जिले के थाना गुरुसराय के सेमरी गांव के रहने वाले बुद्धि सिंह (54)अपने बेटे दीपक (26) व परिवार के दिल्ली में रहते थे।गांव में प्रधानी चुनाव में मतदान करने के लिए वह एक किराये की कार लेकर परिवार समेत गांव जा रहे थे। उनकी कार सोमवार को तड़के 4 बजे आगरा कानपुर हाइवे पर बकेवर के पास पहुंची थी तभी पंचर हो गई। ड्राइवर कमरुज्जमा सुल्तानपुरी दिल्ली कार किनारे खड़ी करके टायर बदलने लगा, इस दौरान परिवार कार के पास ही खड़ा था। इसी दौरान पीछे से ट्रक ने कार में टक्कर मार दी।


जनकारी पर पुलिस पहुची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया तब तक बुद्धि सिंह, बेटे दीपक और ड्राइवर की मौत हो चुकी थी। उधर घटना के बाद ड्राइवर ट्रक लेकर भाग निकला। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुँच कर पीड़ितों की हर संभव मदद करने तथा दुर्घटना में घायल हुए लोगों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं।
 
कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 1,68,912 नए मामले, 904 लोगों की मौत

कोरोना अपडेट : 24 घंटे में 1,68,912 नए मामले, 904 लोगों की मौत

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना बेलगाम हो चुका हैं और पिछले 24 घंटे में जो आंकड़े सामने आए हैं, वह वाकई में डराने वाले हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में देश में 1 लाख 68 हजार 912 केस सामने आए हैं। कोरोना फैलने के बाद अब तक ये पहली बार है, जब एक दिन के अंदर इतने लोग संक्रमण की चपेट में आए हैं।
देश में कुल कोरोना संक्रमण के मामले 1,35,27,717 पहुंच गए हैं, जबकि इस बीमारी से ठीक होने वालों की तादाद 1,21,56,529 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अपडेट के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में 904 ताजा मौतें दर्ज की गईं, जिससे मरने वालों की कुल संख्या 1,70,179 हो गई है। सक्रिय मामलों की संख्या में हाल के सप्ताहों में काफी वृद्धि देखी गई है। देश में कोविड-19 का सक्रिय केसलोड बढ़कर 12,01,009 हो गया है। हालांकि पिछले 24 घंटे में 75,086 लोग इस महामारी से ठीक हो चुके हैं।
904 नई मौतों में में महाराष्ट्र के 349, पंजाब के 59, छत्तीसगढ के 122, केरल के 16, कर्नाटक के 40 और तमिलनाडु के 22, दिल्ली, के 48, हरियाणा के 16, मध्य2 प्रदेश के 24 और यूपी के 67 लोग शामिल हैं।
देश में अब तक कुल 1,70,179 मौतें हुई हैं, जिनमें महाराष्ट्र से 57987, पंजाब से 7507, छत्तीसगढ़ से 4899, केरल से 4783, कर्नाटक से 12889, तमिलनाडु से 12908, दिल्ली से 11283, पश्चिम बंगाल से 10400, उत्तर प्रदेश से 9152 और आंध्र प्रदेश से 7300 मौतें हुई हैं।
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 25,78,06,986 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 11,80,136 लाख सैंपल कल टेस्ट किए गए।
केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बताया कि 16 जनवरी को शुरू किया गया राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत कल 29,33,418 लोगों को टीका लगाया गया। जबकि देश में कुल 10,45,28,565 वैक्सीनेशन किया जा चुका है।
 

कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में आज भी कोरोना से मौत का आंकड़ा है डरावना, प्रदेश में आज साढ़े 10 हजार से अधिक नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान

कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में आज भी कोरोना से मौत का आंकड़ा है डरावना, प्रदेश में आज साढ़े 10 हजार से अधिक नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 10521 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से सर्वाधिक 2833 मरीज, दुर्ग से 1650, राजनांदगांव से 759, बालोद से 282, बेमेतरा से 229, कबीरधाम से 215, धमतरी से 257, बलौदा बाजार से 403, महासमुंद से 354, गरियाबंद से 298, बिलासपुर से 624, रायगढ़ से 273, कोरबा से 455, जांजगीर-चांपा से 329, मुंगेली से 207 जीपीएम से 85, सरगुजा से 249, कोरिया से 109, सूरजपुर से 161, बलरामपुर से 53, जशपुर से 255, बस्तर से 131, कोंडागांव से 45, दंतेवाड़ा से 41, सुकमा से 7, कांकेर से 198, नारायणपुर से 11, बीजापुर से 3, अन्य राज्य से 5 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 5707 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ्य होने के उपरांत अपने घर लौटे है | राज्य में आज कुल 52 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 90277 है |

 

BIG BREAKING : शरद पवार अस्पताल में भर्ती, गॉल ब्लैडर में है समस्या, होगी सर्जरी

BIG BREAKING : शरद पवार अस्पताल में भर्ती, गॉल ब्लैडर में है समस्या, होगी सर्जरी

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. अस्पताल में उनकी एक सर्जरी की जाएगी, जिसके कारण उन्हें भर्ती करवाया गया है. इस मामले पर एनसीपी नेता नवाब मलिक ने ट्वीट कर जानकारी दी है. उन्होंने कहा है, 'हमारी पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार साहब को ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया है और जैसा कि पहले बताया गया था, कल उनके गॉल ब्लैडर की बीमारी के लिए एक सर्जरी की जाएगी.'


मलिक ने बताया, '(पिछले महीने की) चिकित्सीय प्रक्रिया के बाद शरद पवार को सात दिनों तक आराम करने की सलाह दी गई थी. इसके बाद यह फैसला किया गया कि 15 दिनों बाद गॉल ब्लैडर हटाने के लिए सर्जरी की जाएगी. इसी के अनुरूप, पवार रविवार को ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती हुए.'

 

बता दें कि कुछ दिनों पहले भी एनसीपी के प्रमुख शरद पवार को पेट में अधिक दर्द की वजह से मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनके पेट में काफी वक्त से दर्द की शिकायत है. जांच रिपोर्ट में पता चला कि उनके गॉल ब्लैडर में समस्या है. 

BIG BREAKING : इस राज्य में आज रिकॉर्ड तोड़ 63, 294 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, 349 कोरोना मरीजों की हुई मौत

BIG BREAKING : इस राज्य में आज रिकॉर्ड तोड़ 63, 294 नए कोरोना मरीजों की हुई पहचान, 349 कोरोना मरीजों की हुई मौत

महाराष्ट्र | महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण पूरी तरह से बेकाबू हो चुका है. यहां पर रविवार को रिकॉर्ड 63, 294 नए मामले सामने आए हैं जबकि 349 लोगों की मौत हो गई. इसके बाद यहां पर कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 34 लाख 7 हजार 245 हो गई है. मौत का आंकड़ा बढ़कर महाराष्ट्र में अब 57 हजार 987 हो चुका है जबकि एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 5 लाख 65 हजार 587 गई है.

इधर, बढ़ते कोरोना के नए मामलों को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार की शाम को कोविड टास्क फोर्स के साथ बैठक की. कोविड टास्क फोर्स ने दो हफ्ते के कड़े लॉकडाउन की सिफारिश की. अब उद्धव ठाकरे कल यानी सोमवार की सुबह ग्यारह बजे राज्य के उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ बैठक करेंगे.

इससे पहले, महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संकेत दिया कि राज्य सरकार संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए 12 अप्रैल से 15 दिनों का लॉकडाउन लगा सकती है. सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी के तीनों दलों और भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधियों की एक बैठक में उन्होंने इस संबंध में राज्य सरकार के लिए जाने वाले किसी भी निर्णय के लिए सभी दलों से सहयोग मांगा. पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस सहित उपस्थित सभी लोगों ने उन्हें समर्थन का आश्वासन दिया.

इससे पहले, महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संकेत दिया कि राज्य सरकार संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए 12 अप्रैल से 15 दिनों का लॉकडाउन लगा सकती है. सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी के तीनों दलों और भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधियों की एक बैठक में उन्होंने इस संबंध में राज्य सरकार के लिए जाने वाले किसी भी निर्णय के लिए सभी दलों से सहयोग मांगा. पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस सहित उपस्थित सभी लोगों ने उन्हें समर्थन का आश्वासन दिया.

महाराष्ट्र के सभी ज़िलों में कोरोना की रोकथाम को लेकर सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन लगाया है. वीकेंड पर लगाए गए लॉकडाउन को अब तक उत्साहजनक प्रतिक्रिया मिली है और मुंबई, पुणे, औरंगाबाद तथा नागपुर समेत राज्य के अधिकतर हिस्सों में सड़कें और बाजार सुने पड़े हैं. बहरहाल, राजधानी मुंबई के कुछ बाजारों समेत राज्य के कुछ स्थानों पर लोगों को एक ही जगह पर बड़ी संख्या में जमा होकर दूरी और अन्य नियमों को तोड़ते देखा गया. राज्य में पहला वीकेंड लॉकडाउन शुक्रवार रात आठ बजे शुरू हुआ और यह सोमवार सुबह सात बजे तक जारी रहेगा. शुक्रवार को पिछले 24 घंटों में राज्य में 58,993 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और 301 मरीजों की मौत हुई. केवल मुंबई में 9,200 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और 35 लोगों की मौत हुई है.

बड़ी खबर : भारत सरकार ने रेमडेसिविर और रेमडेसिविर एपीआई के निर्यात पर लगाई रोक, जाने वजह

बड़ी खबर : भारत सरकार ने रेमडेसिविर और रेमडेसिविर एपीआई के निर्यात पर लगाई रोक, जाने वजह

नई दिल्लीकोरोना संक्रमण से निपटने के लिए जीवनरक्षक कहे जा रहे रेमडेसिविर इंजेक्शन के निर्यात पर केंद्र सरकार ने रोक लगा दी है। भारत सरकार में देश में हालात सुधरने तक के लिए इस रोक का ऐलान किया है। बीते कुछ दिनों में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी देखी जा रही थी। ऐसे में सरकार का यह फैसला अहम है। केंद्र सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि देश में 11 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं और इसके चलते इलाज में रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग बढ़ गई है। आने वाले दिनों में इस मांग में और इजाफा हो सकता है। ऐसे में सरकार ने भविष्य की चुनौतियों ने से निपटने के लिए इंजेक्शन के एक्सपोर्ट पर रोक का फैसला लिया है।

एक्सपोर्ट पर रोक का यह आदेश तब तक लागू रहेगा, जब तक देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम नहीं जाती। सरकार का कहना है कि कई कंपनियां इस इंजेक्शन के उत्पादन में जुटी हैं और प्रतिदिन 38.80 यूनिट्स का उत्पादन किया जा रहा है। उत्पादन के इस आंकड़े और कोरोना के बढ़ते केसों के मद्देनजर सरकार ने एक्सपोर्ट पर रोक लगाना जरूरी समझा है। यही नहीं सरकार की ओर से रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकने और उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भी कुछ ऐलान किए गए हैं।
सरकार ने रेमडेसिविर इंजेक्शन तैयार करने वाली कंपनियों के लिए यह जरूरी किया है कि वे इंजेक्शन की संख्या के बारे में अपनी वेबसाइट्स पर जानकारी दें। इसके अलावा डिस्ट्रिब्यूटर्स के बारे में भी जानकारी दें। इसके अलावा ड्रग इंस्पेक्टर्स को आदेश दिया गया है कि वे स्टॉक को चेक करते रहें और कालाबाजारी के मामलों पर पूरी नजर रखें। इसके अलावा फार्मास्युटिकल डिपार्टमेंट को घरेलू मैन्युफैक्चरर्स से बात करने को कहा गया है ताकि उत्पादन में इजाफा किया जा सके। इसके अलावा सभी निजी और सरकारी अस्पतालों से भी समन्वय बेहतर करने पर फोकस किया जा रहा है ताकि इंजेक्शन की उपलब्धता में कमी न होने पाए।