कोरोना अपडेट : छत्तीसगढ़ में जारी है कोरोना से मौत का तांडव, प्रदेश में आज 15 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से मिले सर्वाधिक मरीज    |    बंगाल चुनाव: EC की नई गाइडलाइंस जारी, प्रचार का समय कम करने से लेकर आपराधिक मामला दर्ज करने तक का आदेश    |    BIG BREAKING : केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर भी आये कोरोना की चपेट में, सोशल मीडिया में दी जानकारी    |    ICMR कोरोना अपडेट: राज्य में आज शाम तक 12079 कोरोना मरीजो की हुई पुष्टि, अकेले रायपुर से 2921 समेत बाकी इन जिलो से...    |    इस राज्य में सरकार ने लागू किया वीकेंड लॉकडाउन, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा बड़ा जुर्माना    |    BIG BREAKING : नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, पीएम केयर्स फंड से अस्पतालों में लगेंगे प्लांट    |    कोरोना की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस शाह का पूरा स्टाफ...    |    कोरोना अपडेट : देश में 24 घंटे में सामने आए 2.16 लाख मामले, 1184 मौतें    |    BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना से मौत ने लगाई शतक, प्रदेश में आज 15 हजार से अधिक नए मरीजों की हुई पहचान, राजधानी से इतने    |    कोरोना अपडेट: ICMR के मुताबिक आज प्रदेश में शाम तक 11819 मरीज मिले, अकेले रायपुर जिले से 2870 समेत बाकी इन जिलो से    |
 बड़ी खबर: मुख्यमंत्री बघेल ने की केंद्र सरकार से वैक्सिनेशन की उम्र 18 वर्ष निर्धारित करने की माँग

बड़ी खबर: मुख्यमंत्री बघेल ने की केंद्र सरकार से वैक्सिनेशन की उम्र 18 वर्ष निर्धारित करने की माँग

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच केंद्र सरकार से वैक्सिनेशन की उम्र 18 वर्ष निर्धारित करने की माँग की है। भूपेश बघेल ने इस संबंध में ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पीएमओ को टैग किया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा कि अब जबकि कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है, तो हमेशा की तरह भविष्य में आने वाली चुनौतियों के प्रबंधन हेतु हमारे युवा देश की युवा पीढ़ी तैयार रहे, ऐसा हम सब सोचते हैं। इसलिए आवश्यक है कि वैक्सिनेशन की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष निर्धारित की जाए।
 कोविड-19 के चलते 10वीं और 12वीं कक्षा के एक लाख से अधिक छात्र रद्द कराना चाहते हैं बोर्ड परीक्षा

कोविड-19 के चलते 10वीं और 12वीं कक्षा के एक लाख से अधिक छात्र रद्द कराना चाहते हैं बोर्ड परीक्षा

नई दिल्ली। कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर 10वीं और 12वीं कक्षा के एक लाख से अधिक छात्रों ने याचिकाओं पर हस्ताक्षर कर सरकार से मई में होने वाली बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने या उन्हें ऑनलाइन कराने का अनुरोध किया है। पिछले दो दिनों से ट्विटर पर हैशटैग 'कैंसल बोर्ड एग्जाम्स 2021 ट्रेंड कर रहा है। बहरहाल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (सीआईएससीई) ने कहा कि छात्रों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं और परीक्षाओं के दौरान कोविड-19 के सभी दिशा निर्देशों का पालन किया जाएगा।

'चेंज डॉट ओआरजी पर एक याचिका में कहा गया है, ''भारत में हालात दिन-ब-दिन बदतर होते जा रहे हैं। जब देश में कुछ ही मामले थे तो उन्होंने बाकी की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी थी और अब जब मामले चरम पर हैं तो वे स्कूलों को खोलने की योजना बना रहे हैं। हम शिक्षा मंत्री से इस मामले पर विचार करने और इस साल होने वाली सभी परीक्षाएं रद्द करने का अनुरोध करते हैं क्योंकि छात्र पहले ही बहुत तनाव में हैं।

आम तौर पर बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षाएं जनवरी में और लिखित परीक्षाएं फरवरी में शुरू होती है तथा मार्च में संपन्न होती हैं। महामारी के कारण परीक्षाओं में देरी हो गई है और अब मई-जून में ये परीक्षाएं होनी हैं। बोर्ड ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि अगर कोई छात्र खुद या परिवार के किसी सदस्य के संक्रमित पाए जाने के कारण प्रैक्टिकल परीक्षा में नहीं बैठता है तो स्कूल उचित समय पर उनके लिए फिर से परीक्षा आयोजित करेगा। अधिकारी ने हालांकि इस पर टिप्पणी नहीं की कि क्या लिखित परीक्षा में भी यह छूट दी जाएगी। वहीं सीआईएससीई के मुख्य कार्यकारी और सचिव गैरी अराथून ने कहा कि परीक्षाएं निर्धारित समय पर ही होंगी।
 गाइडलाइंस का पालन नहीं करने पर आम आदमी पर जुर्माना, चुनावी रैलियों पर क्यों नही: हाई कोर्ट

गाइडलाइंस का पालन नहीं करने पर आम आदमी पर जुर्माना, चुनावी रैलियों पर क्यों नही: हाई कोर्ट

नई दिल्ली। देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और हर दिन एक नया रिकॉर्ड बना रहे हैं। वहीं राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा और चुनावी रैलियों के दौरान कोरोना की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार के बनाए गए निर्देशों के खुलेआम उल्लंघन देखने को मिल रहा है। इसी मामले को आधार बनाकर दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने केंद्रीय गृह मंत्रालय और चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

दिल्ली हाईकोर्ट में दायर अर्जी में कहा गया था कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जो एसओपी यानी कि स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर जारी किया है उसका पालन न तो राजनीतिक दलों के नेता कर रहे है, और न ही चुनावी रैलियों के दौरान पालन हो रहा। इस अर्जी में मांग की गई है कि केंद्रीय चुनाव आयोग को निर्देश दिया जाए कि वह केंद्र सरकार के जारी किए गए निर्देशों का सख्ती से पालन करवाएं और इसके लिए राजनीतिक दलों और चुनाव की ड्यूटी में लगे अधिकारियों को निर्देश दें।

इस अर्जी पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्रीय गृह मंत्रालय और केंद्रीय चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर 30 अप्रैल तक जवाब देने को कहा है। ये अर्ज़ी उस याचिका के साथ दायर की गई है जिसमें कहां गया था की एक तरफ आम आदमी से मास्क न लगाए जाने पर जुर्माना वसूला जा रहा है तो दूसरी तरफ राजनैतिक दलों दलों के राजनेता खुलेआम बिना मास्क के ही घूम रहे हैं और प्रचार प्रसार में लगे हुए हैं। यहां तक कि की राजनैतिक दलों की रैलियों में भी कहीं कोई नियम का पालन नहीं हो रहा।

17 मार्च को यूपी के पूर्व डीजीपी और थिंक टैंक सीएएससी के चेयरमैन विक्रम सिंह ने ये याचिका हाइकोर्ट में दायर की थी। कोर्ट ने उस याचिका पर 22 मार्च को सुनवाई करते हुए नोटिस जारी करके केंद्रीय गृह मंत्रालय और चुनाव आयोग से 30 अप्रैल तक अपना जवाब दायर करने का आदेश दिया था।
 
कोरोना अपडेट: प्रदेश में कोरोना ने मचाया कहर मिले 10 हजार से ज्यादा मरीज 53 मृत्यु, रायपुर में 3 हजार से अधिक  देखे बाकी जिलो का हाल

कोरोना अपडेट: प्रदेश में कोरोना ने मचाया कहर मिले 10 हजार से ज्यादा मरीज 53 मृत्यु, रायपुर में 3 हजार से अधिक देखे बाकी जिलो का हाल

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 10310 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से सर्वाधिक 3302 मरीज, दुर्ग से 1664, राजनांदगांव से 873, बालोद से 316, बेमेतरा से 308, कबीरधाम से 250, धमतरी से 219, बलौदा बाजार से 427, महासमुंद से 407, गरियाबंद से 155, बिलासपुर से 600, रायगढ़ से 153, कोरबा से 269, जांजगीर-चांपा से 171, मुंगेली से 117, जीपीएम से 52, सरगुजा से 240, कोरिया से 117, सूरजपुर से 140, बलरामपुर से 87, जशपुर से 167, बस्तर से 68, कोंडागांव से 12, दंतेवाड़ा से 14, सुकमा से 16, कांकेर से 139, नारायणपुर से 19, बीजापुर से 6, अन्य राज्य से 2 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 2609 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ्य होने के उपरांत अपने घर लौटे है | राज्य में आज कुल 53 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 58883 है | 

 

कोरोना अपडेट: ICMR के अनुसार आज मिले 8000 से अधिक मरीज अकेले रायपुर से 2686 समेत इन जिलो से इतने मिले

कोरोना अपडेट: ICMR के अनुसार आज मिले 8000 से अधिक मरीज अकेले रायपुर से 2686 समेत इन जिलो से इतने मिले

रायपुर, राज्य में आज शाम 5.30 तक 8031 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सर्वाधिक 2686 अकेले रायपुर जिले के हैं। केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों के मुताबिक आज शाम तक 17 जिलों में सौ-सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

आईसीएमआर के मुताबिक आज बालोद 248, बलौदाबाजार 378, बलरामपुर 70, बस्तर 72, बेमेतरा 280, बीजापुर 6, बिलासपुर 448, दंतेवाड़ा 12, धमतरी 144, दुर्ग 1446, गरियाबंद 103, जीपीएम 25, जांजगीर-चांपा 84, जशपुर 103, कबीरधाम 170, कांकेर 126, कोंडागांव 8, कोरबा 200, कोरिया 81, महासमुंद 208, मुंगेली 99, नारायणपुर 8, रायगढ़ 111, रायपुर 2686, राजनांदगांव 602, सुकमा 12, सूरजपुर 124, और सरगुजा 177 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों में रात तक राज्य शासन के जारी किए जाने वाले आंकड़ों से कुछ फेरबदल हो सकता है क्योंकि ये आंकड़े कोरोना पॉजिटिव जांच के हैं, और राज्य शासन इनमें से कोई पुराने मरीज का रिपीट टेस्ट हो, तो उसे हटा देता है। लेकिन हर दिन यह देखने में आ रहा है कि राज्य शासन के आंकड़े रात तक खासे बढ़ते हैं, और इन आंकड़ों के आसपास पहुंच जाते हैं, कभी-कभी इनसे पीछे भी रह जाते हैं।
 

BIG BREAKING : यहाँ हर वयस्क को 19 अप्रैल से लग सकेगा कोरोना का टीका

BIG BREAKING : यहाँ हर वयस्क को 19 अप्रैल से लग सकेगा कोरोना का टीका

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि देश में 19 अप्रैल से हर वयस्क टीकाकरण के लिए पात्र होगा। इससे पहले सभी वयस्कों के लिए टीकाकरण अभियान को शुरू करने की तारीख एक मई तय की गयी थी।
राष्ट्रपति ने मंगलवार को यह घोषणा ऐसे वक्त की जब अमेरिका में कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कोविड-19 के मामलों पर नजर रखने वाले जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के मुताबिक अमेरिका में संक्रमण के 3,08,46,300 मामले आ चुके हैं और 5,56,500 लोगों की मौत हो चुकी है। बाइडन ने कहा, जब तक हम महामारी पर काबू नहीं पा लेते और अपने अभियान में सफल नहीं हो जाते तब तक यह जरूरी है कि हर कोई अपने हाथों को धोए, सामाजिक दूरी का पालन करे और मास्क पहने। बाइडन ने कहा कि 19 अप्रैल से हर वयस्क टीका लगवा सकेगा और टीकाकरण अभियान का विस्तार होगा। राष्ट्रपति ने व्हाइट हाउस में घोषणा की कि 19 अप्रैल से 18 साल या उससे अधिक उम्र का हर कोई टीका लगवाने का पात्र होगा। उन्होंने कहा, अब कोई भ्रामक नियम नहीं। और अधिक भ्रामक पाबंदी नहीं। बाइडन ने कहा कि अमेरिका वायरस के खिलाफ जंग में अब भी संघर्ष कर रहा है और उनके प्रशासन ने महज 75 दिन के भीतर रिकॉर्ड 15 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया है। राष्ट्रपति ने अपने प्रशासन के शुरुआती 100 दिन के भीतर 10 करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा था, लेकिन महज 75 दिन के भीतर रिकॉर्ड 15 करोड़ लोगों का टीकाकरण हो चुका है। बाइडन ने अब अपने प्रशासन के पहले 100 दिन में 20 करोड़ देशवासियों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा, मैं आपको बताना चाहता हूं कि हम अभी जीत की कगार पर नहीं पहुंचे हैं। अभी बहुत कुछ करना बाकी है। जब तक अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण नहीं होता, तब तक अपने हाथों को धोएं, सामाजिक दूरी का पालन करें और मास्क पहनें। उन्होंने कहा, इसे ऐसे सोचें कि अच्छा समय आने वाला है और मैंने पहले भी कहा था कि जुलाई तक हम एक सुरक्षित, खुशहाल माहौल में अपने परिवार और दोस्तों के साथ छोटे समूहों में खुशी के पल बिता सकेंगे, लेकिन वास्तविक सवाल यह है कि तब तक हमें कितनी और मौतें, बीमारियां और दुख देखना बाकी है? बाइडन ने कहा कि नए मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है और अस्पतालों में मरीज बढ़ रहे हैं। राष्ट्रपति ने वाशिंगटन डीसी के वर्जीनिया उपनगर में एक टीकाकरण केंद्र का दौरा करने के दौरान भारतीय मूल की एक प्रवासी सेविया खान से मुलाकात की। राष्ट्रपति के पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि वह भारत से हैं। सेविया ने कहा, वह कई बार भारत जा चुकी हैं। उन्होंने कहा, मैंने यहां अपने तीन बच्चों को पाला है। एक ग्रेजुएट है और एक ग्रेजुएट होने वाला है, वहीं तीसरा 11वीं कक्षा में है। मुझे अमेरिकी नागरिक होने पर गर्व है। बाइडन ने कहा, आप ही अमेरिका हैं। अमेरिका प्रवासियों का देश है। उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की मां भी भारत से थीं।
 

 किटी पार्टी के बहाने जुआ खेले व्यापारियों की पत्नियां गिरफ्तार

किटी पार्टी के बहाने जुआ खेले व्यापारियों की पत्नियां गिरफ्तार

इंदौर। कलेक्टोरेट के सामने इमारत से पुलिस ने सात महिलाओं को गिरफ्तार किया है। महिलाएं किटी पार्टी के बहाने जुआ पार्टी कर रही थीं। खबर मिलते ही व्यापारी पति थाने पहुंचे और पत्नियों को पुलिस के सामने जमकर फटकार लगाई। थाना प्रभारी आरएनएस भदौरिया के मुताबिक गत दिवस सूचना मिली थी के नेता अपार्टमेंट की छत पर महिलाएं जुआ खेल रही हैं। एसआइ कृष्णा राठौर सादी वर्दी में पहुंचा तो वहां महिलाएं जुआ खेलते हुए मिली। एसआइ के मुताबिक, आरेापित महिलाओं से 21870 रुपये और ताश के पत्ते बरामद किए गए हैं। पुलिस ने जुआ एक्ट के तहत गिरफ्तारी लेकर थाने से ही जमानत पर रिहा कर दिया। महिलाओं के पति कपड़ा, प्रापर्टी, किराना और ऑटो डील व्यापारी हैं। पत्नियों की गिरफ्तारी की खबर मिलते ही वे थाने पहुंच गए।
 चुनाव के बाद स्कूटर से ले जा रहे थे ईवीएम मशीन, पार्टियों ने किया हंगाम

चुनाव के बाद स्कूटर से ले जा रहे थे ईवीएम मशीन, पार्टियों ने किया हंगाम

वेलाचेरी। तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान समाप्त होने के बाद स्कूटी पर ईवीएम रखकर ले जाने का मामला सामने आया है। वेलाचेरी में मंगलवार शाम को मतदान खत्म होने के बाद दो लोग स्कूटी पर ईवीएम रखकर ले जा रहे थे, तभी उन्हें भीड़ ने घेर लिया। इसके बाद राज्य में राजनीतिक पार्टियों ने हंगामा करते हुए चुनाव आयोग से सफाई मांगी है।

ईवीएम को स्कूटी पर रखकर ले जाने का मामला सामने आने के बाद द्रमुक (डीएमके) ने दावा किया कि ये लोग ईवीएम के साथ कोई गड़बड़ी करने वाले थे। इससे पहले ही इन लोगों को भीड़ ने देख लिया, जिसके बाद पुलिस दोनों को अपने साथ ले गई।

वेलाचेरी में हंगामा उस समय और बढ़ गया, जब पुलिस ने मौके से तीन लोगों को बिना किसी जांच के वहां से हटाने की कोशिश की। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। जबकि द्रमुक नेता और चेन्नई के पूर्व मेयर एमए सुब्रमणियम ने चुनाव आयोग से इस पूरे मामले पर सफाई मांगी। सुब्रमणियम ने कहा कि चुनाव आयोग इस मामले पर स्थिति स्पष्ट करे।

चुनाव आयोग ने दी सफाई
विवाद खड़ा होते देखकर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी सत्यब्रत साहू ने सफाई दी कि स्कूटी पर ईवीएम ले जाने वाले चुनाव आयोग के ही कर्मचारी थे। उन्होंने कहा कि उनके दो कर्मचारियों ने ये गलती की है और इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल मतदान के लिए नहीं हुआ था।

बता दें कि तमिलनाडु की 234 विधानसभा सीटों के लिए 6 अप्रैल को एक ही फेज में वोटिंग हुई। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, राज्य में 72.78 फीसदी वोटिंग हुई। यहां बहुमत के लिए 118 सीटें जीतना जरूरी है। वर्ष 2016 में एआईएडीएमके ने 134 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी। डीएमके को 97 सीटें मिली थीं।
BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना हुआ बेकाबू, रायपुर में आज तीन हजार के करीब व प्रदेश में 10 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, 53 मरीजों की हुई मौत

BIG BREAKING : प्रदेश में कोरोना हुआ बेकाबू, रायपुर में आज तीन हजार के करीब व प्रदेश में 10 हजार के करीब मरीजों की हुई पहचान, 53 मरीजों की हुई मौत

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 9921 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से सर्वाधिक 2821 मरीज, दुर्ग से 1838, राजनांदगांव से 940, बालोद से 289, बेमेतरा से 276, कबीरधाम से 267, धमतरी से 274, बलौदा बाजार से 242, महासमुंद से 468, गरियाबंद से 64, बिलासपुर से 545, रायगढ़ से 189, कोरबा से 294, जांजगीर-चांपा से 155, मुंगेली से 113, जीपीएम से 29, सरगुजा से 210, कोरिया से 88, सूरजपुर से 132, बलरामपुर से 67, जशपुर से 209, बस्तर से 85, कोंडागांव से 58, दंतेवाड़ा से 35, सुकमा से 12, कांकेर से 210, नारायणपुर से 5, बीजापुर से 6, अन्य राज्य से 0 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 1552 कोरोना संक्रमित  मरीज स्वस्थ्य होने के उपरांत अपने घर लौटे है | राज्य में आज कुल 53 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 52445 है |

कोरोना अपडेट: ICMR के अनुसार आज प्रदेश में फिर 7500 से ज्यादा मरीज मिले, रायपुर से अकेले 2337 देखे बाकी जिलो का हाल

कोरोना अपडेट: ICMR के अनुसार आज प्रदेश में फिर 7500 से ज्यादा मरीज मिले, रायपुर से अकेले 2337 देखे बाकी जिलो का हाल

रायपुर। राज्य में आज शाम 5.30 तक 7621 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सर्वाधिक 2337 अकेले रायपुरजिले के हैं। केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों के मुताबिक आज शाम तक 17 जिलों में सौ-सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
छत्तीसगढ़ में कोरोना का हमला लगातार बढ़ते चल रहा है आज शाम 5.30 बजे तक आईसीएमआर के आंकड़े साढ़े 7 हजार पार कर चुके हैं। उल्लेखनीय है कल रात 9 बजे तक के राज्य सरकार के कुल आंकड़े 7302 और आज शाम तक आईसीएमआर के आंकड़़ेे 7621 हैं। इनमें रायपुर दो हजार से अधिक, दुर्ग डेढ़ हजार से अधिक और कुल 17 जिले सौ-सौ से अधिक हैं। कुछ जिले 3 सौ और 5 सौ से अधिक हैं।
आईसीएमआर के मुताबिक आज बालोद 221, बलौदाबाजार 186, बलरामपुर 35, बस्तर 77, बेमेतरा 254, बीजापुर 10, बिलासपुर 326, दंतेवाड़ा 22, धमतरी 170, दुर्ग 1604, गरियाबंद 35, जीपीएम 17, जांजगीर-चांपा 122, जशपुर 187, कबीरधाम 164, कांकेर 161, कोंडागांव 30, कोरबा 191, कोरिया 83, महासमुंद 283, मुंगेली 93, नारायणपुर 0, रायगढ़ 157, रायपुर 2337, राजनांदगांव 560, सुकमा 11, सूरजपुर 102, और सरगुजा 183 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों में रात तक राज्य शासन के जारी किए जाने वाले आंकड़ों से कुछ फेरबदल हो सकता है क्योंकि ये आंकड़े कोरोना पॉजिटिव जांच के हैं, और राज्य शासन इनमें से कोई पुराने मरीज का रिपीट टेस्ट हो, तो उसे हटा देता है। लेकिन हर दिन यह देखने में आ रहा है कि राज्य शासन के आंकड़े रात तक खासे बढ़ते हैं, और इन आंकड़ों के आसपास पहुंच जाते हैं, कभी-कभी इनसे पीछे भी रह जाते हैं।
 

कौन होंगे भारत के 48वें क्रम के मुख्य न्यायाधीश, पढ़े पूरी खबर

कौन होंगे भारत के 48वें क्रम के मुख्य न्यायाधीश, पढ़े पूरी खबर

नईदिल्ली।  राष्ट्रपति ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 124 के खंड (2) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए, सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश, न्यायमूर्ति श्री नथालपति वेंकट रमण को भारत का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया है। इस संबंध में विधि एवं न्याय मंत्रालयके न्याय विभाग द्वारा आज अधिसूचना जारी की गई है। न्यायमूर्ति श्री एन वीरमण को नियुक्ति पत्र और नियुक्ति-अधिसूचना की एक प्रतिसौंपी गई है। न्यायमूर्ति श्री नथालपति वेंकट रमण, 24 अप्रैल, 2021 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभालेंगे। वे भारत के 48वें मुख्य न्यायाधीश होंगे। वे पहली पीढ़ी के वकील हैं और किसान परिवार से आते हैं। वे आंध्र प्रदेश में कृष्णा जिले के पोन्नवरम गांव के निवासी हैं। वे किताबें पढ़ने के शौकीन हैं तथा साहित्य में उनकी गहरी रूचि है। वे कर्नाटक संगीत भी बहुत पसंद करते हैं। उन्हें 10.02.1983 को बार में पंजीकृत किया गया था। उन्होंने आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय, केन्द्रीय और आंध्र प्रदेश प्रशासनिक न्यायाधिकरण और भारत के सर्वोच्च न्यायालय में वकालत की है। उन्हें संवैधानिक, सिविल, श्रम, सेवा और चुनाव मामलों में विशेषज्ञता हासिल है। उन्होंने अंतर-राज्य नदी न्यायाधिकरण के समक्ष भी अपना पक्ष प्रस्तुत किया है। वकालत करने के दौरान, वे विभिन्न सरकारी संगठनों के पैनल अधिवक्ता थे। वे हैदराबाद स्थित केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण में रेलवे के अधिवक्ता थे। इसके बाद उन्होंने आंध्र प्रदेश के अतिरिक्त महाधिवक्ता के रूप में सेवाएं प्रदान की। न्यायमूर्ति श्री नथालपति वेंकट रमण ने 17.02.2014 से भारत के सर्वोच्च न्यायालय के उप न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। उन्होंने 7 मार्च, 2019 से 26 नवंबर, 2019 तक सर्वोच्च न्यायालय कानूनी सेवा समिति के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया। उन्होंने 27.11.2019 से राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (एनएएलएसए) के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया है। प्रारंभ में उन्हें 27.06.2000 को आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने 10.3.2013 से 20.5.2013 तक इस उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में भी कार्य किया था। 

Assembly Elections 2021: पांचों राज्यों में मतदान संपन्न, अधिकतर जगहों पर 70 से 80 फ़ीसदी तक हुई वोटिंग

Assembly Elections 2021: पांचों राज्यों में मतदान संपन्न, अधिकतर जगहों पर 70 से 80 फ़ीसदी तक हुई वोटिंग

Assembly Elections 2021 Voting Updates: देश के चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनावों की वोटिंग संपन्न हो गई है. पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण का चुनाव है तो वहीं, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में आज पहला और अंतिम चरण का मतदान है. बंगाल में 31 सीटों पर तो असम में 40 सीटों पर वोट डाले गए. वहीं, केरल की सभी 140 और तमिलनाडु की सभी 234 सीटों के लिए भी वोटिंग हुई. केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में भी आज 30 सीटों पर एक ही चरण में मतदान हुआ. बता दें कि चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 475 विधानसभा सीटों पर आज वोटिंग हो गई है. चुनाव के नतीजे 2 मई को आएंगे.  

 बाघ के हमले में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत, महुआ बीनने गए हुए थे जंगल

बाघ के हमले में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत, महुआ बीनने गए हुए थे जंगल

चंद्रपुर। महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में मंगलवार सुबह संदिग्ध बाघ हमले में एक परिवार के दो लोगों की मौत हो गई. एक वन अधिकारी ने यह जानकारी दी. चंद्रपुर क्षेत्र के मुख्य वन संरक्षक एन आर प्रवीण ने बताया कि यह घटना उस वक्त घटी जब पवनपार गांव के दो लोग ब्रह्मपुरी मंडल के अंतर्गत सिंदेवाही जंगल क्षेत्र में महुआ के फूल बीनने गए थे.ऐसा संदेह है कि बाघ ने शुरू में एक व्यक्ति पर हमला किया होगा और जब उसके रिश्तेदार ने उसे बचाने की कोशिश की होगी तो बाघ ने उसकी भी जान ले ली.उन्होंने बताया कि मृतकों के शव वन क्षेत्र में 200 मीटर की दूरी पर मिले. इनकी पहचान कमलाकर ऋषि उंदीरवाड़े (60) और दुरवास धनुजी उंदीरवाड़े (48) के तौर पर हुई है.अधिकारी ने कहा कि वन विभाग जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद मृतकों के परिवार के सदस्यों को मुआवजा देगा. घटनास्थल जिले के तड़ोबा अंधारी बाघ अभयारण्य से करीब 45 किलोमीटर दूर है.
 सात अप्रैल को शाम सात बजे मोदी करेंगे छात्रों से परीक्षा पर चर्चा

सात अप्रैल को शाम सात बजे मोदी करेंगे छात्रों से परीक्षा पर चर्चा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सात अप्रैल को शाम सात बजे परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम के तहत छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद करेंगे। उन्होंने ट्वीट कर कहा, एक नए अवतार में, परीक्षा देने वाले हमारे बहादुर योद्धाओं, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ विभिन्न विषयों पर कई मजेदार सवाल और यादगार चर्चा। सात अप्रैल को शाम सात बजे देखिए परीक्षा पे चर्चा। प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही एक वीडियो भी साझा किया जिसमें वह कह रहे हैं, हम बीते एक साल से कोरोना के साये में रह रहे हैं और इसकी वजह से मुझे व्यक्तिगत रूप से आपसे मिलने का मोह छोड़ना होगा और नए फॉरमेट में ‘परीक्षा पे चर्चा’ के पहले डिजिटल संस्करण में आपके साथ रहूंगा। उन्होंने छात्रों से कहा कि वे परीक्षा को अवसरों के तौर पर देखें न कि जीवन के सपनों के अंत के तौर पर। वीडियो में यह भी बताया गया है कि प्रधानमंत्री बच्चों के साथ दोस्त के तौर पर बातचीत करेंगे और इसके साथ ही डिजिटल कार्यक्रम में शिक्षकों व अभिभावकों से भी संवाद करेंगे। मोदी इस बात की भी चर्चा करते हैं कि लोग या माता-पिता क्या कहेंगे इसका दबाव भी कई बार बोझ बन जाता है। वीडियो में प्रधानमंत्री यह भी कह रहे हैं कि यह ‘परीक्षा पे चर्चा’ है लेकिन यहां चर्चा सिर्फ ‘परीक्षा’ तक सीमित नहीं होगी। इस बार ‘‘परीक्षा पे चर्चा’’ कार्यक्रम डिजिटल माध्यम से किया जा रहा है। गत फरवरी महीने में शिक्षा मंत्रालय ने इसकी घोषणा की थी। प्रधानमंत्री मोदी साल 2018 से परीक्षा से पहले छात्रों से चर्चा करते रहे हैं। पहली बार इसका आयोजन दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में हुआ था। `परीक्षा पे चर्चा` कार्यक्रम के जरिए वह हर साल छात्रों से संवाद करते हैं और उन्हें परीक्षा के तनाव को दूर करने के उपाय सुझाते हैं।
 
 IMA ने 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को कोविड का टीका लगाने का केन्द्र  से किया आग्रह

IMA ने 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को कोविड का टीका लगाने का केन्द्र से किया आग्रह

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने केंद्र सरकार से कहा है कि 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को कोविड का टीका लगाया जाना चाहिए। आज प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र में एसोसिएशन ने यह भी आग्रह किया है कि सार्वजनिक स्थानों और बड़े समारोहों में प्रवेश के लिए टीकाकरण प्रमाणपत्र अनिवार्य कर देना चाहिए। एसोसिएशन ने यह भी कहा है कि सरकार को निजी क्लिनिकों को भी टीकाकरण अभियान में शामिल करना चाहिए। उसने टीकाकरण पर नजर रखने के लिए प्रत्येक जिले में कार्यबल गठित करने का भी सुझाव दिया है।
 बड़ी खबर: पुलिस की आंखो मे मिर्च झोंककर जेल से 16 कैदी फरार

बड़ी खबर: पुलिस की आंखो मे मिर्च झोंककर जेल से 16 कैदी फरार

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर जिले फलोदी में उप कारागृह से 16 कैदी फरार हो गए हैं। वे तैनात प्रहरियों की आंखों में मिर्ची और सब्जी डालकर फरार हुए हैं। सभी कैदी स्थानीय बताए जा रहे हैं। सूचना पर फलोदी एडीएम, एसडीएम और पुलिस थाना अधिकारी उप कारागृह पहुंचे, कारागृह का हाल देखकर वे भी दंग रहे गए।

उप जिला कलेक्टर यशपाल आहूजा का कहना है कि इलाके में नाकेबंदी कराई गई है। सभी आसपास के थानों को जानकारी दी गई है, सभी वाहनों की रोक कर जांच की जाने के निर्देश दिए गए हैं,अलग-अलग टीमें रवाना हो गई हैं।

यशपाल आहूजा ने लगाई फटकार-
यशपाल आहूजा ने इसे बड़ी लापरवाही बताया है। आहूजा ने कहा कि जेल के 2 गेट होते हैं। अगर वो किसी वजह से खुले हुए हैं, तो और कैदी वहां से निकले हैं, तो ये गेट बंद होना चाहिए था, ये भी गेट खुला हुआ है, तो ये बड़ी लापरवाही है।

सुनियोजित तरीके से कैदी फरार-
ये घटना सोमवार देर शाम की है, मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भागने वाले ज्यादातर कैदी नशे और तस्करी के मामले में बंद थे। जो कैदी फरार हुए हैं, उनके नाम जारी किए गए हैं। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, कैदी सुनियोजित तरीके से कारागार से फरार हुए हैं।
 
कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज कोरोना हुआ बेकाबू 7 हजार से अधिक मिले मरीज, 38 मृत्यु, रायपुर आज भी सर्वाधिक देखे अन्य जिलो का हाल

कोरोना अपडेट : प्रदेश में आज कोरोना हुआ बेकाबू 7 हजार से अधिक मिले मरीज, 38 मृत्यु, रायपुर आज भी सर्वाधिक देखे अन्य जिलो का हाल

रायपुर | छत्तीसगढ़ प्रदेश में आज कुल 7302 नए कोरोना मरीजों की पहचान की गई है | जिसमे जिला रायपुर से 1702 सर्वाधिक मरीज, दुर्ग से 1169, राजनांदगांव से 893, बालोद से 169, बेमेतरा से 335, कबीरधाम से 104, धमतरी से 154, बलौदा बाजार से 162, महासमुंद से 338, गरियाबंद से 150, बिलासपुर से 467, रायगढ़ से 157, कोरबा से 285, जांजगीर-चांपा से 161, मुंगेली से 81, जीपीएम से 52, सरगुजा से 190, कोरिया से 77, सूरजपुर से 164, बलरामपुर से 20, जशपुर से 171, बस्तर से 103, कोंडागांव से 23, दंतेवाड़ा से 27, सुकमा से 7, कांकेर से 165, नारायणपुर से 3, बीजापुर से 2, अन्य राज्य से 1 मरीज शामिल है । आज प्रदेश में कुल 1028 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ्य होने के उपरांत अपने घर लौटे है | राज्य में आज कुल 38 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है | प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 44296 है |  

BIG BREAKING : बिहार, बंगाल समेत इस जगह में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए

BIG BREAKING : बिहार, बंगाल समेत इस जगह में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए

पटना: बिहार की राजधानी पटना में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए. पटना में दो से तीन सेकेंड तक लोगों को झटका महसूस हुआ. पश्चिम बंगाल समेत नॉर्थ ईस्ट में भूकंप के झटके महसूस किए गए. सिक्किम में भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 5.4 मापी गई. 

 अपराधियों ने की शिक्षिका की गोली मारकर हत्या, पढ़े पूरी खबर

अपराधियों ने की शिक्षिका की गोली मारकर हत्या, पढ़े पूरी खबर

छपरा। बिहार में सारण जिले के परसा थाना क्षेत्र में अपराधियों ने सोमवार की सुबह एक शिक्षिका की गोली मारकर हत्या कर दी।

पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि बनकेरवा गांव निवासी विनोद कुमार की 23 वर्षीय पुत्री प्रमिला कुमारी अपने घर से ट्यूशन पढ़ाने के लिए साइकिल से जा रही थी। इसी दौरान परसा-शीतलपुर राजकीय राजमार्ग संख्या 73 पर बजरहिंया गांव के समीप मोटरसाइकिल पर सवार दो अपराधियों ने प्रमिला कुमारी को गोली मारकर घायल कर दिया।

सूत्रों ने बताया कि घायल शिक्षिका को स्थानीय लोगों ने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए छपरा सदर अस्पताल भेज दिया है। पुलिस इस मामले में अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर जांच कर रही है। 
अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद अब ये नेता संभालेंगे महाराष्ट्र के अगले गृहमंत्री का पदभार

अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद अब ये नेता संभालेंगे महाराष्ट्र के अगले गृहमंत्री का पदभार

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की तरफ से दायर पीआईएल पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने फैसला सुनाते हुए अनिल देशमुख के खिलाफ सोमवार को सीबीआई जांच के आदेश दिए. बॉम्बे हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद देशमुख ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री पद से अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सौंप दिया. सूत्रों के मुताबिक, अब राज्य का अगला गृहमंत्री पद का चार्ज दिलीप वलसे पाटिल को सौंपा गया. इसके साथ ही, दिलीप वलसे पाटिल के पास जो एक्साइज मिनिस्ट्री थी वह अजित पवार को दी जाएगी.


महाराष्ट्र के सीएम को दिए अपने इस्तीफे में अनिल देशमुख ने कहा कि बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद उनका पद पर बना रहना नैतिक रूप से ठीक नहीं होगा. जबकि, एनसीपी नेता और राज्य सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा- "हाईकोर्ट के आदेश के बाद गृहमंत्री अनिल देशमुख ने शरद पवार और अन्य पार्टी नेताओं से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि वे इस पद पर और आगे नहीं बने रहना चाहते हैं. वे सीएम को इस्तीफा देने के लिए गए हैं. पार्टी ने सीएम से अनुरोध किया है कि वे अनिल देशमुख का इस्तीफा स्वीकार कर लें."