कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
आईसीसी रैंकिंग: एकदिवसीय क्रिकेट में बल्लेबाजों की सूची में पहले स्थान पर यह खिलाड़ी कायम

आईसीसी रैंकिंग: एकदिवसीय क्रिकेट में बल्लेबाजों की सूची में पहले स्थान पर यह खिलाड़ी कायम

हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् ने नवीनतम रैंकिंग जारी की। विराट कोहली एकदिवसीय क्रिकेट में बल्लेबाजों की सूची में पहले स्थान पर कायम हैं। विराट कोहली के 870 अंक हैं, उन्होंने हाल ही में इंग्लैंड के विरुद्ध एकदिवसीय श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन किया था। बल्लेबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर पाकिस्तान के बाबर आज़म और तीसरे स्थान पर भारत के रोहित शर्मा हैं। गेंदबाजों की सूची में भारत के जसप्रीत बुमराह 690 अंकों के साथ चौथे स्थान पर खिसक गये हैं। गेंदबाजों की सूची में पहले स्थान पर न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट, दूसरे स्थान पर अफ़ग़ानिस्तान के मुजीब उर रहमान, तीसरे स्थान पर न्यूजीलैंड के मैट हेनरी हैं। इसके बाद सूची में मेहदी हसन, क्रिस वोक्स, कगिसो रबाडा, जोश हेज़लवुड, मोहम्मद आमिर और पैट कम्मिंस हैं। बल्लेबाजों की टी-20 रंकिग्न में पहले स्थान पर इंग्लैंड के डेविड मलान हैं, उनके बाद सूची में आरोन फिंच, बाबर आजम, डिवॉन कॉनवे, विराट कोहली, केएल राहुल, रेसी वन डर डसेन, ग्लेन मैक्सवेल, मार्टिन गुप्टिल और हजरतुल्लाह ज़जई हैं।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC)
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् की स्थापना 15 जून, 1909 को की गयी थी। आरम्भ में इसकी स्थापना ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधियों द्वारा इम्पीरियल क्रिकेट कांफ्रेंस के रूप में की गयी थी। बाद में 1965 में इसका नाम इंटरनेशनल क्रिकेट कांफ्रेंस रखा गया, 1989 में इसका नाम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) रखा गया। ICC क्रिकेट की वैश्विक गवर्निंग बॉडी है। वर्तमान में ICC में कुल 105 सदस्य देश शामिलहैं। इसके केवल 12 पूर्णकालिक सदस्य हैं जो टेस्ट मैच खेलते हैं। अन्य 93 देश एसोसिएट सदस्य हैं। ICC अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की प्रमुख प्रतियोगिताएं का आयोजन करती है। यह स्पर्धाओं के लिए अंपायरों की नियुक्ति भी करती है। 

धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स को बड़ा झटका, ये गेंदबाज पूरे टूर्नामेंट से हुआ बाहर

धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स को बड़ा झटका, ये गेंदबाज पूरे टूर्नामेंट से हुआ बाहर

नई दिल्ली , इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन की शुरुआत से पहले ही एम.एस. धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स की टीम को बड़ा झटका लगा है। टीम के तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने इंटरनेशनल क्रिकेट के व्यस्त शेड्यूल को देखते हुए आईपीएल 2021 से हटने का फैसला किया है। हेजलवुड यूएई में पिछले साल खेले गए आईपीएल में सीएसके टीम का हिस्सा रहे थे। हेजलवुड का प्रदर्शन भारत के खिलाफ काफी शानदार रहा था। हेजलवुड ने कहा कि पिछले 10 महीनों से अलग-अलग टाइम पर बायो-बबल और चरंटाइन में हूं, तो मैंने क्रिकेट से ब्रेक लेने का फैसला किया है ताकि मैं घर और ऑस्ट्रेलिया में अगले दो महीने कुछ समय बिता सकूं। आगे काफी बड़ा विंटर सीजन आने वाला है। वेस्टइंडीज का टूर काफी लंबा होने वाला है, बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 सीरीज भी साल के आखिर में है। उसके बाद टी-20 विश्व कप और फिर एशेज सीरीज, तो अगले 12 महीने काफी बड़े होने वाले हैं और ऑस्ट्रेलिया के साथ रहते हुए मैं खुद को मानसिक और शारीरिक तौर पर इसके लिए तैयार रखना चाहता हूं। इसलिए मैंने फैसला लिया है और यह मेरे लिए काफी अच्छा होगा। हेजलवुड से पहले सनराइजर्स हैदराबाद की टीम की तरफ से मिचेल मार्श ने भी कोरोना प्रोटोकॉल में लंबे समय से रहने के चलते आईपीएल 2021 से हटने का फैसला किया था। उनकी जगह पर हैदराबाद की टीम ने जेसन रॉय को टीम में शामिल किया है। रॉय का प्रदर्शन भारत के खिलाफ लिमिटेड ओवर सीरीज में काफी शानदार रहा था। रॉय आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल चुके हैं।  

अब भारतीय टीम की कैप्टन कोरोना संक्रमित...

अब भारतीय टीम की कैप्टन कोरोना संक्रमित...

नई दिल्ली। भारतीय महिला टी20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर कोविड-19 जांच में पॉजिटिव पाई गई हैं, जिसके बाद से वह होम आइसोलेशन में हैं। 32 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज का हिस्सा थीं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांचवें वनडे में चोटिल होने के बाद वह टी20 सीरीज से बाहर हो गई थी। उनकी जगह स्मृति मंधाना को टी20 टीम का कप्तान बनाया गया था। अब खबर आ रही है कि हरमनप्रीत कौर को कोरोना हो गया है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्वास्थ विभाग ने जानकारी दी है कि हरमनप्रीत कौर में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं और वह अपने घर पर ही आइसोलेशन में हैं। इससे पहले सोमवार को भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑल राउंडर इरफान पठान ने अपने कोविड-19 पॉजिटिव होने की जानकारी दी। इरफान से पहले यूसुफ पठान के कोरोना पॉजिटिव होने की भी जानकारी मिली थी।
 

यूसुफ के बाद इरफान पठान भी हुए कोरोना संक्रमित, रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में साथ खेले थे दोनों भाई

यूसुफ के बाद इरफान पठान भी हुए कोरोना संक्रमित, रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में साथ खेले थे दोनों भाई

नई दिल्ली, बड़े भाई यूसुफ पठान के बाद अब इरफान पठान भी कोरोना पॉजेटिव पाए गए हैं. उन्होंने इस बात की जानकारी खुद सोशल मीडिया के जरिए दी है. इरफान चौथे भारतीय क्रिकेटर हैं जो कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.


इरफान ने ट्वीट कर कहा, 'मैं बिना किसी लक्षण के कोविड-19 टेस्ट में पॉजिटिव आया हूं. मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है और मैं घर पर ही क्वारंटाइन हूं. मैं निवेदन करना चाहता हूं कि हाल ही में जो मेरे संपर्क में आए हैं, कृपया़ वह अपना टेस्ट करवा लें. सभी से कहना चाहता हूं कि मास्क जरूर पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें. आप सभी की सेहत अच्छी रहे.'
 

सचिन तेंदुलकर और यूसुफ पठान के बाद अब ये खिलाड़ी भी कोरोना पॉजिटिव

सचिन तेंदुलकर और यूसुफ पठान के बाद अब ये खिलाड़ी भी कोरोना पॉजिटिव

पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और यूसुफ पठान के बाद अब सुब्रमण्यम बद्रीनाथ को भी कोरोना हो गया है. इन सभी ने हाल ही में वर्ल्ड रोड सेफ्टी टी20 सीरीज में हिस्सा लिया था. बद्रीनाथ ने खुद कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी. फिलहाल वह घर पर ही क्वारंटीन हैं. गौरतलब है कि वर्ल्ड रोड सेफ्टी टी20 सीरीज में इंडिया लीजेंड्स की टीम के अब तक तीन खिलाड़ी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. वहीं माना जा रहा है कि आगे और भी खिलाड़ी जांच में पॉजिटिव पाए जा सकते हैं. बद्रीनाथ से पहले पूर्व महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और पूर्व भारतीय ऑलराउंडर यूसुफ पठान भी कोविड-19 पॉजिटिव आये थे. बद्रीनाथ ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘‘मैं सभी जरूरी एहतियात बरत रहा था और नियमित रूप से टेस्ट करवा रहा था. फिर भी मैं कोविड-19 पॉजिटिव आया और मुझे कुछ हल्के लक्षण हैं. मैं सभी प्रोटोकॉल का पालन करूंगा और घर पर ही सभी से अलग रह रहा हूं और अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार काम कर रहा हूं।.’’


ऐसा रहा बद्रीनाथ का इंटरनेशनल करियर


बता दें कि बद्रीनाथ ने 2018 में क्रिकेट के साभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था. बद्रीनाथ ने भारत के लिए दो टेस्ट, सात वनडे और एक टी20 इंटरनेशनल मैच खेला है. टेस्ट में उनके नाम 68 रन, वनडे में 79 रन और टी20 इंटरनेशनल में 43 रन हैं. इसके अलावा बद्रीनाथ ने आईपीएल के 95 मैच भी खेले हैं. वह लंबे समय तक चेन्नई सुपर किंग्स की टीम का हिस्सा रहे थे. इस लीग में उन्होंने 30.66 की औसत और 118.89 के स्ट्राइक रेट से 1441 रन बनाए.

 

भारत ने रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड को दी मात, 2-1 से सीरीज पर किया कब्जा

भारत ने रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड को दी मात, 2-1 से सीरीज पर किया कब्जा

IND vs ENG 3rd ODI: महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में रविवार को भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गये तीसरे और अंतिम वनडे मुकाबले में टीम इंडिया ने 7 रनों से शानदार जीत दर्ज की. इसी के साथ भारतीय टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है. इससे पहले भारत ने टी-20 और टेस्ट सीरीज पर भी कब्जा जमाया था. इस मैच में टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी विराट कोहली की टीम इंडिया 48.2 ओवर में 329 रनों पर ऑलआउट हो गई. 330 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 322 रन ही बना पाई. इंग्लैंड को आखिरी ओवर में जीत के लिए 14 रन की जरूरत थी. लेकिन नटराजन ने शानदार गेंदबाजी करते हुए सिर्फ 6 रन ही खर्च किए. सैम कर्रन 95 रन बनाकर नाबाद रहे. कर्रन बेहतरीन पारी खेलने के बावजूद टीम को जीत नहीं दिला पाए. इंडिया ने टेस्ट और टी 20 के बाद वनडे सीरीज में भी इंग्लैंड को हराया.
इन्हें मैन आफ द मैच सैम करण और मैन आफ द सीरिज जौनी बेरेस्ट्रो को मिला.
 

BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में आयोजित रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टूर्नामेंट में खेले एक और भारतीय बल्लेबाज पाए गए कोरोना पॉजिटिव

BIG BREAKING : राजधानी रायपुर में आयोजित रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टूर्नामेंट में खेले एक और भारतीय बल्लेबाज पाए गए कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्ली | देश में कोरोना की लगर फिर शुरू हो गई है | कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है | खबर मिली है कि छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आयोजित रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टूर्नामेंट में खेले एक और भारतीय बल्लेबाज की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है | जानकारी के अनुसार पूर्व भारतीय बल्लेबाज एस बद्रीनाथ ने रविवार को अपने ट्विटर अकाउंट में ट्विट कर कहा कि वह कोविड-19 जांच में पॉजिटिव आये हैं और इस समय घर में पृथकवास में हैं जिससे वह पिछले दो दिनों में ‘रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टूर्नामेंट’ में संक्रमित होने वाले तीसरे पूर्व भारतीय क्रिकेटर बन गये है । बद्रीनाथ हाल में रायपुर में आयोजित वेटरंस टूर्नामेंट में खेले थे, उनसे पहले शनिवार को महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और पूर्व भारतीय आल राउंडर यूसुफ पठान भी कोविड-19 पॉजिटिव आये थे।

बद्रीनाथ ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘‘मैं सभी जरूरी एहतियात बरत रहा था और नियमित रूप से टेस्ट करवा रहा था। फिर भी मैं कोविड-19 पॉजिटिव आया और मुझे कुछ हल्के लक्षण हैं। ’’ उन्होंने 2018 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की थी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी प्रोटोकॉल का पालन करूंगा और घर पर ही सभी से अलग रह रहा हूं और अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार काम कर रहा हूं। ’’

IND vs ENG 3rd ODI: आज खेला जाएगा अंतिम वनडे, 36 साल की बादशाहत बरकरार रखना चाहेगी टीम इंडिया,ये हो सकती है टीम

IND vs ENG 3rd ODI: आज खेला जाएगा अंतिम वनडे, 36 साल की बादशाहत बरकरार रखना चाहेगी टीम इंडिया,ये हो सकती है टीम

India vs England 3rd ODI: भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही तीन मैचों की वनडे सीरीज बेहद रोमांचक मोड़ पर है. आज सीरीज का अंतिम मुकाबला खेला जाना है और दोनों में से जो भी टीम इस मैच को जीतेगी, सीरीज उसके नाम हो जाएगी. फिलहाल यह सीरीज 1-1 की बराबरी पर है. ऐसे में दोनों ही टीमें हर हाल में तीसरे वनडे में जीत दर्ज करना चाहेंगी.


36 साल की बादशाहत कायम रखना चाहेगी टीम इंडिया


अगर आंकड़ो की बात करें तो वनडे क्रिकेट में इंग्लैंड के खिलाफ घर पर खेलते हुए टीम इंडिया का पलड़ा भारी रहा है. भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सरजमीन पर पिछले 36 सालों से कोई द्विपक्षीय वनडे सीरीज नहीं हारी है. ऐसे में भारतीय टीम 36 साल की अपनी बादशाहत को कायम रखना चाहेगी.


भारत में 1984-85 में इंग्लैंड ने जीती थी वनडे सीरीज


इंग्लैंड ने आखिरी बार 1984-85 में भारत में वनडे सीरीज जीती थी. हालांकि, 1992-93 और 2001-02 में भारत और इंग्लैंड के बीच वनडे सीरीज ड्रॉ रही थी. इसके बाद से टीम इंडिया ने घर पर खेलते हुए इंग्लैंड के खिलाफ अपनी सभी वनडे सीरीज जीती हैं.


फाइनल मुकाबले में कुछ बदलाव कर सकती है टीम इंडिया


पहले वनडे में जहां भारतीय गेंदबाजों ने बेहतरीन गेंदबाजी की थी, तो वहीं दूसरे वनडे में टीम इंडिया के धुरंधर गेंदबाज बेअसर दिखे थे. खासकर स्पिनर कुलदीप यादव और क्रुणाल पांड्या की काफी पिटाई हुई थी. इन दोनों ने दूसरे मुकाबले में कुल 16 ओवर गेंदबाजी की, जिसमें 156 रन लुटा डाले. ऐसे में कप्तान विराट कोहली इन दोनों की जगह युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन सुंदर को मौका दे सकते हैं.


जोस बटलर करेंगे कप्तानी


तीसरे वनडे में भी इंग्लिश टीम की कप्तानी जोस बटलर ही करेंगे. दरअसल, इस मैच में भी नियमित कप्तान इयोन मोर्गन टीम का हिस्सा नहीं होंगे. हालांकि, इस मुकाबले के लिए सैम बिलिंग्स फिट हैं, लेकिन कप्तान बटलर विनिंग कॉम्बिनेशन में कोई बदलाव नहीं करना चाहेंगे.


इस मुकाबले के लिए दोनों टीमें इस प्रकार हैं


भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप कप्तान), शिखर धवन, शुभमन गिल, सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पांड्या, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), केएल राहुल (विकेटकीपर), युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, क्रुणाल पांड्या, वाशिंगटन सुंदर, टी नटराजन, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा और शार्दुल ठाकुर.


इंग्लैंड: जोस बटलर (कप्तान), मोईन अली, जॉनी बेयरस्टो, सैम बिलिंग्स, सैम कर्रन, टॉम कर्रन, लियाम लिविंग्स्टोन, मैट परकिंसन, आदिल राशिद, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, रीस टोप्ले और मार्क वुड.

 

यूसुफ पठान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, सचिन के साथ रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में लिया था हिस्सा

यूसुफ पठान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, सचिन के साथ रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में लिया था हिस्सा

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर यूसुफ पठान की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. यूसुफ पठान ने ट्वीट कर खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी है. इससे पहले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर की कोरोना वायरस रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई. यूसुफ पठान और सचिन तेंदुलकर ने हाल ही में खत्म हुई रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टी20 टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था.


यूसुफ पठान ने ट्वीट कर बताया है कि वह अपने घर में ही क्वारंटीन हैं. पठान ने लिखा, ''हल्के लक्षणों के साथ मेरी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. रिपोर्ट आने के बाद मैंने खुद को अपने घर में क्वांरटीन कर लिया है और मैं सभी जरूरी कदम उठा रहा हूं.''

 

खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया योजना को इस वर्ष  तक बढ़ाने का निर्णय लिया

खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया योजना को इस वर्ष तक बढ़ाने का निर्णय लिया

नईदिल्ली।   खेल मंत्रालय ने “खेलो इंडिया प्रोग्राम” (Khelo India Programme) को 2021-22 से 2025-26 तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। मंत्रालय ने वार्षिक कार्यक्रम का विस्तार करने के लिए वित्त मंत्रालय को व्यय वित्त समिति (Expenditure Finance Committee – EFC) ज्ञापन भी प्रस्तुत किया है। वित्त मंत्रालय को प्रस्तुत किये गये ज्ञापन के अनुसार, नई खेलो इंडिया योजना के वित्तीय निहितार्थ 8,750 करोड़ की राशि का अनुमान लगाया गया है। इस कार्यक्रम को यह देखते हुए बढ़ाया जा रहा है कि इस पहल ने देश भर में एक खेल संस्कृति के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। देश भर में खेल संस्कृति के निर्माण के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा खेलो इंडिया पहल शुरू की गई थी। यह पहल खेलों के जमीनी विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह युवाओं से सामूहिक भागीदारी को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से संरचित खेल प्रतियोगिता का आयोजन करती है। इसके अलावा, यह एथलीटों के निर्माण पर भी ध्यान केंद्रित करता है जो ओलंपिक में भारत के लिए पदक जीत सकते हैं। यह पहल युवा एथलीटों को बड़े पैमाने पर मंच पर अपनी क्षमता साबित करने के लिए प्रोत्साहित करेगी। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खेल के महत्व के विचार के अनुरूप भारत में खेल संस्कृति के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। इस पहल का पहला संस्करण दिल्ली में आयोजित किया गया था। दूसरे और तीसरे संस्करण क्रमशः पुणे और असम में आयोजित किए गए थे। खेलो इंडिया का चौथा संस्करण टोक्यो ओलंपिक के बाद हरियाणा के पंचकुला में आयोजित किया जाएगा। खेलो इंडिया पहल गुजरात के खेल महाकुंभ के आधार पर शुरू की गई थी। इस गुजरात बेस्ड खेल आयोजन की शुरुआत नरेंद्र मोदी ने की थी जब वह राज्य के मुख्यमंत्री थे।

अभी तो यह शुरुआत है, खो खो को ओलंपिक खेल बनाना है : सुधांशु मित्तल

अभी तो यह शुरुआत है, खो खो को ओलंपिक खेल बनाना है : सुधांशु मित्तल

नई दिल्ली, भारतीय खो-खो महासंघ के अध्यक्ष सुधांशु मित्तल ने कहा कि खो-खो ने अब रफ्तार पकड़ ली है और विश्व में इस खेल ने अपनी पहचान बना ली है। उन्होंने कहा कि बहुत से देश अब खो खो खेल को जान रहे हैं तथा अपने देशों में इस खेल के बारे मे लोगों को बता भी रहे हैं। सुधांशु का मानना है कि जल्द ही खो-खो अपनी जगह ओलंपिक में भी बना लेगा। उन्होंने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि अल्टीमेट खो-खो लीग अब लाइव सोनी पिक्चर्स नेटवक्र्स इंडिया पर दिखाई जाएगी जिससे खिलाडिय़ों का मनोबल बहुत बढ़ेगा, साथ ही भारत में खो खो की के प्रति लोगों की रुचि और भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा खेल है जो हमने कई बार बचपन में खेला होगा किंतु जैसे-जैसे समय बीता लोगों ने इस खेल को भुला सा दिया था पर आज खो-खो नई ऊंचाइयों को छू रहा है और अब युवा खिलाडिय़ों को खो खो में अपना कैरियर नजर आ रहा है। जो बहुत ही अच्छी बात है। हमें उम्मीद है कि जिस तरीके से खो खो आगे बढ़ रहा है जल्द ही यह ओलंपिक खेल भी बनेगा। सुधांशु मित्तल ने साथ ही कहा कि सोनी टेलीविजन खो खो लीग के आधिकारिक प्रसारणकर्ता के रूप में इस खेल को हर घर में ले जाएगा। हम सभी स्तरों पर प्रोत्साहन और समर्थन प्रदान करके खो खो जैसे स्वदेशी खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार के भी आभारी हैं। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने स्वदेशी खेलों के लिए इतनी बार सार्वजनिक रूप से समर्थन दिया और हमें वास्तव में वैश्विक बनने के लिए प्रोत्साहित किया।
हाल ही में, भारतीय खो-खो महासंघ और अल्टिमेट खो खो (यूकेके) ने 18 जनवरी से 15 फरवरी तक अपने खिलाडिय़ों के लिए पहली बार वैज्ञानिक उच्च-प्रदर्शन राष्ट्रीय शिविर का आयोजन किया। देश के शीर्ष खो खो खिलाड़ी चार सप्ताह के करीब अपनी शारीरिक क्षमताओं को तेज किया और खेल विज्ञान आधारित प्रौद्योगिकियों की मदद से खेल में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए आवश्यक फिटनेस के विभिन्न पहलुओं का पता लगाया। विशेषज्ञ आंखों के नीचे खिलाडिय़ों के लिए कठोर प्रशिक्षण के बाद, शिविर 12-15 फरवरी को नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में केकेएफआई के 2021 सुपर लीग खो खो टूर्नामेंट का भी गवाह बना, जो खो खो प्रेमियों के बीच सुपर हिट साबित हुआ। 138 खिलाडिय़ों को दस टीमों (पुरुषों के लिए आठ और महिलाओं के लिए दो) में विभाजित किया गया था क्योंकि टूर्नामेंट में अंतिम अल्टिमेट खो खो के नए खेल नियमों के साथ मैच दिखाए गए जिसका उद्देश्य खो खो के खेल को फिर से ब्रांड बनाना है जैसा कि इसके पहले कभी नहीं हुआ था। सुधांशु ने साथ ही कहा कि वैज्ञानिक उच्च प्रदर्शन राष्ट्रीय शिविर से खिलाडिय़ों तथा कोचों को काफी फायदा हुआ है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक शिविर के दौरान, हमने सही तकनीकों और प्राप्त प्रौद्योगिकी-आधारित कौशल प्राप्त करने के लिए आवश्यक मार्गदर्शन के साथ खिलाडिय़ों की समग्र फिटनेस और शारीरिक क्षमताओं में सुधार करने पर ध्यान केंद्रित किया।
 

टीम इंडिया की जोरदार वापसी, 176 रन पर इंग्लैंड की आधी टीम आउट

टीम इंडिया की जोरदार वापसी, 176 रन पर इंग्लैंड की आधी टीम आउट

India vs England 1st ODI: पुणे में खेली जा रही तीन मैच की वन-डे सीरीज के पहले मुकाबले में भारत ने टॉस गंवाकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 317/5 रन बनाए। शिखर धवन 98 रन बनाकर आउट हुए तो विराट ने भी 61वां अर्धशतक जड़ा। दोनों के अलावा डेब्टूटेंट क्रुणाल पांड्या ने महज 31 गेंदों में नाबाद 58 रन तो केएल राहुल ने भी धुआंधार 43 गेंदों में 62 रन पीटे।
बेयरस्टो 94 रन बनाकर आउट
जॉनी बेयरस्टो शतक से चूके। 22.1 ओवर में छक्का लगाने की फिराक में कैच आउट। पिछले दो-तीन ओवर से रन नहीं आ रहे थे, इसलिए बेयरस्टो ने ऑफ स्टंप पर फेंकी गई हार्ड लैंथ बॉल को पुल करना चाहा, गेंद बल्ले पर चढ़ी नहीं और कुलदीप यादव ने कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। इंग्लैंड अब पूरी तरह बैकफुट पर।
आपको बता दे मैच पूरी तरह से इंडिया के कब्जे में आ गया है. शार्दुल ने तीसरा विकेट ले लिया है. इंग्लैंड ने 176 के स्कोर पर पांचवां विकेट गंवा दिया है. बटलर दो रन बनाकर पवेलियन वापस लौट रहे हैं. इंडिया ने मैच में शानदार वापसी की है.

 

महिला टी-20 : पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को हराया, एनेके बॉश ने खेली मैच विनिंग पारी

महिला टी-20 : पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को हराया, एनेके बॉश ने खेली मैच विनिंग पारी

लखनऊ । दक्षिण अफ्रीका महिला क्रिकेट टीम ने लखनऊ के एकाना स्टेडियम में खेले गए पहले टी20 में भारतीय महिला क्रिकेट टीम को आठ विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त भी बना ली। दक्षिण अफ्रीका की इस जीत में सलामी बल्लेबाज एनेके बॉश का अहम रोल रहा। उन्होंने 48 गेंदो में नाबाद 66 रनों की मैच विनिंग पारी खेली। उनकी इस पारी के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब भी मिला। भारतीय महिला टीम ने पहले खेलते हुए हरलीन देओल के अर्धशतक की बदौलत 20 ओवर में छह विकेट पर 130 रन बनाए थे। इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने 19.1 ओवर में दो विकेट के नुकसान पर आसानी से लक्ष्य का पीछा कर लिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए एनेके बॉश (66) के अलावा कप्तान सुने लुस ने भी 43 रनों की अहम पारी खेली। उन्होंने बॉश के साथ दूसरे विकेट के लिए 90 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी भी की। वहीं बॉश ने इससे पहले गेंद से भी कमाल करते हुए दो विकेट चटकाये।
भारतीय टीम को नियमित कप्तान हरमनप्रीत कौर की कमी खेली, जो चोट के कारण इस मैच में नहीं खेली। उनकी गैर मौजूदगी में स्मृति मंधाना ने टीम का नेतृत्व किया जबकि मध्यम गति की गेंदबाज सिमरन बहादुर ने राष्ट्रीय टीम के लिए डेब्यू किया।
लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे ओवर में ही लिजेल ली (08) का विकेट गंवा दिया। अरूंधति की गेंद पर सिमरन ने उनका आसान सा कैच पकड़ा। इसके बाद बॉश और लुस ने भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ संभल कर खेलने के साथ नियमित अंतराल पर गेंद को सीमा-रेखा के बाहर भेजने में सफल रहे। बॉश ने 48 गेंद में 66 रन की पारी के दौरान एक छक्का और नौ चौके लगाये जिसमें विजयी चौका भी शामिल है।
भारतीय गेंदबाजों ने शुरुआती ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन पांचवें ओवर में लुस ने अरूंधति के खिलाफ लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़कर अपने इरादे जाहिर कर दिये। दक्षिण अफ्रीका ने पावर प्ले में एक विकेट पर 36 रन बना लिये थे।
शुरुआती ओवरों में संभल कर बल्लेबाजी कर रही बॉश ने पूनम यादव के द्वारा किये गये नौवें ओवर लगातार दो गेंदों पर चौका जड़ रन गति को तेज किया। उन्होंने इसके बाद हरलीन की गेंद पर छक्का भी लगाया।
डेब्यू कर रही सिमरन अपने शुरूआती दो ओवरों में किफायती रही, लेकिन तीसरे ओवर में उन्होंने 10 रन दिये जिसमें लुस ने दो शानदार चौके लगाये। हरलीन ने 16वें ओवर की अपनी आखिरी गेंद पर कैच पकड़कर लुस का विकेट चटकाया। लुस ने 49 गेंद की पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया।
इस दौरान बॉश ने सिमरन की गेंद पर चौका लगकर अपने टी20 करियर का पहला अर्धशतक 39 गेंद में पूरा किया। उन्होंने इसके बाद लौरा वॉलवार्ट (09) के साथ मिलकर जीत की औपचारिक्ताएं पूरी की।
इससे पहले भारतीय पारी के दौरान हरलीन ने दूसरे विकेट के शेफाली वर्मा (23) के साथ 45 जबकि जेमिमा रोड्रिग्ज (30) के साथ तीसरे विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी की लेकिन टीम आखिरी ओवरों में रन गति बढ़ने में विफल रही।
टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी भारतीय टीम को कप्तान स्मृति मंधाना ने नॉनकुलुलेको मलाबा के पहले ओवर में दो चौके लगाकर तेज शुरुआत दिलायी, लेकिन वह दूसरे ओवर में शबनीम इस्माइल की गेंद पर कवर क्षेत्र में बॉश को कैच थमा बैठी।
टी20 टीम में शामिल हुई शेफाली ने मलाबा की गेंद पर छक्का लगाकर तीसरे ओवर में अपना खाता खोला। प्वार प्ले के आखिरी ओवर में भारतीय टीम ने 14 रन बटोरे, जिसमें नाडिन डि क्लर्क की गेंद पर हरलीन देओल ने दो चौके जबकि शेफाली ने एक चौका जड़ा। छह ओवर के बाद टीम का स्कोर एक विकेट पर 41 रन था।
दोनों की दूसरे विकेट के लिए 45 रन की साझेदारी को मलाबा (28 रन पर एक विकेट) ने शेफाली को आउट कर तोड़ा। शेफाली ने 22 गेंद की पारी में एक छक्का और दो चौके की मदद से 23 रन बनाने के बाद बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में स्टंप हो गयी।
हरलीन ने पारी के 11वें ओवर में सुने लुस के खिलाफ दो चौके लगाकर रन गति को बढ़ाने की कोशिश की। जेमिमा रोड्रिग्स का अच्छा साथ मिला और दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 48 गेंद में 60 रन की साझेदारी की। इस बीच 17वें ओवर में खाका की दूसरी गेंद पर एक रन लेकर हरलीन ने 44 गेंद में टी20 अंतरराष्ट्रीय में आना पहला अर्धशतक पूरा किया।
हालांकि, वह अगले ही ओवर की पहली गेंद पर पवेलियन लौट गयी. बॉश ने 17वें ओवर की पहली गेंद पर इस्माइल के हाथों कैच कराकर उनकी पारी का अंत किया। इसके अगली गेंद पर रोड्रिग्ज ने चौका जड़ा लेकिन ओवर की तीसरी गेंद पर वह भी हरलीन की तरह आउट हो गयी। उनका कैच भी इस्माइल ने ही पकड़ा।
भारतीय टीम इस दोहरे झटके के बाद आखिरी ओवरों में तेजी से रन बनाने में नाकाम रही। टीम आखिरी तीन ओवरों में सिर्फ 13 रन बटोर सकी। इस दौरान इस्माइल ने आखिरी दो गेंदों पर रिचा घोष (05) और अरुंधति रेड्डी (00) को बोल्ड किया। दक्षिण अफ्रीका के लिए अनुभवी तेज गेंदबाज शबनीम इस्माइल ने 14 रन देकर तीन जबकि कामचालऊ गेंदबाज बॉश ने दो विकेट चटकाये।
श्रृंखला का दूसर मुकाबला रविवार को खेला जाएगा। दक्षिण अफ्रीका की टीम इससे पहले पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला को 4-1 से जीती थी।
 

IND Vs ENG: केएल राहुल की जगह Playing 11 का हिस्सा बन सकता है यह खिलाड़ी, नटराजन भी फिट हुए

IND Vs ENG: केएल राहुल की जगह Playing 11 का हिस्सा बन सकता है यह खिलाड़ी, नटराजन भी फिट हुए

IND Vs ENG: अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला आज खेला जाना है. दोनों टीमों के बीच सीरीज फिलहाल 2-2 से बराबरी पर है. चौथे टी20 मुकाबले में जीत दर्ज करने के बावजूद आखिरी मैच के लिए टीम इंडिया में बदलाव हो सकता है.


टीम इंडिया के लिए ओपनर केएल राहुल का फॉर्म चिंता का विषय बना हुआ है. चारों मैचों में मौका मिलने के बावजूद राहुल अब तक कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाए हैं. इंडिया आखिरी मैच में केएल राहुल के स्थान पर ईशान किशन को मौका दे सकता है. फिफ्टी लगाकर अपने करियर का आगाज करने वाले किशन फिट नहीं होने की वजह से चौथे मैच में नहीं खेल पाए थे.


इंडिया के पास एक और विकल्प ऑलराउंडर राहुल तेवतिया के रूप में है. ऐसी स्थिति में रोहित शर्मा और विराट कोहली को ओपनिंग का जिम्मा संभालना होगा. राहुल तेवतिया के आने से ना सिर्फ इंडिया को एक बड़े शॉट लगाने वाले बल्लेबाज मिलेगा बल्कि अहमदाबाद की पिच पर उनकी लेग स्पिन काफी असरदार साबित हो सकती है.


सिलेक्शन के लिए उपलब्ध हैं नटराजन


तेज गेंदबाजी में भी इंडिया बदलाव के बारे में विचार कर सकता है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लिमिटिड ओवर सीरीज में इंडिया के बेस्ट गेंदबाज रहे टी नटराजन आखिरी मैच के लिए पूरी तरह से फिट हैं. नटराजन के खेलने पर शार्दुल ठाकुर को प्लेइंग 11 से बाहर रहना पड़ सकता है.


कप्तान विराट कोहली हालांकि निर्णायक मुकाबले में ज्यादा बदलाव करेंगे या नहीं इसके बारे में ज्यादा कुछ कहा नहीं जा सकता है. राहुल के पिछले प्रदर्शन को देखते हुए टीम उन्हें एक मौका और भी दे सकती है. 

 रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज रायपुर: सचिन-युवराज की विस्फोटक पारी से फाइनल में पहुंचा भारत

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज रायपुर: सचिन-युवराज की विस्फोटक पारी से फाइनल में पहुंचा भारत

रायपुर। कप्तान सचिन तेंदुलकर और युवराज सिंह की विस्फोटक पारी के बाद अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर इंडिया लीजेंड्स ने बुधवार को रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टी20 टूर्नामेंट के पहले सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज लीजेंड्स को 12 रनों से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया। फाइनल में इंडिया लीजेंड्स का मुकाबला श्रीलंका लीजेंड्स और दक्षिण अफ्रीका लीजेंड्स के बीच होने वाले मैच के विजेता के साथ होगा। शुक्रवार को यानी 19 मार्च को श्रीलंका लीजेंड्स और दक्षिण अफ्रीका लीजेंड्स के बीच दूसरा सेमीफानइनल मैच खेला जाएगा।

वहीं, इंडिया लीजेंड्स और वेस्टइंडीज लीजेंड्स के बीच खेले गए पहले सेमीफाइनल मैच में भारत ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए तीन विकेट पर 218 रनों का विशाल स्कोर बनाया। इसके बाद वेस्टइंडीज को निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट पर 206 रनों के स्कोर पर ही रोक दिया। फाइनल मुकाबला रविवार यानी 21 मार्च को खेला जाएगा।

इंडिया लीजेंड्स से मिले 219 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज लीजेंड्स का पहला विकेट 19 रन के स्कोर पर ही विलियम पर्किंस (9) के रूप में गिरा गया। इसके बाद ड्वेन स्मिथ (63) ने इस सीरीज में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया और विंडीज के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया। स्मिथ ने नरसिंह डोनरेन (59) के साथ दूसरे विकेट के लिए 99 रनों की साझेदारी करके वेस्टइंडीज को जीत के करीब पहुंचाने की कोशिश की। हालांकि खतरनाक होती जा रही इस साझेदारी को इरफान पठान ने स्मिथ को आउट करके तोड़ा। इरफान ने स्मिथ को यूसुफ पठान के हाथों कैच कराया। स्मिथ ने 36 गेंदों पर नौ चौके और दो छक्के लगाए।स्मिथ के आउट होने के बाद प्रज्ञान ओझा ने अगले ही ओवर में किकि एडवडर्स को स्टंप्स कराके खाता खोले बिना पवेलियन भेज दिया। 120 रन पर अपने तीन विकेट गंवाने के बाद कप्तान ब्रायन लारा बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरे। लारा और डोनरेन ने चौथे विकेट के लिए 80 रनों की साझेदारी करके विंडीज को मैच में बनाए रखा। टीम को अंतिम ओवर में मैच जीतने के लिए 17 रन बनाने थे, लेकिन वह निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट पर 206 रन ही बना सकी। डोनरेन ने 44 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के लगाए। लारा ने 28 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के के सहारे 46 रन बनाए। इंडिया लीजेंडस के लिए विनय कुमार को दो और इरफान पठान, मनप्रीत गोनी तथा प्रज्ञान ओझा को एक-एक विकेट मिले।

इससे पहले, कप्तान सचिन तेंदुलकर (65) और युवराज सिंह (20 गेंदों पर 1 चौका और 6 छक्कों की मदद से नाबाद 49 रन) की विस्फोटक पारी के दम पर इंडिया लीजेंड्स ने तीन विकेट पर 218 रनों का विशाल स्कोर बनाया और विंडीज को निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट पर 206 रनों पर रोक दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंडिया को वीरेंद्र सहवाग (35) और तेंदुलकर ने पहले विकेट के लिए 5।3 ओवर में 56 रन जोड़कर विस्फोटक शुरुआत दी। सहवाग को टिनो बेस्ट ने अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया। सहवाग ने 17 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का जड़ा।

सहवाग के पवेलियन लौटने के बाद सचिन ने मोहम्मद कैफ (27) के साथ दूसरे विकेट के लिए 38 गेंदों पर 53 रनों की साझेदारी की। कैफ ने 21 गेंदों पर दो चौके और दो छक्के लगाए। कैफ को नागामूटू ने आस्टिन के हाथों कैच कराया। हालांकि कप्तान सचिन ने एक छोर संभाले रखा और इस सीरीज में अपना लगातार दूसरा अर्धशतक पूरा किया। सचिन 42 गेंदों पर छह चौके और तीन छक्के लगाए। वह सीमा रेखा पर बेस्ट की गेंद पर किकि एडवडर्स के हाथों लपके गए। कैफ और सचिन के बीच तीसरे विकेट के लिए 31 रनों की ही साझेदारी हो पाई।

इसके बाद यूसुफ पठान ने 20 गेंदों पर दो चौके और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 37 रन और युवराज सिंह ने 20 गेंदों पर एक चौका और 6 छक्कों की मदद से नाबाद 49 रनों की विस्फोटक पारी खेलकर इंडिया लेजेंड्स को तीन विकेट पर 218 रनों के विशाल स्कोर तक पहुंचा दिया। दोनों बल्लेबाजों ने चौथे विकेट के लिए 78 रन जोड़े। वेस्टइंडीज लेजेंडस के लिए टीनो बेस्ट ने दो और रेयान आस्टिन ने एक विकेट लिया।
 रोड सेफ्टी वलर्ड सीरीज रायपुर: इंग्लैंड को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे विंडीज लेजेंड्स, इंडिया लेजेंड्स से भिड़ेंगे

रोड सेफ्टी वलर्ड सीरीज रायपुर: इंग्लैंड को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे विंडीज लेजेंड्स, इंडिया लेजेंड्स से भिड़ेंगे

रायपुर। अपने बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर वेस्टइंडीज लेजेंड्स ने मंगलवार को यहां शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए वर्चुअल क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड को 5 विकेट से हरा दिया। अब ब्रायन लारा की कप्तानी वाली विंडीज लेजेंड्स का सामना बुधवार को सचिन तेंदुलकर की कप्तानी वाले इंडिया लेजेंड्स टीम से होगा।

टास हारने के बाद पहले खेलते हुए इंग्लैंड ने 20 ओवरों मे तीन विकेट पर 186 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया लेकिन ड्वायन स्मिथ (58 रन, 31 गेंद, 9 चौके, 2 छक्के) तथा नरसिंह देवनारायण (नाबाद 53 रन, 37 गेंदो, 6 चौके) के शानदार अर्धशतकों की मदद से कैरेबियाई टीम ने इंग्लैंड को एकतरफा तरीके से हराकर सेमीफाइनल खेलने का सौभाग्य प्राप्त किया।

ब्रायन लारा की टीम का सामना 17 मार्च को इंडिया लेजेंड्स से होगा। 18 मार्च को आराम का दिन है और 19 मार्च को दूसरे सेमीफाइनल में श्रीलंका लेजेंड्स और दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स का सामना होगा। इसके बाद 20 मार्च को आराम है और फिर 21 मार्च को इस टूर्नामेंट के पहले संस्करण का फाइनल खेला जाएगा।

इससे पहले, वेस्टइंडीज ने टास जीतकर इंग्लैंड को पहले बैटिंग के लिए आमंत्रित किया। जवाब में इंग्लेंड ने बेहतरीन शुरुआत की। कप्तान और सलामी बल्लेबाज केविन पीटरसन (38 रन, 24 गेंद, 2 चौके, 3 छक्के) और फिल मस्टर्ड (57 रन, 41 गेंद, 5 चौके, 3 छक्के) ने पहले विकेट के लिए 9.2 ओवरों में 81 रन जोड़े।

ड्वायन स्मिथ ने पीटरसन को आउट करके यह जोड़ी तोड़ी। पीटरसन ने अपनी इस पारी में हर तरह के शाट लगाए। इसमें उनका फेमस रिवर्स स्वीप भी शामिल है। इसके बाद मस्टर्ड भी 106 रनो के कुल योग पर आउट हो गए। उनका विकेट भी स्मिथ के खाते में गया।
पीटरसन की जगह लेने आए जिम टाटन (22 रन, 16 गेंद, 2 चौके) और ओवैश शाह (नाबाद 53 रन, 30 गेंद, 5 चौके, 3 छक्के) के बीच तीसरे विकेट के लिए 42 रनो की उपयोगी साझेदारी हुई। टाटन का विकेट सुलेमान बेन ने 148 के कुल योग पर लिया।

टाटन के आउट होने के बाद शाह ने क्रिस ट्रेमलेट (नाबाद 9 रन, 9 गेंद) के साथ चौथे विकेट के लिए सिर्फ 19 गेंदों पर 38 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को मजबूत स्कोर प्रदान किया। वेस्टइंडीज की ओर से स्मिथ ने दो विकेट लिए जबकि बेन को एक सफलता मिली।
जवाब में विंडीज लेजेंड्स ने शानदार शुरआत की। ड्वायन स्मिथ (58 रन, 31 गेंद, 9 चौके, 2 छक्के) ने विकेटकीपर बल्लेबाज रेडले जैकब्स (13 रन, 13 गेंद, 2 चौके) के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 37 गेदों पर 55 रनो की साझेदारी की।

जैकब्स को क्रिस ट्रेमलेट ने आउट कर यह साझेदारी तोड़ी। इसके बाद स्मिथ ने नए बल्लेबाज देवनारायण की मौजूदगी में ताबड़तोड़ खेलना शुरू किया और अपना अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि 897 के कुल योग पर जेम्स ट्रेडवेल की गेंद पर रायन साइडबाटम के हाथों लपके गए।'

विंडीज ने 96 के कुल योग पर विलियम पर्किंस (7) को भी गंवा दिया लेकिन इसके बाद देवनारायण और किर्क एडवर्डस (34 रन, 26 गेंद, 4 चौके, 1 छक्का) ने अपनी टीम को जीत तक पहुंचा दिया। इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 55 गेदों पर 83 रनों की साझेदारी की। किर्क 179 रन के कुल योग पर आउट हुए।

इसके बाद कप्तान लारा आए लेकिन वह सिर्फ तीन रन बनाकर स्टम्प हो गए। विंडीड को अंतिम गेंद पर जीत के लिए एक रन चाहिए था, जिसे चुराकर टीनो बेस्ट ने अपनी टीम को जीत दिला दी। इंग्लैंड की ओर से क्रिस ट्रेमलेट ने दो विकेट लिए जबकि जेम्स ट्रेडवेल और उस्मान अफजल को एक-एक सफलता मिली।

 
 रोड सेफ्टी वलर्ड सीरीज: दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स ने बांग्लादेश लेजेंड्स को 10 विकेट से हराकर बनाई सेमीफाइनल में जगह

रोड सेफ्टी वलर्ड सीरीज: दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स ने बांग्लादेश लेजेंड्स को 10 विकेट से हराकर बनाई सेमीफाइनल में जगह

रायपुर। दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स ने सोमवार को यहां शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल स्टेडियम में बांग्लादेश लेजेंड्स को 10 विकेट से हराकर अनएकैडमी रोड सेफ्टी वलर्ड सीरीज के सेमीफाइनल में जगह बना ली है।

पढिये पूरी खबर-
एंड्रयू पुटिक (नाबाद 84 रन, 54 गेंद, 9 चौके, 1 छक्का) और मोर्ने वान विक ((नाबाद 69 रन, 62 गेंद, 9 चौके) के बीच हुई 161 रनों की साझेदारी की |दक्षिण अफ्रीका सेमीफाइनल में पहुंचने वाली तीसरी टीम है। उसके खाते में छह मैचों से चार जीत के साथ 16 अंक हो गए हैं। उसने श्रीलंका लेजेंड्स (20 अंक और बेहतर नेट रन रेट के साथ पहले स्थान पर) और इंडिया लेजेंड्स (20 अंक) के बाद तीसरे स्थान रहते हुए लीग स्तर का समापन किया है।

सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चौथी टीम कौन होगी, इसका फैसला मंगलवार को इंग्लैंड लेजेंड्स (12 अंक) और वेस्टइंडीज लेजेंड्स (8 अंक) के बीच होने वाले मुकाबले के बाद हो जाएगा।

बांग्लादेश ने पहले खेलते हुए द. अफ्रीका के सामने 161 रनों का लक्ष्य रखा, जिसे उसने 19.2 ओवरों में बिना किसी विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया। पुटिक और विक ने इस टूर्नामेंट की अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी को अंजाम दिया। इन दोनों ने रायपुर में पहले मैच का रिकार्ड तोड़ा, जिसमें इंडिया लेजेंड्स के लिए सचिन तेंदुलकर और वीरेंदऱ सहवाग ने पहले विकेट के लिए 114 रनों की नाबाद साझेदारी की थी।

इससे पहले, टास हारने के बाद बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश ने 20 ओवरों में 9 विकेट पर 160 रन बनाए। उसकी ओर से सलामी बल्लेबाज मोहम्मद नजीमुद्दीन ने 32, आफताब अहमद ने 39, हनन सरकार ने 36 रन बनाए।

बांग्लादेश ने अपने अन्य मैचों की तुलना में अच्छी शुरुआत की। 33 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्के लगाने वाले नजीमुद्दीन ने मेहराब हुसैन (9) के साथ पहले विकेट के लिए 24 गेंदों पर 29 रनों की साझेदारी की। मेहराब को कप्तान जोंटी रोड्स ने सीधे थ्रो पर रन आउट किया। यह रोड्स का वही प्रयास था, जिसके लिए वह विश्व क्रिकेट मे जाने जाते हैं।

नजीमुद्दीन का विकेट 50 रन पर गिरा। इसके बाद आफताब और हनन ने तीसरे विकेट के लिए 61 रनों की साझेदारी की। आफताब 24 गेंदों पर तीन शानदार छक्के और एक चौका लगाने के बाद जेंडर दे ब्रूएन की गेंद पर अल्वारो पीटरसन के हाथों कैच किए गए।

आफताब ने ब्रूएन द्वारा फेंके गए 11वें ओवर की तीसरी गेंद पर शानदार छक्का लगाया था, जिसे रोकने के प्रयास में रोड्स चोटिल हो गए। वह ट्रीटमेंट के लिए मैदान से बाहर ले जाए गए।

हनन सरकार का विकेट 130 के कुल योग पर गिरा। हनन ने अपनी 31 गेंदों की पारी में दो चौके और एक छक्का लगाया। उन्हें गार्नेट क्रूगर ने बोल्ड किया। खालिद मसूद (19 रन, 9 गेंद, 2 चौके, 1 छक्का) का विकेट 148 के कुल योग पर गिरा।

इसके बाद बांग्लादेश ने अगले 10 रनों में अपने पांच विकेट गंवा दिए। दक्षिण अफ्रीका की ओर से थांडी साबालाला और मखाया एंटिनी ने दो-दो विकेट हासिल किए जबकि क्रूगर, मोंडे जोडेंकी और ब्रूएन को एक-एक सफलता मिली।
 
20 साल पहले आज ही के दिन टीम इंडिया की इस जोड़ी ने अनहोनी को होनी करके दिखाया था

20 साल पहले आज ही के दिन टीम इंडिया की इस जोड़ी ने अनहोनी को होनी करके दिखाया था

आज से 20 साल पहले पहले 11-15 मार्च 2001 का दिन भारतीय क्रिकेट का वह स्वर्णिम क्षण है, जिसने भारतीय टीम की दिशा और दशा दोनों ही बदल दी. टीम इंडिया यहां कोलकाता में एक ऐसी टीम के खिलाफ टेस्ट मैच खेलने उतरी थी, जिसे उस काल का ‘बाली’ माना जाता था. यह टीम थी ऑस्ट्रेलिया, जो स्टीव वॉ की कप्तानी में खेल रही थी. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की ताकत उस वक्त ऐसी थी कि मानों उसे देखकर विरोधी टीम का आधा बल भी ऑस्ट्रेलिया में ट्रांस्फर हो जाता था. यह टीम दुनिया की हर टीम को अपने घर में ही नहीं बल्कि उसके घर में जाकर हरा रही थी.
स्टीव वॉ इस टीम के कप्तान थे और इस बार कंगारू टीम भारत दौरे पर आई थी. ऑस्ट्रेलिया लगातार पिछले 15 टेस्ट मैच जीतकर यहां पहुंची थी और उसने 3 टेस्ट की सीरीज के पहले मैच (मुंबई टेस्ट) में भी भारत को 3 दिन से भी कम समय में मात दे दी थी. सीरीज का दूसरा टेस्ट कोलकाता में खेला जाना था. भारतीय टीम की कमान अभी-अभी सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के हाथ में आई थी. ऑस्ट्रेलिया के सामने भारतीय टीम पस्त दिख रही थी लेकिन कप्तान सौरव गांगुली को कोई कमाल करके दिखाना था.
पहला टेस्ट हारने के बाद टीम इंडिया कोलकाता टेस्ट में भी पराजय की ओर बढ़ ही चुकी थी. ऑस्ट्रेलिया ने कोलकाता टेस्ट (IND vs AUS Kolkata Test 2001) में पहली पारी में 445 रन बनाए थे. इसके जवाब में टीम इंडिया मात्र 171 रन पर ढेर हो गई. टीम इंडिया यहां 274 रन पीछे थी. भारत की कमजोर मानी जा रही टीम के सामने 274 रन की लीड देखकर ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव वॉल ने भारत को फॉलोऑन देने का फैसला किया. असली खेल यहीं से शुरू हुआ. फॉलोऑन को मजबूर हुई टीम इंडिया की हालत देखकर किसी को उम्मीद नहीं थी कि वह इस टेस्ट मैच को बचा भी लेगी. लेकिन असली खेल यहीं से शुरू हुआ.
फॉलोऑन में नंबर 3 पर उतरे थे VVS Laxman बनाई टीम इंडिया की ‘संजीवनी’
टीम इंडिया ने भरोसेमंद बल्लेबाज वेंगीपुरप्पू वैंकट साइ लक्ष्मण (VVS Laxman) और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के बूते कमाल दिखाना शुरू किया. फॉलोऑन खेलते हुए भारत का पहला विकेट 52 के स्कोर पर गिर गया. गांगुली ने यहां वीवीएस लक्ष्मण को नंबर 3 पर बैटिंग के लिए उतार दिया. लक्ष्मण ने एक छोर को तो बखूबी संभाल लिया लेकिन दूसरे छोर से टीम इंडिया के विकेट गिरने का सिलसिला नहीं रुक रहा था. इस बार भी टीम इंडिया ने 232 रन तक पहुंचते-पहुंचे अपने 4 विकेट गंवा दिए. इनमें सचिन तेंदुलकर (10) और सौरभ गांगुली (48) के विकेट भी शामिल थे. लेकिन लक्ष्मण का साथ देने जब द्रविड़ मैदान पर उतरे तो यहां एक नया इतिहास टीम इंडिया का इंतजार कर रहा था.
लक्ष्मण-द्रविड़ ने तोड़ा ऑस्ट्रेलिया का ‘तिलिस्म’
तब टेस्ट क्रिकेट में इन दोनों (वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़) खिलाड़ियों का नाम इतना बड़ा नहीं था, जितना बड़ा उन्होंने इस पारी को खेलने के बाद बना लिया. इन दोनों ने क्रीज पर ऐसे पांव जमाए कि कंगारू टीम के पसीने छूटने लगे थे. भारत ने देखते ही देखते ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी का स्कोर पार कर लिया और फिर उसे बड़ी लीड देने का काम शुरू करने लगा.
लक्ष्मण द्रविड़ के सामने घुटनों पर आई ऑस्ट्रेलिया
दोनों बल्लेबाजों ने क्रीज पर ऐसे पांव जमाए कि ऑस्ट्रेलिया को अगले 104 ओवरों तक कोई विकेट नहीं मिला. ये दोनों बल्लेबाज करीब डेढ़ दिन तक एक साथ बैटिंग करते नजर आए और ऑस्ट्रेलिया की टीम सिर्फ शारीरिक तौर पर ही नहीं मानसिक तौर पर भी टूटने लगी. भारत को वीवीएस लक्ष्मण के रूप में 5वां झटका लगा तब लक्ष्मण 281 रन पर आउट हुए थे. लेकिन आउट होने से पहले वह भारतीय क्रिकेट के लिए करिश्मा कर चुके थे. एक वक्त टीम इंडिया इस टेस्ट मैच को बचाने की सोच रही थी अब ऑस्ट्रेलिया पर हार का खतरा मंडराने लगा था. दूसरे छोर पर खड़े राहुल द्रविड़ ने यहां 180 रन की उम्दा पारी खेली और वह रन आउट होकर पवेलियन लौटे.
फॉलोऑन खेलकर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दिया विशाल टारगेट
पहली पारी में भारत को मात्र 171 रन पर समेट देने वाली कंगारू टीम यहां दूसरी पारी में टीम इंडिया को ऑल आउट नहीं कर पाई. कप्तान सौरभ गांगुली ने यहां 657/7 पर पारी घोषित कर दी और ऑस्ट्रेलिया को अब इस मैच को जीतने के लिए 384 रन की चुनौती मिली. अब भारतीय बोलरों ने भी उसे निराश नहीं किया और कंगारू टीम दूसरी पारी में मात्र 212 रन पर ढेर हो गई. टीम इंडिया ने यह मैच 171 रन से अपने नाम किया.
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्वीट वॉ ने VVS को कहा था- ‘वेरी वेरी स्पेशल’
वीवीएस लक्ष्मण की पारी ने नया इतिहास रच दिया था. क्रिकेट के जानकार वीवीएस की इस पारी को महान पारियों में शुमार करते हैं. इस टेस्ट पारी के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा था कि VVS का मतलब अब ‘वेरी-वेरी स्पेशल’ है क्योंकि उन्होंने यह वेरी-वेरी स्पेशल पारी खेली है. इतना ही नहीं स्टीव वॉ को वीवीएस की 20 पुरानी यह पारी आज भी पूरी तरह से याद है. हाल ही में उन्होंने कहा कि उन्होंने (वॉ) ने कहा कि 280 से ज्यादा रन की कोलकाता में खेली गई वह पारी मेरे जीवन की सबसे उम्दा पारी है, जिसका मैं साक्षी बना. लेकिन बतौर कप्तान उस वक्त न तो मेरी सारी योजनाएं विफल हो रही थीं.
 

दक्षिण अफ्रीका के साथ हुए मैच में  युवराज ने अपनी उस पारी की याद दिला दी, जिसमें उन्होंने छह छक्के लगाए थे

दक्षिण अफ्रीका के साथ हुए मैच में युवराज ने अपनी उस पारी की याद दिला दी, जिसमें उन्होंने छह छक्के लगाए थे

रायपुर । पांच मैचों में चौथी जीत के इंडिया लेजेंड्स टीम रोड सेफ्टी वलर्ड सीरीज के सेमीफाइनल में पहुंच गई है। सचिन तेंदुलकर की कप्तानी वाली इस टीम ने शनिवार को दक्षिण अफ्रीका को 57 रनों से हराया। इस जीत के साथ इंडिया लेजेंड्स के 16 अंक हों गए हैं। उसके खाते में चार जीत और एक हार है, जो उसे उसे कुछ दिन पहले ही इंग्लैंड के खिलाफ मिली थी। श्रीलंका लेजेंड्स के भी पांच मैचों से 16 अंक हैं और वर भी सेमीफाइनल में पहुंच गई है लेकिन नेट रन रेट के कारण वह टेबल में इंडिया लेजेंड्स के नीचे है। बाकी के दो स्थानों के लिए द. अफ्रीका लेजेंड्स (5 मैच, 12 अंक) और इंग्लैंड लेजेंड्स (3 मैच, 8 अंक) तथा वेस्टइंडीज लेजेंड्स (5 मैच, 8 अंक) के बीच टक्कर है। बहरहाल, 205 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी द. अफ्रीकी टीम ने अच्छी शुरुआत की लेकिन बाद में दबाव में आकर लक्ष्य से –रन दूर रह गई। उसके ओपनरों एंड्रयू पुटिक (41 रन, 35 गेंद, 6 चौके) और मोर्ने वान विक ( 35 रन, 4 चौके, 2 छक्के) ने पहले विकेट के लिए 87 रनो की साझेदारी की। पुटिक को यूसुफ पठान ने बोल्ड किया।
आक्सिंग रन रेट का दबाव बढ़ता जा रहा और इसी दबाव से टीम को निकालने के प्रयास में विक 96 के कुल योग पर प्रज्ञान ओझा की गेंद पर सचिन को कैच दे बैठे। 12वें ओवर की समाप्ति तक द. अफ्रीका को 48 गेंदो पर 109 रन बनाने थे।
इसी दबाव के कारण द. अफ्रीका ने लगातार अंतराल पर तीन और विकेट गंवा दिए। आउट होने वालों में अल्वारो पीटरसन (7), जांदेर दे ब्रूयन (10) और लूट्स बोसमैन (0) शामिल हैं। अंतिम 18 गेंदों पर उसे 75 रनों की जरूरत थी लेकिन मेहमान टीम 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 148 रनो पर ही सीमित रह गई। कप्तान जोंटी रोड्स 22 रनों पर नाबाद लौटे।
इंडिया लेजेंड्स की ओर से यूसुफ ने तीन विकेट लिए जबकि युवराज को दो सफलता मिली।
इससे पहले, इंडिया लेजेंड्स ने कप्तान सचिन और युवराज के शानदार तूफानी अर्धशतकों की बदौलत दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स को 205 रनों का टारगेट दिया। इंडिया लेजेंड्स ने टास हारने के बाद पहले बल्लेबाजी की और निर्धारित 20 ओवरों मे तीन विकेट पर 204 रन बनाए। इसमें सचिन के 60, युवराज के नाबाद 52 रनों के अलावा सुब्रमण्यम बद्रीनाथ के 42 रन शामिल हैं। यूसुफ पठान ने 23 रन बनाए जबकि मनप्रीत गोनी 16 रनों पर नाबाद लौटे। वीरेंद्र सहवाग (6) के साथ पारी की शुरूआत करने आए सचिन ने अपने पुराने अंदाज में कई आकर्षक शाट्स लगाकर करीब 30 हजार दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। उनके हर चौके और छक्के पर दर्शकों ने जमकर शोर मचाया और ‘ सचिन-सचिन’ के नारे लगाए। सहवाग हालांकि 16 रन के कुल योग पर आउट हो गए लेकिन सचिन ने बद्रीनाथ के साथ बल्लेबाजी का बेहतरान मुजायरा पेश करना जारी रखा। अपनी पारी में नौ चौके और एक छक्का लगाने वाले सचिन 111 रन के कुल योग पर मोंडे जोदेंकी की गेंद पर कैच आउट हुए। इसी बीच बद्रीनाथ को राइट हैमस्ट्रींग इंजुरी हुई और वह 42 के निजी योग पर मैदान से बाहर जाने को मजबूर हुए। बद्रीनाथ ने मैदान छोड़ने से पहले 34 गेंदों का सामना कर चार चौके और दो छक्के लगाए।
बद्री के जाने के बाद युवराज और यूसुफ ने तीसरे विकेट के लिए 40 रनों की साझेदारी की। यूसुफ 141 के कुल योग पर आउट हुए। यूसुफ ने 10 गेंदों पर दो चौकों और इतने ही छक्कों की मदद से 23 रन बनाए।
अब युवराज का साथ देने गोनी आए। युवराज ने अब तक अपना असल रंग नहीं दिखाया था लेकिन जांदेर दे ब्रूएन द्वारा फेंके जा रहे 18वें ओवर में लगातार चार छक्के लगाते हुए अपनी उस पारी की याद दिला दी, जिसमें उन्होंने इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्राड के एक ही ओवर में छह छक्के लगाए थे। युवराज ने अपनी 22 गेंदों की पारी में दो चौके और छह छक्के लगाए।
 

Ind vs Eng 1st T20: इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी, जानें कैसी है Playing 11

Ind vs Eng 1st T20: इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी, जानें कैसी है Playing 11

IND vs ENG: टीम मैनेजमेंट ने रोहित शर्मा को आराम देने का फैसला किया है. रोहित शर्मा आगे दो टी20 मैचों में भी टीम से बाहर रह सकते हैं. आखिरी वक्त में टीम इंडिया ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है. विराट कोहली ने एक दिन पहले कहा था कि शिखर धवन तीसरे ओपनर की भूमिका में रहेंगे. लेकिन वो लकी रहे और उन्हें प्लेइंग 11 में जगह मिली है.
India Playing 11: शिखर धवन, केएल राहुल, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, शार्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल.
England Playing 11: जेसन रॉय, जोस बटलर (विकेटकीपर), डेविड मलान, जॉनी बेयरस्टो, इयॉन मॉर्गन (कप्तान), बेन स्टोक्स, मार्क वुड, सैम करन, क्रिस जॉर्डन, जोफ्रा आर्चर, आदिल रशीद.