कोरोना अपडेट 18 मई : छत्तीसगढ़ में बढ़ने लगे कोरोना के मामले, मिले इतने मरीज, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 17 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 16 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 15 मई : प्रदेश में आज 08 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, अब एक्टिव केस हुए इतने    |    कोरोना अपडेट 14 मई : प्रदेश में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची इतनी, आज प्रदेश में इतने नए मरीज की हुई पहचान, देखें आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 13 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 12 मई : प्रदेश के इस जिले में मिलने लगे ज्यादा मरीज, अब एक्टिव मरीज हुए इतने, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 11 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 10 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 09 मई : छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के इतने मरीज, देखे कुल एक्टिव मरीजो की संख्या...    |
जून में इस तारीख से सोने की हॉलमार्किंग अनिवार्य की जाएगी

जून में इस तारीख से सोने की हॉलमार्किंग अनिवार्य की जाएगी

भारत सरकार ने हाल ही में घोषणा की कि वह 1 जून, 2021 से सोने की कलाकृतियों और आभूषणों के लिए अनिवार्य हॉलमार्किंग को लागू करने जा रही है। वर्तमान में, देश में सोने की हॉलमार्किंग स्वैच्छिक है।

सोने की हॉलमार्किंग क्या है?
गोल्ड हॉलमार्किंग सोने के आभूषणों और कलाकृतियों को शुद्धता प्रमाण पत्र प्रदान करता है।
नए नियमों के तहत केवल तीन ग्रेड के गहने अब हॉलमार्क किए जाएंगे। वे 14-कैरेट, 18-कैरेट और 22-कैरेट हैं। इससे पहले, सोने के गहने के 10 ग्रेड हॉलमार्क किए गए थे।
नए गोल्ड हॉलमार्क में चार अंक होंगे। वे कैरेट में शुद्धता, बीआईएस मार्क, परख केंद्र के नाम और जौहरी के पहचान चिह्न हैं।
यह प्रणाली उन उपभोक्ताओं के लिए भी उपलब्ध है जो अपनी पुरानी आभूषणों की हॉलमार्किंग करना चाहते हैं।
प्रावधानों का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति को न्यूनतम 1 लाख रुपये या वस्तु की कीमत का पांच गुना जुर्माना देना होगा।
गोल्ड हॉलमार्किंग का महत्व
सोने की अनिवार्य हॉलमार्किंग कम कैरेट के खिलाफ जनता की रक्षा करेगी।यह सुनिश्चित करेगा कि उपभोक्ताओं को धोखा न दिया जाए।
यह पारदर्शिता लाएगी और उपभोक्ताओं को गुणवत्ता का आश्वासन देगी।
यह आभूषण निर्माण की प्रणाली में भ्रष्टाचार को दूर करेगी।
गोल्ड हॉलमार्किंग की वैधता
BIS एक्ट, 2016 ने भारत में गोल्ड हॉलमार्किंग को अनिवार्य कर दिया था।
सोने की कलाकृतियों के लिए हॉलमार्किंग योजना बीआईएस द्वारा 2000 से चलाई जा रही है।
इसके अलावा, बीआईएस हॉलमार्किंग रेगुलेशन, 2018 में चांदी के आभूषणों और चांदी की वस्तुओं, स्वर्ण आभूषणों और सोने की कलाकृतियों की हॉलमार्किंग पर बल दिया है। 

सोना-चांदी खरीदना हुआ सस्ता, देखे आज का भाव

सोना-चांदी खरीदना हुआ सस्ता, देखे आज का भाव

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सोना-चांदी खरीदने वालों के लिए खुशखबरी है। अंतरराष्ट्री य स्तार पर कीमती धातुओं में आई गिरावट के कारण सोमवार को राष्ट्रीरय राजधानी में सोने की कीमत 57 रुपये गिरकर 46,070 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इससे पहले कारोबारी सत्र में सोना 46,127 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। सोने की भांति चांदी में भी गिरावट रही। चांदी का दाम 270 रुपये घटकर 66,043 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया। इससे पहले कारोबारी सत्र में चांदी का भाव 66,313 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुआ था। 

 फिर आई सोने और चांदी के कीमतों में गिरावट

फिर आई सोने और चांदी के कीमतों में गिरावट

नई दिल्ली। घरेलू सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोने की हाजिर कीमत में गिरावट दर्ज की गई। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार को सोने के हाजिर भाव में 130 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट दर्ज की गई। इस गिरावट से दिल्ली में सोने की कीमत गिरकर 46,093 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गई है। सिक्युरिटीज के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमती धातुओं में गिरावट के चलते घरेलू स्तर पर सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज हुई। गौरतलब है कि पिछले सत्र में सोना 46,223 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।

सोने के साथ ही मंगलवार को चांदी के भी घरेलू हाजिर भाव में गिरावट दर्ज गई। चांदी में 305 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज की गई। इस गिरावट से चांदी का भाव 66,040 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया है। गौरतलब है कि पिछले सत्र में  चांदी 66,345 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बंद हुई थी।

अंतरराष्ट्रीय कीमतों की बात करें, तो सोने का वैश्विक भाव मंगलवार को गिरावट के साथ 1,726 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड करता दिखाई दिया। वहीं, चांदी का वैश्विक भाव 24.89 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर ट्रेड करता दिखाई दिया।आइए अब घरेलू वायदा बाजार में सोने की कीमतें जानते हैं। एमसीएक्स एक्सचेंज पर मंगलवार को शुरुआती सत्र में सोने के भाव में मामूली गिरावट दिखी, लेकिन बाद में इसमें बढ़त देखी गई। मंगलवार शाम एमसीएक्स पर चार जून, 2021 के सोने का वायदा भाव 0.18 फीसद या 85 रुपये की बढ़त के साथ 46,504 रुपये प्रति 10 ग्राम पर ट्रेड करता दिखाई दिया।
भारत का विदेशी मुद्रा भंडार इतने  बिलियन डॉलर की कमी के साथ 576.869  अरब डॉलर पर पहुंचा, जानिए क्या है मामला

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार इतने बिलियन डॉलर की कमी के साथ 576.869 अरब डॉलर पर पहुंचा, जानिए क्या है मामला

2 अप्रैल, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.415 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 576.869 अरब डॉलर पर पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है। इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

2 अप्रैल, 2021 को विदेशी मुद्रा भंडार
विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $536.438 बिलियन
गोल्ड रिजर्व: $34.023 बिलियन
आईएमएफ के साथ एसडीआर: $1.486 बिलियन
आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $4.923 बिलियन

 

शुरुआती कारोबार में 150 अंक से अधिक फिसला सेंसेक्स, निफ्टी इतने अंक से नीचे

शुरुआती कारोबार में 150 अंक से अधिक फिसला सेंसेक्स, निफ्टी इतने अंक से नीचे

मुंबई । नकारात्मक वैश्विक संकेतों और एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसे बड़े शेयरों में गिरावट के चलते प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स में शुक्रवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 150 अंक से अधिक की गिरावट हुई। इस दौरान 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक 186.94 अंक या 0.38 प्रतिशत की गिरावट के साथ 49,559.27 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह व्यापक एनएसई निफ्टी 44.10 अंक या 0.30 प्रतिशत फिसलकर 14,829.70 पर था। सेंसेक्स में सबसे अधिक दो प्रतिशत की गिरावट बजाज फाइनेंस में हुई। इसके अलावा एशियन पेंट्स, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक बैंक, एचडीएफसी बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज भी लाल निशान में थे। दूसरी ओर एचयूएल, सन फार्मा, आईटीसी, ओएनजीसी, पावरग्रिड और एसबीआई में तेजी देखने को मिली। पिछले सत्र में सेंसेक्स 84.45 अंक या 0.17 प्रतिशत बढ़कर 49,746.21 पर और निफ्टी 54.75 अंक या 0.37 प्रतिशत बढ़कर 14,873.80 अंक पर बंद हुआ था। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने गुरुवार को सकल आधार पर 110.85 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ 63.18 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।
 

गोल्ड और सिल्वर दोनों सस्ते, जानें आज कहां पहुंची हैं कीमतें

गोल्ड और सिल्वर दोनों सस्ते, जानें आज कहां पहुंची हैं कीमतें

अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मजबूती और फेडरल रिजर्व की नीतियों की वजह से निवेशकों का रुझान अब शेयर जैसे जोखिम वाले निवेश की ओर बढ़ने लगा है. इससे गोल्ड की मांग में कमी दिखी और दाम में गिरावट आई है . इंटरेशनल मार्केट में दाम का गिरावट का असर भारतीय बाजारों पर भी दिखा.

एमसीएक्स में घटे गोल्ड और सिल्वर के दाम

एमसीएक्स में गुरुवार को गोल्ड 0.07 फीसदी घट कर 46,3330 रुपये प्रति दस ग्राम हो गया. वहीं सिल्वर के दाम में 0.31 फीसदी गिर कर 66,429 प्रति किलो पर पहुंच गया. जबकि बुधवार को दिल्ली मार्केट में गोल्ड 587 रुपये बढ़ कर 45,768 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. रुपये में गिरावट की वजह से इसकी कीमत में बढ़ोतरी हुई . वहीं सिल्वर में 682 रुपये की बढ़ोतरी हुई और यह 65,468 रुपये पर पहुंच गया. अहमदाबाद के सर्राफा बाजार में गोल्ड स्पॉट 45,829 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका. गोल्ड फ्यूचर 46327 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका.


ग्लोबल मार्केट में भी सोने की चमक फीकी

ग्लोबल मार्केट में गोल्ड 0.03 फीसदी घट कर 1736.76 प्रति औंस पर पहुंच गया. इस बीच, दुनिया के सबसे बड़े गोल्ड ईटीएफ एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग 0.35 फीसदी घट कर 1028.69 टन पर आ गई. सिल्वर में 0.3 फीसदी की गिराव ट आई और यह 25.03 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया. अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मजबूती की वजह से आने वाले दिनों में गोल्ड में गिरावट दिख सकती है. इससे वर्ल्ड मार्केट भी इसके दाम घटेंगे. लेकिन इस पर भारत में गोल्ड की कीमतों पर शायद ज्यादा असर नहीं दिखेगा क्योंकि यहां इसकी मांग एक बार फिर तेज हो सकती है. 

एक महीने में सबसे महंगा हुआ सोना, देखे आज का क्या रहा भाव

एक महीने में सबसे महंगा हुआ सोना, देखे आज का क्या रहा भाव

नईदिल्ली, ग्लोबल मार्केट से मिले पॉजिटिव संकेतों से मंगलवार को सोने और चांदी के भाव में तेजी आई है. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर जून वायदा सोने का भाव 0.40 फीसदी की मजबूती के साथ कारोबार कर रहा है. वहीं, मई चांदी का दाम 0.74 फीसदी बढ़ा है. रुपए के मुकाबले डॉलर में मजबूती और यूएस ट्रेजरी यील्ड्स में तेजी से सोने पर दबाव बना है. अमेरिकी डॉलर में कमजोरी और हाल की ऊंचाई से ट्रेजरी यील्ड्स में गिरावट से सोने की कीमतों को सपोर्ट मिला है.
सोने की कीमतों में हालिया कमजोरी के बावजूद कीमती धातु अगस्त के अपने हाई 56,200 से करीब 11,000 रुपए सस्ता है. वहीं, इस वर्ष की शुरुआत से सोने का भाव करीब 5,000 रुपए प्रति 10 ग्राम कम है. वैक्सीन रोलआउट और अमेरिकी बॉन्ड यील्ड्स में तेजी से वैश्विक रिकवरी की उम्मीद ने सोने पर दबाव डाला है. पिछले हफ्ते, सोने की कीमतें 44,100 रुपए प्रति 10 ग्राम तक गिर गईं थी, जो अप्रैल 2020 के बाद इसका न्यूनतम स्तर है.
मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर जून वायदा सोना 181 रुपए की उछाल के साथ 45,530 रुपए प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा है. पिछले कारोबारी सत्र में 0.15 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ था. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतों में तेजी रही. डॉलर में कमजोरी और यूएस ट्रेजरी यील्ड्स में नरमी से सोने को सपोर्ट मिला. स्पॉट गोल्ड 0.3 फीसदी की बढ़त के साथ 1.733.31 डॉलर प्रति औंस रहा.
एमसीएक्स पर मंगलवार को मई वायदा चांदी का भाव 480 रुपए की मजबूती के साथ 65,042 रुपए प्रति किलोग्राम हो गया. पिछले ट्रेडिंग सेशन में चांदी 0.9 फीसदी फिसलकर बंद हुआ था.
बता दें कि सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना और चांदी की कीमत में गिरावट रही. दिल्ली के सर्राफा बाजार में सोना 15 रुपए की मामूली गिरावट के साथ 44949 रुपए प्रति दस ग्राम के स्तर पर बंद हुआ.
चांदी की बात करें तो उसमें भी 216 रुपए की गिरावट आई है. गिरावट के बाद दिल्ली सर्राफा बाजार में इसका भाव 64,222 रुपए प्रति किलोग्राम रही.
 

599 रुपये में Jio-Airtel-Vi में से किसका प्लान है बेस्ट, जानिए क्या हैं ऑफर्स

599 रुपये में Jio-Airtel-Vi में से किसका प्लान है बेस्ट, जानिए क्या हैं ऑफर्स

देश की तीन बड़ी टेलीकॉम कंपनियां रिलायंस जियो, एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया यूजर्स के लिए एक से बढ़कर एक प्लान लेकर आती हैं. कंपनियों में इस बात को लेकर कड़ा मुकाबला रहता है कि कम दाम में बेस्ट ऑफर्स यूजर्स को दिए जाएं. अगर 599 रुपये वाले प्लान की बात करें तो ये तीनों कंपनियां इतनी कीमत में प्लान पेश करती हैं. अब तय आपको करना है कि इनमें से किसका प्लान बेस्ट है. इसके लिए हम आपको इनके ये वाले प्लान के सभी ऑफर्स बता रहे हैं. आइए जानते हैं इन तीनों कंपनियों में से बेस्ट प्लान किस कंपनी का है और क्या हैं ऑफर्स.


Jio का 599 रुपये वाला प्लान

रिलायंस जियो के 599 रुपये वाले प्रीपेड प्लान में यूजर्स को हर दिन 2 GB डेटा यानी कुल 168 GB डेटा मिल रहा है. साथ ही जियो नेटवर्क पर अनलिमिटेड वॉइस कॉल, नॉन-जियो नेटवर्क पर 3000 मिनट्स और 100 मैसेज हर रोज करने की सुविधा दी जा रही है. डेटा लिमिट खत्म होने के बाद स्पीड कम होकर 64Kbps हो जाती है. इस प्लान की वैलिडिटी 84 दिन की है.


Vodafone-Idea का 599 रुपये वाला प्लान
जियो के अलावा वोडाफोन-आइडिया 599 रुपये वाले प्लान में हर दिन 1.5 GB डेटा दिया जा रहा है. इसके अलावा आप देशभर में हर नेटवर्क पर फ्री कॉलिंग कर सकते हैं. साथ ही साथ आपको इस प्लान के तहत हर दिन 100 मैसेज फ्री करने की सुविधा दी जा रही है. ये प्लान भी 84 दिन तक वैलिड है.


Airtel का 599 रुपये वाला प्लान

इन दोनों कंपनियों के अलावा एयरटेल भी 599 रुपये वाले प्लान में अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ-साथ हर दिन 2 GB डेटा ऑफर कर रही है. साथ ही साथ हर दिन 100 मैसेज फ्री करने का मौका मिल रहा है. यही नहीं अगर आप ये वाला प्लान लेते हैं तो आपको एक साल तक डिज्नी+हॉटस्टार VIP मेंबरशिप फ्री मिलेगी. हालांकि ये प्लान सिर्फ 56 दिन तक ही वैलिड है. 

ACI  की एक रिपोर्ट में डिजिटल भुगतान के मामले में भारत इस स्थान पर

ACI की एक रिपोर्ट में डिजिटल भुगतान के मामले में भारत इस स्थान पर

ब्रिटेन स्थित भुगतान प्रणाली कंपनी ACI ने हाल ही में डिजिटल भुगतान पर एक रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत में 2020 में सबसे अधिक रियल-टाइम ऑनलाइन लेनदेन दर्ज किये गये। भारत का डिजिटल भुगतान बाजार Paytm, PhonePe, BharatPe, Pine Labs आदि के नेतृत्व में है। फरवरी 2021 की तुलना में मार्च 2021 में UPI (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) लेनदेन 7% बढ़ा। फरवरी 2021 में, UPI लेनदेन 4.25 लाख करोड़ रुपये था और मार्च 2021 में यह 5.05 लाख करोड़ रुपये हो गया। भारत ऑनलाइन लेनदेन के मामले में चीन, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन, थाईलैंड से आगे था। इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत में इलेक्ट्रॉनिक लेनदेन का हिस्सा 2024 तक 50% से अधिक हो जाएगा।

COVID-19 ने भारत के डिजिटलीकरण को कैसे तेज किया?


भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार, भारत अब एक दिन में लगभग 100 मिलियन डिजिटल लेनदेन दर्ज कर रहा है। 2016 की तुलना में यह पांच गुना है। इनमें से ज्यादातर लेनदेन UPI ​​द्वारा संचालित हैं।
COVID-19 के दौरान भारत के डिजिटलीकरण का त्वरण ज्यादातर JAM के माध्यम से था। JAM का अर्थ है Jan Dhan Aadhaar Mobile। JAM को आर्थिक सर्वेक्षण 2014-15 द्वारा प्रस्तावित किया गया था। यह जन धन खातों, आधार कार्ड और मोबाइल नंबरों को जोड़ने की पहल है। JAM ने लॉकडाउन के दौरान सेफ्टी नेट की भूमिका निभाई। COVID-19 के दौरान, कई ई-खुदरा विक्रेताओं ने डिजिटल तंत्रों के माध्यम से भुगतान का अनुरोध किया जो संपर्क रहित है और वायरस के फैलने के जोखिम को भी कम करता है। COVID-19 के दौरान डिजिटल लेनदेन के बढ़ने का यह एक और बड़ा कारण था। भारत में हो रहे डिजिटल विकास को देखते हुए, गूगल ने देश में इंटरनेट का उपयोग प्रदान करने के लिए भारत में 10 बिलियन अमरीकी डालर के अतिरिक्त निवेश की घोषणा की है।


भारत में डिजिटल परिवर्तन में चुनौतियां


अधिकांश केंद्रीय डिजिटल सेवाएं हिंदी या अंग्रेजी में कार्य करती हैं। भारत की संस्कृति में अत्यधिक विविधता होने के साथ, स्थानीय भाषाओं में अधिक सेवाओं को लॉन्च किया जाना चाहिए। कई भाषाओं में डिजिटल सेवाओं को लॉन्च करना गूगल की 10 बिलियन अमरीकी डालर की निवेश योजना के मुख्य उद्देश्यों में से एक है।
अविश्वसनीय प्रदर्शन और खराब तकनीकी सहायता, खराब वेब या मोबाइल एप्लिकेशन डिज़ाइन सरकारी डिजिटल चैनलों में विश्वास और आत्मविश्वास की कमी पैदा कर रहे हैं। 

सोने और चांदी की कीमतों में फिर आई गिरावट, जानें आज कितने कम हुए दाम

सोने और चांदी की कीमतों में फिर आई गिरावट, जानें आज कितने कम हुए दाम

अमेरिकी अर्थव्यवस्था में 2 ट्रिलियन डॉलर के स्टिमुलस पैकेज और डॉलर की मजबूती के बाद गोल्ड और सिल्वर में गिरावट दर्ज की गई. दरअसल महंगाई की हेजिंग के लिए गोल्ड में निवेश बढ़ सकती है. लेकिन फिलहाल इसमें गिरावट दिख रही है. अंतरराष्ट्रीय मार्केट की कीमतों के दबाव में घरेलू मार्केट में भी कीमतों में गिरावट दर्ज की गई. एमसीएक्स में गोल्ड की कीमत 0.11 फीसदी गिर कर 45,370 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई. सिल्वर की कीमत 0.02 फीसदी 65,075 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई.


दिल्ली मार्केट में गोल्ड सस्ता

दिल्ली मार्केट में पिछले गुरुवार को सोना गिर कर 44,701 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. वहं सिल्वर के दाम में तेजी आई और यह 1,071 रुपये बढ़ कर 63,256 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया. अहमदाबाद के मार्केट में गोल्ड स्पॉट 44,741 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका. वही गोल्ड फ्यूचर 44,767 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका. हालांकि घरेलू मार्केट में गोल्ड फ्यूचर को 44,500 पर समर्थन और 45,100 रुपये प्रति दस ग्राम पर रेजिस्टेंस मिलता दिख रहा है. वर्ल्ड मार्केट में स्पॉट गोल्ड 1728.60 डॉलर प्रति औंस पर बिका वहीं गोल्ड फ्यूचर 0.1 चढ़ कर 1729.50 प्रति औंस पर बिका. सिल्वर 0.2 फीसदी बढ़ कर 25.01 डॉलर पर प्रति औंस पर पहुंचा है. 

कैट ने अमजोन, फ्लिपकार्ट एवं रिलायंस सहित ई फार्मेसी कंपनियों के खिलाफ खोला मोर्चा

कैट ने अमजोन, फ्लिपकार्ट एवं रिलायंस सहित ई फार्मेसी कंपनियों के खिलाफ खोला मोर्चा

रायपुर । कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मंगेलाल मालू, विक्रम सिंहदेव, महामंत्री जितेंद्र दोषी, कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीडिया प्रभारी संजय चैबे ने बताया कि केंद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल के साथ आज नई दिल्ली में हुई एक मुलाकात में एक कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने उन्हें एक ज्ञापन सौंपते हुए अमजोन, फ्लिपकार्ट, रिलायंस, सहित अन्य ई फार्मेसी व्यापार में ड्रग एवं कौसमैटिक्स कानून 1940 के प्रावधानों के खलिाफ दवाइयों की ऑनलाइन बिक्री करने का मुद्दा जोरदार तरीके से उठाकर इन कम्पनियों द्वारा ऑनलाइन व्यापार के जरिए दावा व्यापार पर रोक लगाने की माँग की है ।

कैट ने श्री गोयल को दिए अपने ज्ञापन में कहा है की फार्मईजी,, मेड लाइफ, अमजोन , फ्लिपकार्ट, रिलायंस के स्वामित्व वाली कम्पनी नेटमैड, 1 एमजी, आदि पर आरोप लगते हुए कहा कि ये 30 प्रतिशत - 40 प्रतिशत छूट के साथ कीमतों पर परिचालन करके ई-कॉमर्स व्यापार का दुरुपयोग कर रहे हैं और विदेशी निवेष के कारण इन ई-फार्मेसियों को मुफ्त शिपिंग देने में कोई नुकसान नही उठाना पड़ता है जबकि देश भर में लाखों केमिस्ट एवं दवा विक्रेता सरकार के हर कानून एवं नियम का पालन करते हुए अपने लिए एवं कर्मचारियों के लिए तथा उनके परिवारों के लिए रोजी रोटी कमाते हैं।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री अमर पारवानी ने कहा की पूंजी डंपिंग की यह प्रथा उद्योग के निर्वाह और भविष्य के लिए बेहद हानिकारक साबित हो सकती है क्योंकि ई-फार्मेसियों की अपनी सीमाएं हैं पर उपभोक्ताओं से सीधा संबंध और आपातकालीन परिस्थितियों में दवाओं की किसी भी समय पहुचाने के कार्य सिर्फ एक केमिस्ट की दुकान ही कर सकती है।
श्री गोयल को एक और ज्ञापन में कैट ने भारतीय ई-कॉमर्स व्यापार को सभी खामियों से मुक्त कराने के लिए एफडीआई नीति के प्रेस नोट 2 के स्थान पार एक नया प्रेस नोट जारी करने की मांग दोहराई और कहा की ई कॉमर्स में सभी हितधारकों के लिए एक समान स्तर पर प्रतिस्पर्धी माहौल देने के प्रावधान नए प्रेस नोट में सुनिशचित किए जाएँ।

कैट सी.जी. चैप्टर के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष श्री विक्रम सिंहदेव ने कहा कि ई-फार्मेसी के बढ़ते व्यापार के चलते खुदरा व्यापारियों और वितरकों को भारी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है, जिसका मुख्य कारण इनके द्वारा अपनाई जा रही कु प्रथाएँ है जैसे कि पूंजी डंपिंग और गहरे डिस्काउंट तथा लागत से भी कम मुल्य पर दावा बेचना है।

देश भर में जरूरतमंद मरीजों के लिए रिटेल केमिस्ट और डिस्ट्रीब्यूटर्स सहित दवा विक्रेता संपर्क के पहले बिंदु हैं। बड़े विदेशी खिलाड़ियों / निधियों द्वारा प्राप्त वित्तीय समर्थन के चलते इन ई-फार्मेसियों ने अस्थिर मुल्य निर्धारण की प्रथा शुरू की है जिसके कारण खुदरा विक्रेताओं को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ऑनलाइन माध्यम से दवाओं और दवाओं की बिक्री अवैध है। ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, 1940 के तहत कानूनी व्यवस्था, पर्चे दवाओं की होम डिलीवरी की अनुमति नहीं देती है, जिसके लिए ष्मूलष् में एक डॉक्टर के पर्चे की आवश्यकता होती है।

श्री सिंहदेव ने कहा कि उपभोक्ता डेटा का उपयोग करके, जो अन्यथा पारंपरिक खिलाड़ियों के लिए उपलब्ध नहीं है, ई-फार्मेसी जैसे कि फार्मेसी, मेडलाइफ और 1डह (प्रशांत टंडन, सिकोइया से निवेश और अब स्लेट टाटा समूह में विलय करने के लिए) रिलायंस का नेटमेड, अमेजॅन और फ्लिपकार्ट ने महीने की शुरुआत में 30 प्रतिशत की न्यूनतम छूट दी है और महीने के अंत में लगभग 40 प्रतिशत की छूट उनके लिए दी गई जो महीने के अंत मे खर्च को कम करते है।

कैट ने मांग की है कि अमूमन ई-कॉमर्स जहां नियमों और नीतियों को बड़े पैमानें पर प्रवाहित किया जा रहा है, वहां अब विदेशी निवेश वाली कंपनियों द्वारा कब्जा करने और एकाधिकार करने का लक्ष्य रखा जा रहा है। देश भर के लाखों केमिस्ट और दवा व्यापारी खतरे को रोकने के लिए सरकार के तत्काल हस्तक्षेप की मांग करते है। 

ग्लोबल मार्केट में गोल्ड की कीमतों में बढ़ोतरी, वहीं चांदी में इतने  फीसदी की गिरावट

ग्लोबल मार्केट में गोल्ड की कीमतों में बढ़ोतरी, वहीं चांदी में इतने फीसदी की गिरावट

अमेरिका में 2 ट्रिलियन डॉलर के स्टिमुलस की उम्मीद तेज होने की होने की वजह से महंगाई बढ़ने की चिंता बढ़ गई है. लिहाजा गोल्ड में एक बार निवेश में इजाफा दिख रहा है. यही वजह है कि गुरुवार को ग्लोबल मार्केट में गोल्ड की कीमतों में बढ़ोतरी दिखी. इसके असर से घरेलू मार्केट में एमसीएक्स के दामों में गिरावट दर्ज की गई. एमसीएक्स में गोल्ड 0.11 फीसदी चढ़ कर 44,984 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया वहीं चांदी में 0.31 फीसदी की गिरावट आई और यह गिर कर 63,617 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई.


ग्लोबल मार्केट में गोल्ड पर इन चीजों का असर
ग्लोबल मार्केट में गोल्ड पर कई चीजों का असर दिख रहा है. इनमें अमेरिकी अर्थव्यवस्था में स्टिमुलस पैकेज की बढ़ती उम्मीदें, कोरोना टीकाकरण की रफ्तार, बॉन्ड यील्ड में इजाफा और गोल्ड ईटीएफ में निवेश की कमी और डॉलर का फिर कमजोर होना शामिल है. इसका असर घरेलू मार्केट पर भी दिख रहा है. हालांकि भारत में अभी गोल्ड की मांग में इजाफा देखने को मिल सकता है. घरेलू मार्केट में त्योहारी और शादियों के सीजन की वजह से गोल्ड के दाम में बढ़त दिख सकती है.


दिल्ली मार्केट में गोल्ड में मामूली गिरावट

दिल्ली मार्केट में बुधवार को गोल्ड के दाम में 49 रुपये की गिरावट आई और यह 43,925 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई. चांदी में भी 331 रुपये गिरावट आई और यह गिर कर 62,441 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई. अहमदाबाद में स्पॉट गोल्ड 43994 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका वहीं गोल्ड फ्यूचर 44637 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका. बुधवार को ग्लोबल मार्केट में 0.2 फीसदी चढ़ कर 1710.28 डॉलर प्रति औंस पर बिका. वहीं गोल्ड फ्यूचर 1709.80 प्रति औंस पर बिका. वहीं सिल्वर 0.1 फीसदी की गिरावट के साथ 24.36 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया. सिल्वर 0.1 फीसदी गिर कर 24.36 डॉलर प्रति औंस पर बिका. 

गोल्ड फिर महंगा होना शुरू, चांदी की कीमत गिरी, जानें आज का भाव

गोल्ड फिर महंगा होना शुरू, चांदी की कीमत गिरी, जानें आज का भाव

अमेरिका में 2 ट्रिलियन डॉलर के स्टिमुलस की उम्मीद तेज होने की होने की वजह से महंगाई बढ़ने की चिंता बढ़ गई है. लिहाजा गोल्ड में एक बार निवेश में इजाफा दिख रहा है. यही वजह है कि गुरुवारको ग्लोबल मार्केट में गोल्ड की कीमतों में बढ़ोतरी दिखी. इसके असर से घरेलू मार्केट में एमसीएक्स के दामों में गिरावट दर्ज की गई. एमसीएक्स में गोल्ड 0.11 फीसदी चढ़ कर 44,984 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया वहीं चांदी में 0.31 फीसदी की गिरावट आई और यह गिर कर 63,617 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई.


ग्लोबल मार्केट में गोल्ड पर इन चीजों का असर

ग्लोबल मार्केट में गोल्ड पर कई चीजों का असर दिख रहा है. इनमें अमेरिकी अर्थव्यवस्था में स्टिमुलस पैकेज की बढ़ती उम्मीदें, कोरोना टीकाकरण की रफ्तार, बॉन्ड यील्ड में इजाफा और गोल्ड ईटीएफ में निवेश की कमी और डॉलर का फिर कमजोर होना शामिल है. इसका असर घरेलू मार्केट पर भी दिख रहा है. हालांकि भारत में अभी गोल्ड की मांग में इजाफा देखने को मिल सकता है. घरेलू मार्केट में त्योहारी और शादियों के सीजन की वजह से गोल्ड के दाम में बढ़त दिख सकती है.


दिल्ली मार्केट में गोल्ड में मामूली गिरावट
दिल्ली मार्केट में बुधवार को गोल्ड के दाम में 49 रुपये की गिरावट आई और यह 43,925 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई. चांदी में भी 331 रुपये गिरावट आई और यह गिर कर 62,441 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई. अहमदाबाद में स्पॉट गोल्ड 43994 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका वहीं गोल्ड फ्यूचर 44637 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका. बुधवार को ग्लोबल मार्केट में 0.2 फीसदी चढ़ कर 1710.28 डॉलर प्रति औंस पर बिका. वहीं गोल्ड फ्यूचर 1709.80 प्रति औंस पर बिका. वहीं सिल्वर 0.1 फीसदी की गिरावट के साथ 24.36 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया. सिल्वर 0.1 फीसदी गिर कर 24.36 डॉलर प्रति औंस पर बिका.

 

बड़ी राहत : Aadhaar-PAN लिंक करने की अंतिम तारीख 30 जून तक बढ़ाई गई

बड़ी राहत : Aadhaar-PAN लिंक करने की अंतिम तारीख 30 जून तक बढ़ाई गई

नई दिल्ली। Aadhaar के साथ PAN CARD लिंक करने की आखिरी तारीख को एक बार फिर से बढ़ा दिया गया है। सरकार ने कहा कि आधार-पैन लिंक करने की आखिरी तारीख 30 जून 2021 होगी। इससे पूर्व सरकार ने 31 मार्च को आधार-पैन लिंक करने की आखिरी तारीख रखी थी, लेकिन इसे लेकर लोग लगातार मांग कर रहे थे कि आखिरी तारीख को बढ़ाया जाना चाहिए।


इससे पहले भी केंद्र सरकार कई बार आधार और पैन कार्ड लिंक करने की तारीख को बढ़ा चुकी है।
2019 से लेकर अब तक ये सिलसिला लगातार जारी है। लिंक नहीं करने पर कड़े जुर्माने और पैन कार्ड डिएक्टिवेट करने की भी बात कही गई थी।

लिंक करने में हो रही थी परेशानी :
पैन और आधार लिंक करने की आखिरी तारीख (31 मार्च) पर आयकर विभाग की वेबसाइट पर हजारों लोग एक साथ पहुंच गए थे। इससे कई लोगों को वेबसाइट ओपन करने में परेशानी हो रही थी। लोगों ने सोशल मीडिया पर भी इस परेशानी को शेयर किया था और सरकार से मांग की थी कि अंतिम तारीख को आगे बढ़ाया जाए।
2.24 लाख करोड़ का रिफंड : आयकर विभाग ने बुधवार को कहा कि उसने चालू वित्त वर्ष में 29 मार्च तक 2.37 करोड़ करदाताओं को 2.24 लाख करोड़ रुपए से अधिक की राशि लौटाई है। इसमें व्यक्तिगत आयकर मद में 2.33 करोड़ करदाताओं को 85,012 करोड़ रुपए जबकि कंपनी कर के अंतर्गत 2.85 लाख मामलों में 1.39 लाख करोड़ रुपए लौटाये गए। आयकर विभाग ने ट्विटर पर लिखा कि सीबीडीटी (केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड) ने 1 अप्रैल 2020 से 29 मार्च, 2021 तक 2.37 करोड़ से अधिक करदाताओं को 2,24,829 करोड़ रुपए वापस किए हैं।
इस प्रक्रिया से कर सकते हैं लिंक
सबसे पहले इनकम टैक्स की वेबसाइट https://incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं। यहां आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलकर आएगा। होम पेज पर आपको Link Aadhaar का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको इस पर क्लिक करना है। इसके बाद आपको अपना पैन नंबर, आधार नंबर और अन्य जरूरी जानकारी भरने का ऑप्शन दिखाई देगा। पूरी डिटेल भरने के बाद कैप्चा कोड डालें और लिंक आधार पर क्लिक करें। ऐसा करते ही आपके सामने पैन कार्ड और आधार लिंक होने का मैसेज आ जाएगा।

 

सोने और चांदी के दाम में गिरावट का दौर जारी, जानें कितनी कम हुईं कीमतें

सोने और चांदी के दाम में गिरावट का दौर जारी, जानें कितनी कम हुईं कीमतें

इस महीने के आखिरी दिन ( 31 मार्च, 2021) इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड और सिल्वर के दाम में गिरावट दर्ज की गई. बॉन्ड यील्ड की दरों में इजाफा और इकनॉमिक रिकवरी में रफ्तार ने निवेशकों का रुझान गोल्ड की ओर कम कर दिया है. मंगलवार को यूएस बॉन्ड की दरें 1.77 फीसदी बढ़ गई. इससे निवेशकों ने गोल्ड की ओर से रुख कम कर दिया . इससे इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड के दाम गिर गए और इसका घरेलू मार्केट पर भी असर पड़ा. एमसीएक्स में गोल्ड 0.31 फीसदी गिर कर 44,284 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. सिल्वर फ्यूचर 0.75 फीसदी गिरकर 62,650 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया.


दिल्ली मार्केट में भी गोल्ड में दिखी कमजोरी

मंगलवार को दिल्ली मार्केट में गोल्ड 138 रुपये गिर कर 44,113 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया वहीं सिल्वर 320 रुपये गिर कर 63,212 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया. वहीं अहमदाबाद सर्राफा बाजार में गोल्ड स्पॉट 44,331 रुपये गिर गया. गोल्ड फ्यूचर 43,870 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. जहां तक एमसीएक्स के रेट का सवाल है तो गोल्ड को 44,200 पर सपोर्ट मिल रहा है और 44,700 पर रेजिस्टेंस देखा जा रहा है.



क्या आपने अभी तक PAN Card को Aadhaar से नहीं किया लिंक, तो अभी भी है समय, नहीं तो देना होगा इतने हजार का जुर्माना

क्या आपने अभी तक PAN Card को Aadhaar से नहीं किया लिंक, तो अभी भी है समय, नहीं तो देना होगा इतने हजार का जुर्माना

साल 2019 में इनकम टैक्स डिपार्डमेंट ने आधार कार्ड को पैन कार्ड के साथ लिंक करना अनिवार्य कर दिया था और तब से ही इसकी डैडलाइन को आगे बढ़ाया जा रहा है. अब पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराने की आखिरी तारीख 31 मार्च 2021 तय की गई है. अगर आपने भी अभी तक पैन और आधार को आपस में लिंक नहीं करवाया है तो आज ही करवा लें क्योंकि 31 मार्च के बाद आपको भारी जुर्माना देना पड़ सकता है. इस डेट के बाद अगर आप पैन कार्ड से लेनदेन करेंगे तो उस पर 20% तक टैक्स लग सकता है.


1000 रुपये है जुर्माना
भारत सरकार ने पहले आधार और पैन कार्ड लिंक नहीं करने पर एक हजार रुपये लेट फीस तय की थी. वहीं नए सेक्शन 234H (फाइनैंस बिल), के मुताबिक, इन दोनों दस्तावेजों के लिंक नहीं होने पर 1000 रुपये तक जुर्माना देना पड़ेगा. यह लेट फी एक निष्क्रिय पैन कार्ड रखने पर लगने वाली पेनल्टी से अलग होगी.


पैन कार्ड को आधार कार्ड से घर पर ही करें लिंक

पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराने के लिए आपको ई-मित्र या फिर किसी दुकान पर जाने की जरूरत नहीं है. ये काम आप घर से भी कर सकते हैं. इसे आप इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाकर लिंक कर सकते हैं. इसके अलावा विभाग के जरिए जारी किए गए नंबर पर SMS भेजकर भी आप इन दोनों दस्तावेजों को आपस में लिंक कर सकते हैं.


SMS भेजकर ऐसे लिंक करें आधार और पैन
अगर आप अपने पैन कार्ड को आधार से लिंक कराना चाहते हैं तो आपको अपने मोबाइल नंबर से UIDPAN <12-digit Aadhaar> <10-digit PAN> टाइप करके 567678 या 561561 पर मैसेज भेजना होगा. इसके बाद आपका पैन आधार से लिंक होने की सूचना मिल जाएगी.


वेबसाइट पर जाकर ऐसे करें लिंक
इनकम टैक्स की वेबसाइट https://incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं. यहां आपके सामने एक होम पेज खुलकर आ जाएगा.
होम पेज पर आपको Link Aadhaar का ऑप्शन दिखाई देगा. आप इस पर क्लिक करें.
इसके बाद आपको अपना पैन नंबर, आधार नंबर और अन्य जरूरी जानकारी भरने का विकल्प दिखाई देगा.
पूरी डिटेल भरने के बाद कैप्चा कोड डालें और लिंक आधार पर क्लिक करें.
ऐसा करते ही आपके सामने पैन कार्ड और आधार लिंक होने की सूचना आ जाएगी.

 

RBI ने बेस रेट को 15 बेसिस पॉइंट्स घटाकर इतने प्रतिशत किया

RBI ने बेस रेट को 15 बेसिस पॉइंट्स घटाकर इतने प्रतिशत किया

गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों (NBFC) और माइक्रो फाइनेंस संस्थानों (MFI) द्वारा दिए जाने वाले विभिन्न ऋणों को कल से सस्ता होने की उम्मीद है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने आज सूचित किया कि आधार दर 7.81 प्रतिशत है। मौजूदा तिमाही की तुलना में यह 15 बेसिस पॉइंट्स (0.15%) कम है। पिछले साल यह इसी अवधि के दौरान 8.76% थी। हर तिमाही के अंतिम कार्य दिवस पर, RBI NBFC-MFI द्वारा आगामी तिमाही में अपने उधारकर्ताओं से वसूली जाने वाली ब्याज दर निर्धारित करता है। यह पांच सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंकों की आधार दरों के औसत पर आधारित होती है।

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI)
भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार 1 अप्रैल 1935 को भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना हुई थी। शुरू में रिज़र्व बैंक का केंद्रीय कार्यालय कोलकाता में स्थापित किया गया था लेकिन 1937 में स्थायी रूप से इसे मुंबई में हस्तांतरित कर दिया गया था। केंद्रीय कार्यालय वह स्थान है, जहां गवर्नर बैठता है तथा जहां नीतियां तैयार की जाती हैं। 1949 मे राष्ट्रीयकरण के बाद से रिज़र्व बैंक पूरी तरह से भारत सरकार के स्वामित्व में है। 

 सोने में भारी गिरावट, 44000 के नीचे फिसले दाम

सोने में भारी गिरावट, 44000 के नीचे फिसले दाम

बीते कई हफ्तों से सोना 45,000 के इर्द-गिर्द बना हुआ है। लेकिन अब भाव 44,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के भी नीचे फिसल गए हैं। खराब ग्लोबल संकेतों के चलते सोना कल 792 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट के साथ 43850 रुपये पर बंद हुआ।

सोमवार को सोने का MCX वायदा 44,000 के नीचे फिसल गया, इस दौरान सोने ने 43320 रुपये प्रति 10 ग्राम का इंट्रा डे लो भी छुआ। हालांकि आज MCX पर सोने के अप्रैल वायदा में 250 रुपये की हल्की मजबूती दिख रही है, हालांकि भाव अब भी 44,000 रुपये के नीचे ही हैं। एक नजर अगर बीते हफ्ते पर डालें तो बीते हफ्ते सोमवार को सोना 44905 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था, तब से अबतक सोना 1000 रुपये से ज्यादा सस्ता हो चुका है।
 सेंसेक्स ने लगाई जबर्दस्त छलांग, नजारा की शानदार लिस्टिंकग

सेंसेक्स ने लगाई जबर्दस्त छलांग, नजारा की शानदार लिस्टिंकग

मुंबई। कोरोना के मामले बढ़ते जाने के बावजूद एश‍ियाई बाजारों से मिले अच्छे संकेत की वजह से आज भारतीय शेयर बाजार में अच्छी तेजी देखी जा रही है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 323 अंकों की तेजी के साथ 49,331.68 पर खुला। सुबह 10.30 बजे के आसपास सेंसेक्स 818 अंकों की तेजी के साथ 49,827.06 तक पहुंच गया। नजारा टेक्नोलॉजी के आईपीओ की शानदार लिस्टिं8ग हुई है।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 121 अंकों की तेजी के साथ 14,628 पर खुला और बढ़ते हुए 14,764.65 तक पहुंच गया। सभी सेक्टोरल सूचकांक हरे निशान में दिख रहे थे। मेटल इंडेक्स में 2 फीसदी से ज्यादा की बढ़त हुई है, जबकि FMCG और फार्मा इंडाइसेज में 1-1 फीसदी की बढ़त हुई है। शुरुआती कारोबार में करीब 1042 शेयरों में तेजी और 261 शेयरों में गिरावट आई है. एशियाई बाजारों से अच्छे संकेत मिले हैं।

नजारा टेक्नोलॉजीज की आज दोनों स्टॉक एक्सचेंजों पर शानदार लिस्टिंशग हुई है। बीएसई पर इसके शेयर 1971 रुपये पर खुले. एनएसई पर यह 1990 रुपये में खुला। इसके आईपीओ का प्राइस बैंड 1100-1101 रुपये रखा गया था। यही नहीं कारोबार के दौरान बढ़ते हुए इसके शेयर 2026.90 रुपये तक पहुंच गए।

संस्थागत निवेशकों की अच्छी मांग से इसके आईपीओ को 175.46 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था। इस आईपीओ में रिटेल इनवेस्टर्स ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था।

लगातार दो दिन तक भारी गिरावट का सामना करने के बाद पिछले हफ्ते के अंतिम कारोबारी दिन शेयर बाजार में अच्छी तेजी देखी गई। कारोबार की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 529 अंकों की तेजी के साथ 48,969.25 पर खुला। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 568.38 अंकों की तेजी के साथ 49,008.50 पर बंद हुआ।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 182 अंकों की तेजी के साथ 14,506 पर खुला। कारोबार के अंत में निफ्टी 182.40 अंकों की तेजी के साथ 14,507.30 पर बंद हुआ। सभी सेक्टोरल सूचकांक हरे निशान में रहे. निफ्टी मेटल इंडेक्स में 3.6 फीसदी की तेजी आई।
 
 फिर से सस्ता हुआ पेट्रोल-डीज़ल, जानिए अपके शहर में क्या हैं कीमतें

फिर से सस्ता हुआ पेट्रोल-डीज़ल, जानिए अपके शहर में क्या हैं कीमतें

रायपुर। देश में चार दिन बाद एक बार फिर से पेट्रोल डीजल सस्ता हुआ है। पेट्रोल की कीमतों में लगभग 22 पैसे जबकि डीजल की कीमतों में 23 पैसे की कटौती की गई। राजधानी रायपुर में पेट्रोल की कीमतों में करीब 21 पैसे की कटौती हुई है, जिसके बाद इसकी कीमत 89.06 रूपए प्रति लीटर है। इसी प्रकार डीजल 24 पैसों की कटौती के बाद 87.62 रूपए प्रति लीटर चल रहा है। 

राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में पेट्रोल के दाम में 22 पैसे और डीजल की कीमतों में 23 पैसे की कटौती की गई। कटौती के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 90.56 रुपये प्रति लीटर पर आ गया। वहीं, डीजल के दाम गिरकर 80.87 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। कीमतों में कटौती के बाद मुंबई में पेट्रोल की कीमत 96.98 रुपये और डीजल की कीमत 87.96 रुपये प्रति लीटर हो गया। वहीं अगर कोलकाता में कीमतों की बात करें तो पेट्रोल के दाम 90.77 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल की कीमत 83.75 रुपये हो गया। चेन्नई में पेट्रोल 92.58 रुपये तो डीजल की कीमत 85.88 रुपये प्रति लीटर हो गया।