कोरोना अपडेट: प्रदेश में हो रही है कोरोना की रफ़्तार कम आज 10144 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 4888 नए मरीज मिले 144 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 4166 कोरोना पॉजिटिव, 19 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे बाकी जिलों के आकड़े    |    उपभोक्‍ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने उचित मूल्य की दुकानों के खुला रखने को लेकर कही ये बात    |    पीएम मोदी ने दिए ऑडिट के आदेश, पढ़े पूरी खबर    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटे में 3.11 लाख लोग हुए संक्रमित, 4 हजार से ज्यादा मौत    |    कोरोना अपडेट: प्रदेश में हो रही है कोरोना की रफ़्तार कम आज 11475 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 7664 नए मरीज मिले 129 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 6918 कोरोना पॉजिटिव, आज रायगढ़ में सर्वाधिक, देखे बाकी जिलों के आकड़े    |    स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन की पहली खुराक देने में छत्तीसगढ़ बना नंबर वन, दूसरे नंबर पर ये प्रदेश    |    राहुल गांधी का पीएम पर तंज, कहा- आपने तो मां गंगा को रुला दिया    |    प्रधानमंत्री मोदी का राज्यों को सख्त आदेश, तुरंत इंस्टॉल किए जाएं स्टोरेज में पड़े वेंटिलेटर्स    |
मई महीने की पहली तारीख को सस्ता हुआ एलपीजी गैस सिलेंडर

मई महीने की पहली तारीख को सस्ता हुआ एलपीजी गैस सिलेंडर

नई दिल्ली। मई महीने की पहली तारीख को तेल कंपनियों ने रसोई गैस का नया दाम जारी कर दिया है। जानकारी के मुताबिक शादियों के सीजन में कॉमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम घट गए हैं। हालांकि, घरो में इस्तेमाल होने वाला 14.2 किलोग्राम वजन वाले रसोई गैस के दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ है। कॉमर्शियल सिलेंडर के दाम की बात करें तो राजधानी दिल्ली में ही कीमतों में 46 रुपये प्रति सिलेंडर की कटौती हुई है।

पढ़ें : LOCKDOWN BREAKING : रायपुर में बढ़ेगा 1 हफ्ते का लॉकडाउन ?, पढ़े पूरी खबर


दिल्ली में पहले 19 किलोग्राम वाले गैस सिलेंडर का दाम 1641.50 रुपये था, जोकि अब घटकर 1595.50 रुपये पर आ गया है। नई कीमतें आज से लागू भी हो गई है। इसके पहले 25 फरवरी, 1 मार्च और 1 अप्रैल को 19 किलोग्राम वाले गैस सिलेंडर के दाम में इजाफा हुआ था। लगातार तीन बार बढ़ोतरी के बाद मई महीने में यह सिलेंडर सस्ता हुआ है।
 

घरों में इस्तेमाल होने वाले 14 किलोग्राम के रसोई गैस सिलेंडर की बात करें तो इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। राजधानी दिल्ली में मई महीने के दौरान भी एक एलपीजी गैस सिलेंडर का भाव 809 रुपये ही है। इसी प्रकार कोलकाता में 835 रुपये, मुंबई में 809 रुपये और चेन्नई में 825 रुपये प्रति सिलेंडर है।

 
इसके पहले अप्रैल महीने में भी एलपीजी के दाम में कटौती हुई थी. गैस की कीमत कम होने के पीछे का कारण इंटरनेशनल मार्केट में फिर से कच्चे तेल के भाव में नरमी को बताया जा रहा है।
अब 31 मई तक सस्पेंड रहेंगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स, DGCA ने लिया फैसला

अब 31 मई तक सस्पेंड रहेंगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स, DGCA ने लिया फैसला

नई दिल्ली, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों (International Passenger Flights) का सस्पेंशन 31 मई 2021 तक बढ़ा दिया है. यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय ऑल-कार्गो ऑपरेशन और उड़ानों पर लागू नहीं होगा. साथ ही जरूरत पड़ने पर कुछ अंतरराष्ट्रीय रूट्स पर संबंधित अथॉरिटी की मंजूरी के बाद उड़ानों को संचालित किया जा सकता है.

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने आदेश जारी किया है कि 31 मई 2021 की रात 11.59 बजे (भारतीय समय) तक निर्धारित अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री सेवाएं निलंबित रहेंगी. अंतरराष्ट्रीय निर्धारित उड़ानों को सक्षम प्राधिकारी द्वारा चयनित मार्गों पर मामले के आधार पर अनुमति दी जा सकती है.

कोविड-19 महामारी के मद्देनजर लॉकडाउन के समय 26 जून 2020 को भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी लगा दिया था. इसके बाद समय समय पर DGCA की ओर से गाइडलाइन जारी किए जाते रहे हैं.

करीब दो महीन बाद फिर शुरू हुआ तब विमानन नियामक ने एयरफेयर कैप लगा दिया था. फरवरी में DGCA ने न्यूनतम प्राइस बैंड पर 10 प्रतिशत और मैक्सिमम प्राइस बैंड पर 30 प्रतिशत की लिमिट बढ़ा दी थी. (भाषा इनपुट) 

गोल्ड-सिल्वर हो रहे हैं सस्ते, जानें क्या है आज का भाव

गोल्ड-सिल्वर हो रहे हैं सस्ते, जानें क्या है आज का भाव

अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट के बीच घरेलू मार्केट में भी गोल्ड में गिरावट दर्ज की गई है. शुक्रवार को एमसीएक्स में गोल्ड की कीमत 0.07 फीसदी घट कर 46,691 रुपये प्रति दस पर आ गई. वहीं 0.3 फीसदी गिर कर 68,439 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया. पिछले सेशन में गोल्ड और सिल्वर में क्रमश:0.75 और 0.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी. बहरहाल एमसीएक्स में गोल्ड को 47780 पर रेजिस्टेंस का सामना करना पड़ रहा है वहीं 45,760 पर इसे सपोर्ट मिलता दिख रहा है. पिछले साल गोल्ड काफी ऊपर गया था. अगस्त 2020 में यह 56 हजार रुपये प्रति दस ग्राम के स्तर पर पहुंच गया था. वहीं सिल्वर 80 हजार रुपये प्रति किलो पर पहुंचा था. हालांकि इस साल गोल्ड और सिल्वर दोनों की कीमतों को ऊपर चढ़ने के लिए संघर्ष करना पड़ा है.


दिल्ली मार्केट में गोल्ड में गिरावट


गुरुवार को दिल्ली मार्केट में सोना 168 रुपये गिरकर 47,450 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया. इससे पिछले दिन सोने का बंद भाव 47,618 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा था. हालांकि, इसके उलट चांदी में 238 रुपये की बढ़त रही और भाव 69,117 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया. बुधवार को इसका भाव 68,879 रुपये किलो रहा था. अंतरराष्ट्रीय बाजार में गोल्ड शुक्रवार को गिरावट की तरफ बढ़ा. यूएस बॉन्ड के यील्ड में बढ़ोतरी की वजह से गोल्ड में यह गिरावट आई. शुक्रवार को वर्ल्ड मार्केट में इसकी कीमत 0.2 फीसदी घट कर 1,767.12 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई.


गोल्ड की डिमांड में बढ़ोतरी


भारत में इस साल जनवरी से मार्च महीने में सोने की डिमांड में बढ़ोतरी दर्ज हुई है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल ने कहा कि पिछले साल जनवरी-मार्च तिमाही की तुलना में इस वर्ष में गोल्ड की मांग में 37 फीसदी की बढ़ोतरी हुई. कोरोना संक्रमण के चलते पाबंदियों में ढील मिलने, मांग बढ़ने और कीमतों में नरमी से डिमांड लौटी है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के मुताबिक साल 2020 की पहली तिमाही में सोने की कुल मांग 102 टन रही, जबकि साल 2021 के पहले तीन महीने में यह 140 टन पर रहा.

 

Vivo V21 5G भारत में इन फीचर्स के साथ हुआ लॉन्च, दमदार प्रोसेसर के साथ शानदार है कैमरा

Vivo V21 5G भारत में इन फीचर्स के साथ हुआ लॉन्च, दमदार प्रोसेसर के साथ शानदार है कैमरा

सैमसंग, ओप्पो और रियलमी के बाद अब चीनी स्मार्टफोन कंपनी Vivo ने भी इस महीने अपना नया 5G फोन Vivo V21 5G भारत में लॉन्च कर दिया है. फोन में मीडियाटेक डाइमेंसिटी 800U प्रोसेसर के साथ-साथ 64 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है. पावर के लिए इसमें 4,000mAh की बैटरी दी गई है, जो 33W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आती है. आइए जानते हैं फोन की कीमत और इसके स्पेसिफिकेशंस के बारे में.


ये है फोन की कीमत
Vivo V21 5G के 8GB रैम और 128 GB इंटरनल स्टोरेज वाले वेरिएंट की कीमत 29,990 रुपये तय की गई है. वहीं इसके 8GB रैम और 256 GB स्टोरेज की कीमत 32,990 रुपये रखी गई है. इस फोन की प्री-बुकिंग कल से शुरू हो गई है. इसकी सेल छह मई से फ्लिपकार्ट और वीवो के ऑनलाइन स्टोर पर होगी. इसमें Vivo के इस फोन पर HDFC बैंक के कार्ड पर 2,000 रुपये का कैशबैक मिलेगा.


स्पेसिफिकेशंस
Vivo V21 5G में एक 6.44 इंच की फुल एचडी+ AMOLED एमोलेड डिस्प्ले दी गई है, जिसका रिजॉल्यूशन 1080x2404 पिक्सल है. इसका रिफ्रेश रेट 90Hz होगा. इसमें 500 nits का पीक ब्राइटनेस है. फोन मीडियाटेक डाइमेंसिटी 800U प्रोसेसर से लैस है. एंड्रॉयड 11 बेस्ड Funtouch OS 11.1 पर काम करता है. इसमें 8GB रैम और 128GB इंटरनल स्टोरेज दी गई है.


ऐसा है कैमरा
फोटोग्राफी की बात करें तो Vivo V21 5G में ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है, जिसका प्राइमरी कैमरा 64 मेगापिक्सल का है. साथ ही एक 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा-वाइड एंगल लेंस भी दिया गया है. इसके अलावा 2मेगापिक्सल का मैक्रो लेंस दिया गया है. सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए फोन में 44 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है.


4,000mAh की है बैटरी
पावर के लिए Vivo V21 5G स्मार्टफोन में 4,000mAh की बैटरी दी गई है, जो 33W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आएगी. कंपनी का दावा है कि ये स्मार्टफोन आधे घंटे में 60 प्रतिशत से ज्यादा चार्ज हो जाएगा. फोन sunset dazzle, dusk blue और arctic white कलर ऑप्शन में अवेलेबल होगा. फोन में इनडिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है. 

सोने और चांदी की कीमतों में आई ताबड़तोड़ गिरावट, जाने आज कितना सस्ता है सोना

सोने और चांदी की कीमतों में आई ताबड़तोड़ गिरावट, जाने आज कितना सस्ता है सोना

नई दिल्ली | सोने और चांदी दोनों ही कीमती धातुओं के भाव में बुधवार को अच्छी-खासी गिरावट दर्ज की गई। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बुधवार को सोने के भाव में 505 रुपये की गिरावट दर्ज हुई। इस गिरावट से सोने का भाव टूटकर 46,518 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया है। सिक्युरिटीज के अनुसार, वैश्विक स्तर पर धातुओं की कीमतों में गिरावट के चलते घरेलू स्तर पर भाव में यह कमी दर्ज की गई। गौरतलब है कि पिछले सत्र में सोना 47,023 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।

सोने की कीमतों में गिरावट के साथ ही चांदी के घरेलू हाजिर भाव भी बुधवार को टूट गए। चांदी में बुधवार को 828 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज की गई। इस गिरावट से चांदी का भाव टूटकर 67,312 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया। गौरतलब है कि इससे पिछले सत्र में चांदी 68,140 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बंद हुई थी।वहीं, वैश्विक बाजार की बात करें, तो बुधवार को सोना गिरावट के साथ 1,769 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड करता दिखाई दिया। वहीं, चांदी 26.02 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर ट्रेड करती दिखाई दी।
एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (कमोडिटीज) तपन पटेल ने कहा, 'बुधवार को सोने की कीमतों में गिरावट देखने को मिली। यूएस फेडरल ओपन मार्केट कमेटी की बैठक से पहले डॉलर में रिकवरी के कारण सोने की कीमतें दबाव में ट्रेड कर रही हैं।' मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के वीपी (कमोडिटीज रिसर्च) नवनीत दमानी ने कहा, 'सप्ताह के पहले दो सत्रों में स्थिर ट्रेड करने के बाद सोने की कीमतों में थोड़ी गिरावट आई है। कल के सत्र में यूएस यील्ड्स के बढऩे से यह गिरावट आई है।'
 
छत्तीसगढ़: CAIT ने स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव से ESIC द्वारा कोरोना मरीजों को कैशलेस चिकित्सा सुविधा दिये जाने की मांग की

छत्तीसगढ़: CAIT ने स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव से ESIC द्वारा कोरोना मरीजों को कैशलेस चिकित्सा सुविधा दिये जाने की मांग की

रायपुर। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, विक्रम सिंहदेव, महामंत्री जितेंद्र दोशी, कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीडिया प्रभारी संजय चैबे ने बताया कि कैट सी.जी. चैप्टर ने आज एक पत्र जारी कर स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंहदेव से ईएसआईसी द्वारा कोरोना मरीजों को कैसलेश चिकित्सा सुविधा दिये जाने की मांग की। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने पत्र के माध्यम से स्वास्थ्य मंत्री माननीय श्री टी.एस. सिंहदेव को अवगत कराया कि जैसा की आप भी देख रहे होंगें की छ.ग. में दिन प्रतिदिन कोरोना के केस बढ़ते ही जा रहे है, ऐसे में कोरोना के मरीजों और उनके परिवार वालो को राहत देने हेतु हमारा कुछ सुझाव है कि जो भी कर्मचारी जो ईएसआईसी के अंतगर्त अपना ईलाज राज्य शासन द्वारा अनुबंधित ईएसआईसी अस्पताल में कराता है तो उसका ईलाज पूर्णतः कैसलेस हो। आज राज्य में बहुत से अनुबंधित ईएसआईसी अस्पताल है जहां जाकर वह अपना ईलाज करा सकता है। चूंकि सभी नौकरी पेशा कर्मचारी इस कोरोना काल के चलते बहुत अधिक अर्थिक तंगी से जुझ रहा है। जिसके चलते इनके पास पर्याप्त धनराशि नही है। जैसा कि हमें लोगों द्वारा जानकारी मिल रही है कि कोविड के प्रकरण में अनुबंधित हाॅस्पिटलों मे कैशलेस की सुविधा नहीं दी जा रही हैं जिससे की कोरोना पेशेंट एवं उनके परिवार को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, चूंकि हॉस्पिटलों में भर्ती होने वाले कोरोना के पेशेंट अधिकतर मध्यमवर्गीय और नौकरीपेशा है। जिनके पास हॉस्पिटल के बिल के लिए पर्याप्त धनराशि नही होती है, ऐसे में कर्मचारी और उनके परिवार कैशलेस सुविधा को देखते हुए ईएसआईसी का लाभ लेना चाहते है। जो की अनुबंधित अस्पतालों द्वारा इस कोरोना काल में कोरोना मरीजों का कैशलेस ईलाज नहीं कर रहें है।


कैट सी.जी.चैप्टर के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव ने कहा कि आज राज्य में बहुत से अस्पताल है जो कि ईएसआईसी से अनुबंधित अस्पताल है जिसकी सूची स्वंय ईएसआईसी की ओर सी जारी की गई है। किंतु आज भी बहुत से अनुबंधित अस्पतालों में कैसलेस की सुविधा नही दी जा रही है। जिसके कारण कर्मचारीयों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।


श्री पारवानी ने मंत्री सिंहदेव से अनुरोध करते हुए कहा कि सभी अनुबंधित अस्पतालों को ईएसआईसी के अंतगर्त आने वाले कोरोना कर्मचारियों एवं उनके परिवार परिवार वालों का कैशलेस ईलाज हेतु निर्देशित करे की वह इसका कड़ाई से पालन करें। ताकि इस महामारी में कर्मचारी और उनके परिजनों को ईलाज में किसी प्रकार की परेशानियों का सामना ना करना पड़े। 

 सोने के दाम में फिर आयी गिरावट, जानिए कितना सस्ता हुआ सोना

सोने के दाम में फिर आयी गिरावट, जानिए कितना सस्ता हुआ सोना

नई दिल्ली। सोना बुधवार को एक बार फिर से सस्ता हुआ है। आज सोना 100 रुपए प्रति 100 ग्राम तक सस्ता हो गया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोने की कीमतों में गिरावट आई है। सोने के दाम में 0.5 फीसदी गिरावट देखि गयी और ये 1,767.76 डॉलर प्रति औंस पर रहा।

मुंबई में आज सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,790 रुपये, 24 कैरेट के लिए 45,790 रुपये है। दिल्ली में, सोने की दर 22 कैरेट के लिए 45,990 रुपये और 24 कैरेट के लिए 50,170 रुपये है। पुणे में सोने की दर 22 कैरेट के लिए 44,790 रुपये और 24 कैरेट के लिए 45,790 रुपये है। नागपुर में, आज सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,790 रुपये और 24 कैरेट के लिए 45,790 रुपये है। गौरतलब है की सोने के दाम अलग अलग राज्यों में अलग अलग कर लगाए जानेके वजह से भिन्न रहते है।
GST व TDS की निर्धारित तिथि बढ़ाने सहित ऋण की किस्त-ब्याज के EMI को टालने की अनुशंसा के लिए चैम्बर ने मुख्यमंत्री बघेल को भेजा पत्र

GST व TDS की निर्धारित तिथि बढ़ाने सहित ऋण की किस्त-ब्याज के EMI को टालने की अनुशंसा के लिए चैम्बर ने मुख्यमंत्री बघेल को भेजा पत्र

रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड़ इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, कैट के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, महामंत्री अजय भसीन एवं कोषाध्यक्ष उत्तम गोलछा ने बताया कि आज प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र जारी कर कोविड 19 की दूसरी लहर के कारण जी. एस. टी. , टी.डी.एस. एक्ट के अंर्तगत आने वाली माह अप्रेल 2021 एवं माह मई 2021 की निर्धारित तिथि को आगे बढ़ाने के संबंध में अनुशंसा प्रदान करने साथ ही 3 महीने की अवधि के लिए ऋण की किस्त और ब्याज के भुगतान के लिए अधिस्थगन देने अनुशंसा किए जाने का अनुरोध किया।

श्री अमर पारवानी ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को पत्रों के माध्यम से अवगत कराया कि पूरी दुनिया सहित हमारा देश एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश कोविद 19 के प्रकोप का सामना कर रहा है । चालू लॉकडाउन के कारण व्यापार प्रभावित हुआ है। राज्य में दिनांक 9 अप्रैल से किए गए लॉकडाउन जो लगभग 1 माह का हो जायेगा जिसमें सारे व्यावसायिक प्रतिष्ठान, सरकारी कार्यालय, अर्धशासकीय कार्यालय, सभी पूर्णतः बंद रखे गए हैं, जिसके कारण आर्थिक गतिविधि पूरी तरह से सुस्त हो गई है, साथ ही व्यवसाय में नकदी प्रवाह बुरी तरह प्रभावित होने का हवाला देते हुए यह भी बताया गया कि सी.ए., वकील एवं अन्य सेवा प्रदाताओं के कार्यालय भी इस लॉकडाउन में बंद हैं इसके आलावा कोरोना माहामारी से व्यापारिक संस्थानों, कार्यालयों में कार्यरत विभिन्न व्यक्ति, एकाउंटेंट, सपोर्ट स्टाफ, प्रबंधन स्टाफ, विभिन्न सलाहकार इत्यादि भी इस महामारी का शिकार होकर प्रभावित हो रहे हैं, एैसे विकट परिस्थिति में जी.एस.टी. / टी.डी.एस. एक्ट के अंर्तगत आने वाले विभिन्न अनुपालनों को पूरा कर, खातों का मिलान कर, समय पर निर्धारित विवरणीयां फाईल कर पाना व्यापारी वर्ग के लिए संभव नहीं है एैसी स्थिति में माह अप्रेल एवं मई 2021 की निर्धारित तिथियों को आगे बढ़ाने एवं नगदी प्रवाह प्रभावित होने के कारण 3 महीने की अवधि के लिए ऋण की किस्त और ब्याज के भुगतान के लिए अधिस्थगन किया जाना चाहिए ।

एैसे विषम परिस्थितियों में तारीख बढायें जाने हेतु अपनी अनुशंसा कर मुख्यमंत्री जी व्यापारी वर्ग को राहत प्रदान करने की कृपा करगे, ताकि लॉकडाउन खुलने के पश्चात व्यापारी वर्ग को खातों के मिलान का समय मिल सके एवं अपने व्यापार को पुनः प्रारंभ कर, विवरणियां जमा कर सके, इसके लिए व्यापारी वर्ग आशान्वित है । 

 कमजोर पड़ी आज सोने-चांदी की चमक

कमजोर पड़ी आज सोने-चांदी की चमक

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में दोनों कीमती धातुओं में मजबूती के बीच घरेलू स्तर पर वायदा बाजार में आज सोने-चांदी की चमक कमजोर पड़ गई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना हाजिर 0.50 डॉलर की बढ़त के साथ 1,777.55 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। जून का अमेरिकी सोना वायदा भी एक डॉलर चढ़कर 1,778.80 डॉलर प्रति औंस बोला गया। इस दौरान चांदी हाजिर 0.09 डॉलर की मजबूती के साथ 26.08 डॉलर प्रति औंस के भाव बिकी।

घरेलू स्तर पर एमसीएक्स वायदा बाजार में सोना 121 रुपये यानी 0.25 प्रतिशत लुढ़ककर 47,411 रुपये प्रति 10 ग्राम पर और सोना मिनी 89 रुपये फिसलकर 47,080 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा। इस दौरान चांदी 249 रुपये यानी 0.36 प्रतिशत फिसलकर 68,425 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी मिनी 214 रुपये की गिरावट के साथ 69,628 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई।
 अच्छी खबर : सोने के दाम में आई गिरावट

अच्छी खबर : सोने के दाम में आई गिरावट

नई दिल्ली। सोना खरीदने वालो के लिए आज एक अच्छी खबर है। गुड्स रिटर्न वेबसाइट अनुसार सोने का भाव आज 100 रुपये प्रति 100 ग्राम नीचे चला गया। बता दे बीते तीन दिनों से सोने के दाम लगातार गिर रहे है, देश में शादी का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में सोने के दाम में गिरावट आना ग्राहकों के लिए काफी अच्छी बात है।

मुंबई में आज सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,940 रुपये और 24 कैरेट के लिए 45,940 रुपये है। वहीँ दिल्ली में सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 46,240 रुपये और 24 कैरेट के लिए 50,460 रुपये है। चेन्नई में सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,760 रुपये और 24 कैरेट के लिए 48,830 रुपये है।

इसके अलावा बेंगलुरु में, सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,590 रुपये और 24 कैरेट के लिए 48,650 रुपये है। कोलकाता में सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 47,430 रुपये और 24 कैरेट के लिए 49,700 रुपये है। हैदराबाद में, आज सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,590 रुपये, और 24 कैरेट के लिए 48,650 रुपये है।
भारत सरकार ने इतने टन सरसों उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया, जाने पीली क्रांति क्या है ...

भारत सरकार ने इतने टन सरसों उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया, जाने पीली क्रांति क्या है ...

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने हाल ही में घोषणा की कि यह सरसों की खेती के तहत नौ मिलियन टन भूमि को लायेगा। इससे सरसों का उत्पादन 2025-26 तक बढ़कर 17 मिलियन टन हो जाएगा। भारत में औसत सरसों का उत्पादन, यानी 2015 और 2019 के बीच सरसों का उत्पादन 7.7 मिलियन टन था। यह 5.9 मिलियन हेक्टेयर भूमि से उत्पादित किया गया था।

मामला क्या है?
भारत खाद्य तेल की जरूरत का लगभग 70% आयात करता है। इसमें से पाम ऑयल सबसे ज्यादा है। भारत को तेल में आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता है। इसे प्राप्त करने के लिए, भारत सरकार तेल बीज उत्पादन को बढ़ाने की योजना बना रही है। हालांकि, समस्या कम उत्पादकता है, यानी प्रति हेक्टेयर उत्पादित सरसों कम है। 
वर्तमान में, राजस्थान भारत में कुल सरसों का 40.82% उत्पादन करता है। यह देश का सर्वाधिक सरसों उत्पादक राज्य है।

योजना क्या है?
लक्ष्य प्राप्त करने के लिए, भारत सरकार वर्ष 2021-22 के लिए 7.58 मिलियन हेक्टेयर को लक्षित करने की योजना बना रही है। इस भूमि से लगभग 12.24 मिलियन टन का उत्पादन किया जायेगा।

2020 में, भारत सरकार ने 13 राज्यों के 368 जिलों को सरसों की खेती के लिए लक्षित किया। यह सरसों मिशन (Mustard Mission) के तहत किया गया था। 2020 में, भारत सरकार ने सरसों मिशन पर 160 करोड़ रुपये खर्च किए। चालू वित्त वर्ष के लिए भी इसे जारी रखा जायेगा।

उत्पादकता बढ़ाने के लिए, भारत सरकार ने उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज का उपयोग करने की योजना बनाई है। इससे पैदावार 20% से बढ़कर 100% हो जाएगी।

पीली क्रांति की उपलब्धि (Achievement of Yellow Revolution)
1986 में, तत्कालीन पीएम राजीव गांधी ने पीली क्रांति (Yellow Revolution) की शुरुआत की। यह तिलहन प्रौद्योगिकी मिशन (Oilseeds Technology Mission) पर आधारित था। यह एक बड़ी सफलता थी। 1993 तक, भारत खाद्य तेल उत्पादन में आत्मनिर्भर बन गया। पीली क्रांति के माध्यम से भारत ने देश के भीतर 97% खाद्य तेल की आवश्यकता का उत्पादन किया।

सैम पित्रोदा को “पीली क्रांति का जनक” कहा जाता है। इसमें नौ तिलहन पर ध्यान केंद्रित किया गया। वे सरसों, मूंगफली, सोयाबीन, तिल, कुसुम, निगर, सूरजमुखी, अरंडी और अलसी थे। 

 व्हाट्सऐप यूजर्स के लिए खुशखबरी: ऐसे कर सकेंगे व्हाट्सऐप के नए फीचर्स का इस्तेमाल

व्हाट्सऐप यूजर्स के लिए खुशखबरी: ऐसे कर सकेंगे व्हाट्सऐप के नए फीचर्स का इस्तेमाल

नई दिल्ली। व्हाट्सऐप में जब कोई नया वॉयस मैसेज भेजता है और उसकी समय सीमा ज्यादा होती है तो उसे सुनने में काफी अधिक समय लग जाता है, जिससे व्हाट्सऐप यूजर का समय बरबाद होता है। ऐसे समझें:- अगर किसी ने आपको फोन कॉल की रिकॉर्डिंग भेजी है और रिकॉर्डिंग लंबी है तो उसे पूरा सुनने में काफी अधिक समय लगेगा। लेकिन अगर स्पीड बढ़ाने का फीचर होगा, तो आप उसे आधे से भी कम समय में सुन सकेंगे। 

व्हाट्सऐप अपने यूजर्स को बढ़िया सुविधा देने के लिए कई फीचर्स पर काम कर रहा है। इनमें से एक फीचर को व्हाट्सऐप ने अपने बीटा यूजर्स के लिए रोलआउट कर दिया है। इस फीचर की मदद से यूजर्स अलग-अलग स्पीड में वॉयस मैसेज को प्ले कर सकेंगे। यानी की आप चाहे तो उस वॉयस मैसेज को फ़ास्ट स्पीड में सुन सकते हैं या धीमी स्पीड में सुन सकते हैं। नया फीचर व्हाट्सऐप एंड्रॉयड के बीटा वर्जन 2.21.9.4 में मिल रहा है लेकिन पिछला वर्जन भी इसे सपोर्ट करता है। इसके बाद यह साफ है की जल्द ही सभी व्हाट्सऐप यूजर्स को इस फीचर का अपडेट मिल सकेगा।

 व्हाट्सऐप बीटा यूजर्स को वॉयस मैसेज के पास प्लेबैक स्पीड का सिंबल दिखेगा। जिस पर क्लिक कर तीन अलग-अलग प्लेबैक स्पीड कंट्रोल्स नजर आएंगे। इसमें 1x, 1.5x और 2x प्लेबैक का ऑप्शन दिया गया है। वॉयस मैसेज पर क्लिक करने पर वो ऑडियो मेसेज नॉर्मली ही प्ले होगा। लेकिन उसके स्पीड को 1x, 1.5x या 2x पर क्लिक करके चेंज किया जा सकेगा। व्हाट्सऐप एंड्रॉयड बीटा यूजर्स इस फीचर को ट्राई कर सकते हैं। व्हाट्सऐप यूजर्स बीटा वर्जन के लिए रजिस्टर कर सकते हैं। इसके बाद वो इस फीचर को यूज कर सकते हैं।

आपको बता दें कि व्हाट्सऐप को पिछले महीने वॉयस मैसेज को अलग-अलग स्पीड पर प्लेबैक फीचर टेस्ट करते हुए देखा गया था। इसे WABetaInfo ने रिपोर्ट किया था। इस फीचर में स्लो स्पीड पर वॉयस मैसेज को प्ले करने का कोई ऑप्शन नहीं दिया गया है। इस फीचर्स को फिलहाल एंड्रॉयड यूजर्स के लिए जारी किया गया है।
 सोने के दाम में आई गिरावट,  पेट्रोल और  डीजल के दाम रहे स्थिर

सोने के दाम में आई गिरावट, पेट्रोल और डीजल के दाम रहे स्थिर

नई दिल्ली। देश में पेट्रोल और डीजल की दाम में शनिवार को भी कोई परिवर्तन देखने को नहीं मिला। गौरतलब है की 30 मार्च, 2021 को कीमतें गिरने के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतो में बीते गुरूवार को एक बार फिर से गिरावट दर्ज की गयी थी। सरकारी तेल कम्पनियो ने दिल्ली में पेट्रोल के दाम में 16 और डीजल के दाम में 14 पैसो की कटौती की थी। जिसके बाद पेट्रोल अब दिल्ली में 90.40 रूपये और डीजल 80.73 रूपये प्रति लीटर मिल रहा है। हालाँकि आज पेट्रोल डीजल के दाम में किसी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है।
 
पेट्रोल डीजल की कीमते अलग अलग राज्यों मेअलग अलग रहती है। वर्तमान में केंद्र लगभग 33 रूपये का टैक्स पेट्रोल डीजल पर ले रहा है, यानी की इसके बाद जो भी कीमत आपके राज्य में है, लगभग उतना कर पेट्रोल डीजल पर राज्य सरकार ले रही है, और इस वजह से इसकी क़ीमतो मे अलग अलग जगह पर अलग अलग दाम रहते है।
 
सोने का भाव आज 1,900 रुपये प्रति 100 ग्राम कम हो गया। शनिवार को सोना खरीदने वालो को 190 रुपये प्रति 10 ग्राम कम भुगतान करना होगा। सोने की दरों में ये गिरावट निश्चित रूप से सोने के खरीदारों काफी खुश कर देगी क्योंकि पूरे भारत में अब शादी का सीजन शुरू हो चुका है।
 
वैश्विक बाजारों में भी सोने की कीमतों में गिरावट आई है। अमेरिकी में सोने की कीमत में 0.2 फीसदी की गिरावट आई है। देश की बात करे तो मुंबई में आज सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 45,060 रुपये, और 24 कैरेट के लिए 46,060 रुपये है। दिल्ली में, सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 46,360 रुपये और 24 कैरेट के लिए 50,580 रुपये है।
 
चेन्नई में आज सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,950 रुपये और 24 कैरेट के लिए 49,040 रुपये है। बैंगलोर में, सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 44,800 रुपये और 24 कैरेट के लिए 48,870 रुपये है। वहीँ लखनऊ में, सोने की कीमत 22 कैरेट के लिए 46,360 रुपये और 24 कैरेट के लिए 50,580 रुपये है।
इस दिक्कत की वजह से खाद्य तेलों के दाम और बढ़ सकते हैं...

इस दिक्कत की वजह से खाद्य तेलों के दाम और बढ़ सकते हैं...

कोरोना संक्रमण के इस दौर में खाने-पीने की कई चीजों के दाम में इजाफा हुआ है. इनमें खाद्य तेल भी शामिल है. पिछले कुछ दिनों में सरसों और सोयाबीन से बने रिफाइंड तेल के दाम में काफी उछाल आया है. सरसों तेल 110 रुपये किलो से बढ़ कर 150 रुपये प्रति किलो तक पहुंच चुका है. वहीं सामान्य ब्रांड की रिफाइंड तेलों के दाम में बढ़ोतरी हुई है. इस समय सरसों की कटाई चल रही है और सोयाबीन का भी पेराई सीजन चल रहा है. लेकिन खाद्य तेल उद्योग को आशंका है कि कोरोना संक्रमण में लगे लॉकडाउन में मजदूरों ने पलायन किया तो उत्पादन पर बहुत ज्यादा असर पड़ेगा. उत्पादन में कटौती और सप्लाई में दिक्कत की वजह से खाद्य तेलों के दाम और बढ़ सकते हैं.


कामगारों के रहने और खाने की व्यवस्था कर रही हैं कंपनियां


खाद्य तेल कंपनियों का कहना है मजदूर पलायन न करें इसलिए वो उनके रहने और खाने की व्यवस्था कर रही हैं. मजदूरों को फैक्ट्री कैंपस में रखने की व्यवस्था हो रही है. साथ ही 45 साल की उम्र के कामगारों को वैक्सीन कैंपस में ही वैक्सीन लगाई जा रही है. इसके अलावा कंपनियां मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए गाड़ियों की भी व्यवस्था कर रही ताकि वे अपने घर वालों से जाकर मिल सकें. हरियाणा स्थित एक खाद्य तेल कंपनी के अधिकारी ने बताया कि उनके दो संयंत्रों में मजदूरों के रहने और खाने की पूरी व्यवस्था की गई है. इसलिए प्रोडक्शन की रफ्तार कम होने या इसके रुकने की आशंका नहीं है. इसके अलावा इस बार लंबे समय तक लॉकडाउन रहने की संभावना भी नहीं है.


पिछले एक साल में डेढ़ गुना तक बढ़ी हैं खाद्य तेल की कीमतें


पिछले एक एक साल में घरेलू खाद्य तेलों में सरसों तेल के दाम 90-100 रुपये से बढ़कर 150 रुपये हो गए हैं. रिफाइंड सोया तेल 80-85 रुपये से बढ़कर 125-130 रुपये प्रति किलो बिक रहा है. लेकिन अब इसकी कीमतें और बढ़ गई हैं. इस दौरान मूंगफली तेल के दाम करीब 30 फीसदी बढ़कर 155-160 रुपये हो गए हैं. वहीं सूरजमुखी तेल के दाम दोगुने से भी ज्यादा बढ़कर 185-190 रुपये प्रति किलो हो चुके हैं.अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेलों की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह मुख्य पाम उत्पादक देश मलेशिया व इंडोनेशिया में फसल कमजोर होने के साथ सट्टेबाजी है.

 

 सोने की कीमत में एक बार फिर बड़ा बदलाव, जानिए क्या है मौजूदा कीमत

सोने की कीमत में एक बार फिर बड़ा बदलाव, जानिए क्या है मौजूदा कीमत

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच सोना एक बार महंगा हो गया है। गुरुवार को सोने की कीमत प्रति 10 ग्राम 50,810 रुपये तक पहुंच गई। जबकि पिछले सत्र में सोने की कीमत 50,520 रुपये थी। गुड रिटर्न वेबसाइट के अनुसार चांदी की कीमत 68,800 रुपये प्रति किलोग्राम पर चल रही है। नई दिल्ली में, 22 कैरेट सोने की कीमत 46,590 रुपये प्रति 10 ग्राम है, जबकि चेन्नई में यह घटकर 45,060 रुपये हो गया। वेबसाइट के अनुसार मुंबई में यह दर 45,200 रुपये थी। चेन्नई में 24 कैरेट सोने की कीमत 49,160 रुपये प्रति 10 ग्राम थी।

वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू आयात बढ़ने के कारण देश के चालू खाते के घाटे (सीएडी) पर सोने का आयात 2020-21 के दौरान 22.58 प्रतिशत बढ़कर 34.6 बिलियन डॉलर (लगभग 2.54 ट्रिलियन) हो गया। हालांकि, पिछले वित्त वर्ष में चांदी का आयात 71 प्रतिशत घटकर लगभग 791 मिलियन डॉलर रहा। 2019-20 के आंकड़ों के मुताबिक, पीली धातु का आयात 2019-20 में 8.23 बिलियन डॉलर (लगभग 2 ट्रिलियन रुपये) रहा।

सोने के आयात में वृद्धि के बावजूद, देश का व्यापार घाटा 2020-21 के दौरान 98.56 बिलियन डॉलर तक सीमित हो गया, जबकि 2019-20 में यह 161.3 बिलियन डॉलर था। जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) के चेयरमैन कॉलिन शाह ने कहा कि घरेलू मांग बढ़ने से सोने का आयात बढ़ रहा है। आगामी अक्षय तृतीया और शादी के मौसम के कारण सोने की मांग में और वृद्धि होगी जो सीएडी को बढ़ा सकती है।
 
 सोने में आई गिरावट, पेट्रोल डीजल के दाम रहे स्थिर

सोने में आई गिरावट, पेट्रोल डीजल के दाम रहे स्थिर

नई दिल्ली। देश में पेट्रोल और डीजल की दाम में मंगलवार को भी कोई परिवर्तन देखने को नहीं मिला। गौरतलब है की 30 मार्च, 2021 को कीमतें गिरने के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतो में  बीते गुरूवार को एक बार फिर से गिरावट दर्ज की गयी थी। सरकारी तेल कम्पनियो ने दिल्ली में पेट्रोल के दाम में 16 और डीजल के दाम में 14 पैसो की कटौती की थी। जिसके बाद पेट्रोल अब दिल्ली में 90.40 रूपये और डीजल 80.73 रूपये प्रति लीटर मिल रहा है। हालाँकि आज पेट्रोल डीजल के दाम में किसी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है।

सोना खरीदने वालो के लिए आअज अच्छी खबर है। कई दिनों से लगातार दाम बढऩे के बाद सोने के दाम में आज गिरावट दर्ज की गयी है।

रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को सोने की कीमत 50,620 रुपये से गिरकर 10 ग्राम के लिए 50,520 रुपये हो गई और चांदी की कीमत 68,600 रुपये प्रति किलोग्राम है। मालूम हो इससे पहले सोने के दाम में लगातार बढ़ोतरी देखने को मिली थी।

नई दिल्ली में, 22 कैरेट सोने की कीमत 46,300 रुपये प्रति 10 ग्राम है, जबकि चेन्नई में यह 44,500 रुपये तक गिर गया। वेबसाइट के अनुसार मुंबई में यह दर 44,980 रुपये थी। चेन्नई में 24 कैरेट सोने की कीमत 48,550 रुपये प्रति 10 ग्राम थी। गौरतलब है की सोने के दाम अलग अलग राज्यों में अलग अलग कर लगाए जानेके वजह से भिन्न रहते है।
अगर आपके मोबाइल फोन में सेव हैं बैंकिंग डिटेल्स तो तुरंत डिलीट कर डालें, वर्ना खाली हो सकता है अकाउंट

अगर आपके मोबाइल फोन में सेव हैं बैंकिंग डिटेल्स तो तुरंत डिलीट कर डालें, वर्ना खाली हो सकता है अकाउंट

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने 44 करोड़ ग्राहकों के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि वे बैंक से संबंधित कोई भी डिटेल अपने मोबाइल फोन में कतई सेव न करें. ऐसा करना ग्राहकों को बहुत भारी पड़ सकता है. यहां तक कि उनका अकाउंट भी खाली हो सकता है.

पासवर्ड, PIN या दूसरे डिटेल्स की फोटो खींचकर भी न रखें मोबाइल में
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यानि SBI को देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक कहा जाता है. भारत सहित पूरी दुनिया में बढ़ते ऑनलाइन फ्रॉड के मामलों को देखते हुए अब देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने अपने कस्टमर्स को अलर्ट किया है. एसबीआई ने अपने ग्राहकों को चेताया है कि यदि किसी ने अपने बैंकिंग डिटेल्स जैसे पिन नंबर, एटीम या क्रेटिड कार्ड नंबर, CVV या OTP अपने मोबाइल फोन में सेव कर रखा है, तो उसे तुरंत हटा दें.
SBI की वेबसाइट पर ग्राहकों आगाह करते हुए संदेश लिखा है कि लगातार बढ़ते ऑनलाइन फ्रॉड के मामलों को देखते हुए लोगों को ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है.
कई लोगों की आदत होती है कि वे अपने बैंक अकाउंट नंबर, पासवर्ड या पिन नंबर की तस्वीर खींचकर मोबाइल फोन में सेव कर लेते हैं. लेकिन डाटा लीक होने की दशा में इस तरह की जानकारी का भी दुरूपयोग कर किसी का अकाउंट खाली किया जा सकता है.

नेट बैंकिंग के लिए पब्लिक इंटरनेट का न करें इस्तेमाल
एसबीआई ने अपने ग्राहकों को ये सलाह भी दी है कि वे नेट बैंकिग के लिए पब्लिक इंटरनेट का इस्तेमाल न करें. इस प्रकार के इंटरनेट का इस्तेमाल करने से ग्राहक की पर्सनल जानकारी लीक होने का खतरा बना रहता है. इसके अलावा ग्राहकों को अपना एटीएम कार्ड किसी के साथ भी शेयर नहीं करना चाहिए. इससे आपकी व्यक्तिगत जानकारी गलत हाथों में जाने का खतरा बना रहता है. बैंक कभी भी ग्राहक की व्यक्तिगत जानकारी जैसे पिन नंबर, ओटीपी, यूपीआई, यूजर आईडी या पासवर्ड नहीं मांगता है. इस तरह की जानकारी मांगने वाले फर्जी फोन कॉल्स से सावधान रहें.

 

क्या सोने के दाम एक बार फिर से 50 हजार प्रति दस ग्राम का भाव कर लेगा पार,जाने वजह

क्या सोने के दाम एक बार फिर से 50 हजार प्रति दस ग्राम का भाव कर लेगा पार,जाने वजह

नईदिल्ली: देश में कोरोना वायरस का खतरा एक बार फिर से बढ़ता जा रहा है. इस बीच निवेशकों का रुझान फिर से सुरक्षित निवेश माने जाने वाले गोल्ड की तरफ बनता हुआ दिखाई दे रहा है, जिसके कारण पिछले कुछ दिनों से सोने के दामों में भी इजाफा देखा जा रहा है. सोने की कीमतों में पिछले दिनों आई गिरावट के बाद इसके दाम एक बार फिर से बढ़ते जा रहे हैं. वहीं अब सवाल किया जा रहा है कि क्या सोने के दाम एक बार फिर से 50 हजार प्रति दस ग्राम के भाव के पार जाएंगे या नहीं? पिछले दिनों की गिरावट के बाद सोने में पांच फीसदी से ज्यादा की तेजी देखने को मिल चुकी है और देश में सोना एक बार फिर से 46-47 हजार प्रति 10 ग्राम के भाव पर कारोबार करता हुआ देखा जा रहा है. विशेषज्ञों का कहना है कि सोने की तेजी को कई फैक्टर्स सपोर्ट कर रहे हैं, जिसके कारण सोने में तेजी आने वाले दिनों में बनी रह सकती है.


अर्थव्यवस्था को लेकर चिंता


पिछले साल कोरोना वायरस के कारण अर्थव्यवस्था को लेकर चिंता बन गई थी. इसके बाद दुनिया भर के कई देशों की अर्थव्यवस्था चरमरा गई. हालांकि उस वक्त भी सोने की चमक फिकी नहीं पड़ी और सोना लगातार आसमान छूता गया. अब एक बार फिर से कोरोना का कहर देखने को मिल रह है. जिसके कारण निवेशक फिर से सोने की तरफ रुख कर रहे हैं. सोना एक बार फिर से सुरक्षित निवेश के तौर पर सामने आ चुका है.


अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देखा जाए तो सोना 1750 डॉलर प्रति औंस का मजबूत स्तर पार कर चुका है. जानकारों का मानना है कि जल्द ही यह 1780 डॉलर प्रति औंस से 1800 डॉलर प्रति औंस का स्तर दिखा सकता है. ऐसे में घरेलू स्तर पर भी सोना जल्द ही 50 हजार प्रति दस ग्राम का भाव फिर से पार कर सकता है.

 

 जल्दी कर लें सोने की खरीदारी, अभी 9085 रुपये है सस्ता

जल्दी कर लें सोने की खरीदारी, अभी 9085 रुपये है सस्ता

नई दिल्ली। बीते हफ्ते सोने के भाव में 723 रुपये प्रति 10 ग्राम का उछाल आया है। जिनके घरों में शादी है और अभी तक गहने नहीं खरीदे गए हैं तो उनके लिए यह खबर थोड़ी परेशान करने वाली है। हालांकि अब भी सोना अपने ऑल टाइम हाई से अभी भी 9085 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता है और कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसके भाव पिछले साल की तरह आसमान छू सकते हैं।  इसी तरह चांदी भी पिछले साल के हाई से 7198 रुपये सस्ती है।

इस दौर निवेशकों के लिए सबसे सुरक्षित सोना ही नजर आ रहा है। निवेशकों का रुझान गोल्ड, गोल्ड ईटीएफ और बॉन्ड की तरफ बढ़ा है। यही वजह है कि सोने के रेट बढ़ते जा रहे हैं।  पिछले साल गोल्ड की कीमतों में इजाफे की वजह लॉकडाउन, कोरोना के बढ़ते मामले, ब्याज दरों का कम होना, केंद्रीय बैंकों की खरीदारी आदि थी। इस साल कमोवेश हालात वैसे ही हैं। ब्याज दरें अभी कम हैं। रुपया डॉलर के मुकाबले लगातार कमजोर हो रहा है।
Flipkart करेगा इस ऑनलाइन ट्रैवल और टेक्नोलॉजी कंपनी का अधिग्रहण

Flipkart करेगा इस ऑनलाइन ट्रैवल और टेक्नोलॉजी कंपनी का अधिग्रहण

फ्लिपकार्ट ने हाल ही में घोषणा की कि यह क्लियरट्रिप का अधिग्रहण करेगा। क्लियरट्रिप एक प्रमुख ऑनलाइन ट्रैवल और टेक्नोलॉजी कंपनी है।

Cleartrip
क्लियरट्रिप 2006 में स्थापित किया गया था। यह कंपनी भारत में और मध्य पूर्व के देशों में ट्रेन और फ्लाइट टिकट, होटल आरक्षण और अन्य गतिविधियों को बुक करती हैं। इस कंपनी के सऊदी अरब, यूएई, भारत और मिस्र में कार्यालय हैं।

Flipkart
फ्लिपकार्ट एक ई-कॉमर्स कंपनी है जिसका मुख्यालय बैंगलोर में है।यह शुरू में पुस्तक बिक्री पर केंद्रित था। बाद में इसका विस्तार फैशन, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, घरेलू आवश्यक, जीवन शैली उत्पादों और किराने जैसे अन्य उत्पादों तक हुआ। फ्लिपकार्ट अमेज़न और स्नैपडील की प्रमुख प्रतियोगी कंपनी है।
2017 तक, फ्लिपकार्ट के पास भारत के ई-कॉमर्स उद्योग का 5% बाजार हिस्सा था। Myntra के अधिग्रहण के बाद इसने परिधान खंड (apparel segment) में एक प्रमुख स्थान प्राप्त किया।
फ्लिपकार्ट के पास PhonePe का स्वामित्व भी है।
2018 में, वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77% नियंत्रण हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था।
फ्लिपकार्ट के संस्थापक
फ्लिपकार्ट की स्थापना सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने की थी। वे IIT दिल्ली के पूर्व छात्र और अमेज़न के पूर्व कर्मचारी भी थे।

भारत में ई-कॉमर्स
मई 2020 तक लगभग 40% भारतीय आबादी इंटरनेट का उपयोग करती है। इसके साथ ही चीन के बाद दुनिया में भारत का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट उपयोगकर्ता आधार है।हालांकि, अमेरिका और फ्रांस के बाजारों की तुलना में ई-कॉमर्स की पहुंच कम है। 84% से अधिक अमेरिकी नागरिक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हैं।
भारतीय ई-कॉमर्स उद्योग के 2026 तक 200 बिलियन अमरीकी डालर तक बढ़ने की उम्मीद है।