कोरोना अपडेट 01 जुलाई : राजधानी रायपुर में फिर हुई कोरोना से मौत, रायपुर में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के नए मरीज, जाने आज प्रदेश में कितने मरीजों की हुई पहचान    |    कोरोना अपडेट 30 जून : छत्तीसगढ़ में फिर शुरू हुआ कोरोना से मौत का तांडव, आज भी रायपुर से मिले सर्वाधिक मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 29 जून : राजधानी रायपुर में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 226, आज प्रदेश में मिले इतने मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 28 जून : छत्तीसगढ़ में एक्टिव मरीजों की संख्या पहुंची 851, प्रदेश में आज इतने नए मरीजों की हुई पहचान, देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 27 जून : प्रदेश में आज नए मरीजो की संख्या पहुची सौ के पार, एक्टिव मरीज हुए अब इतने, देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 26 जून : कम टेस्ट के बावजूद मिले कल से ज्यादा मरीज, एक्टिव मरीज भी पहुचे सात सौ के करीब, देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 25 जून : प्रदेश में हो रही है चौथी लहर की आहट आज मिले सौ के करीब कोरोना मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े    |    वडोदरा में मिले एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस, क्या महाराष्ट्र में सरकार बनाने की तैयारी में है भाजपा!    |    कोरोना अपडेट 24 जून : राजधानी रायपुर में हुआ कोरोना विस्फोट, प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची 600 के पार, देखें जिलेवार आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 23 जून : छत्तीसगढ़ में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची 600 के पार, आज प्रदेश में मिले इतने नए कोरोना मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े...    |
सोने - चांदी के कीमतों में आया बदलाव, देखे आज के भाव...

सोने - चांदी के कीमतों में आया बदलाव, देखे आज के भाव...

नई दिल्ली : सोने-चांदी के भाव में आज बदलाव नजर आ रहा है। आज यानी बुधवार 15 जून को सर्राफा बाजारों में सोना जहां सस्ता हुआ है, वहीं चांदी थोड़ी महंगी। चांदी जहां मंगलवार के बंद भाव के मुकाबले 227 रुपये प्रति किलो महंगी हुई है तो वहीं, सोना 28 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता। अब सोना अपने उच्चतम रेट से आज 5507 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता मिल रहा है तो चांदी अपने दो साल पहले के उच्च रेट से 15807 रुपये सस्ती है।

इंडिया बुलियंस एसोसिएशन द्वारा जारी हाजिर रेट के मुताबिक सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट शुद्ध सोना 28 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता होकर 50619 रुपये के रेट से खुला। वहीं, चांदी 227 रुपये चढ़कर 60193 रुपये प्रति किलो के रेट पर खुली ।

24 कैरेट सोने पर 3 फीसद जीएसटी जोड़ लें तो इसका रेट 52137 रुपये हो जा रहा है, वहीं ज्वैलर का 10 फीसद मुनाफा जोडऩे के बाद सोने का भाव 57351 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच जा रहा है। त्रस्ञ्ज जोडऩे के बाद चांदी की कीमत 61998 रुपये प्रति किलो हो गई है। इसमें ज्वैलर का 10 से 15 फीसद मुनाफा अलग से है। यानी आपको 10 फीसद मुनाफा लेकर ज्वैलर करीब 68198 रुपये में देगा।
 

सोने चांदी के कीमतों में आई भारी गिरावट, देखे आज के भाव....

सोने चांदी के कीमतों में आई भारी गिरावट, देखे आज के भाव....

नई दिल्ली : सोने-चांदी के भाव में आज बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। आज यानी मंगलवार 14 जून को सर्राफा बाजारों में सोना-चांदी दोनों सस्ते हुए हैं। चांदी जहां सोमवार के बंद भाव के मुकाबले 748 रुपये प्रति किलो सस्ती हुई है तो वहीं, सोना 710 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता हुआ है।
इंडिया बुलियंस एसोसिएशन द्वारा जारी हाजिर रेट के मुताबिक सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट शुद्ध सोना 710 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता होकर 50725 रुपये के रेट से खुला। वहीं, चांदी 748 रुपये गिरकर 60164 रुपये प्रति किलो के रेट पर खुली ।

24 कैरेट सोने पर 3 फीसद जीएसटी जोड़ लें तो इसका रेट 52246 रुपये हो जा रहा है, वहीं ज्वैलर का 10 फीसद मुनाफा जोडऩे के बाद सोने का भाव 57471 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच जा रहा है। त्रस्ञ्ज जोडऩे के बाद चांदी की कीमत 61968 रुपये प्रति किलो हो गई है। इसमें ज्वैलर का 10 से 15 फीसद मुनाफा अलग से है। यानी आपको 10 फीसद मुनाफा लेकर ज्वैलर करीब 68165 रुपये में देगा।

अब सोना अपने उच्चतम रेट से आज 5401 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता मिल रहा है तो चांदी अपने दो साल पहले के उच्च रेट से 15836 रुपये सस्ती है। वहीं, 18 कैरेट गोल्ड की कीमत अब 38044 रुपये प्रति 10 ग्राम है। यह 3 फीसद त्रस्ञ्ज के साथ 39185 रुपये प्रति 10 ग्राम का पड़ेगा। ज्वैलर का 10 पर्सेंट मुनाफा जोड़कर यह 43103 रुपये का पड़ेगा। अब 14 कैरेट सोने का भाव 29674 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया है। त्रस्ञ्ज के साथ यह 30564 रुपये प्रति 10 ग्राम पड़ेगा। इस पर 10 पर्सेंट मुनाफा जोड़ लें तो यह 33620 रुपये का पड़ेगा।
 

Jio ने दिया तगड़ा झटका! रिचार्ज प्लान 20% तक हुए महंगे, यहां देखें लिस्ट

Jio ने दिया तगड़ा झटका! रिचार्ज प्लान 20% तक हुए महंगे, यहां देखें लिस्ट

भारत की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो ने अपने ग्राहकों को तगड़ा झटका दिया है। ET Now की एक रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने अपने JioPhone टैरिफ में 20 फीसदी की बढ़ोतरी की है। रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के 10 करोड़ से ज्यादा जियोफोन यूजर्स हैं।
कंपनी ने 28 दिनों की वैलिडिटी वाले 155 रुपये वाले प्लान की कीमत अब 186 रुपये कर दी है। इसी 28 दिनों की वैलिडिटी वाले 185 रुपये के प्लान की कीमत अब 222 रुपये कर दी गई, जिसमें हर रोज 2 जीबी डेटा दिया जाता है। इसी तरह, 336 दिनों वाले 749 रुपये वाले प्लान की कीमत 899 रुपये कर दी गई है।
यह प्लान 150 रुपये तक महंगा
इससे पहले कंपनी ने 749 रुपये वाले प्लान को 150 रुपये महंगा कर दिया था। दरअसल, ग्राहक जियोफोन खरीदने के लिए 1999 रुपये, 1499 रुपये और 749 रुपये का विकल्प चुन सकते थे। हालांकि कंपनी ने 749 रुपये के प्लान की कीमत बढ़ाकर 899 रुपये कर दी थी।
यह ऑफर उन ग्राहकों पर लागू होगा जो जियोफोन के वर्तमान यूजर हैं। अगर वह नया JioPhone खरीदना चाहते हैं तो 899 रुपये में उन्हें जियो फोन तो मिलेगा ही, साथ ही 1 साल का अनलिमिटेड प्लान भी साथ में दिया जाएगा। इसमें सालभर अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग के साथ कुल 24 जीबी डेटा मिलता है। इसके साथ जियो ऐप्स का भी मुफ्त सब्सक्रिप्शन है।
 

अब ई वॉलेट के ज़रिये भी निकाल सकेंगे एटीएम से पैसा...

अब ई वॉलेट के ज़रिये भी निकाल सकेंगे एटीएम से पैसा...

नई दिल्ली : अब आपको पैसा निकालने के लिए एटीएम कार्ड की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। यानि अब आप ई-वॉलेट के ज़रिये भी एटीएम से पैसा निकाल सकेंगे। जानकारी देते हुए भुगतान समाधान प्रदाता ओमनीकार्ड ने बताया कि उसने ई-वॉलेट के जरिये किसी भी एटीएम से नकदी निकासी की सुविधा शुरू की है। कंपनी ने दावा किया कि हाल में वह भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से लाइसेंस प्राप्त ऐसा पहला पीपीआई (प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट) बना है जिसने देश में किसी भी एटीएम से रूपे कार्ड के जरिये नकदी निकालने की सुविधा दी है। इससे पहले आरबीआई ने गैर-बैंकिंग लाइसेंस रखने वाले प्रतिष्ठानों को डिजिटल वॉलेट से नकदी निकालने की सुविधा देने की मंजूरी दी थी।

कंपनी ने यह भी कहा कि ओमनीकार्ड उपभोक्ता अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी एटीएम से पैसा निकाल सकेगे। इसमें कार्ड चोरी होने या कार्ड के क्लोन बनने जैसी धोखाधड़ी का खतरा भी नहीं होगा। ओमनीकार्ड के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) संजीव पांडेय ने कहा कि वे उपयोगकर्ताओं को एक वैकल्पिक मंच उपलब्ध करवाते हैं जहां वे अपने बैंक खाते सुरक्षित रख सकते हैं, इसमें रूपे कार्ड या यूपीआई से जुड़े डिजिटल वॉलेट का उपयोग किया जाता है। ओमनीकार्ड रूपे सुविधायुक्त प्रीपेड कार्ड है जिसका मोबाइल ऐप भी है।
 

आईसीआईसीआई बैंक ने ग्राहकों को दिया झटका, इतने फीसदी बढ़ाया बेंचमार्क लेंडिंग रेट...

आईसीआईसीआई बैंक ने ग्राहकों को दिया झटका, इतने फीसदी बढ़ाया बेंचमार्क लेंडिंग रेट...

नई दिल्ली : आरबीआई के रेपो रेट बढ़ाने के बाद सबसे पहले आईसीआईसीआई बैंक ने अपने लोनदार ग्राहकों को झटका दिया है। आईसीआईसीआई ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट को 50 फीसदी बढ़ा दिया है। अब यह दर 8.60 पर पहुंच गई है। आईसीआईसीआई बैंक ने यह फैसला रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के कल लिये गए ऐलान के बाद लिया है। आरबीआई ने बुधवार को रेपो रेट को 50 बेसिस प्वाइंट  बढ़ा दिया था। अब यह 4.90 फीसदी है।

एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट वह दर होती है जिससे नीचे या कम पर बैंक कर्ज नहीं दे सकता। अभी पांच मई को ही बढ़ाया गया था। तब इसे 50 फीसदी बढ़ाकर 8.10 फीसदी किया गया था। अब यह दर 8.60 फीसदी हो गई है। 

किसानों के लिए खुशखबरी: केंद्र ने इन 14 फसलों की MSP तय की, जानिए क्या है नई कीमत

किसानों के लिए खुशखबरी: केंद्र ने इन 14 फसलों की MSP तय की, जानिए क्या है नई कीमत

कैबिनेट की प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि 2014 से पहले 1-2 फसलों पर खरीद होती थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार आने के बाद बाकी फसलों को भी इसमें जोड़ा गया और किसानों की आय भी बढ़ी है.
अनुराग ठाकुर ने कहा है कि 2022-23 के खरीफ बिक्री सीजन के लिए 14 फसलों की MSP तय की गई है. धान की एमएसपी 2040 रुपए प्रति क्विंटल तय की गई है. धान की MSP में 100 रुपए प्रति क्विंटल की बढोत्तरी की गई है.
अरहल दाल पर 300 रुपए प्रति क्विंटल की बढोतरी
इसके साथ ही केंद्रीय कैबिनेट ने अरहर की दाल की एमएसपी में भी बढ़ोतरी की है. अरहर दाल (तूअर) की एमएसपी 6600 रुपए प्रति क्विंटल इस बार तय की गई है. पिछली बार से इस बार 300 रुपए प्रति क्विंटल रेट MSP का बढ़ाया गया है.
तिल की कीमत में इतनी बढोतरी
अनुराग ठाकुर ने कहा कि आज कैबिनेट की बैठक में फ़ैसला लिया गया है कि तिल के दाम में 523 रुपए की बढ़ोतरी होगी. मूंग पर प्रति क्विंटल 480 रुपए की बढ़ोतरी होगी. सूरजमुखी पर 358 रुपए प्रति क्विंटल है. मूंगफली पर 300 रुपए की बढ़ोतरी होगी.

 

सोने चांदी के कीमतों में आई भारी गिरावट, देखे आज के भाव....

सोने चांदी के कीमतों में आई भारी गिरावट, देखे आज के भाव....

मुंबई : सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन कीमती धातुओं के दाम में गिरावट देखने को मिली है। अगर आप आज आभूषण खरीदने का मन बना रहे हैं, तो घर से निकलने से पहले सोने-चांदी के भाव में आपके शहर में कितनी कमी आई है यह जान लेना फायदेमंद होगा। एमसीएक्स पर मंगलवार को सोने की कीमत में 0.24 फीसदी की कमी आई और इसका भाव टूटकर 50,747 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया।

सोने के दाम में कमी के साथ ही चांदी का भाव भी मंगलवार को टूट गया। इसके भाव में 0.77 फीसदी की गिरावट आई। इसके बाद चांदी की कीमत कम होकर 61,819 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई है। यहां बता दें कि आभूषण बनाने के लिए ज्यादातर 22 कैरेट का ही इस्तेमाल होता है। कुछ लोग 18 कैरेट सोने का भी इस्तेमाल करते हैं। आभूषण पर कैरेट के हिसाब से हॉल मार्क बना होता है। 24 कैरेट सोने के आभूषण पर 999 लिखा होता है, जबकि 23 कैरेट पर 958, 22 कैरेट पर 916, 21 कैरेट पर 875 और 18 कैरेट पर 750 लिखा होता है।

देश भर में सोने के आभूषणों की कीमत उत्पाद शुल्क, राज्य करों और मेकिंग चार्ज के कारण बदलती रहती है। आप अपने शहर सोने की कीमत मोबाइल पर भी चेक कर सकते हैं। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन के मुताबिक आप सिर्फ 8955664433 नंबर पर मिस्ड कॉल देकर प्राइस चेक कर सकते हैं। आप जिस नंबर से मैसेज करते हैं उसी नंबर पर आपके मैसेज आ जाएगा। इस तरह आप घर बैठे सोने के लेटेस्ट रेट जान लेंगे।
 

IRCTC ने बढ़ाई ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग संख्या, अब एक महीने में यूजर्स बुक कर सकेंगे इतनी टिकट

IRCTC ने बढ़ाई ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग संख्या, अब एक महीने में यूजर्स बुक कर सकेंगे इतनी टिकट

ट्रेन के जरिए यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक अच्छी खबर है। भारतीय रेलवे के टिकट बुकिंग प्लेटफॉर्म IRCTC ने ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग की अधिकतम संख्या बढ़ा दी है।
एक महीने में 12 टिकट बुक कर सकेंगे यूजर्स
भारतीय रेलवे ने एक यूजर आईडी से एक महीने में अधिकतम 6 टिकट बुक करने की सीमा को बढ़ाकर 12 टिकट करने का फैसला किया है। यह फैसला उन यात्रियों के लिए लिया गया है जो आधार वेरिफाइड नहीं हैं। इसके अलावा आधार वेरिफाइड यात्री एक महीने में अधिकतम 24 टिकट बुक करा सकते हैं। रेलवे के इस फैसले के बाद आधार से असत्यापित (अनवेरीफाइड) यात्री भी महीने में 12 बार टिकटों की बुकिंग कर सकेंगे।
 

रेलवे टिकट बुकिंग के नियम में बड़ा बदलाव, अब फटाफट बुक होगा टिकट

रेलवे टिकट बुकिंग के नियम में बड़ा बदलाव, अब फटाफट बुक होगा टिकट

अगर आप अक्सर ट्रेन से ट्रैवल करते हैं और इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग आईआरसीटीसी के जरिए करते हैं तो यह खबर आपके काम की है. इंडियन रेलवे में ऑनलाइन टिकट बुकिंग करने के तरीके में बड़ा बदलाव किया गया है. अब आपको रेलवे टिकट बुकिंग करने में बेहद कम समय लगेगा. अब आपके टिकट बुक करते समय अपने गंतव्य स्थान का एड्रेस नहीं फिल करना होगा.
कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से रेलवे ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग करते वक्त डेस्टिनेशन एड्रेस डालना जरूरी कर दिया था. इससे कोरोना के मामलों की आसानी के कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग हो पाएगी. लेकिन, कोरोना के मामलों में कमी के बाद से आईआरसीटीसी ने लोगों की सुविधा के लिए एड्रेस को फिल करने के ऑप्शन को हटाने का फैसला किया है.
IRCTC के सॉफ्टवेयर में किया गया बदलाव
आपको बता दें कि रेलवे ने यह फैसला लोगों की सहूलियत को देखते हुए लिया है. पहले यात्रियों को बुकिंग के दौरान ऐड्रेस फिल करने में दो से तीन मिनट का अधिक समय लगता था. अब उस समय में बचत होगी और ऑनलाइन टिकट की बुकिंग जल्द हो जाएगी. इस बदलाव के लिए CRIS और IRCTC ने सॉफ्टवेयर में बदलाव किया है. इसके बाद अब आपको अपना गंतव्य ऐड्रेस फिल करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.
रेलवे ने बेडरोल की सुविधा भी शुरू
गौरतलब है कि मार्च के महीने में रेलवे ने तकिया कंबल देने की सुविधा भी शुरू कर दी थी. कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज होने के बाद रेलवे ने बेडरोल की सुविधा को शुरू कर दिया गया है. इसे अब हर ट्रेन में शुरू कर दिया गया है. बेडरोल की सुविधा के लिए रेलवे ने चरणबद्ध तरीके से बेडरोल की सुविधा की शुरुआत की है.

 

चैम्बर अध्यक्ष पारवानी के नेतृत्व में पदाधिकारीयों ने केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री ईरानी से रायपुर आगमन पर सौजन्य भेट की

चैम्बर अध्यक्ष पारवानी के नेतृत्व में पदाधिकारीयों ने केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री ईरानी से रायपुर आगमन पर सौजन्य भेट की

रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, महामंत्री अजय भसीन, कोषाध्यक्ष उत्तम गोलछा कार्यकारी अध्यक्ष राजेन्द्र जग्गी, विक्रम सिंहदेव, राम मंधान, मनमोहन अग्रवाल ने बताया कि केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी से सौजन्य भेंट कर चेम्बर की कार्य प्रणाली से अवगत कराते हुए रायपुर आगमन पर बधाई दी ।

श्री अमर पारवानी ने बताया की आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर केन्द्रीय महिला एवं विकास मंत्री द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने तथा व्यापार में उनकी सहभागिता बढाने को लेकर अपने सुझाव दिए ।

श्री पारवानी ने महिला सशक्तिकरण को लेकर नये संगठन आरम्भ करने के बारे में बताते हुए कहा की वर्तमान या भावी अवसर का पूर्वदर्शन करके मुख्यतः कोई व्यावसायिक संगठन प्रारम्भ करना उद्यमिता का मुख्य पहलू है। उद्यमिता में एक तरफ भरपूर लाभ कमाने की सम्भावना होती है तो दूसरी तरफ जोखिम,अनिश्चितता और अन्य खतरे की भी प्रबल संभावना होती है। परन्तु आज व्यापार जगत में जिस तरह महिलाये पुरुषों के साथ कंधे से कन्धा मिलकर चल रहीं हैं चाहे वो कोई महिला स्व सहायता की मुखिया हो या किसी अंतराष्ट्रीय कंपनी की सी ई ओ प्रत्येक क्षेत्र में वो अपनी छाप छोड़ रही हैं ।

कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ चेम्बर के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, कार्यकारी अध्यक्ष राम मंधान, प्रदेश महामंत्री अजय भसीन, प्रदेश कोषाध्यक्ष उत्तमचंद गोलछा मंत्री निलेश मूंदड़ा, युवा चेम्बर मंत्री विपुल पटेल एवं राजू चंदनानी शामिल हुए। 

जल्द घट सकती है पेट्रोल डीजल की कीमतें, वैश्विक स्तर पर लिया जाएगा ये बड़ा फैसला…

जल्द घट सकती है पेट्रोल डीजल की कीमतें, वैश्विक स्तर पर लिया जाएगा ये बड़ा फैसला…

नई दिल्ली : लगातार बढ़ती महंगाई की मार झेल रही जनता को पेट्रोल-डीजल से राहत मिलने की उम्मीद है। तेल, गैस और अन्य दैनिक चीजों की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद आने वाले दिनों में जनता को पेट्रोल और डीजल के भाव से काफी राहत मिलेगी। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि तेल निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक प्लस) और रूस समेत अन्य सहयोगी देश कच्चे तेल की उत्पादन सीमा को बढ़ाने पर सहमत हो गए हैं। ऐसा करने से अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल के दाम में गिरावट आएगी और देश में भी तेल सस्ता हो जाएगा।

बता दें ओपेक और अन्य तेल निर्यातक देशों (ओपेक प्लस) ने कोरोना महामारी के समय अपने कुल उत्पादन में भारी कटौती की थी। जिसके बाद अब नए फैसलो से कोरोना के दौरान की गई कटौती को तेजी से बहाल करने में मदद मिलेगी। मौजूदा समय में ओपेक प्रति दिन 4.32 हजार बैरल कच्चे तेल का उत्पादन कर रहा है। हालांकि अब ओपेक प्लस द्वारा इस सीमा को जुलाई से बढ़ाकर 6.48 हजार बैरल प्रतिदिन करने का फैसला लिया गया है।

मौजूदा समय में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण अमेरिका में पेट्रोल का दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है। ऐसे समय में ओपेक द्वारा ये फैसला किया गया है। अमेरिका में कच्चे तेल की कीमत में इस साल की शुरुआत से अब तक 54 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
एक रिपोर्ट के अनुसार तेल निर्यातक देशों के ताजा फैसले से विश्व में कच्चे तेल की आपूर्ति पहले की तुलना में काफी बढ़ेगी और इस कारण इसकी कीमतें भी वैश्विक बाजार में कम हो जाएगी। भारत अपनी कुल जरूरत का 85 फीसदी कच्चाा तेल आयात करता है, ऐसे में यदि कच्चा तेल सस्ता होगा तो निश्चित तौर पर भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम गिरेंगे। जिससे भारत की आम जनता को बड़ी राहत मिलेगी।
महामारी के समय सस्ता कच्चा तेल बेचकर काफी घाटा हुआ

सूत्रों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2021-22 में भारत ने तेल पर लगभग 119.2 अरब अमेरिकी डॉलर खर्च किया था। शुरूआत में तेल उत्पा1दक देश ज्याेदा मुनाफा कमाने के लिए अपनी आपूर्ति नहीं बढ़ाने के जिद पर अड़े हुए थे। उनकी दलील थी कि महामारी के समय सस्ता कच्चा तेल बेचकर उन्हें काफी घाटा हुआ है, जिसकी भरपाई होने तक उत्पाीदन में इजाफा नहीं किया जा सकता है। हालांकि बाद में इस पर उन्हें सहमत होना पडा।

जानकारी के लिए बता दें कि यह ओपेक के सदस्य देशों और 10 प्रमुख गैर-ओपेक तेल निर्यातक देशों (अज़रबैजान, बहरीन, ब्रुनेई, कज़ाखस्तान, मलेशिया, मैक्सिको, ओमान, रूस, दक्षिण सूडान और सूडान) का गठबंधन हैं। ओपेक के कुल 14 देश (ईरान, इराक, कुवैत, संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब, अल्जीरिया, लीबिया, नाइजीरिया, गैबॉन, इक्वेटोरियल गिनी, कांगो गणराज्य, अंगोला, इक्वाडोर और वेनेजुएला) सदस्य हैं। ओपेक प्लस का मकसद दुनियाभर में तेल की आपूर्ति और उसकी कीमतें निर्धारित करना है। हर महीने विएना में ओपेक प्लस देशों की बैठक होती है। इसी बैठक में यह तय होता है कि अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कितने कच्चे तेल की आपूर्ति करनी है।

 

नौकरीपेशा कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर : EPF जमा पर मिलेगा इतने फीसदी ब्याज, EPFO ने लिया बड़ा फैसला

नौकरीपेशा कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर : EPF जमा पर मिलेगा इतने फीसदी ब्याज, EPFO ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली | केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए ईपीएफ (EPF) जमा पर 8.1 फीसदी ब्याज दर को मंजूरी दे दी है. एंप्लाई प्रोविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन या ईपीएफओ (EPFO) ऑफिस के आदेश में इस बाद की जानकारी दी गई है.

अगर आप नौकरीपेशा हैं तो घर बैठे कई तरीकों से अपने पीएफ के बैलेंस (PF Bance) की जांच कर सकते हैं. आप मिस्ड कॉल और एसएमएस के जरिए भी अपना पीएफ बैलैंस चेक कर सकते हैं.

मिस्ड कॉल के जरिए
आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल दें. इसके बाद ईपीएफओ से एक संदेश मिलेगा, जिसमें आपके पीएफ खाते की डिटेल मिल जाएगी. यह कॉल यूएएन के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से भेजना होगा.

एसएमएस के जरिए
अगर आपका यूएएन ईपीएफओ के पास रजिस्‍टर्ड है तो आपके लेटेस्ट कॉन्ट्रिब्‍यूशन और पीएफ बैलेंस की जानकारी मैसेज से मिल सकती है. इसके लिए आपको 7738299899 पर EPFOHO UAN ENG लिखकर भेजना होगा. आखरी तीन अक्षर भाषा के लिए हैं. अगर आपको हिंदी में जानकारी चाहिए तो आप EPFOHO UAN HIN लिखकर भेज सकते हैं. यह एसएमएस यूएएन के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से भेजना होगा.

ईपीएफओ की वेबसाइट के जरिए
– इसके लिए आपको ईपीएफए की वेबसाइट पर जाना होगा.
– यहां Employee Centric Services पर क्लिक करें.
– अब View Passbook पर क्लिक करें.
– पासबुक देखने के लिए UAN से लॉगइन करें.

उमंग ऐप के जरिए
– अपना उमंग ऐप (UMANG) खोलें और ईपीएफओ पर क्लिक करें.
– अब Employee Centric Services पर क्लिक करें.
– यहां व्यू पासबुक ऑप्‍शन पर क्लिक करें.
– अपना यूएएन नंबर और पासवर्ड (OTP) नंबर भरें.
– ओटीपी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आ जाएगा.
– ओटीपी डालने के बाद आप अपना पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं.

जल्द ही भारत में होगी टिक टॉक ऐप की वापसी....

जल्द ही भारत में होगी टिक टॉक ऐप की वापसी....

नई दिल्ली : TikTok पर बैन लगने के बाद यूजर्स काफी निराश हुए थे। TikTok बैन होने बाद कई अन्य शॉर्ट वीडियो ऐप्स ने बाजार में दस्तक दी है और काफी पसंद भी किए जा रहे हैं। लेकिन उनसे TikTok की तुलना गलत होगा। ऐसे में आज हम आपके लिए एक खुशखबरी लेकर आए हैं। इस खबर के मुताबिक TikTok भारत में फिर से दस्तक देने की तैयारी कर रहा है।

नए नाम के साथ भारत में वापसी करेगा Tik Tok
सामने आई एक रिपोर्ट के अनुसार TikTok की पेरेंट कंपनी Bytedance भारत में फिर से वापसी करने की तैयारी कर रही है और इसके लिए कंपनी एक पार्टनरशिप की तलाश में है। जैसे ही कंपनी को नया पार्टनर मिलेगा तो कंपनी TikTok को नए नाम व नए कलेवर के साथ फिर से लॉन्च कर देगी। बता दें कि भारत में साल 2020 में भारत सरकार ने 250 से ज्यादा चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया था, जिसमें TikTok और पबजी जैसे लोकप्रिय ऐप शामिल थे।

हालांकि, अभी तक कंपनी ने आधिकारिक तौर पर कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है, लेकिन सामने आई रिपोर्ट्स के अनुसार TikTok को अब भारत में वापसी करने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। कंपनी ने अपने पुराने कर्मचारियों को भी वापस बुलाना शुरू कर दिया है। जिसके बाद उम्मीद की जा रही है कि यूजर्स का इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है।

रिपोर्ट में जानकारी दी गई है कि TikTok की पेरेंट कंपनी Bytedance साझेदारी के लिए किसी भारतीय ग्रुप की तलाश में है। Bytedance और हीरानंदानी ग्रुप के बीच साझेदारी की बातचीत प्रारंभिक चरण में है। इसके अलावा कुछ अन्य ग्रुप से भी बातचीत जारी है।
 

और सस्ता हो सकता है पेट्रोल डीजल, हाल ही में केंद्र सरकार ने घटाई थी एक्साइज ड्यूटी....

और सस्ता हो सकता है पेट्रोल डीजल, हाल ही में केंद्र सरकार ने घटाई थी एक्साइज ड्यूटी....

नई दिल्ली : लगातार बढ़ती महंगाई के बीच अगर किसी चीज की कीमत कम होती है, तो आम आदमी को सबसे ज्यादा राहत मिलती है। अब एक और ऐसी खबर निकलकर आ रही है, जिससे जनता को ख़ुशी मिलेगी। इस खबर के मुताबिक पेट्रोल-डीजल के दामों में और कमी आ सकती है। तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक और रूस समेत अन्य सहयोगी देशों ने जुलाई-अगस्त से कच्चे तेल का उत्पादन और बढ़ाने का फैसला कर लिया है।
ओपेक, रूस समेत अन्य सहयोगी देशों के बीच कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाकर प्रतिदिन 6.48 लाख बैरल करने पर सहमति बनी है। इस फैसले से दुनियाभर में पेट्रोल और डीजल की कीमतें नीचे आने की उम्मीद बढ़ी है।

कोरोना काल में लॉकडाउन के चलते कच्चे तेल की खपत काफी कम हो गई थी और क्रूड ऑयल की कीमतें काफी नीचे आ गई थी। तब तेल उत्पादक देशों ने दाम को स्थिर करने के लिए कच्चे तेल का प्रतिदिन का उत्पादन घटा दिया गया था। कोरोना से पहले के कच्चे तेल प्रोडक्शन लेवल को पाने के लिए ये देश धीरे-धीरे इसके उत्पादन को बढ़ा रहे हैं। अभी प्रतिदिन 4.32 लाख बैरल कच्चे तेल का उत्पादन हो रहा है।

फरवरी के अंत में रूस-यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद से इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमतें बेहताशा बढ़ी हैं। इसकी वजह रूस पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाने से कच्चे तेल की सप्लाई बाधित हुई। फलस्वरूप दुनिया को विकट महंगाई का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि दुनिया के अधिकतर देशों में महंगाई बढ़ाने में पेट्रोल-डीजल की ऊंची कीमतें बड़ी भूमिका निभाती हैं।

हालांकि ओपेक देशों की कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने की पहले से कोई योजना नहीं थी, लेकिन योजना के विपरीत उत्पादन में तेजी से बढ़ोतरी का ये निर्णय ऐसे समय किया गया है जब कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण अमेरिका में पेट्रोल का दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है। साल 2022 की शुरुआत से अब तक अमेरिका में कच्चे तेल की कीमत 54 प्रतिशत तक बढ़ चुकी है। हालांकि इस खबर के आने के बाद न्यूयॉर्क में कच्चे तेल का भाव 0.9% गिरा है और ये 114.26 डॉलर प्रति बैरल पर ट्रेड हो रहा है। कच्चे तेल के उत्पादन में इस बढ़ोतरी से ईंधन के ऊंचे दाम को कम करने में मदद मिलेगी और महामारी से उबर रही वैश्विक अर्थव्यवस्था में महंगाई का स्तर नीचे आएगा।

हाल ही में केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी को कम करने का फैसला किया था। इससे देश में पेट्रोल के दाम एक झटके में 9.50 रुपये और डीजल के दाम 7 रुपये प्रति लीटर कम हो गए थे। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल का भाव 2 जून को 96.72 रुपये और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर रहा।
 

अब रेस्तरां में मनमाना सर्विस चार्ज वसूलने पर लगेगी लगाम! सरकार जल्द लाएगी दिशा-निर्देश, आज हुई मीटिंग

अब रेस्तरां में मनमाना सर्विस चार्ज वसूलने पर लगेगी लगाम! सरकार जल्द लाएगी दिशा-निर्देश, आज हुई मीटिंग

रेस्तरां में खाने के बिल में सर्विस टैक्स लेना अन्यायपूर्ण और अनुचित व्यापार है, सरकार जल्द इस मामले में एक दिशा-निर्देश जारी करेगी. आज सरकार, रेस्टोरेंट एसोसिएशन और उपभोक्ता संगठनों के बीच इस मामले को लेकर एक मीटिंग हुई है.
रेस्तरां और होटलों द्वारा लगाए जाने वाले सर्विस टैक्स की जांच के लिए केंद्र जल्द ही एक मजबूत ढांचा तैयार करेगा. उपभोक्ता मामले का विभाग जल्द ही रेस्तरां और होटलों के लगाए जाने वाले सर्विस टैक्स के संबंध में हितधारकों द्वारा कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए एक मजबूत ढांचा लाएगा. इसके पीछे की वजह यह है कि दैनिक आधार पर उपभोक्ताओं को सर्विस टैक्स प्रतिकूल रूप से प्रभावित करता है.
डीओसीए ने बुलाई मीटिंग
विभाग ने आज रेस्तरां संघों और उपभोक्ता संगठनों के साथ होटल और रेस्तरां में सर्विस टैक्स लगाने पर बैठक की. इस मीटिंग की अध्यक्षता डीओसीए के सचिव रोहित कुमार सिंह ने की. बैठक में नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया और फेडरेशन ऑफ होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया समेत अन्य संघों शामिल हुए.
मनमाना सर्विस टैक्स अनुचित
बैठक के दौरान, उपभोक्ताओं के सर्विस टैक्स से संबंधित मुद्दों को उठाया गया. चर्चा की गई सर्विस टैक्स की अनिवार्य रूप से वसूली, उपभोक्ताओं की सहमति के बिना सर्विस टैक्स को जोड़ना जैसे जैसे मुद्दे शामिल रहे. उपभोक्ता संगठनों ने देखा कि सेवा शुल्क लगाना पूरी तरह से मनमाना है और उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत अनुचित है.

 

सोने चांदी के कीमतों में आया बदलाव, देखे आज के भाव...

सोने चांदी के कीमतों में आया बदलाव, देखे आज के भाव...

मुंबई : वैश्विक बाजार में तेजी के बावजूद स्थानीय स्तर पर मांग फिसलने से आज घरेलू सर्राफा बाजार में सोना 163 रुपये प्रति दस ग्राम गिर गया जबकि चांदी में 149 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी रही।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना हाजिर 0.41 प्रतिशत चढ़कर 1844.59 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। वहीं, अमेरिकी सोना वायदा 0.15 प्रतिशत गिरकर 1839.90 डॉलर प्रति औंस पर रहा। इस दौरान चांदी हाजिर 1.74 प्रतिशत की तेजी लेकर 21.87 डॉलर प्रति औंस बोली गयी।

देश के सबसे बड़े वायदा बाजार एमसीएक्स में सोना 163 रुपये उतरकर 50684 रुपये प्रति दस ग्राम और सोना मिनी 142 रुपये टूटकर 50685 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रही। वहीं, इस दौरान चांदी 149 रुपये महंगी होकर 61274 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी मिनी 155 रुपये चढ़कर 61606 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गयी।
 

व्हाट्सएप्प ने दिया यूजर्स को जोरदार झटका, 16 लाख से ज्यादा अकाउंट्स किए बैन…

व्हाट्सएप्प ने दिया यूजर्स को जोरदार झटका, 16 लाख से ज्यादा अकाउंट्स किए बैन…

मुंबई : WhatsApp की मंथली डिसक्लोजर रिपोर्ट (Monthly Disclosure Report) के अनुसार मैसेजिंग प्लेटफॉर्म वॉट्सएप (WhatsApp) ने अप्रैल के महीने में भारतीय यूजर्स के 16 लाख से अधिक खातों को बैन कर दिया है। फेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेजिंग ऐप ने कहा कि कुल में से 122 खातों को यूजर्स की शिकायतों के आधार पर प्रतिबंधित कर दिया गया था, जबकि 16.66 लाख खातों को ऐप पर हानिकारक गतिविधि को रोकने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था।

WhatsApp की रिपोर्ट में कहा गया, ‘फेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेजिंग ऐप ने कहा कि कुल में से 122 अकाउंट्स को यूजर की शिकायतों के आधार पर प्रतिबंधित कर दिया गया था, जबकि 16.66 लाख खातों को ऐप पर हानिकारक गतिविधि को रोकने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था।’ वॉट्सएप फ्रेमवर्क के अनुसार, ऐप एक अकाउंट को तब बैन कर देता है जब उसे विश्वास हो जाता है कि यूजर गाली-गलौज कर रहा है।
रिपोर्ट में कहा गया है, ‘हमारा लक्ष्य जल्द से जल्द अब्यूसिव अकाउंट्स की पहचान करना और उन्हें रोकना है। यही वजह है कि इन अकाउंट्स को मैन्युअल रूप से पहचान करना मुमकिन नहीं है। इसलिए, हमारे पास उन्नत मशीन लर्निंग सिस्टम हैं जो दिन में 24 घंटे, सप्ताह में 7 दिन खातों पर प्रतिबंध लगाने के लिए कार्रवाई करती है।

कंपनी ने कहा कि वह कई मामलों में खाते पर प्रतिबंध लगाती है, जिसमें जब कोई खाता नकारात्मक प्रतिक्रिया जमा करता है, जैसे कि जब अन्य यूजर रिपोर्ट करता है तो अकाउंट को ब्लॉक कर दिया जाता है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि ऐप के सिस्टम खाते का मूल्यांकन करते हैं और नकारात्मक प्रतिक्रिया की रिपोर्ट के बाद उचित कार्रवाई करते हैं। इंस्टेंट मोबाइल मैसेजिंग फर्म “अत्यधिक प्रेरित दुर्व्यवहारियों” का पता लगाने और उन्हें प्लेटफॉर्म से प्रतिबंधित करने के लिए मशीन लर्निंग और अन्य टूल्स का उपयोग करती है।

 

सोना चांदी के कीमतों में आई भारी गिरावट, देखे आज के भाव...

सोना चांदी के कीमतों में आई भारी गिरावट, देखे आज के भाव...

मुंबई : विदेशी बाजार में कीमती धातुओं की चमक फीकी पडऩे के दबाव में आज घरेलू सर्राफा बाजार में सोना 235 रुपये प्रति दस ग्राम और चांदी 372 रुपये प्रति किलोग्राम गिर गई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना हाजिर 0.29 प्रतिशत टूटकर 1838.40 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। साथ ही अमेरिकी सोना वायदा 0.70 प्रतिशत गिरकर 1838.40 डॉलर प्रति औंस पर रहा। इसी तरह इस दौरान चांदी हाजिर 0.35 प्रतिशत की गिरावट लेकर 21.87 डॉलर प्रति औंस बोली गयी।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कीमती धातुओं में गिरावट का असर देश के सबसे बड़े वायदा बाजार एमसीएक्स में भी देखा गया। इस दौरान सोना 235 रुपये उतरकर 50859 रुपये प्रति दस ग्राम और सोना मिनी 215 रुपये टूटकर 50835 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रही। इसी तरह इस दौरान चांदी 372 रुपये सस्ती होकर 61510 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी मिनी 390 रुपये उतरकर 61798 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गयी।
 

बड़ी खबर : गैस सिलेंडर के दाम में 135 रुपये की हुई कटौती, आज जारी हुआ नया रेट

बड़ी खबर : गैस सिलेंडर के दाम में 135 रुपये की हुई कटौती, आज जारी हुआ नया रेट

नई दिल्ली | आज 1 जून को एलपीजी सिलेंडर के नए रेट जारी हो गए हैं और 19 किलो वाला कमर्शियल सिलेंडर के दाम में भारी कटौती हुई है. ये सिलेंडर आज से 135 रुपये सस्ता हो गया है. सरकारी पेट्रोलियम कंपनी इंडियन ऑयल ने कॉमर्शियल सिलेंडर के रेट में 135 रुपये की अच्छी खासी कटौती कर दी है जिसके बाद इंडेन सिलेंडर 135 रुपये सस्ता होकर दिल्ली में 2219 रुपये प्रति सिलेंडर के रेट पर मिलेगा.

घरेलू उपभोक्ताओं को नहीं मिली राहत
घरेलू उपभोक्ताओं यानी 14.2 KG वाला सिलेंडर इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को इस सिलेंडर पर आज कोई राहत नहीं मिली है. इसके रेट में कोई बदलाव नहीं हुआ है और ये 19 मई वाले रेट पर ही बरकरार है.

जानें आपके शहर में सिलेंडर के घटे दाम (19 KG)
दिल्ली में 2354 की जगह 2219 रुपये का मिलेगा
मुंबई में 2306 की जगह 2171.50 रुपये का मिलेगा
कोलकाता में 2454 की जगह 2322 रुपये का मिलेगा
चेन्नई में 2507 की जगह 2373 रुपये का मिलेगा

अप्रैल-मई में लगातार बढ़े थे दाम
कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में अप्रैल और मई में कई बार बढ़ोतरी हुई. मार्च में 19 किलोग्राम वाला जो सिलेंडर दिल्‍ली में 2012 रुपये का था वो 1 अप्रैल को 2253 रुपये पर आ गया. ठीक एक महीने पहले 1 मई को भी इसकी कीमतों में 102 रुपये का इजाफा हुआ. इसके बाद 19 किलोग्राम वाला कमर्शियल सिलेंडर 2354 रुपये पर आ गया.

रसोई गैस (LPG) के दाम मई में कई बार बढ़े-घटे
मई में घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम दो बार बढ़े जिसके तहत 7 मई को घरेलू एलपीजी 50 रुपये महंगी हुई थी, जबकि 19 मई को भी 3.50 रुपये का इजाफा किया गया था. जिसके बाद घरेलू एलपीजी 1000 रुपये से पार हो गई. 7 मई को कमर्शियल गैस सिलेंडर 10 रुपये सस्‍ता किया गया था, वहीं 19 मई को इसके रेट में 8 रुपये का इजाफा किया गया था.

खाद्य तेलों के थोक भाव में गिरावट तो इतने रुपये लीटर क्यों बिक रहा सरसों तेल....

खाद्य तेलों के थोक भाव में गिरावट तो इतने रुपये लीटर क्यों बिक रहा सरसों तेल....

नई दिल्ली : देशभर के तेल-तिलहन बाजारों में बीते हफ्ते सभी तेल-तिलहनों की थोक कीमतों में गिरावट दर्ज हुई। बाजार सूत्रों ने दावा किया कि खाद्य तेल-तिलहनों के थोक भाव में गिरावट आई है। यह पूछे जाने पर अगर गिरावट आई है, तो आम उपभोक्ताओं को 190-210 रुपये लीटर या उससे अधिक कीमत पर सरसों तेल क्यों मिल रहा है, सूत्रों ने कहा कि यह वास्तविकता है कि थोक भाव कम हुए हैं।

थोक विक्रेता आगे सप्लाई करने के लिए खुदरा कंपनियों को 152 रुपये लीटर (अधिभार सहित) के हिसाब से आपूर्ति कर रहे हैं। खाद्य तेल के एक प्रमुख ब्रांड ने शनिवार को 152 रुपये लीटर के भाव बिक्री की है, लेकिन खुदरा कंपनियां यदि इस कीमत में मनमानी वृद्धि कर रही हैं, तो सरकार को उसपर अंकुश लगाने के बारे में सोचना चाहिये। छापेमारी से कुछ हासिल नहीं होगा उल्टा इससे तेल कारोबार की सप्लाई चेन प्रभावित होगी। उन्होंने कहा कि छापेमारी के बजाय केवल बाजार में घूम-घूम कर खुदरा विक्रेता कंपनियों के अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) की जांच की जाये, तो समस्या की जड़ में पहुंचा जा सकेगा।

खुदरा में सरसों तेल अधिकतम 158-165 रुपये लीटर
सूत्रों ने कहा कि थोक बिक्री मूल्य के हिसाब से खुदरा में सरसों तेल अधिकतम 158-165 रुपये लीटर तथा सोयाबीन तेल अधिकतम 170-172 रुपये लीटर मिलना चाहिये। इस कीमत पर उपभोक्ताओं को खाद्य तेल आपूर्ति के लिए सरकार को यथासंभव प्रयास करना होगा।

सरसों दादरी तेल 200 रुपये टूटा
सूत्रों ने बताया कि पिछले सप्ताहांत के मुकाबले बीते सप्ताह सरसों दाने का भाव 100 रुपये टूटकर 7,415-7,465 रुपये प्रति च्ंिटल पर बंद हुआ। सरसों दादरी तेल 200 रुपये टूटकर समीक्षाधीन सप्ताहांत में 14,850 रुपये 
क्विंटल पर  बंद हुआ। वहीं सरसों पक्की घानी और कच्ची घानी तेल की कीमतें भी क्रमश: 30-30 रुपये की नुकसान के साथ क्रमश: 2,335-2,415 रुपये और 2,375-2,485 रुपये टिन (15 किलो) पर बंद हुईं।

 

सोयाबीन इंदौर में 250 रुपये की गिरावट
सूत्रों ने कहा कि समीक्षाधीन सप्ताह में सोयाबीन दाने और सोयाबीन लूज के थोक भाव क्रमश: 225-225 रुपये की गिरावट के साथ क्रमश: 6,800-6,900 रुपये और 6,500-6,600 रुपये प्रति च्ंिटल पर बंद हुए। गिरावट के आम रुख के अनुरूप समीक्षाधीन सप्ताह में सोयाबीन तेल कीमतें नुकसान के साथ बंद हुईं। सोयाबीन दिल्ली का थोक भाव 250 रुपये की नुकसान के साथ 16,400 रुपये, सोयाबीन इंदौर 250 रुपये की गिरावट 15,750 रुपये और सोयाबीन डीगम का भाव 450 रुपये की गिरावट के साथ 14,800 रुपये  क्विंटल पर प्रति बंद हुआ।

गिरावट के आम रुख के विपरीत मूंगफली तेल की निर्यात मांग के कारण पूर्व सप्ताहांत के बंद भाव के मुकाबले समीक्षाधीन सप्ताह में मूंगफली तेल-तिलहन के भाव लाभ दर्शाते बंद हुए। मूंगफली दाना तो अपने पूर्वस्तर पर बना रहा, जबकि मूंगफली तेल गुजरात 350 रुपये के सुधार 16,000 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड का भाव भी 45 रुपये सुधरकर 2,670-2,860 रुपये प्रति टिन पर बंद हुआ।

सीपीओ का भाव भी 350 रुपये टूटा
समीक्षाधीन सप्ताह में विदेशी बाजारों में अधिक कीमत होने और उसी के अनुरूप मांग कमजोर होने की वजह से कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का भाव भी 350 रुपये टूटकर 14,500 रुपये क्विंटल, पामोलीन दिल्ली का भाव 350 रुपये टूटकर 16,000 रुपये और पामोलीन कांडला का भाव 350 रुपये टूटकर 14,850 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। समीक्षाधीन सप्ताह में बिनौला तेल का भाव 300 रुपये टूटकर 14,950 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ।