कोरोना अपडेट 18 मई : छत्तीसगढ़ में बढ़ने लगे कोरोना के मामले, मिले इतने मरीज, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 17 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 16 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 15 मई : प्रदेश में आज 08 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, अब एक्टिव केस हुए इतने    |    कोरोना अपडेट 14 मई : प्रदेश में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची इतनी, आज प्रदेश में इतने नए मरीज की हुई पहचान, देखें आंकड़े    |    कोरोना अपडेट 13 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 12 मई : प्रदेश के इस जिले में मिलने लगे ज्यादा मरीज, अब एक्टिव मरीज हुए इतने, देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 11 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 10 मई : छत्तीसगढ़ में आज मिले इतने कोरोना संक्रमित मरीज , देखे जिलेवार आकड़ें...    |    कोरोना अपडेट 09 मई : छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के इतने मरीज, देखे कुल एक्टिव मरीजो की संख्या...    |
Hyundai की इन पॉपुलर गाड़ियों पर जबरदस्त डिस्काउंट, हाथ से निकल ना जाएं ये मौका

Hyundai की इन पॉपुलर गाड़ियों पर जबरदस्त डिस्काउंट, हाथ से निकल ना जाएं ये मौका

Hyundai ने अपनी कारों के कई मॉडल पर डिस्काउंट ऑफर दे रही है। कंपनी इस ऑफर में 50000 तक का डिस्काउंट दे रही है। यह ऑफर हालांकि कंपनी की सबसे ज्यादा बिकने वाली क्रेटा और अलकाजर, वेन्यू, टक्सन, एलांट्रा और हुंडई वरना जैसी कारों पर लागू नहीं है।

कंपनी Hyundai i20, Grand i10 Nios, Aura और Santro जैसी गाड़ियों पर यह डिस्काउंट और कई अन्य ऑफर दे रही हैं। यह ऑफर कैश डिस्काउंट, कॉर्पोरेट बैनिफिट या एक्सचेंज बोनस के तौर पर दे रही है। इस ऑफर का फायदा आप 28 फरवरी तक उठा सकते है।

Grand i10 Nios

Hyundai Grand i10 Nios पर आपको अधिकतम 48,000 का डिस्काउंट मिल सकता है। कार पेट्रोल, डीजल वेरिएंट और सीएनजी ट्रिम्स में आती है। इसमें मैनुअल और ऑटोमैटिक दोनों ट्रांसमिशन ऑप्शन मिलते है। ग्रैंड i10 Nios की कीमत 5.29 लाख से 8.51 लाख रुपए (एक्स-शोरूम) के बीच है।

Hyundai Santro

इसी तरह Hyundai Santro पर भी डिस्काउंट मिल रहा है। इस गाड़ी पर आपको 40,000 रुपए तक की छूट मिल सकती है लेकिन यह ऑफर पेट्रोल वेरिएंट पर है। सीएनजी मॉडल यह लागू नहीं है। Hyundai Santro एक 5-सीटर कार है जिसमें 5-स्पीड मैन्युअल और ऑटोमैटिक गियरबॉक्स हैं। Hyundai Santro की कीमत 4.86 लाख से 6.44 लाख रुपए (एक्स-शोरूम) के बीच है।

Hyundai i20

हैचबैक हुंडई i20 पर भी आपको इसी तरह डिस्काउंट मिल सकता है। यह छूट डीजल वेरिएंट पर लागू है और पेट्रोल मॉडल को इस ऑफर से बाहर रखा गया है। Hyundai i20 की कीमत 6.98 लाख से 11.47 लाख रुपए (एक्स-शोरूम) के बीच है।

SBI ग्राहकों के लिए जरूरी खबर: अगर आपके पास भी है खाता तो पढ़ें बैंक की ये सलाह

SBI ग्राहकों के लिए जरूरी खबर: अगर आपके पास भी है खाता तो पढ़ें बैंक की ये सलाह

अगर आप भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक हैं तो आपके लिए बेहद जरूरी खबर है। देश के सबसे बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए जरूरी सूचना दी है। बैंक ने अपने कस्टमर्स को आधार कार्ड और पैन लिंक करने की अपील की है। एसबीआई ने अपने खाताधारकों को 31 मार्च से पहले अपने पैन को आधार कार्ड से जोड़ने के लिए कहा है।
ग्राहकों को हो सकती है परेशानी
SBI ने कहा है कि अगर वे पैन-आधार लिंक कराने में विफल रहते हैं, तो उन्हें बैंकिंग सेवा का आनंद लेने में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। एसबीआई ने ट्वीट किया, 'हम अपने ग्राहकों को सलाह देते हैं कि वे किसी भी तरह की असुविधा से बचने के लिए अपने पैन को आधार से लिंक करें और निर्बाध बैंकिंग सेवा का आनंद लेते रहें। बैंक ने कहा कि समय सीमा तक आधार के साथ पैन नहीं जोड़े जाने पर यह अमान्य माना जाएगा। ट्वीट में आगे कहा गया है कि पैन को आधार से लिंक करना अनिवार्य है। यदि पैन और आधार लिंक नहीं हैं, तो पैन निष्क्रिय हो जाएगा और पैसे संबंधि लेनदेन में दिक्कतें आ सकती हैं।
पैन को आधार कार्ड से कैसे लिंक करें -
1. आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाएं।
2. लिंक आधार सेक्शन पर क्लिक करें।
3. अब अपना पैन नंबर, आधार नंबर और नाम भरें।
4. 'लिंक आधार' विकल्प पर क्लिक करें और आपका पैन आधार लिंकिंग पूरा हो जाएगा।
 

शेयर बाजार में गिरावट जारी, सेंसेक्स 600 और निफ्टी 180 अंक से अधिक लुढ़का

शेयर बाजार में गिरावट जारी, सेंसेक्स 600 और निफ्टी 180 अंक से अधिक लुढ़का

नई दिल्ली : शेयर बाजार एक बार फिर बड़ी गिरावट की ओर बढऩे लगा है। बाजार खुलने के चंद मिनटों बाद ही सेंसेक्स 644 अंकों की गिरावट के साथ 57188 के स्तर पर आ गया। वहीं, निफ्टी 185 अंक लुढ़क कर 17090 पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी 50 के केवल दो स्टॉक ही हरे निशान पर हैं। 9.15 बजे आज यानी सोमवार को भी शेयर बाजार में गिरावट जारी रही। बीएसई और एनएसई में कारोबार गिरावट के साथ शुरू हुआ। बीएसई का 30 स्टॉक्स पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 281 अंकों की गिरावट के साथ 57551 के स्तर पर खुला, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने कारोबार की शुरुआत 7,192.25 के स्तर से की।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में 222 अंकों की गिरावट के साथ 57610 के स्तर पर था तो निफ्टी 81 अंकों के नुकसान के साथ 17194 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी टॉप गेनर में डॉक्टर रेड्डी, एनटीपीसी, पावर ग्रिड, ओएनजीसी और इंडसइंड बैंक जैसे स्टॉक्स थे तो टॉप लूजर में एचडीएफसी लाइफ, टाटा कंज्यूमर, बाटा इंडिया, एचडीएफसी और विप्रो।

 

पेटीएम के लौटे अच्छे दिन, अब एक और एजेंसी ने पेटीएम को दी बाय रेटिंग

पेटीएम के लौटे अच्छे दिन, अब एक और एजेंसी ने पेटीएम को दी बाय रेटिंग

नई दिल्ली : घरेलू ब्रोकरेज और रिसर्च फर्म आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने पेटीएम स्टॉक पर बाय रेटिंग के साथ कवरेज शुरू किया है। पिछले साल नवंबर में पेटीएम के शेयर, शेयर बाजार में लिस्ट हुए थे। लिस्टिंग के बाद से कंपनी के शेयर अभी लगभग 48प्रतिशत नीचे हैं और 2022 में लगभग 39प्रतिशत की गिरावट आई है। मूल्यांकन संबंधी चिंताओं पर अच्छी राय न होने के कारण पेटीएम के शेयर लगातार दबाव में हैं।

पेटीएम के सामने चुनौतियां
ब्रोकरेज फर्म के एक नोट में कहा गया है- पेटीएम के मूल्यांकन और असेसमेंट के लिए काफी अलग और विशिष्ट रूप से कदम की आवश्यकता है। माजूदा समय में मैनेजमेंट की ग्रोथ प्लान के लिए महत्वपूर्ण निवेश की जरुरत होगी और काफी ज्यादा नकदी खर्च होने की संभावना है। हालांकि पेमेंट मामले में पेटीएम बाजार में बहुत मजबूत स्थिति रखता है लेकिन बिजऩेस मॉडल भी तेजी से बदल रहा है लेकिन वित्तीय सेवाओं के माध्यम से इसे मुद्रीकृत करना अभी प्रारंभिक चरण में है। यह क्षेत्र अत्यधिक प्रतिस्पर्धी होने के साथ स्विचिंग कॉस्ट कम है और गहरी जेब वाले प्लेयर आक्रामक रणनीति बना रहे हैं।

1,352 रुपए के लक्ष्य मूल्य के साथ बाय रेटिंग
पेटीएम शेयरों पर ब्रोकरेज की बाय रेटिंग 1,352 रुपए के लक्ष्य मूल्य के साथ है, यह लक्ष्य इसके मौजूदा स्तर से 64त्न से अधिक की संभावित वृद्धि का संकेत है। हालांकि, ब्रोकरेज के अनुसार, वित्तीय सेवाओं के कारोबार के माध्यम से अपेक्षित मुद्रीकरण और प्रतिकूल नियामक परिणाम प्रमुख जोखिम के रूप में कार्य करने के लिए हैं। इसके अलावा, कुछ अनुकूल पहलों के साथ नियामक अनिश्चितताएं और भुगतान साधनों पर शुल्क में संशोधन, डिजिटल उधार पर सतर्कता आदि सहित कुछ प्रतिकूल कारणों पर आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने जोर डाला है।

ब्लूमबर्ग के डेटा ने भी दिया था बाय का सुझाव
इस महीने की शुरुआत में, ब्लूमबर्ग के डेटा ने सुझाव दिया था कि पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड खरीदें। फरवरी के पहले सप्ताह में पेटीएम ने बिक्री रेटिंग को पीछे चोर दिया। विश्लेषकों की धारणा में बदलाव से उन निवेशकों को थोड़ा आराम मिल सकता है, जिन्होंने पेटीएम के शेयरों के लिस्ट होने के बाद से अपने मूल्य के आधे से अधिक की गिरावट देखी है। दिसंबर 2021 को समाप्त होने वाली तीसरी तिमाही के लिए, पेटीएम ने दिसंबर 2021 की तिमाही में 778.5 करोड़ रुपए का कंसोलिडेटेड घाटा दर्ज किया था जो एक साल पहले की तिमाही में 535.5 करोड़ रुपए था। हालांकि, परिचालन से इसका कंसोलिडेटेड राजस्व लगभग 88त्न बढ़कर 1,456 करोड़ रुपए हो गया, जो साल-दर-साल (ङ्घशङ्घ) पहले 772 करोड़ रुपए था।

 

15000 रुपये से अधिक बेसिक सैलरी वालों के लिए नई पेंशन योजना,  विचार कर रही मोदी सरकार

15000 रुपये से अधिक बेसिक सैलरी वालों के लिए नई पेंशन योजना, विचार कर रही मोदी सरकार

नई दिल्ली : संगठित क्षेत्र के 15,000 रुपये से अधिक का मूल वेतन पाने वाले तथा कर्मचारी पेंशन योजना-1995 (ईपीएस-95) के तहत अनिवार्य रूप से नहीं आने वाले कर्मचारियों के लिए एक नई पेंशन योजना लाने पर विचार कर रहा है। वर्तमान में संगठित क्षेत्र के वे कर्मचारी जिनका मूल वेतन (मूल वेतन और महंगाई भत्ता) 15,000 रुपये तक है, अनिवार्य रूप से ईपीएस-95 के तहत आते हैं। एक सूत्र के मुताबिक, पीएफओ के सदस्यों ने ऊंचे योगदान पर अधिक पेंशन की मांग की है। इस प्रकार उन लोगों के लिए एक नया पेंशन उत्पाद या योजना लाने के लिए सक्रिय रूप से विचार किया जा रहा है, जिनका मासिक मूल वेतन 15,000 रुपये से अधिक है।

सूत्र के अनुसार, इस नए पेंशन उत्पाद पर प्रस्ताव 11 और 12 मार्च को गुवाहाटी में ईपीएफओ के निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) की बैठक में आ सकता है। बैठक के दौरान सीबीटी की ओर से नवंबर, 2021 में पेंशन संबंधी मुद्दों पर गठित एक उप-समिति भी अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।

सूत्र ने बताया कि ऐसे ईपीएफओ अंशधारक हैं जिन्हें 15,000 रुपये से अधिक का मासिक मूल वेतन मिल रहा है, लेकिन वे ईपीएस-95 के तहत 8.33 प्रतिशत की कम दर से ही योगदान कर पाते हैं। इस तरह उन्हें कम पेंशन मिलती है। ईपीएफओ ने 2014 में मासिक पेंशन योग्य मूल वेतन को 15,000 रुपये तक सीमित करने के लिए योजना में संशोधन किया था। 15,000 रुपये की सीमा केवल सेवा में शामिल होने के समय लागू होती है। संगठित क्षेत्र में वेतन संशोधन और मूल्यवृद्धि की वजह से इसे एक सितंबर, 2014 से 6,500 रुपये से ऊपर संशोधित किया गया था।

बाद में मासिक मूल वेतन की सीमा को बढ़ाकर 25,000 रुपये करने की मांग हुई और उसपर विचार-विमर्श किया गया, लेकिन प्रस्ताव को मंजूरी नहीं मिल पाई। उद्योग के अनुमान के अनुसार, पेंशन योग्य वेतन बढ़ाने से संगठित क्षेत्र के 50 लाख और कर्मचारी ईपीएस-95 के दायरे में आ सकते हैं।

पूर्व श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने दिसंबर, 2016 में लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा था, कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1952 के तहत कवरेज के लिए वेतन सीमा 15,000 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 25,000 रुपये मासिक करने का प्रस्ताव ईपीएफओ ने पेश किया था, लेकिन इसपर कोई निर्णय नहीं हुआ।

सूत्र ने कहा कि उन लोगों के लिए एक नए पेंशन उत्पाद की आवश्यकता है जो या तो कम योगदान करने के लिए मजबूर हैं या जो इस योजना की सदस्यता नहीं ले सके हैं, क्योंकि सेवा में शामिल होने के समय उनका मासिक मूल वेतन 15,000 रुपये से अधिक था।

Today Gold-Silver Price : सोना-चांदी के आज गिरे भाव, जानें कितना कम हुआ गोल्ड-सिल्वर का रेट

Today Gold-Silver Price : सोना-चांदी के आज गिरे भाव, जानें कितना कम हुआ गोल्ड-सिल्वर का रेट

नई दिल्ली : तीन दिन लगातार सोने के भाव में तेजी के बाद आज सर्राफा बजारों में थोड़ी गिरावट नजर आ रही है। इंडिया बुलियंस एसोसिएशन द्वारा सोमवार को जारी हाजिर रेट के मुताबिक आज 24 कैरेट शुद्ध सोना शुक्रवार के बंद भाव के मुकाबले 34 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता होकर 49938 रुपये पर खुला । इस पर 3 फीसद जीएसटी जोड़ लिया जाय तो यह करीब 51436 रुपये बैठ रहा है। वहीं, चांदी 46 रुपये प्रति किलो की गिरावट के साथ 63461 रुपये पर आ गई है। जीएसटी जोडऩे के बाद यह 65364 रुपये प्रति किलो मिलेगी।

24 कैरेट सोना 99.99 फीसद शुद्ध होता है और इसमें कोई दूसरी धातु नहीं पाई जाती है। इसका रंग चमकदार पीला होता है। 24 कैरेट का सोना 22 या 18 कैरेट सोने से बहुत अधिक महंगा होता है। यह इतना मुलायम और लचीला होता है कि इससे गहने नहीं बनाए जा सकते। इसके अलावा 24 कैरेट गोल्ड का इस्तेमाल सिक्कों व बार बनाने और इलेक्ट्रॉनिक्स और मेडिकल डिवाइसेज में उपयोग किया जाता है।

Bank Holiday March: होली, शिवरात्रि समेत मार्च में पूरे 13 दिन बंद रहेंगे बैंक, फटाफट चेक कर लें छुट्टियों की पूरी लिस्ट

Bank Holiday March: होली, शिवरात्रि समेत मार्च में पूरे 13 दिन बंद रहेंगे बैंक, फटाफट चेक कर लें छुट्टियों की पूरी लिस्ट

मार्च महीने में त्योहारी की लंबी लाइन है तो अगर आपका बैंक जाने का प्लान है या फिर आप से जुड़ा कोई भी काम मार्च के महीने में करने वाले हैं तो उससे पहले बैंकिंग छुट्टियों की लिस्ट जरूर चेक कर लें. मार्च महीने में शिवरात्रि, होली जैसे कई त्योहार हैं, जिसकी वजह से मार्च में पूरे 13 दिन बैंकों में कामकाज नहीं होगा. 

13 दिन रहेगी छुट्टी
आरबीआई की ओर से बैंक की छुट्टियों की लिस्ट जारी की जाती है, जिसमें सभी महीने की छुट्टियों की डिटेल्स दी गई होती है. मार्च में 13 दिन की छुट्टियों में 4 रविवार भी शामिल हैं. इसके अलावा ये छुट्टियों की लिस्ट राज्य के हिसाब से हैं. 

RBI जारी करता है लिस्ट
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जनवरी महीने में ही पूरे साल की छुट्टियों की लिस्ट जारी कर देता है, जिससे कर्मचारियों और ग्राहकों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े. 

आइए चेक करें मार्च में छुट्टियों की लिस्ट
1
मार्च को महाशिवरात्रि की वजह से अगरतला, आइजोल, चेन्नई, गंगटोक, गुवाहाटी, इंफाल, कोलकाता, नई दिल्ली, पणजी, पटना और शिलांग को छोड़ अन्य स्थानों में बैंक बंद रहेंगे
3
मार्च को लोसार की वजह से गंगटोक में बैंक बंद रहेंगे.
4
मार्च चपचार कुट की वजह से आइजोल में बैंक बंद रहेंगे.
6
मार्च को रविवार की वजह से साप्ताहिक अवकाश है.
12
मार्च को शनिवार यानी महीने का दूसरा शनिवार है, जिसकी वजह से बैंक बंद रहेंगे.
13
मार्च को रविवार की वजह से बैंकों में काम नहीं होगा.
17
मार्च को होलिका दहन की वजह से देहरादून, कानपुर, लखनऊ और रांची में बैंक बंद हैं
18
मार्च को होली/धुलेटी/डोल जात्रा की वजह से बेंगलुरु, भुबनेश्वर, चेन्नई, इंफाल, कोच्चि, कोलकाता और तिरुवनंतपुरम को छोड़ अन्य स्थानों में बैंक बंद हैं.
19
मार्च को होली/याओसांग की वजह से भुबनेश्वर, इंफाल और पटना में बैंक बंद
20
मार्च को रविवार है. 
22
मार्च को बिहार दिवस की वजह से पटना में बैंक बंद हैं.
26
मार्च को शनिवार यानी महीने का चौथा शनिवार है
27
मार्च  को रविवार की वजह से बैंकों में काम नहीं होगा

 

Gold Silver Rate: 20 फरवरी को रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, बस्तर में सोना स्थिर, चांदी के दाम बढ़े

Gold Silver Rate: 20 फरवरी को रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, बस्तर में सोना स्थिर, चांदी के दाम बढ़े

रायपुर, छत्तीसगढ़ सर्राफा बजार में आज 20 फरवरी को सोना स्थिर है और चांदी के दाम बढ़े है. जबकि कल राज्य में 24 कैरेट गोल्ड के दामों में 100 रुपए और 22 कैरेट सोने के दामों में 100 रुपए प्रति 10 ग्राम महंगा हुआ था. वहीं एक किलोग्राम चांदी के दाम 100 रुपए महंगी हुई है. वहीं रायपुर में आज 24 कैरेट सोना 49730 रुपये पर बिक रहा है तो वहीं 22 कैरेट सोना 47370 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बिक रहा है. वहीं चांदी 68600 रुपये प्रति किलोग्राम की कीमतों पर बिक रही है.

बिलासपुर में 24 कैरेट सोना 49730 रुपये जबकि 22 कैरेट सोना 47370 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बिक रहा है. बिलासपुर में चांदी का भाव 68600 रुपये प्रति किलो पर बिक है. दुर्ग में 24 कैरेट सोना 49730 रुपये प्रति 10 ग्राम पर है जबकि 22 कैरेट सोना 47370 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी 68600 रुपये प्रति किलो पर बिक रहा है. बस्तर में 24 कैरेट सोना 49730 रुपये प्रति 10 ग्राम पर है, 22 कैरेट सोना 47370 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी 68600 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई है. 

Today Gold-silver Price : सोना 282 रुपए फिसला, चांदी 169 रुपए चमकी

Today Gold-silver Price : सोना 282 रुपए फिसला, चांदी 169 रुपए चमकी

मुंबई :  वैश्विक बाजार में पीली धातु के गिरने और सफेद धातु में तेजी के असर से आज घरेलू सर्राफा बाजार में सोना 282 रुपए प्रति दस ग्राम सस्ता हो गया जबकि चांदी 169 रुपए प्रति किलोग्राम महंगी हो गई।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोना हाजिर 0.05 प्रतिशत गिरकर 1896.40 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। साथ ही अमेरिकी सोना वायदा 0.21 प्रतिशत उतरकर 1896.80 डॉलर प्रति औंस रह गया। वहीं, इस दौरान चांदी हाजिर 0.55 प्रतिशत की तेजी लेकर 23.94 डॉलर प्रति औंस बोली गई।
वैश्विक बाजार के मिलेजुले रुख का असर देश के सबसे बड़े वायदा बाजार एमसीएक्स में देखा गया।

इस दौरान सोना 282 रुपये उतरकर 50110 रुपये प्रति दस ग्राम और सोना मिनी 232 रुपये सस्ता होकर 50045 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। इस दौरान चांदी 169 रुपये गिरकर 64030 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी मिनी 138 रुपये सस्ती होकर 64150 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई।
 

 1 लाख रुपये के बन गए 3 करोड़, 10 रुपये से कम के शेयरों का बड़ा धमाल

1 लाख रुपये के बन गए 3 करोड़, 10 रुपये से कम के शेयरों का बड़ा धमाल

 नई दिल्ली : 10 रुपये से कम कीमत वाले 2 शेयरों ने तगड़ा रिटर्न दिया है। जिस किसी ने इन दो शेयरों में पैसा लगाया, वो मालामाल हो गए हैं। यह अजंता फार्मा और नैटको फार्मा के शेयर हैं। शेयर बाजार में इन दोनों कंपनियों के स्टॉक का परफॉर्मेंस इतना दमदार रहा है कि 1 लाख रुपये लगाने वाले व्यक्ति आज की तारीख में करोड़पति बन गए हैं। इन शेयरों ने 29,000 फीसदी से ज्यादा रिटर्न लोगों को दिया है।

अजंता फार्मा के शेयर 6 मार्च 2009 को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में 6.71 रुपये पर थे। कंपनी के शेयर 17 फरवरी 2022 को 2008 रुपये के स्तर पर बंद हुए हैं। कंपनी के शेयरों ने 13 साल से कम में निवेशकों को 29,900 फीसदी के करीब रिटर्न दिया है। अगर किसी व्यक्ति ने 6 मार्च 2009 को कंपनी के शेयरों में 1 लाख रुपये लगाए होते और अपने निवेश को बनाए रखा होता तो मौजूदा समय में वह पैसा 2.99 करोड़ रुपये के करीब होता। कंपनी के शेयरों का 52 हफ्ते का हाई लेवल 2,435 रुपये है। वहीं, 52 हफ्ते का लो-लेवल 1,660 रुपये है।

 

डी-मार्ट के मालिक  ने आडवाणी होटल्स पर लगाया बड़ा दांव, 130 रुपये तक जा सकता है शेयर

डी-मार्ट के मालिक ने आडवाणी होटल्स पर लगाया बड़ा दांव, 130 रुपये तक जा सकता है शेयर

नई दिल्ली : दिग्गज इनवेस्टर और डी-मार्ट के मालिक राधाकिशन दमानी ने एक और स्टॉक पर दांव लगाया है। दमानी ने आडवाणी होटल्स एंड रिसॉर्ट्स (इंडिया) लिमिटेड को अपनी स्टॉक्स लिस्ट में जोड़ा है। हॉस्पिटैलिटी कंपनी ने एक्सचेंज को दी गई जानकारी में बताया है कि दिग्गज निवेशक राधाकिशन दमानी ने कंपनी के 23,93,490 शेयर खरीदे हैं, जो कि कंपनी की टोटल इश्यूड पेड-अप कैपिटल का 5.17 फीसदी है।आडवाणी होटल्स एंड रिसॉर्ट्स के शेयर बीएसई में फिलहाल 3.85 फीसदी की तेजी के साथ 97 रुपये के स्तर पर कारोबार कर रहे हैं।

शॉर्ट टर्म में 130 रुपये तक जा सकता है स्टॉक
राधाकिशन दमानी की तरह ही स्टॉक मार्केट एनालिस्ट्स भी आडवाणी होटल्स एंड रिसॉर्ट्स (इंडिया) लिमिटेड के शेयर पर बुलिश हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि शॉर्ट टर्म में यह हॉस्पिटैलिटी स्टॉक 130 रुपये तक जा सकता है। राधाकिशन दमानी ने अपनी इनवेस्टमेंट कंपनी के जरिए आडवाणी होटल्स एंड रिसॉर्ट्स में निवेश किया है। डिराइव इनवेस्टमेंट ने आडवाणी होटल्स एंड रिसॉर्ट्स के 23,93,490 शेयर खरीदे हैं।

Today Gold and Silver Price : सोना हुआ और महंगा, अब 10 ग्राम गोल्ड के लिए तैयार रखिए इतने रुपये

Today Gold and Silver Price : सोना हुआ और महंगा, अब 10 ग्राम गोल्ड के लिए तैयार रखिए इतने रुपये

नई दिल्ली  : सर्राफा बजारों में सोने-चांदी के भाव में बड़ा बदलाव नजर आ रहा है। इंडिया बुलियंस एसोसिएशन द्वारा शुक्रवार को जारी हाजिर रेट के मुताबिक आज 24 कैरेट शुद्ध सोना बंद भाव के मुकाबले 105 रुपये प्रति 10 ग्राम महंगा होकर 50219 रुपये पर खुला । इस पर जीएसटी जोड़ लिया जाय तो यह करीब 51720 रुपये बैठ रहा है। वहीं, चांदी 348 रुपये प्रति किलो की तेजी के साथ 64133 रुपये पर पहुंच गई है।

जीएसटी जोडऩे के बाद यह 66056 रुपये प्रति किलो मिलेगी।आज 22 कैरेट सोने का भाव 45996 रुपये प्रति 10 ग्राम पर खुला। 3 फीसद जीएसटी के साथ यह 47375 रुपये का पड़ेगा। इससे बने जेवरों पर मेकिंग चार्ज और ज्वैलर्स का मुनाफा अलग से है। वहीं, सबसे ज्यादा बिकने वाले 18 कैरेट गोल्ड की कीमत अब 37661 रुपये है। 3 फीसद जीएसटी के साथ यह 38790 रुपये प्रति 10 ग्राम का पड़ेगा।

जबकि, अब 14 कैरेट सोने का भाव 29375 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। जीएसटी के साथ यह 30256 रुपये प्रति 10 ग्राम पड़ेगा। अगर 23 कैरेट गोल्ड की बात करें तो आज यह 50013 रुपये प्रति 10 ग्राम की दर से खुला। इस पर भी 3 फीसद जीएसटी अलग से लगेगा यानी आपको मिलेगा 51513 रुपये के रेट से।

4 लाख से ज्यादा गाड़ियों में आई खराबी, इन लोगों पर होगा असर

4 लाख से ज्यादा गाड़ियों में आई खराबी, इन लोगों पर होगा असर

टेस्ला (Tesla) के लिए परेशानियां कम होती दिखाई नहीं दे रही है। अब 416 000 से अधिक टेस्ला कारों को ऑटोपायलट मोड़ से जुड़े अप्रत्याशित ब्रेकिंग रिपोर्ट पर राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात सुरक्षा प्रशासन (एनएचटीएसए) द्वारा जांच का सामना करना पड़ रहा है।
एनएचटीएसए ने कहा कि वह इस मामले की ऑफिशियल जांच शुरू कर रही है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक एजेंसी को पिछले 9 महीनों में इस मामले के बारे में 354 शिकायतें मिलने के बाद अमेरिका में 2021-2022 टेस्ला मॉडल 3 और मॉडल वाई गाड़ियों की जांच की जाएगी।
पहले भी आई खराबी
इससे पहले इसी महीने खबर आई थी जिसमें टेस्ला ने अमेरिका में अपनी 817000 से ज्यादा कारों को वापस रिकॉल करने की बात कही थी। इन गाड़ियों में स्टार्ट होने पर ड्राइवर के सीट बेल्ट नही पहने होने की स्थिती में वॉइस कमांड फीचर एक्टिवेट नही हो रहा था।
अमेरिका की राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात सुरक्षा प्रशासन (एनएचटीएसए) ने गुरुवार को कहा था कि टेस्ला का 2021-2022 मॉडल एस और मॉडल एक्स, 2017-2022 मॉडल 3, और 2020-2022 मॉडल वाई, मोटर व्हीकल सेफ्टी स्टैंडर्ड का पालन करने में विफल रहते हैं। टेस्ला इस समस्या के समाधान के लिए ओवर-द-एयर (ओटीए) सॉफ्टवेयर अपडेट करेगी।
टेस्ला (Tesla) ने एनएचटीएसए को बताया कि 31 जनवरी तक वह इस मुद्दे से संबंधित किसी भी दुर्घटना या चोट से अनजान थी। टेस्ला ने एनएचटीएसए के साथ जमा किए डाक्यूमेंट में कहा, साउथ कोरिया ऑटोमोबाइल टेस्टिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (कात्री) ने 6 जनवरी को इस मामले को लेलर टेस्ला को जानकारी दी थी।
 

Stock Market Today : शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 58200 के पार खुला

Stock Market Today : शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 58200 के पार खुला

नई दिल्ली : शेयर बाजार आज यानी बढ़त के साथ खुले। बीएसई का 30 स्टॉक्स पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 221 अंकों की बढ़त के साथ 58217 के स्तर पर खुला, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने कारोबार की शुरुआत 17,396 के स्तर से की। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में महिंद्रा एंड महिंद्रा, एलएंडटी, टाटा स्टील, टाइटन, एचडीएफसी, एनटीपीसी, पावरग्रिड, विप्रो, एशियन पेंट्स, टेक महिंद्रा, भारती एयरटेल जैसे स्टॉक हरे निशान पर थे।

 

कपड़े और जूते होंगे महंगे, जीएसटी की दरों में होगा सुधार

कपड़े और जूते होंगे महंगे, जीएसटी की दरों में होगा सुधार

नई दिल्ली : कपड़े और जूते खरीदने वाले उपभोक्ताओं को जल्द ही ज्यादा कीमत चुकानी पड़ सकती है। जीएसटी परिषद ने कपड़े और जूते उद्योग के इनवर्टेड शुल्क ढांचे में बदलाव की लंबे समय से चली आ रही मांग को स्वीकार कर लिया है। पहले इसे इस साल एक जनवरी से लागू किया जाना था लेकिन अब फरवरी के अंत या मार्च के पहले हफ्ते में जीएसटी परिषद की अगली बैठक के बाद इसे लागू किया जा सकता है। इसमें तैयार कपड़ों पर पांच की बजाय 12 फीसदी जीएसटी लगाने का प्रस्ताव है। हालांकि, दरों का खुलासा अभी नहीं किया गया है। साथ ही जीसटी दरों में भी बदलाव के भी कई प्रस्ताव हैं। मामले से जुड़े दो सूत्रों की इसकी जानकारी दी है।

कपड़ा और जूता उद्योग के कारोबारी लंबे समय से ढांचे में बदलाव की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि जूता बनाने के कच्चे माल पर 12 फीसदी जीएसटी है, जबकि तैयार उत्पादों पर जीएसटी दर पांच फीसदी है। इसी तरह तैयार कपड़े पर पांच फीसदी जीएसटी है। जबकि इसके धागे और अन्य कच्चे माल पर 18 फीसदी तक जीएसटी है। कारोबारी मांग कर रहे थे कि इस नुकसान की भरपाई के लिए कच्चे माल पर चुकाए शुल्क को वापस किया जाना चाहिए।

जीएसटी स्लैब पर मंत्रीसमूह देगा सलाह
जीएसटी ढांचे में मौजूदा पांच दरों को घटाकर तीन तक सीमित करने पर सुझाव के लिए मंत्रियों का समूह बनाया गया है। दो मंत्रालयों वाला समूह दरों में सुधारों का परीक्षण कर रहा है। यह समूह फरवरी के अंत या मार्च के पहले हफ्ते में अपनी रिपोर्ट परिषद को सौंपेगा, जिसमें दरों की संख्या घटाने को लेकर स्पष्ट सुझाव दिए जाएंगे। माना जा रहा है कि मंत्रीसमूह के सुझाव के बाद जीएसटी परिषद अपनी बैठक में उसपर विचार कर सकती है।

राज्यों को 2022 के बाद घाटे की भरपाई नहीं
सूत्रों का कहना है कि जीएसटी लागू होने से राज्यों को हो रहे नुकसान की भरपाई जून 2022 के बाद आगे नहीं बढऩे की उम्मीद है। एक जुलाई, 2017 को लागू जीएसटी एक्ट में कहा गया था कि जीएसटी लागू होने के बाद यदि राज्यों के जीएसटी में 14 फीसदी से कम वृद्धि होती है तो उन्हें अगले पांच साल तक इस नुकसान की भरपाई ऑटोमोबाइल और तंबाकु जैसे कई उत्पादों पर विशेष सेस लगाकर करने की इजाजत होगी। यह पांच साल की अवधि जून 2022 में पूरी हो रही है।

इनपुट क्रेडिट साल के अंत तक
निर्यात के लिए जीएसटी इनपुट क्रेडिट साल के अंत तक जारी रहेगी। राज्यों को क्षतिपूर्ति भरपाई के एवज में वसूले जाने वाले उपकर की अवधि भी करीब चार साल बढ़ा दी है। राज्यों को भरपाई के लिए केंद्र ने कर्ज लिया था। इसकी भरपाई मार्च, 2026 तक लग्जरी और हानिकारक उत्पादों पर उपकर के जरिये की जाएगी। सूत्रों का कहना है कि मार्च, 2026 तक सेस की वसूली से राज्यों द्वारा कोरोना काल में लिए गए कर्ज और ब्याज की भरपाई पर ही खर्च किया जाएगा।
 

Petrol Diesel Price Today : पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, जानें आपके शहर में क्या है  कीमत

Petrol Diesel Price Today : पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, जानें आपके शहर में क्या है कीमत

नई दिल्ली : घरेलू स्तर पर आज लगातार 105 दिन हो गए जब, पेट्रोल और डीजल के दाम में राहत रही। तात्कालिक तौर पर भले ही यह राहत दिख रही हो, लेकिन चुनाव बाद पेट्रोल-डीजल के दाम में करीब 15 रुपये की बढ़ोतरी की आशंका जताई जा रही है। एक दिसंबर 2021 को कच्चे तेल का दाम 69 डॉलर प्रति बैरल था, लेकिन तब से लेकर अब तक कच्चा तेल 24 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा महंगा हो गया है। इतना ही नहीं, आगे भी इसमें तेजी जारी रह सकती है। ऐसे में आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 15 रुपए तक की बढ़ोतरी हो सकती है।

भारत में पेट्रोल-डीजल के नए रेट रोजाना की तरह आज भी सुबह 6 बजे जारी हो गए। पांच राज्यों में हो रहे चुनाव के कारण बुधवार सुबह आईओसी द्वारा जारी पेट्रोल-डीजल के रेट में कोई बदलाव नहीं हुआ है। वह भी तब जब, यूक्रेन-रूस के बीच जंग की आशंकाओं के बीच क्रूड ऑयल 2014 के बाद पहली बार 100 डॉलर प्रति बैरल की तरफ पहुंच चुका है।

सेकेंडहैंड कारों में एसयूवी सबसे पसंदीदा ब्रांड बनी

सेकेंडहैंड कारों में एसयूवी सबसे पसंदीदा ब्रांड बनी

नई दिल्ली : कोरोना महामारी के दौरान अधिक खर्च न कर पाने की विवशता और ईंधनों की आसमान छूती कीमत ने सेकेंड हैंड वाहनों के उपयोग के लिए ग्राहकों को प्रेरित किया और इस बाजार में खरीददारों के बीच स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहन (एसयूवी) सबसे पसंदीदा ब्रांड बनकर उभरा है।
ऑनलाइन ऑटोमोबाइल मार्केटप्लेस ड्रूम की मंगलवार को वर्ष 2021 के लिए जारी वार्षिक ट्रेंड रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना महामारी ने खरीददारों की प्राथमिकताओं में भारी बदलाव किया है। इस दौरान लोगों ने निजी कार की जगह सार्वजनिक परिवहन और राइडशेयरिंग के विकल्प को अधिक चुना है।

कंपनी के लिए दिल्ली, जयपुर, मुंबई और हैदराबाद वर्ष 2021 में लेनदेन के लिए सबसे बड़े बाजार के रूप में उभरे हैं।
रिपोर्ट के अनुसार, ग्राहकों के लिए एसयूवी सबसे पसंदीदा श्रेणी के रूप में उभरा है। एसयूवी सेगमेंट में चार्ट हुंडई क्रेटा शीर्ष पर है। इसके बाद मारुति सुजुकी की विटारा ब्रेजा और टोयोटा फॉर्च्यूनर हैं। दुपहिया वाहनों में बजाज की पल्सर शीर्ष वरीयता के रूप में उभरा। इसके बाद टीवीएस अपाचे आरटीआर, बजाज पल्सर एनएस और बजाज एवेंजर हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि लग्जरी वाहन सेगमेंट में बीएमडब्ल्यू5 सीरीज और मर्सिडीज बेंज सी क्लास के बाद मर्सिडीज बेंज ई-क्लास सबसे पसंदीदा लग्जरी कार बन गई। वहीं, दुपहिया वाहनों की श्रेणी में हार्ले डेविडसन स्ट्रीट ने कावासाकी निंजा और रॉयल एनफील्ड इंटरसेप्टर के बाद सर्वश्रेष्ठ स्कोर किया है।

रिपोर्ट के अनुसार, चार-पांच साल पुरानी कारों को खरीददारों ने सबसे अधिक पसंद किया वहीं दुपहिया वाहनों छह से सात साल पुराने वाहनों को प्राथमिकता दी गई। ईंधन की कीमतों में तेजी को ध्यान में रखते हुए वर्ष 2021 में 59 प्रतिशत ग्राहकों ने डीजल और 39 प्रतिशत ने पेट्रोल से चलने वाले वाहनों को तरजीह दी है।

ड्रूम के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप अग्रवाल ने कहा, ई-कॉमर्स भारत में पूरे ऑटोमोबाइल बाजार का केवल दो प्रतिशत है और हम अपनी नई तकनीक के माध्यम से क्षमता उत्पन्न करने में विश्वास करते हैं। कोई भौतिक स्टोर नहीं होने के बाजवूद समय पर इन्वेंट्री बिजनेस मॉडल हमें ऑटोमोबाइल उद्योग में स्थापित करता है। वर्ष 2021 में व्यवसाय के लिए कोविड महामारी के दौरान रिकवरी का वर्ष साबित हुआ है। यह वर्ष ऑटोमोबाइल बाजार के लिए विकास की अपार संभावनाओं वाला रहा, जिसमें अधिक खरीददार और विक्रेताओं ने ऑनलाइन जाने का विकल्प चुना है।

 

Today Gold-Silver Price :  सोना 586 और चांदी 1549 रुपये लुढ़की

Today Gold-Silver Price : सोना 586 और चांदी 1549 रुपये लुढ़की

मुंबई : रूस और यूक्रेन के बीच तनाव कम होने के संकेत से वैश्विक बाजार में कीमती धातुओं में आई भारी गिरावट के दबाव में आज घरेलू सर्राफा बाजार में सोना 586 रुपये प्रति दस ग्राम और चांदी 1549 रुपये प्रति किलोग्राम लुढ़क गई। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोना हाजिर 1.03 प्रतिशत लुढ़ककर 1851.07 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। साथ ही अमेरिकी सोना वायदा 0.77 प्रतिशत की बड़ी गिरावट लेकर 1853.70 डॉलर प्रति औंस रह गया। इसी तरह इस दौरान चांदी हाजिर 2.90 प्रतिशत टूटकर 23.14 डॉलर प्रति औंस बोली गई।

वैश्विक बाजार की भारी गिरावट का असर देश के सबसे बड़े वायदा बाजार एमसीएक्स में देखा गया। इस दौरान सोना 586 रुपये गिरकर 49330 रुपये प्रति दस ग्राम और सोना मिनी 545 रुपये कमजोर होकर 49282 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। इस दौरान चांदी 1549 रुपये लुढ़ककर 62684 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी मिनी 1505 रुपये उतरकर 62890 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई।

विश्लेषकों के अनुसार, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने सुझाव दिया कि तनाव कम करने के लिए मास्को को राजनयिक प्रयास जारी रखना चाहिए। साथ ही रूस के रक्षा मंत्रालय के हवाले से कहा गया है कि यूक्रेन सीमा पर तैनात कुछ सैनिक अपने कैंप में लौट रहे हैं। इससे कीमती धातुओं पर दबाव बना है।

 

21kmpl की जबरदस्त माइलेज और 9 लाख से भी कम कीमत के साथ Kia Carens भारत में हुई लॉन्च

21kmpl की जबरदस्त माइलेज और 9 लाख से भी कम कीमत के साथ Kia Carens भारत में हुई लॉन्च

Kia Carens भारत में लॉन्च हो गई है। किआ का यह भारत में सेल्टोस, कार्निवल और सॉनेट के बाद चौथा प्रोडेक्ट है। कंपनी को लगभग एक महीने इसकी 19000 से अधिक बुकिंग मिल चुकी है। कैरेंस को भारत में अनंतपुर स्थित फैक्ट्री में बनाया गया है। कंपनी का प्लान इसे भारत में बनाकर विदेशी बाजारों में एक्सपोर्ट करने का भी है।

फीचर्स

कैरेंस कई जबरदस्त फीचर्स से लैस है। इसमें 10.25-इंच एचडी टचस्क्रीन डिस्प्ले, डिजिटल ड्राइवर डिस्प्ले, बोस साउंड सिस्टम, एयर प्यूरिफायर, वैंटिलेटिड फ्रंड सीट और सनरूफ दिया गया हैं। इसके साथ ही सेफ्टी के लिहाज से इसमें व्हीकल स्टेबिलिटी मैनेजमेंट, रियर पार्किंग सेंसर, डाउनहिल ब्रेकिंग कंट्रोल, ऑल-व्हील डिस्क ब्रेक, ब्रेक असिस्ट भी आता हैं। किआ ने कैरेंस को छह और सात सीटों वाले लेआउट के साथ पेश किया है।

इंजन

Kia Carens तीन इंजन ऑप्शन के साथ आती है। इसमें 1.5-लीटर नैचुरली एस्पिरेटेड पेट्रोल मोटर, 1.4-लीटर टर्बो पेट्रोल यूनिट और 1.5-लीटर डीजल इंजन शामिल है। इसका 1.5 लीटर चार-सिलेंडर पेट्रोल इंजन 115hp की पॉवर और 144Nm का टार्क जनरेट करता है, साथ ही 1.4 लीटर, चार-सिलेंडर, टर्बोचार्ज्ड इंजन 140hp की पॉवर और 242Nm का टार्क जनरेट करता है। डीजल इंजन 1.5-लीटर, चार-सिलेंडर 115hp की पॉवर और 250Nm का पीक टॉर्क जनरेट करता है।

माइलेज

Kia Carens पेट्रोल में 16.5 किमी/लीटर और डीजल में 21.3 किमी/लीटर की माइलेज देगी। इसे पांच ट्रिम वैरिएंट प्रीमियम, प्रेस्टीज, प्रेस्टीज प्लस, लग्जरी और लग्जरी प्लस, कई पावरट्रेन और बैठने के ऑप्शन के साथ लाया गया है।

कीमत

Kia Carens को 8.99 लाख (एक्स शोरूम) रुपए की शुरुआती कीमत पर लॉन्च किया गया है। वहीं इसके टॉप-ऑफ-द-लाइन वेरिएंट की कीमत 16.19 लाख (एक्स शोरूम) तक जाती है।

 

अच्छी खबर : महंगाई से लोगों को मिलेगी राहत, सस्ते होंगे यहाँ खाद्य वस्तुऐ....

अच्छी खबर : महंगाई से लोगों को मिलेगी राहत, सस्ते होंगे यहाँ खाद्य वस्तुऐ....

नई दिल्ली : खाने-पीने की बढ़ती कीमतों पर एक अच्छी खबर है, महंगाई से रहत देने के लिए सरकार ने दालों और पाम ऑयल पर इम्पोर्ट ड्यूटी में कटौती की घोषणा की है। खाद्य मुद्रास्फीति पर काबू पाने की कोशिशों के तहत सरकार ने ऑस्ट्रेलिया और कनाडा से आने वाली दाल पर आयात शुल्क शून्य कर दिया है और अमेरिका से आने वाली दाल पर शुल्क 30त्न से घटाकर 22त्न कर दिया है। सरकार ने कच्चे पाम तेल पर भी सेस को 7.5प्रतिशत से घटाकर 5प्रतिशत कर दिया है। हालांकि, मूंग के आयात के लिए विंडो को करीब दो महीने के लिए बंद करने के अचानक फैसले ने उद्योग को चौंका दिया है, जो पहले से ही आयात कॉन्ट्रैक्ट कर चुके हैं।


नवंबर में थोड़ी गिरावट के बाद कुकिंग ऑयल की कीमतें भी बढ़ रही हैं। सरसों के तेल की कीमतें अपने पहले के उच्चतम स्तर 175 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई हैं। 13 फरवरी से आयातित पाम तेल पर शुल्क में कटौती के निर्णय से घरेलू रिफाइनिंग में 60त्न की वृद्धि होने की उम्मीद है क्योंकि कच्चे पाम तेल और रिफाइंड पाम तेल के बीच शुल्क अंतर 5.5त्न से बढ़ाकर 8.25त्न कर दिया गया है।


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कंसल्टिंग फर्म सनविन ग्रुप के सीईओ संदीप बाजोरिया का कहना है, नवंबर तक घरेलू खाद्य तेल की कीमतों में लगभग 10त्न से 12त्न की गिरावट आई थी। हालांकि, भू-राजनीतिक तनाव, इंडोनेशिया के पाम तेल निर्यात नीति में बदलाव और दक्षिण अमेरिका में सोयाबीन की फसल को लेकर चिंताओं से कीमतों में फिर से तेजी आने लगी है।


उद्योग को उम्मीद है कि कच्चे और रिफाइंड पाम तेल के आयात का मौजूदा अनुपात क्रमश: 50:50 है, जो अब कच्चे पाम तेल के पक्ष में बदल जाएगा। मौजूदा समय में दाल की घरेलू कीमतें 70-73 रुपए प्रति किलोग्राम पर चल रही हैं, जबकि न्यूनतम समर्थन मूल्य 64 रुपए प्रति किलोग्राम है। हालांकि रबी की अच्छी दाल की फसल की कटाई इसी महीने शुरू हो गई है, ऐसे में व्यापारी शुल्क में कटौती के समय को लेकर हैरान हैं। सरकार के इस कदम से आम जनता को कीमतों के मुद्दे पर राहत मिलने की उम्मीद है।