कोरोना अपडेट: प्रदेश में आज 12665 ने जीती कोरोना से जंग, कुल 6577 नए मरीज मिले 149 मृत्यु भी, देखे जिलेवार आकड़े    |    लॉन्च हुई 2डीजी दवा, कोरोना संक्रमण से जंग में कैसे करेगी मदद? जानिए सब कुछ    |    आईसीएमआर अपडेट : राज्य में मिले 5294 कोरोना पॉजिटिव, 21 जिलों में सौ से अधिक मिले मरीज, देखे जिलेवार आकड़े    |    सेक्स रैकेट : पुलिस ने छापा मारकर देह व्यपार का किया खुलासा, मौके से दो युवक और दो युवती गिरफ्तार    |    दो पक्षों के बीच विवाद में गोली लगने से एक महिला की मौत, तीन अन्य घायल    |    चक्रवाती तूफान तौकते हुआ विनाशकारी, 5 राज्यों में अब तक 11 लोगों की मौत    |    बड़ी खबर: जानिए आखिर किस मामले में सीबीआई ने 4 नेताओं को किया गिरफ्तार    |    ममता बनर्जी के मंत्रियों-नेताओं पर सीबीआई ने कसा शिंकजा, यहां जानें क्या है मामला    |    रक्षा मंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लॉन्च की कोरोना की स्वदेशी दवा 2DG    |    कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटों में 2 लाख 81 हजार नए मामले आए, 4106 लोगों की हुई मौत    |
सरकार पर आरोप लगाने झूठा बयान देकर कौशिक राज्य की छवि को कर रहे है खराब - कांग्रेस

सरकार पर आरोप लगाने झूठा बयान देकर कौशिक राज्य की छवि को कर रहे है खराब - कांग्रेस

रायपुर, नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक राज्य सरकार पर सिर्फ आरोप लगाने के लिये गलत बयानी कर राज्य की छवि खराब कर रहे है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने बयान दिया है कि एनसीआरबी के 2020 के जारी आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ बलात्कार के मामलों में देश में चौथे स्थान पर है जबकि एनसीआरबी 2020 के आपराधिक आंकड़ों को अभी तक जारी ही नहीं किया है। 2019 के एनसीआरबी के आंकड़ों में भी छत्तीसगढ़ अपराधों के मामलों में चौथे स्थान पर नहीं है। इस वर्ष भी छत्तीसगढ़ महिलाओं के प्रति अपराधों में देश में 12वें क्रम पर है। राष्ट्रीय क्राईम रिकार्ड ब्यूरों के आंकड़ों के तुलनात्मक अध्ययन में भी छत्तीसगढ़ पिछले तीन वर्ष (16,17,18) जब राज्य में भाजपा की सरकार थी कि अपेक्षा अपराधों में कमी आई है। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य के नागरिकों विशेष कर महिलाओं को भय मुक्त जीवन जीने का वातावरण देने को प्राथमिकता में रखा। यही कारण है कि राज्य में अपराधों और महिला अत्याचार की घटनाओं में कमी आयी। सरकार की कानून व्यवस्था के प्रति मुस्तैदी का ही परिणाम है कि राज्य में नक्सल जैसे घटनाओ में भी कमी आयी है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि रेप जैसे शर्मनाक अपराध के मामले में राज्य के संबंध में गलत आंकड़े देकर नेता प्रतिपक्ष ने राज्य की छवि खराब करने का प्रयास किया है। इस गलत बयानी के लिये वे राज्य की जनता से माफी मांगे।
 

भारतीय जनता पार्टी रायपुर जिला मना रहा प्रशिक्षण पखवाड़ा, 10 सत्रों में कार्यकर्ताओं को देश के इतिहास से लेकर वर्तमान तकनीक तक का होगा प्रशिक्षण

भारतीय जनता पार्टी रायपुर जिला मना रहा प्रशिक्षण पखवाड़ा, 10 सत्रों में कार्यकर्ताओं को देश के इतिहास से लेकर वर्तमान तकनीक तक का होगा प्रशिक्षण

रायपुर, भारतीय जनता पार्टी द्वारा 19 दिसंबर से 27 दिसंबर तक रायपुर जिला अंतर्गत चारों विधानसभाओं के कार्यकर्ताओं का मंडल स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया है।
19 और 20 दिसंबर को रायपुर उत्तर विधानसभा का ,21 और 22 दिसंबर को रायपुर ग्रामीण विधानसभा का, 26 और 27 दिसंबर को रायपुर दक्षिण विधानसभा का प्रशिक्षण एकात्म परिसर भाजपा कार्यालय में तथा 26 और 27 दिसंबर को को रायपुर पश्चिम का प्रशिक्षण मोहन मैरिज पैलेस टाटीबंध में रखा गया है।
19 दिसंबर को आयोजित उत्तर विधानसभा के प्रशिक्षण वर्ग का उद्घाटन भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह करेंगे । उद्घाटन सत्र को पूर्व मंत्री व भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत व जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी जी संबोधित करेंगे।

भाजपा रायपुर जिला मीडिया प्रभारी अनुराग अग्रवाल व प्रचार मंत्री राजीव मिश्रा ने विज्ञप्ति जारी कर बताया की 10 सत्रों में आयोजित दो दिनी प्रशिक्षण वर्ग में भाजपा की विचारधारा , राज्य के विकास में भाजपा की भूमिका ,आत्मनिर्भर भारत का संकल्प के साथ साथ कार्यकर्ताओं के व्यक्तित्व विकास व वर्तमान परिदृश्य में कदम ताल मिलाने के लिए सोशल मीडिया के उपयोग आदि विषयों पर विभिन्न विशेषज्ञ द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा ।


 

दो वर्ष के कार्यकाल में दिखी सरकार की संवेदनशीलता : मोहम्मद असलम

दो वर्ष के कार्यकाल में दिखी सरकार की संवेदनशीलता : मोहम्मद असलम

रायपुर | प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में अपने दो साल के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने जनता की अपेक्षाओं में खरा उतरकर एक जिम्मेदार और संवेदनशील सरकार होने का परिचय दिया है। मुख्यमंत्री ने सेवाभाव और गंभीरतापूर्वक अपने निर्णयों और योजनाओं से लोकहित, जन सुविधा और विकास को गति देने का काम किया है। दो वर्ष के शुरुआती कार्यकाल में ही उन्होंने अपने ज्यादा चुनावी वादों को भी धरातल पर उतार कर दायित्व निर्वहन और प्रतिबद्धता को भी प्रदर्शित किया है। भूपेश सरकार लोगों के हित में निर्णय लेकर राज्य में समाज के कमजोर लोगों, आदिवासियों, किसानों, श्रमिकों के कल्याण तथा उनकी आर्थिक स्थिति बेहतर बनाने का लगातार प्रयास कर रही है। 


प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कांग्रेस सरकार के दो वर्ष पूरे होने के अवसर पर जारी बयान में कहा कि भूपेश बघेल ने 17 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही किसानों से 2500 रू. प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी के अपने वायदे को पूरा किया। वर्षों से लंबित 17 लाख 82 हजार किसानों का 8 हजार 755 करोड़ रू. का कृषि ऋण और 244 करोड़ रू. का सिंचाई कर माफ किया। ग्राम सुराजी योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरवा, बारी के माध्यम से गांवों की अर्थव्यवस्था और पर्यावरण को नया जीवन देने की पहल की। बस्तर के लोहंडीगुड़ा में 1700 से अधिक आदिवासी किसानों की 4200 एकड़ जमीन लौटाया गया। तेन्दूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक 2500 रू. प्रति मानक बोरा से बढ़ा कर 4000 रू. प्रति मानक बोरा किया गया। राजीव गांधी जी के शहादत दिवस पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू कर किसानों के खातों में 1500 करोड़ रूपए अंतरित किए जा रहे हैं जिसकी चौथी किश्त मार्च 2021 तक अंतरित करने की भी घोषणा की गई है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य में 19 लाख से अधिक किसानों को संबल मिला है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की दूरदर्शी सोच से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने नरवा, गरवा, घुरवा, बारी का जो उन्होंने खाका बुना था अब वह धरातल पर सफलतापूर्वक साकार होता दिखाई देने लगा है। प्रदेश में 5600 गौठान स्वीकृत होने के साथ 5454 पूर्ण हो चुके हैं। इन गौठानों में रोजगार के अवसर तो बने ही, साथ ही यहां तैयार जैविक खाद और इसकी उपयोगिता ने गोबर की महत्ता को भी बढ़ाया है। देश में एक अलग तरह की योजना गोधन न्याय योजना की शुरूआत भी इन्हीं उपयोगिताओं और महत्व का परिणाम है। किसानों से 2 रुपए प्रति किलो गोबर खरीदकर छत्तीसगढ़ सरकार ने एक नये अध्याय की शुरूआत की है। गोधन न्याय योजना ने देश भर में प्रशंसा बटोरी है। इस योजना में गोबर बेचने वाले किसानों, पशुपालकों एवं ग्रामीणों को अब तक 39 करोड़ रूपए का भुगतान भी ऑनलाइन किया जा चुका है। निश्चित ही इन प्रयासों से ग्रामीण अर्थव्यवस्था संवरने के साथ पर्यावरण संतुलन को बेहतर बनाने में मदद मिली है। कोरोना संक्रमण काल में लॉकडाउन के दौरान भी प्रदेश के मुख्यमंत्री गरीबों के मसीहा बने। उन्होंने इस संकटकाल में राशन कार्डधारियों सहित प्रवासी मजदूर परिवारों के लिए खाद्यान्न की व्यवस्था कराई। जरूरतमंदों को निःशुल्क खाद्यान्न देने के साथ आंगनबाड़ी, स्कूल से जुड़े बच्चों को सूखा अनाज घर-घर तक देने का काम किया। मनरेगा के तहत काम और समय पर मजदूरी भुगतान, लघु वनोपज संग्रहण के लिए पारिश्रमिक देने में भी छत्तीसगढ़ अव्वल रहा है।

छत्तीसगढ़ की एक तिहाई जनसंख्या अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों की है। सरकार द्वारा इन वर्गों का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। अनुसूचित जनजाति और अन्य परंपरागत वन निवासी को वन अधिकार मान्यता पत्र देकर आदिवासियों के सांस्कृति एवं पारम्परिक विरासतों को सहेजने और पर्यावरण संतुलन को स्थापित रखने में भी कदम उठाया गया है। छत्तीसगढ़ राज्य सबसे अधिक वन अधिकार पत्र देने वाला राज्य भी बन गया है। प्रदेश में 12.50 लाख वन क्षेत्र के निवासी है, जो तेंदूपत्ता संग्रहण करते हैं। ऐसे संग्राहकों के लिए शहीद महेन्द्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना लागू कर सुरक्षा लागू की गई है। हाट-बाजार क्लीनिक और शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के साथ दाई-दीदी क्लीनिक के माध्यम से लोगों को निःशुल्क स्वास्थ्य सेवा पहुंचाई जा रही है। दिल्ली की मोहल्ला क्लीनिक तर्ज पर राज्य के शहरी क्षेत्रों के मोहल्लों एवं वार्डों में सहज रूप से स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से इंदिरा डायग्नोस्टिक सेंटर और नागरिक सेवाओं की घर पहुंच सेवा जैसे कार्यों के लिए नई योजनाएं प्रारंभ की जा रही है। राज्य के बड़े शहरों में लोगों की भागम-भाग जीवन शैली को देखते हुए उनके आम समस्याओं के निराकरण के लिए मुख्यमंत्री वार्ड कार्यालय प्रारंभ किए गए हैं। इन कार्यालयों के माध्यम से  साफ-सफाई, निर्माण कार्य, स्ट्रीट लाइट, स्वच्छ पेयजल आदि समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। अब तक 14 नगर निगमों में 101 मुख्यमंत्री वार्ड कार्यालय संचालित किए जा रहे हैं। शहरी क्षेत्रों में परंपरागत रूप से विभिन्न सेवाएं देने वाले लोग वर्षों से उपेक्षित रहे हैं। उन्हें भी राहत दी गई है। उनके जीवन यापन को सरल बनाने के लिए पौनी पसारी योजना में उनके व्यवसाय के लिए चबूतरा बनाए गए हैं। योजना में 79 नगरीय निकायों में 31 करोड़ 37 लाख रूपए की लागत से 122 बाजारों का निर्माण किया जा रहा है। शहरों में मवेशी के कारण होने वाली दुर्घटना को रोकने के लिए नगरों में भी गौठान बनाए जा रहे हैं और गोधन न्याय योजना में मवेशियों के गोबर क्रय करने की व्यवस्था की गई है। इसे मिशन क्लीन सिटी कार्यक्रम से भी जोड़ दिया गया है। इस योजना के तहत एसएलआरएम सेंटर का उन्नयन करते हुए 377 गोधन न्याय सह गोबर खरीदी केंद्र घोषित किया गया है। घर-घर कचरा संग्रहण और इन कचरो का उपयोग खाद बनाने में किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ ओडीएफ प्लस-प्लस के रूप में देश में पहले स्थान बना पाने में उल्लेखनीय सफलता हासिल की हैं।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कहा कि शहरी गरीब परिवारों को भी नई सरकार द्वारा उनके काबिज भूमि का पट्टा तथा वर्षों से मिले पट्टों को फ्रीहोल्ड कर मालिकाना हक दिया जा रहा है। नए मालिकाना हक में एक नवंबर  2018 के पहले काबिज शहरी गरीबों को 30 साल का पट्टा दिया जा रहा है इससे गरीब परिवारों की खुशहाली का माहौल है। इन परिवारों को 600 सौ से एक हजार वर्गफीट का मालिकाना हक मिल रहा है। पट्टाधारी के पट्टे के मूल क्षेत्रफल से 50 प्रतिशत अधिक क्षेत्रफल तक काबिज भूमि का नियमितीकरण भी किया जा रहा है। शहरी गरीब और मजदूरों के लिए उनके चौखट पर ही स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए नए कलेवर में मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना संचालित की जा रही है। प्रथम चरण में सभी 14 नगर निगमों में 70 मोबाइल मेडिकल यूनिट एंबुलेंस के जरिए डॉक्टर का दल अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा है। इस योजना में आम नागरिकों को मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा मेडिकल कैंप के माध्यम से मुफ्त में परामर्श, उपचार, दवाइयां एवं दिनोंदिन होने वाले टेस्ट की सुविधा प्रदान की जा रही है। दो वर्ष के अल्प कार्यकाल में छत्तीसगढ़ सरकार का समाज के सभी वर्गों के कल्याण एवं गांवों में खुशहाली लाने और लोगों को स्वावलंबी बनाने का प्रयास सराहनीय है।
 रमन-धरम ने प्रदेश भाजपा को अपनी निजी जागीरदारी बना डाली है- विकास तिवारी

रमन-धरम ने प्रदेश भाजपा को अपनी निजी जागीरदारी बना डाली है- विकास तिवारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने प्रदेश भाजपा के संस्थापकों में से एक स्वर्गीय दिलीप सिंह जूदेव के पुत्र एवं पूर्ववर्ती रमन सरकार के पूर्व संसदीय सचिव युद्धवीर सिंह जूदेव के मीडिया में दिये गये वक्तव्य पर कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के द्वारा प्रदेश भाजपा को अपने निजी जागीरदारी बना डाला है और अपने मन मुताबिक फैसले लेने के कारण प्रदेश भाजपा की संगठनात्मक इकाई अब खंडहर के रूप में तब्दील हो चुकी है।
 
 
पूर्व संसदीय सचिव युद्धवीर सिंह जूदेव ने कहा कि भाजपा बड़े उद्योपतियों और धन्नासेठों की पार्टी है उन्हें किसान हित आदिवासी और आम जनता के हित से कोई सरोकार नहीं है और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उन्होंने संघर्ष करना सीखा है इस बात से स्पष्ट है कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई की लड़ाई अब सतहीस्तर पर आ चुकी है लगातार जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं के अपमान और उपेक्षा के कारण भारतीय जनता पार्टी गर्त में जा चुकी है और मूल कार्यकर्ता और नेता अपने आप को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के चेहरे पर भारतीय जनता पार्टी लगातार  विधानसभा,विधानसभा के उपचुनाव,नगर पालिका,नगर निगम एवं पंचायत के चुनाव में बुरी कदर से  हार रही है  जिसके कारण भाजपा कार्यकर्ताओं का मनोबल हाशिये पर है।
 

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि इसके पूर्व भी कांग्रेस पार्टी लगातार यह कहा जा रहा था कि चाहे वह केंद्र की मोदी सरकार हो या पूर्ववर्ती रमन सरकार इनका उद्देश्य केवल मोटा मुनाफा कमाना और कमीशनखोरी करना मात्र है।भाजपा की सरकारों का कोई भी सरोकार जनहित,किसान हित,आदिवासी हित,महिला हित का कतई नहीं है सत्ता को आय का जरिया समझने वाले भारतीय जनता पार्टी की पोल-पट्टी उन्हीं के पार्टी के युवा नेता और पूर्व संसदीय सचिव युद्धवीर सिंह जूदेव ने खोली युद्धवीर सिंह के बयान से स्पष्ट है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के दो साल बेमिसाल कार्यकाल से अब न केवल प्रदेश,देश और विदेश की जनता वरन भाजपा के संस्थापक परिवार भी प्रभावित हो रहे हैं और सोशल मीडिया सहित सार्वजनिक रूप से भी अब भाजपा नेता कांग्रेस सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जन हितैषी कार्यों का खुलकर अभिवादन कर रहे हैं और तारीफों में कसीदे पढ़ रहे हैं।
 

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश भाजपा की बची-खुची खंडहर रूपी इकाई के नेताओं को युद्धवीर सिंह जूदेव से सीखना चाहिये और खुलकर कांग्रेस सरकार एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जन हितैषी छत्तीसगढ़िया हितैषी कार्यों की भूरी भूरी प्रशंसा करनी चाहिये क्योंकि अब भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई रमन-धरम की निजी जागीरदारी हो गई है मूल कार्यकर्ताओं का केवल और केवल शोषण और अपमान किया जा रहा है।
मंदिर निर्माण के नाम से मिली चंदा डकारने वाली भाजपा कांग्रेस को राम भक्ति ना सिखाये

मंदिर निर्माण के नाम से मिली चंदा डकारने वाली भाजपा कांग्रेस को राम भक्ति ना सिखाये

रायपुर | भाजपा नेताओ के राम वन गमन रथ यात्रा पर दिए गए बयान पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के 2 वर्ष के सफलतम कार्यकाल पूरा होने पर राम वन गमन पथ में रथ यात्रा निकल रही है तो भाजपा नेताओं के पेट में दर्द क्यों हो रहा है? 15 साल तक रमन शासनकाल में छत्तीसगढ़ की बिटिया और मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी की माता कौशल्या माता जी को रमन भाजपा ने कभी याद नहीं किया।

 

भाजपा का राम नाम का जाप  राम भक्तों से मात्र वोट बटोरने और चंदा वसूलने तक ही सीमित है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी छत्तीसगढ़ के कण-कण में बसते है।छत्तीसगढ़ में सुबह की शुरुवात राम राम से होती है।किसान काठा से धान नापते से समय गिनती करते है तब एक नही बल्कि राम बोलते है।यहाँ के नदी , पेड़ पौधे ,पर्वतों सभी प्राणियों में यहां के जनमानस के हृदय में बसते हैं। छत्तीसगढ़ में ही रामनामी परिवार भी है।15 साल तक भाजपा ने राम नाम का उपयोग सिर्फ वोट बटोरने के लिए किया है राम वन गमन पथ को लेकर भाजपा के पास कोई ठोस नीति और नियत नहीं रही है।


प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के नाम से छत्तीसगढ़ सहित देश भर की राम भक्तों माता बहनों से चंदा वसूल कर डकारने वाले भाजपा के नेता कांग्रेस को राम भक्ति ना सिखाए।आजादी की लडाई से लेकर आज तक कांग्रेस के नेता मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी के बताए मार्ग में चलते हैं और आमजनता की सेवा करते हैं।नाथूराम गोडसे ने सावरकर के दिए पिस्तौल से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ऊपर गोली गोली चलाई।जब महात्मा गांधी को गोली लगी तब महात्मा गांधी के श्री मुख से हे राम शब्द निकला था। वनवास काल के दौरान मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी का अधिकतर समय छत्तीसगढ़ में ही बीता है शिवनीनारायण में नवधा भक्ति का उपदेश दिए थे कोरिया से लेकर सुकमा के रामाराम तक छत्तीसगढ़ के कण-कण में श्री राम जी बसते हैं।
 
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा के नेता पहले बताएं मंदिर निर्माण के लिए मिले करोडों रुपया का चंदा,दान में मिले करोड़ो के सोना और चांदी के जेवरात ईंट सिक्का कहाँ है? आखिर दान में मिली चंदे की राशि , स्वर्ण रजत धातु को राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट समिति को क्यों सौप  नही रहे हैं? माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से अयोध्या में राममंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ है और माननीय न्यायालय के निर्देश पर राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाई गई। माननीय न्यायालय के फैसले के बाद राम मंदिर निर्माण होते देख एक बार फिर आरएसएस  और भाजपा से जुड़े लोग फिर राम भक्तों को ठगने  मंदिर निर्माण के नाम से चंदा लेने निकले हैं। मंदिर निर्माण के नाम से मिले  चंदा को डकारने  वाले भाजपा के नेता कांग्रेस को रामभक्ति ना सिखाये।
5 हार्सपावर पंपों की मुफ्त बिजली देने की बात कर मुकरने वाली सरकार में मंत्री रहे है बृजमोहन अग्रवाल : कांग्रेस

5 हार्सपावर पंपों की मुफ्त बिजली देने की बात कर मुकरने वाली सरकार में मंत्री रहे है बृजमोहन अग्रवाल : कांग्रेस

रायपुर | प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के किसानों को धान का दाम 1800रू. प्रति क्विंटल नहीं, 2500रू. प्रति क्विंटल मिल रहा है। बृजमोहन अग्रवाल इसमें केन्द्र सरकार के भूमिका स्पष्ट करें। किसानों को 2500 रू. देने वाली योजना को अन्याय की श्रेणी देने वाले बृजमोहन अग्रवाल बतायें कि बिहार में किसानों को 400-500 रू. की धान का दाम मिल रहा है। बिहार में भाजपा गठबंधन में शामिल है। किसानों को समर्थन मूल्य का 25-30 प्रतिशत भी नहीं मिल रहा है, क्या बृजमोहन अग्रवाल इसे न्याय कहते है?


प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ और देश में किसानों को हो रही हरेक परेशानी के लिये भाजपा ही जिम्मेदार है। पहले मोदी सरकार से कहकर छत्तीसगढ़ के किसानों के धान से बने चांवल सेन्ट्रल पूल में उपार्जन में बाधा डाली गयी। कांग्रेस सरकार ने तो अपने बलबूते पर धान की खरीद आरंभ की। इससे बौखलाकर किसानों को भड़काने और धान खरीदी केन्द्रों में अव्यवस्था फैलाने में भाजपा और रमन सिंह जैसे किसान विरोधी नेता लगे रहे। इस साल बारदाना खरीदी में केन्द्र सरकार द्वारा डाली गयी। इस कृत्य के लिये छत्तीसगढ़ में किसान कभी भाजपा को माफ नहीं करेगा।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह की सरकार ने जिसमें बृजमोहन अग्रवाल मंत्री रहे, नान और धान में घोटालों और भ्रष्टाचार को अवैध कमाई का जरिया बना रखा था। रमन सरकार के दौरान किसानों को धान बेचने पांच बार सोसायटी जाना पड़ता था। अब तीन बार में किसानों के पूरा धान खरीदा जा रहा है। पूर्ववर्ती रमन सरकार के दौरान धान बेचने वाले किसानों से प्रति बोरा रमन टैक्स की वसूली होती थी। रमन टैक्स वसूलने वाले आज किसानों के हित की बात कर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं। सोसायटीओं में किसी प्रकार की अव्यवस्था नहीं है। रमन सिंह जी खुद अव्यवस्था फैलाने में लगे है। भूपेश बघेल की सरकार में धान तस्करों और कोचियों पर कार्यवाही की पीड़ा ही रमन सिंह के बयानों से झलक रही है। रमन सिंह जी और बृजमोहन अग्रवाल को किसानों से कोई हमदर्दी नहीं है। इनकी सरकार में जब किसान खेतों में लटक रहे थे, तब रमन सिंह सुवा नृत्य में मटक रहे थे।

अगर भाजपा के नेताओं ने छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में सेंट्रल पुल के नियम को शिथिल रखने की मांग करते हुए और बारदाना की सही आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये कोई पत्र लिखा है तो वे सार्वजनिक करें? बोनस का अलग भुगतान मिलने की जो आलोचना भाजपा नेताओं ने की है वह तो रमन सिंह सरकार के समय की ही व्यवस्था है। किसानों का विश्वास खो चुके भाजपा के नेता किसानों को बरगलाने के लिए तथ्यहीन बेबुनियाद मनगढ़ंत आरोप लगाकर खुद को किसान हितैषी बताने में लगे हुए हैं।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि भाजपा बतायें कि लोकसभा चुनावों में किये गये किसानों की आय दुगुनी करने का वादा भाजपा कब निभायेगी? भाजपा की केन्द्र सरकार द्वारा समर्थन मूल्य में की जा रही 50-50 रू. की वृद्धि से तो किसानों की आय दुगुनी होने वाली नहीं है।  अब तो समर्थन मूल्य मंडी और सरकारी धान खरीदी की पूरी व्यवस्था को मोदी सरकार समाप्त करने पर तुली है।
पिछले साल ही केन्द्र सरकार के कृषि लागत एवं मूल्य आयोग ने धान का लागत मूल्य प्रति कि्ंवटल 1484 रू. तय किया था, जिसमें बीज, खाद, मजदूरी सहित सभी कृषि आदानो की लागत को जोड़ा गया है। भाजपा बार-बार स्वामिनाथन कमेटी के सिफारिशों को लागू करने की बात करती है लेकिन इसे लागू करने का साहस भाजपा की केन्द्र सरकार में है ही नहीं। किसान समर्थक कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार ने छत्तीसगढ़ में जरूर यह कर दिखाया है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी सरकार किसानों की मसीहाई का नाटक बंद करें। भाजपा की अटल बिहारी बाजपेई सरकार ने धान का समर्थन मूल्य 6 वर्षो में 490 रू. से 550 रू. किया था। (मात्र 60 रू. की वृद्धि), अब मोदी सरकार ने चार वर्षो में मात्र 200 रु.की थी और परिहार साल 200 रू. की, पौर साल 85 रू. की वृद्धि की थी। इस वर्ष सिर्फ 50-50 रू. प्रति क्विंटल की धान के समर्थन मूल्य में वृद्धि किसानों के साथ मोदी सरकार का भद्दा मजाक है। भाजपा की सरकारों ने धान का समर्थन मूल्य 11 वर्षो में कुल 460 रू. की वृद्धि की है, जो कि स्पष्ट रूप से भाजपा के किसान विरोधी धान विरोधी रवैये को उजागर करती है। जबकि कांग्रेस ने 10 वर्षो में 890 रू. की वृद्धि की है। यूपीए 1 में धान का समर्थन मूल्य 5 वर्षों में 2004 से 2009 तक 450 रूपयें बढ़ाया गया। (550 रू. प्रति कि्ंवटल से 900 रू. प्रति कि्ंवटल) और यूपीए 2 में 2009 से 2014 तक 5 वर्षों में धान का समर्थन मूल्य 440 रूपयें बढ़ाया गया।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि किसानों को अर्बन नक्सली कहने वाले बृजमोहन अग्रवाल खेती की इतनी समझ भी नहीं रखते है कि किसानों शहरों में अर्बन इलाकों में नहीं गांवो में रहते है। बृजमोहन अग्रवाल की पार्टी भाजपा द्वारा लाये गये तीनों कानून किसानों और आम उपभोक्ता के पेट में लात मारने के लिये लाये गये कानून है
 
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी सरकार ने धान के लागत मूल्य पर 50 प्रतिशत अधिक दाम देने का वादा क्यों नहीं निभाया? अगर भाजपा वाकई में किसान हितेषी होती तो 2014 के लोकसभा चुनाव में स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू करने का वादा निभाती। किसानों को धान के लागत मूल्य पर 50 प्रतिशत अधिक दाम देने का वादा नहीं निभाने का कारण मोदी सरकार और भाजपा किसानों को, प्रदेश और देश की जनता को बतायें? कोंग्रेस ने मांग की है कि किसानों को उनकी फसल की लागत मूल्य पर 50 प्रतिशत लाभ देने का साहस दिखाएं जैसा कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार भूपेश बघेल की सरकार कर रही है। धान का 300 रू. बोनस 5 साल देने का संकल्प तक तो जिस भाजपा ने नहीं निभाया, उस भाजपा से किसानों के भले की उम्मीद कभी नहीं की जा सकती है। 

‘मोदीकाल’ में किसान ‘काल का ग्रास’ बनने को मजबूर हो गया है। न समर्थन मूल्य मिल पा रहा है, न मेहनत की कीमत, न कर्ज से मुक्ति मिली, न किसान के अथक परिश्रम का सम्मान, न खाद, कीटनाशक दवाई, बिजली, डीज़ल की कीमतें कम हुईं और न ही हुआ किसान को फसल के सही बाजार भावों का इंतजाम।

अन्नदाता किसान का पेट केवल ‘जुमलों’ और ‘कोरे झूठ’ से नहीं भर सकता। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि क्या झूठी वाहवाही लूटने, अपने मुंह मियाँ मिट्ठू बनने, ऊँट के मुंह में जीरा डाल नगाड़े बजाने व समाचारों की सुर्खियां बटोरने से आगे बढ़कर मोदी जी देश को और किसानों को जवाब और उनकी समस्याओं का सही समाधान देगें।
रमन सिंह भाजपा कार्यकर्ताओ को झूठ बोलने जुमला सुनाने की ट्रेनिग दे रहे : कांग्रेस

रमन सिंह भाजपा कार्यकर्ताओ को झूठ बोलने जुमला सुनाने की ट्रेनिग दे रहे : कांग्रेस

रायपुर | पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के कार्यकर्ताओं को भाजपा रीति नीति का पाठ पढ़ाने पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि झूठ बोलने जुमला सुनाने  के आलावा भाजपा की कोई नीति नही है।डॉ रमन सिंह मुख्यमंत्री रहते भाजपा नेताओं को कमीशनखोरी की पाठ पढ़ाते थे भ्रष्टाचार करने का गूढ सिखाते थे। अब कार्यकर्ताओ को झूठ बोलने,झूठ को जोर से बोलने बार बार बोलने  संगठित होकर बोलने की कला सीखा रहे है।

पढ़ें : BIG BREAKING : 'द डर्टी पिक्चर' की इस अभिनेत्री की खुन से लथपथ मिली लाश, पुलिस जाँच में जुटी

कैसे खालिस्तानी बताना है कैसे पाक समर्थक घोषित करना है कि कैसे देशद्रोही करार देने है कैसे टुकड़े टुकड़े गैंग कहना है और जनता का ध्यान मोदी भाजपा सरकार के विफलताओं से हटाना है ।रमन सिंह झूठ बोलने में महारथी है 15 साल तक विकास की झूठी मनभावन तस्वीर दिखाकर ही तो जनता को गुमराह करते रहे।सरकारी खजाने को चोट पहुचाते रहे।

पढ़ें : चीन को झटका, सैमसंग अपनी मोबाइल फैक्टरी को भारत के इस राज्य में करने जा रही है शिफ्ट, पढ़ें पूरी खबर 

रमन सिंह ने ही तो रायगढ़ में भाजपा की कार्यसमिति की बैठक में  कहा था कि 1 साल के लिए भाजपाई कमीशनखोरी छोड़ दे तो 30 साल तक छत्तीसगढ़ को लूटने का अवसर मिल जाएगा। छत्तीसगढ़ की जनता रमन भाजपा की नीयत और नीति को समझ गई और कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार में आकंठ तक डूबे रमन भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकी और 15 साल की सरकार को 15 सीटों में लाकर समेट दी।

पढ़ें : BIG BREAKING : रंगरेलिया माना रहे SI और महिला आरक्षक को SI की पत्नी ने रंगेहाथों पकड़ा, फिर हुआ ये.....

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि डॉ रमन सिंह कार्यकर्ताओं को भाजपा की रीति नीति समझा रहे हैं कि कैसे आखिर लोकतंत्र के विपरीत जाकर काम करना है ?किसानों मजदूरों युवाओं महिलाओं को झूठ बोलकर जुमला बोलकर शिगूफा छोड़ कर अपने जाल में फंसाना है।आजादी के बाद  हुए देश के  विकास को नकारना है और देश के सरकारी संपत्ति हवाई अड्डा रेलवे स्टेशन एयरपोर्ट भारत के नौ रत्न कम्पनियों  को अपने अदानी अंबानी  जैसे चंदसमर्थित उद्योगपति के हाथों में सौपना है इसके लिए षड्यंत्र करना है।देश के मार्गदर्शक युवाओ के प्रेरणास्रोत आजादी आंदोलन के नेता व पूर्व प्रधानमंत्रियों के खिलाफ कैसे झूठी मनगढ़ंत अफवाह फैलाना है वैमनस्यता फैलाना है सामाजिक सौहार्द्र को बिगाड़ा जाये  इसकी ट्रेनिंग दिया जा रहा।
 
 
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि आरएसएस भाजपा की झूठ मनगढ़ंत और जुमला बनाने वाली यूनिवर्सिटी है आरएसएस  भाजपा  नेताओं को झूठ बोलना सिखाती हैं और भाजपा के नेता कार्यकर्ताओं को झूठ बोलने की ट्रेनिंग देते हैं देश की जनता  समझ चुकी है किस प्रकार से देश के विकास की बात करने वाली मोदी की सरकार बीते 7 साल में देश के नवरत्न कंपनियां रेलवे स्टेशन हवाई अड्डा एयरपोर्ट सहित 135 कंपनियों का निजीकरण कर रही है पूंजीपतियों के हाथों में सौंप रही है और मजदूर किसान विरोधी नीतियां तय कर रही है तीन काले कानून लाकर पूंजीपतियों के गोडाउन और खजाने को भरने काम कर रही है और किसानों को गुलाम बनाने की साजिश रची जा रही है।इस किसान विरोधी बिल को किसान हितेषी केसे बताना है प्रोपेगेंडा रचने का ट्रेनिंग दिया जा रहा हैं।
सुआ नृत्य को कमर मटकाने वाला नृत्य बताकर बघेल ने राज्य की सांस्कृतिक व पारम्परिक नृत्य शैली का अपमान किया : भाजपा

सुआ नृत्य को कमर मटकाने वाला नृत्य बताकर बघेल ने राज्य की सांस्कृतिक व पारम्परिक नृत्य शैली का अपमान किया : भाजपा

रायपुरभारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता और पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पद की गरिमा के अनुरूप भाषा की मर्यादा बनाए रखने की नसीहत देते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति के प्रतीक सुआ नृत्य को कमर मटकाने वाला नृत्य बताकर मुख्यमंत्री बघेल ने न केवल राज्य की सांस्कृतिक व पारम्परिक नृत्य शैली का अपमान किया है, अपितु छत्तीसगढ़ की उन लाखों माता-बहनों का अपमान भी किया है जो दीपावली व अन्य अनेक मौक़ों पर इस नृत्य से छत्तीसगढ़ की संस्कृति के गौरव का गुणगान करती हैं।

पढ़ें : BIG BREAKING : शादी माहोल के बाद रायपुर में हुआ कोरोना विस्फोट, प्रदेश में आज कुल 1632 नए मरीजों की हुई पहचान, 12 की मौत 

श्री मूणत ने कहा कि कोरिया ज़िले के पत्रकारों को दिए गए इस बयान से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि कांग्रेस में सत्ता-संघर्ष के मचे घमासान से अब मुख्यमंत्री बघेल अब बेहद विचलित हो चले हैं और इस बौखलाहट में वे न तो अपने राजनीतिक विरोधियों के प्रति सम्मान दिखा रहे हैं और न ही पद की गरिमा व भाषायी मर्यादा का उन्हें कोई भान रह गया है।

पढ़ें : पिता ने दी अनोखी मिसाल : पिता ने बिटिया के विवाह के दौरान देहदान की घोषणा की, जाने कहा की है यह खबर 

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री श्री मूणत ने कहा कि दरअसल मुख्यमंत्री बघेल भी उसी कांग्रेस के एक मुखौटा हैं, जिस कांग्रेस की राजनीतिक संस्कृति में महिलाओं के प्रति अभद्र टिप्पणियाँ करने का चलन रहा है। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह व भाजपा की पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री व सांसद डॉ. सरोज पांडेय के प्रति मुख्यमंत्री बघेल की टिप्पणी उनकी दूषित मानसिकता की परिचायक है। श्री मूणत ने कहा कि भाजपा सांसद डॉ. (सुश्री) पांडेय ने दुर्ग ज़िले में सुआ नृत्य का भव्य आयोजन कराया था और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था, उसे कमर मटकाने वाला आयोजन बताकर मुख्यमंत्री ने सुआ नृत्य की गरिमा और उससे जुड़ी  सांस्कृतिक व आध्यात्मिक भावना का जिस तरह अपमान किया है, उसके लिए उन्हें प्रदेश की जनता और विशेषकर नारी शक्ति से क्षमायाचना करनी चाहिए।
 
 
श्री मूणत ने कहा कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति और परम्पराओं की दुहाई देकर रोज़ ढोल पीटते मुख्यमंत्री बघेल को नृत्य और ठुमकों के अंतर की समझ तो रखनी ही चाहिए। दुर्ग ज़िले का वह आयोजन नृत्य का था और ठुमके लगाकर कमर मटकाना उसे कहते हैं, जो हाल ही उनके ही एक राज्यमंत्री ने बार बालाओं के साथ उड़ते हुए नोटों के बीच लगाया था। डॉ. (सुश्री) पांडेय ने छत्तीसगढ़ की परम्परा व संस्कृति का परिचय कराने वह भव्य आयोजन रखा था और उसमें प्रदेश की माताओं-बहनों ने रिकॉर्ड संख्या में भाग लेकर उसे भव्यता और गरिमा प्रदान की थी, और मुख्यमंत्री बघेल को उसमें कमर मटकाना नज़र आ रहा है तो अब उन्हें सत्ता-संघर्ष से उपजे अपने मानसिक अवसाद के साथ-साथ अपनी नज़रों का इलाज भी कराना चाहिए ताकि महिलाओं के प्रति उनका नज़रिया वैसा ही न दिखे जैसा उनके एक मंत्री शिव डहरिया और फिर अब महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक ने दिखाया है।
बंगाल में हुए हमले को लेकर शैलेश नितिन त्रिवेदी का बड़ा बयान मोदी द्वारा लोकतंत्र की महिमा का गान सिर्फ ढोंग और दिखावा झूठा आडंबर मात्र

बंगाल में हुए हमले को लेकर शैलेश नितिन त्रिवेदी का बड़ा बयान मोदी द्वारा लोकतंत्र की महिमा का गान सिर्फ ढोंग और दिखावा झूठा आडंबर मात्र

रायपुर। भाजपा नेता जगत प्रकाश नड्डा के काफिले पर कथित पथराव से विचलित होकर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल द्वारा संवाददाताओं से चर्चा और मुख्यमंत्री को चेतावनी दिए जाने के घटनाक्रम पर कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि आज जीरम की घटना हम छत्तीसगढ़ वासियों को याद आ रही है, जब 29 लोगों की जाने माओवादी हमले में चली गयी थे। हमला ठीक उसी स्थान पर हुआ था जहां पर भाजपा की रमन सिंह सरकार ने सुरक्षा मुहैया नहीं कराई थी। उस घटनाक्रम में मोदी या भाजपा ने या भाजपा की राज्य सरकार ने कोई संवेदनशीलता नहीं दिखाई थी और ना ही भाजपा की राज्य सरकार की सेहत पर उस दुखद घटना से को कोई फर्क पड़ा था। आज तक झीरम के उस घटनाक्रम की जांच नहीं होने देने में जीरम के घटनाक्रम के बाद बनी भाजपा की केन्द्र सरकार और पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह सहित भाजपा की पूरी ताकत लगी हुई है। ममता बनर्जी से खतरनाक खेल त्याग देने की बात कहने के लिए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने संवाददाताओं का सहारा लिया और राज्यपाल के पद से जुड़ी तमाम मर्यादायें और सीमाएं तोड़ दी। भाजपा की केन्द्र सरकार के गृहसचिव पश्चिम बंगाल के प्रमुख सचिव और डीजीपी की पेशी कर रहे है। सारी भाजपा कथित पत्थर बाजी की घटना को लेकर एक महिला ममता बेनर्जी को निशाने में ले रही है। लेकिन भाजपा को इस सवाल का जवाब देना चाहिये कि जीरम कांड में विपक्षी नेताओं की पूरी पीढ़ी की शहादत के समय भाजपा की यह सारी संवेदना कहां सोयी पड़ी थी?

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि हर तरह की हिंसा निंदनीय है, लेकिन केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इसे राज्य प्रायोजित कहकर गंभीर सवाल खड़े कर दिये है। नड्डा के काफिले पर पत्थर चलने को कथित घटना पर हायतौबा मचा रहीं भाजपा और भातपा के केन्द्र सरकार केन्द्रीय गृहमंत्री को और केन्द्र की भाजपा सरकार को यह बताना चाहिये कि यह राजनैतिक बयान है या गृह मंत्रालय की रिपोर्ट है। जीरम के घटनाक्रम में ठीक उसी जगह हमला होना जहां रमन सिंह की सरकार ने बिना पूर्व सूचना के सुरक्षा हटा ली थी, इसे अमित शाह राज्य प्रायोजित हत्याकांड मानते है या नहीं? अब तो यह स्पष्ट हो जाना चाहिये।
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भाजपा से पूछा है कि शहीद नंद कुमार पटेल शहीद विद्याचरण शुक्ल शहीद महेंद्र कर्मा शहीद दिनेश पटेल शहीद योगेंद्र शर्मा शहीद अभिषेक गोलछा शहीद गोपी माधवानी सहित 29 लोगों की जानें चली गई लेकिन तब भाजपा को वह खेल खतरनाक क्यों नहीं लगा था? जगत प्रकाश नड्डा के काफिले पर एक पत्थर चलने की कथित घटना को लेकर पूरी केंद्र सरकार से लेकर केंद्रीय गृह सचिव तक सक्रिय हो गए। यह भाजपा का दोहरा चरित्र है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा नए संसद भवन के शिलान्यास के समय लोकतंत्र की महिमा गाई गई। मोदी और भाजपा के दोहरे आचरण के परिपेक्ष्य में मोदी द्वारा लोकतंत्र का महिमा का गान सिर्फ एक ढोंग दिखावा और आडंबर के अलावा और कुछ भी नहीं है।
 

हारे राजेश मूणत से लगातार हार रहे है बृजमोहन अग्रवाल- विकास तिवारी

हारे राजेश मूणत से लगातार हार रहे है बृजमोहन अग्रवाल- विकास तिवारी

रायपुर, छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मंत्री एवं रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि बृजमोहन अग्रवाल को कांग्रेस के भीतर खाने में चल रहे गतिविधियों की चिंता छोड़ भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश इकाई में धधकती आग की चिंता करनी चाहिये जिसके कारण प्रदेश भाजपा संगठन खंडहर का रूप ले चुका है। लगातार विधानसभा, विधानसभा के उपचुनाव, नगर पालिका, नगर निगम और पंचायत के चुनाव में बुरी कदर से हारने के बाद भी भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश इकाई में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के धड़े का कब्जा बरकरार है जिसकी तिलमिलाहट पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के बयानों झलकती है। एक और जहां पूर्व मंत्री राजेश मूणत विधानसभा चुनाव हारने के बाद भी भाजपा संगठन में अपना कब्जा जमाये हुवे हैं और रायपुर भाजपा के संगठन के राजनीति में एक तरफा उनके द्वारा लिये गये फैसले ही मूर्त रूप ले रहे हैं जिसका उदाहरण रायपुर नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष के चयन से पता चलता है जहां बृजमोहन अग्रवाल द्वारा घोषित पार्षद को पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने नेता प्रतिपक्ष नहीं बनने दिया जिसके कारण लगभग एक साल गुजरने के बाद भी ना केवल रायपुर नगर निगम वर्णन प्रदेश के अन्य नगर पालिकाओ में भी नेता प्रतिपक्ष का चयन नहीं हो पाया है।


कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई आपसी गुटबाजी और शीर्ष नेताओं के टकराहट के कारण भाजपा कार्यकर्ताओं का हौसला रसातल पर चला गया है। भाजपा के मूल कार्यकर्ताओं की लगातार उपेक्षा की जा रही है, जिसका की साक्षात प्रमाण पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के रायपुर दक्षिण विधानसभा में देखने को मिलता है, जहां पर भाजपा के मूल कार्यकर्ता दरी उठाने,चुनाव में पर्ची बांटने, बैनर, पोस्टर लगाने का काम करते हैं, वहीं अन्य दल और निर्दलीय लोग भाजपा में आकर चुनाव लड़ पार्षद बन जाते हैं, जिसके कारण भाजपा के मूल कार्यकर्ताओं में हताशा निराशा है और बहुत से कार्यकर्ता मानसिक अवसाद का शिकार भी हो गये हैं, जिसकी परवाह ना तो भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश इकाई को है और ना ही रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल को है। प्रवक्ता विकास ने कहा भाजपा के नवनियुक्त प्रभारियों के सामने भी भाजपा के अंदर चल रही गुटबाजी खुलकर सामने आई और प्रभारियों को भी कार्यकर्ताओं के गुस्से का सामना करना पड़ा।
 

BIG BREAKING : इमरती देवी को मिला बंगला खाली करने का नोटिस, पढ़ें पूरी खबर

BIG BREAKING : इमरती देवी को मिला बंगला खाली करने का नोटिस, पढ़ें पूरी खबर

भोपालउपचुनाव में पराजय होने के बाद मंत्री बनने से वंचित हुईं इमरती देवी को बंगला खाली करने का नोटिस मिला है। साथ ही कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे लाखन सिंह यादव को भी सरकारी बंगला खाली करने के लिए कहा गया है।
इमरती देवी को मंत्री बनने के दौरान पीडब्ल्यूडी ने झांसी रोड पर 44 ए बंगला अलॉट किया था। 2 दिसंबर को पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने नोटिस जारी कर बंगला खाली करने को कहा है। गौरतलब है कि कांग्रेस से भाजपा में शामिल होने के बाद भी उन्हें शिवराज सरकार में मंत्री बनाया गया था। उपचुनाव में मिली हार के बाद उन्हें मंत्री पद से त्यागपत्र देना पडा।


जब तक है पद तब तक रहेगा बंगला
पीडब्ल्यूडी द्वारा मंत्री को जो भी बंगले अलॉट होते हैं नियमानुसार मंत्री पद रहने तक के लिए होते हैं। यही कारण है कि मंत्री पद जाते ही इमरती देवी और लाखन सिंह को बंगला खाली करने को कहा है।


नोटिस मिला है, लेकिन कारण का पता नहीं
कैबिनेट मंत्री इमरती देवी ने बताया कि चार दिसंबर को सरकारी बंगला खाली करने के लिए पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने जारी किया है। अभी मैं मंत्री हूं, मेरा इस्तीफा स्वीकार नहीं हुआ है तो फिर कैसे बंगला खाली करा सकते हैं। बंगले को खाली करने के संबंध में पीडब्ल्यूडी अधिकारी बता सकते हैं कि किसे के आदेश पर नोटिस जारी किया गया है।

प्रदेश प्रभारी व सहप्रभारी के स्वागत की भव्य तैयारियों के संदर्भ में भाजपा रायपुर जिला की बैठक आहूत

प्रदेश प्रभारी व सहप्रभारी के स्वागत की भव्य तैयारियों के संदर्भ में भाजपा रायपुर जिला की बैठक आहूत

रायपुर | भारतीय जनता पार्टी जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी जी व सहप्रभारी नीतिन नवीन जी के छत्तीसगढ़ आगमन की तैयारियों के मद्देनजर रविवार 6 दिसंबर दोपहर 2:00 बजे , पार्टी कार्यालय, एकात्म परिसर,  रजबन्धा मैदान रायपुर में भाजपा रायपुर जिला में निवासरत प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी ,मंडल अध्यक्ष, पार्षद गण व  कार्यकर्ताओं की आवश्यक बैठक आहूत की है ।

 उक्त बैठक में कार्यकर्ताओ का मार्गदर्शन रायपुर सांसद सुनील सोनी,  विधायक बृजमोहन अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत , जिला महामंत्री द्वय रमेश ठाकुर, ओंकार बैस करेंगे।

शासन की कानून व्यवस्था की नाकामी से, अपराधियो के हौसले बुलंद

शासन की कानून व्यवस्था की नाकामी से, अपराधियो के हौसले बुलंद

रायपुर | भारतीय जनता पार्टी जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने अपराधियों द्वारा खुलेआम हत्या कर उसका वीडियो जारी करने का हौसला दिखाने को शासन की घोर नाकामी बताया है । उन्होंने कहा कि भाजपा के 15 वर्ष के शासन में कभी अपराधियों के हौसले इतने बुलंद नहीं हुए कि वह अपराध करके उसे महिमामंडित करें।

पढ़ें : बड़ी खबर : जिले के इस पुलिस थाने में हुआ कोरोना विस्फोट, थाना प्रभारी समेत 20 पुलिसकर्मी निकले कोरोना संक्रमित

उन्होंने कांग्रेस शासन के इच्छाशक्ति की कमी की भर्त्सना करते हुए कहा कि आखिर प्रशासन वही है ,पुलिस भी वही है , जो पिछले 15 वर्षों में भाजपा के शासन में भी कार्य करती थी । परंतु कांग्रेस के 2 वर्ष के शासनकाल में ही उसका हौसला इतना टूट गया है कि वे अपराध पर नकेल कसने में नाकाम साबित हो रहे हैं ।

पढ़ें : BIG BREAKING : नवा रायपुर के इस क्षेत्र में पेड़ पर फांसी में झुलाती मिली युवक की लाश, मचा हड़कंप

   आज राजधानी रायपुर में साल भर में लगभग 90 से अधिक हत्याएं हो चुकी है। लूट, छुरेबाजी और अपहरण तो आम बात हो गयी हैं । इससे जनता में भय व्याप्त है। अविश्वास का तो यह आलम है कि कांग्रेस के विधायक गृह मंत्री के सामने पुलिस को रेट लिस्ट टांगने की नसीहत दे डालते हैं। 

पढ़ें : बड़ी खबर रायपुर: सामान खरीदने के दौरान व्यापारी के थैला से 95 हजार रुपयें पार, सीसी कैमरा में दिखा चोर का फुटेज

राजधानी रायपुर में 1 साल के अंदर तीन कप्तान बदल दिए गए । थानेदारों को तो अपनी इच्छा अनुसार ताश के पत्तों की सामान फेंटा जा रहा है।

 भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने कांग्रेस शासन से मांग की है कि  शासन अगर शीघ्र इन अपराधियों पर लगाम नहीं लगाती है। तो भाजपा जनता हित में सड़क पर उतरेगी।

 किसान आंदोलन: किसानों के समर्थन में उतरी कांग्रेस, कहा- सत्ता के नशे में है मोदी सरकार

किसान आंदोलन: किसानों के समर्थन में उतरी कांग्रेस, कहा- सत्ता के नशे में है मोदी सरकार

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने रविवार को कहा कि कानूनों के समर्थन में लगातार जोर देने से साबित होता है कि सरकार सत्ता के नशे में है। वह इस पर फिर से विचार करना भी नहीं चाहती। कांग्रेस ने यह मांग की कि प्रधानमंत्री मोदी को तत्काल तीनों कृषि संबंधी कानूनों को निलंबित करने की घोषणा करनी चाहिए। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों के आंदोलन को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वादा किया गया था। मोदी सरकार ने आमदनी दोगुनी तो की, लेकिन अडानी-अंबानी की। उन्होंने ट्वीट किया, जो लोग काले कृषि कानूनों का बचाव कर रहे हैं, वे किसानों के पक्ष में क्या समाधान सुझाएंगे? अब होगी किसान की बात। 

मोदी सरकार सत्ता के नशे में: रणदीप सुरजेवाला  
कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा, भारत के 62 करोड़ किसानों और खेतिहर श्रमिकों के मुद्दों पर प्रधानमंत्री की जिद, अहंकार और अड़ियल रवैया रविवार के मन की बात में स्पष्ट दिखा। उन्होंने संसद द्वारा गैरकानूनी और असंवैधानिक तरीके से पारित तीनों किसान-विरोधी और कृषि विरोधी कानूनों को सही ठहराया। सुरजेवाला ने कहा, जब लाखों किसान आंदोलन करते हुए और कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए दिल्ली के पास डेरा डाले हों, ऐसे में प्रधानमंत्री का यह कहना, कि तीनों कानून पूरी तरह सही हैं, साफ दर्शाता है कि मोदी सरकार सत्ता के नशे में चूर है। प्रधानमंत्री को भारत के किसानों तथा खेतिहर श्रमिकों के कल्याण की कोई चिंता नहीं है। 

कांग्रेस ने कृषि मंत्री के बयान पर खड़े किए सवाल: 
सुरजेवाला ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के हैदराबाद में एक राजनीतिक कार्यक्रम में शामिल होने और तत्काल किसानों से नहीं मिलने को लेकर उन पर भी निशाना साधा। सुरजेवाला ने कहा, भारत के गृह मंत्री के पास एक जनसभा में शामिल होने के लिए 1,200 किलोमीटर दूर हैदराबाद जाने का समय है। लेकिन, उनके पास 15 किलोमीटर दूर दिल्ली की सीमाओं तक जाने और आंदोलन कर रहे किसानों से बात करने का वक्त नहीं है। कृषि मंत्री ने किसानों से बातचीत के लिए तीन दिसंबर की तारीख क्यों निकाली है और उससे पहले उनसे क्यों नहीं मिला जा सकता? क्या उन्होंने इसके लिए किसी ज्योतिषी से सलाह ली है।
 
 पाठ्यपुस्तक निगम के वित्त प्रबंधक ने कोरोना काल में 18500 किलोमीटर घूमकर नियमों का किया उल्लंघन: शुक्ला

पाठ्यपुस्तक निगम के वित्त प्रबंधक ने कोरोना काल में 18500 किलोमीटर घूमकर नियमों का किया उल्लंघन: शुक्ला

रायपुर। एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला ने छतीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम के वरिष्ठ प्रबंधक वित्त आर के मिश्रा 7 महीने में 18500 किलो मीटर की यात्रा के खिलाफ निलंबन और विभागीय जांच की मांग की है।  शुक्ला ने मिश्रा पर शासकीय वाहन से बिलासपुर से रायपुर से बिलासपुर जाते रहे। कोरोना काल मे जहा दुनिया चिंतित थी। कोरोना में बिना पास के आने जाने में दिक्कत थी तब यह बिना अनुमति के आता जाता रहा। इसकी यात्रा से कश्मीर से कन्या कुमारी से कश्मीर दो बार और अरणाचल प्रदेश से गुजरात से अरुणाचाल प्रदेश एक बार आ जा सकते थे। ये गाडियो को लॉक बुक में खड़ा दिखाते रहे। गाड़ी को कुछ किलो मीटर चलता दिखाते रहे और यह गाड़ी भोजपुर टोल प्लाजा बिलासपुर के सरगांव वाली आते जाते रही। वित्त विभाग के इस अधिकारी ने लॉग बुक में कूट रचना की।ओर लिखा कुछ और गया कही और।टोल प्लाजा का गाड़ी का पास होने का रिपोर्ट खुद गवाह बन गया है कि वह लगातार मनमानी करते रहे।  भावेश शुक्ला ने कहा है कि कांग्रेस सरकार में ऐसे भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।  इसकी शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की जाएगी।  

हर अपराध में भाजपा से जुड़े लोगों की होती है भूमिका- धनंजय सिंह ठाकुर

हर अपराध में भाजपा से जुड़े लोगों की होती है भूमिका- धनंजय सिंह ठाकुर

रायपुर। मानव तस्करी मामले में भाजपा नेता की गिरफ्तारी होने के बाद कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि छत्तीसगढ़ में हो रहे हर अपराध में भाजपा से जुड़े नेताओं की भूमिका रहती है। ड्रग माफिया हो, मानव तस्कर हो, शराब तस्कर हो, चिटफंड कंपनियों के घोटालाबाज हो, नक्सलियों के मददगार, अवैध कार्यों के माफियाओं का सरगना हो भाजपा से जुड़े लोग ही पकड़े जाते हैं और भाजपा के बड़े नेताओं के साथ इनकी तस्वीर रहती है इससे स्पष्ट है कि 15 साल के शासन काल में भाजपा के बड़े नेताओं ने अवैध कार्य करने वाले अपराधियों को संरक्षण देकर बचाने का काम किया है। 15 साल के रमन शासनकाल में मानव तस्करी और नशीली पदार्थों के तस्कर भाजपा नेताओं के संरक्षण में फले फूले हैं। भाजपा का अपराध और अपराधियों के साथ चोली दामन का साथ हमेशा रहता है। एक प्रकार से भाजपा अपराधियों की शरणस्थली बन चुकी है। रमन भाजपा शासनकाल में छत्तीसगढ़ से हजारों की संख्या में महिलाएं और बेटियां गायब हुई है। मानव तस्करी के मामले में भाजपा नेत्री की गिरफ्तारी से छत्तीसगढ़ से गायब उन महिलाओं के पीछे भी कहीं न कहीं भाजपा से जुड़े लोगों का हाथ होने का संदेश नजर आता है। इसकी जांच होनी चाहिए।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मानव तस्करी मामले में भाजपा नेत्री की गिरफ्तारी के बाद प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय, गंगा पांडेय को पार्टी से निष्कासित कर जिम्मेदारियों से बच नही सकते। भाजपा से जुड़े लोग हमेशा अवैध कार्यो में पकड़े जाते रहे है तब भाजपा के नेता बदलापुर का आरोप लगाकर अपराधियों को बचाने का षड्यंत्र करते है। रमन सरकार के दौरान भी नाबालिक से दुष्कर्म के आरोपों रमन सिंह के ओएसडी गुप्ता के खिलाफ चार साल तक कार्यवाही नही होने दी गई। पीड़िता का एफआईआर तक दर्ज नही किया गया। सरकार बदलने के बाद जब पीड़िता के शिकायत पर कार्यवाही की गई तो भाजपा नेत्री जबिता मंडावी पीड़िता का अपहरण कर लेती है जिसे पुलिस द्वारा छुड़वाया जाता है।
 

 छत्तीसगढ़ में 1 दिसंबर से होगी धान खरीदी, कांग्रेस सरकार  किसानों से अपना वादे पर है अडिग

छत्तीसगढ़ में 1 दिसंबर से होगी धान खरीदी, कांग्रेस सरकार किसानों से अपना वादे पर है अडिग

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस सरकार ने किसानों से अपना वादे पर अडिग है। छत्तीसगढ़ में 1 दिसंबर से धान खरीदी होगी। 1 दिसंबर से धान खरीदी शुरू होने जा रही है। टोकन पहले से दिये जा रहे है। ये टोकन 7 दिन के लिये वेलिड होंगे। यदि कोई किसान अपने टोकन पर धान नहीं बेच पाया तो उसे फिर से टोकन जारी कर दिया जायेगा। इस प्रकार धान खरीदी सुव्यवस्थित रूप में चलेगी। सब का धान खरीदा जायेगा। 2500 रूपये में खरीदा जायेगा। भाजपा द्वारा लगातार धान खरीदी में बाधा डालने की कोशिशे की गयी है और की जा रही है। कभी भाजपा की केन्द्र सरकार द्वारा कहा गया सेन्ट्रल पुल में छत्तीसगढ़ के किसान के धान से बना चावल नही लिया जायेगा। इसके लिये चि_ी तक लिख दी थी मोदी सरकार ने। इस साल भाजपा की केन्द्र सरकार ने धान खरीदी के लिये बारदानो की उपलब्धता में बाधा डाली। बारदाने ही नही उपलब्ध कराये लेकिन कांग्रेस की सरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार इन तमाम समस्याओं का मुकाबला करते हुये अपने वादे को पूरा करते हुये किसानो की धान की खरीदी 1 दिसंबर से करने जा रही है। छत्तीसगढ़ में सुव्यवस्थित रूप से धान की खरीदी होगी। धान बिचौलियों और धान दलालों और धान खरीदी में गड़बडिय़ों कर किसानों को परेशान करने वालों को कोई प्रश्रय नही मिलेगा। प्रदेश के बाहर का धान नही, छत्तीसगढ़ के किसानो का उगाया हुआ धान छत्तीसगढ़ के सोसाइटियों में 2500 रूपये में खरीदा जायेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने धान का दाम 2500 रू. देते हुये पहले साल 80 लाख टन से अधिक और दूसरे साल 83 लाख टन धान की खरीदी की है। भाजपा की 15 साल की सरकार में तो 12 लाख किसानों से ही औसत 50 लाख टन धान ही प्रतिवर्ष खरीदा गया। 


प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि इस साल 21 लाख 50 हजार से अधिक किसानों का पंजीयन हो चुका है जिनसे कांग्रेस सरकार 2500 रू. में धान खरीदने जा रही है। धान का रकबा भी बढ़ा है, किसानों की संख्या भी बढ़ी है। धान खरीदी भी लगातार बढ़ रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने पहले साल 2018-19 में 15 लाख 71 हजार किसानों से 80 लाख टन से अधिक धान खरीदा और दूसरे साल 2019-20 में 19 लाख 52 हजार किसानों से 83 लाख टन से अधिक धान खरीदा गया। धान खरीदी की सुव्यवस्थित तैयारियों से भाजपा के झूठ की पोल खुल गयी है।
कोरोना वैक्सीन को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछे ये 4 सवाल

कोरोना वैक्सीन को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछे ये 4 सवाल

देश में लगातार कोरोना वायरस का संक्रमण और खतरनाक होता जा रहा है. राजस्थान, गुजरात और दिल्ली में कोरोना की स्थिति बिगड़ने के बाद राज्य सरकार की तरफ से इसकी रोकथाम को लेकर नए कदम उठाने को मजबूर होना पड़ा है. राजस्थान और गुजरात, हिमाचल प्रदेश समेत फिर से कुछ राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया गया है. ऐसे में इस वक्त लोग बेसब्री के साथ कोरोना वैक्सीन के आने का इंतजार कर रहे हैं. ऐसा माना जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन देश में मार्च तक या उससे पहले आ सकती है. इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी की तरफ से कोरोना वैक्सीन को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से ट्वीट कर चार सवाल किए गए हैं.


राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी को जरूर राष्ट्र को यह बताना चाहिए कि-


1-सभी कोरोना वैक्सीन में से भारत सरकार किसे चुनेगी और क्यों?


2-किसे पहले कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जाएगी और इसके वितरण की क्या रणनीति रहेगी?


3-क्या वैक्सीन को मुफ्त सुनिश्चित किए जाने के लिए पीएम केयर्स फंड का इस्तेमाल किया जाएगा?


4-कब तक भारतीयों को वैक्सीन दी जाएगी?

 

 

कांग्रेस में कलह पर गुलाम नबी आजाद का बयान, कहा- फाइव स्टार होटलों में बैठकर नहीं लड़े जाते चुनाव

कांग्रेस में कलह पर गुलाम नबी आजाद का बयान, कहा- फाइव स्टार होटलों में बैठकर नहीं लड़े जाते चुनाव

नई दिल्ली, कांग्रेस के भीतर के कलह पर पार्टी के सीनियर नेता गुलाम नबी आजाद का बड़ा बयान सामने आया है. बिना नाम लिए उन्होंने आलाकमान पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस सबसे निचले स्तर पर है. पार्टी के बड़े नेताओं का कार्यकर्ता से संपर्क टूट गया है. फाइव स्टार होटलों में बैठकर चुनाव नहीं लड़ सकते.


गुलाम नबी आजाद ने कहा, “जो लोग वहां होते हैं उनका कनेक्ट लोगों के साथ टूट गया है. ब्लॉक के लोगों के साथ, जिलों के लोगों के साथ कनेक्ट टूट गया है. समस्या ये है कि जब हमारी पार्टी में कोई पदाधिकारी बनता है तो वो लेटर पैड तो छाप देता है और विजटिंग कार्ट बना देता है. वो समझता है कि मेरा काम बस खत्म हो गया. काम तो उस वक्त से शुरू होना चाहिए.”


इतना ही नहीं गुलाम नबी आजाद ने एक शेर भी पढ़ा. उन्होंने कहा, "पार्टी से इश्क होना चाहिए. ये इश्क नहीं आसान बस इतना समझ ली जे, इक आग का दरिया है और डूब के जाना है. लोग समझते हैं कि लड़कियों से प्रेम करना ही इश्क है. भगवान से इश्क, अपने पीर पैगंबर से भी इश्क, अपने धर्म से भी प्यार होता है."


बता दें कि अगले महीने संभावित तौर पर कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव होना है. पहले भी अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर विवाद हो चुका है. नेताओं ने चिट्ठी लिखी थी उस पर भी विवाद हो गया था. अब गुलाम नबी आजाद ने जो बयान दिए हैं उससे ये सवाल खड़ा होता है कि क्या एक बार फिर अध्यक्ष पद को लेकर एक बार फिर विवाद होगा?


 

 राज्य के जेलों में हुई 88 अशासकीय संदर्शकों की नियुक्ति, जेलों के संचालन में मिलेगा सहयोग- ताम्रध्वज साहू

राज्य के जेलों में हुई 88 अशासकीय संदर्शकों की नियुक्ति, जेलों के संचालन में मिलेगा सहयोग- ताम्रध्वज साहू

रायपुर। राज्य के जेलों में  88 अशासकीय जेल संदर्शकों की नियुक्ति की गई है। राज्य में 5 केन्द्रीय जेल, 13 जिला जेल एवं 15 उपजेलों में अशासकीय जेल संदर्शकों की नियुक्ति के संदर्भ में राज्य शासन द्वारा अधिसूचना जारी की गई है। प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि इस नियुक्ति से जेलों के संचालन में सहयोग मिलेगा।

अधिसूचना के तहत केन्द्रीय जेल रायपुर में तीरथ यादव, वेदप्रकाश सिंह, तुलेश साहू, अश्वनी राजपूत एवं राजू दुबे को नियुक्त किया गया है। केन्द्रीय जेल बिलासपुर में अंकित सिंह, शेख निजामुद्दीज, सैय्यद मोहम्मद शाह, लक्ष्मीनाथ साहू, पुष्पेन्द्र शर्मा एवं संदीप बाजपेयी को, केन्द्रीय जेल जगदलपुर दिनेश यदु, होरी प्रसाद मण्डल, धरमूराम कश्यप, सरला तिवारी, विजेन्द्र ठाकुर एवं उगेश चन्द्र मरकाम को,  केन्द्रीय जेल अम्बिकापुर में सी.डी. कुमार, अजय अरूण मिंज, ज्योति सिंह, सुनील मिश्रा, संदीप गुप्ता एवं निखिल गुप्ताको, केन्द्रीय जेल दुर्ग ओमप्रकाश यादव, ईश्वर सोनवान, भरत साहू, नीतू सिंह, गुरलिन सिंह एवं जय डहरिया को नियुक्त किया गया है।  जिला जेल महासमुन्द में तौकीर खान, शिवानन्द महन्ती को, जिला जेल धमतरी में लखनलाल साहू, जिला जेल में रायगढ़ दीपक पाण्डेय, राजीव कालिया एवं यतीश कुमार गांधी, जिला जेल कोरबा में अरूण शर्मा, जिला जेल जांजगीर-चाम्पा में राधेश्याम थवाईत, ठण्डाराम साण्डे एवं संदीप थवाईत, जिला जेल दन्तेवाड़ा में तुलिका वर्मा, राधा नाग एवं प्रदीप गौतम, जिला जेल कांकेर में विश्राम गावड़े, देवेन्द्र सोनी एवं सुनील गोस्वामी, जिला जेल बैकुण्ठपुर में हर्षवर्धन शुक्ला, राजेन्द्र तिवारी एवं कमल कान्त साहू, जिला जेल जशपुर में रूद्रदाम पाठक एवं सुरेश अग्रवाल, जिला जेल बेमेतरा में जय सोनी, शेषनारायण मिश्रा एवं नवीन ताम्रकार, जिला जेल राजनांदगांव में रमेश डाकलिया, लालचन्द साहू एवं शमीम तिगाला और जिला जेल कबीरधाम में बिलाल खान, पिताम्बर वर्मा एवं सच्चिदानंद केशरवानी को नियुक्त किया गया है। इसी तरह उप जेल बलौदाबाजार में सुनील साहू एवं राकेश वैष्णव, उप जेल गरियाबंद में नरेन्द्र देवांगन एवं शीला ठाकुर, उप जेल सारंगढ़ में राकेश पटेल, उप जेल कटघोरा में चन्द्रहास राठौर एवं हसन अली, उप जेल सक्ती में राजीव जायसवाल, उप जेल मुंगेली में संजय जायसवाल, अरविन्द वैष्णव एवं लोकराम साहू, उप जेल पेण्ड्रारोड में लक्ष्मण राजपूत, उप जेल सुकमा में मनोज चैरसिया, मोहन सिंह एवं राजेन्द्र वर्मा, उप जेल नारायणपुर में राजेश दीवान एवं काण्डेराम मंडावी, उप जेल बीजापुर में अजय सिंह, उप जेल मनेन्द्रगढ़ में अभिषेक वर्मा, उप जेल सूरजपुर में  मनोज अग्रवाल, सतीश चैबे एवं दुर्गा शंकर दीक्षित, उप जेल संजारी बालोद में धीरज उपाध्याय, अनिल सेनानी एवं ढालसिंह देवांगन, उप जेल डोंगरगढ़ में भारत भूषण मेश्राम एवं राजकुमार सेन, उप जेल खैरागढ़ में चन्द्रचुड़मणि सिंह एवं भुनेश्वर साहू की नियुक्ति  अशासकीय संदर्शक के रूप में हुई है।