CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के इतने नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |    CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के 213 नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |    Corona update: प्रदेश में नहीं थम रहा कोरोना के बढ़ते मामले, आज फिर इतने नए मामले आए सामने…जानिए जिलेवार आकड़े    |    CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में नहीं थम रहे कोरोना के मामले...आज मिले इतने नए मरीज... देखें जिलेवार आंकड़े    |    CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के इतने नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |    CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के इतने नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |    लगातार बढ़ रही है कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में आये इतने नए मामले... देखिए जिलेवार आंकड़े    |    नहीं थम रहे कोरोना के मामले, आज मिले इतने नए मरीज, देखें जिलेवार आंकड़े…    |    CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में आज मिले कोरोना के इतने नए मरीज...देखें जिलेवार आंकड़े    |    CG Corona Update: छत्तीसगढ़ में नहीं थम रहे कोरोना के मामले...आज मिले इतने नए मरीज... देखें जिलेवार आंकड़े    |
यस बैंक की रीस्ट्रक्चरिंग स्कीम को मोदी सरकार ने दी मंजूरी, शेयरों में भी उछाल

यस बैंक की रीस्ट्रक्चरिंग स्कीम को मोदी सरकार ने दी मंजूरी, शेयरों में भी उछाल

नई दिल्ली, यस बैंक के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है। यस बैंक की रीस्ट्रक्चरिंग स्कीम को केंद्र की मोदी सरकार ने मंजूरी दे दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुक्रवार को कैबिनेट की बैठक में रीस्ट्रक्चरिंग स्कीम की मंजूरी दी गई। रीस्ट्रक्चरिंग स्कीम को मंजूरी मिलने के ऐलान के बाद बैंक के शेयर में जोरदार उछाल देखने को मिल रहा है। यस बैंक का शेयर 6 फीसदी से ज्यादा के उछाल के साथ 27.50 रुपये के स्तर पर कारोबार करते हुए देखा गया।
आरबीआई यस बैंक के प्रस्तावित रिस्ट्रक्चरिंग प्लान को कैबिनेट की बैठक में पेश किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ड्राफ्ट स्कीम के अंतर्गत स्टेट बैंक यस बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकता है। ड्राफ्ट स्कीम को लेकर आरबीआई द्वारा लोगों से सुझाव मांगा गया था। एसबीआई का कहना है कि यस बैंक के लिए बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स बनाया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हाउसिंग डेवलमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड और कोटक महिंद्रा प्राइम लिमिटेड भी यस बैंक में हिस्सा खरीद सकते हैं।

 

सामुदायिक विकास कार्यों के लिए बालको ने जीता गोल्डन पीकॉक अवार्ड

सामुदायिक विकास कार्यों के लिए बालको ने जीता गोल्डन पीकॉक अवार्ड

कोरबा,सामुदायिक विकास कार्यक्रमों के उत्कृष्ट प्रबंधन और क्रियान्वयन के लिए भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड बालको प्रबंधन ने वर्ष 2019 का गोल्डन पीकॉक पुरस्कार जीता। यह पुरस्कार 4 मार्च 2020 को बालको के सामुदायिक विकास प्रबंधक श्री विवेक सिंह ने मुंबई में सामुदायिक उत्तरदायित्व पर गोल्डन पीकॉक की ओर से आयोजित 14वें अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में ग्रहण किया।
इस अवसर पर बिडला सेंटर फॉर कम्यूनिटी इनिशिएटिव एंड रूरल डेवलपमेंट की अध्यक्ष श्रीमती राजश्री बिडला और केरल के लोक आयुक्त तथा कर्नाटक एवं उत्तराखंड उच्च न्यायालयों के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस सिरियाक जोसेफ मौजूद थे। इस उपलब्धि के लिए बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक श्री अभिजीत पति ने बालको परिवार को शुभकामनाएं दी हैं। बालको प्रबंधन अपने प्रचालन क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वावलंबन और आधारभूत संरचना विकास संबंधी योजनाएं संचालित करता है। बालको की योजनाओं से बड़ी संख्या में नागरिक लाभान्वित हो रहे हैं।
 

SBI बचत खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबर, नहीं रखना पड़ेगा मिनिमम बैलेंस

SBI बचत खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबर, नहीं रखना पड़ेगा मिनिमम बैलेंस

नई दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) ने अपने सभी बचत खाताधारकों के लिए एक औसत मासिक न्यूनतम राशि रखने की अनिवार्यता बुधवार को समाप्त करने की घोषणा की। इससे अब बैंक के सभी बचत खाताधारकों को ‘जीरो बैलेंस’ खाते की सुविधा मिलने लगेगी।
इसके अलावा बैंक ने सभी बचत खातों पर ब्याज दर समान रूप से तीन प्रतिशत वार्षिक कर दिया है।

एसबीआई ने बुधवार को एक बयान में कहा कि देश में वित्तीय समावेशन को आगे बढ़ाने के लिए उसने अपने सभी 44.51 करोड़ बचत खाताधारकों के लिए औसत मासिक न्यूनतम राशि (एएमबी) रखने की अनिवार्यता खत्म कर दी है।
अभी मेट्रो शहरों के बचत खाताधारकों को औसत मासिक न्यूनतम राशि के तौर पर 3,000 रुपये, कस्बों में 2,000 रुपए और ग्रामीण इलाकों में 1,000 रुपए खाते में रखने होते हैं। औसत मासिक न्यूनतम राशि को बनाए नहीं रखने की स्थिति में खाताधारकों को 5 से 15 रुपये जुर्माने और करों का भुगतान करना होता है।

एएमबी समाप्त किए जाने से बैंक के इन खाताधारकों को ‘जीरो बैलेंस’ (यानी कोई न्यूनतम राशि नहीं रखने) की सुविधा उपलब्ध होगी।
इसके अलावा बैंक ने त्रैमासिक आधार पर एसएमएस सेवा के लिए वसूले जाने वाले शुल्क को भी खत्म कर दिया है।
इस बारे में बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि यह फैसला और अधिक लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने वाला होगा।
बैंक का कहना है कि ‘सबसे पहले ग्राहक हित’ की अवधारणा पर चलते हुए उसने यह कदम उठाया है।

इसके अलावा बैंक ने बचत खातों पर वार्षिक ब्याज दरों को तर्कसंगत बनाते हुए सभी श्रेणियों के लिए घटाकर 3 प्रतिशत कर दिया है।

 

सेंसेक्स 2400 अंक टूटा, निफ्टी में 700 अंकों की गिरावट

सेंसेक्स 2400 अंक टूटा, निफ्टी में 700 अंकों की गिरावट

मुंबई। कोरोना के कहर से गुरुवार को दलाल स्ट्रीट पर फिर कोहराम मच गया। विदेशी बाजारों से मिले निराशाजनक संकेतों से बढ़े बिकवाली के भारी दबाव में सेंसेक्स 2,400 अंक से ज्यादा लुढ़ककर 33,250.06 पर आ गया। वहीं, निफ्टी 700 अंक से ज्यादा टूटकर 9,713.65 पर आ गया। कोरोना के कहर और कच्चे तेल में गिरावट के कारण बने निराशाजनक माहौल में शेयर बाजार में बिकवाली का भारी दबाव बना हुआ था। शेयर बाजार में आई गिरावट और विदेशी निवेशकों की बिकवाली के कारण डॉलर के मुकाबले रुपया भी कमजोर हुआ।

पूर्वाह्न् 11.01 बजे सेंसेक्स पिछले सत्र से 2,357.63 अंकों यानी 6.60 फीसदी लुढ़ककर 33,339.77 पर कारोबार कर रहा था, जबकि इससे पहले बंबई स्टॉक एक्सचेंज के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 2,447.34 अंकों की गिरावट के साथ 33,250.06 पर आ गया। कारोबार के आरंभ में सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 1,224.90 अंकों की गिरावट के साथ 34,472.50 पर खुला।
 
वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र के मुकाबले 731.90 अंकों यानी सात फीसदी की गिरावट के साथ 9,726.50 पर बना हुआ था जबकि इससे पहले निफ्टी 744.75 अंक टूटकर 9,713.65 पर आ गया। कारोबार के आरंभ में निफ्टी 10,039.95 पर खुला और 10,040.75 तक चढ़ा।

बाजार के जानकारों ने बताया कि कोरोनावायरस का प्रकोप दुनियाभर में गहराने और इससे निपटने के लिए उठाए जा रहे एहतियाती कदमों से बाजार में घबराहट का माहौल बना हुआ है। कोरोना का कहर और अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में गिरावट के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था पर मंदी की आशंका बनी हुई है, जिसके चलते बिकवाली का दबाव बना हुआ है।

डॉलर के मुकाबले रुपया गुरुवार पिछले सत्र से 61 पैसे फिसलकर 74.25 रुपये प्रति डॉलर पर खुला। रुपया बीते सत्र में मजबूती के साथ 73.64 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। हालांकि बाद में देसी करेंसी में पिछले सत्र के मुकाबले 74.12 रुपये प्रति डॉलर पर कारोबार चल रहा था। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को विश्वव्यापी महामारी घोषित किया है।
शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान निवेशकों के पांच लाख करोड़ रुपये डूबे, जाने पूरी खबर

शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान निवेशकों के पांच लाख करोड़ रुपये डूबे, जाने पूरी खबर

नयी दिल्ली। शेयर बाजार में सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान भारी गिरावट के चलते निवेशकों के करीब पांच लाख करोड़ रुपये डूब गए। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते बढ़ती आर्थिक अनिश्चितता के कारण यह गिरावट हुई। बीएसई में 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स सूचकांक 1515.01 अंक या 4.03 प्रतिशत गिरकर 36,061.61 पर आ गया। निफ्टी में भी 417.05 अंकों या 3.80 प्रतिशत की गिरावट हुई और यह 10,572.40 के स्तर पर आ गया। बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में भारी गिरावट दर्ज की गई। इच्टिी बाजार में इस गिरावट के चलते निवेशकों के 4,79,820.87 करोड़ रुपये डूब गए और बीएसई पर कुल बाजार पूंजीकरण 1,39,39,640.96 करोड़ रुपये रह गया। बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण शुक्रवार को कारोबार के अंत में 1,44,31,224.41 करोड़ रुपये था। कारोबारियों का अनुमान है कि कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मंदी की आशंका गहराने के चलते शेयर बाजारों में नकारात्मक रुख है। सेंसेक्स के सभी शेयर घाटे में चल रहे हैं।
 
ओएनजीसी, रिलायंस, इंडसइंड बैंक, टाटा स्टील, एलएंडटी, आईसीआईसीआई बैंक और इंफोसिस गिरने वाले प्रमुख शेयर रहे। पिछले सत्र में बीएसई में 893.00 अंकों की और निफ्टी में 279.55 अंकों की गिरावट हुई थी। शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान सकल आधार पर विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 3,594.84 करोड़ रुपये की इच्टिी बेची, जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 2,543.78 करोड़ रुपये की शुद्ध लिवाली की। कारोबारियों ने बताया कि तेल कीमतों में भारी गिरावट और वैश्विक स्तर पर अनिश्चितता के माहौल को देखते हुए घरेलू बाजार में निवेशक सतर्क रूख अपना रहे हैं। उन्होंने कहा कि विदेशी फंडों के बाहर जाने से बाजार की धारणा पर नकारात्मक असर पड़ा। उन्होंने बताया कि यस बैंक के संकट के मद्देनजर देश के बैंकिंग क्षेत्र की स्थिरता को लेकर चिंताएं जताई जा रही हैं।
कोरोना वायरस आपातकाल का फायदा उठाने वालों के खिलाफ फेसबुक, इंस्टा सख्त

कोरोना वायरस आपातकाल का फायदा उठाने वालों के खिलाफ फेसबुक, इंस्टा सख्त

सैन फ्रांसिस्को। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और इंस्टाग्राम ने शनिवार को अपने प्लेटफॉर्म पर मेडिकल फेस मास्क बेचने वाले विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगा दिए हैं, ताकि लोगों से कोरोनावायरस आपातकाल का फायदा न उठाया जा सके। फेसबुक पर ट्रस्ट/इंटिग्रिटी टीम (विज्ञापनों और वाणिज्यिक उत्पादों के लिए) का नेतृत्व करने वाले रॉब लीथर्न ने ट्विटर पर इस निर्णय की घोषणा की।

उन्होंने ट्वीट किया, हम मेडिकल फेस मास्क बेचने वाले विज्ञापनों और प्रोडक्ट लिस्टिंग पर प्रतिबंध लगाने जा रहे हैं। कोविड-19 पर हम कड़ी नजर बनाए हुए हैं और अगर हम यह पाते हैं कि लोग इस सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं, तो हम अपनी नीतियों में आवश्यक सुधार करेंगे। इंस्टाग्राम के प्रमुख एडम मोसेरी ने भी उनके इस निर्णय को अपना समर्थन दिया है। उन्होंने ट्वीट किया, आपूर्ति कम है और दाम ज्यादा है। हम लोगों द्वारा इस सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल का फायदा उठाए जाने के खिलाफ हैं। हम भी अगले कुछ दिनों में इसकी शुरुआत करेंगे।

फेसबुक ने इस बात का भी ऐलान किया कि उनके इस मंच पर कोरोनावायरस से संबंधित खोजों के साथ एक पॉप-अप या सूचना भी ऑटोमैटिक आएगा, जिसमें विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से आवश्यक निर्देश होंगे। 

अन्य तकनीकी कंपनियां भी मूल्य वृद्धि और स्वास्थ्य संबंधी गलत सूचना को रोकने के लिए प्रयासरत है।
टेक क्रंच की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेजन भी अपने यहां से हैंड सैनिटाइजर और फेस मास्क जैसे उत्पादों पर च्अधिक कीमतों वाले ऑफर्सज् को हटाने की काम पर लगा हुआ है, जबकि ईबे ने एन95 और एन100 फेस मास्क, हेंड सेनिटाइजर और एल्कोहॉल वाइप्स प्रोडक्ट की लिस्टिंग पर प्रतिबंध लगा दिया है।
एयर इंडिया समूह के विमान ने जगदलपुर एयरपोर्ट में ट्रायल लैंडिंग किया, जाने कब से नियमित रूप से उड़ान होगी शुरू

एयर इंडिया समूह के विमान ने जगदलपुर एयरपोर्ट में ट्रायल लैंडिंग किया, जाने कब से नियमित रूप से उड़ान होगी शुरू

जगदलपुर, बस्तर संभाग मुख्यालय से हवाई सेवा पुन: जल्द शुरू हो सकता है। मिल रही जानकारी के अनुसार 29 मार्च से एयर इंडिया समूह की एलायंस कंपनी यहां से नियमित उड़ान का संचालन शुरू करेगी। इससे पहले शुक्रवार को एलायंस का एटीआर 72 विमान जगदलपुर पहुंचा। यह एयर इंडिया समूह के एलायंस की ट्रायल लैंडिंग थी।
विमान दिल्ली से उड़कर सीधे जगदलपुर में लैंड हुआ। विमान के साथ डीजीसीए और एयर इंडिया एलायंस के अफसर भी पहुंचे हुए हैं। कुछ घंटे बाद सारी तकनीकी जानकारी जुटाने और उससे संतुष्ट होने के बाद विमान दिल्ली के लिए टेकऑफ करेगा। एयरपोर्ट सूत्रों की मानें तो लैंडिंग सफल रही है, डीजीसीए को भेजी जाने वाली रिपोर्ट के बाद 29 मार्च से नियमित उड़ान का रास्ता पूरी तरह से साफ हो जाएगा। 29 मार्च से फ्लाइट रायपुर-जगदलपुर-हैदराबाद के लिए चलेगी। जगदलपुर एयरपोर्ट को ट्रांजिट एयरपोर्ट बनाये जाने की जानकारी मिल रही है।
 

फरवरी में फास्टैग से सरकार ने रोजाना कमाए 63 करोड़ रुपए, महीने में हुई 1841 करोड़ की कमाई

फरवरी में फास्टैग से सरकार ने रोजाना कमाए 63 करोड़ रुपए, महीने में हुई 1841 करोड़ की कमाई

पूरे देश में टोल टैक्स वसूली के लिए फास्टैग व्यवस्था लागू हो गई है। फरवरी महीने में इस नई व्यवस्था के द्वारा 1841 करोड़ रुपए की कमाई की गई है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार इस महीने में फास्टैग से सरकार को टोल प्लाजा से रोजना 63 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई हुई है। नेशनल हाईवे स्थित टोल प्लाजा पर फास्टैग से टोल टैक्स वसूला जा रहा है। हालांकि अभी हाईवे पर एक-चौथाई टोल बूथ पर नकद और फास्टैग दोनों से भुगतान हो सकेगा।
बिना फास्टैग के लेन में घुसने वाले वाहनों से वसूले 20 करोड़
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने कहा है कि उसने टोल प्लाजा पर फास्टैग वाले लेन में घुसने वाले बिना टैग के 18 लाख वाहनों से 20 करोड़ रुपए वसूले हैं। सड़क परिवहन मंत्रालय ने पिछले साल दिसंबर में इलेक्ट्रॉनिक टोल वसूली के लिए फास्टैग की शुरुआत की थी। बिना टैग वाला वाहन अगर फास्टैग वाली लेन में घुसता है तो उसे दो गुना टोल देना होता है। अभी तक देशभर में 1.55 करोड़ से ज्यादा फास्टैग जारी किए जा चुके हैं।
 

हवाई सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक बड़ी खबर, अब मिलेगी नई सेवा, पढ़े पूरी खबर...

हवाई सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक बड़ी खबर, अब मिलेगी नई सेवा, पढ़े पूरी खबर...

नईदिल्ली। हवाई सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। केंद्र सरकार ने भारत में संचालित उड़ान सेवाओं को उड़ानों के दौरान यात्रियों को वाई-फाई उपलब्ध कराने की सोमवार को मंजूरी दे दी है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने इसके लिए एक अधिसूचना जारी कर विमान अधिनियम, 1937 में बदलाव किया है। इसके अनुसार पायलट इन कमांड उड़ान के दौरान वाई-फाई के माध्यम से यात्रियों को इंटरनेट के इस्तेमाल की अनुमति दे सकता है। यह भी शर्त रखी गयी है कि वाई-फाई का इस्तेमाल करने के दौरान भी यात्री अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, जैसे लैपटॉप, टैबलेट, स्मार्टफोन, स्मार्टवाच, ई-रीडर आदि को फ्लाइट या एरोप्लेन मोड में ही रखेंगे।

 

अधिसूचना में कहा गया है कि उड़ान के दौरान वाई-फाई का इस्तेमाल तभी हो सकेगा जब नागर विमानन महानिदेशालय इसके लिए विमान को सत्यापित करता है।

इससे पहले पिछले शुक्रवार को विस्तारा के सीईओ लेस्ली थंग ने एवरेट में पहले बोइंग 787-9 विमान की डिलीवरी के मौके पर पत्रकारों से कहा था कि यह भारत में उड़ान के दौरान वाई-फाई उपलब्ध कराने वाला पहला विमान होगा। वहीं पिछले माह टाटा समूह की कंपनी नेल्को और पैनासॉनिक एवियॉनिक्स कॉरपोरेशन ने भारतीय विमानन क्षेत्र में उड़ान के दौरान ब्रॉडबैंड सेवाएं मुहैया कराने के लिए साझेदारी की घोषणा की थी। तब बताया गया था कि विस्तारा एयरलाइंस के साथ इस सेवा की शुरुआत की जाएगी। बता दें कि विस्तारा टाटा समूह और सिंगापुर एयरलाइंस की संयुक्त कंपनी है।

इस संदर्भ में नेल्को के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ( सीईओ ) पीजे नाथ ने कहा है कि, च्हम यह बताकर उत्साहित हैं कि नेल्को देश में लंबे समय से प्रतीक्षित उड़ान ब्रॉडबैंड सेवाओं की शुरुआत कर रही है। विस्तारा इस सेवा से जुडऩे वाली पहली विमानन कंपनी है।ज् इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नेल्को ने इस बाबत पैनासॉनिक एवियॉनिक्स कॉरपोरेशन की एक अनुषंगी के साथ साझेदारी की है।

इससे पहले दिसंबर में खबर आई थी कि विस्तारा में जनवरी से यात्रियों को इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी मिलने लगेगी। नेल्को एक वीसैट सेवा प्रदाता कंपनी है, जिसको सरकार से वीसैट लिंक मिल गया है। केंद्र सरकार ने विस्तारा को स्पेक्ट्रम भी दे दिया है। डाटा मिलने से भी यात्री व्हाट्सएप जैसे एप का इस्तेमाल फोन कॉल करने के लिए कर सकते हैं।

मई 2018 से पहले भारतीय हवाई क्षेत्र में उडऩे वाले प्रत्येक विमान को डाटा या फोन सेवा चलाने की मंजूरी नहीं थी। यात्रा के वक्त यात्रियों को अपना मोबाइल फोन बंद करके या फिर फ्लाइट मोड पर रखना होता था। यह नियम विदेश से आने वाली उड़ानों पर भी लागू था। हालांकि अब दूरसंचार विभाग ने पहले लगाई रोक को हटा लिया है।
मार्च माह में लगातार 8 दिन बंद रह सकते हैं बैंक, 8 मार्च से पहले निपटा लें अपना बैंक का काम, जाने क्या है बैंक बंद हो सकने की वजह

मार्च माह में लगातार 8 दिन बंद रह सकते हैं बैंक, 8 मार्च से पहले निपटा लें अपना बैंक का काम, जाने क्या है बैंक बंद हो सकने की वजह

नई दिल्ली | अगर आपका बैंक से जुड़ा कोई काम है तो उसे आप 8 मार्च से पहले ही निपटा लें तो बेहतर होगा, क्योंकि मार्च में लगातार 8 दिनों तक बैंक बंद रह सकते हैं। 8 मार्च को रविवार है, जबकि 9 तथा 10 मार्च को होली की छुट्टी है। 11,12 तथा 13 मार्च को बैंककर्मी हड़ताल पर जा सकते हैं। अगर बैंककर्मी हड़ताल पर गए तो लगातार 6 दिनों की छुट्टी हुई, वहीं 14 मार्च को महीने का दूसरा शनिवार पड़ रहा है, जबकि 15 को रविवार का अवकाश है। ऐसे में बैंक लगातार 8 दिन बंद रहेंगे।

अगर ऐसा होता है तो बैंक के ग्राहकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि मार्च वित्त वर्ष का आखिरी माह होता है और इस माह में सारे साल के लंबित वित्त मामले निपटाने होते हैं। दरअसल बैंक कर्मचारी अपनी सैलरी को रिवाइज कराने की मांग को लेकर हड़ताल करने जा रहे हैं। सरकारी बैंकों की यूनियन बैंक एंप्लॉयी फेडरेशन ऑफ इंडिया और ऑल इंडिया बैंक एंप्लॉयी एसोसिएशन ने 11 से 13 मार्च तक देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया हैं। बैंक कर्मचारियों का कहना है कि हर पांच साल में बैंकों के अधिकारियों और कर्मचारियों का वेतन रिवाइज किया जाता है, लेकिन 2012 के बाद से ऐसा नहीं हुआ है। साथ ही बैंक यूनियनों ने दो साप्ताहिक अवकाश देने की भी मांग की है।
 
रिजर्व बैंक अकेले महंगाई को नहीं कर सकता नियंत्रित,बोले RBI के पूर्व गवर्नर

रिजर्व बैंक अकेले महंगाई को नहीं कर सकता नियंत्रित,बोले RBI के पूर्व गवर्नर

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर सी रंगराजन ने कहा है कि आरबीआई अकेले मुद्रास्फीति को नियंत्रित नहीं कर सकता क्योंकि आपूर्ति मामलों को सरकार द्वारा प्रबंधित करने की जरूरत है. ‘नई मौद्रिक नीति रूपरेखा-इसका मतलब’ शीर्षक से जारी एक पत्र में रंगराजन ने आरबीआई की मुद्रास्फीति को काबू में रखने की सीमाओं के बारे में चर्चा की है. उन्होंने कहा, मुद्रास्फीति का जो लक्ष्य दिया गया है, उसका एक एक दायरा होना चाहिए और उसके समायोजन को लेकर समय सीमा होनी चाहिए तथा यह बहुत अल्प अवधि का नहीं होना चाहिए.

रंगराजन ने कहा, इन सबके बावजूद मौद्रिक नीति को उन बातों पर ध्यान दिये बिना काम करना चाहिए जो मुद्रास्फीति को बढ़ावा देने वाले हों. स्पष्ट तौर पर आपूर्ति संबंधी मसले में आपूर्ति प्रबंधन की जरूरत होती है और यह सरकार की जिम्मेदारी होनी चाहिए.
उन्होंने कहा कि देश में मुद्रास्फीति लक्ष्य को जो विचार अपनाया गया है, उससे कई संदेह और चिंताएं बढ़ी हैं. नई मौद्रिक नीति रूपरेखा के तहत रिर्जव बैंक को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 2 प्रतिशत घट-बढ़ के साथ 4 प्रतिशत के स्तर पर बनाये रखने की आवश्यकता है.

रंगराजन ने कहा, इस प्रकार एक तरह से यह लचीला लक्ष्य है. आरबीआई कानून में संशोधन कर मौद्रिक नीति समिति के गठन की व्यवस्था की गयी जो मुद्रास्फीति लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए नीतिगत दर का निर्धारण करेगी. उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति को लक्ष्य के अनुसार रखने पर ध्यान देने का मबतल यह नहीं है कि वृद्धि और वित्तीय स्थिरता जैसे दूसरे लक्ष्यों को नजरअंदाज कर दिया जाए.

बता दें कि सरकार ने 2016 में नीतिगत निर्धारित करने के लिये मौद्रिक नीति समिति का गठन किया. रिजर्व बैंक के गवर्नर की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय समिति मतदान के आधार पर निर्णय करती है.
 

लैंड रोवर ने अपनी नई एसयूवी डिस्कवरी स्पोर्ट को अतिरिक्तं फीचर्स और वर्सेटिलिटी से और बेहतर बनाया

लैंड रोवर ने अपनी नई एसयूवी डिस्कवरी स्पोर्ट को अतिरिक्तं फीचर्स और वर्सेटिलिटी से और बेहतर बनाया

रायपुर | जगुआर लैंड रोवर इंडिया ने आज वर्ष 2020 के नए मॉडल डिस्कवरी स्पोर्ट  की लॉन्चिंग की घोषणा कर दी। यह ज्यादा सहजए ज्यादा व्यावहारिक और आधुनिक एसयूवी है। एस और आर डायनेमिक एसई वर्जन में उपलब्ध नई एसयूवी डिस्कवरी स्पो्र्ट में बीएस.6 अनुकूल 183 किलोवॉट का इंजीनियम टर्बोचाज्र्डल पेट्रोल इंजन और 132 किलो वॉट का इंजीनियम टर्बोचाज्र्डअ डीजल पावरट्रेन इंजन लगा है। 


जगुआर लैंड रोवर इंडिया लिमिटेड ;जेएलआरआईएलद्ध के प्रेसिडेंट और प्रबंध निदेशक रोहित सूरी ने कहाए श्नई डिस्कवरी स्पोर्ट में इसके मूल डिजाइन का बोल्ड रूप हैए जिसमें नवीनतम तकनीक शामिल की गई है। रोमांच की भावना को हवा देते हुए इस वाहन में कई सुधारे गए फीचर्स शामिल किएए जिससे न केवल वाहन की क्षमता बढ़ेगीए बल्कि गाड़ी को ड्राइव करने का रोमांच और अहसास और बढ़ जाएगा। नई एसयूवी में इसके शानदार डिजाइन को और सुधारा गया है। इसके साथ इसमें कई अलग.अलग फीचर्स जोड़े गए हैंए जिससे डिस्कवरी स्पोर्ट लैंड रोवर पोर्टफोलियो में प्रमुख मॉडल्स में एक बन गई है।

विशिष्टी डिजाइन
एसयूवी की बॉडी का निर्माण समान अनुपात में किया गया है। डिस्कवरी स्पोर्ट को नई प्रीमियम एलईडी हेडलाइट्सए डे टाइम रनिंग लाइट्स और कार के पिछले भाग में एलईडी लाइट्स से एसयूवी की खबसूरती में चार चांद लगाए गए हैं। एसयूवी के बाहरी डिजाइन की खूबसूरती की झलक केबिन में भी नजर आती है। इस एसयूवी में बैठते ही काफी सुकून मिलता है। इस एसयूवी बैठने में काफी सुविधाजनक है। एसयूवी में बैठने पर नए स्तर के आराम का अहसास होता है। इस एसयूवी में सामान रखने की काफी जगह है। इसके अलावा इस एयूवी में प्रीमियम मटीरियल से बनाया गया नया स्पोर्ट शिफ्ट गियर सिलेक्टर भी दिया गया। एसयूवी की फिक्सड और खूबसूरत छत के साथ बोल्ड आड़ी तिरछी लाइनें इसकी अंदरूनी भाग की खूबसूरती को और बढ़ाती है।  

टेक्नोलॉजी और इंफोटेनमेंट
एसयूवी का नया डिस्प्ले स्क्रीन और सेंटर कंसोल से डिस्कवरी स्पोर्ट का इंटीरियर पूरी तरह बदल जाता है। यह फीचर एसयूवी को और अधिक सुविधाजनक बनाते हुए इसे व्यापवहारिक और हाई क्वॉलिटी स्पेस बनाता है। केबिन एयर आइनोजेशन तकनीक से ड्राइवर और यात्रियों दोनों की सेहत का ध्यान रखा गया। आधुनिक और बेहतरीन इनकंट्रोल0 टचप्रोन्न् इंफोटेनमेंट दिया गया है। यह फीचर एप्पेल कारप्लेि0 और एंड्रॉयड ऑटोन्न् के साथ उपलब्ध है। इसके साथ ही कार की स्मार्ट सेटिंग ड्राइवर की पसंद जानने के लिए आर्टिफिशियल लॉगरिथम का प्रयोग करती है। एसयूवी का इंटेलिजेंट सिस्टम ड्राइवर की समझ और पसंद को जानकर उसी के अनुरूप संदेश देता है। इसमें सीट एडजस्ट करनाए म्यूजिक और मौसम के अनुसार एसयूवी का भीतरी माहौल बनाने में मदद करना शामिल है। 4जी वाई.फाई हॉटस्पॉट के साथ पहली बार लोअर सेंटर कंसोल में मोबाइल की चार्जिंग की सुविधा भी दी गई है। इस एसयूवी में इंफोटेनमेंट का लेवल बढ़ा दिया गया है। एसयूवी में मेरिडियन ऑडियो की सुविधा भी दी गई हैए जिसे एसयूवी में बैठे लोगों का काफी गजब का मनोरंजन होता है। इनकंट्रोल रिमोट एवं कंट्रोल ऐप आपको कहीं से भी अपनी डिस्कवरी स्पोर्ट पर नजर रखने की सुविधा देगा। इस ऐप से आप अपने वाहन का डेटा काफी विस्तार से देख सकते हैंए जिसमें फ्यूल लेवलए डोर और विंडो स्टेटसए इमरजेंसी कॉल ;ईकॉलद्ध और ब्रेकडाउन कॉल ;बीकॉलद्ध आदि शामिल हैं।

पहली बार डिस्कवरी स्पोर्ट में ष्क्लियर साइट रियर ब्यू मिररष् भी अब उपलब्ध है। यह रियर व्यू मिरर एक बटन दबाते ही एचडी विडियो स्क्रीन में तब्दील हो जाता है। इस स्क्रीन पर पीछे की ओर के कैमरे का सारा नजारा मिरर पर आ जाता है। इससे यह सुनिश्चित होता है कि ड्राइवर  बिना किसी परेशानी के पीछे देख सके और उसके रास्ते में कोई यात्री या पीछे की सीट पर रखा सामान रुकावट न बन सके।
बहुउपयोगिता और क्षमता 
ट्रांसवर्स आर्किटेक्ट ;पीटीएद्ध तकनीक के आधार पर बनी डिस्कवरी स्पोर्ट में अपार क्षमता है। डिस्कवरी सपोर्ट में ऑल व्हील ड्राइव और डीसेंट कंट्रोल फीचर दिए गए हैंएजिससे मुश्किल सफर भी काफी आसान हो जाता है। गाड़ी चलाते समय ऑल टेरेन प्रोग्रेस कंट्रोल ;एटीपीसीद्ध जैसे फीचर्स से आप ऊबड़.खाबड़ रास्तों पर अच्छी स्पीड पर गाड़ी चला सकते हैं। स्टैंडर्ड टेरेन रेस्पॉन्स 2 के साथ एटीपीसीए ऑल व्हील ड्राइव ट्रैक्शन ;एडब्ल्यूडीद्ध और ब्रेकिंग सिस्टम के साथ बेहद अच्छी तरह से काम करता है। हर ऑल व्हीचल ड्राइव के लिए डिस्कवरी स्पोर्ट टॉर्क वेक्टरिंग बाई ब्रेकिंग ;टीवीबीबीद्ध सिस्टम का इस्तेमाल करती हैए जिससे किनारों या संकरे रास्तों पर ड्राइवर का गाड़ी पर पूरी तरह कंट्रोल बना रहता है। इसके साथ ही एसयूवी ने 600 मिमी तक पानी में चलने की शानदार क्षमता भी बरकरार रखी है।
 
भारत स्टेज-4 वाहनों का एक अप्रैल से नहीं होगा पंजीयन,लेकिन 29 फ़रवरी के पहले ही खरीद सकेंगे ऐसे वाहन मिल रहे है बेहतरीन ऑफर और छूट

भारत स्टेज-4 वाहनों का एक अप्रैल से नहीं होगा पंजीयन,लेकिन 29 फ़रवरी के पहले ही खरीद सकेंगे ऐसे वाहन मिल रहे है बेहतरीन ऑफर और छूट

एक अप्रैल 2020 से भारत स्टेज-4 (BS-IV) वाहनों का पंजीयन नहीं किया जाना है। इस संबंध में परिवहन आयुक्त डॉ. कमलप्रीत सिंह द्वारा राज्य के समस्त क्षेत्रीय, अतिरिक्त क्षेत्रीय तथा जिला परिवहन अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत सभी वाहन डीलर्स को लिखित रूप से अवगत कराएं कि बीएस-04 वाहनों के पंजीयन अप्रूवल के लिए समस्त लंबित प्रकरण 29 फरवरी 2020 तक आवश्यक रूप से जमा करें, ताकि वाहन विक्रेता के द्वारा विक्रय किए गए समस्त बीएस-04 वाहनों का पंजीयन किया जा सके। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि वाहन विक्रेता द्वारा यदि क्रेता को बीएस-04 वाहन बिक्री किया गया है तो सम्पूर्ण वैध दस्तावेज प्राप्त कर निर्धारित समयावधि में उसका पंजीयन की कार्रवाई पूर्ण कर लेंवे।
परिवहन आयुक्त द्वारा जारी निर्देश में अवगत कराया गया है कि चूंकि एक अप्रैल 2020 से बीएस-04 वाहनों का पंजीयन नहीं किया जाना है, ऐसी स्थिति में काफी संख्या में पंजीयन प्रकरण लंबित हो सकते हैं। साथ ही अंतिम समय में अत्यधिक कार्यभार की वजह से विभिन्न तकनीकी समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती है, जिससे वाहन क्रेता को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ लोक सेवा गारंटी अधिनियम 2011 के तहत गैर-परिवहन तथा परिवहन वाहनों का पंजीयन के लिए निर्धारित अधिकतम 30 कार्य दिवस और वाहनों का अस्थायी पंजीयन के लिए निर्धारित अधिकतम 15 कार्य दिवस में पंजीयन कार्यवाही सम्पादित किया जाना है। अतएव इस आधार पर वाहन विक्रेता अथवा क्रेता के हितों को ध्यान में रखते हुए वाहन डीलर्स से 29 फरवरी 2020 तक पंजीयन फाइलें प्राप्त करने के लिए जिले के वाहन डीलर्स को सूचित किया जाए, ताकि क्रय किए गए समस्त बीएस-4 वाहनों का पंजीयन 31 मार्च 2020 तक किया जा सके।
राज्य में प्रचलित डीलर प्वाईंट वाहन रजिस्टेªशन की प्रक्रिया में वाहन विक्रेता डीलर के द्वारा विक्रय की गई वाहनों का पंजीयन चिन्ह तत्काल आवंटित किया जाता है, तत्पश्चात वाहन विक्रेता डीलर के द्वारा पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज परिवहन कार्यालय में जमा किया जाता है। डीलर द्वारा जमा किए गए समस्त आवश्यक वैध दस्तावेजों की जांच करने के पश्चात पंजीयन प्राधिकारी द्वारा वाहन-4.0 पोर्टल में वाहन का पंजीयन अप्रूवल किया जाता है। तत्पश्चात ही वाहन पूर्ण रूप से पंजीकृत माना जाता है। चूंकि एक अप्रैल 2020 से बीएस-04 वाहनों का पंजीयन नहीं किया जाना है।
इस संबंध में निर्देशित किया गया है कि जिन वाहनों का वैध दस्तावेज परिवहन कार्यालय में जमा नहीं किया गया है और वाहन-04 में अप्रूवल शेष है। उन सभी वाहनों का पंजीयन सुनिश्चित करने के लिए लंबित समस्त प्रकरण 29 फरवरी 2020 तक जमा कर लिया जाए। यह भी पाया जाता है कि वाहन विक्रेताओं से डिस्काउंट/ऑफर की उम्मीद में क्रेता द्वारा अंतिम दिवस तक इंतजार किया जाता है। इस संबंध में यदि वाहन डीलर्स स्वेच्छा से डिस्काउंट/ऑफर देना चाहते हैं तो अंतिम दिवस का इंतजार करने की बजाए फरवरी में ही यह कार्यवाही कर सकते हैं। परिवहन आयुक्त द्वारा समस्त पंजीयन प्राधिकारी को इसका क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने परिवहन अधिकारियों को जिलों में पंजीकृत वाहन डीलर्स वाहनों के भारत स्तर-4 के स्टॉक से संबंधित विवरण लिखित रूप में 25 फरवरी 2020 तक प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं। जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि स्टॉक के समाप्त होने तक भारत स्तर-4 की गाड़ियों को पंजीकृत करने में नियमानुसार कोई अवरोध अथवा दिक्कत ना हो।

 

पेटीएम मॉल का 2 साल में 500 करोड़ का जीएमवी हासिल करने का लक्ष्य

पेटीएम मॉल का 2 साल में 500 करोड़ का जीएमवी हासिल करने का लक्ष्य

नई दिल्ली ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पेटीएम मॉल ने कहा कि उसने भारत में निर्मित उत्पादों के लिए देश का सबसे बड़ा व्यापारिक घराना बनाने के उद्देश्य से निर्यात के क्षेत्र में कारोबार शुरू किया है और संचालन के पहले दो वर्षो में ही 500 करोड़ रुपये के ग्रोस मर्चेडाइज वैल्यू (जीएमवी) को हासिल करने का लक्ष्य रखा है। पेटीएम मॉल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजीव मिश्रा ने बुधवार को एक बयान में कहा, हमने वैश्विक बाजारों में भारतीय उत्पादों की एक श्रृंखला को पूरी क्षमता के साथ पेश करने के उद्देश्य से निर्यात के क्षेत्र में कारोबार शुरू किया है।

 

मिश्रा ने कहा, हमारा प्रयास वैश्विक उपभोक्ताओं के लिए भारत के उत्पादों को खरीदने के लिए सबसे बड़ा प्रवेश द्वार बनाने का है। हमारे पास आपूर्तिकर्ताओं का एक सुस्थापित नेटवर्क है और हम सभी जगह हमारी टीम को तैनात कर रहे हैं।

वैश्विक बाजारों में भारतीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए पेटीएम मॉल कई प्रमुख साझेदारों जैसे मवारिद डिस्ट्रीब्यूशन, मेयर फूड्स, वेदिका ऑर्गेनिक्स, सिगे इम्पेक्स, फाइव रिवर फूडस्टफ इत्यादि के साथ जुड़ा है।

इसने दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य पूर्व, कनाडा, अमेरिका और अफ्रीका में भारतीय उत्पादों के लिए बाजार का विस्तार किया है, जिससे भारतीय विक्रेताओं के लिए व्यापार के अवसरों और विकास में वृद्धि हुई है। कंपनी अपने मौजूदा मर्चेट पार्टनर्स को नए क्षेत्र में अपने उत्पादों की पेशकश करने के लिए भी तैयार कर रही है।

परिचालन के पहले दो वर्षों में 500 करोड़ रुपये के जीएमवी के लक्ष्य के साथ पेटीएम मॉल इन केंद्रों में एक टीम का गठन कर रहा है, ताकि अधिक अवसरों का लाभ उठाया जा सके और अधिक कुशल तरीके से हर जगह पर व्यापार किया जा सके।

पेटीएम ईकॉमर्स प्राइवेट लिमिटेड के स्वामित्व में पेटीएम मॉल अपने अद्वितीय ऑफलाइन-टू-ऑनलाइन (ओ टू ओ) मॉडल के साथ भारत में ई-कॉमर्स व्यापार बेहतरीन तरीके से कर रहा है।

कंपनी चावल, मसाले, चाय, ड्राई फ्रूट्स, बाजरा, आवश्यक तेल, च्निोआ, मोरिंगा, ऑर्गेनिक भोजन, अधिक समय तक चलने वाले भोजन (फ्रोजन फूड), ताजे फल एवं सब्जियां, पल्प और पेस्ट जैसे भारत में निर्मित/मेड इन इंडिया उत्पादों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने का काम बखूबी कर रही है।

Oppo भारत में लाएगी दुनिया का पहला स्माेर्टफोन Reno 3 Pro

Oppo भारत में लाएगी दुनिया का पहला स्माेर्टफोन Reno 3 Pro

चीनी स्मार्टफोन कंपनी ओप्पो (Oppo) ने अपनी रेनो श्रृंखला के स्माेर्टफोन रेनो 3 प्रो (Reno 3 Pro) को भारत में लांच करने का ऐलान किया है। यह स्मार्टफोन 2 मार्च को बाजार में उतारा जाएगा, जो कि 44 मेगापिक्सल डुअल होल-पंच कैमरा सेटअप के साथ दुनिया का पहला फोन होगा। कंपनी ने इस फोन का 15 सेकंड का एक टीजर जारी किया है।
स्मार्टफोन कंपनी ओप्पो ने 2 मार्च को भारतीय बाजार में रेनो 3 प्रो स्मार्टफोन लांच करने का ऐलान किया है। यह फोन पिछले साल दिसंबर में लांच किया गया था, लेकिन इसमें सिर्फ एक कैमरा था।

चीन में लांच किए गए ओप्पो रेनो 3 प्रो मॉडल में कर्व्ड डिस्प्ले है, लेकिन भारत में फ्लैट डिस्प्ले के साथ यह फोन आ सकता है।

इसके पिछले हिस्से पर कर्व्ड ग्लास रियर पैनल है। भारत में लांच होने वाला ओप्पो रेनो 3 प्रो 4जी सपोर्ट के साथ आएगा। हालांकि चीन में इसे 5जी सपोर्ट के साथ पेश किया गया था।

उम्मीद जताई जा रही है कि भारतीय बाजार में इस फोन के लांच होने से पहले इसके फीचर्स का विस्तार से खुलासा किया जाएगा।
 

मारुति सुजुकी ने उतारा वैगनआर का बीएस-6 सीएनजी संस्करण,जानिये कितनी है इसकी कीमत

मारुति सुजुकी ने उतारा वैगनआर का बीएस-6 सीएनजी संस्करण,जानिये कितनी है इसकी कीमत

नयी दिल्ली, कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने वैगनआर का बीएस-6 उत्सर्जन मानकों के अनुकूल सीएनजी संस्करण शुक्रवार को पेश किया। इसकी शोरूम कीमतें 5.25 लाख रुपये से शुरू हैं। कंपनी ने कहा कि वैगनआर एस-सीएनजी नये उत्सर्जन मानक के अनुकूल उसकी तीसरी पेशकश है। इसमें 60 लीटर की ईंधन टंकी लगी है तथा यह 32.52 किलोमीटर प्रति किलोग्राम का माइलेज देती है। कंपनी ने वैगनआर एस-सीएनजी के दो संस्करण एलएक्सआई और एलएक्सआई (ओ) उतारे हैं, जिनकी शोरूम कीमतें क्रमश: 5.25 लाख रुपये और 5.32 लाख रुपये हैं। 

जन्मदिन और प्री-वेडिंग के लिए 10 हजार खर्च कर बुक कर सकते है मेट्रो का प्राइवेट कोच, जाने पूरी खबर

जन्मदिन और प्री-वेडिंग के लिए 10 हजार खर्च कर बुक कर सकते है मेट्रो का प्राइवेट कोच, जाने पूरी खबर

 ई दिल्ली | अगर आप अपने घर के उत्सव को कुछ खास बनाना चाहते हैं तो आपके पास एक बेहतरीन विकल्प है। अब आपको एच लाइन पर नोएडा-ग्रेनो मेट्रो के कोच में उत्सव मनाने का मौका मिल पाएगा। इसके लिए आपको तय शुल्क अदा करना होगा। इसके लिए आपको हर घंटे के हिसाब से पेमेंट करना होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, बुकिंग कंफर्म होने के बाद प्रति घंटे 5 से 10 हजार रुपये तक की रकम जमा करानी होगी। इसके अलावा बुकिंग कराने वाले को सिक्योरिटी मनी के तौर पर 20 हजार रुपये की अतिरिक्त राशि भी जमा करानी होगी, जो कि बाद में वापस हो जाएगी।

मेट्रो में मनाएं बर्थडे पार्टी और कराएं प्री-वेडिंग शूट-एच लाइन पर नोएडा-ग्रेनो मेट्रो के कोच में बर्थडे पार्टी करने का मौका अब आपको मिल जाएगा। चलती या फिर खड़ी हुई मेट्रो में इसकी अनुमति दी जाएगी। इसके लिए आपको 10 हजार रुपये तक चुकाने होंगे।
मीडिया रिपोर्ट में बताया गया हैं कि नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड ने इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी हैं। मेट्रो के कोच में जन्मदिन, प्री-वेडिंग या फिर कोई भी अन्य पार्टी करने का मौका मिलेगा। हालांकि इसके लिए एनएमआरसी की कुछ शर्तों का पालन करना होगा। अगर आयोजन मेट्रो की रोजाना की टाइमिंग में होनी है या फिर रात के 11 बजे से दो बजे तक होनी है इसका विकल्प चुनने का भी मौका मिलेगा। एक कोच में अधिकतम 50 लोग रह सकते हैं।

 

 
छत्तीसगढ़ में उद्योगों के लिए निवेश की बेहतर संभावनाएं: मुख्यमंत्री ने सेनफ्रांसिस्को के सिलिकॉन वेली और  रेड वुड शोर्स में निवेशकों से की चर्चा

छत्तीसगढ़ में उद्योगों के लिए निवेश की बेहतर संभावनाएं: मुख्यमंत्री ने सेनफ्रांसिस्को के सिलिकॉन वेली और रेड वुड शोर्स में निवेशकों से की चर्चा

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अपने अमेरिका प्रवास के दौरान अमेरिकी निवेशकों को छत्तीसगढ़ में उद्योग लगाने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में कोर सेक्टर, आईटी, फूड प्रोसेसिंग, जैव-विविधता सहित अनेक क्षेत्रों में निवेश की अपार संभावनाएं हैं। वे सेनफ्रांसिस्को के सिलिकॉन वेली और रेड वुड शोर्स में ऑटो ग्रिड सिस्टम के औद्योगिक प्रतिनिधियों और निवेशकों से चर्चा कर रहे थे। चर्चा के दौरान अनेक भारतीय-अमेरिकी उद्योगों ने छत्तीसगढ़ में निवेश के लिए गहरी दिलचस्पी दिखाई।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि राज्य में उद्योगों के फलने-फूलने के लिए भरपूर नैसर्गिक संपदा और मानव संसाधन उपलब्ध हैं। छत्तीसगढ़ में अकूत खनिज, विद्युत, कोयला, लोहा, और जल संपदा मौजूद है। उन्होंने बताया कि राज्य की नई उद्योग नीति में उद्योगों की स्थापना के लिए अनुकूल वातावरण बनाने बड़े फैसलें लिए गए हैं। पिछड़े क्षेत्रों में उद्योग लगाने के लिए विशेष रियायतें दी जा रही है। कृषि और वनोपज आधारित उद्योगों को प्राथमिकता दी जा रही है। इसके अलावा आधुनिक तकनीक पर आधारित उद्योगों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य की अर्थव्यवस्था पर विश्वव्यापी आर्थिक मंदी का बोझ न पड़े, इसके लिए विशेष उपाय किए हैं। लोगों की क्रय शक्ति बढ़ाने के इंतेजाम किए गए हैं। अर्थव्यवस्था का विविधिकरण किया गया है, इसके फलस्वरूप अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है।
मुख्यमंत्री ने चर्चा में बताया कि छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था मूलरूप से कृषि आधारित है। यहां 44 प्रतिशत क्षेत्र वनाच्छादित है। यहां वनोत्पाद, जैव-विविधता और पर्यटन सहित विभिन्न क्षेत्रों में भी निवेश की अपार संभावनाएं हैं। किसानों के हित में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए, बताया कि छत्तीसगढ़ में सरप्लस विद्युत उपलब्ध है। उन्होंने प्रतिनिधियों के साथ छत्तीसगढ़ में विद्युत शक्ति के उपयोग के जरिए हजारों किसानों को उनकी आय बढ़ाने के उपायों पर विचार मंथन भी किया। इस दौरान उन्होंने राज्य में निवेश की संभावनाएं और बेहतर अवसरों के विस्तार से जानकारी दी।

 

गूगल सीईओ का अकाउंट हैक करने वाले ग्रुप ने फेसबुक को बनाया निशाना,ट्विटर और इंस्ट्राग्राम अकाउंट किया हैक

गूगल सीईओ का अकाउंट हैक करने वाले ग्रुप ने फेसबुक को बनाया निशाना,ट्विटर और इंस्ट्राग्राम अकाउंट किया हैक

नईदिल्ली, हैकिंग के मामले आजकल बढ़ते जा रहे हैं। यूजर्स के बाद अब बड़ी टेक कंपनियां को भी अपने अकाउंट्स को हैकिंग से बचाने में मुश्किल आ रही है। ऐसा ही कुछ दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया साइट फेसबुक के ट्विटर, इंस्टाग्राम और मैसेंजर अकाउंट के हैक होने की खबर है। माइक्रो ब्लॉगिंग प्लैटफॉर्म ट्विटर ने कन्फर्म किया है कि फेसबुक और फेसबुक मेसेंजर के ऑफिशल ट्विटर अकाउंट्स को हैक कर लिया गया था। इस हैकिंग को हैकिंग ग्रुप अवरमाइन ने अंजाम दिया है। हालांकि अब सभी अकाउंट को री-स्टोर कर लिया गया है।
बता दें कि अवरमाइन ग्रुप इससे पहले गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई, फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग और ट्वीटर के सीईओ जैक डॉर्सी का अकाउंट हैक कर चुका है। इसी ग्रुप ने इसी साल जनवरी में यूएस नेशनल फुटबॉल लीक टीम का अकाउंट हैक किया था।
अवरमाइन ने फेसबुक के ट्विटर अकाउंट को हैक करके पोस्ट किया, हाय, हम लोग अवरमाइन हैं। वेल, फेसबुक को भी हैक किया जा सकता है, लेकिन इसकी सिक्योरिटी कम-से-कम ट्विटर से मजबूत है।
फेसबुक ने भी इस भी हैकिंग की पुष्टि करते हुए कहा है उसके कुछ कॉर्पोरेट सोशल अकाउंट को हैक किया गया था जिन्हें अब री-स्टोर कर लिया गया है, हालांकि ट्विटर ने अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं की है कि किसी थर्ड पार्टी ने उसका अकाउंट हैक किया है।

 

देश के इस अग्रणी बैंक ने शुरू की नई सुविधा, अब बिना एटीएम कार्ड के भी निकाल सकेंगे पैसे, जाने कौन सा है वो बैंक

देश के इस अग्रणी बैंक ने शुरू की नई सुविधा, अब बिना एटीएम कार्ड के भी निकाल सकेंगे पैसे, जाने कौन सा है वो बैंक

ईदिल्ली । अपनी बेहतरीन और डिजिटल सुविधाओं के लिए जाने जाते आईसीआईसीआई बैंक ने अपने ग्राहकों को नई शानदार सुविधा का तोहफा दिया है। बैंक ने मंगलवार को अपने एटीएम से कार्डलैस कैश विड्रॉल सुविधा शुरू करने की घोषणा की। इस सेवा के जरिये ग्राहक बैंक के मोबाइल बैंकिंग एप्लिकेशन आईमोबाइल पर अनुरोध करके बैंक के 15,000 से अधिक एटीएम से नकदी निकाल सकेंगे। यह डेबिट कार्ड का उपयोग किए बिना नकदी निकालने का एक सरल और सुविधाजनक तरीका है। जानकारी के मुताबिक, कार्डलैस कैश विड्रॉल सेवा का उपयोग स्व-निकासी के लिए किया जा सकता है, खास तौर पर तब जब ग्राहक डेबिट कार्ड साथ रखने के इच्छुक नहीं होते। इस सुविधा के तहत दैनिक लेनदेन सीमा के साथ-साथ लेनदेन की सीमा 20,000 रुपए पर सेट की गई है।

पढ़ें : मोबाइल की लत ने लेली एक युवती की जान, फेसबुक पर हजारों फ़ॉलोअर देख पति ने उतारा मौत के घाट

इस सुविधा की जानकारी देते हुए आईसीआईसीआई बैंक के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अनूप बागची ने कहा, आईसीआईसीआई बैंक शुरू से ही डिजिटल नवाचारों में सबसे आगे रहा है। इसी सिलसिले में कार्डलैस कैश विड्रॉल की पेशकश हमारे ग्राहकों को अपने मोबाइल फोन की सुविधा से हर रोज उपयोग और खरीदारी के लिए सुरक्षित रूप से और आसानी से नकदी निकालने में सक्षम बनाती है। हमारा मानना है कि डेबिट कार्ड का उपयोग किए बिना आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम से नकद निकासी का यह प्रस्ताव हमारे ग्राहकों को एक तेज और अनूठा अनुभव प्रदान करता है। हम आईसीआईसीआई बैंक में सभी चैनलों और टच-पॉइंट्स में नवीन टैक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखेंगे और इस तरह ग्राहकों के लिए बैंकिंग को और अधिक सुविधाजनक बनानएंगे।
सबसे पहले तो दैनिक उपयोग के लिहाज से नकदी निकालने के लिए डेबिट कार्ड साथ ले जाने या एटीएम पिन को याद रखने और उपयोग करने की कोई आवश्यकता नहीं। आईसीआईसीआई बैंक के 15,000 से अधिक एटीएम में यह उपलब्ध सुविधा होगी दैनिक आधार पर 20,000 रुपए तक की नकदी निकाली जा सकती है। यह सुविधा आईमोबाइल का उपयोग करके नकद निकासी का सुरक्षित और भरोसेमंद तरीका है।
आईमोबाइल का उपयोग करते हुए कार्डलैस कैश विड्रॉल सुविधा का लाभ उठाने के उपाय बेहद सरल हैं। सबसे पहले आईमोबाइल ऐप में लॉग इन करें। छोटी सी प्रक्रिया के बाद राशि दर्ज करें। खाता संख्या चुनें, 4 अंकों का अस्थायी पिन बनाएं और सबमिट करें। तुरंत एक रेफरेंस ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) प्राप्त करें। आईसीआईसीआई बैंक के किसी भी एटीएम पर जाएं। कार्डलैस कैश विड्रॉल चुनें। मोबाइल नंबर रेफरेंस ओटीपी नंबर अस्थायी पिन राशि डालें। नकद निकासी का अनुरोध और ओटीपी अगले दिन आधी रात तक मान्य हैं।